#मनोरंजन

Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:17
यीशु के लिए भी नहीं खिलाओगे पूजा से खेलने वाली अभिनेत्रियों के या फिर कहेंगे तो आजकल की छोरियां से बन गया कि यहां पर मैसेज होना आम बात है बस यही चाहिए कि आपके पीछे 55696 आपको ऐसा कुछ ना करना पड़े

और जवाब सुनें

Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
2:15
चंद्र पैसों के लिए अभिनय के नाम पर प्रदर्शन करने वाली अभिनेत्रियों के लिए आप क्या कहोगे तो चारों तरफ है देश की छोटी-छोटी प्लेटफार्म उलटीटी वाले देख ले जो लोग तो पूरी तरह से अनकंट्रोल्ड हो चुके हैं कोई सेंसरशिप नहीं है और जो अभिनेत्रियां बड़े पदों पर है निश्चित तौर पर वह अभिनय कराओ अभिनय के बल पर अपनी पहचान बनाओ तभी पहचान बनाओ फोटोशूट करवा लो न्यूड फोटोशूट करवा लो रोज कितने कल्चर का हिसाब ना हो तो बड़ा दुर्भाग्य पूर्ण लगता है कोई वेस्टर्न कल्चर हो सकता है सरकार लेकिन भारतीय समाज इस तरह से नहीं समझता लेकिन आज के युवा वर्ग भी उसी तरह डायरेक्शन में मोटर है तो मैं ऐसे ही अंग प्रदर्शन करने वाले नेताओं को ज्यादा तवज्जो नहीं देता दिन के दमदार रोल होते हैं और दमदार स्टोरी होते हैं और कभी-कभी तो फिल्मों की स्टोरी आजकल ऐसी बन रही है कि इनको शोपीस के रूप में प्रस्तुत किया जाता है कोई गाना चल रहा होगा तो अभिनेत्री को हार्दिक बड़े पहनाया गया है तेरी अभिनेता को पूरे कपड़े कैसे होते हैं वहीं हो गया क्या कभी फूल के अंदर जाना है वह नहीं है लेकिन फिर भी शारीरिक तौर पर हम देख रहे हैं बड़े-बड़े शहरों के पार्कों में और वहां पर देखने आया तो निश्चित तौर पर यह दुर्भाग्यपूर्ण नहीं नहीं अभी हमने पर ध्यान दो तो ज्यादा अच्छा कुछ समय के लिए पब्लिसिटी कर लेते हैं कुछ पैसा भी हासिल कर लेते हैं कि चालू वर्ष भी बन जाते हैं लेकिन कुछ समय तक रहता लोकेंद्र कैलेंडर से लाजवाब चली जाती है बोल सारे मित्रों की ओर से भी कितने अभिनेत्रियां डैम करके आई और खोज करी और लेकिन कुछ ही सालों में गायब हो गई पर ऐसी गायब हो गई उनका नामोनिशान तक मिल गया

Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Sales executive
2:48
नमस्कार दोस्तों किसी सज्जन के प्रश्न है कि चंद पैसों के लिए अभिनय के नाम पर अंग प्रदर्शन करने वाले अभिनेत्री को किस प्रकार से कहेंगे लिया है कि हमारी जो नोट्स इन इंडियन में बनने वाले पिक्चरों में क्या आता है कि हमेशा जवाब देने की पेशकश अब अपने का बखान करती है जो 9 जनवरी को फॉलो कर रही है डाला जाता है जो लोग का टाइम लगता है और देखने के लिए ज्यादा ज्यादा लोगों के लिए बहुत ही बहुत ही अलग प्रकार की भावनाएं आहत कर दी है लोगों को हमें क्या है कि इसमें बहुत सारे ऐसे गाने जिसमें चोली के पीछे क्या है कुछ तो काम करती हूं साउथ इंडियन पिक्चर में जो करेक्शन उसमें बहुत अलग होता है बहुत दिक्कत होता है साउथ दिल्ली की जाति कैसे प्रजेंट एक्शन देना है उसका एक ग्रुप में ध्यान में रखकर बनाया जाता है तो भारतीय संस्कृति हमारी जीत सकते हैं लेकिन आप लोगों की क्या राय तो आप अपना अपना राय दे सकते हैं इसमें कोई बात नहीं धन्यवाद आपका

