#undefined

bolkar speaker
पालक पनीर की आसान विधि क्या है?Paalak Paneer Kee Aasaan Vidhi Kya Hai
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:05
चिड़िया पक्षी कौन सी कंपनी में कॉल करने के लिए रखी थी अगर थोड़ा सा भी प्यार करती थी कुमकुम भाग्य 27 जनवरी का एपिसोड सफाई करें

#undefined

bolkar speaker
एंटीबायोटिक दवा का क्या साइड इफेक्ट होता है?Antibiotic Dawa Ka Kya Side Effect Hota Hai
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:49

#जीवन शैली

bolkar speaker
क्या बहू को बहू की तरह रखना चाहिए या बेटी की तरह आपके क्या विचार है?Kya Bahu Ko Bahu Ki Tarah Rakhna Chaiye Ya Beti Ki Tarah Aapke Kya Vichaar Hai
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
4:04
गुड इवनिंग अब समय मिला मुझको बोल सकते दोस्तों एक मित्र ने सवाल किया है कि क्या बहू को बहू की तरह रखना चाहिए या बेटी की तरह आपके क्या विचार है तो दोस्तों बहू को बहू की तरह का बेटी की तरह किसी तरह से रखो बट उस को सम्मान दो उसको थोड़ा सा प्यार दो क्योंकि वह अपना मां-बाप सब कुछ छोड़ कर जब हम बेटियां ससुराल जाती है तो बस इतना उम्मीद करते हैं कि जितना हम करते हैं जो हम उस परिवार के लिए कर रहे हैं आज इतना प्रेम हम सबके लिए लेके जान हम वही प्रेम मोहब्बत हमें मिले हमें बेटी बनने का शौक नहीं होता है कि हम जाकर क्योंकि चाहे कुछ भी कर ले कोई अपनी मां के जैसा प्यार कोई नहीं दुनिया में कर सकता यह सच है यह सत्य है कि लोग कह सकते हैं कि मैं मामले की तरह मानती हूं पर बेटी की तरह से बीमार व्यक्ति दूसरे मेहंदी के उन पर इतना चाहिए कि एक बेटी जब ससुराल जाती है कुछ को वह सम्मान मिले जो वह सामान लेकर दूसरों के लिए जाती है ऐसा नहीं है कि कुछ कुछ लड़कियां ऐसी होती है जो जाती है तो वह ससुराल में वह सच को सांसो में नहीं समझती हैं या किसी का सम्मान नहीं करती है बट अगर यहां पर पूछा गया है बहू को बहू की तरह रखा जाए साथ या बेटी की तरह से दोस्तों बहू बहू की तरह रखो ना बेटी की तरह उसे सिर्फ इंसान की तरह रखो अपने घर में कि उसको व सम्मान दो वह प्यार दो जिसकी वह हकदार है तो इतने में ही है वह सारे परिवार की खुशियों को अपने हाथों से जो कि रखेगी और एक बेटी जब ससुराल जाती है तो वह ससुराल में अपने साथ अपने पति के लिए अपनी सासू मां सरस्वती के लिए या और जो भी ना कल के भाई-बहन होते हैं उनकी भी बहुत सारे सम्मान और प्यार लेकर जाता और उनसे मिलने लगता है तो उसका ही टूट जाता है और वह कुछ नहीं कर पाती है और न होती है नई परवरिश होते हम कहीं और से हमारी परवरिश होती है नई जगह पर नए नियम नहीं कानून नहीं कल्चर में जाकर हम अपने आप को मैनेज करना तो थोड़ा समय दो उसको कि आपकी ओपन जाएगी आपके परिवार में जैसे आप रहते हो जैसा आप खाते हो जैसे आप चाहते हो वैसे बन जाएगी शुरू शुरू में वहां पर जाकर एडजेस्टमेंट करना थोड़ा सा मुश्किल होता है और इतने में ही सारी चीजें हो जाती है तो बस बहू को एक प्यार और सम्मान दो जिसकी वो हकदार है बाकी बेटी बनने का शौक किसी भी मोड़ पर नहीं होता है बहू की मर्यादा होती है जो बेटी बेटी मायके में होती है तो सारी चीजें होती है जो करते फ्लाइट रूट था अगर हम लेट मॉर्निंग में लेट हो जाए तो भी कोई प्रॉब्लम नहीं है फिर नाइट सो रहे हैं तो भी कोई नहीं प्रॉब्लम है जब मर्जी हो क्या सो गए कुछ भी खा लिया कुछ भी बना लिया मां बाप को हम सारे नखरे उतारने में बेटियों को लेकिन ससुराल में एक नियम और के साथ जरूर और रेगुलेशन के साथ चलना होता है कि सुबह जल्दी उठना है या फिर सबके लिए हमको नाटक करना या घर में सबसे पहले उसके पूरे परिवार को देवर का चाहे वह कितना भी पढ़ा लिखा परिवारों लेकिन यह उम्मीद तो अपने बाबू से बात करता है कि मतलब हमारे नियम से पहले उसे घर में जो भी है पूजा पाठ या घर में रसोई में हम से पहले जाए हमारे उठने से पहले हमको तो सारी चीजें होती है तो उस सारी चीजें एक करने में चाहे कितना भी आप उसे बेटी का प्यार दोगे लेकिन मुझे तो बहुत सारी रात में तो वह सारी चीज है एक बहू का मर्यादा में रहना एक बहू को कैसे रहना है कैसे मैनेज करना है वह तो करना ही पड़ेगा चाहे आप कितना भी वीडियोस को समझ लोगे तो बताना चाहती हूं मेरे विचार से की बेटी को बेटी बनाकर रखने से कोई मतलब कोई उसमें बड़ा बात नहीं है क्या बहू को बेटी समझ रहे हो उसे बेटी बनाकर मत रखो उसे वह हक बस जाए तो उसकी वह हकदार है वह प्यार उसको दो जो प्यार की हकदार है और ऐसा अगर आप करोगे तो मैं आपके घर में घर बन जाएगा क्योंकि एक बहू के हाथ में पूरा परिवार नहीं होता है पूरे परिवार की हाथ में होता है कि एक पहुंच घर में कैसे रहेगी धन्यवाद दोस्तों अगर मेरी जवाब समझ में आए थे अच्छा लगे तो लाइक और कमेंट करिए धन्यवाद दोस्तों
Gud ivaning ab samay mila mujhako bol sakate doston ek mitr ne savaal kiya hai ki kya bahoo ko bahoo kee tarah rakhana chaahie ya betee kee tarah aapake kya vichaar hai to doston bahoo ko bahoo kee tarah ka betee kee tarah kisee tarah se rakho bat us ko sammaan do usako thoda sa pyaar do kyonki vah apana maan-baap sab kuchh chhod kar jab ham betiyaan sasuraal jaatee hai to bas itana ummeed karate hain ki jitana ham karate hain jo ham us parivaar ke lie kar rahe hain aaj itana prem ham sabake lie leke jaan ham vahee prem mohabbat hamen mile hamen betee banane ka shauk nahin hota hai ki ham jaakar kyonki chaahe kuchh bhee kar le koee apanee maan ke jaisa pyaar koee nahin duniya mein kar sakata yah sach hai yah saty hai ki log kah sakate hain ki main maamale kee tarah maanatee hoon par betee kee tarah se beemaar vyakti doosare mehandee ke un par itana chaahie ki ek betee jab sasuraal jaatee hai kuchh ko vah sammaan mile jo vah saamaan lekar doosaron ke lie jaatee hai aisa nahin hai ki kuchh kuchh ladakiyaan aisee hotee hai jo jaatee hai to vah sasuraal mein vah sach ko saanso mein nahin samajhatee hain ya kisee ka sammaan nahin karatee hai bat agar yahaan par poochha gaya hai bahoo ko bahoo kee tarah rakha jae saath ya betee kee tarah se doston bahoo bahoo kee tarah rakho na betee kee tarah use sirph insaan kee tarah rakho apane ghar mein ki usako va sammaan do vah pyaar do jisakee vah hakadaar hai to itane mein hee hai vah saare parivaar kee khushiyon ko apane haathon se jo ki rakhegee aur ek betee jab sasuraal jaatee hai to vah sasuraal mein apane saath apane pati ke lie apanee saasoo maan sarasvatee ke lie ya aur jo bhee na kal ke bhaee-bahan hote hain unakee bhee bahut saare sammaan aur pyaar lekar jaata aur unase milane lagata hai to usaka hee toot jaata hai aur vah kuchh nahin kar paatee hai aur na hotee hai naee paravarish hote ham kaheen aur se hamaaree paravarish hotee hai naee jagah par nae niyam nahin kaanoon nahin kalchar mein jaakar ham apane aap ko mainej karana to thoda samay do usako ki aapakee opan jaegee aapake parivaar mein jaise aap rahate ho jaisa aap khaate ho jaise aap chaahate ho vaise ban jaegee shuroo shuroo mein vahaan par jaakar edajestament karana thoda sa mushkil hota hai aur itane mein hee saaree cheejen ho jaatee hai to bas bahoo ko ek pyaar aur sammaan do jisakee vo hakadaar hai baakee betee banane ka shauk kisee bhee mod par nahin hota hai bahoo kee maryaada hotee hai jo betee betee maayake mein hotee hai to saaree cheejen hotee hai jo karate phlait root tha agar ham let morning mein let ho jae to bhee koee problam nahin hai phir nait so rahe hain to bhee koee nahin problam hai jab marjee ho kya so gae kuchh bhee kha liya kuchh bhee bana liya maan baap ko ham saare nakhare utaarane mein betiyon ko lekin sasuraal mein ek niyam aur ke saath jaroor aur reguleshan ke saath chalana hota hai ki subah jaldee uthana hai ya phir sabake lie hamako naatak karana ya ghar mein sabase pahale usake poore parivaar ko devar ka chaahe vah kitana bhee padha likha parivaaron lekin yah ummeed to apane baaboo se baat karata hai ki matalab hamaare niyam se pahale use ghar mein jo bhee hai pooja paath ya ghar mein rasoee mein ham se pahale jae hamaare uthane se pahale hamako to saaree cheejen hotee hai to us saaree cheejen ek karane mein chaahe kitana bhee aap use betee ka pyaar doge lekin mujhe to bahut saaree raat mein to vah saaree cheej hai ek bahoo ka maryaada mein rahana ek bahoo ko kaise rahana hai kaise mainej karana hai vah to karana hee padega chaahe aap kitana bhee veediyos ko samajh loge to bataana chaahatee hoon mere vichaar se kee betee ko betee banaakar rakhane se koee matalab koee usamen bada baat nahin hai kya bahoo ko betee samajh rahe ho use betee banaakar mat rakho use vah hak bas jae to usakee vah hakadaar hai vah pyaar usako do jo pyaar kee hakadaar hai aur aisa agar aap karoge to main aapake ghar mein ghar ban jaega kyonki ek bahoo ke haath mein poora parivaar nahin hota hai poore parivaar kee haath mein hota hai ki ek pahunch ghar mein kaise rahegee dhanyavaad doston agar meree javaab samajh mein aae the achchha lage to laik aur kament karie dhanyavaad doston

#जीवन शैली

bolkar speaker
क्या मेडिटेशन करने से भी कम होती है शरीर की चर्बी?Kya Meditation Karne Se Bhi Kam Hoti Hai Sharir Ki Charbi
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
1:49
नमस्कार दोस्तों कैसे हो आप सुन रहे हो नीलम मिश्रा को बोलकर है पर उसमें कुछ का सवाल है कि क्या मैट्रिक सन करने से भी कम होती चली थी फिर भी तुझे बिल्कुल मेरे दोस्त मिथुन करने से जो मन होता है हमारा शांत होता है और यह मन शांत होता है तो हम अपनी में जो भी अतिरिक्त हमारी इच्छाएं होती है उस पर हम नियंत्रण लगा सकते हैं तो हमारे हमारे अंदर ज्योति भटकता नहीं तमाम चीजों पर जैसे मसालेदार चीजें चटपटी चीजें खाने से हमारा हमारा मन होता है शांत होता है तो इन सब चीजों पर हमारा ध्यान जाता नहीं है और इसकी वजह से हम ज्यादा ईटिंग से पूछते हैं तो ओवरईटिंग से बचने के कारण हमारा वजन बढ़ता नहीं है दोस्तों और जो होता है कि मेडिटेशन करने से मेटाबॉलिक सिस्टम जो होता है वह भी सुधरता है जिसकी वजह से अगर मेटाबॉलिज्म सही है तो आपका वजन नहीं पड़ेगा आपको कैलोरी पर होगी और कैलोरी बर्न होती है तो आपका वजन नहीं बढ़ता दोस्तों तो इसलिए मेडिटेशन करने से हमें हमारा बॉडी की जो छवि है वह भर्ती नहीं कम होती है अगर हम मेडिटेशन रेगुलर ऑलरेडी नियमित रूप से करते हैं तो हमें काफी फायदा भी होता है मन तो हमारा मन है प्रेम जो है वह शांत होता है और उसे फिर नई ऊर्जा मिलती है अब काम करने की और जो होता है कि कुछ चीजों पर नियंत्रण करने के लिए भी मेडिटेशन बहुत अच्छा है अगर आपको कुछ खाने का मन हो रहा है तब तुम मसालेदार चटपटी चीजें भारती खाने या फिर ज्यादा कैलोरी वाली चीजें तो उस समय आप अपने मन को शांत करके और मेडिटेशन करते हो तो आपको बहुत फायदा होगा तो दोस्तों ऐसे ही हंसते रहिए बॉयफ्रेंड से और हंसते मुस्कुराते रहिए धन्यवाद दोस्तों
Namaskaar doston kaise ho aap sun rahe ho neelam mishra ko bolakar hai par usamen kuchh ka savaal hai ki kya maitrik san karane se bhee kam hotee chalee thee phir bhee tujhe bilkul mere dost mithun karane se jo man hota hai hamaara shaant hota hai aur yah man shaant hota hai to ham apanee mein jo bhee atirikt hamaaree ichchhaen hotee hai us par ham niyantran laga sakate hain to hamaare hamaare andar jyoti bhatakata nahin tamaam cheejon par jaise masaaledaar cheejen chatapatee cheejen khaane se hamaara hamaara man hota hai shaant hota hai to in sab cheejon par hamaara dhyaan jaata nahin hai aur isakee vajah se ham jyaada eeting se poochhate hain to ovareeting se bachane ke kaaran hamaara vajan badhata nahin hai doston aur jo hota hai ki mediteshan karane se metaabolik sistam jo hota hai vah bhee sudharata hai jisakee vajah se agar metaabolijm sahee hai to aapaka vajan nahin padega aapako kailoree par hogee aur kailoree barn hotee hai to aapaka vajan nahin badhata doston to isalie mediteshan karane se hamen hamaara bodee kee jo chhavi hai vah bhartee nahin kam hotee hai agar ham mediteshan regular olaredee niyamit roop se karate hain to hamen kaaphee phaayada bhee hota hai man to hamaara man hai prem jo hai vah shaant hota hai aur use phir naee oorja milatee hai ab kaam karane kee aur jo hota hai ki kuchh cheejon par niyantran karane ke lie bhee mediteshan bahut achchha hai agar aapako kuchh khaane ka man ho raha hai tab tum masaaledaar chatapatee cheejen bhaaratee khaane ya phir jyaada kailoree vaalee cheejen to us samay aap apane man ko shaant karake aur mediteshan karate ho to aapako bahut phaayada hoga to doston aise hee hansate rahie boyaphrend se aur hansate muskuraate rahie dhanyavaad doston

#मनोरंजन

bolkar speaker
अपने पसंदीदा गाने के दो लाइन गाकर सुनाएं?Apne Pasandeeda Gaane Ke Do Line Gakar Sunaye
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:36
फ्रेंड्स गुड आफ्टरनून करे आप सुनील मिश्रा को कैसे हो आप सब लोग दोस्तों एक मित्र का सवाल अपने पसंदीदा गाने की दो लाइन गाकर तो दोस्तों ओल्ड सॉन्ग मुझे बहुत पसंद है पट्टी न्यू सांगवी जो कुछ है जो मैं पसंद करती हूं उनमें से एक शाम में हमको सुनना चाहती हूं जो मुझे बहुत फेवरेट है और मैं जब भी अकेले होती तो मैं निशान सुनती हूं इतनी मोहब्बत करो ना मैं डूब ना जाऊं कहीं वापस किनारे पे आना मैं भूल जाऊं जब से देखा है सूरत तेरी तो हफ्तों से सोया नहीं बोल दो दिल में जो है छुपा मैं किसी से कहूंगा नहीं मैं किसी से कहूंगा नहीं मुझे नींद आती नहीं है अकेले ख्वाबों में आया करो नहीं चल सकूंगा मैं तेरे बिना मेरा तुम सहारा ना इतना कुछ हमसे होगा नहीं बोल दो ना जरा दिल में जो है छुपा मैं किसी से कहूंगा नहीं मैं किसी से कहूंगा नहीं मैं किसी से कहूंगा नहीं थैंक यू दोस्तों मुझे यह सॉन्ग बहुत ही अच्छा लगता है और सच में आप सभी से यह फोन लगाकर कभी जब आप अकेले हो तो आपको बहुत अच्छा लगेगा जैसे कोई गहरा हो कुछ ऐसा फील होता है इस काम को सुनने से तो धन्यवाद दोस्तों हमें बहुत पसंद है और अगर आपको मेरा नाम पसंद आए तो लाइक और कमेंट करिए सब्सक्राइब करना मत बोलिएगा थैंक यू
Phrends gud aaphtaranoon kare aap suneel mishra ko kaise ho aap sab log doston ek mitr ka savaal apane pasandeeda gaane kee do lain gaakar to doston old song mujhe bahut pasand hai pattee nyoo saangavee jo kuchh hai jo main pasand karatee hoon unamen se ek shaam mein hamako sunana chaahatee hoon jo mujhe bahut phevaret hai aur main jab bhee akele hotee to main nishaan sunatee hoon itanee mohabbat karo na main doob na jaoon kaheen vaapas kinaare pe aana main bhool jaoon jab se dekha hai soorat teree to haphton se soya nahin bol do dil mein jo hai chhupa main kisee se kahoonga nahin main kisee se kahoonga nahin mujhe neend aatee nahin hai akele khvaabon mein aaya karo nahin chal sakoonga main tere bina mera tum sahaara na itana kuchh hamase hoga nahin bol do na jara dil mein jo hai chhupa main kisee se kahoonga nahin main kisee se kahoonga nahin main kisee se kahoonga nahin thaink yoo doston mujhe yah song bahut hee achchha lagata hai aur sach mein aap sabhee se yah phon lagaakar kabhee jab aap akele ho to aapako bahut achchha lagega jaise koee gahara ho kuchh aisa pheel hota hai is kaam ko sunane se to dhanyavaad doston hamen bahut pasand hai aur agar aapako mera naam pasand aae to laik aur kament karie sabsakraib karana mat boliega thaink yoo

