#undefined

bolkar speaker

क्या सच में कोरोना कि वैक्सीन बन गई है?

Kya Sach Mein Corona Ki Vaccine Ban Gayi Hai
Rakesh Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Rakesh जी का जवाब
👨‍🏫 Teacher.
3:14
रचना है कि सच में करो ना कि वैक्सिंग बन गई है तो देखिए अभी जो खबरें आ रही है तो इसे तो पता चल रहा है कि सच में कोरोनावायरस इन बन गई है भारत की औषधि महानियंत्रक द्वारा कोरोनावायरस की रोकथाम के लिए विकसित दो व्यक्तियों के आपात उपयोग की अनुमति महामारी के विरुद्ध जारी लड़ाई में एक निर्णायक मोड़ है और यह भी एक बड़ी उपलब्धि देखा जा रहा है कि दोनों टीमों का निर्माण भारत में हुआ है प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने इस अवसर को आत्मनिर्भर भारत के संकल्प के लिए उत्साहवर्धक बताया है पुणे में स्थित श्रीराम इंस्टीट्यूट द्वारा निर्मित रितिका ब्रिटेन के 8 राज्य ने का और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा विकसित किया गया है जबकि भारत बैठक से विभिन्न सरकारी विभागों के सहयोग से देश में टीके को विकसित किया है सिरम इंस्टीट्यूट दुनिया के सबसे बड़े टीका निर्माता कंपनी है और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने रेखांकित की क्या है कि भारत संभवत दुनिया का अकेला ऐसा देश है जहां 4 पी के लगभग तैयार हो चुके हैं रिया को सुचारू रूप से चलाने के लिए सरकार ने प्रशिक्षण और परीक्षण का सिलसिला शुरू कर दिया है तथा आशा है की अनुमति मिलने के साथ ही टीकाकरण की प्रक्रिया बड़े पैमाने पर शुरू हो जाएगी दुनिया के कई और देशों की तरह हमारे देश में भी कुछ लोग ठीक हो और उनके प्रभाव के बारे में बेमतलब की बातें कर रहे हैं तथा अफवाह भी फैलाने की कोशिश भी कर रहे हैं हां या ठीक नहीं है केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने स्पष्ट किया है कि व्यक्ति जो सामान्य उपयोग की अनुमति देने के क्रम में सभी स्थापित प्रक्रियाओं और नियमों का पालन किया जा रहा है तथा इस संबंध में कोई जल्दबाजी नहीं होगी सरकार का इरादा जुलाई तक प्राथमिकता के आधार पर 50 वर्ष की आयु से ऊपर और करो ना संगमरमर की स्थिति में घातक रोगों से ग्रस्त तथा इसे करोड़ लोगों को टीका उपलब्ध कर मैं चीन के वायरस को काबू में करने का एकमात्र हथियार है और इस समय बेसिर पैर की बातों पर ध्यान देना ठीक नहीं है चेचक पोलियो आदि अन्य रोगों को जड़ से उखाड़ने का प्रयास में टीकाकरण की सफलताओं से सभी परिचित भी है तथा टीकाकरण के लाभार्थी भी है टीका नहीं लेना अपनी सुरक्षा के लिए खतरनाक तो है ही दूसरों को भी संक्रमित होने की आशंका बढ़ जाती है महामारी से परेशान लोगों के लिए यह भी राहत की बात है कि दो बार दिए जाने वाले स्टीको को पूरे देश में हर किसी को बिना किसी धाम के मजा कराया जाएगा हमारे वैज्ञानिक वायरस का शोध में भी जुटे हुए हैं और इस क्रम में बड़ी सफलता यह मिली है कि ब्रिटेन से निकलने कोरोनावायरस के नए रूप में पहली बार अलग और उसकी पर की गई है वायरस और भक्ति पर हमारे शोधों का यह कामयाबी वैज्ञानिकों और संस्थाओं के विश्वसनीय क्षमता पर सब और जब तक हमें टीका नहीं लग जाता तब तक हम में सावधानी बरतने और निर्देशों का पालन करना है क्योंकि न्यूनतम स्तर ही सही पर अभी भी संक्रमण का दौर जारी है धन्यवाद
