#undefined

Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
1:54
नहीं क्या हमें अपने दिन की शुरुआत योगा और मेडिटेशन द्वारा करनी शुरू करनी चाहिए तो जी हां बिल्कुल अगर आप इसके साथ करते हैं तो कहीं ना कहीं यह कहा जाता है कि हम योगा योगा से अपने दिन की शुरुआत करते हैं तो क्या होगी हमारी जो भी बेकार होते हैं वह दूर होंगे हमें क्या होगा हमारे शरीर को स्वस्थ स्वच्छता मिलेगी हम स्वस्थ रहेंगे और उसके साथ-साथ अगर मेडिटेशन का यूज कर रहे हैं तब ध्यान लगाने का यूज कर रहे हैं तो कहीं ना कहीं हमें शांति प्रदान होगी हमें सुख समृद्धि प्राप्त होगी और हमारी मन की इच्छा होगी वह पूरी तरह से संतुष्ट होगी और हम पूरी तरह से स्वस्थ रहेंगे इन दोनों के साथ अगर हम अपनी युवा की शुरुआत कर रहे हैं और मेडिटेशन से भी अपनी दिन की शुरुआत कर रहे हैं तो दोनों में हमारे शरीर स्वस्थ रहेंगे हमारे शरीर में जो भी बिहार होंगे दूर होंगे मेडिटेशन से हमारे क्या होगी कि जो भी हमारे मन मन एकत्र होंगे हमारी जो शांति मिलेगी जिससे कि बहुत ज्यादा हमारे शरीर को सुख मिलेगा यही कारण है कि दोनों की साथ अगर हम अपनी दिन की शुरुआत आते हैं तो कहीं न कहीं हमारे लिए बहुत ही एक सुखदायक परिणाम दायक होगा जो हम जो चाहेंगे उसे करने में हमारी एबिलिटी रहेगी क्या बिल्टी रहेगी हम अपनी गोल कोई अचीव अचीव करने में बहुत कम समय का उपयोग करेंगे और हम जो भी लक्ष्य हासिल करना चाहेंगे बहुत आसानी से इन दोनों के द्वारा हासिल कर सकते हैं क्योंकि जब हम शरीर से स्वस्थ रहेंगे तो मैं किसी प्रकार की तकलीफ नहीं होगी जब हमारा ध्यान एक जगह लगा रहेगा हमारा मन एक जगह स्थिर रहेगा तो हम किसी चीज को एक ही बहुत आसानी से उस सरलता से कर लेंगे धन्य
Nahin kya hamen apane din kee shuruaat yoga aur mediteshan dvaara karanee shuroo karanee chaahie to jee haan bilkul agar aap isake saath karate hain to kaheen na kaheen yah kaha jaata hai ki ham yoga yoga se apane din kee shuruaat karate hain to kya hogee hamaaree jo bhee bekaar hote hain vah door honge hamen kya hoga hamaare shareer ko svasth svachchhata milegee ham svasth rahenge aur usake saath-saath agar mediteshan ka yooj kar rahe hain tab dhyaan lagaane ka yooj kar rahe hain to kaheen na kaheen hamen shaanti pradaan hogee hamen sukh samrddhi praapt hogee aur hamaaree man kee ichchha hogee vah pooree tarah se santusht hogee aur ham pooree tarah se svasth rahenge in donon ke saath agar ham apanee yuva kee shuruaat kar rahe hain aur mediteshan se bhee apanee din kee shuruaat kar rahe hain to donon mein hamaare shareer svasth rahenge hamaare shareer mein jo bhee bihaar honge door honge mediteshan se hamaare kya hogee ki jo bhee hamaare man man ekatr honge hamaaree jo shaanti milegee jisase ki bahut jyaada hamaare shareer ko sukh milega yahee kaaran hai ki donon kee saath agar ham apanee din kee shuruaat aate hain to kaheen na kaheen hamaare lie bahut hee ek sukhadaayak parinaam daayak hoga jo ham jo chaahenge use karane mein hamaaree ebilitee rahegee kya biltee rahegee ham apanee gol koee acheev acheev karane mein bahut kam samay ka upayog karenge aur ham jo bhee lakshy haasil karana chaahenge bahut aasaanee se in donon ke dvaara haasil kar sakate hain kyonki jab ham shareer se svasth rahenge to main kisee prakaar kee takaleeph nahin hogee jab hamaara dhyaan ek jagah laga rahega hamaara man ek jagah sthir rahega to ham kisee cheej ko ek hee bahut aasaanee se us saralata se kar lenge dhany

और जवाब सुनें

Sandeep chhipa Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Sandeep जी का जवाब
social worker (MSW)
0:52
हमें दिन की शुरुआत योगा और मेडिटेशन के द्वारा शुरू करनी चाहिए एक्सरसाइज और पर्याप्त नींद से आप जो अपने आत्मविश्वास का निर्माण कर सकते हैं क्योंकि इन दोनों व्यवहारिक गुणों से मूड अच्छा रहता है और आप आंतरिक और बाहरी दोनों ही रूप से अच्छा महसूस करेंगे इसीलिए जीवन के अंदर दिन की शुरुआत मेडिसिन से करें या योगा से जरूर करनी चाहिए आपको सकारात्मकता 10 शेर देखने से दिन भर ताजगी महसूस भी होती है और अपनी जिंदगी को आगे बढ़ाने के लिए हर संभव है साबित होता है इसीलिए दिन की शुरुआत योगा के साथ करें विद बाद में मेडिटेशन की शुरुआत भी करें तो आपको पर्याप्त नींद मिलेगी और आपका शरीर हष्ट पुष्ट रहेगा जय हिंद जय भारत सभी मित्रों को धन्यवाद
Hamen din kee shuruaat yoga aur mediteshan ke dvaara shuroo karanee chaahie eksarasaij aur paryaapt neend se aap jo apane aatmavishvaas ka nirmaan kar sakate hain kyonki in donon vyavahaarik gunon se mood achchha rahata hai aur aap aantarik aur baaharee donon hee roop se achchha mahasoos karenge iseelie jeevan ke andar din kee shuruaat medisin se karen ya yoga se jaroor karanee chaahie aapako sakaaraatmakata 10 sher dekhane se din bhar taajagee mahasoos bhee hotee hai aur apanee jindagee ko aage badhaane ke lie har sambhav hai saabit hota hai iseelie din kee shuruaat yoga ke saath karen vid baad mein mediteshan kee shuruaat bhee karen to aapako paryaapt neend milegee aur aapaka shareer hasht pusht rahega jay hind jay bhaarat sabhee mitron ko dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्यों हमें अपने दिन की शुरुआत योगा और मेडिटेशन द्वारा शुरू करनी चाहिए अपने दिन की शुरुआत योगा और मेडिटेशन द्वारा
URL copied to clipboard