#रिश्ते और संबंध

charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
4:11
अपने प्रश्न पूछा है मैं बहुत इमोशनल लड़की हूं जब भी मुझे कोई कुछ बोलता है तो बात मेरे दिमाग में घूमती रहती है मुझे क्या करना चाहिए कि पहले तो मैं आपसे कहूंगा कि आपने जो प्रश्न पूछा है शायद वो गलत है क्योंकि आपने लिखा मैं बहुत इमोशनल लड़की हूं अगर आप इमोशनल है तो उससे आप की भावुकता का पता चलता है कि वह सनवाड़ एक ऐसा वर्ड होता है कि जैसे मालिका आपको कोई कुछ कह देता है या कोई ऐसी घटना कोई आपके सामने सुना रहा होता है क्या ऐसा कोई चलचित्र आपके सामने तो आपकी आंखों के सामने और होता है किसान भावुक हो जाए जो अब बहुत जल्दी मैंने देखा है अक्सर लोग को बहुत जल्दी रोना आ जाता है बिन हम पिक्चर भी देख रहे होते तुम्हारी आंख से टपका आंसू बहने लगते हैं अगर वह सीन कुछ ऐसा है कि मां-बाप से बिछड़ रहा है बेटा यह किसी का खून हो गया या हीरो मर गया तो हम लोगों ने इसे कहते हैं इंसान इमोशनल है आपने लिखा है कि मैं मुझे कोई कुछ बोलता है तो मैं हमेशा वह बाद में दिमाग में घूमती रहती है इतनी सी दुआ स्टैंड पर आप बहुत ज्यादा सेंसिटिव लड़की हैं और आपको जब कोई कुछ बोल देता है तो वह दिमाग आपके दिमाग नहीं जोधपुर तरीके से घर कर लेती है आप तो यह समझ नहीं पाती कि मुझे इसका जवाब देकर अपना दिल हल्का करना चाहिए या फिर मैं अपने अंदर एक बार भर के घर जाना चाहिए अब आपने मुझे क्या करना चाहिए तो देखी मैंने आपके प्रश्न को बहुत अच्छे से समझ के आपको क्या रिप्लाई भी कर दिया है कि यू आर नॉट इमोशनल आप एक्सपेंसिव लड़की है और अगर आपको ऐसा लगता है कि दूसरों की कही हुई बातें आपके दिमाग में बैठ जाती हैं साथ यह सोच लीजिए कि यह दुनिया से बोलती है और सुनने वाले पर डिपेंड करता है वह कितना उसका रिएक्शन देता है उसको उस दुनिया को या बोलने वाले को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि जो सुन रहा है उसके ऊपर क्या बीत रही है तो आप भी क्यों किसी की परवाह करती है क्यों किसी भी बात को सुनकर अपने दिमाग में बिठा लेते हैं हां अगर कोई आपको अच्छी राय देता है तो बिल्कुल उसको अपना ही आपके बड़े अगर आपको कुछ गलत करने से रोकते हैं तो बिल्कुल उसको अपनाई लेकिन अगर कोई बात बात पर आपको प्रिंस कर रहा है अगर आपकी कोई बेइज्जती कर रहा है अगर आपको कोई बार-बार इस तरीके का एहसास दिलाता है कि आप उस लायक नहीं है उस काम को करने के लायक में इग्नोर करिए उसको अपने दिमाग में उन बातों को दिखाना बंद कर दीजिए क्योंकि जब वह कोई बात है मैं दिमाग में बैठा दी ना तो मैं आपको यह भी कह सकती हूं कि आपको रात में नींद भी नहीं आती होगी क्योंकि जब हम रात में सोते हैं तो हमारा मन को शांत होना चाहिए और अगर हमारे दिमाग में किसी तरीके का कोई भी एक वे जो भी घटित हुआ है हमारे उस पूरे दिन में अगर कुछ ऐसा है जिसने जिसको आपने अपने दिमाग में बिठा लिया तो आपके दिमाग में घूमता रहकर आप चाहकर भी नहीं सो पाएंगे तो इसलिए अपने दिमाग से उन बातों को निकालिए कोशिश करिए कि अगर कोई आपको गलत कह रहा है तो उसका जवाब दीजिए और कोशिश करिए कि अगर कोई आपकी बेइज्जती करा है तो तुरंत उसको उसने तो किए क्योंकि देखे गलत सहन गलत किसी का करा हुआ कहना भी एक गलत कर रही जैसा होता है जब तक हम गलत के खिलाफ आवाज नहीं उठाते तब तक सामने वाला गलत करता रहता है और अगर आपको ऐसा लगता है कि मुझे कोई कुछ भी बोलता है तो वह मेरे पास हमेशा दिमाग में बैठ जाती है तो इतनी सही बात है आप के दिमाग में बैठेंगे तो आपको प्रिंस करते हैं आपका दिल दुखाते हैं तो अगर आपको लगता है कि सामने वाले ने मेरे दिल दुखाने वाली बात तुरंत उसको इंडिकेटर के पलट कर जवाब जरूर दीजिए क्योंकि जब हम किसी को पलट कर जवाब दे दे जाते हैं ना तुम्हारे दिल को तसल्ली हो जाती है और हमेशा अपने मन में सोची यस आई कैन डू आई विल गोइंग टू डू जब आप सोच लेना मन में तो आप करेंगे भी जवाब भी देंगे और सामने वाले का मुंह एक न एक दिन जरुर बंद हो जाएगा वह कुछ भी कहने से पहले आपको पहुंचेगा देखे दुनिया में कई तरीके के लोग होते कुछ लोग ऐसे होते हैं कि तुमको कोई कुछ भी बोल कर चला जाता है और सामने वाला जवाब नहीं देते वह लोग इसके पास से ले आते हैं क्योंकि उनको मालूम होता है इंसान जवाब नहीं देगा और कुछ लोग ऐसे होते उनके सामने बोलने से लोग डरते हैं पता होता है कि पलट कर भी 2 मिनट में मेरी बेज्जती कर देगा अगर हमको कुछ कहेंगे तो बिल्कुल ऐसा ही बने कोशिश कीजिए कि आपको कोई कुछ कहे ना और आप दिमाग से तो निकाल दीजिए कि मुझे उसके अंदर भर के बैठना नहीं बिल्कुल नहीं गलत है तो तुरंत उसको टो की और अपने दिमाग से कार्य करते निकाल दीजिए और एक दिन जब कभी भी सोने के लिए जाएं तो अपने पैर धोकर और हाथ धोकर पानी से कभी आप सॉरी आपको बहुत अच्छे से नींद आएगी बिल्कुल पूरे दिन में क्या आपके ऊपर बीता इसके बारे में बिल्कुल ना सोचे हैं बस एक अच्छी नहीं लीजिएगा और अगली सुबह में बिल्कुल यही सोच कर उठेगा कि आज मैं वह बिल्कुल नहीं करूंगी जो मैं 30 आएंगे थैंक यू
Apane prashn poochha hai main bahut imoshanal ladakee hoon jab bhee mujhe koee kuchh bolata hai to baat mere dimaag mein ghoomatee rahatee hai mujhe kya karana chaahie ki pahale to main aapase kahoonga ki aapane jo prashn poochha hai shaayad vo galat hai kyonki aapane likha main bahut imoshanal ladakee hoon agar aap imoshanal hai to usase aap kee bhaavukata ka pata chalata hai ki vah sanavaad ek aisa vard hota hai ki jaise maalika aapako koee kuchh kah deta hai ya koee aisee ghatana koee aapake saamane suna raha hota hai kya aisa koee chalachitr aapake saamane to aapakee aankhon ke saamane aur hota hai kisaan bhaavuk ho jae jo ab bahut jaldee mainne dekha hai aksar log ko bahut jaldee rona aa jaata hai bin ham pikchar bhee dekh rahe hote tumhaaree aankh se tapaka aansoo bahane lagate hain agar vah seen kuchh aisa hai ki maan-baap se bichhad raha hai beta yah kisee ka khoon ho gaya ya heero mar gaya to ham logon ne ise kahate hain insaan imoshanal hai aapane likha hai ki main mujhe koee kuchh bolata hai to main hamesha vah baad mein dimaag mein ghoomatee rahatee hai itanee see dua staind par aap bahut jyaada sensitiv ladakee hain aur aapako jab koee kuchh bol deta hai to vah dimaag aapake dimaag nahin jodhapur tareeke se ghar kar letee hai aap to yah samajh nahin paatee ki mujhe isaka javaab dekar apana dil halka karana chaahie ya phir main apane andar ek baar bhar ke ghar jaana chaahie ab aapane mujhe kya karana chaahie to dekhee mainne aapake prashn ko bahut achchhe se samajh ke aapako kya riplaee bhee kar diya hai ki yoo aar not imoshanal aap eksapensiv ladakee hai aur agar aapako aisa lagata hai ki doosaron kee kahee huee baaten aapake dimaag mein baith jaatee hain saath yah soch leejie ki yah duniya se bolatee hai aur sunane vaale par dipend karata hai vah kitana usaka riekshan deta hai usako us duniya ko ya bolane vaale ko isase koee phark nahin padata ki jo sun raha hai usake oopar kya beet rahee hai to aap bhee kyon kisee kee paravaah karatee hai kyon kisee bhee baat ko sunakar apane dimaag mein bitha lete hain haan agar koee aapako achchhee raay deta hai to bilkul usako apana hee aapake bade agar aapako kuchh galat karane se rokate hain to bilkul usako apanaee lekin agar koee baat baat par aapako prins kar raha hai agar aapakee koee beijjatee kar raha hai agar aapako koee baar-baar is tareeke ka ehasaas dilaata hai ki aap us laayak nahin hai us kaam ko karane ke laayak mein ignor karie usako apane dimaag mein un baaton ko dikhaana band kar deejie kyonki jab vah koee baat hai main dimaag mein baitha dee na to main aapako yah bhee kah sakatee hoon ki aapako raat mein neend bhee nahin aatee hogee kyonki jab ham raat mein sote hain to hamaara man ko shaant hona chaahie aur agar hamaare dimaag mein kisee tareeke ka koee bhee ek ve jo bhee ghatit hua hai hamaare us poore din mein agar kuchh aisa hai jisane jisako aapane apane dimaag mein bitha liya to aapake dimaag mein ghoomata rahakar aap chaahakar bhee nahin so paenge to isalie apane dimaag se un baaton ko nikaalie koshish karie ki agar koee aapako galat kah raha hai to usaka javaab deejie aur koshish karie ki agar koee aapakee beijjatee kara hai to turant usako usane to kie kyonki dekhe galat sahan galat kisee ka kara hua kahana bhee ek galat kar rahee jaisa hota hai jab tak ham galat ke khilaaph aavaaj nahin uthaate tab tak saamane vaala galat karata rahata hai aur agar aapako aisa lagata hai ki mujhe koee kuchh bhee bolata hai to vah mere paas hamesha dimaag mein baith jaatee hai to itanee sahee baat hai aap ke dimaag mein baithenge to aapako prins karate hain aapaka dil dukhaate hain to agar aapako lagata hai ki saamane vaale ne mere dil dukhaane vaalee baat turant usako indiketar ke palat kar javaab jaroor deejie kyonki jab ham kisee ko palat kar javaab de de jaate hain na tumhaare dil ko tasallee ho jaatee hai aur hamesha apane man mein sochee yas aaee kain doo aaee vil going too doo jab aap soch lena man mein to aap karenge bhee javaab bhee denge aur saamane vaale ka munh ek na ek din jarur band ho jaega vah kuchh bhee kahane se pahale aapako pahunchega dekhe duniya mein kaee tareeke ke log hote kuchh log aise hote hain ki tumako koee kuchh bhee bol kar chala jaata hai aur saamane vaala javaab nahin dete vah log isake paas se le aate hain kyonki unako maaloom hota hai insaan javaab nahin dega aur kuchh log aise hote unake saamane bolane se log darate hain pata hota hai ki palat kar bhee 2 minat mein meree bejjatee kar dega agar hamako kuchh kahenge to bilkul aisa hee bane koshish keejie ki aapako koee kuchh kahe na aur aap dimaag se to nikaal deejie ki mujhe usake andar bhar ke baithana nahin bilkul nahin galat hai to turant usako to kee aur apane dimaag se kaary karate nikaal deejie aur ek din jab kabhee bhee sone ke lie jaen to apane pair dhokar aur haath dhokar paanee se kabhee aap soree aapako bahut achchhe se neend aaegee bilkul poore din mein kya aapake oopar beeta isake baare mein bilkul na soche hain bas ek achchhee nahin leejiega aur agalee subah mein bilkul yahee soch kar uthega ki aaj main vah bilkul nahin karoongee jo main 30 aaenge thaink yoo

