#undefined

bolkar speaker
अंकुरित मूंग स्वास्थ्य के लिए कितना लाभदायक है?Ankurit Moong Svasthya Ke Lie Kitna Laabhdayak Hai
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:27
नाश्ते में क्या-क्या अंकुरित मूंग स्वास्थ्य के लिए कितना लाभदायक है अंकुरित हरी मूंग दाल का सेवन करना डायबिटीज के मरीज के लिए रामबाण औषधि की तरह कार्य करेगा डायबिटीज से होने वाले खतरे को कम करने के लिए मूंग दाल में ब्लड शुगर लेवल को बैलेंस करने की क्षमता होती है इस कारण कौन अंकुरित मूंग दाल का सेवन डायबिटीज के मरीजों के लिए बहुत लाभदायक माना जाता है धन्यवाद
Naashte mein kya-kya ankurit moong svaasthy ke lie kitana laabhadaayak hai ankurit haree moong daal ka sevan karana daayabiteej ke mareej ke lie raamabaan aushadhi kee tarah kaary karega daayabiteej se hone vaale khatare ko kam karane ke lie moong daal mein blad shugar leval ko bailens karane kee kshamata hotee hai is kaaran kaun ankurit moong daal ka sevan daayabiteej ke mareejon ke lie bahut laabhadaayak maana jaata hai dhanyavaad

#undefined

bolkar speaker
आंखों का धुंधलापन कैसे दूर करें?Aankhon Ka Dhundhlaapan Kaise Door Kare
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:33
नमस्ते पूछा गया कि आंखों का धुंधलापन कैसे दूर करें लेजर सर्जरी कराना यानी आंखों का धुला पन का इलाज जब किसी भी तरीके से नहीं हो पाता है तब आंखों का धुला पन के लिए लेजर सर्जरी एकमात्र विकल्प बचता है लेजर सर्जरी में लेजर के माध्यम से आंखों के धूल पान को दूर किया जाता है या काफी सुरक्षित तरीका है जिसमें व्यक्ति को किसी तरह का दर्द महसूस नहीं होता धन्यवाद
Namaste poochha gaya ki aankhon ka dhundhalaapan kaise door karen lejar sarjaree karaana yaanee aankhon ka dhula pan ka ilaaj jab kisee bhee tareeke se nahin ho paata hai tab aankhon ka dhula pan ke lie lejar sarjaree ekamaatr vikalp bachata hai lejar sarjaree mein lejar ke maadhyam se aankhon ke dhool paan ko door kiya jaata hai ya kaaphee surakshit tareeka hai jisamen vyakti ko kisee tarah ka dard mahasoos nahin hota dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
तोता और बुध ग्रह का क्या संबंध है?Tota Aur Budh Grah Ka Kya Sambandh Hai
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:19
कि पूछेंगे कि तोता और बुध ग्रह का क्या संबंध है बृहस्पति को प्रसन्न करने के लिए तोते को चने की दाल खिलाने का उपयोग काफी कारगर साबित होता है क्योंकि तोता बुध ग्रह का प्रतीक है और चने की दाल बृहस्पति ग्रह का है
Ki poochhenge ki tota aur budh grah ka kya sambandh hai brhaspati ko prasann karane ke lie tote ko chane kee daal khilaane ka upayog kaaphee kaaragar saabit hota hai kyonki tota budh grah ka prateek hai aur chane kee daal brhaspati grah ka hai

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
केलो को फ्रिज में क्यों नहीं रखना चाहिए?Kelo Ko Freeze Mein Kyun Nahin Rakhna Chaiye
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
1:07
नमस्ते पूछा क्या कि खेलों को फ्रिज में क्यों नहीं रखनी चाहिए क्या आप यह जानती हैं कि चलो एक ऐसा फल है जो 4 से 5 दिनों तक ताजा बना रह सकता है इसलिए आपको केले को फ्रिज में स्टोर नहीं करनी चाहिए क्योंकि ऐसा करने पर यह खराब हो सकता है दरअसल के लाओ पोस्ट ने यानी कि सब ट्रॉपिकल इलाकों में उगाया जाता है इन इलाकों में गर्मी ज्यादा होती है इसके लिए अकेला एक ऐसा फल है जो गर्मी में भी खराब नहीं होता बल्कि जब आप इसे फ्रीज में स्टोर करते हैं तो अधिक ठंड की वजह से यह खराब हो जाता है फ्रिज की ठंड में इसे ऑक्सीडेस नामक एंजाइम पैदा होता है जो इसे काला कर देता है इससे यह खाने में बेहद खराब लगता है और जल्दी सर जाता है इसलिए आपको इसे प्लीज से बाहर ही स्टार्ट करना चाहिए साथ ही अकेला हमेशा घर पर रखना चाहिए क्योंकि यह कई समस्याओं में औषधि का काम करता है धन्यवाद
Namaste poochha kya ki khelon ko phrij mein kyon nahin rakhanee chaahie kya aap yah jaanatee hain ki chalo ek aisa phal hai jo 4 se 5 dinon tak taaja bana rah sakata hai isalie aapako kele ko phrij mein stor nahin karanee chaahie kyonki aisa karane par yah kharaab ho sakata hai darasal ke lao post ne yaanee ki sab tropikal ilaakon mein ugaaya jaata hai in ilaakon mein garmee jyaada hotee hai isake lie akela ek aisa phal hai jo garmee mein bhee kharaab nahin hota balki jab aap ise phreej mein stor karate hain to adhik thand kee vajah se yah kharaab ho jaata hai phrij kee thand mein ise okseedes naamak enjaim paida hota hai jo ise kaala kar deta hai isase yah khaane mein behad kharaab lagata hai aur jaldee sar jaata hai isalie aapako ise pleej se baahar hee staart karana chaahie saath hee akela hamesha ghar par rakhana chaahie kyonki yah kaee samasyaon mein aushadhi ka kaam karata hai dhanyavaad

#जीवन शैली

bolkar speaker
किन लोगों को अभी वैक्सीन नहीं लगवाना चाहिए?Kin Logon Ko Abhi Vaccine Nahi Lagvana Chahiye
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
2:18
कुछ है क्या है कि किन लोगों को अभिव्यक्ति नहीं लगवानी चाहिए भारत में कोरोनावायरस से लड़ने के लिए वैक्सीन शुरू हो गई है हो गया है अभी तक लगभग 600000 लोगों को क्रोना की वैक्सीन लग चुकी है इस वचन को लगाने के बाद बहुत से लोगों ने इसके साइड इफेक्ट की शिकायत की है ऐसे में बाकि जनता के मन में इस सीन को लेकर खौफ पैदा हो गया है लोगों की इसी कशमकश के बीच आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि किस लोगों को कोरोनावायरस इन नहीं लगानी चाहिए वैक्सीन बनाने वाली भारत बायोटेक ने कुछ लोगों को यह व्यक्ति न लगाने की सलाह दी है लोग यूनिटी वाले लोग लोगों को जो लोग ऐसी दवाई ले रहे हैं जिससे उनकी मृत्यु पर असर पड़ता है ऐसे लोगों को कोरोनावायरस इन लोगों को कोरोनावायरस इन नहीं नहीं लगानी चाहिए प्रेग्नेंट महिलाओं को प्रेग्नेंट और ब्रेस्टफीडिंग करवाने वाली महिलाओं को करो ना कि व्यक्ति नहीं लगानी चाहिए क्योंकि इन इन पर इस वैक्सीन की स्टडी नहीं की गई है साथ ही जिन लोगों ने जिन जिन लोगों ने भी दूसरी व्यक्ति ने लगाई है उन्हें भी करो ना कि को वैक्सीन नहीं लगानी चाहिए जिन लोगों को भी कोविड-19 में मौजूद एक ग्रीडी एट से एलर्जी है तो उन लोगों को कॉमेडी सेंड नहीं लगानी चाहिए इसके साथ ही को भी दिल की पहली डोर लगाने के बाद अगर आपको एलर्जी होता है तो आपको दूसरी व्यक्ति नहीं लगानी चाहिए टीकाकरण शुरू होने के बाद बाद से जिन लोगों को भी करो ना कि यह व्यक्ति लगाई गई है उन्हें इसके साइड इफेक्ट के बारे में बताया गया है लोगों का कहना है कि इस वैक्सीन को लगाने के बाद उन्हें कमजोर इंजन सन साइड दर्द सर दर्द थकान मैग्नीशिया मांसपेशियों में दर्द और समझ पाए रिस्पेक्ट चिड़िया बुखार ठंड लगना जी मिचलाना जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है धन्यवाद
Kuchh hai kya hai ki kin logon ko abhivyakti nahin lagavaanee chaahie bhaarat mein koronaavaayaras se ladane ke lie vaikseen shuroo ho gaee hai ho gaya hai abhee tak lagabhag 600000 logon ko krona kee vaikseen lag chukee hai is vachan ko lagaane ke baad bahut se logon ne isake said iphekt kee shikaayat kee hai aise mein baaki janata ke man mein is seen ko lekar khauph paida ho gaya hai logon kee isee kashamakash ke beech aaj ham aapako bataane ja rahe hain ki kis logon ko koronaavaayaras in nahin lagaanee chaahie vaikseen banaane vaalee bhaarat baayotek ne kuchh logon ko yah vyakti na lagaane kee salaah dee hai log yoonitee vaale log logon ko jo log aisee davaee le rahe hain jisase unakee mrtyu par asar padata hai aise logon ko koronaavaayaras in logon ko koronaavaayaras in nahin nahin lagaanee chaahie pregnent mahilaon ko pregnent aur brestapheeding karavaane vaalee mahilaon ko karo na ki vyakti nahin lagaanee chaahie kyonki in in par is vaikseen kee stadee nahin kee gaee hai saath hee jin logon ne jin jin logon ne bhee doosaree vyakti ne lagaee hai unhen bhee karo na ki ko vaikseen nahin lagaanee chaahie jin logon ko bhee kovid-19 mein maujood ek greedee et se elarjee hai to un logon ko komedee send nahin lagaanee chaahie isake saath hee ko bhee dil kee pahalee dor lagaane ke baad agar aapako elarjee hota hai to aapako doosaree vyakti nahin lagaanee chaahie teekaakaran shuroo hone ke baad baad se jin logon ko bhee karo na ki yah vyakti lagaee gaee hai unhen isake said iphekt ke baare mein bataaya gaya hai logon ka kahana hai ki is vaikseen ko lagaane ke baad unhen kamajor injan san said dard sar dard thakaan maigneeshiya maansapeshiyon mein dard aur samajh pae rispekt chidiya bukhaar thand lagana jee michalaana jaisee samasya ka saamana karana padata hai dhanyavaad

