#undefined

bolkar speaker

पपीता खाने के क्या फायदे और कौन से नुकसान है किस समय पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए?

Papeeta Khaane Ke Kya Fayde Aur Kaun Se Nuksan Hai Kis Samay Papeeta Ka Sevan Nahin Karna Chaiye
pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:08
पपीता खाने के क्या फायदे व नुकसान है कितने में पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए पीता है वह विटामिन ए का बहुत ही अच्छा होता है विटामिन है क्यों पाए जाते हैं और बहुत ही फायदेमंद होता है हर वर्ग के व्यक्ति को और लड़के का टाइमिंग कितना बजे आता है थोड़ा नहीं खाना चाहिए किस कर दी फायदा होता है
Papeeta khaane ke kya phaayade va nukasaan hai kitane mein papeeta ka sevan nahin karana chaahie peeta hai vah vitaamin e ka bahut hee achchha hota hai vitaamin hai kyon pae jaate hain aur bahut hee phaayademand hota hai har varg ke vyakti ko aur ladake ka taiming kitana baje aata hai thoda nahin khaana chaahie kis kar dee phaayada hota hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
पपीता खाने के क्या फायदे और कौन से नुकसान है किस समय पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए?Papeeta Khaane Ke Kya Fayde Aur Kaun Se Nuksan Hai Kis Samay Papeeta Ka Sevan Nahin Karna Chaiye
Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
2:00
नहीं कि पपीता खाने के क्या फायदे और कौन से नुकसान है किस समय पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए पपीता खाने के बहुत सारे फायदे और स्वास्थ्य के लिहाज से देखा जाए तो पपीता बहुत ज्यादा फायदेमंद वाला फल है इसके साथ-साथ इसमें क्या होता है कि उच्च मात्रा में फाइबर मौजूद होता है जो कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायता प्रदान करता है इसके अलावा पपीते में 24 कैलोरी की मात्रा होती है और वजन घटाने के काम में आता है इसमें क्या होता है पपीता खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है आंखों की रोशनी बहुत अच्छी रहती है पाचन तंत्र को सक्रिय रखता है उसके अलावा पीरियड के दौरान महिलाओं में बहुत ज्यादा दर्द होता है तो पपीता खाने से भी तो क्या होगा कि आपको आराम मिलेगा उसके अलावा नुकसान क्या हो सकता है आपके नुकसान हो सकता है आप वजन नहीं घटाना चाहते हैं तो आपका नुकसान हुआ क्या आप थोड़ा सा तगड़े रहना चाहता मैं तो भोजन नहीं करना चाहते हैं तो आपके लिए नुकसान होगा उसके अलावा देखा जाए तो जो महिलाएं गर्भवती होती हैं उन्हें नहीं खाना चाहिए बहुत ज्यादा नुकसानदेह होता है और सबसे इस समय पपीता नहीं खाना चाहिए जब आप मतलब आप तो गर्भवती हो जाती हैं आप के लक्षण दिखने लगते हैं या उससे पहले जब आपको अपने पार्टनर के साथ यौन संबंध बनाते हैं उस समय से आप अगर चाहते हैं कि हम बच्चे को जन्म देना चाहते हैं तो आप उस समय से पका पपीता हो या कच्चा पपीता कच्चा पपीता या अब पका पपीता आपको टच भी नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे क्या होता है कि आपको परेशानी हो जाएगी वो खराब हो जाते हैं बच्चे तो सबसे अच्छी बात है कि आप अगर पपीता का सेवन जब गर्भवती हो तो उस समय तो बिल्कुल आप छोड़ दी है पका पपीता हो चेक कचा कचा भाभी के साथ किसी प्रकार का पपीता नहीं खाना
