#undefined

Manish Bhati Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Manish जी का जवाब
Life coach, professional counsellor & Relationship expert. Fitness & Motivational Coach
1:43
नमस्कार जैसा कि आप वापी में विवाहित महिला उसके माता-पिता के दुनिया से चले जाने के बाद पियर के बदले हुए अनुभव किया है बहुत अच्छा प्रश्न पूछने के लिए कौन से बहुत-बहुत धन्यवाद मैं आपको बताता हूं और फैमिली हैप्पी फैमिली से डिपार्टमेंट ऑफिस में मैंने अभी देखा है कि उनके फादर मदर मदर फादर की तरह ही रहते हैं अपनी फैमिली स्ट्रोक्स कंडीशन कैसी होती है लेकिन अगर इस चीज को देखा जाए तो उनको कुछ कारण यह भी उठता है कि जो बहू होती वह बैठी नहीं बन पाती है कहीं बाहर कहीं कहीं कंडीशन भी जाती है मैं यह नहीं बोला कि बहुत खराब होती है कि खराब हो सकती है लेकिन यहां विवाहित महिला की बात आई है अगर जो सेटिस्फाई उनके साथ अच्छा विलेज बीएफ पर जरूर उनके माता-पिता के चले जाने पर में कोई दिक्कत नहीं है उन से नाखुश है उनके चले जाने पर उसके बाद में मिलेंगे कि आप मेरे माता-पिता नया कोई भी नहीं है तो ऐसी चीजें सुनने को मिलती है और हर बात यह आपकी सोच पर डिपेंड करता है कि हम क्या कर रहे हैं मैसेज धन्यवाद
Namaskaar jaisa ki aap vaapee mein vivaahit mahila usake maata-pita ke duniya se chale jaane ke baad piyar ke badale hue anubhav kiya hai bahut achchha prashn poochhane ke lie kaun se bahut-bahut dhanyavaad main aapako bataata hoon aur phaimilee haippee phaimilee se dipaartament ophis mein mainne abhee dekha hai ki unake phaadar madar madar phaadar kee tarah hee rahate hain apanee phaimilee stroks kandeeshan kaisee hotee hai lekin agar is cheej ko dekha jae to unako kuchh kaaran yah bhee uthata hai ki jo bahoo hotee vah baithee nahin ban paatee hai kaheen baahar kaheen kaheen kandeeshan bhee jaatee hai main yah nahin bola ki bahut kharaab hotee hai ki kharaab ho sakatee hai lekin yahaan vivaahit mahila kee baat aaee hai agar jo setisphaee unake saath achchha vilej beeeph par jaroor unake maata-pita ke chale jaane par mein koee dikkat nahin hai un se naakhush hai unake chale jaane par usake baad mein milenge ki aap mere maata-pita naya koee bhee nahin hai to aisee cheejen sunane ko milatee hai aur har baat yah aapakee soch par dipend karata hai ki ham kya kar rahe hain maisej dhanyavaad

