#मनोरंजन

bolkar speaker

फिल्म टेनैट के बारे में आपकी क्या समीक्षाए हैं?

Film Tenait Ke Bare Mein Apke Kya Sameekshaye Hain
Ashutosh Rai Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Ashutosh जी का जवाब
Officer at Canara Bank
3:09
यह जो फिल्म क्या आपने बात की है टेनेट इसको मैंने एक बार देखा कुछ हद तक समझ आया तुझे मिस हो गई जो जो जो चीजें मिस हो गई उनके लिए फिर वह सींस दोबारा रिपीट मोड पर देखें फिर कुछ और चीजें समझ में आए तब भी कुछ लिख जो है अधूरे रह गए और ऐसे करके वह कुछ कुछ चीजें जो है मैंने तीन चार बार से कीचड़ मोड पर देखी तब जाकर एक चिट्ठा का इतिहास पिक्चर के बारे में जानकारी दो डायरेक्टर क्रिस्टोफर नोलन साहब यह ऐसी फिल्में बनाना बनाने में महारत हासिल हो जाए वह इंटरस्टेलर हो चाहे वह इंफेक्शन हो कि डायरेक्टर जॉइंट फिल्में ऐसी ही बनाते हैं जिससे जिसको देखने के बाद एक आम आदमी के होश उड़ जाएंगे अर्जुन की हाउस नहीं मिलेंगे उनको पिक्चर समझ में नहीं आएगी बड़ा सिंपल चाय पीने चलते नेट भी कुछ ऐसी ही मूवी थी बहुत ही अच्छे से सोच विचार करके एक जबरदस्त कहानी गढ़ी गई है और साइंस फिक्शन को एक बेहतरीन तरीके से जो है रिप्रेजेंट किया गया है इस पिक्चर के माध्यम से बहुत मतलब कुछ खेत कुछ सींस तो इतने कन्फ्यूजन थे कि वाकई में दोबारा रिपीट करके रिवर्स करके उनको देखना पड़ रहा था लेकिन यह मूवी देखने के बाद और थोड़ा समझने के बाद यह एक बार को इंसान सोचने को मजबूर हो जाता है कि वाकई में जो मूवी के दो डायरेक्टर है नोलन साहब क्रिस्टोफर नोलन साहब का बिल काबिले तारीफ आदमी है और उनका यह जो काम है यह वाकई में अगली तारीख को कितना कुछ सोचने के लिए पहली बार तो सोचने के लिए बहुत सारा दिमाग चाहिए और इतना सोचने के बाद फिर उसको स्क्रीन पर प्रजेंट करना ऐसे मूवी बनाना और वाकई में जो है यह बेहतरीन काम है और तारीफ होनी चाहिए नॉट आउट बहुत ही शानदार मूवी है अच्छी स्टोरी है किन जबरदस्त है टेंशन सोच बहुत ही बेहतरीन है और स्टोरी तो मतलब अलग ही लेवल में बहुत सारा फोकस बहुत सारा दिमाग और बहुत ज्यादा बहुत सारा ध्यान चाहिए होगा इस मूवी को समझ में मुझे एक बार में समझ में नहीं है मैंने पूरी मूवी देखी फिर जहां जहां मुझे लिंक मिसिंग लगी मूवी में वह सारे सींस मैंने दोबारा देखें तीसरी बार देखी और उसके बाद भी जो चीज अधूरी लगे करो मैंने चौथी बार देखी और फाइनली जाकर जो है मैं थोड़ा कुछ हद तक में मैं भी भी यह नहीं कहूंगा मुझे हंड्रेड परसेंट मूवी समझ में आई है बट काफी हद तक मैंने जो है सारे डॉट्स कनेक्ट किए और तब मुझे लगा कि भाई वाकई में बहुत ही शानदार पिक्चर बनाई है दूसरा आंदोलन में देखने लायक जरूर देखिएगा
Yah jo philm kya aapane baat kee hai tenet isako mainne ek baar dekha kuchh had tak samajh aaya tujhe mis ho gaee jo jo jo cheejen mis ho gaee unake lie phir vah seens dobaara ripeet mod par dekhen phir kuchh aur cheejen samajh mein aae tab bhee kuchh likh jo hai adhoore rah gae aur aise karake vah kuchh kuchh cheejen jo hai mainne teen chaar baar se keechad mod par dekhee tab jaakar ek chittha ka itihaas pikchar ke baare mein jaanakaaree do daayarektar kristophar nolan saahab yah aisee philmen banaana banaane mein mahaarat haasil ho jae vah intarastelar ho chaahe vah imphekshan ho ki daayarektar joint philmen aisee hee banaate hain jisase jisako dekhane ke baad ek aam aadamee ke hosh ud jaenge arjun kee haus nahin milenge unako pikchar samajh mein nahin aaegee bada simpal chaay peene chalate net bhee kuchh aisee hee moovee thee bahut hee achchhe se soch vichaar karake ek jabaradast kahaanee gadhee gaee hai aur sains phikshan ko ek behatareen tareeke se jo hai riprejent kiya gaya hai is pikchar ke maadhyam se bahut matalab kuchh khet kuchh seens to itane kanphyoojan the ki vaakee mein dobaara ripeet karake rivars karake unako dekhana pad raha tha lekin yah moovee dekhane ke baad aur thoda samajhane ke baad yah ek baar ko insaan sochane ko majaboor ho jaata hai ki vaakee mein jo moovee ke do daayarektar hai nolan saahab kristophar nolan saahab ka bil kaabile taareeph aadamee hai aur unaka yah jo kaam hai yah vaakee mein agalee taareekh ko kitana kuchh sochane ke lie pahalee baar to sochane ke lie bahut saara dimaag chaahie aur itana sochane ke baad phir usako skreen par prajent karana aise moovee banaana aur vaakee mein jo hai yah behatareen kaam hai aur taareeph honee chaahie not aaut bahut hee shaanadaar moovee hai achchhee storee hai kin jabaradast hai tenshan soch bahut hee behatareen hai aur storee to matalab alag hee leval mein bahut saara phokas bahut saara dimaag aur bahut jyaada bahut saara dhyaan chaahie hoga is moovee ko samajh mein mujhe ek baar mein samajh mein nahin hai mainne pooree moovee dekhee phir jahaan jahaan mujhe link mising lagee moovee mein vah saare seens mainne dobaara dekhen teesaree baar dekhee aur usake baad bhee jo cheej adhooree lage karo mainne chauthee baar dekhee aur phainalee jaakar jo hai main thoda kuchh had tak mein main bhee bhee yah nahin kahoonga mujhe handred parasent moovee samajh mein aaee hai bat kaaphee had tak mainne jo hai saare dots kanekt kie aur tab mujhe laga ki bhaee vaakee mein bahut hee shaanadaar pikchar banaee hai doosara aandolan mein dekhane laayak jaroor dekhiega

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • फिल्म टेनैट
URL copied to clipboard