Nahin ki papeeta khaane ke kya phaayade aur kaun se nukasaan hai kis samay papeeta ka sevan nahin karana chaahie papeeta khaane ke bahut saare phaayade aur svaasthy ke lihaaj se dekha jae to papeeta bahut jyaada phaayademand vaala phal hai isake saath-saath isamen kya hota hai ki uchch maatra mein phaibar maujood hota hai jo kolestrol ko kam karane mein sahaayata pradaan karata hai isake alaava papeete mein 24 kailoree kee maatra hotee hai aur vajan ghataane ke kaam mein aata hai isamen kya hota hai papeeta khaane se rog pratirodhak kshamata badhatee hai aankhon kee roshanee bahut achchhee rahatee hai paachan tantr ko sakriy rakhata hai usake alaava peeriyad ke dauraan mahilaon mein bahut jyaada dard hota hai to papeeta khaane se bhee to kya hoga ki aapako aaraam milega usake alaava nukasaan kya ho sakata hai aapake nukasaan ho sakata hai aap vajan nahin ghataana chaahate hain to aapaka nukasaan hua kya aap thoda sa tagade rahana chaahata main to bhojan nahin karana chaahate hain to aapake lie nukasaan hoga usake alaava dekha jae to jo mahilaen garbhavatee hotee hain unhen nahin khaana chaahie bahut jyaada nukasaanadeh hota hai aur sabase is samay papeeta nahin khaana chaahie jab aap matalab aap to garbhavatee ho jaatee hain aap ke lakshan dikhane lagate hain ya usase pahale jab aapako apane paartanar ke saath yaun sambandh banaate hain us samay se aap agar chaahate hain ki ham bachche ko janm dena chaahate hain to aap us samay se paka papeeta ho ya kachcha papeeta kachcha papeeta ya ab paka papeeta aapako tach bhee nahin karana chaahie kyonki isase kya hota hai ki aapako pareshaanee ho jaegee vo kharaab ho jaate hain bachche to sabase achchhee baat hai ki aap agar papeeta ka sevan jab garbhavatee ho to us samay to bilkul aap chhod dee hai paka papeeta ho chek kacha kacha bhaabhee ke saath kisee prakaar ka papeeta nahin khaana

bolkar speaker
पपीता खाने के क्या फायदे और कौन से नुकसान है किस समय पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए?Papeeta Khaane Ke Kya Fayde Aur Kaun Se Nuksan Hai Kis Samay Papeeta Ka Sevan Nahin Karna Chaiye
Md Mahmud Alam Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Md जी का जवाब
स्टूडेंट विद्यार्थी
0:48
ऐसा वाले पपीता खाने के क्या फायदे और कौन से नुकसान है किस समय पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए यह कैसी है फल है जिसे खाने से शरीर में फायदेमंद होती है यहीं से क्या होता है आपकी आंख की रोशनी को बनाता जाता है आपके शरीर में उर्जा को शक्ति को बढ़ाता आपकी आंख की जांच होती है उसकी शक्तियों को बढ़ाता के भोजन में पेट में पाचन क्रिया को भी बहुत सहायता करता पचाने लेकिन इसके नुकसान यह होता है कि इसको उस समय नहीं खाने चाहिए यदि कोई महिला गर्भवती हो तो उस समय इसका सेवन नहीं करना चाहिए या किसी के पास यदि कोई इंसान ब्लड प्रेशर वाला हो तो इसका सेवन नहीं चाहिए या किसी प्रिंटर सही हो तो उसका नहीं करना चाहिए इन सब का ध्यान रखना चाहिए धन्यवाद
Aisa vaale papeeta khaane ke kya phaayade aur kaun se nukasaan hai kis samay papeeta ka sevan nahin karana chaahie yah kaisee hai phal hai jise khaane se shareer mein phaayademand hotee hai yaheen se kya hota hai aapakee aankh kee roshanee ko banaata jaata hai aapake shareer mein urja ko shakti ko badhaata aapakee aankh kee jaanch hotee hai usakee shaktiyon ko badhaata ke bhojan mein pet mein paachan kriya ko bhee bahut sahaayata karata pachaane lekin isake nukasaan yah hota hai ki isako us samay nahin khaane chaahie yadi koee mahila garbhavatee ho to us samay isaka sevan nahin karana chaahie ya kisee ke paas yadi koee insaan blad preshar vaala ho to isaka sevan nahin chaahie ya kisee printar sahee ho to usaka nahin karana chaahie in sab ka dhyaan rakhana chaahie dhanyavaad

