#undefined

bolkar speaker

आर्टिकल लिखते समय किन बातों पर ध्यान देना चाहिए?

Article Likhte Samay Kin Bato Par Dhyan Dena Chahiye
Bhaavi K Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Bhaavi जी का जवाब
Unknown
1:25

और जवाब सुनें

bolkar speaker
आर्टिकल लिखते समय किन बातों पर ध्यान देना चाहिए?Article Likhte Samay Kin Bato Par Dhyan Dena Chahiye
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:25
किसी भी आर्टिकल को लिखते समय आपको उस विषय वस्तु का पूर्ण ज्ञान होना चाहिए और फिर आप सत्य को लिखने का प्रयास करना काल्पनिक बनाएंगे यह जितना उसको मसालेदार बनाएंगे उतना ही प्रबुद्ध वर्ग का विश्वास आप से हट जाएगा प्रबुद्ध वर्ग हमेशा यथार्थ को पसंद करता है सत्य पसंद करता है आप सत्य का चित्रण करें सत्य को लिखें आपका आर्टिकल अपने आप अच्छा बनता चला जाएगा दरअसल उस विषय की जो पूर्ण जानकारी होती है वह आर्टिकल को दिशाहीन कर देती टॉपिक से रहित बना देती है तो फिर कुछ और होता है लिख कुछ और रहे होते हैं तो उस आर्टिकल का कोई भी इंपॉर्टेंस नहीं रह जाती है प्रबुद्ध वर्ग इस बात पर क्वेश्चन मार्क लगाते हैं कि क्या कहना चाहते हैं कि हमने बॉटम टो टॉप पड़ा लेकिन कुछ क्लियर नहीं हुआ तो आपको अपने टॉपिक पर अपने सब्जेक्ट विशेष पर ही चलना है यथार्थ देखना है सत्य को लिखने का प्रयास करें तो आर्टिकल अपने आप बेमिसाल बन जाता है
Kisee bhee aartikal ko likhate samay aapako us vishay vastu ka poorn gyaan hona chaahie aur phir aap saty ko likhane ka prayaas karana kaalpanik banaenge yah jitana usako masaaledaar banaenge utana hee prabuddh varg ka vishvaas aap se hat jaega prabuddh varg hamesha yathaarth ko pasand karata hai saty pasand karata hai aap saty ka chitran karen saty ko likhen aapaka aartikal apane aap achchha banata chala jaega darasal us vishay kee jo poorn jaanakaaree hotee hai vah aartikal ko dishaaheen kar detee topik se rahit bana detee hai to phir kuchh aur hota hai likh kuchh aur rahe hote hain to us aartikal ka koee bhee importens nahin rah jaatee hai prabuddh varg is baat par kveshchan maark lagaate hain ki kya kahana chaahate hain ki hamane botam to top pada lekin kuchh kliyar nahin hua to aapako apane topik par apane sabjekt vishesh par hee chalana hai yathaarth dekhana hai saty ko likhane ka prayaas karen to aartikal apane aap bemisaal ban jaata hai

bolkar speaker
आर्टिकल लिखते समय किन बातों पर ध्यान देना चाहिए?Article Likhte Samay Kin Bato Par Dhyan Dena Chahiye
Prakash Solanki Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Prakash जी का जवाब
Unknown
0:14

bolkar speaker
आर्टिकल लिखते समय किन बातों पर ध्यान देना चाहिए?Article Likhte Samay Kin Bato Par Dhyan Dena Chahiye
Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rajendra जी का जवाब
Self student
3:13

bolkar speaker
आर्टिकल लिखते समय किन बातों पर ध्यान देना चाहिए?Article Likhte Samay Kin Bato Par Dhyan Dena Chahiye
अनन्या सिहं Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए अनन्या जी का जवाब
शिक्षारत
1:14

