#undefined

bolkar speaker

2 साल का बच्चा अगर जिद्दी हो तो उसे कैसे समझाना चाहिए?

2 Saal Ka Bacha Agar Jidi Ho To Use Kese Samjhana Chayia
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:28
2 साल का बच्चा का जिद्दी हो तो उसे कैसे समझाना चाहिए दोस्तों 2 साल का बच्चा अगर दे दी है तो बड़े प्यार के साथ उसको समझाना चाहिए प्यार के साथ-साथ उसकी जो मांग है उसको मेरी मान ले तो काफी बैटर होगा परंतु बचपन से ही बच्चों का प्यार के साथ कुछ चीजें देंगे तो आगे जाकर भविष्य में आपकी बातें माने कार एक समझदार नागरिक भी बनेगा तो प्यार के साथ मुझे समझाइए और उसकी जो डिमांड है उसको भी पूरी करने की कोशिश कीजिए धन्यवाद
2 saal ka bachcha ka jiddee ho to use kaise samajhaana chaahie doston 2 saal ka bachcha agar de dee hai to bade pyaar ke saath usako samajhaana chaahie pyaar ke saath-saath usakee jo maang hai usako meree maan le to kaaphee baitar hoga parantu bachapan se hee bachchon ka pyaar ke saath kuchh cheejen denge to aage jaakar bhavishy mein aapakee baaten maane kaar ek samajhadaar naagarik bhee banega to pyaar ke saath mujhe samajhaie aur usakee jo dimaand hai usako bhee pooree karane kee koshish keejie dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
2 साल का बच्चा अगर जिद्दी हो तो उसे कैसे समझाना चाहिए?2 Saal Ka Bacha Agar Jidi Ho To Use Kese Samjhana Chayia
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:59
समझता दोस्तों घटना के 2 साल का बच्चा अगर जिद्दी हो जाए तो उसे कैसे समझाना चाहिए तो दोस्त दोस्तों यह बहुत ही छोटी उम्र है 2 साल की जिसे हम बाल हट भी बोलते हैं इस पर आप विजय प्राप्त नहीं कर सके बड़े-बड़े लोग बड़े-बड़े लोग ऑफिसर ग्रेड के रिटायर होने के बाद या ऑफिसर हैं या बड़े बड़े पद पर बैठे व्यक्ति भी बाल हट को नहीं रोक पाते हैं बाल हट हो गया है ऐसी स्त्री हर्ट हो गया माना गया है हमारा राज हर्ट हो गया यह शास्त्रों में बताए गए हैं तो उसकी आपको बात माननी पड़ेगी या किसी ना किसी आपको बात में 2 साल के बच्चे को बैंक आना पड़ेगा मेरे को याद है मेरा एक रिश्तेदार की छोटी सी बच्ची थी मेरे साथ बाजार गई हुई थी तो कोई ऐसी चीज बोल रही थी कि बच्चों के लिए मैंने का नुकसान दायक है वहां पर छिपकली सड़क पर लौट गई वह मेरे को मजबूरी में उसे दिलाना पड़ा तो उसी को कहते हैं बाल हट बाल हट के सामने कुछ नहीं कर सकते उसका बस ध्यान भंग करके दूसरी तरफ लगा सकते हैं तो समझाने की कोई जरूरत नहीं है वह तुरंत दूसरे बात बताएंगे उसमें ध्यान हो जाता है उसका क्या खिलौने की तरफ आकर्षित होता है तो उसी में बच्चे चादर आकर्षित होते हैं और क्षणिक किसी को जिद करते हैं इस उम्र के बच्चे तो आपको उसकी बात माननी ही पड़ेगी इसका कोई आपके पास समाधान नहीं है बस उसको किसी और चीज में लगा दे तो भूल जाएगा लेकिन कई बच्चे होते बाद में फिर उन्हें याद आ जाता है फिर उस जिद पकड़ लेते हैं तो आपको धीरे धीरे प्यार से खेलकूद के उनके साथ उनको किसी बातों में लगाकर ही आप समझा सकते हैं धन्यवाद
