#खेल कूद

Yesh Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Yesh जी का जवाब
नामYesh Gupta जन्म 11 07 1997 स्थान सिधौली सीतापुर उत्तर प्रदेश लखनऊ बचपन जब मैं 3 साल का था तब डॉक्टरों की लापरवाही की वजह से मेरी दोनों आंखें खराब हो गई जिसकी वजह से मैं पूर्णतया दृष्टि बाधित हो गया परिवार हमारे परिवार में मम्मी पापा और हम दो भाई दो बहन हैं शिक्षा दीक्षा मेरा एक सामान्य स्कूल में नहीं बल्कि विशेष विद्यालय में दाखिला कराया गया वहीं से मैंने कक्षा 1 से लेकर 12वीं कक्षा तक पढ़ाई की मैंने हाई स्कूल 2013 में और इंटर 2015 में पास किया मैंने दसवीं कक्षा में 78% अंक प्राप्त किए वहीं 12वीं कक्षा में मैंने 70% अंक प्राप्त किए उसके बाद मेरा दाखिला समावेशित विश्वविद्यालय में कराया गया और वहां से मैंने 2017 में D.ed yaniki diploma in education 76% अंकों के साथ पास किया अभी मैं उसी विश्वविद्यालय में बैचलर ऑफ आर्ट की पढ़ाई कर रहा हूं जिसका फाइनल ईयर चल रहा है मेरी पसंद मुझे ताश के पत्ते खेलना क्रिकेट मैच देखना और खेलना दोनों ही पसंद है साथ ही साथ मुझे दूसरों की मदद करना और सभी का सहयोग भी करना अच्छा लगता है आप मुझ से कैसे संपर्क कर सकते हो अगर आप मुझसे संपर्क करना चाहते हैं तो आप मेरे Watsapp number 9559047567 पर मैसेज कर सकते हैं
2:02

और जवाब सुनें

ABHIMANYU KUMAR SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए ABHIMANYU जी का जवाब
Part time teaching
1:02

Anurag Khanna Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Anurag जी का जवाब
Unknown
2:03

Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
0:16

ARnay Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए ARnay जी का जवाब
Business
0:27

sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Unknown
0:29

Arvind Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Arvind जी का जवाब
Berozgaar
0:21

Sandeep chhipa Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Sandeep जी का जवाब
social worker (MSW)
1:45

Anand Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Anand जी का जवाब
Mathematics Teacher
0:42

shree yadaw Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Unknown
0:33

मनीष कुमार Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए मनीष जी का जवाब
किसान
0:17

Seema yadav   PGT Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Seema जी का जवाब
Assistant professor
2:57

Nitish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nitish जी का जवाब
No rojgar
1:25

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
0:51
एलबीडब्ल्यू का अर्थ होता है नेटवर्क और बीके अर्थात समय बोलने वालों की है और उस समय क्रीज मूवी उसका पैर से पॉल को रोकने की कोशिश करता है और उस फोन को देखा जाता है कि विकेट की बिल्कुल एकदम सीधी में आ रही है यदि अब पैर नहीं होता तो निश्चित रूप से ही इनका व्हेल सुधर जाती और यह विकेट आउट हो जाते हैं लेकिन क्योंकि ब्लैक ने लेकिन गार्ड्स ने उस फोन को रोका है जो बिल्कुल एकदम विकेट किस चीज में आ रहा है तो ऐसी स्थिति में थर्ड अंपायर देखकर किया एंपायर सेम देख करके एलबीडब्ल्यू देता है
Elabeedablyoo ka arth hota hai netavark aur beeke arthaat samay bolane vaalon kee hai aur us samay kreej moovee usaka pair se pol ko rokane kee koshish karata hai aur us phon ko dekha jaata hai ki viket kee bilkul ekadam seedhee mein aa rahee hai yadi ab pair nahin hota to nishchit roop se hee inaka vhel sudhar jaatee aur yah viket aaut ho jaate hain lekin kyonki blaik ne lekin gaards ne us phon ko roka hai jo bilkul ekadam viket kis cheej mein aa raha hai to aisee sthiti mein thard ampaayar dekhakar kiya empaayar sem dekh karake elabeedablyoo deta hai

रितेश कुमार  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए रितेश जी का जवाब
Marketing and management
1:16
आपका सवाल है क्या आप बता सकते हैं क्रिकेट में एलबीडब्ल्यू आउट क्या होता मैं आपको बताऊं जो तीन स्तंभ जो लगे होते हैं जिस पर बॉलिंग करने के बाद उस पर स्थान पर यदि गेंद लग जाती है तो उसे आउट माना जाता है उसी तरीके से जो आप क्रिकेट पर देखते होंगे पैरों में जो पेड़ लगा होता है यदि वह परिश्रम के सीधे-सीधे में हो और जो गेम जाकर यदि डायरेक्ट बेड पर भी लगती है कि यदि पैड ना होता तो वह स्टंपर लगती तो भी उसे आउट माना जाता है जिसे एलबीडब्ल्यू कहा जाता है और आज के आधुनिक युग में बहुत सारे ऐसे सिस्टम निकाले गए हैं जिसके हैं जिससे हम देख सकते हैं जैसे आप देखते होंगे हर डम प्यार की हेल्प ली जाती है तो सिर्फ उस कंडीशन मेथड इन प्यार की हेल्प ली जाती है जिससे कि पता चल सके कि गेंद यदि उनके पेट पर नहीं लगती तो वह गेंद कहां जाती है तो इससे कई बार मिस्टेक भी लोगों ने होते भी देखा होगा एलबीडब्ल्यू की जगह कई बार नहीं भी होता है तो भी आउट दे दिया जाता है तो इस तरह की दिक्कत है उसमें हो सकती है लेकिन मैक्सिमम जो है रिजल्ट जो है सही होते हैं और एलबीडब्ल्यू आउट होते हैं थैंक यू थैंक यू वेरी मच
Aapaka savaal hai kya aap bata sakate hain kriket mein elabeedablyoo aaut kya hota main aapako bataoon jo teen stambh jo lage hote hain jis par boling karane ke baad us par sthaan par yadi gend lag jaatee hai to use aaut maana jaata hai usee tareeke se jo aap kriket par dekhate honge pairon mein jo ped laga hota hai yadi vah parishram ke seedhe-seedhe mein ho aur jo gem jaakar yadi daayarekt bed par bhee lagatee hai ki yadi paid na hota to vah stampar lagatee to bhee use aaut maana jaata hai jise elabeedablyoo kaha jaata hai aur aaj ke aadhunik yug mein bahut saare aise sistam nikaale gae hain jisake hain jisase ham dekh sakate hain jaise aap dekhate honge har dam pyaar kee help lee jaatee hai to sirph us kandeeshan methad in pyaar kee help lee jaatee hai jisase ki pata chal sake ki gend yadi unake pet par nahin lagatee to vah gend kahaan jaatee hai to isase kaee baar mistek bhee logon ne hote bhee dekha hoga elabeedablyoo kee jagah kaee baar nahin bhee hota hai to bhee aaut de diya jaata hai to is tarah kee dikkat hai usamen ho sakatee hai lekin maiksimam jo hai rijalt jo hai sahee hote hain aur elabeedablyoo aaut hote hain thaink yoo thaink yoo veree mach

Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:21

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • एलबीडब्ल्यू आउट के बारे में बताएं, क्रिकेट में कितने तरह के आउट होते हैं, एलबीडब्ल्यू आउट के नियम
URL copied to clipboard