#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
दुनिया का सबसे बड़ा महाद्वीप कौन सा है?Duniya Ka Sabse Bada Mahadvip Kaun Sa Hai
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
0:46
का सबसे बड़ा महाद्वीप एशिया महाद्वीप है जो कि विश्व के 7 महाद्वीप में से सबसे बड़े महाद्वीप है जिसके बाद देश की जनसंख्या की दृष्टि से विश्व के अध्यापन 2 प्रतिशत भाग देवरिया में ही निवास करती है और इससे महाद्वीप में हुई हमारे देश भारत है और इस भारत की जनसंख्या की दृष्टि में एशिया में विश्व में दूसरे नंबर पर हैं और एशिया में भी भारत की जनसंख्या की दृष्टि से सिया में भारत दूसरे स्थान पर है दुनिया की तकरीबन आजादी एशिया में निवास करती है
Ka sabase bada mahaadveep eshiya mahaadveep hai jo ki vishv ke 7 mahaadveep mein se sabase bade mahaadveep hai jisake baad desh kee janasankhya kee drshti se vishv ke adhyaapan 2 pratishat bhaag devariya mein hee nivaas karatee hai aur isase mahaadveep mein huee hamaare desh bhaarat hai aur is bhaarat kee janasankhya kee drshti mein eshiya mein vishv mein doosare nambar par hain aur eshiya mein bhee bhaarat kee janasankhya kee drshti se siya mein bhaarat doosare sthaan par hai duniya kee takareeban aajaadee eshiya mein nivaas karatee hai

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
शिवाजी महाराज के जीवन की उपलब्धियां क्या थी?Shivaji Maharaj Ke Jivan Ki Uplabdhiyan Kya Thi
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
1:09
शिवाजी महाराज एक महाराष्ट्र सम्राट के प्रमुख शासक एवं एक विद्वान एक वीर साहसी शासक थे जिन्होंने अपने छोटे से उम्र में अपने कार्यभार लखनी पिता के जुड़े हुए विरासत को संभाला रखने राज्य के विस्तार को विस्तार हेतु अध्यक्ष यूज़ करें उन्होंने अनेक युद्धों में सफलता हासिल की शिवाजी महाराज एक के महावीर योद्धा थे जिन्होंने अपने राज्य के विस्तार हेतु बहुत सारे कार्य किए हैं और अपने योगदान के बदौलत अपने राज्य को एक प्रमुख स्थल के रूप में प्रमाणित किया और अपनी जनता के प्रति ईमानदार था सकते शनि महाराज आज हमारे देश के युवाओं के लिए प्रेरणा और तक हैं कि वे अपने हितों को अपने देश के हितों के लिए अंग्रेजी ऐनक सारे युद्ध लड़े और उसमें विजई भी पाया और अंत में अपने लड़ते हुए अपने प्राणों की आहुति दे गए
Shivaajee mahaaraaj ek mahaaraashtr samraat ke pramukh shaasak evan ek vidvaan ek veer saahasee shaasak the jinhonne apane chhote se umr mein apane kaaryabhaar lakhanee pita ke jude hue viraasat ko sambhaala rakhane raajy ke vistaar ko vistaar hetu adhyaksh yooz karen unhonne anek yuddhon mein saphalata haasil kee shivaajee mahaaraaj ek ke mahaaveer yoddha the jinhonne apane raajy ke vistaar hetu bahut saare kaary kie hain aur apane yogadaan ke badaulat apane raajy ko ek pramukh sthal ke roop mein pramaanit kiya aur apanee janata ke prati eemaanadaar tha sakate shani mahaaraaj aaj hamaare desh ke yuvaon ke lie prerana aur tak hain ki ve apane hiton ko apane desh ke hiton ke lie angrejee ainak saare yuddh lade aur usamen vijee bhee paaya aur ant mein apane ladate hue apane praanon kee aahuti de gae

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
पढ़ाई या काम करते समय, खुद को आलस्य से कैसे दूर रखा जाए?Padhaee Ya Kaam Karate Samay Khud Ko Aalasy Se Kaise Door Rakha Jae
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
1:25
मित्रों आपका पैसा है पढ़ाई या काम करते समय मोहल्ले से कैसे दूर रखा जाए तो हम आप नहीं अभी पढ़ाई कर रहे हो जब कर रहे हैं तो अपने आप खुद से किसी एक इंसान बनाएं अपने आप को ताजगी ना हैं और अपने काम के प्रति भावनात्मक रूप से अपने काम पर लगे हैं ऑल सही करना बहुत बड़ी बात होती है हम जितना ही गाड़ी सही काम को करने को लेकर उतना ही दूर चला जाए हमें किसी काम में सफल होनी है तो आप उसे कुत्तिया देनी चाहिए काम करती जल्दी रिप्लाई कर रहे हैं तो पढ़ाई के प्रति अपनी लक्ष्मी चाहिए कि हमें जिस लक्ष्य तक पहुंचना है उस लक्ष्य के प्रति अंध विश्वास के साथ अनिल मिल जाएगी आपको काम करते समय पढ़ाई करते समय यह सोचकर हमें अपने मन में मोटिवेशन लाना होगा कि यह काम है मैं करना है तो शरीर या उसे तो क्या करूं कर एक्सेलप्रोस काम करना होगा तभी हम अपने आप कितने कमा सकते हैं अपने जीवन में शब्द
Mitron aapaka paisa hai padhaee ya kaam karate samay mohalle se kaise door rakha jae to ham aap nahin abhee padhaee kar rahe ho jab kar rahe hain to apane aap khud se kisee ek insaan banaen apane aap ko taajagee na hain aur apane kaam ke prati bhaavanaatmak roop se apane kaam par lage hain ol sahee karana bahut badee baat hotee hai ham jitana hee gaadee sahee kaam ko karane ko lekar utana hee door chala jae hamen kisee kaam mein saphal honee hai to aap use kuttiya denee chaahie kaam karatee jaldee riplaee kar rahe hain to padhaee ke prati apanee lakshmee chaahie ki hamen jis lakshy tak pahunchana hai us lakshy ke prati andh vishvaas ke saath anil mil jaegee aapako kaam karate samay padhaee karate samay yah sochakar hamen apane man mein motiveshan laana hoga ki yah kaam hai main karana hai to shareer ya use to kya karoon kar ekselapros kaam karana hoga tabhee ham apane aap kitane kama sakate hain apane jeevan mein shabd

