#जीवन शैली

bolkar speaker

किस प्रकार युवाओं का गलत लाइफस्टाइल उनके दिल को कमजोर बना रहा है?

Kis Prakar Yuvao Ka Galat Lifestyle Unke Dil Ko Kamjor Bana Raha Hai
Rakesh Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Rakesh जी का जवाब
👨‍🏫 Teacher.
3:06
जैसा की प्रार्थना है कि किस प्रकार युवाओं का गलत लाइफ़स्टाइल जो है उनके दिल को कमजोर बना रहा है तो मैंने देखा है कि कुछ वर्ष पहले तक ऐसा माना जाता था कि कोरोनावायरस ब्लॉकेज से जुड़े लोग बुजुर्गों में होने वाली बीमारी है लेकिन अब यह गुजरे जमाने की बात हो गई है समय के साथ ही हवाओं का दिल कमजोर होता जा रहा है और 40 वर्षों से कम उम्र के युवा भी इसकी चपेट में आ रहे हैं और साथ ही यह भी देखा गया है कि हार्ट अटैक से युवा मरीजों की मौत के जोखिम बुजुर्गों के मौत से जोखिम के समान ही होता है एक रिसर्च के मुताबिक देश में तीन करोड़ से ज्यादा लोग दिल से जुड़ी बीमारियों का शिकार हैं और युवाओं में मामले भी बढ़ने की वजह यही है कि आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में युवाओं में हार्ट अटैक की सबसे कम 1:00 बजे स्ट्रेस है आजकल बच्चे भी पढ़ाई या छोटी-छोटी वजह से बचपन में ही तनाव में आ जाते और यही कारण है कि नौकरी की उम्र तक पहुंचते-पहुंचते युवा दिल से जुड़ी बीमारी के शिकार हो जाते हैं और इसके अलावा युवाओं में हार्ट अटैक के लिए प्रमुख रिस्क फैक्टर स्मोकिंग जंग फूड का सेवन व्यायाम कम या न करना डायबिटीज हाइपरटेंशन आदि है और यह भी देखा जाता है कि बाहर से फीट व स्वास्थ्य दिखने वाले व्यक्ति को भी हार्ट अटैक आ सकता है एक व्यक्ति को हार्ट का कंडीशन कैसी है आर्टिरीज में कितने पर्सेंट ताकत कोलेस्ट्रोल का आप लाइक है या बाहर से देख कर बोलना मुश्किल है कि अपनी फिटनेस को ध्यान रखकर इसकी आशंका को जरूर कम किया जा सकता है लेकिन किसी व्यक्ति को भी हार्ट अटैक होने की कई वजह हो सकती है खासकर फैमिली हिस्ट्री वालों में जेनेटिक रिस्क फैक्टर तो आ ही जाता है उम्र के युवा जिनके माता-पिता में किसी को हार्ट अटैक आ चुका है वह स्वस्थ होने की स्थिति में भी ट्रेडमिल टेस्ट करके जरूर देख ले लिया टेस्ट के दौरान मैक्सिमम एक्सरसाइज करना चाहिए जितना आपका शरीर अनुमति दे 35 की उम्र के बाद कई लोगों को लगता है कि एक्सरसाइज करके दिल की बीमारी को दूर कर सकते हैं लेकिन दरअसल ऐसा उचित सलाह नहीं है और न ही अच्छा होता है कठिन व्यायाम शुरू न करें इसके फायदे की जगह नुकसान भी हो सकता है और ऐसी स्थिति में सुबह शाम तेजी से चल अकादमी करें और एरोबिक एक्सरसाइज ही करें या नहीं आपका शरीर जीत फिजिकल एक्टिविटी की अनुमति दे वही एक्सरसाइज करना चाहिए अगर आप मोटे की समस्या से पीड़ित हैं तो आपका ब्लड प्रेशर सामान्य से कम या ज्यादा रहता है तो आप हार्टअटैक चेकअप 30 बरस की उम्र से पहले ही करवा लें और इस तरह पहाट अटैक को संभावित खतरे को काफी कम कर सकते हैं तो इस तरह जो है आप अपने चीजों को सुधार सकते हैं धन्यवाद
Jaisa kee praarthana hai ki kis prakaar yuvaon ka galat laifastail jo hai unake dil ko kamajor bana raha hai to mainne dekha hai ki kuchh varsh pahale tak aisa maana jaata tha ki koronaavaayaras blokej se jude log bujurgon mein hone vaalee beemaaree hai lekin ab yah gujare jamaane kee baat ho gaee hai samay ke saath hee havaon ka dil kamajor hota ja raha hai aur 40 varshon se kam umr ke yuva bhee isakee chapet mein aa rahe hain aur saath hee yah bhee dekha gaya hai ki haart ataik se yuva mareejon kee maut ke jokhim bujurgon ke maut se jokhim ke samaan hee hota hai ek risarch ke mutaabik desh mein teen karod se jyaada log dil se judee beemaariyon ka shikaar hain aur yuvaon mein maamale bhee badhane kee vajah yahee hai ki aajakal kee bhaagadaud bharee jindagee mein yuvaon mein haart ataik kee sabase kam 1:00 baje stres hai aajakal bachche bhee padhaee ya chhotee-chhotee vajah se bachapan mein hee tanaav mein aa jaate aur yahee kaaran hai ki naukaree kee umr tak pahunchate-pahunchate yuva dil se judee beemaaree ke shikaar ho jaate hain aur isake alaava yuvaon mein haart ataik ke lie pramukh risk phaiktar smoking jang phood ka sevan vyaayaam kam ya na karana daayabiteej haiparatenshan aadi hai aur yah bhee dekha jaata hai ki baahar se pheet va svaasthy dikhane vaale vyakti ko bhee haart ataik aa sakata hai ek vyakti ko haart ka kandeeshan kaisee hai aartireej mein kitane parsent taakat kolestrol ka aap laik hai ya baahar se dekh kar bolana mushkil hai ki apanee phitanes ko dhyaan rakhakar isakee aashanka ko jaroor kam kiya ja sakata hai lekin kisee vyakti ko bhee haart ataik hone kee kaee vajah ho sakatee hai khaasakar phaimilee histree vaalon mein jenetik risk phaiktar to aa hee jaata hai umr ke yuva jinake maata-pita mein kisee ko haart ataik aa chuka hai vah svasth hone kee sthiti mein bhee tredamil test karake jaroor dekh le liya test ke dauraan maiksimam eksarasaij karana chaahie jitana aapaka shareer anumati de 35 kee umr ke baad kaee logon ko lagata hai ki eksarasaij karake dil kee beemaaree ko door kar sakate hain lekin darasal aisa uchit salaah nahin hai aur na hee achchha hota hai kathin vyaayaam shuroo na karen isake phaayade kee jagah nukasaan bhee ho sakata hai aur aisee sthiti mein subah shaam tejee se chal akaadamee karen aur erobik eksarasaij hee karen ya nahin aapaka shareer jeet phijikal ektivitee kee anumati de vahee eksarasaij karana chaahie agar aap mote kee samasya se peedit hain to aapaka blad preshar saamaany se kam ya jyaada rahata hai to aap haartataik chekap 30 baras kee umr se pahale hee karava len aur is tarah pahaat ataik ko sambhaavit khatare ko kaaphee kam kar sakate hain to is tarah jo hai aap apane cheejon ko sudhaar sakate hain dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • हार्ट अटैक, दिल की विफलता का कारण बनता है, हार्ट अटैक के कारण
URL copied to clipboard