#मनोरंजन

bolkar speaker
गाजर के रस को पीने से क्या क्या फायदे है क्या इसे रोज पीना चाहिए?Gajar Ke Ras Ko Peene Se Kya Kya Fayade Hai Kya Ise Roj Peena Chahiye
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
3:32
गुड आफ्टरनून सर कैसे हो आप लोग बोल कर सुन रहे हो आप नीलम मिश्रा को दोस्तों एक मित्र का सवाल है गाजर के रस पीने के क्या-क्या फायदे है क्या इसे रोज पीना चाहिए दोस्त गाजर का रस हमारी सेहत के लिए बहुत ही अच्छा होता है इसमें बहुत सारे कैल्शियम मैग्नीशियम पोटेशियम बहुत सारी चीजें इसमें बहुत पशु मात्रा में पाई जाती हैं विटामिन सी प्रचुर मात्रा में पाई जाती है जो मारी हेल्थ के लिए बहुत अच्छा भैया मेटाबॉलिज को सुधारना है कम कैलोरी होने की वजह से हमारे वजन को बहुत ज्यादा कंट्रोल करता है और गाजर का रस बायलर रिलीज करता है और पायल जो होता है वह हमारी वजन को तेजी से कंट्रोल करने में बहुत ही फायदा होता है दोस्तों आंखों की रोशनी के लिए या बहुत फायदा होता है इसमें बेटू कैरोटीन नामक पदार्थ पाया जाता है जो विटामिन ए का एक टाइप होता है या यह पावरफुल एंटी ऑक्सीडेंट में से एक होता है दोस्तों के लिए बहुत सारे प्रॉब्लम हो सकते हैं जैसे खुजली होना रेसेज पढ़ना तो चार ऐड हो जाना धूप के कारण त्वचा में इस किंजल जाना इन सब चीजों के लिए गाजर का जूस बहुत ही फायदेमंद है दोस्तों हमें गाना चाहिए किसी भी प्रकार की समस्या के लिए गाजर का रस का सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है इम्यून सिस्टम को सुधारना है तुमको दुरुस्त करता है और कम कोलेस्ट्रोल कोलेस्ट्रोल को कम करता है दोस्तों इसमें प्रेगनेंसी में एक बहुत सारे फायदे हैं इसके इसमें कैल्शियम पोटेशियम मैग्नीशियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है और कहां जाता है तो उसको की 1000 मिलीग्राम कैल्शियम प्रेगनेंट लेडी को रोज रोजाना की जरूरत होती है प्रेग्नेंट प्रेग्नेंट लेडी को 1000 मिलीग्राम कैल्शियम रोजाना लेना चाहिए उसके लिए गाजर का जूस बेहतरीन उपाय और अपने दोस्तों अगर आप प्रेग्नेंट लेडी है कोई अब उसे गाजर का जूस पीने की सलाह दे सकते हो दोस्तों में फायदा होगा जैसे आंखों की रोशनी को बहुत फायदा करेगा लेबर को हेल्दी बनाएगा और दोस्तों शुगर के शुगर लेवल को भी कम करेगा बेटा वैसे इसमें बहुत मात्रा में पाया जाता है और इसमें beta-carotene टाइप पाया जाता है पूरा एक्सीडेंट पाया जाता है जो हमारे वजन को कम करेगा जिससे हमारा शुगर लेवल कम होगा हमारी बीपी के स्तर को भी सुधरेगा दोस्तों और हमारे सिस्टम को भी करो अच्छा दोस्त करेगा अच्छा बनाएगा तो दोस्तों यह वाला जट्ट के बहुत सारे फायदे आप कौन गाजर के जूस पीने से रोजाना पीने से आपको प्राप्त हो सकते इसलिए आपको गाजर का रस जो रोजाना पीना चाहिए रोजाना उसका सेवन करना चाहिए जो आपको हर तरीके से फायदा करे आपको बालों के लिए आंखों के लिए आपकी बॉडी के लिए आपकी स्किन के लिए आपके आंखों के लिए रोज तो आपकी इमेज सिस्टम के लिए हर तरीके से फायदेमंद है आशा है कि आपको मेरा जवाब पसंद आएगा अगर अच्छा लगे दोस्तों लाइक और कमेंट करिए और सब्सक्राइब करना मत भूलिए धन्यवाद दोस्तों
Gud aaphtaranoon sar kaise ho aap log bol kar sun rahe ho aap neelam mishra ko doston ek mitr ka savaal hai gaajar ke ras peene ke kya-kya phaayade hai kya ise roj peena chaahie dost gaajar ka ras hamaaree sehat ke lie bahut hee achchha hota hai isamen bahut saare kailshiyam maigneeshiyam poteshiyam bahut saaree cheejen isamen bahut pashu maatra mein paee jaatee hain vitaamin see prachur maatra mein paee jaatee hai jo maaree helth ke lie bahut achchha bhaiya metaabolij ko sudhaarana hai kam kailoree hone kee vajah se hamaare vajan ko bahut jyaada kantrol karata hai aur gaajar ka ras baayalar rileej karata hai aur paayal jo hota hai vah hamaaree vajan ko tejee se kantrol karane mein bahut hee phaayada hota hai doston aankhon kee roshanee ke lie ya bahut phaayada hota hai isamen betoo kairoteen naamak padaarth paaya jaata hai jo vitaamin e ka ek taip hota hai ya yah paavaraphul entee okseedent mein se ek hota hai doston ke lie bahut saare problam ho sakate hain jaise khujalee hona resej padhana to chaar aid ho jaana dhoop ke kaaran tvacha mein is kinjal jaana in sab cheejon ke lie gaajar ka joos bahut hee phaayademand hai doston hamen gaana chaahie kisee bhee prakaar kee samasya ke lie gaajar ka ras ka sevan karana bahut phaayademand hota hai imyoon sistam ko sudhaarana hai tumako durust karata hai aur kam kolestrol kolestrol ko kam karata hai doston isamen preganensee mein ek bahut saare phaayade hain isake isamen kailshiyam poteshiyam maigneeshiyam prachur maatra mein paaya jaata hai aur kahaan jaata hai to usako kee 1000 mileegraam kailshiyam preganent ledee ko roj rojaana kee jaroorat hotee hai pregnent pregnent ledee ko 1000 mileegraam kailshiyam rojaana lena chaahie usake lie gaajar ka joos behatareen upaay aur apane doston agar aap pregnent ledee hai koee ab use gaajar ka joos peene kee salaah de sakate ho doston mein phaayada hoga jaise aankhon kee roshanee ko bahut phaayada karega lebar ko heldee banaega aur doston shugar ke shugar leval ko bhee kam karega beta vaise isamen bahut maatra mein paaya jaata hai aur isamen bait-charotainai taip paaya jaata hai poora ekseedent paaya jaata hai jo hamaare vajan ko kam karega jisase hamaara shugar leval kam hoga hamaaree beepee ke star ko bhee sudharega doston aur hamaare sistam ko bhee karo achchha dost karega achchha banaega to doston yah vaala jatt ke bahut saare phaayade aap kaun gaajar ke joos peene se rojaana peene se aapako praapt ho sakate isalie aapako gaajar ka ras jo rojaana peena chaahie rojaana usaka sevan karana chaahie jo aapako har tareeke se phaayada kare aapako baalon ke lie aankhon ke lie aapakee bodee ke lie aapakee skin ke lie aapake aankhon ke lie roj to aapakee imej sistam ke lie har tareeke se phaayademand hai aasha hai ki aapako mera javaab pasand aaega agar achchha lage doston laik aur kament karie aur sabsakraib karana mat bhoolie dhanyavaad doston

#मनोरंजन

bolkar speaker
विटामिन डी प्राप्त करने के लिए हमें कितनी देर तक धूप में रहना चाहिए?Vitamin D Praapt Karne Ke Liye Hume Kitne Der Tak Dhup Me Rehna Chahiye
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:04
हेलो गुड आफ्टरनून फ्रेंड्स कैसे हैं आप सब लोग आप सुन रहे हैं बोलकर रैपर नीलम मिश्रा को दोस्तों एक मित्र ने सवाल पूछा है कि विटामिन डी प्राप्त करने के लिए हमें कितनी देर तक कितनी रहना चाहिए तो दोस्तों विटामिन डी धूप से भरपूर मात्रा में विटामिन डी पाने के लिए हमें सुबह 10:30 से 12:00 बजे तक की गुनगुनी धूप में 20 से 30 मिनट तक बैठना चाहिए और अगर आप सुबह मिस कर देते हो आप सुबह 10:30 से 12:00 के बीच में सुबह का धूप नहीं ले पाते हो तो आपको 3:00 बजे के बाद से तीन 3:30 से 5:30 तक का धूप आपको लेना चाहिए उससे आपको विटामिन ई भरपूर मात्रा में आपको आपकी बॉडी को प्राप्त होती है और आपकी हेल्थ के लिए अच्छा होता है दोस्तों हफ्ते में तीन-चार दिन यह धूप लेना बहुत जरूरी होता है अगर आप धूप से मैं नहीं चाहते हो आप धूप के संपर्क में नहीं आते हो आपकी बॉडी में विटामिन डी की कमी हो सकती है दोस्तों और जो हमें प्राकृतिक रूप से विटामिन डी प्राप्त होता है वह झूम-झूम उसका बेहतरीन जरिया है नेचुरल विटामिन डी प्राप्त करने का तो हमें रोजाना 20 से 30 मिनट धूप के संपर्क में जरूर आना चाहिए दोस्तों इस से क्या होता है कि हमें हमारे शरीर को ऊर्जा मिलती हैं हमें और हमारे जो संस्थाओं में रहने से बहुत सारे से पैक कर दिया है जो ठंडी जगह पर रहने से हमारी बॉडी में इचिंग और भी बहुत सारी समस्याएं आ जाती है वह उनसे भी हमें निजात मिलता है और हमारी बॉडी में जो मतलब हिंदी और नमी होती है वह भी खत्म होती है तो हमें विटामिन धूप के संपर्क में 20% आना बहुत ही जरूरी होता है और हमें जरूर आना चाहिए दिन भर में 20 से 30 मिनट तक धूप के संपर्क में जरूर आना चाहिए दोस्तों धन्यवाद आपको अगर जो अच्छा लगे तो लाइक और कमेंट करें सब्सक्राइब करें और करना ना भूले दोस्तों
Helo gud aaphtaranoon phrends kaise hain aap sab log aap sun rahe hain bolakar raipar neelam mishra ko doston ek mitr ne savaal poochha hai ki vitaamin dee praapt karane ke lie hamen kitanee der tak kitanee rahana chaahie to doston vitaamin dee dhoop se bharapoor maatra mein vitaamin dee paane ke lie hamen subah 10:30 se 12:00 baje tak kee gunagunee dhoop mein 20 se 30 minat tak baithana chaahie aur agar aap subah mis kar dete ho aap subah 10:30 se 12:00 ke beech mein subah ka dhoop nahin le paate ho to aapako 3:00 baje ke baad se teen 3:30 se 5:30 tak ka dhoop aapako lena chaahie usase aapako vitaamin ee bharapoor maatra mein aapako aapakee bodee ko praapt hotee hai aur aapakee helth ke lie achchha hota hai doston haphte mein teen-chaar din yah dhoop lena bahut jarooree hota hai agar aap dhoop se main nahin chaahate ho aap dhoop ke sampark mein nahin aate ho aapakee bodee mein vitaamin dee kee kamee ho sakatee hai doston aur jo hamen praakrtik roop se vitaamin dee praapt hota hai vah jhoom-jhoom usaka behatareen jariya hai nechural vitaamin dee praapt karane ka to hamen rojaana 20 se 30 minat dhoop ke sampark mein jaroor aana chaahie doston is se kya hota hai ki hamen hamaare shareer ko oorja milatee hain hamen aur hamaare jo sansthaon mein rahane se bahut saare se paik kar diya hai jo thandee jagah par rahane se hamaaree bodee mein iching aur bhee bahut saaree samasyaen aa jaatee hai vah unase bhee hamen nijaat milata hai aur hamaaree bodee mein jo matalab hindee aur namee hotee hai vah bhee khatm hotee hai to hamen vitaamin dhoop ke sampark mein 20% aana bahut hee jarooree hota hai aur hamen jaroor aana chaahie din bhar mein 20 se 30 minat tak dhoop ke sampark mein jaroor aana chaahie doston dhanyavaad aapako agar jo achchha lage to laik aur kament karen sabsakraib karen aur karana na bhoole doston

#मनोरंजन

bolkar speaker
घर पर काजू कतली कैसे बनाएं?ghar par kaajoo katalee kaise banaen
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:20
फ्रेंड्स ग्रुप में आपका मन करे आप सुनीता मिश्रा को कितने साल हुए घर पर काजू कतली कैसे बनाएं तो वह तो काजू कतली बनाने के लिए हमें चाहिए इसका जो हम फ्रेश काजोल जाएंगे मार्केट से और उसे लाकर हम उसे हल्का सा तभी पर सीख लेंगे बिना कुछ किए डाले बिना ऐसे ही सीख लेंगे उसको हल्का सा ताकि उसकी थोड़ी सी जेल में है वह खत्म हो जाएगी और उसकी खुशबू अच्छी आएगी फिर उसको हल्का सा गर्म करके उसको हमला होने के लिए रख देंगे और तुम एक दिन में हम दोस्त कर्म करेंगे और दूध को अच्छे से उसको गाना करेंगे और वह बोलने के लिए चल देंगे वह धीरे धीरे गाना होने लगेगा 200 तब तक हम काजू को मंडल में देख लेंगे उसको चोखा उसका हमको पाउडर जैसा बनाना है उसको पढ़ने बना लेंगे फिर 2 दिन का पूरा हो जाएगा बहुत बड़ा हो जाएगा तो दो तो जब दूध गाढ़ा हो जाए उसमें उनका जो के पेज पर डाल देंगे अनुज को नंबर लिखने में लंबित करेंगे और वह बिल्कुल हलवे की सेटिंग गाढ़ा होने लगेगा उसके बाद उसमें हम चीनी डालेंगे तो उसको चीनी हमें किसी भी चीनी लेनी है इसीलिए ना लेंगे और उसके बाद जब वह मिक्स करेंगे वह सूख जाएगा जब वह छूट जाएगा दोस्तों तो हम उसमें थोड़ी सी अगर आप को साथ पसंद है तो आप उसमें थोड़ी सी इलायची पाउडर डालने के बाद उसे एक थाली में या फिर किसी प्लेट में और खुले बर्तन में उसको थोड़ा सा घी लगाकर उसको फैला देंगे अजीज दोस्तों और फैलाकर उसे ठंडा होने के लिए रख देंगे हल्का सा ठंडा होने लगेगा विक्रमजोत अभी तक उसको हम अपनी इच्छा अनुसार कोई भी चेक देखे उसको छक्कों की मदद से शतक लगाकर शिफ्ट में काट ले और उसको ठंडा होने दें उसके बाद ठंडा हो जाएगा उसके बाद आप उसे शुरू करें तो उसको तो एक बार आप ट्राई करिए क्योंकि मैंने ट्राई किया था यूट्यूब से देखें और वह मुझे बहुत अच्छा इससे भी ज्यादा स्वादिष्ट लगा था वह मुझे कल बनाने में दोस्तों का पेपर जरूर चाहे करिए और वह काजू कतली बहुत ही टेस्टी बनती है ऐसे और मैंने एक बार बनाया है तो मुझे मैंने अपना स्टील्स आपको बताया दोस्तों अगर आपको जवाब पसंद है तो लाइक और कमेंट करिए सब्सक्राइब करें धन्यवाद दोस्तों
Phrends grup mein aapaka man kare aap suneeta mishra ko kitane saal hue ghar par kaajoo katalee kaise banaen to vah to kaajoo katalee banaane ke lie hamen chaahie isaka jo ham phresh kaajol jaenge maarket se aur use laakar ham use halka sa tabhee par seekh lenge bina kuchh kie daale bina aise hee seekh lenge usako halka sa taaki usakee thodee see jel mein hai vah khatm ho jaegee aur usakee khushaboo achchhee aaegee phir usako halka sa garm karake usako hamala hone ke lie rakh denge aur tum ek din mein ham dost karm karenge aur doodh ko achchhe se usako gaana karenge aur vah bolane ke lie chal denge vah dheere dheere gaana hone lagega 200 tab tak ham kaajoo ko mandal mein dekh lenge usako chokha usaka hamako paudar jaisa banaana hai usako padhane bana lenge phir 2 din ka poora ho jaega bahut bada ho jaega to do to jab doodh gaadha ho jae usamen unaka jo ke pej par daal denge anuj ko nambar likhane mein lambit karenge aur vah bilkul halave kee seting gaadha hone lagega usake baad usamen ham cheenee daalenge to usako cheenee hamen kisee bhee cheenee lenee hai iseelie na lenge aur usake baad jab vah miks karenge vah sookh jaega jab vah chhoot jaega doston to ham usamen thodee see agar aap ko saath pasand hai to aap usamen thodee see ilaayachee paudar daalane ke baad use ek thaalee mein ya phir kisee plet mein aur khule bartan mein usako thoda sa ghee lagaakar usako phaila denge ajeej doston aur phailaakar use thanda hone ke lie rakh denge halka sa thanda hone lagega vikramajot abhee tak usako ham apanee ichchha anusaar koee bhee chek dekhe usako chhakkon kee madad se shatak lagaakar shipht mein kaat le aur usako thanda hone den usake baad thanda ho jaega usake baad aap use shuroo karen to usako to ek baar aap traee karie kyonki mainne traee kiya tha yootyoob se dekhen aur vah mujhe bahut achchha isase bhee jyaada svaadisht laga tha vah mujhe kal banaane mein doston ka pepar jaroor chaahe karie aur vah kaajoo katalee bahut hee testee banatee hai aise aur mainne ek baar banaaya hai to mujhe mainne apana steels aapako bataaya doston agar aapako javaab pasand hai to laik aur kament karie sabsakraib karen dhanyavaad doston

