#जीवन शैली

bolkar speaker

गुण किसे कहेंगे अपने विचार दे ?

Gun Kise Kahenge Apne Vichaar Dein
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:50
कार दोस्तों आपका प्रसन्न है गुण कैसे कहेंगे अपना विचार दें तो दोस्तों आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार से गुण मनुष्य में होना बहुत ही जरूरी है उनके बगैर मनुष्य का जीवन ही बेकार है अगर मनुष्य में गुण होंगे तो वह इंसान कामयाब माना जाएगा हर मनुष्य में दया और प्रेम की भावना होना बहुत ही जरूरी माना जाता है क्योंकि हर किसी में अपने से छोटों के लिए दया और बड़ों के लिए समान हो की भावना होना बहुत ही जरूरी है और जिस मनुष्य में प्रेम और दया का गुण होगा वह अपने हर काम को सफलता और दूसरे से सम्मान पाता रहेगा धन्यवाद दोस्तों खुश रहो
Kaar doston aapaka prasann hai gun kaise kahenge apana vichaar den to doston aapake savaal ka uttar is prakaar se gun manushy mein hona bahut hee jarooree hai unake bagair manushy ka jeevan hee bekaar hai agar manushy mein gun honge to vah insaan kaamayaab maana jaega har manushy mein daya aur prem kee bhaavana hona bahut hee jarooree maana jaata hai kyonki har kisee mein apane se chhoton ke lie daya aur badon ke lie samaan ho kee bhaavana hona bahut hee jarooree hai aur jis manushy mein prem aur daya ka gun hoga vah apane har kaam ko saphalata aur doosare se sammaan paata rahega dhanyavaad doston khush raho

और जवाब सुनें

bolkar speaker
गुण किसे कहेंगे अपने विचार दे ?Gun Kise Kahenge Apne Vichaar Dein
 Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए जी का जवाब
Unknown
0:19
जैसे कि आपका प्रश्न है कौन किसे कहेंगे और देखें मनुष्य की नीति को तमता को ही गुण कहते हैं गुण उत्तम ताकि एक कैब रावत दिया लक्षण है व्यक्तिगत गुण व्यक्ति को महान बनाने वाले लक्षण है इसलिए इसे उधमिता से परिभाषित किया जाता है
Jaise ki aapaka prashn hai kaun kise kahenge aur dekhen manushy kee neeti ko tamata ko hee gun kahate hain gun uttam taaki ek kaib raavat diya lakshan hai vyaktigat gun vyakti ko mahaan banaane vaale lakshan hai isalie ise udhamita se paribhaashit kiya jaata hai

bolkar speaker
गुण किसे कहेंगे अपने विचार दे ?Gun Kise Kahenge Apne Vichaar Dein
Kajal jain😇 Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Kajal जी का जवाब
Student Life 😎
2:30

bolkar speaker
गुण किसे कहेंगे अपने विचार दे ?Gun Kise Kahenge Apne Vichaar Dein
Deepak Baghel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Deepak जी का जवाब
Janta intar cooleg
1:49

bolkar speaker
गुण किसे कहेंगे अपने विचार दे ?Gun Kise Kahenge Apne Vichaar Dein
raja dhiwar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए raja जी का जवाब
Unknown
0:18
शब्द गुण किसे कहते हैं बताइए

bolkar speaker
गुण किसे कहेंगे अपने विचार दे ?Gun Kise Kahenge Apne Vichaar Dein
Annesha Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Annesha जी का जवाब
Unknown
2:23

bolkar speaker
गुण किसे कहेंगे अपने विचार दे ?Gun Kise Kahenge Apne Vichaar Dein
Annesha Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Annesha जी का जवाब
Unknown
2:23

bolkar speaker
गुण किसे कहेंगे अपने विचार दे ?Gun Kise Kahenge Apne Vichaar Dein
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:29
चीन कर्मों में सरकार में जिसे लोग पसंद करें लोगों का विकास हो समाज में उत्थान हो क्रिकेट का आनंद हो समाज की सेवा हो यह सब सद्गुण कहलाते हैं और इनके विपरीत जो भी होते हैं वह दुर्गुण कहलाते हैं इसलिए समाज में अपनी विचारधारा को सशक्त बनाने के लिए हर संभव प्रयास करना चाहिए और मानवता की सेवा के लिए बिल्कुल आगे बढ़कर के हाथ बढ़ाना चाहिए मानवता ही से की सेवा ही सबसे बड़ा मनुष्य का गुण हैं
Cheen karmon mein sarakaar mein jise log pasand karen logon ka vikaas ho samaaj mein utthaan ho kriket ka aanand ho samaaj kee seva ho yah sab sadgun kahalaate hain aur inake vipareet jo bhee hote hain vah durgun kahalaate hain isalie samaaj mein apanee vichaaradhaara ko sashakt banaane ke lie har sambhav prayaas karana chaahie aur maanavata kee seva ke lie bilkul aage badhakar ke haath badhaana chaahie maanavata hee se kee seva hee sabase bada manushy ka gun hain

