#जीवन शैली

bolkar speaker
नई उम्र में लोग इतने जज्बाती क्यों होते हैं?Nayi Umra Me Log Itne Jajbati Kyo Hote Hai
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:26
नई उम्र में लोग इतने जज्बाती क्यों होते हैं मेरे जज्बात है जहां तक किससे बात का ताल्लुक है तो जज्बात ही तो इंसान ने जब हमारी इच्छाएं होती हैं या जब हमारी हमारी हां इंग्लिश चाहती हैं जो नॉर्मल नहीं मिल फीलिंग होती है और जब हम उनको फील करने लगते हैं चाहे वह गुस्से की हूं चाहे वह प्यार की हो चाहे वह चाहे किसी के बिछड़ने की हो तो जब ऐसी फीलिंग हम महसूस करने लगते हैं हम फोन करने लगते हैं पर जो है वह मन लाइक होती है वह नहीं जो पहली होता है वह हमारी लाइफ से थोड़ा चेंज हो जाती है हम अपनी लाइफ को थोड़ा सीरियसली लगते हैं जो एक बचपना होता है कहीं ना कहीं एक एज में वह बचपन आज आने लगता है मैं छोटी आने लगती है हम बातों को एक पहलू के अलावा दूसरे पहलू समझने लगते हैं तुम मेरे हिसाब से नहीं उनका तात्पर्य हां आयोजन रेशंस है तो यंग जनरेशन में इसलिए होता है क्योंकि अनशन में आप यार भी महसूस होता है जो अब धीरे-धीरे बड़े होने लगते हो तो अटैचमेंट आफ का बढ़ता है लोगों से चाहे मां-बाप पहुंचे फैमिली हो जाए फ्रेंड्स हो चाहे टीचर्स मुझे कोई भी वेबसाइट कोई नहीं जो हमारे चरित्र होता है तो मैं उस सर्किल से प्यार होने लगता है अगर उससे कोई दूर जाने लगता है कोई फ्रेंड बिछड़ने लगता है तो बुरा लगता है तो हम अपने जज्बातों को उसी में महसूस करने लगते हैं तो इसलिए और महसूस करते करते वह कहीं ना कहीं हम बड़े होते हैं उसी इन माय माइंड में उन्ही दोस्तों को या उन्ही रिश्तो के साथ तो रिश्ते हम जीने लगते हैं इसलिए इंसान जब वह अधिवेशन में आता है तो आ डोनेशन से एडल्ट होते जज्बातों से खेल चुका होता है क्योंकि वह सारी फिलिंग्स वो रिलेशन से एडल्टहुड तक जी रहा होता है महसूस कर रहा होता है तो मुझे लगता है कि वह एडल्टहुड आते आते और जाते आते बहुत ही इमोशनल और जैसे कहते हैं कि बच्चे और डेज में जो लोग होते हैं वह भी कुछ बच्चे जैसे होते हैं तो इसलिए इतना जज्बाती बन जाते हैं
Naee umr mein log itane jajbaatee kyon hote hain mere jajbaat hai jahaan tak kisase baat ka taalluk hai to jajbaat hee to insaan ne jab hamaaree ichchhaen hotee hain ya jab hamaaree hamaaree haan inglish chaahatee hain jo normal nahin mil pheeling hotee hai aur jab ham unako pheel karane lagate hain chaahe vah gusse kee hoon chaahe vah pyaar kee ho chaahe vah chaahe kisee ke bichhadane kee ho to jab aisee pheeling ham mahasoos karane lagate hain ham phon karane lagate hain par jo hai vah man laik hotee hai vah nahin jo pahalee hota hai vah hamaaree laiph se thoda chenj ho jaatee hai ham apanee laiph ko thoda seeriyasalee lagate hain jo ek bachapana hota hai kaheen na kaheen ek ej mein vah bachapan aaj aane lagata hai main chhotee aane lagatee hai ham baaton ko ek pahaloo ke alaava doosare pahaloo samajhane lagate hain tum mere hisaab se nahin unaka taatpary haan aayojan reshans hai to yang janareshan mein isalie hota hai kyonki anashan mein aap yaar bhee mahasoos hota hai jo ab dheere-dheere bade hone lagate ho to ataichament aaph ka badhata hai logon se chaahe maan-baap pahunche phaimilee ho jae phrends ho chaahe teechars mujhe koee bhee vebasait koee nahin jo hamaare charitr hota hai to main us sarkil se pyaar hone lagata hai agar usase koee door jaane lagata hai koee phrend bichhadane lagata hai to bura lagata hai to ham apane jajbaaton ko usee mein mahasoos karane lagate hain to isalie aur mahasoos karate karate vah kaheen na kaheen ham bade hote hain usee in maay maind mein unhee doston ko ya unhee rishto ke saath to rishte ham jeene lagate hain isalie insaan jab vah adhiveshan mein aata hai to aa doneshan se edalt hote jajbaaton se khel chuka hota hai kyonki vah saaree philings vo rileshan se edaltahud tak jee raha hota hai mahasoos kar raha hota hai to mujhe lagata hai ki vah edaltahud aate aate aur jaate aate bahut hee imoshanal aur jaise kahate hain ki bachche aur dej mein jo log hote hain vah bhee kuchh bachche jaise hote hain to isalie itana jajbaatee ban jaate hain

#जीवन शैली

bolkar speaker
जीवन में बहुत जल्दी सफल होने के लिए क्या करना चाहिए?Jeevan Mein Bahut Jaldi Safal Hone Ke Lie Kya Karna Chaiye
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:50
जीवन में बहुत जल्दी सफल होने के लिए हमें क्या करना चाहिए तुम मुझे नहीं लगता कि जीवन में कोई बहुत जल्दी सफल होता है क्योंकि इस सफलता अगर आप बहुत जल्दी मिल गई है बिना उसके लिए जितना एफर्ट आपको करना चाहिए उतना पर टकराव नहीं कर पाए और बहुत जल्दी आपको सफलता मिली है तो उतनी ही जल्दी चल डाउन भी हो जाता है आप इतनी जल्दी भूल जाते हो ऐसा मेरा मानना है क्योंकि मैंने बहुत से लोगों के साथ ऐसा देखा है वह तो वह कि बहुत जल्दी सफलता के चक्कर में उन्होंने जो अपॉर्चुनिटी उनको मिल गई थी मैंने गवा दी है और बाद में उनको इस बात का पछतावा हुआ जब वह टाइम निकल चुका है अब वह उस चीज के लिए कुछ नहीं कर सकते कुछ पूछा कॉस्मेटिक लिए भी कुछ नहीं कर सकते अब वो टाइम चला गया है उस टाइम थोड़ी सी उसके लिए थोड़ी सी टीम के लिए अपन को तो बैठे जो उसने तुमको बाद में उनको सक्सेस तक पहुंचा सकती थी बट फर्क इतना था कि उनको शॉर्टकट में सक्सेस जगह सफलता पानी थी तो उन्होंने उन लॉन्ग और जो भूत था वह नहीं तो क्या तुम मुझे नहीं लगता कि जो शॉर्ट कट शॉर्ट कट चलो ढूंढते हैं तो सफलता का कोई शॉर्टकट मुझे नहीं लगता कि होता है सफलता ग्राम मेहनत करते हैं आप एफर्ट कर मदद करते हैं सफल होने के लिए यह सफलता पाने के लिए सफल व्यक्ति बनने के लिए तो डेफिनेटली आपको सफलता मिलेगी चाहे उसके लिए कितना भी टाइम लगे कितना भी आपका बजे है टाइम उसमें कंजंक्शन हो बट पेशंस रखिए वेट करके आप कर सकते हो क्योंकि 1 दिन में कोई सफल नहीं बनता करो 1 दिन में असफलता तो आती रहती है जीवन में एक दिन में सफलता मिलना यह बहुत ही नहीं है ऐसा नहीं होता तो मुझे यह चीज लगती है कि आप जीवन में बहुत जल्दी सफलता के लिए नहीं प्रयास करना चाहिए जीवन में आगे कैसे बढ़ना है उसके लिए हमें प्रयास करना चाहिए कि जीवन में हम आगे कैसे बढ़ते जाएं हमें किसी भी कैसे चलते जाए क्योंकि अगर सफलता की एक-एक सीढ़ियां चढ़ते जाओगे तो डेफिनेटली एक दिन आप टॉप पर होंगे लेकिन आप सोचो एक साथ आप सीढ़ी चढ़ जाओ तो वह पॉसिबल नहीं है आपको एक एक स्टेप करके आपको आगे बढ़ना है तो की वैसे ही प्रोसेस है और वैसे ही सब करते हैं जितने भी सक्सेसफुल लोग होते हैं वह एक साथ चुनरी नहीं चल जाते सारी चीजें एक ही दिन में नहीं कर लेते हो एक एक अपना घाटी के गोल कोचिंग करते हैं उसके बाद मुंह पर पहुंचते हैं तो पप्पू पहुंचने के लिए हमें एक एक गोल को फुल पर करना पड़ेगा तभी हम पहुंच पाएंगे 1 घंटे तक नहीं पहुंचा जा सकता है
Jeevan mein bahut jaldee saphal hone ke lie hamen kya karana chaahie tum mujhe nahin lagata ki jeevan mein koee bahut jaldee saphal hota hai kyonki is saphalata agar aap bahut jaldee mil gaee hai bina usake lie jitana ephart aapako karana chaahie utana par takaraav nahin kar pae aur bahut jaldee aapako saphalata milee hai to utanee hee jaldee chal daun bhee ho jaata hai aap itanee jaldee bhool jaate ho aisa mera maanana hai kyonki mainne bahut se logon ke saath aisa dekha hai vah to vah ki bahut jaldee saphalata ke chakkar mein unhonne jo aporchunitee unako mil gaee thee mainne gava dee hai aur baad mein unako is baat ka pachhataava hua jab vah taim nikal chuka hai ab vah us cheej ke lie kuchh nahin kar sakate kuchh poochha kosmetik lie bhee kuchh nahin kar sakate ab vo taim chala gaya hai us taim thodee see usake lie thodee see teem ke lie apan ko to baithe jo usane tumako baad mein unako sakses tak pahuncha sakatee thee bat phark itana tha ki unako shortakat mein sakses jagah saphalata paanee thee to unhonne un long aur jo bhoot tha vah nahin to kya tum mujhe nahin lagata ki jo short kat short kat chalo dhoondhate hain to saphalata ka koee shortakat mujhe nahin lagata ki hota hai saphalata graam mehanat karate hain aap ephart kar madad karate hain saphal hone ke lie yah saphalata paane ke lie saphal vyakti banane ke lie to dephinetalee aapako saphalata milegee chaahe usake lie kitana bhee taim lage kitana bhee aapaka baje hai taim usamen kanjankshan ho bat peshans rakhie vet karake aap kar sakate ho kyonki 1 din mein koee saphal nahin banata karo 1 din mein asaphalata to aatee rahatee hai jeevan mein ek din mein saphalata milana yah bahut hee nahin hai aisa nahin hota to mujhe yah cheej lagatee hai ki aap jeevan mein bahut jaldee saphalata ke lie nahin prayaas karana chaahie jeevan mein aage kaise badhana hai usake lie hamen prayaas karana chaahie ki jeevan mein ham aage kaise badhate jaen hamen kisee bhee kaise chalate jae kyonki agar saphalata kee ek-ek seedhiyaan chadhate jaoge to dephinetalee ek din aap top par honge lekin aap socho ek saath aap seedhee chadh jao to vah posibal nahin hai aapako ek ek step karake aapako aage badhana hai to kee vaise hee proses hai aur vaise hee sab karate hain jitane bhee saksesaphul log hote hain vah ek saath chunaree nahin chal jaate saaree cheejen ek hee din mein nahin kar lete ho ek ek apana ghaatee ke gol koching karate hain usake baad munh par pahunchate hain to pappoo pahunchane ke lie hamen ek ek gol ko phul par karana padega tabhee ham pahunch paenge 1 ghante tak nahin pahuncha ja sakata hai

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
सत्य और असत्य को हम कैसे जाने कि यह सत्य बोल रहा है या असत्य बोल रहा है?Saty Aur Asaty Ko Hum Kaise Jane Ki Yah Saty Bol Raha Hai Ya Asaty Bol Raha Hai
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:50
कुशन है सत्य और असत्य को हम कैसे जाने कि या सत्य बोल रहा है या यह सत्य बोल रखा है वह मुझे जो मेरा पॉइंट ऑफ यू एस क्वेश्चन पर तुम मेरा पॉइंट तो यह है कि अगर कोई इंसान आपसे सच बोल रहा है या झूठ बोल रहा है और आपको आईडेंटिफाई करना है तो आप उसके हाव-भाव से पहचान सकते हैं अगर इंसान झूठ बोल रहा होगा तो वह इंसान को देख कर बोलेगा करो कहानियां बना रहा होगा यह कुछ इमेज नहीं बात आपको बता रहा होगा तो वह बात पहले उसको माइंड में सोच नहीं पड़ेगी तभी वह आपको बता सकता है तो तुझे एलटी हमें जो एक चीज होती है वो हमें सोचना नहीं पड़ता और जो हम कहानी मनगढ़ंत कहानियां तो हम कुछ बनाते हैं क्या करते हैं तो वह हमें सोचना पड़ता है उसके हावभाव से उस इंसान के हाव भाव से आप समझ सकते हो या नर्वस हो रहा हो अगर इंसान तो आप समझ सकते हो कि इसकी बातों में कुछ ना कुछ जोधा निकाला है यह अपनी बातों के लिए चोर नहीं है तो यह बोल रहा है तो यह पता नहीं कि सच बोल रहा है झूठ बोल रहा है तो हंड्रेड 100 इंसान झूठ बोल रहा है सच नहीं बोला कि कि जो इंसान सच बोलता है वह ना ही नर्वस होगा ना ही वह बहुत ज्यादा टाइम मिलेगा शब्दों को वह तो एक और जोड़कर जोड़कर बनाके बोलेगा वह जो सच होगा भैया आपके सामने बोल देगा ठीक है चाय सच कितना भी कड़वा हो वह बोल देगा क्योंकि वह सच है अगर कोई इंसान झूठ बोल रहा है तो वह लोग जो है बहुत ही घुमा फिरा के बहुत ही मैनिपुलेट करके बहुत प्यारे बच्चे नहीं चाहती हूं जैसा वह बनाकर आपके सामने पेश करेगा कि आप उसकी आपको सच मानो और उस उस जाल है सब भूल जाओ तो यह मुझे पहचान है ठीक है और इसको हम पहचाने से सकते हैं जैसे कि मैंने बताया था वह उसे पहचान सकते हो अगर कोई इंसान रूप बोल रहा है तो आप उसे पहचान सकते हो कौन सा सोच रहा है और आपको लग रहा है कि बहुत प्ले लेकर सोचकर यू नो बोल रहा है तो आप मुझसे भी पहचान सकते हो या कोई इंसान बोल रहा है लेकिन आंखें दोनों लोग आपकी आंखों से आंखें मिलाकर जो है वह नहीं बोल पा रहा वह आपकी आपसे नजरे चुरा कर बोल रहा है कि क्या इस कांटेक्ट नहीं है तो आप समझ सकते हैं कि हां यह सच नहीं बोल रहा है झूठ बोल रहा है क्योंकि इसको भरोसा नहीं है कि यह क्या बात बोल रहा है तो यह सब चीजें हैं जिनसे हम फाइनल कर सकते हैं कि सामने वाला सच्चा है या झूठा है क्या उसकी बात माननी चाहिए या नहीं मानी चाहिए तो ट्रस्ट करने लायक है या नहीं करने लायक है यह सब जो है इनसे हम जान सकते हैं सामने वाले को कि वह सच है कि झूठ
Kushan hai saty aur asaty ko ham kaise jaane ki ya saty bol raha hai ya yah saty bol rakha hai vah mujhe jo mera point oph yoo es kveshchan par tum mera point to yah hai ki agar koee insaan aapase sach bol raha hai ya jhooth bol raha hai aur aapako aaeedentiphaee karana hai to aap usake haav-bhaav se pahachaan sakate hain agar insaan jhooth bol raha hoga to vah insaan ko dekh kar bolega karo kahaaniyaan bana raha hoga yah kuchh imej nahin baat aapako bata raha hoga to vah baat pahale usako maind mein soch nahin padegee tabhee vah aapako bata sakata hai to tujhe elatee hamen jo ek cheej hotee hai vo hamen sochana nahin padata aur jo ham kahaanee managadhant kahaaniyaan to ham kuchh banaate hain kya karate hain to vah hamen sochana padata hai usake haavabhaav se us insaan ke haav bhaav se aap samajh sakate ho ya narvas ho raha ho agar insaan to aap samajh sakate ho ki isakee baaton mein kuchh na kuchh jodha nikaala hai yah apanee baaton ke lie chor nahin hai to yah bol raha hai to yah pata nahin ki sach bol raha hai jhooth bol raha hai to handred 100 insaan jhooth bol raha hai sach nahin bola ki ki jo insaan sach bolata hai vah na hee narvas hoga na hee vah bahut jyaada taim milega shabdon ko vah to ek aur jodakar jodakar banaake bolega vah jo sach hoga bhaiya aapake saamane bol dega theek hai chaay sach kitana bhee kadava ho vah bol dega kyonki vah sach hai agar koee insaan jhooth bol raha hai to vah log jo hai bahut hee ghuma phira ke bahut hee mainipulet karake bahut pyaare bachche nahin chaahatee hoon jaisa vah banaakar aapake saamane pesh karega ki aap usakee aapako sach maano aur us us jaal hai sab bhool jao to yah mujhe pahachaan hai theek hai aur isako ham pahachaane se sakate hain jaise ki mainne bataaya tha vah use pahachaan sakate ho agar koee insaan roop bol raha hai to aap use pahachaan sakate ho kaun sa soch raha hai aur aapako lag raha hai ki bahut ple lekar sochakar yoo no bol raha hai to aap mujhase bhee pahachaan sakate ho ya koee insaan bol raha hai lekin aankhen donon log aapakee aankhon se aankhen milaakar jo hai vah nahin bol pa raha vah aapakee aapase najare chura kar bol raha hai ki kya is kaantekt nahin hai to aap samajh sakate hain ki haan yah sach nahin bol raha hai jhooth bol raha hai kyonki isako bharosa nahin hai ki yah kya baat bol raha hai to yah sab cheejen hain jinase ham phainal kar sakate hain ki saamane vaala sachcha hai ya jhootha hai kya usakee baat maananee chaahie ya nahin maanee chaahie to trast karane laayak hai ya nahin karane laayak hai yah sab jo hai inase ham jaan sakate hain saamane vaale ko ki vah sach hai ki jhooth

#जीवन शैली

bolkar speaker
भय की उत्पत्ति कहां से होती है, दिल से या दिमाग से?Bhay Ki Utpatti Kahan Se Hoti Hai Dil Se Ya Dimaag Se
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
0:56
उसने बैग उत्पत्ति कहां से होती है दिल से या दिमाग से तो मुझे लगता है कि वह कर पति जो है यह चिंता की उत्पत्ति गडर की उत्पत्ति दिमाग से होती है क्योंकि हमारा दिमाग वर्क करता है हमारा दिमाग से ही हम सोचते हैं कि भविष्य में क्या होगा सूत्र क्या होगा हमारा हम कल क्या करेंगे या अगर किसी काम को हम कर रहे हैं तो उसका क्या नतीजा होगा क्या परिणाम होगा या अगर जैसे ऑफिस में कोई काम मिला है तो अगर वह काम है ना ऐसे नहीं ऐसे कर लिया तो मेरा दोस्त कुछ नहीं कहेगा कि इस तरह की जो चीजें होती हैं वह माइंड में ही हमारे चलती हैं तो जो अभय की उत्पत्ति होती है वह मुझे लगता है कि दिमाग से ही होती है दिमाग से ही हम सोचते हैं और दिमाग कहीं इसमें अहम रोल है अभय के पति होना यह चिंता गणपति होना एक डर सा लगना जो सभाव एक चीज होती है वह मुझे लगता है कि वह दिमाग से ही होती है
Usane baig utpatti kahaan se hotee hai dil se ya dimaag se to mujhe lagata hai ki vah kar pati jo hai yah chinta kee utpatti gadar kee utpatti dimaag se hotee hai kyonki hamaara dimaag vark karata hai hamaara dimaag se hee ham sochate hain ki bhavishy mein kya hoga sootr kya hoga hamaara ham kal kya karenge ya agar kisee kaam ko ham kar rahe hain to usaka kya nateeja hoga kya parinaam hoga ya agar jaise ophis mein koee kaam mila hai to agar vah kaam hai na aise nahin aise kar liya to mera dost kuchh nahin kahega ki is tarah kee jo cheejen hotee hain vah maind mein hee hamaare chalatee hain to jo abhay kee utpatti hotee hai vah mujhe lagata hai ki dimaag se hee hotee hai dimaag se hee ham sochate hain aur dimaag kaheen isamen aham rol hai abhay ke pati hona yah chinta ganapati hona ek dar sa lagana jo sabhaav ek cheej hotee hai vah mujhe lagata hai ki vah dimaag se hee hotee hai

#जीवन शैली

bolkar speaker
इंसान को भय क्यों लगता है जबकि सब कुछ तो कल्पना मात्र है?Insaan Ko Bhay Kyun Lagta Hai Jabki Sab Kuch To Kalpana Matra Hai
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:48
उस इंसान को भेजो लगता है जबकि सब कुछ तो कल्पनिक है तो हां यह बात सच है कि सब कुछ काल्पनिक है लेकिन कभी-कभी इसको भी नहीं कहेंगे वह भी कई तरह के होते हैं तो उसको भी नहीं कह सकते लेकिन हां कभी-कभी जिन जिन लोगों को जिनके बारे में मैं बोल रही हूं उनको मैंने भाई मैं तो नहीं देखा है मोहब्बतें में उनको उत्तर जरूर कर सकती हूं की चिंता छोड़ कर सकती हूं कि मोदी को जो 50% या 60% जो देखा जाता है वह चिंता होती है जिससे यंगस्टर्स भी आते हैं बुजुर्ग भी आते हैं मगर इस ग्रुप के लोग आते हैं जिनको टेंशन रहती है चिंता रहती है और किसी ने किसी चीज की सोचते रहते हैं वह बहुत ज्यादा वह चीज कह सकते हैं चिंता के लिए बट उसमें यह नहीं कह सकते कि मैं होता होगा या फिर दूसरी मतलब बहुत डरते होंगे तो ऐसी ऐसी कोई चीज नहीं है कुछ चिंता हो सकती है तो चिंता तो एक-दो नॉर्मल सी चीज हो सबको होती है और यंगस्टर को भी होती है फ्यूचर की और बुजुर्गों को होती है फैमिली जी का बचपन में भी बहुत सारी पढ़ाई की कोई लेटर टेंशन होती है जो इंसान जॉब करता है उसे जॉब से रिलेटेड चिंता होती है भविष्य में क्या है क्या नहीं है भविष्य में नौकरी कहां जाएगी कहानी जाएगी फैमिली का क्या होगा क्या नहीं होगा फ्यूचर कैसा होगा तो इस बात के लिए इंसान जो है सोचता रहता है और यह किसी एक व्यक्ति के लिए नहीं है यह सब के लिए है और चाहे किसी भी चीज का भय हो जाए परिवार से दूर होने का भय हो या भविष्य कब है वह हर तरह का भय हो सकता है तू लगता है और अभय काम मैं समझती हूं कि मैं का तात्पर्य हां चिंता से है तू की चिंता ऐसी चीज होती है कि अगर कर रहे हो तो भी आप का नुकसान है और ऐसा तो हो ही नहीं सकता कि किसी को जो इस दुनिया में है उसको चिंता ना हो हर इंसान को चिंता होती है चाहे वह अमीर हो या गरीब हो चाहे वह किसी भी वर्क का होता है किसी किसी ना किसी ने में किसी न किसी रूप में आपके साथ होगी चाहे मां को बच्चे की चिंता हो बच्चे को पढ़ाई की जनता हो हस्बैंड को जॉब की चिंता हो किसी ना किसी भी में सबके साथ चिंता रहती रहती है तो इंसान को चुनता है जबकि सब कुछ काल्पनिक है बट फिर भी चिंता है ऐसी चीज है जिससे आपका कंट्रोल नहीं जानता हूं ना कि वास्तविक चीज है इसमें कोई मैसेज ही नहीं है बुराई नहीं है यह है कि इंसान को बहुत ज्यादा चिंता नहीं करनी चाहिए क्योंकि यह बीमारियों को जन्म देती है
Us insaan ko bhejo lagata hai jabaki sab kuchh to kalpanik hai to haan yah baat sach hai ki sab kuchh kaalpanik hai lekin kabhee-kabhee isako bhee nahin kahenge vah bhee kaee tarah ke hote hain to usako bhee nahin kah sakate lekin haan kabhee-kabhee jin jin logon ko jinake baare mein main bol rahee hoon unako mainne bhaee main to nahin dekha hai mohabbaten mein unako uttar jaroor kar sakatee hoon kee chinta chhod kar sakatee hoon ki modee ko jo 50% ya 60% jo dekha jaata hai vah chinta hotee hai jisase yangastars bhee aate hain bujurg bhee aate hain magar is grup ke log aate hain jinako tenshan rahatee hai chinta rahatee hai aur kisee ne kisee cheej kee sochate rahate hain vah bahut jyaada vah cheej kah sakate hain chinta ke lie bat usamen yah nahin kah sakate ki main hota hoga ya phir doosaree matalab bahut darate honge to aisee aisee koee cheej nahin hai kuchh chinta ho sakatee hai to chinta to ek-do normal see cheej ho sabako hotee hai aur yangastar ko bhee hotee hai phyoochar kee aur bujurgon ko hotee hai phaimilee jee ka bachapan mein bhee bahut saaree padhaee kee koee letar tenshan hotee hai jo insaan job karata hai use job se rileted chinta hotee hai bhavishy mein kya hai kya nahin hai bhavishy mein naukaree kahaan jaegee kahaanee jaegee phaimilee ka kya hoga kya nahin hoga phyoochar kaisa hoga to is baat ke lie insaan jo hai sochata rahata hai aur yah kisee ek vyakti ke lie nahin hai yah sab ke lie hai aur chaahe kisee bhee cheej ka bhay ho jae parivaar se door hone ka bhay ho ya bhavishy kab hai vah har tarah ka bhay ho sakata hai too lagata hai aur abhay kaam main samajhatee hoon ki main ka taatpary haan chinta se hai too kee chinta aisee cheej hotee hai ki agar kar rahe ho to bhee aap ka nukasaan hai aur aisa to ho hee nahin sakata ki kisee ko jo is duniya mein hai usako chinta na ho har insaan ko chinta hotee hai chaahe vah ameer ho ya gareeb ho chaahe vah kisee bhee vark ka hota hai kisee kisee na kisee ne mein kisee na kisee roop mein aapake saath hogee chaahe maan ko bachche kee chinta ho bachche ko padhaee kee janata ho hasbaind ko job kee chinta ho kisee na kisee bhee mein sabake saath chinta rahatee rahatee hai to insaan ko chunata hai jabaki sab kuchh kaalpanik hai bat phir bhee chinta hai aisee cheej hai jisase aapaka kantrol nahin jaanata hoon na ki vaastavik cheej hai isamen koee maisej hee nahin hai buraee nahin hai yah hai ki insaan ko bahut jyaada chinta nahin karanee chaahie kyonki yah beemaariyon ko janm detee hai