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
रूम हीटर का उपयोग करना जीवन के लिए कैसे खतरा हो सकता है?Room Heater Ka Upyog Karna Jeevan Ke Liye Kaise Khatra Ho Sakta Hai
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:33
मैं पूछा क्या किलोमीटर का उपयोग करना जीवन के लिए कैसे खतरा हो सकता है सर्द मौसम में लंबे समय तक रूम हीटर का इस्तेमाल आपको बीमार बना सकता है रूम हीटर हार्मफुल इफ़ेक्ट हिट्रो से निकलने वाली हवा गर्म और बेहद रूचि होती है जिससे स्कीम रूखी और बेजान हो जाता है इससे इससे घर की हवा मौजूद ऑक्सीजन में कमी हो जाती है जो कई बार जानलेवा भी हो सकती है धन्यवाद
Main poochha kya kilomeetar ka upayog karana jeevan ke lie kaise khatara ho sakata hai sard mausam mein lambe samay tak room heetar ka istemaal aapako beemaar bana sakata hai room heetar haarmaphul ifekt hitro se nikalane vaalee hava garm aur behad roochi hotee hai jisase skeem rookhee aur bejaan ho jaata hai isase isase ghar kee hava maujood okseejan mein kamee ho jaatee hai jo kaee baar jaanaleva bhee ho sakatee hai dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
ग्रेफाइट का इस्तेमाल किस में होता है?Graphite Ka Istemaal Kis Mein Hota Hai
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:32
उससे पूछेंगे कि ग्रेफाइट का इस्तेमाल किस में होता है डिफाइड का उपयोग पेंसिल की लीड तथा घड़ियों की कमानी बनाने में होता है उच्च ताप पर चलने वाली मशीन मैं इसको 3 या पानी के साथ मिलाकर स्नेहक के रूप में प्रयोग किया जाता है इसका पाउडर पॉलिश करने के काम में आते हैं न्यूक्लियर रिएक्टर में मोड एडिटर के रूप में इसका उपयोग किया जाता है धन्यवाद
Usase poochhenge ki grephait ka istemaal kis mein hota hai diphaid ka upayog pensil kee leed tatha ghadiyon kee kamaanee banaane mein hota hai uchch taap par chalane vaalee masheen main isako 3 ya paanee ke saath milaakar snehak ke roop mein prayog kiya jaata hai isaka paudar polish karane ke kaam mein aate hain nyookliyar riektar mein mod editar ke roop mein isaka upayog kiya jaata hai dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
गर्म दूध के साथ गुड़ खाने के लाभ और हानि क्या है?Garam Doodh Ke Sath Gud Khane Ke Laabh Aur Haani Kya Hain
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:41
के गण दूध के साथ गुड़ खाने के लाभ और हानि क्या है तो सुबह खाली पेट गुड़ खाने के फायदे तो कई होते हैं लेकिन क्या आप दूध के साथ गुड़ का सेवन करने के फायदे के बारे में जानती हैं अगर नहीं तो हम आपको बताते हैं पेट के लिए रामबाण गर्म दूध के साथ गुड़ का सेवन करने से आप का पाचन तो बेहतर होगा ही साथी या पेट से जुड़ी समस्याओं से राहत दिलाने में भी फायदेमंद साबित हो सकता है अगर आपको पाचन संबंधित कोई भी समस्या है तो गर्म गर्म दूध और गुड़ का सेवन करने से निजात पा सकते हैं धन्यवाद
Ke gan doodh ke saath gud khaane ke laabh aur haani kya hai to subah khaalee pet gud khaane ke phaayade to kaee hote hain lekin kya aap doodh ke saath gud ka sevan karane ke phaayade ke baare mein jaanatee hain agar nahin to ham aapako bataate hain pet ke lie raamabaan garm doodh ke saath gud ka sevan karane se aap ka paachan to behatar hoga hee saathee ya pet se judee samasyaon se raahat dilaane mein bhee phaayademand saabit ho sakata hai agar aapako paachan sambandhit koee bhee samasya hai to garm garm doodh aur gud ka sevan karane se nijaat pa sakate hain dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
आर्कमिडीज का सिद्धांत किसे कहते हैं?Archimedis Ka Siddhant Kise Kehte Hain
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:38
मस्ती पूजा क्या-क्या अर्थ मेटल्स का सिद्धांत किसे कहते हैं आर्कमिडीज के सिद्धांत के अनुसार जब एक ठोस वस्तु किसी द्रव्य में पूरी अथवा आंशिक रूप से दुबई जाती है तो उसके भार में कमी आ का आभास होता है वस्तु के भार में यह आभासी कमी वस्तु द्वारा हटाए गए द्रव्य के भीतर बराबर होती है चुकी इस नियम की खोज महान यूनानी भौतिक गणितज्ञ आदमी ने किया था इसलिए उनके नाम पर इस सिद्धांत को आर्कमिडीज का सिद्धांत कहा जाता है धन्यवाद
Mastee pooja kya-kya arth metals ka siddhaant kise kahate hain aarkamideej ke siddhaant ke anusaar jab ek thos vastu kisee dravy mein pooree athava aanshik roop se dubee jaatee hai to usake bhaar mein kamee aa ka aabhaas hota hai vastu ke bhaar mein yah aabhaasee kamee vastu dvaara hatae gae dravy ke bheetar baraabar hotee hai chukee is niyam kee khoj mahaan yoonaanee bhautik ganitagy aadamee ne kiya tha isalie unake naam par is siddhaant ko aarkamideej ka siddhaant kaha jaata hai dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
शरीर से थकान और कमजोरी कैसे दूर करें घरेलू तरीके से?Shareer Se Thakan Aur Kamjori Kaise Door Kare Gharelu Tareeke Se
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
1:52
हंसते पूछा गया कि शरीर से थकान और कमजोरी कैसे दूर करें घरेलू तरीके से तो अगर आप भी कम मेहनत के काम में अक्सर थकान शरीर में दर्द रहना और सीढ़ियां चढ़ती उतरती पर सांस फूलना जैसी समस्या का सामना रोजाना की लाइफ में करते हैं तो यह आपकी शरीर की कमजोर होने का संकेत है शरीर के कमजोर होने पर छोटी-छोटी मौसमी बीमारी भी बड़ा रूप ले लेती है साथ ही रोजाना बीमार रहने से सेहत के अलावा दैनिक जीवन पर भी बहुत बुरा असर पड़ता है इसलिए आज हम आपको शरीर की कमजोरी को दूर करने वाले घरेलू उपाय बता रहे हैं पहला है शरीर की कमजोरी को दूर करने के घरेलू उपाय पहला अगर आप भी शरीर की कमजोरी यानी बार-बार होने वाली थकान से परेशान है तो ऐसे में रोजाना दालचीनी पाउडर का शहद के साथ सेवन करें इससे यूनिटी सिस्टम मजबूत होता रहेगा दूसरा नियमित रूप से और केले का सेवन करने से भी शरीर की कमजोरी दूर होती है साथ ही शरीर की हड्डियां में मजबूती आती है इसलिए अच्छे जिम जाने वाले लोग दूध केले का सेवन करते हैं तीसरा है रोजाना जायफल जावित्री और अश्वगंधा का चूर्ण का दूध के साथ दिन में 2 बार सेवन करने से शरीर में ताकत आती है इसके साथ ही रक्त की कमी यानी आयरन की कमी दूर होती है जिससे शरीर से कमजोर और थकान में राहत मिलता है चौथे नियमित रूप से पांच बदाम और पांच खजूर खाने से शरीर में ताकत आती है जिससे शरीर में थकान कम महसूस होती है 5:00 बजे गेहूं या किशमिश को रात में भिगोकर सुबह उसके साथ पानी का सेवन करने से भी शरीर की कमजोरी को कुछ ही दिनों में खत्म किया जा सकता है धन्यवाद
Hansate poochha gaya ki shareer se thakaan aur kamajoree kaise door karen ghareloo tareeke se to agar aap bhee kam mehanat ke kaam mein aksar thakaan shareer mein dard rahana aur seedhiyaan chadhatee utaratee par saans phoolana jaisee samasya ka saamana rojaana kee laiph mein karate hain to yah aapakee shareer kee kamajor hone ka sanket hai shareer ke kamajor hone par chhotee-chhotee mausamee beemaaree bhee bada roop le letee hai saath hee rojaana beemaar rahane se sehat ke alaava dainik jeevan par bhee bahut bura asar padata hai isalie aaj ham aapako shareer kee kamajoree ko door karane vaale ghareloo upaay bata rahe hain pahala hai shareer kee kamajoree ko door karane ke ghareloo upaay pahala agar aap bhee shareer kee kamajoree yaanee baar-baar hone vaalee thakaan se pareshaan hai to aise mein rojaana daalacheenee paudar ka shahad ke saath sevan karen isase yoonitee sistam majaboot hota rahega doosara niyamit roop se aur kele ka sevan karane se bhee shareer kee kamajoree door hotee hai saath hee shareer kee haddiyaan mein majabootee aatee hai isalie achchhe jim jaane vaale log doodh kele ka sevan karate hain teesara hai rojaana jaayaphal jaavitree aur ashvagandha ka choorn ka doodh ke saath din mein 2 baar sevan karane se shareer mein taakat aatee hai isake saath hee rakt kee kamee yaanee aayaran kee kamee door hotee hai jisase shareer se kamajor aur thakaan mein raahat milata hai chauthe niyamit roop se paanch badaam aur paanch khajoor khaane se shareer mein taakat aatee hai jisase shareer mein thakaan kam mahasoos hotee hai 5:00 baje gehoon ya kishamish ko raat mein bhigokar subah usake saath paanee ka sevan karane se bhee shareer kee kamajoree ko kuchh hee dinon mein khatm kiya ja sakata hai dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
क्या कम प्यास लगना कोई बीमारी दर्शाता है?Kya Kam Pyas Lagna Koi Bimari Darshata Hai
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:26
पूछा क्या क्या क्या काम प्यास लगना कोई बीमारी दर्शाता है जी हां जरूरत से ज्यादा पानी पीना डायबिटीज की निशानी हो सकती है जिसमें टाइप टू के मरीज शामिल है व्यक्ति का प्यास लगने का सबसे बड़ा कारण उसका बार बार टॉयलेट जाना है ज्यादातर भूख लगना मुंह का सूखना या फिर एकदम से वजन बढ़ना या कम होना ही क्यों डायबिटीज मरीज की निशानी है
Poochha kya kya kya kaam pyaas lagana koee beemaaree darshaata hai jee haan jaroorat se jyaada paanee peena daayabiteej kee nishaanee ho sakatee hai jisamen taip too ke mareej shaamil hai vyakti ka pyaas lagane ka sabase bada kaaran usaka baar baar toyalet jaana hai jyaadaatar bhookh lagana munh ka sookhana ya phir ekadam se vajan badhana ya kam hona hee kyon daayabiteej mareej kee nishaanee hai