Samajhata doston ghatana ke 2 saal ka bachcha agar jiddee ho jae to use kaise samajhaana chaahie to dost doston yah bahut hee chhotee umr hai 2 saal kee jise ham baal hat bhee bolate hain is par aap vijay praapt nahin kar sake bade-bade log bade-bade log ophisar gred ke ritaayar hone ke baad ya ophisar hain ya bade bade pad par baithe vyakti bhee baal hat ko nahin rok paate hain baal hat ho gaya hai aisee stree hart ho gaya maana gaya hai hamaara raaj hart ho gaya yah shaastron mein batae gae hain to usakee aapako baat maananee padegee ya kisee na kisee aapako baat mein 2 saal ke bachche ko baink aana padega mere ko yaad hai mera ek rishtedaar kee chhotee see bachchee thee mere saath baajaar gaee huee thee to koee aisee cheej bol rahee thee ki bachchon ke lie mainne ka nukasaan daayak hai vahaan par chhipakalee sadak par laut gaee vah mere ko majabooree mein use dilaana pada to usee ko kahate hain baal hat baal hat ke saamane kuchh nahin kar sakate usaka bas dhyaan bhang karake doosaree taraph laga sakate hain to samajhaane kee koee jaroorat nahin hai vah turant doosare baat bataenge usamen dhyaan ho jaata hai usaka kya khilaune kee taraph aakarshit hota hai to usee mein bachche chaadar aakarshit hote hain aur kshanik kisee ko jid karate hain is umr ke bachche to aapako usakee baat maananee hee padegee isaka koee aapake paas samaadhaan nahin hai bas usako kisee aur cheej mein laga de to bhool jaega lekin kaee bachche hote baad mein phir unhen yaad aa jaata hai phir us jid pakad lete hain to aapako dheere dheere pyaar se khelakood ke unake saath unako kisee baaton mein lagaakar hee aap samajha sakate hain dhanyavaad

bolkar speaker
2 साल का बच्चा अगर जिद्दी हो तो उसे कैसे समझाना चाहिए?2 Saal Ka Bacha Agar Jidi Ho To Use Kese Samjhana Chayia
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:59
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका अगर 2 साल का बच्चा जिद्दी हो तो उसे कैसे समझाना चाहिए तो फिर से 2 साल के बच्चे की उम्र बहुत छोटी होती है और उसे आपको प्यार से ही हर बात समझाने पड़ेगी और अगर वे अपनी जिद कर रहा है कोई अच्छी खा लेंगे दिल मांग रहा है कोई एक तो उसकी जगह आपको पूरी करनी चाहिए लेकिन अगर कोई पर आप जिद कर रहा है जो कि ठीक नहीं है तो आपको उसे प्यार से समझाना है आप उसको गोदी में लेकर टहल आई है समझाइए प्यार से समझाइए और प्यार से मत लाइए और इतने छोटे बच्चे का दिमाग भी बहुत मुलायम होता है इसलिए आपको उसको डांटना मारना बिल्कुल नहीं है आपको उसको प्यार से समझाना है धीरे-धीरे समझ जाएगा और उसका मन बहलाने की कोशिश कीजिए उसको मोबाइल पर कुछ अच्छा दिखाइए टीवी में कुछ अच्छा दिखाइए अच्छी बातें बताइए अच्छी सी कहानी सुनाइए उसको और उसके साथ थोड़ा सा टाइम स्पेंड कीजिए तो वह जरूर अच्छा हो जाएगा धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka agar 2 saal ka bachcha jiddee ho to use kaise samajhaana chaahie to phir se 2 saal ke bachche kee umr bahut chhotee hotee hai aur use aapako pyaar se hee har baat samajhaane padegee aur agar ve apanee jid kar raha hai koee achchhee kha lenge dil maang raha hai koee ek to usakee jagah aapako pooree karanee chaahie lekin agar koee par aap jid kar raha hai jo ki theek nahin hai to aapako use pyaar se samajhaana hai aap usako godee mein lekar tahal aaee hai