#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
what is this watch meaning?
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:13
अकॉर्डिंग टू द व्हाट मीनिंग इन हिंदी देखना और वॉच मींस घड़ी
Akording too da vhaat meening in hindee dekhana aur voch meens ghadee

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
लहसुन को अंग्रेजी में क्या कहा जाता है?Lahasun Ko Angrezi Mein Kya Kaha Jata Hain
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:09
लहसुन को अंग्रेजी में गार्लिक बोलते हैं जी ए आर एल आई सी
Lahasun ko angrejee mein gaarlik bolate hain jee e aar el aaee see

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
दिहाड़ी मजदूर को अंग्रेजी में क्या कहा जाता है?Dihadi Majdoor Ko Angreji Me Kya Kaha Jaata Hai
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:06
बिहारी मजदूर को अंग्रेजी में दिल्ली वेग वर्कर बोलते हैं
)]}' [['wrb.fr','MkEWBc','[[\'

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
लंगोटिया यार को अंग्रेजी में क्या कहेंगे?Langotiya Yaar Ko Angrezi Mein Kya Kahenge
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:09
लंगोटिया यार को अंग्रेजी में क्लोज फ्रेंड या भुजंग फ्रेंड बोलते हैं
Langotiya yaar ko angrejee mein kloj phrend ya bhujang phrend bolate hain

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
रात्रि भोज का अंग्रेजी क्या होगा?Ratri Bhoj Ka Angrezi Kya Hoga
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:04
रात्रि भोज को अंग्रेजी में डिनर बोलते हैं
)]}' [['wrb.fr','MkEWBc','[[\'

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
अमरूद को अंग्रेजी में क्या बोलते हैं?Amarood Ko Angrezi Mein Kya Bolte Hain
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:06
अमरुद का अंग्रेजी में धावा बोलते हैं जी यह यूपी यह
)]}' [['wrb.fr','MkEWBc','[[\'

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
झाड़ू को अंग्रेजी में क्या कहते हैं?Jhaadu Ko Angrezi Mein Kya Kehte Hain
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:05
झाडू को अंग्रेजी में ब्लू व्यस्त कर बोलते हैं
Jhaadoo ko angrejee mein bloo vyast kar bolate hain

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
पान के पत्तों को अंग्रेजी में क्या कहते हैं?Paan Ke Patton Ko Angreji Mein Kya Kehte Hain
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:04
पान के पत्तों को अंग्रेजी में विटालिफ्ट बोलते हैं
)]}' [['wrb.fr','MkEWBc','[[\'

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या हर समय नरम होना सही है?Kya Har Samay Naram Hona Sahi Hai
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
1:15
क्या हर समय नरम होना चाहिए इस वाक्य का उपयुक्त हम अर्थ निकाल सकते हैं उदाहरण के तौर पर श्री रामचंद्र जी का स्वरुप हम अपने आप में बिठा सकते हैं कि वह अपने आप में धीर वीर गंभीर थे जो हर परिस्थितियों में सामान्य स्थिति को बनाए रखने में कामयाब होते थे और जिस परिस्थिति हुआ क्रोध क्रोध अवस्था में क्रोध में भी वह शांत रहना पसंद करते थे और अपनी बुद्धि विवेक से लोगों के कल्याण के लिए कार्य करते थे और राक्षसों के प्रवृत्ति का भी वह भली भांति निरूपण करके उनका उद्धार किया कि श्री राम प्रभु जी ने रावण को भी और युद्ध ना करने की नीति को के पक्ष में उनके लिए कार्य किए थे जब उनके दरबार में अंगद जैसे शिष्टाचार व्यक्ति को भेजे थे आज दूध के स्वरूप में शांतिदूत के प्रस्ताव के लिए
Kya har samay naram hona chaahie is vaaky ka upayukt ham arth nikaal sakate hain udaaharan ke taur par shree raamachandr jee ka svarup ham apane aap mein bitha sakate hain ki vah apane aap mein dheer veer gambheer the jo har paristhitiyon mein saamaany sthiti ko banae rakhane mein kaamayaab hote the aur jis paristhiti hua krodh krodh avastha mein krodh mein bhee vah shaant rahana pasand karate the aur apanee buddhi vivek se logon ke kalyaan ke lie kaary karate the aur raakshason ke pravrtti ka bhee vah bhalee bhaanti niroopan karake unaka uddhaar kiya ki shree raam prabhu jee ne raavan ko bhee aur yuddh na karane kee neeti ko ke paksh mein unake lie kaary kie the jab unake darabaar mein angad jaise shishtaachaar vyakti ko bheje the aaj doodh ke svaroop mein shaantidoot ke prastaav ke lie

#मनोरंजन

bolkar speaker
फिल्म तांडव पर क्या विवाद जुड़ा है?Film Taandav Par Kya Vivaad Juda Hai
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:28
फिल्म तांडव पर विभिन्न प्रकार के विवाद जुड़ा हुआ है जैसे कि धार्मिक हिंदू धार्मिक हिंदुओं के धार्मिक ईश्वर का मजाक उड़ाना तथा जाति विरोध अंतर्विरोध लोगों को मजाक उड़ाना तथा सरकार के विरुद्ध नीतियों का अवैध ना करना यह शब्द तांडव पर विवाद जुड़ा हुआ है
Philm taandav par vibhinn prakaar ke vivaad juda hua hai jaise ki dhaarmik hindoo dhaarmik hinduon ke dhaarmik eeshvar ka majaak udaana tatha jaati virodh antarvirodh logon ko majaak udaana tatha sarakaar ke viruddh neetiyon ka avaidh na karana yah shabd taandav par vivaad juda hua hai