bolkar speaker
गुण किसे कहेंगे अपने विचार दे ?Gun Kise Kahenge Apne Vichaar Dein
Laxmi devi sant Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Life coach
2:48
आपका प्रश्न है कि गुण किसे कहेंगे अपना विचार दें तो गुरु में आता है पॉजिटिव पॉजिटिव क्वालिटी एकता अवगुण जिसमें नेगेटिव क्वालिटी होती है लेकिन हम गुड़ की बात नहीं कर रही गुड की बात करते हो इस क्वालिटी में क्या होता है कि सोसाइटी में हम किस तरीके से अपनी बातों को रखते हैं हमारी बातों की कितनी वैल्यू है इस तरीके से हम अपने आपको बना कर रखी कि हमारी बातों की सच में बहुत अच्छी वैल्यू है और हम जो बोल रहे हैं वह सत्य बोल रहे हैं और गलत ही बोलेंगे लेकिन यह वक्त उसी तरीके से जरूर नहीं होता कि सब ऐसा ही हूं सब कोई गलत जरूरी नहीं होता कि हर बार हम सही लेकिन अपनी बातों को रखना आना चाहिए आपकी कमी के संस्कृत अच्छी होनी चाहिए तो वह क्वालिटी में आ जाती है एक होता है आपका बिहेवियर कैसा है कह देना कि आपका नेचर कैसा है तो आपका नेचर भी बहुत अच्छा होना चाहिए प्राइड होना चाहिए अपनी प्रति बहुत अच्छे से आप असोहा रहना चाहिए और सब के प्रति भी वह स्वभाव रहना चाहिए सब के प्रति अच्छा स्वभाव है लेकिन अपनी प्रति ही नहीं हम सबकी रिश्ता करें रिस्पेक्ट यह गलत है दोनों की रिश्तेदारी हमारा जो बिहेवियर होता है जैसे कहीं भी गुस्सा कर देंगे टिविटी में आता तो वह चीज अच्छी क्वालिटी नहीं आता है किसी की बातों में हम बिल्कुल गुस्सा नहीं करते सुनते समझते हैं फिर भी तुमसे बातें करते हो ठीक है आराम से हर बात को समझा कर हमारा नीचे ऐसा भी होना चाहिए कि अपने साथ ज्यादा मतलब कोई नहीं जान हम से कांटेक्ट में आए तो वह बोली थी ऐसी भी होनी चाहिए कि कभी भी कोई हमारे संपर्क में आए तो उदास इंसान भी खुश हो जाए इस तरीके से क्वालिटी हम अपनी अंडर ला सकती हैं सब सोचते कि मेरे अंदर यह क्वालिटी नहीं है नहीं है तो लगता है कि यह जीवन का जन्म होता है ना इसलिए होता है कि वह अच्छी क्वालिटी को अपने अंदर एक्सेप्ट करें कि क्वालिटी तो अपने आप ही आ जाती है लेकिन अच्छी क्वालिटी को हम डाउनलोड कर सकते हैं हमारी हाथ में होती है उसके बाद क्या होता है कि अगर हमारी रिलेशनशिप अच्छे नहीं चल रहे तो हम कैसे बेहतर बना सके यह यह क्वालिटी भी हमारे अंदर होनी चाहिए कभी भी कोई प्रॉब्लम है तो हम उसे शांत बैठकर सुलझा सके सी क्वालिटी होती है लोगों की हेल्प करना यह भी अच्छी क्वालिटी होती है अच्छी क्वालिटी के अंदर आती है इसे पॉजिटिव
Aapaka prashn hai ki gun kise kahenge apana vichaar den to guru mein aata hai pojitiv pojitiv kvaalitee ekata avagun jisamen negetiv kvaalitee hotee hai lekin ham gud kee baat nahin kar rahee gud kee baat karate ho is kvaalitee mein kya hota hai ki sosaitee mein ham kis tareeke se apanee baaton ko rakhate hain hamaaree baaton kee kitanee vailyoo hai is tareeke se ham apane aapako bana kar rakhee ki hamaaree baaton kee sach mein bahut achchhee vailyoo hai aur ham jo bol rahe hain vah saty bol rahe hain aur galat hee bolenge lekin yah vakt usee tareeke se jaroor nahin hota ki sab aisa hee hoon sab koee galat jarooree nahin hota ki har baar ham sahee lekin apanee baaton ko rakhana aana chaahie aapakee kamee ke sanskrt achchhee honee chaahie to vah kvaalitee mein aa jaatee hai ek hota hai aapaka biheviyar kaisa hai kah dena ki aapaka nechar kaisa hai to aapaka nechar bhee bahut achchha hona chaahie praid hona chaahie apanee prati bahut achchhe se aap asoha rahana chaahie aur sab ke prati bhee vah svabhaav rahana chaahie sab ke prati achchha svabhaav hai lekin apanee prati hee nahin ham sabakee rishta karen rispekt yah galat hai donon kee rishtedaaree hamaara jo biheviyar hota hai jaise kaheen bhee gussa kar denge tivitee mein aata to vah cheej achchhee kvaalitee nahin aata hai kisee kee baaton mein ham bilkul gussa nahin karate sunate samajhate hain phir bhee tumase baaten karate ho theek hai aaraam se har baat ko samajha kar hamaara neeche aisa bhee hona chaahie ki apane saath jyaada matalab koee nahin jaan ham se kaantekt mein aae to vah bolee thee aisee bhee honee chaahie ki kabhee bhee koee hamaare sampark mein aae to udaas insaan bhee khush ho jae is tareeke se kvaalitee ham apanee andar la sakatee hain sab sochate ki mere andar yah kvaalitee nahin hai nahin hai to lagata hai ki yah jeevan ka janm hota hai na isalie hota hai ki vah achchhee kvaalitee ko apane andar eksept karen ki kvaalitee to apane aap hee aa jaatee hai lekin achchhee kvaalitee ko ham daunalod kar sakate hain hamaaree haath mein hotee hai usake baad kya hota hai ki agar hamaaree rileshanaship achchhe nahin chal rahe to ham kaise behatar bana sake yah yah kvaalitee bhee hamaare andar honee chaahie kabhee bhee koee problam hai to ham use shaant baithakar sulajha sake see kvaalitee hotee hai logon kee help karana yah bhee achchhee kvaalitee hotee hai achchhee kvaalitee ke andar aatee hai ise pojitiv