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या झूठी खबरें दिखाकर देश में अराजकता फैलाने वाले चैनल जीन्यूज़ को वन्द कर देना चाहिए?Kya Jhoothee Khabaren Dikhaakar Desh Mein Araajakata Phailaane Vaale Chainal Jeenyooz Ko Vand Kar Dena Chaahie
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
1:19
क्या आपने कुछ पूछा है क्या झूठी खबर दिखा कर देश में अराजकता फैलाने वाले चैनल में है उसको बंद कर देना चाहिए तो मैं आपसे बताना चाहूंगी कि न्यूज़ अगर ऐसी कोई खबर दिखा रहा है तो और आप यह जानते हैं कि हम यह जानते हैं क्यों ऐसी खबर दिखा रहा था क्यों उसके ऊपर हमें याद करते हैं अगर देने उसको ऐसी खबर दिखाता है जिससे आपकी फैमिली में लड़ाई हो जाए तुम्हारी शादी में तो उसके कहने से लड़ाई नहीं होती है उसका यह किसी और ऐसी न्यूज़ चैनल पर दिखाने वाली जो आराम से रह सकता फैला रही है या झूठी खबर है उसको हम अपनी मानसिकता क्यों बना लेते हैं हम उनके कहने से अपना माना जो मानसिक संतुलन वह क्यों हो रहे हैं हम उनके कहने से क्यों झूठी खबर फैला रहे हैं ऐसे तो सिगरेट के ऊपर भी लिखा जाता है कि यह सिगरेट पीना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है उससे बात भी इंसान पी रहा है क्यों जानता है कि उसके साथ लिए हानिकारक है लेकिन जो पहचानता है कि जिस गलत है वह चीज को नहीं ले रहा है इसी तरीके से शराब है लेकिन अब सिगरेट बंद होती है ना शराब बंद हो तुझे तुझे उसके चैनल को क्यों बंद कर दे भाई आप अपनी सोच बदलिए अपनी बुद्धि लगाई है और अपने हिसाब से जीवन जीते कि किसी को कह देने से ना तो जिंदगी बदलती है और ना ही किसी के कर देने से आपका चरित्र बदल जाता है आप अपनी बुद्धि से काम करिए और जो चीज छुट्टी है और जो अराजकता फैला रही है उसको दूसरों को भी चेतावनी दी गई उसको समझाइए कि यह चीज गलत है और किसी भी न्यूज़ चैनल पर बताइए थैंक यू
Kya aapane kuchh poochha hai kya jhoothee khabar dikha kar desh mein araajakata phailaane vaale chainal mein hai usako band kar dena chaahie to main aapase bataana chaahoongee ki nyooz agar aisee koee khabar dikha raha hai to aur aap yah jaanate hain ki ham yah jaanate hain kyon aisee khabar dikha raha tha kyon usake oopar hamen yaad karate hain agar dene usako aisee khabar dikhaata hai jisase aapakee phaimilee mein ladaee ho jae tumhaaree shaadee mein to usake kahane se ladaee nahin hotee hai usaka yah kisee aur aisee nyooz chainal par dikhaane vaalee jo aaraam se rah sakata phaila rahee hai ya jhoothee khabar hai usako ham apanee maanasikata kyon bana lete hain ham unake kahane se apana maana jo maanasik santulan vah kyon ho rahe hain ham unake kahane se kyon jhoothee khabar phaila rahe hain aise to sigaret ke oopar bhee likha jaata hai ki yah sigaret peena svaasthy ke lie haanikaarak hai usase baat bhee insaan pee raha hai kyon jaanata hai ki usake saath lie haanikaarak hai lekin jo pahachaanata hai ki jis galat hai vah cheej ko nahin le raha hai isee tareeke se sharaab hai lekin ab sigaret band hotee hai na sharaab band ho tujhe tujhe usake chainal ko kyon band kar de bhaee aap apanee soch badalie apanee buddhi lagaee hai aur apane hisaab se jeevan jeete ki kisee ko kah dene se na to jindagee badalatee hai aur na hee kisee ke kar dene se aapaka charitr badal jaata hai aap apanee buddhi se kaam karie aur jo cheej chhuttee hai aur jo araajakata phaila rahee hai usako doosaron ko bhee chetaavanee dee gaee usako samajhaie ki yah cheej galat hai aur kisee bhee nyooz chainal par bataie thaink yoo

