#undefined

bolkar speaker
अपने चेहरे पर पपीता लगाने से क्या फायदा होता है?Apne Chehre Par Papeeta Lgane Se Kya Fayda Hota Hai
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:16
प्रश्न पूछा गया है अपने चेहरे पर पपीता लगाने से क्या फायदा होता है तो देखिए पपीता जो है एक फल है कोई भी फल हम यदि लगाते हैं अपने चेहरे पर एक्सटर्नली तो उसका इफेक्ट हमारी स्किन पर दिखता है हमारे पेज पर दिखता है अभी तो उन्हीं में से एक है पपीते से क्या होता है देखिए पपीता जो होता है वह बहुत ही पौष्टिक होता है वह हमारे चेहरे को पोषण प्रदान करता है और पपीते के अंदर विटामिन ए और पॉपीन इंसान होता है जो कि हमारे चेहरे की जो डेड स्किन होती है जो अमृत वर्षा होती है उसको निकालने का काम करता है उसको रिमूव करने का काम करता है वही जो हमारे चेहरे पर पुराने कोई दाग धब्बे या ऐसे कुछ होते हैं उसको भी वह निकाल देता है उसे साफ कर देता है और हमारे जो बबीता है उसके अंदर विटामिन सी और बीटा कैरोटीन होता है जो कि एंटी ऑक्सीडेंट होता है यानी कि वह जो है हमारी स्किन को क्लियर करने का काम करता है साफ करने का काम करता है और पपीते से हमारे फेस पर एक कलश बनाता है हमारी प्रकृति हमारी फेस की मसाज की बिक्री इस होती हैं तो पपीता एक ऐसा फ्रूट है जिसे लगाने से हमारे फेस को क्लीन दुखी होता है सांप भी होता है हमारा फेस खिला-खिला भी नजर आता है इसीलिए पपीते को फेस पर लगाया जाता है
Prashn poochha gaya hai apane chehare par papeeta lagaane se kya phaayada hota hai to dekhie papeeta jo hai ek phal hai koee bhee phal ham yadi lagaate hain apane chehare par eksatarnalee to usaka iphekt hamaaree skin par dikhata hai hamaare pej par dikhata hai abhee to unheen mein se ek hai papeete se kya hota hai dekhie papeeta jo hota hai vah bahut hee paushtik hota hai vah hamaare chehare ko poshan pradaan karata hai aur papeete ke andar vitaamin e aur popeen insaan hota hai jo ki hamaare chehare kee jo ded skin hotee hai jo amrt varsha hotee hai usako nikaalane ka kaam karata hai usako rimoov karane ka kaam karata hai vahee jo hamaare chehare par puraane koee daag dhabbe ya aise kuchh hote hain usako bhee vah nikaal deta hai use saaph kar deta hai aur hamaare jo babeeta hai usake andar vitaamin see aur beeta kairoteen hota hai jo ki entee okseedent hota hai yaanee ki vah jo hai hamaaree skin ko kliyar karane ka kaam karata hai saaph karane ka kaam karata hai aur papeete se hamaare phes par ek kalash banaata hai hamaaree prakrti hamaaree phes kee masaaj kee bikree is hotee hain to papeeta ek aisa phroot hai jise lagaane se hamaare phes ko kleen dukhee hota hai saamp bhee hota hai hamaara phes khila-khila bhee najar aata hai iseelie papeete ko phes par lagaaya jaata hai

#undefined

bolkar speaker
क्या बेरोजगार होने की वजह से एक इंसान मानसिक तनाव में आ सकता है?Kya Berojgar Hone Ki Vajah Se Ek Insaan Mansik Tanaav Mein Aa Sakta Hai
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:12
जो पूछा गया है क्या बेरोजगार होने की वजह से इंसान मानसिक तनाव में आ सकता है तो मेरा मानना है कि ऐसा बिल्कुल हो सकता है जैसे कि कहा जाता है कि खाली दिमाग जो होता है वह शैतान का घर होता है तू जब हम बेरोजगार होते हैं या कोई व्यक्ति बेरोजगार होता है तो वह ज्यादा से ज्यादा टाइम खाली ही होता है कुछ काम नहीं कर रहा होता है जिससे कि वह तनावग्रस्त हो जाता है वह सोचता रहता है कि उसका क्या काम करें क्या नहीं करें कौन सी जॉब के लिए अप्लाई करें ऊपर से फैमिली का भी प्रेशर बढ़ने ही लगता है क्योंकि आप बेरोजगार होते हो या तो आपने पढ़ाई की होती है तो आपको ऐसा फील होने लगता है अपने आप को कोसने लगते हो कि मुझे जॉब क्यों नहीं मिल रही है मैं क्या करूं क्या नहीं करूं उस से मानसिक तनाव बढ़ जाता है तो ऐसी कंडीशन में क्या करना चाहिए कि कुछ ना कुछ काम करते रहना चाहिए कुछ ना कुछ अपने आप को इनक्रीस रखना चाहिए हर वक्त जॉब कॉस्मेटिक को ढूंढते रहना चाहिए भले वह छोटी क्यों ना हो पर कुछ ना कुछ ढूंढते रहना चाहिए अपने आप को इनक्रीस रखना चाहिए जिससे क्या होता है हमारे मानसिक तनाव कम होता है और हमें फ्यूचर की अप्वाइंतीस दिखती है तो हम थोड़ा सा टेंशन से कम होने लगते हैं तो जी हां ऐसा होता है कि मैं बेरोजगार जो व्यक्ति होता है वह मानसिक तनाव में आने लगता है
Jo poochha gaya hai kya berojagaar hone kee vajah se insaan maanasik tanaav mein aa sakata hai to mera maanana hai ki aisa bilkul ho sakata hai jaise ki kaha jaata hai ki khaalee dimaag jo hota hai vah shaitaan ka ghar hota hai too jab ham berojagaar hote hain ya koee vyakti berojagaar hota hai to vah jyaada se jyaada taim khaalee hee hota hai kuchh kaam nahin kar raha hota hai jisase ki vah tanaavagrast ho jaata hai vah sochata rahata hai ki usaka kya kaam karen kya nahin karen kaun see job ke lie aplaee karen oopar se phaimilee ka bhee preshar badhane hee lagata hai kyonki aap berojagaar hote ho ya to aapane padhaee kee hotee hai to aapako aisa pheel hone lagata hai apane aap ko kosane lagate ho ki mujhe job kyon nahin mil rahee hai main kya karoon kya nahin karoon us se maanasik tanaav badh jaata hai to aisee kandeeshan mein kya karana chaahie ki kuchh na kuchh kaam karate rahana chaahie kuchh na kuchh apane aap ko inakrees rakhana chaahie har vakt job kosmetik ko dhoondhate rahana chaahie bhale vah chhotee kyon na ho par kuchh na kuchh dhoondhate rahana chaahie apane aap ko inakrees rakhana chaahie jisase kya hota hai hamaare maanasik tanaav kam hota hai aur hamen phyoochar kee apvaintees dikhatee hai to ham thoda sa tenshan se kam hone lagate hain to jee haan aisa hota hai ki main berojagaar jo vyakti hota hai vah maanasik tanaav mein aane lagata hai

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
पटाऊ सिंड्रोम क्या है?Patao Syndrome Kya Hai
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:14
प्रश्न पूछा गया है पटाऊ सिंड्रोम क्या है तो पटाओ सिंड्रोम क्रोमोसोमल एब्नार्मेलिटीज है कंडीशन है जिससे हम कुछ इस तरह समझ सकते हैं देखिए हमारी बॉडी में कुल 23 प्लेयर ऑफ क्रोमोसोम होते हैं कुल 23 गुणसूत्र होते हैं अब इसमें से जो 13वें नंबर का होता है थर्टीन क्रोमोसोम का होता है उसके ड्राइवर में हो जाती है जाने दो की जगह बहुत तीन हो जाते हैं इसी को हम पटाऊ सिंड्रोम बोलते हैं या फिर ट्राई सोमी सिंड्रोम भी इसे बोला जाता है इसमें जो बच्चा होता है उसमें मेंटल एबिलिटीज दिखाई देती है उसकी जो रेट है वह बर्थ टाइम पर कम होता है उसके ब्रेन स्ट्रक्चर में प्रॉब्लम होती है उसका जो फीस है वह बहुत अच्छे तरीके से डेवलप नहीं हो जाता है उसकी नाम भी पूरी तरीके से पढ़ नहीं पाती है और उसका जो सर होता है वह बहुत छोटा हो जाता है इसी के कारण उसे बहुत सारे कॉम्प्लिकेशंस भी होते हैं जैसे कि उसे सुनाई कम देता है हाइपरटेंशन पता है और क्रोध कम होती है उसकी और हमें अगर हम देखे तो उसमें कुछ ऐसे फीचर्स मिलते हैं जैसे कि उसमें एक्स्ट्रा फंगस मिल सकती है इस टाइप के समय बताओ सेंट्रल के बच्चों में मिलते हैं
Prashn poochha gaya hai pataoo sindrom kya hai to patao sindrom kromosomal ebnaarmeliteej hai kandeeshan hai jisase ham kuchh is tarah samajh sakate hain dekhie hamaaree bodee mein kul 23 pleyar oph kromosom hote hain kul 23 gunasootr hote hain ab isamen se jo 13ven nambar ka hota hai tharteen kromosom ka hota hai usake draivar mein ho jaatee hai jaane do kee jagah bahut teen ho jaate hain isee ko ham pataoo sindrom bolate hain ya phir traee somee sindrom bhee ise bola jaata hai isamen jo bachcha hota hai usamen mental ebiliteej dikhaee detee hai usakee jo ret hai vah barth taim par kam hota hai usake bren strakchar mein problam hotee hai usaka jo phees hai vah bahut achchhe tareeke se devalap nahin ho jaata hai usakee naam bhee pooree tareeke se padh nahin paatee hai aur usaka jo sar hota hai vah bahut chhota ho jaata hai isee ke kaaran use bahut saare komplikeshans bhee hote hain jaise ki use sunaee kam deta hai haiparatenshan pata hai aur krodh kam hotee hai usakee aur hamen agar ham dekhe to usamen kuchh aise pheechars milate hain jaise ki usamen ekstra phangas mil sakatee hai is taip ke samay batao sentral ke bachchon mein milate hain

