#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

घोर कलयुग का क्या अर्थ है?

Ghor Kalyug Ka Kya Arth Hai
PRAVIN KUMAR Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए PRAVIN जी का जवाब
Private teacher
1:16
आपका सवाल है और कलयुग का क्या अर्थ है देखिए जब सत्य इस दुनिया से गायब हो जाए छात्र लोक शक्ति के राष्ट्रपति जब राज आरक्षक ना होकर केवल भक्षक बन जाए और अपने लिए ही केवल टैक्स कलेक्शन करने लगे पुत्र पिता एक दूसरे से खेत रखने लगे जब भी फ्री में अन्य कम उपजे जब पंक्तियों में कपट की भावना बढ़ जाए अच्छे लोगों की बड़ी पुत्री ना हो और तू उस व्यक्ति केवल खूब बड़े हैं तो उसी काल को उसी समय को ही हम खुद कलयुग कहेंगे विश्वास शायद हमारे विचार आपको पसंद आए और आपके सवाल का उत्तर आपको मिले जय हिंद जय भारत
Aapaka savaal hai aur kalayug ka kya arth hai dekhie jab saty is duniya se gaayab ho jae chhaatr lok shakti ke raashtrapati jab raaj aarakshak na hokar keval bhakshak ban jae aur apane lie hee keval taiks kalekshan karane lage putr pita ek doosare se khet rakhane lage jab bhee phree mein any kam upaje jab panktiyon mein kapat kee bhaavana badh jae achchhe logon kee badee putree na ho aur too us vyakti keval khoob bade hain to usee kaal ko usee samay ko hee ham khud kalayug kahenge vishvaas shaayad hamaare vichaar aapako pasand aae aur aapake savaal ka uttar aapako mile jay hind jay bhaarat

और जवाब सुनें

bolkar speaker
घोर कलयुग का क्या अर्थ है?Ghor Kalyug Ka Kya Arth Hai
Deepak Sharma Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Deepak जी का जवाब
संस्कृतप्रचारक, संस्कृतभारती जयपुरमहानगर प्रचारप्रमुख और सन्देशप्रमुख
1:31
नमस्कार मित्र आप ने प्रश्न किया है घोर कलयुग का क्या अर्थ है मित्र हम जैसे बहुत सारे लोगों के मुंह से सुनते हैं कि घोर कलयुग आएगा घोर कलयुग आएगा और हमारे मन में यह प्रश्न आता है कि घोर कलयुग का अर्थ है क्या आखिर में लोग इसे कहते क्यों है कि घोर कलयुग आएगा जब भगवान धरती पर जन्म लेंगे तो आपको पता होगा कि अभी वर्तमान में कलयुग ही चल रहा है और घर कलयुग का मतलब है जब कलयुग में जो है वह समाप्ति की तरफ बढ़ेगा तब ऐसे कलयुग में ऐसे ऐसे कार्य होने वाले हैं जो हमने ना कभी सोचे थे ना कभी सोचेंगे इसके अंदर जब आप अपनी सारी हदें पार कर देगा तब वह घोर कलयुग कहलाएगा मतलब किस कलयुग का वह समय जिसके अंदर पाप अपनी सारी हदें पार और ऐसे प्रचंड पाप की तरफ बढ़ेगा जहां पर कलयुग का जो एक घोर कलयुग का समय है वहां पर प्रारंभ हो जाएगा और उसी के समय भगवान विष्णु जो है धरती पर जन्म लेकर के और इससे कलयुग के अंदर जो पाप जो पाप बढ़ेगा और धर्म की हानि होगी तब वह खुद यहां पर जन्म ले करके उसे पाप को नष्ट करेंगे धन्यवाद
Namaskaar mitr aap ne prashn kiya hai ghor kalayug ka kya arth hai mitr ham jaise bahut saare logon ke munh se sunate hain ki ghor kalayug aaega ghor kalayug aaega aur hamaare man mein yah prashn aata hai ki ghor kalayug ka arth hai kya aakhir mein log ise kahate kyon hai ki ghor kalayug aaega jab bhagavaan dharatee par janm lenge to aapako pata hoga ki abhee vartamaan mein kalayug hee chal raha hai aur ghar kalayug ka matalab hai jab kalayug mein jo hai vah samaapti kee taraph badhega tab aise kalayug mein aise aise kaary hone vaale hain jo hamane na kabhee soche the na kabhee sochenge isake andar jab aap apanee saaree haden paar kar dega tab vah ghor kalayug kahalaega matalab kis kalayug ka vah samay jisake andar paap apanee saaree haden paar aur aise prachand paap kee taraph badhega jahaan par kalayug ka jo ek ghor kalayug ka samay hai vahaan par praarambh ho jaega aur usee ke samay bhagavaan vishnu jo hai dharatee par janm lekar ke aur isase kalayug ke andar jo paap jo paap badhega aur dharm kee haani hogee tab vah khud yahaan par janm le karake use paap ko nasht karenge dhanyavaad