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
क्या आपको नहीं लगता कि सरकार को सभी एग्जाम में दो से तीन अटेम्प्ट रखनी चाहिएKya Apko Nahi Lagta Ki Goverment Ko Sabhi Exam Me Do Ya Teen Attempt Rakhne Chayia Aur Sabhi Competetion Exam Ki
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:54
है क्या आपको लगता है कि गवर्नमेंट को सभी एग्जाम में दो या तीन अटेंड रखनी चाहिए और सब कंपटीशन एग्जाम की यह प्रशन कंप्लीट है कि मैं मुझे समझ में नहीं आ रहा कि मुझे इतना समझ में आया फर्स्ट पार्ट जो क्वेश्चन का है कि क्या गवर्नमेंट को एग्जाम में दो-तीन अटेंड रखनी चाहिए और हां ऐसा होना चाहिए और ऐसा कुछ एग्जाम में होता भी है जैसे यूजीसी नेट जो एनडीए के द्वारा होता है तो उसमें दो अटेंड करते हैं 1 जून में होता है दिसंबर में होता है और भी ऐसे आगमन के पैसे पेपर होते हैं जिनमें दुआ टाइम खेलते हैं साल में दो बार पेपर दे सकते हो और लास्ट कोविड-19 नहीं हो पाया था बट जब अभी तो सकते हो रही है कंडीशन तो अब पॉसिबल है कि वह जो चीजें पहले नहीं हो पा रही थी स्टडी के पर्व पर सभी स्टूडेंट्स का बहुत लॉस पता था तो वहीं में भी ईयर में कवर हो जाए टोटल होते हैं बता अगर तीन अटम कमेंट करें तो वह बहुत अच्छी बात है कि तीन अटेंड करें बट मुझे जो जो मेरी फ्रेंड लोग अटेंड कर रही है जो मेरी फ्रेंड लोग दे रही है तो उसको इंटरव्यू से मुझे भी लगता है कि 3 अक्टूबर को डिफिकल्ट हो जाता है क्योंकि उन्हें भी रिजल्ट निकालना होता है और पैकिंग करनी पड़ती है और लाखों करोड़ों की संख्या में लोग हुए पेपर देते हैं गवर्नमेंट की तो पूरा मध्य प्रदेश शिक्षक संबंध में समय यूसीजी नेट के एग्जाम पर दो तो शिक्षक मंत्री पेपर होता है और सिक्स मंथ में जो होता है उसमें दो या तीन मन में वह रिजल्ट निकाल दो तो यह उनका ऑफिशियल साइड में आ जाता है अगर वह एक 1 ईयर में तीन बार कराते हैं तो यह काफी प्रोसेस जो है वह काफी डिलीवरी हो जाएगी उनको कॉपियां जल्दी से चेक करनी पड़ेगी जिसमें मिस्टेक भी हो सकती है हो सकता करेक्शन करेक्ट ना हो ऑनलाइन भी पेपर होते हैं जो गवर्नमेंट के पेपर से वह बहुत ऑनलाइन होने लगे हैं तो मुझे लगता है कि अगर करवा दें ऐसा ऑप्शन हो और अगर उसमें कोई ना कोई उसमें खराबी ना पैदा हो यह नहीं कि जिसको जिसका आंसर सही भी है तो जल्दी नहीं चैटिंग करके उसको गलत कर दिया आंसर को तो ऐसा नहीं होना चाहिए अगर कनेक्शन सही है अगर टीचर थोड़ा फास्ट चैटिंग करके यह तीन अटेंड रखते हैं तो बहुत अच्छी बात है स्टूडेंट को अट लीस्ट 3 * 12 पेपर देने का मौका मिल जाता है तो इसमें कोई बुराई नहीं है इसमें अच्छाई है बट गीत डिपेंड करता है कि सिस्टम कैसा वर्क करता अगर सिस्टम अच्छा वर्क जल्दी-जल्दी वर्क करता है कॉपी चेकिंग के लिए रिजल्ट के लिए तो ही वह तीन अटेंड रख सकते हैं अदर वाइज तो अब तक दो ही अटेंड को है पेपर में मोस्टली और अब बाकी कुछ पेपरों में बनी अटेम्प्ट
Hai kya aapako lagata hai ki gavarnament ko sabhee egjaam mein do ya teen atend rakhanee chaahie aur sab kampateeshan egjaam kee yah prashan kampleet hai ki main mujhe samajh mein nahin aa raha ki mujhe itana samajh mein aaya pharst paart jo kveshchan ka hai ki kya gavarnament ko egjaam mein do-teen atend rakhanee chaahie aur haan aisa hona chaahie aur aisa kuchh egjaam mein hota bhee hai jaise yoojeesee net jo enadeee ke dvaara hota hai to usamen do atend karate hain 1 joon mein hota hai disambar mein hota hai aur bhee aise aagaman ke paise pepar hote hain jinamen dua taim khelate hain saal mein do baar pepar de sakate ho aur laast kovid-19 nahin ho paaya tha bat jab abhee to sakate ho rahee hai kandeeshan to ab posibal hai ki vah jo cheejen pahale nahin ho pa rahee thee stadee ke parv par sabhee stoodents ka bahut los pata tha to vaheen mein bhee eeyar mein kavar ho jae total hote hain bata agar teen atam kament karen to vah bahut achchhee baat hai ki teen atend karen bat mujhe jo jo meree phrend log atend kar rahee hai jo meree phrend log de rahee hai to usako intaravyoo se mujhe bhee lagata hai ki 3 aktoobar ko diphikalt ho jaata hai kyonki unhen bhee rijalt nikaalana hota hai aur paiking karanee padatee hai aur laakhon karodon kee sankhya mein log hue pepar dete hain gavarnament kee to poora madhy pradesh shikshak sambandh mein samay yooseejee net ke egjaam par do to shikshak mantree pepar hota hai aur siks manth mein jo hota hai usamen do ya teen man mein vah rijalt nikaal do to yah unaka ophishiyal said mein aa jaata hai agar vah ek 1 eeyar mein teen baar karaate hain to yah kaaphee proses jo hai vah kaaphee dileevaree ho jaegee unako kopiyaan jaldee se chek karanee padegee jisamen mistek bhee ho sakatee hai ho sakata karekshan karekt na ho onalain bhee pepar hote hain jo gavarnament ke pepar se vah bahut onalain hone lage hain to mujhe lagata hai ki agar karava den aisa opshan ho aur agar usamen koee na koee usamen kharaabee na paida ho yah nahin ki jisako jisaka aansar sahee bhee hai to jaldee nahin chaiting karake usako galat kar diya aansar ko to aisa nahin hona chaahie agar kanekshan sahee hai agar teechar thoda phaast chaiting karake yah teen atend rakhate hain to bahut achchhee baat hai stoodent ko at leest 3 * 12 pepar dene ka mauka mil jaata hai to isamen koee buraee nahin hai isamen achchhaee hai bat geet dipend karata hai ki sistam kaisa vark karata agar sistam achchha vark jaldee-jaldee vark karata hai kopee cheking ke lie rijalt ke lie to hee vah teen atend rakh sakate hain adar vaij to ab tak do hee atend ko hai pepar mein mostalee aur ab baakee kuchh peparon mein banee atempt

#जीवन शैली

bolkar speaker
निंद्रा अवस्था में क्या इंसान का दिमाग भी काम करता है?Nindra Awastha Mein Kya Insaan Ka Dimag Bhi Kaam Karta Hai
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:37
निंद्रा अवस्था में क्या इंसान का दिमाग भी काम करता है तो निंद्रा अवस्था में हां काम करता है क्योंकि जो इंसान का दिमाग होता है अगर आप साइंस के स्टूडेंट है या अगर आपने कभी मस्तिष्क के बारे में कैसे विकास हुआ है या कैसे क्या हुआ आपने कभी भी पढ़ा होगा कहीं भी किसी भी किताब में तो आपने यह देखा होगा कि जो दिमाग होता है हमारा वह चार भागों में होता है ठीक है चारों भागों के अलग-अलग काम होते हैं एक जो हमारा दिमाग होता है उसका यह भी काम होता है कि जब हम नींद की अवस्था में है ठीक है तो अगर हमें कोई टच कर रहा है हमें कोई पकड़ रहा है कोई ऐसे झूम रहा है ठीक है तो हमें आभास हो जाता है कि कुछ कोई हमें किसका आ रहा या कोई हमें टच कर रहा है ठीक है तू सुना जाती है जैसे एग्जांपल अगर मैं तुमको जैसे अगर हम लोग सो रहे हैं ठीक है सोने के टाइम पर अगर ऐसे मच्छर आपके पास छोड़ रहा है ठीक है सोते टाइम भी आपको समझ में आ जाएगा कि कुछ कुछ इसके मच्छर ही कुछ ऐसा बोल रहा है वह कोई काट रहा है तो आपको पता चल जाएगा कि जब मच्छर ने काटा बहुत से लोग ऐसे नींद से जो कभी बैठ जाते कि मच्छर ने काट लिया तो इसलिए उनको आभास हो जाता है क्योंकि दिमाग से उनको पता चल जाता है कि कोई ऐसी चीज है जिससे जिस ने जिस से उनको तकलीफ हुई है चाहे वह मच्छरों यहां मैं छोड़ रहा हूं या मच्छर ने काट लिया हो तो वह नींद से उठ कर बैठ जाते हैं बहुत से लोग ऐसे भी होते हैं जो बहुत गहरी नींद में सो रहे होते उससे भी उठ कर बैठ जाते हैं तो उसका रीजन भी यही होता है क्योंकि दिमाग का जो हमारा एक भाग होता है जब हम हमारा मस्तिष्क शांत होता है हम तो सो रहे होते वक्त अभी भी दिमाग जो हुमन ऑर्गन से सब कुछ और भी होते हैं जो हमारी क्लिपिंग कंडीशन में भी वर्क करते हैं जिसमें सब फर्स्ट नंबर पर हमारा हाथ हो गया हर 24 वर्ष भर करता रहता है हमारा माइंड हो गया तो यह सब जो और गैस होते हैं ठीक है यह सब जो है वह हमारे कंट्रोल में नहीं होती है ड्यूटी और यह सब अनकंट्रोल होती है हमारा उसको कोई बस नहीं होता और वो अगर हम चाहे सो रहे हो चाहे हम जग रहे हो यह उस अवस्था में भी यह क्रियाएं होती रहती हैं जो हमें कभी जैसे मच्छर उड़ रहा है तो उसका आभास होता है लेकिन हमें छीन लिया है तो उसका आभास होता है कि ठंड लग रही है तो कुछ भी हमें फीलिंग हो रही है तो हमें उस ग्रीन की एक्टिविटी के द्वारा ही पता चलता है सोते-सोते अवस्था में भी हमें यह आभास होता
Nindra avastha mein kya insaan ka dimaag bhee kaam karata hai to nindra avastha mein haan kaam karata hai kyonki jo insaan ka dimaag hota hai agar aap sains ke stoodent hai ya agar aapane kabhee mastishk ke baare mein kaise vikaas hua hai ya kaise kya hua aapane kabhee bhee padha hoga kaheen bhee kisee bhee kitaab mein to aapane yah dekha hoga ki jo dimaag hota hai hamaara vah chaar bhaagon mein hota hai theek hai chaaron bhaagon ke alag-alag kaam hote hain ek jo hamaara dimaag hota hai usaka yah bhee kaam hota hai ki jab ham neend kee avastha mein hai theek hai to agar hamen koee tach kar raha hai hamen koee pakad raha hai koee aise jhoom raha hai theek hai to hamen aabhaas ho jaata hai ki kuchh koee hamen kisaka aa raha ya koee hamen tach kar raha hai theek hai too suna jaatee hai jaise egjaampal agar main tumako jaise agar ham log so rahe hain theek hai sone ke taim par agar aise machchhar aapake paas chhod raha hai theek hai sote taim bhee aapako samajh mein aa jaega ki kuchh kuchh isake machchhar hee kuchh aisa bol raha hai vah koee kaat raha hai to aapako pata chal jaega ki jab machchhar ne kaata bahut se log aise neend se jo kabhee baith jaate ki machchhar ne kaat liya to isalie unako aabhaas ho jaata hai kyonki dimaag se unako pata chal jaata hai ki koee aisee cheej hai jisase jis ne jis se unako takaleeph huee hai chaahe vah machchharon yahaan main chhod raha hoon ya machchhar ne kaat liya ho to vah neend se uth kar baith jaate hain bahut se log aise bhee hote hain jo bahut gaharee neend mein so rahe hote usase bhee uth kar baith jaate hain to usaka reejan bhee yahee hota hai kyonki dimaag ka jo hamaara ek bhaag hota hai jab ham hamaara mastishk shaant hota hai ham to so rahe hote vakt abhee bhee dimaag jo human organ se sab kuchh aur bhee hote hain jo hamaaree kliping kandeeshan mein bhee vark karate hain jisamen sab pharst nambar par hamaara haath ho gaya har 24 varsh bhar karata rahata hai hamaara maind ho gaya to yah sab jo aur gais hote hain theek hai yah sab jo hai vah hamaare kantrol mein nahin hotee hai dyootee aur yah sab anakantrol hotee hai hamaara usako koee bas nahin hota aur vo agar ham chaahe so rahe ho chaahe ham jag rahe ho yah us avastha mein bhee yah kriyaen hotee rahatee hain jo hamen kabhee jaise machchhar ud raha hai to usaka aabhaas hota hai lekin hamen chheen liya hai to usaka aabhaas hota hai ki thand lag rahee hai to kuchh bhee hamen pheeling ho rahee hai to hamen us green kee ektivitee ke dvaara hee pata chalata hai sote-sote avastha mein bhee hamen yah aabhaas hota

#जीवन शैली

Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:04
ओशन है जो इंसान अपने घर की समस्या नहीं सुलझा पाता क्या बात दूसरे की समस्या को सुलझा सकता है तो इस पर जो आंसर है यह डिपेंड करता है कि जिस पर्सन के लिए बात की जा रही है वह प्रश्न की अंडरस्टैंडिंग कैसी है क्योंकि हर इंसान की पसंद की अंडरस्टैंडिंग बातों को समझने के लिए सिचुएशन को समझने के लिए अलग-अलग होती है अगर मैं किसी चीज को समझ रही हूं तो जरूरी नहीं है कि दूसरा भी उसी नजरिए से उस बात को समझ रहा हूं जो नजरिया मेरा उस बात के प्रति है तो हर इंसान का अपना अपना नजरिया होता है और अगर वह इंसान इतना कैपेबल है कि वह प्रॉब्लम को प्रॉब्लम सॉल्व अ बन सकता है तो आई थी कि वह अपनी फैमिली में अपना ओपिनियन नहीं रख पा रहा है या प्रॉब्लम को नहीं सॉल्व कर पा रहा तो बाहर किसी अननोन इंसान को या किसी जून के फ्रेंड हैं या रिलेटिव है उनको अपना ओपिनियन बताकर उनके प्रॉब्लम को सॉल्व कर सकता है अगर जो पसंद है उसकी उसे नजरिया बचा नहीं है वह बातों को कैसे नहीं समझ पा रहा क्या प्रॉब्लम सॉल्व नहीं प्रॉब्लम क्रिएट अ है बहुत से लोग इन 2 वर्ड में बहुत डिफरेंस है कुछ लोग ऐसे होते जो परेशानी खुद पैदा करते हैं कुछ लोग होते हैं जो कोशिश करते हैं कि परेशानियां दूर हो चाहे वह दूसरे की लाइफ में हो चाहे वह हमारी लाइफ में हो तो वह कोशिश करते हैं कि जो मैटर है तो खत्म हो मैं तो बड़ी नहीं तो अगर वह इंसान ऐसा होगा कि वह मैटर करने वाला इंसान होगा तू चाहे अपने घर की समस्या हो या चाहे बाहर की समस्या हो वह यही कोशिश करेगा कि मैटर सॉर्ट आउट हो उस बात का खींचेगा नहीं लेकिन अगर इंसान के अंडरस्टैंडिंग ऐसे नहीं है इंसान प्रॉब्लम सॉल्व नहीं है तो फिर वह ना अपने घर की समस्या को सुलझा सकता है ना वह कहीं बाहर की समस्या को सुलझा सकता है वह समझ से कुछ समझा ही नहीं है क्योंकि वह समस्या को समझ ही नहीं पाएगा कक्ष में प्रॉब्लम है क्या
Oshan hai jo insaan apane ghar kee samasya nahin sulajha paata kya baat doosare kee samasya ko sulajha sakata hai to is par jo aansar hai yah dipend karata hai ki jis parsan ke lie baat kee ja rahee hai vah prashn kee andarastainding kaisee hai kyonki har insaan kee pasand kee andarastainding baaton ko samajhane ke lie sichueshan ko samajhane ke lie alag-alag hotee hai agar main kisee cheej ko samajh rahee hoon to jarooree nahin hai ki doosara bhee usee najarie se us baat ko samajh raha hoon jo najariya mera us baat ke prati hai to har insaan ka apana apana najariya hota hai aur agar vah insaan itana kaipebal hai ki vah problam ko problam solv a ban sakata hai to aaee thee ki vah apanee phaimilee mein apana opiniyan nahin rakh pa raha hai ya problam ko nahin solv kar pa raha to baahar kisee ananon insaan ko ya kisee joon ke phrend hain ya riletiv hai unako apana opiniyan bataakar unake problam ko solv kar sakata hai agar jo pasand hai usakee use najariya bacha nahin hai vah baaton ko kaise nahin samajh pa raha kya problam solv nahin problam kriet a hai bahut se log in 2 vard mein bahut dipharens hai kuchh log aise hote jo pareshaanee khud paida karate hain kuchh log hote hain jo koshish karate hain ki pareshaaniyaan door ho chaahe vah doosare kee laiph mein ho chaahe vah hamaaree laiph mein ho to vah koshish karate hain ki jo maitar hai to khatm ho main to badee nahin to agar vah insaan aisa hoga ki vah maitar karane vaala insaan hoga too chaahe apane ghar kee samasya ho ya chaahe baahar kee samasya ho vah yahee koshish karega ki maitar sort aaut ho us baat ka kheenchega nahin lekin agar insaan ke andarastainding aise nahin hai insaan problam solv nahin hai to phir vah na apane ghar kee samasya ko sulajha sakata hai na vah kaheen baahar kee samasya ko sulajha sakata hai vah samajh se kuchh samajha hee nahin hai kyonki vah samasya ko samajh hee nahin paega kaksh mein problam hai kya

#जीवन शैली

bolkar speaker
कटु वाणी से भी कठोर क्या है जो इंसान को मानसिक कष्ट देता है?Katu Vani Se Bhe Kathor Kya Hai Jo Insaan Ko Mansik Kasht Deta Hai
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:35
कड़ी पत्ता क्या होता है इंसान को मजबूर कर देता है मुझे लगता है किसी को पता नहीं मारता वह ज्यादा मानसिक कष्ट भाई होता है क्योंकि वह कोई भी चीज के लिए पड़ोसी ने ताना मारा जा रहा होता है तो वह मानसिक रूप से भी उनके और उसे गुस्सा भी आता है तो मुझे लगता है कि बुरा बोलने के बाद आपको बोलने के बाद कठोर बोलना चाहिए हमारे बड़े बूढ़े होते हैं वह अभी तक नेट को लेकर 1 जून को ले गया तो कुछ ना कुछ ऐसी चीज होती है जो हमसे टाइम नहीं है टेंशन हो सकती है तो सब कुछ ना कुछ कहते हैं बुरा लगता है उनका फोन भी नहीं समझ में आता ठीक होते हैं हमारी नजर में सब कुछ नहीं होते हैं बातों को सीधा ना करके उन बातों को ताना मारे तंज कसे इंसान मानसिक रूप से ज्यादा दुखी होता है और मानसिक तौर पर महिलाओं के बाद के लिए उन्हें ताना देती है माता-पिता पे ग्रेड प्वाइंट आउट करती है कि बहुत गलत होता है ऐसा नहीं करना चाहिए बट लोग करते हैं तू हर तरह के लोग होते हैं दुनिया में लोग करते हैं तो मुझे लगता है कि वह ज्यादा कष्ट होता है क्योंकि इंसान वह चीज होता रहता है और वह मतलब बहुत ही होती है आप मत बता भी नहीं बता भी नहीं सकते हो और उस पर छुपा भी नहीं सकते हो तो ऐसी होती है तो बहुत ज्यादा मानते हैं पर कठिनाई होती है जब हम किसी के सामने और किसी के संगीत सुनते जाते हैं आप जॉब करते जाते हैं कुछ प्रतिक्रिया नहीं दे पाते कि हम कुछ कर नहीं दे सकते ट्यूबलाइट
Kadee patta kya hota hai insaan ko majaboor kar deta hai mujhe lagata hai kisee ko pata nahin maarata vah jyaada maanasik kasht bhaee hota hai kyonki vah koee bhee cheej ke lie padosee ne taana maara ja raha hota hai to vah maanasik roop se bhee unake aur use gussa bhee aata hai to mujhe lagata hai ki bura bolane ke baad aapako bolane ke baad kathor bolana chaahie hamaare bade boodhe hote hain vah abhee tak net ko lekar 1 joon ko le gaya to kuchh na kuchh aisee cheej hotee hai jo hamase taim nahin hai tenshan ho sakatee hai to sab kuchh na kuchh kahate hain bura lagata hai unaka phon bhee nahin samajh mein aata theek hote hain hamaaree najar mein sab kuchh nahin hote hain baaton ko seedha na karake un baaton ko taana maare tanj kase insaan maanasik roop se jyaada dukhee hota hai aur maanasik taur par mahilaon ke baad ke lie unhen taana detee hai maata-pita pe gred pvaint aaut karatee hai ki bahut galat hota hai aisa nahin karana chaahie bat log karate hain too har tarah ke log hote hain duniya mein log karate hain to mujhe lagata hai ki vah jyaada kasht hota hai kyonki insaan vah cheej hota rahata hai aur vah matalab bahut hee hotee hai aap mat bata bhee nahin bata bhee nahin sakate ho aur us par chhupa bhee nahin sakate ho to aisee hotee hai to bahut jyaada maanate hain par kathinaee hotee hai jab ham kisee ke saamane aur kisee ke sangeet sunate jaate hain aap job karate jaate hain kuchh pratikriya nahin de paate ki ham kuchh kar nahin de sakate tyoobalait

