#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

रानी लक्ष्मीबाई के पीठ पर युद्ध के दौरान जो बच्चा बंधा था उसका क्या हुआ?

Rani Lakshmibai Ke Peeth Par Yuddh Ke Dauran Jo Bacha Bandha Tha Uska Kya Hua
Pradumn kumar Vajpayee Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Pradumn जी का जवाब
Bijneas9369174848
1:11
टशने रानी लक्ष्मीबाई के पीठ पर युद्ध के दौरान जो बच्चा पैदा हुआ था उसका क्या हुआ कुछ विश्वासपात्र सैनिकों के साथ में रहा और धीरे-धीरे सैनिक लड़ते लड़ते वीरगति को प्राप्त हो गए फिर उसको सही करार देकर मालवाड़ा की जेल में बंद कर दिया गया वहां नंदे कहां से उनकी मुलाकात हुई है उन्होंने एक अंग्रेज अफसर चाचा के उनके पेंशन की व्यवस्था करवाई के लिए उनको फिर से सिलेंडर करना पड़ा और जब वाचाल वाड़ा की जेल से छूटे तो उनके पास पैसे नहीं रह गए और उन्होंने 5 मई को अपने मां के कंगन बेचे यह बात 1860 की है फिर उनकी प्रतिमा ₹200 पेंशन बन गई उसके बाद उनकी मां ने यानी जो उनकी अक्लिमा थी उन्होंने उसकी शादी करवा दी और उनका एक पुत्र हुआ जिसका नाम था लक्ष्मण राव और दामोदर राव की 58 साल में मृत्यु हो गई यही कहानी उस पीठ पर बंधे हुए बच्चे की है धन्यवाद
Tashane raanee lakshmeebaee ke peeth par yuddh ke dauraan jo bachcha paida hua tha usaka kya hua kuchh vishvaasapaatr sainikon ke saath mein raha aur dheere-dheere sainik ladate ladate veeragati ko praapt ho gae phir usako sahee karaar dekar maalavaada kee jel mein band kar diya gaya vahaan nande kahaan se unakee mulaakaat huee hai unhonne ek angrej aphasar chaacha ke unake penshan kee vyavastha karavaee ke lie unako phir se silendar karana pada aur jab vaachaal vaada kee jel se chhoote to unake paas paise nahin rah gae aur unhonne 5 maee ko apane maan ke kangan beche yah baat 1860 kee hai phir unakee pratima ₹200 penshan ban gaee usake baad unakee maan ne yaanee jo unakee aklima thee unhonne usakee shaadee karava dee aur unaka ek putr hua jisaka naam tha lakshman raav aur daamodar raav kee 58 saal mein mrtyu ho gaee yahee kahaanee us peeth par bandhe hue bachche kee hai dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
रानी लक्ष्मीबाई के पीठ पर युद्ध के दौरान जो बच्चा बंधा था उसका क्या हुआ?Rani Lakshmibai Ke Peeth Par Yuddh Ke Dauran Jo Bacha Bandha Tha Uska Kya Hua
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:05
भाई जी की पीठ पर जो चित्र में एक बच्चा पैदा हुआ है उनका दत्तक पुत्र है इसी दत्तक पुत्र के पीछे यह सारा अंग्रेजों से लक्ष्मीबाई का झगड़ा हुआ था क्योंकि लक्ष्मी बाई के पति गंगाधर राव और लक्ष्मी बाई के कोई और संतान नहीं थी इसलिए गंगाधर राव ने एक पत्र अडॉप्ट लिया था जैसे कि उनके बाद में उत्तराधिकारी घोषित किया जा सके लेकिन अंग्रेज सरकार ने इसका विरोध किया उन्होंने कहा कि आपको ऐड ऑप्शन दे करके अपना उत्तराधिकारी घोषित करने का अधिकार नहीं है जब आपका औरस पुत्र नहीं है तो इसके बाप के बाद में राज्य सरकार ने बुला लिया जाएगा इसका लक्ष्मीबाई ने विरोध किया परिणाम स्वरुप यह जो उनकी पीठ पर उनका बच्चा बंधा हुआ है उसका नाम था बुधराम है और इसे उन्होंने ऐड किया है
Bhaee jee kee peeth par jo chitr mein ek bachcha paida hua hai unaka dattak putr hai isee dattak putr ke peechhe yah saara angrejon se lakshmeebaee ka jhagada hua tha kyonki lakshmee baee ke pati gangaadhar raav aur lakshmee baee ke koee aur santaan nahin thee isalie gangaadhar raav ne ek patr adopt liya tha jaise ki unake baad mein uttaraadhikaaree ghoshit kiya ja sake lekin angrej sarakaar ne isaka virodh kiya unhonne kaha ki aapako aid opshan de karake apana uttaraadhikaaree ghoshit karane ka adhikaar nahin hai jab aapaka auras putr nahin hai to isake baap ke baad mein raajy sarakaar ne bula liya jaega isaka lakshmeebaee ne virodh kiya parinaam svarup yah jo unakee peeth par unaka bachcha bandha hua hai usaka naam tha budharaam hai aur ise unhonne aid kiya hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • रानी लक्ष्मीबाई के पीठ पर युद्ध के दौरान जो बच्चा बंधा था उसका क्या हुआ
URL copied to clipboard