bolkar speaker
घोर कलयुग का क्या अर्थ है?Ghor Kalyug Ka Kya Arth Hai
Deepak Sharma Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Deepak जी का जवाब
संस्कृतप्रचारक, संस्कृतभारती जयपुरमहानगर प्रचारप्रमुख और सन्देशप्रमुख
1:31
नमस्कार मित्र आप ने प्रश्न किया है घोर कलयुग का क्या अर्थ है मित्र हम जैसे बहुत सारे लोगों के मुंह से सुनते हैं कि घोर कलयुग आएगा घोर कलयुग आएगा और हमारे मन में यह प्रश्न आता है कि घोर कलयुग का अर्थ है क्या आखिर में लोग इसे कहते क्यों है कि घोर कलयुग आएगा जब भगवान धरती पर जन्म लेंगे तो आपको पता होगा कि अभी वर्तमान में कलयुग ही चल रहा है और घर कलयुग का मतलब है जब कलयुग में जो है वह समाप्ति की तरफ बढ़ेगा तब ऐसे कलयुग में ऐसे ऐसे कार्य होने वाले हैं जो हमने ना कभी सोचे थे ना कभी सोचेंगे इसके अंदर जब आप अपनी सारी हदें पार कर देगा तब वह घोर कलयुग कहलाएगा मतलब किस कलयुग का वह समय जिसके अंदर पाप अपनी सारी हदें पार और ऐसे प्रचंड पाप की तरफ बढ़ेगा जहां पर कलयुग का जो एक घोर कलयुग का समय है वहां पर प्रारंभ हो जाएगा और उसी के समय भगवान विष्णु जो है धरती पर जन्म लेकर के और इससे कलयुग के अंदर जो पाप जो पाप बढ़ेगा और धर्म की हानि होगी तब वह खुद यहां पर जन्म ले करके उसे पाप को नष्ट करेंगे धन्यवाद
Namaskaar mitr aap ne prashn kiya hai ghor kalayug ka kya arth hai mitr ham jaise bahut saare logon ke munh se sunate hain ki ghor kalayug aaega ghor kalayug aaega aur hamaare man mein yah prashn aata hai ki ghor kalayug ka arth hai kya aakhir mein log ise kahate kyon hai ki ghor kalayug aaega jab bhagavaan dharatee par janm lenge to aapako pata hoga ki abhee vartamaan mein kalayug hee chal raha hai aur ghar kalayug ka matalab hai jab kalayug mein jo hai vah samaapti kee taraph badhega tab aise kalayug mein aise aise kaary hone vaale hain jo hamane na kabhee soche the na kabhee sochenge isake andar jab aap apanee saaree haden paar kar dega tab vah ghor kalayug kahalaega matalab kis kalayug ka vah samay jisake andar paap apanee saaree haden paar aur aise prachand paap kee taraph badhega jahaan par kalayug ka jo ek ghor kalayug ka samay hai vahaan par praarambh ho jaega aur usee ke samay bhagavaan vishnu jo hai dharatee par janm lekar ke aur isase kalayug ke andar jo paap jo paap badhega aur dharm kee haani hogee tab vah khud yahaan par janm le karake use paap ko nasht karenge dhanyavaad

bolkar speaker
घोर कलयुग का क्या अर्थ है?Ghor Kalyug Ka Kya Arth Hai
vk yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vk जी का जवाब
Student
0:51
हाय फ्रेंड्स कैसी होती है कमाल का सवाल किया है पहले इनके सवाल को पढ़ लेते हैं अच्छे से विस्तार पूर्वक उसके बाद आप आएंगे तब तो ठीक है चलिए पहले पढ़ते हैं प्रश्न किया घोर कलयुग का क्या अर्थ है घोर कलयुग का अर्थ इन मैरिज आपसे हो सकता है दोस्तों की जब बहुत ज्यादा अत्याचार बढ़ जाएगा कि 2 से 4 किलो का संज्ञान लिया जाएगा जैसे चोरी डकैती मर्डर रेप पुलिस अब झूठ बोलना तक चोरी करने लगे थे ना प्रताप एक नवाज के लिए गोरखपुर करोगी मेरे साथ चलना में हर जगह देखता हूं किसी को उसके साथ अन्याय हो रहा है इधर से उधर दिखी लड़ाई झगड़ा तब टेंशन में पड़े हुए इंसान को कुछ ना कुछ परेशानी कल घोर कलयुग में चल रहा है
Haay phrends kaisee hotee hai kamaal ka savaal kiya hai pahale inake savaal ko padh lete hain achchhe se vistaar poorvak usake baad aap aaenge tab to theek hai chalie pahale padhate hain prashn kiya ghor kalayug ka kya arth hai ghor kalayug ka arth in mairij aapase ho sakata hai doston kee jab bahut jyaada atyaachaar badh jaega ki 2 se 4 kilo ka sangyaan liya jaega jaise choree dakaitee mardar rep pulis ab jhooth bolana tak choree karane lage the na prataap ek navaaj ke lie gorakhapur karogee mere saath chalana mein har jagah dekhata hoon kisee ko usake saath anyaay ho raha hai idhar se udhar dikhee ladaee jhagada tab tenshan mein pade hue insaan ko kuchh na kuchh pareshaanee kal ghor kalayug mein chal raha hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • घोर कलयुग का अर्थ, कलयुग के लक्षण, कलयुग की आयु कितनी है
URL copied to clipboard