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
मनोरंजन के अलावा मोबाइल का सबसे अच्छा उपयोग क्या है?Manoranjan Ke Alava Mobile Ka Sabse Acha Upyog Kya Hai
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:33
उसने पूछा गया है मनोरंजन के अलावा मोबाइल का सबसे अच्छा उपयोग क्या है तो देखी आज का मोबाइल का ज्यादातर उपयोग मनोरंजन के लिए ही किया जा रहा है वीडियो में देखने के लिए मूवीस देखने के लिए इंस्टाग्राम फेसबुक वगैरा के देखने के लिए पर हम मोबाइल फोन को बहुत ही अच्छे से तरीके से प्रोडक्ट हुए में भी यूज कर सकते हैं देखिए मोबाइल फोन कॉल करने के काम आता है हमें लोगों से कनेक्ट करता है या तो है ही है लेकिन उसमें बहुत अलग अलग चीज है ऐसे भी हम कर सकते हैं जो बहुत ही प्रोडक्टिव और बहुत ही अच्छी हो सकती है जैसे कि हम कोई भी ऑनलाइन कोर्स के लिए अप्लाई कर सकते हैं मोबाइल फोन की से ऑनलाइन हम का आभारी हूं ऑफिस को ग्रुप कर सकते हैं क्लासेस लेकर वही हम मोबाइल फोन में पोर्ट कार्ड्स भी सुन सकते हैं जो हमारे लाइफ में हमें आगे बढ़ने की अलग-अलग डायरेक्शन दिखा सकता है हम ऑडियोबुक सुन सकते हैं जो हमें बुक्स बहुत सारी सुनो हम पढ़ने का टाइम यदि हमें नहीं मिलता है तो हम जल्द से जल्द उस बुक को पूरी तरीके से ऑडियोबुक्स से सबर कर सकते हैं वही नोटपैडकक की मदद से हम लोग हमारे आइडिया स्टोर है जो भी है हम उसमें लिख सकते हैं वही हम डिक्शनरी से नए नए वोट शुरू ज्यादा सकते हैं और हमारे ब्रेन को भी हम इंप्रूव करने के लिए देखिए गेम खेलना तो अच्छा होता है लेकिन अगर हम ब्रेन को उपयोग करने के लिए इंटरेस्टिंग गेम जैसे कि चैस वगैरह खेलते हैं तो वह हमारे फ्रेंड को कि तू करता है और हम इस तरह कैसे मोबाइल का अच्छी तरीके से भी यूज कर सकते हैं बजाय उसे सिर्फ मनोरंजन के लिए यूज करें
Usane poochha gaya hai manoranjan ke alaava mobail ka sabase achchha upayog kya hai to dekhee aaj ka mobail ka jyaadaatar upayog manoranjan ke lie hee kiya ja raha hai veediyo mein dekhane ke lie moovees dekhane ke lie instaagraam phesabuk vagaira ke dekhane ke lie par ham mobail phon ko bahut hee achchhe se tareeke se prodakt hue mein bhee yooj kar sakate hain dekhie mobail phon kol karane ke kaam aata hai hamen logon se kanekt karata hai ya to hai hee hai lekin usamen bahut alag alag cheej hai aise bhee ham kar sakate hain jo bahut hee prodaktiv aur bahut hee achchhee ho sakatee hai jaise ki ham koee bhee onalain kors ke lie aplaee kar sakate hain mobail phon kee se onalain ham ka aabhaaree hoon ophis ko grup kar sakate hain klaases lekar vahee ham mobail phon mein port kaards bhee sun sakate hain jo hamaare laiph mein hamen aage badhane kee alag-alag daayarekshan dikha sakata hai ham odiyobuk sun sakate hain jo hamen buks bahut saaree suno ham padhane ka taim yadi hamen nahin milata hai to ham jald se jald us buk ko pooree tareeke se odiyobuks se sabar kar sakate hain vahee notapaidakak kee madad se ham log hamaare aaidiya stor hai jo bhee hai ham usamen likh sakate hain vahee ham dikshanaree se nae nae vot shuroo jyaada sakate hain aur hamaare bren ko bhee ham improov karane ke lie dekhie gem khelana to achchha hota hai lekin agar ham bren ko upayog karane ke lie intaresting gem jaise ki chais vagairah khelate hain to vah hamaare phrend ko ki too karata hai aur ham is tarah kaise mobail ka achchhee tareeke se bhee yooj kar sakate hain bajaay use sirph manoranjan ke lie yooj karen

#जीवन शैली

bolkar speaker
क्या यह सच है कि जैसे हमारे संस्कार होते हैं वैसे ही हमारा व्यवहार होता है?Kya Yah Sach Hai Ki Jaise Humare Sanskaar Hote Hain Vaise He Humara Vyavahar Hota Hai
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:15
छा गया है क्या यह सच है कि जैसे हमारे संस्कार होते हैं वैसे ही हमारा व्यवहार होता है तो मेरा मानना है कि यह सच है देखिए हमारी पर्सनालिटी जो होती है हमारा व्यक्तित्व जो हमारे संस्कारों का ही एक आईना होता है लेकिन यदि हम एक बच्चे को देखें तो उस बच्चे का दिमाग पूरी तरीके से खाली होता है खाली किताब की तरह होता है उसे नहीं पता होता है कि क्या सही है क्या गलत तुम वही हमारे बड़े जो होते हैं उसके बारे में सोचते हैं और उसके बड़े जो होते हैं भारत में जो कोई भी लोग हैं वही उसे सिखाते हैं कि क्या सही होता है और क्या गलत है कहीं आगे जाकर उसके व्यवहार में 10 बरस का है पता है कि वह सही डिसीजन ले रहा है या गलत सही कर रहा है या गलत क्योंकि जो मौसी के आया होता है वह वैसे ही रिसेशन आ कर भी लेता है देखिए एक व्यक्ति के लाइफ में हर बार दूर रास्ते होते हैं एक अच्छा होता है और एक बड़ा होता है वही वही हमें बचपन से जो सिखाया जाता है कि हमें क्या सही है मैंने क्या गलत कर रहे हैं वही वह आगे जाकर भी करता है वही सही रस्सी से लेना है या गलत डिसीजन लेना है वह उसके संस्कारों पर ही डिपेंड करता है तो मेरा मानना है कि हां सच में हमारे संस्कार ही होते हैं जो हमारे व्यवहार को डिसाइड करते हैं
Chha gaya hai kya yah sach hai ki jaise hamaare sanskaar hote hain vaise hee hamaara vyavahaar hota hai to mera maanana hai ki yah sach hai dekhie hamaaree parsanaalitee jo hotee hai hamaara vyaktitv jo hamaare sanskaaron ka hee ek aaeena hota hai lekin yadi ham ek bachche ko dekhen to us bachche ka dimaag pooree tareeke se khaalee hota hai khaalee kitaab kee tarah hota hai use nahin pata hota hai ki kya sahee hai kya galat tum vahee hamaare bade jo hote hain usake baare mein sochate hain aur usake bade jo hote hain bhaarat mein jo koee bhee log hain vahee use sikhaate hain ki kya sahee hota hai aur kya galat hai kaheen aage jaakar usake vyavahaar mein 10 baras ka hai pata hai ki vah sahee diseejan le raha hai ya galat sahee kar raha hai ya galat kyonki jo mausee ke aaya hota hai vah vaise hee riseshan aa kar bhee leta hai dekhie ek vyakti ke laiph mein har baar door raaste hote hain ek achchha hota hai aur ek bada hota hai vahee vahee hamen bachapan se jo sikhaaya jaata hai ki hamen kya sahee hai mainne kya galat kar rahe hain vahee vah aage jaakar bhee karata hai vahee sahee rassee se lena hai ya galat diseejan lena hai vah usake sanskaaron par hee dipend karata hai to mera maanana hai ki haan sach mein hamaare sanskaar hee hote hain jo hamaare vyavahaar ko disaid karate hain

#जीवन शैली

bolkar speaker
क्या नींबू का रस लगाने से चेहरे पर कील मुंहासे आने बंद हो जाते हैं?Kya Nimbu Ka Ras Lagane Se Chehre Par Keel Munhase Ane Band Ho Jaate Hain
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:12
पूछा गया है क्या नींबू का रस लगाने से चेहरे पर मुंहासे आने बंद हो जाते हैं तो मैं आप लोगों को बताना चाहूंगी कि नींबू हमारे स्क्रीन के लिए बहुत अच्छा होता है यह हमारी स्किन को क्लीन कर देता है क्लियर कर देता है तो यह कैसे काम करता है नींबू जो होता है वह एक्सेप्ट रिक्रूट है जो कि जिसमें की फैक्ट्री कैसे पाया जाता है और यह कैसे में हमारी स्किन ड्राइनेस लगता है वह सिर्फ ट्राई कर देता है तू जो ऑइली स्किन होती है वह क्लियर हो जाती है ट्रेन इसी कारण सादर सेवा में कांटा नहीं हो पाता है वही सिट्रिक एसिड जो होता है वह सैनिक एंटीसेप्टिक प्रॉपर्टी और एंटी फंगल प्रॉपर्टी होती है उसके अंदर नींबू के अंदर और इससे क्या होता है कि फेस पर जो भी छोटे भक्ति रिया वगैरह पर न पड़े होते हैं जिनके कारण हमें या कील मुंहासे होते हैं वह भी साफ हो जाते हैं वही नींबू में बहुत ही अच्छा सोच होता है विटामिन सी कामिनी चमका पोटेशियम का जो कि एंटी ऑक्सीडेंट होत है तो वह हमारे स्किन को आक्सीजन प्रदान करने का काम करते हैं तो इस प्रकार निंबू हमारे फेस के लिए बहुत ही अच्छा होता है और यह हमारी दीदी को क्लियर और क्लीन रखने में कारगर होता है
Poochha gaya hai kya neemboo ka ras lagaane se chehare par munhaase aane band ho jaate hain to main aap logon ko bataana chaahoongee ki neemboo hamaare skreen ke lie bahut achchha hota hai yah hamaaree skin ko kleen kar deta hai kliyar kar deta hai to yah kaise kaam karata hai neemboo jo hota hai vah eksept rikroot hai jo ki jisamen kee phaiktree kaise paaya jaata hai aur yah kaise mein hamaaree skin draines lagata hai vah sirph traee kar deta hai too jo oilee skin hotee hai vah kliyar ho jaatee hai tren isee kaaran saadar seva mein kaanta nahin ho paata hai vahee sitrik esid jo hota hai vah sainik enteeseptik propartee aur entee phangal propartee hotee hai usake andar neemboo ke andar aur isase kya hota hai ki phes par jo bhee chhote bhakti riya vagairah par na pade hote hain jinake kaaran hamen ya keel munhaase hote hain vah bhee saaph ho jaate hain vahee neemboo mein bahut hee achchha soch hota hai vitaamin see kaaminee chamaka poteshiyam ka jo ki entee okseedent hot hai to vah hamaare skin ko aakseejan pradaan karane ka kaam karate hain to is prakaar nimboo hamaare phes ke lie bahut hee achchha hota hai aur yah hamaaree deedee ko kliyar aur kleen rakhane mein kaaragar hota hai

#रिश्ते और संबंध

Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:22
बड़ा ही अच्छा प्रश्न है लड़कियों को चॉकलेट इतना सादा क्यों पसंद होता है और इसका मुख्य कारण क्या है तुझे किया मैं खुद एक लड़की हूं और मुझे भी चॉकलेट खाना बहुत पसंद है और मैंने बहुत ही कम लड़कियां देखी है जितनी चॉकलेट नहीं पसंद होती है एकदम ना के बराबर हर लड़की को चॉकलेट पसंद होती ही है तो ऐसा क्यों होता है लेकिन पहली चीज तो की चॉकलेट का टेस्ट बहुत ही अच्छा होता है और वह हमें उसकी तरफ आकर्षित कर लेता है उसका टेस्ट दूसरी चीज होती है चॉकलेट खाने के बाद मूड बहुत ही अच्छा हो जाता है और जैसे कि कहा जाता है चॉकलेट मोड को रेस्ट करता है वही चॉकलेट खाने से बहुत खुशी फील होती है सेटिस्फेक्शन फील होता है दूसरी चीज कभी स्पेशल कंडीशन होती है तब भी लड़कियां चॉकलेट खाना पसंद करती है जिससे कि थोड़ा समय मिलता है और मैंने कई लड़कियां देखी है चॉकलेट खरीद के टाइम पर वह अलग-अलग सिरसी खरीदते हैं जैसे कि अलग-अलग शेप की चॉकलेट खाती है वह उसे और ज्यादा इंटरेस्टिंग बना देती कुत्ते की चॉकलेट और तरीके और उनके शरीर की देख कर और अच्छा लगता है उन्हें खाने में दो अलग-अलग टाइप की चीजें अलग अलग टाइप की चॉकलेट होती है जिससे कि वह हमें और याद कर लेती है और बहुत ही अच्छा फील होता है मूड भी फ्रेश हो जाता है और वह कुछ भी मिलती है इसलिए लड़कियां चॉकलेट खाना ज्यादा पसंद करती है
Bada hee achchha prashn hai ladakiyon ko chokalet itana saada kyon pasand hota hai aur isaka mukhy kaaran kya hai tujhe kiya main khud ek ladakee hoon aur mujhe bhee chokalet khaana bahut pasand hai aur mainne bahut hee kam ladakiyaan dekhee hai jitanee chokalet nahin pasand hotee hai ekadam na ke baraabar har ladakee ko chokalet pasand hotee hee hai to aisa kyon hota hai lekin pahalee cheej to kee chokalet ka test bahut hee achchha hota hai aur vah hamen usakee taraph aakarshit kar leta hai usaka test doosaree cheej hotee hai chokalet khaane ke baad mood bahut hee achchha ho jaata hai aur jaise ki kaha jaata hai chokalet mod ko rest karata hai vahee chokalet khaane se bahut khushee pheel hotee hai setisphekshan pheel hota hai doosaree cheej kabhee speshal kandeeshan hotee hai tab bhee ladakiyaan chokalet khaana pasand karatee hai jisase ki thoda samay milata hai aur mainne kaee ladakiyaan dekhee hai chokalet khareed ke taim par vah alag-alag sirasee khareedate hain jaise ki alag-alag shep kee chokalet khaatee hai vah use aur jyaada intaresting bana detee kutte kee chokalet aur tareeke aur unake shareer kee dekh kar aur achchha lagata hai unhen khaane mein do alag-alag taip kee cheejen alag alag taip kee chokalet hotee hai jisase ki vah hamen aur yaad kar letee hai aur bahut hee achchha pheel hota hai mood bhee phresh ho jaata hai aur vah kuchh bhee milatee hai isalie ladakiyaan chokalet khaana jyaada pasand karatee hai

