#भारत की राजनीति

vikas Singh Rajput Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए vikas जी का जवाब
Unknown
7:00
किसान आंदोलन बड़ा हो गया और आपको इससे बहुत ज्यादा खुशी मिली है मैं आपको बता देना चाहता हूं जितना हमारे देश का करोड़ों की वजह से नुकसान नहीं हुआ था उससे अधिक नुकसान इस आंदोलन की वजह से हुआ है इसका असर अर्थव्यवस्था पर भी पड़ा है कल 42 गांव के लोग इकट्ठा हुए उन्होंने इस आंदोलन के खिलाफ नारेबाजी की और उन्होंने बोला कि इस आंदोलन को जल्दी से प्रशासन खत्म करें खत्म करवाएं क्योंकि इस आंदोलन की वजह से हम लोगों का धंधा बिजनेस एकदम चौपट हो गया है और यह कड़वा सत्य है हमारे देश की आबादी 135 करोड़ भाजपा के भी बहुत प्रशंसक हैं कुछ प्रशंसक कांग्रेस पार्टी के हैं कुछ सपा बसपा के भी हैं सभी पॉलिटिकल पार्टियों का किसान मोर्चा होता है प्रदेश में होता है देश में होता है और जिला में भी होता है सब के अध्यक्ष होते हैं सब के छोटे बड़े नेता होते हैं अब यह जो भी आप देख रहे हैं आंदोलन में यह उन पार्टियों के किसान मोर्चा के नेताओं द्वारा इकट्ठा किए गए लोग हैं यह कोई काम नहीं जो किसान है वह कृषि कानून से बहुत ज्यादा खुश है क्योंकि इस कानून के माध्यम से उसे उसका अधिकार मिल रहा है आंदोलन में टुकड़े टुकड़े गैंग के लोग शामिल है शाहीन बाग के लोग शामिल है पाकिस्तानी विचारधारा वाले लोग शामिल है खालिस्तानी प्रेमी शामिल है और आपने गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर देखा होगा कि ट्रैक्टर रैली करने वालों ने क्या किया इस देश को शर्मसार करने का प्रयास किया और शर्मसार किया भी भारतीय तिरंगे का अपमान किया गया एक महिला पुलिसकर्मी को घेरकर कुछ लोगों ने पीटा कुछ ज्यादा पीटा पुलिस कर्मियों के ऊपर पत्थरबाजी की गई मीडिया कर्मी के ऊपर पत्थरबाजी की गई लाठी डंडे से प्रहार किया गया और तलवारों से भी प्रहार किया गया अब मैं आपसे पूछना चाहता हूं क्या यह लुकिसान कभी हो सकते हैं कि किसान नहीं है कि देश के गद्दार हैं अगर यह किसान होते ना तो भारतीय तिरंगे का कभी अपमान नहीं करते इसलिए आप सभी भारतवासियों से विनम्र निवेदन करना चाहता हूं विपक्षी किसी भी पॉलीटिकल पार्टी के चक्कर में आप लोग पढ़ कर भ्रमित मत होइए आप अपना विश्वास भारतीय जनता पार्टी के ऊपर मजबूत बना के रखिए भाजपा इस देश को तरक्की दिला रही है और भाजपा के नेतृत्व में जिस तरीके काम हो रहा है कि देश बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है किसान किसानों के नाम पर जो आंदोलन हो रहा है इसमें कितने लोग कितने लोग हैं जो लखनऊ गोमती 300000 लोग होंगे 400000 लोग होंगे 500000 लोग ट्रैक्टर रैली के दिन इकट्ठा हुए होंगे यह देश 135 करोड़ लोगों का हूं 135 करोड़ देशवासियों का है अगर सभी विपक्षी पॉलिटिकल पार्टियों ने 45 लाख लोग इकट्ठा कर दिया तो कौन सी बहुत बड़ी बात है बताइए कौन सी बहुत बड़ी बात है यह चार पांच लाख लोग कांग्रेस सपा बसपा के प्रशंसक हैं इन पॉलिटिकल पार्टियों के सदस्य हैं यह किसान नहीं है मैं बता देना चाहता हूं मोदी जी जब कहीं जाते हैं ना कहीं बनारस के बनारस जब जाते हैं लखनऊ जब जाते या कहीं भी जब जाते हैं तो मोदी जी के मोदी जी का दर्शन करने के लिए 500000 लोग इकट्ठा होते हैं अपनी स्वेच्छा से इकट्ठा होते हैं 500000 लोग कहने का मतलब है देश के लोगों को सोच समझ के अच्छे-अच्छे समझदारी से रहना चाहिए सिर्फ किसान कानून है इस पर आप