#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
हमें कौन से भगवान की पूजा करनी चाहिए?Hume Kaun Se Bhagwan Ki Pooja Karni Chahiye
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:54
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि हमें कौन से भगवान की पूजा करनी चाहिए तो मेरा मानना यह है कि जो लोग देवताओं को मानते हैं वह आपने अपने अनुसार देवता की पूजा कर सकता है तथा 6 से ज्यादा लोग आज के समय में भगवान शिव की भगवान हनुमान की और भगवान श्री कृष्ण की और देवी माता की भगवान विष्णु की इन तथा इन क्या हो तारों के बीच पूजा करती है तथा हमें सबसे ज्यादा भगवान श्री भगवान विष्णु और भगवान हनुमान और राम देवी देवताओं इनमें किसी की भी पूजा कर लेनी चाहिए

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
सबसे अधिक ऑक्सीजन देने वाले कौन से पेड़ है?Sabse Adhik Oxygen Dene Wale Kaun Se Ped Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:47
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सा वाला की सबसे अधिक ऑक्सीजन देने वाले कौन से पेड़ तो वहां पीपल का पेड़ और बरगद का पेड़ इन पेड़ों के नीचे हम रात को भी सोच सकते हैं दिन में भी सोच सकते हैं जबकि अन्य पेड़ों के नीचे हम दिन में सो सकती है लेकिन रात को नहीं सो सकते क्योंकि रात के समय यह कार्बन डाइऑक्साइड गैस छोड़ते हैं जिससे हमारे दम घुटने की संभावना बनी रहती है इसलिए जब भी हम इस ऑक्सीजन की ज्यादा आवश्यकता है तो हमें पीपल के पेड़ के नीचे सोना चाहिए वहां रात के समय भी वे ऑक्सीजन ही देता है

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
क्या फटे दूध का पानी भी हमारे लिए कारगर साबित हो सकता है?Kya Fate Doodh Ka Pani Bhi Humare Liye Kaargar Saabit Ho Sakta Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:40
शिकार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि फटे दूध का पानी हमारे लिए कारगर साबित हो सकता है जी हां हो सकता यह त्वचा के लिए भी बहुत फायदेमंद है क्योंकि जब हम नाते हैं तो नहाते समय हम दूध फटने के बाद बचे हुए पानी से एक का प्यार दो कप में आने वाले पानी में मिला लें इसे उसके इस्तेमाल से आपकी त्वचा शॉक्ड और चमकदार बनी रहेगी तथा इस पानी में मेट्रो ब्रिज एबीएल मोड़ होते हैं जो कि त्वचा का पीएच लेवल सही बनाए रखने में मददगार साबित होता है
Shikaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki phate doodh ka paanee hamaare lie kaaragar saabit ho sakata hai jee haan ho sakata yah tvacha ke lie bhee bahut phaayademand hai kyonki jab ham naate hain to nahaate samay ham doodh phatane ke baad bache hue paanee se ek ka pyaar do kap mein aane vaale paanee mein mila len ise usake istemaal se aapakee tvacha shokd aur chamakadaar banee rahegee tatha is paanee mein metro brij ebeeel mod hote hain jo ki tvacha ka peeech leval sahee banae rakhane mein madadagaar saabit hota hai

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
इंसान की विनम्रता की असली परीक्षा कब होती है?Insaan Ki Vinamrata Ki Asli Pareeksha Kab Hoti Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:35
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल कि इंसान की विनम्रता की असली परीक्षा कब होती है तो इंसान के दिन मृतक परीक्षा का कोई भी नाजायज फायदा उठाना चाहता है तो वे उसके साथ व्यवहार कर कैसा व्यवहार करता है यही उसकी असली परीक्षा होती है मतलब कि इंसान के साथ कौन कैसा व्यवहार करता है कौन उस का नाजायज फायदा उठाता है इस कारण उसकी असली परीक्षा होती है

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
क्या प्याज का रस बालों में लगाने से बाल उगते हैं?Kya Pyaaj Ka Ras Baalo Me Lagane Se Baal Ugate Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:24
मत कर दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि क्या प्याज का रस बालों में लगाने से बाल हो सकते हैं जी हां वह भी सकते हैं इसका उपाय यह है कि प्याज के रस में प्रचुर मात्रा में सल्फर होता जो कि स्कैल्प के ब्लड सरकुलेशन में सुधार करता है इससे नए बालों को उगाने में मदद मिलती है और बालों का वॉल्यूम बढ़ता है
Mat kar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki kya pyaaj ka ras baalon mein lagaane se baal ho sakate hain jee haan vah bhee sakate hain isaka upaay yah hai ki pyaaj ke ras mein prachur maatra mein salphar hota jo ki skailp ke blad sarakuleshan mein sudhaar karata hai isase nae baalon ko ugaane mein madad milatee hai aur baalon ka volyoom badhata hai

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
पपीता खाने के कुछ स्वास्थ्यवर्धक लाभ क्या है?Papita Khane Ke Kuch Swasthyavardhak Laabh Kya Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:45
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि पपीता खाने के कुछ स्वास्थ्यवर्धक लाभ क्या है तो दोस्तों अगर हम रोज पपीता खा ले तो हम कहीं बीमारी से दूर हो सकते हैं जैसे कि दिल को पपीता खाएंगे तो दिल को दुरुस्त रखेगा और पपीते में विटामिन सी होता है तथा एंटी ऑक्सीडेंट रात फाइबर से भरपूर होता है और पपीता हमारे वजन को नियंत्रित रखता है और इम्यूनिटी मजबूत होती है और पपीता खाने से आंखों की सेहत सुधरती है और कैंसर से बचाव होता है पता पपीता खाने में पाचन में फायदेमंद होता है
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki papeeta khaane ke kuchh svaasthyavardhak laabh kya hai to doston agar ham roj papeeta kha le to ham kaheen beemaaree se door ho sakate hain jaise ki dil ko papeeta khaenge to dil ko durust rakhega aur papeete mein vitaamin see hota hai tatha entee okseedent raat phaibar se bharapoor hota hai aur papeeta hamaare vajan ko niyantrit rakhata hai aur imyoonitee majaboot hotee hai aur papeeta khaane se aankhon kee sehat sudharatee hai aur kainsar se bachaav hota hai pata papeeta khaane mein paachan mein phaayademand hota hai