#मनोरंजन

bolkar speaker
जूता चप्पल किस दिशा में रखना चाहिए?Joota Chappal Kis Disha Mein Rakhna Chaiye
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:57
पूछेंगे कि जूता चप्पल किस दिशा में रखना चाहिए वास्तु शास्त्र में ऐसी बातें बताई गई है जिनके माध्यम से घरेलू समस्याओं का समाधान आसानी से कर सकते हैं इसके लिए आपको कुछ वास्तु नियमों का पालन करना होगा जिसकी आपके घर में प्रवेश होने वाली नकारात्मक ऊर्जा दूर होगी और आपके घर में सुख शांति बनी रहेगी उपयोग में आने वाले जूता चप्पल को एक व्यक्ति ढंग से उचित स्थान पर हमेशा पश्चिम की ओर ही रखना चाहिए वास्तु के अनुसार जो जूते चप्पल उपयोग के ना हो उन्हें घर में ना रखें उन्हें किसी गरीब को दे दी पुराने जूते चप्पल रखने से घर में नकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है और आपके घर से समस्याएं जाने का नाम नहीं लेती है ऐसा करने से शनिदेव का प्रकोप भी कम होता है धन्यवाद
Poochhenge ki joota chappal kis disha mein rakhana chaahie vaastu shaastr mein aisee baaten bataee gaee hai jinake maadhyam se ghareloo samasyaon ka samaadhaan aasaanee se kar sakate hain isake lie aapako kuchh vaastu niyamon ka paalan karana hoga jisakee aapake ghar mein pravesh hone vaalee nakaaraatmak oorja door hogee aur aapake ghar mein sukh shaanti banee rahegee upayog mein aane vaale joota chappal ko ek vyakti dhang se uchit sthaan par hamesha pashchim kee or hee rakhana chaahie vaastu ke anusaar jo joote chappal upayog ke na ho unhen ghar mein na rakhen unhen kisee gareeb ko de dee puraane joote chappal rakhane se ghar mein nakaaraatmak oorja banee rahatee hai aur aapake ghar se samasyaen jaane ka naam nahin letee hai aisa karane se shanidev ka prakop bhee kam hota hai dhanyavaad

#मनोरंजन

bolkar speaker
पैरों में चांदी के आभूषण क्यों पहने जाते हैं सोने के क्यों नहीं?Pairon Mein Chandi Ke Abhusan Kyun Pehne Jate Hain Sone Ke Kyun Nahin
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
1:49
नमस्ते पीछे गए कि पैरों में चांदी के आभूषण क्यों पहने जाते हैं और सोने की क्यों नहीं अवश्य ज्वेलरी पहनना हिंदू परंपरा का एक अहम हिस्सा है शादी हो या फिर कोई दूसरा आपसे जल्दी पानी का अपना एक अलग महत्व होता है दुल्हन की खूबसूरती में चार चांद लगाने और उसे संवारने का काम गए नहीं करनी है शादीशुदा महिलाएं पैरों में बिछिया और पायल पहन के आमतौर पर महिलाएं सोने के गहने पहनना पसंद करती है लेकिन पैरों की पायल हो या बिछिया हमेशा चांदी ही पहनी जाती है वैसे आभूषण पाने का कारण महिलाओं की सुंदरता को बढ़ाता है लेकिन हमारे पारंपरिक और प्रथाओं के पीछे अन्य कारणों को दिखा जा सकता है हिंदू मान्यता के अनुसार कमर के नीचे सोने के आभूषण कभी नहीं पड़नी चाहिए इसे मान्यता को आगे बढ़ाते हुए आपने अक्सर घर के बुजुर्गों को यह कहते सुना होगा कि पैरों में पायल हो और बिछिया सोनी के ना होने चाहिए आइए जानते हैं कि क्या कारण है कि पैरों में सोने के आभूषण नहीं पड़नी चाहिए सोने के आभूषण शरीर को गर्म रखते हैं जबकि चांदी शीतलता प्रदान करती इसलिए चांदी के आभूषण शरीर को ठंडा रखने का काम करता है इस प्रकार कमर के ऊपर सोना और कमर से नीचे चांदी पहनने से शरीर का तापमान शालू संतुलित बनता है बनता रहता है जिससे कई बीमारियों से छुटकारा मिलती आभूषण पाने से उड़ जा फिर से पैरों की तरफ और पैरों से सिर की तरफ फ्लोर कर तू होती है वहीं अगर सिर और पैर दोनों में ही गोल्ड ज्वेलरी पहन ली जाए तो इससे शरीर में एक समान ऊर्जा का फ्लोर होगा इससे शरीर को नुकसान पहुंच सकता है और कई बीमारियां भी हो सकती है धन्यवाद
Namaste peechhe gae ki pairon mein chaandee ke aabhooshan kyon pahane jaate hain aur sone kee kyon nahin avashy jvelaree pahanana hindoo parampara ka ek aham hissa hai shaadee ho ya phir koee doosara aapase jaldee paanee ka apana ek alag mahatv hota hai dulhan kee khoobasooratee mein chaar chaand lagaane aur use sanvaarane ka kaam gae nahin karanee hai shaadeeshuda mahilaen pairon mein bichhiya aur paayal pahan ke aamataur par mahilaen sone ke gahane pahanana pasand karatee hai lekin pairon kee paayal ho ya bichhiya hamesha chaandee hee pahanee jaatee hai vaise aabhooshan paane ka kaaran mahilaon kee sundarata ko badhaata hai lekin hamaare paaramparik aur prathaon ke peechhe any kaaranon ko dikha ja sakata hai hindoo maanyata ke anusaar kamar ke neeche sone ke aabhooshan kabhee nahin padanee chaahie ise maanyata ko aage badhaate hue aapane aksar ghar ke bujurgon ko yah kahate suna hoga ki pairon mein paayal ho aur bichhiya sonee ke na hone chaahie aaie jaanate hain ki kya kaaran hai ki pairon mein sone ke aabhooshan nahin padanee chaahie sone ke aabhooshan shareer ko garm rakhate hain jabaki chaandee sheetalata pradaan karatee isalie chaandee ke aabhooshan shareer ko thanda rakhane ka kaam karata hai is prakaar kamar ke oopar sona aur kamar se neeche chaandee pahanane se shareer ka taapamaan shaaloo santulit banata hai banata rahata hai jisase kaee beemaariyon se chhutakaara milatee aabhooshan paane se ud ja phir se pairon kee taraph aur pairon se sir kee taraph phlor kar too hotee hai vaheen agar sir aur pair donon mein hee gold jvelaree pahan lee jae to isase shareer mein ek samaan oorja ka phlor hoga isase shareer ko nukasaan pahunch sakata hai aur kaee beemaariyaan bhee ho sakatee hai dhanyavaad