एमएसपी पर भी अपने वतन को बेच सकते हैं और आप एमएसपी से अधिक नेट पर भी किसी दूसरे को भेज सकते हैं अगर कोई व्यापारी आया वह बोला कि भैया हमको ₹19 क्विंटल आपका आना चाहिए और हम आपको कैप पैसा देंगे जबकि सरकारी रेट 1825 है तो आप 1825 में भेजोगे कि ₹19 क्विंटल भेजोगे आप ₹19 क्विंटल भेजोगे ना यानी भारतीय किसान को स्वतंत्रता मिल गई है और स्वतंत्र स्वतंत्रता से भारत के किसान की आय दोगुनी हो जाएगी और किसानों के लिए मोदी जी बहुत कुछ करने वाले हैं बहुत अच्छे-अच्छे फैसले प्रधानमंत्री जी लेंगे और पूरा भारत बहुत तेजी से आगे बढ़ेगा देश आगे बढ़ेगा जिन उपद्रवियों ने भारत का अपमान किया तिरंगे का अपमान किया संवैधानिक व्यवस्था को तोड़ने का प्रयास किया कल मुक्त कल मन की बात कार्यक्रम में मोदी जी ने उन्हें हिंट कर दिया जिन्होंने तिरंगे का अपमान किया उन्हें जल्दी से पकड़ो यानी इन उपद्रवियों के ऊपर बहुत ही सख्त कानून का एक्शन होगा सभी लोग जेल होंगे जेल में होंगे और सभी किसान नेताओं के ऊपर भी एक्शन होगा धन्यवाद
Kisaan aandolan bada ho gaya aur aapako isase bahut jyaada khushee milee hai main aapako bata dena chaahata hoon jitana hamaare desh ka karodon kee vajah se nukasaan nahin hua tha usase adhik nukasaan is aandolan kee vajah se hua hai isaka asar arthavyavastha par bhee pada hai kal 42 gaanv ke log ikattha hue unhonne is aandolan ke khilaaph naarebaajee kee aur unhonne bola ki is aandolan ko jaldee se prashaasan khatm karen khatm karavaen kyonki is aandolan kee vajah se ham logon ka dhandha bijanes ekadam chaupat ho gaya hai aur yah kadava saty hai hamaare desh kee aabaadee 135 karod bhaajapa ke bhee bahut prashansak hain kuchh prashansak kaangres paartee ke hain kuchh sapa basapa ke bhee hain sabhee politikal paartiyon ka kisaan morcha hota hai pradesh mein hota hai desh mein hota hai aur jila mein bhee hota hai sab ke adhyaksh hote hain sab ke chhote bade neta hote hain ab yah jo bhee aap dekh rahe hain aandolan mein yah un paartiyon ke kisaan morcha ke netaon dvaara ikattha kie gae log hain yah koee kaam nahin jo kisaan hai vah krshi kaanoon se bahut jyaada khush hai kyonki is kaanoon ke maadhyam se use usaka adhikaar mil raha hai aandolan mein tukade tukade gaing ke log shaamil hai shaaheen baag ke log shaamil hai paakistaanee vichaaradhaara vaale log shaamil hai khaalistaanee premee shaamil hai aur aapane ganatantr divas ke shubh avasar par dekha hoga ki traiktar railee karane vaalon ne kya kiya is desh ko sharmasaar karane ka prayaas kiya aur sharmasaar kiya bhee bhaarateey tirange ka apamaan kiya gaya ek mahila pulisakarmee ko gherakar kuchh logon ne peeta kuchh jyaada peeta pulis karmiyon ke oopar pattharabaajee kee gaee meediya karmee ke oopar pattharabaajee kee gaee laathee dande se prahaar kiya gaya aur talavaaron se bhee prahaar kiya gaya ab main aapase poochhana chaahata hoon kya yah lukisaan kabhee ho sakate hain ki kisaan nahin hai ki desh ke gaddaar hain agar yah kisaan hote na to bhaarateey tirange ka kabhee apamaan nahin karate isalie aap sabhee bhaaratavaasiyon se vinamr