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
इसबगोल को दूध के साथ पीने से क्या फायदे होते हैं?Isabgol Ko Dudh Ke Saath Peene Se Kya Fayde Hote Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:34
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि इस भूगोल को दूध के साथ पीने से क्या फायदा है तो उसका न्यूज़ फायदा जैसे कि एक चम्मच इसबगोल की भूसी को रात को सोते समय गर्म पानी या दूध के साथ लेने से कब्ज दूर होती है तथा इस भूगोल की बुझती हुआ त्रिफला चूर्ण को बराबर मात्रा में मिला ले तो इससे लगभग 3 से 5 ग्राम तक रात को गुनगुने जल के साथ सेवन करने से सुबह मल त्यागने में परेशानी नहीं होती
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki is bhoogol ko doodh ke saath peene se kya phaayada hai to usaka nyooz phaayada jaise ki ek chammach isabagol kee bhoosee ko raat ko sote samay garm paanee ya doodh ke saath lene se kabj door hotee hai tatha is bhoogol kee bujhatee hua triphala choorn ko baraabar maatra mein mila le to isase lagabhag 3 se 5 graam tak raat ko gunagune jal ke saath sevan karane se subah mal tyaagane mein pareshaanee nahin hotee

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
नाक की हड्डी टेढ़ी हो जाने के क्या लक्षण है?Naak Ki Haddi Tedi Ho Jaane Ke Kya Lakshan Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:46
नमस्कार दोस्तों बोलकर आपने स्वागत है सवा लाख की नाक की हड्डी टेढ़ी हो जाने के क्या लक्षण है तो इनमें मेरा मानना है कि नाक की हड्डी टेढ़ी जब होती है तो नाक बंद रहना जुखाम सिरदर्द कान गले में दिक्कत ना हो तो इलाज भी करा सकते हैं यदि हां तो नहीं करा सकते याद आता लोग इसी में परेशान रहते हैं तथा गले में कुछ फंसा होने गया नहीं करते समय कुछ महसूस होने की शिकायत होती है और एलर्जी गले का इन्फेक्शन और एसिडिटी के कारण सीने में जलन हॉलीवुड ऊपर आना खट्टी खट्टी डकार आना यह सब के लक्षण हैं
Namaskaar doston bolakar aapane svaagat hai sava laakh kee naak kee haddee tedhee ho jaane ke kya lakshan hai to inamen mera maanana hai ki naak kee haddee tedhee jab hotee hai to naak band rahana jukhaam siradard kaan gale mein dikkat na ho to ilaaj bhee kara sakate hain yadi haan to nahin kara sakate yaad aata log isee mein pareshaan rahate hain tatha gale mein kuchh phansa hone gaya nahin karate samay kuchh mahasoos hone kee shikaayat hotee hai aur elarjee gale ka inphekshan aur esiditee ke kaaran seene mein jalan holeevud oopar aana khattee khattee dakaar aana yah sab ke lakshan hain

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
पीसीओडी के लक्षण क्या है और पीसीओडी का घरेलू इलाज कैसे कर सकते हैं?Pcod Ke Lakshan Kya Hai Aur Pcod Ka Gharelu Ilaj Kaise Kar Sakte Hain
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
1:14
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि पीसीओडी के लक्षण क्या है तो पी सी और डी की फुल फॉर्म होती है आप पॉलीसिस्टिक ओवरी डिजीज तथा महिलाओं में एंड्रोजन अर्थात पुरुष हार्मोन की अधिकता होने वाला विकार है तथा पीसीओडी के लक्षण है कि अनियमित महावारी पीरियड नहीं आना दर्द भरा वह लम्हा मासिक धर्म चेहरे पर अनचाहे बाल मोहन से पेल्विक दर्द संतान प्राप्ति में कठिनाई हो ना यह तो इन के लक्षणों तथा पीसीओडी के घरेलू इलाज इलाज है इंसुलेशन रेजिस्टेंस लेवल को कम करना प्रजनन क्षमता को बढ़ाना अनचाहे बालों को विकास को कम करना और वंशिका उपचार करना मासिक धर्म को पुनः नियमित करना मैट्रियल हाय पलासिया और एंडोमेट्रियल कैंसर से बचाव करना तथा वजन कम करने में इन्सुलिन रेजिस्टेंस कम करने में सामान्य उपाय नई साइकिल
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki peeseeodee ke lakshan kya hai to pee see aur dee kee phul phorm hotee hai aap poleesistik ovaree dijeej tatha mahilaon mein endrojan arthaat purush haarmon kee adhikata hone vaala vikaar hai tatha peeseeodee ke lakshan hai ki aniyamit mahaavaaree peeriyad nahin aana dard bhara vah lamha maasik dharm chehare par anachaahe baal mohan se pelvik dard santaan praapti mein kathinaee ho na yah to in ke lakshanon tatha peeseeodee ke ghareloo ilaaj ilaaj hai insuleshan rejistens leval ko kam karana prajanan kshamata ko badhaana anachaahe baalon ko vikaas ko kam karana aur vanshika upachaar karana maasik dharm ko punah niyamit karana maitriyal haay palaasiya aur endometriyal kainsar se bachaav karana tatha vajan kam karane mein insulin rejistens kam karane mein saamaany upaay naee saikil