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
भारत में पहला मुगल सम्राट कौन है?Bharat Mein Pehla Mugal Samrat Kaun Hai
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:32
भारत का पहला मुगल सम्राट बाबर था जिसका जन्म 1483 स्विम हुआ था और बाबर ने आगे चलकर बादशाह की उपाधि धारण की बाबर के शासनकाल के दौरान ही पानीपत का प्रथम युद्ध 30 अप्रैल 1526 ईस्वी को इब्राहिम लोदी एवं बाबर के बीच हुआ था
Bhaarat ka pahala mugal samraat baabar tha jisaka janm 1483 svim hua tha aur baabar ne aage chalakar baadashaah kee upaadhi dhaaran kee baabar ke shaasanakaal ke dauraan hee paaneepat ka pratham yuddh 30 aprail 1526 eesvee ko ibraahim lodee evan baabar ke beech hua tha

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
पनौती को अंग्रेजी में क्या कहते हैंPanauti Ko Angreji Mein Kya Kehte Hai
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:04
मन होती को अंग्रेजी में लूजर कहते हैं गुज्जर
Man hotee ko angrejee mein loojar kahate hain gujjar

#पढ़ाई लिखाई

Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:06
भूगोल का जनक किसको माना जाता है
Bhoogol ka janak kisako maana jaata hai

#जीवन शैली

bolkar speaker
क्यों मनुष्य को सुख-दुख ईश्वर स्वयं देता है?Kyun Manushya Ko Sukh Dukh Ishvar Svayam Deta Hai
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
1:28
ऐसा कहा जाता है कि मनुष्य के सुख-दुख ईश्वर रहते हैं वे स्वयं लेता है इसमें सच्चाई भी पूर्ण आधार है तू किस में सच्चाई भी है और नहीं हूं क्योंकि यह डिपेंड करता है इंसान की कर्म कर्म फल पर अगर वह इंसान वही सच्चा कर्म करता है तो उसे अभिषेक बहुत मिलता है लेकिन बाद में सुस्ती आती हैं तो लेटर यह करता है कि हम उस हीरे की पहचान जोहरी करता है ठीक है तो मेरे के पास में डिलीवरी करता हो तो जरूर करता है कि वह तरसता है तू दिखता है कि वह उसका बिल में है या नहीं है अगर उसका बिल में है तो उसे उसी रूप में देखे जा जो उसे सच्चाई के माध्यम से अवगत करवाएगा दूसरी तरफ हम डिफेंडर कर सकते ईश्वर हमारी अच्छी अच्छी कर्म और पूरी करो को निर्धारित करते हैं हमें सुख और दुख संडे को देखता हुआ देते हैं और इंसान का मन से भी दुखी होता है तो वह अपनी दृढ़ विश्वास के साथ हुए अत्यंत दुख हो चुका एक के दरवाजे की तरफ से अपने भीतर रख सकता है
Aisa kaha jaata hai ki manushy ke sukh-dukh eeshvar rahate hain ve svayan leta hai isamen sachchaee bhee poorn aadhaar hai too kis mein sachchaee bhee hai aur nahin hoon kyonki yah dipend karata hai insaan kee karm karm phal par agar vah insaan vahee sachcha karm karata hai to use abhishek bahut milata hai lekin baad mein sustee aatee hain to letar yah karata hai ki ham us heere kee pahachaan joharee karata hai theek hai to mere ke paas mein dileevaree karata ho to jaroor karata hai ki vah tarasata hai too dikhata hai ki vah usaka bil mein hai ya nahin hai agar usaka bil mein hai to use usee roop mein dekhe ja jo use sachchaee ke maadhyam se avagat karavaega doosaree taraph ham diphendar kar sakate eeshvar hamaaree achchhee achchhee karm aur pooree karo ko nirdhaarit karate hain hamen sukh aur dukh sande ko dekhata hua dete hain aur insaan ka man se bhee dukhee hota hai to vah apanee drdh vishvaas ke saath hue atyant dukh ho chuka ek ke daravaaje kee taraph se apane bheetar rakh sakata hai