#जीवन शैली

Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:59
और क्वेश्चन है जिन्होंने प्रश्न करता ने पूछा है कि मदद करने की बीमारी क्या है ऐसे व्यक्ति को क्या कहना चाहेंगे जिससे मदद करने की बीमारी हो ठीक है तो अगर आपको मदद करने की बीमारी है मैं उसे बीमारी तो नहीं कहूंगी क्योंकि किसी की मदद करना बहुत ही अच्छी बात होती है क्योंकि आजकल के टाइम पर बहुत कम ही लोग ऐसे होते हैं जो किसी अनजान की मदद करते हैं आजकल लोग अपनों की मदद करने से कतराते हैं अनजान तो बहुत दूर की बात है कि किसी अनजान की हेल्प करें तो हेल्प करना कोई बीमारी नहीं है आपको हर हर इंसान को जो है वह हेल्प कर देना या बिना किसी यह समझे कि कोई इंसान को सच में आपकी हेल्प की जरूरत है या नहीं जरूरत है यह वह सच में आपकी हर चाहता है या नहीं चाहता है आप अपनी तरफ से हर हर मैटर पर हेल्प करें वह भी थोड़ा गलत है वह चीज आपको सोच नहीं चाहिए जहां आपको मदद करने की जरूरत हो आप वहां मदद करें जहां आपको लगे कि सामने वाला आपका आपकी मदद चाहता है आपकी हर चाहता है वहां आप मदद करें ऐसी मदद ना करें कि आप जो है हेल्पलेस हो जाएं इतनी मदद ना करें इतनी हेल्प ना करें कि खुद ही आपको खुद आप हेल्पलेस महसूस करें तो वह मदद ऐसी मदद ना करें बता कर मदद आप कर रहे हैं और उससे आपको कोई नुकसान नहीं है उससे जो है आपको और कोई नुकसान नहीं है आप किसी कठिनाई में नहीं करेंगे या नहीं पड़ेंगे आपको किसी करने का सामना नहीं करना पड़ेगा जो मदद आप कर रहे हैं तो ऐसी मदद करने में कोई हर्ज नहीं है ऐसी मदद मेरे ख्याल से सब को करनी चाहिए ठीक है लेकिन अगर किसी व्यक्ति जो आपसे मदद नहीं मांग रहा हूं आप उसकी भी मदद करने पर तुले हुए हो या हर मैटर उसकी मदद कर रहे हो जो आपको पसंद ना करता हो तो फिर ऐसे में और यह चीज पर थोड़ा आपको विचार करने की जरूरत है आपको सोचना चाहिए कि काम गलत जा रहा है कहां सही जा रहा है क्या जिसको आप हेल्प कर रहे हैं वह सच में आपकी हेप्पी लायक है कि नहीं सच में आपसे यह चाहता है या नहीं या उसके दिल में आपके लिए क्या है ठीक है तो यह सब जानकर यह सब समझ के इस विचार विमर्श करके तब आप कोई निर्णय ले वह ज्यादा सही है और इसे यह बीमारी तो नहीं है लेकिन हां यह आदत है जो आप कंट्रोल भी कर सकते हैं ठीक है इसमें कोई ऐसी चीज़ नहीं है कि यह इसका कोई इलाज नहीं ऐसा कुछ भी नहीं है आप इसे कंट्रोल भी कर सकते हैं मैं थोड़ा आप को रुकना थोड़ा सोचना समझना और निर्णय लेना यह आपके हाथ में है और यह आपको ही करना पड़ेगा और मुझे उम्मीद है कि आप यह करने में सफल भी होंगे तो यह निर्णय आपके ऊपर है कि आपको मदद देखना है कि जरूरत है या नहीं
Aur kveshchan hai jinhonne prashn karata ne poochha hai ki madad karane kee beemaaree kya hai aise vyakti ko kya kahana chaahenge jisase madad karane kee beemaaree ho theek hai to agar aapako madad karane kee beemaaree hai main use beemaaree to nahin kahoongee kyonki kisee kee madad karana bahut hee achchhee baat hotee hai kyonki aajakal ke taim par bahut kam hee log aise hote hain jo kisee anajaan kee madad karate hain aajakal log apanon kee madad karane se kataraate hain anajaan to bahut door kee baat hai ki kisee anajaan kee help karen to help karana koee beemaaree nahin hai aapako har har insaan ko jo hai vah help kar dena ya bina kisee yah samajhe ki koee insaan ko sach mein aapakee help kee jaroorat hai ya nahin jaroorat hai yah vah sach mein aapakee har chaahata hai ya nahin chaahata hai aap apanee taraph se har har maitar par help karen vah bhee thoda galat hai vah cheej aapako soch nahin chaahie jahaan aapako madad karane kee jaroorat ho aap vahaan madad karen jahaan aapako lage ki saamane vaala aapaka aapakee madad chaahata hai aapakee har chaahata hai vahaan aap madad karen aisee madad na karen ki aap jo hai helpales ho jaen itanee madad na karen itanee help na karen ki khud hee aapako khud aap helpales mahasoos karen to vah madad aisee madad na karen bata kar madad aap kar rahe hain aur usase aapako koee nukasaan nahin hai usase jo hai aapako aur koee nukasaan nahin hai aap kisee kathinaee mein nahin karenge ya nahin padenge aapako kisee karane ka saamana nahin karana padega jo madad aap kar rahe hain to aisee madad karane mein koee harj nahin hai aisee madad mere khyaal se sab ko karanee chaahie theek hai lekin agar kisee vyakti jo aapase madad nahin maang raha hoon aap usakee bhee madad karane par tule hue ho ya har maitar usakee madad kar rahe ho jo aapako pasand na karata ho to phir aise mein aur yah cheej par thoda aapako vichaar karane kee jaroorat hai aapako sochana chaahie ki kaam galat ja raha hai kahaan sahee ja raha hai kya jisako aap help kar rahe hain vah sach mein aapakee heppee laayak hai ki nahin sach mein aapase yah chaahata hai ya nahin ya usake dil mein aapake lie kya hai theek hai to yah sab jaanakar yah sab samajh ke is vichaar vimarsh karake tab aap koee nirnay le vah jyaada sahee hai aur ise yah beemaaree to nahin hai lekin haan yah aadat hai jo aap kantrol bhee kar sakate hain theek hai isamen koee aisee cheez nahin hai ki yah isaka koee ilaaj nahin aisa kuchh bhee nahin hai aap ise kantrol bhee kar sakate hain main thoda aap ko rukana thoda sochana samajhana aur nirnay lena yah aapake haath mein hai aur yah aapako hee karana padega aur mujhe ummeed hai ki aap yah karane mein saphal bhee honge to yah nirnay aapake oopar hai ki aapako madad dekhana hai ki jaroorat hai ya nahin

#जीवन शैली

bolkar speaker
लड़कियों के पास कौन-कौन से ब्यूटी प्रोडक्ट्स होने चाहिए?Ladkiyon Ke Pas Kaun Kaun Se Beauty Products Hone Chaiye
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:58
लिखित स्वास्थ्य और योग से सवाल हैं लड़कियों के पास कौन कौन से ब्यूटी प्रोडक्ट्स होने चाहिए तो देखिए लड़कियों के पास कौन कौन से ब्यूटी प्रोडक्ट्स होने चाहिए या नहीं होना चाहिए यह लड़कियों पर निर्भर करता है कि उनकी क्या चॉइस है ठीक है मुझे नहीं लगता कि इस टॉपिक पर किसी को बोलना चाहिए क्योंकि यह इंडिविजुअल चॉइस है बहुत लड़कियों को मेकअप करना बहुत ज्यादा पसंद होता है ब्यूटी प्रोडक्ट बहुत पसंद होते हैं वह अलग-अलग ब्यूटी प्रोडक्ट अपने ऊपर एक्सपेरिमेंट करती है खुद लगाती है क्रीम हो गया या सेंड हो गया या मेकअप की कोई किट हो गई है मेकअप का कोई आई लाइनर या काजल वगैरह हो गया बहुत सी लड़कियां ऐसी होती है जो पसंद होता है उसे शायद अब काफी हद तक मैं भी हूं क्योंकि मुझे भी बहुत ज्यादा मेकअप नहीं पसंद है तो यह इंडिविजुअल पर डिपेंड करता है कि आप ही का तो ऐसे हो सकता हो कि कोई और लड़की मुझसे बहुत पसंद हो जैसे मेरी कुछ फ्रेंड है जिनको बहुत पसंद है बट मेरी है जैसे कि मुझे ज्यादा पसंद नहीं मुझे तुमसे सिटी पसंद आए तो यह इंडिविजुअलिटी पर डिपेंड करता है आप आपकी सोच पर निर्भर करता है कि आप ही कर दो मेरी ज्यादा मेकअप ना करने की है तो मेरे पास ब्यूटी प्रोडक्ट्स भी उसने नहीं है ना मैं उतना यूज करती हूं ना मेरे पास मेकअप का कोई प्रोडक्ट है बट मेरी फ्रेंडों के पास हर तरह की किट है हर तरह के प्रोडक्ट से क्योंकि उनका वह शौक है कुछ का तो प्रोफेशन भी है क्योंकि कुछ इसी फील्ड में है कुछ मेकअप आर्टिस्ट हैं उनके पास और भी ज्यादा प्रोडक्ट्स है हाई लेवल के प्रोडक्ट है तो डिपेंड करता है कि आपका शॉप क्या है आपका आप क्या करना चाहते हो तो यह डिपेंड बेटी का था पर निर्भर करता है यह किसी का ऐसा राइट नहीं है कि कोई हक से बोले कि आपको यह करना चाहिए आप ही प्रोडक्ट रखना चाहिए आपको प्रोडक्ट नहीं रखना चाहिए जैसे कि सिम अगर हम लड़कों पर देखें तो लड़कों का शराब पीना सिगरेट पीना उनकी चॉइस पर निर्भर करता है हालांकि है खराब है सभी जानते हैं कि हानिकारक होता है स्वास्थ्य के लिए लेकिन अगर कोई इंसान खुद कुएं में गिर ना चाहता है तो आप उसको नहीं रोक सकते हो क्योंकि ऐसी कंडीशन में वाक्य बात नहीं सुनेगा सेम वही चीज यहां पर लड़कियों के ऊपर है क्योंकि अपनी इंडिविजुअल इच्छा पर निर्भर करता है जैसे लड़कों का सिगरेट और शराब पीना अपनी एंड उज्जवल इच्छा पर निर्भर करता है कि उनको अपनी लाइफ में क्या करना है वैसे कौन कौन से प्रोडक्ट लड़कियों को रखना चाहिए या नहीं रखना चाहिए अपने पास यह भी लड़कियों पर निर्भर करता है ठीक है तो मेरे ख्याल से इस पर आप जानना चाहे कि किस तरह के रखना चाहिए तो जून को पसंद है उस तरह के प्रोडक्ट उनको पैसा रखने चाहिए जो इंडिविजुअलिटी उनकी है जो उनकी को दिखाएं ठीक है तो वह चीज जो उनकी इच्छा है वही उनको करना चाहिए
Likhit svaasthy aur yog se savaal hain ladakiyon ke paas kaun kaun se byootee prodakts hone chaahie to dekhie ladakiyon ke paas kaun kaun se byootee prodakts hone chaahie ya nahin hona chaahie yah ladakiyon par nirbhar karata hai ki unakee kya chois hai theek hai mujhe nahin lagata ki is topik par kisee ko bolana chaahie kyonki yah indivijual chois hai bahut ladakiyon ko mekap karana bahut jyaada pasand hota hai byootee prodakt bahut pasand hote hain vah alag-alag byootee prodakt apane oopar eksaperiment karatee hai khud lagaatee hai kreem ho gaya ya send ho gaya ya mekap kee koee kit ho gaee hai mekap ka koee aaee lainar ya kaajal vagairah ho gaya bahut see ladakiyaan aisee hotee hai jo pasand hota hai use shaayad ab kaaphee had tak main bhee hoon kyonki mujhe bhee bahut jyaada mekap nahin pasand hai to yah indivijual par dipend karata hai ki aap hee ka to aise ho sakata ho ki koee aur ladakee mujhase bahut pasand ho jaise meree kuchh phrend hai jinako bahut pasand hai bat meree hai jaise ki mujhe jyaada pasand nahin mujhe tumase sitee pasand aae to yah indivijualitee par dipend karata hai aap aapakee soch par nirbhar karata hai ki aap hee kar do meree jyaada mekap na karane kee hai to mere paas byootee prodakts bhee usane nahin hai na main utana yooj karatee hoon na mere paas mekap ka koee prodakt hai bat meree phrendon ke paas har tarah kee kit hai har tarah ke prodakt se kyonki unaka vah shauk hai kuchh ka to propheshan bhee hai kyonki kuchh isee pheeld mein hai kuchh mekap aartist hain unake paas aur bhee jyaada prodakts hai haee leval ke prodakt hai to dipend karata hai ki aapaka shop kya hai aapaka aap kya karana chaahate ho to yah dipend betee ka tha par nirbhar karata hai yah kisee ka aisa rait nahin hai ki koee hak se bole ki aapako yah karana chaahie aap hee prodakt rakhana chaahie aapako prodakt nahin rakhana chaahie jaise ki sim agar ham ladakon par dekhen to ladakon ka sharaab peena sigaret peena unakee chois par nirbhar karata hai haalaanki hai kharaab hai sabhee jaanate hain ki haanikaarak hota hai svaasthy ke lie lekin agar koee insaan khud kuen mein gir na chaahata hai to aap usako nahin rok sakate ho kyonki aisee kandeeshan mein vaaky baat nahin sunega sem vahee cheej yahaan par ladakiyon ke oopar hai kyonki apanee indivijual ichchha par nirbhar karata hai jaise ladakon ka sigaret aur sharaab peena apanee end ujjaval ichchha par nirbhar karata hai ki unako apanee laiph mein kya karana hai vaise kaun kaun se prodakt ladakiyon ko rakhana chaahie ya nahin rakhana chaahie apane paas yah bhee ladakiyon par nirbhar karata hai theek hai to mere khyaal se is par aap jaanana chaahe ki kis tarah ke rakhana chaahie to joon ko pasand hai us tarah ke prodakt unako paisa rakhane chaahie jo indivijualitee unakee hai jo unakee ko dikhaen theek hai to vah cheej jo unakee ichchha hai vahee unako karana chaahie

#जीवन शैली

Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:59
पोषण पूछा गया है कि विवाहित महिला के माता-पिता की दुनिया से चले जाने के बाद बिहार के बदले हुए अनुभव क्या है तो इसमें देखिए एक विवाहित महिला जिसकी शादी ऑलरेडी हो चुकी है वह किसी दूसरे के घर की बहू है किसी की पत्नी है किसी की मां है ठीक है उसके बहुत सारे रिश्ते हैं शादी के बाद और उसके माता-पिता दुनिया में नहीं है तो पीहर के अनुभव तभी बदलते हैं जब हमारा नेचर जो हमारा व्यवहार है वह हमारे अगर हमारे बिहार में जो लोग भी उनके प्रति चाहे वह कोई भी हो माता-पिता के अलावा अगर आपके भाई बहन हैं और भाई बहन की शादी हो चुकी है जैसे कि भाई की शादी हो चुकी है और भाभी के साथ आपके व्यवहार अगर अच्छी नहीं है तो फिर आपकी भाभी के साथ व्यवहार आपकी अच्छी नहीं है तो जाहिर सी बात है आपके अपने मां बाप के घर जाने के बाद क्योंकि अब आप के मां बाप नहीं है तो की भाभी ही जो भी है कर्ताधर्ता वह आपके बिहार के भाभी ही हैं जो कुछ भी है भाई भाभी तो भाभी के साथ आकर प्रभार आपकी अच्छी नहीं है तो जाहिर सी बात है कि आपका अनुभव अच्छा नहीं होगा उनसे मिलने के बाद ठीक है तो वह डिपेंड करता है कि हम सामने वाले के साथ कैसा व्यवहार कर रहे हैं अगर आप अपने भाई भाभी यह जो भी पीहर में आपकी लोग हैं आपके मां-बाप के बाद उनके साथ अगर आप अपना व्यवहार अच्छा रखना हैं उनसे अच्छे से बात कर रहे हैं अच्छे से बोल रहे हैं अच्छे से बर्ताव कर रहे हैं तो मुझे नहीं लगता कि अगर यह करने के बाद भी आप पीहर जाते हैं अपने मां-बाप की दुनिया से चले जाने के बाद तो आपके साथ बुरा हो या आपका अनुभव खराब हो क्योंकि आप किसी के साथ बदतमीजी नहीं कर रहे हैं अगर आप सब के साथ अच्छे से रिस्पेक्ट से बात कर रहे हैं इज्जत के साथ बात कर रहा है चाहे वह आपकी भाभी हो जाए बाप का भाई हो चाहे बाप की बहन होता है वह जो आपके पीहर में रहता हूं आपके मां-बाप के बाद ठीक है अगर आप उस इंसान के साथ अच्छे से बर्ताव कर रहे हैं तो वह इंसान भी आपके साथ अच्छे से बर्ताव करेगा आपके जब आप अपने मायके जाएंगी तब ठीक है तो यह चीज डिपेंड करती है कि हम सामने वाले को क्या दे रहे हैं क्योंकि हमें भी सामने वाला वही देगा जो हम सामने वाले को दे रहे हैं चाहे वह सम्मान हो चाहे वह भेजती हो चाहे वह जो है वह जो भी चीज है जो हम करेंगे वही हमें वापस मिलेगा तो वही वाला हाल है कि जैसा आप टिक टैक वाला कि जैसा आप करोगे वैसा सामने वाला करेगा आप अच्छा करेंगे तो अच्छा होगा बुरा करेंगे तो बुरा होगा कि माता-पिता सब भूल माफ कर देते हैं लेकिन माता-पिता के अलावा दुनिया में ऐसा कोई भी इंसान नहीं है जो आपकी सारी भूल को माफ कर दे तो इस बात का ध्यान रखें और तब यह चीज
Poshan poochha gaya hai ki vivaahit mahila ke maata-pita kee duniya se chale jaane ke baad bihaar ke badale hue anubhav kya hai to isamen dekhie ek vivaahit mahila jisakee shaadee olaredee ho chukee hai vah kisee doosare ke ghar kee bahoo hai kisee kee patnee hai kisee kee maan hai theek hai usake bahut saare rishte hain shaadee ke baad aur usake maata-pita duniya mein nahin hai to peehar ke anubhav tabhee badalate hain jab hamaara nechar jo hamaara vyavahaar hai vah hamaare agar hamaare bihaar mein jo log bhee unake prati chaahe vah koee bhee ho maata-pita ke alaava agar aapake bhaee bahan hain aur bhaee bahan kee shaadee ho chukee hai jaise ki bhaee kee shaadee ho chukee hai aur bhaabhee ke saath aapake vyavahaar agar achchhee nahin hai to phir aapakee bhaabhee ke saath vyavahaar aapakee achchhee nahin hai to jaahir see baat hai aapake apane maan baap ke ghar jaane ke baad kyonki ab aap ke maan baap nahin hai to kee bhaabhee hee jo bhee hai kartaadharta vah aapake bihaar ke bhaabhee hee hain jo kuchh bhee hai bhaee bhaabhee to bhaabhee ke saath aakar prabhaar aapakee achchhee nahin hai to jaahir see baat hai ki aapaka anubhav achchha nahin hoga unase milane ke baad theek hai to vah dipend karata hai ki ham saamane vaale ke saath kaisa vyavahaar kar rahe hain agar aap apane bhaee bhaabhee yah jo bhee peehar mein aapakee log hain aapake maan-baap ke baad unake saath agar aap apana vyavahaar achchha rakhana hain unase achchhe se baat kar rahe hain achchhe se bol rahe hain achchhe se bartaav kar rahe hain to mujhe nahin lagata ki agar yah karane ke baad bhee aap peehar jaate hain apane maan-baap kee duniya se chale jaane ke baad to aapake saath bura ho ya aapaka anubhav kharaab ho kyonki aap kisee ke saath badatameejee nahin kar rahe hain agar aap sab ke saath achchhe se rispekt se baat kar rahe hain ijjat ke saath baat kar raha hai chaahe vah aapakee bhaabhee ho jae baap ka bhaee ho chaahe baap kee bahan hota hai vah jo aapake peehar mein rahata hoon aapake maan-baap ke baad theek hai agar aap us insaan ke saath achchhe se bartaav kar rahe hain to vah insaan bhee aapake saath achchhe se bartaav karega aapake jab aap apane maayake jaengee tab theek hai to yah cheej dipend karatee hai ki ham saamane vaale ko kya de rahe hain kyonki hamen bhee saamane vaala vahee dega jo ham saamane vaale ko de rahe hain chaahe vah sammaan ho chaahe vah bhejatee ho chaahe vah jo hai vah jo bhee cheej hai jo ham karenge vahee hamen vaapas milega to vahee vaala haal hai ki jaisa aap tik taik vaala ki jaisa aap karoge vaisa saamane vaala karega aap achchha karenge to achchha hoga bura karenge to bura hoga ki maata-pita sab bhool maaph kar dete hain lekin maata-pita ke alaava duniya mein aisa koee bhee insaan nahin hai jo aapakee saaree bhool ko maaph kar de to is baat ka dhyaan rakhen aur tab yah cheej

