#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

अहमदिया मुसलमानों को पाकिस्तान में खतरा क्यों है?

Ahemadiya Musalmano Ko Pakistan Mein Khatra Kyun Hai
Naayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Naayank जी का जवाब
College
1:03
नमस्कार मुसलमान और पाकिस्तान में उनके खतरा हो ना यह बात पुरानी है लेकिन वापस से यह चर्चा में आई क्योंकि पाकिस्तान ने समुदाय की नुमाइंदगी करने वाली एक वेबसाइट को नोटिस जारी कर उसे तुरंत बनने को कहा है पाकिस्तान का तर्क यह है कि अब प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से ना तो अपने को मुसलमान कर सकते हैं उन्हें मुसलमान है ऐसे में उन्हें अपनी इस्लामिक वेबसाइट चलाने का कोई हक नहीं एक तरह से धोखाधड़ी और इस्लाम धर्म मानने वाले भी की भावनाओं पर हमला एक बात यह भी समझना जरूरी है कि एंब्रियो मुसलमानों से यह छोटूराम है मैं केवल पाकिस्तानी सऊदी अरब तक सीमित नहीं है बल्कि दुनिया के लगभग सभी देशों में अहमदिया मुसलमान और बाकी मुसलमानों के बीच कोई रास्ता नहीं है लेकिन हम पाकिस्तान को अगर बात करें तो वहां पर साथ ही आक्रामक है इसकी एक वजह तो यह मानी जाती है कि वहां उनकी तादाद कोई ज्यादा है और दूसरी यह कि मैं अपने आवाम को यह संदेश देना चाहते हैं कि हमारी तरफ से उनकी कोई शिकायत नहीं है
Namaskaar musalamaan aur paakistaan mein unake khatara ho na yah baat puraanee hai lekin vaapas se yah charcha mein aaee kyonki paakistaan ne samudaay kee numaindagee karane vaalee ek vebasait ko notis jaaree kar use turant banane ko kaha hai paakistaan ka tark yah hai ki ab pratyaksh ya apratyaksh roop se na to apane ko musalamaan kar sakate hain unhen musalamaan hai aise mein unhen apanee islaamik vebasait chalaane ka koee hak nahin ek tarah se dhokhaadhadee aur islaam dharm maanane vaale bhee kee bhaavanaon par hamala ek baat yah bhee samajhana jarooree hai ki embriyo musalamaanon se yah chhotooraam hai main keval paakistaanee saoodee arab tak seemit nahin hai balki duniya ke lagabhag sabhee deshon mein ahamadiya musalamaan aur baakee musalamaanon ke beech koee raasta nahin hai lekin ham paakistaan ko agar baat karen to vahaan par saath hee aakraamak hai isakee ek vajah to yah maanee jaatee hai ki vahaan unakee taadaad koee jyaada hai aur doosaree yah ki main apane aavaam ko yah sandesh dena chaahate hain ki hamaaree taraph se unakee koee shikaayat nahin hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
अहमदिया मुसलमानों को पाकिस्तान में खतरा क्यों है?Ahemadiya Musalmano Ko Pakistan Mein Khatra Kyun Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:53
हेलो दोस्तों स्वागत है आपका आपका प्रश्न है मियां मुसलमानों को पाकिस्तान में खतरा क्यों है तो फिर फ्रेंड से जो पाकिस्तान में इंडिया मुसलमान है उनको इसलिए खतरा है क्योंकि जो पाकिस्तान की सरकार है मैं एमजी या मुसलमानों को मुसलमान नहीं मानती है तथा वह बोलती है कि आपका मुसलमान होने का कोई भी सबूत नहीं है और आप कोई भी मुसलमानों की वेबसाइट भी नहीं चला सकते हैं उनकी कोई इधर साइड पर नजर रखी जाती है और रोक लगा दी जाती है और इंडिया मुसलमानों के साथ दुर्व्यवहार किया जाता है और पाकिस्तानी नहीं बहुत सारी कंट्री यों में भी एमबीए मुसलमानों के साथ दुर्व्यवहार किया जाता है पर सबसे ज्यादा पाकिस्तान में किया जाता है क्योंकि पाकिस्तान में उनकी जनसंख्या ज्यादा है यह बात गलत है यह जो इस्लाम धर्म को वे अन्य मुसलमान मान रहे हैं उनके साथ बहुत ही नाइंसाफी है लेकिन पाकिस्तान सरकार उनको बहुत ही परेशान करती है धन्यवाद
Helo doston svaagat hai aapaka aapaka prashn hai miyaan musalamaanon ko paakistaan mein khatara kyon hai to phir phrend se jo paakistaan mein indiya musalamaan hai unako isalie khatara hai kyonki jo paakistaan kee sarakaar hai main emajee ya musalamaanon ko musalamaan nahin maanatee hai tatha vah bolatee hai ki aapaka musalamaan hone ka koee bhee saboot nahin hai aur aap koee bhee musalamaanon kee vebasait bhee nahin chala sakate hain unakee koee idhar said par najar rakhee jaatee hai aur rok laga dee jaatee hai aur indiya musalamaanon ke saath durvyavahaar kiya jaata hai aur paakistaanee nahin bahut saaree kantree yon mein bhee emabeee musalamaanon ke saath durvyavahaar kiya jaata hai par sabase jyaada paakistaan mein kiya jaata hai kyonki paakistaan mein unakee janasankhya jyaada hai yah baat galat hai yah jo islaam dharm ko ve any musalamaan maan rahe hain unake saath bahut hee nainsaaphee hai lekin paakistaan sarakaar unako bahut hee pareshaan karatee hai dhanyavaad