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या सुबह उठना सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है?Kya Subah Uthna Sehat Ke Lie Bahut Acha Hota Hai
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
1:05
मित्रों आपका प्रश्न है क्या सुबह उठना सेहत के लिए अच्छा होता है तो जी हां मित्रों सुबह आप सुबह मॉर्निंग में आप उठ कर आप सुबह 5:00 बजे तक आप उठ जाते हैं तो कर तो आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होती है सुबह का समय क्योंकि आप सुबह में यदि वारिंग करते हैं आप डालते हैं तो उसमें और आप चूड़ी की जो सुबह की जो सूर्य के प्रकाश की रोशनी होती है धूप जो लगती है हमारे चेहरे पर वह एक प्रकार का बहुत लाभदायक के रूप में काम करते हैं इसलिए हम लोगों को चाहिए कि सुबह का समय हो जिसमें सवेरे उठकर सवेरे उठना चाहिए और बॉलिंग करना चाहिए जिसमें कि हमारे अंगों पर 10 फरवरी की सुबह की मॉर्निंग की जो प्रकाश है वह पड़ी और हमारे स्वास्थ्य के लिए एक बहुत बड़े फायदेमंद हो हमारी स्वास्थ्य अच्छे रह गए और हमारे शरीर में ताजगी भी रहेगी
Mitron aapaka prashn hai kya subah uthana sehat ke lie achchha hota hai to jee haan mitron subah aap subah morning mein aap uth kar aap subah 5:00 baje tak aap uth jaate hain to kar to aapake svaasthy ke lie bahut laabhadaayak hotee hai subah ka samay kyonki aap subah mein yadi vaaring karate hain aap daalate hain to usamen aur aap choodee kee jo subah kee jo soory ke prakaash kee roshanee hotee hai dhoop jo lagatee hai hamaare chehare par vah ek prakaar ka bahut laabhadaayak ke roop mein kaam karate hain isalie ham logon ko chaahie ki subah ka samay ho jisamen savere uthakar savere uthana chaahie aur boling karana chaahie jisamen ki hamaare angon par 10 pharavaree kee subah kee morning kee jo prakaash hai vah padee aur hamaare svaasthy ke lie ek bahut bade phaayademand ho hamaaree svaasthy achchhe rah gae aur hamaare shareer mein taajagee bhee rahegee

#जीवन शैली

bolkar speaker
अपना लक्ष्य निर्धारित करने के लिए क्या किसी की मदद लेनी चाहिए?Apna Lakshya Nirdharit Karne Ke Liye Kya Kisi Ki Madad Leni Chaahiye
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
0:52
मित्रों आपका प्रश्न है अपना लक्ष्य निर्धारित करने के लिए क्या किसी की मदद लेनी चाहिए तो देखिए जब आप अपने लक्ष्य की और ठान लेते हैं तो किसी की जरूरत होती है आपको एक अच्छे गुरु मिले जो आपको गाइडलाइन से दें ताकि आप अच्छे रास्ते पर चलकर अपनी जीवन की अच्छी मुकाम हासिल करें आपने जो ठाना है वह करके दम ले तो एक अच्छे सा भाभी और गुरु की आवश्यकता होती है जो कि हमें अच्छी मार्ग दिखाएं कि आप इस मार्ग पर चलने और आपको उस बात पर चलना होगा तभी जाकर सफलता हासिल हो सकती है

#जीवन शैली

bolkar speaker
क्या कभी-कभी गुस्सा करना भी लाभदायक सिद्ध होता है?Kya Kabhi Kabhi Gussa Karna Bhi Labhdayak Sidh Hota Hai
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
1:22
मित्रों आपका प्रश्न है कि क्या कभी-कभी गुस्सा करना भी लाभदायक सिद्ध हो सकता है देखिए गुस्सा करना तो लाभदायक सिद्ध नहीं हो सकता है क्योंकि हमने अक्सर देखा है जब आप किसी पर गुस्सा करते हैं तो वह व्यक्ति आपसे नाराज हो जाता है हमें किसी भी कारण से किसी भी बात को लेकर हर समय गुस्सा नहीं होना चाहिए हमें अपने आप को सोचना चाहिए और अपने मन मस्तिष्क को कंट्रोल करना चाहिए कि इतनी जल्दी किसी पर गुस्सा नहीं करना चाहिए क्योंकि गुस्सा करना लाभदायक सीधे भरसक नहीं होता है ऐसा कि मेरा अनुभव है और आप लोग भी जानते हैं तो गुस्सा करना लाभदायक सिद्ध हर समय तो नहीं हो सकता इसलिए जितना कोशिश करें कि आपको गुस्से को कंट्रोल मिले क्योंकि गुस्सा करना आपके लिए हानिकारक भी हो सकता है और मुझसे तभी करें जब उसी आपके पास समस्या हो नहीं तो आप गुस्सा नहीं करें ऐसा इस प्रश्न आपके प्रश्न का उत्तर मिल रहा है तो यही हम उम्मीद रखते हैं कि आपके प्रश्न का उत्तर मिल गए होंगे

#भारत की राजनीति

RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
1:12
आज युवा हमारी युवा साथी सभी वर्ग के जो भी हुआ है आज अपनी पढ़ाई करके वह सरकारी नौकरी के पीछे हैं क्योंकि सरकारी नौकरी गवर्नमेंट जॉब होती है क्योंकि सरकारी नौकरी मिल जाने के बाद एक जीवन अपनी एक लाइफ होती है और जो कि आज बिजनेस में नहीं होता क्योंकि बिजनेस के लिए पूंजी भी चाहिए और यह पूरी हमारे भारत में सभी मां के पास नहीं होते हैं यदि वे अपने परीक्षण के बल पर मेहनत करके बैठे थे यदि वह सरकारी नौकरी करना चाहता तुम लाइफ जीने के तरीके आते इसलिए क्योंकि बिजनेस में कुछ रिपीट जरूरत होती है जो हमारे युवा भाइयों के पास वह सभी के पास उपलब्ध नहीं है क्योंकि हमारे देश एक कृषि प्रधान देश है यहां पर सभी तरह के लोग रहते हैं जिनके पास कुछ संपत्तियां होती हैं जो अपने परिवार के चरण होते हैं इसलिए युवक पढ़ने सरकारी नौकरी के पीछे पड़े हुए हैं और दुनिया से ज्यादा सूजन सरकारी नौकरी में जाने जाना है और आज का समय एक सरकारी नौकरी के लिए हावी हो गया

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
हिंदुस्तान गदर पार्टी की स्थापना किस वर्ष की गई?Hindustan Gadar Party Ki Sthapna Kis Varsh Ki Gayi
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
0:24
गदर पार्टी की स्थापना सन 1913 ईस्वी में अमेरिका के सैन फार्मेसी को में की गई जो इसका मुख्य उद्देश्य था अंग्रेजी शासन को खत्म करना इस पार्टी का प्रमुख इसलिए का प्रमुख कारण था कि अंग्रेजी शासन सत्ता को भारत से खत्म करना है इसके लिए अमेरिका के सैन 14 को शहर में गदर पार्टी की स्थापना की गई
Gadar paartee kee sthaapana san 1913 eesvee mein amerika ke sain phaarmesee ko mein kee gaee jo isaka mukhy uddeshy tha angrejee shaasan ko khatm karana is paartee ka pramukh isalie ka pramukh kaaran tha ki angrejee shaasan satta ko bhaarat se khatm karana hai isake lie amerika ke sain 14 ko shahar mein gadar paartee kee sthaapana kee gaee

