#धर्म और ज्योतिषी

pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
0:44
ज्योतिष के अनुसार किस ग्रह को मानसिक रोग का कारक माना जाता है तो किसी पर होता है तो वह बहुत ज्यादा बता देते हैं और उन्हें बहुत बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ा नहीं जानती हूं तुझे मैं जानता नहीं पर इतना जरूर जानती कितने चरण होते हैं होता है तो बहुत ज्यादा होता है तुम्हें सवाल का जवाब पसंद है आप लोग को चाहिए
Jyotish ke anusaar kis grah ko maanasik rog ka kaarak maana jaata hai to kisee par hota hai to vah bahut jyaada bata dete hain aur unhen bahut badee dikkaton ka saamana karana pada nahin jaanatee hoon tujhe main jaanata nahin par itana jaroor jaanatee kitane charan hote hain hota hai to bahut jyaada hota hai tumhen savaal ka javaab pasand hai aap log ko chaahie

और जवाब सुनें

Deepak Sharma Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Deepak जी का जवाब
संस्कृतप्रचारक, संस्कृतभारती जयपुरमहानगर प्रचारप्रमुख और सन्देशप्रमुख
1:33
नमस्कार मित्र आप ने प्रश्न किया है ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किस ग्रह को मानसिक रोगों का कारक माना जाता है मित्र ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जो लोग रहे बताए गए हैं उसमें एक मात्र ऐसा ग्रह है जो हमारे मन मस्ती भरे मन को प्रभावित करता है या मन का कारक है और वह है चंद्रमा यदि कुंडली के अंदर चंद्रमा पाप ग्रहों के साथ में है आप स्थान पर है तो वह हमें मानसिक पीड़ा दे सकता है जैसे कि आपने देखा वो कहते हैं ना कि यह व्यक्ति पागल है इसका चंद्रमा खराब है अब यह क्यों बात कही क्योंकि उसके चंद्रमा जो है वो या तो पाप ग्रह के साथ में बैठा हुआ है युति कर रहा है या फिर पाप स्थान पर गया हुआ है और पाप ग्रहों से ग्रसित है तो पूरी तरीके से व्यक्ति जो है मनोरोगी हो सकता यह सब चंद्रमा के खराब होने पर ही होने वाला होता है और क्यों आप यह देखते हैं कि जब किसी का चंद्रमा बहुत ही अच्छा होता है तो वह हमेशा खुश रहेगा पसंद रहेगा इसका चंद्रमा ही खराब है वह हमेशा मन से पीड़ित रहेगा लव कुश ने कुछ सोचता रहेगा चिंतित सा रहेगा इसलिए ही यह मानसिक रोगों का जो कारक है वह है चंद्रमा ग्रह को माना जाता है धन्यवाद
Namaskaar mitr aap ne prashn kiya hai jyotish shaastr ke anusaar kis grah ko maanasik rogon ka kaarak maana jaata hai mitr jyotish shaastr ke anusaar jo log rahe batae gae hain usamen ek maatr aisa grah hai jo hamaare man mastee bhare man ko prabhaavit karata hai ya man ka kaarak hai aur vah hai chandrama yadi kundalee ke andar chandrama paap grahon ke saath mein hai aap sthaan par hai to vah hamen maanasik peeda de sakata hai jaise ki aapane dekha vo kahate hain na ki yah vyakti paagal hai isaka chandrama kharaab hai ab yah kyon baat kahee kyonki usake chandrama jo hai vo ya to paap grah ke saath mein baitha hua hai yuti kar raha hai ya phir paap sthaan par gaya hua hai aur paap grahon se grasit hai to pooree tareeke se vyakti jo hai manorogee ho sakata yah sab chandrama ke kharaab hone par hee hone vaala hota hai aur kyon aap yah dekhate hain ki jab kisee ka chandrama bahut hee achchha hota hai to vah hamesha khush rahega pasand rahega isaka chandrama hee kharaab hai vah hamesha man se peedit rahega lav kush ne kuchh sochata rahega chintit sa rahega isalie hee yah maanasik rogon ka jo kaarak hai vah hai chandrama grah ko maana jaata hai dhanyavaad