#जीवन शैली

bolkar speaker
नकारात्मक विचारों को कैसे कम किया जा सकता है?Nakaratmak Vicharon Ko Kaise Kam Kiya Ja Sakta Hai
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
1:16
नकारात्मक विचारों को हम योग के माध्यम से रमेश विचारों को कंट्रोल कर सकते हैं वहीं से जो नकारात्मक विचार आते हमारे माइंड में नाइट में तरह-तरह के हो सकते हैं वह अच्छे विचार हो सकते हैं या बुरे विचार मिल सकते हैं अभी गर्दन की 2942 बुरे विचारों विचारों को हम योग के माध्यम से से कंट्रोल कर सकते हैं जब प्रत्येक दिन के हम लोग पर ध्यान लगाएंगे तो और योग के माध्यम से हमें कहां होता हम विचारों को जो हम अच्छे विचारों से अपनी ओर आकर्षित कर सकते हैं अपनी इच्छाओं पर विजय प्राप्त कर सकते हैं एक दिन का काम नहीं हो सकता उसे बार-बार हम दोहरा सकते हैं और विचार तो ना विश्व के मानव जीवन में आते ही रहते हैं तो शिक्षकों ने हमें पूर्ण रूप से एग्जिट नहीं करना है कुछ गलत बिगाड़ लगा दो हमें क्या करना
Nakaaraatmak vichaaron ko ham yog ke maadhyam se ramesh vichaaron ko kantrol kar sakate hain vaheen se jo nakaaraatmak vichaar aate hamaare maind mein nait mein tarah-tarah ke ho sakate hain vah achchhe vichaar ho sakate hain ya bure vichaar mil sakate hain abhee gardan kee 2942 bure vichaaron vichaaron ko ham yog ke maadhyam se se kantrol kar sakate hain jab pratyek din ke ham log par dhyaan lagaenge to aur yog ke maadhyam se hamen kahaan hota ham vichaaron ko jo ham achchhe vichaaron se apanee or aakarshit kar sakate hain apanee ichchhaon par vijay praapt kar sakate hain ek din ka kaam nahin ho sakata use baar-baar ham dohara sakate hain aur vichaar to na vishv ke maanav jeevan mein aate hee rahate hain to shikshakon ne hamen poorn roop se egjit nahin karana hai kuchh galat bigaad laga do hamen kya karana

#जीवन शैली

bolkar speaker
किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम क्यों नहीं समझना चाहिए?Kisi Bhe Insaan Ko Kabhi Bhe Kisi Se Kam Kyun Nahin Samjhna Chaiye
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
2:37
प्रश्न है कि किसी भी इंसान को कभी भी किसी से कम नहीं आंकना चाहिए या समझना जाए विंस कमजोर नहीं समझना है मैं बताना चाहता हूं कि आखिर कमजोर कौन कमजोर वह होता है जो अपनी कमियों पर जान दे देता अपनी आकांक्षाओं पर ध्यान नहीं देता इच्छाओं को मारता रहता ही कमजोर है उसको कमजोर बनाता है भले वह पतला हम याद दिलाओ मोटा नाटक उससे फर्क नहीं पड़ता है उसको ऐसा कमजोर बना दे कि मैं उस लायक नहीं हूं जो मैं अभिषेक कर पाऊं यह मैं औरों से अलग हूं यह कतई थिंकिंग जो रखना होता है वह गलत होता वैसे भी किसी इंसान को कमाना नहीं चाहिए कि की बुद्धि भले ही वतन से कमजोर हो लेकिन मन से इंसान कम जिओ नेटवर्क विवेक का इस्तेमाल करके इंसान को हर कंडीशन में चिपक दे सकता बस कर सकता है इसलिए इंसान कितना भी वह हमसे अवधि में कम हो या वह दे में छोटा हो बड़ा हो वह मणिनगर का भविष्य के प्रति हमारे क्या थिंकिंग हमारी क्या सोच है वह ज्यादा मायने रखता है हर परिस्थिति में इंसान सोचता है बड़े वाले बड़े लोग सोचते हैं कि छोटे लोगों की क्या औकात है तुममे इस बात का खंडन करता हूं कि तुम्हारी उस कंडीशन में तुम्हारी क्या औकात थी जब तुम फ्री ने शेलपॉइंट में से शुरुआत में तुम थी तो अपनी-अपनी जब कोई बोलता है कि तुम्हारी क्या औकात है जब कुछ भी हो तो अपने अपने अंदर झांक कर देखो कि मैंने क्या फिर वह मेरे मेरे अपने मेरे साथ में क्या था क्या मैं उससे बड़ा था कि छोटा था या अपनी सोच के अनुसार में बदला जो है वह आसमान की तरह सोचते तो कभी भी कमजोर नहीं हो सकता इसलिए कोई भी इंसान तो हम काम आप नहीं सकते वह कभी भी तो हम से आगे बढ़ सकता है उसे हम से वह सब कार्य कर सकते हैं जो जो दूसरे इंसान नहीं कर सकते हैं चाहे कोई भी पढ़ लेती हो चाहे कुछ भी कंडीशन घटित क्यों ना हो फिर
Prashn hai ki kisee bhee insaan ko kabhee bhee kisee se kam nahin aankana chaahie ya samajhana jae vins kamajor nahin samajhana hai main bataana chaahata hoon ki aakhir kamajor kaun kamajor vah hota hai jo apanee kamiyon par jaan de deta apanee aakaankshaon par dhyaan nahin deta ichchhaon ko maarata rahata hee kamajor hai usako kamajor banaata hai bhale vah patala ham yaad dilao mota naatak usase phark nahin padata hai usako aisa kamajor bana de ki main us laayak nahin hoon jo main abhishek kar paoon yah main auron se alag hoon yah katee thinking jo rakhana hota hai vah galat hota vaise bhee kisee insaan ko kamaana nahin chaahie ki kee buddhi bhale hee vatan se kamajor ho lekin man se insaan kam jio netavark vivek ka istemaal karake insaan ko har kandeeshan mein chipak de sakata bas kar sakata hai isalie insaan kitana bhee vah hamase avadhi mein kam ho ya vah de mein chhota ho bada ho vah maninagar ka bhavishy ke prati hamaare kya thinking hamaaree kya soch hai vah jyaada maayane rakhata hai har paristhiti mein insaan sochata hai bade vaale bade log sochate hain ki chhote logon kee kya aukaat hai tumame is baat ka khandan karata hoon ki tumhaaree us kandeeshan mein tumhaaree kya aukaat thee jab tum phree ne shelapoint mein se shuruaat mein tum thee to apanee-apanee jab koee bolata hai ki tumhaaree kya aukaat hai jab kuchh bhee ho to apane apane andar jhaank kar dekho ki mainne kya phir vah mere mere apane mere saath mein kya tha kya main usase bada tha ki chhota tha ya apanee soch ke anusaar mein badala jo hai vah aasamaan kee tarah sochate to kabhee bhee kamajor nahin ho sakata isalie koee bhee insaan to ham kaam aap nahin sakate vah kabhee bhee to ham se aage badh sakata hai use ham se vah sab kaary kar sakate hain jo jo doosare insaan nahin kar sakate hain chaahe koee bhee padh letee ho chaahe kuchh bhee kandeeshan ghatit kyon na ho phir