#जीवन शैली

bolkar speaker
नए जूते या चप्पल पहनने से अगर पैरों में छाले पड़ जाए तो क्या करें?Naye Joote Ya Chappal Pehnne Se Agar Pairon Mein Chhaale Pad Jaye To Kya Kare
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
2:52
पीछे के कि नए जूते चप्पल पहने से अगर पैरों में छाले पड़ जाए तो क्या करें फुटवियर पानी की सारी खुशी तब गायब हो जाती है जब यह पैरों को काट नहीं लगता है और इसी चलने में तकलीफ होती है कई बार तो तकलीफ इतनी बढ़ जाती है क्या आप कोई दूसरा जूता भी आराम से नहीं पहन पाते ने जोती पाने के बाद अक्सर ऐसा होता है कि पैर कट जाते हैं एक ओर जहां नया जूता पहने की खुशी होती है वही पैर कट जाने पर यह खुशी तकलीफ में बदल जाती है नए जूते चप्पल से पैर कटने के बाद आप इस स्थिति में नहीं रह पाते हैं कि कोई भी दूसरा फुटवियर पहन सके आमतौर पर जब जूती बहुत अधिक टाइट होते हैं तो त्वचा से रगड़ खाने लगती है और रगड़ के कारण यहां छाले उभर आते हैं या फिर उस जगह सूजन हो जाती है यह गांव चलने और फ्री होने के दौरान सबसे ज्यादा तकलीफ देता है की तरफ से तो जो जूते चप्पल सैंडल चौड़ाई में कम होते हैं उन फुटवियर में या तकलीफ होने की आशंका सबसे ज्यादा होती है इस तकलीफ से बचने के लिए सबसे पहले तो आप इस तरह की किसी भी फुटवियर को खरीदने से पहले पारित कर परेड करें जिससे पहनकर आप आरामदायक महसूस नहीं कर रहे हो वाह बावजूद इसकी अगर ने फुटवियर से आपके पैर कट गए हैं तो सबसे पहले उस पर अच्छी क्वालिटी की एंटीसेप्टिक क्रीम लगा ले इसके अलावा इसे घरेलू उपाय से भी अपना फुटवियर से मिले घाव को ठीक कर सकते हैं आइए बताते हैं कि क्या करना है नारियल तेल के इस्तेमाल से भी दूर की जा सकती है यह समस्या शहद का इस्तेमाल करना भी फायदेमंद होता है चावल का आटा भी इसे तकलीफ में बहुत फायदेमंद होता है एलोवेरा भी बहुत गुणकारी होती है तो घाव लगने के बाद जलन को शांत करने के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल किया जाता है साथ ही इतनी मौजूद कई गुना गुणकारी तत्व घाव को भरने में भी बहुत मददगार होते हैं आप और नारी शब्द का इस्तेमाल करना भी फायदेमंद होता है नए जूते से जब पैर कट जाते हैं तो सेहत का इस्तेमाल भी बहुत फायदेमंद रहता है शहर में घाव को भरने का गुण होता है या जलन और दर्द को भी दूर करने में बहुत फायदेमंद होते हैं नारियल का तेल फुटवियर से पैर कट जाने पर नारियल का तेल इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद होता है यह घाव को मस्टराइज करने के साथ-साथ जलन को भी कम करता है इसके अलावा नारियल तेल लगाने से घाव भी जल्दी भरता है अगर आप नारियल की पत्तियां है तो उन्हें जला ली और उसकी राख को नारियल तेल में मिलाकर घाव पर लगाएं ऐसा करने से घाव जल्दी भरने के साथ ही दाग भी नहीं रहेगा धन्यवाद
Peechhe ke ki nae joote chappal pahane se agar pairon mein chhaale pad jae to kya karen phutaviyar paanee kee saaree khushee tab gaayab ho jaatee hai jab yah pairon ko kaat nahin lagata hai aur isee chalane mein takaleeph hotee hai kaee baar to takaleeph itanee badh jaatee hai kya aap koee doosara joota bhee aaraam se nahin pahan paate ne jotee paane ke baad aksar aisa hota hai ki pair kat jaate hain ek or jahaan naya joota pahane kee khushee hotee hai vahee pair kat jaane par yah khushee takaleeph mein badal jaatee hai nae joote chappal se pair katane ke baad aap is sthiti mein nahin rah paate hain ki koee bhee doosara phutaviyar pahan sake aamataur par jab jootee bahut adhik tait hote hain to tvacha se ragad khaane lagatee hai aur ragad ke kaaran yahaan chhaale ubhar aate hain ya phir us jagah soojan ho jaatee hai yah gaanv chalane aur phree hone ke dauraan sabase jyaada takaleeph deta hai kee taraph se to jo joote chappal saindal chaudaee mein kam hote hain un phutaviyar mein ya takaleeph hone kee aashanka sabase jyaada hotee hai is takaleeph se bachane ke lie sabase pahale to aap is tarah kee kisee bhee phutaviyar ko khareedane se pahale paarit kar pared karen jisase pahanakar aap aaraamadaayak mahasoos nahin kar rahe ho vaah baavajood isakee agar ne phutaviyar se aapake pair kat gae hain to sabase pahale us par achchhee kvaalitee kee enteeseptik kreem laga le isake alaava ise ghareloo upaay se bhee apana phutaviyar se mile ghaav ko theek kar sakate hain aaie bataate hain ki kya karana hai naariyal tel ke istemaal se bhee door kee ja sakatee hai yah samasya shahad ka istemaal karana bhee phaayademand hota hai chaaval ka aata bhee ise takaleeph mein bahut phaayademand hota hai elovera bhee bahut gunakaaree hotee hai to ghaav lagane ke baad jalan ko shaant karane ke lie elovera ka istemaal kiya jaata hai saath hee itanee maujood kaee guna gunakaaree tatv ghaav ko bharane mein bhee bahut madadagaar hote hain aap aur naaree shabd ka istemaal karana bhee phaayademand hota hai nae joote se jab pair kat jaate hain to sehat ka istemaal bhee bahut phaayademand rahata hai shahar mein ghaav ko bharane ka gun hota hai ya jalan aur dard ko bhee door karane mein bahut phaayademand hote hain naariyal ka tel phutaviyar se pair kat jaane par naariyal ka tel istemaal karana bahut phaayademand hota hai yah ghaav ko mastaraij karane ke saath-saath jalan ko bhee kam karata hai isake alaava naariyal tel lagaane se ghaav bhee jaldee bharata hai agar aap naariyal kee pattiyaan hai to unhen jala lee aur usakee raakh ko naariyal tel mein milaakar ghaav par lagaen aisa karane se ghaav jaldee bharane ke saath hee daag bhee nahin rahega dhanyavaad

#जीवन शैली

bolkar speaker
हमारा दिमाग किस चीज से बढ़ता है?Hamara Dimag Kis Cheej Se Badhta Hai
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:56
दिल खुश है कि हमारा दिमाग किस चीज से बढ़ता है आप अपने शरीर को फिट और एक्टिव रखने के लिए व्यायाम करते हैं लेकिन अपने मन को स्वस्थ और दिमाग को तेज बनाए रखने के लिए क्या गरीब और बढ़ती उम्र के कारण मस्तिक सही तरीके से काम नहीं करता है और हमें चीजें को भूल जाते हैं और ज्यादा समय तक ध्यान नहीं रखते हैं को बताएंगे कि खाने में किन चीजों को शामिल किया जाए और दिन से दिमाग तेज चलने के साथ 100 साल भी हो जाता है मछली के तेल में मेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है जो हमारे दिमाग को तेज बनाता है अखरोट दिमाग तेज खाने से दिमाग तेज होता है और यादास भी बढ़ती है अखरोट के साथ किशमिश का सेवन करना अधिक फायदेमंद भी होता है धन्यवाद
Dil khush hai ki hamaara dimaag kis cheej se badhata hai aap apane shareer ko phit aur ektiv rakhane ke lie vyaayaam karate hain lekin apane man ko svasth aur dimaag ko tej banae rakhane ke lie kya gareeb aur badhatee umr ke kaaran mastik sahee tareeke se kaam nahin karata hai aur hamen cheejen ko bhool jaate hain aur jyaada samay tak dhyaan nahin rakhate hain ko bataenge ki khaane mein kin cheejon ko shaamil kiya jae aur din se dimaag tej chalane ke saath 100 saal bhee ho jaata hai machhalee ke tel mein mega 3 phaitee esid paaya jaata hai jo hamaare dimaag ko tej banaata hai akharot dimaag tej khaane se dimaag tej hota hai aur yaadaas bhee badhatee hai akharot ke saath kishamish ka sevan karana adhik phaayademand bhee hota hai dhanyavaad

