#भारत की राजनीति

Rakesh Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Rakesh जी का जवाब
👨‍🏫 Teacher.
3:00
बहुत अच्छा प्रश्न है और आजकल यह सचमुच में सड़क दुर्घटनाएं जो है चिंताओं का विषय बना हुआ है सड़कों पर आपको एक से एक आधुनिक बाइक और कार्य नजर आएंगे भीड़भाड़ भरे स्थानों पर भी तेजी से वाहन चलाते लोगे मिल जाएंगे ट्रैफिक नियमों की अनदेखी समाज में बसी हुई है या नहीं रची बसी हुई है देखा जाता है कि नाबालिगों का वाहन चलाना और उलटी दिशा में वहां चलाना आम बात तो है रात में तो ट्रैफिक नियमों का कोई अर्थ ही नहीं रहा जाता है लिहाजा मेरे देश में हर साल डेढ़ लाख लोग सड़क दुर्घटना में जान गवा देते हैं दुनिया भर में सबसे अधिक सड़क दुर्घटनाएं भारत में होती है एक चौकाने वाले आंकड़े होते हैं और हमारे देश में वर्ष 2019 में लगभग 4.8 एक लाख सड़क दुर्घटनाएं हुई थी जिनमें 1.5 एक लाख से 1 लोगों की मौत हुई है और 4.39 लाख लोग घायल हुए हैं देश में प्रतिदिन औसतन 415 लोग सड़क दुर्घटना में जान गवा देते हैं आपको यह जानकर यह आश्चर्य भी होगा कि दुनिया में सबसे अधिक के सड़क हादसे भारत में होते हैं और उसके बाद चीन और अमेरिका का स्थान है हालांकि इसमें कोई समय नहीं है लेकिन अभिषेक की गंभीरता को बताने के लिए जैसे की प्रार्थना में भी है 1 साल में करो ना से अब तक लगभग डेढ़ लाख लोगों की मौत हुई है और उसकी रोकथाम के लिए हम कितने उपाय कर रहे हैं इन सबके बावजूद सड़क दुर्घटनाओं का और हमारा ध्यान तो नहीं है उनकी रोकथाम हमें हम समुचित उपाय तो नहीं कर रहे हैं सबसे अधिक दोपहिया वाहन दुर्घटनाओं के शिकार होते हैं और जाने वाले दबाने वाले में सबसे अधिक युवा ही हैं आप अंदाजा लगा सकते हैं कि किसी वाका हाथों में चला जाना परिवार पर कितना गहरा बोझ पड़ता है नए बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पुराने वाहनों को सड़क हादसे के लिए एक नई स्प्रे पॉलिसी की घोषणा भी की है इसके बाद यह विषय जो है विमर्श में आया नई नीति के मुताबिक 20 साल से पुराने लाखों वाहन को एक रेप किया जाएगा और ऐसा माना जा रहा है कि इससे क्या होगा कि यह गाड़ी जो है प्रदूषण कम देंगे और इसकी वजह से जो है 25 से 30 पर सेंट की कमी प्रदूषण में आएगी साथ ही पुराने वाहन अनेक बार दुर्घटना का कारण बनते हैं और उसमें भी सुधार आएगा परिवहन मंत्रालय ने भी कहा है कि नहीं अरे पॉलिसी के आने से ऐसे वाहनों के उपाय में कमी उपयोग में कमी आएगी और जो कि पर्यावरण को अधिक नुकसान पहुंचाते हैं और मंत्रालय के कहना है कि गणेश जी
Bahut achchha prashn hai aur aajakal yah sachamuch mein sadak durghatanaen jo hai chintaon ka vishay bana hua hai sadakon par aapako ek se ek aadhunik baik aur kaary najar aaenge bheedabhaad bhare sthaanon par bhee tejee se vaahan chalaate loge mil jaenge traiphik niyamon kee anadekhee samaaj mein basee huee hai ya nahin rachee basee huee hai dekha jaata hai ki naabaaligon ka vaahan chalaana aur ulatee disha mein vahaan chalaana aam baat to hai raat mein to traiphik niyamon ka koee arth hee nahin raha jaata hai lihaaja mere desh mein har saal dedh laakh log sadak durghatana mein jaan gava dete hain duniya bhar mein sabase adhik sadak durghatanaen bhaarat mein hotee hai ek chaukaane vaale aankade hote hain aur hamaare desh mein varsh 2019 mein lagabhag 4.8 ek laakh sadak durghatanaen huee thee jinamen 1.5 ek laakh se 1 logon kee maut huee hai aur 4.39 laakh log ghaayal hue hain desh mein pratidin ausatan 415 log sadak durghatana mein jaan gava dete hain aapako yah jaanakar yah aashchary bhee hoga ki duniya mein sabase adhik ke sadak haadase bhaarat mein hote hain aur usake baad cheen aur amerika ka sthaan hai haalaanki isamen koee samay nahin hai lekin abhishek kee gambheerata ko bataane ke lie jaise kee praarthana mein bhee hai 1 saal mein karo na se ab tak lagabhag dedh laakh logon kee maut huee hai aur usakee rokathaam ke lie ham kitane upaay kar rahe hain in sabake baavajood sadak durghatanaon ka aur hamaara dhyaan to nahin hai unakee rokathaam hamen ham samuchit upaay to nahin kar rahe hain sabase adhik dopahiya vaahan durghatanaon ke shikaar hote hain aur jaane vaale dabaane vaale mein sabase adhik yuva hee hain aap andaaja laga sakate hain ki kisee vaaka haathon mein chala jaana parivaar par kitana gahara bojh padata hai nae bajat mein vitt mantree nirmala seetaaraman ne puraane vaahanon ko sadak haadase ke lie ek naee spre polisee kee ghoshana bhee kee hai isake baad yah vishay jo hai vimarsh mein aaya naee neeti ke mutaabik 20 saal se puraane laakhon vaahan ko ek rep kiya jaega aur aisa maana ja raha hai ki isase kya hoga ki yah gaadee jo hai pradooshan kam denge aur isakee vajah se jo hai 25 se 30 par sent kee kamee pradooshan mein aaegee saath hee puraane vaahan anek baar durghatana ka kaaran banate hain aur usamen bhee sudhaar aaega parivahan mantraalay ne bhee kaha hai ki nahin are polisee ke aane se aise vaahanon ke upaay mein kamee upayog mein kamee aaegee aur jo ki paryaavaran ko adhik nukasaan pahunchaate hain aur mantraalay ke kahana hai ki ganesh jee

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • करो दुर्घटनाओं को कम करो, दुर्घटनाओं की रोकथाम, दुर्घटना रोकने के उपाय
URL copied to clipboard