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
कम उम्र में शादी करने के बाद क्या-क्या दिक्कतें आती हैं?Kam Umr Mein Shaadi Karne Ke Baad Kya Kya Dikkatein Aati Hain
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
3:26
आपने जो प्रश्न पूछा है का मंदिर में शादी करने से क्या-क्या दिक्कतें आती हैं लेकिन कम उम्र की शादी में कहना चाहूंगी कि 80% चलती ही नहीं है बहुत कम ऐसा होता है कि वह आगे चलती है तो उसके अंदर प्यार या अपनापन होता है या वह सिर्फ इस उस पर चलती रहती है कि हमने रिश्ता जोड़ा है तो उसको नहीं भाई अब देखता नहीं कराती हैं आप यह सोचिए एक इंसान जो कम उम्र में अभी सिर्फ पढ़ ही रहा था वह नौकरी नहीं करा और आपने उससे शादी कर दीजिए सेक्स गांव में देखते हैं कि लड़का 20 साल का 18 साल का है उसके सिर्फ इसलिए शादी कर दी जाती है क्योंकि उसके मां-बाप ने पासबुक खेती जमीन कितना बीघा खेत में कितने बीघा जमीन है उसके लिए तो उसकी शादी तो कर दी जाती है यह सोच कर कि उसके पास कम से कम खाने पीने की तो कोई कमी नहीं है चाहे वह कम आए या नहीं मां-बाप यह कभी नहीं सोचते कि आने वाली जो लड़की है वह भी कम उम्र की है और हमारे लड़का भी कम उम्र का है तो उसको कितनी परेशानी होगी क्योंकि वह लड़का अभी उधर इस पर उसने कदम नहीं रखा है जिसमें वह अपने आप को भी नहीं समझ पाया यहां आपने उसके साथ एक रिश्ता जोड़ अब अपने साथ-साथ उसके बारे में भी सोचो जो बहुत कम होता है वह लड़का सिर्फ अपने बारे में सोचता है जिसके कारण रिश्ते में दरार आने शुरू हो जाती है वह लड़का में चोर ने तीसरी बार भी नहीं करा होता वह सिर्फ लड़कपन में जीरा होता है कि आपने उसकी शादी करनी होती है और अपने ऊपर आई विल जिम्मेदारियों को निभा ना ही नहीं चाहता वह निभाना चाहे भी तो निभा नहीं पाता क्योंकि वह अपने पैरों पर खड़ा ही नहीं है यह बहुत आसान है कह देना कि हमारे पास जो हमारे पुश्तैनी बहुत सारा पैसा है तो हमें कमाने की कोई जरूरत नहीं है जब तक इंसान अपने हाथ से काम आता नहीं है ना तब तक ना तो उसे खर्च करने की अहमियत पता चलती है नहीं रिश्तो को निभाने के महत्व चलती है इस दुनिया में दोस्त दुख है तो दुख को भी हम उसी तरीके से जब तक महसूस नहीं करते तब तक हम तो कितना अच्छा में आनंद देता है इस बात का अंदाजा नहीं आ सकते तो शादी की जब कम उम्र में हो जाती है तो वह हैं जो दोस्तों की लाइफ उसको छोड़ना नहीं चाहता और जो उस साथ में उसको रिश्ता उसके साथ बंद है उसको अपने नहीं चाहता जिसके कारण हम दोनों के बीच में खटास पैदा हो जाती है वह लड़की जो खुद भी कम उम्र की है उसको अचानक से पूरे घर की जिम्मेदारी दे दी जाती है वह लड़की जो मां अपनी मां से खाना मांग कर खाया खाती थी आज उसको पूरे घर को खाना खिलाने के बाद खाना बनता है तो बहुत सारी चीजें कम उम्र में शादी करने से आ जाते हैं जिसके कारण जो मां बाप है वह भी खेलते हैं और जिनकी शादियां हो जाती है वह भी जलते हैं और सबसे अहम जो है वह है बच्चों का पैदा हो जाना जो एक बहुत ही जरूरी बात है क्योंकि शादी होने के बाद लड़का लड़की को जो बातें बताई जाती है उनको वह एक रूटीन वर्क लेकर उसको जो शुरुआत उस चीज के उस रिश्ते की शुरुआत करते हैं और उनसे जो आगे नचले आने लगती है कम उम्र में जो उनके बच्चे पैदा हो जाते हैं उनकी जिम्मेदारी नहीं समझता हूं कैसा लगता है कि यह तो हम शादी के बाद ऐसा होना ही है ऐसा होना ही चाहिए अगर ऐसा नहीं होता है तो यह गलत हो जाता है तो वह चीज वह एक जिम्मेदारी निभा कर नहीं एक कंजर्वेशन करते हैं जो कि बहुत ही गलत है जिसके कारण बच्चों के ऊपर भी बहुत गहरा और गलत असर पड़ता है और खुद जो मां बाप बने हैं कम उम्र में उनके ऊपर बहुत गलत कर पड़ता है तो इतने मेरा तो सब से यह सजेशन है कि लड़का हो या लड़की हो 25 साल की उम्र से पहले किसी से शादी नहीं करनी चाहिए और जब तक आप अपने पैरों पर खड़े हो जाएं कमाने ना लग जाए और मैं चुने की थोड़ी सी आपके अंदर बुद्धि ना जाए तब तक आपको शादी भी करनी चाहिए