#खेल कूद

bolkar speaker
असम में किस महिला एथलीट को डीएसपी बनाया जा रहा है?Assam Mein Kis Mahila Athlete Ko Dsp Bnaya Ja Raha Hai
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
0:43
हाल ही में असम सरकार ने यह घोषणा असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनेवाल में यह घोषणा की कि एटलिस्ट हिमा दास को डीएसपी का पद दिया जाए क्योंकि ऐसे बहुत सारे रास्ते हैं जहां पर जो राष्ट्रीय स्तर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दो एक अच्छे खिलाड़ी होती है जिन्हें प्रवचन के रूप में राज्य सरकार के द्वारा बहुत दिल भी विभिन्न पदों पर उनके योगदान के लिए उन्हें दिया जाता है खेल प्रतिभाओं में अपनी रुचि रखने के लिए और गोल्ड मेडल लाने के लिए अपने देश के एथलीटों में से एक है याद आती है बीएसपी का पद देने की घोषणा असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनेवाल ने की है
Haal hee mein asam sarakaar ne yah ghoshana asam ke mukhyamantree sarvaanand sonevaal mein yah ghoshana kee ki etalist hima daas ko deeesapee ka pad diya jae kyonki aise bahut saare raaste hain jahaan par jo raashtreey star antararaashtreey star par do ek achchhe khilaadee hotee hai jinhen pravachan ke roop mein raajy sarakaar ke dvaara bahut dil bhee vibhinn padon par unake yogadaan ke lie unhen diya jaata hai khel pratibhaon mein apanee ruchi rakhane ke lie aur gold medal laane ke lie apane desh ke ethaleeton mein se ek hai yaad aatee hai beeesapee ka pad dene kee ghoshana asam ke mukhyamantree sarvaanand sonevaal ne kee hai

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
सरकारी नौकरी नहीं मिलने पर आज की युवा पीढ़ी को क्या करना चाहिए?Sarkari Naukari Nahi Milne Par Aaj Ki Yuva Pidhi Ko Kya Karna Chayia
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
1:24
प्रश्न है सरकारी नौकरी नहीं मिलने पर आज की युवा पीढ़ी को क्या करना चाहिए तो देखिए सरकारी नौकरी नहीं मिलने पर आज की युवा पीढ़ी के हमारे युवा भाइयों को बहुत सारे ऐसे बिजनेस हैं जिन्हें करना चाहिए और आप पढ़े लिखे हैं समझदार लोग हैं तो आप एक अच्छे प्राइवेट कंपनियों में जॉब भी कर सकते हैं जिससे अपने जीवन यापन अपने माता-पिता के जीवन है आप उनको पूरा कर सकते हैं और एक अच्छे समाज में एक अच्छे नागरिक बन कर जीवन जीत सकते हैं पहले यह प्रयास करना चाहिए कि हमें इस तरह से मेहनत करनी चाहिए कि हमें गवर्नमेंट जॉब लगी क्योंकि आज के समय में गवर्नमेंट जॉब एक मायने रखती है क्योंकि गवर्नमेंट जॉब की फैसिलिटी के सामने तो आज की प्राइवेट नौकरियां कुछ नहीं है इसलिए हमारी जो भी युवा साथी हैं जो कि किसी कारण बस गवर्नमेंट सर्विस नहीं ले पा रहे हैं तो उन्हें इसी तरह से आज आप लोग पढ़े लिखे हैं तो किसी तरह से अपने जीवन यापन करने के लिए बहुत सारे बिजनेस है जिसे आप कर कर अपना जीवन यापन कर सकते हैं और जीवन जी सकते
Prashn hai sarakaaree naukaree nahin milane par aaj kee yuva peedhee ko kya karana chaahie to dekhie sarakaaree naukaree nahin milane par aaj kee yuva peedhee ke hamaare yuva bhaiyon ko bahut saare aise bijanes hain jinhen karana chaahie aur aap padhe likhe hain samajhadaar log hain to aap ek achchhe praivet kampaniyon mein job bhee kar sakate hain jisase apane jeevan yaapan apane maata-pita ke jeevan hai aap unako poora kar sakate hain aur ek achchhe samaaj mein ek achchhe naagarik ban kar jeevan jeet sakate hain pahale yah prayaas karana chaahie ki hamen is tarah se mehanat karanee chaahie ki hamen gavarnament job lagee kyonki aaj ke samay mein gavarnament job ek maayane rakhatee hai kyonki gavarnament job kee phaisilitee ke saamane to aaj kee praivet naukariyaan kuchh nahin hai isalie hamaaree jo bhee yuva saathee hain jo ki kisee kaaran bas gavarnament sarvis nahin le pa rahe hain to unhen isee tarah se aaj aap log padhe likhe hain to kisee tarah se apane jeevan yaapan karane ke lie bahut saare bijanes hai jise aap kar kar apana jeevan yaapan kar sakate hain aur jeevan jee sakate

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
काली मिट्टी किस फसल के लिए सबसे अधिक उपयुक्त है?Kaali Mitti Kis Fasal Ke Liye Sabse Adhik Upayukt Hai
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
0:43
आपका प्रश्न है कि काली मिट्टी में किस फसल के लिए सबसे उपयुक्त माना जाता है तो काली मिट्टी हमारे देश में तमिलनाडु गुजरात इत्यादि क्षेत्रों में बागों में पाए जाते हैं काली मिट्टी उपयुक्त नाइट्रोजन युक्त मिट्टी है इस मिट्टी में हमें कपास की खेती के लिए सबसे उपयुक्त मानी जाती है यह मिट्टियां जिसमें की कपास की फसलों की पैदावार बहुत ही बहुत ही अधिक मात्रा में होती है और यह हमारे देश के प्रमुख मित्रों में से एक हैं अली मिट्टियां
Aapaka prashn hai ki kaalee mittee mein kis phasal ke lie sabase upayukt maana jaata hai to kaalee mittee hamaare desh mein tamilanaadu gujaraat ityaadi kshetron mein baagon mein pae jaate hain kaalee mittee upayukt naitrojan yukt mittee hai is mittee mein hamen kapaas kee khetee ke lie sabase upayukt maanee jaatee hai yah mittiyaan jisamen kee kapaas kee phasalon kee paidaavaar bahut hee bahut hee adhik maatra mein hotee hai aur yah hamaare desh ke pramukh mitron mein se ek hain alee mittiyaan