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
बेल्स पाल्सी क्या है तथा बेल्स पाल्सी का इलाज क्या है?Bels Palsi Kya Hai Tatha Bels Palsi Ka Ilaaj Kya Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
1:15
कर दोस्तों बोल कर आप में स्वागत है सवाल है कि बेल्स पाल्सी क्या है तो बेल्स पाल्सी वह की बेस्ट पालिसी के बहुत सारे लक्षण बिना टीवी ट्रीटमेंट के भी ठीक हो जाते हैं लेकिन सामान्य होने में मरीज को कई महीने तक लग जाते हैं जल्दी रिकवर के लिए कई तरह के मेडिसन दी जाती है मतलब की दवाई दी जाती है जैसे की सूजन कम करने के लिए एंटीवायरल मेडिसिन पेन किलर आई ड्रॉप्स फेस मसाज और कुछ भेज फिजिकल थेरेपी एक्सरसाइजेज ओं के चेहरे की मछला को राम देती है तथा बेल्ट प्राइस क्या है यह मैं आपको बताता हूं बेल्ट पैर छुआ है कि जो चेहरे के एक तरफ लगवा माना भी कहा जाता है तथा बेल्स पाल्सी एक अस्थाई लकवा है जो कि चेहरे की मांसपेशियों को कमजोर होने के कारण होता है ऐसा आमतौर पर तब होता है जब आपके चेहरे की स्पेशल को कंट्रोल करने वाली मशीन में सूजन आ जाए या वह सिकुड़ जाए या इसके होने से कोई स्पष्ट कारण मौजूद नहीं है चेहरे की नसें डैमेज होने का कारण भी हो सकता है
Kar doston bol kar aap mein svaagat hai savaal hai ki bels paalsee kya hai to bels paalsee vah kee best paalisee ke bahut saare lakshan bina teevee treetament ke bhee theek ho jaate hain lekin saamaany hone mein mareej ko kaee maheene tak lag jaate hain jaldee rikavar ke lie kaee tarah ke medisan dee jaatee hai matalab kee davaee dee jaatee hai jaise kee soojan kam karane ke lie enteevaayaral medisin pen kilar aaee drops phes masaaj aur kuchh bhej phijikal therepee eksarasaijej on ke chehare kee machhala ko raam detee hai tatha belt prais kya hai yah main aapako bataata hoon belt pair chhua hai ki jo chehare ke ek taraph lagava maana bhee kaha jaata hai tatha bels paalsee ek asthaee lakava hai jo ki chehare kee maansapeshiyon ko kamajor hone ke kaaran hota hai aisa aamataur par tab hota hai jab aapake chehare kee speshal ko kantrol karane vaalee masheen mein soojan aa jae ya vah sikud jae ya isake hone se koee spasht kaaran maujood nahin hai chehare kee nasen daimej hone ka kaaran bhee ho sakata hai

#जीवन शैली

bolkar speaker
मन कभी-कभी पागलपंती क्यों करता है?Man Kabhi Kabhi Pagalpanti Kyun Karta Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:27
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि मन कभी-कभी पागलपंती क्यों करता हूं तो इसका कारण है मन पर दबाव मतलब की क्रिया प्रक्रिया का नियम मतलब कि जब मन पर दबाव ज्यादा होगा तो वह खुद को शांत करने के लिए पागलपंती करता है तथा मन में हमेशा बेवजह घबराहट होती रहती है
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki man kabhee-kabhee paagalapantee kyon karata hoon to isaka kaaran hai man par dabaav matalab kee kriya prakriya ka niyam matalab ki jab man par dabaav jyaada hoga to vah khud ko shaant karane ke lie paagalapantee karata hai tatha man mein hamesha bevajah ghabaraahat hotee rahatee hai

#जीवन शैली

bolkar speaker
मन के भटकाव से कैसे बचें?Man Ke Bhatkav Se Kaise Bache
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:34
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि मन के भटकाव से कैसे बचे तो इसका एक उपाय है कि इसलिए सबसे पहले हमें आराम से सीधे होकर सीधे होकर बैठ जाए और अपना सारा ध्यान सांस के लिए पर केंद्रित करें तथा नाक से आती-जाती हवाई अप एट के अंदर बाहर होने की क्रिया पर गौर करें इससे आपको लंबी अवधि में ध्यान केंद्रित करने में मदद मिलेगी इस तरह करने से मन के बटाम भटकाव से बच सकते हैं
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki man ke bhatakaav se kaise bache to isaka ek upaay hai ki isalie sabase pahale hamen aaraam se seedhe hokar seedhe hokar baith jae aur apana saara dhyaan saans ke lie par kendrit karen tatha naak se aatee-jaatee havaee ap et ke andar baahar hone kee kriya par gaur karen isase aapako lambee avadhi mein dhyaan kendrit karane mein madad milegee is tarah karane se man ke bataam bhatakaav se bach sakate hain