Rachana hai ki sach mein karo na ki vaiksing ban gaee hai to dekhie abhee jo khabaren aa rahee hai to ise to pata chal raha hai ki sach mein koronaavaayaras in ban gaee hai bhaarat kee aushadhi mahaaniyantrak dvaara koronaavaayaras kee rokathaam ke lie vikasit do vyaktiyon ke aapaat upayog kee anumati mahaamaaree ke viruddh jaaree ladaee mein ek nirnaayak mod hai aur yah bhee ek badee upalabdhi dekha ja raha hai ki donon teemon ka nirmaan bhaarat mein hua hai pradhaanamantree shree narendr modee ne is avasar ko aatmanirbhar bhaarat ke sankalp ke lie utsaahavardhak bataaya hai pune mein sthit shreeraam insteetyoot dvaara nirmit ritika briten ke 8 raajy ne ka aur oksaphord vishvavidyaalay dvaara vikasit kiya gaya hai jabaki bhaarat baithak se vibhinn sarakaaree vibhaagon ke sahayog se desh mein teeke ko vikasit kiya hai siram insteetyoot duniya ke sabase bade teeka nirmaata kampanee hai aur kendreey mantree prakaash jaavadekar ne rekhaankit kee kya hai ki bhaarat sambhavat duniya ka akela aisa desh hai jahaan 4 pee ke lagabhag taiyaar ho chuke hain riya ko suchaaroo roop se chalaane ke lie sarakaar ne prashikshan aur pareekshan ka silasila shuroo kar diya hai tatha aasha hai kee anumati milane ke saath hee teekaakaran kee prakriya bade paimaane par shuroo ho jaegee duniya ke kaee aur deshon kee tarah hamaare desh mein bhee kuchh log theek ho aur unake prabhaav ke baare mein bematalab kee baaten kar rahe hain tatha aphavaah bhee phailaane kee koshish bhee kar rahe hain haan ya theek nahin hai kendreey svaasthy mantree harshavardhan ne spasht kiya hai ki vyakti jo saamaany upayog kee anumati dene ke kram mein sabhee sthaapit prakriyaon aur niyamon ka paalan kiya ja raha hai tatha is sambandh mein koee jaldabaajee nahin hogee sarakaar ka iraada julaee tak praathamikata ke aadhaar par 50 varsh kee aayu se oopar aur karo na sangamaramar kee sthiti mein ghaatak rogon se grast tatha ise karod logon ko teeka upalabdh kar main cheen ke vaayaras ko kaaboo mein karane ka ekamaatr hathiyaar hai aur is samay besir pair kee baaton par dhyaan dena theek nahin hai chechak poliyo aadi any rogon ko jad se ukhaadane ka prayaas mein teekaakaran kee saphalataon se sabhee parichit bhee hai tatha teekaakaran ke laabhaarthee bhee hai teeka nahin lena apanee suraksha ke lie khataranaak to hai hee doosaron ko bhee sankramit hone kee aashanka badh jaatee hai mahaamaaree se pareshaan logon ke lie yah bhee raahat kee baat hai ki do baar die jaane vaale steeko ko poore desh mein har kisee ko bina kisee dhaam ke maja karaaya jaega hamaare vaigyaanik vaayaras ka shodh mein bhee jute hue hain aur is kram mein badee saphalata yah milee hai ki briten se nikalane koronaavaayaras ke nae roop mein pahalee baar alag aur usakee par kee gaee hai vaayaras aur bhakti par hamaare shodhon ka yah kaamayaabee vaigyaanikon aur sansthaon ke vishvasaneey kshamata par sab aur jab tak hamen teeka nahin lag jaata tab tak ham mein saavadhaanee baratane aur nirdeshon ka paalan karana hai kyonki nyoonatam star hee sahee par abhee bhee sankraman ka daur jaaree hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या सच में कोरोना कि वैक्सीन बन गई है कोरोना कि वैक्सीन
URL copied to clipboard