bolkar speaker
पपीता खाने के क्या फायदे और कौन से नुकसान है किस समय पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए?Papeeta Khaane Ke Kya Fayde Aur Kaun Se Nuksan Hai Kis Samay Papeeta Ka Sevan Nahin Karna Chaiye
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:04
कर दो सौ सवाल है पपीता खाने के क्या फायदे और कौन से नुकसान एक इस समय पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए दोस्तों वैसे देखा जाए तो पपीता के लाभ है परंतु नुकसान भी बहुत ज्यादा है पपीता खाने से फायदा होता है कि आपके पेट के अंदर जाकर के उत्पन्न करता है ना कि गर्मी ठंडा होता है परंतु जैसे ही आपको कब्ज की परेशानी हो सकती है यह तो मैंने का नुकसान है क्या पथरी होने के चांसेस बढ़ जाते हैं
Kar do sau savaal hai papeeta khaane ke kya phaayade aur kaun se nukasaan ek is samay papeeta ka sevan nahin karana chaahie doston vaise dekha jae to papeeta ke laabh hai parantu nukasaan bhee bahut jyaada hai papeeta khaane se phaayada hota hai ki aapake pet ke andar jaakar ke utpann karata hai na ki garmee thanda hota hai parantu jaise hee aapako kabj kee pareshaanee ho sakatee hai yah to mainne ka nukasaan hai kya patharee hone ke chaanses badh jaate hain

bolkar speaker
पपीता खाने के क्या फायदे और कौन से नुकसान है किस समय पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए?Papeeta Khaane Ke Kya Fayde Aur Kaun Se Nuksan Hai Kis Samay Papeeta Ka Sevan Nahin Karna Chaiye
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
3:34
फेस वाले की पपीता खाने के क्या फायदे और क्या नुकसान हैं किस समय पिता का सेवन नहीं करना चाहिए तो पता भी सिम में उत्कृष्ट बन गया और उत्तरी क्षेत्रों में प्रमुख पपीते का मूल स्थान अमेरिका के उत्कर्ष के 1 छात्र हैं और पहली बार इसे मेक्सिको में उगाया गया था भारत में प्रत्येक का पद खाली लेकर आए थे अक्सर पपीते की तुलना तो भूल से की जाती है लेकिन यह तरबूज से कम मीठा होता है पपीता का स्वाद चखने के लिए पका पपीता ही खाना चाहिए और कच्चे पपीते के रंग हरा होता है जबकि आज पक्का पक्का आज पक्का आधा हरा और आधा पीला होता है तब तक पूरी तरह से पत्नी के बाद रिलेशन तेरे रंग का हो जाता है इस स्थिति में अनेक स्वास्थ्य दल आपके स्वाद और स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होने के कारण पर विधायक लोकप्रिय फैलने पपीते की खासियत है कि यह मौसमी फल ने होकर साल भर मिलते हैं वह लोग नाचते हुए सूट सलाद का सेवन करते हैं पिता विटामिन सी से भरपूर होता है पपीते का स्वाद बढ़ाने के लिए एक नमक मिर्च और नींबू डालकर खा सकते हैं कच्चे पपीते की सब्जी भी बनाई जा सकती है और उसका बच्चा भी बना सकते हैं पपीते में पाइप का नंबर का एग्जाम होता है जो इस्तेमाल में केमिस्ट्री का गम गम किया जाता है ऐसा माना जाता है कि दुनिया भर में प्रतिदिन लगभग 40 किस्में की खेती की जाती है वनस्पति के आकाश पपीता बीज तक बढ़ सकता है पपीते में सैकड़ों अलार्म कॉलेज की में बीज होते हैं इसके प्रत्येक टुकड़े का वजन 99 किलोग्राम से 1 किलोग्राम तक हो सकता है पपीते को उच्च माध्यमिक शेख में भी डाल सकते हैं इनमें से प्राकृतिक रूप में फाइबर प्रोटीन विटामिन सी और रानी जरूरी मिल रहे मौजूद होते हैं पपीते के पौधे की जड़ की छाल बीज वंदे औषधि गुण पाए जाते हैं भारत में कैंसर में पपीते की खेती की जाती है बाद में दक्षिण में आंध्र कर्नाटक गया और