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
इंटरनेट आफ थिंग्स क्या है और यह कैसे काम करता है?Internet Of Things Kya Hai Aur Yeh Kaise Kaam Karta Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
1:31
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि इंटरनेट ऑफ थिंग्स क्या है तो इसका आईओटीआईओटी बोलते हैं इस का फुल फॉर्म है internet-of-things कि इसका यह है कि अगर इसमें आसान भाषा में कहूं तो यह हो सकता है कि कनेक्ट कनेक्ट कनेक्ट कनेक्ट जिसमें सभी उपकरण जो कि वह से चलते हैं उन्हें इंटरनेट के साथ कनेक्ट करने दिया जाता है या फिर एक दूसरे से साथ कनेक्ट हो सके मतलब कि इंटरनेट उठेंगे के साथ कनेक्ट है जिसकी मदद से हम सारे ऑटोमेटिक मोड में चले जाएंगे और हमें उनके विषय में और चिंता करने की जरूरत नहीं है इससे हम अपने दैनिक कम करने की जरूरत नहीं है तो इस मैंने सोचा कि क्यों न इंटरनेट क्यों मैंने किया जाता है जैसे कि इस साल कौन है कॉपी में करा वाशिंग मशीन हेडफोन हेलेंस वायरल डिवाइस शादी में था जैसे कि टीवी है टीवी रिमोट तो रिमोट रिमोट ऐसे ही टीवी चलता है मोड सेटिंग बंद होता है कि आई उदाहरण
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki intaranet oph things kya hai to isaka aaeeoteeaeeotee bolate hain is ka phul phorm hai intairnait-of-things ki isaka yah hai ki agar isamen aasaan bhaasha mein kahoon to yah ho sakata hai ki kanekt kanekt kanekt kanekt jisamen sabhee upakaran jo ki vah se chalate hain unhen intaranet ke saath kanekt karane diya jaata hai ya phir ek doosare se saath kanekt ho sake matalab ki intaranet uthenge ke saath kanekt hai jisakee madad se ham saare otometik mod mein chale jaenge aur hamen unake vishay mein aur chinta karane kee jaroorat nahin hai isase ham apane dainik kam karane kee jaroorat nahin hai to is mainne socha ki kyon na intaranet kyon mainne kiya jaata hai jaise ki is saal kaun hai kopee mein kara vaashing masheen hedaphon helens vaayaral divais shaadee mein tha jaise ki teevee hai teevee rimot to rimot rimot aise hee teevee chalata hai mod seting band hota hai ki aaee udaaharan

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
दुनिया में मुफ्त में मिलने वाली चीज क्या है जो बेशकीमती है?Duniya Me Muft Mein Milne Vali Cheej Kya Hai Jo Beshkeemti Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:44
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि दुनिया में मुफ्त मिलने वाली चीज क्या है और जो बेशकीमती है तो उसमें मुक्त मिलने वाली चीज का या जैसे कि नंबर 1 आता है हवा नंबर 253 सूर्य की ऊर्जा ताप नंबर 42 के बड़े-बड़े सुंदरवन पेड़ पौधे पांच विषय की जैसी नदियां हां जैसे गंगा जमुना अर्थात प्रकृति हमारे साथ जमीन पाठ वर्षा जी मुफ्त मिलते हैं
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki duniya mein mupht milane vaalee cheej kya hai aur jo beshakeematee hai to usamen mukt milane vaalee cheej ka ya jaise ki nambar 1 aata hai hava nambar 253 soory kee oorja taap nambar 42 ke bade-bade sundaravan ped paudhe paanch vishay kee jaisee nadiyaan haan jaise ganga jamuna arthaat prakrti hamaare saath jameen paath varsha jee mupht milate hain

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
फोन रिबूट करने के बाद फिंगरप्रिंट काम क्यों नहीं करता है?Phone Reboot Karne Ke Baad Fingarprint Kaam Kyo Nahi Karta Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
1:47
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि जब भी फोन रिबूट करने के बाद फिंगरप्रिंट रिबूट करता है तो उसके बाद फिंगरप्रिंट काम क्यों नहीं करता क्योंकि ऐसा कंपनियों ने लागू कर रख मोबाइल फोन की कंपनियों ने लागू कर रखा है क्योंकि मोबाइल कंपनीज इन आई यह सिस्टम इसलिए लागू किया कि अगर हम पासवर्ड को भूल जाए तो यह सिस्टम पासवर्ड को याद रखने के लिए ही मोबाइल नहीं इस कंपनी को बनाया है और आप भी अपने पासवर्ड को याद रखें और पासपोर्ट के द्वारा ही मोबाइल को ओपन करने का प्रयत्न प्रयास करना चाहिए अगर आप पत्र घंटे तक अपना पासपोर्ट के मोबाइल को अपने करोगे तो मोबाइल अपने आप ही आपको अपना पासवर्ड डालना कोई रोड देगा क्योंकि ऐसा करना से ज्यादातर लोग अपना मोबाइल को अपना फिंगरप्रिंट सेंसर से बोलते हैं और उसके कारण लोग अपना पासवर्ड भी भूल जाते हैं इसलिए हर व्यक्ति को लगभग पासवर्ड याद रखने की जरूरत होती है जरा कारण यह भी है कि कंपनी ने इसलिए बनाया कि जब कहीं फोन को एक चोरी कर ले तो वह कहीं फोन को रिसेट करेगा तो उसका काम ना आए उससे पहले उसको दुकान पर जाकर उसकी आईडी मांगेगा और उसका आधार कार्ड मांगेगा फोटो मांगा था तब जाकर लॉक खुलेगा ऐसे लोग नहीं खुलेगा क्यों किया एक नियम बनाया गया इस तरह मोबाइल को जिसका भी चोरी हुआ है पता लगाया जा सकता है कि यह फोन कहां रिपेयर हुआ था
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki jab bhee phon riboot karane ke baad phingaraprint riboot karata hai to usake baad phingaraprint kaam kyon nahin karata kyonki aisa kampaniyon ne laagoo kar rakh mobail phon kee kampaniyon ne laagoo kar rakha hai kyonki mobail kampaneej in aaee yah sistam isalie laagoo kiya ki agar ham paasavard ko bhool jae to yah sistam paasavard ko yaad rakhane ke lie hee mobail nahin is kampanee ko banaaya hai aur aap bhee apane paasavard ko yaad rakhen aur paasaport ke dvaara hee mobail ko opan karane ka prayatn prayaas karana chaahie agar aap patr ghante tak apana paasaport ke mobail ko apane karoge to mobail apane aap hee aapako apana paasavard daalana koee rod dega kyonki aisa karana se jyaadaatar log apana mobail ko apana phingaraprint sensar se bolate hain aur usake kaaran log apana paasavard bhee bhool jaate hain isalie har vyakti ko lagabhag paasavard yaad rakhane kee jaroorat hotee hai jara kaaran yah bhee hai ki kampanee ne isalie banaaya ki jab kaheen phon ko ek choree kar le to vah kaheen phon ko riset karega to usaka kaam na aae usase pahale usako dukaan par jaakar usakee aaeedee maangega aur usaka aadhaar kaard maangega photo maanga tha tab jaakar lok khulega aise log nahin khulega kyon kiya ek niyam banaaya gaya is tarah mobail ko jisaka bhee choree hua hai pata lagaaya ja sakata hai ki yah phon kahaan ripeyar hua tha