nivedan karana chaahata hoon vipakshee kisee bhee poleetikal paartee ke chakkar mein aap log padh kar bhramit mat hoie aap apana vishvaas bhaarateey janata paartee ke oopar majaboot bana ke rakhie bhaajapa is desh ko tarakkee dila rahee hai aur bhaajapa ke netrtv mein jis tareeke kaam ho raha hai ki desh bahut tejee se aage badh raha hai kisaan kisaanon ke naam par jo aandolan ho raha hai isamen kitane log kitane log hain jo lakhanoo gomatee 300000 log honge 400000 log honge 500000 log traiktar railee ke din ikattha hue honge yah desh 135 karod logon ka hoon 135 karod deshavaasiyon ka hai agar sabhee vipakshee politikal paartiyon ne 45 laakh log ikattha kar diya to kaun see bahut badee baat hai bataie kaun see bahut badee baat hai yah chaar paanch laakh log kaangres sapa basapa ke prashansak hain in politikal paartiyon ke sadasy hain yah kisaan nahin hai main bata dena chaahata hoon modee jee jab kaheen jaate hain na kaheen banaaras ke banaaras jab jaate hain lakhanoo jab jaate ya kaheen bhee jab jaate hain to modee jee ke modee jee ka darshan karane ke lie 500000 log ikattha hote hain apanee svechchha se ikattha hote hain 500000 log kahane ka matalab hai desh ke logon ko soch samajh ke achchhe-achchhe samajhadaaree se rahana chaahie sirph kisaan kaanoon hai is par aap emesapee par bhee apane vatan ko bech sakate hain aur aap emesapee se adhik net par bhee kisee doosare ko bhej sakate hain agar koee vyaapaaree aaya vah bola ki bhaiya hamako ₹19 kvintal aapaka aana chaahie aur ham aapako kaip paisa denge jabaki sarakaaree ret 1825 hai to aap 1825 mein bhejoge ki ₹19 kvintal bhejoge aap ₹19 kvintal bhejoge na yaanee bhaarateey kisaan ko svatantrata mil gaee hai aur svatantr svatantrata se bhaarat ke kisaan kee aay dogunee ho jaegee aur kisaanon ke lie modee jee bahut kuchh karane vaale hain bahut achchhe-achchhe phaisale pradhaanamantree jee lenge aur poora bhaarat bahut tejee se aage badhega desh aage badhega jin upadraviyon ne bhaarat ka apamaan kiya tirange ka apamaan kiya sanvaidhaanik vyavastha ko todane ka prayaas kiya kal mukt kal man kee baat kaaryakram mein modee jee ne unhen hint kar diya jinhonne tirange ka apamaan kiya unhen jaldee se pakado yaanee in upadraviyon ke oopar bahut hee sakht kaanoon ka ekshan hoga sabhee log jel honge jel mein honge aur sabhee kisaan netaon ke oopar bhee ekshan hoga dhanyavaad

और जवाब सुनें

Rishabh Sengar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rishabh जी का जवाब
Student
1:55
प्रश्न पूछा है कि मोदी भक्त और गोदी मीडिया चिल्ला रहे थे आज रात कुछ बड़ा होगा सुबह उठकर देखा तो किसान आंदोलन बड़ा हो गया किसान एकता जिंदाबाद दिखे प्रश्न का जवाब और लोगों ने भी दिया है उसमें से कुछ लोग तो ऐसे हैं जो भारतीय जनता पार्टी के समर्थक हैं और कुछ लोग ऐसे हैं जो भारतीय जनता पार्टी के विरोधी हैं तो यहां पर विरोधियों और समर्थकों से अलग हटकर एक निष्पक्ष राय रखना बहुत जरूरी है इसीलिए मैं आपको बता देना चाहता हूं कि आंदोलन बड़ा हो गया