पश्चिमी बंगाल पुर में अक्षम उड़ीसा में गुजरात महाराष्ट्र मध्य प्रदेश और मध्य भारत के मैप का सबसे अधिक उत्पादन किया जाता है विश्व में भारत व पिता का सबसे बड़ा उत्पादन है भारत में लगभग 30 टन पपीते का उत्पादन किया जाता है जो कि विश्व के के कुल उत्पादन का आधा हिस्सा है बात अपने पड़ोसी देशों से यह बहरीन सऊदी अरब संयुक्त अरब अमीरात कुवैत कतर इनको बबीता का निर्यात करता है सब पिक्चर के बारे में तो क्या बना सूची का नाम केरिया का पिया फुल एरिया सामान्य पपीता संस्कृत में इसको बोलते हैं क्या करें इसकी अवधि वैसे तो मैं पीछे का मूल स्थान मेक्सिको को उत्तरी अमेरिका है माना जाता है लेकिन अब इसे विश्व में लगभग सभी उत्कृष्ट क्षेत्रों में लगाया जाता है राजनीति की बात की जाए तो वह जून को नेशनल पपीता मनाया जाता है
Phes vaale kee papeeta khaane ke kya phaayade aur kya nukasaan hain kis samay pita ka sevan nahin karana chaahie to pata bhee sim mein utkrsht ban gaya aur uttaree kshetron mein pramukh papeete ka mool sthaan amerika ke utkarsh ke 1 chhaatr hain aur pahalee baar ise meksiko mein ugaaya gaya tha bhaarat mein pratyek ka pad khaalee lekar aae the aksar papeete kee tulana to bhool se kee jaatee hai lekin yah tarabooj se kam meetha hota hai papeeta ka svaad chakhane ke lie paka papeeta hee khaana chaahie aur kachche papeete ke rang hara hota hai jabaki aaj pakka pakka aaj pakka aadha hara aur aadha peela hota hai tab tak pooree tarah se patnee ke baad rileshan tere rang ka ho jaata hai is sthiti mein anek svaasthy dal aapake svaad aur svaasthy ke lie phaayademand hone ke kaaran par vidhaayak lokapriy phailane papeete kee khaasiyat hai ki yah mausamee phal ne hokar saal bhar milate hain vah log naachate hue soot salaad ka sevan karate hain pita vitaamin see se bharapoor hota hai papeete ka svaad badhaane ke lie ek namak mirch aur neemboo daalakar kha sakate hain kachche papeete kee sabjee bhee banaee ja sakatee hai aur usaka bachcha bhee bana sakate hain papeete mein paip ka nambar ka egjaam hota hai jo istemaal mein kemistree ka gam gam kiya jaata hai aisa maana jaata hai ki duniya bhar mein pratidin lagabhag 40 kismen kee khetee kee jaatee hai vanaspati ke aakaash papeeta beej tak badh sakata hai papeete mein saikadon alaarm kolej kee mein beej hote hain isake pratyek tukade ka vajan 99 kilograam se 1 kilograam tak ho sakata hai papeete ko uchch maadhyamik shekh mein bhee daal sakate hain inamen se praakrtik roop mein phaibar proteen vitaamin see aur raanee jarooree mil rahe maujood hote hain papeete ke paudhe kee jad kee chhaal beej vande aushadhi gun pae jaate hain bhaarat mein kainsar mein papeete kee khetee kee jaatee hai baad mein dakshin mein aandhr karnaatak gaya aur pashchimee bangaal pur mein aksham udeesa mein gujaraat mahaaraashtr madhy pradesh aur madhy bhaarat ke maip ka sabase adhik utpaadan kiya jaata hai vishv mein bhaarat va pita ka sabase bada utpaadan hai bhaarat mein lagabhag 30 tan papeete ka utpaadan kiya jaata hai jo ki vishv ke ke kul utpaadan ka aadha hissa hai baat apane padosee deshon se yah bahareen saoodee arab sanyukt arab ameeraat kuvait katar inako babeeta ka niryaat karata hai sab pikchar ke baare mein to kya bana soochee ka naam keriya ka piya phul eriya saamaany papeeta sanskrt mein isako bolate hain kya karen isakee avadhi vaise to main peechhe ka mool sthaan meksiko ko uttaree amerika hai maana jaata hai lekin ab ise vishv mein lagabhag sabhee utkrsht kshetron mein lagaaya jaata hai raajaneeti kee baat kee jae to vah joon ko neshanal papeeta manaaya jaata hai

