#undefined

bolkar speaker

बवासीर का आयुर्वेदिक इलाज क्या है?

Bavaseer Ka Ayurvedic Ilaaj Kya Hai
Ayurvedic Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ayurvedic जी का जवाब
Cancer treatment
2:10
हां सवाल पूछा गया कि बवासीर का आयुर्वेदिक उपाय क्या है कि बवासीर को अंग्रेजी में पाइप कहते हैं और यह पाइल्स यानी बवासीर यह देखिए यह टिशू और रग इन सब का एक संग्रह होता है जो सूजन और दर्द पैदा करता है बवासीर का आकार साइज़ अलग अलग हो सकता है उसी तरह से कभी-कभी बवासीर गुदा के अंदर होता है कभी यह बाहर भी पाया जाता है और इसके अलावा देखिए यह बवासीर कभी कब की वजह से कभी पुरानी डायरिया की वजह से कभी भारी वजन उठाने की वजह से और कभी गर्भ वस्था या सही टोटल पास नहीं होने से भी यह बहुत ज्यादा तनाव की वजह से भी बवासीर हो जाता है बवासीर के बहुत सारे लक्षण है जिसको आसानी से आप पहचान सकते हैं जान सकते हैं इसको ज्यादा बताने की जरूरत नहीं है लेकिन प्रश्न यह है कि इसका उपाय क्या है जो सरल है देखिए हम कई दवाओं को मिलाकर के मिश्रण करके दवा बनाते हैं लेकिन एक दवा जो कोई भी अपने घर में बना सकता है आसानी से बना सकता है आप ही हम आपको बताने जा रहे हैं देखिए जानते होंगे का दिल का होता है 50 ग्राम का छिलका ले लीजिए फोटो बना ली थी उसको उसी प्रकार 50 ग्राम गोंद कतीरा होता है बबूल का गोंद गोंद कतीरा 50 ग्राम और इस से 5 गुना में से 5 गुना अधिक मेथी मेथी दाना होता है यानी 5050 ग्राम रेटा 50 ग्राम गोंद कतीरा और 250 ग्राम मेथीदाना लेगी और इन सब का अच्छी तरह से पाउडर बना लीजिए मिक्स कर लीजिए और उसमें गर्म पानी डाल कर के और उसकी मदद से छोटी-छोटी चने के बराबर गोलियां बना लीजिए और तीन टाइम सुबह दोपहर शाम खाने से आधा घंटा पहले पानी के साथ इसको लीजिए जैसा भी जैसा भी है बवासीर खूनी बवासीर हो या बादी बवासीर हो घाट वाली हो मस्से वाली हो हर प्रकार की बवासीर में यह काम करेगी
Haan savaal poochha gaya ki bavaaseer ka aayurvedik upaay kya hai ki bavaaseer ko angrejee mein paip kahate hain aur yah pails yaanee bavaaseer yah dekhie yah tishoo aur rag in sab ka ek sangrah hota hai jo soojan aur dard paida karata hai bavaaseer ka aakaar saiz alag alag ho sakata hai usee tarah se kabhee-kabhee bavaaseer guda ke andar hota hai kabhee yah baahar bhee paaya jaata hai aur isake alaava dekhie yah bavaaseer kabhee kab kee vajah se kabhee puraanee daayariya kee vajah se kabhee bhaaree vajan uthaane kee vajah se aur kabhee garbh vastha ya sahee total paas nahin hone se bhee yah bahut jyaada tanaav kee vajah se bhee bavaaseer ho jaata hai bavaaseer ke bahut saare lakshan hai jisako aasaanee se aap pahachaan sakate hain jaan sakate hain isako jyaada bataane kee jaroorat nahin hai lekin prashn yah hai ki isaka upaay kya hai jo saral hai dekhie ham kaee davaon ko milaakar ke mishran karake dava banaate hain lekin ek dava jo koee bhee apane ghar mein bana sakata hai aasaanee se bana sakata hai aap hee ham aapako bataane ja rahe hain dekhie jaanate honge ka dil ka hota hai 50 graam ka chhilaka le leejie photo bana lee thee usako usee prakaar 50 graam gond kateera hota hai babool ka gond gond kateera 50 graam aur is se 5 guna mein se 5 guna adhik methee methee daana hota hai yaanee 5050 graam reta 50 graam gond kateera aur 250 graam metheedaana legee aur in sab ka achchhee tarah se paudar bana leejie miks kar leejie aur usamen garm paanee daal kar ke aur usakee madad se chhotee-chhotee chane ke baraabar goliyaan bana leejie aur teen taim subah dopahar shaam khaane se aadha ghanta pahale paanee ke saath isako leejie jaisa bhee jaisa bhee hai bavaaseer khoonee bavaaseer ho ya baadee bavaaseer ho ghaat vaalee ho masse vaalee ho har prakaar kee bavaaseer mein yah kaam karegee

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • बवासीर का आयुर्वेदिक इलाज,बवासीर के घरेलू उपचार ,बवासीर का आयुर्वेदिक दवा क्या है
URL copied to clipboard