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या प्यार सूरत देखकर करना चाहिए या फिर सीरत देखकर?Kya Pyar Surat Dekhkar Karna Chayia Ya Fir Seerat Dekhkar
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
2:40
अपने खुश नहीं पूछा है क्या प्यार सूरत देखकर करना चाहिए या फिर थोड़ा ठीक है मैं आपको बताना चाहूंगा कि प्यार जो है कई तरीके का होता है एक होता है कि पहली नजर वाला प्यार तो पहली नजर में तो आप इंसान की सूरत ही देख लेना अगर आपको उसकी सूरत देखकर प्यार हो रहा है अगर आपको उसकी आंखें देख कर प्यार हो रहा है अगर आप उसकी चेहरा देखकर प्यार हो रहा है या आपको उसके लिए ट्रैक्टर प्यार है जो भी आप को उसके अंदर अट्रैक्शन वाला कोई भी चीज और देखकर अगर आप प्यार महसूस कर रहे हैं तो सब पहली नजर वाला प्यार कहते हैं तो उसमें आप तो कहां से देख पाएंगे तभी भी नहीं देख पाएंगे कहते हैं प्यार होना जिसे हम लोग कहते हैं सच्चा प्यार हो सकता है हमसे इनफैचुएशन भी बोल सकते हैं वह लवेशिप लव जब हम किसी से करने लग जाते हैं तो उसके लिए हमें उसका बार बार उससे बात करना या उसके बारे में जानना है उसके हर हर तरीके से उसके बारे में पहचान रखता क्योंकि जब हम किसी से देखें अट्रेक्ट होते हैं तो उससे उसका आजकल मोबाइल का ज्यादा यूज होने लगा है कि वह आपकी देर परत दर परत हर चीज को खोल देता तो आप अगर को आप उसका मोबाइल नंबर ले लेते हैं यह सोच कर कि मुझे इससे जो है दोस्ती आगे बढ़ानी है या मैं इसको और आगे जानना चाहता हूं तो यही प्यार की पहली सीढी होती है क्योंकि आप जब उससे बात करने लग जाते हैं तो अचानक से मान लीजिए 4 दिन बाद 5 दिन बाद उसका मैसेज आना बंद हो जाएगा कॉलोनी बंद हो जाए आपके अंदर बेचैनी आप महसूस कर देना समझ लीजिए वही प्यार है जब आप उससे बात करें बिना रह ना पाए जब आप उसे यहां देख देखने वाली बात आई नहीं रही यहां सिर्फ दो लोग आपस में बातें करें वह दूसरे को देख नहीं पा रहा है सिर्फ आपस में एक दूसरे से बात कर रहे हैं एक दूसरे से लेट कर रहे हैं एक दूसरे को समझ रहे हैं तो इसे कहते हैं सीरियल जान पाना जब आप उसकी सीरत से प्यार करने लग जाते हैं तो उसके दूसरे तरीके का प्यार करते हैं प्यार कई तरीके का होता है अगर हम यह तय है कि प्यार सूरत रोते हो सकता है क्या होता है तो ऐसा भी नहीं कह सकते हैं लोग अक्सर लड़कियां और लड़के यह चाहते हैं कि हम जिससे प्यार करें वह देखने में अच्छा हैंडसम गे ब्यूटीफुल लड़की होनी चाहिए लेकिन मैंने और भी बहुत सारे अच्छी कंडीशन से क्यों है यहां पर लड़की बिल्कुल अच्छी नहीं लगती होगी उसका रंग भी साफ नहीं है लेकिन लड़का उससे बहुत मोहब्बत करता है उसे कहते हैं असली रखवाला प्यार तो यह आपके ऊपर डिपेंड करता है कि आपको कौन सा प्यार होता है और वाकई में वह प्यार होता है बल्कि सिर्फ अट्रैक्शन होता है क्योंकि प्यार भी कई तरीके की परिभाषाएं लेकर आता है और आप उसको प्यार को अपनी लाइफ में आगे कितना ज्यादा बढ़ाते हैं या रोक देते हैं या पर डिपेंड करता है थैंक्स

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
यदि पाटनर हमारे फोन में ताक़ झाक करता है तो इसके पीछे की वजह क्या होती है?Yadi Patner Humare Phone Mein Taaq Jhaak Karta Hai To Iske Piche Ki Vajah Kya Hoti Hai
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
1:51
किसने पूछा है कि यदि पाटनर हमारे फोन में ट्रांसफर करता है तो इसके पीछे क्या वजह हो सकती है लेकिन उस टो दिल्ली प्रश्न को सुनकर सभी यही कहेंगे कि वह आप पर विश्वास नहीं करता होगा इसलिए वह आपके जो मोबाइल है उसमें टेंशन करते हैं लेकिन इसके दो कारण हो सकते हैं पॉजिटिव और नेगेटिव पॉजिटिव कारण यह हो सकता है कि कुछ लोगों को आदत होती है कि वह अपने मोबाइल को छोड़कर दूसरे अपने लाइफ पार्टनर है उसके मोबाइल को चलाना ज्यादा पसंद करते हैं क्योंकि उनको ऐसा लगता है कि कुछ पिक्चर्स ऐसे हैं जो उनके मोबाइल में इतनी अच्छी नहीं है जो कि उनके पार्टनर के मोबाइल में ज्यादा अच्छे या फिर भी कह सकते हैं कि उनको अपने मोबाइल से दूसरे मोबाइल चलाना अच्छा लगता है तो या तो या आप इसको पॉजिटिव प्वाइंट में ले सकते हैं और नेगेटिव प्वाइंट वही है कि उसे पाठक का मोबाइल में ताजा करता है तो उस पर विश्वास नहीं करता है और वह यह देखना चाहता है कि मेरे एलजी मेरा यह मैरिज लाइफ पाटनर है वह किस-किस से कितने समय में बात करती है करता है या नहीं कुछ करती है या करो नेट उसने ऑन कर रखा है तो फेसबुक पर उसके कितने फ्रेंड हैं और उसमें कितनी चैटिंग करें और किस चीज से करें तो सकता है वह व्हाट्सएप को चेक करता हूं या फिर तो कुछ आता था क्योंकि उसको ऐसा लगता है कि आप जो है गलत तरीके से बात तो नहीं कर रहे और अगर हम दूसरी व जाए इसका भी पॉजिटिव प्वाइंट देखें तो कभी-कभी आज लाइफ पाटनर है वह समझता है कि मेरा जो पात्र है उसको इतनी अक्ल नहीं है कि उसको किस किस को फ्रेंड लिस्ट में ऐड करना है और किस किस किस की बात का जवाब देना प्लीज डिपेंड करता है कि आपका पार्टनर आपके लिए कितना ज्यादा पसंद है और आप उसको कितनी ज्यादा अन्य गतिविधि पॉजिटिव सोच से उसको देखते हैं तो दोनों ही तरीकों से हो सकता है कि वह तानसेन का जो रिजल्ट
Kisane poochha hai ki yadi paatanar hamaare phon mein traansaphar karata hai to isake peechhe kya vajah ho sakatee hai lekin us to dillee prashn ko sunakar sabhee yahee kahenge ki vah aap par vishvaas nahin karata hoga isalie vah aapake jo mobail hai usamen tenshan karate hain lekin isake do kaaran ho sakate hain pojitiv aur negetiv pojitiv kaaran yah ho sakata hai ki kuchh logon ko aadat hotee hai ki vah apane mobail ko chhodakar doosare apane laiph paartanar hai usake mobail ko chalaana jyaada pasand karate hain kyonki unako aisa lagata hai ki kuchh pikchars aise hain jo unake mobail mein itanee achchhee nahin hai jo ki unake paartanar ke mobail mein jyaada achchhe ya phir bhee kah sakate hain ki unako apane mobail se doosare mobail chalaana achchha lagata hai to ya to ya aap isako pojitiv pvaint mein le sakate hain aur negetiv pvaint vahee hai ki use paathak ka mobail mein taaja karata hai to us par vishvaas nahin karata hai aur vah yah dekhana chaahata hai ki mere elajee mera yah mairij laiph paatanar hai vah kis-kis se kitane samay mein baat karatee hai karata hai ya nahin kuchh karatee hai ya karo net usane on kar rakha hai to phesabuk par usake kitane phrend hain aur usamen kitanee chaiting karen aur kis cheej se karen to sakata hai vah vhaatsep ko chek karata hoon ya phir to kuchh aata tha kyonki usako aisa lagata hai ki aap jo hai galat tareeke se baat to nahin kar rahe aur agar ham doosaree va jae isaka bhee pojitiv pvaint dekhen to kabhee-kabhee aaj laiph paatanar hai vah samajhata hai ki mera jo paatr hai usako itanee akl nahin hai ki usako kis kis ko phrend list mein aid karana hai aur kis kis kis kee baat ka javaab dena pleej dipend karata hai ki aapaka paartanar aapake lie kitana jyaada pasand hai aur aap usako kitanee jyaada any gatividhi pojitiv soch se usako dekhate hain to donon hee tareekon se ho sakata hai ki vah taanasen ka jo rijalt