bolkar speaker
पपीता खाने के क्या फायदे और कौन से नुकसान है किस समय पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए?Papeeta Khaane Ke Kya Fayde Aur Kaun Se Nuksan Hai Kis Samay Papeeta Ka Sevan Nahin Karna Chaiye
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
2:52
हेलो दोस्तों स्वागत है आपका आपका प्रश्न है पपीता खाने के क्या फायदे और कौन से नुकसान है कि समय पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए तो फ्रेंड्स चाहे आप सलाद में खाएं या फिर जूस के रूप में पपीता सेहत के लिए काफी सेहतमंद माना जाता है यह लो कैलरी फूड कई तरह के स्वास्थ्य लाभ देता है डीके पब्लिक की किताब है रिपोर्ट के मुताबिक है पीते को उसके यह जीवाणु रोधी गुड़ के लिए जाना जाता है यह पाचन क्षमता को बढ़ावा देता है इस फल के लगभग हर हिस्से का उपयोग किया जा सकता है यह एंटीऑक्सीडेंट कैरी टुनाइट जैसे कि beta-carotene का एक अच्छा स्रोत है बीटा कैरोटीन हमारी नजर की रक्षा करता है इसके अलावा पपीते के पत्ते को डेंगू बुखार में भी काफी प्रभावित होते हैं पपीता लंबे समय से मीट टेंडरइजर के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है फाइबर से भरपूर पपीता कब्ज जैसी समस्याओं में भी छूट सारा दिलाता है जहां यह कौन नारंगी रंग का यह फल अपने कई गुणों के लिए जाना जाता है वहीं अगर हम अधिक अगर इसको हम ज्यादा मात्रा में खाते हैं तो इसके बहुत सारे साइड इफेक्ट भी होते हैं और यह साइड इफेक्ट होते हैं जैसे कि पपीता गर्भवती महिलाओं के लिए हानिकारक होता है गर्भवती महिलाओं को हम कभी भी पपीता जो भी हेल्थ एक्सपर्ट होते हैं खाने की सलाह नहीं देते हैं क्योंकि पपीता के बीज और जड़ भूल को बहुत नुकसान पहुंचाते हैं पपीता में लेटेस्ट की हाई मात्रा होती है जो गर्भाशय शुक्रण का कारण बन सकती है पपीते में मौजूद अपन शरीर की उस दिल्ली को नुकसान पहुंचा सकता है जो ढूंढ के लिए बहुत ही आवश्यकता आवश्यक होता है और पाचन मुद्दों का कारण बन सकता है पपीता पपीता में भारी मात्रा में फाइबर पाया जाता है कब्ज होने पर ही आपको फायदा देता है लेकिन अगर आपका पेट खराब हो तो आपको पपीता नहीं खाना चाहिए पपीते की भारी भारी त्वचा में लेटेक्स होता है जो पेट को जो पेट दर्द का कारण बन सकता है और ब्लड शुगर भी कम हो सकती है इसे पपीता ब्लड शुगर के लेवल को कम करता है तो डायबिटीज रोगियों के लिए खतरा हो सकता है अगर आप मधुमेह के रोगी हैं तो आप डॉक्टर की सलाह ले ले उसके बाद ही आपको पपीता खाना चाहिए नहीं अचानक से यह आपका शुगर लेवल घटा सकता है और एलर्जी भी हो सकती है बहुत ज्यादा अगर आप इसको खाएंगे तो पपीते में मौजूद पपेन से एलर्जी होने की संभावना भी हो जाती है जिससे इसका रिएक्शन भी हो सकता है सूजन चक्कर आना सर दर्द चक्कर खुजली हो सकती है और संस्कार भी हो सकते हैं पपीते से पपीता में मौजूद एंजॉय म्प3 को संभावित एलर्जी भी कहा जाता है अत्यधिक मात्रा में पपीते के सेवन से अस्थमा कंजेक्शन जोर से सांस लेना जैसी समस्याएं हो सकती हैं तो फिर अगर आपको जानकारी पसंद आए तो लाइक करिएगा धन्यवाद