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
प्लास्टिक सर्जरी का आविष्कार सबसे पहले किस देश में हुआ था?Plastic Surgery Ka Avishkar Sabse Pehle Kis Desh Mei Hua Tha
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
0:37
आपका फ्रेंड है प्लास्टिक सर्जरी का आविष्कार सर्वप्रथम किस देश में होगा तो प्लास्टिक सर्जन का आविष्कार भारत में लगभग 25 वर्ष पहले से ही होती आ रही है जिसका जनक भारतीय प्लास्टिक सर्जरी का जनक प्राचीन भारतीय इतिहास के स्रोत को माना जाता है भारत में बहुत वर्ष पहले से ही यह प्रक्रिया है प्लास्टिक सर्जरी का काम चला आ रहा है उसके बाद अन्य देशों ने इसे अपनाया
Aapaka phrend hai plaastik sarjaree ka aavishkaar sarvapratham kis desh mein hoga to plaastik sarjan ka aavishkaar bhaarat mein lagabhag 25 varsh pahale se hee hotee aa rahee hai jisaka janak bhaarateey plaastik sarjaree ka janak praacheen bhaarateey itihaas ke srot ko maana jaata hai bhaarat mein bahut varsh pahale se hee yah prakriya hai plaastik sarjaree ka kaam chala aa raha hai usake baad any deshon ne ise apanaaya

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
गतिज ऊर्जा किसे कहते हे?
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
0:30
गतिज ऊर्जा की हिंदी की आंतरिक ऊर्जा है जो उसके रेट की महत्व को नहीं है वेद अथवा दोनों के कारण उत्पन्न होती है उसे गतिज ऊर्जा कहते हैं किसी वस्तु को यदि युवा गति की व्यवस्था में हो तो इसे इस नियम के द्वारा परिभाषित किया जा सकता है जिसे गतिज ऊर्जा कहते हैं
Gatij oorja kee hindee kee aantarik oorja hai jo usake ret kee mahatv ko nahin hai ved athava donon ke kaaran utpann hotee hai use gatij oorja kahate hain kisee vastu ko yadi yuva gati kee vyavastha mein ho to ise is niyam ke dvaara paribhaashit kiya ja sakata hai jise gatij oorja kahate hain

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
भारतीय रेलवे विश्व का पहला प्रदूषण रहित रेलवे कब तक बन जाएगा?Bhartiya Railway Vishv Ka Pehla Pradushan Rahit Railway Kab Tak Ban Jaega
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
1:32
प्रश्न है भारतीय रेलवे विश्व का पहला प्रदूषित रहित प्रदूषण रहित रेलवे कब तक बन जाएगा कि वर्तमान में हमारे भारतीय रेलवे ने स्वच्छता को लेकर एक जो पहल उठाई है यह एक महत्वपूर्ण पहल है जिससे हमारे भारतीय रेलवे को प्रदूषण रहित होने में 1 फायदे हो गए और कायम काम बनेंगे प्रदूषित समाज देश के लिए एक रोग का कारण बनता है इसलिए प्रदूषण रहित समाज हमारे लिए आदर्श सेवा क्योंकि भारतीय रेलवे जो कि हमारे देश की एक महत्वपूर्ण कड़ियां है इन्हें स्वच्छ बनने में हमें लगता है कि अभी लगभग 2 से 3 वर्षों का और समय चाहिए था 2030 तक हमारे भारतीय रेलवे लगभग पूरी तरह से प्रदूषण रहित हो जाएगा यदि इस तरह से पहल किया जाए तो और हमारे यात्री जो भी यात्रा करते हैं हमारे भारतीय रेलवे से उन्हें भी यह सोचना चाहिए नागरिक का कर्तव्य होता है कि हम भारतीय रेलवे को स्वच्छ होना है और इसके साथ-साथ सरकार तो पहन कर ही रही है जिसके कारण आज भारतीय रेलवे प्रदूषण मुक्त होने के कगार पर है और हमारा कर्तव्य बनता है कि इसी तरह योगदान देकर अपना योगदान दें ताकि भविष्य में भारतीय रेलवे प्रदूषण विरहित हो जाए
Prashn hai bhaarateey relave vishv ka pahala pradooshit rahit pradooshan rahit relave kab tak ban jaega ki vartamaan mein hamaare bhaarateey relave ne svachchhata ko lekar ek jo pahal uthaee hai yah ek mahatvapoorn pahal hai jisase hamaare bhaarateey relave ko pradooshan rahit hone mein 1 phaayade ho gae aur kaayam kaam banenge pradooshit samaaj desh ke lie ek rog ka kaaran banata hai isalie pradooshan rahit samaaj hamaare lie aadarsh seva kyonki bhaarateey relave jo ki hamaare desh kee ek mahatvapoorn kadiyaan hai inhen svachchh banane mein hamen lagata hai ki abhee lagabhag 2 se 3 varshon ka aur samay chaahie tha 2030 tak hamaare bhaarateey relave lagabhag pooree tarah se pradooshan rahit ho jaega yadi is tarah se pahal kiya jae to aur hamaare yaatree jo bhee yaatra karate hain hamaare bhaarateey relave se unhen bhee yah sochana chaahie naagarik ka kartavy hota hai ki ham bhaarateey relave ko svachchh hona hai aur isake saath-saath sarakaar to pahan kar hee rahee hai jisake kaaran aaj bhaarateey relave pradooshan mukt hone ke kagaar par hai aur hamaara kartavy banata hai ki isee tarah yogadaan dekar apana yogadaan den taaki bhavishy mein bhaarateey relave pradooshan virahit ho jae

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
साधारण नमक का रासायनिक नाम क्या है?Sadharan Namak Ka Rasaynik Naam Kya Hai
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
0:12
साधारण नमक का रासायनिक नाम जिसे ही सुधारना नमक के नाम से जाना जाता
)]}' [['wrb.fr','MkEWBc','[[\'

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
तानाशाही किसे कहते हैं?Tanashahi Kise Kehte Hain
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
1:13
धनेश्वरी किसे कहते हैं पंचायत के वॉलपेपर शिवानी हुए हो अपने मन के अनुसार इस देश की जनता को हित के बारे में नहीं बल्कि अपने ही देते हैं आरती में मेरे बीच में एक व्यक्ति की पहचान होती है संसार में किसी एक के जानकारों के अनुसार देश की कानून व्यवस्था लगता है
Dhaneshvaree kise kahate hain panchaayat ke volapepar shivaanee hue ho apane man ke anusaar is desh kee janata ko hit ke baare mein nahin balki apane hee dete hain aaratee mein mere beech mein ek vyakti kee pahachaan hotee hai sansaar mein kisee ek ke jaanakaaron ke anusaar desh kee kaanoon vyavastha lagata hai