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
परछाई धूप में ही क्यों दिखाई देती है?Parchai Dhoop Mein Ee Kyun Dikhayi Deti Hai
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
0:48
अपने पर्स में पूछा परछाई झूठ नहीं खेली जाएगी ऐसे तो कहीं नहीं बस ऐसे रूप में दिखाई देती है आप रात में केवल एक साइड में लाइट जला लीजिए और उसके बाद ऊपर छत की तरफ देखे तो भी आपको अपनी परछाई दिखाई दे आपको अपनी काया दिखाई दे की परछाई क्या है आप ही का रूप है जो आपको ब्लैक कलर का एक नक्शा दिखाई देता है जिसमें आपकी आंखें नहीं दिखती मुंह नहीं दिखता कलाकार दिखता है कहां है जो सिर्फ धूप में दिखाई देता है नहीं ऐसा बिल्कुल भी नहीं है आप अंधेरे कमरे में हल्की सी रोशनी कर दीजिए और उसके बाद देखिए आपको आपने देखा होगा कुछ लोग अपने हाथ की कलाकारी भी दिखाते हैं कोई मछली बना कर दिखा रहा है कोई मगरमच्छ मना कर दी तो धूप में थोड़ा पढ़ कर दिखाते हैं वह लाइट में खड़े होकर दिखाते हैं तो आपसे कह दिया कि फिर धूप में परछाई बनती
Apane pars mein poochha parachhaee jhooth nahin khelee jaegee aise to kaheen nahin bas aise roop mein dikhaee detee hai aap raat mein keval ek said mein lait jala leejie aur usake baad oopar chhat kee taraph dekhe to bhee aapako apanee parachhaee dikhaee de aapako apanee kaaya dikhaee de kee parachhaee kya hai aap hee ka roop hai jo aapako blaik kalar ka ek naksha dikhaee deta hai jisamen aapakee aankhen nahin dikhatee munh nahin dikhata kalaakaar dikhata hai kahaan hai jo sirph dhoop mein dikhaee deta hai nahin aisa bilkul bhee nahin hai aap andhere kamare mein halkee see roshanee kar deejie aur usake baad dekhie aapako aapane dekha hoga kuchh log apane haath kee kalaakaaree bhee dikhaate hain koee machhalee bana kar dikha raha hai koee magaramachchh mana kar dee to dhoop mein thoda padh kar dikhaate hain vah lait mein khade hokar dikhaate hain to aapase kah diya ki phir dhoop mein parachhaee banatee

#रिश्ते और संबंध

charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
1:33
जैसा आपने कुछ नहीं पूछा है कि बच्चों को अच्छी परवरिश देने के लिए पेरेंट्स में प्यार होना बहुत जरूरी होता है कौन कौन मानता है ऐसा कहा जा सकता है लेकिन कभी-कभी ऐसा होता है कि कुछ कपिल सर से होते हैं जिनका आपस में शादी तो हो जाती है लेकिन वह कभी दूसरे से प्यार नहीं कर पाते उनके बच्चे हो जाते हैं लेकिन वह हर चीज जो है एक विवाह के तौर पर उसको अपना आते हैं उनके अंदर प्यार की भावना नहीं हो पाती है इसलिए मैं कहना चाहूंगी कि अगर आप बच्चों के प्रवेश की बात कर रहे हैं तो उसमें पेरेंट्स के प्यार उससे ज्यादा उनकी आपसी समझ की जरूरत है वह इतने समझदार हैं कि उनको ही मालूम है कि उनकी करी हुई हर बात उनके बच्चों के लिए एक छवि के रूप में पैदा होगी या नहीं वह जो कुछ भी करेंगे अगर घर में लड़ते हैं तो घर का माहौल के तरीके कभी बन जाएगा उससे उनके बच्चों के भविष्य पर स्कूल के बच्चों के रहन-सहन पर बहुत ज्यादा असर पड़ेगा उसमें प्यार से ज्यादा उनके आपसी समझ की बहुत ज्यादा जरूरत होगी तो अगर पेरेंट्स में इस तरीके की समझ मौजूद है तो बच्चों की परवरिश बहुत अच्छे से हो भी जाएगी और बच्चे आगे चलकर वह सब नहीं सीखेंगे जो गलत भविष्य की तरह उनको दिशा में मोड़ दिया ता है इसलिए प्यार तो देखिए हर रिश्ते में बिना प्यार के तो कोई रिश्ता टिकता ही नहीं है लेकिन पति पत्नी का रिश्ता ऐसा होता है कि कभी-कभी इस समझौते के तौर पर पूरी जिंदगी निकाल दी जाती है भले ही से आपस में प्यार होना तो वह आप से जुड़ जाते हैं और मेरे ख्याल से प्यार था तो जरूरी है ही लेकिन इतना जरूरी नहीं है परवरिश के लिए जितना ज्यादा समझदारी थे
Jaisa aapane kuchh nahin poochha hai ki bachchon ko achchhee paravarish dene ke lie perents mein pyaar hona bahut jarooree hota hai kaun kaun maanata hai aisa kaha ja sakata hai lekin kabhee-kabhee aisa hota hai ki kuchh kapil sar se hote hain jinaka aapas mein shaadee to ho jaatee hai lekin vah kabhee doosare se pyaar nahin kar paate unake bachche ho jaate hain lekin vah har cheej jo hai ek vivaah ke taur par usako apana aate hain unake andar pyaar kee bhaavana nahin ho paatee hai isalie main kahana chaahoongee ki agar aap bachchon ke pravesh kee baat kar rahe hain to usamen perents ke pyaar usase jyaada unakee aapasee samajh kee jaroorat hai vah itane samajhadaar hain ki unako hee maaloom hai ki unakee karee huee har baat unake bachchon ke lie ek chhavi ke roop mein paida hogee ya nahin vah jo kuchh bhee karenge agar ghar mein ladate hain to ghar ka maahaul ke tareeke kabhee ban jaega usase unake bachchon ke bhavishy par skool ke bachchon ke rahan-sahan par bahut jyaada asar padega usamen pyaar se jyaada unake aapasee samajh kee bahut jyaada jaroorat hogee to agar perents mein is tareeke kee samajh maujood hai to bachchon kee paravarish bahut achchhe se ho bhee jaegee aur bachche aage chalakar vah sab nahin seekhenge jo galat bhavishy kee tarah unako disha mein mod diya ta hai isalie pyaar to dekhie har rishte mein bina pyaar ke to koee rishta tikata hee nahin hai lekin pati patnee ka rishta aisa hota hai ki kabhee-kabhee is samajhaute ke taur par pooree jindagee nikaal dee jaatee hai bhale hee se aapas mein pyaar hona to vah aap se jud jaate hain aur mere khyaal se pyaar tha to jarooree hai hee lekin itana jarooree nahin hai paravarish ke lie jitana jyaada samajhadaaree the