Manish Kumar  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Manish जी का जवाब
Defence
2:02
प्रश्न है चंद पैसों के लिए अपने के नाम पर अंग प्रदर्शन करने वाली अभिनेत्रियों की रात क्या कहना यही कहूंगा कि जो डिमांड होती है उसी के अनुसार जो है प्रोडक्शन होता है हम अंग प्रदर्शन वाली फिल्मों का जो है डिमांड करते हैं तो जाहिर सी बात है कि जब अंग प्रदर्शन वाले फिल्म हिट्स होंगे तभी तो जो है अभिनेत्रियां अंग प्रदर्शन करने पर मजबूर होती हैं यदि हम अंग प्रदर्शन वाले फिल्मों का बहिष्कार करें उन्हें नहीं देखें तो फिल्में फुल होंगी और इस वजह से जो है अभिनेत्री आज है अंग प्रदर्शन नहीं कर पाएंगे तो हम हो या आप हो या कोई भी हो जब अंग प्रदर्शन वाली फिल्मों का जो है सपोर्ट करेंगे तो या तो परंपरा जो है चलेगी और या फिल्म पड़ा तो फिल्मों वाली काफी पुराने समय से चली आ रही है राम तेरी गंगा मैली में भी जो तुझे पुकारे सॉन्ग है प्रिया की जगह पर दर्शन नहीं करेंगे क्योंकि हम जो हैं किसी दूसरे को दोष देने से पहले जो है अपने आप का मूल्यांकन करते हैं और मैं अपने आप को जो है मूल्यांकन करने के बाद यह निष्कर्ष निकाल रहा हूं कि हम आप सभी जब तक जो है इस अंग प्रदर्शन को बढ़ावा देंगे तब तक जो है या खत्म होने वाला नहीं है

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
2:42
बच्चों के लिए अभिनय के नाम पर प्रदर्शन करने वाली अभिनेत्रियों के लिए आप क्या कहेंगे देखो अपनी अभिनय का एक हिस्सा मानती है उनको अभिनय पर नहीं अंगों पर गरूर है कि उनके वह अंग जनता को अपनी तरफ लुटाएंगे मोहित करेंगे प्रभावित करेंगे और वह सुपरस्टार बनेगी बल्कि वह अंगो का प्रदर्शन करके अपनी ख्याति प्राप्त करना चाहती है इसमें कोई मुझे संकोच नहीं है कि मैं यह बात कह रहा हूं ऐसी अभिनेत्रियां अभिनेत्री जरूर है लेकिन उनकी एक विशिष्टता यह है कि वह अपने आप को बिल्कुल न्यूड दिखाना चाहती है जो भारतीय संस्कृति और सभ्यता के सर्वथा खिलाफ है उन्हें नहीं भूलना चाहिए कि पहले वह नारी है एक हजार तौर-तरीके जिस अंग को भारतीय नारी का बहुत बड़ा मान सम्मान दिया जाता है उसका प्रदर्शन करके आप की बदौलत कमाने के लिए संस्कृति सभ्यता और संस्कार इन सब की होलिका दहन कर दें कि तो समझदारी नहीं है मैं अकेला का बहुत पूजा रही हूं और संगीत और कला को अपने जीवन का बहुत बड़ा अभिनय मानता हूं क्योंकि हम शिक्षकों का भी बहुत बड़ी भूमिका थी विद्यार्थियों के जीवन को सामान्य में बहुत कठोर अभिनय करना पड़ता अब यकीन मानिए जिन बच्चों से व्यक्तिगत जोड़ते हैं उनकी योग्यता के कारण उनके पेरेंट्स को ऐसी फेस करते हैं जैसे आंधी तूफान आते हैं उनके चंबा उनकी सोच उनकी समझ उनका आचरण उनका व्यवहार हम जीवन में अगर सच्चे शिक्षक हैं तो इन आंधी तूफानों को सहने की क्षमता रखते हैं लेकिन नहीं हम अपने आचरण अपनी तरित का प्रदर्शन नहीं करते जैसे कि ये अभिनेत्रियां अंग प्रदर्शन करके पैसा कमाना अपनी जीवन का सबसे बड़ा उद्देश्य मानती हैं जो सर्वथा भारतीय संस्कृति और सभ्यता के और महिलाओं के नाम पर अनुच्छेद

Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
1:53
प्रश्न है कि चंद पैसों के लिए अभिनय के नाम पर अंग प्रदर्शन करने वाले अभिनेत्रियों के लिए आप क्या कहेंगे इन्हें कुछ भी कहे इनको तो केवल पैसा ही सोचता है और इस चंद पैसे नहीं होते हैं पैसे बहुत ज्यादा नॉट की संख्या में रहते हैं और उस पैसे के चक्कर में क्या करते हैं अपनी जो भी हमारी भारत की संस्कृति है उसी उसके साथ साथ हमारा जो भारत का दौरा है जो प्रतिष्ठा है जो भारत का एक संस्कार है वह भूल भूल जाते हैं और सबसे बड़ा मैं कहूंगा कि जो सेंसर बोर्ड हमारा है सारी कमियों का जिम्मेदार है क्योंकि अगर ऐसी सीन अगर नहीं लेता तभी हमारी मूवी जंग मूवी अच्छी थी लेकिन एक लालच का जो लॉलीपॉप होता है लालच का लोन लॉलीपॉप देखकर और लोगों में जो अंग प्रदर्शन का जोशीला जारी हुआ है दिखाने का एक कहीं ना कहीं हर एक जो डायरेक्ट होता है ऐसा क्यों कर रहा है तू सेंसर बोर्ड अगर ऐसा करने से मना करें कि हम ऐसी सीन को नहीं लेंगे क्योंकि हमारा समाज खराब हो रहा है हमारा जो भारत की संस्कृति है उस पर असर पड़ा तो कहीं ना कहीं इसे जो डायरेक्टर हैं इस सीन को लेते ही नहीं लेकिन प्रश्न है की अभिनेत्रियों को क्या कहेंगे मैं अभी अभिनेत्रियों से कहूंगा आपको अपनी मर्यादा में ही रहने की कोशिश करिए कम से कम जो भारत की संस्कृति है जो भारत का गौरव है जो भारत की प्रतिष्ठा है उसे बचाने की कोशिश करें उसे बिगाड़ ने उसे बुझाने की कोशिश ना करें बस मेरा यही संदेश है कि थोड़ा सा इस समाज को अपने गांव घर परिवार सिटी शहर जो भी है उसकी एक मर्यादा को बनाए रखें जिससे कि आने वाली पीढ़ियां आपको याद करें अच्छे कामों के

मनोज कुमार यादव Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए मनोज जी का जवाब
कृषक 🌾🌾🌾🌾
1:27
नमस्कार मित्रों जैसे पर पड़ा उसने चंद पैसों के लिए अभिनय के नाम पर अंग प्रदर्शन करने वाली अभिनेत्रियों के लिए आप क्या कहेंगे इतना भी लोग के साथ मजबूरी नहीं होते हैं जो कि अब इस हद तक गुजर जाते हैं हम मानते हैं कि पैसा आज के डेट पर बहुत बड़ी चीज है लेकिन पैसे के लालच में हमें इतना भी नहीं गिरना चाहिए जो कि हमें बाद में समाज में अलग प्रक्रिया अलग नजरिया से देखें तो ऐसे में यह गलत है कि अपना इतना ही कुछ दिखाना चाहिए जिससे कि हमारे समाज भी सुधर जाए और दर्शक भी मैं अच्छा करें लेकिन आज के डेट में बहुत ही ज्यादा है इस तरह की फिल्मों में दिखाते हैं और यहां तक कि आज के समाज का खराब होना भी यही सब मोदी का एक कारण होते हैं छोटा छोटा कपड़ा पहन कर के और फिल्मी दुनिया में आकर के दिखाते हैं इससे समाज और भी गलत रास्ते में भटक जाते हैं ऐसे में इन लोगों को रोकना चाहिए ऐसा प्रदर्शन नहीं करना चाहिए पैसे के लालच में क्या करें वह नंगा घूमे क्या है सब ठीक नहीं है इसके लिए आदमी को आवाज उठाना चाहिए लेकिन दर्शक भी इसका बहुत ही मजा लेते हैं जैसे से दिखता है तो लोग भी खुशी-खुशी इस मूवी को देखने जाते ऐसे मूवी का विरोध करना चाहिए धन्यवाद