#जीवन शैली

bolkar speaker
olx पर कौन सी चीजें बेची और खरीदी जा सकती हैOlx Par Kaun Si Cheeje Beche Aur Kharide Ja Sakti Ha
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:41
प्रश्न पूछा गया है ओ एल एक्स पर कौन सी चीजें बेची और खरीदी जा सकती है तो देखिए आज की टेक्नोलॉजी वाली दुनिया में अब सारी दुनिया में ऑनलाइन साइट्स वाली दुनिया में बहुत ही अच्छा प्लेटफार्म है एक इंडियन ऐप है ओ एल एक्स जो कि हमें बहुत अच्छा प्लेटफार्म प्रदान करता है चीजों को खरीदने और बेचने का हां जी हां यह दोनों वह होता है आप इस पर चीजें खरीद भी सकते हो और इस पर अपनी चीजें भेज भी सकते हो इसमें बहुत सारी चीज है बहुत सारी वैरायटी और चीजें आप कुछ भी कर सकते हो कुछ भी भेज सकते हो मैंने खुद देखा है वह देख पर चम्मच से लेकर बड़ी से बड़ी कार तक खरीदी और बैठी रहती है तो हम इसके ऊपर कुछ भी खरीद सकते हैं कुछ भी भेज सकते हैं जो हमें सेकंड हैंड चाहिए जो ऑलरेडी यूज़ करें जैसे कि हमारे घर के अंदर कोई फर्क नहीं चाहिए जो हमें काम नहीं आ रहा है जो अच्छी कंडीशन में है तो हम उसे भेज सकते हैं और यदि हमें कोई चीज ऐसी चाहिए है जो हमें सेकंड हैंड खरीदना चाहते हैं तो हम वह खरीद सकते हैं मैंने बहुत सारी चीज देखी है जैसे रिसेंटली मैंने ही अपने घर से एक फर्क पड़ा स्पीकर चौथा सीकर था वह बेचा था तो वह उसमें काफी अच्छा प्राइस मिल जाता है आप डायरेक्टली बायर से कांटेक्ट कर सकते हो या फिर आप चल कर रहे हो तो आप कस्टमर से बात करके चैट करके आप डायरेक्टली उस पर सेंड कर सकते हो और खरीद भी सकते हो तो इसमें हां बस कुछ चीजें होती है जैसे कि आपकी टाटा से रिलेटेड चीजें या इनफॉरमेशन जो होती है आप वह नहीं सर कर सकते हैं बाकी आप कुछ भी कर सकते हो कुछ भी खरीद सकते हो जैसे कार्स बॉक्स फर्नीचर हाउस फुल की सारी चीजें और किताबें और गैजेट मोबाइल फोंस हर चीज पर खरीदी और बेटी जा सकती है धन्यवाद
Prashn poochha gaya hai o el eks par kaun see cheejen bechee aur khareedee ja sakatee hai to dekhie aaj kee teknolojee vaalee duniya mein ab saaree duniya mein onalain saits vaalee duniya mein bahut hee achchha pletaphaarm hai ek indiyan aip hai o el eks jo ki hamen bahut achchha pletaphaarm pradaan karata hai cheejon ko khareedane aur bechane ka haan jee haan yah donon vah hota hai aap is par cheejen khareed bhee sakate ho aur is par apanee cheejen bhej bhee sakate ho isamen bahut saaree cheej hai bahut saaree vairaayatee aur cheejen aap kuchh bhee kar sakate ho kuchh bhee bhej sakate ho mainne khud dekha hai vah dekh par chammach se lekar badee se badee kaar tak khareedee aur baithee rahatee hai to ham isake oopar kuchh bhee khareed sakate hain kuchh bhee bhej sakate hain jo hamen sekand haind chaahie jo olaredee yooz karen jaise ki hamaare ghar ke andar koee phark nahin chaahie jo hamen kaam nahin aa raha hai jo achchhee kandeeshan mein hai to ham use bhej sakate hain aur yadi hamen koee cheej aisee chaahie hai jo hamen sekand haind khareedana chaahate hain to ham vah khareed sakate hain mainne bahut saaree cheej dekhee hai jaise risentalee mainne hee apane ghar se ek phark pada speekar chautha seekar tha vah becha tha to vah usamen kaaphee achchha prais mil jaata hai aap daayarektalee baayar se kaantekt kar sakate ho ya phir aap chal kar rahe ho to aap kastamar se baat karake chait karake aap daayarektalee us par send kar sakate ho aur khareed bhee sakate ho to isamen haan bas kuchh cheejen hotee hai jaise ki aapakee taata se rileted cheejen ya inaphorameshan jo hotee hai aap vah nahin sar kar sakate hain baakee aap kuchh bhee kar sakate ho kuchh bhee khareed sakate ho jaise kaars boks pharneechar haus phul kee saaree cheejen aur kitaaben aur gaijet mobail phons har cheej par khareedee aur betee ja sakatee hai dhanyavaad

#जीवन शैली

bolkar speaker
एलुमिनियम में रखा खाना देर तक गर्म क्यों रहता है?Aluminium File Mein Rakha Khana Der Tak Garm Kyun Rehta Hain
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:30
पूछा गया है एलुमिनियम फाइल में रखा खाना देर तक गर्म क्यों रहता है तो बड़ा ही अच्छा और इंटरेस्टिंग प्रश्न है देखिए हमने हर जगह देखा होगा डेली लाइफ में भी और आजकल चलता है खाना पैक मुझे आता है और कभी-कभी हम भी टिफिन में ले जाते हैं तो खाने को एलुमिनियम फाइल में बैठ कर लेते हैं जिससे खाना काफी देर तक गर्म रहता है और प्रेस भी रहता है तो ऐसा कैसे हो पाता है ऐसे एलुमिनियम जैसे उसका नाम है बना होता है एलुमिनियम से ही और इसके अंदर रिफ्लेक्टिव प्रॉपर्टीज होती है बैरियर प्रॉपर्टी होती है इसे हम इस तरह समझ सकते हैं कि एक दीवार की तरह वह काम करता है कि अंदर तो खाना रखा होता है उसकी जो हिट होती है तो बाहर नहीं जा पाती है वही बाहर की जो लाइट और ऑक्सीजन होती है वहां अंदर नहीं आ पाती है एक दीवार की तरह काम करने से उसके अंदर का जो खाना होता है वह गर्म ही होता है और उसकी फोटो भी वैसी की वैसी बरकरार रहती है वही बाहर से लाइट और ऑक्सीजन ना आने से वह ठंडा भी नहीं पता तो हमें खाना फ्रेश मिलता है और गर्म मिलता है काफी समय तक पर हमें इस चीज का ध्यान रखना चाहिए कि बहुत ज्यादा देर तक नहीं रखना चाहिए इसकी भी एक लिमिट होती है और अगर हम ज्यादा देर तक रखेंगे तो इसके अंदर बैक्टीरियस पनप सकते हैं और वह हमें भी मार कर सकते हैं तो हमें उसे लिमिटेड टाइम कितने रेट तक ही यूज करना चाहिए और हमें ध्यान रखना चाहिए कि उसे सही टाइम पर फूल ले रहे हैं या उसे यूज कर ले रहे हैं धन्यवाद
Poochha gaya hai eluminiyam phail mein rakha khaana der tak garm kyon rahata hai to bada hee achchha aur intaresting prashn hai dekhie hamane har jagah dekha hoga delee laiph mein bhee aur aajakal chalata hai khaana paik mujhe aata hai aur kabhee-kabhee ham bhee tiphin mein le jaate hain to khaane ko eluminiyam phail mein baith kar lete hain jisase khaana kaaphee der tak garm rahata hai aur pres bhee rahata hai to aisa kaise ho paata hai aise eluminiyam jaise usaka naam hai bana hota hai eluminiyam se hee aur isake andar riphlektiv proparteej hotee hai bairiyar propartee hotee hai ise ham is tarah samajh sakate hain ki ek deevaar kee tarah vah kaam karata hai ki andar to khaana rakha hota hai usakee jo hit hotee hai to baahar nahin ja paatee hai vahee baahar kee jo lait aur okseejan hotee hai vahaan andar nahin aa paatee hai ek deevaar kee tarah kaam karane se usake andar ka jo khaana hota hai vah garm hee hota hai aur usakee photo bhee vaisee kee vaisee barakaraar rahatee hai vahee baahar se lait aur okseejan na aane se vah thanda bhee nahin pata to hamen khaana phresh milata hai aur garm milata hai kaaphee samay tak par hamen is cheej ka dhyaan rakhana chaahie ki bahut jyaada der tak nahin rakhana chaahie isakee bhee ek limit hotee hai aur agar ham jyaada der tak rakhenge to isake andar baikteeriyas panap sakate hain aur vah hamen bhee maar kar sakate hain to hamen use limited taim kitane ret tak hee yooj karana chaahie aur hamen dhyaan rakhana chaahie ki use sahee taim par phool le rahe hain ya use yooj kar le rahe hain dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
Name the martial arts popularized by Bruce Lee?Name The Martial Arts Popularized By Bruce Lee
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:04
नींद मार्शल आर्ट पॉपुलर राइट फाइव ब्रूस ली ब्रूस ली को हम ऐसे एक्टर से डायरेक्टर जानते हैं और उनकी मूवीस देखी है हम लोगों ने पर वह बहुत ही अच्छे एक माला टेस्ट थे उन्होंने मार्शल आर्ट एंड क्राफ्ट इंस्ट्रक्टर थे वह और फिलोसोफर थे और उन्होंने इतना काम किया है मार्शल आर्ट पर उन्होंने खुद का एक फॉर्म बनाया जिससे कि जीप कुंडू बोला जाता है जो कि एक मिक्स मार्शल आर्ट्स है इसमें बहुत सारे मार्शल आज का मौसम में उन्होंने बताया था और उन्होंने इस मार्शल आर्ट्स के फॉर्म के ऊपर अपना नाम के साथ में एक सिंपल बनाया है जिससे बल पर लिखा है यह न्याय जो कि चाइनीस में लिखा है इसका मीनिंग इंग्लिश में होता है यूजिंग नोवेल्स से हटाने की हम से कह सकते हैं कि अगर रास्ता नहीं है तो उसे भी हमें रास्ते की तरह यूज करना है यह इसका मीनिंग है और दूसरी ने बनाया हुआ मार्शल जो है वह कुत्ता है जी कौन दो
Neend maarshal aart popular rait phaiv broos lee broos lee ko ham aise ektar se daayarektar jaanate hain aur unakee moovees dekhee hai ham logon ne par vah bahut hee achchhe ek maala test the unhonne maarshal aart end kraapht instraktar the vah aur philosophar the aur unhonne itana kaam kiya hai maarshal aart par unhonne khud ka ek phorm banaaya jisase ki jeep kundoo bola jaata hai jo ki ek miks maarshal aarts hai isamen bahut saare maarshal aaj ka mausam mein unhonne bataaya tha aur unhonne is maarshal aarts ke phorm ke oopar apana naam ke saath mein ek simpal banaaya hai jisase bal par likha hai yah nyaay jo ki chainees mein likha hai isaka meening inglish mein hota hai yoojing novels se hataane kee ham se kah sakate hain ki agar raasta nahin hai to use bhee hamen raaste kee tarah yooj karana hai yah isaka meening hai aur doosaree ne banaaya hua maarshal jo hai vah kutta hai jee kaun do