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:37
चैताली सवाल किया गया कि ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किस ग्रह को मानसिक रोगों का कारक माना जाता है तो दोस्तों वैसे तो मैं ज्योतिष शास्त्र के अंदर बिल्कुल भी मन नहीं करता हूं परंतु फिर भी इस तरीके से ज्योतिष विद्या जी बताते हैं उस आधार पर मैं यह कह सकता हूं कि जब शनि ग्रह है तो उसे मानसिक रोगों का कारक माना जाता है अभी यह सत्य की असत्य कितना है यह आपके ऊपर निर्भर करता है परंतु मैं इन चीजों को बिल्कुल भी जो मानता नहीं हूं यह सारी चीजें एक अंधविश्वास के तौर पर है परंतु आपके सवाल का जवाब शनि ग्रह
Chaitaalee savaal kiya gaya ki jyotish shaastr ke anusaar kis grah ko maanasik rogon ka kaarak maana jaata hai to doston vaise to main jyotish shaastr ke andar bilkul bhee man nahin karata hoon parantu phir bhee is tareeke se jyotish vidya jee bataate hain us aadhaar par main yah kah sakata hoon ki jab shani grah hai to use maanasik rogon ka kaarak maana jaata hai abhee yah saty kee asaty kitana hai yah aapake oopar nirbhar karata hai parantu main in cheejon ko bilkul bhee jo maanata nahin hoon yah saaree cheejen ek andhavishvaas ke taur par hai parantu aapake savaal ka javaab shani grah

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:50
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किस ग्रह को मानसिक रोगों का कारक माना जाता है तो फ्रेंड से ज्योतिष शास्त्र के अनुसार और हम ऐसे भी मानते हैं दोस्त हम सनी को सबसे ज्यादा खराब अगर ऊपर होता है तो वह शनि की कुदृष्टि होती है तो उसका जीवन अस्त-व्यस्त हो जाता है उसे चोट लग सकती है मानसिक रोग हो सकते हैं तो जिस्म कुंडली में बुध शनि खराब होता है या साढ़ेसाती शनि होता है तो इसे मानसिक रोगों का गारंटी माना जाता है और जो शनि ग्रह होता है उसको आप प्रसन्न करने के लिए अपने सनी अच्छा करने के लिए आप लोग कड़वे तेल का दिया जला सकते हैं सरसों के तेल का काला तिल दांत कर सकते हैं यह सब सुधार सकते हैं जिससे आपकी जो भी जीवन में कठिनाइयां है वह खत्म हो जाए धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn jyotish shaastr ke anusaar kis grah ko maanasik rogon ka kaarak maana jaata hai to phrend se jyotish shaastr ke anusaar aur ham aise bhee maanate hain dost ham sanee ko sabase jyaada kharaab agar oopar hota hai to vah shani kee kudrshti hotee hai to usaka jeevan ast-vyast ho jaata hai use chot lag sakatee hai maanasik rog ho sakate hain to jism kundalee mein budh shani kharaab hota hai ya saadhesaatee shani hota hai to ise maanasik rogon ka gaarantee maana jaata hai aur jo shani grah hota hai usako aap prasann karane ke lie apane sanee achchha karane ke lie aap log kadave tel ka diya jala sakate hain sarason ke tel ka kaala til daant kar sakate hain yah sab sudhaar sakate hain jisase aapakee jo bhee jeevan mein kathinaiyaan hai vah khatm ho jae dhanyavaad

NeelamAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए NeelamAwasthi जी का जवाब
I am housewife
0:53
वाले ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किस ग्रह को मानसिक रोगों के कारक माना जाता है देखिए ज्योतिष शास्त्र के अनुसार चंद्रमा को मन का कारक माना जाता है जब व्यक्ति भावना में बहकर मानसिक संतुलन खो ता है उसमें पंचम भाव में चंद्रमा की भूमिका मानी जाती है ज्योतिष शास्त्र के अनुसार रोगों की उत्पत्ति अनिष्ट ग्रहों के प्रभाव से एवं पूर्व जन्म के आवंटित संचित कर्मों के प्रभाव से बताई गई अन्य ग्रहों के निवारण के लिए पूजा पाठ मंत्र यंत्र धारण विभिन्न प्रकार के दानी व्रत धारण आज साधन ज्योतिष शास्त्र में उल्लेखित हैं धन्यवाद
Vaale jyotish shaastr ke anusaar kis grah ko maanasik rogon ke kaarak maana jaata hai dekhie jyotish shaastr ke anusaar chandrama ko man ka kaarak maana jaata hai jab vyakti bhaavana mein bahakar maanasik santulan kho ta hai usamen pancham bhaav mein chandrama kee bhoomika maanee jaatee hai jyotish shaastr ke anusaar rogon kee utpatti anisht grahon ke prabhaav se evan poorv janm ke aavantit sanchit karmon ke prabhaav se bataee gaee any grahon ke nivaaran ke lie pooja paath mantr yantr dhaaran vibhinn prakaar ke daanee vrat dhaaran aaj saadhan jyotish shaastr mein ullekhit hain dhanyavaad