#रिश्ते और संबंध

charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
1:14
क्या अपने प्रश्न पूछा है कि लड़कियों के लड़कों की शक्ल देख कर प्यार करती हूं उनको सुनाई देता लेकिन आपको बताना चाहूंगी कि 90% लड़कियां चाहे कितना ही दावा कर लेंगे उनके मन में ऐसा कोई विचार नहीं है लेकिन 90% लड़कियां लड़कों की शक्ल और कमाई दोनों चीज देखकर ही प्यार करते हैं दुनिया में ऐसा ना होता तो लोग कितने लोग ऐसे होते हैं जो रिक्शा वाले की रिक्शा पर बैठकर जाते हैं उन लड़कियों को रिक्शा वाले से नहीं प्यार आ जाता उनकी शक्ल से उनकी कमाई से चुने प्यार हो जाता क्योंकि वह जानती है कि ना तो उसकी शक्ल अच्छी है और ना हाउस की कमाई अच्छी है और वह अपनी जिंदगी में अपने फ्यूचर में खुश नहीं रह पाएंगे क्योंकि वह उनके जो उनका बेस है वह समय से नहीं होता है क्यों उनको अपने घर के नौकर से बता दें कि इस तरीके की कहानियां सुनने को मिलती है कि फलाना लड़की को अपने घर में रहने नौकर से प्यार हो गया एक लड़के को अपनी नौकरानी से प्यार हो गया आते हैं जिनको इस तरीके का प्यार होता होगा लेकिन 90% लड़कियां या लड़के इस तरीके से प्यार की शुरुआत करते ही नहीं है क्योंकि मायने रखता है उनके लिए शत और कमाई की
Kya apane prashn poochha hai ki ladakiyon ke ladakon kee shakl dekh kar pyaar karatee hoon unako sunaee deta lekin aapako bataana chaahoongee ki 90% ladakiyaan chaahe kitana hee daava kar lenge unake man mein aisa koee vichaar nahin hai lekin 90% ladakiyaan ladakon kee shakl aur kamaee donon cheej dekhakar hee pyaar karate hain duniya mein aisa na hota to log kitane log aise hote hain jo riksha vaale kee riksha par baithakar jaate hain un ladakiyon ko riksha vaale se nahin pyaar aa jaata unakee shakl se unakee kamaee se chune pyaar ho jaata kyonki vah jaanatee hai ki na to usakee shakl achchhee hai aur na haus kee kamaee achchhee hai aur vah apanee jindagee mein apane phyoochar mein khush nahin rah paenge kyonki vah unake jo unaka bes hai vah samay se nahin hota hai kyon unako apane ghar ke naukar se bata den ki is tareeke kee kahaaniyaan sunane ko milatee hai ki phalaana ladakee ko apane ghar mein rahane naukar se pyaar ho gaya ek ladake ko apanee naukaraanee se pyaar ho gaya aate hain jinako is tareeke ka pyaar hota hoga lekin 90% ladakiyaan ya ladake is tareeke se pyaar kee shuruaat karate hee nahin hai kyonki maayane rakhata hai unake lie shat aur kamaee kee

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
1 से 100 तक की गिनती में 8 का अंक कितनी बार आएगा?1 Se 100 Tak Ki Gintee Mein 8 Ka Ank Kitni Bar Aaega
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
0:25
प्रश्न पूछा कि 1 से 100 तक की गिनती में आठ तक कितनी बार आएगा तो 820 बार आएगा एक के बाद अब जब गिनती शुरू करेंगे 8 अट्ठारह 2838 4858 6878 80 81 82 83 84 85 86 87 88 यहां पर दो बार है 89 और उसके बाद 98100 अकाउंट कर लीजिए इस बार आएगा एनक्यू
Prashn poochha ki 1 se 100 tak kee ginatee mein aath tak kitanee baar aaega to 820 baar aaega ek ke baad ab jab ginatee shuroo karenge 8 atthaarah 2838 4858 6878 80 81 82 83 84 85 86 87 88 yahaan par do baar hai 89 aur usake baad 98100 akaunt kar leejie is baar aaega enakyoo

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
लड़कियां ऐसे कौन-कौन से इशारे देती हैं जिनसे आपको समझ जाना चाहिए कि वह आपको पसंद करती हैं?ladakiyaan aise kaun-kaun se ishaare detee hain jinase aapako samajh jaana chaahie ki vah aapako pasand karatee hain
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
3:48
उसने पूछा है कि लड़कियां ऐसे कौन-कौन से सारे देती हैं जिनसे आपको समझ जाना चाहिए कि वह आपको पसंद करते हैं कि आप कैसे पता लगाएं कि सामने वाला आपको पॉजिटिव रिप्लाई दे रहा है या नहीं दे रहा पहले तो देखें मैं आपसे एक चीज बताना चाहती हूं कि लाइक करने में किसी को और लव करने में बहुत फर्क होता है हम जब किसी को लाइक करते हैं तो यह जरूरी नहीं है कि हम उसके साथ रिलेशनशिप में रहना चाहते हैं और आगे अपने फ्यूचर उसी के साथ प्लान करना चाहते हैं क्योंकि दोनों बातों में बहुत फर्क होता है हम कभी कभी ऐसा महसूस करते हैं कि इंसान एक ऐसा है जिससे मैं अपने तन मन की सारी बातें कर सकते हैं इसके साथ समय बिताना हमें अच्छा लगता है या जब हम इसके साथ होते हैं तो हमें समय के बीतने का पता नहीं चलता तो यह हमारी ऐसी फीलिंग होती है जो लव से थोड़ी डिफरेंट होती है हम उसको एक पायदान पर लेकर नहीं जा सकते जिससे आप किसी पर यह बंदिश लगा सकते हैं लगा सके कि तुम्हें मुझसे बात ही नहीं करनी चाहिए थी अगर तुम इससे ज्यादा स्टेप आगे बढ़ना नहीं चाहती हो या नहीं चाहते हो भाई आपकी बात पर करते हैं कि इशारे कौन से होते हैं जिससे पता लग सके कि सामने वाली लड़की आप को लाइक करते हैं जब हम किसी को लाइक करते हैं तो समय से पहले उससे बात करना चाहते हैं उसकी कॉल आती है तो तुरंत रिसीव करते हैं उसके मैसेजेस आते हैं तो तुरंत रिप्लाई करते हैं जिनसे हम बात नहीं करना चाहते यह जो हमारे जीवन में बहुत ज्यादा महत्व नहीं रखता है तू अब आपने खुद अपने ऊपर भी देखा होगा कि जैसे मान लीजिए फेसबुक चला रहे हैं मैसेंजर पर कोई मैसेज आता है वह आपकी जिंदगी में इतना बहुत ज्यादा अहमियत नहीं रखता तो आपका मैसेज पढ़कर से कोई प्रश्न पूछा है तो पढ़ कर आप अनदेखा कर देंगे और सोचेंगे जब मेरे पास कभी फुर्सत में समय होगा तो मैं उसका रिप्लाई करूंगा लेकिन अगर आप किसी को लाइक करते हैं आपको उससे बात करना अच्छा लगता है आप चाहे कितने भी भेजे हो आपने करो मैसेज देख लिया तो आप उसका तुरंत रिप्लाई करते हैं अगर आपको ऐसा एक टाइम मिल जाता है कि आप उसके साथ कहीं जा सके तो आप उसके साथ जाने का प्लान जरूर बनाते हैं अगर आप किसी को लाइक करते हैं और उसका घर आपके घर के रास्ते में पड़ता है तो आप बार-बार उस गली से गुजरने की कोशिश करते हैं कि शायद एक बार उसको मैं देखता हूं ऐसा बहुत ज्यादा महसूस होता है कि बार-बार मुझसे मिले और हमारी सारी बातें उससे हो और हम आपको अपने सारे जितने भी बात है उसे शेयर कर सके अब मैं आपको यहां पर दो चीजों में फर्क बताना चाहती हूं वह लाइक और जितनी भी बातें मैंने आपको बताइए दोनों चीजों में ही अहमियत रखते हैं दोनों चीजों में इसी से इसकी शुरुआत होती है लेकिन अगर आप अपनी रिलेशनशिप को बदलना चाहते होंगे तो आप उसके आगे की चौहदी होती है जिसको बोलते हैं कि हम हमारे संस्कार हमें इन हदों को पार करने की इजाजत नहीं देते वह चीज में आ जाती है क्योंकि कहते हैं प्यार अंधा होता है और उस अंधेपन में संस्कार भी दिखाई नहीं देते तो वह सारी चीजें अगर आप पार करना चाह रहे हैं आपके मन में आता है तो इतने सारे लव विद लेकिन अगर आपको लगता है कि बस मेरी से मेरी जो लिमिट है वहीं तक है और मुझे इसके साथ बस इतना ही समय बिताना है और इससे ज्यादा मैं उससे बात नहीं करती तो समझ लीजिए आप उसको सिर्फ लाइक करते हैं और आप उसके साथ सिर्फ और सिर्फ अपना समय बिताना चाहते हो तब आप उससे अपनी बातों को शेयर करना चाहते हैं लेकिन आप उसके साथ अपना पर्सनल कोई भी जो फीलिंग होती है ना सर मेरी बात को समझ रहे हो वह हमसे नहीं करना चाहते तो यही सब सारे होते हैं लाइक और और क्या पसंद करते हैं कि नहीं करते करते थैंक यू वेरी मच
Usane poochha hai ki ladakiyaan aise kaun-kaun se saare detee hain jinase aapako samajh jaana chaahie ki vah aapako pasand karate hain ki aap kaise pata lagaen ki saamane vaala aapako pojitiv riplaee de raha hai ya nahin de raha pahale to dekhen main aapase ek cheej bataana chaahatee hoon ki laik karane mein kisee ko aur lav karane mein bahut phark hota hai ham jab kisee ko laik karate hain to yah jarooree nahin hai ki ham usake saath rileshanaship mein rahana chaahate hain aur aage apane phyoochar usee ke saath plaan karana chaahate hain kyonki donon baaton mein bahut phark hota hai ham kabhee kabhee aisa mahasoos karate hain ki insaan ek aisa hai jisase main apane tan man kee saaree baaten kar sakate hain isake saath samay bitaana hamen achchha lagata hai ya jab ham isake saath hote hain to hamen samay ke beetane ka pata nahin chalata to yah hamaaree aisee pheeling hotee hai jo lav se thodee dipharent hotee hai ham usako ek paayadaan par lekar nahin ja sakate jisase aap kisee par yah bandish laga sakate hain laga sake ki tumhen mujhase baat hee nahin karanee chaahie thee agar tum isase jyaada step aage badhana nahin chaahatee ho ya nahin chaahate ho bhaee aapakee baat par karate hain ki ishaare kaun se hote hain jisase pata lag sake ki saamane vaalee ladakee aap ko laik karate hain jab ham kisee ko laik karate hain to samay se pahale usase baat karana chaahate hain usakee kol aatee hai to turant riseev karate hain usake maisejes aate hain to turant riplaee karate hain jinase ham baat nahin karana chaahate yah jo hamaare jeevan mein bahut jyaada mahatv nahin rakhata hai too ab aapane khud apane oopar bhee dekha hoga ki jaise maan leejie phesabuk chala rahe hain maisenjar par koee maisej aata hai vah aapakee jindagee mein itana bahut jyaada ahamiyat nahin rakhata to aapaka maisej padhakar se koee prashn poochha hai to padh kar aap anadekha kar denge aur sochenge jab mere paas kabhee phursat mein samay hoga to main usaka riplaee karoonga lekin agar aap kisee ko laik karate hain aapako usase baat karana achchha lagata hai aap chaahe kitane bhee bheje ho aapane karo maisej dekh liya to aap usaka turant riplaee karate hain agar aapako aisa ek taim mil jaata hai ki aap usake saath kaheen ja sake to aap usake saath jaane ka plaan jaroor banaate hain agar aap kisee ko laik karate hain aur usaka ghar aapake ghar ke raaste mein padata hai to aap baar-baar us galee se gujarane kee koshish karate hain ki shaayad ek baar usako main dekhata hoon aisa bahut jyaada mahasoos hota hai ki baar-baar mujhase mile aur hamaaree saaree baaten usase ho aur ham aapako apane saare jitane bhee baat hai use sheyar kar sake ab main aapako yahaan par do cheejon mein phark bataana chaahatee hoon vah laik aur jitanee bhee baaten mainne aapako bataie donon cheejon mein hee ahamiyat rakhate hain donon cheejon mein isee se isakee shuruaat hotee hai lekin agar aap apanee rileshanaship ko badalana chaahate honge to aap usake aage kee chauhadee hotee hai jisako bolate hain ki ham hamaare sanskaar hamen in hadon ko paar karane kee ijaajat nahin dete vah cheej mein aa jaatee hai kyonki kahate hain pyaar andha hota hai aur us andhepan mein sanskaar bhee dikhaee nahin dete to vah saaree cheejen agar aap paar karana chaah rahe hain aapake man mein aata hai to itane saare lav vid lekin agar aapako lagata hai ki bas meree se meree jo limit hai vaheen tak hai aur mujhe isake saath bas itana hee samay bitaana hai aur isase jyaada main usase baat nahin karatee to samajh leejie aap usako sirph laik karate hain aur aap usake saath sirph aur sirph apana samay bitaana chaahate ho tab aap usase apanee baaton ko sheyar karana chaahate hain lekin aap usake saath apana parsanal koee bhee jo pheeling hotee hai na sar meree baat ko samajh rahe ho vah hamase nahin karana chaahate to yahee sab saare hote hain laik aur aur kya pasand karate hain ki nahin karate karate thaink yoo veree mach