#कुछ अलग

bolkar speaker
वे कौन से दो प्राणी है जो नर से मादा बन सकते हैं?Ve Kaun Se Do Prani Hai Jo Nar Se Mada Ban Sakte Hain
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:34
छा गया है यह कौन है तू प्राणी है जो नर से मादा बात करते हैं तो देखे साइंस और नेचर दो ऐसी चीजें हैं जो हमें हमेशा चौकाने वाली चीजें दिखाती रहती है बहुत सारी चीजें होती है जिनके बारे में आप सोच भी नहीं पाते हैं पार्टी के हमें जरूर दिखा देती हैं जैसे कि यह चीज की कोई प्राणी नर से मादा बन सके इनमें कई ऐसे जानवर है जो ऐसा कर पाते हैं जैसे कि क्लोनफिट जो कि अपने आप को बदल सकती हैं जैसे कि यह पैदा होती है तो यह मेल होती है या नजर होती है पहले अपने आप को मारा बना सकती है और इसका एक रिप्रेजेंटेशन एक तरीके से दिखाया गया है एक मुट्ठी में फाइंडिंग डोरी उसी का एक पाइप है लेकिन तकलीफ होने उसी की होती है जो कि ऑरेंज कलर के पास कैसे बनाए जाते हैं और यह फिर अपने आप को बदल सकती है नर से मादा हो सकती है उसके बाद है और लाभ अनानास लग जाने कि उनके होते हैं यह तरीके के हैं जो कि अब बनाना सड़क स्पेसिफिकली जो कि अपने आप को चेंज कर सकते हैं इनके पास दोनों का मतलब और गंज होते मेल फीमेल दोनों वह अपने हिसाब से उसे चेंज कर सकते हैं इस प्रॉपर्टी को हर्ट गुड नाईट बोला जाता है तो बनाना सब तो होते हैं यह भी अपने आप को नर से मादा में कन्वर्ट कर सकते हैं तुम तरीके से यह तूफानी है कि घर बनाना क्लब और ब्लड प्रेशर जोकि अपने आपको नर से मादा में बदल सकते हैं
Chha gaya hai yah kaun hai too praanee hai jo nar se maada baat karate hain to dekhe sains aur nechar do aisee cheejen hain jo hamen hamesha chaukaane vaalee cheejen dikhaatee rahatee hai bahut saaree cheejen hotee hai jinake baare mein aap soch bhee nahin paate hain paartee ke hamen jaroor dikha detee hain jaise ki yah cheej kee koee praanee nar se maada ban sake inamen kaee aise jaanavar hai jo aisa kar paate hain jaise ki klonaphit jo ki apane aap ko badal sakatee hain jaise ki yah paida hotee hai to yah mel hotee hai ya najar hotee hai pahale apane aap ko maara bana sakatee hai aur isaka ek riprejenteshan ek tareeke se dikhaaya gaya hai ek mutthee mein phainding doree usee ka ek paip hai lekin takaleeph hone usee kee hotee hai jo ki orenj kalar ke paas kaise banae jaate hain aur yah phir apane aap ko badal sakatee hai nar se maada ho sakatee hai usake baad hai aur laabh anaanaas lag jaane ki unake hote hain yah tareeke ke hain jo ki ab banaana sadak spesiphikalee jo ki apane aap ko chenj kar sakate hain inake paas donon ka matalab aur ganj hote mel pheemel donon vah apane hisaab se use chenj kar sakate hain is propartee ko hart gud naeet bola jaata hai to banaana sab to hote hain yah bhee apane aap ko nar se maada mein kanvart kar sakate hain tum tareeke se yah toophaanee hai ki ghar banaana klab aur blad preshar joki apane aapako nar se maada mein badal sakate hain

#जीवन शैली

bolkar speaker
Agar ek student pure din bhar beth kar time pas kar raha ...mind bilkul soya soya jesa h ...life me koi goal set nhi h ...to wo student kis tarike se khud ko active bnaye ...life me success paye ....kis takike se daily ka apna active routine bnaye?Agar Aik Studaint Purai Din Bhar Baith Kar Timai Pas Kar Rah ...mind Bilkul Soy Soy Jais H ...lifai Mai Koi Goal Sait Nhi H ...to Wo Studaint Kis Tarikai Sai Khud Ko Achtivai Bnayai ...lifai Mai Suchchaiss Payai ....kis Takikai Sai Daily Ka Apn Achtivai Routinai Bnayai
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
2:17
प्रश्न पूछा गया है अगर एक स्टूडेंट पूरे दिन भर बैठ कर टाइम पास कर रहा है माइंड बिल्कुल 1616 जाता है लाइफ में कोई कोई शक नहीं है तो वह सूरज किस तरीके से खुद को एक्टिव बनाएं लाइफ में सक्सेस पाए किस तरीके से दिल्ली का अपना रूटीन बनाएं तो देखिए मैं खुद एक स्टूडेंट हूं तो मैं समझ सकती हूं कि कभी-कभी ऐसा होता है कि कोई का काम करने का मन नहीं करता है पढ़ाई करने का मन नहीं करता है कुछ समझ नहीं आता है उसी के कारण कोई त्रुटि नहीं बन पाता है ना कुछ लाइफ में करने का मन होता है लेकिन यह बिल्कुल भी सही नहीं होता है हर स्टूडेंट को अपनी लाइफ का एक गोल होना ही चाहिए गोल्ड साइड कर लेना चाहिए क्योंकि गोली से हम आगे बढ़ पाते हैं हमें रास्ता पता होगा तभी तो हम आगे चल तू कूल सेटिंग के सबसे ज्यादा इंपॉर्टेंट कहां पर सबसे ज्यादा इंपॉर्टेंट खोल सेट करना होता है वह कैसा भी हो सकता है कि आपको क्या करना है आपको आगे लाइफ में तो कौन सी जगह काम करना है क्या जॉब चाहिए और उसके हिसाब से फिर आपको कोशिश लेकर आपके पढ़ाई को स्टार्ट करनी चाहिए और होने से क्या होगा कि आपको मोटिवेशन की बार-बार जरूरत नहीं पड़ेगी आप खुद बोलते हुए तोते जाओगे और इंपॉर्टेंट इसीलिए में क्या कहना चाहूंगी कि गोल होता है उसके बाद आता है रूटीन देखो गोल से टकराने कर ली लेकिन अगर हम उसके लिए काम नहीं करेंगे तो वह किसी काम का नहीं होगा तो उसके बाद आता है रोटी बना रोटी ज्यादा बनाना चाहिए जो हमारे खून की तरह हमें यह देखना होगा कि हमारे कुल की तरफ हमको क्या चीज लेकर जा रही है तो हमें उसी हिसाब से अपना रूटीन बनाना होगा और टूडेंट लाइफ में पढ़ाई तुम प्रोडक्ट होती है तो हमारी रूटीन में सबसे इंपॉर्टेंट काम हमारा पढ़ाई क्यों होना चाहिए और पढ़ाई करते करते हो पढ़ाई के साथ में लेते कर चलना चाहिए और अब गुर्जर करने के बाद और यदि पढ़ाई करने का टाइम है तो पढ़ाई करने का टाइम मेरे हिसाब से सबसे अच्छा सुबह ही होता है काफी सूजन से सब मतलब कर नहीं पाते हैं लेकिन सबसे अच्छा पढ़ाई के सुबह ही माना जाता है तो वह मेरी सबसे यह स्टूडेंट को अपनी लाइफ में कोई सेट करना सबसे ज्यादा जरूरी है उसके बाद में एक रूटीन लाइन जरूर और सुबह जल्दी उठकर पढ़ाई करना और पढ़ाई के ऊपर ऊपर करना फिर बाद में
Prashn poochha gaya hai agar ek stoodent poore din bhar baith kar taim paas kar raha hai maind bilkul 1616 jaata hai laiph mein koee koee shak nahin hai to vah sooraj kis tareeke se khud ko ektiv banaen laiph mein sakses pae kis tareeke se dillee ka apana rooteen banaen to dekhie main khud ek stoodent hoon to main samajh sakatee hoon ki kabhee-kabhee aisa hota hai ki koee ka kaam karane ka man nahin karata hai padhaee karane ka man nahin karata hai kuchh samajh nahin aata hai usee ke kaaran koee truti nahin ban paata hai na kuchh laiph mein karane ka man hota hai lekin yah bilkul bhee sahee nahin hota hai har stoodent ko apanee laiph ka ek gol hona hee chaahie gold said kar lena chaahie kyonki golee se ham aage badh paate hain hamen raasta pata hoga tabhee to ham aage chal too kool seting ke sabase jyaada importent kahaan par sabase jyaada importent khol set karana hota hai vah kaisa bhee ho sakata hai ki aapako kya karana hai aapako aage laiph mein to kaun see jagah kaam karana hai kya job chaahie aur usake hisaab se phir aapako koshish lekar aapake padhaee ko staart karanee chaahie aur hone se kya hoga ki aapako motiveshan kee baar-baar jaroorat nahin padegee aap khud bolate hue tote jaoge aur importent iseelie mein kya kahana chaahoongee ki gol hota hai usake baad aata hai rooteen dekho gol se takaraane kar lee lekin agar ham usake lie kaam nahin karenge to vah kisee kaam ka nahin hoga to usake baad aata hai rotee bana rotee jyaada banaana chaahie jo hamaare khoon kee tarah hamen yah dekhana hoga ki hamaare kul kee taraph hamako kya cheej lekar ja rahee hai to hamen usee hisaab se apana rooteen banaana hoga aur toodent laiph mein padhaee tum prodakt hotee hai to hamaaree rooteen mein sabase importent kaam hamaara padhaee kyon hona chaahie aur padhaee karate karate ho padhaee ke saath mein lete kar chalana chaahie aur ab gurjar karane ke baad aur yadi padhaee karane ka taim hai to padhaee karane ka taim mere hisaab se sabase achchha subah hee hota hai kaaphee soojan se sab matalab kar nahin paate hain lekin sabase achchha padhaee ke subah hee maana jaata hai to vah meree sabase yah stoodent ko apanee laiph mein koee set karana sabase jyaada jarooree hai usake baad mein ek rooteen lain jaroor aur subah jaldee uthakar padhaee karana aur padhaee ke oopar oopar karana phir baad mein

#मनोरंजन

bolkar speaker
हॉलीवुड की कुछ बेहतरीन रोमांटिक फिल्में कौन सी है?Hollywood Ke Kuch Behatareen Romantic Filmein Kaun Si Hain
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
0:50
प्रश्न पूछा गया है हॉलीवुड की कुछ बेहतरीन रोमांटिक फिल्में कौन सी है तो देखिए रोमांटिक मूवीस में अगर हम देखे तो बॉलीवुड में हॉलीवुड में काफी अंतर होता है दोनों के बनाने के तरीके में दोनों के स्टोरीलाइंस बहुत अलग अलग होती है तो हॉलीवुड में जो मुझे बहुत ज्यादा पसंद है कुछ क्लासिक्स है जो बहुत ही ज्यादा चलती है जैसे कि टाइटेनिक हो गई नोटबुक हो गई लव रोती हो गई ला ला लैंड हो गई टॉयलेट हो गई यह सारी मूवी शो है वह काफी चलती है बाकी जो मैंने देखी है जो मुझे पसंद आई थी जैसे कि मैं b4u द प्रफुल्ल सर अब आउट टाइम 50 23 ऑफ समर की सारी खुशी मूवीस है जो काफी अच्छी है और रोमांटिक है तो मेरा कमेंट करता हूं कि आप होगा देखना
Prashn poochha gaya hai holeevud kee kuchh behatareen romaantik philmen kaun see hai to dekhie romaantik moovees mein agar ham dekhe to boleevud mein holeevud mein kaaphee antar hota hai donon ke banaane ke tareeke mein donon ke storeelains bahut alag alag hotee hai to holeevud mein jo mujhe bahut jyaada pasand hai kuchh klaasiks hai jo bahut hee jyaada chalatee hai jaise ki taitenik ho gaee notabuk ho gaee lav rotee ho gaee la la laind ho gaee toyalet ho gaee yah saaree moovee sho hai vah kaaphee chalatee hai baakee jo mainne dekhee hai jo mujhe pasand aaee thee jaise ki main b4u da praphull sar ab aaut taim 50 23 oph samar kee saaree khushee moovees hai jo kaaphee achchhee hai aur romaantik hai to mera kament karata hoon ki aap hoga dekhana