#जीवन शैली

bolkar speaker
दिमाग तेज करने वाले फूड कौन से हैं?Dimag Tej Karne Vale Food Kaun Se Hain
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
1:14
मस्ती पीछे के कि दिमाग तेज करने वाले फुट कौन से हैं खानपान में इन चीजों को शामिल करके आप पे ज्यादा और दिमाग पा सकते हैं लेकिन हर कोई चाहता है कि उसकी याददाश्त अच्छी हो और दिमाग तेज हो तभी ग्राम में अच्छे नंबर आ सकते हैं और बाकी चीजों याद रखने में मदद मिलती है लेकिन क्या आप बहुत तेजी से चीजें कहीं रखकर भूल जाते हैं या एग्जाम में नंबर कम आते हैं या किसी गंभीर बीमारी का संकेत भी हो सकता है और इसके पीछे खानपान की कोई कमी भी जिम्मेदारी हो सकती है बताती है कि क्या जरूरी है पोषण भी चीज नामी अग्रवाल के अनुसार तेज दिमाग के लिए पालक के लिए ब्रोकोली और अन्य पत्तेदार हरी सब्जियां सहायक होती है कुछ अन्य सब्जियां जैसे टमाटर भी बेहद है यहां तक कि ब्लूबेरी रास्पबेरी और ब्लैकबेरी भी एंटीऑक्सीडेंट से भरे होते हैं जो मस्तिक के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद कर सकता है धन्य
Mastee peechhe ke ki dimaag tej karane vaale phut kaun se hain khaanapaan mein in cheejon ko shaamil karake aap pe jyaada aur dimaag pa sakate hain lekin har koee chaahata hai ki usakee yaadadaasht achchhee ho aur dimaag tej ho tabhee graam mein achchhe nambar aa sakate hain aur baakee cheejon yaad rakhane mein madad milatee hai lekin kya aap bahut tejee se cheejen kaheen rakhakar bhool jaate hain ya egjaam mein nambar kam aate hain ya kisee gambheer beemaaree ka sanket bhee ho sakata hai aur isake peechhe khaanapaan kee koee kamee bhee jimmedaaree ho sakatee hai bataatee hai ki kya jarooree hai poshan bhee cheej naamee agravaal ke anusaar tej dimaag ke lie paalak ke lie brokolee aur any pattedaar haree sabjiyaan sahaayak hotee hai kuchh any sabjiyaan jaise tamaatar bhee behad hai yahaan tak ki blooberee raaspaberee aur blaikaberee bhee enteeokseedent se bhare hote hain jo mastik ke svaasthy ko banae rakhane mein madad kar sakata hai dhany

#जीवन शैली

bolkar speaker
मर्दों के लिए मशरूम खाना कितना फायदेमंद होता है?Mardon Ke Lie Mushroom Khana Kitna Faydemand Hota Hai
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:35
पूछेगी कि मर्दों के लिए मशहूर खाना कितना फायदेमंद होता है मौसम भी प्रोटीन सिंह और सेलेनियम जैसी कई प्रोप्ज मशरूम को सेहत के लिए कई गुना फायदेमंद बंद बनाते हैं विटामिन से भरपूर मशरूम ब्लड शुगर को कंट्रोल रखने में मदद करती है साथ ही यह कुलुक कोलेस्ट्रोल की मात्रा नियमित करने का काम भी करती है जिससे दिल की दिल से संबंधित बीमारियां होने का खतरा काफी कम हो जाता है धन्यवाद
Poochhegee ki mardon ke lie mashahoor khaana kitana phaayademand hota hai mausam bhee proteen sinh aur seleniyam jaisee kaee propj masharoom ko sehat ke lie kaee guna phaayademand band banaate hain vitaamin se bharapoor masharoom blad shugar ko kantrol rakhane mein madad karatee hai saath hee yah kuluk kolestrol kee maatra niyamit karane ka kaam bhee karatee hai jisase dil kee dil se sambandhit beemaariyaan hone ka khatara kaaphee kam ho jaata hai dhanyavaad

#जीवन शैली

bolkar speaker
त्रिफला चूर्ण के फायदे क्या होते हैं?Triphala Churn Ke Fayde Kya Hote Hain
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
1:19
भैया यह त्रिफला चूर्ण के फायदे क्या होते हैं त्रिफला को हर उम्र के लोग रसायन औषधि के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं इनके अलावा त्रिफला के नियमित सेवन से पेट से जुड़ी बीमारियों से बचाव होता है या औषधि डायबिटीज हाई ब्लड प्रेशर जैसे गंभीर रोगों में लाभकारी है आईएएस के कुछ प्रमुख फायदे के बारे में विस्तार से जानते हैं आयुर्वेद में कब्ज को कई गंभीर रोगों की जड़ बताया गया है अगर आप कब से पीड़ित है तो आगे चलकर बाबासीर भगदड़ जैसी गंभीर बीमारियां हो सकती है तेरा चरण कब्ज दूर करने की कागज औषधि मानी जाती है या पुरानी कब्ज से पीड़ित मरीजों के लिए बहुत उपयोगी है कब्ज दूर करने के लिए रोजाना रात में सोने से पहले गुनगुने पानी में एक चम्मच त्रिफला चूर्ण मिलाकर सेवन करें कब्ज के अलावा पेट से जुड़ी एक और समस्या है एसिडिटी जिस से अधिक लोग परेशान रहते हैं या समस्या गलत खानपान और अनियमित रहन-सहन की वजह से होती है त्रिफला चूर्ण पेट फूलने और पेट में गैस की समस्या आदि सभी लोगों से आराम मिलता है आधी चम्मच त्रिफला चूर्ण को पानी के साथ रोजाना सुबह दोपहर और शाम को ले धन्यवाद
Bhaiya yah triphala choorn ke phaayade kya hote hain triphala ko har umr ke log rasaayan aushadhi ke roop mein istemaal kar sakate hain inake alaava triphala ke niyamit sevan se pet se judee beemaariyon se bachaav hota hai ya aushadhi daayabiteej haee blad preshar jaise gambheer rogon mein laabhakaaree hai aaeeees ke kuchh pramukh phaayade ke baare mein vistaar se jaanate hain aayurved mein kabj ko kaee gambheer rogon kee jad bataaya gaya hai agar aap kab se peedit hai to aage chalakar baabaaseer bhagadad jaisee gambheer beemaariyaan ho sakatee hai tera charan kabj door karane kee kaagaj aushadhi maanee jaatee hai ya puraanee kabj se peedit mareejon ke lie bahut upayogee hai kabj door karane ke lie rojaana raat mein sone se pahale gunagune paanee mein ek chammach triphala choorn milaakar sevan karen kabj ke alaava pet se judee ek aur samasya hai esiditee jis se adhik log pareshaan rahate hain ya samasya galat khaanapaan aur aniyamit rahan-sahan kee vajah se hotee hai triphala choorn pet phoolane aur pet mein gais kee samasya aadi sabhee logon se aaraam milata hai aadhee chammach triphala choorn ko paanee ke saath rojaana subah dopahar aur shaam ko le dhanyavaad