#जीवन शैली

bolkar speaker
इंसान पैसे के पीछे इतना क्यों भागता है जबकि उसे खाली हाथ ही जाना है?Insan Paise Ke Piche Itna Kyun Bhagta Hai Jabki Use Khali Haath He Jana Hai
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
2:46
इस माया मोह जीवन में हमें जीवन को निर्वहन करने के लिए पैसे की जरूरत पड़ती है जो पैसे की जरूरत से हम उन वस्तुओं चीजों को हम अपने लिए खरीदते हैं जिससे का जीवन निर्वहन करने में हमें सहूलियत प्राप्त होते लेकिन इंसान पैसों के की अर्जन करने के लिए वह दिन रात मेहनत करता है मेहनत करते करते हैं वह वह उस समय को भूल जाता है कि हम जो हम पैसों के लिए जो अर्जुन करने जो मेरा वाह अर्थ क्या है पैसा अर्जित करना या अभी अपनी परिवार को या समाज को भरण-पोषण करना अगर वह अपनी एक थिंकिंग के साथ पैसे का अर्जुन करता है एक पॉजिटिविटी थिंकिंग के साथ में सामाजिक बदलाव के कारण कारण या किसी अन्य सामाजिक सत्कर्म के कारण जो पैसे का आयोजन होता है वह पॉजिटिव थिंकिंग के अनुसार होता है वह लोगों के कल्याण जिस से जुड़ा रहता है पैसों से तो आप ऐसा महान के रूप में गिना जा सकता है लेकिन वही पैसे के लालच में इंसान अधर्म पर उतर जाता है कुकर्म पर उतर जाता है तो वही पैसा उसका विनाश का कारण बनता है पैसा तुम्हारी हर जरूरतों को पूरा कर सकता है इस भागदौड़ जिंदगी में जरूरतों को पूरा कर सकते हैं लेकिन वही पैसा इंसान को मोह माया में फंसा कर रख देता है जो विषय उबारने के लिए नहीं देता है वह भूल जाता है कि हम मेरा वाह चरित्र क्या है वह इंसान पैसे के मोह में अपने रिश्ते नाते अपनी समाज की अवहेलना करता रहता है और उसके मध्य में अपने जीवन को नष्ट करता रहता है हमें पैसे की इतनी जरूरत या हमें देनी चाहिए जितने कि हमारी आवश्यकताओं को पूरी परिपूर्ण कर पाए अपनी समाज का कल्याण कर पाए जब से का कमाने का मकसद समाज जनकल्याण के लिए हो तो वह पैसा क्यों ना बन जाता है और वही अगर वही पैसा जनकल्याण सेना जोड़कर लोगों को अहित करने लगे तो वह पैसा उसे सर्वनाश की ओर ले जाता है
Is maaya moh jeevan mein hamen jeevan ko nirvahan karane ke lie paise kee jaroorat padatee hai jo paise kee jaroorat se ham un vastuon cheejon ko ham apane lie khareedate hain jisase ka jeevan nirvahan karane mein hamen sahooliyat praapt hote lekin insaan paison ke kee arjan karane ke lie vah din raat mehanat karata hai mehanat karate karate hain vah vah us samay ko bhool jaata hai ki ham jo ham paison ke lie jo arjun karane jo mera vaah arth kya hai paisa arjit karana ya abhee apanee parivaar ko ya samaaj ko bharan-poshan karana agar vah apanee ek thinking ke saath paise ka arjun karata hai ek pojitivitee thinking ke saath mein saamaajik badalaav ke kaaran kaaran ya kisee any saamaajik satkarm ke kaaran jo paise ka aayojan hota hai vah pojitiv thinking ke anusaar hota hai vah logon ke kalyaan jis se juda rahata hai paison se to aap aisa mahaan ke roop mein gina ja sakata hai lekin vahee paise ke laalach mein insaan adharm par utar jaata hai kukarm par utar jaata hai to vahee paisa usaka vinaash ka kaaran banata hai paisa tumhaaree har jarooraton ko poora kar sakata hai is bhaagadaud jindagee mein jarooraton ko poora kar sakate hain lekin vahee paisa insaan ko moh maaya mein phansa kar rakh deta hai jo vishay ubaarane ke lie nahin deta hai vah bhool jaata hai ki ham mera vaah charitr kya hai vah insaan paise ke moh mein apane rishte naate apanee samaaj kee avahelana karata rahata hai aur usake madhy mein apane jeevan ko nasht karata rahata hai hamen paise kee itanee jaroorat ya hamen denee chaahie jitane ki hamaaree aavashyakataon ko pooree paripoorn kar pae apanee samaaj ka kalyaan kar pae jab se ka kamaane ka makasad samaaj janakalyaan ke lie ho to vah paisa kyon na ban jaata hai aur vahee agar vahee paisa janakalyaan sena jodakar logon ko ahit karane lage to vah paisa use sarvanaash kee or le jaata hai

