#भारत की राजनीति

RAJESH KUMAR PANDEY Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए RAJESH जी का जवाब
Director of Study Gateway+
2:26
देखिए कुछ ना पाया कि क्या आपको भी लगता है कि विपक्ष किसानों को नहीं बल्कि सरकार को गुमराह करना क्योंकि सरकार के अधिकतर नो संबंध विच्छेद के संबंध सरकार से ऐसा ही करें बहुत से नेताओं का एक दूसरे से संबंध होता है एमपी पक्ष है वह चाय पत्ती से हूं लेकिन यहां मामला किसानों का है और हमारा देश कृषि प्रधान देश हमारे देश में मैक्स में माओवादी किसानों की है और किसानों से बहुत लोगों का जीवन विवाह होता है मर देश में हमारे देश में इन्फेक्शन के लक्षण आगे नहीं हैं खेती में कृषि में हमारा देश आगे हमारे देश को चरण स्पर्श पैदा करता है और बिल्कुल किसानों के अनुरूप होना चाहिए मैं कल ही बताया कि एसी में बैठ कर किसानों के लिए बिल बना देना क्या यह सही है किसानों को कम से कम उस में निवास करने चाहिए किसान भाइयों से डिस्कशन करना चाहिए इसके बारे में भी शॉपिंग करनी चाहिए अभी कोर्णाक बार से सांसद बंद है आप बिना किसी डिप्रेशन के बिना कुछ बताए विधेयक पास कर दिए यह गलत काम है और मैं मैं क्या कोई भी किसानों के हित में बात करेगा यह किसान लोग बहुत मेहनत करते हैं अगर किसी को कह दिया गया पावा लेकर एक बिछाई 18 कट्ठा खेत को जाकर थोड़ा सा थोड़ा सा सही कर दे तो उसकी हां उसको पता चल जाएगा किसान भाई कितना मिनट पर तो बहुत मन लगता है इसको सही करने में किसानों के पास बहुत ज्यादा पैसा नहीं होता है कि वह दूसरों से काम करा ले वो खुद सुबह उठना है और कुदाल भाड़ा लेकर पहुंचाता है खेत में बहुत मेहनत लगता है यह मैं समझ सकता हूं क्योंकि मेरे पास स्थित है और किसान भाई लोग काम करते हैं और मैं उनकी सेवा करता हूं उनको देता हूं मैं जितना जाना होता है तो यह बात मैं समझ सकता हूं इसलिए हम बिल्कुल बिल जो है विधायक जो किसानों के अनुरूप होना चाहिए एमएसपी की आंटी सरकार दे दे यही बहुत बड़ी बात है किसानों के लिए और कुछ ना दे मैच की आरती दे दे कि एम्स कितना होना चाहिए हर फसल के लिए मैसेज खत्म कर मतलब यह कि फिर प्राइवेट लोगों का बोलबाला हो जाएगा किस जैसे अभी माली जी के धान ₹19 बिक रहा है पलके जी हटा दिया जाए तो फिर समझ लीजिए किसानों का शोषण होना शुरू हो जाएगा सरकार किसानों से अनाज कर दें और फिर इसको जितना पैसे में बेच रहे हैं मार्केट में लाए तो सरकार के ऊपर है
Dekhie kuchh na paaya ki kya aapako bhee lagata hai ki vipaksh kisaanon ko nahin balki sarakaar ko gumaraah karana kyonki sarakaar ke adhikatar no sambandh vichchhed ke sambandh sarakaar se aisa hee karen bahut se netaon ka ek doosare se sambandh hota hai emapee paksh hai vah chaay pattee se hoon lekin yahaan maamala kisaanon ka hai aur hamaara desh krshi pradhaan desh hamaare desh mein maiks mein maovaadee kisaanon kee hai aur kisaanon se bahut logon ka jeevan vivaah hota hai mar desh mein hamaare desh mein inphekshan ke lakshan aage nahin hain khetee mein krshi mein hamaara desh aage hamaare desh ko charan sparsh paida karata hai aur bilkul kisaanon ke anuroop hona chaahie main kal hee bataaya ki esee mein baith kar kisaanon ke lie bil bana dena kya yah sahee hai kisaanon ko kam se kam us mein nivaas karane chaahie kisaan bhaiyon se diskashan karana chaahie isake baare mein bhee shoping karanee chaahie abhee kornaak baar se saansad band hai aap bina kisee dipreshan ke bina kuchh batae vidheyak paas kar die yah galat kaam hai aur main main kya koee bhee kisaanon ke hit mein baat karega yah kisaan log bahut mehanat karate hain agar kisee ko kah diya gaya paava lekar ek bichhaee 18 kattha khet ko jaakar thoda sa thoda sa sahee kar de to usakee haan usako pata chal jaega kisaan bhaee kitana minat par to bahut man lagata hai isako sahee karane mein kisaanon ke paas bahut jyaada paisa nahin hota hai ki vah doosaron se kaam kara le vo khud subah uthana hai aur kudaal bhaada lekar pahunchaata hai khet mein bahut mehanat lagata hai yah main samajh sakata hoon kyonki mere paas sthit hai aur kisaan bhaee log kaam karate hain aur main unakee seva karata hoon unako deta hoon main jitana jaana hota hai to yah baat main samajh sakata hoon isalie ham bilkul bil jo hai vidhaayak jo kisaanon ke anuroop hona chaahie emesapee kee aantee sarakaar de de yahee bahut badee baat hai kisaanon ke lie aur kuchh na de maich kee aaratee de de ki ems kitana hona chaahie har phasal ke lie maisej khatm kar matalab yah ki phir praivet logon ka bolabaala ho jaega kis jaise abhee maalee jee ke dhaan ₹19 bik raha hai palake jee hata diya jae to phir samajh leejie kisaanon ka shoshan hona shuroo ho jaega sarakaar kisaanon se anaaj kar den aur phir isako jitana paise mein bech rahe hain maarket mein lae to sarakaar ke oopar hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • किसान विरोधी बेल सरकार को गुमराह करना
URL copied to clipboard