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
रोबिन शर्मा लेखक की सबसे अच्छी किताब कौन सी है?Robin Sharma Lekhak Ki Sabse Achi Kitab Kaun Si Hai
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:04
प्रश्न पूछा गया है रॉबिन शर्मा लेखक की सबसे अच्छी किताब कौन सी है तो रॉबिन शर्मा एक ऐसे लेखक हैं जिन्होंने कई ज्ञानवर्धक किताबें लिखी है और उनकी कई किताबें बहुत कीमती है और अगर किसी में एक नया मैसेज होता है पर मेरा पसंदीदा किताब है असली एक नहीं दो है कि के दोनों इतनी अच्छी है कि मैं एक नहीं पता था कि आप पहली है दमोह रोड पर आर ई एस बुक में उन्होंने लाइफ के बारे में बहुत सारी ऐसी बातें बताई है जो हम आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में भूल चुके हैं और यह सब हमारे लाइफ को जीने के नए तरीके के बारे में बताएं गई है क्या मुझसे और कितने अच्छे तरीके से जी सकते हैं वहीं दूसरी किताब है तो 5am क्लब जोकि बेसिकली सुबह जल्दी उठने के लिए है और वहां के हमारे फोकस को और हमारी लाइट को बदलता है और हमारे लाइफ में बहुत सारी प्रॉब्लम को सॉल्व करने में कारगर होता है उसके बारे में तो यह दो मिनी किताबें मैं सबको रख कमेंट करती हूं और का बोलूंगी कि उन्हें एक बार जरूर पढ़ना
Prashn poochha gaya hai robin sharma lekhak kee sabase achchhee kitaab kaun see hai to robin sharma ek aise lekhak hain jinhonne kaee gyaanavardhak kitaaben likhee hai aur unakee kaee kitaaben bahut keematee hai aur agar kisee mein ek naya maisej hota hai par mera pasandeeda kitaab hai asalee ek nahin do hai ki ke donon itanee achchhee hai ki main ek nahin pata tha ki aap pahalee hai damoh rod par aar ee es buk mein unhonne laiph ke baare mein bahut saaree aisee baaten bataee hai jo ham aajakal kee bhaagadaud bharee jindagee mein bhool chuke hain aur yah sab hamaare laiph ko jeene ke nae tareeke ke baare mein bataen gaee hai kya mujhase aur kitane achchhe tareeke se jee sakate hain vaheen doosaree kitaab hai to 5am klab joki besikalee subah jaldee uthane ke lie hai aur vahaan ke hamaare phokas ko aur hamaaree lait ko badalata hai aur hamaare laiph mein bahut saaree problam ko solv karane mein kaaragar hota hai usake baare mein to yah do minee kitaaben main sabako rakh kament karatee hoon aur ka boloongee ki unhen ek baar jaroor padhana

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
डिजिटल मार्केटिंग क्या है?Digital Marketing Kya Hai
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:20
प्रश्न पूछा गया है डिजिटल मार्केटिंग क्या है तो यह एक नई प्रकार की मार्केटिंग स्ट्रेटजी है बिजनेस का नया टाइप है या मार्केटिंग का नया टाइप है डिजिटल मार्केटिंग मतलब मार्केटिंग करना पर डिजिटली जैसे कि डिजिटल मार्केटर्स जो होते हैं वह हमारे डेक्सटॉप पर हमारे लैपटॉप स्क्रीन पर और हमारे फोन की स्क्रीन को यूज करके मार्केटिंग करते हैं देखें पहले क्या होता था मार्केटिंग के लिए बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगाए जाती थी और टीवी पर ऐड लगाए जाते थे जिससे कि हमें अलग-अलग फ्रेंड के बारे में और एडल्ट के बारे में पता चलता था पर अब मार्केटिंग का स्तर पर कर डिजिटल ही हो गया है यानी कि अब वह हमारे लैपटॉप स्क्रीन स्कोर हमारे फोन स्क्रीन स्कोर कंप्यूटर की स्क्रीन पर ऐड शो करते हैं जिससे कि हमें प्रोडक्ट के बारे में और ब्रांड के बारे में वह हमें ऐड दिखाते हैं जिससे कि हम वहां पर जाकर शॉपिंग कर पाते हैं या चीजों की सर्विस इसकी ऐड्स देखकर हम वहां से उसको एक्सेस कर पाते हैं तो यह 1 तरीके की अच्छी तरीके से टेक्नोलॉजी को यूज कर कर मार्केटिंग करना कह सकते ना में से और काफी फायदेमंद यह दिख भी रहा है और आगे जाकर इसका बहुत ही स्कूटी है
Prashn poochha gaya hai dijital maarketing kya hai to yah ek naee prakaar kee maarketing stretajee hai bijanes ka naya taip hai ya maarketing ka naya taip hai dijital maarketing matalab maarketing karana par dijitalee jaise ki dijital maarketars jo hote hain vah hamaare deksatop par hamaare laipatop skreen par aur hamaare phon kee skreen ko yooj karake maarketing karate hain dekhen pahale kya hota tha maarketing ke lie bade-bade hordings lagae jaatee thee aur teevee par aid lagae jaate the jisase ki hamen alag-alag phrend ke baare mein aur edalt ke baare mein pata chalata tha par ab maarketing ka star par kar dijital hee ho gaya hai yaanee ki ab vah hamaare laipatop skreen skor hamaare phon skreen skor kampyootar kee skreen par aid sho karate hain jisase ki hamen prodakt ke baare mein aur braand ke baare mein vah hamen aid dikhaate hain jisase ki ham vahaan par jaakar shoping kar paate hain ya cheejon kee sarvis isakee aids dekhakar ham vahaan se usako ekses kar paate hain to yah 1 tareeke kee achchhee tareeke se teknolojee ko yooj kar kar maarketing karana kah sakate na mein se aur kaaphee phaayademand yah dikh bhee raha hai aur aage jaakar isaka bahut hee skootee hai

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
हम अपने मतभेदों के कारण एक दूसरे से नफरत क्यों करते हैं?Hum Apne Matbhedon Ke Kaaran Ek Dusre Se Nafrat Kyu Karte Hai
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:24
प्रश्न पूछा गया है कि हम अपने मतभेदों के कारण एक दूसरे से नफरत क्यों करते हैं तो देखिए यह एक प्रकार का ह्यूमन नेचर होता है कि हम सामने वाले के अंदर वही चीजें कुछ नहीं लगते हैं ढूंढने लगते हैं जो हमें पसंद है या फिर मैं क्यों कहूं कि अगर दो लोगों के बीच में सेम इंटरेस्ट है दोनों को सेंड चीजों में इंटरेस्ट है तो उन लोगों की काफी बनती है क्योंकि वह अपने इंटरेस्ट के हिसाब से अब काम चूस कर पाते हैं और उसमें खुशी ढूंढ पाते हैं पर देखिए एक यह भी है कि ह्यूमन साइकोलॉजी होती है कि हम अपने अपॉजिट नेचर की तरफ ज्यादा अट्रैक्ट होते हैं और उससे क्या होता है कि सिग्नेचर है तो अभी सी बात है कि उसमें बहुत सारे डिफरेंसेस होंगे मतभेद होंगे आदतों में डिफरेंस होंगे काम करने के तरीकों में डिफरेंस होने के लिए और इन्हीं सब छोटी छोटी चीजों के कारण मतभेद पैदा होने लगते हैं और झगड़े होने लगते हैं नफरत होने लगती है तो देखिए हमें छोटी मोटी नफरत और पर मतभेद तो चलते ही है लेकिन हमें यह ध्यान रखना चाहिए कोशिश करनी चाहिए कि हम सामने वाले को भी समझने की कोशिश करें उसके पॉइंट ऑफ यू को भी समझने की कोशिश करें और इन डिफरेंस इसके कारण अपने रिश्तो में नफरत और दूध लाने के ना कोशिश करें बल्कि हम अंडरस्टैंडिंग के साथ खुशी के साथ अपना जीवन बिताने की कोशिश करें धन्यवाद
Prashn poochha gaya hai ki ham apane matabhedon ke kaaran ek doosare se napharat kyon karate hain to dekhie yah ek prakaar ka hyooman nechar hota hai ki ham saamane vaale ke andar vahee cheejen kuchh nahin lagate hain dhoondhane lagate hain jo hamen pasand hai ya phir main kyon kahoon ki agar do logon ke beech mein sem intarest hai donon ko send cheejon mein intarest hai to un logon kee kaaphee banatee hai kyonki vah apane intarest ke hisaab se ab kaam choos kar paate hain aur usamen khushee dhoondh paate hain par dekhie ek yah bhee hai ki hyooman saikolojee hotee hai ki ham apane apojit nechar kee taraph jyaada atraikt hote hain aur usase kya hota hai ki signechar hai to abhee see baat hai ki usamen bahut saare dipharenses honge matabhed honge aadaton mein dipharens honge kaam karane ke tareekon mein dipharens hone ke lie aur inheen sab chhotee chhotee cheejon ke kaaran matabhed paida hone lagate hain aur jhagade hone lagate hain napharat hone lagatee hai to dekhie hamen chhotee motee napharat aur par matabhed to chalate hee hai lekin hamen yah dhyaan rakhana chaahie koshish karanee chaahie ki ham saamane vaale ko bhee samajhane kee koshish karen usake point oph yoo ko bhee samajhane kee koshish karen aur in dipharens isake kaaran apane rishto mein napharat aur doodh laane ke na koshish karen balki ham andarastainding ke saath khushee ke saath apana jeevan bitaane kee koshish karen dhanyavaad

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
जीपीआरएस और जीपीएस के बीच बुनियादी अंतर क्या है?Gprs Aur Gps Ke Beech Buniyadi Antar Kya Hai
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:33
प्रश्न पूछा गया है कि जीपीआरएस और जीपीएस के बीच में बुनियादी अंतर क्या होता है तो आइए जानते हैं देखिए यह दोनों काफी अलग-अलग होते हैं यदि हम जीपीएस देखे तो जीपीएस होता है ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम वही जीपीआरएस होता है जनरल पैकेट रेडियो सर्विस इन दोनों को काम करने का तरीका भी काफी अलग होता है जैसे कि जीपीएस जो होता है वह सेटेलाइट बेस्ट होता है सेटेलाइट के द्वारा काम करता है वही जीपीआरएस जो होता है वह सेल्यूलर डाटा सर्विस है या ने हमारे सर फोन के डाटा सैया काम कर वहीं इन दोनों का अगर हम मेन काम देखें तो यह करता क्या है यह जीपीएस जो होता है वह लोकेशन सर्विस एरिया नियर मे लोकेशन बताने का काम करता है वही जीपीआरएस जो होता है मगर डाटा ट्रांसफर करने का काम करता है मैसेज देखने का मन करता है इस वगैरह को ट्रांसफर करने का काम करता है वही अगर हम इसके और काम देखें तो देखो चीज सेटेलाइट ऑपरेशन में काम आता है सर्वे करने में काम आता है मैप पर ज्ञान की नाव बनाने में काम आता है एग्रीकल्चर के बारे में पता करने के काम आता है वही जीपीआरएस जूता है इसका काम होता है कि हमारे ईमेल को जैसे ट्रांसफर करना मैसेजेस मल्टीमीडिया मैसेज इनका काम करवाना हमारे फोन में भी हमारे उसकी हेल्प आता है वही वीडियो कॉलिंग के काम आता है इस तरह के से हम देख सकते हैं कि जीपीआरएस और जीपीएस काफी अलग-अलग होते हैं
Prashn poochha gaya hai ki jeepeeaares aur jeepeees ke beech mein buniyaadee antar kya hota hai to aaie jaanate hain dekhie yah donon kaaphee alag-alag hote hain yadi ham jeepeees dekhe to jeepeees hota hai global pojishaning sistam vahee jeepeeaares hota hai janaral paiket rediyo sarvis in donon ko kaam karane ka tareeka bhee kaaphee alag hota hai jaise ki jeepeees jo hota hai vah setelait best hota hai setelait ke dvaara kaam karata hai vahee jeepeeaares jo hota hai vah selyoolar daata sarvis hai ya ne hamaare sar phon ke daata saiya kaam kar vaheen in donon ka agar ham men kaam dekhen to yah karata kya hai yah jeepeees jo hota hai vah lokeshan sarvis eriya niyar me lokeshan bataane ka kaam karata hai vahee jeepeeaares jo hota hai magar daata traansaphar karane ka kaam karata hai maisej dekhane ka man karata hai is vagairah ko traansaphar karane ka kaam karata hai vahee agar ham isake aur kaam dekhen to dekho cheej setelait opareshan mein kaam aata hai sarve karane mein kaam aata hai maip par gyaan kee naav banaane mein kaam aata hai egreekalchar ke baare mein pata karane ke kaam aata hai vahee jeepeeaares joota hai isaka kaam hota hai ki hamaare eemel ko jaise traansaphar karana maisejes malteemeediya maisej inaka kaam karavaana hamaare phon mein bhee hamaare usakee help aata hai vahee veediyo koling ke kaam aata hai is tarah ke se ham dekh sakate hain ki jeepeeaares aur jeepeees kaaphee alag-alag hote hain

