#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

महाभाष्य के लेखक कौन थे?

Mahabhashya Ke Lekhak Kaun The
Brahma Prakash Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Brahma जी का जवाब
Asst. Teacher
0:27
नमस्कार मैं ब्रहम प्रकाश मिश्र आपका बोल करें पर हार्दिक स्वागत करता हूं आपका प्रश्न है महावाक्य के लेखक कौन थे मित्र महाभाष्य महर्षि पतंजलि ने लिखा था जिसमें महर्षि पाणिनि द्वारा लिखी गई अष्टाध्याई के कुछ लोगों का वर्णन किया गया है यह जवाब अच्छा लगा हो तो कृपया सब्सक्राइब लाइक शेयर और कमेंट करके जरूर बताएं धन्यवाद
Namaskaar main braham prakaash mishr aapaka bol karen par haardik svaagat karata hoon aapaka prashn hai mahaavaaky ke lekhak kaun the mitr mahaabhaashy maharshi patanjali ne likha tha jisamen maharshi paanini dvaara likhee gaee ashtaadhyaee ke kuchh logon ka varnan kiya gaya hai yah javaab achchha laga ho to krpaya sabsakraib laik sheyar aur kament karake jaroor bataen dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
महाभाष्य के लेखक कौन थे?Mahabhashya Ke Lekhak Kaun The
Ram Kumawat  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ram जी का जवाब
Unknown
0:38
आकाश वाले महाभाष्य के लेखक कौन थे तो मां भारती के गले का के पतंजलि ने पढ़ने के अध्याय के कुछ चुने हुए सूत्रों पर भाषा लिखी हुई जिसे व्याकरण महाभाष्य के नाम से जनता इसकी संधि होती है मां प्लस भारतीय समीक्षा टिप्पणी विवेचना आलोचना व्याकरण महाभाष्य में सत्य है या वार तिथि सम्मिलित है जो पढ़ने के अष्टाध्याई पर बताया के वासी हैं धन्यवाद दोस्तों
Aakaash vaale mahaabhaashy ke lekhak kaun the to maan bhaaratee ke gale ka ke patanjali ne padhane ke adhyaay ke kuchh chune hue sootron par bhaasha likhee huee jise vyaakaran mahaabhaashy ke naam se janata isakee sandhi hotee hai maan plas bhaarateey sameeksha tippanee vivechana aalochana vyaakaran mahaabhaashy mein saty hai ya vaar tithi sammilit hai jo padhane ke ashtaadhyaee par bataaya ke vaasee hain dhanyavaad doston

bolkar speaker
महाभाष्य के लेखक कौन थे?Mahabhashya Ke Lekhak Kaun The
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
0:56
सवाले की महाभाष्य के लेखक कौन थे तो महाभाष्य के लेखक महर्षि पतंजलि थे पतंजलि ने पढ़ी नहीं का अष्टाध्याई के कुछ चुने हुए सूत्रों पर भाषा लिखी जिसे व्याकरण महाभाष्य का नाम दिया महाभाष्य समीक्षा टिप्पणी विवेचना या आलोचना को कहते हैं व्याकरण महाभाष्य में कात्यायन वार्ड स्थित भी सम्मिलित है जो पानी में अष्टाध्याई पर कात्यायन के भाषण कात्यायन के कार्तिक को लगभग 1400 से नहीं मिलते बल्कि केवल व्याकरण महाभाष्य में पतंजलि द्वारा संदर्भ के रूप में ही उपलब्ध है इसकी रचना लगभग यह सब पूरी दूसरी शताब्दी में हुई थी संस्कृत के 3 महान व्याकरण में पतंजलि भी हैं अन्य दो पानी तथा कात्यायन भाषण में महाभाष्य में शिक्षा और व्याकरण और नरक तीनों की चर्चा हुई
Savaale kee mahaabhaashy ke lekhak kaun the to mahaabhaashy ke lekhak maharshi patanjali the patanjali ne padhee nahin ka ashtaadhyaee ke kuchh chune hue sootron par bhaasha likhee jise vyaakaran mahaabhaashy ka naam diya mahaabhaashy sameeksha tippanee vivechana ya aalochana ko kahate hain vyaakaran mahaabhaashy mein kaatyaayan vaard sthit bhee sammilit hai jo paanee mein ashtaadhyaee par kaatyaayan ke bhaashan kaatyaayan ke kaartik ko lagabhag 1400 se nahin milate balki keval vyaakaran mahaabhaashy mein patanjali dvaara sandarbh ke roop mein hee upalabdh hai isakee rachana lagabhag yah sab pooree doosaree shataabdee mein huee thee sanskrt ke 3 mahaan vyaakaran mein patanjali bhee hain any do paanee tatha kaatyaayan bhaashan mein mahaabhaashy mein shiksha aur vyaakaran aur narak teenon kee charcha huee