bolkar speaker
गुण किसे कहेंगे अपने विचार दे ?Gun Kise Kahenge Apne Vichaar Dein
pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:48
मेरा सवाल है बुर्के से कहेंगे तो होता है लेकिन जरूरी नहीं है कि मुझे पढ़ाई में आप पढ़ना अच्छा लगता है मुझे बैडमिंटन खेलना पसंद है मुझे और लोगों को लोगों की मदद करने के गुण होता है और हो सकता है दूसरे का गुड़िए हो उनको जो है इंजीनियर बनने का मन करता है और उनका पढ़ाई और दूसरे सब्जेक्ट में लगता हो या फिर भी क्वालिटी है कि दूसरों को दुखी नहीं देख सकते हैं दोषी पाए जाते हैं लेकिन हमें उनको हमें जो है उनके गुरु को देखना चाहिए और हमारे अंदर गुण है जो हमारे अंदर क्वालिटी है उनकी पहचान करनी चाहिए दिशा में आगे बढ़ना चाहिए जैसे कि मालिक मेरा मन किसी और चीज में लगता है कि आप उसमें और बनना चाहते जैसे कि मान लीजिए मैं सिविल सर्विस में जाना चाहती हूं और मैं उसी से पढ़ाई कर कोई कहे कि नहीं आती बेशक इसमें मत जाइए आप एक वकील बनी है तो मेरा मन नहीं लगेगा इसलिए क्योंकि मेरा है तो इस वजह से हमें अपने गुरु की पहचान करनी चाहिए क्वालिटी की क्वालिटी क्या है हम क्या चाहते हैं क्या करना चाहते हैं उसकी पहचान करनी चाहिए और हमें उस दिशा में आगे बढ़ कर मर जाना चाहिए सवाल का जवाब
Mera savaal hai burke se kahenge to hota hai lekin jarooree nahin hai ki mujhe padhaee mein aap padhana achchha lagata hai mujhe baidamintan khelana pasand hai mujhe aur logon ko logon kee madad karane ke gun hota hai aur ho sakata hai doosare ka gudie ho unako jo hai injeeniyar banane ka man karata hai aur unaka padhaee aur doosare sabjekt mein lagata ho ya phir bhee kvaalitee hai ki doosaron ko dukhee nahin dekh sakate hain doshee pae jaate hain lekin hamen unako hamen jo hai unake guru ko dekhana chaahie aur hamaare andar gun hai jo hamaare andar kvaalitee hai unakee pahachaan karanee chaahie disha mein aage badhana chaahie jaise ki maalik mera man kisee aur cheej mein lagata hai ki aap usamen aur banana chaahate jaise ki maan leejie main sivil sarvis mein jaana chaahatee hoon aur main usee se padhaee kar koee kahe ki nahin aatee beshak isamen mat jaie aap ek vakeel banee hai to mera man nahin lagega isalie kyonki mera hai to is vajah se hamen apane guru kee pahachaan karanee chaahie kvaalitee kee kvaalitee kya hai ham kya chaahate hain kya karana chaahate hain usakee pahachaan karanee chaahie aur hamen us disha mein aage badh kar mar jaana chaahie savaal ka javaab