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
क्या भारत में कंप्यूटर प्रोसेसर बनाना मुमकिन है?Kya Bharat Mein Computer Processor Bnana Mumkin Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:34
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि क्या भारत में कंप्यूटर प्रोसेसर बना नामुमकिन है जी हां प्रोसेसर के बारे में तो हां बहुत से लोगों ने सुना ही होगा कि हमारे कंप्यूटर और मोबाइल में लगा होता है यह इसके बिना हमारा कंप्यूटर या मोबाइल चलाना नामुमकिन है इसलिए प्रोसेसर से ही हमारा कंप्यूटर और मोबाइल का चलता है क्योंकि प्रोसेसर कंप्यूटर और मोबाइल का एक तरह का दिमाग होता है
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki kya bhaarat mein kampyootar prosesar bana naamumakin hai jee haan prosesar ke baare mein to haan bahut se logon ne suna hee hoga ki hamaare kampyootar aur mobail mein laga hota hai yah isake bina hamaara kampyootar ya mobail chalaana naamumakin hai isalie prosesar se hee hamaara kampyootar aur mobail ka chalata hai kyonki prosesar kampyootar aur mobail ka ek tarah ka dimaag hota hai

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
वर्तमान समय में कृत्रिम बुद्धिमत्ता का उपयोग क्या है?Vartmaan Samay Mein Kritrim Buddhimatta Ka Upyog Kya Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:24
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि वर्तमान समय में कृत्रिम बुद्धिमता का उपयोग क्या है तो मेरा मानना यह है किसका प्रयोग किया है स्वास्थ्य है अंतरिक्ष विज्ञान है रक्षा है परिवहन है कृषि है जैसे विभिन्न क्षेत्रों में क्या जाता है
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki vartamaan samay mein krtrim buddhimata ka upayog kya hai to mera maanana yah hai kisaka prayog kiya hai svaasthy hai antariksh vigyaan hai raksha hai parivahan hai krshi hai jaise vibhinn kshetron mein kya jaata hai

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
क्या आप चंपू साहित्य के बारे में विस्तार से बता सकते हैं?Kya Aap Champu Saahity Ke Baare Me Vistaar Se Bta Sakte Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:28
कर दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि गधे तथा पद मिश्रित काव्य को चंपू कहते हैं और काव्य की इसी विद्या का उल्लेख साहित्य साहित्य शास्त्र के प्राचीन आचार्य ओबामा डंडी वामन आदि ने ही नहीं किया जो गद्य पद्य में से श्रेष्ठ अली का प्रयोग वैदिक साहित्य बौद्ध जाता के जातक माला आदि अति प्राचीन साहित्य में भी मिलता है
Kar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki gadhe tatha pad mishrit kaavy ko champoo kahate hain aur kaavy kee isee vidya ka ullekh saahity saahity shaastr ke praacheen aachaary obaama dandee vaaman aadi ne hee nahin kiya jo gady pady mein se shreshth alee ka prayog vaidik saahity bauddh jaata ke jaatak maala aadi ati praacheen saahity mein bhee milata hai

#धर्म और ज्योतिषी

anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:56
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि राजा महाराजाओ कुछ हमें में बड़ा पुत्र ही राजा बनता है ऐसा नियम किसने बनाया था ऐसा नियम परिपाटी लोगों ने ही बनाया था तब परिपाटी नहीं बनाया था इसका नियम यह किस विधा की दृष्टि से खुद स्थापित किए गए थे पता बड़ा बेटा अपने बेटों की अपेक्षा जल्दी समझदार होता इसलिए उसे एक परिपाटी बन गई यह नियम नहीं कहते इसे परिपाटी करते हैं जैसे कि हमने देखा होगा कि छोटे छोटे बेटे को रात भर सौंपा गया है जैसे कि कौरव पांडव में हुआ था यह नियम होता तो केक्केई भरत के लिए राजगद्दी क्यों मांगती थी किसी तरफ जेष्ठ पुत्र को राजा बनाना परिपाटी थी नियम नहीं था और परिपाटी अपने आप पढ़ती है
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki raaja mahaaraajao kuchh hamen mein bada putr hee raaja banata hai aisa niyam kisane banaaya tha aisa niyam paripaatee logon ne hee banaaya tha tab paripaatee nahin banaaya tha isaka niyam yah kis vidha kee drshti se khud sthaapit kie gae the pata bada beta apane beton kee apeksha jaldee samajhadaar hota isalie use ek paripaatee ban gaee yah niyam nahin kahate ise paripaatee karate hain jaise ki hamane dekha hoga ki chhote chhote bete ko raat bhar saumpa gaya hai jaise ki kaurav paandav mein hua tha yah niyam hota to kekkeee bharat ke lie raajagaddee kyon maangatee thee kisee taraph jeshth putr ko raaja banaana paripaatee thee niyam nahin tha aur paripaatee apane aap padhatee hai