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या आप कभी किसी शिक्षक की ओर आकर्षित हुए हैं?Kya Aap Kabhi Kisi Shikshak Ki Or Akarshit Huye Hai
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:58
यह का क्वेश्चन पूछा गया है कि क्या आप कभी अपनी किसी शिक्षक की ओर आकर्षित हुए हैं तो देखिए आकर्षित होना पहली चीज तो एक स्वभाव है इसमें कोई गलत बात नहीं है अगर आप किसी व्यक्ति की ओर आकर्षित हो रहे हैं तो उसमें कोई दिक्कत नहीं है अगर आप ओ पॉजिटिव विचारों के साथ उस व्यक्ति की तरफ आकर्षित हो रहे हैं कि की आकर्षक कई चीजों से हो सकता है किसी का व्यवहार आपको पसंद आ रहा है यह किसी की बातें आपको पसंद आ रही है किसी के साथ आपको टाइम बताना अच्छा लग रहा है किसी के साथ जो है किसी की बातें सुनना अच्छा लग रहा है तो बहुत सी चीजें हो सकती है जिस वजह से आप किसी दूसरे व्यक्ति के प्रति आकर्षित हो रहे हो तो इसमें कोई गलत गलत बात नहीं है बट जहां तक बात आती है कि शिक्षक के लिए तो एक शिक्षक के प्रति हमें सम्मान रहता है हमारे दिल में क्योंकि शिक्षक का जो ऑर्डर होता है टीचर का जो आधा होता है वह बहुत ही बड़ा होता होता है अगर मां-बाप के बाद हमारी जिंदगी में कोई आता है तो वह शिक्षक होते हैं तो शिक्षा के लिए मेरे ख्याल से जो सम्मान होता है वह होना चाहिए बात पर्सनली पूछी गई है कि क्या आप कभी अपने शिक्षक की ओर आकर्षित हुए हैं तो देखिए लाइफ में हर किसी के साथ ऐसा होता है जब किसी ना किसी को शिक्षक अब कुछ ना कुछ अच्छा लगता है क्योंकि हम जैसा कि मैंने बोला कि माता-पिता के बाद हम उनसे मिलते हैं तो हम उनमें कहीं ना कहीं दुनिया के हर लोगों को देख देखते हैं सीखते हैं तो कुछ ना कुछ हमें कुछ बातें अच्छी भी लगती है कुछ बातें हमें आकर्षित भी करती हैं उनकी और सब के साथ होता है यह बहुत ही नेचुरल चीज है तो इसमें कोई गलत बात नहीं है अगर आप तो अक्टूबर में अपने शिक्षक के प्रति किसी बात को लेकर आकर्षित हो रहे हो चाय बोलकर नेचर हो व्यवहार हूं आपसे अच्छे से बोल रहे हो तो यह सब के साथ होता है और इसमें कोई गलत बात नहीं है यह एक नेचुरल चीज है क्योंकि इंसान है तो जाहिर सी बात है आपको किसी की कोई बात अच्छी नहीं लगेगी किसी को कोई मजबूरी भी लगेगी किसी की बात पर आप उसको जवाब भी दोगे किसी की बात पर आप उसको धन्यवाद भी दोगे तो यह बहुत ही ह्यूमन ह्यूमन नेचर होता है आप वह समझ सकते हैं कि उसी का 11 पाठ है तो यह कोई इसमें कोई ऐसी बात नहीं है गलत बात नहीं है और मेरे साथ आकर मैं अपनी पर्सनल बात करूं चॉइस कि तुम मेरे साथ ऐसा एक बार तब हुआ था जब मैं हम लोग के इंटर्नशिप चल रही थी को हॉस्पिटल्स में और वहां पर एक अंग्रेज आए थे जिनका लुक मुझे काफी अट्रैक्टिव लग रहा था काफी अच्छा लग रहा था तो वहां कुछ टाइम के लिए मैं उनकी बातें और मेरी फ्रेंड जो है वह उनकी बातें सुन रही थी क्योंकि हमें काफी उनका लुक अच्छा लग रहा था उनकी बातें अच्छी लग रही थी क्योंकि अंग्रेज की जो फैंसी होती वह भी काफी डिफरेंट होती है इंडिया
Yah ka kveshchan poochha gaya hai ki kya aap kabhee apanee kisee shikshak kee or aakarshit hue hain to dekhie aakarshit hona pahalee cheej to ek svabhaav hai isamen koee galat baat nahin hai agar aap kisee vyakti kee or aakarshit ho rahe hain to usamen koee dikkat nahin hai agar aap o pojitiv vichaaron ke saath us vyakti kee taraph aakarshit ho rahe hain ki kee aakarshak kaee cheejon se ho sakata hai kisee ka vyavahaar aapako pasand aa raha hai yah kisee kee baaten aapako pasand aa rahee hai kisee ke saath aapako taim bataana achchha lag raha hai kisee ke saath jo hai kisee kee baaten sunana achchha lag raha hai to bahut see cheejen ho sakatee hai jis vajah se aap kisee doosare vyakti ke prati aakarshit ho rahe ho to isamen koee galat galat baat nahin hai bat jahaan tak baat aatee hai ki shikshak ke lie to ek shikshak ke prati hamen sammaan rahata hai hamaare dil mein kyonki shikshak ka jo ordar hota hai teechar ka jo aadha hota hai vah bahut hee bada hota hota hai agar maan-baap ke baad hamaaree jindagee mein koee aata hai to vah shikshak hote hain to shiksha ke lie mere khyaal se jo sammaan hota hai vah hona chaahie baat parsanalee poochhee gaee hai ki kya aap kabhee apane shikshak kee or aakarshit hue hain to dekhie laiph mein har kisee ke saath aisa hota hai jab kisee na kisee ko shikshak ab kuchh na kuchh achchha lagata hai kyonki ham jaisa ki mainne bola ki maata-pita ke baad ham unase milate hain to ham unamen kaheen na kaheen duniya ke har logon ko dekh dekhate hain seekhate hain to kuchh na kuchh hamen kuchh baaten achchhee bhee lagatee hai kuchh baaten hamen aakarshit bhee karatee hain unakee aur sab ke saath hota hai yah bahut hee nechural cheej hai to isamen koee galat baat nahin hai agar aap to aktoobar mein apane shikshak ke prati kisee baat ko lekar aakarshit ho rahe ho chaay bolakar nechar ho vyavahaar hoon aapase achchhe se bol rahe ho to yah sab ke saath hota hai aur isamen koee galat baat nahin hai yah ek nechural cheej hai kyonki insaan hai to jaahir see baat hai aapako kisee kee koee baat achchhee nahin lagegee kisee ko koee majabooree bhee lagegee kisee kee baat par aap usako javaab bhee doge kisee kee baat par aap usako dhanyavaad bhee doge to yah bahut hee hyooman hyooman nechar hota hai aap vah samajh sakate hain ki usee ka 11 paath hai to yah koee isamen koee aisee baat nahin hai galat baat nahin hai aur mere saath aakar main apanee parsanal baat karoon chois ki tum mere saath aisa ek baar tab hua tha jab main ham log ke intarnaship chal rahee thee ko hospitals mein aur vahaan par ek angrej aae the jinaka luk mujhe kaaphee atraiktiv lag raha tha kaaphee achchha lag raha tha to vahaan kuchh taim ke lie main unakee baaten aur meree phrend jo hai vah unakee baaten sun rahee thee kyonki hamen kaaphee unaka luk achchha lag raha tha unakee baaten achchhee lag rahee thee kyonki angrej kee jo phainsee hotee vah bhee kaaphee dipharent hotee hai indiya

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
लड़की वाले जब लड़का देखने के लिए जाते है तो उसकी धन दौलत से मतलब रखते है या लड़के से ?Ladki Vale Ne Jab Ladka Khojne Ke Liye Jaate Hai Uska Dhan Daulat Se Matlab Rakhate Hai Ya Ladake Se Isaka Matlab Bataye
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:58
यह क्वेश्चन है मेरे ख्याल से किसी लड़के नहीं किया है क्वेश्चन है इनका की लड़की वाले ने जब लड़का खोजने के लिए जाता है तो वह धन वालों से मतलब रखता है या लड़के से इसका मतलब बताएं तो पहले चीज तो दोस्त मुझे आपका क्वेश्चन समझ में नहीं आया मेरे ख्याल से आप यह पूछना चाहते हैं कि जब लड़की वाला यह लड़की के मां-बाप या जो भी लड़की से रिश्ता है लड़का देखने जाते हैं खोजने जाते हैं तो वह धन दौलत को देखते हैं धन दौलत वाले व्यक्ति को पसंद करते हैं या फिर लड़के को पसंद करते हैं दोनों में बहुत अंतर है धन दौलत और लड़के में क्या ठीक है क्योंकि धन दौलत में चरित्र आप नहीं किसी का देख सकते लेकिन लड़का अगर आप देख रहे हैं व्यक्ति को अगर आप देखकर लड़की के लिए पसंद कर रहे हैं अपनी तो उसमें आप तो लड़के का सब देखते हैं चले तो देखेंगे उसका व्यवहार देखेंगे उसके लिए आप संस्कार देखेंगे उसका आज देखेंगे और भी जो लड़की के मां-बाप है वह बहुत सी चीज है पता भी करते हैं और लड़की के लिए लेटेस्ट से लड़की के आसपास से जहां वह नौकरी करते हैं वहां से तो मेरे ख्याल से जो लड़की के मां-बाप होंगे वह धन बोला तो नहीं देखेंगे क्योंकि उन्हें मतलब यह होगा कि उनकी लड़की खुश रहे उनकी लड़की को ऐसे घर में विदा करें उनकी लड़की ऐसे घर में जाए जहां उसे किसी चीज की कमी ना हो क्योंकि हर मां बाप के लिए उनकी बेटी परी के समान होती है वह अपनी बेटी को प्रिंसेस की तरह रखते हैं चाहे वह मां-बाप कैसे भी कंडीशन में हूं वो खुद भूखे रह जाते हैं लेकिन अपनी बच्ची को या अपने बच्चों को भूखा नहीं रहने देते हैं तो यह यही चीज हमारे भारतवर्ष में जो है हर मां-बाप ऐसे होते हैं यहां की तो इसलिए धन दौलत तो मैं नहीं कहूंगी कि मां-बाप देखते हैं जो बेसिक बेनिफिट्स आया जो बेसिक रिक्वायरमेंट शंभू जरूर देखते हैं कि लड़का सैटरडे की लड़की को फ्यूचर में दिक्कत ना हो और अगर लड़की जो है हमारी जॉब कर रही है तो उसे जो है लड़का उतनी फ्रीडम दे कि वह अपने मन से कर सके तो यह सब जो चीज है जो मेरे ख्याल से गलत नहीं है वह एक मां-बाप देखते हैं क्योंकि मां-बाप के नजरिए से यह होता है कि उनकी बेटी हर हाल में खुश रहे चाहे वह कैसे भी खुश रहे मैं तुम्हें हर हाल में खुश रहे तू उधार ले लो तो नहीं भूल लड़का लड़की का स्वभाव लड़की के आजकल लड़के के परिवार कैसा है क्या है लड़की के पास क्या-क्या चीजें हैं बेसिक सो रहे हैं या नहीं ऐसे घर हो गया या जो है वह इंसान का तरीका या कोई दिक्कत तो नहीं है हो सकती है जिसे आप कुछ अगर बंद हो गया हो तो दिक्कत तो ना हो जाए यह सब चीजों को ध्यान में रखकर वह कोई भी पता ना बाप अपनी बेटी को विदा करते हैं जो कि ठीक है
Yah kveshchan hai mere khyaal se kisee ladake nahin kiya hai kveshchan hai inaka kee ladakee vaale ne jab ladaka khojane ke lie jaata hai to vah dhan vaalon se matalab rakhata hai ya ladake se isaka matalab bataen to pahale cheej to dost mujhe aapaka kveshchan samajh mein nahin aaya mere khyaal se aap yah poochhana chaahate hain ki jab ladakee vaala yah ladakee ke maan-baap ya jo bhee ladakee se rishta hai ladaka dekhane jaate hain khojane jaate hain to vah dhan daulat ko dekhate hain dhan daulat vaale vyakti ko pasand karate hain ya phir ladake ko pasand karate hain donon mein bahut antar hai dhan daulat aur ladake mein kya theek hai kyonki dhan daulat mein charitr aap nahin kisee ka dekh sakate lekin ladaka agar aap dekh rahe hain vyakti ko agar aap dekhakar ladakee ke lie pasand kar rahe hain apanee to usamen aap to ladake ka sab dekhate hain chale to dekhenge usaka vyavahaar dekhenge usake lie aap sanskaar dekhenge usaka aaj dekhenge aur bhee jo ladakee ke maan-baap hai vah bahut see cheej hai pata bhee karate hain aur ladakee ke lie letest se ladakee ke aasapaas se jahaan vah naukaree karate hain vahaan se to mere khyaal se jo ladakee ke maan-baap honge vah dhan bola to nahin dekhenge kyonki unhen matalab yah hoga ki unakee ladakee khush rahe unakee ladakee ko aise ghar mein vida karen unakee ladakee aise ghar mein jae jahaan use kisee cheej kee kamee na ho kyonki har maan baap ke lie unakee betee paree ke samaan hotee hai vah apanee betee ko prinses kee tarah rakhate hain chaahe vah maan-baap kaise bhee kandeeshan mein hoon vo khud bhookhe rah jaate hain lekin apanee bachchee ko ya apane bachchon ko bhookha nahin rahane dete hain to yah yahee cheej hamaare bhaaratavarsh mein jo hai har maan-baap aise hote hain yahaan kee to isalie dhan daulat to main nahin kahoongee ki maan-baap dekhate hain jo besik beniphits aaya jo besik rikvaayarament shambhoo jaroor dekhate hain ki ladaka saitarade kee ladakee ko phyoochar mein dikkat na ho aur agar ladakee jo hai hamaaree job kar rahee hai to use jo hai ladaka utanee phreedam de ki vah apane man se kar sake to yah sab jo cheej hai jo mere khyaal se galat nahin hai vah ek maan-baap dekhate hain kyonki maan-baap ke najarie se yah hota hai ki unakee betee har haal mein khush rahe chaahe vah kaise bhee khush rahe main tumhen har haal mein khush rahe too udhaar le lo to nahin bhool ladaka ladakee ka svabhaav ladakee ke aajakal ladake ke parivaar kaisa hai kya hai ladakee ke paas kya-kya cheejen hain besik so rahe hain ya nahin aise ghar ho gaya ya jo hai vah insaan ka tareeka ya koee dikkat to nahin hai ho sakatee hai jise aap kuchh agar band ho gaya ho to dikkat to na ho jae yah sab cheejon ko dhyaan mein rakhakar vah koee bhee pata na baap apanee betee ko vida karate hain jo ki theek hai

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
चाहे लड़का हो या लड़की अपने मनपसंद शादी करना सही या अपने माता-पिता मनपसंद की शादी करना उचित है?Chaahe Ladaka Ho Ya Ladakee Apane Manapasand Shaadee Karana Sahee Ya Apane Maata-pita Manapasand Kee Shaadee Karana Uchit Hai
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:59
यह घोषणाएं निजी सोच पर डिपेंड है कोचिंग करता ने पूछा है कि चाहे लड़का हो या लड़की हो अपने मनपसंद शादी करना सही या फिर अपने माता-पिता के मनपसंद की शादी करना उचित है तो देखिए दोनों ही तरह से उचित है चाहे आपकी पसंद हो या आपके माता-पिता की पसंद हो फर्क इतना है क्या आपकी माता आपकी पसंद में भी आपके माता-पिता की जो उनका जो पसंद है वह शामिल होनी चाहिए जो जिस लाइफ पार्टनर को आप अपने लिए पसंद कर रहे हैं चाहे वह लड़का हो या लड़की हो उसमें उसमें आपके माता-पिता का भी और जो है आशीर्वाद होना चाहिए आपके ऊपर उनका भी जो है उनकी भी राय होनी चाहिए वह भी उनकी भी पसंद होनी चाहिए कि वह क्या पसंद कर रहा है वह आपके लाइफ पार्टनर को आपके साथ देखना चाह रहे हैं या नहीं तो वह बहुत है होटल है क्योंकि कोई भी माता-पिता अपने बच्चे का कभी बुरा नहीं चाहेंगे ऐसा मेरा मानना है कोई भी दुनिया के ऐसे मां बाप नहीं होंगे जो अपने बच्चों का नुकसान करेंगे या नुकसान चाहेंगे कि माता-पिता को भगवान का दर्जा दिया जाता है कहा जाता है कि भगवान हर जगह हर हर परिस्थिति में हर जगह साथ नहीं हो सकते इसलिए उसने मां-बाप बनाया ताकि मां-बाप हर एक इंसान के साथ रहे ठीक है और उनको प्यार करें और निस्वार्थ प्रेम जिसे कहते हैं वह मां-बाप के द्वारा ही बच्चों को प्राप्त होता है बच्चों को मिलता है तो माता-पिता जो भी निर्णय आपके लिए करेंगे वह आपके लिए अच्छा होगा भले आपको उस टाइम ना पता चले लेकिन फ्यूचर में वह आपके लिए ही अच्छा होगा वह आपके लिए लाभकारी होगा तो माता-पिता की दृष्टि से या माता-पिता की पसंद से शादी करना ठीक है आपकी पसंद से भी शादी करना ठीक है आप की भी राय होनी चाहिए माता-पिता की भी राय होनी चाहिए और कोशिश करिए कि जो पसंद हो वह सब की हो ठीक है और आपकी प्राइवेसी नहीं होनी चाहिए जिसमें आपके माता-पिता की सहमति ना हो जिसे वह खुश ना हो या आपकी सोच ऐसी नहीं होनी चाहिए यह जो अपने माता-पिता का सम्मान कर रही हो आपके माता-पिता का अपमान कर रही हो ठीक है अब तो आप ऐसा लाइफ पार्टनर चूस करें चाहे लड़का हो या लड़की है जैसे वह अपने मां-बाप को ट्वीट करें वैसे ही वह आपके मां-बाप को ट्वीट करें वही इज्जत वहीं इस पर तुम्हारी प्यार जो अपने मां-बाप को दे रही है भाई आपके मां-बाप को डिबेट और तू यह एक मां बाप के लिए आजकल के टाइम में यह बहुत जरूरी है और मां-बाप जो भी लड़का लड़की पसंद करते हैं और यही देखी करते हैं कि लड़की लड़का संस्कारी हो जो हमारे परिवार में मिले तो यह देख कर ही अपना लाइफ पार्टनर सुने और पूरे घर की सहमति के साथ सुनीता किसका खुश हुए आपकी पसंद से
Yah ghoshanaen nijee soch par dipend hai koching karata ne poochha hai ki chaahe ladaka ho ya ladakee ho apane manapasand shaadee karana sahee ya phir apane maata-pita ke manapasand kee shaadee karana uchit hai to dekhie donon hee tarah se uchit hai chaahe aapakee pasand ho ya aapake maata-pita kee pasand ho phark itana hai kya aapakee maata aapakee pasand mein bhee aapake maata-pita kee jo unaka jo pasand hai vah shaamil honee chaahie jo jis laiph paartanar ko aap apane lie pasand kar rahe hain chaahe vah ladaka ho ya ladakee ho usamen usamen aapake maata-pita ka bhee aur jo hai aasheervaad hona chaahie aapake oopar unaka bhee jo hai unakee bhee raay honee chaahie vah bhee unakee bhee pasand honee chaahie ki vah kya pasand kar raha hai vah aapake laiph paartanar ko aapake saath dekhana chaah rahe hain ya nahin to vah bahut hai hotal hai kyonki koee bhee maata-pita apane bachche ka kabhee bura nahin chaahenge aisa mera maanana hai koee bhee duniya ke aise maan baap nahin honge jo apane bachchon ka nukasaan karenge ya nukasaan chaahenge ki maata-pita ko bhagavaan ka darja diya jaata hai kaha jaata hai ki bhagavaan har jagah har har paristhiti mein har jagah saath nahin ho sakate isalie usane maan-baap banaaya taaki maan-baap har ek insaan ke saath rahe theek hai aur unako pyaar karen aur nisvaarth prem jise kahate hain vah maan-baap ke dvaara hee bachchon ko praapt hota hai bachchon ko milata hai to maata-pita jo bhee nirnay aapake lie karenge vah aapake lie achchha hoga bhale aapako us taim na pata chale lekin phyoochar mein vah aapake lie hee achchha hoga vah aapake lie laabhakaaree hoga to maata-pita kee drshti se ya maata-pita kee pasand se shaadee karana theek hai aapakee pasand se bhee shaadee karana theek hai aap kee bhee raay honee chaahie maata-pita kee bhee raay honee chaahie aur koshish karie ki jo pasand ho vah sab kee ho theek hai aur aapakee praivesee nahin honee chaahie jisamen aapake maata-pita kee sahamati na ho jise vah khush na ho ya aapakee soch aisee nahin honee chaahie yah jo apane maata-pita ka sammaan kar rahee ho aapake maata-pita ka apamaan kar rahee ho theek hai ab to aap aisa laiph paartanar choos karen chaahe ladaka ho ya ladakee hai jaise vah apane maan-baap ko tveet karen vaise hee vah aapake maan-baap ko tveet karen vahee ijjat vaheen is par tumhaaree pyaar jo apane maan-baap ko de rahee hai bhaee aapake maan-baap ko dibet aur too yah ek maan baap ke lie aajakal ke taim mein yah bahut jarooree hai aur maan-baap jo bhee ladaka ladakee pasand karate hain aur yahee dekhee karate hain ki ladakee ladaka sanskaaree ho jo hamaare parivaar mein mile to yah dekh kar hee apana laiph paartanar sune aur poore ghar kee sahamati ke saath suneeta kisaka khush hue aapakee pasand se

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या बेटी का पैदा होना बुरी बात है आशीर्वाद है?Kya Beti Ka Paida Hona Buri Baat Hai Ashirvaad Hai
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:59
कुशन है क्या बेटी का पैदा होना बुरी बात है आशीर्वाद है तो देखिए मैं भी एक बेटी हूं ठीक है तुम मैं आपको जिन्होंने भी क्वेश्चन पूछा है मैं यही कहूंगी कि बेटी का होना कोई बुरी बात नहीं बेटी का होना एक आशीर्वाद ही आप समझ सकते हैं जैसे कि एक कहावत भी कही गई है कि बेटा भाग्य से होता है बेटी सौभाग्य से होती है ठीक है तो आप अगर आपको बेटी हुई है बेटी को लक्ष्मी का दर्जा इसलिए दिया गया है क्योंकि जो हमारे पुराने जो हमारे पूर्वज थे वह ऐसा मानते थे कि लड़की जो है वह लक्ष्मी का रुप होती है लड़की जो घर में आती है उसमें लक्ष्मी लाती है ठीक है तो इसलिए आप सौभाग्य समझे कि आप केंद्र में लक्ष्मी हुई है क्या आपको लक्ष्मी स्वयं लक्ष्मी जी आपके घर में आई हैं आपकी बेटी का रूप लेकर और इसमें कोई गलत बात नहीं है लड़का से लड़का है वैसी बेटी है आप अपनी बेटी को अगर अच्छे से जुड़े करेंगे लाइफ में उसको हर चीज देंगे पढ़ाई हो लिखाई हो उसको मोटिवेट करेंगे आगे बढ़ने के लिए तो डेफिनेटली आगे चलकर बाप का नाम रोशन करेगी करेगी इसमें कोई दो राय नहीं है लड़की को कभी भी यह मत महसूस होने दीजिए कि वह किसी तरह से लड़कों से कम है उसको हमेशा मोटिवेट करते रहिए क्योंकि पैरंट्स कैसे बहुत इंपॉर्टेंट रोल होता है क्योंकि देखिए सोसाइटी जो है वह आप भी जानते हैं कि पुरुष प्रधान सोसाइटी में लड़कियों का सरवाइव करना बहुत मुश्किल होता है खासकर उन लड़कियों का जो शर्ट पैंट होती है या होना चाहती है या महिलाओं का जो सर घुटन होती है और होना चाहती है तो उनका सर बाइबल बहुत मुश्किल होता है उस पर हम समाज में तो ऐसे में माता-पिता का बहुत इंपॉर्टेंट रोल होता है अपनी लड़की को सपोर्ट करना कहा वह गलत है कहा वह सही है वह बता क्योंकि माता-पिता ही हमारे पहले शिक्षक होते हैं जो हमें अच्छे बुरे की पहचान कराते हैं तो मेरे ख्याल से बेटी को उसका हाथ दीजिए उसको फ्रीडम दीजिए कि वह अपनी लाइफ डिसीजन ले सके और उसमें भेदभाव ना करें लड़के और लड़की में बेटी पैदा हुई है दूसरे बेटे की तरह ही पहले और ताकि वह भी फ्यूचर में आगे आपका नाम रोशन करें और वह आशीर्वाद है कोई बुरी बात नहीं है क्योंकि बेटा होना या बेटी होना यह भगवान तय करते हैं हमारे ऊपर नहीं तो हम नहीं तय करते कि हमें क्या संतान प्राप्त होगी ऊपर वाले का है जिसकी नसीब में जो लिखा होता है उसे वही मिलता है और बेटी सौभाग्य से होती है बेटा भाग्य से होता है या समझ गए और जो है आप को कभी कन्यादान सबसे महादान बड़ा दान माना गया तो सोचिए कि आप कोई सौभाग्य प्राप्त हुआ है ईश्वर की कृपा से तो इसको आशीर्वाद ही समझे
Kushan hai kya betee ka paida hona buree baat hai aasheervaad hai to dekhie main bhee ek betee hoon theek hai tum main aapako jinhonne bhee kveshchan poochha hai main yahee kahoongee ki betee ka hona koee buree baat nahin betee ka hona ek aasheervaad hee aap samajh sakate hain jaise ki ek kahaavat bhee kahee gaee hai ki beta bhaagy se hota hai betee saubhaagy se hotee hai theek hai to aap agar aapako betee huee hai betee ko lakshmee ka darja isalie diya gaya hai kyonki jo hamaare puraane jo hamaare poorvaj the vah aisa maanate the ki ladakee jo hai vah lakshmee ka rup hotee hai ladakee jo ghar mein aatee hai usamen lakshmee laatee hai theek hai to isalie aap saubhaagy samajhe ki aap kendr mein lakshmee huee hai kya aapako lakshmee svayan lakshmee jee aapake ghar mein aaee hain aapakee betee ka roop lekar aur isamen koee galat baat nahin hai ladaka se ladaka hai vaisee betee hai aap apanee betee ko agar achchhe se jude karenge laiph mein usako har cheej denge padhaee ho likhaee ho usako motivet karenge aage badhane ke lie to dephinetalee aage chalakar baap ka naam roshan karegee karegee isamen koee do raay nahin hai ladakee ko kabhee bhee yah mat mahasoos hone deejie ki vah kisee tarah se ladakon se kam hai usako hamesha motivet karate rahie kyonki pairants kaise bahut importent rol hota hai kyonki dekhie sosaitee jo hai vah aap bhee jaanate hain ki purush pradhaan sosaitee mein ladakiyon ka saravaiv karana bahut mushkil hota hai khaasakar un ladakiyon ka jo shart paint hotee hai ya hona chaahatee hai ya mahilaon ka jo sar ghutan hotee hai aur hona chaahatee hai to unaka sar baibal bahut mushkil hota hai us par ham samaaj mein to aise mein maata-pita ka bahut importent rol hota hai apanee ladakee ko saport karana kaha vah galat hai kaha vah sahee hai vah bata kyonki maata-pita hee hamaare pahale shikshak hote hain jo hamen achchhe bure kee pahachaan karaate hain to mere khyaal se betee ko usaka haath deejie usako phreedam deejie ki vah apanee laiph diseejan le sake aur usamen bhedabhaav na karen ladake aur ladakee mein betee paida huee hai doosare bete kee tarah hee pahale aur taaki vah bhee phyoochar mein aage aapaka naam roshan karen aur vah aasheervaad hai koee buree baat nahin hai kyonki beta hona ya betee hona yah bhagavaan tay karate hain hamaare oopar nahin to ham nahin tay karate ki hamen kya santaan praapt hogee oopar vaale ka hai jisakee naseeb mein jo likha hota hai use vahee milata hai aur betee saubhaagy se hotee hai beta bhaagy se hota hai ya samajh gae aur jo hai aap ko kabhee kanyaadaan sabase mahaadaan bada daan maana gaya to sochie ki aap koee saubhaagy praapt hua hai eeshvar kee krpa se to isako aasheervaad hee samajhe