bolkar speaker
आर्टिकल लिखते समय किन बातों पर ध्यान देना चाहिए?Article Likhte Samay Kin Bato Par Dhyan Dena Chahiye
Seema yadav   PGT Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Seema जी का जवाब
Teaching, PGT
2:30

bolkar speaker
आर्टिकल लिखते समय किन बातों पर ध्यान देना चाहिए?Article Likhte Samay Kin Bato Par Dhyan Dena Chahiye
क्षितिज़  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए क्षितिज़ जी का जवाब
Student
1:25

bolkar speaker
आर्टिकल लिखते समय किन बातों पर ध्यान देना चाहिए?Article Likhte Samay Kin Bato Par Dhyan Dena Chahiye
Arjun Vishvakrma Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Arjun जी का जवाब
Pata nahe
1:17

bolkar speaker
आर्टिकल लिखते समय किन बातों पर ध्यान देना चाहिए?Article Likhte Samay Kin Bato Par Dhyan Dena Chahiye
Rushi Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rushi जी का जवाब
Unknown
2:25

bolkar speaker
आर्टिकल लिखते समय किन बातों पर ध्यान देना चाहिए?Article Likhte Samay Kin Bato Par Dhyan Dena Chahiye
डा. इन्दु प्रकाश सिंह  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए डा. जी का जवाब
शिक्षण-कार्य, कालेज शिक्षा में प्राचार्य हूँ
2:36
आपका प्रश्न बेटा आर्टिकल लिखते समय किन बातों पर ध्यान देना चाहिए आर्टिकल मींस लेट समझे ना तो सबसे पहले तो विषय वस्तु पर ध्यान दिया जाता है कि विश्व बस कौन सी जिस पर आप लिख रहे हैं सोने ना कुछ लोग जो हैं वह लिखने वाले आरती बन जाते हैं मतलब जिनका प्रोफेशन होता है के दीजिए तो प्रोफेशन में लिखना और है सामान्य दृष्टि से अपनी रूचि के अनुरूप लिखना कुछ अंतर होता है इन सब गतिविधियों में फिर भी जैसे आप विद्यार्थी हैं शिक्षक हैं किसी टॉपिक पर आप लिख रहे हैं तो सबसे पहले तो यह ध्यान रखें कि आप किस विषय पर लिख रहे हैं जब मैं उसके अनुरूप आप उसको फिर चरणों में विभाजित करें उसका परिचय दें उससे जुड़े लाभ हानि का परिचय दें उसके प्रभावों का ब्रिज और अंत में अपनी बात का निष्कर्ष भी प्रस्तुत करने का श्रम करें साथ ही आप यह भी देखें कि आप किसके लिए लिख रहे हैं उसका वर्ग क्या है मर गए मध्यमवर्ग निम्न वर्ग हेतु प्रशिक्षण की दृष्टि से अनुरूप आपको भाषा शैली भी अपनानी चाहिए समझे आपने अगर आप एक विशिष्ट वर्ग के लिए कोई शोध लेख लिख रहे हैं तो भाषा उच्च स्तर की होनी चाहिए और उसमें आपको उदाहरण आदि ऐसा शब्द देने चाहिए लेकिन अगर सामान्य विद्यार्थी के लिए आप लिख रहे सामान्य वर्ग के लोगों के लिए लिख रहे हैं तो उसके अनुरूप आपके भाषा शैली का प्रयोग करना चाहिए समझे अपना और इसी तरीके से आर्टिकल की लिमिट भी होनी चाहिए संजय दत्त छोटी क्लास के बच्चों के लिए लिख रहे हैं तो आजकल छोटा होना चाहिए रुचिकर होना चाहिए और उच्च वर्ग के बौद्धिक वर्ग के लिए आप लिख रहे हैं तो 8 किलो की भाषा भी सशक्त होनी चाहिए उसमें थोड़ा विस्तार होना चाहिए समझे ना उसमें आपके चिंतन मनन का समावेश होना चाहिए थी सारी बातें मिलकर के आर्टिकल को प्रभावशाली बनाती है तो उस संक्षेप में कहूं तो हम दोनों का ध्यान दीजिए पाठक और का ध्यान दीजिए उसमें लालित्य मनोरम तथा नलकूप स्थापित करें और भाषा शैली का प्रयोग बंद कर दें
Aapaka prashn beta aartikal likhate samay kin baaton par dhyaan dena chaahie aartikal meens let samajhe na to sabase pahale to vishay vastu par dhyaan diya jaata hai ki vishv bas kaun see jis par aap likh rahe hain sone na kuchh log jo hain vah likhane vaale aaratee ban jaate hain matalab jinaka propheshan hota hai ke deejie to propheshan mein likhana aur hai saamaany drshti se apanee roochi ke anuroop likhana kuchh antar hota hai in sab gatividhiyon mein phir bhee jaise aap vidyaarthee hain shikshak hain kisee topik par aap likh rahe hain to sabase pahale to yah dhyaan rakhen ki aap kis vishay par likh rahe hain jab main usake anuroop aap usako phir charanon mein vibhaajit karen usaka parichay den usase jude laabh haani ka parichay den usake prabhaavon ka brij aur ant mein apanee baat ka nishkarsh bhee prastut karane ka shram karen saath hee aap yah bhee dekhen ki aap kisake lie likh rahe hain usaka varg kya hai mar gae madhyamavarg nimn varg hetu prashikshan kee drshti se anuroop aapako bhaasha shailee bhee apanaanee chaahie samajhe aapane agar aap ek vishisht varg ke lie koee shodh lekh likh rahe hain to bhaasha uchch star kee honee chaahie aur usamen aapako udaaharan aadi aisa shabd dene chaahie lekin agar saamaany vidyaarthee ke lie aap likh rahe saamaany varg ke logon ke lie likh rahe hain to usake anuroop aapake bhaasha shailee ka prayog karana chaahie samajhe apana aur isee tareeke se aartikal kee limit bhee honee chaahie sanjay datt chhotee klaas ke bachchon ke lie likh rahe hain to aajakal chhota hona chaahie ruchikar hona chaahie aur uchch varg ke bauddhik varg ke lie aap likh rahe hain to 8 kilo kee bhaasha bhee sashakt honee chaahie usamen thoda vistaar hona chaahie samajhe na usamen aapake chintan manan ka samaavesh hona chaahie thee saaree baaten milakar ke aartikal ko prabhaavashaalee banaatee hai to us sankshep mein kahoon to ham donon ka dhyaan deejie paathak aur ka dhyaan deejie usamen laality manoram tatha nalakoop sthaapit karen aur bhaasha shailee ka prayog band kar den