Helo doston svaagat hai aapaka aapaka prashn hai papeeta khaane ke kya phaayade aur kaun se nukasaan hai ki samay papeeta ka sevan nahin karana chaahie to phrends chaahe aap salaad mein khaen ya phir joos ke roop mein papeeta sehat ke lie kaaphee sehatamand maana jaata hai yah lo kailaree phood kaee tarah ke svaasthy laabh deta hai deeke pablik kee kitaab hai riport ke mutaabik hai peete ko usake yah jeevaanu rodhee gud ke lie jaana jaata hai yah paachan kshamata ko badhaava deta hai is phal ke lagabhag har hisse ka upayog kiya ja sakata hai yah enteeokseedent kairee tunait jaise ki bait-charotainai ka ek achchha srot hai beeta kairoteen hamaaree najar kee raksha karata hai isake alaava papeete ke patte ko dengoo bukhaar mein bhee kaaphee prabhaavit hote hain papeeta lambe samay se meet tendarijar ke roop mein bhee istemaal kiya jaata hai phaibar se bharapoor papeeta kabj jaisee samasyaon mein bhee chhoot saara dilaata hai jahaan yah kaun naarangee rang ka yah phal apane kaee gunon ke lie jaana jaata hai vaheen agar ham adhik agar isako ham jyaada maatra mein khaate hain to isake bahut saare said iphekt bhee hote hain aur yah said iphekt hote hain jaise ki papeeta garbhavatee mahilaon ke lie haanikaarak hota hai garbhavatee mahilaon ko ham kabhee bhee papeeta jo bhee helth eksapart hote hain khaane kee salaah nahin dete hain kyonki papeeta ke beej aur jad bhool ko bahut nukasaan pahunchaate hain papeeta mein letest kee haee maatra hotee hai jo garbhaashay shukran ka kaaran ban sakatee hai papeete mein maujood apan shareer kee us dillee ko nukasaan pahuncha sakata hai jo dhoondh ke lie bahut hee aavashyakata aavashyak hota hai aur paachan muddon ka kaaran ban sakata hai papeeta papeeta mein bhaaree maatra mein phaibar paaya jaata hai kabj hone par hee aapako phaayada deta hai lekin agar aapaka pet kharaab ho to aapako papeeta nahin khaana chaahie papeete kee bhaaree bhaaree tvacha mein leteks hota hai jo pet ko jo pet dard ka kaaran ban sakata hai aur blad shugar bhee kam ho sakatee hai ise papeeta blad shugar ke leval ko kam karata hai to daayabiteej rogiyon ke lie khatara ho sakata hai agar aap madhumeh ke rogee hain to aap doktar kee salaah le le usake baad hee aapako papeeta khaana chaahie nahin achaanak se yah aapaka shugar leval ghata sakata hai aur elarjee bhee ho sakatee hai bahut jyaada agar aap isako khaenge to papeete mein maujood papen se elarjee hone kee sambhaavana bhee ho jaatee hai jisase isaka riekshan bhee ho sakata hai soojan chakkar aana sar dard chakkar khujalee ho sakatee hai aur sanskaar bhee ho sakate hain papeete se papeeta mein maujood enjoy mpa3 ko sambhaavit elarjee bhee kaha jaata hai atyadhik maatra mein papeete ke sevan se asthama kanjekshan jor se saans lena jaisee samasyaen ho sakatee hain to phir agar aapako jaanakaaree pasand aae to laik kariega dhanyavaad

bolkar speaker
पपीता खाने के क्या फायदे और कौन से नुकसान है किस समय पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए?Papeeta Khaane Ke Kya Fayde Aur Kaun Se Nuksan Hai Kis Samay Papeeta Ka Sevan Nahin Karna Chaiye
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
1:49