samajhaie pyaar se samajhaie aur pyaar se mat laie aur itane chhote bachche ka dimaag bhee bahut mulaayam hota hai isalie aapako usako daantana maarana bilkul nahin hai aapako usako pyaar se samajhaana hai dheere-dheere samajh jaega aur usaka man bahalaane kee koshish keejie usako mobail par kuchh achchha dikhaie teevee mein kuchh achchha dikhaie achchhee baaten bataie achchhee see kahaanee sunaie usako aur usake saath thoda sa taim spend keejie to vah jaroor achchha ho jaega dhanyavaad

bolkar speaker
2 साल का बच्चा अगर जिद्दी हो तो उसे कैसे समझाना चाहिए?2 Saal Ka Bacha Agar Jidi Ho To Use Kese Samjhana Chayia
Rohit Rathore Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rohit जी का जवाब
Student
0:48
वेलकम बैक स्वागत है आप सबका मेरी बोलकर ए प्रोफाइल पर और आप सुन रहे हैं रोहित राठौर को तो क्या 2 साल का बच्चा जिद करता है मेरा ऐसा मानना है कि 2 साल के बच्चों को ही समझ नहीं होती कि दीदी क्या होती उसे यह नहीं पता होता कि अगर मैं जिद करूंगा तो मेरी हर बात मानी जाएगी क्योंकि वह उसकी नादानी होती इज्जत तो उसे बाद में जब आप उस चीज को पूरा करते रहते हैं तब उसे बाद में उसकी आदत हो जाती जब वजीद में बदलती है क्योंकि 2 साल का बच्चा जीत नहीं समझता कि वह क्या होती है जब जब तक वह उसकी नादानी रहती है तो यह पेरेंट्स के ऊपर है कि वह उसे किस तरह से कंट्रोल करें क्योंकि हर बच्चा एक अच्छी चीज और एक भिखारी जीत करता है आपको देखना है कि वह उसकी नादानी है ना कीजिए आप उसे डांटा नहीं प्यार से समझाएं वह जरूर मानेगा तो धन्यवाद मिलते हैं आपसे अगले सवाल में जब तक के लिए टेक केयर
Velakam baik svaagat hai aap sabaka meree bolakar e prophail par aur aap sun rahe hain rohit raathaur ko to kya 2 saal ka bachcha jid karata hai mera aisa maanana hai ki 2 saal ke bachchon ko hee samajh nahin hotee ki deedee kya hotee use yah nahin pata hota ki agar main jid karoonga to meree har baat maanee jaegee kyonki vah usakee naadaanee hotee ijjat to use baad mein jab aap us cheej ko poora karate rahate hain tab use baad mein usakee aadat ho jaatee jab vajeed mein badalatee hai kyonki 2 saal ka bachcha jeet nahin samajhata ki vah kya hotee hai jab jab tak vah usakee naadaanee rahatee hai to yah perents ke oopar hai ki vah use kis tarah se kantrol karen kyonki har bachcha ek achchhee cheej aur ek bhikhaaree jeet karata hai aapako dekhana hai ki vah usakee naadaanee hai na keejie aap use daanta nahin pyaar se samajhaen vah jaroor maanega to dhanyavaad milate hain aapase agale savaal mein jab tak ke lie tek keyar

bolkar speaker
2 साल का बच्चा अगर जिद्दी हो तो उसे कैसे समझाना चाहिए?2 Saal Ka Bacha Agar Jidi Ho To Use Kese Samjhana Chayia
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
4:16
