#undefined

bolkar speaker

ग्राफिक डिजाइनर कैसे बनें? और क्या योग्यता होना ज़रूरी है।

Graphic Designer Kese Bane Kya Yogyata Hona Zaruri Hai
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
1:50
सवाल यह है कि ग्राफिक डिजाइनर कैसे बने क्या योग्यता होना जरूरी है ग्राफिक डिजाइनर का काम अपने क्लाइंट के लिए ऐसे क्रिएटिव आइडिया तैयार करना होता है जो उसके क्लाइंट के इंस्टिट्यूट को अलग पहचान दे सके इस काम के लिए क्रिएटिविटी सबसे पहली जरूरत है इसके अलावा इंडस्ट्री के ट्रेन की पूरी जानकारी ग्राफिक डिजाइनिंग के क्षेत्र में नए सॉफ्टवेयर की जानकारी प्रोफेशनल अप्रोच को और काम को समय पर पूरा करने की योग्यता होना जरूरी है ग्राफिक डिजाइन के क्षेत्र में आज तमाम तरह के कोर्स मौजूद है फाउंडेशन कोर्स से लेकर 4 साल तक के डिग्री कोर्स उपलब्ध है योग्यता के रूप में स्टूडेंट को 12 वीं पास होना जरूरी है ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट के बाद भी कई डिप्लोमा एवं पीजी डिप्लोमा कोर्स कराए जाते हैं ग्राफिक डिजाइनिंग के कुछ कोर्स है जैसे बैचलर फाइन आर्ट पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा इन डिजाइन ग्रैजुएट डिप्लोमा इन डिजाइन विजुअल कम्युनिकेशन डिजाइन एडमिट कम्युनिकेशन आफ अप्लाइड आर्ट्स एंड डिजिटल आर्ट प्रिंटिंग एंड इंजीनियरिंग के प्रमुख संस्थान है जहां पर सत्य नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन अहमदाबाद इंडस्ट्रीज डिजाइन सेंटर आईआईटी मुंबई डिपार्टमेंट ऑफ डिजाइन आईआईटी गुवाहाटी ग्राफिक डिजाइनिंग के क्षेत्र में कैरियर की बात की जाए तो ग्लोबलाइजेशन के मौजूदा दौर में इस फील्ड में रोजगार की बेहतर संभावनाएं हैं छोटे से सभी छोटे-बड़े संस्थान अपने लिए भी ज्वल बैकग्राउंड तैयार करवाते हैं ग्राफिक डिजाइनर उसको वेबसाइट एडवरटाइजिंग एजेंसी किताबें पत्रिकाएं पोस्टर्स कमीनी कंप्यूटर गेमस प्रोडक्ट पैकेजिंग कॉरपोरेट कम्युनिकेशन कॉरपोरेट आईडेंटिटी ऑफिस में काम मिल जाता है
Savaal yah hai ki graaphik dijainar kaise bane kya yogyata hona jarooree hai graaphik dijainar ka kaam apane klaint ke lie aise krietiv aaidiya taiyaar karana hota hai jo usake klaint ke instityoot ko alag pahachaan de sake is kaam ke lie krietivitee sabase pahalee jaroorat hai isake alaava indastree ke tren kee pooree jaanakaaree graaphik dijaining ke kshetr mein nae sophtaveyar kee jaanakaaree propheshanal aproch ko aur kaam ko samay par poora karane kee yogyata hona jarooree hai graaphik dijain ke kshetr mein aaj tamaam tarah ke kors maujood hai phaundeshan kors se lekar 4 saal tak ke digree kors upalabdh hai yogyata ke roop mein stoodent ko 12 veen paas hona jarooree hai grejuet aur post grejuet ke baad bhee kaee diploma evan peejee diploma kors karae jaate hain graaphik dijaining ke kuchh kors hai jaise baichalar phain aart post graijuet diploma in dijain graijuet diploma in dijain vijual kamyunikeshan dijain edamit kamyunikeshan aaph aplaid aarts end dijital aart printing end injeeniyaring ke pramukh sansthaan hai jahaan par saty neshanal insteetyoot oph dijain ahamadaabaad indastreej dijain sentar aaeeaeetee mumbee dipaartament oph dijain aaeeaeetee guvaahaatee graaphik dijaining ke kshetr mein kairiyar kee baat kee jae to globalaijeshan ke maujooda daur mein is pheeld mein rojagaar kee behatar sambhaavanaen hain chhote se sabhee chhote-bade sansthaan apane lie bhee jval baikagraund taiyaar karavaate hain graaphik dijainar usako vebasait edavarataijing ejensee kitaaben patrikaen postars kameenee kampyootar gemas prodakt paikejing koraporet kamyunikeshan koraporet aaeedentitee ophis mein kaam mil jaata hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • ग्राफिक डिजाइनर में क्या खुबिया होती है.. ग्राफिक डिजाइनर की पढ़ाई कहा से करे..
URL copied to clipboard