#मनोरंजन

bolkar speaker
चाय बनाते समय अदरक किस तरह डालें जिससे चाय में अदरक का स्वाद भी आये और अदरक पूरा उपयोग भी हो जाए?chaay banaate samay adarak kis tarah daalen jisase chaay mein adarak ka svaad bhee aaye aur adarak poora upayog bhee ho jae
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:00
भाई सैलरी भी स्वागत है आपका बोलकर है पर आप सुनाएं मीरा मिश्रा को दोस्तों एक मित्र ने सवाल पूछा है चाय बनाते समय तक का किस तरह डालें जिसमें चाय में अदरक का स्वाद भी आए और उनका पूरा उपयोग भी हो जाए तो रोज तो चाय में अदरक डालने के बहुत सारे तरीके लोग बहुत तरीकों से अतर्रा कुछ लोग अदरक को कूटकर डालते हैं कुछ लोग तो कद्दू कद्दू कद्दू का छोटा सा आता है अदरक को छूने वाला उसे कैसे डालते हैं और कुछ लोग उसका फेस वन आगे रखते हैं तो थोड़ा सा डालते हैं तो सबसे बेस्ट तरीका यही होता है कि यात्रा का आपके यहां चाय ज्यादा बन रही है या सुबह शाम दोपहर सही टाइम चाय बन रही हो तो आप उस को छीलकर याद रखो और उसका ग्राइंडर में उसको पेस्ट बना लें थोड़ा सा थोड़ा एकदम फेस नहीं थोड़ा सा दर्द और उसे दोस्तों अगर उस पर स्ट को आप को न चाहे उबाल के लोदवाल केस में चाय पत्ती डाली है और अब थोड़ा सा डालेंगे तो उसका स्वाद भी ज्यादा आ जाएगा और वह पूरी तरह उपयोग हो जाएगा अगर आप मुर्गी दाल दो तो उसमें बहुत महीन आप उठ नहीं पाओगे और वह कहीं ना कहीं थोड़ा सा रह जाता है और अगर वह कद्दूकस वाली से कचरा डालते हो तो वह भी उपयोग हो जाता है लेकिन अगर आप उसे भी बना के रखते हो और चाय में अगर थोड़ा सा ही आधार नंबर आधार का मतलब एक चौथाई चम्मच भी उस में डाल रहे हो आप अदरक तो उसका पूरा स्वाद आता है और वह पूरी तरह जाता है दोस्तों मैं तो ऐसे ही करती हूं क्योंकि मेरे घर में चाय ज्यादा यूज होती है और इसलिए मैं चाय को ओपन करके सेंड कर लेती हूं और उसको मैं हिसार में छोटी सी जान में रख दी हूं और उसको मैं दो-तीन दिन के लिए बना कर रख लेती हूं और उसको थोड़ा थोड़ा चाय में यूज करती हूं जिससे चाय बहुत स्वादिष्ट हो जाता है और अदरक तुम हमारा विश भी नहीं होता है तो दोस्तों ऐसे ही में यूज करती हूं आशा है आपको मेरा जवाब पसंद है अगर जवाब पसंद आए तो प्लीज लाइक करें कमेंट करें लाइक करें धन्यवाद दोस्तों
Bhaee sailaree bhee svaagat hai aapaka bolakar hai par aap sunaen meera mishra ko doston ek mitr ne savaal poochha hai chaay banaate samay tak ka kis tarah daalen jisamen chaay mein adarak ka svaad bhee aae aur unaka poora upayog bhee ho jae to roj to chaay mein adarak daalane ke bahut saare tareeke log bahut tareekon se atarra kuchh log adarak ko kootakar daalate hain kuchh log to kaddoo kaddoo kaddoo ka chhota sa aata hai adarak ko chhoone vaala use kaise daalate hain aur kuchh log usaka phes van aage rakhate hain to thoda sa daalate hain to sabase best tareeka yahee hota hai ki yaatra ka aapake yahaan chaay jyaada ban rahee hai ya subah shaam dopahar sahee taim chaay ban rahee ho to aap us ko chheelakar yaad rakho aur usaka graindar mein usako pest bana len thoda sa thoda ekadam phes nahin thoda sa dard aur use doston agar us par st ko aap ko na chaahe ubaal ke lodavaal kes mein chaay pattee daalee hai aur ab thoda sa daalenge to usaka svaad bhee jyaada aa jaega aur vah pooree tarah upayog ho jaega agar aap murgee daal do to usamen bahut maheen aap uth nahin paoge aur vah kaheen na kaheen thoda sa rah jaata hai aur agar vah kaddookas vaalee se kachara daalate ho to vah bhee upayog ho jaata hai lekin agar aap use bhee bana ke rakhate ho aur chaay mein agar thoda sa hee aadhaar nambar aadhaar ka matalab ek chauthaee chammach bhee us mein daal rahe ho aap adarak to usaka poora svaad aata hai aur vah pooree tarah jaata hai doston main to aise hee karatee hoon kyonki mere ghar mein chaay jyaada yooj hotee hai aur isalie main chaay ko opan karake send kar letee hoon aur usako main hisaar mein chhotee see jaan mein rakh dee hoon aur usako main do-teen din ke lie bana kar rakh letee hoon aur usako thoda thoda chaay mein yooj karatee hoon jisase chaay bahut svaadisht ho jaata hai aur adarak tum hamaara vish bhee nahin hota hai to doston aise hee mein yooj karatee hoon aasha hai aapako mera javaab pasand hai agar javaab pasand aae to pleej laik karen kament karen laik karen dhanyavaad doston

#मनोरंजन

bolkar speaker
घर खर्च बचाने के लिए मंडियों से सीधे सब्जी लाना सही होगा या खुद घर के छत पर सब्जियां उगाना?Ghar Kharch Bachaane Ke Lie Mandiyon Se Seedhe Sabjee Laana Sahee Hoga Ya Khud Ghar Ke Chhat Par Sabjiyaan Ugaana
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:27
हेलो फ्रेंड्स गुड इवनिंग स्वागत है आपका बोल कर हम क्या सुनाएं नीलम मिश्रा को दोस्तों एक मित्र का सवाल है घर खर्च बचाने के लिए मंडी उनके सीधे चलाना सही हो गया था खुद के घर के छत पे सब जाऊंगा ना तो दोस्तों अगर आप खुद के घर पर सब्जियां उगा सकते हैं तो यह तो सबसे बेस्ट आफ करें इससे बेस्ट ऑप्शन कुछ हो ही नहीं सकता है दोस्तों लेकिन बहुत सारी समस्याएं थी जिसे हम घर के घर के लाल में अगर हमारे घर के आगे थोड़ी फील्ड है उसमें नहीं होगा सकते हैं क्योंकि शहरों में क्या होता है कि छोटे छोटे से थोड़ी थोड़ी सी जगह में छोटे-छोटे मकान बने होते हैं जिसमें ज्यादा नहीं होता है या फिर हम घर का मिलान नहीं जाता छोड़ते हैं घर के आगे फिर भी नहीं छोड़ पाते हैं या फिर घर के छत पर स्पेस नहीं होता और उसके बाद छत पर भी भी अगर स्पर्श है तो उस पर भी बहुत सारी चीजें जरूरी होते हैं जैसे सेटअप बॉक्स और टीवी का या फिर पानी की टंकी तो थोड़ा स्पेस में चला जाता है तो तोड़ दूंगा जैसे टमाटर हरी मिर्ची गोभी बैंगन और धनिया के पत्ते पुदीने यह सारी चीजें बिगाड़ सकते हो लेकिन बहुत सारी ऐसी सब्जियां है जिसे आप के छत पर नहीं हुआ सकते जैसे आलू का प्यार से 6 साल भर से यह तो करके रखिए करके रखने वाली सब्जियां जिसे आप ज्यादा मात्रा में आप पर लगा सकते हो यह सारी सब्जियों के लिए आपको मार्केट से तो लाना ही पड़ेगा लेकिन वह जो सर जी आप घर पर उगा सकते हो ग्रीन वेजिटेबल पत्तेदार सब्जियां उगा उगा सकते हो तो यह बेस्ट ऑप्शन होता है उससे क्या होता है सोचता हूं कि आप को सबसे बड़ी बात कि आप को कम मतलब पैसे कम इन्वेस्टमेंट मैं आपको शुक्रिया मिल जाती है अगर आप वह पौष्टिक चीजें मिलती हैं उसमें केमिकल नहीं होता है उसमें को गंदे पानी छूट की सिंचाई अभी उसकी धुलाई नहीं की गई होती है तो वह चीजें बहुत ज्यादा अच्छी हो हमारे साथ स्वास्थ के लिए पौष्टिक होती हैं तो मेरे हिसाब से जो सीधे आप घर में होगा सकते हो उसे आपको गाना चाहिए और उसका ही प्रयोग करना चाहिए और जो चीजें संभव नहीं है उसके लिए तो मजबूरी है क्या मैं मार्केट मंडल से ही सब जलाना पड़ेगा तो आशा है दोस्तों कि आपको मेरा जवाब पसंद आएगा पसंद आए तो फिर से एक बोलकर मैसेज टाइप करिए और लाइक और कमेंट करी दोस्तों को धन्यवाद
Helo phrends gud ivaning svaagat hai aapaka bol kar ham kya sunaen neelam mishra ko doston ek mitr ka savaal hai ghar kharch bachaane ke lie mandee unake seedhe chalaana sahee ho gaya tha khud ke ghar ke chhat pe sab jaoonga na to doston agar aap khud ke ghar par sabjiyaan uga sakate hain to yah to sabase best aaph karen isase best opshan kuchh ho hee nahin sakata hai doston lekin bahut saaree samasyaen thee jise ham ghar ke ghar ke laal mein agar hamaare ghar ke aage thodee pheeld hai usamen nahin hoga sakate hain kyonki shaharon mein kya hota hai ki chhote chhote se thodee thodee see jagah mein chhote-chhote makaan bane hote hain jisamen jyaada nahin hota hai ya phir ham ghar ka milaan nahin jaata chhodate hain ghar ke aage phir bhee nahin chhod paate hain ya phir ghar ke chhat par spes nahin hota aur usake baad chhat par bhee bhee agar sparsh hai to us par bhee bahut saaree cheejen jarooree hote hain jaise setap boks aur teevee ka ya phir paanee kee tankee to thoda spes mein chala jaata hai to tod doonga jaise tamaatar haree mirchee gobhee baingan aur dhaniya ke patte pudeene yah saaree cheejen bigaad sakate ho lekin bahut saaree aisee sabjiyaan hai jise aap ke chhat par nahin hua sakate jaise aaloo ka pyaar se 6 saal bhar se yah to karake rakhie karake rakhane vaalee sabjiyaan jise aap jyaada maatra mein aap par laga sakate ho yah saaree sabjiyon ke lie aapako maarket se to laana hee padega lekin vah jo sar jee aap ghar par uga sakate ho green vejitebal pattedaar sabjiyaan uga uga sakate ho to yah best opshan hota hai usase kya hota hai sochata hoon ki aap ko sabase badee baat ki aap ko kam matalab paise kam investament main aapako shukriya mil jaatee hai agar aap vah paushtik cheejen milatee hain usamen kemikal nahin hota hai usamen ko gande paanee chhoot kee sinchaee abhee usakee dhulaee nahin kee gaee hotee hai to vah cheejen bahut jyaada achchhee ho hamaare saath svaasth ke lie paushtik hotee hain to mere hisaab se jo seedhe aap ghar mein hoga sakate ho use aapako gaana chaahie aur usaka hee prayog karana chaahie aur jo cheejen sambhav nahin hai usake lie to majabooree hai kya main maarket mandal se hee sab jalaana padega to aasha hai doston ki aapako mera javaab pasand aaega pasand aae to phir se ek bolakar maisej taip karie aur laik aur kament karee doston ko dhanyavaad

#मनोरंजन

bolkar speaker
क्या फटे दूध का पानी भी हमारे लिए कारगर साबित हो सकता है?Kya Fate Doodh Ka Pani Bhi Humare Liye Kaargar Saabit Ho Sakta Hai
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
0:59
नमस्कार दोस्तों एक मित्र ने पूछा है क्या फटे हुए दूध का पानी भी हमारे लिए कारगर साबित हो सकता है तुझे बिल्कुल फटे हुए दूध के पानी में प्रोटीन और एंटीऑक्सीडेंट उच्च मात्रा में प्राप्त होता है जिससे कि हमारे शरीर में बहुत ही ज्यादा फायदा होता है इससे हमारे दिल के लिए ब्लड प्रेशर के लिए कैसे हो और हमारा इनकी सिस्टम जो होता है उसे बहुत अच्छा होता है और अगर आप अपने सिस्टम को बढ़ाना चाहते हैं तो आप के फटे हुए दूध को फेंकना नहीं चाहिए बल्कि उसका सेवन करना चाहिए इससे आपके शरीर को रोग प्रतिरोधक क्षमता तो पड़ेगा ही साथ ही साथ आपको दोस्तों आपका ब्लड प्रेशर आपका शुगर लेवल भी इसे करना होता है और बहुत सारी चीजें हैं सऊदी अरब जो आपको फटे हुए दूध की फॉरमेशन मिलते हैं तो आशा है आपको मेरा जवाब पसंद आएगा धन्यवाद
Namaskaar doston ek mitr ne poochha hai kya phate hue doodh ka paanee bhee hamaare lie kaaragar saabit ho sakata hai tujhe bilkul phate hue doodh ke paanee mein proteen aur enteeokseedent uchch maatra mein praapt hota hai jisase ki hamaare shareer mein bahut hee jyaada phaayada hota hai isase hamaare dil ke lie blad preshar ke lie kaise ho aur hamaara inakee sistam jo hota hai use bahut achchha hota hai aur agar aap apane sistam ko badhaana chaahate hain to aap ke phate hue doodh ko phenkana nahin chaahie balki usaka sevan karana chaahie isase aapake shareer ko rog pratirodhak kshamata to padega hee saath hee saath aapako doston aapaka blad preshar aapaka shugar leval bhee ise karana hota hai aur bahut saaree cheejen hain saoodee arab jo aapako phate hue doodh kee phorameshan milate hain to aasha hai aapako mera javaab pasand aaega dhanyavaad

#जीवन शैली

bolkar speaker
क्या बिना अपनी गलती के कोई आपको बद्दुआ दे तो क्या वह बद्दुआ लग जाती है?Kya Bina Apni Galti Ke Koi Aapko Baddua De To Kya Vah Baddua Lag Jati Hai
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
1:42
गुड आफ्टरनून किसी मित्र ने कहा है कि क्या बिना अपनी गलती को कोई आपको बद्दुआ दे तो क्या हुआ बुधवार लगती है तू जी बिल्कुल नहीं दोस्त हमें कभी ऐसी कोई बद्दुआ नहीं लगती है जो बिना हमारी गलती क्या बेवजह दी जाए बद्दुआ वही लगती है जब किसी का हम दिल दुखाते हैं किसी को तकलीफ देते हैं और उसके अंदर से वह दुआ निकल रही हो दिल से वह चीज को ऊंचाई वह मुंह से कहे ना करें लेकिन जब उसके शरीर को कष्ट होता है उसके आत्मा को कष्ट होता है और वह आत्मा से दुखी होकर मुंह से बदबू आने के लिए आपको बद्दुआ दे तो बद्दुआ लगती है कभी किसी की वजह से दुआ देते हैं तो बिल्कुल नहीं लगती है क्योंकि अगर किसी को बुरा नहीं करेंगे किसी साथ किसी का हक नहीं करेंगे किसी को तकलीफ नहीं देंगे तो वह तुम हमें पहली बार क्यों हमें बता देगा नहीं और अगर फिर भी अगर कोई देता है तो वह दुआ बिल्कुल हमें नहीं सकती क्योंकि हमें वही बद्दुआ बद्दुआ लगती है जो तेल से दिया जाएगा फिर वही लगती है जो दिल से दिया जाए और वह लगती तो सजा कोई बद्दुआ मिलेगा जवाब देंगे तो ऐसा नहीं है कि हमें कोई ऐसे ऐसे आते जाते कोई भी बद्दुआ दे दे और लग जाए तो ऐसा बिल्कुल नहीं मर्दों हमें ऐसा वैसा कोई बद्दुआ लगता नहीं है हम नहीं किसी का दिल दुखाने के बाद अगर उसके लिए उसे तकलीफ होती है और कोई बात लगती है वही लगती है बाकी और कोई दुआ नहीं होती
Gud aaphtaranoon kisee mitr ne kaha hai ki kya bina apanee galatee ko koee aapako baddua de to kya hua budhavaar lagatee hai too jee bilkul nahin dost hamen kabhee aisee koee baddua nahin lagatee hai jo bina hamaaree galatee kya bevajah dee jae baddua vahee lagatee hai jab kisee ka ham dil dukhaate hain kisee ko takaleeph dete hain aur usake andar se vah dua nikal rahee ho dil se vah cheej ko oonchaee vah munh se kahe na karen lekin jab usake shareer ko kasht hota hai usake aatma ko kasht hota hai aur vah aatma se dukhee hokar munh se badaboo aane ke lie aapako baddua de to baddua lagatee hai kabhee kisee kee vajah se dua dete hain to bilkul nahin lagatee hai kyonki agar kisee ko bura nahin karenge kisee saath kisee ka hak nahin karenge kisee ko takaleeph nahin denge to vah tum hamen pahalee baar kyon hamen bata dega nahin aur agar phir bhee agar koee deta hai to vah dua bilkul hamen nahin sakatee kyonki hamen vahee baddua baddua lagatee hai jo tel se diya jaega phir vahee lagatee hai jo dil se diya jae aur vah lagatee to saja koee baddua milega javaab denge to aisa nahin hai ki hamen koee aise aise aate jaate koee bhee baddua de de aur lag jae to aisa bilkul nahin mardon hamen aisa vaisa koee baddua lagata nahin hai ham nahin kisee ka dil dukhaane ke baad agar usake lie use takaleeph hotee hai aur koee baat lagatee hai vahee lagatee hai baakee aur koee dua nahin hotee