bolkar speaker
आर्टिकल लिखते समय किन बातों पर ध्यान देना चाहिए?Article Likhte Samay Kin Bato Par Dhyan Dena Chahiye
Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
1:07
आपका सवाल है आर्टिकल 31 में किन बातों पर ध्यान देना चाहती कि लिखती सबसे पहले यह ध्यान रखना चाहिए कि हमारा कंटेंट है कि हम किस टॉपिक पर लिख रहे हो सबसे ज्यादा इंपोर्टेंट है अगर आपका किसी भी टॉपिक पर है आपका ऐसे नेशनल इंटरनेशनल क्रिकेट हो गया रिलीजन हो गया मेडिकल हो गया कोई भी कंटेंट है आपका तो आर्टिकल लिखते समय पहले आप कंटेंट जो आपका है उसके बारे में आप पूरी तरह से डीप नॉलेज ले लीजिए किसका बैकग्राउंड क्या है सिचुएशन में अभी क्या है और आनेवाले फ्यूचर में उसका क्या उसका क्या इंपैक्ट पड़ सकता 3 दिन चार चीजों का ध्यान रखना बहुत ज्यादा जरूरी है और यह ध्यान रखना बहुत जरूरी है कि आप जो आर्टिकल लिख रहे हैं उससे किसी भी जाति धर्म संप्रदाय के लोगों की भावना को आप हर्ट ना करें यह ध्यान कर रखना भी जरूरी है ऐसे शब्दों का योजना करें जिससे कोई भी हर्ट हो थैंक यू थैंक यू वेरी मच
Aapaka savaal hai aartikal 31 mein kin baaton par dhyaan dena chaahatee ki likhatee sabase pahale yah dhyaan rakhana chaahie ki hamaara kantent hai ki ham kis topik par likh rahe ho sabase jyaada importent hai agar aapaka kisee bhee topik par hai aapaka aise neshanal intaraneshanal kriket ho gaya rileejan ho gaya medikal ho gaya koee bhee kantent hai aapaka to aartikal likhate samay pahale aap kantent jo aapaka hai usake baare mein aap pooree tarah se deep nolej le leejie kisaka baikagraund kya hai sichueshan mein abhee kya hai aur aanevaale phyoochar mein usaka kya usaka kya impaikt pad sakata 3 din chaar cheejon ka dhyaan rakhana bahut jyaada jarooree hai aur yah dhyaan rakhana bahut jarooree hai ki aap jo aartikal likh rahe hain usase kisee bhee jaati dharm sampradaay ke logon kee bhaavana ko aap hart na karen yah dhyaan kar rakhana bhee jarooree hai aise shabdon ka yojana karen jisase koee bhee hart ho thaink yoo thaink yoo veree mach

