#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

बसंत पंचमी जिसे सरस्वती पूजा के नाम से भी जाना जाता है यह त्यौहार आप कैसे मनाते हैं?

Basant Panchami Jise Saraswati Puja Ke Naam Se Bhi Jana Jata Hai Yah Tyohaar Aap Kese Manate Hai
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:32
बसंत पंचमी का त्यौहार एक हमारा पारंपरिक त्यौहार यह शिक्षा की देवी विद्या की देवी ज्ञान की देवी सरस्वती जी के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है और हम मां सरस्वती से प्रत्याशा करते हैं कि हमें मां ज्ञान दो बुद्धि दो वैभव दो और समाज में मान सम्मान दो यह सब कुछ हम लोगों को प्रदान करते हैं और यह दिन बहुत बड़े-बड़े कार्यक्रम होते हैं इसमें विद्वानों को सम्मानित किया जाता है
Basant panchamee ka tyauhaar ek hamaara paaramparik tyauhaar yah shiksha kee devee vidya kee devee gyaan kee devee sarasvatee jee ke janmotsav ke roop mein manaaya jaata hai aur ham maan sarasvatee se pratyaasha karate hain ki hamen maan gyaan do buddhi do vaibhav do aur samaaj mein maan sammaan do yah sab kuchh ham logon ko pradaan karate hain aur yah din bahut bade-bade kaaryakram hote hain isamen vidvaanon ko sammaanit kiya jaata hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
बसंत पंचमी जिसे सरस्वती पूजा के नाम से भी जाना जाता है यह त्यौहार आप कैसे मनाते हैं?Basant Panchami Jise Saraswati Puja Ke Naam Se Bhi Jana Jata Hai Yah Tyohaar Aap Kese Manate Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:40
पंचमी सरस्वती पूजा के नाम से भी जाना जाता है त्योहार कैसे मनाते हैं दोस्तों सती माता की पूजा की जाती है विशेष तौर पर और लड्डू और शिक्षा का महत्व बताते हैं अर्जेंट होते हैं वह काम कर लेते हैं और शादी कर लेते हैं हम लोगों ने
Panchamee sarasvatee pooja ke naam se bhee jaana jaata hai tyohaar kaise manaate hain doston satee maata kee pooja kee jaatee hai vishesh taur par aur laddoo aur shiksha ka mahatv bataate hain arjent hote hain vah kaam kar lete hain aur shaadee kar lete hain ham logon ne

bolkar speaker
बसंत पंचमी जिसे सरस्वती पूजा के नाम से भी जाना जाता है यह त्यौहार आप कैसे मनाते हैं?Basant Panchami Jise Saraswati Puja Ke Naam Se Bhi Jana Jata Hai Yah Tyohaar Aap Kese Manate Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:52
हेलो दोस्तों स्वागत है आपका अपना पेट में बसंत पंचमी जी से सरस्वती पूजा के नाम से भी जाना जाता है यह त्यौहार आप कैसे मनाते हैं तो फिर से बसंत पंचमी का त्यौहार है नई ऋतु के आगमन का त्यौहार होता है और यह बसंत पंचमी में इस बार 16 फरवरी को है और इसे हम हैं ऐसे मनाते हैं कि हम सुबह उठ कर नहा धोकर पीले कपड़े पहनते हैं और भगवान भगवान की पूजा करते हैं मां सरस्वती की पूजा करते हैं और हम लोग कुछ पीला ही भोग लगाते हैं और पीला ही खाना खाते हैं कुछ पीला बना लो पुड़िया बना लो कुछ पिला ही खाते हैं और फ्रेंड से हम उस दिन पूजा-पाठ करते हैं पीले कपड़े पहनते हैं और मां सरस्वती की आराधना 20 दिन करी जाती है बच्चे भी इस दिन मां सरस्वती की आराधना करते हैं धन्यवाद
Helo doston svaagat hai aapaka apana pet mein basant panchamee jee se sarasvatee pooja ke naam se bhee jaana jaata hai yah tyauhaar aap kaise manaate hain to phir se basant panchamee ka tyauhaar hai naee rtu ke aagaman ka tyauhaar hota hai aur yah basant panchamee mein is baar 16 pharavaree ko hai aur ise ham hain aise manaate hain ki ham subah uth kar naha dhokar peele kapade pahanate hain aur bhagavaan bhagavaan kee pooja karate hain maan sarasvatee kee pooja karate hain aur ham log kuchh peela hee bhog lagaate hain aur peela hee khaana khaate hain kuchh peela bana lo pudiya bana lo kuchh pila hee khaate hain aur phrend se ham us din pooja-paath karate hain peele kapade pahanate hain aur maan sarasvatee kee aaraadhana 20 din karee jaatee hai bachche bhee is din maan sarasvatee kee aaraadhana karate hain dhanyavaad