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
ज्यादातर लड़के गोरी लड़कियों से ही शादी क्यों करना चाहते हैं?Jyaadaatar Ladake Goree Ladakiyon Se Hee Shaadee Kyon Karana Chaahate Hain
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
1:41
फ्रेंड्स गुड इवनिंग एक मित्र का सवाल है कि ज्यादा तकलीफ को लड़कियों को लड़कियों से शादी क्यों करना चाहते हैं तो दोस्तों 21वीं सदी में आ तो गए हैं लेकिन फिर भी हम लोगों का जो खूबसूरती को देखने का नजरिया होता है गोरे रंग से ही शुरु होता है लोग सबसे पहले यही देखते हैं कि लड़की कोरी रोटी अक्षरा कैसा है खाली हो रही है वह साली है उसके नैन नक्श अच्छे फीचर्स सच है उसके बावजूद भी उस से एक गोली लड़की के साथ तुलना किया जाए तो उसको पीछे कर दिया जाएगा गोरी लड़की का चाहे उनकी साधना जी को फिर भी अगर हो रहा है तो उसे खूबसूरती का प्रतीक माना जाता है इसलिए लड़के को तो लड़कियों से शादी ज्यादा लड़कियों के अक्षर ज्यादा करना चाहते हैं कि अगर लड़की अच्छी रहेगी तो मर्जी जो होगा देखा वही गोरा पैदा होगा और कुछ इस तरह से भी लोगों के दिमाग में शंकर रहते हैं इसके लिए लोग सोचते हैं कि वह लड़कियों से शादी करना उचित रहेगा लेकिन लोग तो रंग गोरा हो या काला हो इंसान का मन साफ होना चाहिए लेकिन यह कहने वाली बात है हम भी यही कहते हैं और आप भी यही कहोगे बाकी सारे लोग यही कहते हैं लेकिन सब अपने अपने घर के लिए चुनने का बारी आती है तो फिर हम यह सारी चीजें खाते भूल जाते हैं मशीनों से लड़की गोरी है लड़की गोरी होनी चाहिए अच्छा लगे पसंद आए तो लाइक और कमेंट जरूर करिएगा थैंक यू
Phrends gud ivaning ek mitr ka savaal hai ki jyaada takaleeph ko ladakiyon ko ladakiyon se shaadee kyon karana chaahate hain to doston 21veen sadee mein aa to gae hain lekin phir bhee ham logon ka jo khoobasooratee ko dekhane ka najariya hota hai gore rang se hee shuru hota hai log sabase pahale yahee dekhate hain ki ladakee koree rotee akshara kaisa hai khaalee ho rahee hai vah saalee hai usake nain naksh achchhe pheechars sach hai usake baavajood bhee us se ek golee ladakee ke saath tulana kiya jae to usako peechhe kar diya jaega goree ladakee ka chaahe unakee saadhana jee ko phir bhee agar ho raha hai to use khoobasooratee ka prateek maana jaata hai isalie ladake ko to ladakiyon se shaadee jyaada ladakiyon ke akshar jyaada karana chaahate hain ki agar ladakee achchhee rahegee to marjee jo hoga dekha vahee gora paida hoga aur kuchh is tarah se bhee logon ke dimaag mein shankar rahate hain isake lie log sochate hain ki vah ladakiyon se shaadee karana uchit rahega lekin log to rang gora ho ya kaala ho insaan ka man saaph hona chaahie lekin yah kahane vaalee baat hai ham bhee yahee kahate hain aur aap bhee yahee kahoge baakee saare log yahee kahate hain lekin sab apane apane ghar ke lie chunane ka baaree aatee hai to phir ham yah saaree cheejen khaate bhool jaate hain masheenon se ladakee goree hai ladakee goree honee chaahie achchha lage pasand aae to laik aur kament jaroor kariega thaink yoo

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
सफेद चावल के नियमित सेवन से वजन क्यों बढ़ता है?Safed Chaval Ke Niyamit Sevan Se Vajan Kyun Badhta Hai
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:04
नमस्कार दोस्तों एक मित्र ने सवाल पूछा है कि सफेद चावल सेन के नियमित सेवन से वजन क्यों बढ़ता है तो दोस्तों सफेद चावल जो होता है उसमें अमीनो एसिड पाया जाता है अमीन वैसे 3 अमीनो एसिड की मात्रा अधिक होती है जिसके जिसके साथ सेवन करने से फैट बढ़ता है और अगर आप चावल नियमित रूप से खाते हैं तो आपको चिलमन मछली का प्रयोग तार के साथ अगर आप खाते हो तो तो आपका मजा नहीं पड़ेगा बाकी कहा जाता है कि चावल में जो होता है कैलोरी और फैट जनवरी में बहुत ज्यादा मात्रा में होती है और साइड भी ज्यादा मात्रा में होती है इसकी उम्र का आशीर्वचन पड़ता है अगर आपने में चावल खा रहे हो तो आपको इतना वर्क करना चाहिए कि आपकी 2 कैलोरी आपने लिया है वह मन हो तो तो आपका वेट कंट्रोल हो सकता है लेकिन अगर आप उस तरह से कोई बात हुआ तो नहीं कर रहे हो ज्यादा तो आपको चावल खाने से आती नियमित सेवन से वजन बढ़ेगा कहीं-कहीं ऐसा भी देखा गया है कि बहुत ज्यादा चावल खाने के पास 3 साल चावल खाने के बाद भी कोई कोई क्या वजन नहीं बढ़ता है तो इसका मेन उद्देश्य यही होता है कि चावल खाने के बाद अब बोलो कल वर्क ज्यादा करते हैं जिससे उनकी कैलोरी बर्न होती है उनका पेट नहीं भरता और जो लोग किस कलर कम करते हैं और उनकी कैलोरी बर्न नहीं होती है उतनी तो थी वह कह लो कि अपने अंदर ले रहे हैं तो उस से वजन बढ़ता है तुम बस कीजिए और दूसरी बात यह लो क्योंकि दूध चावल होता है उसमें कैलोरी ज्यादा मात्रा में मिलती है और हम थोड़ा ही खाते हैं और फिर भी हमें ऐसा लगता है कि मतलब नहीं खाया था फिर भी वजन बढ़ा और जरूरी होता है उसमें पेट और कैलोरी कम होने के कारण हम ज्यादा खा लेते हैं फिर मर जाता है फिर भी हमारा वजन नहीं बढ़ता है धन्यवाद दोस्तों आपको मैं तो लाइक कमेंट करिए उसका एक करें
Namaskaar doston ek mitr ne savaal poochha hai ki saphed chaaval sen ke niyamit sevan se vajan kyon badhata hai to doston saphed chaaval jo hota hai usamen ameeno esid paaya jaata hai ameen vaise 3 ameeno esid kee maatra adhik hotee hai jisake jisake saath sevan karane se phait badhata hai aur agar aap chaaval niyamit roop se khaate hain to aapako chilaman machhalee ka prayog taar ke saath agar aap khaate ho to to aapaka maja nahin padega baakee kaha jaata hai ki chaaval mein jo hota hai kailoree aur phait janavaree mein bahut jyaada maatra mein hotee hai aur said bhee jyaada maatra mein hotee hai isakee umr ka aasheervachan padata hai agar aapane mein chaaval kha rahe ho to aapako itana vark karana chaahie ki aapakee 2 kailoree aapane liya hai vah man ho to to aapaka vet kantrol ho sakata hai lekin agar aap us tarah se koee baat hua to nahin kar rahe ho jyaada to aapako chaaval khaane se aatee niyamit sevan se vajan badhega kaheen-kaheen aisa bhee dekha gaya hai ki bahut jyaada chaaval khaane ke paas 3 saal chaaval khaane ke baad bhee koee koee kya vajan nahin badhata hai to isaka men uddeshy yahee hota hai ki chaaval khaane ke baad ab bolo kal vark jyaada karate hain jisase unakee kailoree barn hotee hai unaka pet nahin bharata aur jo log kis kalar kam karate hain aur unakee kailoree barn nahin hotee hai utanee to thee vah kah lo ki apane andar le rahe hain to us se vajan badhata hai tum bas keejie aur doosaree baat yah lo kyonki doodh chaaval hota hai usamen kailoree jyaada maatra mein milatee hai aur ham thoda hee khaate hain aur phir bhee hamen aisa lagata hai ki matalab nahin khaaya tha phir bhee vajan badha aur jarooree hota hai usamen pet aur kailoree kam hone ke kaaran ham jyaada kha lete hain phir mar jaata hai phir bhee hamaara vajan nahin badhata hai dhanyavaad doston aapako main to laik kament karie usaka ek karen

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
भूख मिटाने के लिए धूम्रपान का उपयोग करना कितना सही है?Bhukh Mitane Ke Liye Dhumrpan Ka Upyog Karna Kitna Sahi Hai
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:25
हाय एवरीवन कैसे हैं आप लोग एक मित्र ने सवाल किया है किस भूख मिटाने के लिए धूम अपमान का उपयोग करना कितना सही है तो बिल्कुल भूल जाने के लिए धूम्रपान का उपयोग करना बहुत गलत है अच्छा नहीं होने करना चाहिए लेकिन कुछ लोग मैंने देखा है कुछ लोग ऐसे होते हैं मेरे रिलेटिव ही कुछ लोग ऐसे हैं जो अगर खाने में कहीं बाहर फंसे हुए लेट हो क्या तो वह गुटका या फिर लो पान सुपारी ना जाने क्या-क्या बहुत सारी चीजें खाकर और अपना भूख मतलब कहते हैं भूख लगी थी तो खाली होता है ऐसा नहीं होता है रोज तो भूख मिटाने के लिए जब हम फोन करते हैं तो क्या होता है वह जो सिगरेट सिगरेट सिगरेट पी रहे हो तो सच होता है वह जाकर हमारे क्योंकि हमारी बॉडी में जब खाना भोजन नहीं होता है तो बाहर किसी से भूख लगती है तो बाहर किसी से अब जॉब करता है अपने अंदर लेता है तो जब हमारे शरीर में जाता है खाली होता है मैं भूख लग रही थी हमारी सारी कोशिकाओं में वह दुआ भरता है और उसके बाद वह हमें बहुत सारी तरीकों से नुकसान करता है मेरी कितनी कोमरेली पर को हमारे लंको हार्ड को सब तरीके से वह नुकसान करता है अगर हम खाना खाकर और भरे पेट भरा हुआ है उनको शक्ति चीजें तत्व अपने अंदर लिया है और अगर उसके बाद अगर हम खाना हम तुम फोन कर रहे हैं तो तुम परंतु हर तरीके से नुकसान नहीं करता है लेकिन उसके बाद हम ले रहे हैं तो चलो ठीक है चलता है थोड़ा बहुत लेकिन अगर खाली पेट हम भूख रोकने के लिए धूम्रपान करना है तो बहुत गलत है हमारे पार्टी पर बहुत ज्यादा दुष्प्रभाव डालता है और उससे हमें बहुत सारी प्रॉब्लम हो सकती है जैसे दमा के अनुसार और यह सारी चीजें जो हमें शरीर में परेशानी हो सकती है सांस फूलने की परेशानी क्योंकि उस समय जब हमारा पेट और खाली होता है बॉडी में हमारे मैंने खाना नहीं खाया होता है पोषक तत्व नहीं होते हैं अंदर तो जो भी चीज हमारे बॉडी में इंटेक करते हैं वह चीजें हमारे ऊपर हावी होती हैं और वह सीधे हमारा बॉडी उसे एक्सेप्ट कर लेता है तो जैसे हमने खाना ना खा कर खाली पेट में अगर हमने तुम मान किया है तो उसके जो अक्षर होते हैं पूरी पार्टी की हर कोशिका ले लेती है और जो हमारी पार्टी में बहुत सारा नुकसान होता है उससे धन्यवाद
Haay evareevan kaise hain aap log ek mitr ne savaal kiya hai kis bhookh mitaane ke lie dhoom apamaan ka upayog karana kitana sahee hai to bilkul bhool jaane ke lie dhoomrapaan ka upayog karana bahut galat hai achchha nahin hone karana chaahie lekin kuchh log mainne dekha hai kuchh log aise hote hain mere riletiv hee kuchh log aise hain jo agar khaane mein kaheen baahar phanse hue let ho kya to vah gutaka ya phir lo paan supaaree na jaane kya-kya bahut saaree cheejen khaakar aur apana bhookh matalab kahate hain bhookh lagee thee to khaalee hota hai aisa nahin hota hai roj to bhookh mitaane ke lie jab ham phon karate hain to kya hota hai vah jo sigaret sigaret sigaret pee rahe ho to sach hota hai vah jaakar hamaare kyonki hamaaree bodee mein jab khaana bhojan nahin hota hai to baahar kisee se bhookh lagatee hai to baahar kisee se ab job karata hai apane andar leta hai to jab hamaare shareer mein jaata hai khaalee hota hai main bhookh lag rahee thee hamaaree saaree koshikaon mein vah dua bharata hai aur usake baad vah hamen bahut saaree tareekon se nukasaan karata hai meree kitanee komarelee par ko hamaare lanko haard ko sab tareeke se vah nukasaan karata hai agar ham khaana khaakar aur bhare pet bhara hua hai unako shakti cheejen tatv apane andar liya hai aur agar usake baad agar ham khaana ham tum phon kar rahe hain to tum parantu har tareeke se nukasaan nahin karata hai lekin usake baad ham le rahe hain to chalo theek hai chalata hai thoda bahut lekin agar khaalee pet ham bhookh rokane ke lie dhoomrapaan karana hai to bahut galat hai hamaare paartee par bahut jyaada dushprabhaav daalata hai aur usase hamen bahut saaree problam ho sakatee hai jaise dama ke anusaar aur yah saaree cheejen jo hamen shareer mein pareshaanee ho sakatee hai saans phoolane kee pareshaanee kyonki us samay jab hamaara pet aur khaalee hota hai bodee mein hamaare mainne khaana nahin khaaya hota hai poshak tatv nahin hote hain andar to jo bhee cheej hamaare bodee mein intek karate hain vah cheejen hamaare oopar haavee hotee hain aur vah seedhe hamaara bodee use eksept kar leta hai to jaise hamane khaana na kha kar khaalee pet mein agar hamane tum maan kiya hai to usake jo akshar hote hain pooree paartee kee har koshika le letee hai aur jo hamaaree paartee mein bahut saara nukasaan hota hai usase dhanyavaad

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या सुबह उठना सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है?Kya Subah Uthna Sehat Ke Lie Bahut Acha Hota Hai
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:25
हेलो हाय कैसे हैं आप लोग तो एक मित्र ने सवाल किया है कि क्या सुबह उठना सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है तो बिल्कुल सुपर सोकर जल्दी उठना हमारे हेल्थ बेनिफिट है जैसे सुबह जल्दी उठने से क्या होता है हम सूर्योदय के पहले होते हैं तो उसके बाद क्योंकि इन्होंने जो विटामिन डी और बहुत सारी को शक्ति से होते हैं हमारी पार्टी को मिलती है ऊपर से माइंड फ्रेश रहता है हम अपना सारा काम जल्दी सुबह कर लेते हैं और 19 घंटे के अंदर अंदर भी कर सकते हैं और यहां सुबह जल्दी उठकर फ्रेंड वह बताएं कि उसमें जो प्रदूषण कम होता है क्योंकि इसमें बहुत सारे वाहन जाते हैं रात सुबह की टाइम रोड पर नहीं चल रहे होते हैं लोग नेवर कम आती तो हमें ताजी हवा भी मिलती है जो हमारे हेल्थ के लिए ऑक्सीजन हमारी पार्टी के लिए बहुत अच्छा होता है और उसके बिना तो जिंदगी सोचना भी असंभव है तो जब हम तो हमें अच्छी उचित मात्रा में जो हमारे अंदर जाकर हमारे हमारे हमारे प्लॉट को बहुत सारा फायदा होता है और जो हमारा टाइमिंग होता है प्लीज फास्ट का और श्रीलंका और फिर है डिनर का उसमें नियंत्रित समय जो होता है वह सही होता है जल्दी फास्ट कर लेते हैं फिर 2:00 बजे हम लंच करते हैं फिर हम शाम को 8:30 बजे खाना खा लेते हैं तो यह हमारे टाइम नहीं होता है वह सही हो जाता है फिर रात देर तक खाना खाने से हम बस जाते हैं और रात में जल्दी सो जाते हैं तो इस तरह से जल्दी सुनाओ जल्दी उठना हमारे हित के लिए अच्छा होता है क्योंकि जो हमारा खाना है वह टाइम पर हो जाता है और सारी चीजें घर में साफ सफाई करने के बाद अपने आप को भी इंसान हल्दी और माइंड फ्रेश महसूस होता है और लेट से उठने के बाद क्या आता है धूप निकल जाती है फिर हम देर से उठते हैं 10:00 बजे 12:00 बजे सोते हैं तो फिर वह उठने के बाद फ्रेश महसूस नहीं होता है तो बहुत अच्छा होता है
Helo haay kaise hain aap log to ek mitr ne savaal kiya hai ki kya subah uthana sehat ke lie bahut achchha hota hai to bilkul supar sokar jaldee uthana hamaare helth beniphit hai jaise subah jaldee uthane se kya hota hai ham sooryoday ke pahale hote hain to usake baad kyonki inhonne jo vitaamin dee aur bahut saaree ko shakti se hote hain hamaaree paartee ko milatee hai oopar se maind phresh rahata hai ham apana saara kaam jaldee subah kar lete hain aur 19 ghante ke andar andar bhee kar sakate hain aur yahaan subah jaldee uthakar phrend vah bataen ki usamen jo pradooshan kam hota hai kyonki isamen bahut saare vaahan jaate hain raat subah kee taim rod par nahin chal rahe hote hain log nevar kam aatee to hamen taajee hava bhee milatee hai jo hamaare helth ke lie okseejan hamaaree paartee ke lie bahut achchha hota hai aur usake bina to jindagee sochana bhee asambhav hai to jab ham to hamen achchhee uchit maatra mein jo hamaare andar jaakar hamaare hamaare hamaare plot ko bahut saara phaayada hota hai aur jo hamaara taiming hota hai pleej phaast ka aur shreelanka aur phir hai dinar ka usamen niyantrit samay jo hota hai vah sahee hota hai jaldee phaast kar lete hain phir 2:00 baje ham lanch karate hain phir ham shaam ko 8:30 baje khaana kha lete hain to yah hamaare taim nahin hota hai vah sahee ho jaata hai phir raat der tak khaana khaane se ham bas jaate hain aur raat mein jaldee so jaate hain to is tarah se jaldee sunao jaldee uthana hamaare hit ke lie achchha hota hai kyonki jo hamaara khaana hai vah taim par ho jaata hai aur saaree cheejen ghar mein saaph saphaee karane ke baad apane aap ko bhee insaan haldee aur maind phresh mahasoos hota hai aur let se uthane ke baad kya aata hai dhoop nikal jaatee hai phir ham der se uthate hain 10:00 baje 12:00 baje sote hain to phir vah uthane ke baad phresh mahasoos nahin hota hai to bahut achchha hota hai