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
लोग सर दर्द में चाय क्यों पीते हैं?Log Sar Dard Mein Chai Kyun Peete Hain
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
0:46
पूछा गया है लोक सर दर्द में चाय क्यों पीते हैं तो मैं आपको बताना चाहूंगी कि चाय हो या कॉफी दोनों में ही काफी अमाउंट में कैफीन पाया जाता है जो हमारी ब्रेन की ब्लड वेसल्स को कांटेक्ट करने का काम करता है जिससे क्या होता है कि हमारे सर दर्द में हमको काफी रिलीफ मिलता है और उसी के साथ साथ हमें हमारा मूड भी अच्छा हो जाता है हमारी साथ में हमारी अलर्ट नस फट जाती है और इसी से हमको अच्छा फिर होने लगता है तो इसलिए हम चाय और कॉफी पीना पसंद करते हैं पर हमें ध्यान रखना चाहिए कि इसको ज्यादा यूज करने से हमें और ज्यादा एडिक्शन हो सकता है जिसका चाय का इलेक्शन हो जाता है तो हमें इससे आम वोटर टर्नआउट में लेना चाहिए जिससे कि हम उसके फायदे में मिल सके धन्यवाद
Poochha gaya hai lok sar dard mein chaay kyon peete hain to main aapako bataana chaahoongee ki chaay ho ya kophee donon mein hee kaaphee amaunt mein kaipheen paaya jaata hai jo hamaaree bren kee blad vesals ko kaantekt karane ka kaam karata hai jisase kya hota hai ki hamaare sar dard mein hamako kaaphee rileeph milata hai aur usee ke saath saath hamen hamaara mood bhee achchha ho jaata hai hamaaree saath mein hamaaree alart nas phat jaatee hai aur isee se hamako achchha phir hone lagata hai to isalie ham chaay aur kophee peena pasand karate hain par hamen dhyaan rakhana chaahie ki isako jyaada yooj karane se hamen aur jyaada edikshan ho sakata hai jisaka chaay ka ilekshan ho jaata hai to hamen isase aam votar tarnaut mein lena chaahie jisase ki ham usake phaayade mein mil sake dhanyavaad

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
पित्त की थैली में पथरी का इलाज क्या है?Pitt Ki Thaili Mein Pathri Ka Ilaaj Kya Hai
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:47
पूछा गया है पित्त की थैली में पथरी का इलाज क्या होता है तो हम सबसे पहले देख लेते हैं कि यह है क्या पित्त की थैली जिससे हम गॉलब्लैडर समझ सकते हैं और पथरी यानी कि तुम तो पित्त की थैली में पथरी यानी कि गोल्फ तुम जिसे मेडिकल लैंग्वेज में गोली ली थी आशीष बोला जाता है अब देखिए गॉलब्लैडर होता क्या है गोल्ड मेडल एक छोटा सा पाउच होता है क्योंकि हमारी बॉडी में लिवर के पास होता है और इसका काम होता है बाइल जूस को स्टोर करना अब दरअसल होता यह है कि गॉड लेटेस्ट में यह जूस जूस होता है वह थोड़े टाइम बाद उसने लगता है या रिलीज नहीं होने के कारण वह वहां पर पत्थर छोटे-छोटे टुकड़ों में पत्थर की तरह दूर होने लगता है पत्थर बनाए लगता है सोच बनाने आता है अब किसी को हम गाल ब्लैडर स्टोन बोलते हैं अब इसका इलाज कैसे किया जाता है तो ज्यादातर तो यह पता नहीं चल पाता है यह सब पता चलता है जब पेशेंट को बहुत ज्यादा पेट में असहनीय दर्द होने लगता है तब से इसका पता चलता है और यदि यह जल्दी पता चल जाता है तो इसे मेडिकेशन से भी ठीक लगता है दवाइयों से ठीक किया जा सकता है इसमें पेशेंट को मेडिकेशंस के साथ-साथ का कुछ अपनी क्वेश्चन दिया जिसको ले जाते हैं जैसे कि उन्हें पतला खाना खाना होता है उनको तेल से बनी चीजें एकदम नहीं खानी होती है तकलीफ ना होती है और यदि गोल ब्लैडर में स्टोन बहुत ज्यादा है तो उसके लिए फिर उसका ऑपरेशन करना पड़ता है जिससे कि कॉलेज स्टिक टॉमी कहा जाता है तो पथरी का इलाज पॉलीसिस्टिक प्रॉमिस की सर्जरी से और कभी मेडिकेशन से भी किया जा सकता है धन्यवाद
Poochha gaya hai pitt kee thailee mein patharee ka ilaaj kya hota hai to ham sabase pahale dekh lete hain ki yah hai kya pitt kee thailee jisase ham golablaidar samajh sakate hain aur patharee yaanee ki tum to pitt kee thailee mein patharee yaanee ki golph tum jise medikal laingvej mein golee lee thee aasheesh bola jaata hai ab dekhie golablaidar hota kya hai gold medal ek chhota sa pauch hota hai kyonki hamaaree bodee mein livar ke paas hota hai aur isaka kaam hota hai bail joos ko stor karana ab darasal hota yah hai ki god letest mein yah joos joos hota hai vah thode taim baad usane lagata hai ya rileej nahin hone ke kaaran vah vahaan par patthar chhote-chhote tukadon mein patthar kee tarah door hone lagata hai patthar banae lagata hai soch banaane aata hai ab kisee ko ham gaal blaidar ston bolate hain ab isaka ilaaj kaise kiya jaata hai to jyaadaatar to yah pata nahin chal paata hai yah sab pata chalata hai jab peshent ko bahut jyaada pet mein asahaneey dard hone lagata hai tab se isaka pata chalata hai aur yadi yah jaldee pata chal jaata hai to ise medikeshan se bhee theek lagata hai davaiyon se theek kiya ja sakata hai isamen peshent ko medikeshans ke saath-saath ka kuchh apanee kveshchan diya jisako le jaate hain jaise ki unhen patala khaana khaana hota hai unako tel se banee cheejen ekadam nahin khaanee hotee hai takaleeph na hotee hai aur yadi gol blaidar mein ston bahut jyaada hai to usake lie phir usaka opareshan karana padata hai jisase ki kolej stik tomee kaha jaata hai to patharee ka ilaaj poleesistik promis kee sarjaree se aur kabhee medikeshan se bhee kiya ja sakata hai dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
पाई का मान क्या होता है?Payi Ka Maan Kya Hota Hai
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
0:46
गया है पाई का मान क्या होता है तो पाई का मान जाने से पहले यह जानना जरूरी है कि पाए होता क्या है तो पाए एक ग्रीक वर्ड है जो कि बाय सिंबल को ढूंढ इंडिकेट करता है और यह ए कांस्टेंट है जो कि हम मैथ के ग्रुप में यूज करते हैं और अगर हम इसकी नॉमिनेशन देखें तो यह 1 रेशों होता है हमारे सर कल के सरकम्फ्रेंस कालीबाई डायमीटर का जाने कि इसको हम ऐसे समझ सकते हैं कि यदि हमने कोई भी साइज का सर्कल लिया करो पहले कभी भी चुना साइज़ हो और यदि हम उसको हटाया मीटर से डिवाइड करते हैं तो उसका एक कांस्टेंट ही नंबर आता है जिससे कि हम पाए कहते हैं और इस का मान होता है 3.1 धन्यवाद
Gaya hai paee ka maan kya hota hai to paee ka maan jaane se pahale yah jaanana jarooree hai ki pae hota kya hai to pae ek greek vard hai jo ki baay simbal ko dhoondh indiket karata hai aur yah e kaanstent hai jo ki ham maith ke grup mein yooj karate hain aur agar ham isakee nomineshan dekhen to yah 1 reshon hota hai hamaare sar kal ke sarakamphrens kaaleebaee daayameetar ka jaane ki isako ham aise samajh sakate hain ki yadi hamane koee bhee saij ka sarkal liya karo pahale kabhee bhee chuna saiz ho aur yadi ham usako hataaya meetar se divaid karate hain to usaka ek kaanstent hee nambar aata hai jisase ki ham pae kahate hain aur is ka maan hota hai 3.1 dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
हड्डी तोड़ बुखार कौन सा होता है?Haddi Tod Bukhar Kaun Sa Hota Hai
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
0:45
प्रश्न पूछा गया है कि हड्डी तोड़ बुखार कौन सा होता है तो मैं आप लोगों को बताना चाहूंगी की हड्डी तोड़ बुखार डेंगू को बोला जाता है जी हां डेंगू फीवर को हड्डी तोड़ बुखार बोला जाता है जो कि बहुत ही आसानी से किसी भी इंसान को एडिज मॉस्किटो के काटने से हो जाता है और इसका इंफेक्शन मॉस्किटो के काटने के फोटो एंड एस बाद होता है उसके बाद अपन की कंडीशन सीनियर होने लगती है बहुत ही सादा जैसे कि उसे हटा एक होने लगता है फीवर होने लगता है मसल पेन होने लगता है और उसके जॉइंट में और उसकी बोंस में बहुत ही ज्यादा सीरियस असहनीय दर्द होने लगता है और इसके कारण इसे हड्डी तोड़ बुखार जाने की ब्रेक बोर्ड डिजीज पूरा जाता है
Prashn poochha gaya hai ki haddee tod bukhaar kaun sa hota hai to main aap logon ko bataana chaahoongee kee haddee tod bukhaar dengoo ko bola jaata hai jee haan dengoo pheevar ko haddee tod bukhaar bola jaata hai jo ki bahut hee aasaanee se kisee bhee insaan ko edij moskito ke kaatane se ho jaata hai aur isaka imphekshan moskito ke kaatane ke photo end es baad hota hai usake baad apan kee kandeeshan seeniyar hone lagatee hai bahut hee saada jaise ki use hata ek hone lagata hai pheevar hone lagata hai masal pen hone lagata hai aur usake joint mein aur usakee bons mein bahut hee jyaada seeriyas asahaneey dard hone lagata hai aur isake kaaran ise haddee tod bukhaar jaane kee brek bord dijeej poora jaata hai

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
जल्दबाजी का काम शैतान का होता है ऐसा क्यों बोलते हैं?Jaldbaji Ka Kam Shaitan Ka Hota Hai Aisa Kyun Bolte Hain
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
0:52
यहां पर प्रश्न पूछा गया है कि जल्दबाजी का काम शैतान का होता है ऐसा क्यों बोलते हैं तो सबसे पहले तो यह एक प्रकार का मुहावरा है जल्दबाजी का काम शैतान का काम यह मुहावरा कुछ ऐसे यूज़ होता है कि हम यदि कोई काम जल्दबाजी में करने की कोशिश करते हैं हर बार में करते हैं तो उसमें कुछ ना कुछ बिगड़ जाता है कुछ ना कुछ छूट जाता है या कुछ ना कुछ खराब हो जाता है तो इसे शैतान का नाम बोला गया है यानी बुराई का प्रतीक बताया गया है हम सभी के साथ ऐसा हुआ होगा यह होता है कि फॉर एग्जांपल कि हम यदि कहीं जाना चाहते हैं कई हमको टाइम पर पहुंचना है तो हम हड़बड़ी में या जल्दबाजी में सब कुछ करने लगते हैं और इसी सब के चक्कर में कुछ ना कुछ भूल जाते हैं या कुछ गड़बड़ हो जाती है तो वहां पर हम इस मुहावरे को यूज करते हैं कि चलते पार्टी का काम शैतान का काम
Yahaan par prashn poochha gaya hai ki jaldabaajee ka kaam shaitaan ka hota hai aisa kyon bolate hain to sabase pahale to yah ek prakaar ka muhaavara hai jaldabaajee ka kaam shaitaan ka kaam yah muhaavara kuchh aise yooz hota hai ki ham yadi koee kaam jaldabaajee mein karane kee koshish karate hain har baar mein karate hain to usamen kuchh na kuchh bigad jaata hai kuchh na kuchh chhoot jaata hai ya kuchh na kuchh kharaab ho jaata hai to ise shaitaan ka naam bola gaya hai yaanee buraee ka prateek bataaya gaya hai ham sabhee ke saath aisa hua hoga yah hota hai ki phor egjaampal ki ham yadi kaheen jaana chaahate hain kaee hamako taim par pahunchana hai to ham hadabadee mein ya jaldabaajee mein sab kuchh karane lagate hain aur isee sab ke chakkar mein kuchh na kuchh bhool jaate hain ya kuchh gadabad ho jaatee hai to vahaan par ham is muhaavare ko yooj karate hain ki chalate paartee ka kaam shaitaan ka kaam