सवाल ये है कि 2 साल का बच्चा कर दी हो तो उसे कैसे समझाना चाहिए अगर आप चाहते हैं कि आप कल जल्दी बच्चा आपको सुने तो इसके लिए आपको खुद फोन की बात ध्यान से सुनी होगी मजबूत इच्छाशक्ति वाले बच्चों की राय भी बहुत मजबूत होती है और वह कई बार हमसे बहस करने लगते हैं अगर आप उनकी बात नहीं सुनेंगे तो और ज्यादा जिद्दी हो जाएंगे अगर उन्हें यह महसूस होने लगे कि उनकी बात नहीं सुनी जा रही है वह धीरे-धीरे आपकी हर बात को दरकिनार करना शुरू कर देंगे अधिकतर समय जब बच्चा कुछ करने या ना करने की जिद करें आपका शांति और धारा से उनकी बात जरूर सुने उनकी बात खत्म होने से पहले उन्हें नाटो के आप उनसे कभी भी गर्म मोड में बात ना करें बच्चों के साथ जबरदस्ती बिल्कुल ना करें जब अपने बच्चों के साथ किसी भी चीज को लेकर जबरदस्ती करते हैं सुबह स्वभाव स्वभाव से विद्रोही होते चले जाते हैं तत्कालिक तौर पर कई बार जबरदस्ती से आपको समाधान तो मिल जाता है लेकिन आगे के लिए यह खतरनाक होता चला जाता है बच्चों से जबरदस्ती कुछ करवाने के लिए वही कुछ करने लगते हैं जिन्हें उन्हें दिल से उन्हें मना किया जाता है आप अपने बच्चों से कनेक्ट होने की कोशिश करें माली जी आपका बच्चा और टीवी देखने की जिद कर रहा है तू जबरदस्ती ठीक से जबरदस्ती करने की बात नहीं बनेगी उसके बाद आप उसके साथ बैठी हुई इस चीज में दिलचस्पी दिखाई है कि वह क्या देख रहे हैं जब आप उनकी चीजों में अपनी दिलचस्पी दिखाएंगे तो आप के प्रति ज्यादा जवाब दे बनते चले जाएंगे जो अपने पैरंट्स से कनेक्टेड महसूस करते हुए वह समझदार होते हैं रिद्धि बच्चों के साथ ऐसा ही रिश्ता बनाई है जिसकी अनदेखी करना उनके लिए मुश्किल हो जाए तूने खुद से जुड़ा हुआ महसूस कराने के लिए एक कदम बढ़ाया और उन्हें गले से लगाए बच्चों का अपना दिमाग होता है वह हमेशा वह करना पसंद नहीं करते जो मुझे कहा जाता है अगर आपको अपने बच्चे को कहेंगे कि वह 9:00 बजे से पहले बिस्तर में चल सो जाए तो इसमें कोई शक नहीं है कि आपको इसका जवाब एक बड़ा सा ना मिलेगा ऐसा आदेश देने के बजाय आप हमसे पूछे कि मैं सोते समय कौन सी स्टोरी सुनना पसंद करेंगे या बच्चों को आदेश ना दें बल्कि उन्हें सुझाव और विकल्प दें इसके बाद भी आपको बच्चा ना माने और कहे कि मैं सोने नहीं जाऊंगा तो आप अपना शहर है ना आप उनसे कहे कहे कि यह तो ऑप्शन उसने दिया ही नहीं अपनी बात को कई बार कहे लेकिन आप अपना आपा ना कोई आपका बच्चा जल्दी अपनी जिद छोड़ देगा अगर आप अपने बच्चों पर चलाएंगे तो और शायद आपका बच्चा के सीखने को घुमाने लड़ाई का निमंत्रण समझ ले इससे आपका बचत अपनी तहजीब और बोलता चला जाएगा आप हमेशा बातचीत को एक निष्कर्ष तक ले जाए ना की किसी लड़ाई में उसे तब्दील करें आप व्यस्त हैं और बच्चों की तरह बर्ताव बिल्कुल ना करें आप अपने बच्चों को कुछ समझाने उसकी मदद करनी होगी याद रखें अगर आप चाहते हैं कि आपका बच्चा आपका और आपके पैसों का सम्मान करें तो आपको भी उनका सम्मान करना होगा आपका व्हाट्सएप की अथॉरिटी बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करेगा अगर आप उन पर कुछ होते हैं तो जिद्दी बच्चे या रियल बच्चे बहुत ज्यादा संवेदनशील होते हैं और वे इस बात को गहराई से महसूस करते हैं कि आप उनके साथ कैसा बर्ताव करते हैं लेखनी टोन बॉडी लैंग्वेज अपने शब्दों को लेकर खास सावधानी बरतें जब उन्हें आपका व्यवहार अच्छा नहीं लगता है तो वह खुद को बचाने के लिए सब कुछ करने लगते हैं मैं विद्रोही हो जाते हैं और हर बात का जवाब देने लगते हैं और गुस्सा दिखाने लगते हैं छोटी-छोटी बातें है लेकिन अहम है जिसे तुम यह करो तुमसे मैंने यह कहा था कि वजह चलो ऐसा करते हैं या ऐसे करें क्या ऐसे कई बार अपने बच्चों के साथ नेगोशिएट करना भी जरूरी होता है जब बच्चों को अपनी मर्जी की चीज नहीं मिलती है तो वह जिसे दिखाने लगते हैं इसका मतलब यह नहीं है कि आप उनकी हर मांग को मान ले इसका मतलब है कि सूझबूझ और व्यवहारिक है उदाहरण के तौर पर अगर आपका बच्चा सही वक्त पर सोना नहीं चाह रहा तो उसकी उसी वक्त पर सोने का दबाव डालने की वजह से थोड़ी सी देर की दोनों की मांगे पूरी होती नजर आए