है या आंदोलन तीव्र हो गया इसमें संख्या लोगों की बढ़ रही है तो यह कंसान है एक सिक्योरिटी को लेकर भी क्योंकि जिस तरीके से कुछ चीज है हमने देखे पिछले दिनों घटित हुई उससे यह तो इंकार नहीं किया जा सकता कि आंदोलन को कभी भी कोई भी हाईजैक कर सकता है इसलिए जो ऐसे तत्व हैं जिनका काम केवल अराजकता फैलाना और हिंसक विदेशियों को बढ़ावा देना है ऐसे लोगों को तो आप को चिन्हित करना पड़ेगा और जब आंदोलन बड़ा हो जाएगा तो यह जिम्मेदारी पुलिस और जो खुफिया तंत्र है उसके लिए बहुत बड़ी रहने वाली है कि इसमें कोई अराजक तत्व शामिल ना हो हालांकि सरकार की ओर से किसानों को बातचीत को लेकर जो प्रस्ताव दिया जा रहा है वह भी इसका एक प्रमुख मुद्दा है मैं इस बीच बहस में नहीं पड़ना चाहता कि इस समय किसान सही है या सरकार सही है एक निष्पक्ष राय के तौर पर मैं आपको बता देना चाहता हूं कि जितनी जल्दी हो सके सरकार और किसान दोनों को इसका समाधान निकालना चाहिए किसानों को भी अपनी तरफ से नरमी बरतनी चाहिए और सरकार को भी एक पारदर्शी और थोड़ा लचीला रवैया किसानों के प्रति अपनाना चाहिए कोई भी ऐसी चीज जो किसानों को वह काहे नहीं करनी चाहिए धन्यवाद बहुत-बहुत धन्यवाद
Prashn poochha hai ki modee bhakt aur godee meediya chilla rahe the aaj raat kuchh bada hoga subah uthakar dekha to kisaan aandolan bada ho gaya kisaan ekata jindaabaad dikhe prashn ka javaab aur logon ne bhee diya hai usamen se kuchh log to aise hain jo bhaarateey janata paartee ke samarthak hain aur kuchh log aise hain jo bhaarateey janata paartee ke virodhee hain to yahaan par virodhiyon aur samarthakon se alag hatakar ek nishpaksh raay rakhana bahut jarooree hai iseelie main aapako bata dena chaahata hoon ki aandolan bada ho gaya hai ya aandolan teevr ho gaya isamen sankhya logon kee badh rahee hai to yah kansaan hai ek sikyoritee ko lekar bhee kyonki jis tareeke se kuchh cheej hai hamane dekhe pichhale dinon ghatit huee usase yah to inkaar nahin kiya ja sakata ki aandolan ko kabhee bhee koee bhee haeejaik kar sakata hai isalie jo aise tatv hain jinaka kaam keval araajakata phailaana aur hinsak videshiyon ko badhaava dena hai aise logon ko to aap ko chinhit karana padega aur jab aandolan bada ho jaega to yah jimmedaaree pulis aur jo khuphiya tantr hai usake lie bahut badee rahane vaalee hai ki isamen koee araajak tatv shaamil na ho haalaanki sarakaar kee or se kisaanon ko baatacheet ko lekar jo prastaav diya ja raha hai vah bhee isaka ek pramukh mudda hai main is beech bahas mein nahin padana chaahata ki is samay kisaan sahee hai ya sarakaar sahee hai ek nishpaksh raay ke taur par main aapako bata dena chaahata hoon ki jitanee jaldee ho sake sarakaar aur kisaan donon ko isaka samaadhaan nikaalana chaahie kisaanon ko bhee apanee taraph se naramee baratanee chaahie aur sarakaar ko bhee ek paaradarshee aur thoda lacheela ravaiya kisaanon ke prati apanaana chaahie koee bhee aisee cheej jo kisaanon ko vah kaahe nahin karanee chaahie dhanyavaad bahut-bahut dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • गोदी मीडिया क्या चिल्ला रही है,
URL copied to clipboard