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
नागरिक अपने वर्तमान सरकार से क्या उम्मीद कर रहे हैं?Nagarik Apne Vartman Sarkar Se Kya Ummid Kar Rahe Hain
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
1:00
इसने नागरिक अपने वर्तमान सरकार से क्या उम्मीद करते हैं कि नागरिक वर्तमान सरकार से यह उम्मीद कर रही है कि जो उन्हें सरकार से मिलना चाहिए उन्हें लाभ मिले चाहता कि 24 तारीख को अपने जीवन यापन सही ढंग से कर सकेंगे सभी सरकारी बाबुओं का जो भाग मंत्र बोलना चाहिए ताकि नागरिक के सरकार से संतुष्ट हैं और सरकार को यह भी सोचना चाहिए कि सरकार जो भी नागरिक के वादे करते हैं उस वादे पर खरे उतरना चाहिए नागरिक के सरकार से अपने आने वाले भविष्य में होने वाले कमियों को दूर करने के लिए कह रहा है सरकार से रोजगार मांगता है तो की बड़ी गाड़ी एक बहुत बड़ी समस्या हो रही है भारत में बेरोजगारी संख्या लगातार बढ़ती जा रही है तो यहां भारत का मिलन परिवार एक बहुत बड़ी समस्या को दूर किया जाना परम आवश्यक है
Isane naagarik apane vartamaan sarakaar se kya ummeed karate hain ki naagarik vartamaan sarakaar se yah ummeed kar rahee hai ki jo unhen sarakaar se milana chaahie unhen laabh mile chaahata ki 24 taareekh ko apane jeevan yaapan sahee dhang se kar sakenge sabhee sarakaaree baabuon ka jo bhaag mantr bolana chaahie taaki naagarik ke sarakaar se santusht hain aur sarakaar ko yah bhee sochana chaahie ki sarakaar jo bhee naagarik ke vaade karate hain us vaade par khare utarana chaahie naagarik ke sarakaar se apane aane vaale bhavishy mein hone vaale kamiyon ko door karane ke lie kah raha hai sarakaar se rojagaar maangata hai to kee badee gaadee ek bahut badee samasya ho rahee hai bhaarat mein berojagaaree sankhya lagaataar badhatee ja rahee hai to yahaan bhaarat ka milan parivaar ek bahut badee samasya ko door kiya jaana param aavashyak hai

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
सबका साथ सबका विकास से आप क्या समझते हैं?Sabka Sath Sabka Vikas Se Aap Kya Samajhte Hain
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
0:38
सबका विकास का मतलब है जिसमें सभी प्रकार के जंतुओं को एक साथ उनके विकास के हित में खर्च किया गया है जिसमें सभी लोगों के लिए बराबर का अधिकार शामिल हो और सभी के लिए जो लक्ष्य की प्राप्ति हो विकास के क्षेत्र में सभी लोगों को मिले किसी को भी इस लक्ष्य से अछूता न किया जाए जिसमें कि कोई पीछे का शिकार बन जाए कोई आगे बढ़ जाए जिसमें सभी लोगों का विकास हो सभी लोगों को आगे बढ़ाया जाए वह सबका साथ सबका विकास का अर्थ
Sabaka vikaas ka matalab hai jisamen sabhee prakaar ke jantuon ko ek saath unake vikaas ke hit mein kharch kiya gaya hai jisamen sabhee logon ke lie baraabar ka adhikaar shaamil ho aur sabhee ke lie jo lakshy kee praapti ho vikaas ke kshetr mein sabhee logon ko mile kisee ko bhee is lakshy se achhoota na kiya jae jisamen ki koee peechhe ka shikaar ban jae koee aage badh jae jisamen sabhee logon ka vikaas ho sabhee logon ko aage badhaaya jae vah sabaka saath sabaka vikaas ka arth

#जीवन शैली

bolkar speaker
आदर्श जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए?Aadarsh Jeevan Ka Lakshya Kya Hona Chaiye
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
1:01
जीवन का लक्ष्य क्या होना चाहिए आपका प्रश्न है कि देखिए आदर्श जीवन का लक्ष्य होना चाहिए कि आप जिससे कार्य को कर रहे हैं उससे आप अपने मेहनत और लगन से और इस लगन से करें कि आप मुस्कान के अपने सफलता के मुकाम तक मैसेज करते हैं और जीवन में एक आदर्श जीवन के लिए हमें अपने लाइफ में अच्छे से अच्छे कार्य करना चाहिए जिसमें हमें लोगों की भी सम्मान में है और हमें लोग एक अच्छे सभी नागरिक मारे हम कह सकते हैं कि एक आदर्श जीवन का लक्ष होता है आप जिस लक्ष्य को पाना चाहते हैं उस लक्ष्य के प्रति ईमानदार बनकर के प्रति अपनी इच्छा के अनुरूप परीक्षण करें जिससे कि आप अपने मुकाम को जल्द से जल्द हासिल कर सकते हैं लाइट को स्ट्रगल लाइफ के रूप में डालें यह एक आदर्श जीवन होना चाहिए
Jeevan ka lakshy kya hona chaahie aapaka prashn hai ki dekhie aadarsh jeevan ka lakshy hona chaahie ki aap jisase kaary ko kar rahe hain usase aap apane mehanat aur lagan se aur is lagan se karen ki aap muskaan ke apane saphalata ke mukaam tak maisej karate hain aur jeevan mein ek aadarsh jeevan ke lie hamen apane laiph mein achchhe se achchhe kaary karana chaahie jisamen hamen logon kee bhee sammaan mein hai aur hamen log ek achchhe sabhee naagarik maare ham kah sakate hain ki ek aadarsh jeevan ka laksh hota hai aap jis lakshy ko paana chaahate hain us lakshy ke prati eemaanadaar banakar ke prati apanee ichchha ke anuroop pareekshan karen jisase ki aap apane mukaam ko jald se jald haasil kar sakate hain lait ko stragal laiph ke roop mein daalen yah ek aadarsh jeevan hona chaahie

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
भारत 2021 के बजट में रेलवे पर कितना खर्चा करेगा?Bharat 2021 Ke Bajat Mein Railway Par Kitna Kharcha Krega
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
0:30
भारत 2021 में रेलवे बजट के लिए 1 पॉइंट 100000 करोड रुपए रेलवे बजट पर रेलवे के लिए खर्च करेगी जो कि रेलवे को अधिक बेहतर सुविधा से लैस किए जायेंगे और बहुत सारे मार्ग को भी पूर्व में भी अच्छे सुविधाओं से लैस भारतीय रेलवे को बनाने में किया जाएगा इसके लिए 1.1 करोड़ लॉक करो रुपए निर्धारित किए गए हैं आने वाले 2021 बजट 2122 में खर्च किया जाए
Bhaarat 2021 mein relave bajat ke lie 1 point 100000 karod rupe relave bajat par relave ke lie kharch karegee jo ki relave ko adhik behatar suvidha se lais kie jaayenge aur bahut saare maarg ko bhee poorv mein bhee achchhe suvidhaon se lais bhaarateey relave ko banaane mein kiya jaega isake lie 1.1 karod lok karo rupe nirdhaarit kie gae hain aane vaale 2021 bajat 2122 mein kharch kiya jae

