#जीवन शैली

bolkar speaker

व्यक्ति यदि औकात से ज्यादा बढ़ चढ़कर डिंग हंसने लगे तो क्या करना चाहिए?

Vyakti Yadi Aukat Se Zyada Badh Chadhkar Ding Hasne Lage To Kya Karna Chahiye
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:37
व्यक्ति यदि औकात से ज्यादा बढ़ चढ़कर दिन हटने लगे तो क्या करना चाहिए दोस्तों यही करना चाहिए कि उसके पास मुस्कुरा कर के वहां से निकल जाना चाहिए जिससे कि उस व्यक्ति को अपनी औकात का पता लग जाए वह अपने आप जान ही शर्मिंदा हो जाएगा क्योंकि जब आप हाथ करके निकलोगे तो उसको सीधे तौर पर इस चीज का आभास हो जाएगा कि जो व्यक्ति है वह आपके इसलिए जा रहा है क्योंकि मैं फेंक रहा हूं इस चीज का ध्यान रखें यदि कोई भी व्यक्ति औकात से ज्यादा बढ़ चढ़कर डेंगू मारने लगे तो आपको वहां तक मुस्कुरा कर के निकल जाना चाहिए जिससे कि उसको एहसास भी हो सके और दूसरों को भी धन्यवाद
Vyakti yadi aukaat se jyaada badh chadhakar din hatane lage to kya karana chaahie doston yahee karana chaahie ki usake paas muskura kar ke vahaan se nikal jaana chaahie jisase ki us vyakti ko apanee aukaat ka pata lag jae vah apane aap jaan hee sharminda ho jaega kyonki jab aap haath karake nikaloge to usako seedhe taur par is cheej ka aabhaas ho jaega ki jo vyakti hai vah aapake isalie ja raha hai kyonki main phenk raha hoon is cheej ka dhyaan rakhen yadi koee bhee vyakti aukaat se jyaada badh chadhakar dengoo maarane lage to aapako vahaan tak muskura kar ke nikal jaana chaahie jisase ki usako ehasaas bhee ho sake aur doosaron ko bhee dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
व्यक्ति यदि औकात से ज्यादा बढ़ चढ़कर डिंग हंसने लगे तो क्या करना चाहिए?Vyakti Yadi Aukat Se Zyada Badh Chadhkar Ding Hasne Lage To Kya Karna Chahiye
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:18
दोस्तों प्रश्न है कि यदि व्यक्ति यदि औकात से ज्यादा बढ़ चढ़कर डींग हांकने लगे तो क्या करना चाहिए तो दोस्तों आपको कुछ नहीं करना चाहिए बस आप की उनकी देंगे सुनते रहे हैं जैसे हम जब छोटे थे तो बच्चे हाथ का इशारा करने लग जाते थे लपेटने लग जाते थे धागे की तरह से चरखारी में लपेटा जाता है तो आप भी ध्यान से सुनते रहिए और बातों का आनंद लीजिए और कोई घनिष्ठ मित्र है तो उसमें हम लोग भी बोलते हैं ज्यादा देंगे माता का भाई तू सब ज्यादा छोड़ रहा है अब लेकिन कई बार ऐसा होता है कि हम किसी जॉब में जाते हैं तो सामने वाला इंटरव्यू अरे आओ ना लग जाता है कई बार दिन ये आए हैं तो कई बार लग जाते हैं लग जाता सुनते रहिए जहां आपको लगता है कि आप जवाब दे सकते हैं कोई मजाक में दे सकते हैं कोई दिक्कत नहीं है नहीं तो सुनने लगी है आपको कोई नुकसान उससे हो नहीं रहा है तो समझते रही है धीरे-धीरे आप बाद में उसे पता डींगे हांकने वाला उसके फीडबैक उसके पास भी आता रहता है तो हो सकता है उसको सुधार उसमें आ जाए अगर आपका कोई घनिष्ठ मित्र है तो आप उसको मुंह पर भी समझा सकते कि ज्यादा मत बढ़ा चढ़ाकर बातें बताया करो जैसी चलती है तेरा कईयों की आदत होती है हर चीज को बढ़ा चढ़ा कर पेश करने की धन्यवाद
Doston prashn hai ki yadi vyakti yadi aukaat se jyaada badh chadhakar deeng haankane lage to kya karana chaahie to doston aapako kuchh nahin karana chaahie bas aap kee unakee denge sunate rahe hain jaise ham jab chhote the to bachche haath ka ishaara karane lag jaate the lapetane lag jaate the dhaage kee tarah se charakhaaree mein lapeta jaata hai to aap bhee dhyaan se sunate rahie aur baaton ka aanand leejie aur koee ghanishth mitr hai to usamen ham log bhee bolate hain jyaada denge maata ka bhaee too sab jyaada chhod raha hai ab lekin kaee baar aisa hota hai ki ham kisee job mein jaate hain to saamane vaala intaravyoo are aao na lag jaata hai kaee baar din ye aae hain to kaee baar lag jaate hain lag jaata sunate rahie jahaan aapako lagata hai ki aap javaab de sakate hain koee majaak mein de sakate hain koee dikkat nahin hai nahin to sunane lagee hai aapako koee nukasaan usase ho nahin raha hai to samajhate rahee hai dheere-dheere aap baad mein use pata deenge haankane vaala usake pheedabaik usake paas bhee aata rahata hai to ho sakata hai usako sudhaar usamen aa jae agar aapaka koee ghanishth mitr hai to aap usako munh par bhee samajha sakate ki jyaada mat badha chadhaakar baaten bataaya karo jaisee chalatee hai tera kaeeyon kee aadat hotee hai har cheej ko badha chadha kar pesh karane kee dhanyavaad

bolkar speaker
व्यक्ति यदि औकात से ज्यादा बढ़ चढ़कर डिंग हंसने लगे तो क्या करना चाहिए?Vyakti Yadi Aukat Se Zyada Badh Chadhkar Ding Hasne Lage To Kya Karna Chahiye
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:32
आजीवन स्वागत है आपका आपका प्रश्न व्यक्ति यदि औकात से ज्यादा बढ़ बढ़ चढ़कर दिन होने लगे तो क्या करना चाहिए तो फ्रेंड से कोई कोई लोगों को शुरू होता है जब टीम की औकात नहीं होती उससे भी ज्यादा भी बढ़-चढ़कर बातें करते हैं और बड़ी-बड़ी डींगे हांक ते हैं तो आप लोगों को ऐसे से दूरी बनाकर रखनी चाहिए क्योंकि वह लोग आपका भी दिमाग भ्रमित कर देंगे लंबी चौड़ी देंगे मार मार के सच्ची बातें बोलेंगे तो आप कभी दिमाग भ्रमित हो जाएगा इसलिए ऐसे लोगों से आपको दूरी बनाकर रखनी चाहिए
Aajeevan svaagat hai aapaka aapaka prashn vyakti yadi aukaat se jyaada badh badh chadhakar din hone lage to kya karana chaahie to phrend se koee koee logon ko shuroo hota hai jab teem kee aukaat nahin hotee usase bhee jyaada bhee badh-chadhakar baaten karate hain aur badee-badee deenge haank te hain to aap logon ko aise se dooree banaakar rakhanee chaahie kyonki vah log aapaka bhee dimaag bhramit kar denge lambee chaudee denge maar maar ke sachchee baaten bolenge to aap kabhee dimaag bhramit ho jaega isalie aise logon se aapako dooree banaakar rakhanee chaahie

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • इंसान की औकात क्या है, इंसान की औकात क्या होती है, इंसान की औकात
URL copied to clipboard