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:23
हेलो अभिमानी स्वागत है आपका आपका प्रश्न चंद पैसों के लिए अभिनय के नाम पर उनके प्रदर्शन करने वाली अभिनेत्रियों के लिए आप क्या कहेंगे तो फ्रेंड चंद पैसों के लिए अपना प्रदर्शन नहीं करना चाहिए अभिनय करना चाहिए एक्टिंग जरूर करना चाहिए लेकिन अपने कपड़ों का विशेष ध्यान रखना चाहिए और ऐसे कपड़े नहीं पहनना चाहिए जिससे अंग प्रदर्शन होता हूं धन्यवाद

nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:39
नमस्कार आपका सवाल है कि चंद पैसों के लिए अभिनय के नाम पर अंग प्रदर्शन करने वाली अभिनेत्रियों के लिए आप क्या कहेंगे अच्छा सवाल है आपका दोस्त लिखिए मानते हैं क्या आजकल जितनी भी लड़कियां फिल्म इंडस्ट्री में आ रही है ज्यादातर अंग प्रदर्शन करती है ग्लैमर दिखाती हैं यहां बोर्ड से बोल्ड सीन करने को गंदे से गंदे सीन करने को तैयार रहती हैं और करती भी है तो यह अच्छी बात नहीं है समाज के लिए बहुत खतरा है और उसमें समझता हूं आज की डेट में जितने सेक्सुअल क्राइम हो रहे हैं आपने देखा होगा ट्रिप बढ़ते जा रहे हैं लोगों की मानसिकता बदलती जा रही है लड़कियों की मानसिकता बदल रही है लड़कों की मानसिकता बदल रही है और इससे हमारे समाज पर गलत प्रभाव पड़ रहा है यह सब चीज गलत है ऐसा नहीं होना चाहिए इन सब चीजों को रोकना चाहिए और इन सब चीजों को रोकने के लिए सेंसर बोर्ड बनाया गया लेकिन आजकल क्या करें सब आपको पता है भारत देश है भ्रष्टाचार अपने चरम सीमा पर है हर तरफ से ऐसा चलता है और सेंसर बोर्ड में भी काफी व्यक्ति ऐसे हैं जिनको पैसा खिला दिया जाता है और फिर वह ऐसे इधर से फोन नहीं काटते हैं सचिन को नहीं काटते हैं और वह पास हो जाती है फिल्म में ज्यादा क्या करते हैं उनके आगे ए ग्रेट लिख देते हैं लेकिन एक मिनट लिखने से क्या होता है एक बार देखने के बाद भी मैंने देखा है कि जिनकी ये सब देखने के लिए वह भी जाते हैं फिल्में देखने और आजकल फिल्में देखने जाते ही कौन आजकल तो मोबाइल पर इंटरनेट पर फिल्म आसानी से उपलब्ध है तो यह सब चीजें जो है हमारे समाज को बिगाड़ रही है पुराने जमाने में भी अश्लीलता दिखाते थे बोलना सिखाते थे लेकिन एक लिमिट तक वहां थोड़ा संस्कार बचा हुआ था आजकल तो मैं देख रहा हूं संस्कार और इज्जत तो बिल्कुल खत्म हो गई है युवा तो बिल्कुल खत्म तो बिल्कुल बिगड़ते जा रहे हैं धन्यवाद

Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
4:17
नमस्कार दोस्तों प्रश्न किया गया कि चंद पैसों के लिए अभिनय के नाम पर अंग प्रदर्शन करने वाली अभिनेत्रियों के लिए आप क्या करेंगे तो दोस्तों अभिनेत्रियों को जो है डायरेक्टर मजबूर करता है प्रकार से वह अनजान के ऐसे दृश्य डालता है कि उसकी फिल्म ज्यादा से ज्यादा चल पाए ज्यादा से ज्यादा युवाओं को देखता है तो दोस्तों इसका रोल हमारा जो सेंसर बोर्ड है उसका भी है लेकिन उसमें जाकर नाच गाने वालों को ही बनाया जाता है जो फिल्म जगत से जुड़े होते हैं उन्हीं को हेड बनाया जाता है तो वह भी कहीं ना कहीं इस दुनिया से आया होता है तो प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से सपोर्ट भी करता है तो दोस्तों पहले तो सेंसर बोर्ड को होना चाहिए कि अभिनेत्रियों को ऐसे सीन ना करने दिए जाएं क्योंकि इससे बच्चों पर मानसिक प्रभाव पड़ता है बुरा प्रभाव पड़ता है हम बहुत सारे हैं मूवीस ऑफ पहले के देखेंगे जिसमें परिवार के साथ बैठकर देखा जाता था आजकल आप एक भी कोई भी मूवी देख बैठकर देख नहीं सकते या यहां तक कि आप टीवी सीरियल में भी नहीं देख सकते हो देख सकते हैं तो आपने मस्तिष्क ऐसा परिवार को बना लिया कि यह तो कॉमन बात है हमें एक प्रकार के सेक्स परोसा जा रहा है जो कि एक चिंता का विषय है मेरे को याद है कि जब नाइट ड्रेस जाते थे ऐसे तो उसको भी बच्चे छुप के देखते थे हमको कहते तो आजकल तो नाइट्रस तो दूर की बात है आपको बेडरूम का सीन दिखाया जाता है सीरियलों में और नाईट ड्रेस है तो आजकल लोग पहन के लड़कियां घूम रही है फैशन के नाम पर जो अभिनेत्री आई है वेश्यावृत्ति को बढ़ावा दे रही है और इनकी दुनिया अलग होती है सबसे ज्यादा हम ही लोग इनको सपोर्ट करते हैं हम ही लोग पिक्चर देखने जाते हैं हम ही लोग कहीं आते हैं तो उसको भगवान से भी ज्यादा पीछा करते हैं उसका ऑटोग्राफ लेते हैं तो दोस्तों अगर हम इसको थोड़ा सा नियंत्रित करेंगे हम पिक्चर देखने नहीं जाएंगे वालों में बच्चों को भी प्रेरित करेंगे तो धीरे-धीरे देखेंगे कि वह जैसा आप देखना चाहेंगे वैसे ही आपको दिखाया जाएगा लेकिन आपको भी मजा आ रहा है पिता बैठा हुआ है पुत्री बैठी है वह भी है पर कोई जोक तारा चाहे कपिल शर्मा शो हो चाहे कोई और भी हादसे शो अगर आप उसको ध्यान से सुने तो उसने आज हंसी के नाम पर मात्र फूहड़ पाना है तो दोस्तों यह जनता को जागृत होना पड़ेगा नहीं तो आपको इससे भी गंदा आ गया मेरे समय में दृश्य देखने को मिलेंगे और उनकी कोई गलती नहीं है एक प्रकार से वह तो पढ़ो उसको परोसा जा रहा है और उसी आधार पर पिक्चर करोड़ों में कमाई कर रही है पहले पिक्चरों का मापदंड जब हम छोटे थे तो उसमें होता था कि कितने हफ्ते हॉल पर लगी रही आज यह मापदंड में कितने करोड़ कमाया उसमें जो कमा कर दिया वह आम जनता ने दिया दोस्तों मेरे को तो ऐसा लगता है यह सरकार को प्रतिबंध हटा ले तो स्त्रियां लड़कियां हो सकता है कि नकली में घूमने लग जाए कोई बड़ी बात नहीं है क्या कुछ से प्रभावित भी काफी ज्यादा होती है मैं जिस क्षेत्र में रहता हूं आप इतने डांस बार हैं तो केवल वह गुप्तांगों को ही ढक करके लड़कियां वहां घूम रही होती है फैशन के नाम पर और आप उसके साथ देखेंगे जो बॉयफ्रेंड होगा बहुत पूर्ण रूप से 100% में से 90% कवर होगा वह तो लड़कियों को हम आजकल भी अभी भी लोग सोच नहीं बदली वस्तु के रूप में प्रयोग कर रहे हैं उसका वह लड़की अपने आप को मालिनी में जो लड़का क्यों नहीं है इस लग्न में प्रश्न ये उठता है मोदी के दौर में या लड़के की खुशी के लिए या अपने को अलग दिखाने के लिए ऐसे वस्तुओं का चयन करती है और दोस्तों जितना कम वस्त्र होगा उतना वह महंगा कपड़ा भी होगा आजकल ऐसा हो गया है लेकिन ता का विषय है यह हमें आम जनता को ध्यान रखना चाहिए कि कोई मूवी जाए ऐसे तू हर पनकी तुमसे देखने ना जाए उसका बहिष्कार करें तो निश्चित रूप से धीरे-धीरे देखेंगे कि आप समाज में कहीं ना कहीं आप कुछ अच्छे के लिए आप कुछ योगदान कर रहे हैं धन्यवाद

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • अभिनेत्रियां अंग प्रदर्शन क्यों करती है, अभिनेत्रियों को कितने पैसे मिलते है, टॉप 10 अभिनेत्रिया
URL copied to clipboard