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
जब हमारे अंतरण में भगवान और कण-कण में भगवान है तो फिर हम मंदिरों में क्या करने जाते हैं?Jab Hamare Antaran Mein Bhagwan Aur Kan Kan Mein Bhagwan Hai To Phir Hum Mandiron Mein Kya Karne Jate Hain
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
3:02
आपने प्रश्न पूछा जो हमारे अंतरंग में भगवान कण-कण में भगवान तो फिर हम मंदिर में क्या करने जाते हैं देखिए हम मंदिर में पहले तो मैं आपको बता दूं कि 60% लोग घूमने जाते हैं वह मंदिर में भगवान के दर्शन करने की नहीं जाते हैं वह सिर्फ घूमने जाते हैं मान लीजिए अगर हम वैष्णो देवी जा रहे हैं तो 40% ऐसे लोग होंगे जो वाकई में वैष्णो देवी माता के दरबार में उनकी प्रतिमा को देखने गया उनको महसूस करने जाते होंगे अपने आत्म संतुष्टि के लिए जाते होंगे लेकिन 60% लोग सिर्फ घूमने के लिए जाते हैं वहां से माता का रास्ता नापने के लिए जाते हैं क्योंकि देखे हमारे जब हम इतनी दूर कहीं से वैष्णो देवी पहुंचते तो हम जितना समय हम अपना लेकर जाते हैं ना उसमें से एक परसेंट भी हम वैष्णो देवी में जो हमारी माता है उनके सामने हमें बताने का समय ही नहीं मिलता हम इतना भी हमारे हमें समय नहीं दिया जाता कि हम जी भर के आंख खोल कर उनको देख पाए तो हम सिर्फ अपने आदमी संतुष्टि के लिए जाते हैं हम यह जानते हैं कि हमारे अंदर ईश्वर की भक्ति है ईश्वर हमारे कण-कण में समाया है उसके बाद में निकल जा रहे हैं तो वह सिर्फ और सिर्फ संतुष्टि के लिए जा रहे हैं क्योंकि वहां हम कितना उनको देख पाते सब जानते हैं और 4 एग्जांपल आफ शिरडी बाबा को ले लीजिए शिर्डी लोग कितने लोग शिर्डी जाते हैं आप इतनी दूर जाते हैं और वहां पर कितनी लाइने लगती है कितना घूम घूम के घूम घूम के जाना पड़ता है तब जाकर आप उसमें धीमा के सामने पहुंचते हैं जिसको देखने के लिए आपने इतनी दूरी पार की है लेकिन आपको चंद सेकेंड दिए जाते हैं और आपका प्रसाद लेकर फेंक दिया जाता है तो आप मुझे बताइए फिर आप क्या देखने के लिए आपसे दूर करने के लिए गए पहले इतनी दूरी पार करके एक आपका घूमना घूमना यह सब हो गया और दूसरी आपके आत्म संतुष्टि आपको इस बात की संतुष्टि मिल जाती है कि हां मैं ईश्वर के चरणों में अपनी हाजिरी लगाया हूं और मैंने उसको साक्षात देख लिया है चाहे मैंने उसको एक सेकेंड के लिए तूने देखा और तीसरी मैं आपको एक एग्जांपल बताती हूं कि लोग केदारनाथ बद्रीनाथ जाते हैं आप मुझे बताइए केदारनाथ बद्रीनाथ क्या आप जो भी मेरा आंसर सुन रहा होगा वह खुद से दिल से बताइएगा कि जब हम सोचते हैं कि जन्म केदारनाथ बद्रीनाथ चले जाते हैं भगना बाबा के दर्शन करके आते हैं लोगों के दिल में ही आता होगा वहां पर बर्फ गिरती है वहां पर कितना अच्छा व्यूज है हम फोटो खींच आएंगे वहां पे तो बड़ा अच्छा लगता है तो अब आप अपने मन में यह सोच कर बताइए कि क्या वाकई भगवान के दर्शन करने के लिए जा रहे हैं आप 40% ओके आप भगवान के दर्शन करने के लिए अपने आत्म संतुष्टि के लिए जा रहे हैं और 60% आप वहां घूमने जा रहे हैं अपनी फोटो खिंचवाने जा रहे हैं उस भी उसको महसूस करने जा रहे हैं उसी जगह पर अपना एक स्थान बदलने जा रहे हैं हो सकता है मेरी इन बातों को सुनते जो ब्लॉक बहुत ज्यादा भक्तिन वाले होते हैं इसमें उनको लगेगी मैं गलत बोल रही हूं लेकिन जैसा मुझे फील होता है ना उसी का आंसर उस तरीके से देते हैं एग्जांपल देखकर अगर आपको लगे कि मैंने कुछ गलत बोला है तो प्लीज मुझे माफ कर दीजिएगा और मेरे ख्याल से तो हम लोग मंदिर में सिर्फ और सिर्फ आत्म संतुष्टि के लिए जाते हैं बाकी हम सब जानते हैं कि भगवान हर कण में बसा है और मेरे ख्याल से तो आप जितनी ज्यादा दूसरों की सहायता करेंगे उतना ज्यादा भगवान खुद खुश हो जाते हैं उनको एक बिल्कुल भी इस बात की आवश्यकता नहीं होती कि आप इतनी दूर मत्था टेकने के लिए चरणों में 2 मिनट की हाजिरी लगा थैंक यू
Aapane prashn poochha jo hamaare antarang mein bhagavaan kan-kan mein bhagavaan to phir ham mandir mein kya karane jaate hain dekhie ham mandir mein pahale to main aapako bata doon ki 60% log ghoomane jaate hain vah mandir mein bhagavaan ke darshan karane kee nahin jaate hain vah sirph ghoomane jaate hain maan leejie agar ham vaishno devee ja rahe hain to 40% aise log honge jo vaakee mein vaishno devee maata ke darabaar mein unakee pratima ko dekhane gaya unako mahasoos karane jaate honge apane aatm santushti ke lie jaate honge lekin 60% log sirph ghoomane ke lie jaate hain vahaan se maata ka raasta naapane ke lie jaate hain kyonki dekhe hamaare jab ham itanee door kaheen se vaishno devee pahunchate to ham jitana samay ham apana lekar jaate hain na usamen se ek parasent bhee ham vaishno devee mein jo hamaaree maata hai unake saamane hamen bataane ka samay hee nahin milata ham itana bhee hamaare hamen samay nahin diya jaata ki ham jee bhar ke aankh khol kar unako dekh pae to ham sirph apane aadamee santushti ke lie jaate hain ham yah jaanate hain ki hamaare andar eeshvar kee bhakti hai eeshvar hamaare kan-kan mein samaaya hai usake baad mein nikal ja rahe hain to vah sirph aur sirph santushti ke lie ja rahe hain kyonki vahaan ham kitana unako dekh paate sab jaanate hain aur 4 egjaampal aaph shiradee baaba ko le leejie shirdee log kitane log shirdee jaate hain aap itanee door jaate hain aur vahaan par kitanee laine lagatee hai kitana ghoom ghoom ke ghoom ghoom ke jaana padata hai tab jaakar aap usamen dheema ke saamane pahunchate hain jisako dekhane ke lie aapane itanee dooree paar kee hai lekin aapako chand sekend die jaate hain aur aapaka prasaad lekar phenk diya jaata hai to aap mujhe bataie phir aap kya dekhane ke lie aapase door karane ke lie gae pahale itanee dooree paar karake ek aapaka ghoomana ghoomana yah sab ho gaya aur doosaree aapake aatm santushti aapako is baat kee santushti mil jaatee hai ki haan main eeshvar ke charanon mein apanee haajiree lagaaya hoon aur mainne usako saakshaat dekh liya hai chaahe mainne usako ek sekend ke lie toone dekha aur teesaree main aapako ek egjaampal bataatee hoon ki log kedaaranaath badreenaath jaate hain aap mujhe bataie kedaaranaath badreenaath kya aap jo bhee mera aansar sun raha hoga vah khud se dil se bataiega ki jab ham sochate hain ki janm kedaaranaath badreenaath chale jaate hain bhagana baaba ke darshan karake aate hain logon ke dil mein hee aata hoga vahaan par barph giratee hai vahaan par kitana achchha vyooj hai ham photo kheench aaenge vahaan pe to bada achchha lagata hai to ab aap apane man mein yah soch kar bataie ki kya vaakee bhagavaan ke darshan karane ke lie ja rahe hain aap 40% oke aap bhagavaan ke darshan karane ke lie apane aatm santushti ke lie ja rahe hain aur 60% aap vahaan ghoomane ja rahe hain apanee photo khinchavaane ja rahe hain us bhee usako mahasoos karane ja rahe hain usee jagah par apana ek sthaan badalane ja rahe hain ho sakata hai meree in baaton ko sunate jo blok bahut jyaada bhaktin vaale hote hain isamen unako lagegee main galat bol rahee hoon lekin jaisa mujhe pheel hota hai na usee ka aansar us tareeke se dete hain egjaampal dekhakar agar aapako lage ki mainne kuchh galat bola hai to pleej mujhe maaph kar deejiega aur mere khyaal se to ham log mandir mein sirph aur sirph aatm santushti ke lie jaate hain baakee ham sab jaanate hain ki bhagavaan har kan mein basa hai aur mere khyaal se to aap jitanee jyaada doosaron kee sahaayata karenge utana jyaada bhagavaan khud khush ho jaate hain unako ek bilkul bhee is baat kee aavashyakata nahin hotee ki aap itanee door mattha tekane ke lie charanon mein 2 minat kee haajiree laga thaink yoo