bolkar speaker
अहमदिया मुसलमानों को पाकिस्तान में खतरा क्यों है?Ahemadiya Musalmano Ko Pakistan Mein Khatra Kyun Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:52
अहमदिया मुसलमानों को पाकिस्तान में खतरा क्यों है दोस्तों पहले आप जान लीजिए पाकिस्तान को लेकर के कि पाकिस्तान को यदि हम धर्म के आधार पर देखें तो पाकिस्तान के धार्मिक पृष्ठभूमि पर पाकिस्तान में 95 से लेकर के 98% जो है वह इस्लाम धर्म को मानने वाले लोग हैं यहां के मुसलमान तीन वर्गों के अंदर / हैं जिनमें सुन्नी शिया अहमदिया शामिल है आमतौर पर देखो देखो सुन्नी मुसलमानों का मत है कि इस्लाम के अंतर्गत अहमदिया वह भटके हुए लोग इस्लाम से कोई लेना देना नहीं है और यह अपनी हरकतों से लगा इस्लामपुर बर्बाद कर रही हैं दोस्तों यही कारण है कि इसे मत का समर्थन करते हुए अहमद दिया जो मुसलमान है इनको पाकिस्तान से खतरा है क्योंकि पाकिस्तान के गले में चुन्नी और इनको का फिर कहते हैं
Ahamadiya musalamaanon ko paakistaan mein khatara kyon hai doston pahale aap jaan leejie paakistaan ko lekar ke ki paakistaan ko yadi ham dharm ke aadhaar par dekhen to paakistaan ke dhaarmik prshthabhoomi par paakistaan mein 95 se lekar ke 98% jo hai vah islaam dharm ko maanane vaale log hain yahaan ke musalamaan teen vargon ke andar / hain jinamen sunnee shiya ahamadiya shaamil hai aamataur par dekho dekho sunnee musalamaanon ka mat hai ki islaam ke antargat ahamadiya vah bhatake hue log islaam se koee lena dena nahin hai aur yah apanee harakaton se laga islaamapur barbaad kar rahee hain doston yahee kaaran hai ki ise mat ka samarthan karate hue ahamad diya jo musalamaan hai inako paakistaan se khatara hai kyonki paakistaan ke gale mein chunnee aur inako ka phir kahate hain