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या भ्रष्टाचार कहीं ना कहीं देश के लिए बहुत बड़ी समस्या है?Kya Bhrashtachar Kahin Na Kahin Desh Ke Liye Bahut Badi Samasya Hai
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
1:21
प्रश्न है भ्रष्टाचार कभी ना कभी देश के लिए बहुत बड़ी समस्या है जी हां भ्रष्टाचार एक ऐसी समस्या है जो हमारे देश के लिए बहुत बड़ी समस्या है क्योंकि भ्रष्टाचार जब तक नहीं रुकेगी हमारा देश विकास नहीं करेगा लोग भ्रष्टाचार के नाम पर गरीब जनता उसे पैसे चूसे गए हैं और अपनी भाइयों को बड़े हैं भ्रष्टाचार के नाम पर जो काम होनी चाहिए वह लोगों के बीच नहीं हो पाता क्योंकि भ्रष्टाचार इतना बढ़ गया है कि हर जगह घोषणाओं की समस्याएं हैं लोग छोटे-मोटे कामों के लिए सरकारी अफसरों को कहां से रुपए देंगे इसी भ्रष्टाचारी होने से हमारे देश की विकास नहीं हो सकती हम लोगों को भ्रष्टाचार से दूर होना चाहिए ताकि हमारे देश को दिखाओ सो सके लोगों को समझना चाहिए कि हमारे देश के विकास के लिए भ्रष्टाचार एक अन्य आवश्यक करते हैं जिस भ्रष्टाचार एक ऐसी समस्या है कि हम जो देश को गर्त में ले कर जा सकता है इसलिए भ्रष्टाचार के खिलाफ हम सब को लड़ना चाहिए भ्रष्टाचारियों को भगाना चाहिए मास्टर 4 समाज में नहीं हो इसके लिए बहुत सारे कामों को करना चाहिए ताकि भ्रष्टाचार को दूर किया जा
Prashn hai bhrashtaachaar kabhee na kabhee desh ke lie bahut badee samasya hai jee haan bhrashtaachaar ek aisee samasya hai jo hamaare desh ke lie bahut badee samasya hai kyonki bhrashtaachaar jab tak nahin rukegee hamaara desh vikaas nahin karega log bhrashtaachaar ke naam par gareeb janata use paise choose gae hain aur apanee bhaiyon ko bade hain bhrashtaachaar ke naam par jo kaam honee chaahie vah logon ke beech nahin ho paata kyonki bhrashtaachaar itana badh gaya hai ki har jagah ghoshanaon kee samasyaen hain log chhote-mote kaamon ke lie sarakaaree aphasaron ko kahaan se rupe denge isee bhrashtaachaaree hone se hamaare desh kee vikaas nahin ho sakatee ham logon ko bhrashtaachaar se door hona chaahie taaki hamaare desh ko dikhao so sake logon ko samajhana chaahie ki hamaare desh ke vikaas ke lie bhrashtaachaar ek any aavashyak karate hain jis bhrashtaachaar ek aisee samasya hai ki ham jo desh ko gart mein le kar ja sakata hai isalie bhrashtaachaar ke khilaaph ham sab ko ladana chaahie bhrashtaachaariyon ko bhagaana chaahie maastar 4 samaaj mein nahin ho isake lie bahut saare kaamon ko karana chaahie taaki bhrashtaachaar ko door kiya ja

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
सरकार द्वारा नए कृषि कानूनों को वापस लेने से किसका नुकसान होगा?Sarkar Dvara Naye Krishi Kanun Ko Vapas Lene Se Kiska Nuksan Hoga
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
1:17
प्रश्न सरकार द्वारा ने की शिकायत वापस लेने से क्या नुकसान होगा कि सरकार उनकी टिप्पणी जितने कामनाएं के खिलाफ में किसान दिल्ली में इतने दिनों से आंदोलन कर रहे हैं हमारे कई किसान भाइयों की जाने चली गई तो सरकार को ये कानून जब किसानों के हित में नहीं है तू किसान उत्पादन करते हैं तो सरकार को यह मायने में सोचना चाहिए कि हमें यकीन दिलाओ कि बिल वापस लेना चाहिए इसमें जबकि शाम को फायदा ही नहीं है तो ऐसे कैसे कहूं कि किसानों के किसानों के लिए लाना तो अच्छी बात नहीं होती है इसी प्रकार की नुकसान नहीं हो सकता है यदि सरकार किसानों के हित में सूचना चाहिए यह नहीं कि जो किसान के नहीं कानून बनाकर सरकार ने किसान को एक-एक करके में डालने का काम किया है किसान को यह कानून पसंद नहीं है इसमें उसके ही तो नहीं हो
Prashn sarakaar dvaara ne kee shikaayat vaapas lene se kya nukasaan hoga ki sarakaar unakee tippanee jitane kaamanaen ke khilaaph mein kisaan dillee mein itane dinon se aandolan kar rahe hain hamaare kaee kisaan bhaiyon kee jaane chalee gaee to sarakaar ko ye kaanoon jab kisaanon ke hit mein nahin hai too kisaan utpaadan karate hain to sarakaar ko yah maayane mein sochana chaahie ki hamen yakeen dilao ki bil vaapas lena chaahie isamen jabaki shaam ko phaayada hee nahin hai to aise kaise kahoon ki kisaanon ke kisaanon ke lie laana to achchhee baat nahin hotee hai isee prakaar kee nukasaan nahin ho sakata hai yadi sarakaar kisaanon ke hit mein soochana chaahie yah nahin ki jo kisaan ke nahin kaanoon banaakar sarakaar ne kisaan ko ek-ek karake mein daalane ka kaam kiya hai kisaan ko yah kaanoon pasand nahin hai isamen usake hee to nahin ho

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
लोग कब विश्वसनीयता पर संदेह करना शुरू करते हैं?Log Kab Vishvasniyata Par Sandeh Karna Shuru Karte Hain
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
1:14
आपका प्रश्न है जो कभी भी चिंता पर संदेश करता है तो जब लोगों को लगता है कि यह जो भी कार्य कर रहे हैं वह अच्छे से करना और निर्धारित और यह कार्य कर रही है यह लोगों के लिए बहुत भरोसेमंद है हम लोग को आगे सेंड करिएगा यह बातें हैं ऐसी लगती है कि हमें इस पर विश्वास करना चाहिए सी वस्तु है जो भी लोग बड़ी विशेषता पर विश्वास करते हुए अपने कामों को सफलतापूर्वक करते हैं और जो भी वस्तुओं पर विश्वास था कि बात होती है तो एक अच्छे पोस्ट होती है जो हमें आगे चलकर अच्छे कामों के लिए प्रेरणादायक बनते हैं हमें अच्छे कामों में आते हैं ऐसे लोगों पर संदेह प्रश्न करना शुरू हो जाता है जब से विश्वास नहीं होता है कि जब वह उसके साथ विश्वासघात कर सकता है सुमित शक है तो लोगों को उसने होने लगता है
Aapaka prashn hai jo kabhee bhee chinta par sandesh karata hai to jab logon ko lagata hai ki yah jo bhee kaary kar rahe hain vah achchhe se karana aur nirdhaarit aur yah kaary kar rahee hai yah logon ke lie bahut bharosemand hai ham log ko aage send kariega yah baaten hain aisee lagatee hai ki hamen is par vishvaas karana chaahie see vastu hai jo bhee log badee visheshata par vishvaas karate hue apane kaamon ko saphalataapoorvak karate hain aur jo bhee vastuon par vishvaas tha ki baat hotee hai to ek achchhe post hotee hai jo hamen aage chalakar achchhe kaamon ke lie preranaadaayak banate hain hamen achchhe kaamon mein aate hain aise logon par sandeh prashn karana shuroo ho jaata hai jab se vishvaas nahin hota hai ki jab vah usake saath vishvaasaghaat kar sakata hai sumit shak hai to logon ko usane hone lagata hai