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या अपने से उम्र में 6 साल छोटी लड़की से शादी करनी चाहिए?Kya Apne Se Umr Mein 6 Saal Choti Ladki Se Shadi Karni Chaiye
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:58
कुछ करता नहीं पूछा है क्या अपने से उम्र में 6 साल छोटी लड़की से शादी करना करनी चाहिए तो देखिए उम्र से टपक पर फर्क पड़ता है जब आप जब लड़की की उम्र जो है ज्यादा हो लड़की से बहुत ज्यादा हो और जैसे कि 30 किस जाति से ज्यादा हो और लड़की लड़की की उम्र है क्या लड़की उतनी में जोड़ना हो तो फर्क पड़ता है राजा से लड़की जिसकी है ठीक है और वह उस लड़के का कम पर बहुत छोटी है ठीक है लड़का 30 फुट अब अब है ठीक है अब बढ़ाकर कम डिफरेंस है 206 साल का डिफरेंस है 6 साल छोटी लड़की और अगर लड़की इस रिश्ते से खुश है ठीक है लड़की क्या चाहती है सबसे पहले दोनों की लड़की के फैमिली में यह जो भी टाइम होता है शादी का तो कौन सी चीजें बहुत सी बातों का ध्यान रखकर ही इस डिसीजन को लिया जाता है जाए लड़की वही लड़की के मां-बाप हो बहुत से जो घर होते हैं वहां पर लड़की की राय नहीं पूछी जाती लड़की की बॉसी आज है उनकी सहमति नहीं होती है या उनकी सहमति नहीं लेना जरूरी समझा जाता मां-बाप भी उनको इतनी फ्रीडम नहीं देते हैं कि वह अपनी बातें रख सके या कुछ बोल सके शादी से रिलेटेड ठीक है तू सबसे पहले तो आप को लड़की से बात करनी चाहिए कि लड़की शादी के लिए तैयार है या नहीं अगर लड़की शादी के लिए तैयार है 6 साल बड़े आदमी से तो फिर कोई दिक्कत नहीं है फिर जैसे भी जो भी मैनेज करना है वह लड़की खुद मैनेज करेगी वह खुद ही शादी के बाद उन्हें कैसे क्या करना है वह खुद इतना समझदार हो जाएंगे ठीक है कि वह अपना मैरिज कर पाए और इसमें डिपेंड करता है कि लड़की क्या चाहती है क्योंकि मेरी भी एक फ्रेंड है मैं नाम नहीं लेना चाहूंगी उनका उनकी और उनके हस्बैंड में 10 साल का डिफरेंस है वह अपने हस्बैंड से 10 साल छोटी है और उनके हस्बैंड 10 साल बड़े हैं उनकी भी अरेंज मैरिज ही है और वह भी उस रिश्ते से खुश हैं उनके हस्बैंड भी उस रिश्ते से खुश हैं और अपनी लाइफ अच्छे से भी रही है अभी जल्दी उनको एक बेबी भी हुआ है तो वह अपनी लाइफ में खुश हैं अपने हस्बैंड के साथ ऐसा नहीं है कि इसका परिणाम बुरा ही निकलता है इसका बनाम अच्छा भी नहीं करता है बट वह डिपेंड करता है कि लड़की क्या चाहती है अगर लड़की शादी करना चाहती है तो कोई दिक्कत नहीं है फिर और अगर लड़की है राजी नहीं है अपने से बड़े आदमी से शादी करने को 6 साल या 5 साल बड़े आदमी से शादी करने को अगर वह खुश नहीं रहेगी तो आप भी खुश नहीं रहोगे तो ऐसे इंसान से शादी करने का कोई मतलब नहीं है इसलिए आप डायरेक्टली लड़की से बात करें और उनके मन की बात जाने और फिर आप डिसीजन लेकर आपको क्या करना चाहिए क्या नहीं
Kuchh karata nahin poochha hai kya apane se umr mein 6 saal chhotee ladakee se shaadee karana karanee chaahie to dekhie umr se tapak par phark padata hai jab aap jab ladakee kee umr jo hai jyaada ho ladakee se bahut jyaada ho aur jaise ki 30 kis jaati se jyaada ho aur ladakee ladakee kee umr hai kya ladakee utanee mein jodana ho to phark padata hai raaja se ladakee jisakee hai theek hai aur vah us ladake ka kam par bahut chhotee hai theek hai ladaka 30 phut ab ab hai theek hai ab badhaakar kam dipharens hai 206 saal ka dipharens hai 6 saal chhotee ladakee aur agar ladakee is rishte se khush hai theek hai ladakee kya chaahatee hai sabase pahale donon kee ladakee ke phaimilee mein yah jo bhee taim hota hai shaadee ka to kaun see cheejen bahut see baaton ka dhyaan rakhakar hee is diseejan ko liya jaata hai jae ladakee vahee ladakee ke maan-baap ho bahut se jo ghar hote hain vahaan par ladakee kee raay nahin poochhee jaatee ladakee kee bosee aaj hai unakee sahamati nahin hotee hai ya unakee sahamati nahin lena jarooree samajha jaata maan-baap bhee unako itanee phreedam nahin dete hain ki vah apanee baaten rakh sake ya kuchh bol sake shaadee se rileted theek hai too sabase pahale to aap ko ladakee se baat karanee chaahie ki ladakee shaadee ke lie taiyaar hai ya nahin agar ladakee shaadee ke lie taiyaar hai 6 saal bade aadamee se to phir koee dikkat nahin hai phir jaise bhee jo bhee mainej karana hai vah ladakee khud mainej karegee vah khud hee shaadee ke baad unhen kaise kya karana hai vah khud itana samajhadaar ho jaenge theek hai ki vah apana mairij kar pae aur isamen dipend karata hai ki ladakee kya chaahatee hai kyonki meree bhee ek phrend hai main naam nahin lena chaahoongee unaka unakee aur unake hasbaind mein 10 saal ka dipharens hai vah apane hasbaind se 10 saal chhotee hai aur unake hasbaind 10 saal bade hain unakee bhee arenj mairij hee hai aur vah bhee us rishte se khush hain unake hasbaind bhee us rishte se khush hain aur apanee laiph achchhe se bhee rahee hai abhee jaldee unako ek bebee bhee hua hai to vah apanee laiph mein khush hain apane hasbaind ke saath aisa nahin hai ki isaka parinaam bura hee nikalata hai isaka banaam achchha bhee nahin karata hai bat vah dipend karata hai ki ladakee kya chaahatee hai agar ladakee shaadee karana chaahatee hai to koee dikkat nahin hai phir aur agar ladakee hai raajee nahin hai apane se bade aadamee se shaadee karane ko 6 saal ya 5 saal bade aadamee se shaadee karane ko agar vah khush nahin rahegee to aap bhee khush nahin rahoge to aise insaan se shaadee karane ka koee matalab nahin hai isalie aap daayarektalee ladakee se baat karen aur unake man kee baat jaane aur phir aap diseejan lekar aapako kya karana chaahie kya nahin

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
औः ंं madam Mera aapse Ek Sawal hai kya Ladkiyon ko Patana Hai To sadipahnana Chudiyan pehna sahi hai kya मैडम मेरा सवाल है कि?Auh Nn Madam Mair Aapsai Aik Sawal Hai Ky Ladkiyon Ko Patan Hai To Sadipahnan Chhudiyan Paihn Sahi Hai Ky Maidam Mera Savaal Hai Ki
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:54
जयपुर से अनुरोध क्वेश्चन है और इसमें क्वेश्चन करता नहीं पूछा है कि मैंने मेरा एक सवाल है कि अगर लड़की को पटाना है तो क्या साड़ी चूड़ियां पहनना पहन कर उसे पढ़ा ना सही है तो मेरे ख्याल से यह एक लड़की नहीं क्वेश्चन पूछा है कि वह किसी अदर लड़की को इंप्रेस करने के लिए क्या साड़ी और चूड़ी पहनना अच्छा ठीक है या नहीं तो मैं परेशन कर्ता का नाम नहीं बताऊंगी बिकॉज वे निजी जिंदगी से रिलेटेड है तो लेकिन आज उन्होंने कुछ पूछा है मैं आपको यही बोलूंगी कि आप पहली चीज तो जिसको आप संपर्क करना चाहते हैं या चाहती हैं ठीक है तो जो भी लड़की आपको पसंद है आप के महिला मित्र आप सबसे पहले उनका स्वभाव देखिए क्योंकि बहुत सी लड़कियां ऐसी होती हैं जो लोग पर जज नहीं करती हैं जो आप क्या पहन रहे हो क्या नहीं पहनते हो कपड़े में तूने मतलब नहीं होता है अगर आप उनका दिल छू लेंगे तो आप वह आपको अपना मानने लगेंगे तो ठीक है सबसे पहले उन को सबसे पहले आपको उनके दिल की बात यहां देखनी पड़ेगी जानी पड़ेगी और उनके मन को टटोलना पड़ेगा क्यों नहीं क्या चीज है पसंद है क्या चीज़ नहीं पसंद है और उनको अगर आप को इंप्रेस करना है तो उनकी छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखना चाहिए ठीक है जो लड़कियों को काफी अच्छा लगता है यह सब चीज है यह सब बातें और वह उनका व्यक्तित्व कैसा है उनको क्या चीज नहीं अच्छी लगती है या भूल उस पर जज करती हैं या नहीं करती है इन सब बातों को जानना बहुत जरूरी है आप जिसको भी जिस लड़की को भी आप इंप्रेस करना चाहती हैं उसके बारे में तो सबसे पहले आप पूछते हो व्यक्ति को पर्सनल लेवल पर जानी है कि वह व्यक्ति कैसा है और बाद में आप यह जिस करिए कि आप को उसको कैसे उसको इंप्रेस करना है तो हो सकता है कि वह लड़की जो भी है वो आपकी बातों से इंप्रेस हो जाए आपके नेचर सिंपल सोचा आपके व्यवहार से इंप्रेस हो जाए ठीक है आपको कपड़े पहनने के या कुछ इस्टाइल इस पैसे की जरूरत ही ना पड़े तो सबसे पहले इंसान को जाने ठीक है तब आप यह ऑब्जर्व करें कि आपको क्या करना चाहिए उस को इंप्रेस करने के लिए मैं सबसे पहले व्यक्ति को छोटू को व्यक्ति के दिल को छुए ठीक है अगर आप व्यक्ति के दिल को छू लेंगे जिस भी इंसान के अफजल को सोएंगे तो आप डेफिनेटली उस इंसान की करीब अपने आप ही पहुंच जाएंगे तो मैं सबसे पहले तो उनके मन की बात जाने दो आपके बारे में क्या सोचती हैं वह जा नहीं आई वह आपके अपने रिलेशन को किसमें में देख रही है दोस्ती के बारे में देख रही है या किसी और में मैं देख रही है तो वह सब चीजें जाने और उनके मन की बात जाने उसके बाद आप ही डिसाइड करें कि आपको क्या करना चाहिए क्या नहीं करना चाहिए
Jayapur se anurodh kveshchan hai aur isamen kveshchan karata nahin poochha hai ki mainne mera ek savaal hai ki agar ladakee ko pataana hai to kya sari choodiyaan pahanana pahan kar use padha na sahee hai to mere khyaal se yah ek ladakee nahin kveshchan poochha hai ki vah kisee adar ladakee ko impres karane ke lie kya sari aur choodee pahanana achchha theek hai ya nahin to main pareshan karta ka naam nahin bataoongee bikoj ve nijee jindagee se rileted hai to lekin aaj unhonne kuchh poochha hai main aapako yahee boloongee ki aap pahalee cheej to jisako aap sampark karana chaahate hain ya chaahatee hain theek hai to jo bhee ladakee aapako pasand hai aap ke mahila mitr aap sabase pahale unaka svabhaav dekhie kyonki bahut see ladakiyaan aisee hotee hain jo log par jaj nahin karatee hain jo aap kya pahan rahe ho kya nahin pahanate ho kapade mein toone matalab nahin hota hai agar aap unaka dil chhoo lenge to aap vah aapako apana maanane lagenge to theek hai sabase pahale un ko sabase pahale aapako unake dil kee baat yahaan dekhanee padegee jaanee padegee aur unake man ko tatolana padega kyon nahin kya cheej hai pasand hai kya cheez nahin pasand hai aur unako agar aap ko impres karana hai to unakee chhotee-chhotee baaton ka dhyaan rakhana chaahie theek hai jo ladakiyon ko kaaphee achchha lagata hai yah sab cheej hai yah sab baaten aur vah unaka vyaktitv kaisa hai unako kya cheej nahin achchhee lagatee hai ya bhool us par jaj karatee hain ya nahin karatee hai in sab baaton ko jaanana bahut jarooree hai aap jisako bhee jis ladakee ko bhee aap impres karana chaahatee hain usake baare mein to sabase pahale aap poochhate ho vyakti ko parsanal leval par jaanee hai ki vah vyakti kaisa hai aur baad mein aap yah jis karie ki aap ko usako kaise usako impres karana hai to ho sakata hai ki vah ladakee jo bhee hai vo aapakee baaton se impres ho jae aapake nechar simpal socha aapake vyavahaar se impres ho jae theek hai aapako kapade pahanane ke ya kuchh istail is paise kee jaroorat hee na pade to sabase pahale insaan ko jaane theek hai tab aap yah objarv karen ki aapako kya karana chaahie us ko impres karane ke lie main sabase pahale vyakti ko chhotoo ko vyakti ke dil ko chhue theek hai agar aap vyakti ke dil ko chhoo lenge jis bhee insaan ke aphajal ko soenge to aap dephinetalee us insaan kee kareeb apane aap hee pahunch jaenge to main sabase pahale to unake man kee baat jaane do aapake baare mein kya sochatee hain vah ja nahin aaee vah aapake apane rileshan ko kisamen mein dekh rahee hai dostee ke baare mein dekh rahee hai ya kisee aur mein main dekh rahee hai to vah sab cheejen jaane aur unake man kee baat jaane usake baad aap hee disaid karen ki aapako kya karana chaahie kya nahin karana chaahie

#रिश्ते और संबंध

Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:59
यह एक अनुरोध क्वेश्चन है मैं प्रश्न करता का नाम नहीं बता रही हूं क्योंकि इन्होंने कुछ पर्सनल टॉपिक निजी जानकारी के ऊपर पूछा है कि जो है कि जब लोग उसे किसी लड़की की जासूसी की पीछे लगा देते हैं तो वह इंसान क्या करें लोग इतने फालतू है यह सब जो उन्होंने पूछा है तो यह आपने बड़ी चीज तो आपने जो प्रश्न करता है आपने क्वेश्चन जो है जिस संदर्भ में पूछा है वह आप सही से आपको खुशी व्यक्त नहीं कर पा रहा है क्योंकि मुझे नहीं समझ में आ रहा है कि वह इंसान आपको अपने अपने ऊपर पूछा है आपने किसी थर्ड पर्सन के ऊपर पूछा है ठीक है रही बात लड़की के पीछे जासूसी करने के लिए तो देखेंगे तो मानसिकता पर निर्भर करता है बहुत से ऐसे घर होते हैं जिनमें आज भी जो हमारे बड़े बुजुर्ग होते हैं उनमें रूढ़िवादी सोच होती है कहीं ना कहीं वह अपनी जगह जो सोचते हैं जो भी होता है क्योंकि वह उसी पर वरिष्ठ से निकली हो तो उन्होंने वैसे माहौल देखा होता है उन्होंने वह रूढ़िवादी सोच लिया होता है अपने बचपन में अपने चाइल्डहुड में बट आजकल लाइफ में पहले की लाइफ में बहुत ज्यादा डिफरेंस है पहले कंप्यूटर है या पहले हम लैपटॉप या पहले फोन का हमें नाम भी नहीं सुना होता है बेटा क्योंकि बच्चे छोटे-छोटे बच्चे पढ़ते हैं यूट्यूब पर है वह सब जानते हैं तो पहले की लाइफ में आज क्लास में जमीन आसमान का अंतर है पहली चीज दो और दूसरी चीज लेकिन यह इंसान की सोच पर निर्भर करता है अगर लड़की के पीछे जाए उसके लिए जासूसी के लिए लगा रहे हैं तो वह लड़की से पहले से तो आप का क्या संबंध है उस इंसान का क्या संबंध है अगर वह आपकी वाइफ है अब आपकी बहन है क्या वह भी है अक्सर गेट कौन सी पसंद है आपके रिलेटिव में आती है तो पहले से तो यह करना गलत है ठीक है अगर कोई भी बात को लेकर किसी भी चीज को लेकर किसी भी इंसान को इंसान आपको जासूसी के लिए कह रहा है या रूम पर किस दूसरे पर्सन को जासूसी के लिए कह रहा है तू उस बजे को जानती आप डायरेक्टली उस इंसान से पूछ लेना कि उसके पीछे जब छुट्टी करके या फिर जो है इन सबको देखकर इतना सब कुछ करके आप बैटिंग उस इंसान से बात करें उस टॉपिक को लेकर जिस टॉपिक हो जैसे आपको जासूसी करनी पड़ रही है फर्स्ट और सेकंड चीज है कि आपने प्रकोष्ठ में यह भी लिखा कि बहुत से लोग के शादी को सुमन मानते तो देखेगी मानसिकता पर निर्भर करता है जिसकी जैसी मानसिकता होती है वह वैसे ही सोचता है तो किसी दूसरे की सोच को आप खुद की खुद दुखी मत होइए और उस इंसान से बात करी लड़की का अपने भूख लगी है उससे अब बैटरी बात करिए या जिस इंसान के ऊपर आपने क्वेश्चन पूछा है वह नकली उस इंसान से बात करें ताकि आपको जासूसी ना करनी पड़े
Yah ek anurodh kveshchan hai main prashn karata ka naam nahin bata rahee hoon kyonki inhonne kuchh parsanal topik nijee jaanakaaree ke oopar poochha hai ki jo hai ki jab log use kisee ladakee kee jaasoosee kee peechhe laga dete hain to vah insaan kya karen log itane phaalatoo hai yah sab jo unhonne poochha hai to yah aapane badee cheej to aapane jo prashn karata hai aapane kveshchan jo hai jis sandarbh mein poochha hai vah aap sahee se aapako khushee vyakt nahin kar pa raha hai kyonki mujhe nahin samajh mein aa raha hai ki vah insaan aapako apane apane oopar poochha hai aapane kisee thard parsan ke oopar poochha hai theek hai rahee baat ladakee ke peechhe jaasoosee karane ke lie to dekhenge to maanasikata par nirbhar karata hai bahut se aise ghar hote hain jinamen aaj bhee jo hamaare bade bujurg hote hain unamen roodhivaadee soch hotee hai kaheen na kaheen vah apanee jagah jo sochate hain jo bhee hota hai kyonki vah usee par varishth se nikalee ho to unhonne vaise maahaul dekha hota hai unhonne vah roodhivaadee soch liya hota hai apane bachapan mein apane chaildahud mein bat aajakal laiph mein pahale kee laiph mein bahut jyaada dipharens hai pahale kampyootar hai ya pahale ham laipatop ya pahale phon ka hamen naam bhee nahin suna hota hai beta kyonki bachche chhote-chhote bachche padhate hain yootyoob par hai vah sab jaanate hain to pahale kee laiph mein aaj klaas mein jameen aasamaan ka antar hai pahalee cheej do aur doosaree cheej lekin yah insaan kee soch par nirbhar karata hai agar ladakee ke peechhe jae usake lie jaasoosee ke lie laga rahe hain to vah ladakee se pahale se to aap ka kya sambandh hai us insaan ka kya sambandh hai agar vah aapakee vaiph hai ab aapakee bahan hai kya vah bhee hai aksar get kaun see pasand hai aapake riletiv mein aatee hai to pahale se to yah karana galat hai theek hai agar koee bhee baat ko lekar kisee bhee cheej ko lekar kisee bhee insaan ko insaan aapako jaasoosee ke lie kah raha hai ya room par kis doosare parsan ko jaasoosee ke lie kah raha hai too us baje ko jaanatee aap daayarektalee us insaan se poochh lena ki usake peechhe jab chhuttee karake ya phir jo hai in sabako dekhakar itana sab kuchh karake aap baiting us insaan se baat karen us topik ko lekar jis topik ho jaise aapako jaasoosee karanee pad rahee hai pharst aur sekand cheej hai ki aapane prakoshth mein yah bhee likha ki bahut se log ke shaadee ko suman maanate to dekhegee maanasikata par nirbhar karata hai jisakee jaisee maanasikata hotee hai vah vaise hee sochata hai to kisee doosare kee soch ko aap khud kee khud dukhee mat hoie aur us insaan se baat karee ladakee ka apane bhookh lagee hai usase ab baitaree baat karie ya jis insaan ke oopar aapane kveshchan poochha hai vah nakalee us insaan se baat karen taaki aapako jaasoosee na karanee pade