#जीवन शैली

bolkar speaker
आदमी जीवन में निराश क्यों होता है?Admi Jeevan Mein Niraash Kyun Hota Hai
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:38
नमस्कार दोस्तों ने अपने जीवन में निराश क्यों होता है तुम धाम थी और मैंने रास्ता नहीं होता है दोस्त उसकी उम्मीदें टूट जाती है फेसबुक के लिए उम्र करता है मेहनत करता है मुझे उसे हासिल नहीं होती है उस वजह से आज हम खुशी नहीं मिलती है तो इंसान जीवन में नहीं रह सकता चाहे किसी भी तरह से याद करने की किसी रिश्ते को लेकर या फिर किस चीज में ज्यादा प्यार किया और कुछ पैसे दे रहे हैं उसके लिए अपना सब कुछ होता है समय दे रहे हैं उसको अपने प्यार से रहना अपनी उसको टाइम देना हमें वापस ना मिले तो हम भी आ जाते हैं धीरे-धीरे उस दिन तक मुश्किल में अभी नहीं अभी नहीं 4 महीने साल जब उसको देने के बाद मिलता है झरिया मरिया सलूमिया हर एक खुशी के लिए हमारी के सामने से कुछ विश्वास नहीं है तो सामने आ जाता है कि इतना सा ही हस्बैंड करने के बाद भी हमें इस इस मामले को लेकर बहुत मेहनत कर रहे हो और उसके बाद जब वो रिजल्ट में आता है अच्छे परसेंटेज निशा सो जाता है क्या करने के बाद मुझे या फिर फैमिली को लेकर की फैमिली के लिए पूरा ईमानदारी से अनिश्चित कोटा कितना मिला वहां पर तो पति भी आ जाता है तो कहने का मतलब सिर्फ दोस्तों किसी भी काम करते हैं और उससे हमारी हो हमें जो चाहिए जितना हम करते हैं वह चीज ना मिले तो हम निराश हो जाते हैं उसका मेन मूल मतलब इसका यही है शाम की उम्मीद है मुझे ना होती है यह निराशा की भावना जाती है कि हमें इतना किया और उसे नहीं मिला और फिर वो धीरे धीरे धीरे चिपक कर लेती है तो इंसान के अंदर नेगेटिविटी भर जाती है पहुंचने का समय देने के बाद से मेरी बात हुई थी शादी क्यों नहीं हो रही है और मैं तो शायद किस्मत ही खराब हो उस इंसान के अंदर आ जाती है ऐसे में किसी मन में निराशा तब होती जब उसकी उम्मीदें पूरी नहीं होती है जब उसके मन मुताबिक उपलब्धि नहीं मिलती अशोक रेडियो मेहनत करो और वहीं पर खाना बनाते स्त्री मुस्कुराते रहिए
Namaskaar doston ne apane jeevan mein niraash kyon hota hai tum dhaam thee aur mainne raasta nahin hota hai dost usakee ummeeden toot jaatee hai phesabuk ke lie umr karata hai mehanat karata hai mujhe use haasil nahin hotee hai us vajah se aaj ham khushee nahin milatee hai to insaan jeevan mein nahin rah sakata chaahe kisee bhee tarah se yaad karane kee kisee rishte ko lekar ya phir kis cheej mein jyaada pyaar kiya aur kuchh paise de rahe hain usake lie apana sab kuchh hota hai samay de rahe hain usako apane pyaar se rahana apanee usako taim dena hamen vaapas na mile to ham bhee aa jaate hain dheere-dheere us din tak mushkil mein abhee nahin abhee nahin 4 maheene saal jab usako dene ke baad milata hai jhariya mariya saloomiya har ek khushee ke lie hamaaree ke saamane se kuchh vishvaas nahin hai to saamane aa jaata hai ki itana sa hee hasbaind karane ke baad bhee hamen is is maamale ko lekar bahut mehanat kar rahe ho aur usake baad jab vo rijalt mein aata hai achchhe parasentej nisha so jaata hai kya karane ke baad mujhe ya phir phaimilee ko lekar kee phaimilee ke lie poora eemaanadaaree se anishchit kota kitana mila vahaan par to pati bhee aa jaata hai to kahane ka matalab sirph doston kisee bhee kaam karate hain aur usase hamaaree ho hamen jo chaahie jitana ham karate hain vah cheej na mile to ham niraash ho jaate hain usaka men mool matalab isaka yahee hai shaam kee ummeed hai mujhe na hotee hai yah niraasha kee bhaavana jaatee hai ki hamen itana kiya aur use nahin mila aur phir vo dheere dheere dheere chipak kar letee hai to insaan ke andar negetivitee bhar jaatee hai pahunchane ka samay dene ke baad se meree baat huee thee shaadee kyon nahin ho rahee hai aur main to shaayad kismat hee kharaab ho us insaan ke andar aa jaatee hai aise mein kisee man mein niraasha tab hotee jab usakee ummeeden pooree nahin hotee hai jab usake man mutaabik upalabdhi nahin milatee ashok rediyo mehanat karo aur vaheen par khaana banaate stree muskuraate rahie

#जीवन शैली

bolkar speaker
किसी के मन को कैसे जीत सकते हैं?Kisi Ke Mann Ko Kaise Jeet Sakte Hain
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:50
नमस्ते बहुत अच्छा मान जाएगी किसी के मन को कैसे भूल सकते हैं तो उनको देखने के लिए याद करने की जरूरत नहीं है किसी भी व्यक्ति को हम किसी भी रिश्ते को अपना प्यार और उसको केयर देखे तो इंसान का मन में जगा हम बना सकते हैं एक हमारा अच्छा दिन है इस दिन में ईमानदारी और सच्चाई और उसकी किया और प्यार यह 4G J2 कितने कीमत में अपनी कितना बना सकते हैं किसी के मन में अपनी जगह बनाने के लिए किस करने के लिए उसको बहुत नहीं लगेगी अब नहीं आऊंगा साथ में महिलाओं पर घुमाना काफी नहीं होता है वह सारी चीजें होती है वह सारी चीजें राधे सभी खिलाड़ी उसकी ऊपरी सीखो ऑफ रियल और इन मनाली फॉर जरूरी है अगर हम किसी के साथ सच्ची में प्यार करते हैं और उससे बिना स्वार्थ के किसी भी बात की दिनांक 9 से अपना प्यार जता रहे हैं क्या कर रहे हैं तो इंसान के दिल में जगा कर जाती है और किसी का मन जीतने के लिए सिर्फ और सिर्फ एक बहुत महत्वपूर्ण होती है वह तो और किसी को बंद कर दो हजार सतरा की कटिंग लेडीस सूट दिखा कर दिल से निकलती है तो दिल से किसी को मानते हैं किसी को प्यार करते हैं अनकंडीशनल लव कर रहे हैं और किसी की याद कर रहे हैं दिल से क्या करें फिर तो फिक्र हो रही है मुझसे मिलना है खाना खाया जाए तो यह सारी चीजें नीचे से हम किसी का मंदिर छोटी छोटी सी कोशिश की सूची व्यवस्था कर सकते हैं बट उसके लिए इन चीजों की जरूरत नहीं होती है कि फिल्म देखने के लिए दोस्तों की इमानदारी अनकंडीशनल लव और कुश की प्रस्तुति अगर आप करते हो तो फिर कभी आपको अपने देश की आदत नहीं कर सकता है धन्यवाद दोस्तों क्या आपको मेरे से बात करना है
Namaste bahut achchha maan jaegee kisee ke man ko kaise bhool sakate hain to unako dekhane ke lie yaad karane kee jaroorat nahin hai kisee bhee vyakti ko ham kisee bhee rishte ko apana pyaar aur usako keyar dekhe to insaan ka man mein jaga ham bana sakate hain ek hamaara achchha din hai is din mein eemaanadaaree aur sachchaee aur usakee kiya aur pyaar yah 4g j2 kitane keemat mein apanee kitana bana sakate hain kisee ke man mein apanee jagah banaane ke lie kis karane ke lie usako bahut nahin lagegee ab nahin aaoonga saath mein mahilaon par ghumaana kaaphee nahin hota hai vah saaree cheejen hotee hai vah saaree cheejen raadhe sabhee khilaadee usakee ooparee seekho oph riyal aur in manaalee phor jarooree hai agar ham kisee ke saath sachchee mein pyaar karate hain aur usase bina svaarth ke kisee bhee baat kee dinaank 9 se apana pyaar jata rahe hain kya kar rahe hain to insaan ke dil mein jaga kar jaatee hai aur kisee ka man jeetane ke lie sirph aur sirph ek bahut mahatvapoorn hotee hai vah to aur kisee ko band kar do hajaar satara kee kating ledees soot dikha kar dil se nikalatee hai to dil se kisee ko maanate hain kisee ko pyaar karate hain anakandeeshanal lav kar rahe hain aur kisee kee yaad kar rahe hain dil se kya karen phir to phikr ho rahee hai mujhase milana hai khaana khaaya jae to yah saaree cheejen neeche se ham kisee ka mandir chhotee chhotee see koshish kee soochee vyavastha kar sakate hain bat usake lie in cheejon kee jaroorat nahin hotee hai ki philm dekhane ke lie doston kee imaanadaaree anakandeeshanal lav aur kush kee prastuti agar aap karate ho to phir kabhee aapako apane desh kee aadat nahin kar sakata hai dhanyavaad doston kya aapako mere se baat karana hai

#जीवन शैली

bolkar speaker
झूठ बोलने के सकारात्मक परिणाम क्या होते हैं?Jhooth Bolne Ke Sakaratmak Parinam Kya Hote Hain
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:49
नमस्ते तुम किसी की आंखो एक सवाल है कि झूठ बोलना कि सकारात्मक परिणाम क्या होती है जो दोस्तों झूठ बोलने की बहुत सारी सकारात्मक परिणाम होते हैं क्योंकि जब अपनी सिर्फ अपनी अपनी खुशी अपने स्वार्थ के लिए बोला जाता है वह गलत होता है कि हम कोई गलत काम करके आए झूठ बोलने की नहीं हम अच्छे हैं या फिर हमारा एक अलग रूप है हम चोरी करते हैं यार किसी के साथ बुरा कर रहे हैं किसी को धोखा दे रहे हैं और वहां झूठ बोलते हैं तो गलत है लेकिन अगर कोई भी झूठ हम अच्छे के लिए बोलते हैं दूसरे के फायदे के लिए होते हैं जो रिश्तो को बचाने के लिए बोलते हैं तो वह झूठ के सकारात्मक परिणाम होते हैं जैसे दोस्तों का सम्मान निधि की अगर दो लोग हैं परिवार में और किसी को कोई परेशानी है और उसे बताया जाए कि आप आपको यह चीज पहले शादी होने वाली है आप बीमार हो आपको यह रोग हो गया है दीदी सोमवार को इंसान टेंशन में इंसान को और ज्यादा प्रॉब्लम हो सकती है उसके लिए उसको कुछ नहीं है और उनका गुप्त रोग इलाज किया जाए या फिर उसको समझाया जाए थोड़ा बताया जाए कि खत्म हो जाएगी काफी दिन हो तो वह चीज होता है क्योंकि इंसान के अंदर अपने आप को जिंदा रखने की अपने आप को ठीक करने की जरूरत से नहीं बताती है वह भी हमारे बॉडी को ज्यादा एनर्जी मिलती है और वह ठीक होना चाहता है तो ठीक होता है उसके सकारात्मक परिणाम आते हैं उसके विपरीत अगर इंसान को कैंसर है और उसमें देखने मानो तो उसके अंदर से जूते जिंदगी होने की इच्छा खत्म हो जाती हुई अपने आप को सही करने की कोशिश नहीं करता है कोई दिल मेरा क्या उसके बाद इनका फ्रिज के अंदर नहीं ड्यूटी घट जाती है और उसका परिणाम होता है कि वह अपने अंदर से जिले की जो उम्मीद होती है वह खत्म हो जाती है तो उसका बॉडी भी हो जाता है कि आज मुझे वर्क नहीं करना है उसने बताया कि उसके सकारात्मक परिणाम किसी भी रिश्ते को बचाने के लिए फैमिली को एक करने के लिए दोस्तों के बीच की दूरी ना हो उसके लिए पति पत्नी के बीच बोला जाए तो उसके सकारात्मक परिणाम होते होते हैं अपने लिए सिखाने के लिए बोला था दोनों के बीच की तरह को मिटाने के लिए कोई झूठ बोला जाता है तो उसकी पत्नी का रात वाला
Namaste tum kisee kee aankho ek savaal hai ki jhooth bolana ki sakaaraatmak parinaam kya hotee hai jo doston jhooth bolane kee bahut saaree sakaaraatmak parinaam hote hain kyonki jab apanee sirph apanee apanee khushee apane svaarth ke lie bola jaata hai vah galat hota hai ki ham koee galat kaam karake aae jhooth bolane kee nahin ham achchhe hain ya phir hamaara ek alag roop hai ham choree karate hain yaar kisee ke saath bura kar rahe hain kisee ko dhokha de rahe hain aur vahaan jhooth bolate hain to galat hai lekin agar koee bhee jhooth ham achchhe ke lie bolate hain doosare ke phaayade ke lie hote hain jo rishto ko bachaane ke lie bolate hain to vah jhooth ke sakaaraatmak parinaam hote hain jaise doston ka sammaan nidhi kee agar do log hain parivaar mein aur kisee ko koee pareshaanee hai aur use bataaya jae ki aap aapako yah cheej pahale shaadee hone vaalee hai aap beemaar ho aapako yah rog ho gaya hai deedee somavaar ko insaan tenshan mein insaan ko aur jyaada problam ho sakatee hai usake lie usako kuchh nahin hai aur unaka gupt rog ilaaj kiya jae ya phir usako samajhaaya jae thoda bataaya jae ki khatm ho jaegee kaaphee din ho to vah cheej hota hai kyonki insaan ke andar apane aap ko jinda rakhane kee apane aap ko theek karane kee jaroorat se nahin bataatee hai vah bhee hamaare bodee ko jyaada enarjee milatee hai aur vah theek hona chaahata hai to theek hota hai usake sakaaraatmak parinaam aate hain usake vipareet agar insaan ko kainsar hai aur usamen dekhane maano to usake andar se joote jindagee hone kee ichchha khatm ho jaatee huee apane aap ko sahee karane kee koshish nahin karata hai koee dil mera kya usake baad inaka phrij ke andar nahin dyootee ghat jaatee hai aur usaka parinaam hota hai ki vah apane andar se jile kee jo ummeed hotee hai vah khatm ho jaatee hai to usaka bodee bhee ho jaata hai ki aaj mujhe vark nahin karana hai usane bataaya ki usake sakaaraatmak parinaam kisee bhee rishte ko bachaane ke lie phaimilee ko ek karane ke lie doston ke beech kee dooree na ho usake lie pati patnee ke beech bola jae to usake sakaaraatmak parinaam hote hote hain apane lie sikhaane ke lie bola tha donon ke beech kee tarah ko mitaane ke lie koee jhooth bola jaata hai to usakee patnee ka raat vaala