Savaal ye hai ki 2 saal ka bachcha kar dee ho to use kaise samajhaana chaahie agar aap chaahate hain ki aap kal jaldee bachcha aapako sune to isake lie aapako khud phon kee baat dhyaan se sunee hogee majaboot ichchhaashakti vaale bachchon kee raay bhee bahut majaboot hotee hai aur vah kaee baar hamase bahas karane lagate hain agar aap unakee baat nahin sunenge to aur jyaada jiddee ho jaenge agar unhen yah mahasoos hone lage ki unakee baat nahin sunee ja rahee hai vah dheere-dheere aapakee har baat ko darakinaar karana shuroo kar denge adhikatar samay jab bachcha kuchh karane ya na karane kee jid karen aapaka shaanti aur dhaara se unakee baat jaroor sune unakee baat khatm hone se pahale unhen naato ke aap unase kabhee bhee garm mod mein baat na karen bachchon ke saath jabaradastee bilkul na karen jab apane bachchon ke saath kisee bhee cheej ko lekar jabaradastee karate hain subah svabhaav svabhaav se vidrohee hote chale jaate hain tatkaalik taur par kaee baar jabaradastee se aapako samaadhaan to mil jaata hai lekin aage ke lie yah khataranaak hota chala jaata hai bachchon se jabaradastee kuchh karavaane ke lie vahee kuchh karane lagate hain jinhen unhen dil se unhen mana kiya jaata hai aap apane bachchon se kanekt hone kee koshish karen maalee jee aapaka bachcha aur teevee dekhane kee jid kar raha hai too jabaradastee theek se jabaradastee karane kee baat nahin banegee usake baad aap usake saath baithee huee is cheej mein dilachaspee dikhaee hai ki vah kya dekh rahe hain jab aap unakee cheejon mein apanee dilachaspee dikhaenge to aap ke prati jyaada javaab de banate chale jaenge jo apane pairants se kanekted mahasoos karate hue vah samajhadaar hote hain riddhi bachchon ke saath aisa hee rishta banaee hai jisakee anadekhee karana unake lie mushkil ho jae toone khud se juda hua mahasoos karaane ke lie ek kadam badhaaya aur unhen gale se lagae bachchon ka apana dimaag hota hai vah hamesha vah karana pasand nahin karate jo mujhe kaha jaata hai agar aapako apane bachche ko kahenge ki vah 9:00 baje se pahale bistar mein chal so jae to isamen koee shak nahin hai ki aapako isaka javaab ek bada sa na milega aisa aadesh dene ke bajaay aap hamase poochhe ki main sote samay kaun see storee sunana pasand karenge ya bachchon ko aadesh na den balki unhen sujhaav aur vikalp den isake baad bhee aapako bachcha na maane aur kahe ki main sone nahin jaoonga to aap apana shahar hai na aap unase kahe kahe ki yah to opshan usane diya hee nahin apanee baat ko kaee baar kahe lekin aap apana aapa na koee aapaka bachcha jaldee apanee jid chhod dega agar aap apane bachchon par chalaenge to aur shaayad aapaka bachcha ke seekhane ko ghumaane ladaee ka