#जीवन शैली

bolkar speaker
अकाल मृत्यु से बचाव हेतु कौन-कौन से उपाय करने चाहिए?Akaal Mritiyu Se Bachaav Hetu Kaun Kaun Se Upaay Karne Chahiye
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:46
अकाल मृत्यु से बचाव हेतु हमारे शास्त्रों में निम्नलिखित उपाय किए गए हैं लेकिन उनमें से एक मंत्र का जो जाप करने से अकाल मृत्यु को डाला जा सकता है विवाह मंत्र जो है मार्कंडेय ऋषि द्वारा लिखित है ओम त्र्यंबकम यजामहे सुगंधिम पुष्टिवर्धनम उर्वारुकमिव वंदना मृत्योर्मुक्षीय मामृतात् एस बीज मंत्र का उच्चारण या श्रवण मात्र से इंसान का अकाल मृत्यु से छुटकारा मिल जाता है
Akaal mrtyu se bachaav hetu hamaare shaastron mein nimnalikhit upaay kie gae hain lekin unamen se ek mantr ka jo jaap karane se akaal mrtyu ko daala ja sakata hai vivaah mantr jo hai maarkandey rshi dvaara likhit hai om tryambakam yajaamahe sugandhim pushtivardhanam urvaarukamiv vandana mrtyormuksheey maamrtaat es beej mantr ka uchchaaran ya shravan maatr se insaan ka akaal mrtyu se chhutakaara mil jaata hai

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
एस्ट्रोजन हार्मोन क्या होता है?Estrogen Harmone Kya Hota Hai
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:14
तो जनहानि महिलाओं पर आ जाते हैं जय स्टेडियम स्वास्थ्य रिलेटेड होता है सुबह शिशु के विकास दर को नियंत्रित करने के लिए इस्तेमाल होते हैं
To janahaani mahilaon par aa jaate hain jay stediyam svaasthy rileted hota hai subah shishu ke vikaas dar ko niyantrit karane ke lie istemaal hote hain

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
स्वामी विवेकानंद अमेरिका क्यों गए थे?Swami Vivekanand America Kyun Gaye The
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:20
स्वामी विवेकानंद अमेरिका हिंदू धर्म सत्य सनातन हिंदू धर्म के प्रचार प्रसार करने के लिए हिंदू धर्म सम्मेलन में भाग लेने के लिए वह अमेरिका के शिकागो स्थान में गए थे
Svaamee vivekaanand amerika hindoo dharm saty sanaatan hindoo dharm ke prachaar prasaar karane ke lie hindoo dharm sammelan mein bhaag lene ke lie vah amerika ke shikaago sthaan mein gae the

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
राजा राममोहन राय को समाज सुधारक किन कारणों से कहा जाता है?Raja Rammohan Ray Ko Samaj Sudhark Kin Karano Se Kaha Jata Hai
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:27
राजा राममोहन राय को समाज सुधारक इसलिए कहा जाता है क्योंकि वह उन्होंने विशेष प्रकार के भारत में प्रचार महोदय वाले सती प्रथा को और बाल विवाह के नंबरों के विरोधी थे जो इस राशि की प्रक्रिया में जो भारत में होती थी जो परंपराएं चल चलती थी उसके खिलाफ से
Raaja raamamohan raay ko samaaj sudhaarak isalie kaha jaata hai kyonki vah unhonne vishesh prakaar ke bhaarat mein prachaar mahoday vaale satee pratha ko aur baal vivaah ke nambaron ke virodhee the jo is raashi kee prakriya mein jo bhaarat mein hotee thee jo paramparaen chal chalatee thee usake khilaaph se