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
फोन अचानक से हैंग होकर रुक जाए तो क्या करें?phon achaanak se haing hokar ruk jae to kya karen
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:01
दोस्तों फोन अचानक से हैंग होकर रुक जाए तो क्या करें यह सवाल देख के मुझे दो-चार दिन पहले का अपना अपने साथ हुई वाकया याद आ रहे हैं तो सर पहले मैं जतन से फोन यूज कर रही थी कुछ और एकदम से उसमें कुछ होना बंद हो गया मैं तो एकदम से घबरा गई कि यह क्या हो गया मेरे फोन को साथ टच खराब हो गया आप ही गिरा भी नहीं कुछ भी फिर उसके बाद में ले गई इसको ठीक कराने के लिए तो उसने बताया आपका फोन हैंग हो गया फिर कैसे चाहिए होगा तो उसने मुझे जो बताया वह मैं आपको शेयर करती हूं उसने बताया कि इस जो क्योंकि जो फोन स्विच ऑफ करेंगे तो ऑप्शन जब हम उसको ऑन करें तब आप फ्रेश करके रखते हैं तो आता है स्क्रीन पर स्विच ऑन पावर ऑफ करें तो उसको क्लिक करना पड़ता है लेकिन फोन हैंग है तो उस पर क्लिक होगा नहीं तो फोन को बंद करना पड़ेगा स्विच ऑफ करके फिर ऑन करना पड़ेगा जिससे हैंग सही हो जाएगा तो वह अभी स्क्रीन से तो होगा नहीं तो क्या करें जो आपकी साइड में जो बटन होती है पावर ऑन आपकी और वॉल्यूम की अप डाउन की और जो एक पावर बटन होती है वह सारे चारों बटन को आपकी मोबाइल साइड में होते हैं वह चारों चीजों को एक साथ प्रेस करना है एक साथ दोस्तों आवारापन की और वॉल्यूम की दोनों बटन आपको एक शैतान करती है और प्रेस करके उसको माफ करना है तो एक था जब उसे अपडेट करेंगे तो आप देखेंगे कि आपका मोबाइल अपने आप स्विच ऑफ हो जाएगा और फिर अपने आप से स्टार्ट हो जाएगा वह और आपका फोन जो हैंग हुआ था उस सही हो जाएगा तो ऐसा हुआ फिर मैंने ट्राई किया और हो गया तो ऐसे ही होता है दोस्तों और अगर आपका फोन नहीं खो जाता है तो एक बार ट्राई जरूर करिए किसी ठीक कराने वाले पास ले जाने से पहले क्योंकि उसे दो चार सौ ₹200 और ले लेते हैं और एकदम 1 मिनट में आपका फोन खुद से भी आप सही कर सकते हो दोस्तों
Doston phon achaanak se haing hokar ruk jae to kya karen yah savaal dekh ke mujhe do-chaar din pahale ka apana apane saath huee vaakaya yaad aa rahe hain to sar pahale main jatan se phon yooj kar rahee thee kuchh aur ekadam se usamen kuchh hona band ho gaya main to ekadam se ghabara gaee ki yah kya ho gaya mere phon ko saath tach kharaab ho gaya aap hee gira bhee nahin kuchh bhee phir usake baad mein le gaee isako theek karaane ke lie to usane bataaya aapaka phon haing ho gaya phir kaise chaahie hoga to usane mujhe jo bataaya vah main aapako sheyar karatee hoon usane bataaya ki is jo kyonki jo phon svich oph karenge to opshan jab ham usako on karen tab aap phresh karake rakhate hain to aata hai skreen par svich on paavar oph karen to usako klik karana padata hai lekin phon haing hai to us par klik hoga nahin to phon ko band karana padega svich oph karake phir on karana padega jisase haing sahee ho jaega to vah abhee skreen se to hoga nahin to kya karen jo aapakee said mein jo batan hotee hai paavar on aapakee aur volyoom kee ap daun kee aur jo ek paavar batan hotee hai vah saare chaaron batan ko aapakee mobail said mein hote hain vah chaaron cheejon ko ek saath pres karana hai ek saath doston aavaaraapan kee aur volyoom kee donon batan aapako ek shaitaan karatee hai aur pres karake usako maaph karana hai to ek tha jab use apadet karenge to aap dekhenge ki aapaka mobail apane aap svich oph ho jaega aur phir apane aap se staart ho jaega vah aur aapaka phon jo haing hua tha us sahee ho jaega to aisa hua phir mainne traee kiya aur ho gaya to aise hee hota hai doston aur agar aapaka phon nahin kho jaata hai to ek baar traee jaroor karie kisee theek karaane vaale paas le jaane se pahale kyonki use do chaar sau ₹200 aur le lete hain aur ekadam 1 minat mein aapaka phon khud se bhee aap sahee kar sakate ho doston

#रिश्ते और संबंध

neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:20
नमस्कार दोस्तों रिक्शा वाले की क्या एक बार थीम समाप्त होने के बाद व्यक्ति मानसिक रूप से ज्यादा मत सोचो रहता है तो दोस्तों ऐसा हर व्यक्ति के साथ नहीं होता है कुछ परसेंट लोग ऐसे हैं जिनका अगर एक बार प्रेम हुआ है और बहुत अच्छे से उसे निभा रहे हो और और टूट जाता है तो व्यक्ति को ज्यादा मजबूत और उसी मेंटली बहुत भी प्यार हो जाता है और आगे से वो इन सारी गलतियों को नहीं करता है अपने आप को सिंह का बिल जिस वजह से बीच का रिश्ता टूटा उसका भी पता है कि कभी कोई इसको दोबारा रिजेक्ट ना करना है उसके मन में यह बातें होती है कि अब मुझे सिर्फ मतलब इतना मजबूत बनना है इतना आगे बढ़ना है इतना ऊपर उठना है कि मेरे साथ दोबारा यह चीजें ना हो लेकिन वहीं पर कुछ लोग ऐसे भी होते हैं दोस्त इनका अगर प्रेमी पर समाप्त हो जाए एक बार टूट जाए खत्म हो जाए तो अपने आप को खत्म कर लेते इतने कमजोर हो जाते हैं क्यों गए कदम मुश्किल हो जाता है वह अपने आप को कम करने की कोशिश करते हैं और लाइफ में और जिसकी जगह पर होते हैं वहां से बर्बाद हो जाते हैं क्योंकि वहां पर आगे बढ़ने पर यह यह ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जब जो व्यक्ति अपने प्यार को अपनी ताकत बना के चल रहा होता है कि वह उसको कमजोरी नहीं ताकत है उसे उसको हिम्मत मिलती हो वह व्यक्ति को उसके रिश्ता खत्म होने के बाद भी ताकत का इस्तेमाल करता है और उसे लेकर वह आगे बढ़ता है लेकिन जो व्यक्ति अपने प्यार को कम दूरी बनाकर रखते हैं हमेशा उस को खोने का डर हो उसके बिना रामजी ने उक्त इंसान टूट जाता है और वह मानसिक रूप से मजबूत ना होकर बल्कि बहुत कमजोर हो जाता है और अपने आप को खत्म करने की कोशिश करने लगता है तो यह हर किसी के साथ ऐसा नहीं होता है तो लोग अलग-अलग होते हैं लेकिन अलग होती है उनकी सोच अलग होती है उनकी इच्छा अलग होती है उनकी जो कार्य करने की शक्ति होती वह भी अलग होती है इसलिए हर व्यक्ति के साथ प्रेम खत्म होने के बाद अलग-अलग रिएक्शन होता है वह इंसान पर डिपेंड करता है कि इंसान प्रेम को किस रूप में अपने अपने जीवन में लाया है और कुछ तो डिपेंड करता है कि वह प्यार से इतने में मजबूत हो रहा जाता है धन्यवाद उसको हंसते रहिए मुस्कुराते रहिए
Namaskaar doston riksha vaale kee kya ek baar theem samaapt hone ke baad vyakti maanasik roop se jyaada mat socho rahata hai to doston aisa har vyakti ke saath nahin hota hai kuchh parasent log aise hain jinaka agar ek baar prem hua hai aur bahut achchhe se use nibha rahe ho aur aur toot jaata hai to vyakti ko jyaada majaboot aur usee mentalee bahut bhee pyaar ho jaata hai aur aage se vo in saaree galatiyon ko nahin karata hai apane aap ko sinh ka bil jis vajah se beech ka rishta toota usaka bhee pata hai ki kabhee koee isako dobaara rijekt na karana hai usake man mein yah baaten hotee hai ki ab mujhe sirph matalab itana majaboot banana hai itana aage badhana hai itana oopar uthana hai ki mere saath dobaara yah cheejen na ho lekin vaheen par kuchh log aise bhee hote hain dost inaka agar premee par samaapt ho jae ek baar toot jae khatm ho jae to apane aap ko khatm kar lete itane kamajor ho jaate hain kyon gae kadam mushkil ho jaata hai vah apane aap ko kam karane kee koshish karate hain aur laiph mein aur jisakee jagah par hote hain vahaan se barbaad ho jaate hain kyonki vahaan par aage badhane par yah yah aisa isalie hota hai kyonki jab jo vyakti apane pyaar ko apanee taakat bana ke chal raha hota hai ki vah usako kamajoree nahin taakat hai use usako himmat milatee ho vah vyakti ko usake rishta khatm hone ke baad bhee taakat ka istemaal karata hai aur use lekar vah aage badhata hai lekin jo vyakti apane pyaar ko kam dooree banaakar rakhate hain hamesha us ko khone ka dar ho usake bina raamajee ne ukt insaan toot jaata hai aur vah maanasik roop se majaboot na hokar balki bahut kamajor ho jaata hai aur apane aap ko khatm karane kee koshish karane lagata hai to yah har kisee ke saath aisa nahin hota hai to log alag-alag hote hain lekin alag hotee hai unakee soch alag hotee hai unakee ichchha alag hotee hai unakee jo kaary karane kee shakti hotee vah bhee alag hotee hai isalie har vyakti ke saath prem khatm hone ke baad alag-alag riekshan hota hai vah insaan par dipend karata hai ki insaan prem ko kis roop mein apane apane jeevan mein laaya hai aur kuchh to dipend karata hai ki vah pyaar se itane mein majaboot ho raha jaata hai dhanyavaad usako hansate rahie muskuraate rahie

#जीवन शैली

bolkar speaker
रोज डे क्यों मनाया जाता है?Rose Day Kyun Manaya Jata Hai
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
1:47
नमस्कार दोस्तों ने सवाल पूछा है कि रोज डे क्यों मनाया जाता है तो दोस्तों रोज डे मनाने का एक मुख्य कारण यह है कि रोज जो होता है गुलाब का फूल जो होता है वह अपने इमोशन अपने अंदर आपसे हम कौन सा रिश्ता रखना चाहते हैं मोक्षम इच्छाओं को जगाने का एक और प्रेम तारो से करो अपनी इच्छाओं को जगाते हैं कि हम आपके साथ प्यार है तुमसे प्यार कितना मान सम्मान कितना प्रेम करते हैं यह जताने का एक बहुत बेहतर जरिया है और दूसरी महत्वपूर्ण चीजों हिंदुस्तान की रानी विक्टोरिया के जमाने में यह गुलाब का फूल देखें अपनी इच्छाओं को अपने रिश्ते को प्यार जताने का एक दूसरे से प्यार करने का प्रचलन शुरू हुआ था शुरू हुई और जो अब तक चला रहा है दोस्तों तो हम गुलाब का फूल देखकर इसलिए को दर्शाते हैं कि आपके लिए हमारे दिल में क्या रिश्ता है और कितना प्यार है इसे बताते हैं अकेला गुलाब देकर हमें दोस्ती का इजहार करते हैं सफेद गुलाब देखे हम पवित्रता करें और शांति का इजहार करते हैं और गुलाबी गुलाब देकर हम बताते हैं कि आपके ऐसा जनता का प्रतीक माना जाता है और नारंगी गुलाब जो होता है वह जुनून आर्य एक दूसरे के लिए इज्जत का प्रतीक माना जाता है और लाल गुलाब सोचा दोस्तों प्रेम का इजहार करने का एक और बेहतर जरिया तो इस तरह से हम और गुलाब का फूल देखे अपने एक दूसरे के लिए प्रेम का इजहार करते हैं तो आशा है आपको पसंद आएगा जयपुर
Namaskaar doston ne savaal poochha hai ki roj de kyon manaaya jaata hai to doston roj de manaane ka ek mukhy kaaran yah hai ki roj jo hota hai gulaab ka phool jo hota hai vah apane imoshan apane andar aapase ham kaun sa rishta rakhana chaahate hain moksham ichchhaon ko jagaane ka ek aur prem taaro se karo apanee ichchhaon ko jagaate hain ki ham aapake saath pyaar hai tumase pyaar kitana maan sammaan kitana prem karate hain yah jataane ka ek bahut behatar jariya hai aur doosaree mahatvapoorn cheejon hindustaan kee raanee viktoriya ke jamaane mein yah gulaab ka phool dekhen apanee ichchhaon ko apane rishte ko pyaar jataane ka ek doosare se pyaar karane ka prachalan shuroo hua tha shuroo huee aur jo ab tak chala raha hai doston to ham gulaab ka phool dekhakar isalie ko darshaate hain ki aapake lie hamaare dil mein kya rishta hai aur kitana pyaar hai ise bataate hain akela gulaab dekar hamen dostee ka ijahaar karate hain saphed gulaab dekhe ham pavitrata karen aur shaanti ka ijahaar karate hain aur gulaabee gulaab dekar ham bataate hain ki aapake aisa janata ka prateek maana jaata hai aur naarangee gulaab jo hota hai vah junoon aary ek doosare ke lie ijjat ka prateek maana jaata hai aur laal gulaab socha doston prem ka ijahaar karane ka ek aur behatar jariya to is tarah se ham aur gulaab ka phool dekhe apane ek doosare ke lie prem ka ijahaar karate hain to aasha hai aapako pasand aaega jayapur

#जीवन शैली

bolkar speaker
यदि एक साल तक अपनें बालो को शैम्पू से ना धोए तो क्या होगा?Yadi Ek Saal Tak Apne Baalo Ko Shampoo Se Na Dhoye To Kya Hoga
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
1:48
नमस्कार दोस्तों बहुत ही अच्छा सवाल है कि यदि 1 साल तक अपने बालों को शैंपू से ना तुम्हें तो क्या होगा तो बहुत बेस्ट रिजल्ट मिलेगा अगर आप 1 साल तक शैंपू से बालों को नहीं रोते हैं आप बालों को धोने के लिए कोई भी नेचुरल चीजें कुछ नहीं सर से लेकर जैसे पहले के जमाने में लोग घूमते थे शिकाकाई और हिना और आंवला यह सारी चीजें जो लगाकर बाल होते थे शिकाकाई और एक मिट्टी आती है तारे ताल से उस मिट्टी को लोग बोलते हैं हमने देखा था हमारी दादी अपने बालों में मिट्टी वह ताल की काली मिट्टी आती है उसको भिगो देती थी और बालों में लगाकर रोती थी बाल एकदम कम सिल्की हो जाते थे अभी वह मिट्टी भी मार्केट में मिलती है कहीं और कहीं नहीं मिलती है दोस्तों अगर आप इस साल तक बालों को केमिकल युक्त शैंपू से नहा धोकर नेचुरल तरीके से बाल को साफ करते हैं तो आपके बालों में बहुत सारी समस्याएं खत्म हो जाएंगी जोकर कल वाली सिम को धोने से होती है जैसे बालों में इचिंग होना बालों का गिरना बालों का असमय सफेद होना बालों में खुजली होना रुसी होना ठंडक सारी चीजों से आपको निजात मिल सकती है दोस्तों बहुत ही बेस्ट रिजल्ट आएगा अगर आप ऐसा करने करते हो तो लेकिन हम नहीं कर पाते हैं हम कुछ दिन तक नहीं धोते हैं इनवाइट कर दे फिर एक अपने आपको भी ऐसा लगता है पलकों का नहीं हो रहा है फिर तो लेते हैं अगर हम अपने आपको रोक पाए और 1 साल तक बालों को शैंपू से केमिकल किसी भी शैंपू से नहा धोकर एक नेचुरल तरीके से साफ करते हैं तो हमारे बाल को बहुत ही ज्यादा अच्छा होगा बालों के लिए बालों के हल के लिए और बहुत अच्छा रिजल्ट मिलेगा धन्यवाद दोस्तों हंसते रहिए मुस्कुराते रहिए और सब्सक्राइब करना मत भूलिए दोस्तों थैंक यू
Namaskaar doston bahut hee achchha savaal hai ki yadi 1 saal tak apane baalon ko shaimpoo se na tumhen to kya hoga to bahut best rijalt milega agar aap 1 saal tak shaimpoo se baalon ko nahin rote hain aap baalon ko dhone ke lie koee bhee nechural cheejen kuchh nahin sar se lekar jaise pahale ke jamaane mein log ghoomate the shikaakaee aur hina aur aanvala yah saaree cheejen jo lagaakar baal hote the shikaakaee aur ek mittee aatee hai taare taal se us mittee ko log bolate hain hamane dekha tha hamaaree daadee apane baalon mein mittee vah taal kee kaalee mittee aatee hai usako bhigo detee thee aur baalon mein lagaakar rotee thee baal ekadam kam silkee ho jaate the abhee vah mittee bhee maarket mein milatee hai kaheen aur kaheen nahin milatee hai doston agar aap is saal tak baalon ko kemikal yukt shaimpoo se naha dhokar nechural tareeke se baal ko saaph karate hain to aapake baalon mein bahut saaree samasyaen khatm ho jaengee jokar kal vaalee sim ko dhone se hotee hai jaise baalon mein iching hona baalon ka girana baalon ka asamay saphed hona baalon mein khujalee hona rusee hona thandak saaree cheejon se aapako nijaat mil sakatee hai doston bahut hee best rijalt aaega agar aap aisa karane karate ho to lekin ham nahin kar paate hain ham kuchh din tak nahin dhote hain inavait kar de phir ek apane aapako bhee aisa lagata hai palakon ka nahin ho raha hai phir to lete hain agar ham apane aapako rok pae aur 1 saal tak baalon ko shaimpoo se kemikal kisee bhee shaimpoo se naha dhokar ek nechural tareeke se saaph karate hain to hamaare baal ko bahut hee jyaada achchha hoga baalon ke lie baalon ke hal ke lie aur bahut achchha rijalt milega dhanyavaad doston hansate rahie muskuraate rahie aur sabsakraib karana mat bhoolie doston thaink yoo