#भारत की राजनीति

anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
1:09
नमस्कार दोस्तों बोल कर अब मैं स्वागत है सवाल है कि क्या खाली स्थान नाम का कोई देश है जी नहीं तथा मेरा मानना है कि आज के समय में दुनिया में ऐसा कोई भी देश नहीं है तथा सन् 1984 में ऑपरेशन ब्लू स्टार और सिक्स रोड्स के बाद पंजाब के अमृतसर में लगभग 100000 लोगों का हुजूम उठा हुआ और अलग देश खाली स्थान का ऐलान किया था जिसमें पंजाब चंडीगढ़ और हरियाणा के कुछ क्षेत्र आते थे यह पहली बार था जब आम लोगों ने खालिस्तान की मांग की थी इतिहास में खालिस्तान का जिक्र 1945 में मिलता था लेकिन यह केवल एक राजनीतिक धारा थे तथा 80 के दशक में इसे आम लोगों का भारी समर्थन मिला था लेकिन आज इसका कोई प्रभाव नहीं है और जैसे ही दक्षिण भारत में दे वीर नाडु की बात की जाती है बिल्कुल वैसे ही आज सिर्फ राजनीति के लिए किसानों को खाली स्थान कहा जा रहा है
Namaskaar doston bol kar ab main svaagat hai savaal hai ki kya khaalee sthaan naam ka koee desh hai jee nahin tatha mera maanana hai ki aaj ke samay mein duniya mein aisa koee bhee desh nahin hai tatha san 1984 mein opareshan bloo staar aur siks rods ke baad panjaab ke amrtasar mein lagabhag 100000 logon ka hujoom utha hua aur alag desh khaalee sthaan ka ailaan kiya tha jisamen panjaab chandeegadh aur hariyaana ke kuchh kshetr aate the yah pahalee baar tha jab aam logon ne khaalistaan kee maang kee thee itihaas mein khaalistaan ka jikr 1945 mein milata tha lekin yah keval ek raajaneetik dhaara the tatha 80 ke dashak mein ise aam logon ka bhaaree samarthan mila tha lekin aaj isaka koee prabhaav nahin hai aur jaise hee dakshin bhaarat mein de veer naadu kee baat kee jaatee hai bilkul vaise hee aaj sirph raajaneeti ke lie kisaanon ko khaalee sthaan kaha ja raha hai

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
एक समान हवाई जहाज अधिक से अधिक कितना वजन ले जा सकता है?Ek Samaan Hawai Jahaaj Adhik Se Adhik Kitna Vajan Le Ja Sakta Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:53
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि सामान्य हवाई जहाज अधिक से अधिक कितना वजन ले जा सकता है तो मेरा मानना है कि हवाई जहाज है अधिक से अधिक सामान नहीं ले जाता लेकिन इंसान है वह सामान ले जा सकता सामान एक पीस का मतलब अधिकतम 32 किलोग्राम से अधिक नहीं ले जा सकता वह 32 किलोग्राम तक खींच वजन ले जा सकता है यह पूरे भारत में नियम है मतलब पूरे एयर इंडिया नेटवर्क पर भी लागू है तथा 1 अप्रैल 2019 से भारत तथा निवार के बीच इकोनॉमी श्रेणी में यात्रा के लिए एक न्यूज़ मतलब 23 किलोग्राम तक के सामान निशुल्क ले जाने की अनुमति भी दी गई है
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki saamaany havaee jahaaj adhik se adhik kitana vajan le ja sakata hai to mera maanana hai ki havaee jahaaj hai adhik se adhik saamaan nahin le jaata lekin insaan hai vah saamaan le ja sakata saamaan ek pees ka matalab adhikatam 32 kilograam se adhik nahin le ja sakata vah 32 kilograam tak kheench vajan le ja sakata hai yah poore bhaarat mein niyam hai matalab poore eyar indiya netavark par bhee laagoo hai tatha 1 aprail 2019 se bhaarat tatha nivaar ke beech ikonomee shrenee mein yaatra ke lie ek nyooz matalab 23 kilograam tak ke saamaan nishulk le jaane kee anumati bhee dee gaee hai

#टेक्नोलॉजी

anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:56
कर दोस्तों बोल कर अपने स्वागत है सवाल है कि एंडोप्लास्मिक रेटिकुलम क्या है तो यह एक है कोशिका का ढांचा होता है मतलब कि एंडोप्लास्मिक रेटिकुलम के कार्य कोशिका ढांचा बनाना होता है तथा एंडोप्लास्मिक रेटिकुलम अंतर द्रव्य जालिका दो प्रकार की होती है यार मतलब की अंतर द्रव्य जालिका तथा दूसरी उद्या आधार खुरदरी अंतर द्रव्य जालिका तथा आधार पर राइबोसोम लगे होते हैं जिस पर प्रोटीन संश्लेषण होती है तथा इसमें कोशिका में क्या कार्य था उसका कोशिका में वसा तथा लिपिड बनाती हैं
Kar doston bol kar apane svaagat hai savaal hai ki endoplaasmik retikulam kya hai to yah ek hai koshika ka dhaancha hota hai matalab ki endoplaasmik retikulam ke kaary koshika dhaancha banaana hota hai tatha endoplaasmik retikulam antar dravy jaalika do prakaar kee hotee hai yaar matalab kee antar dravy jaalika tatha doosaree udya aadhaar khuradaree antar dravy jaalika tatha aadhaar par raibosom lage hote hain jis par proteen sanshleshan hotee hai tatha isamen koshika mein kya kaary tha usaka koshika mein vasa tatha lipid banaatee hain