#जीवन शैली

bolkar speaker
सर्दी में नाक का बहना क्या जल्दी ठीक कर सकता है और कर सकते हैं तो कैसे करें?Sardi Mein Naak Ka Behna Kya Jaldi Theek Kar Sakta Hai Aur Kar Sakte Hain To Kaise Kare
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
2:01
से पूछा गया कि सर्दी में नाक का बहना क्या जल्दी ठीक कर सकता है और कर सकते हैं तो कैसे जल्दी आती ही ना केले की परेशानियां भी शुरू हो जाती है ऐसे ज्यादातर लोग डॉक्टर के पास जाना पसंद नहीं करती और घर में रखी कोई पेन किलर खा लेते हैं लेकिन बार-बार दवाई लेने से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता पर असर पड़ता है इसलिए आपको इन छोटी-छोटी परेशानियों का घरेलू उपाय करना चाहिए आइए जानते हैं घरेलू उपाय गरमा गरम लिक्विड का करे से बंद नाक और गले में हो रही दिक्कत से बचने के लिए आप गर्म लिक्विड का सेवन कर रहे हैं करते रहे पानी भी हल्का गुनगुना लेते रहें अदरक की चाय ब्लैक टी ग्रीन टी और कांटा जैसी चीजों का सेवन आपको रोशन और बदलते मौसम के प्रभाव से बचाएगा काली मिर्च के साथ शहद का सेवन सर्दी और पोलूशन के कारण बंद होने वाली नाक और गले की समस्या से कालीमिर्च और शहद कमीशन भी बचा सकता है एक बड़ा चम्मच शहद में दो से तीन चुटकी पिसी हुई कालीमिर्च मिला है और रात को सोने से पहले इसका सेवन करें ध्यान रखें कि इसे धीरे-धीरे चाटने पर ज्यादा लाभ होगा बजाय इसके लिए आप एक बार में खा ले अगर दिक्कत अधिक है तो दिन में दो बार तक इसका सेवन कर सकते हैं वह प्लेन में विक्स के जरिए बंधना खोलना सबसे आसान तरीका है गले पर लगाने से भी यह काफी हद तक राहत देता है आप बंद नाक है गले की दिक्कत के गर्म पानी में डालकर उसकी भाप ले सकती हैं दूध और अदरक पका ए पी ए जुकाम होने पर दूध पीने के लिए मना किया जाता है क्योंकि ऐसी स्थिति में दूध कब बढ़ाने का काम कर सकता है लेकिन अदरक डालकर पकाया गया दूध हल्दी मिक्स करने के पीने से जुकाम और गले की समस्या तुरंत राहत देता है आप सुबह और शाम के वक्त इस काश कर सकती है धन्यवाद
Se poochha gaya ki sardee mein naak ka bahana kya jaldee theek kar sakata hai aur kar sakate hain to kaise jaldee aatee hee na kele kee pareshaaniyaan bhee shuroo ho jaatee hai aise jyaadaatar log doktar ke paas jaana pasand nahin karatee aur ghar mein rakhee koee pen kilar kha lete hain lekin baar-baar davaee lene se aapakee rog pratirodhak kshamata par asar padata hai isalie aapako in chhotee-chhotee pareshaaniyon ka ghareloo upaay karana chaahie aaie jaanate hain ghareloo upaay garama garam likvid ka kare se band naak aur gale mein ho rahee dikkat se bachane ke lie aap garm likvid ka sevan kar rahe hain karate rahe paanee bhee halka gunaguna lete rahen adarak kee chaay blaik tee green tee aur kaanta jaisee cheejon ka sevan aapako roshan aur badalate mausam ke prabhaav se bachaega kaalee mirch ke saath shahad ka sevan sardee aur polooshan ke kaaran band hone vaalee naak aur gale kee samasya se kaaleemirch aur shahad kameeshan bhee bacha sakata hai ek bada chammach shahad mein do se teen chutakee pisee huee kaaleemirch mila hai aur raat ko sone se pahale isaka sevan karen dhyaan rakhen ki ise dheere-dheere chaatane par jyaada laabh hoga bajaay isake lie aap ek baar mein kha le agar dikkat adhik hai to din mein do baar tak isaka sevan kar sakate hain vah plen mein viks ke jarie bandhana kholana sabase aasaan tareeka hai gale par lagaane se bhee yah kaaphee had tak raahat deta hai aap band naak hai gale kee dikkat ke garm paanee mein daalakar usakee bhaap le sakatee hain doodh aur adarak paka e pee e jukaam hone par doodh peene ke lie mana kiya jaata hai kyonki aisee sthiti mein doodh kab badhaane ka kaam kar sakata hai lekin adarak daalakar pakaaya gaya doodh haldee miks karane ke peene se jukaam aur gale kee samasya turant raahat deta hai aap subah aur shaam ke vakt is kaash kar sakatee hai dhanyavaad

#जीवन शैली

bolkar speaker
खाने में कौन सा आहार शामिल करें जिससे हमें प्रोटीन अधिक मिले?Khane Mein Kaun Sa Aahaar Shaamil Karen Jisse Hume Protein Adhik Mile
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
1:50
कुछ आगे की खाने में कौन सा आहार शामिल करें जिससे हमें प्रोटीन अधिक मिले प्रोटीन हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी पोषक तत्व है लेकिन क्या सच में हम इस की भरपूर मात्रा लेते हैं प्रोटीन हमारे शरीर की एनर्जी के लिए बहुत जरूरी होता है और यह बच्चों से लेकर बड़ों तक हर उम्र वर्ग के लिए अलग-अलग मात्रा में लिया जाना चाहिए लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमारे खाने में प्रोटीन की कितनी मात्रा होती है इन चीजों में पाया जाता है प्रोटीन जो है दूध पनीर और दही सिर्फ प्रोटीन के अच्छे स्रोत ही नहीं बल्कि कैल्शियम और विटामिन डी के भी अच्छे स्रोत हैं अपनी रोजाना की डाइट में एक गिलास कम वर्षा वाला दूध ले दूध में दो तरह का प्रोटीन होता है दूध में दूध का प्रोटीन होता है कुल प्रोटीन का प्रतिशत 80% है क्या सीएमओ बचा हुआ 20% वह होता है प्रोटीन में सबसे अच्छी क्वालिटी का प्रोटीन अंडे में होता है अमेरिका हार्ट एसोसिएशन का कहना है कि एक स्वस्थ इंसान एक दिन में एक अंडा बिना किसी स्वास्थ्य समस्या में खा सकता है प्रोटीन का सबसे अच्छा स्रोत विन विन प्रोटीन के साथ ही फाइबर के भी बेहतरीन स्त्रोत में से एक है अखरोट प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है जिसमें विटामिन बी कॉन्प्लेक्स विशेषकर बी बी सिक्स और कई मिनरल जैसे आयरन मैग्नीशियम कॉपर और जिंक भी काफी मात्रा में होता है उसकी फोटो और दालों में प्रोटीन भरपूर मात्रा में पाया जाता है इसलिए इन्हें ज्यादा से ज्यादा अपनी डाइट में शामिल करने की कोशिश करें धन्यवाद
Kuchh aage kee khaane mein kaun sa aahaar shaamil karen jisase hamen proteen adhik mile proteen hamaare shareer ke lie bahut jarooree poshak tatv hai lekin kya sach mein ham is kee bharapoor maatra lete hain proteen hamaare shareer kee enarjee ke lie bahut jarooree hota hai aur yah bachchon se lekar badon tak har umr varg ke lie alag-alag maatra mein liya jaana chaahie lekin kya aap jaanate hain ki hamaare khaane mein proteen kee kitanee maatra hotee hai in cheejon mein paaya jaata hai proteen jo hai doodh paneer aur dahee sirph proteen ke achchhe srot hee nahin balki kailshiyam aur vitaamin dee ke bhee achchhe srot hain apanee rojaana kee dait mein ek gilaas kam varsha vaala doodh le doodh mein do tarah ka proteen hota hai doodh mein doodh ka proteen hota hai kul proteen ka pratishat 80% hai kya seeemo bacha hua 20% vah hota hai proteen mein sabase achchhee kvaalitee ka proteen ande mein hota hai amerika haart esosieshan ka kahana hai ki ek svasth insaan ek din mein ek anda bina kisee svaasthy samasya mein kha sakata hai proteen ka sabase achchha srot vin vin proteen ke saath hee phaibar ke bhee behatareen strot mein se ek hai akharot proteen ka ek achchha srot hai jisamen vitaamin bee konpleks visheshakar bee bee siks aur kaee minaral jaise aayaran maigneeshiyam kopar aur jink bhee kaaphee maatra mein hota hai usakee photo aur daalon mein proteen bharapoor maatra mein paaya jaata hai isalie inhen jyaada se jyaada apanee dait mein shaamil karane kee koshish karen dhanyavaad