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
मांसपेशियों में प्रोटीन उपस्थित होता है?Manspeshiyon Mein Kon Sa Protein Upasthit Hota Hai
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
0:45
प्रश्न पूछा गया है मांसपेशियों में कौन सा प्रोटीन उपस्थित होता है तो आइए जवाब जानते हैं हमारी बॉडी की मसल्स में हमारी मांसपेशियों में मेहंदी माया फाइब्रिलर प्रोटीन पाया जाता है हमें से कुछ इस तरह समझने की कोशिश करते हैं अगर हमने एक मसल फाइबर को लिया तो उसके अंदर हमें तो प्रोटीन होते हैं 8 दिन और माया उसे यह हमारी मसल्स में सबसे ज्यादा अमाउंट में होते हैं और इन्हीं एक्टिव और मायोसिन की मदद से हमारा मसल कंट्रक्शन होता है यानी हमारी मसल्स को हम मुंह कर पाते हैं और उसी की मदद से हमारे हाथ पैरों को मिला पाते हैं मुंह कर पाते हैं तो हमारी बॉडी में सबसे ज्यादा माया ₹500000 पाए जाते हैं धन्यवाद
Prashn poochha gaya hai maansapeshiyon mein kaun sa proteen upasthit hota hai to aaie javaab jaanate hain hamaaree bodee kee masals mein hamaaree maansapeshiyon mein mehandee maaya phaibrilar proteen paaya jaata hai hamen se kuchh is tarah samajhane kee koshish karate hain agar hamane ek masal phaibar ko liya to usake andar hamen to proteen hote hain 8 din aur maaya use yah hamaaree masals mein sabase jyaada amaunt mein hote hain aur inheen ektiv aur maayosin kee madad se hamaara masal kantrakshan hota hai yaanee hamaaree masals ko ham munh kar paate hain aur usee kee madad se hamaare haath pairon ko mila paate hain munh kar paate hain to hamaaree bodee mein sabase jyaada maaya ₹500000 pae jaate hain dhanyavaad

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
टेक्नोलॉजी के दुष्प्रभाव कौन-कौन से हैं?Technology Ke Dushprabhav Kaun Kaun Se Hain
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:54
पढ़ाई अच्छा प्रश्न पूछा गया है कि टेक्नॉलॉजी के दुष्प्रभाव कौन-कौन से हैं तो देखिए हर सिक्के के दो पहलू होते हैं एक अच्छा और एक बड़ा अपराध किस चीज से बढ़ता है कि हम क्या देखते हैं टैक्लॉजी के साथ भी ऐसा ही कुछ है या बनी हमारे मदद के लिए थी हमारे कामों को आसान करने के लिए नहीं हमारे यूज़ के लिए थी पर अब ऐसा लगने लगा है कि हम इसे यूज कम और यह हमें ज्यादा करने लगे हैं हम इसमें इतना लेट हो जाते हैं कि हमें वक्त का पता ही नहीं चलता और हमारे कामों को आसान करने के लिए बनी चीज हम हमारी आदतों को बिगाड़ दी जा रही है जैसे कि पापुलेशन करते समय पहले हम अपना दिमाग खुद लगाते थे खुद कैलकुलेट करने की कोशिश करते थे पर अब केलकुलेटर और मोबाइल की मदद से हमें तुरंत हो जाता है और दूसरी चीज जैसे कि हम पहले पढ़ाई करते समय किताबों से नॉलेज लेने की कोशिश करते थे पर अब एक सच्चे सारी चीजें सारे जवाब हमें मिल जाते हैं इससे हमारा काम आसान तो किया लेकिन हमारे को अलसी से बना दिया है पहले किताबें पढ़ते थे तो हमें चीज का नॉलेज मिलता था और साथ ही साथ हमें दूसरी चीजों के बारे में भी पता चलता था पर उस अब क्या होता है डायरेक्ट हम वही भाग जाते हैं और हमें नॉलेज कम मिल पाता है वही गेमिंग और ऑनलाइन एप्स का तो क्या है कहना यह इसमें हम इतना लीन हो जाते हैं कि हम अपना खाना खाना भूल सकते हैं लेकिन ऐप चलाना या कुछ करना भूल नहीं सकते तू इस तरह से यह हमें कामों को आसान करने के साथ-साथ ही हमारे प्रेम को थोड़ा सा नुकसान भी पहुंचा ने लगी है हमारी आदतों को बढ़ने लगी है तो हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि हम टेक्नोलॉजी का यूज तो करें लेकिन हम घर से कैसे यूज कर रहे हैं कहां यूज कर रहे हैं कभी उस कर रहे हैं कि हमें ध्यान रखना चाहिए तो टेक्नोलॉजी के दोनों प्रभाव है दुष्प्रभाव भी है अच्छे भी हैं लेकिन हमें बस ध्यान करने की जरूरत है
Padhaee achchha prashn poochha gaya hai ki teknolojee ke dushprabhaav kaun-kaun se hain to dekhie har sikke ke do pahaloo hote hain ek achchha aur ek bada aparaadh kis cheej se badhata hai ki ham kya dekhate hain taiklojee ke saath bhee aisa hee kuchh hai ya banee hamaare madad ke lie thee hamaare kaamon ko aasaan karane ke lie nahin hamaare yooz ke lie thee par ab aisa lagane laga hai ki ham ise yooj kam aur yah hamen jyaada karane lage hain ham isamen itana let ho jaate hain ki hamen vakt ka pata hee nahin chalata aur hamaare kaamon ko aasaan karane ke lie banee cheej ham hamaaree aadaton ko bigaad dee ja rahee hai jaise ki paapuleshan karate samay pahale ham apana dimaag khud lagaate the khud kailakulet karane kee koshish karate the par ab kelakuletar aur mobail kee madad se hamen turant ho jaata hai aur doosaree cheej jaise ki ham pahale padhaee karate samay kitaabon se nolej lene kee koshish karate the par ab ek sachche saaree cheejen saare javaab hamen mil jaate hain isase hamaara kaam aasaan to kiya lekin hamaare ko alasee se bana diya hai pahale kitaaben padhate the to hamen cheej ka nolej milata tha aur saath hee saath hamen doosaree cheejon ke baare mein bhee pata chalata tha par us ab kya hota hai daayarekt ham vahee bhaag jaate hain aur hamen nolej kam mil paata hai vahee geming aur onalain eps ka to kya hai kahana yah isamen ham itana leen ho jaate hain ki ham apana khaana khaana bhool sakate hain lekin aip chalaana ya kuchh karana bhool nahin sakate too is tarah se yah hamen kaamon ko aasaan karane ke saath-saath hee hamaare prem ko thoda sa nukasaan bhee pahuncha ne lagee hai hamaaree aadaton ko badhane lagee hai to hamen yah dhyaan rakhana chaahie ki ham teknolojee ka yooj to karen lekin ham ghar se kaise yooj kar rahe hain kahaan yooj kar rahe hain kabhee us kar rahe hain ki hamen dhyaan rakhana chaahie to teknolojee ke donon prabhaav hai dushprabhaav bhee hai achchhe bhee hain lekin hamen bas dhyaan karane kee jaroorat hai

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
इंदौर में घूमने के लिए सबसे बढ़िया जगह कौन सी है?Indore Mein Ghumne Ke Lie Sabse Badiya Jagah Kaun Si Hai
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:48
राकेश कुमार यादव जी द्वारा मुझसे सवाल पूछा गया है कि इंदौर में घूमने के लिए सबसे बढ़िया जगह कौन सी है तो मैं आपको बताना चाहूंगी कि मैं खुद इंदौर में रहती हूं तो मुझे लगता है कि यह बस सिटी है रहने के लिए बट आप यदि घूमने के लिए आए हैं और टुडेस बनकर आए हैं तो यहां पर बहुत सारे टूरिस्ट प्लेसिस भी है जैसे कि लाल बाग पैलेस राजवाडा सेंट्रल म्यूजियम और कई नेचुरल प्लेसिस भी है जैसे कि टिंचा फॉल जानापाव पतंजलि वाटरफॉल लोटस वैली गुलावत यह सब इंदौर से कुछ ही दूरी पर बनी हुई है और इंदौर अपने खाने के लिए जाना चाहता है टेस्ट के लिए फेमस है और यहां सबसे ज्यादा फेमस है 56 दुकान और सराफा जी हां इंदौर में एक जगह है जहां पर 56 दुकाने एक साथ एक कतार में लगी है जहां सिर्फ स्ट्रीट फूड मिलता है और खाने के लिए बहुत अच्छी-अच्छी चीजें मिलती है तो यदि आप इंदौर आए और यहां नहीं गए तो यह आपके लिए बहुत ही दुखद होगा और यहां पर दूसरी जगह है सराफा जो कि रात में खुलता है जी हां यह रात में खुलता है रात में 12:00 बजे से शुरू होकर सुबह 4:00 बजे तक यहां पर लोगों की भीड़ लगी होती है लोग अपने खाने को इंजॉय करते हैं और बहुत ही अच्छे से अपना खाना वगैरह खाते हैं बहुत अच्छा खाना मिलता है वहीं यदि आप यहां पर इंदौर में रिलीजियस प्लेस अगर मैं बताऊं तो यहां बहुत सारे प्रसिद्ध मंदिर भी है जैसे कि गणपति मंदिर बड़ा गणपति मंदिर जहां पर 25 फुट के लंबे गणेश जी बने हुए हैं और खजराना मंदिर भी बहुत फेमस है अन्नपूर्णा मंदिर और कांच मंदिर जो की बहुत ही खूबसूरत है इस तरह इंदौर में बहुत सारी जगह है जहां पर आप घूमने के लिए और जा सकते हैं धन्यवाद
Raakesh kumaar yaadav jee dvaara mujhase savaal poochha gaya hai ki indaur mein ghoomane ke lie sabase badhiya jagah kaun see hai to main aapako bataana chaahoongee ki main khud indaur mein rahatee hoon to mujhe lagata hai ki yah bas sitee hai rahane ke lie bat aap yadi ghoomane ke lie aae hain aur tudes banakar aae hain to yahaan par bahut saare toorist plesis bhee hai jaise ki laal baag pailes raajavaada sentral myoojiyam aur kaee nechural plesis bhee hai jaise ki tincha phol jaanaapaav patanjali vaataraphol lotas vailee gulaavat yah sab indaur se kuchh hee dooree par banee huee hai aur indaur apane khaane ke lie jaana chaahata hai test ke lie phemas hai aur yahaan sabase jyaada phemas hai 56 dukaan aur saraapha jee haan indaur mein ek jagah hai jahaan par 56 dukaane ek saath ek kataar mein lagee hai jahaan sirph street phood milata hai aur khaane ke lie bahut achchhee-achchhee cheejen milatee hai to yadi aap indaur aae aur yahaan nahin gae to yah aapake lie bahut hee dukhad hoga aur yahaan par doosaree jagah hai saraapha jo ki raat mein khulata hai jee haan yah raat mein khulata hai raat mein 12:00 baje se shuroo hokar subah 4:00 baje tak yahaan par logon kee bheed lagee hotee hai log apane khaane ko injoy karate hain aur bahut hee achchhe se apana khaana vagairah khaate hain bahut achchha khaana milata hai vaheen yadi aap yahaan par indaur mein rileejiyas ples agar main bataoon to yahaan bahut saare prasiddh mandir bhee hai jaise ki ganapati mandir bada ganapati mandir jahaan par 25 phut ke lambe ganesh jee bane hue hain aur khajaraana mandir bhee bahut phemas hai annapoorna mandir aur kaanch mandir jo kee bahut hee khoobasoorat hai is tarah indaur mein bahut saaree jagah hai jahaan par aap ghoomane ke lie aur ja sakate hain dhanyavaad