#जीवन शैली

bolkar speaker
किसी मनुष्य को मन की शांति कैसे मिलती है?Kisi Manushya Ko Man Kee Shaanti Kaise Milti Hai
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
1:12
आपका प्रश्न है किसी मनुष्य को मन की शांति कैसे मिलती है तो किसी भी मनुष्य को मन की शांति तभी मिलती है जब शांति की बहू कल किसी विषय के बारे में अच्छे लोगों की सूची अपने अंदर अच्छे विचार भूल जाएं अपने मन में किसी प्रकार की बातों को लेकर आना भी नहीं होने से अपने कर्म और सत्य बातों को लेकर हमेशा आगे तभी आपके मन में शांति मिलती है और आप सभी जानते हैं इसी प्रकार की अपने मन में क्या नहीं लोगों के प्रति और किसी प्रकार की बातों में ना आकर अपने अच्छी बातों को ध्यान दें ताकि ऐसे बात ना हो जो हमारी मन को ठेस पहुंचाए और हमें शांति के रास्ते पर ले जाएं यही एक कि हम मान सकते हैं कि ऐसी आदतें हैं जो हम मनुष्य को शांति की प्राप्ति होती है
Aapaka prashn hai kisee manushy ko man kee shaanti kaise milatee hai to kisee bhee manushy ko man kee shaanti tabhee milatee hai jab shaanti kee bahoo kal kisee vishay ke baare mein achchhe logon kee soochee apane andar achchhe vichaar bhool jaen apane man mein kisee prakaar kee baaton ko lekar aana bhee nahin hone se apane karm aur saty baaton ko lekar hamesha aage tabhee aapake man mein shaanti milatee hai aur aap sabhee jaanate hain isee prakaar kee apane man mein kya nahin logon ke prati aur kisee prakaar kee baaton mein na aakar apane achchhee baaton ko dhyaan den taaki aise baat na ho jo hamaaree man ko thes pahunchae aur hamen shaanti ke raaste par le jaen yahee ek ki ham maan sakate hain ki aisee aadaten hain jo ham manushy ko shaanti kee praapti hotee hai

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
प्रथम भारतीय जिसे नोवेल पुरस्कार दिया गया?Pratham Bhartiya Jise Novel Puraskar Diya Gya
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
0:26
प्रथम भारतीय नोबेल पुरस्कार रविंद्र नाथ टैगोर जी को मिला उन्हें यह पुरस्कार जन गण मन अधिनायक जय है राष्ट्रगान के गिनती के रचीयता पर यह पुरस्कार उन्हें दिया गया जो नोबेल पुरस्कार पाने वाले प्रथम भारतीय व्यक्ति बने जिन्हें सबसे पहले नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया
Pratham bhaarateey nobel puraskaar ravindr naath taigor jee ko mila unhen yah puraskaar jan gan man adhinaayak jay hai raashtragaan ke ginatee ke racheeyata par yah puraskaar unhen diya gaya jo nobel puraskaar paane vaale pratham bhaarateey vyakti bane jinhen sabase pahale nobel puraskaar se sammaanit kiya gaya

#भारत की राजनीति

RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
1:43
सरकार कितना भी अच्छा काम कर रहे हैं लोकतंत्र को बचाए रखने के लिए 5 वर्ष तक उसे ध्यान देना चाहिए आपका प्रश्न तो लोकतंत्र यदि कार्य काम कर रहे हैं दोनों को खतरा में नहीं हो सकता है आपका प्रश्न यही टुडे कि हमें लोकतंत्र को बचाए रखने के लिए वर्तमान में मोदी सरकार हमारे कार्य कर रहे हैं तो हमें लोकतंत्र को यह खतरा नहीं है यदि शामिल हुए सरकार यदि किसी प्रकार की करनी है हमारे देश की विकास के लिए खतरे हैं तो हमें लोकतंत्र की रक्षा के लिए लोकतंत्र को बनाए रखने के लिए सरकार को बदलने चाहिए ताकि देश में लोकतंत्र की व्यवस्था को वर्तमान संयम रखा जाता है कि नहीं ऐसा नहीं करने पर हुआ है राजतंत्र का रूप ले लेता है और संस्था किसी एक व्यक्ति के हाथ में बार-बार होने के कारण हो सकता को क्यों करता है और अपने देश के विकास में अपना योगदान ना के बराबर देता है यह हमें लगे कि यदि सरकार पोलूशन का काम नहीं कर रहा हो तो हम पांच प्रत्येक 5 वर्ष में उसे जरूर जिसे सरकार को लाना चाहिए क्योंकि लोकतंत्र उन संस्थाओं के द्वारा चुने गए सरकार में जनता हूं कि जो भी कार्य करेगा उसी को हम सुनकर मैं खाना बनाने का काम करेंगे यह लोकतंत्र की परंपरा है
Sarakaar kitana bhee achchha kaam kar rahe hain lokatantr ko bachae rakhane ke lie 5 varsh tak use dhyaan dena chaahie aapaka prashn to lokatantr yadi kaary kaam kar rahe hain donon ko khatara mein nahin ho sakata hai aapaka prashn yahee tude ki hamen lokatantr ko bachae rakhane ke lie vartamaan mein modee sarakaar hamaare kaary kar rahe hain to hamen lokatantr ko yah khatara nahin hai yadi shaamil hue sarakaar yadi kisee prakaar kee karanee hai hamaare desh kee vikaas ke lie khatare hain to hamen lokatantr kee raksha ke lie lokatantr ko banae rakhane ke lie sarakaar ko badalane chaahie taaki desh mein lokatantr kee vyavastha ko vartamaan sanyam rakha jaata hai ki nahin aisa nahin karane par hua hai raajatantr ka roop le leta hai aur sanstha kisee ek vyakti ke haath mein baar-baar hone ke kaaran ho sakata ko kyon karata hai aur apane desh ke vikaas mein apana yogadaan na ke baraabar deta hai yah hamen lage ki yadi sarakaar polooshan ka kaam nahin kar raha ho to ham paanch pratyek 5 varsh mein use jaroor jise sarakaar ko laana chaahie kyonki lokatantr un sansthaon ke dvaara chune gae sarakaar mein janata hoon ki jo bhee kaary karega usee ko ham sunakar main khaana banaane ka kaam karenge yah lokatantr kee parampara hai