Dukh kaise mite Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dukh जी का जवाब
Unknown
1:58
ऐसी कृष्णा आपसे पूछा दोस्ती शास्त्र के अनुसार किस ग्रह को मानसिंह होगा कारण माना जाता है देखो कोई करेगा कारण मानसिक रोग नहीं होता है यह प्रकृति * चलाते जीवात्मा घर से बाहर आते ही प्रगति के तीनों कोणों से पकड़ लेते हैं सतोगुण रजोगुण तमोगुण सतोगुण सकता है तो हम प्रसन्न चित्र चाहिए रजोगुण तथा कर्म में प्रवृत्त होते हैं लोग प्रगति जाग्रति है जब तक उन पर बताता रहता है हम यह सोच बुरा हो जाएगा मेरा कभी नहीं होगा या किसी व्यक्ति के पापा भी होते हैं तो पाप उठाने के लिए प्रगति वह विचारे सकती है जिसे जीव आत्मा दुखी होता है कोई मानसिक रोग का कारण कोई ज्योतिष शास्त्र नहीं आपके जो बाप की है वह कारण है या फिर प्रकृति के दिनों में करते हैं वही कारण है उसके लिए इसकी भक्ति करें ईश्वर को एक पर्सनली को एक ही बात है जब वह साधक लग जाएंगे मुझे कल लेने का विचार समाप्त हो जाएंगे क्योंकि हमारा हमारा होने नहीं देते हैं तो भी ठीक कर देते तो फिर लगाते विचार हमेशा ही समाप्त हो जाएंगे और इष्ट की भक्ति करते थे यही नहीं है मैंने हुआ को लेकर काफी ऑडियो अपलोड किया हुआ सेट कीजिए कौन में और शकुनि सब कुछ ज्ञान आप को नष्ट हो जाएगा मुझे पूरा विश्वास है और मुक्ति में आगे बढ़ते रहिए भरतरी भरतरी
Aisee krshna aapase poochha dostee shaastr ke anusaar kis grah ko maanasinh hoga kaaran maana jaata hai dekho koee karega kaaran maanasik rog nahin hota hai yah prakrti * chalaate jeevaatma ghar se baahar aate hee pragati ke teenon konon se pakad lete hain satogun rajogun tamogun satogun sakata hai to ham prasann chitr chaahie rajogun tatha karm mein pravrtt hote hain log pragati jaagrati hai jab tak un par bataata rahata hai ham yah soch bura ho jaega mera kabhee nahin hoga ya kisee vyakti ke paapa bhee hote hain to paap uthaane ke lie pragati vah vichaare sakatee hai jise jeev aatma dukhee hota hai koee maanasik rog ka kaaran koee jyotish shaastr nahin aapake jo baap kee hai vah kaaran hai ya phir prakrti ke dinon mein karate hain vahee kaaran hai usake lie isakee bhakti karen eeshvar ko ek parsanalee ko ek hee baat hai jab vah saadhak lag jaenge mujhe kal lene ka vichaar samaapt ho jaenge kyonki hamaara hamaara hone nahin dete hain to bhee theek kar dete to phir lagaate vichaar hamesha hee samaapt ho jaenge aur isht kee bhakti karate the yahee nahin hai mainne hua ko lekar kaaphee odiyo apalod kiya hua set keejie kaun mein aur shakuni sab kuchh gyaan aap ko nasht ho jaega mujhe poora vishvaas hai aur mukti mein aage badhate rahie bharataree bharataree

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किस ग्रह को मानसिक रोगों का कारक माना जाता है किस ग्रह को मानसिक रोगों का कारक माना जाता है
URL copied to clipboard