nimantran samajh le isase aapaka bachat apanee tahajeeb aur bolata chala jaega aap hamesha baatacheet ko ek nishkarsh tak le jae na kee kisee ladaee mein use tabdeel karen aap vyast hain aur bachchon kee tarah bartaav bilkul na karen aap apane bachchon ko kuchh samajhaane usakee madad karanee hogee yaad rakhen agar aap chaahate hain ki aapaka bachcha aapaka aur aapake paison ka sammaan karen to aapako bhee unaka sammaan karana hoga aapaka vhaatsep kee athoritee bilkul bardaasht nahin karega agar aap un par kuchh hote hain to jiddee bachche ya riyal bachche bahut jyaada sanvedanasheel hote hain aur ve is baat ko gaharaee se mahasoos karate hain ki aap unake saath kaisa bartaav karate hain lekhanee ton bodee laingvej apane shabdon ko lekar khaas saavadhaanee baraten jab unhen aapaka vyavahaar achchha nahin lagata hai to vah khud ko bachaane ke lie sab kuchh karane lagate hain main vidrohee ho jaate hain aur har baat ka javaab dene lagate hain aur gussa dikhaane lagate hain chhotee-chhotee baaten hai lekin aham hai jise tum yah karo tumase mainne yah kaha tha ki vajah chalo aisa karate hain ya aise karen kya aise kaee baar apane bachchon ke saath negoshiet karana bhee jarooree hota hai jab bachchon ko apanee marjee kee cheej nahin milatee hai to vah jise dikhaane lagate hain isaka matalab yah nahin hai ki aap unakee har maang ko maan le isaka matalab hai ki soojhaboojh aur vyavahaarik hai udaaharan ke taur par agar aapaka bachcha sahee vakt par sona nahin chaah raha to usakee usee vakt par sone ka dabaav daalane kee vajah se thodee see der kee donon kee maange pooree hotee najar aae

bolkar speaker
2 साल का बच्चा अगर जिद्दी हो तो उसे कैसे समझाना चाहिए?2 Saal Ka Bacha Agar Jidi Ho To Use Kese Samjhana Chayia
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
1:00
अमन दे दो आपका सवाल है 2 साल का बच्चा अगर बिजी हो तो उसे कैसे समझाना चाहिए तो दोस्तों आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार से है अगर हमारे परिवार में यह हमारे घर में 2 साल का बच्चा है अगर वह बार-बार बेज्जती करता है तो उसको प्यार से ही समझाना चाहिए और उनको अच्छा और बुरे के बारे में बताना चाहिए ना कि वह दीदी कर रहा है तो हमें आदमी देना चाहिए क्योंकि उसे समझाना चाहिए कि ऐसे नहीं करते हैं क्योंकि यदि करने से बच्चा एक गलत प्रभाव पड़ता है इसलिए बच्चे को समझाते रहना चाहिए वह भी प्यार से ही हंसी खुशी से ही समझाना चाहिए धन्यवाद साथियों खुश रहो
Aman de do aapaka savaal hai 2 saal ka bachcha agar bijee ho to use kaise samajhaana chaahie to doston aapake savaal ka uttar is prakaar se hai agar hamaare parivaar mein yah hamaare ghar mein 2 saal ka bachcha hai agar vah baar-baar bejjatee karata hai to usako pyaar se hee samajhaana chaahie aur unako achchha aur bure ke baare mein bataana chaahie na ki vah deedee kar raha hai to hamen aadamee dena chaahie kyonki use samajhaana chaahie ki aise nahin karate hain kyonki yadi karane se bachcha ek galat prabhaav padata hai isalie bachche ko samajhaate rahana chaahie vah bhee pyaar se hee hansee khushee se hee samajhaana chaahie dhanyavaad saathiyon khush raho