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
आपकी नजर में धर्म क्या है?Apki Nazar Mein Dharm Kya Hain
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
2:12
किसी व्यक्ति का प्रश्न है कि आपकी नजर में धर्म किया वैसे तो मेरे नजर में जो धर्म वही होता है जो व्यक्ति अपने धर्म का वाहन करता है मीन कहने का अर्थ है धर्म को धारण करने वाला व्यक्ति ही धर्म को जानो भगवत गीता में श्री कृष्ण अर्जुन से बोलते हैं धर्मस्य धर्मो रक्षति जो धर्म की रक्षा करता है धर्म उसकी रक्षा करता है अर्थात कहने का मतलब जो हमारे वेदों पुराणों और अपनी संस्कृति को जय रक्षा करता है वही सबसे बड़ा धर्म होता है तदुपरांत यह भी अर्थ निकाला जा सकता है कि इस जीवन काल में जो कर्म सत्य सत्य कर्म जो होता है वह हमेशा ही धर्म का मार्ग का वर्णन करता है जो इंसान सत्य कर्म करते हैं वह धर्म का वाहन करता है कुछ कहने वाला कर्म करता है वही इंसान परमात्मा के नजरों के सामने अपनी रूप को प्रदर्शित कर सकता है ईश्वर की अनुकंपा प्राप्त कर सकता है हमें हर स्थिति को अपने ऊपर ऐसा वीडियो बनाने को लेना पड़ेगा जो इंसान के और मानवता के बीच में एक कड़ी साबित हो ऐसा भी कर सकते हैं कि इंसान के किस परिस्थिति में इंसान को किस परिस्थिति में उसका क्या धर्म है वह वह डिसाइड खुद इंसान करता है कि उस परिस्थिति में उसका धर्म क्या होता है माता पिता के प्रति क्या धर्म होता है यह मेरे पॉजिटिव ही हैं
Kisee vyakti ka prashn hai ki aapakee najar mein dharm kiya vaise to mere najar mein jo dharm vahee hota hai jo vyakti apane dharm ka vaahan karata hai meen kahane ka arth hai dharm ko dhaaran karane vaala vyakti hee dharm ko jaano bhagavat geeta mein shree krshn arjun se bolate hain dharmasy dharmo rakshati jo dharm kee raksha karata hai dharm usakee raksha karata hai arthaat kahane ka matalab jo hamaare vedon puraanon aur apanee sanskrti ko jay raksha karata hai vahee sabase bada dharm hota hai taduparaant yah bhee arth nikaala ja sakata hai ki is jeevan kaal mein jo karm saty saty karm jo hota hai vah hamesha hee dharm ka maarg ka varnan karata hai jo insaan saty karm karate hain vah dharm ka vaahan karata hai kuchh kahane vaala karm karata hai vahee insaan paramaatma ke najaron ke saamane apanee roop ko pradarshit kar sakata hai eeshvar kee anukampa praapt kar sakata hai hamen har sthiti ko apane oopar aisa veediyo banaane ko lena padega jo insaan ke aur maanavata ke beech mein ek kadee saabit ho aisa bhee kar sakate hain ki insaan ke kis paristhiti mein insaan ko kis paristhiti mein usaka kya dharm hai vah vah disaid khud insaan karata hai ki us paristhiti mein usaka dharm kya hota hai maata pita ke prati kya dharm hota hai yah mere pojitiv hee hain

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
Exclamatory sentence हो तो इस प्रकार अनुवाद कैसे करें इस वाक्य में किसका प्रयोग किया जाता है?Exclamatory Sentence Ho Toh Is Prakar Anuvad Kaise Kare Is Vakya Mein Kiska Prayog Kiya Jata Hai
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:47
अकॉर्डिंग टो एक्सक्लेमेटरी सेंटेंस एक्सप्रेस करंट बैलेंस एक्सपेक्टेशन इन फैक्ट अबाउट इट जैसे कि मिलावटी सेंटेंस फॉर वहां होता है जहां पर किसी की भावनाओं को व्यक्त करता है कोई एक्सपेक्टेशन उसका होता है जैसे क्या बोले ओ माय गॉड में अंत में एक्साइड बैटरी का प्रयोग होता है ओ माय गॉड में मैं गॉड हेल्प यू
Akording to eksaklemetaree sentens eksapres karant bailens eksapekteshan in phaikt abaut it jaise ki milaavatee sentens phor vahaan hota hai jahaan par kisee kee bhaavanaon ko vyakt karata hai koee eksapekteshan usaka hota hai jaise kya bole o maay god mein ant mein eksaid baitaree ka prayog hota hai o maay god mein main god help yoo

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
हैदराबाद में मुख्य रूप से घूमने के लिए कौन सी जगहें हैं?Hyderabad Me Mukhya Roop Se Ghoomne Ke Lie Kaun Si Jagah Hai
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:26
एक व्यक्ति का प्रश्न है क्या हैदराबाद में मुख्य रूप से घूमने के लिए कौन सी जगह है मैं उनको बताना चाहता हूं कि हैदराबाद में घूमने के लिए बहुत सी जगह ऐसी है जो प्रसिद्धि हासिल किए हैं उसे आप देख सकते हैं अब चारमीनार तो देख सकते हैं और हुसैन सागर झील कोविड-19 गोलकुंडा दुर्ग को भी देख सकते हैं
Ek vyakti ka prashn hai kya haidaraabaad mein mukhy roop se ghoomane ke lie kaun see jagah hai main unako bataana chaahata hoon ki haidaraabaad mein ghoomane ke lie bahut see jagah aisee hai jo prasiddhi haasil kie hain use aap dekh sakate hain ab chaarameenaar to dekh sakate hain aur husain saagar jheel kovid-19 golakunda durg ko bhee dekh sakate hain