#जीवन शैली

bolkar speaker
खाने के बाद तुरंत पानी क्यों नहीं पीना चाहिए?Khane Ke Baad Turant Pani Kyun Nahin Peena Chaiyr
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:13
नमस्कार दोस्तों एक मित्र का सवाल है कि खाना खाने के खाने के तुरंत बाद पानी क्यों नहीं पीना चाहिए तो दोस्तों अगर आप सोच रहे हैं खाना खाने के तुरंत बाद पानी नहीं पीना चाहिए तो आप गलत है खाना खाने के पहले आधा घंटा पहले खाना खाने के साथ और खाना खाने के आधा घंटा बाद तक पानी नहीं पीना चाहिए इससे क्या होता है कि शरीर में जब हम खाना खाते समय पानी पीते हैं तो शरीर में जो शुगर की मात्रा बढ़ जाती खाना जब शरीर हमारे पेट के अंदर जो खाना होता उस में जब पानी मिक्स होता है तो शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ती है इसलिए खाते समय शुगर ना बढ़े इसके लिए हमें खाना नहीं खाते वक्त पानी नहीं पीना चाहिए खाना खाने के तुरंत बाद पानी क्यों नहीं पीना चाहिए क्योंकि खाना पचाने वाले एंजाइम होते हैं बॉडी में जोरा सोते पाचक रस जो होते हैं और वह उठी और खाना यह तीनों चीज मिलाकर एक मतलब नियम एक अच्छा जो तरल होता है पदार्थ वह मेंटेन रहता है खाने को पचाने के लिए लेकिन जब हम पानी पी लेते हैं तो हमारे शरीर के पेट के अंदर उर्जा खराब नहीं होती है वह बुझ जाती है पानी पीने के बाद वह उसका जो असर होता है वह कम हो जाता है इसे खाना खाने का टाइम ही होता है पचने का वह बहुत ज्यादा हो जाता है वैसे तो नॉर्मल ही देखा जाए तो खाना 2 घंटे में फंस जाता है पूरी तरह से लेकिन अगर हम पानी पी लेते हैं तो उसको दो के बदले 3000 घंटे लग जाते हैं और उसके बाद भी जो अम्लीय होता 10 होते हैं वह चेंज हो जाते हैं और खाना पचने में बहुत ज्यादा टाइम लगता है और जिसके कारण हार्ड बाउंड और एसिडिटी जैसी प्रॉब्लम होती है खाना खाने के बाद तुरंत पानी पीते हैं या खाना खाने के साथ पानी पीने से हमारे पेट में जठर अग्नि जो होती है जो खाना पचाने में हमारी हेल्प करती है उसमें जो एंजाइम निकलते हैं खाना पचाने में हेल्प करती हूं वह खत्म हो जाती है जिसकी वजह से खाना अच्छे से पता नहीं है और एसिडिटी और हार्ड बंद ऐसी शिकायतों का सामना करना पड़ता है इसलिए दोस्तों खाना खाने के तुरंत बाद पानी नहीं पीना चाहिए धन्यवाद हंसते रहिए मुस्कुराते रहिए
Namaskaar doston ek mitr ka savaal hai ki khaana khaane ke khaane ke turant baad paanee kyon nahin peena chaahie to doston agar aap soch rahe hain khaana khaane ke turant baad paanee nahin peena chaahie to aap galat hai khaana khaane ke pahale aadha ghanta pahale khaana khaane ke saath aur khaana khaane ke aadha ghanta baad tak paanee nahin peena chaahie isase kya hota hai ki shareer mein jab ham khaana khaate samay paanee peete hain to shareer mein jo shugar kee maatra badh jaatee khaana jab shareer hamaare pet ke andar jo khaana hota us mein jab paanee miks hota hai to shareer mein shugar kee maatra badhatee hai isalie khaate samay shugar na badhe isake lie hamen khaana nahin khaate vakt paanee nahin peena chaahie khaana khaane ke turant baad paanee kyon nahin peena chaahie kyonki khaana pachaane vaale enjaim hote hain bodee mein jora sote paachak ras jo hote hain aur vah uthee aur khaana yah teenon cheej milaakar ek matalab niyam ek achchha jo taral hota hai padaarth vah menten rahata hai khaane ko pachaane ke lie lekin jab ham paanee pee lete hain to hamaare shareer ke pet ke andar urja kharaab nahin hotee hai vah bujh jaatee hai paanee peene ke baad vah usaka jo asar hota hai vah kam ho jaata hai ise khaana khaane ka taim hee hota hai pachane ka vah bahut jyaada ho jaata hai vaise to normal hee dekha jae to khaana 2 ghante mein phans jaata hai pooree tarah se lekin agar ham paanee pee lete hain to usako do ke badale 3000 ghante lag jaate hain aur usake baad bhee jo amleey hota 10 hote hain vah chenj ho jaate hain aur khaana pachane mein bahut jyaada taim lagata hai aur jisake kaaran haard baund aur esiditee jaisee problam hotee hai khaana khaane ke baad turant paanee peete hain ya khaana khaane ke saath paanee peene se hamaare pet mein jathar agni jo hotee hai jo khaana pachaane mein hamaaree help karatee hai usamen jo enjaim nikalate hain khaana pachaane mein help karatee hoon vah khatm ho jaatee hai jisakee vajah se khaana achchhe se pata nahin hai aur esiditee aur haard band aisee shikaayaton ka saamana karana padata hai isalie doston khaana khaane ke turant baad paanee nahin peena chaahie dhanyavaad hansate rahie muskuraate rahie

#जीवन शैली

bolkar speaker
क्या दही में नमक मिलाना सही है?Kya Dahi Mein Namak Milana Sahi Hai
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
1:33
नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सब लोग एक मित्र ने सवाल पूछा है कि क्या दही में नमक मिलाना चाहिए तो नहीं जी बिलकुल नहीं मेरे दोस्त दही में नमक मिलाकर नहीं खाना चाहिए क्योंकि धंधा ही एक और वे औषधि है और औषधि में जब हम नमक मिलाकर खाते हैं तो जहर का काम करती है क्यों क्योंकि नमक मिलाने से उसके जो बैक्टीरिया अच्छे व्यक्ति ज्यादा ही में जो बैक्टीरिया होते हैं वह हमारे स्वास्थ्य के लिए हमारे पेट के लिए बहुत अच्छे होते हैं तो वह बैक्टीरिया खेल हो जाते हैं मर जाते हैं जो दही उसके बाद ही हमारे लिए जहर के समान हो जाती है इसलिए दही में कभी भी नमक लगा कि नहीं घर मिला कि नहीं खाना चाहिए और नमकीन सी के साथ अवार्ड करना चाहिए था ना तो और अगर आप दही में गुड़ चीनी मिश्री कुछ मीठी चीज मिलाकर खाओ तो वह हमारे हेल्प को दोगुना कर देती है हमारे स्वास्थ्य लाभ को ढूंढना कर देती है तो दही को जब भी खाओ मीठी चीजों के साथ का उत्तर जलेबी खाओ दही मिश्री खाओ दही गुड़गांव दही सीने का तो आपके स्वास्थ्य को बढ़ाएगी लेकिन अगर आप उसे नमक मिलाकर खाओगे तो उसकी जो गुड बैक्टीरिया होते हैं उन्हें वह क्लिक कर देती है जो हमारे साथ के लिए अच्छा नहीं होता है तो दोस्त ही के साथ नमक मिला ना बिल्कुल सही नहीं है ऐसे हंसते रहिए मुस्कुराते रहिए और ऐसे ही सवाल पूछ कर उनका रायपुर लोगों का ज्ञान बढ़े और अपना भी और अगर आपको जवाब अच्छा लगे तो लाइक कमेंट सब्सक्राइब करना मत भूलिए दोस्तों धन्यवाद थैंक यू
Namaskaar doston kaise hain aap sab log ek mitr ne savaal poochha hai ki kya dahee mein namak milaana chaahie to nahin jee bilakul nahin mere dost dahee mein namak milaakar nahin khaana chaahie kyonki dhandha hee ek aur ve aushadhi hai aur aushadhi mein jab ham namak milaakar khaate hain to jahar ka kaam karatee hai kyon kyonki namak milaane se usake jo baikteeriya achchhe vyakti jyaada hee mein jo baikteeriya hote hain vah hamaare svaasthy ke lie hamaare pet ke lie bahut achchhe hote hain to vah baikteeriya khel ho jaate hain mar jaate hain jo dahee usake baad hee hamaare lie jahar ke samaan ho jaatee hai isalie dahee mein kabhee bhee namak laga ki nahin ghar mila ki nahin khaana chaahie aur namakeen see ke saath avaard karana chaahie tha na to aur agar aap dahee mein gud cheenee mishree kuchh meethee cheej milaakar khao to vah hamaare help ko doguna kar detee hai hamaare svaasthy laabh ko dhoondhana kar detee hai to dahee ko jab bhee khao meethee cheejon ke saath ka uttar jalebee khao dahee mishree khao dahee gudagaanv dahee seene ka to aapake svaasthy ko badhaegee lekin agar aap use namak milaakar khaoge to usakee jo gud baikteeriya hote hain unhen vah klik kar detee hai jo hamaare saath ke lie achchha nahin hota hai to dost hee ke saath namak mila na bilkul sahee nahin hai aise hansate rahie muskuraate rahie aur aise hee savaal poochh kar unaka raayapur logon ka gyaan badhe aur apana bhee aur agar aapako javaab achchha lage to laik kament sabsakraib karana mat bhoolie doston dhanyavaad thaink yoo

#जीवन शैली

bolkar speaker
व्यायाम आपके शरीर को कैसे स्वस्थ बनाता है?Vyayam Aapke Shareer Ko Kaise Swasth Banata Hai
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:35
मगर दोस्तों एक मित्र ने सवाल पूछा है कि व्यायाम आपके शरीर को कैसे स्वस्थ बनाता है तो रोज तो नियमित रूप से व्यायाम करने के हमारे हमारे शरीर को बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं जैसे कि हमारा हृदय स्वस्थ रहता है दोस्तों क्योंकि जब हम मुलायम व्यायाम कर रहे होते तो हम 30 से सांसे रहते हैं जिससे वह सारा ऑक्सीजन हमारे शरीर के अंदर पहुंचते हमारा हृदय स्वस्थ रहता है दूसरा चीजें जो दांतों के रोग होते हैं उसमें भी वह भी उससे वह भी व्यायाम करने से ठीक हो जाते हैं ब्लड सरकुलेशन सही होने मतलब तेज होने के कारण जब प्रेम करते समय ब्लड सर्कुलेशन तेज होता है और उससे क्या नसों में जो भी रुकावट होती है वह सही होती है मन शांत होता है तनाव से मुक्ति मिलती है दोस्तों तनाव आकर आपके शरीर में कुछ मानसिक टेंशन है आपको तो व्यायाम करते समय आपका मन शांत हो जाता है जिसकी वजह से तनाव से मुक्ति मिलती है दोस्तों दूसरी बात है रखना कर टाइप टाइप टू डायबिटीज है नींद नहीं आने की समस्या या नींद ज्यादा आने की समस्या भी व्यायाम करने से कम होती है दोस्तों और दोस्तों जो होता है व्यायाम करने से हमारा डाइजेस्टिव सिस्टम भी सुधरता है हमें भूख अच्छे से लगती है और बुक अच्छे लगने से वजह से हमारा खाना खाते हैं और हमारा व्यायाम करने से हमारा खाना अच्छे से पता है डाइजेस्ट होता है जिसकी वजह से हमारा डाइजेस्टिव सिस्टम में भी सुधार होता है और दोस्तों जो होता है हमारी बॉडी से अगर फैट बढ़ रहा है मोटापा बड़ा उसमें भी कंट्रोल होता है मन शांत होता है दोस्तों आपको अच्छा नौकरी मतलब आंतरिक खुशी मिलती है व्यायाम करने से मन हल्का होता है शरीर हल्का होता है तो मन भी खुश होता है जिसकी वजह से दिल से जुड़ी बहुत सारी परेशानियां जैसे डायबिटीज ब्लड चाहिए बीपी यह सारी चीज में अगर ऐसे कुछ भी परेशानी आपकी पार्टी में तो वह भी कम होता है व्यायाम हमारे शरीर के लिए बहुत ही अच्छा होता है और सुबह के टाइम करना बहुत ही होता है कि क्योंकि सुबह के टाइम जो होता है वातावरण में ज्यादा प्रदूषण नहीं होता है गाड़ी रोड पर कम भीड़ भाड़ होती है इसी वजह से थोड़ा सा हंसो दवा मिलती है और अगर आप आराम कर रहे होते हैं खुले में तो ज्यादा अच्छा होता है लेकिन अगर आप देर रात तक आपको काम करना है और सुबह जल्दी उठने में समस्या आए तो दोपहर में भी आप कुछ मैं आपसे शाम को भी कर सकते हो खाने से 4 घंटे पहले और वह हमारे शरीर को बहुत स्वास्थ्य करता है तो हमें बयान नियमित रूप से करते रहना चाहिए धन्यवाद दोस्तों हंसते रहिए मुस्कुराते रहिए
Magar doston ek mitr ne savaal poochha hai ki vyaayaam aapake shareer ko kaise svasth banaata hai to roj to niyamit roop se vyaayaam karane ke hamaare hamaare shareer ko bahut saare svaasthy laabh milate hain jaise ki hamaara hrday svasth rahata hai doston kyonki jab ham mulaayam vyaayaam kar rahe hote to ham 30 se saanse rahate hain jisase vah saara okseejan hamaare shareer ke andar pahunchate hamaara hrday svasth rahata hai doosara cheejen jo daanton ke rog hote hain usamen bhee vah bhee usase vah bhee vyaayaam karane se theek ho jaate hain blad sarakuleshan sahee hone matalab tej hone ke kaaran jab prem karate samay blad sarkuleshan tej hota hai aur usase kya nason mein jo bhee rukaavat hotee hai vah sahee hotee hai man shaant hota hai tanaav se mukti milatee hai doston tanaav aakar aapake shareer mein kuchh maanasik tenshan hai aapako to vyaayaam karate samay aapaka man shaant ho jaata hai jisakee vajah se tanaav se mukti milatee hai doston doosaree baat hai rakhana kar taip taip too daayabiteej hai neend nahin aane kee samasya ya neend jyaada aane kee samasya bhee vyaayaam karane se kam hotee hai doston aur doston jo hota hai vyaayaam karane se hamaara daijestiv sistam bhee sudharata hai hamen bhookh achchhe se lagatee hai aur buk achchhe lagane se vajah se hamaara khaana khaate hain aur hamaara vyaayaam karane se hamaara khaana achchhe se pata hai daijest hota hai jisakee vajah se hamaara daijestiv sistam mein bhee sudhaar hota hai aur doston jo hota hai hamaaree bodee se agar phait badh raha hai motaapa bada usamen bhee kantrol hota hai man shaant hota hai doston aapako achchha naukaree matalab aantarik khushee milatee hai vyaayaam karane se man halka hota hai shareer halka hota hai to man bhee khush hota hai jisakee vajah se dil se judee bahut saaree pareshaaniyaan jaise daayabiteej blad chaahie beepee yah saaree cheej mein agar aise kuchh bhee pareshaanee aapakee paartee mein to vah bhee kam hota hai vyaayaam hamaare shareer ke lie bahut hee achchha hota hai aur subah ke taim karana bahut hee hota hai ki kyonki subah ke taim jo hota hai vaataavaran mein jyaada pradooshan nahin hota hai gaadee rod par kam bheed bhaad hotee hai isee vajah se thoda sa hanso dava milatee hai aur agar aap aaraam kar rahe hote hain khule mein to jyaada achchha hota hai lekin agar aap der raat tak aapako kaam karana hai aur subah jaldee uthane mein samasya aae to dopahar mein bhee aap kuchh main aapase shaam ko bhee kar sakate ho khaane se 4 ghante pahale aur vah hamaare shareer ko bahut svaasthy karata hai to hamen bayaan niyamit roop se karate rahana chaahie dhanyavaad doston hansate rahie muskuraate rahie

#जीवन शैली

bolkar speaker
भय की उत्पत्ति कहां से होती है, दिल से या दिमाग से?Bhay Ki Utpatti Kahan Se Hoti Hai Dil Se Ya Dimaag Se
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
1:35
नमस्कार दोस्तों एक मित्र ने पूछा है कि वह की उत्पत्ति कहां से होती है दिल से या दिमाग से तो दोस्तों हम जहां तक मैं जानती हूं किसी भी मौसम की जो हमारे अंदर होता है वह भय हो या प्रेम हो या किसी के लिए दुख हो या सुख हो या गुस्सा हो यह सारी जो भी मोशन है वह सारे दिमाग से है दिमाग से रिलेटेड होते दिमाग हमारा सारी चीजों को कंट्रोल करता है कि हमें कब डल कोई चीज को देखकर डरना या कोई चीज को देख कर गुस्सा आना या कुछ भी चीज को देख कर खुश हो ना सारी जो भी इमोशंस है यह कंट्रोल हमारा दिमाग करता है दिल नहीं करता है दिल का काम सिर्फ लटको प्यूरीफायर करना और पूरी बॉडी में ऑक्सीजन को पहुंचाना यही होता है यह जो इमोशंस है यह जो भी जो भी क्रिया एक्टिविटी हम करते हैं यह सारी चीजों का कंट्रोल हमारे दिमाग के पास ब्रेन के पास होता है कहां जाता है ना पूरे शरीर का पावर हाउस आज तो जितने भी इमोशंस है यह भी और जो भी हम करते हैं ड्यूटी से मूवमेंट है जो भी हम करते हैं वह सारी चीजें हमारा ब्रेन कंट्रोल करता है और उसी उसी से उधर हमें वहीं से किसी भी चीज को देखकर हमें वहीं से आदेश मिलता है हमारी बॉडी को हमारे पूरे पार्ट को बॉडी पार्ट को की स्थित से डरना है यह सिस्टम है खतरा है इससे हमें डर है तो वह सारा कंट्रोल हमारा दिमाग करता है दिल नहीं करता है ना थैंक यू दोस्तों ऐसे ही हंसते रहिए मुस्कुराते रहिए जय हिंद दोस्तों
Namaskaar doston ek mitr ne poochha hai ki vah kee utpatti kahaan se hotee hai dil se ya dimaag se to doston ham jahaan tak main jaanatee hoon kisee bhee mausam kee jo hamaare andar hota hai vah bhay ho ya prem ho ya kisee ke lie dukh ho ya sukh ho ya gussa ho yah saaree jo bhee moshan hai vah saare dimaag se hai dimaag se rileted hote dimaag hamaara saaree cheejon ko kantrol karata hai ki hamen kab dal koee cheej ko dekhakar darana ya koee cheej ko dekh kar gussa aana ya kuchh bhee cheej ko dekh kar khush ho na saaree jo bhee imoshans hai yah kantrol hamaara dimaag karata hai dil nahin karata hai dil ka kaam sirph latako pyooreephaayar karana aur pooree bodee mein okseejan ko pahunchaana yahee hota hai yah jo imoshans hai yah jo bhee jo bhee kriya ektivitee ham karate hain yah saaree cheejon ka kantrol hamaare dimaag ke paas bren ke paas hota hai kahaan jaata hai na poore shareer ka paavar haus aaj to jitane bhee imoshans hai yah bhee aur jo bhee ham karate hain dyootee se moovament hai jo bhee ham karate hain vah saaree cheejen hamaara bren kantrol karata hai aur usee usee se udhar hamen vaheen se kisee bhee cheej ko dekhakar hamen vaheen se aadesh milata hai hamaaree bodee ko hamaare poore paart ko bodee paart ko kee sthit se darana hai yah sistam hai khatara hai isase hamen dar hai to vah saara kantrol hamaara dimaag karata hai dil nahin karata hai na thaink yoo doston aise hee hansate rahie muskuraate rahie jay hind doston