bolkar speaker
2 साल का बच्चा अगर जिद्दी हो तो उसे कैसे समझाना चाहिए?2 Saal Ka Bacha Agar Jidi Ho To Use Kese Samjhana Chayia
itishree Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए itishree जी का जवाब
Unknown
1:43
कैसी है 2 साल का बच्चा का जिद्दी हो तो उसे कैसे समझाना चाहिए देखिए बच्चों तो मन के सच्चे होते हैं ईश्वर का रूप होता है तो बच्चों आज कल का जो बच्चे हैं वह बहुत ही बिजी होते हैं वह लेंगे यह लेंगे यह करेंगे वह करेंगे तो हम उसे मारकर या आंख दिखाकर उसे समझाने की कोशिश करते हैं पर ऐसा नहीं करना चाहिए अगर बच्चा किस देकर आए तो आप उसे प्यार से समझाएं और क्या वह मांग रहा है क्या चाह रहा है उसको पहले समझे उसके साथ अच्छे से बात कीजिए ताकि अच्छे से बोल समझ समझ जाएं और क्या वह दीदी कर रहा है उसको उस दीदी से कैसे बाहर लाएंगे यह आपको सोचना है उसका मन कैसे बदल ले बदला बदला जा सकता है यह आपको सोचना है तो आप बच्चे के साथ नरमी से पेश आए उसका ना उसको उस पर हाथ ना उठाएं कि उसे ना डालें अगर उसे आप डांटे के बार-बार मारेंगे तो उसका जिद्दी है जो बहुत धीरे-धीरे बढ़ जाएगा क्योंकि हमारे नानी याद आदि के जमाने में उनके बच्चे जन्म लेते थे वह आठ नौ दस किसी का 11 किसी का 12 सा बच्चा होते थे और सब इससे आजकल जो बच्चे इतनी जिद्दी होते हैं वही जमाने में नहीं होता है तो उन्होंने हमें सनम को समझते हैं कि आजकल का बच्चा बहुत ही जिद्दी हो हो जाते हैं एक बच्चा अगर किसी का भी हो जाए तो उसको बड़ा करने में बहुत ही कष्ट होता है
Kaisee hai 2 saal ka bachcha ka jiddee ho to use kaise samajhaana chaahie dekhie bachchon to man ke sachche hote hain eeshvar ka roop hota hai to bachchon aaj kal ka jo bachche hain vah bahut hee bijee hote hain vah lenge yah lenge yah karenge vah karenge to ham use maarakar ya aankh dikhaakar use samajhaane kee koshish karate hain par aisa nahin karana chaahie agar bachcha kis dekar aae to aap use pyaar se samajhaen aur kya vah maang raha hai kya chaah raha hai usako pahale samajhe usake saath achchhe se baat keejie taaki achchhe se bol samajh samajh jaen aur kya vah deedee kar raha hai usako us deedee se kaise baahar laenge yah aapako sochana hai usaka man kaise badal le badala badala ja sakata hai yah aapako sochana hai to aap bachche ke saath naramee se pesh aae usaka na usako us par haath na uthaen ki use na daalen agar use aap daante ke baar-baar maarenge to usaka jiddee hai jo bahut dheere-dheere badh jaega kyonki hamaare naanee yaad aadi ke jamaane mein unake bachche janm lete the vah aath nau das kisee ka 11 kisee ka 12 sa bachcha hote the aur sab isase aajakal jo bachche itanee jiddee hote hain vahee jamaane mein nahin hota hai to unhonne hamen sanam ko samajhate hain ki aajakal ka bachcha bahut hee jiddee ho ho jaate hain ek bachcha agar kisee ka bhee ho jae to usako bada karane mein bahut hee kasht hota hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • 2 साल का बच्चा खाना नहीं खाता .. 2 साल का बच्चा बहुत कमजोर हे क्या करू
URL copied to clipboard