#रिश्ते और संबंध

Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:59
तू ही रे घणे रो डी क्वेश्चन है जिस लड़की से मैं प्यार करता था मेरे से शादी नहीं हो पाई और मेरी बीवी मुझ पर शक करती है किसी लड़की से बात करते हो वह लड़की मुझे भी भी फोन करती है ना उसे भूलने की कोशिश करना हूं लेकिन बोल नहीं पा रही है पर्सनल है इसलिए प्रश्न करता का नाम मैं नहीं बताऊंगी बट मैं जिन्होंने प्रश्न किया है मैं उनको यही एडवाइज करूं दूंगी कि अगर आप उस लड़की को भूलना चाहते हैं तो सबसे पहले दोस्त आप उस लड़की को भूल जाएंगे और अगर वह लड़की आपको फोन करती है तुमको फोन करना भी आपको गलत है उनको फोन करना नहीं चाहिए क्योंकि पहले जिस तो वह किसी और की पत्नी है दूसरी चीज आप भी शादीशुदा है वैसे आपने पूछा तो बताया है ठीक है और अगर शादीशुदा नहीं दिया अनमैरिड है लेकिन आपके और उनकी शादी नहीं हो पाई तब भी इनकी उसे वह किसी की बाई बनेगी और अब आप दोनों साथ में नहीं है इसलिए थोड़ा उनकी तरफ से आप अपना रुख और जो है वह थोड़ा घूम लीजिए थोड़ा किनारे कर लीजिए और आप फोकस अपना अपनी बाइक पर लगाइए क्योंकि आपकी वाइफ के साथ आपके साथ में ले लिए हैं आपकी वाइफ की भी बहुत सटक ली है जो उसने आपको और खुद को लेकर देखे हैं तो मैं आपको यही सजेस्ट करुंगी कि आप कैसी जो कामयाब नहीं हुई है जो इंसान हमारी लाइफ में नहीं आया उस उसको उसको सोच कर दुखी होने से अच्छा है कि जो इंसान आपकी लाइफ में है जो आपकी वाइफ आपकी लाइफ में है लाइफ वाटर के रूप में आप उनमें उनमें वह लाइफ पार्टनर ढूंढ ली है उनमें वह प्यार देखिए जो आपकी गर्लफ्रेंड मेरा देखकर थे ठीक है उनमें वह सब फोटो गुलाब दूंगी आप अपनी बाइक में क्योंकि अब रह ना आपको अपनी वाइफ के साथ ही है आप लोग फेरे ले चुके हैं आप लोग एक पवित्र बंधन में बंध चुके हैं और जिसमें कुछ मर्यादा और अगर वह आपकी वाइफ आप पर शक कर रही है तो उसका रीजन यही है कि कहीं ना कहीं आप उस लड़की से अभी भी टच में है जो अपनी गर्लफ्रेंड रह चुकी हैं आप हमसे बात करते हैं तो डेफिनेटली आपकी वाइफ आप पर शक करेंगी करेंगी क्योंकि उन्होंने आपके भरोसे ही है घर पर आई है ससुराल में आई है ठीक है तो वह कोशिश करेंगे कि आप उनका एड्रेस आप आप आप शाम को प्यार मिले आपसे उनको सपोर्ट मिले जो गलत भी नहीं है उनके लिए ठीक है उनको यह मिलना चाहिए यह उनका हक है आप उनके पति हैं वह आपकी पत्नी है ठीक है तो अगर आप किसी और लड़की से बात कर रहे हैं जो कि गर्लफ्रेंड रह चुकी है तो यह ना करें क्योंकि इससे आपकी मैरिज लाइफ में जो है वह प्रॉब्लम होगी आपकी मैरिज लाइफ डिस्टर्ब होगी तो उस लड़की को भी समझाएं और खुद भी दूर रहे खुद भी उनके फोन अवॉइड करें क्योंकि इससे आपको आपकी गर्लफ्रेंड को और आपकी वाइफ की लाइफ भी बर्बाद होगी और यह आपका ही नुकसान है इसमें
Too hee re ghane ro dee kveshchan hai jis ladakee se main pyaar karata tha mere se shaadee nahin ho paee aur meree beevee mujh par shak karatee hai kisee ladakee se baat karate ho vah ladakee mujhe bhee bhee phon karatee hai na use bhoolane kee koshish karana hoon lekin bol nahin pa rahee hai parsanal hai isalie prashn karata ka naam main nahin bataoongee bat main jinhonne prashn kiya hai main unako yahee edavaij karoon doongee ki agar aap us ladakee ko bhoolana chaahate hain to sabase pahale dost aap us ladakee ko bhool jaenge aur agar vah ladakee aapako phon karatee hai tumako phon karana bhee aapako galat hai unako phon karana nahin chaahie kyonki pahale jis to vah kisee aur kee patnee hai doosaree cheej aap bhee shaadeeshuda hai vaise aapane poochha to bataaya hai theek hai aur agar shaadeeshuda nahin diya anamairid hai lekin aapake aur unakee shaadee nahin ho paee tab bhee inakee use vah kisee kee baee banegee aur ab aap donon saath mein nahin hai isalie thoda unakee taraph se aap apana rukh aur jo hai vah thoda ghoom leejie thoda kinaare kar leejie aur aap phokas apana apanee baik par lagaie kyonki aapakee vaiph ke saath aapake saath mein le lie hain aapakee vaiph kee bhee bahut satak lee hai jo usane aapako aur khud ko lekar dekhe hain to main aapako yahee sajest karungee ki aap kaisee jo kaamayaab nahin huee hai jo insaan hamaaree laiph mein nahin aaya us usako usako soch kar dukhee hone se achchha hai ki jo insaan aapakee laiph mein hai jo aapakee vaiph aapakee laiph mein hai laiph vaatar ke roop mein aap unamen unamen vah laiph paartanar dhoondh lee hai unamen vah pyaar dekhie jo aapakee garlaphrend mera dekhakar the theek hai unamen vah sab photo gulaab doongee aap apanee baik mein kyonki ab rah na aapako apanee vaiph ke saath hee hai aap log phere le chuke hain aap log ek pavitr bandhan mein bandh chuke hain aur jisamen kuchh maryaada aur agar vah aapakee vaiph aap par shak kar rahee hai to usaka reejan yahee hai ki kaheen na kaheen aap us ladakee se abhee bhee tach mein hai jo apanee garlaphrend rah chukee hain aap hamase baat karate hain to dephinetalee aapakee vaiph aap par shak karengee karengee kyonki unhonne aapake bharose hee hai ghar par aaee hai sasuraal mein aaee hai theek hai to vah koshish karenge ki aap unaka edres aap aap aap shaam ko pyaar mile aapase unako saport mile jo galat bhee nahin hai unake lie theek hai unako yah milana chaahie yah unaka hak hai aap unake pati hain vah aapakee patnee hai theek hai to agar aap kisee aur ladakee se baat kar rahe hain jo ki garlaphrend rah chukee hai to yah na karen kyonki isase aapakee mairij laiph mein jo hai vah problam hogee aapakee mairij laiph distarb hogee to us ladakee ko bhee samajhaen aur khud bhee door rahe khud bhee unake phon avoid karen kyonki isase aapako aapakee garlaphrend ko aur aapakee vaiph kee laiph bhee barbaad hogee aur yah aapaka hee nukasaan hai isamen

#रिश्ते और संबंध

Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:58
यह फिर एक अनुरोध ही को सुनें क्वेश्चन काफी लंबा है और उन्होंने नहीं पूछा है जिन्होंने पहले दो-तीन बार क्वेश्चन पूछा है लड़की से रिलेटेड कि उनकी जो गर्लफ्रेंड थी उनकी शादी हो चुकी है उनके पिता ने कैंसिल कर दिया था शादी तो फिर से आपने यही तो सवाल किया है कि फोन आया था और आपने जो भी बातें हुई वह आपने क्वेश्चन अपने व्यक्ति तो सबसे पहले तो मैं आपको यह बोलना चाहूंगा कि दोस्त आप इन सब चीजों से थोड़ा बाहर आइए पहले सोच तो मैंने जैसे प्रीवियस में भी आपको आंसर दिया है कि वह किसी की पत्नी है हालांकि इस क्वेश्चन में आपने यह मेंशन किया है कि उनके पिता ने भी आपको फोन किया है बात की आपसे और उन्होंने बोला कि भूल हो गई लेकिन अब इन सब बातों का कोई मतलब नहीं है आप अपनी लाइफ में आगे बढ़ी है क्योंकि उसके पिता ऑलरेडी अपनी बेटी का डिसीजन ले चुके हैं उनकी बेटी की शादी हो चुकी है वह किसी की पत्नी है तो अगर उस उस लड़की का या उनके पिता का ग्राम कैसे फोन आता है तो आप उनका फूल अवॉइड कीजिए मैं नीलम जी के आंसुओं से बिल्कुल सहमत हूं जैसा उन्होंने बोला कि आप उनको अवार्ड करिए आगे बढ़ी है मेरा भी यही आपको एडवाइज है क्या आगे बढ़ी या आप जितना सोचेंगे तो बातों को उतना आप उस व्यक्ति के प्रति खींचे चले जाएंगे जो कि गलत है ना आपको जाना चाहिए ना बम के गाना चाहिए क्योंकि ऑलरेडी आप दोनों के इन सब चीजों से किसी थर्ड पर्सन की लाइट जो इस पूरे स्टोरी में मोबाइल भी नहीं है उसकी लाइट भी खराब होगी जो उनके हस्बैंड है आपकी गर्लफ्रेंड के रूम की लाइट खराब हो गई तो जिंदगी खराब हो जाएगी आपकी आपकी गर्लफ्रेंड की और उनके हस्बैंड की तो यह ठीक नहीं है तो क्या वह किसी की पत्नी है यह जो भी करिया अब यह सूची करिए कि अगर यह कंडीशन की सिचुएशन आपके साथ होते अगर आपकी वाइफ जो है और के साथ ऐसा होता अगर आपकी बाइक हो चुकी होती वह किसी और को चाहती होती और वह किसी और के साथ बात कर रही होती उस कंडीशन में आपको क्या फील होता आपके स्टाफ लेते यह तो सोच समझ के उसे अपनी गर्लफ्रेंड के हस्बैंड की जगह खुद को रख के एनालाइज करके आप उनको एडवाइज दीजिए और इन सब चीजों से ऐसे लोगों से अपनी गर्लफ्रेंड से और उसके फादर से दूर रहिए क्योंकि अब कोई बेनिफिट नहीं आप कोई फायदा नहीं है यह सब बातें सोचने का अब जिससे उनकी उनके पिता ने उनकी शादी कर रही है वह उनके पिता ने कुछ देख कर ही उस लड़के से ही शादी की होगी तो बाबू ने उसी लड़के के साथ रहना है उन्हें उसी लड़के के साथ रहने दीजिए आप अपनी लाइफ में आगे बढ़ी है जैसे वह अपनी लाइफ में आगे बढ़ गई है आप अपनी लाइफ में आगे बढ़ो और इन सब चीजों से इन सब बातों से दूर रही है इनको बहुत ज्यादा सोचिए मत इनको अपने ऊपर हावी मत होने दीजिए मेरी यही आपको एडवाइज है कि आप इन सब चीजों से दूर रहे हो और अपना दिमाग को कहीं और डाइवर्ट करें कहीं और चीजों में लगाए
Yah phir ek anurodh hee ko sunen kveshchan kaaphee lamba hai aur unhonne nahin poochha hai jinhonne pahale do-teen baar kveshchan poochha hai ladakee se rileted ki unakee jo garlaphrend thee unakee shaadee ho chukee hai unake pita ne kainsil kar diya tha shaadee to phir se aapane yahee to savaal kiya hai ki phon aaya tha aur aapane jo bhee baaten huee vah aapane kveshchan apane vyakti to sabase pahale to main aapako yah bolana chaahoonga ki dost aap in sab cheejon se thoda baahar aaie pahale soch to mainne jaise preeviyas mein bhee aapako aansar diya hai ki vah kisee kee patnee hai haalaanki is kveshchan mein aapane yah menshan kiya hai ki unake pita ne bhee aapako phon kiya hai baat kee aapase aur unhonne bola ki bhool ho gaee lekin ab in sab baaton ka koee matalab nahin hai aap apanee laiph mein aage badhee hai kyonki usake pita olaredee apanee betee ka diseejan le chuke hain unakee betee kee shaadee ho chukee hai vah kisee kee patnee hai to agar us us ladakee ka ya unake pita ka graam kaise phon aata hai to aap unaka phool avoid keejie main neelam jee ke aansuon se bilkul sahamat hoon jaisa unhonne bola ki aap unako avaard karie aage badhee hai mera bhee yahee aapako edavaij hai kya aage badhee ya aap jitana sochenge to baaton ko utana aap us vyakti ke prati kheenche chale jaenge jo ki galat hai na aapako jaana chaahie na bam ke gaana chaahie kyonki olaredee aap donon ke in sab cheejon se kisee thard parsan kee lait jo is poore storee mein mobail bhee nahin hai usakee lait bhee kharaab hogee jo unake hasbaind hai aapakee garlaphrend ke room kee lait kharaab ho gaee to jindagee kharaab ho jaegee aapakee aapakee garlaphrend kee aur unake hasbaind kee to yah theek nahin hai to kya vah kisee kee patnee hai yah jo bhee kariya ab yah soochee karie ki agar yah kandeeshan kee sichueshan aapake saath hote agar aapakee vaiph jo hai aur ke saath aisa hota agar aapakee baik ho chukee hotee vah kisee aur ko chaahatee hotee aur vah kisee aur ke saath baat kar rahee hotee us kandeeshan mein aapako kya pheel hota aapake staaph lete yah to soch samajh ke use apanee garlaphrend ke hasbaind kee jagah khud ko rakh ke enaalaij karake aap unako edavaij deejie aur in sab cheejon se aise logon se apanee garlaphrend se aur usake phaadar se door rahie kyonki ab koee beniphit nahin aap koee phaayada nahin hai yah sab baaten sochane ka ab jisase unakee unake pita ne unakee shaadee kar rahee hai vah unake pita ne kuchh dekh kar hee us ladake se hee shaadee kee hogee to baaboo ne usee ladake ke saath rahana hai unhen usee ladake ke saath rahane deejie aap apanee laiph mein aage badhee hai jaise vah apanee laiph mein aage badh gaee hai aap apanee laiph mein aage badho aur in sab cheejon se in sab baaton se door rahee hai inako bahut jyaada sochie mat inako apane oopar haavee mat hone deejie meree yahee aapako edavaij hai ki aap in sab cheejon se door rahe ho aur apana dimaag ko kaheen aur daivart karen kaheen aur cheejon mein lagae

#रिश्ते और संबंध

Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:58
यह फिर एक अनुरोध ही क्वेश्चन है और यह प्रश्न करता के द्वारा पूछा गया जिन्होंने पहले क्वेश्चन पूछा था आपने फिर वही क्वेश्चन पूछा है कि लड़की मुझसे प्यार करती है उसकी शादी हो चुकी है लेकिन वो अभी भी प्यार करती है और फोन करती है रोती है तो क्या उसके पिता ने कहीं और उसकी शादी करा दी तो क्या उनका फैसला सही था या नहीं देखी पिता के फैसले अगर पता नहीं पैसे ले लिया है और लड़की के ऑलरेडी शादी हो चुकी है तो अब उनका फैसला कैसा भी था उससे कोई परवाह नहीं है उससे कोई मतलब नहीं है क्योंकि लड़की ऑलरेडी शादीशुदा हो चुकी है वह किसी की पत्नी है ठीक है अब सबसे पहले तो आप को यह बात समझ नहीं पड़ेगी कि वह किसी की पत्नी बन चुकी है ठीक है और अगर वह भी भी आपको फोन करती है या अभी भी आपको फोन करके रोती है तो वह सभी यह बजे वह सकती है कि शायद आपके लिए उनके दिल में अभी भी कुछ फीलिंग हूं जो शायद वह अपने पति के लिए भी नहीं उनके दिल में है अब ठीक है क्योंकि अरेंज मैरिज में बहुत इजी नहीं होता है किसी को इतनी जल्दी अपना बना लेना तो इसमें आपको उनको समझाना चाहिए आपको उनको भी चीज बतानी चाहिए कि जो चीज है वह कर रही है या वह आपको फोन करके रो रही है यह गलत है वह गलत कर रही है क्योंकि इससे फ्यूचर में उन पर उंगली उठेगी उनके कैरेक्टर पर लोग सवाल करेंगे और मैं नीलम जी के आंसुओं से बिल्कुल सहमत हूं क्योंकि ऐसा ही होता है और जो उन्होंने बताया है वह बिल्कुल उन्होंने सच्चाई ही बयां की है आपको तो आपको इस बारे में विचार करने की जरूरत है और दूसरी बात आपको उनको भी समझाने की जरूरत है क्योंकि वह किसी की पत्नी बन चुकी है और इससे उनकी गरिमा पर दाग लगेगा उन पर लोग सवाल उठाएंगे और अगर आप मुझसे सच्चा प्यार करते तो आप भी कहीं ना कहीं नहीं चाहेंगे कि वह इंसान अपनी उंगलियां उठी जिसको आप चाहते थे या चाहते हैं तो आप उनको ही चीज समझाइए अगर वह फिर भी नहीं कोशिश करिए आप दूरी बनाए आप जो आप बुरी बनाएंगे तो कुछ हद तक वह फिर आपकी तरफ से उनका रुख हटे गा और अगर वह अपने पति में कुछ चीजें ढूंढ रही है जून को नहीं मिल रही है तो वह अपनी अपने माता-पिता से बताएंगे अपने माता-पिता से अपने विचारों को व्यक्त करेंगी बट आप की तरफ से उनका उनका जो रूप है जो फीलिंग है वह थोड़ी थोड़ी कम होने लगेगी तो थोड़ा टफ आपको ही बनना पड़ेगा थोड़ा घटना आपको ही पड़ेगा स्टेप आपको ही लेना पड़ेगा हम को समझाने में हूं चाहे पीछे हटने में हूं वह आपको ही करना पड़ेगा आई नो यह बहुत मुश्किल है ऐसा नहीं है कि बहुत आसान है करना आपको ही पड़ेगा दोस्त क्योंकि इससे आपको दोनों को ही प्रॉब्लम है क्यों क्या वह किसी की पत्नी है सबसे पहली चीज तो वह बेटी तो है ही वह बटवाप किसी की पत्नी है आपको यह चीज ध्यान में रखकर डिसीजन लेना होगा
Yah phir ek anurodh hee kveshchan hai aur yah prashn karata ke dvaara poochha gaya jinhonne pahale kveshchan poochha tha aapane phir vahee kveshchan poochha hai ki ladakee mujhase pyaar karatee hai usakee shaadee ho chukee hai lekin vo abhee bhee pyaar karatee hai aur phon karatee hai rotee hai to kya usake pita ne kaheen aur usakee shaadee kara dee to kya unaka phaisala sahee tha ya nahin dekhee pita ke phaisale agar pata nahin paise le liya hai aur ladakee ke olaredee shaadee ho chukee hai to ab unaka phaisala kaisa bhee tha usase koee paravaah nahin hai usase koee matalab nahin hai kyonki ladakee olaredee shaadeeshuda ho chukee hai vah kisee kee patnee hai theek hai ab sabase pahale to aap ko yah baat samajh nahin padegee ki vah kisee kee patnee ban chukee hai theek hai aur agar vah bhee bhee aapako phon karatee hai ya abhee bhee aapako phon karake rotee hai to vah sabhee yah baje vah sakatee hai ki shaayad aapake lie unake dil mein abhee bhee kuchh pheeling hoon jo shaayad vah apane pati ke lie bhee nahin unake dil mein hai ab theek hai kyonki arenj mairij mein bahut ijee nahin hota hai kisee ko itanee jaldee apana bana lena to isamen aapako unako samajhaana chaahie aapako unako bhee cheej bataanee chaahie ki jo cheej hai vah kar rahee hai ya vah aapako phon karake ro rahee hai yah galat hai vah galat kar rahee hai kyonki isase phyoochar mein un par ungalee uthegee unake kairektar par log savaal karenge aur main neelam jee ke aansuon se bilkul sahamat hoon kyonki aisa hee hota hai aur jo unhonne bataaya hai vah bilkul unhonne sachchaee hee bayaan kee hai aapako to aapako is baare mein vichaar karane kee jaroorat hai aur doosaree baat aapako unako bhee samajhaane kee jaroorat hai kyonki vah kisee kee patnee ban chukee hai aur isase unakee garima par daag lagega un par log savaal uthaenge aur agar aap mujhase sachcha pyaar karate to aap bhee kaheen na kaheen nahin chaahenge ki vah insaan apanee ungaliyaan uthee jisako aap chaahate the ya chaahate hain to aap unako hee cheej samajhaie agar vah phir bhee nahin koshish karie aap dooree banae aap jo aap buree banaenge to kuchh had tak vah phir aapakee taraph se unaka rukh hate ga aur agar vah apane pati mein kuchh cheejen dhoondh rahee hai joon ko nahin mil rahee hai to vah apanee apane maata-pita se bataenge apane maata-pita se apane vichaaron ko vyakt karengee bat aap kee taraph se unaka unaka jo roop hai jo pheeling hai vah thodee thodee kam hone lagegee to thoda taph aapako hee banana padega thoda ghatana aapako hee padega step aapako hee lena padega ham ko samajhaane mein hoon chaahe peechhe hatane mein hoon vah aapako hee karana padega aaee no yah bahut mushkil hai aisa nahin hai ki bahut aasaan hai karana aapako hee padega dost kyonki isase aapako donon ko hee problam hai kyon kya vah kisee kee patnee hai sabase pahalee cheej to vah betee to hai hee vah batavaap kisee kee patnee hai aapako yah cheej dhyaan mein rakhakar diseejan lena hoga

#रिश्ते और संबंध

Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:58
यह एक अनुरोध क्वेश्चन है पूछने वाले ने पूछा है कि मैं एक लड़की से बहुत प्यार करता था यह पर्सनल क्वेश्चन थोड़ा बिजी है इस वजह से जो कम प्रश्न करता है मन का नाम नहीं ले रही हूं कोशिश है कि मैं एक लड़की से बहुत प्यार करता था लड़की भी मुझसे बहुत प्यार करती थी एक मत भेज सकता बचा था शादी को लड़की के पिताजी ने शादी कैंसिल कर दी लड़की से बहुत रोई दुखी हुई तो क्या यह उनका फैसला सही था यह जिन्होंने प्रश्न किया है वह जानना चाहते हैं देखिए किसी भी पिता के लिए अपनी बेटी की शादी करना बहुत बड़े उसके घर की बात होती है बहुत ही खुश होते हैं मतलब एक पिता की खुशी का अंदाजा भी नहीं लगा सकता के अलावा कि वह अपनी बेटी की शादी के दिल कितना खुश होते हैं ठीक है यह सोच कर कि उनकी बेटी जिसको उन्होंने संख्या वह जीवन भर उसके साथ खुश रहेगी ठीक है तो एक बहुत बड़ी जिम्मेदारी होती है लड़की की शादी करना जैसे कन्यादान को महादान माना गया है तो आप समझ सकते हैं कि कितनी बड़ी रिस्पांसिबिलिटी होती है एक पिता के लिए ठीक है और दूसरी चीज की पिता अगर उनके पिता ने आपको शादी कैंसिल कर दी है पहले तो क्या होता है शादी के पहले जो लड़की के घर वाले होते हैं वह लोगों से लड़के के बारे में भी पता करते हैं अगर अरेंज मैरिज है तब या लव मैरिज में भी लड़की के बारे में कि लड़का रियल में कैसा है कहां आता जाता है कोई गलत संगत तो नहीं है यह सब कुछ जो छोटी-छोटी बातें होती हैं वह पता लगाई जाती है कि लड़की का आचरण कैसा है ताकि बेटी जो है वह कोई बाद में ना सोचना हो कि उनका भी डिसीजन गलत हो गया इस वजह से यह सब लड़की के बारे में आसपास के लोगों से पूछा जाता है ठीक है जो कि कोई गलत बात नहीं है हर कोई पूछता है बट अगर किसी वजह से उन्होंने शादी कैंसिल कर दी है तो आपको डायरेक्टली उनसे बात करनी चाहिए उनके पिता जी से पूछना चाहिए कारण जाना चाहिए कि क्या कारण है अगर वह लड़की और आप अभी भी एक दूसरे को चाहते हैं तो सबसे पहले तो परिवार वालों से बात करें उनको कन्वेंस करें और कारण जानें कि क्या करना है जो सुरेश उन्होंने मना कर दिया क्योंकि बिना किसी कारण के कोई भी पिता ऐसा कदम नहीं उठाएगा ठीक है कि अपनी लड़की की शादी कैंसिल कर दे 7 दिन पहले तो आप उसके पिताजी से डायरेक्ट बात करिए डायरेक्ट जानिए लड़की से बात करिए और कारण जाने की कोशिश करें कि वह क्या गजब है जिस वजह से उन्होंने आपसे शादी करने को मना कर दिया क्योंकि कारण आप जान पाएंगे तभी आपको सलूशन मिल पाएगा ठीक है तो आप कारण जानी है और तब आप उसको उस परिस्थिति को तब आप देखे क्या आपको उस पर सिद्धि का समाधान कैसे करना है
Yah ek anurodh kveshchan hai poochhane vaale ne poochha hai ki main ek ladakee se bahut pyaar karata tha yah parsanal kveshchan thoda bijee hai is vajah se jo kam prashn karata hai man ka naam nahin le rahee hoon koshish hai ki main ek ladakee se bahut pyaar karata tha ladakee bhee mujhase bahut pyaar karatee thee ek mat bhej sakata bacha tha shaadee ko ladakee ke pitaajee ne shaadee kainsil kar dee ladakee se bahut roee dukhee huee to kya yah unaka phaisala sahee tha yah jinhonne prashn kiya hai vah jaanana chaahate hain dekhie kisee bhee pita ke lie apanee betee kee shaadee karana bahut bade usake ghar kee baat hotee hai bahut hee khush hote hain matalab ek pita kee khushee ka andaaja bhee nahin laga sakata ke alaava ki vah apanee betee kee shaadee ke dil kitana khush hote hain theek hai yah soch kar ki unakee betee jisako unhonne sankhya vah jeevan bhar usake saath khush rahegee theek hai to ek bahut badee jimmedaaree hotee hai ladakee kee shaadee karana jaise kanyaadaan ko mahaadaan maana gaya hai to aap samajh sakate hain ki kitanee badee rispaansibilitee hotee hai ek pita ke lie theek hai aur doosaree cheej kee pita agar unake pita ne aapako shaadee kainsil kar dee hai pahale to kya hota hai shaadee ke pahale jo ladakee ke ghar vaale hote hain vah logon se ladake ke baare mein bhee pata karate hain agar arenj mairij hai tab ya lav mairij mein bhee ladakee ke baare mein ki ladaka riyal mein kaisa hai kahaan aata jaata hai koee galat sangat to nahin hai yah sab kuchh jo chhotee-chhotee baaten hotee hain vah pata lagaee jaatee hai ki ladakee ka aacharan kaisa hai taaki betee jo hai vah koee baad mein na sochana ho ki unaka bhee diseejan galat ho gaya is vajah se yah sab ladakee ke baare mein aasapaas ke logon se poochha jaata hai theek hai jo ki koee galat baat nahin hai har koee poochhata hai bat agar kisee vajah se unhonne shaadee kainsil kar dee hai to aapako daayarektalee unase baat karanee chaahie unake pita jee se poochhana chaahie kaaran jaana chaahie ki kya kaaran hai agar vah ladakee aur aap abhee bhee ek doosare ko chaahate hain to sabase pahale to parivaar vaalon se baat karen unako kanvens karen aur kaaran jaanen ki kya karana hai jo suresh unhonne mana kar diya kyonki bina kisee kaaran ke koee bhee pita aisa kadam nahin uthaega theek hai ki apanee ladakee kee shaadee kainsil kar de 7 din pahale to aap usake pitaajee se daayarekt baat karie daayarekt jaanie ladakee se baat karie aur kaaran jaane kee koshish karen ki vah kya gajab hai jis vajah se unhonne aapase shaadee karane ko mana kar diya kyonki kaaran aap jaan paenge tabhee aapako salooshan mil paega theek hai to aap kaaran jaanee hai aur tab aap usako us paristhiti ko tab aap dekhe kya aapako us par siddhi ka samaadhaan kaise karana hai