bolkar speaker
गुण किसे कहेंगे अपने विचार दे ?Gun Kise Kahenge Apne Vichaar Dein
mahendra meena Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए mahendra जी का जवाब
Unknown
1:02
आपका सवाल आघूर्ण किसे कहते हैं अपने विचार थी तो मेरी विचार यह है कि गुड क्वालिटी अंकुश के अंदर क्या-क्या विशेषताएं जैसे कि उसमें इंसानियत मानवता और कई विशेष अद्भुत गुण दूसरे के आज के जमाने में अद्भुत गुण नंबर वन अच्छी शिक्षा संस्कार और इंसानियत और भावनाएं आदि गुणों में सम्मिलित होते हैं थैंक यू
Aapaka savaal aaghoorn kise kahate hain apane vichaar thee to meree vichaar yah hai ki gud kvaalitee ankush ke andar kya-kya visheshataen jaise ki usamen insaaniyat maanavata aur kaee vishesh adbhut gun doosare ke aaj ke jamaane mein adbhut gun nambar van achchhee shiksha sanskaar aur insaaniyat aur bhaavanaen aadi gunon mein sammilit hote hain thaink yoo

bolkar speaker
गुण किसे कहेंगे अपने विचार दे ?Gun Kise Kahenge Apne Vichaar Dein
rohit paste Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए rohit जी का जवाब
Unknown
1:24
गुण और दोष यह दो पहेलियां जैसे लगते हैं लेकिन किसी भी जगह पर यह कॉल आते हैं और यह गुण बुरे हैं यह हम इंसानों ने तय किया हुआ एक और विचार है जो कि हमारे दिल के लिए लाभदायक रहता है वह गुना रे गुन गुना रहता है और क्यों कम लाभदायक या हानिकारक होता है उसे दोस्त कहते हैं जो मनुष्य के लिए एक कारक है जो मनुष्य की आयु बढ़ा सकता है जो मनुष्य को 38 रन से दे सकता है मनुष्य को जिंदगी भर गुजारा करने के लिए जो भी करना है वह कड़ियां अच्छे से निभा सकता है उसे हम कहते हैं और किस से कुछ करवा दी होती है जिस से नफरत फैलती है जिससे कुछ आमदनी कम कम मेहनत में ज्यादा मिल सकती है यानी कि फोन नंबर जिसे हम कहते हैं इसे हम दोस्त कहलाते हैं
Gun aur dosh yah do paheliyaan jaise lagate hain lekin kisee bhee jagah par yah kol aate hain aur yah gun bure hain yah ham insaanon ne tay kiya hua ek aur vichaar hai jo ki hamaare dil ke lie laabhadaayak rahata hai vah guna re gun guna rahata hai aur kyon kam laabhadaayak ya haanikaarak hota hai use dost kahate hain jo manushy ke lie ek kaarak hai jo manushy kee aayu badha sakata hai jo manushy ko 38 ran se de sakata hai manushy ko jindagee bhar gujaara karane ke lie jo bhee karana hai vah kadiyaan achchhe se nibha sakata hai use ham kahate hain aur kis se kuchh karava dee hotee hai jis se napharat phailatee hai jisase kuchh aamadanee kam kam mehanat mein jyaada mil sakatee hai yaanee ki phon nambar jise ham kahate hain ise ham dost kahalaate hain

