#खेल कूद

Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:05
नमस्कार दोस्तों प्रश्न ही कंपनियां होली और दिवाली जैसे त्योहारों पर ज्यादा छूट क्यों देती हैं तो दोस्तों जैसे कि भारत में होली दिवाली एक बहुत बड़े पर्व के रूप में मनाया जाता है कई जगह ऐसी प्रथा है कि होली पर नए वस्त्र पहने जाते हैं दिवाली में ऐसी प्रथा है कि नई चीजों का खरीदना शुभ माना जाता है जैसे धनतेरस वाले दिन इसमें और भी लोगों को बोनस दिया जाता है फैक्ट्रियों में या नौकरी करने वाले कर्मचारियों को तो यह कंपनियों को पता है कि भावनात्मक रूप से जुड़े हैं और आर्थिक रूप से भी उसमें लोग नंदनी आए होते दिवाली में इसलिए वह एक त्योहार के रूप में भी वह मनाना चाहते हैं कि वह भी त्यौहार में सम्मिलित हो जाएं और लोग ज्यादा से ज्यादा खरीद ले और खरीदने से कंपनी को ही मुनाफा हो और जब 1 मार्च में बड़े स्तर पर कोई चीज का निर्माण किया जाता है वह चीज बनाई जाती है तो उसमें लागत भी कम आती है तो कंपनी इन सब चीजों को देखकर सारी चीजों को डिस्काउंट देती है धन्यवाद
Namaskaar doston prashn hee kampaniyaan holee aur divaalee jaise tyohaaron par jyaada chhoot kyon detee hain to doston jaise ki bhaarat mein holee divaalee ek bahut bade parv ke roop mein manaaya jaata hai kaee jagah aisee pratha hai ki holee par nae vastr pahane jaate hain divaalee mein aisee pratha hai ki naee cheejon ka khareedana shubh maana jaata hai jaise dhanateras vaale din isamen aur bhee logon ko bonas diya jaata hai phaiktriyon mein ya naukaree karane vaale karmachaariyon ko to yah kampaniyon ko pata hai ki bhaavanaatmak roop se jude hain aur aarthik roop se bhee usamen log nandanee aae hote divaalee mein isalie vah ek tyohaar ke roop mein bhee vah manaana chaahate hain ki vah bhee tyauhaar mein sammilit ho jaen aur log jyaada se jyaada khareed le aur khareedane se kampanee ko hee munaapha ho aur jab 1 maarch mein bade star par koee cheej ka nirmaan kiya jaata hai vah cheej banaee jaatee hai to usamen laagat bhee kam aatee hai to kampanee in sab cheejon ko dekhakar saaree cheejon ko diskaunt detee hai dhanyavaad

और जवाब सुनें

satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए satish जी का जवाब
Student
0:51
हाय ट्रांसपोर्सन पूछा गया कि कंपनियां ज्योतियां होली और दिवाली जैसे त्योहारों पर ही ज्यादा छूट क्यों देती हैं तू कंपनी जो होती है वह चाहे ऑनलाइन हो या फिर या फिर प्राइवेट जितनी भी कंपनियां होती हैं ज्यादातर देखी जाती है कि जितने भी होली दिवाली या मुख्य त्योहार होते हैं चाहते क्या होता है कि सभी लोग कुछ क्या होता है कि उस दिन छुट्टी मिलती है फिर उस दिन साइन टाइम जो होता है अपने परिवार के साथ दो स्पेंड करने को पूरा मिलता है इसमें क्या होता है कि वह नई नई चीजों को भी खरीदते हैं और उसे तुम मानते हैं अगर हम होली की बात करें या दीपावली की तो उस दिन जो होती हैं हम अपने घरों की सफाई करते हैं इसके अलावा जितने भी जो है हमें चीजों को खरीदना होता है वह ज्यादातर जो है पागल तलवारों में ही खरीदते हैं इसलिए ज्योति कंपनियां ज्यादा छूट उसी समय देती हैं
Haay traansaporsan poochha gaya ki kampaniyaan jyotiyaan holee aur divaalee jaise tyohaaron par hee jyaada chhoot kyon detee hain too kampanee jo hotee hai vah chaahe onalain ho ya phir ya phir praivet jitanee bhee kampaniyaan hotee hain jyaadaatar dekhee jaatee hai ki jitane bhee holee divaalee ya mukhy tyohaar hote hain chaahate kya hota hai ki sabhee log kuchh kya hota hai ki us din chhuttee milatee hai phir us din sain taim jo hota hai apane parivaar ke saath do spend karane ko poora milata hai isamen kya hota hai ki vah naee naee cheejon ko bhee khareedate hain aur use tum maanate hain agar ham holee kee baat karen ya deepaavalee kee to us din jo hotee hain ham apane gharon kee saphaee karate hain isake alaava jitane bhee jo hai hamen cheejon ko khareedana hota hai vah jyaadaatar jo hai paagal talavaaron mein hee khareedate hain isalie jyoti kampaniyaan jyaada chhoot usee samay detee hain

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • कंपनियां होली और दीपावली जैसे त्योहारों पर ही ज्यादा छूट क्यों देती है कंपनियां त्योहारों पर ही ज्यादा छूट और आप और क्यों देती है
URL copied to clipboard