#जीवन शैली

bolkar speaker
क्या बालों के बढ़ाने के लिए बायोटीन का सेवन करना चाहिए?Kya Baalon Ke Badhane Ke Lie Biotin Ka Sevan Karna Chaiye
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:47
हंसते पूछा गया कि क्या बालों की बनाने के लिए बायोटीन का सेवन करना चाहिए महिलाएं अपने बालों को बढ़ाने के लिए कई जतन करती है हम बहुत से पैसे मांगे हेयर ऑयल शैंपू और कंडीशनर पर लगा देते हैं लेकिन अपने खान-पान पर उतना ध्यान नहीं देते हैं जितना जरूरी होता है बालों को तेजी से बढ़ने के लिए कोई जादू ही तरीका नहीं है लेकिन बालों के विकास को तेजी करने और उस को मजबूत बनाने के लिए तरीके हैं उन लोगों को भी मदद कर सकता है जो बालों के पतले होने या बालों के झड़ने से पीड़ित है संक्षेप में बायोटीन का सेवन बालों की गुणवत्ता में सुधार करता है और बालों के विकास को बढ़ावा देता है धन्यवाद
Hansate poochha gaya ki kya baalon kee banaane ke lie baayoteen ka sevan karana chaahie mahilaen apane baalon ko badhaane ke lie kaee jatan karatee hai ham bahut se paise maange heyar oyal shaimpoo aur kandeeshanar par laga dete hain lekin apane khaan-paan par utana dhyaan nahin dete hain jitana jarooree hota hai baalon ko tejee se badhane ke lie koee jaadoo hee tareeka nahin hai lekin baalon ke vikaas ko tejee karane aur us ko majaboot banaane ke lie tareeke hain un logon ko bhee madad kar sakata hai jo baalon ke patale hone ya baalon ke jhadane se peedit hai sankshep mein baayoteen ka sevan baalon kee gunavatta mein sudhaar karata hai aur baalon ke vikaas ko badhaava deta hai dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
सबसे बड़ा ग्रह कौन है?Sabse Bada Greh Kaun Hai
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:32
बिछिया की सबसे बड़ा ग्रह कौन है बृहस्पति सूर्य से पांचवा और हमारे सौरमंडल का सबसे बड़ा ग्रह है यह एक गैस थाना है जिसको द्रव्यमान सूर्य के हजार विभाग के बराबर तथा सौरमंडल में मौजूद अन्य सात ग्रहों के कुल द्रव्यमान का ढाई गुना है बृहस्पति को शनि यूरेनस और नेपच्यून के साथ एक गैसीय ग्रह के रूप में वर्गीकृत किया गया है धन्यवाद
Bichhiya kee sabase bada grah kaun hai brhaspati soory se paanchava aur hamaare sauramandal ka sabase bada grah hai yah ek gais thaana hai jisako dravyamaan soory ke hajaar vibhaag ke baraabar tatha sauramandal mein maujood any saat grahon ke kul dravyamaan ka dhaee guna hai brhaspati ko shani yoorenas aur nepachyoon ke saath ek gaiseey grah ke roop mein vargeekrt kiya gaya hai dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:30
विजयनगर शहर में किलेबंदी की क्या विशेषताएं थी विजयनगर शहर की एक महत्वपूर्ण विशेषताएं इसकी विशाल एवं विद्युत किलेबंदी थी किलेबंदी की सर्वाधिक महत्वपूर्ण विशेषता यह थी कि इनसे केवल शहर को ही नहीं अपितु खेती के कार्य में प्रयोग किए जाने वाले आसपास के क्षेत्रों और जंगलों को भी गहरा गया था धन्यवाद
Vijayanagar shahar mein kilebandee kee kya visheshataen thee vijayanagar shahar kee ek mahatvapoorn visheshataen isakee vishaal evan vidyut kilebandee thee kilebandee kee sarvaadhik mahatvapoorn visheshata yah thee ki inase keval shahar ko hee nahin apitu khetee ke kaary mein prayog kie jaane vaale aasapaas ke kshetron aur jangalon ko bhee gahara gaya tha dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:18
नमस्ते पूछा गया कि हड़प्पा सभ्यता के दो प्रसिद्ध बंदरगाहों के नाम बताएं हड़प्पा के सर्वाधिक स्थल गुजरात से खोजे गए हैं लोथल और शुद्ध कोतडा सिंधु सभ्यता का बंदरगाह था धन्यवाद
Namaste poochha gaya ki hadappa sabhyata ke do prasiddh bandaragaahon ke naam bataen hadappa ke sarvaadhik sthal gujaraat se khoje gae hain lothal aur shuddh kotada sindhu sabhyata ka bandaragaah tha dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
भारतीय गणतंत्र की स्थापना कब हुई?Bhartiye Gantantra Ki Sthapana Kab Huyi
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:39
ई पूछा क्या कि भारतीय जनतंत्र की स्थापना कब हुई इसी दिन सन 1950 को भारत सरकार अधिनियम एक्ट 1935 को हटाकर भारत का संविधान लागू किया गया था एक स्वतंत्रता गणराज्य बनने और देश में कानून का राज्य स्थापित करने के लिए संविधान को 26 नवंबर 1949 को भारतीय संविधान सभा द्वारा अपनाया गया और 26 जनवरी 1950 को इसे एक लोकतांत्रिक सरकार प्रणाली के साथ लागू किया गया था धन्यवाद
Ee poochha kya ki bhaarateey janatantr kee sthaapana kab huee isee din san 1950 ko bhaarat sarakaar adhiniyam ekt 1935 ko hataakar bhaarat ka sanvidhaan laagoo kiya gaya tha ek svatantrata ganaraajy banane aur desh mein kaanoon ka raajy sthaapit karane ke lie sanvidhaan ko 26 navambar 1949 ko bhaarateey sanvidhaan sabha dvaara apanaaya gaya aur 26 janavaree 1950 ko ise ek lokataantrik sarakaar pranaalee ke saath laagoo kiya gaya tha dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
राज्य हड़प्पा नीति किसने लागू की?Rajya Hadappa Neeti Kisne Lagu Ki
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:41
दीपू शाक्य की राजे हरप्पा नीति किसने लागू की थी डलहौजी ने भारत की सभी प्रदेशों को अंग्रेजी अधिकार के अंतर्गत लाने का प्रयास किया लॉर्ड डलहौजी की तीनों नीतियों में से सबसे महत्वपूर्ण निर्णय की थी व्यक्तिगत का सिद्धांत डलहौजी की राज्य हड़प की नीति या गोद प्रथा निषेध की नीति उसके कार्यकाल का भी इसी नीति के कारण अधिक याद किया जाता है धन्यवाद
Deepoo shaaky kee raaje harappa neeti kisane laagoo kee thee dalahaujee ne bhaarat kee sabhee pradeshon ko angrejee adhikaar ke antargat laane ka prayaas kiya lord dalahaujee kee teenon neetiyon mein se sabase mahatvapoorn nirnay kee thee vyaktigat ka siddhaant dalahaujee kee raajy hadap kee neeti ya god pratha nishedh kee neeti usake kaaryakaal ka bhee isee neeti ke kaaran adhik yaad kiya jaata hai dhanyavaad

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
भारत के सबसे सुपर फास्ट ट्रेन चलने वाली का नाम?Bharat Ke Sabse Super Fast Train Chalne Vali Ka Naam
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
0:23
क्या भारत के सबसे सुपर फास्ट ट्रेन चलने वाली का नाम बताएं गतिमान एक्सप्रेस भारत में सबसे तेज गति से चलने वाली रेलगाड़ी में से एक है जो दिल्ली और झांसी के बीच चलती है यह 160 किलोमीटर की प्रति घंटा की गति से चलती है और फिलहाल भारत की सबसे तेज रेलगाड़ी है धन्यवाद
Kya bhaarat ke sabase supar phaast tren chalane vaalee ka naam bataen gatimaan eksapres bhaarat mein sabase tej gati se chalane vaalee relagaadee mein se ek hai jo dillee aur jhaansee ke beech chalatee hai yah 160 kilomeetar kee prati ghanta kee gati se chalatee hai aur philahaal bhaarat kee sabase tej relagaadee hai dhanyavaad

#टेक्नोलॉजी

Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
2:38
तुझे क्या कि गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है बात वे गणतंत्र पर क्या आप कोई कविता सुना सकती हैं चलिए पहले हम आपको बता दें कि गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता संसार 1950 में 26 जनवरी के दिन ही हमारे देश में संविधान लागू हुआ था जिस के उपलक्ष में हड़ताल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है एक का तंत्र गणराज्य बनने के लिए भारतीय संविधान सभा द्वारा 26 नवंबर 1949 को संविधान अपनाया गया था लेकिन इसे 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया था चलिए आपको कविता सुनाते हैं तिरंगा लहराता है अपनी पूरी शान से हमें मिली आजादी वीर शहीदों के बलिदान की आजादी के लिए हमारी लंबी चली लड़ाई थी लाखों लोगों ने प्राणों से कीमत बढ़ी चुकाई थी व्यापारी बनकर आए और चलते हम पर राज किया हम को आपस में लगवाने की नीति अपनाई थी हमने अपना गौरव पाया अपने स्वाभिमान से हमें मिली आजादी वीर शहीदों के बलिदान से गांधी तिलक सुभाष जवाहर का प्यारा यह दिल से जियो और जीने दो का सबको देता संदेश प्रहरी बनकर खड़ा हिमालय जिसके उत्तर द्वार पर हिंद महासागर दक्षिण में इसके लिए विशेष लगी गूंजने दसों दिशाएं भी रोके यशकांत हमें मिली आजादी वीर शहीदों के बलिदान से हमें हमारी मातृभूमि से इतना मिला दुलारे उसके आंचल की छाया से यह छोटा संसार है हमने कविता के आगे अपना शीश झुकाएंगे सच पूछो तो पूरा विश्व हमारा ही परिवार है मित्र शांति की तीली हवाई अपने हिंदुस्तान से हमें मिली आजादी वीर शहीदों के बलिदान से जय हिंद हैप्पी रिपब्लिक डे धन्यवाद
Tujhe kya ki ganatantr divas kyon manaaya jaata hai baat ve ganatantr par kya aap koee kavita suna sakatee hain chalie pahale ham aapako bata den ki ganatantr divas kyon manaaya jaata sansaar 1950 mein 26 janavaree ke din hee hamaare desh mein sanvidhaan laagoo hua tha jis ke upalaksh mein hadataal 26 janavaree ko ganatantr divas ke roop mein manaaya jaata hai ek ka tantr ganaraajy banane ke lie bhaarateey sanvidhaan sabha dvaara 26 navambar 1949 ko sanvidhaan apanaaya gaya tha lekin ise 26 janavaree 1950 ko laagoo kiya gaya tha chalie aapako kavita sunaate hain tiranga laharaata hai apanee pooree shaan se hamen milee aajaadee veer shaheedon ke balidaan kee aajaadee ke lie hamaaree lambee chalee ladaee thee laakhon logon ne praanon se keemat badhee chukaee thee vyaapaaree banakar aae aur chalate ham par raaj kiya ham ko aapas mein lagavaane kee neeti apanaee thee hamane apana gaurav paaya apane svaabhimaan se hamen milee aajaadee veer shaheedon ke balidaan se gaandhee tilak subhaash javaahar ka pyaara yah dil se jiyo aur jeene do ka sabako deta sandesh praharee banakar khada himaalay jisake uttar dvaar par hind mahaasaagar dakshin mein isake lie vishesh lagee goonjane dason dishaen bhee roke yashakaant hamen milee aajaadee veer shaheedon ke balidaan se hamen hamaaree maatrbhoomi se itana mila dulaare usake aanchal kee chhaaya se yah chhota sansaar hai hamane kavita ke aage apana sheesh jhukaenge sach poochho to poora vishv hamaara hee parivaar hai mitr shaanti kee teelee havaee apane hindustaan se hamen milee aajaadee veer shaheedon ke balidaan se jay hind haippee ripablik de dhanyavaad