bolkar speaker
अहमदिया मुसलमानों को पाकिस्तान में खतरा क्यों है?Ahemadiya Musalmano Ko Pakistan Mein Khatra Kyun Hai
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
2:50
सवाल ये है कि अहमदिया मुसलमानों को पाकिस्तान में खतरा क्यों हैं अहमदिया मुसलमानों का मुसलमान नाम आना जाना यहां तक कि उनकी हज यात्रा तक की मनाही कोई बात नहीं है लेकिन उस वक्त वे फिर से चावल इस वजह से चर्चा में है कि पाकिस्तान ने समुदाय की नुमाइंदगी करने वाली वेबसाइट की को नोटिस जारी किया उसके तुरंत बाद बंद करने को कहा है पाकिस्तान का तर्क यह है कि अहमदिया प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से ना तो अपने को मुसलमान कह सकते हैं और ना ही वे मुसलमान हैं ऐसे में उन्हें अपनी इस्लामिक वेबसाइट चलाने तक का कोई हक नहीं है यह एक तरह से धोखाधड़ी है और इस्लाम धर्म मानने वाले की भावनाओं पर हमला है यह बात भी समझना जरूरी है कि अहमदिया मुसलमानों से यह दुराव है वह केवल पाकिस्तान या सऊदी अरब तक सीमित नहीं है बल्कि दुनिया के लगभग सभी देशों में अहमदिया मुसलमानों और बाकी मुसलमानों के बीच कोई इरादा नहीं है हां पाकिस्तान उनको लेकर कुछ ज्यादा ही आक्रामक है और उसके आक्रामक होने की वजह से वजह मानी जाती है कि वहां उनकी तादाद को ज्यादा है और दूसरी है कि वह अपने आवाम को यह संदेश देना चाहता है कि हमारी तरफ से उनकी कोई स्वीकार्यता नहीं है बाकायदा आधिकारिक तौर पर वहां अहमदिया मुसलमानों को इस्लाम से खारिज किया जा चुका है पाकिस्तान में अहमदिया मुसलमानों के साथ टकराव की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही हैं जिनमें लगातार मौत भी हो रही है पाकिस्तान का यह मानना है कि हम अधिया मुसलमान इस्लाम धर्म को मानने वालों को गुमराह कर रहे हैं और एक एक इस्लामिक देश में गैर इस्लामिक कृत्य पर अंकुश नहीं लगाया गया तो इस्लाम धर्म पर प्रीत असर पड़ेगा पाकिस्तान में यह मांग भी जोर पकड़ती जा रही है कि किसी भी महत्वपूर्ण पद पर अहमदिया मुसलमानों की नियुक्ति ना की जाए लेकिन एक उल्लेखनीय बात यह है कि अब्दुल कलाम पाकिस्तान के पहले और अकेले वैज्ञानिक हैं जिन्हें फिजिक्स के लिए नोबेल पुरस्कार दिया गया है और वह अहमदिया समुदाय ही से ही थे बाद में उनके नाम पर ही वहां की कायदे आजम यूनिवर्सिटी एमएससी के प्रोजेक्ट रिपोर्ट में का डिपार्टमेंट का नाम रखा गया बाद के दिनों में इसको लेकर वहां की खासा विवाद रहा है और इसका नाम बदलने जा बदल जाने की मांग उठती रही है हालिया विवाद वेबसाइट को प्रतिबंधित करने को लेकर उठा है उनको लेकर भी पाकिस्तानी सरकार का कहना है कि उनके जरिया सेकंड हैंड का प्रचार-प्रसार हो रहा है जिसकी इस्लाम में कोई जगह नहीं है करो ना वैक्सीन पर बोले बीजेपी बीजेपी विधायक संगीत सोम जी ने देश के वैज्ञानिकों पर भरोसा नहीं है तो पाकिस्तान चले जाएं
Savaal ye hai ki ahamadiya musalamaanon ko paakistaan mein khatara kyon hain ahamadiya musalamaanon ka musalamaan naam aana jaana yahaan tak ki unakee haj yaatra tak kee manaahee koee baat nahin hai lekin us vakt ve phir se chaaval is vajah se charcha mein hai ki paakistaan ne samudaay kee numaindagee karane vaalee vebasait kee ko notis jaaree kiya usake turant baad band karane ko kaha hai paakistaan ka tark yah hai ki ahamadiya pratyaksh ya apratyaksh roop se na to apane ko musalamaan kah sakate hain aur na hee ve musalamaan hain aise mein unhen apanee islaamik vebasait chalaane tak ka koee hak nahin hai yah ek tarah se dhokhaadhadee hai aur islaam dharm maanane vaale kee bhaavanaon par hamala hai yah baat bhee samajhana jarooree hai ki ahamadiya musalamaanon se yah duraav hai vah keval paakistaan ya saoodee arab tak seemit nahin hai balki duniya ke lagabhag sabhee deshon mein ahamadiya musalamaanon aur baakee musalamaanon ke beech koee iraada nahin hai haan paakistaan unako lekar kuchh jyaada hee aakraamak hai aur usake aakraamak hone kee vajah se vajah maanee jaatee hai ki vahaan unakee taadaad ko jyaada hai aur doosaree hai ki vah apane aavaam ko yah sandesh dena chaahata hai ki hamaaree taraph se unakee koee sveekaaryata nahin hai baakaayada aadhikaarik taur par vahaan ahamadiya musalamaanon ko islaam se khaarij kiya ja chuka hai paakistaan mein ahamadiya musalamaanon ke saath takaraav kee ghatanaen lagaataar badhatee ja rahee hain jinamen lagaataar maut bhee ho rahee hai paakistaan ka yah maanana hai ki ham adhiya musalamaan islaam dharm ko maanane vaalon ko gumaraah kar rahe hain aur ek ek islaamik desh mein gair islaamik krty par ankush nahin lagaaya gaya to islaam dharm par preet asar padega paakistaan mein yah maang bhee jor pakadatee ja rahee hai ki kisee bhee mahatvapoorn pad par ahamadiya musalamaanon kee niyukti na kee jae lekin ek ullekhaneey baat yah hai ki abdul kalaam paakistaan ke pahale aur akele vaigyaanik hain jinhen phijiks ke lie nobel puraskaar diya gaya hai aur vah ahamadiya samudaay hee se hee the baad mein unake naam par hee vahaan kee kaayade aajam yoonivarsitee emesasee ke projekt riport mein ka dipaartament ka naam rakha gaya baad ke dinon mein isako lekar vahaan kee khaasa vivaad raha hai aur isaka naam badalane ja badal jaane kee maang uthatee rahee hai haaliya vivaad vebasait ko pratibandhit karane ko lekar utha hai unako lekar bhee paakistaanee sarakaar ka kahana hai ki unake jariya sekand haind ka prachaar-prasaar ho raha hai jisakee islaam mein koee jagah nahin hai karo na vaikseen par bole beejepee beejepee vidhaayak sangeet som jee ne desh ke vaigyaanikon par bharosa nahin hai to paakistaan chale jaen

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • अहमदिया मुसलमानों को पाकिस्तान में खतरा क्यों है अहमदिया मुसलमानों को पाकिस्तान में खतरा
URL copied to clipboard