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
भारत किन-किन पड़ोसी देशों को वैक्सीन बांट रहा है?Bharat Kin Kin Padosi Deshon Ko Vaccine Baant Raha Hai
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:15
भारत में मीठे देशों का वैक्सीन बांट रहा है नेपाल भूटान तिब्बत श्रीलंका अफगानिस्तान के सारे देशों को बांट रहा मिक्सिंग
Bhaarat mein meethe deshon ka vaikseen baant raha hai nepaal bhootaan tibbat shreelanka aphagaanistaan ke saare deshon ko baant raha miksing

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
The का प्रयोग कहां कहां कर सकते हैं?The Ka Prayog Kaha Kaha Kar Sakte Hain
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
1:17
द का प्रयोग विभिन्न परिस्थितियों में क्या जाता है जब रेफरेंस से किसी पर्टिकुलर या डिफरेंट काइंड ऑफ़ नाउन का बोध हो तो दवा का प्रयोग होता है जैसे कि द गॉड ऑफ दिस थिंग इज वेरी कॉस्टली द वाटर ऑफ दिस वेरी सो स्वीट डे का न्यूज़ जो होता है वह नेम नेम्स ऑफ व्यंजनों माउंटेन के पहले किया जाता है जिसे दाहिमा लिया जाए उस दिन दयाल वेस्टर्न घाट का पूजा होता है वह आइलैंड के नामों के पहले भी होता है जिस दिन समूह के नामों के पहले भी होता है जिसे डाइस टीम इंडिया वेस्टइंडीज एंड निकोबार दीप समूह रिवर्स के नाम के पहले भी द का प्रयोग होता है जिसे गंगा जमुना कृष्णा कावेरी वी के नाम के पहले भी दा का प्रयोग होता है दांत और जो प्रयोग होता है वह महान किताबों के नाम के पहले भी होता है जिसे द रामायण महाभारता जगजीत ईटीसी
Da ka prayog vibhinn paristhitiyon mein kya jaata hai jab repharens se kisee partikular ya dipharent kaind of naun ka bodh ho to dava ka prayog hota hai jaise ki da god oph dis thing ij veree kostalee da vaatar oph dis veree so sveet de ka nyooz jo hota hai vah nem nems oph vyanjanon maunten ke pahale kiya jaata hai jise daahima liya jae us din dayaal vestarn ghaat ka pooja hota hai vah aailaind ke naamon ke pahale bhee hota hai jis din samooh ke naamon ke pahale bhee hota hai jise dais teem indiya vestindeej end nikobaar deep samooh rivars ke naam ke pahale bhee da ka prayog hota hai jise ganga jamuna krshna kaaveree vee ke naam ke pahale bhee da ka prayog hota hai daant aur jo prayog hota hai vah mahaan kitaabon ke naam ke pahale bhee hota hai jise da raamaayan mahaabhaarata jagajeet eeteesee

#टेक्नोलॉजी

Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
1:30
क्योंकि अंग्रेजी भाषा में मोबाइल 5 होते हैं और और कौन सी लेंटर की सोते हैं तो वह बेल साउंड के साथ में ए एन का प्रयोग करते हैं और कौन सीमेंट साउंड के में यह का प्रयोग करते हैं ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जो कंसेप्ट है या कांटेक्ट जो है वह स्वर स्वर उच्चारण के दौरान होता है स्वर वर्णों के उच्चारण के दौरान तेजी से स्वर्ण वर्ण में या या मियां से लेकर आज तक और कॉन्टिनेंट में काका का से ज्ञा तक जब इस वर्ण वर्ण और व्यंजन वर्णों का उच्चारण करते हैं कॉन्सोनेंट और मोबाइल का उच्चारण करते हैं तो मोबाइल के स्थान वॉइस साउंड के स्थान पर हम येन का प्रयोग करते हैं और कॉन्फिडेंट साउंड के स्थान पर हम जैसे कौन थे यह कपड़े कर दें जिससे कि एन एप्पल इसमें यह जो है वह वावेल है और एप्पल में ए वॉवेल है तो इसके साथ एन एप्पल का प्रयोग करते हैं और इसमें एक उदाहरण दे कौन सी डेंट में जैसे देखते हैं कि कोर्ट इसमें एयरपोर्ट के साथ भी जो है कौन से नेटवर्क ऑन सेंटेंस में हम लगाते हैं यह क्या प्रयोग करते हैं
Kyonki angrejee bhaasha mein mobail 5 hote hain aur aur kaun see lentar kee sote hain to vah bel saund ke saath mein e en ka prayog karate hain aur kaun seement saund ke mein yah ka prayog karate hain aisa isalie hota hai kyonki jo kansept hai ya kaantekt jo hai vah svar svar uchchaaran ke dauraan hota hai svar varnon ke uchchaaran ke dauraan tejee se svarn varn mein ya ya miyaan se lekar aaj tak aur kontinent mein kaaka ka se gya tak jab is varn varn aur vyanjan varnon ka uchchaaran karate hain konsonent aur mobail ka uchchaaran karate hain to mobail ke sthaan vois saund ke sthaan par ham yen ka prayog karate hain aur konphident saund ke sthaan par ham jaise kaun the yah kapade kar den jisase ki en eppal isamen yah jo hai vah vaavel hai aur eppal mein e vovel hai to isake saath en eppal ka prayog karate hain aur isamen ek udaaharan de kaun see dent mein jaise dekhate hain ki kort isamen eyaraport ke saath bhee jo hai kaun se netavark on sentens mein ham lagaate hain yah kya prayog karate hain