#रिश्ते और संबंध

Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:54
यह कंदोदी क्वेश्चन है क्वेश्चन है कि सूरत कैसे भी हो मन सुंदर है तुम्हारा क्या इस वाक्य को तारीफ माना जाना चाहिए तो मेरी सबसे मन सुंदर है इस वाक्य को आप तारीफ मान सकते हैं सूरत कैसी भी हो इसमें थोड़ा डाउट ली है क्योंकि किसी की बॉडी से रिलेटेड या किसी की फेस से रिलेटेड या फिर किसी को जज करना कि वह गारा काला है गोरा है या फिर जैसा भी है तो मेरे हिसाब से उसको हमें कॉन्प्लीमेंट में नहीं ले सकते हैं अच्छे कॉन्प्लीमेंट में नहीं ले सकते हैं ठीक है तो मेरे ख्याल से कि मन सुंदर है यह बहुत अच्छी बात है यह आप अपनी तारीफ समझ सकते हैं पर सूरत कैसी भी हो इस वाक्य में थोड़ा जो है एक कशमकश है कि जो पहने वाला है उसके दिल में क्या है जो कि या तो हो आपको लोग को देख कर रहा है या वह आपके कलर पर जॉब कर रहा है ठीक है क्या प्रभु आपकी बॉडी शमिंग पर जॉब कर रहा है तो इस पर कोई चीज है एक वाक्य जो है दूसरे बातों से बिल्कुल अलग है एक वाक्य परिवर्तन है तो एक बार थोड़ा सा लेट तो नहीं लेकिन निराशाजनक भरोसा तो पॉजिटिव सुंदर है वह डेफिनेटली बहुत पॉजिटिव बाकी है औरत कैसी भी हो यह निराशाजनक है क्योंकि इसमें दूसरे व्यक्ति का सूट दिखाइए उसकी मानसिकता दिख रही है कि वह थर्ड पर्सन को कैसे जज कर रहा है किस बात पर जो शिकायत है जो कि अगर मन सुंदर है बहुत सुंदर है तो डेफिनिटी सूरत कैसे भी हो वह इंसान सुंदर भी है चाहे वह औरत को आदमी कोई भी हो कोई भी थर्ड पर्सन हूं बट आकर दो सुंदर है इंसान का और अगर जो उसका व्यवहार अच्छा है वह अच्छे से बोल रहा है बोली में अच्छा है तो डरने की सूरत से तो आप उसका उसके बाप उसका आचरण में कौन सबसे मेन चीज जो होती है किसी भी व्यक्ति को देखने के लिए बहुत ही उसकी आवाज उसकी बोली उस दिन में पता चलता है कि उसका व्यक्तित्व कैसा है रियल लाइफ में और जो व्यक्ति इंसान को डिफाइन करता है तो सूरत कैसी भी हो अगर मन अच्छा है तो फिर कैसा भी हो कलर कंपलेक्स कैसा भी हो बॉडी कैसे नहीं हो काला हो गोरा हो मोटा हो उससे फर्क नहीं पड़ता लेकिन अगर व्यक्ति का कैरेक्टर अच्छा है मन अच्छा तो डेफिनिटी कौन सा अच्छा है इसको आप पोस्ट पेमेंट ले सकते हैं
Yah kandodee kveshchan hai kveshchan hai ki soorat kaise bhee ho man sundar hai tumhaara kya is vaaky ko taareeph maana jaana chaahie to meree sabase man sundar hai is vaaky ko aap taareeph maan sakate hain soorat kaisee bhee ho isamen thoda daut lee hai kyonki kisee kee bodee se rileted ya kisee kee phes se rileted ya phir kisee ko jaj karana ki vah gaara kaala hai gora hai ya phir jaisa bhee hai to mere hisaab se usako hamen konpleement mein nahin le sakate hain achchhe konpleement mein nahin le sakate hain theek hai to mere khyaal se ki man sundar hai yah bahut achchhee baat hai yah aap apanee taareeph samajh sakate hain par soorat kaisee bhee ho is vaaky mein thoda jo hai ek kashamakash hai ki jo pahane vaala hai usake dil mein kya hai jo ki ya to ho aapako log ko dekh kar raha hai ya vah aapake kalar par job kar raha hai theek hai kya prabhu aapakee bodee shaming par job kar raha hai to is par koee cheej hai ek vaaky jo hai doosare baaton se bilkul alag hai ek vaaky parivartan hai to ek baar thoda sa let to nahin lekin niraashaajanak bharosa to pojitiv sundar hai vah dephinetalee bahut pojitiv baakee hai aurat kaisee bhee ho yah niraashaajanak hai kyonki isamen doosare vyakti ka soot dikhaie usakee maanasikata dikh rahee hai ki vah thard parsan ko kaise jaj kar raha hai kis baat par jo shikaayat hai jo ki agar man sundar hai bahut sundar hai to dephinitee soorat kaise bhee ho vah insaan sundar bhee hai chaahe vah aurat ko aadamee koee bhee ho koee bhee thard parsan hoon bat aakar do sundar hai insaan ka aur agar jo usaka vyavahaar achchha hai vah achchhe se bol raha hai bolee mein achchha hai to darane kee soorat se to aap usaka usake baap usaka aacharan mein kaun sabase men cheej jo hotee hai kisee bhee vyakti ko dekhane ke lie bahut hee usakee aavaaj usakee bolee us din mein pata chalata hai ki usaka vyaktitv kaisa hai riyal laiph mein aur jo vyakti insaan ko diphain karata hai to soorat kaisee bhee ho agar man achchha hai to phir kaisa bhee ho kalar kampaleks kaisa bhee ho bodee kaise nahin ho kaala ho gora ho mota ho usase phark nahin padata lekin agar vyakti ka kairektar achchha hai man achchha to dephinitee kaun sa achchha hai isako aap post pement le sakate hain

#जीवन शैली

Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:58
नमस्कार आइए क्वेश्चन एक अनुरोध कौशल में है ठीक है और यह सुनील कुमार चौधरी द्वारा पूछा गया है जो प्रश्न है कि आप सभी बोलकर आपके सभी मित्रों के मानसिकता पर निर्भर करता है इनका क्वेश्चन और उन्होंने पूछा है कि ऐसी कौन सी चीज है जो महिलाओं की पीछे से उठी होती है पुरुषों के कम पर और 2 क्वेश्चन दूसरा क्वेश्चन इनका यह भी है कि ऐसी कौन सी चीज है जो महिलाओं की बड़ी होती है पुरुषों के कंपेयर ठीक है तो पहले हम पहले खुश हूं कि को देखते हैं पहले क्वेश्चन का आंसर में देना चाहूंगी कि उन्हें सब की मानसिकता को बोला है और मुझे इस बात की भी बहुत खुशी है कि इनको आफ ए फीमेल में ही आंसर दिया है इसकी मुझे बहुत खुशी है चाहे पुष्पांजलि भी हो चाहे ताजी हूं दोनों का ही आंसर मुझे अच्छा लगा है और दोनों के आंसर से ही मैं सहमत हूं कि झूठ पहले आंसर दिया है कि ऐसी कौन सी चीज है जो महिलाओं की बड़ी होती है तो पीछे से उठी होती है तो मैं उस सहमत हूं कि एड़ी सैंडल अकोस लड़कियों की जो जितनी भी सेंड उसे आप देखोगे चाहिए वह पेंसिल हील उसे नॉर्मल हील की सैंडल हो हमेशा उल्टी होती है पीछे से और आगे से वह बिल्कुल फ्लैट होती है ठीक है तो पहले आंसर से मैं सहमत हूं दूसरे आंसर से ऐसा नहीं कि मैं सहमत हूं दूसरा आंसर से भी मैं सहमत हूं उनके बट कि उनका अपना नजरिया है मेरा अपना नजरिया यह है कि महिलाओं का क्या चीज बड़ा होता है पुरुषों के दम पर तुम मेरे ख्याल से महिलाओं का पौधा बड़ा होता है पुरुषोत्तम पर आप चाहे वह मां हो चाहे वह एक औरत हूं क्योंकि जो औरत होती है जब महिला होती है वह दो घरों की लाज होती है पुरुष दो घर इलाज नहीं होते पुरुष जो है वह दो घरों के सम्मान नहीं होते हैं उनका अपना अलग से उनका घर है वह होता है जो कि औरत के साथ ऐसा नहीं होता औरत का जन्म दूसरे घर में होता है औरत की शादी दूसरे घर में होती है और औरत को जिंदगी भर दो घरों को दो कुलों की मर्यादाओं को संभालना होता है जो किसी भी महिला के लिए किसी भी मां के लिए एक बहुत ही कठिन काम होता है जिसको करते करते हो वह अपना सारा जीवन उसी में निकाल देती हैं उन दोनों घरों की इज्जत को बचाने के लिए ताकि उनके मां-बाप को भी कोई कुछ ना कहें उनके ससुराल में भी उनके साथ ससुर को भी कोई कुछ ना कहें तो यह बहुत ही बड़ा योगदान होता है अपना पूरा जीवन किसी के लिए को समर्पित कर देना तो यह मेरे ख्याल से पुरुषों के कम पर महिलाओं का बड़ा योगदान इसमें में है ठीक है तो दूसरा आंसर मेरा
Namaskaar aaie kveshchan ek anurodh kaushal mein hai theek hai aur yah suneel kumaar chaudharee dvaara poochha gaya hai jo prashn hai ki aap sabhee bolakar aapake sabhee mitron ke maanasikata par nirbhar karata hai inaka kveshchan aur unhonne poochha hai ki aisee kaun see cheej hai jo mahilaon kee peechhe se uthee hotee hai purushon ke kam par aur 2 kveshchan doosara kveshchan inaka yah bhee hai ki aisee kaun see cheej hai jo mahilaon kee badee hotee hai purushon ke kampeyar theek hai to pahale ham pahale khush hoon ki ko dekhate hain pahale kveshchan ka aansar mein dena chaahoongee ki unhen sab kee maanasikata ko bola hai aur mujhe is baat kee bhee bahut khushee hai ki inako aaph e pheemel mein hee aansar diya hai isakee mujhe bahut khushee hai chaahe pushpaanjali bhee ho chaahe taajee hoon donon ka hee aansar mujhe achchha laga hai aur donon ke aansar se hee main sahamat hoon ki jhooth pahale aansar diya hai ki aisee kaun see cheej hai jo mahilaon kee badee hotee hai to peechhe se uthee hotee hai to main us sahamat hoon ki edee saindal akos ladakiyon kee jo jitanee bhee send use aap dekhoge chaahie vah pensil heel use normal heel kee saindal ho hamesha ultee hotee hai peechhe se aur aage se vah bilkul phlait hotee hai theek hai to pahale aansar se main sahamat hoon doosare aansar se aisa nahin ki main sahamat hoon doosara aansar se bhee main sahamat hoon unake bat ki unaka apana najariya hai mera apana najariya yah hai ki mahilaon ka kya cheej bada hota hai purushon ke dam par tum mere khyaal se mahilaon ka paudha bada hota hai purushottam par aap chaahe vah maan ho chaahe vah ek aurat hoon kyonki jo aurat hotee hai jab mahila hotee hai vah do gharon kee laaj hotee hai purush do ghar ilaaj nahin hote purush jo hai vah do gharon ke sammaan nahin hote hain unaka apana alag se unaka ghar hai vah hota hai jo ki aurat ke saath aisa nahin hota aurat ka janm doosare ghar mein hota hai aurat kee shaadee doosare ghar mein hotee hai aur aurat ko jindagee bhar do gharon ko do kulon kee maryaadaon ko sambhaalana hota hai jo kisee bhee mahila ke lie kisee bhee maan ke lie ek bahut hee kathin kaam hota hai jisako karate karate ho vah apana saara jeevan usee mein nikaal detee hain un donon gharon kee ijjat ko bachaane ke lie taaki unake maan-baap ko bhee koee kuchh na kahen unake sasuraal mein bhee unake saath sasur ko bhee koee kuchh na kahen to yah bahut hee bada yogadaan hota hai apana poora jeevan kisee ke lie ko samarpit kar dena to yah mere khyaal se purushon ke kam par mahilaon ka bada yogadaan isamen mein hai theek hai to doosara aansar mera

#रिश्ते और संबंध

Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:53
एक अनुरोध वाला सवाल है मेरा सवाल है मैडम मैं स्पष्ट ही आपको एक रिक्वेस्ट करता हूं कि 2021 में अगर आप मेरी पिटाई करेंगे तो बहुत अच्छा रहेगा तो जैसा कि क्वेश्चन आपने देखा कि क्या रीजन है जिस वजह से क्वेश्चन पूछा गया यह नहीं कुछ में व्यक्त किया गया है मैं क्वेश्चन पूछने वाले का नाम तो नहीं बताना चाहूंगी लेकिन मैंने जिन्होंने कुछ पूछा है आपकी प्रोफाइल देखी है तो आपने जितने भी आपके प्रोफाइल पर खुश है और जो भी क्वेश्चन आपसे अनुरोध किए हैं आपके अधिकतर क्वेश्चन ऐसे ही हैं जिनको सुनो को पढ़कर यह लग रहा है कि आप तो कोई ऐसी बात है जो आपको परेशान कर रही है या फिर आप किसी बात को बहुत ज्यादा सोच के परेशान हो रहे हैं और खुद को परेशान कर रहे हैं ठीक है जो भी कारण है आपका पर्सनल पर्सनली वह तो मुझे नहीं पता है क्योंकि क्वेश्चन में भी कुछ ऐसा व्यक्त नहीं किया है आपने कि किस वजह से आपने यह बोला है कि मेरी पिटाई करें तो बहुत अच्छा रहेगा ठीक है तो मैं आपसे यही कहूंगी कि आप एक बार आप अपने को जाकर किसी अच्छे फेसबुक पर से जाकर काउंसलिंग कराए काउंसलिंग सेक्शन ले जिससे कि अगर कोई ऐसी बात है जो आपको परेशान कर रही है या फिर किसी चीज का गिफ्ट है आपको ठीक है और तू अब वह चीज दूर हो सके क्योंकि कोई भी इंसान मेंटल अच्छी मंडल स्टेट में तो ऐसे स्टेट में नहीं देगा की पिटाई करने जैसे या किसी और से नहीं बोलेगा क्या आप मुझे मारो बेवजह ठीक है तो अगर कोई वजह है तो और बजे अगर आपकी पर्सनल पर्सनल लाइफ को व्यक्त कर रही है या पर्सनल लाइफ से संबंधित है तो मैं आपको ही सजेशन दूंगी कि आप यहां ना क्वेश्चन पूछ कि आप किसी फिजियोथैरेपिस्ट के पास जाएं उनके अकाउंट से स्पेशल ने उनको अपनी प्रॉब्लम बताएं ताकि वह सलूशन कर पाए आपको सलूशन दे पाए और आपको आपकी जो प्रोब मैं जो चीज आपको परेशान कर रही है वह चीज दूर हो सके तो कोशिश ही करिए कि आप किसी अच्छे विषय पर से जाकर मिले और उसके बाद जो भी आपकी प्रॉब्लम है वह दूर हो मुझे उम्मीद है कि आप ऐसा करेंगे और मुझे उम्मीद यह भी है कि आपकी प्रॉब्लम जो भी जिस बात को लेकर परेशान है वह चीज आपकी दूर हो जाए ठीक है और थोड़ा आप पोस्टिंग हो जाए क्योंकि आपके बहुत क्वेश्चन ऐसे भी हैं इसमें थोड़ा नेगेटिव ही दिख रही है तो इसका रीजन कुछ भी पर्सनल कुछ भी रिटर्न हो सकता है आपका अपना जो आप नहीं बता पा रहे हैं तो आप किसी प्रथक से मिलकर उनसे कम सेट कीजिए और पॉजिटिव रही है और डिलीट ना सोचे वह ज्यादा अच्छा है ठीक है
Ek anurodh vaala savaal hai mera savaal hai maidam main spasht hee aapako ek rikvest karata hoon ki 2021 mein agar aap meree pitaee karenge to bahut achchha rahega to jaisa ki kveshchan aapane dekha ki kya reejan hai jis vajah se kveshchan poochha gaya yah nahin kuchh mein vyakt kiya gaya hai main kveshchan poochhane vaale ka naam to nahin bataana chaahoongee lekin mainne jinhonne kuchh poochha hai aapakee prophail dekhee hai to aapane jitane bhee aapake prophail par khush hai aur jo bhee kveshchan aapase anurodh kie hain aapake adhikatar kveshchan aise hee hain jinako suno ko padhakar yah lag raha hai ki aap to koee aisee baat hai jo aapako pareshaan kar rahee hai ya phir aap kisee baat ko bahut jyaada soch ke pareshaan ho rahe hain aur khud ko pareshaan kar rahe hain theek hai jo bhee kaaran hai aapaka parsanal parsanalee vah to mujhe nahin pata hai kyonki kveshchan mein bhee kuchh aisa vyakt nahin kiya hai aapane ki kis vajah se aapane yah bola hai ki meree pitaee karen to bahut achchha rahega theek hai to main aapase yahee kahoongee ki aap ek baar aap apane ko jaakar kisee achchhe phesabuk par se jaakar kaunsaling karae kaunsaling sekshan le jisase ki agar koee aisee baat hai jo aapako pareshaan kar rahee hai ya phir kisee cheej ka gipht hai aapako theek hai aur too ab vah cheej door ho sake kyonki koee bhee insaan mental achchhee mandal stet mein to aise stet mein nahin dega kee pitaee karane jaise ya kisee aur se nahin bolega kya aap mujhe maaro bevajah theek hai to agar koee vajah hai to aur baje agar aapakee parsanal parsanal laiph ko vyakt kar rahee hai ya parsanal laiph se sambandhit hai to main aapako hee sajeshan doongee ki aap yahaan na kveshchan poochh ki aap kisee phijiyothairepist ke paas jaen unake akaunt se speshal ne unako apanee problam bataen taaki vah salooshan kar pae aapako salooshan de pae aur aapako aapakee jo prob main jo cheej aapako pareshaan kar rahee hai vah cheej door ho sake to koshish hee karie ki aap kisee achchhe vishay par se jaakar mile aur usake baad jo bhee aapakee problam hai vah door ho mujhe ummeed hai ki aap aisa karenge aur mujhe ummeed yah bhee hai ki aapakee problam jo bhee jis baat ko lekar pareshaan hai vah cheej aapakee door ho jae theek hai aur thoda aap posting ho jae kyonki aapake bahut kveshchan aise bhee hain isamen thoda negetiv hee dikh rahee hai to isaka reejan kuchh bhee parsanal kuchh bhee ritarn ho sakata hai aapaka apana jo aap nahin bata pa rahe hain to aap kisee prathak se milakar unase kam set keejie aur pojitiv rahee hai aur dileet na soche vah jyaada achchha hai theek hai

#रिश्ते और संबंध

Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:58
हुस्न है कि क्या दहेज प्रथा को खत्म करना चाहिए या या नहीं क्योंकि हमारे देश में दहेज प्रथा के कारण लड़कियों की जिंदगी बर्बाद हो रही है सिर्फ एक आज आग में जलाया जा रहा है इस पर आपकी क्या राय है तो इससे जिन्होंने कुछ पूछा है कुछ बहुत ही अच्छा है आपका 167a विशु है और मेरे की पहली चीज तो दहेज प्रथा जो है स्टार्ट हुई थी तब स्टार्ट हुई थी राजा महाराजाओं के टाइम से और यह उनकी नजर में कोई दहेज प्रथा नहीं थी कि राजा महाराजा सोना चांदी होता था जैसे की हमारे देश को सोने की चिड़िया कहा जाता था पहले भारतवर्ष को तू अपनी खुशी से जब उनकी बेटी घर से विदा होती थी तू राजा महाराजा अपनी खुशी से जो है वह सोना चांदी लूट आते थे और अपनी बेटी को जय बस हो गया गए नहीं हो गए और तरह-तरह की चीजें जो है देते थे अपनी लड़की को खुशी से उस टाइम इन सब चीजों को देना उस टाइम दहेज का नाम दिया गया कि लड़की जाती है तो लड़की को दिया जाता है जबकि वह दहेज के टेंशन तो नहीं दिया जाता था वह लोग सक्षम थे वह दे सकते थे राजा महाराजा इसलिए वह देते थे लेकिन बाद में इस प्रथा को हर किसी पर लागू किया गया ठीक है दहेज प्रथा के नाम से हर किसी पर लागू किया गया उन लड़कियों पर भी जो बहुत ही गरीब होती है जिनके माता-पिता नहीं अवार्ड कर पाते हैं और अन्य सुश्री लोग डिमांड करते हैं तो वह सब चीजें गलत है मेरे ख्याल से अगर किसी भी लड़की के मां-बाप अपनी इच्छा से अपनी बेटी को कुछ दे रहे हैं तो हम उन चीजों को दहेज में नहीं गिन सकते क्योंकि मां-बाप खुद अपनी इच्छा से अपनी बेटी को वह चीज दे रहे हैं प्यार के स्वरूप ठीक है लेकिन अगर जबरदस्ती मांगा जा रहा है जैसे बहुत से ससुराल वाले डिमांड करते हैं या बहुत से लड़के भी डिमांड करते हैं कि मैं गाड़ी चाहिए यह चाहिए वह चाहिए फिर चाहिए अभी चाहिए यह सब चीजें गलत है ठीक है आप इस बिना पर नहीं किसी से मांग सकते कि वह आपको अपनी लड़की दे रहा है तो वह आपको आपकी पूरी गृहस्थी दे देगा अगर आप किसी लड़की से शादी कर रहे हैं तो आप तो मानेगा भी दम रखें आप कमा कर अपनी पत्नी को खिलाएं ठीक है उसमें ज्यादा सम्मान है ना कि यह सब चीजें घर गृहस्ती की चीज है आप अपने ससुर जी से मांग ले उसमें ज्यादा सामान है ठीक है जैसे वही बात हो गई क्या अपनी कमाई हुई रोटी का स्वाद ही अलग होता है यह सेम वैसे ही है और हां इस प्रथा को खत्म हो जाना चाहिए समाप्त हो जाना चाहिए वहां पर जहां पर दहेज की जरूरत नहीं है वहां पर जहां पर माता-पिता अवार्ड नहीं कर सकते यह जबरदस्ती हूं उनको तो साइड गिरा था कि नहीं आप दो आप दो उनके पीछे पड़ा जाता है वहां इस प्रथा को खत्म हो जाना चाहिए समाज
Husn hai ki kya dahej pratha ko khatm karana chaahie ya ya nahin kyonki hamaare desh mein dahej pratha ke kaaran ladakiyon kee jindagee barbaad ho rahee hai sirph ek aaj aag mein jalaaya ja raha hai is par aapakee kya raay hai to isase jinhonne kuchh poochha hai kuchh bahut hee achchha hai aapaka 167a vishu hai aur mere kee pahalee cheej to dahej pratha jo hai staart huee thee tab staart huee thee raaja mahaaraajaon ke taim se aur yah unakee najar mein koee dahej pratha nahin thee ki raaja mahaaraaja sona chaandee hota tha jaise kee hamaare desh ko sone kee chidiya kaha jaata tha pahale bhaaratavarsh ko too apanee khushee se jab unakee betee ghar se vida hotee thee too raaja mahaaraaja apanee khushee se jo hai vah sona chaandee loot aate the aur apanee betee ko jay bas ho gaya gae nahin ho gae aur tarah-tarah kee cheejen jo hai dete the apanee ladakee ko khushee se us taim in sab cheejon ko dena us taim dahej ka naam diya gaya ki ladakee jaatee hai to ladakee ko diya jaata hai jabaki vah dahej ke tenshan to nahin diya jaata tha vah log saksham the vah de sakate the raaja mahaaraaja isalie vah dete the lekin baad mein is pratha ko har kisee par laagoo kiya gaya theek hai dahej pratha ke naam se har kisee par laagoo kiya gaya un ladakiyon par bhee jo bahut hee gareeb hotee hai jinake maata-pita nahin avaard kar paate hain aur any sushree log dimaand karate hain to vah sab cheejen galat hai mere khyaal se agar kisee bhee ladakee ke maan-baap apanee ichchha se apanee betee ko kuchh de rahe hain to ham un cheejon ko dahej mein nahin gin sakate kyonki maan-baap khud apanee ichchha se apanee betee ko vah cheej de rahe hain pyaar ke svaroop theek hai lekin agar jabaradastee maanga ja raha hai jaise bahut se sasuraal vaale dimaand karate hain ya bahut se ladake bhee dimaand karate hain ki main gaadee chaahie yah chaahie vah chaahie phir chaahie abhee chaahie yah sab cheejen galat hai theek hai aap is bina par nahin kisee se maang sakate ki vah aapako apanee ladakee de raha hai to vah aapako aapakee pooree grhasthee de dega agar aap kisee ladakee se shaadee kar rahe hain to aap to maanega bhee dam rakhen aap kama kar apanee patnee ko khilaen theek hai usamen jyaada sammaan hai na ki yah sab cheejen ghar grhastee kee cheej hai aap apane sasur jee se maang le usamen jyaada saamaan hai theek hai jaise vahee baat ho gaee kya apanee kamaee huee rotee ka svaad hee alag hota hai yah sem vaise hee hai aur haan is pratha ko khatm ho jaana chaahie samaapt ho jaana chaahie vahaan par jahaan par dahej kee jaroorat nahin hai vahaan par jahaan par maata-pita avaard nahin kar sakate yah jabaradastee hoon unako to said gira tha ki nahin aap do aap do unake peechhe pada jaata hai vahaan is pratha ko khatm ho jaana chaahie samaaj