bolkar speaker
महाभाष्य के लेखक कौन थे?Mahabhashya Ke Lekhak Kaun The
Anand Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Anand जी का जवाब
Mathematics Teacher
0:35
सवाले महाभाष्य के लेखक कौन थे कि महाभाष्य जो लिखा गया वह महर्षि पतंजलि द्वारा लिखा गया था तो महाभाष्य जो है व्याकरण का ग्रंथ माना जाता है किंतु इसमें कहीं कहीं राजाओं महाराजाओं एवं जन तंत्रों के घटना चक्र का वर्णन भी मिलता है तो पतंजलि में पानी के अष्टाध्याई के कुछ चुने हुए सूत्रों पर हाथ से लिखा था जो कि महाभाष्य के नाम से हम जानते हैं
Savaale mahaabhaashy ke lekhak kaun the ki mahaabhaashy jo likha gaya vah maharshi patanjali dvaara likha gaya tha to mahaabhaashy jo hai vyaakaran ka granth maana jaata hai kintu isamen kaheen kaheen raajaon mahaaraajaon evan jan tantron ke ghatana chakr ka varnan bhee milata hai to patanjali mein paanee ke ashtaadhyaee ke kuchh chune hue sootron par haath se likha tha jo ki mahaabhaashy ke naam se ham jaanate hain

bolkar speaker
महाभाष्य के लेखक कौन थे?Mahabhashya Ke Lekhak Kaun The
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:18
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है महाभाष्य के लेखक कौन है तो मेरा मानना यह है कि महाभाष्य के लेखक महर्षि पतंजलि है
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai mahaabhaashy ke lekhak kaun hai to mera maanana yah hai ki mahaabhaashy ke lekhak maharshi patanjali hai

bolkar speaker
महाभाष्य के लेखक कौन थे?Mahabhashya Ke Lekhak Kaun The
KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
Unknown
0:59
सवाल है महाभारत के लेखक कौन थे देखिए महाभारत के लेखक पतंजलि ने पानी के अष्टाध्याई के कुछ चुने हुए सूत्रों पर भाषा लिखी जिसे व्याकरण महाभाष्य नाम दिया महा प्लस भाग समीक्षा टिप्पणी विवेचना आलोचना एनी व्याकरण महाभाष्य कात्यायन वार्तिक भी सम्मिलित है जो पानी के अध्यापक अध्याय निभाते हैं कात्यायन की आरती कपूर लगभग 14 से हैं जो अन्यत्र नहीं मिलती बल्कि केवल व्याकरण महाभाष्य पतंजलि द्वारा संदर्भ के रूप में ही उपलब्ध है इसकी रचना लगभग ईसा पूर्व दूसरी शताब्दी में हुई थी संस्कृत के 3 महान व्याकरण में पतंजलि भी है अन्य दोहे पाडिन तथा कात्यायन 140 ईसा पूर्व महाभाष्य में शिक्षा व्याकरण और निरुक्त तीनों की चर्चा हुई है धन्यवाद
Savaal hai mahaabhaarat ke lekhak kaun the dekhie mahaabhaarat ke lekhak patanjali ne paanee ke ashtaadhyaee ke kuchh chune hue sootron par bhaasha likhee jise vyaakaran mahaabhaashy naam diya maha plas bhaag sameeksha tippanee vivechana aalochana enee vyaakaran mahaabhaashy kaatyaayan vaartik bhee sammilit hai jo paanee ke adhyaapak adhyaay nibhaate hain kaatyaayan kee aaratee kapoor lagabhag 14 se hain jo anyatr nahin milatee balki keval vyaakaran mahaabhaashy patanjali dvaara sandarbh ke roop mein hee upalabdh hai isakee rachana lagabhag eesa poorv doosaree shataabdee mein huee thee sanskrt ke 3 mahaan vyaakaran mein patanjali bhee hai any dohe paadin tatha kaatyaayan 140 eesa poorv mahaabhaashy mein shiksha vyaakaran aur nirukt teenon kee charcha huee hai dhanyavaad