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
एक नारी को कितना सम्मान मिलता है और कितना सम्मान मिलना चाहिएEk Naaree Ko Kitana Sammaan Milata Hai Aur Kitana Sammaan Milana Chaahi
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:46
नमस्कार दोस्तों एक मित्र ने बहुत ही प्यारा सा सवाल पूछा है कि एक नारी को कितना सम्मान मिलना चाहिए और कितना सम्मान मिलना चाहिए और कितना मिलता है तो दोस्तों मैं तो जहां तक देखती हूं कि नारी को जो सम्मान मिलना चाहिए वह नहीं मिलता है और सम्मान क्या चाहिए हम नारियों को सिर्फ हमें रिस्पेक्ट दो हमें गलत नजर से ना देखो हमें भी बाहर निकलकर वर्क करना है ड्यूटी करना है जॉब करना है क्या जब हम बाहर समाज में जाए तो रिस्पेक्ट की नजरों से देखा जाए ना की हवस की नजरों से देखा जाए जो हर व्यक्ति करता है अपने घर में अपनी बहनों अपनी मां अपनी बेटियों के साथ वह इतना अच्छा होता है कि मतलब एक बेटी कहती है मेरे पापा मेरे लिए भगवान है मेरे भाई मेरे लिए मेरा हीरो है लेकिन वही भाई जब बाहर जाता है और दूसरी बहन को देखता है पृथ्वी गंदी निगाह से देखता है इतना गंदा करता है तो भी व्यक्त करता है उसके साथ कि वह उसके लिए राक्षस से भी बढ़कर होता है और अगर हर्ब जो कि इस सवाल पर जवाब देंगे अभी सुनेंगे तो बड़ी-बड़ी बातें सब कहेंगे कि एक नारी को यह करना चाहिए कौन करता है कोई नहीं करता है मैं भी बाल साफ करना चाहती हूं मैं भी रोज लोगों की नजरों को पहचानती हूं देखती हूं मुझे इतना शौक होता है कि आज के जमाने में जहां शिक्षित हैं लोग पढ़े लिखे लोग हैं वहां अभी भी नारी को बाहर गलत नजर से देखा जाता और बाहर की तो बात छोड़ो कुछ परिवार ऐसे हैं बहुत परिवार रहते हैं थोड़ी बहुत ही परिवार ऐसा है जो अपने घर में अपनी बहू बेटियों को और बेटी को अगर सम्मान दे भी देता है तो बहू को और अन्य वरिष्ठ रिलेशंस की लड़कियों को सम्मान नहीं देता है कोई इज्जत नहीं देता है और बाहर की तो बात छोड़िए तो मैं जहां तक 1 लोग बोलते हैं कि संस्कार उनको जैसा संस्कार मिला है वैसा ही उपयोग करें सबकी नजर से देखो उसे सम्मान की नजर उसकी देवी की नजर से देखो तो कभी कोई लड़का गलत नहीं होता लेकिन ऐसा है हमारे समाज में हम हम दूसरों को सीख तो देते हैं लेकिन जब खुद पर करने की बारी आती है तो हम भूल जाते हैं अपने बच्चों को अपने घर के लड़कों को हम बिल्कुल शिक्षा नहीं देते हैं अगर हमारा लड़का किसी लड़की को छोड़ कर आता है तो हम उसे दबा लेते हैं उसे छुपा लेते हैं और अगर कोई दूसरा कोई कुछ करता है तो हम उसे अच्छा कहते हैं तो बस यही है हमें बस इतना ही सम्मान चाहिए कि हमें भी वह मान सम्मान दें अच्छा उठाकर बाहर जब हम निकले तो हमें सर झुका के ना चलना पड़े सर उठा के हम चले हमें बस इतना ही संभाल चाहिए बस नहीं मिलता है वहीं अगर मिलने लगे तो हमारा देश बहुत ही आगे जाएं धन्यवाद दोस्तों
Namaskaar doston ek mitr ne bahut hee pyaara sa savaal poochha hai ki ek naaree ko kitana sammaan milana chaahie aur kitana sammaan milana chaahie aur kitana milata hai to doston main to jahaan tak dekhatee hoon ki naaree ko jo sammaan milana chaahie vah nahin milata hai aur sammaan kya chaahie ham naariyon ko sirph hamen rispekt do hamen galat najar se na dekho hamen bhee baahar nikalakar vark karana hai dyootee karana hai job karana hai kya jab ham baahar samaaj mein jae to rispekt kee najaron se dekha jae na kee havas kee najaron se dekha jae jo har vyakti karata hai apane ghar mein apanee bahanon apanee maan apanee betiyon ke saath vah itana achchha hota hai ki matalab ek betee kahatee hai mere paapa mere lie bhagavaan hai mere bhaee mere lie mera heero hai lekin vahee bhaee jab baahar jaata hai aur doosaree bahan ko dekhata hai prthvee gandee nigaah se dekhata hai itana ganda karata hai to bhee vyakt karata hai usake saath ki vah usake lie raakshas se bhee badhakar hota hai aur agar harb jo ki is savaal par javaab denge abhee sunenge to badee-badee baaten sab kahenge ki ek naaree ko yah karana chaahie kaun karata hai koee nahin karata hai main bhee baal saaph karana chaahatee hoon main bhee roj logon kee najaron ko pahachaanatee hoon dekhatee hoon mujhe itana shauk hota hai ki aaj ke jamaane mein jahaan shikshit hain log padhe likhe log hain vahaan abhee bhee naaree ko baahar galat najar se dekha jaata aur baahar kee to baat chhodo kuchh parivaar aise hain bahut parivaar rahate hain thodee bahut hee parivaar aisa hai jo apane ghar mein apanee bahoo betiyon ko aur betee ko agar sammaan de bhee deta hai to bahoo ko aur any varishth rileshans kee ladakiyon ko sammaan nahin deta hai koee ijjat nahin deta hai aur baahar kee to baat chhodie to main jahaan tak 1 log bolate hain ki sanskaar unako jaisa sanskaar mila hai vaisa hee upayog karen sabakee najar se dekho use sammaan kee najar usakee devee kee najar se dekho to kabhee koee ladaka galat nahin hota lekin aisa hai hamaare samaaj mein ham ham doosaron ko seekh to dete hain lekin jab khud par karane kee baaree aatee hai to ham bhool jaate hain apane bachchon ko apane ghar ke ladakon ko ham bilkul shiksha nahin dete hain agar hamaara ladaka kisee ladakee ko chhod kar aata hai to ham use daba lete hain use chhupa lete hain aur agar koee doosara koee kuchh karata hai to ham use achchha kahate hain to bas yahee hai hamen bas itana hee sammaan chaahie ki hamen bhee vah maan sammaan den achchha uthaakar baahar jab ham nikale to hamen sar jhuka ke na chalana pade sar utha ke ham chale hamen bas itana hee sambhaal chaahie bas nahin milata hai vaheen agar milane lage to hamaara desh bahut hee aage jaen dhanyavaad doston

#जीवन शैली

neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
1:34
नमस्कार दोस्तों मित्र का सवाल है कि जब हम किसी से अच्छा व्यवहार करते हैं फिर भी लोग हमसे जलते क्यों हैं और बुराई हमारे बारे में बुरा क्यों सोचते हैं और दोस्तों लोगों की यह थिंकिंग होती है कुछ लोग ऐसे होते हैं कि हमारे अच्छे व्यवहार को देखकर जब हमारी तारीफ हो रही होती है तो लोग हमें अच्छा कर रहे होते हैं तो उनको जलन होती है कि हमें अच्छा क्यों करते हैं फिर वह इस कोशिश में लग जाते हैं कि हमें कैसे बुरा साबित करें और इसीलिए तो हमारे बारे में बुरा सोचते हैं कि कैसे उनके बारे में क्या बुराई निकाली जाए कि लोग इन को बुरा कहने लगे हैं उनको इस से मतलब नहीं होता है कि वह हमसे अच्छा व्यवहार करके हमसे अच्छा बन जाए उनको बस यह सवाल आता है कि इसको पूरा करके ही इस को बुरा साबित करके इसके बारे में बुरा सोच कि इसके बारे में बुराई साबित करके बुराई करके बुरा बोलके अमित को बुरा साबित कर सकते हैं तो बस यही होता है कि हमारे अच्छे बीवी वीर्य के कारण बिहेवियर के कारण जो हमारी तारीफ जो हमारे बारे में अच्छा लोग बोलते हैं उसको कम करने से और उससे जल उससे जलन के मारे लोग हमारे बारे में बुरा सोचते हैं बाकी इसका कोई फर्क नहीं पड़ना चाहिए क्योंकि अच्छा इंसान हमेशा अच्छा होता है और अच्छे इंसान को लोग बुरा कितना भी कहने उसको कोई फर्क नहीं पड़ता है क्योंकि आप जानते हो कि सास को कभी याद नहीं है क्योंकि अच्छा इंसान को कोई बुरा कितने दिन तक रहेगा एक न एक दिन वह भी कहना बंद कर देगा क्योंकि उसके ऊपर भी ज्यादा हमारी अच्छाई का असर पड़ेगा तो वह भी वह बुरा सोचना बंद कर देगा तो दोस्तों इस बात का ध्यान नहीं रखना चाहिए और बस ऐसे ही हंसते रहिए मुस्कुराते रहिए इंदौर
Namaskaar doston mitr ka savaal hai ki jab ham kisee se achchha vyavahaar karate hain phir bhee log hamase jalate kyon hain aur buraee hamaare baare mein bura kyon sochate hain aur doston logon kee yah thinking hotee hai kuchh log aise hote hain ki hamaare achchhe vyavahaar ko dekhakar jab hamaaree taareeph ho rahee hotee hai to log hamen achchha kar rahe hote hain to unako jalan hotee hai ki hamen achchha kyon karate hain phir vah is koshish mein lag jaate hain ki hamen kaise bura saabit karen aur iseelie to hamaare baare mein bura sochate hain ki kaise unake baare mein kya buraee nikaalee jae ki log in ko bura kahane lage hain unako is se matalab nahin hota hai ki vah hamase achchha vyavahaar karake hamase achchha ban jae unako bas yah savaal aata hai ki isako poora karake hee is ko bura saabit karake isake baare mein bura soch ki isake baare mein buraee saabit karake buraee karake bura bolake amit ko bura saabit kar sakate hain to bas yahee hota hai ki hamaare achchhe beevee veery ke kaaran biheviyar ke kaaran jo hamaaree taareeph jo hamaare baare mein achchha log bolate hain usako kam karane se aur usase jal usase jalan ke maare log hamaare baare mein bura sochate hain baakee isaka koee phark nahin padana chaahie kyonki achchha insaan hamesha achchha hota hai aur achchhe insaan ko log bura kitana bhee kahane usako koee phark nahin padata hai kyonki aap jaanate ho ki saas ko kabhee yaad nahin hai kyonki achchha insaan ko koee bura kitane din tak rahega ek na ek din vah bhee kahana band kar dega kyonki usake oopar bhee jyaada hamaaree achchhaee ka asar padega to vah bhee vah bura sochana band kar dega to doston is baat ka dhyaan nahin rakhana chaahie aur bas aise hee hansate rahie muskuraate rahie indaur

#जीवन शैली

bolkar speaker
क्या गरीबी अभिशाप है?Kya Gareebi Abhishap Hai
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
2:26
नमस्कार दोस्तों इतने ने पूछा है कि क्या गरीबी अभी सामने तो बिल्कुल नहीं दोस्त गरीबी अभिशाप नहीं है यह किस्मत भी कुछ परसेंट होती है हमारी लाइफ में जो हमें किस्मत में हमारे जो होता है मिलता है लेकिन देखा जाए तो गरीबी आज के जमाने में इतनी इतनी महंगाई के जमाने में गरीब रहना या गरीबी में जीवन जीना बहुत कष्ट दाई होता है बहुत तकलीफ दे होता है इसलिए बोल दिया जाता है गरीबी अभिशाप है बाकी और अभी शाम नहीं है यह भी एक किस्मत है कुछ किस्मत है कुछ अपना एजुकेशन ए कुछ अपना स्टेटस है किस लेवल पर हम हैं कैसे फैमिली में हमारा जन्म हुआ है किस स्टेटस में हम रह रहे हैं या फिर हमारे जो आगे के लोग हैं पिता हमारी दादा-दादी हमारे पिता माता पिता उन्होंने कैसा स्टेटस है उनका कितना वह कमाए हैं कितना उन्होंने बचा के रखा है कितना वह अपने आप को मजबूत बनाना है तो उस हिसाब से हमारा जन्म कहां हुआ है ऊपर से हम कितना एजुकेशन ले रहे हैं हम एजुकेशन लेकर किस तरह से अपने आपको लड़ रहे हैं इस गरीबी से या फिर पैसा कमाने के लिए या फिर अपने जीवन यापन के लिए हम कितनी मेहनत करके हम अपने आप को मेंटेन कर रहे हैं इन सब चीजों से निर्भर करता है गरीबी अभी साफ नहीं है हर इंसान को कोशिश हमेशा यही रहना चाहिए कि हम कुछ ना कुछ करके हम अपनी इस गरीबी हटा दें क्योंकि आज के जीवन में जहां पर इतनी महंगाई है और इतना आगे जा चुका है हमारे समाज हमारे सोशल लोग इतनी सारी चुनौतियां हैं हमारे जीवन में उस में गरीब होना कहीं ना कहीं एक अभिशाप देखना है क्योंकि ना हम ठीक से खा पाएंगे फिर ना हम अपने बच्चों को अच्छी उच्च शिक्षा दे पाएंगे ना हम अपने आप को मेंटेन कर पाएंगे समाज में उठने बैठने के लिए तो थोड़ा सा इस चीज के लिए कहा जा सकता है कि गरीबी अभिशाप है अभी साफ नहीं है इसे मिटाया जा सकता है अभी आप हमारे बस में नहीं अभिशाप का मतलब होता है किसी द्वारा स्थापित होना और स्थापित होने से हम उस सब को हटा नहीं सकते जब तक वह व्यक्ति नहीं जाए और गरीबी अभिशाप नहीं है क्योंकि से हम कोशिश करें जिसे हम हटा सकते हैं अपने जीवन से हमारी मेहनत से ही यह चीज हट सकती इसलिए अभी साफ करना गलत होगा धन्यवाद दोस्तों ऐसे हंसते मुस्कुराते रहिए खुश रहिए मस्त रहिए जय हिंदू
Namaskaar doston itane ne poochha hai ki kya gareebee abhee saamane to bilkul nahin dost gareebee abhishaap nahin hai yah kismat bhee kuchh parasent hotee hai hamaaree laiph mein jo hamen kismat mein hamaare jo hota hai milata hai lekin dekha jae to gareebee aaj ke jamaane mein itanee itanee mahangaee ke jamaane mein gareeb rahana ya gareebee mein jeevan jeena bahut kasht daee hota hai bahut takaleeph de hota hai isalie bol diya jaata hai gareebee abhishaap hai baakee aur abhee shaam nahin hai yah bhee ek kismat hai kuchh kismat hai kuchh apana ejukeshan e kuchh apana stetas hai kis leval par ham hain kaise phaimilee mein hamaara janm hua hai kis stetas mein ham rah rahe hain ya phir hamaare jo aage ke log hain pita hamaaree daada-daadee hamaare pita maata pita unhonne kaisa stetas hai unaka kitana vah kamae hain kitana unhonne bacha ke rakha hai kitana vah apane aap ko majaboot banaana hai to us hisaab se hamaara janm kahaan hua hai oopar se ham kitana ejukeshan le rahe hain ham ejukeshan lekar kis tarah se apane aapako lad rahe hain is gareebee se ya phir paisa kamaane ke lie ya phir apane jeevan yaapan ke lie ham kitanee mehanat karake ham apane aap ko menten kar rahe hain in sab cheejon se nirbhar karata hai gareebee abhee saaph nahin hai har insaan ko koshish hamesha yahee rahana chaahie ki ham kuchh na kuchh karake ham apanee is gareebee hata den kyonki aaj ke jeevan mein jahaan par itanee mahangaee hai aur itana aage ja chuka hai hamaare samaaj hamaare soshal log itanee saaree chunautiyaan hain hamaare jeevan mein us mein gareeb hona kaheen na kaheen ek abhishaap dekhana hai kyonki na ham theek se kha paenge phir na ham apane bachchon ko achchhee uchch shiksha de paenge na ham apane aap ko menten kar paenge samaaj mein uthane baithane ke lie to thoda sa is cheej ke lie kaha ja sakata hai ki gareebee abhishaap hai abhee saaph nahin hai ise mitaaya ja sakata hai abhee aap hamaare bas mein nahin abhishaap ka matalab hota hai kisee dvaara sthaapit hona aur sthaapit hone se ham us sab ko hata nahin sakate jab tak vah vyakti nahin jae aur gareebee abhishaap nahin hai kyonki se ham koshish karen jise ham hata sakate hain apane jeevan se hamaaree mehanat se hee yah cheej hat sakatee isalie abhee saaph karana galat hoga dhanyavaad doston aise hansate muskuraate rahie khush rahie mast rahie jay hindoo
URL copied to clipboard