bolkar speaker
गुण किसे कहेंगे अपने विचार दे ?Gun Kise Kahenge Apne Vichaar Dein
Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Raghvendra जी का जवाब
Unknown
2:01
हेलो फ्रेंड नमस्कार जैसा कि आपका प्रश्न गुण किसे कहेंगे अपने विचार दें जो होता है वह आप सभी जानते हैं की क्वालिटी को कहते हैं अगर हमारे पास किसी प्रकार की क्वालिटी नहीं है क्वालिटी का मतलब होता है फ्रेंड जैसे कि मीठा अगर एक होता है मान लीजिए किसी कोई मिठाई है और उसमें जो है किसी प्रकार की क्वालिटी नहीं है क्वालिटी का मतलब होता है कि मिठाई में जितना शुगर का मात्रा होता है उतना शुगर का माता हो मिठाई में और तरीके के जो पदार्थ पढ़ते हैं वह सब मिला हो या नहीं कि कोई मिलाजुला यह कहा जाए कि मिठाई जो है अतिथि के रुप में स्वादिष्ट हो तब उसने कहा जाता है कि नहीं मिठाई में एक क्वालिटी है सेम वही पोजीशन हमारे इंसानों में भी होती है जब इंसानों में मिठास होता है उनकी वाणी में मिठास होता है एक दूसरे के प्रति मिलनसार होते हैं सुख दुख में काम आने वाले होते हैं तो हम कहते हैं कि इससे व्यक्ति में जो है यह क्वालिटी है क्वालिटी का मतलब यही है फ्रेंड एक दूसरे के साथ जो है मिलनसार रूप से सम्मिलित रहना सुख दुख में साथ देना प्रेम भाव से एक दूसरे से मिलना किसी से ईर्ष्या ना करना शांत स्वभाव रखना यह सब इंसान की पार्टी है और वहीं दूसरी ओर जो है समय-समय पर सबसे झगड़ते रहना ठीक है फ्रेंड्स लोगों से देखकर ऐसा रखना मारपीट करना किसी को देखकर के मुंह फेर ना तो यह सब जो है इंसान की क्वालिटी नहीं है फ्रेंड यह बैड क्वालिटी होती है गुड क्वालिटी जैसा कि हमने पहली बताया कि लोग मिलनसार होते हैं एक दूसरे के साथ भाई चारे जैसा व्यवहार होता है सुख दुख में कार्य आने वाले होते हैं शांत स्वभाव के होते हैं यह इंसान के स्वभाव माने जाते हैं गुड माने जाते हैं तो आ जाएं फ्रेंड की आप सभी को है जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद
Helo phrend namaskaar jaisa ki aapaka prashn gun kise kahenge apane vichaar den jo hota hai vah aap sabhee jaanate hain kee kvaalitee ko kahate hain agar hamaare paas kisee prakaar kee kvaalitee nahin hai kvaalitee ka matalab hota hai phrend jaise ki meetha agar ek hota hai maan leejie kisee koee mithaee hai aur usamen jo hai kisee prakaar kee kvaalitee nahin hai kvaalitee ka matalab hota hai ki mithaee mein jitana shugar ka maatra hota hai utana shugar ka maata ho mithaee mein aur tareeke ke jo padaarth padhate hain vah sab mila ho ya nahin ki koee milaajula yah kaha jae ki mithaee jo hai atithi ke rup mein svaadisht ho tab usane kaha jaata hai ki nahin mithaee mein ek kvaalitee hai sem vahee pojeeshan hamaare insaanon mein bhee hotee hai jab insaanon mein mithaas hota hai unakee vaanee mein mithaas hota hai ek doosare ke prati milanasaar hote hain sukh dukh mein kaam aane vaale hote hain to ham kahate hain ki isase vyakti mein jo hai yah kvaalitee hai kvaalitee ka matalab yahee hai phrend ek doosare ke saath jo hai milanasaar roop se sammilit rahana sukh dukh mein saath dena prem bhaav se ek doosare se milana kisee se eershya na karana shaant svabhaav rakhana yah sab insaan kee paartee hai aur vaheen doosaree or jo hai samay-samay par sabase jhagadate rahana theek hai phrends logon se dekhakar aisa rakhana maarapeet karana kisee ko dekhakar ke munh pher na to yah sab jo hai insaan kee kvaalitee nahin hai phrend yah baid kvaalitee hotee hai gud kvaalitee jaisa ki hamane pahalee bataaya ki log milanasaar hote hain ek doosare ke saath bhaee chaare jaisa vyavahaar hota hai sukh dukh mein kaary aane vaale hote hain shaant svabhaav ke hote hain yah insaan ke svabhaav maane jaate hain gud maane jaate hain to aa jaen phrend kee aap sabhee ko hai javaab pasand aaya hoga dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • गुण किसे कहते हैं, गुण की परिभाषा, गुण क्या है
URL copied to clipboard