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
तिरंगा किसने बनाया था?Tiranga Kisne Banaya Tha
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
0:52
निलेश कुमार यादव जी द्वारा अनुमोदित सवाल पूछा गया है कि तिरंगा किसने बनाया था तू तिरंगा जो हमारे भारत की शान है वह बंगाली में क्या जी ने 1916 में बनाया था तिरंगे की बनावट और उसका हर रंग हमें कुछ न कुछ सिखाता है बतलाता है जैसे कि उसमें महिला रंग ऑरेंज याने की केसरी यह हमारी शक्ति का प्रतीक है यह हमारी ताकत को दर्शाता है वही दूसरा रंग आता है सफेद जो हम सब जानते हैं हमारी शांति का प्रतीक है और उसके अंदर जो बीच में अशोक चक्र बना है वह हमारे धर्म को हमारे काम को दर्शाता है और सबसे लास्ट में आता है ग्रीन रंग जो कि हमारे विकास हमारी उपजाऊ ता हमारी फोटो लिटी को दर्शाने का कार्य करता है तो तिरंगे को बनाया था पिंगली वेंकैया जी ने 1916 में धन्यवाद
Nilesh kumaar yaadav jee dvaara anumodit savaal poochha gaya hai ki tiranga kisane banaaya tha too tiranga jo hamaare bhaarat kee shaan hai vah bangaalee mein kya jee ne 1916 mein banaaya tha tirange kee banaavat aur usaka har rang hamen kuchh na kuchh sikhaata hai batalaata hai jaise ki usamen mahila rang orenj yaane kee kesaree yah hamaaree shakti ka prateek hai yah hamaaree taakat ko darshaata hai vahee doosara rang aata hai saphed jo ham sab jaanate hain hamaaree shaanti ka prateek hai aur usake andar jo beech mein ashok chakr bana hai vah hamaare dharm ko hamaare kaam ko darshaata hai aur sabase laast mein aata hai green rang jo ki hamaare vikaas hamaaree upajaoo ta hamaaree photo litee ko darshaane ka kaary karata hai to tirange ko banaaya tha pingalee venkaiya jee ne 1916 mein dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
IFSC क्या होता है?Ifsc Kya Hota Hai
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
0:40
प्रश्न पूछा गया है आईएफएससी क्या होता है तो देखिए आईएफएससी एक कोड है जो कि हर बैंक अकाउंट होल्डर का अलग-अलग होता है जिसके द्वारा क्या होता है के बैंक अकाउंट के बारे में बैंक अकाउंट की डिटेल्स कि वह कहां का है किस ब्रांच का है यह पता किया जा सकता है और यह 11 डिजिट का होता है और आईएफएससी कोड का फुल फॉर्म होता है इंडियन फाइनेंशियल सिस्टम कोड और इसका मेन काम होता है ऑनलाइन ट्रांसफर की जानकारी रखना ऑनलाइन ट्रांसफर के टाइम पर इसे यूज किया जाता है इससे क्या होता है कि बैंक के बारे में पता चल जाता है और ऑनलाइन ट्रांसफर में इसे यूज करते हैं धन्यवाद
Prashn poochha gaya hai aaeeephesasee kya hota hai to dekhie aaeeephesasee ek kod hai jo ki har baink akaunt holdar ka alag-alag hota hai jisake dvaara kya hota hai ke baink akaunt ke baare mein baink akaunt kee ditels ki vah kahaan ka hai kis braanch ka hai yah pata kiya ja sakata hai aur yah 11 dijit ka hota hai aur aaeeephesasee kod ka phul phorm hota hai indiyan phainenshiyal sistam kod aur isaka men kaam hota hai onalain traansaphar kee jaanakaaree rakhana onalain traansaphar ke taim par ise yooj kiya jaata hai isase kya hota hai ki baink ke baare mein pata chal jaata hai aur onalain traansaphar mein ise yooj karate hain dhanyavaad

#जीवन शैली

bolkar speaker
किसी भी स्थिति में शांत रहना कैसे सीख सकते हैं?Kisi Bhe Sthiti Mein Shaant Rehna Kaise Seekh Sakte Hain
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:34
बड़ा ही सुंदर प्रश्न है कि किसी भी स्थिति में शांत रहना कैसे सीख सकते हैं तो मेरा मानना है कि शांत रहना मनुष्य के जीवन के लिए बहुत ही ज्यादा जरूरी है यह हमारे सोचने समझने की क्षमता को बढ़ाता है काम करने के का करता को बढ़ाता है और यदि कोई व्यक्ति शांत नहीं है तो उसका किसी भी काम में अच्छी तरीके से मन नहीं लगता मैं कोई भी काम अच्छे से नहीं कर सकता है ऐसा होता है कि कई बार हमारी जिंदगी में ऐसी परिस्थितियां बन जाती है जिससे कि हमें गुस्सा आ जाता है क्या हम राज्य में आगमन विचित्र जगह पर लगता है और हम शांत नहीं रह पाते हैं तो ऐसे में क्या करना चाहिए तो देखिए मैं आपको एक एग्जांपल से समझाती हूं मान लूं कि आप कोई काम कर रहे हो पूरी शांति से मन लगाकर और थोड़ी देर में कोई आता है और आप से लड़ाई करने लगता है आपको डांट नहीं लगता है तो ऐसी स्थिति में हम शांत बिल्कुल भी रह नहीं पाते हैं तो इसमें हमें क्या करना चाहिए हमें सबसे पहले तो उस सिचुएशन में दो-तीन बार गहरी सांस लेनी चाहिए हमें सांस लेने से क्या होता है हमारा जो ब्रेन है वह थोड़ा शांत हो जाता है हमें चीजें समझ आती है दूसरी चीज आप उस जगह से थोड़ी देर से हट जाएंगे अभी आपकी किसी से लड़ाई हो रही है तो आप वहां से हट जाए और उसके बाद जब आपका गुस्सा शांत हो जाए और उतनी ही देर में सामने वाले का भी गुस्सा शांत हो ही जाता है उसके बाद जाकर आप उससे कैसे बात करें तो ऐसे ऐसे में क्या होगा क्या आपकी और लड़ाई भी नहीं होगी और आपकी शांति भी बंद नहीं होगी तो इस तरह हम शांत रहना सीख सकते हैं
Bada hee sundar prashn hai ki kisee bhee sthiti mein shaant rahana kaise seekh sakate hain to mera maanana hai ki shaant rahana manushy ke jeevan ke lie bahut hee jyaada jarooree hai yah hamaare sochane samajhane kee kshamata ko badhaata hai kaam karane ke ka karata ko badhaata hai aur yadi koee vyakti shaant nahin hai to usaka kisee bhee kaam mein achchhee tareeke se man nahin lagata main koee bhee kaam achchhe se nahin kar sakata hai aisa hota hai ki kaee baar hamaaree jindagee mein aisee paristhitiyaan ban jaatee hai jisase ki hamen gussa aa jaata hai kya ham raajy mein aagaman vichitr jagah par lagata hai aur ham shaant nahin rah paate hain to aise mein kya karana chaahie to dekhie main aapako ek egjaampal se samajhaatee hoon maan loon ki aap koee kaam kar rahe ho pooree shaanti se man lagaakar aur thodee der mein koee aata hai aur aap se ladaee karane lagata hai aapako daant nahin lagata hai to aisee sthiti mein ham shaant bilkul bhee rah nahin paate hain to isamen hamen kya karana chaahie hamen sabase pahale to us sichueshan mein do-teen baar gaharee saans lenee chaahie hamen saans lene se kya hota hai hamaara jo bren hai vah thoda shaant ho jaata hai hamen cheejen samajh aatee hai doosaree cheej aap us jagah se thodee der se hat jaenge abhee aapakee kisee se ladaee ho rahee hai to aap vahaan se hat jae aur usake baad jab aapaka gussa shaant ho jae aur utanee hee der mein saamane vaale ka bhee gussa shaant ho hee jaata hai usake baad jaakar aap usase kaise baat karen to aise aise mein kya hoga kya aapakee aur ladaee bhee nahin hogee aur aapakee shaanti bhee band nahin hogee to is tarah ham shaant rahana seekh sakate hain

#मनोरंजन

bolkar speaker
झांसी की रानी का मूल नाम क्या है?Jhansi Ki Rani Ka Mool Nam Kya Hai
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
0:31
यहां प्रश्न पूछा गया है कि झांसी की रानी का मूल नाम क्या है तो झांसी की रानी का नाम बचपन से मणिकर्णिका तांबे था जो कि उनकी शादी के बाद में उनके पति के द्वारा रानी लक्ष्मीबाई किया गया वह माता लक्ष्मी जी के ओनर में रखा गया था और झांसी की रानी हमारे भारत में वह एक वीर वीरांगना है जो कि हमारे इंडिपेंडेंस के टाइम पर हमारी आजादी में उन्होंने एक बड़ी अहम भूमिका निभाई थी धन्यवाद
Yahaan prashn poochha gaya hai ki jhaansee kee raanee ka mool naam kya hai to jhaansee kee raanee ka naam bachapan se manikarnika taambe tha jo ki unakee shaadee ke baad mein unake pati ke dvaara raanee lakshmeebaee kiya gaya vah maata lakshmee jee ke onar mein rakha gaya tha aur jhaansee kee raanee hamaare bhaarat mein vah ek veer veeraangana hai jo ki hamaare indipendens ke taim par hamaaree aajaadee mein unhonne ek badee aham bhoomika nibhaee thee dhanyavaad

#मनोरंजन

bolkar speaker
हाथी के बारे में रोचक तथ्य क्या हैं?Haathi Ke Baare Mein Rochak Tathy Kya Hain
Priyal dawar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Priyal जी का जवाब
Future Doctor
1:20
वैष्णवी विश्वनाथ जी ने प्रश्न पूछा है कि हाथी के बारे में कुछ रोचक तत्व क्या है तो आइए जानते हैं देखिए हाथी बड़ा ही विचित्र प्राणी है और इसमें कहीं ऐसी क्वालिटीज है जो इसे बाकि जानवरों से अलग बनाती है जैसे कि यह लार्जेस्ट लैंड एनिमल है या नहीं यह जमीन पर रहने वाले जानवरों में सबसे बड़ा है और इसकी चमड़ी बहुत ही मोटी होती है और हम सब सोचते होंगे कि यह इतना बड़ा है तो कितना खाना खाता होगा तो मैं आपको बताना चाहती हूं कि यह हाथी हमेशा खाना खाता रहता है हमेशा वह कुछ ना कुछ खाता ही रहता है क्योंकि उसे 1 दिन में ढाई सौ किलो खाना खाने की जरूरत होती है और इसमें कई ऐसे तत्व है जो बड़े चौका देने वाले होते हैं जैसे कि हाथी का जो बच्चा जन्म लेता है जब जन्म लेता है उसके 20 मिनट के अंदर ही वह खड़ा हो जाता है और 1 घंटे के अंदर तो वह चलने भी लगता है और इसकी जो सूट होती है वह वह अति रोचक होती है यह एक बार में 8 लीटर पानी की शक्ति है और इतनी ही ताकतवर भी होती है हाथी अपनी सूंड से अखरोट तोड़ सकता है और खा सकता है तो इसी प्रकार इसमें कुछ ऐसे रोचक तत्व है जो हाथी को सभी जानवरों से अलग बनाते हैं
Vaishnavee vishvanaath jee ne prashn poochha hai ki haathee ke baare mein kuchh rochak tatv kya hai to aaie jaanate hain dekhie haathee bada hee vichitr praanee hai aur isamen kaheen aisee kvaaliteej hai jo ise baaki jaanavaron se alag banaatee hai jaise ki yah laarjest laind enimal hai ya nahin yah jameen par rahane vaale jaanavaron mein sabase bada hai aur isakee chamadee bahut hee motee hotee hai aur ham sab sochate honge ki yah itana bada hai to kitana khaana khaata hoga to main aapako bataana chaahatee hoon ki yah haathee hamesha khaana khaata rahata hai hamesha vah kuchh na kuchh khaata hee rahata hai kyonki use 1 din mein dhaee sau kilo khaana khaane kee jaroorat hotee hai aur isamen kaee aise tatv hai jo bade chauka dene vaale hote hain jaise ki haathee ka jo bachcha janm leta hai jab janm leta hai usake 20 minat ke andar hee vah khada ho jaata hai aur 1 ghante ke andar to vah chalane bhee lagata hai aur isakee jo soot hotee hai vah vah ati rochak hotee hai yah ek baar mein 8 leetar paanee kee shakti hai aur itanee hee taakatavar bhee hotee hai haathee apanee soond se akharot tod sakata hai aur kha sakata hai to isee prakaar isamen kuchh aise rochak tatv hai jo haathee ko sabhee jaanavaron se alag banaate hain
URL copied to clipboard