bolkar speaker
आर्टिकल लिखते समय किन बातों पर ध्यान देना चाहिए?Article Likhte Samay Kin Bato Par Dhyan Dena Chahiye
Tanvi  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Tanvi जी का जवाब
Unknown
0:16
नमस्ते आर्टिकल लिखते वक्त इन छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देना जरूरी है जैसे कि आर्टिकल कटोल आर्टिकल का स्ट्रक्चर आफ आर्टिकल के प्रति और आर्टिफिशियल धन्यवाद
Namaste aartikal likhate vakt in chhotee-chhotee baaton par dhyaan dena jarooree hai jaise ki aartikal katol aartikal ka strakchar aaph aartikal ke prati aur aartiphishiyal dhanyavaad

bolkar speaker
आर्टिकल लिखते समय किन बातों पर ध्यान देना चाहिए?Article Likhte Samay Kin Bato Par Dhyan Dena Chahiye
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
0:31

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • आर्टिकल लिखने का फॉर्मेट, आर्टिकल राइटिंग इन हिंदी, पत्र लिखते समय ध्यान देने योग्य बातें
  • आर्टिकल लिखने का फॉर्मेट, आर्टिकल राइटिंग इन हिंदी, पत्र लिखते समय ध्यान देने योग्य बातें
  • आर्टिकल लिखने का फॉर्मेट, आर्टिकल राइटिंग इन हिंदी, पत्र लिखते समय ध्यान देने योग्य बातें
  • आर्टिकल लिखने का फॉर्मेट, आर्टिकल राइटिंग इन हिंदी, पत्र लिखते समय ध्यान देने योग्य बातें
  • आर्टिकल लिखने का फॉर्मेट, आर्टिकल राइटिंग इन हिंदी, पत्र लिखते समय ध्यान देने योग्य बातें
  • आर्टिकल लिखने का फॉर्मेट, आर्टिकल राइटिंग इन हिंदी, पत्र लिखते समय ध्यान देने योग्य बातें
  • आर्टिकल लिखने का फॉर्मेट, आर्टिकल राइटिंग इन हिंदी, पत्र लिखते समय ध्यान देने योग्य बातें
  • आर्टिकल लिखने का फॉर्मेट, आर्टिकल राइटिंग इन हिंदी, पत्र लिखते समय ध्यान देने योग्य बातें
URL copied to clipboard