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
पूर्ण आंतरिक परावर्तन क्या होता है?Purn Aantrik Paravartan Kya Hota Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:46
नमस्कार दोस्तों बोलकर आपने स्वागत है उस सवाल अजीब पूर्ण आंतरिक परावर्तन क्या होता है तो दोस्तों यह एक प्रकार की अप्रिय घटना होती है जिसमें प्रकाश की किरण किसी भी माध्यम के तल पर ऐसे कोण पर स्थित होती है उसका परावर्तन उसी माध्यम में हो जाता है इसके लिए आवश्यक शर्त यह है कि प्रकाश की किरण अधिक अपवर्तनांक के माध्यम से कम अपवर्तनांक के मध्य में प्रवेश करती है तथा आपतन कोण का मान क्रांतिक कोण से अधिक हो जाता है तथा प्रकाशीय तंतु का कार्य पूर्ण आंतरिक परावर्तन के सिद्धांत सिद्धांत पर ही आधारित है
Namaskaar doston bolakar aapane svaagat hai us savaal ajeeb poorn aantarik paraavartan kya hota hai to doston yah ek prakaar kee apriy ghatana hotee hai jisamen prakaash kee kiran kisee bhee maadhyam ke tal par aise kon par sthit hotee hai usaka paraavartan usee maadhyam mein ho jaata hai isake lie aavashyak shart yah hai ki prakaash kee kiran adhik apavartanaank ke maadhyam se kam apavartanaank ke madhy mein pravesh karatee hai tatha aapatan kon ka maan kraantik kon se adhik ho jaata hai tatha prakaasheey tantu ka kaary poorn aantarik paraavartan ke siddhaant siddhaant par hee aadhaarit hai

#पढ़ाई लिखाई

anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:34
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि सर्दियों के मौसम में गर्म पानी से नहाने से क्या क्या नुकसान हो सकते हैं तो मेरा मानना यह है कि गर्म पानी से नहाने की वजह से शरीर की नवमी चली जाती है त्वचा रूखी होने लग जाती है संवेदनशील त्वचा वालों को गर्म पानी से नहीं नहाना चाहिए तथा ज्यादा गर्म पानी नहाने से शरीर से नेचुरल ऑयल खत्म होने लगता है जिसकी वजह से शरीर में एलर्जी और इन्फेक्शन का खतरा भी हो सकता है या बढ़ सकता है
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki sardiyon ke mausam mein garm paanee se nahaane se kya kya nukasaan ho sakate hain to mera maanana yah hai ki garm paanee se nahaane kee vajah se shareer kee navamee chalee jaatee hai tvacha rookhee hone lag jaatee hai sanvedanasheel tvacha vaalon ko garm paanee se nahin nahaana chaahie tatha jyaada garm paanee nahaane se shareer se nechural oyal khatm hone lagata hai jisakee vajah se shareer mein elarjee aur inphekshan ka khatara bhee ho sakata hai ya badh sakata hai

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
आलू के पौधे में पाला के असर का वैज्ञानिक कारण क्या होता है?Aalu Ke Paudhe Me Pala Ke Asar Ka Vaigyanik Kaaran Kya Hota Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:47
ऑस्कर दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि आलू के पौधों में पालने के असर का वैज्ञानिक कारण क्या है तो उसमें मां मेरा मानना यह है कि फसलों में फूल और बालिया फलिया आने पर या विकसित होते समय पढ़ने की सबसे ज्यादा संभावनाएं रहती हैं तथा पाली के प्रभाव से पौधों की पत्तियां और पुलिस ने लगते हैं जिसकी वजह से फसल पर असर पड़ता और कथा आलू पर भी यही होता है और कुछ फैसले ऐसे थे जो ज्यादा तापमान में पालक झेल नहीं पाती हैं जिसकी वजह से उनको खराब होने का खतरा रहता है
Oskar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki aaloo ke paudhon mein paalane ke asar ka vaigyaanik kaaran kya hai to usamen maan mera maanana yah hai ki phasalon mein phool aur baaliya phaliya aane par ya vikasit hote samay padhane kee sabase jyaada sambhaavanaen rahatee hain tatha paalee ke prabhaav se paudhon kee pattiyaan aur pulis ne lagate hain jisakee vajah se phasal par asar padata aur katha aaloo par bhee yahee hota hai aur kuchh phaisale aise the jo jyaada taapamaan mein paalak jhel nahin paatee hain jisakee vajah se unako kharaab hone ka khatara rahata hai

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
एक इंसान के जीवन में पढ़ाई का क्या योगदान रहता है?Ek Insaan Ke Jeevan Mein Padhai Ka Kya Yogdaan Rehta Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:36
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि यदि विद्यार्थी अपने समय का सदुपयोग करते हुए पढ़ाई के लिए कड़ी मेहनत करता है तो उसे इस दम पर वह अपने जीवन को उज्जवल बना सकता है तथा लक्ष्य प्राप्ति के लिए कड़े परिश्रम लगन और अटूट आत्मविश्वास की जरूरत होती है तथा अनुशासन इंसान को जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है और बुराइयों से बचाता है इसलिए इंसान के जीवन में पढ़ाई का विशेष योगदान
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki yadi vidyaarthee apane samay ka sadupayog karate hue padhaee ke lie kadee mehanat karata hai to use is dam par vah apane jeevan ko ujjaval bana sakata hai tatha lakshy praapti ke lie kade parishram lagan aur atoot aatmavishvaas kee jaroorat hotee hai tatha anushaasan insaan ko jeevan mein aage badhane ke lie prerit karata hai aur buraiyon se bachaata hai isalie insaan ke jeevan mein padhaee ka vishesh yogadaan

