#भारत की राजनीति

bolkar speaker

देश के युवकों के लिए, केंद्रीय सरकार नए पदों का सृजन क्यों नहीं कर बन रही है ?

Desh Ke Yuvkon Ke Lie Kendriya Sarkar Naye Padon Ka Srijan Kyun Nahin Kar Ban Rahi Hai
Manish Maurya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Manish जी का जवाब
Unknown
2:15
सरकार नए पद क्यों नहीं कर रही है इसका सबसे पहला कारण तो खर्चा है अगर ज्यादा सरकारी कर्मचारी होंगे तो सरकार को खर्चा ज्यादा बढ़ना पड़ेगा पेंशन और पेंशनरों बंद हो गई है लेकिन फिर भी आर्मी नेवी एयरफोर्स में जो फंक्शन है यह और उसके साथ-साथ एनपीएस और बहुत सारे खर्चे जो एक सरकारी मुलाजिम के ऊपर सरकार को उठाने पड़ते हैं इसीलिए सरकार अपने ऊपर से बाहर उठ उतारने के लिए अब प्राइवेटाइजेशन की ओर ज्यादा ध्यान दे रही है और मोदी क्या मोदी सरकार ने तो कुछ ज्यादा ही मतलब प्राइवेटाइजेशन को जोड़ दिया है आने वाले कुछ समय में हो सकता है रेलवे को पूरी तरह प्राइवेट हो जाए नए पदों की बात की जाए तो एसएससी सीजीएल 2020 और 2020 में कुल 65 तो ही वैकेंसी रिपोर्ट की गई है वहीं अगर आपको 2011 से इसकी मुकाबला करें तो कप 2011 में कम से कम 10000 से 11000 पद रिपोर्ट किए गए थे दिन-ब-दिन डिक्रीज होती है बैंक की जॉब्स में भी यही हाल है आप खुद सोचिए आरआरबी एनटीपीसी जिसका नोटिफिकेशन आज से 2 साल पहले आया था सरकार को 2 साल लग गए यह सोचने में कि हम एग्जाम कब कराएंगे वह तो पीछे हुआ था जब मोदी जी के जन्मदिन पर छात्रों ने और युवकों ने नेशनल अनइंप्लॉयमेंट डे मनाया तब जाकर सरकार की आंख खुली और जाकर सरकार ने एडक्लियर किया कि हम 25 दिसंबर से आरआरबी एनटीपीसी की परीक्षा शुरू करेंगे सरकार खर्चे से बचने के लिए ऐसे ही तरीके अपनाती है और यह कोई कांग्रेसी या भाजपा का वह हाल नहीं है अगर आप भाजपा को दोष देते हैं इसके लिए तो यह भी गलत होगा तो कि राजस्थान सरकार में 7 साल से 6 साल से भर्ती प्रक्रिया अटकी पड़ी है अब आप खुद बताइए क्या वहां पर बीजेपी है नहीं ना और यही हाल पंजाब का भी है पंजाब में भी पिछले चार-पांच वर्षों से नई कोई वैकेंसी रिपोर्ट नहीं करेगी की गई है हो सकता है आने वाले कुछ समय में रेलवे भी प्राइवेट हो जाए
Sarakaar nae pad kyon nahin kar rahee hai isaka sabase pahala kaaran to kharcha hai agar jyaada sarakaaree karmachaaree honge to sarakaar ko kharcha jyaada badhana padega penshan aur penshanaron band ho gaee hai lekin phir bhee aarmee nevee eyaraphors mein jo phankshan hai yah aur usake saath-saath enapeees aur bahut saare kharche jo ek sarakaaree mulaajim ke oopar sarakaar ko uthaane padate hain iseelie sarakaar apane oopar se baahar uth utaarane ke lie ab praivetaijeshan kee or jyaada dhyaan de rahee hai aur modee kya modee sarakaar ne to kuchh jyaada hee matalab praivetaijeshan ko jod diya hai aane vaale kuchh samay mein ho sakata hai relave ko pooree tarah praivet ho jae nae padon kee baat kee jae to esesasee seejeeel 2020 aur 2020 mein kul 65 to hee vaikensee riport kee gaee hai vaheen agar aapako 2011 se isakee mukaabala karen to kap 2011 mein kam se kam 10000 se 11000 pad riport kie gae the din-ba-din dikreej hotee hai baink kee jobs mein bhee yahee haal hai aap khud sochie aaraarabee enateepeesee jisaka notiphikeshan aaj se 2 saal pahale aaya tha sarakaar ko 2 saal lag gae yah sochane mein ki ham egjaam kab karaenge vah to peechhe hua tha jab modee jee ke janmadin par chhaatron ne aur yuvakon ne neshanal animployament de manaaya tab jaakar sarakaar kee aankh khulee aur jaakar sarakaar ne edakliyar kiya ki ham 25 disambar se aaraarabee enateepeesee kee pareeksha shuroo karenge sarakaar kharche se bachane ke lie aise hee tareeke apanaatee hai aur yah koee kaangresee ya bhaajapa ka vah haal nahin hai agar aap bhaajapa ko dosh dete hain isake lie to yah bhee galat hoga to ki raajasthaan sarakaar mein 7 saal se 6 saal se bhartee prakriya atakee padee hai ab aap khud bataie kya vahaan par beejepee hai nahin na aur yahee haal panjaab ka bhee hai panjaab mein bhee pichhale chaar-paanch varshon se naee koee vaikensee riport nahin karegee kee gaee hai ho sakata hai aane vaale kuchh samay mein relave bhee praivet ho jae

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • देश के युवकों के लिए, केंद्रीय सरकार नए पदों का सृजन क्यों नहीं कर बन रही है केंद्रीय सरकार नए पदों का सृजन क्यों नहीं कर बन रही है
URL copied to clipboard