#मनोरंजन

bolkar speaker
क्या आप 26 जनवरी पर कोई कविता सुना सकते हैं?Kya Aap 26 January Par Koi Kavita Suna Sakte Hain
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
1:10
मैंने पूछा गया कि क्या आप 26 जनवरी पर कोई कविता सुना सकती है जी बिल्कुल चांद सूरत का तिरंगा भीम की गंगा तिरंगा विश्व में मेन यारा तिरंगा जान से प्यारा तिरंगा सारे हिंदुस्तान की बलिदान गाता गाएगा यह तिरंगा आसमान पर शांति लहराए गा रे केसरिया हमारा चक्रीय गति का सितारा सुमित सब रंगों में प्यारा शांति की कथा इशारा ही हरा खुशियों में भरा है सोना उठ जाती तेरा है हर धर्म हर जाति के गुलशन को यह मौका आएगा यह आजादी का प्रथम इसमें 3 तू ओके मौसम इसकी रक्षा में लगी हम इसका स्वर है वंदे मातरम साथ हो तब की तिरंगा हाथों में सबकी तिरंगा तिरंगा सारी दुनिया में उजाला लाइका हैप्पी रिपब्लिक डे आप सबको गणतंत्र दिवस की ढेरों शुभकामनाएं धन्यवाद
Mainne poochha gaya ki kya aap 26 janavaree par koee kavita suna sakatee hai jee bilkul chaand soorat ka tiranga bheem kee ganga tiranga vishv mein men yaara tiranga jaan se pyaara tiranga saare hindustaan kee balidaan gaata gaega yah tiranga aasamaan par shaanti laharae ga re kesariya hamaara chakreey gati ka sitaara sumit sab rangon mein pyaara shaanti kee katha ishaara hee hara khushiyon mein bhara hai sona uth jaatee tera hai har dharm har jaati ke gulashan ko yah mauka aaega yah aajaadee ka pratham isamen 3 too oke mausam isakee raksha mein lagee ham isaka svar hai vande maataram saath ho tab kee tiranga haathon mein sabakee tiranga tiranga saaree duniya mein ujaala laika haippee ripablik de aap sabako ganatantr divas kee dheron shubhakaamanaen dhanyavaad

#मनोरंजन

bolkar speaker
हमारे देश की राष्ट्रगान बनाने के पीछे कोई कहानी भी है क्या?Hamare Desh Ki Rastryagaan Banane Ke Piche Koi Kahani Bhe Hai Kya
Usha Gupta Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Usha जी का जवाब
Housewife
2:57
एमएसपी पूछेंगे कि हमारी देश की राष्ट्रीय गान बनाने के पीछे कोई कहानी भी है क्या जी भारत का राष्ट्रीय गान जन गण मन है क्या आप जानती हैं कि राष्ट्रीय गान क्या होता है यह एक ऐसा गांव होता है जो किसी भी देश के इतिहास और पारंपरिक को दर्शाता है यह देश को अलग पहचान के साथ सभी देशवासियों को एकजुट भी करता है हम आपको बता दें कि जब एक सरकार उस गांव को गाने को स्वीकार कर आप बताओ अधिनियम पारित नहीं करती तब तक वह गाना राष्ट्रीय गान के रूप में पूरे देश में लागू नहीं किया जा सकता 24 जनवरी 1950 को संविधान सभा द्वारा जन गण मन हिंदी संस्करण को राष्ट्रीय गान के रूप में अपनाया गया था जन गण मन राष्ट्रीय गान को रविंद्र नाथ टैगोर ने बंगाली भाषा में लिखा था राष्ट्रीय गान के गायक गायन की अवधि 52 सेकंड है परंतु कुछ अवसरों पर इसको संक्षिप्त में भी गाया जाता है जिसमें केवल 20 सेकंड ही लगते हैं क्योंकि उस समय राष्ट्रीय गान की पहली और अंतिम पंक्तियों को ही गाया जाता था क्या आप जानते हैं कि सन 1911 तक भारत की राजधानी बंगाल हुआ करती थी 1905 में जब बंगाल विभाजन हुआ तो आम जनता एवं आंदोलनकारी बंग भंग आंदोलन का विरोध करने लगे तब अंग्रेजों ने कोलकाता के बदले दिल्ली को भारत की राजधानी बनाया धीरे धीरे भारतीयों के दिलों में स्वतंत्रता की भावना जागृत होने लगी थी जब 1911 में कोलकाता से दिल्ली को राजधानी के रूप में स्थानांतरित किया गया तब दिल्ली दरबार का आयोजन हुआ था जिसमें इंग्लैंड के राजा जॉर्ज पंचम को आमंत्रित किया गया था ऐसा कहा जाता है कि रविंद्र नाथ टैगोर को उनके स्वागत में एक गीत लिखने को कहा गया था उस समय टैगोर परिवार के कई लोग ईस्ट इंडिया कंपनी में काम किया करते थे इसलिए रविंद्र नाथ टैगोर से जब गीत लिखने को कहा तो उन्होंने बंगाली भाषा में जन गण मन को एक कविता में कविता के रूप में लिखें दिया था धन्यवाद
Emesapee poochhenge ki hamaaree desh kee raashtreey gaan banaane ke peechhe koee kahaanee bhee hai kya jee bhaarat ka raashtreey gaan jan gan man hai kya aap jaanatee hain ki raashtreey gaan kya hota hai yah ek aisa gaanv hota hai jo kisee bhee desh ke itihaas aur paaramparik ko darshaata hai yah desh ko alag pahachaan ke saath sabhee deshavaasiyon ko ekajut bhee karata hai ham aapako bata den ki jab ek sarakaar us gaanv ko gaane ko sveekaar kar aap batao adhiniyam paarit nahin karatee tab tak vah gaana raashtreey gaan ke roop mein poore desh mein laagoo nahin kiya ja sakata 24 janavaree 1950 ko sanvidhaan sabha dvaara jan gan man hindee sanskaran ko raashtreey gaan ke roop mein apanaaya gaya tha jan gan man raashtreey gaan ko ravindr naath taigor ne bangaalee bhaasha mein likha tha raashtreey gaan ke gaayak gaayan kee avadhi 52 sekand hai parantu kuchh avasaron par isako sankshipt mein bhee gaaya jaata hai jisamen keval 20 sekand hee lagate hain kyonki us samay raashtreey gaan kee pahalee aur antim panktiyon ko hee gaaya jaata tha kya aap jaanate hain ki san 1911 tak bhaarat kee raajadhaanee bangaal hua karatee thee 1905 mein jab bangaal vibhaajan hua to aam janata evan aandolanakaaree bang bhang aandolan ka virodh karane lage tab angrejon ne kolakaata ke badale dillee ko bhaarat kee raajadhaanee banaaya dheere dheere bhaarateeyon ke dilon mein svatantrata kee bhaavana jaagrt hone lagee thee jab 1911 mein kolakaata se dillee ko raajadhaanee ke roop mein sthaanaantarit kiya gaya tab dillee darabaar ka aayojan hua tha jisamen inglaind ke raaja jorj pancham ko aamantrit kiya gaya tha aisa kaha jaata hai ki ravindr naath taigor ko unake svaagat mein ek geet likhane ko kaha gaya tha us samay taigor parivaar ke kaee log eest indiya kampanee mein kaam kiya karate the isalie ravindr naath taigor se jab geet likhane ko kaha to unhonne bangaalee bhaasha mein jan gan man ko ek kavita mein kavita ke roop mein likhen diya tha dhanyavaad
URL copied to clipboard