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
श्वसन को ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया क्यों कहते हैं?Shvasan Ko Ushmashepi Abhikriya Kyun Kehte Hain
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:35
शासन को ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया इसलिए कहा जाता है क्योंकि शासन के द्वारा आन में हमें अधिक मात्रा में ऊर्जा का जरूरत पड़ती है क्योंकि उसमें छिपी अभिक्रिया में ऊष्मा हिट का और इनर्जी का रिलीज होना ही उसमें छिपी अभिक्रिया करता है तो उस शोषण के दौरान में हमें अधिक मात्रा में पोषक तत्वों का विघटन की प्रक्रिया होती है तो ज्यादा मात्रा में ऊर्जा और उस्मा का रिलीज होता है इसलिए शासन एक ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया कहा था
Shaasan ko ooshmaakshepee abhikriya isalie kaha jaata hai kyonki shaasan ke dvaara aan mein hamen adhik maatra mein oorja ka jaroorat padatee hai kyonki usamen chhipee abhikriya mein ooshma hit ka aur inarjee ka rileej hona hee usamen chhipee abhikriya karata hai to us shoshan ke dauraan mein hamen adhik maatra mein poshak tatvon ka vighatan kee prakriya hotee hai to jyaada maatra mein oorja aur usma ka rileej hota hai isalie shaasan ek ooshmaakshepee abhikriya kaha tha

#जीवन शैली

Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:31
अगर किसी एक व्यक्ति को जम्हाई आता है तो दूसरे व्यक्ति को जमा इसलिए आ जाता है क्योंकि जमाई का तात्पर्य जो होता है शरीर जब तक जाता है दूसरे रूप जो प्रतिक्रिया है इंसान के पास होती है वह ऑटोमेटिक लिया हो जाता है आवाज जमाई लेना पड़ता है जब दूसरे व्यक्ति को देखता है तो उसको भी जमाई लाने लगता है क्योंकि यह एक अनैच्छिक क्रिया के रूप में प्रदर्शित करता है
Agar kisee ek vyakti ko jamhaee aata hai to doosare vyakti ko jama isalie aa jaata hai kyonki jamaee ka taatpary jo hota hai shareer jab tak jaata hai doosare roop jo pratikriya hai insaan ke paas hotee hai vah otometik liya ho jaata hai aavaaj jamaee lena padata hai jab doosare vyakti ko dekhata hai to usako bhee jamaee laane lagata hai kyonki yah ek anaichchhik kriya ke roop mein pradarshit karata hai

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
इंटरनेट क्या है इसे सरल भाषा में कैसे समझा जा सकता है?Internet Kya Hai Ise Saral Bhasha Mei Kaise Samjha Ja Sakta Hai
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:45
इंटरनेट कंप्यूटर नेटवर्किंग बेसिक बना ली है जो वर्ल्ड के सारे देशों का इंटरकनेक्टेड अच्छी मतलब जोड़े रखती कम बेड कम्युनिकेशन के माध्यम से यह इंद्रजाल के रूप में काम कार्य करता है जो जुड़ा रहता इलेक्ट्रॉनिक कल ऑफिस कल फाइबर और सेटेलाइट कम्युनिकेशन के साथ में एड्रेस भी और ग्रुप में भी यूज़ किया जाता है इंटरनेट के माध्यम से जैसे कि डब्ल्यू डब्ल्यू एचटीटीपीएस सिडको यूज होता है इंटरनेट कम्युनिकेशन प्राइवेट जिसे जिसे कोई भी सर्च सर्च ईकोशील्ड के लिए हम फिटनेस का यूज करते हैं कोई भी डाटा को प्राप्त करने के लिए हम यूज करते हैं
Intaranet kampyootar netavarking besik bana lee hai jo varld ke saare deshon ka intarakanekted achchhee matalab jode rakhatee kam bed kamyunikeshan ke maadhyam se yah indrajaal ke roop mein kaam kaary karata hai jo juda rahata ilektronik kal ophis kal phaibar aur setelait kamyunikeshan ke saath mein edres bhee aur grup mein bhee yooz kiya jaata hai intaranet ke maadhyam se jaise ki dablyoo dablyoo echateeteepeees sidako yooj hota hai intaranet kamyunikeshan praivet jise jise koee bhee sarch sarch eekosheeld ke lie ham phitanes ka yooj karate hain koee bhee daata ko praapt karane ke lie ham yooj karate hain
URL copied to clipboard