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
एनसीसी में क्या क्या छूट मिलती है?Ncc Mein Kya Kya Chut Milti Hai
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
0:51
आपका प्रश्न है कि एनसीसी में क्या छूट मिलती है तो आप एनसीसी की ए बी और सी टीमों और कर लेते हैं सी सर्टिफिकेट ले लेते हैं तो आपको जैसे सेना भर्ती होती है तो आपको सेना भर्ती में 15 परसेंट की छूट मिल जाती है अभी अंधेरी के तीनों कोर्स कर चुके होते हैं तो हमें सेना में जाने मिला बहुत ही यह 15 परसेंट की लाभ होती है और कैसे देखेंगे होती है जो एनसीपी के लिए निकलती है जो सिर्फ एनसीसी कुर्सियों ने कर रखा है वहीं इस फार्म को अप्लाई कर सकते हैं तो यह से शुरू करे हुए अभ्यर्थियों को यह फायदा होता है कि वह इस फार्म को आप ना कर सके और अपने देश से वापी मुकाम को हासिल कर सकें
Aapaka prashn hai ki enaseesee mein kya chhoot milatee hai to aap enaseesee kee e bee aur see teemon aur kar lete hain see sartiphiket le lete hain to aapako jaise sena bhartee hotee hai to aapako sena bhartee mein 15 parasent kee chhoot mil jaatee hai abhee andheree ke teenon kors kar chuke hote hain to hamen sena mein jaane mila bahut hee yah 15 parasent kee laabh hotee hai aur kaise dekhenge hotee hai jo enaseepee ke lie nikalatee hai jo sirph enaseesee kursiyon ne kar rakha hai vaheen is phaarm ko aplaee kar sakate hain to yah se shuroo kare hue abhyarthiyon ko yah phaayada hota hai ki vah is phaarm ko aap na kar sake aur apane desh se vaapee mukaam ko haasil kar saken

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
किसानों की कृषि कानूनों को सरकार से वापस लेने की जिद को आप कैसे समझते हैं?Kisaanon Ki Krishi Kaanunon Ko Sarkar Se Vapas Lene Ki Jid Ko Aap Kaise Samajhte Hain
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
1:47
आपने हमसे पूछा है कि किसानों की कृषि कानून को सरकार वापस लेने की विधि से आप क्या समझते हैं तो यह कृषि कानून जो सरकार के द्वारा बनाए गए हैं तीन विरुपाक्ष किए गए हैं जिसमें से युवा बिंदु किसानों के हित में नहीं है और तो सरकार को यह मानना चाहिए कि जो किसान के हित में जो बिल नहीं हो तो उस दिन वह हम नहीं ला सकते हैं ऐसे बिल को सरकार को तुरंत वापस लेना चाहिए जिसके लिए किसान में इतने दिनों से रहकर जो अपना आंदोलन कर रहे हैं कितने किसान अपनी जान गवां चुके हैं तो सरकार को सख्त समझने की जरूरत होती है कि उन्हें ये हमको वापस लेना चाहिए क्योंकि यदि हम किसानों के हित में जो कानून नहीं है वह वापस करते हैं तो जहां तक हो इसमें किसान की बहुत परेशानियां होती है किसान को परेशानियों को समझते हुए सरकार से यह हम जरूर इतना कह सकते हैं कि सरकार 1992 विचार कर वापस जरूर लेना चाहिए यदि उसमें लगेगी सर कानून जो किसी की हित में हो तो तो नहीं मान सकते लेकिन यदि कानून किसानों के हित में नहीं तो उसे सरकार को यह फर्ज है कि सरकार को वापस लेने हम किसान की जिद नहीं समझते हैं क्योंकि सरकार को बात माननी चाहिए थी कि किसान इतने दिन से आंदोलन कर रहे हैं तो काम को हम वापस क्यों नहीं ले रहे हैं इस पर विचार तो करना जरूरी है
Aapane hamase poochha hai ki kisaanon kee krshi kaanoon ko sarakaar vaapas lene kee vidhi se aap kya samajhate hain to yah krshi kaanoon jo sarakaar ke dvaara banae gae hain teen virupaaksh kie gae hain jisamen se yuva bindu kisaanon ke hit mein nahin hai aur to sarakaar ko yah maanana chaahie ki jo kisaan ke hit mein jo bil nahin ho to us din vah ham nahin la sakate hain aise bil ko sarakaar ko turant vaapas lena chaahie jisake lie kisaan mein itane dinon se rahakar jo apana aandolan kar rahe hain kitane kisaan apanee jaan gavaan chuke hain to sarakaar ko sakht samajhane kee jaroorat hotee hai ki unhen ye hamako vaapas lena chaahie kyonki yadi ham kisaanon ke hit mein jo kaanoon nahin hai vah vaapas karate hain to jahaan tak ho isamen kisaan kee bahut pareshaaniyaan hotee hai kisaan ko pareshaaniyon ko samajhate hue sarakaar se yah ham jaroor itana kah sakate hain ki sarakaar 1992 vichaar kar vaapas jaroor lena chaahie yadi usamen lagegee sar kaanoon jo kisee kee hit mein ho to to nahin maan sakate lekin yadi kaanoon kisaanon ke hit mein nahin to use sarakaar ko yah pharj hai ki sarakaar ko vaapas lene ham kisaan kee jid nahin samajhate hain kyonki sarakaar ko baat maananee chaahie thee ki kisaan itane din se aandolan kar rahe hain to kaam ko ham vaapas kyon nahin le rahe hain is par vichaar to karana jarooree hai

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
हावड़ा-कालका मेल का नया नाम क्या रखा गया है?Havda Kalka Mail Ka Naya Nam Kya Rkha Gaya Hai
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
0:20
नाम नेताजी सुभाष चंद्र बोस के नाम पर नेताजी स्पेक्टर रखा गया जो हावड़ा से कालका तक के नाम से जाने जाने वाली ट्रेन का न्यू नेम नेताजी स्प्रे कर दिया गया
Naam netaajee subhaash chandr bos ke naam par netaajee spektar rakha gaya jo haavada se kaalaka tak ke naam se jaane jaane vaalee tren ka nyoo nem netaajee spre kar diya gaya

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
भारत में कौन पहले आया पुर्तगाली या डच?Bharat Mein Kaun Pehle Aaya Portuguese Ya Dutch
RAJIV KUMAR YADAV Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RAJIV जी का जवाब
Student
0:26
भारत में सबसे पहले पुर्तगाली आया पुर्तगाली यात्री वास्कोडिगामा 1498 कुमार के द्वारा कालीकट पहुंचा उसने सम भारत की सबसे पहले समुद्री कुमार के द्वारा भारत की खोज वास्कोडिगामा ने की इस तरह सबसे पहले पुर्तगाली भारत में आया उसके बाद व्यक्ति भारत में
Bhaarat mein sabase pahale purtagaalee aaya purtagaalee yaatree vaaskodigaama 1498 kumaar ke dvaara kaaleekat pahuncha usane sam bhaarat kee sabase pahale samudree kumaar ke dvaara bhaarat kee khoj vaaskodigaama ne kee is tarah sabase pahale purtagaalee bhaarat mein aaya usake baad vyakti bhaarat mein
URL copied to clipboard