सवाल यह है कि पपीता खाने के क्या फायदे हैं और कौन से नुकसान है किस समय पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए और खाना पपीता खाना बहुत पसंद करते हैं बहुत से लोग इसे खाली पेट खाना पसंद करते हैं इस औषधि के गुण होते हैं आप इसे साला अपने सलाद के रूप में खा सकते हैं पपीता एक एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल के रूप में भी कार्य करता है इसके पत्ते का उपयोग सामान्य रूप से डेंगू बुखार से लड़ने में मदद करता है तो जहां पपीते के फायदे हैं वहां नुकसान भी हैं एक तरफ गर्भवती महिलाओं को पपीता और अनानास खाने से बचना चाहिए एक पल के रूप में पपीता में कई लाभ है लेकिन इसके बीज और जड़ गर्भपात का कारण बन जाते हैं इसलिए गर्भावस्था के दौरान इस फल का सेवन नहीं करना चाहिए आप अच्छा फल मानते हैं लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि आप इसका सेवन बहुत अधिक मात्रा में करेंगे ज्यादा मात्रा में पपीते के सेव आपको फूड पाइप में चोट पहुंच सकती है 1 दिन में 1 से अधिक पपीते का सेवन करने से बच्चे पपीते में एक एंजाइम पाइपिंग होता है यह बच्चे के लिए जहरीला साबित होता है और इससे बच्चे को जन्म दोष भी हो सकता है इसलिए ब्रेस्टफीडिंग के दौरान बच्चे के जन्म से लेकर बच्चा होने तक पपीता से दूर रहना चाहिए यही एक बेहतर विकल्प होगा कच्चा पपीता खाने से बचना चाहिए क्योंकि पपीते में उपस्थित लैक्टिक नाम का इंसान एलर्जी की समस्या पैदा कर सकता है सीता ब्लड प्रेशर के रोगियों के लिए नुकसानदेह है पपीता बीपी रोगियों के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है इसलिए यदि आप बीपी को कंट्रोल करने के लिए दवा ले रहे हैं तो पपीता खाना आपके लिए खतरनाक हो सकता है बट ए लेटर पर इसका असर होता है
Savaal yah hai ki papeeta khaane ke kya phaayade hain aur kaun se nukasaan hai kis samay papeeta ka sevan nahin karana chaahie aur khaana papeeta khaana bahut pasand karate hain bahut se log ise khaalee pet khaana pasand karate hain is aushadhi ke gun hote hain aap ise saala apane salaad ke roop mein kha sakate hain papeeta ek enteebaikteeriyal aur enteephangal ke roop mein bhee kaary karata hai isake patte ka upayog saamaany roop se dengoo bukhaar se ladane mein madad karata hai to jahaan papeete ke phaayade hain vahaan nukasaan bhee hain ek taraph garbhavatee mahilaon ko papeeta aur anaanaas khaane se bachana chaahie ek pal ke roop mein papeeta mein kaee laabh hai lekin isake beej aur jad garbhapaat ka kaaran ban jaate hain isalie garbhaavastha ke dauraan is phal ka sevan nahin karana chaahie aap achchha phal maanate hain lekin isaka yah matalab nahin ki aap isaka sevan bahut adhik maatra mein karenge jyaada maatra mein papeete ke sev aapako phood paip mein chot pahunch sakatee hai 1 din mein 1 se adhik papeete ka sevan karane se bachche papeete mein ek enjaim paiping hota hai yah bachche ke lie jahareela saabit hota hai aur isase bachche ko janm dosh bhee ho sakata hai isalie brestapheeding ke dauraan bachche ke janm se lekar bachcha hone tak papeeta se door rahana chaahie yahee ek behatar vikalp hoga kachcha papeeta khaane se bachana chaahie kyonki papeete mein upasthit laiktik naam ka insaan elarjee kee samasya paida kar sakata hai seeta blad preshar ke rogiyon ke lie nukasaanadeh hai papeeta beepee rogiyon ke lie nukasaanadaayak saabit ho sakata hai isalie yadi aap beepee ko kantrol karane ke lie dava le rahe hain to papeeta khaana aapake lie khataranaak ho sakata hai bat e letar par isaka asar hota hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • पपीता खाने के क्या फायदे और कौन से नुकसान है किस समय पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए पपीता खाने के क्या फायदे और कौन से नुकसान है
URL copied to clipboard