bolkar speaker
महाभाष्य के लेखक कौन थे?Mahabhashya Ke Lekhak Kaun The
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
25197141:29
आशा के लेखक कौन थे दोस्तों महाभाष्य के लेखक थे पतंजलि पतंजलि ने क्या किया कि पानी इकट्ठा जाएगा उसके अंदर सुधार करने की कोशिश की तो संस्कृत के तीन व्याकरण में पतंजलि भी हैं और अन्य आसमान में उड़ते हैं महाभाष्य में तीन चीजों की जहां पर चर्चा हुई ईसा पूर्व दूसरी शताब्दी के मानी जाती है बाबा का पतंजलि का समय है संगठित रूप में गए थे और पुष्यमित्र शुंग के शासनकाल में पतंजलि वर्तमान महाभाष्य के नैतिकता के आधार पर भी जो प्रांत क्वेश्चन मित्र के स्रोत में संभोग पतंजलि पुरोहित थे और यह महाशय जी और साकेत माध्यमिक का परिजनों के आक्रमण में पतंजलि की दुकान से इसके अतिरिक्त दोस्तों महाभारत और महाभाष्य कर पतंजलि दोनों का समय देते शताब्दी में और जैतापुर मोरे के ब्राह्मण सेनापति पुष्यमित्र शुंग मौर्यवंशी ब्रदर को मारकर बैठे थे ना 9271 बाबा शिव की रचना कब मान निकालने धन्यवाद
Aasha ke lekhak kaun the doston mahaabhaashy ke lekhak the patanjali patanjali ne kya kiya ki paanee ikattha jaega usake andar sudhaar karane kee koshish kee to sanskrt ke teen vyaakaran mein patanjali bhee hain aur any aasamaan mein udate hain mahaabhaashy mein teen cheejon kee jahaan par charcha huee eesa poorv doosaree shataabdee ke maanee jaatee hai baaba ka patanjali ka samay hai sangathit roop mein gae the aur pushyamitr shung ke shaasanakaal mein patanjali vartamaan mahaabhaashy ke naitikata ke aadhaar par bhee jo praant kveshchan mitr ke srot mein sambhog patanjali purohit the aur yah mahaashay jee aur saaket maadhyamik ka parijanon ke aakraman mein patanjali kee dukaan se isake atirikt doston mahaabhaarat aur mahaabhaashy kar patanjali donon ka samay dete shataabdee mein aur jaitaapur more ke braahman senaapati pushyamitr shung mauryavanshee bradar ko maarakar baithe the na 9271 baaba shiv kee rachana kab maan nikaalane dhanyavaad

bolkar speaker
महाभाष्य के लेखक कौन थे?Mahabhashya Ke Lekhak Kaun The
satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए satish जी का जवाब
Student
0:32
हाय फ्रेंड्स क्वेश्चन पूछा गया कि महाभारत से के लेखक कौन है तो वहां पैसे के लिए कोई जो है वह पतंजलि है अगर हम पतंजलि की बात करें तो पतंजलि जो है उसको गोवंश के जो है राज्य कवि के रूप में समाहित समकालीन थे और उनकी हम उस समय किस राज्य के राजा की बात करें तो उस समय जो है पुष्यमित्र शुंग वंश का राजकुमार हुआ करता था तब जो है महाभाष्य के लेखक पतंजलि जो है राज्य की राज्य कभी हुआ करते थे
Haay phrends kveshchan poochha gaya ki mahaabhaarat se ke lekhak kaun hai to vahaan paise ke lie koee jo hai vah patanjali hai agar ham patanjali kee baat karen to patanjali jo hai usako govansh ke jo hai raajy kavi ke roop mein samaahit samakaaleen the aur unakee ham us samay kis raajy ke raaja kee baat karen to us samay jo hai pushyamitr shung vansh ka raajakumaar hua karata tha tab jo hai mahaabhaashy ke lekhak patanjali jo hai raajy kee raajy kabhee hua karate the

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • महाभाष्य के लेखक कौन थे महाभाष्य के लेखक
URL copied to clipboard