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
क्या रोजाना गर्म पानी पीने से पेट व आते खराब हो सकती है और मुंह में छाले भी हो सकते हैं?Kya Rojana Garm Paani Peene Se Pet Va Aate Kharab Ho Sakti Hai Aur Muh Mein Chhaale Bhi Ho Sakte Hain
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:31
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि रोजाना गर्म पानी पीने से पेट वहां तक खराब हो सकती है जी हां हो सकते हैं क्योंकि गर्म पानी पीने से हमारे होंठ भी चल सकते हैं और पेट के अंदर जो आएगा वह भी चल सकता जिसे हमारे पेट में जलन भी हो सकती है इतनी भी खराब हो सकती है वह कभी भी बेवजह पानी नहीं पिया प्यास लगने के बाद ही पानी पीएं पानी पीने से नींद भी खराब होती है
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki rojaana garm paanee peene se pet vahaan tak kharaab ho sakatee hai jee haan ho sakate hain kyonki garm paanee peene se hamaare honth bhee chal sakate hain aur pet ke andar jo aaega vah bhee chal sakata jise hamaare pet mein jalan bhee ho sakatee hai itanee bhee kharaab ho sakatee hai vah kabhee bhee bevajah paanee nahin piya pyaas lagane ke baad hee paanee peeen paanee peene se neend bhee kharaab hotee hai

#जीवन शैली

anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:54
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि हर व्यक्ति को प्रतिदिन कितना घूमना चाहिए तो घास मेरा मानना यह है कि स्वस्थ रहने के लिए एक व्यक्ति को कम से कम दिन में आधा घंटा जरूर चलना चाहिए अगर कदम की बात करें तो करीब 10000 कदम यानी 6 से 7 किलोमीटर रोज चलना चाहिए पैदल क्योंकि यह हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक भी है और फायदेमंद गया तथा यह बात ध्यान में रखना चाहिए कि हमें नॉर्मल से थोड़ा तेज चलने की जरूरत है क्या फायदे हैं कि हम जैसे लगातार चलते रहेंगे तो हमारे किसी भी पेड़ मतलब पैरों में या कहीं भी कोई दर्द होने की समस्या नहीं रहेगी और हम स्वस्थ रहेंगे और ज्यादा चलेंगे फिरेंगे
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki har vyakti ko pratidin kitana ghoomana chaahie to ghaas mera maanana yah hai ki svasth rahane ke lie ek vyakti ko kam se kam din mein aadha ghanta jaroor chalana chaahie agar kadam kee baat karen to kareeb 10000 kadam yaanee 6 se 7 kilomeetar roj chalana chaahie paidal kyonki yah hamaare svaasthy ke lie laabhadaayak bhee hai aur phaayademand gaya tatha yah baat dhyaan mein rakhana chaahie ki hamen normal se thoda tej chalane kee jaroorat hai kya phaayade hain ki ham jaise lagaataar chalate rahenge to hamaare kisee bhee ped matalab pairon mein ya kaheen bhee koee dard hone kee samasya nahin rahegee aur ham svasth rahenge aur jyaada chalenge phirenge

#जीवन शैली

bolkar speaker
पैरों की पिंडलियों में दर्द से कैसे बचे?Pairo Ki Pindliyo Me Dard Se Kaise Bache
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:44
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि पैरों की पिंडलियों में दर्द से कैसे बचें तो इसका उपाय यह है कि हमें सीधा खड़ा हो जाना चाहिए और आप और अपने दोनों पैरों को कुल्ले की चौड़ाई पर रखे और हाथों को नीचे की ओर सीधा रखें तथा आप अपने दाएं पैर को उठाकर एकदम पीछे की ओर के बाएं पैर को स्थाई रहने दे तथा दाएं पैर के घुटने को जमीन पर रखें तथा दाईं जांघ और पिंडली की बीच घुटने पर 90 डिग्री का कोण बनाए तब हम पैरों की पिंडलियों में हो रहे दर्द से राहत मिल सकती है
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki pairon kee pindaliyon mein dard se kaise bachen to isaka upaay yah hai ki hamen seedha khada ho jaana chaahie aur aap aur apane donon pairon ko kulle kee chaudaee par rakhe aur haathon ko neeche kee or seedha rakhen tatha aap apane daen pair ko uthaakar ekadam peechhe kee or ke baen pair ko sthaee rahane de tatha daen pair ke ghutane ko jameen par rakhen tatha daeen jaangh aur pindalee kee beech ghutane par 90 digree ka kon banae tab ham pairon kee pindaliyon mein ho rahe dard se raahat mil sakatee hai

#जीवन शैली

bolkar speaker
एलर्जी किस कारण से होती है इससे कैसे बचें?Allergy Kis Kaaran Se Hoti Hai Isse Kaise Bachen
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:44
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि एलर्जी किस कारण से होती है तो इसका आंसर यह है कि जब हमारा शरीर किसी चीज को लेकर ओवर रिएक्ट करता हाथों से एलर्जी करते हैं तथा एलर्जी किसी भी खाने की चीज या पालतू जानवर या मौसम में बदलाव या फूल सब्जी के सेवन में या खुशबू श्रेया धूल कण मीठी यादवाया दवा आदि किसी भी चीज से हो सकती है इससे बचने का उपाय यह है कि हमें धूल से बचना चाहिए और हमें चेहरे को ढक कर रखना चाहिए जब भी जहां जहां हमारे यह हाथ खुला तो उसको भी ढक कर रखना चाहिए
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki elarjee kis kaaran se hotee hai to isaka aansar yah hai ki jab hamaara shareer kisee cheej ko lekar ovar riekt karata haathon se elarjee karate hain tatha elarjee kisee bhee khaane kee cheej ya paalatoo jaanavar ya mausam mein badalaav ya phool sabjee ke sevan mein ya khushaboo shreya dhool kan meethee yaadavaaya dava aadi kisee bhee cheej se ho sakatee hai isase bachane ka upaay yah hai ki hamen dhool se bachana chaahie aur hamen chehare ko dhak kar rakhana chaahie jab bhee jahaan jahaan hamaare yah haath khula to usako bhee dhak kar rakhana chaahie
URL copied to clipboard