bolkar speaker
बसंत पंचमी जिसे सरस्वती पूजा के नाम से भी जाना जाता है यह त्यौहार आप कैसे मनाते हैं?Basant Panchami Jise Saraswati Puja Ke Naam Se Bhi Jana Jata Hai Yah Tyohaar Aap Kese Manate Hai
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
1:21
सवाल है कि वसंत पंचमी जिसे हम सरस्वती पूजा के नाम से भी जाना जाता है यह त्यौहार आप कैसे मनाते हैं तो वसंत ऋतु आते ही प्रकृति का कण-कण खेल होता है मानव तो क्या पशु-पक्षी भी उल्लास से भर जाते हैं हर दिन नई उमंग और सूर्य दूर होता है और नई चेतना प्रदान कर अगले दिन फिर आने का आश्वासन दिलाया है तो यह माग का यह पूरा माझी उत्साह देने वाला है पर वसंत पंचमी माघ शुल्क पाठ का पर्व भारतीय जब जीवन को अनेक तरह से प्रभावित करता है प्राचीन काल से से ज्ञान और कला की देवी मां सरस्वती का जन्म दिवस माना जाता है जो शिक्षाविद भारत और भारतीयता से प्रेम करते हैं जिस दिन मां शारदे की पूजा कर उनसे और अधिक ज्ञानवान होने की प्रार्थना करते हैं कलाकारों का तो कहना ही क्या जो महत्व सैनिकों के लिए अपने शास्त्रों और विजयादशमी का है वह विद्वानों के लिए अपनी पुस्तक व्यास पूर्णिमा का है जो व्यापारियों के लिए अपने तराजू बाट बहीखाता और दिवाली का है वही महत्व कलाकारों के लिए बसंत पंचमी का है चाहे वह कभी-कभी हो या लेखक गायक या वादक नाटककार हो या नृत्य कर सभी दिन सब दिन का प्रारंभ उनके उपकरणों की पूजा और मां सरस्वती का वंदना से होता है
Savaal hai ki vasant panchamee jise ham sarasvatee pooja ke naam se bhee jaana jaata hai yah tyauhaar aap kaise manaate hain to vasant rtu aate hee prakrti ka kan-kan khel hota hai maanav to kya pashu-pakshee bhee ullaas se bhar jaate hain har din naee umang aur soory door hota hai aur naee chetana pradaan kar agale din phir aane ka aashvaasan dilaaya hai to yah maag ka yah poora maajhee utsaah dene vaala hai par vasant panchamee maagh shulk paath ka parv bhaarateey jab jeevan ko anek tarah se prabhaavit karata hai praacheen kaal se se gyaan aur kala kee devee maan sarasvatee ka janm divas maana jaata hai jo shikshaavid bhaarat aur bhaarateeyata se prem karate hain jis din maan shaarade kee pooja kar unase aur adhik gyaanavaan hone kee praarthana karate hain kalaakaaron ka to kahana hee kya jo mahatv sainikon ke lie apane shaastron aur vijayaadashamee ka hai vah vidvaanon ke lie apanee pustak vyaas poornima ka hai jo vyaapaariyon ke lie apane taraajoo baat baheekhaata aur divaalee ka hai vahee mahatv kalaakaaron ke lie basant panchamee ka hai chaahe vah kabhee-kabhee ho ya lekhak gaayak ya vaadak naatakakaar ho ya nrty kar sabhee din sab din ka praarambh unake upakaranon kee pooja aur maan sarasvatee ka vandana se hota hai

bolkar speaker
बसंत पंचमी जिसे सरस्वती पूजा के नाम से भी जाना जाता है यह त्यौहार आप कैसे मनाते हैं?Basant Panchami Jise Saraswati Puja Ke Naam Se Bhi Jana Jata Hai Yah Tyohaar Aap Kese Manate Hai
ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
1:11
सजाया है बसंत पंचमी जैसे सरस्वती पूजा के नाम से भी जाना जाता है यह त्यौहार आप कैसे मनाते हैं तो देखे बसंत पंचमी ऐसा समय है वह 2 दिन ऐसे समय पर आता है जब जो प्रकृति अपने सबसे खूबसूरत स्थिति में होती है मतलब सब तरफ फूल खिले होते हैं और बहुत अच्छा मौसम होता है ना ज्यादा सर्दी होती है ना गर्मी होती है और बसंत का मौसम होता है मतलब हर तरफ हरियाली फूल और पक्षी कुत्ते और इस तरीके की स्थिति रहती बहुत ही खूबसूरत समय होता है वह साल का और इसको सरस्वती पूजा के नाम से भी जाना जाता है तो इस दिन में बहुत ही धूमधाम से हमारे हम मनाया जाता है और खासकर जो स्टूडेंट होते हैं उनके लिए काफी बड़ा दिन होता है जिन सरस्वती माता की पूजा की जाती है अपनी किताबों की अपनी कॉपी की पूजा की जाती है और उस दिन किताब कॉपी को हाथ नहीं लगाया जाता और हम धूमधाम से त्योहार को मनाया जाते स्टूडेंट्स के लिए काफी होता है कि खास त्यौहार होता है बसंत पंचमी उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद
Sajaaya hai basant panchamee jaise sarasvatee pooja ke naam se bhee jaana jaata hai yah tyauhaar aap kaise manaate hain to dekhe basant panchamee aisa samay hai vah 2 din aise samay par aata hai jab jo prakrti apane sabase khoobasoorat sthiti mein hotee hai matalab sab taraph phool khile hote hain aur bahut achchha mausam hota hai na jyaada sardee hotee hai na garmee hotee hai aur basant ka mausam hota hai matalab har taraph hariyaalee phool aur pakshee kutte aur is tareeke kee sthiti rahatee bahut hee khoobasoorat samay hota hai vah saal ka aur isako sarasvatee pooja ke naam se bhee jaana jaata hai to is din mein bahut hee dhoomadhaam se hamaare ham manaaya jaata hai aur khaasakar jo stoodent hote hain unake lie kaaphee bada din hota hai jin sarasvatee maata kee pooja kee jaatee hai apanee kitaabon kee apanee kopee kee pooja kee jaatee hai aur us din kitaab kopee ko haath nahin lagaaya jaata aur ham dhoomadhaam se tyohaar ko manaaya jaate stoodents ke lie kaaphee hota hai ki khaas tyauhaar hota hai basant panchamee ummeed karatee hoon aapako mera javaab pasand aaya hoga dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • बसंत पंचमी क्यों मनाते है ?.. बसंत पंचमी कहा पर सबसे अधिक मनाई जाती है ?
URL copied to clipboard