#भारत की राजनीति

er. ramphal bind Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए er. जी का जवाब
Private job
2:52
प्रश्न आपका है क्या यह सच है कि मोदी शाह की जोड़ी फुल चुनाव जीतने पर केंद्रित है और सत्ता पाने के बाद वास्तविक सुशासन पर नहीं इस पर विचार किया जाए या वैचारिक रूप से देखा जाए यार कई राज्य के चुनाव हुए कई राज्यों में उसका सिचुएशन दिखाइए वर्तमान में ऐसा ही कुछ लगता है कि मोदी सहायक की से जुड़ी है जो नेतृत्व करता है मतलब बीजेपी के लिए बहुत बड़ी भूमिका है और इसी की जोड़ी यू कॉलेज है हर चुनाव में बहुत बड़ी भूमिका निभा रहा है चुनाव जीतने के लिए और रही बात सत्ता पाने के बाद वास्तु सुशासन पर नहीं है तो कोई भी सरकार चाहे पहले कि वह सब हो जाए छतरी पार्टी आप यह देख सकते हैं कोई भी सरकार बनेगी तो ऐसी कोई भी कानून या कोई भी कुछ भी प्रशासन है तो कुछ न कुछ उसमें राजनीतिक हस्तक्षेप करने लगते हैं जिससे आपको ही लगेगा कि मतलब शासन पूरी तरह से मदद नहीं है तब यह कहेंगे कि शासन से नहीं है तब यह देख सकते हैं आप लोग उनकी सांसों से उनकी सरकार चलाने की रवि से भी खुश है यह सब झूठा सही है और राजनीतिक रूप से किसी को मतलब बदला लेना अभी अगर सकती क्योंकि सत्ता पक्ष में कभी और रहेंगे कोई भी पक्ष में रहेंगे बदले की भावना की राजनीतिक उसकी तौर पर देखेंगे तो कोई भी सत्ता पक्ष में रहेगा तो सौ परसेंट आपको सुशासन नजर नहीं आ रहा है आएगा आप बस यह देखना है कि आम जनता खुश है कि नहीं है समझी उसे अभी से आप उत्तर प्रदेश में देख लिए योगी की सरकार शासन के मामले में हम देखेंगे तो कहीं पीछे जाएंगे तू आम जनता तो खुश है लेकिन जो अपराधी का मतलब राजनीतिक उनको कतनी संरक्षण प्राप्त है उनकी प्रति कार्रवाई बहुत ज्यादा हो रही है तो आपको ऐसा लगे कि शासन सही नहीं हुए आम आदमी मारे जा रहे हैं जी बिल्कुल ऐसा नहीं है कि राजनीतिक पहले अपराधियों को संरक्षण प्राप्त है वह प्राप्त की है उसमें उनके कोई भी इन काउंटर या कुछ भी मारे जा रहे हैं या नहीं सकते कि शासन सही नहीं है आप यह देख ले अभी जरूरी नहीं है कोई भी सरकार है तो उसमें थोड़ा बहुत रोती रहती है 100 क्वेश्चन तो कोई लागू नहीं कर सकता जब कोई सरकार के नीति 75% या 80% भी सरकार सही ढंग से शासन सुरक्षा दे पा रहे तब समझ लीजिए कि सरकार सुशासन के मामले में सही है
Prashn aapaka hai kya yah sach hai ki modee shaah kee jodee phul chunaav jeetane par kendrit hai aur satta paane ke baad vaastavik sushaasan par nahin is par vichaar kiya jae ya vaichaarik roop se dekha jae yaar kaee raajy ke chunaav hue kaee raajyon mein usaka sichueshan dikhaie vartamaan mein aisa hee kuchh lagata hai ki modee sahaayak kee se judee hai jo netrtv karata hai matalab beejepee ke lie bahut badee bhoomika hai aur isee kee jodee yoo kolej hai har chunaav mein bahut badee bhoomika nibha raha hai chunaav jeetane ke lie aur rahee baat satta paane ke baad vaastu sushaasan par nahin hai to koee bhee sarakaar chaahe pahale ki vah sab ho jae chhataree paartee aap yah dekh sakate hain koee bhee sarakaar banegee to aisee koee bhee kaanoon ya koee bhee kuchh bhee prashaasan hai to kuchh na kuchh usamen raajaneetik hastakshep karane lagate hain jisase aapako hee lagega ki matalab shaasan pooree tarah se madad nahin hai tab yah kahenge ki shaasan se nahin hai tab yah dekh sakate hain aap log unakee saanson se unakee sarakaar chalaane kee ravi se bhee khush hai yah sab jhootha sahee hai aur raajaneetik roop se kisee ko matalab badala lena abhee agar sakatee kyonki satta paksh mein kabhee aur rahenge koee bhee paksh mein rahenge badale kee bhaavana kee raajaneetik usakee taur par dekhenge to koee bhee satta paksh mein rahega to sau parasent aapako sushaasan najar nahin aa raha hai aaega aap bas yah dekhana hai ki aam janata khush hai ki nahin hai samajhee use abhee se aap uttar pradesh mein dekh lie yogee kee sarakaar shaasan ke maamale mein ham dekhenge to kaheen peechhe jaenge too aam janata to khush hai lekin jo aparaadhee ka matalab raajaneetik unako katanee sanrakshan praapt hai unakee prati kaarravaee bahut jyaada ho rahee hai to aapako aisa lage ki shaasan sahee nahin hue aam aadamee maare ja rahe hain jee bilkul aisa nahin hai ki raajaneetik pahale aparaadhiyon ko sanrakshan praapt hai vah praapt kee hai usamen unake koee bhee in kauntar ya kuchh bhee maare ja rahe hain ya nahin sakate ki shaasan sahee nahin hai aap yah dekh le abhee jarooree nahin hai koee bhee sarakaar hai to usamen thoda bahut rotee rahatee hai 100 kveshchan to koee laagoo nahin kar sakata jab koee sarakaar ke neeti 75% ya 80% bhee sarakaar sahee dhang se shaasan suraksha de pa rahe tab samajh leejie ki sarakaar sushaasan ke maamale mein sahee hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • मोदी-शाह की जोड़ी की खास बात क्या है, मोदी-शाह की जोड़ी के नए मायने, मोटू पतलू की जोड़ी
URL copied to clipboard