और जवाब सुनें

Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:59
पोषण पूछा गया है कि विवाहित महिला के माता-पिता की दुनिया से चले जाने के बाद बिहार के बदले हुए अनुभव क्या है तो इसमें देखिए एक विवाहित महिला जिसकी शादी ऑलरेडी हो चुकी है वह किसी दूसरे के घर की बहू है किसी की पत्नी है किसी की मां है ठीक है उसके बहुत सारे रिश्ते हैं शादी के बाद और उसके माता-पिता दुनिया में नहीं है तो पीहर के अनुभव तभी बदलते हैं जब हमारा नेचर जो हमारा व्यवहार है वह हमारे अगर हमारे बिहार में जो लोग भी उनके प्रति चाहे वह कोई भी हो माता-पिता के अलावा अगर आपके भाई बहन हैं और भाई बहन की शादी हो चुकी है जैसे कि भाई की शादी हो चुकी है और भाभी के साथ आपके व्यवहार अगर अच्छी नहीं है तो फिर आपकी भाभी के साथ व्यवहार आपकी अच्छी नहीं है तो जाहिर सी बात है आपके अपने मां बाप के घर जाने के बाद क्योंकि अब आप के मां बाप नहीं है तो की भाभी ही जो भी है कर्ताधर्ता वह आपके बिहार के भाभी ही हैं जो कुछ भी है भाई भाभी तो भाभी के साथ आकर प्रभार आपकी अच्छी नहीं है तो जाहिर सी बात है कि आपका अनुभव अच्छा नहीं होगा उनसे मिलने के बाद ठीक है तो वह डिपेंड करता है कि हम सामने वाले के साथ कैसा व्यवहार कर रहे हैं अगर आप अपने भाई भाभी यह जो भी पीहर में आपकी लोग हैं आपके मां-बाप के बाद उनके साथ अगर आप अपना व्यवहार अच्छा रखना हैं उनसे अच्छे से बात कर रहे हैं अच्छे से बोल रहे हैं अच्छे से बर्ताव कर रहे हैं तो मुझे नहीं लगता कि अगर यह करने के बाद भी आप पीहर जाते हैं अपने मां-बाप की दुनिया से चले जाने के बाद तो आपके साथ बुरा हो या आपका अनुभव खराब हो क्योंकि आप किसी के साथ बदतमीजी नहीं कर रहे हैं अगर आप सब के साथ अच्छे से रिस्पेक्ट से बात कर रहे हैं इज्जत के साथ बात कर रहा है चाहे वह आपकी भाभी हो जाए बाप का भाई हो चाहे बाप की बहन होता है वह जो आपके पीहर में रहता हूं आपके मां-बाप के बाद ठीक है अगर आप उस इंसान के साथ अच्छे से बर्ताव कर रहे हैं तो वह इंसान भी आपके साथ अच्छे से बर्ताव करेगा आपके जब आप अपने मायके जाएंगी तब ठीक है तो यह चीज डिपेंड करती है कि हम सामने वाले को क्या दे रहे हैं क्योंकि हमें भी सामने वाला वही देगा जो हम सामने वाले को दे रहे हैं चाहे वह सम्मान हो चाहे वह भेजती हो चाहे वह जो है वह जो भी चीज है जो हम करेंगे वही हमें वापस मिलेगा तो वही वाला हाल है कि जैसा आप टिक टैक वाला कि जैसा आप करोगे वैसा सामने वाला करेगा आप अच्छा करेंगे तो अच्छा होगा बुरा करेंगे तो बुरा होगा कि माता-पिता सब भूल माफ कर देते हैं लेकिन माता-पिता के अलावा दुनिया में ऐसा कोई भी इंसान नहीं है जो आपकी सारी भूल को माफ कर दे तो इस बात का ध्यान रखें और तब यह चीज
Poshan poochha gaya hai ki vivaahit mahila ke maata-pita kee duniya se chale jaane ke baad bihaar ke badale hue anubhav kya hai to isamen dekhie ek vivaahit mahila jisakee shaadee olaredee ho chukee hai vah kisee doosare ke ghar kee bahoo hai kisee kee patnee hai kisee kee maan hai theek hai usake bahut saare rishte hain shaadee ke baad aur usake maata-pita duniya mein nahin hai to peehar ke anubhav tabhee badalate hain jab hamaara nechar jo hamaara vyavahaar hai vah hamaare agar hamaare bihaar mein jo log bhee unake prati chaahe vah koee bhee ho maata-pita ke alaava agar aapake bhaee bahan hain aur bhaee bahan kee shaadee ho chukee hai jaise ki bhaee kee shaadee ho chukee hai aur bhaabhee ke saath aapake vyavahaar agar achchhee nahin hai to phir aapakee bhaabhee ke saath vyavahaar aapakee achchhee nahin hai to jaahir see baat hai aapake apane maan baap ke ghar jaane ke baad kyonki ab aap ke maan baap nahin hai to kee bhaabhee hee jo bhee hai kartaadharta vah aapake bihaar ke bhaabhee hee hain jo kuchh bhee hai bhaee bhaabhee to bhaabhee ke saath aakar prabhaar aapakee achchhee nahin hai to jaahir see baat hai ki aapaka anubhav achchha nahin hoga unase milane ke baad theek hai to vah dipend karata hai ki ham saamane vaale ke saath kaisa vyavahaar kar rahe hain agar aap apane bhaee bhaabhee yah jo bhee peehar mein aapakee log hain aapake maan-baap ke baad unake saath agar aap apana vyavahaar achchha rakhana hain unase achchhe se baat kar rahe hain achchhe se bol rahe hain achchhe se bartaav kar rahe hain to mujhe nahin lagata ki agar yah karane ke baad bhee aap peehar jaate hain apane maan-baap kee duniya se chale jaane ke baad to aapake saath bura ho ya aapaka anubhav kharaab ho kyonki aap kisee ke saath badatameejee nahin kar rahe hain agar aap sab ke saath achchhe se rispekt se baat kar rahe hain ijjat ke saath baat kar raha hai chaahe vah aapakee bhaabhee ho jae baap ka bhaee ho chaahe baap kee bahan hota hai vah jo aapake peehar mein rahata hoon aapake maan-baap ke baad theek hai agar aap us insaan ke saath achchhe se bartaav kar rahe hain to vah insaan bhee aapake saath achchhe se bartaav karega aapake jab aap apane maayake jaengee tab theek hai to yah cheej dipend karatee hai ki ham saamane vaale ko kya de rahe hain kyonki hamen bhee saamane vaala vahee dega jo ham saamane vaale ko de rahe hain chaahe vah sammaan ho chaahe vah bhejatee ho chaahe vah jo hai vah jo bhee cheej hai jo ham karenge vahee hamen vaapas milega to vahee vaala haal hai ki jaisa aap tik taik vaala ki jaisa aap karoge vaisa saamane vaala karega aap achchha karenge to achchha hoga bura karenge to bura hoga ki maata-pita sab bhool maaph kar dete hain lekin maata-pita ke alaava duniya mein aisa koee bhee insaan nahin hai jo aapakee saaree bhool ko maaph kar de to is baat ka dhyaan rakhen aur tab yah cheej

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • विवाहित महिला के माता-पिता के दुनिया से चले जाने के बाद पीहर के बदले हुऐ अनुभव क्या हैं माता-पिता के दुनिया से चले जाने के बाद पीहर के बदले हुऐ अनुभव क्या हैं
URL copied to clipboard