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या करना चाहिए अगर शादी के बाद मुझे यह पता चले कि मेरी पत्नी बच्चा पैदा नहीं कर सकती है?Kya Karana Chaahie Agar Shaadee Ke Baad Mujhe Yah Pata Chale Ki Meree Patnee Bachcha Paida Nahin Kar Sakatee Hai
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:58
क्वेश्चन है कि क्या करना चाहिए अगर शादी के बाद मुझे पता चले कि मेरी पत्नी बच्चा पैदा नहीं कर सकती हैं तो अब देखे सबसे पहले तो मैं आपको यह बताना चाहती हूं कि कोई भी जो चीज होती है वह बिना कारण के नहीं होती है ठीक है तो सबसे पहले तो आपको अपनी पत्नी को मोरल सपोर्ट देना चाहिए क्योंकि एक औरत के लिए भी यह बहुत ही गौरव की बात होती है कि जो है वह मां बने ठीक है तो उनको सपोर्ट दीजिए उनको ऐसे निकलेट मत करिए उनको यह प्यार से अच्छे से उनको सपोर्ट दीजिए उनको यह यकीन दिलाई है कि आप उनके साथ हो चाहे लाइफ में कोई भी आप कैसे भी अप एंड डाउन साइन बट आप उनका उनकी हेल्प करेंगे उनको सपोर्ट करेंगे और इन सब बातों की वजह से आपकी रिश्ते में कोई फर्क नहीं आएगा ठीक है तो सबसे पहले तो आपको यह उनको यकीन दिलाना होगा जो आपकी पत्नी है उनको क्योंकि बहुत सी चीजें उस पर डिपेंड करती है कि अगर वह मेंटली खुश नहीं है तो भी इन सब चीजों पर फर्क पड़ता है ठीक है तो मेंटल हमको खुश ना बहुत जरूरी है कि शादी के बाद बहुत सी चीजें होती हैं बहुत सी कंडीशन सोती हैं बहुत से ऐसी बातें होती हैं जो हमें ध्यान में रखना पड़ता है एक ईमेल को बहुत ज्यादा ही अपने को ढालना पड़ता है दूसरे मोबाइल में जो कि इज नहीं होता बिल्कुल भी तो मेरे ख्याल से आपको सबसे पहले तो अपनी वाइफ को से सपोर्ट देना चाहिए उनको यह यकीन दिलाना कि एक कैसी कंडीशन है आप उनके साथ हैं आप उनका साथ नहीं छोड़ेंगे और दूसरी बात आपको यह करना चाहिए क्या आपको अपनी पत्नी को ले जाकर किसी अच्छे 11:00 बजे से कल सेंड करना चाहिए क्रिएशंस इसका कारण क्या है क्यों बच्चा नहीं हो रहा है ठीक है उसका कारण जानने के बाद आपको ट्रीटमेंट आफ आपको अपनी पत्नी का ट्रीटमेंट कराना चाहिए जो भी जेसीबी गेम करो जिस बताएं वह चीज करिए ताकि जो है इन फ्यूचर और प्रॉब्लम है जो भी रीजन है वह रीजन दूर हो पाया और आपको और आपको और आपकी पत्नी को माता-पिता बनने का सुख प्राप्त हो तो उसके लिए आपको अपनी पत्नी को मोरल सपोर्ट के साथ अच्छे से अच्छे गाना प्रोजेक्ट से कंसल्ट करने की जरूरत है क्योंकि जब आप जानो जिसके पास जाएंगे इसका क्या रीजन है क्या टेस्ट कराने चाहिए क्या दवा लेनी चाहिए क्या प्रोसेस है उसका वह ए टू जेड आपको गाना परदेस आपकी वाइफ को खुद ही समझाएंगे तो आप किसी अच्छे गायक राजेश को दिखाएं क्योंकि भेजो यीशु होते हैं बहुत ही पर्सनल होते हैं तो मैं बहुत ज्यादा चीजें आपको यह नहीं बताया बता पाऊंगी आप किसी गलत लॉजेस को दिखाएंगे तो आपको बहुत ही बातें पता चल जाएंगी आपको और आपकी वाइफ को और और जो इन फ्यूचर आपको हेल्प करेंगे तो आप उनसे जाकर कल सेंड करिए इस गायक राजेश को अच्छे से दिखाइए और फिर जो भी प्रोसेस हो बताए हो आप फॉलो कीजिए
Kveshchan hai ki kya karana chaahie agar shaadee ke baad mujhe pata chale ki meree patnee bachcha paida nahin kar sakatee hain to ab dekhe sabase pahale to main aapako yah bataana chaahatee hoon ki koee bhee jo cheej hotee hai vah bina kaaran ke nahin hotee hai theek hai to sabase pahale to aapako apanee patnee ko moral saport dena chaahie kyonki ek aurat ke lie bhee yah bahut hee gaurav kee baat hotee hai ki jo hai vah maan bane theek hai to unako saport deejie unako aise nikalet mat karie unako yah pyaar se achchhe se unako saport deejie unako yah yakeen dilaee hai ki aap unake saath ho chaahe laiph mein koee bhee aap kaise bhee ap end daun sain bat aap unaka unakee help karenge unako saport karenge aur in sab baaton kee vajah se aapakee rishte mein koee phark nahin aaega theek hai to sabase pahale to aapako yah unako yakeen dilaana hoga jo aapakee patnee hai unako kyonki bahut see cheejen us par dipend karatee hai ki agar vah mentalee khush nahin hai to bhee in sab cheejon par phark padata hai theek hai to mental hamako khush na bahut jarooree hai ki shaadee ke baad bahut see cheejen hotee hain bahut see kandeeshan sotee hain bahut se aisee baaten hotee hain jo hamen dhyaan mein rakhana padata hai ek eemel ko bahut jyaada hee apane ko dhaalana padata hai doosare mobail mein jo ki ij nahin hota bilkul bhee to mere khyaal se aapako sabase pahale to apanee vaiph ko se saport dena chaahie unako yah yakeen dilaana ki ek kaisee kandeeshan hai aap unake saath hain aap unaka saath nahin chhodenge aur doosaree baat aapako yah karana chaahie kya aapako apanee patnee ko le jaakar kisee achchhe 11:00 baje se kal send karana chaahie krieshans isaka kaaran kya hai kyon bachcha nahin ho raha hai theek hai usaka kaaran jaanane ke baad aapako treetament aaph aapako apanee patnee ka treetament karaana chaahie jo bhee jeseebee gem karo jis bataen vah cheej karie taaki jo hai in phyoochar aur problam hai jo bhee reejan hai vah reejan door ho paaya aur aapako aur aapako aur aapakee patnee ko maata-pita banane ka sukh praapt ho to usake lie aapako apanee patnee ko moral saport ke saath achchhe se achchhe gaana projekt se kansalt karane kee jaroorat hai kyonki jab aap jaano jisake paas jaenge isaka kya reejan hai kya test karaane chaahie kya dava lenee chaahie kya proses hai usaka vah e too jed aapako gaana parades aapakee vaiph ko khud hee samajhaenge to aap kisee achchhe gaayak raajesh ko dikhaen kyonki bhejo yeeshu hote hain bahut hee parsanal hote hain to main bahut jyaada cheejen aapako yah nahin bataaya bata paoongee aap kisee galat lojes ko dikhaenge to aapako bahut hee baaten pata chal jaengee aapako aur aapakee vaiph ko aur aur jo in phyoochar aapako help karenge to aap unase jaakar kal send karie is gaayak raajesh ko achchhe se dikhaie aur phir jo bhee proses ho batae ho aap pholo keejie

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
ज्यादा सोचने से स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव पड़ता है?Jyada Sochne Se Svasthya Par Kya Prabhav Padta Hai
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:58
इस क्वेश्चन का पहले तो मैं प्रीवियस में थोड़ा-बहुत आंसर दे चुकी हूं ज्यादा सोचने से स्वास्थ्य क्या प्रभाव पड़ता है पर फिर भी जिन्होंने यह पूछा है मैं उनको यह बता दूंगा अगर आप फीमेल है तो ज्यादा सोचने से आपको बहुत ज्यादा मेल के कम पर ज्यादा नुकसान हो सकता है ठीक है क्योंकि फीमेल का जो सिस्टम होता है वह अलग होता है मेल मेल से मिलकर कंपेयर और मैं ज्यादा सोचते भी नहीं है और तू फीमेल पर कमरे जूता फीमेल जो सोचती हैं हर बात को लेकर और वह थोड़ी इमोशनल भी होती है तो उन्हें हर बार जेल लग ही जाती है अधिकतर जो होती है वह ऐसी होती हैं ठीक है तो इसमें आपकी हेल्थ पर यह प्रभाव पड़ता है कि आपको कोई भी प्रॉब्लम जैसे कि डायबिटीज हो गया था राइड हो गया यह पीसीओडी हो गया तो इस तरह की कोई भी दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है अगर आपका वेट ज्यादा है और आप बहुत ज्यादा सोच रहे हैं और आपकी बिल्कुल एक्सरसाइज को मेल है ठीक है आपको इस तरह की प्रॉब्लम हो सकती है बीमारी आ सकती हैं आपकी पर दौड़ के जिस में फर्स्ट नंबर पर 2 डायबिटीज है ठीक है और दूसरी चीज अगर जो है आप इस प्रेस ले रहे हो तो कुछ ऐसे ही प्रॉब्लम है जो आप जैसे डिप्रेशन हो गया ठीक है या बहुत ज्यादा हो गया तो एंजाइटी हो गया इस तरह की जो छोटी सी चीज होती है जो हमें पता नहीं चलता है लेकिन यह कहीं ना कहीं अपने आप से बीमारी होती है ठीक है तो जिस में कभी कभी नींद ना आना बहुत उलझन हो ना बहुत पसीना निकलना यह सब जो है उसके नॉर्मल के लक्षण होते हैं जो हम पहचान नहीं पाते हैं डेली लाइफ में तो यह सब चीजें भी आपके साथ हो सकती हैं अगर आप बहुत ज्यादा सोचते हैं यह किसी चीज को लेकर बहुत ज्यादा ओवर पूजा ऐसे में यह सब चीजें नहीं करनी चाहिए क्योंकि इससे स्वास्थ्य बुरा असर पड़ता है हम बीमारियों की तरफ बढ़ने लगते हैं जो कि ठीक नहीं है तो बहुत ज्यादा सोचना यह बिल्कुल भी नहीं सोचना स्कूल भी नहीं सोचना मैं तो बेफिक्र हो जाना कुछ अपना कोई घोलना रखना वह भी गलत है और बुखार ज्यादा सोचना कि हर बात में बिल्कुल मतलब डीपी डीपी हम सोच रहा है अननेसेसरी सोच रहे हैं को जरूरत का सूचना कि हां चलो मुझे कल क्या करना है वह मैंने आज का आज से प्लान कर लिया बहुत है कि ठीक है वह हमारी जरूरत है उसको उसका सोचना मत सोचना कि फ्यूचर में क्या होगा दुनिया बर्बाद हो जाएगी तो किससे हुई है उससे कोई हमारा पर्सनल कोई इंडिविजुअल मतलब नहीं है दुनिया ना हमारे हाथ में है ना हम कुछ कर ले जाएंगे ठीक है तो बहुत से लोग सोचते हैं यह सब मतलब आपको यह आपके हेल्थ के लिए ही ठीक नहीं है क्योंकि आप खुद के ऐसे टाइम पर दुश्मन हो जाते हो आप खुद की बॉडी को हम पहुंचा रहे हो बहुत ज्यादा सोच कर तो यह सब चीजें गलत है कि नहीं करना चाहिए और जितना नर्सरी हो उतना सोचे बहुत ज्यादा ना सोचे वह गलत है
Is kveshchan ka pahale to main preeviyas mein thoda-bahut aansar de chukee hoon jyaada sochane se svaasthy kya prabhaav padata hai par phir bhee jinhonne yah poochha hai main unako yah bata doonga agar aap pheemel hai to jyaada sochane se aapako bahut jyaada mel ke kam par jyaada nukasaan ho sakata hai theek hai kyonki pheemel ka jo sistam hota hai vah alag hota hai mel mel se milakar kampeyar aur main jyaada sochate bhee nahin hai aur too pheemel par kamare joota pheemel jo sochatee hain har baat ko lekar aur vah thodee imoshanal bhee hotee hai to unhen har baar jel lag hee jaatee hai adhikatar jo hotee hai vah aisee hotee hain theek hai to isamen aapakee helth par yah prabhaav padata hai ki aapako koee bhee problam jaise ki daayabiteej ho gaya tha raid ho gaya yah peeseeodee ho gaya to is tarah kee koee bhee dikkat ka saamana karana pad sakata hai agar aapaka vet jyaada hai aur aap bahut jyaada soch rahe hain aur aapakee bilkul eksarasaij ko mel hai theek hai aapako is tarah kee problam ho sakatee hai beemaaree aa sakatee hain aapakee par daud ke jis mein pharst nambar par 2 daayabiteej hai theek hai aur doosaree cheej agar jo hai aap is pres le rahe ho to kuchh aise hee problam hai jo aap jaise dipreshan ho gaya theek hai ya bahut jyaada ho gaya to enjaitee ho gaya is tarah kee jo chhotee see cheej hotee hai jo hamen pata nahin chalata hai lekin yah kaheen na kaheen apane aap se beemaaree hotee hai theek hai to jis mein kabhee kabhee neend na aana bahut ulajhan ho na bahut paseena nikalana yah sab jo hai usake normal ke lakshan hote hain jo ham pahachaan nahin paate hain delee laiph mein to yah sab cheejen bhee aapake saath ho sakatee hain agar aap bahut jyaada sochate hain yah kisee cheej ko lekar bahut jyaada ovar pooja aise mein yah sab cheejen nahin karanee chaahie kyonki isase svaasthy bura asar padata hai ham beemaariyon kee taraph badhane lagate hain jo ki theek nahin hai to bahut jyaada sochana yah bilkul bhee nahin sochana skool bhee nahin sochana main to bephikr ho jaana kuchh apana koee gholana rakhana vah bhee galat hai aur bukhaar jyaada sochana ki har baat mein bilkul matalab deepee deepee ham soch raha hai ananesesaree soch rahe hain ko jaroorat ka soochana ki haan chalo mujhe kal kya karana hai vah mainne aaj ka aaj se plaan kar liya bahut hai ki theek hai vah hamaaree jaroorat hai usako usaka sochana mat sochana ki phyoochar mein kya hoga duniya barbaad ho jaegee to kisase huee hai usase koee hamaara parsanal koee indivijual matalab nahin hai duniya na hamaare haath mein hai na ham kuchh kar le jaenge theek hai to bahut se log sochate hain yah sab matalab aapako yah aapake helth ke lie hee theek nahin hai kyonki aap khud ke aise taim par dushman ho jaate ho aap khud kee bodee ko ham pahuncha rahe ho bahut jyaada soch kar to yah sab cheejen galat hai ki nahin karana chaahie aur jitana narsaree ho utana soche bahut jyaada na soche vah galat hai

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या 80% बीमारियां केवल चिंता करने से होती है?Kya 80 Percent Bimariya Keval Chinta Karne Se Hoti Hai
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:59
कोसी नदी क्या हनी पर्सेंट बीमारी बीमारियां केवल चिंता से होती हैं तो हां यह कुछ हद तक सच है क्योंकि ऐसा देखा गया है कि कुछ जो बीमारियां होती है जब से डायबिटीज होता ए राइड हो या फिर पीसीओडी हो या फिर अदर्स वर्सेस हो जाते हैं ठीक है तो वह कहीं ना कहीं उसका कमीन कारण स्पष्ट होता है कि हम अपनी लाइफ में बहुत ज्यादा चिंता लेते हैं या किसी चीज को या किसी बातों को बहुत बार सोचते हैं जिस वजह से हमें वह प्रॉब्लम हो जाती है खासकर फीमेल में बहुत ज्यादा कॉफी में अधिकतर की चीजें देखी जाती है कि लाइफ में स्ट्रेस के कारण उनको कुछ वजह से डायबिटीज हो गई थायराइड हो गया या बहुत ज्यादा सोचती हैं किसी बात को तुम को ही सब प्रॉब्लम हो जाती है और जिसका उनको सामना करना पड़ता है ठीक है अब तो यह बात काफी हद तक सच है क्योंकि जितने भी मैंने जूती भी ई-मेल की काउंसलिंग की है अपने करियर में तो अधिकतर जो फीमेल्स है वह किसी ना किसी रीजन से उन्होंने बताया है कि लाइफ के कुछ टाइम तक उनको इस ट्रस्ट था जिस टाइम पिन कोड आईपीएस हो गया उनको थायराइड हो गया उनको पीसीओडी हो गया और उस टाइम पीरियड कि उनकी लाइफ में आने से पहले उनको ही सब प्रॉब्लम नहीं थी तो यह चीज प्रूफ कर दिया कि उनका जो बीमारी का कारण था वह शख्स था यह बहुत ज्यादा ओवर थे ना बहुत ज्यादा किस चीज को आप सोच लो बहुत ज्यादा सोचना एक होता है आप कोई सुख किसी चीज को सोच रहे हो अब जॉब कर रहे हो क्या चीज के बाद मुझे यह करना है बट एक चीज होती है कि आप किसी चीज में डूबी जाओ इतना सोचो तो जब एक्सट्रीम लेवल का हम सोच लेते हैं ना तो उस टाइम पर वह जो सूचना होता है हमारा व्हाट्सएप हमारे को थॉट समझ चिंता में बदल जाते हैं जो हमें भी नहीं पता चलता तो उससे बहुत सी प्रॉब्लम हो जाती है उससे करो जो डिप्रेशन में नहीं लगते हैं कुछ को प्रॉब्लम हो जाती है खुद को कुछ लूट से रिलेटेड प्रॉब्लम हो जाती है मेंटल प्रॉब्लम हो जाती है मेंटल पीस नहीं मिलती तो सब बहुत तरह की प्रॉब्लम हो जाती है कुछ हेल्थ रिलेटेड शूटिंग कुछ मंडली शुभ होते हैं ठीक है तो वो आईडेंटिफाई करना बहुत मुश्किल होता है बट यह बात सच है कि जो बीमारियों का मेन कारण होता है वह चिंता होता है जिसे कहावत भी है कि चिंता चिता के समान है तो वह इसीलिए कहावत बनी है क्योंकि चिंता से अधिकतर बीमारियों को जन्म देने का कारण ही चिंता होती है तो इस पोस्ट को आप मैं ट्यूशन के थ्रू कंट्रोल भी कर सकते हैं तो मेरे ख्याल से कि हर इंसान को मैं टेशन कि तू चिंता को कंट्रोल करना चाहिए इस प्रेस अब तो पूरी लाइफ तक आपके साथ रहेगा किसी ना किसी रूप में बट उस को कंट्रोल करना बहुत जरूरी है ताकि बीमारियों को दूर कर सके और उनसे निजात पा सके और अपना स्वस्थ जीवन एक जी सके तो यह करना चाहिए यह बहुत जरूरी है
Kosee nadee kya hanee parsent beemaaree beemaariyaan keval chinta se hotee hain to haan yah kuchh had tak sach hai kyonki aisa dekha gaya hai ki kuchh jo beemaariyaan hotee hai jab se daayabiteej hota e raid ho ya phir peeseeodee ho ya phir adars varses ho jaate hain theek hai to vah kaheen na kaheen usaka kameen kaaran spasht hota hai ki ham apanee laiph mein bahut jyaada chinta lete hain ya kisee cheej ko ya kisee baaton ko bahut baar sochate hain jis vajah se hamen vah problam ho jaatee hai khaasakar pheemel mein bahut jyaada kophee mein adhikatar kee cheejen dekhee jaatee hai ki laiph mein stres ke kaaran unako kuchh vajah se daayabiteej ho gaee thaayaraid ho gaya ya bahut jyaada sochatee hain kisee baat ko tum ko hee sab problam ho jaatee hai aur jisaka unako saamana karana padata hai theek hai ab to yah baat kaaphee had tak sach hai kyonki jitane bhee mainne jootee bhee ee-mel kee kaunsaling kee hai apane kariyar mein to adhikatar jo pheemels hai vah kisee na kisee reejan se unhonne bataaya hai ki laiph ke kuchh taim tak unako is trast tha jis taim pin kod aaeepeees ho gaya unako thaayaraid ho gaya unako peeseeodee ho gaya aur us taim peeriyad ki unakee laiph mein aane se pahale unako hee sab problam nahin thee to yah cheej prooph kar diya ki unaka jo beemaaree ka kaaran tha vah shakhs tha yah bahut jyaada ovar the na bahut jyaada kis cheej ko aap soch lo bahut jyaada sochana ek hota hai aap koee sukh kisee cheej ko soch rahe ho ab job kar rahe ho kya cheej ke baad mujhe yah karana hai bat ek cheej hotee hai ki aap kisee cheej mein doobee jao itana socho to jab eksatreem leval ka ham soch lete hain na to us taim par vah jo soochana hota hai hamaara vhaatsep hamaare ko thot samajh chinta mein badal jaate hain jo hamen bhee nahin pata chalata to usase bahut see problam ho jaatee hai usase karo jo dipreshan mein nahin lagate hain kuchh ko problam ho jaatee hai khud ko kuchh loot se rileted problam ho jaatee hai mental problam ho jaatee hai mental pees nahin milatee to sab bahut tarah kee problam ho jaatee hai kuchh helth rileted shooting kuchh mandalee shubh hote hain theek hai to vo aaeedentiphaee karana bahut mushkil hota hai bat yah baat sach hai ki jo beemaariyon ka men kaaran hota hai vah chinta hota hai jise kahaavat bhee hai ki chinta chita ke samaan hai to vah iseelie kahaavat banee hai kyonki chinta se adhikatar beemaariyon ko janm dene ka kaaran hee chinta hotee hai to is post ko aap main tyooshan ke throo kantrol bhee kar sakate hain to mere khyaal se ki har insaan ko main teshan ki too chinta ko kantrol karana chaahie is pres ab to pooree laiph tak aapake saath rahega kisee na kisee roop mein bat us ko kantrol karana bahut jarooree hai taaki beemaariyon ko door kar sake aur unase nijaat pa sake aur apana svasth jeevan ek jee sake to yah karana chaahie yah bahut jarooree hai
URL copied to clipboard