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
ऐसा कौन सा फल है जो मीठा होने के बावजूद बाजार में नहीं बिकता?Aisa Kaun Sa Phal Hai Jo Meetha Hone Ke Bavjood Bazar Mein Nahi Bikta Hai
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
0:14
अपने प्रश्न पूछा ऐसा कौन सा फल है जो मीठा होने के बावजूद बाजार में नहीं बिकता तो मेरे समझ से तो सब्र का फल है क्योंकि कहते हैं सब्र का फल बहुत मीठा होता है और इस पल को बिना तो देखने की जरूरत होती है ना ही कोई बोली लगाई जाती है
Apane prashn poochha aisa kaun sa phal hai jo meetha hone ke baavajood baajaar mein nahin bikata to mere samajh se to sabr ka phal hai kyonki kahate hain sabr ka phal bahut meetha hota hai aur is pal ko bina to dekhane kee jaroorat hotee hai na hee koee bolee lagaee jaatee hai

#रिश्ते और संबंध

charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
4:56
जैसे कि आपने फ्रेश में इतना कुछ पूछा है मैं उसको रिपीट नहीं करूंगी आपके प्रश्न को एक्स वाई क्रोमोसोम की व्हाट एवरेज जो भी आपने लिख दिया है साइंस के लैंग्वेज में आखिर आखिर का जो आपने बहुत अच्छा है कि महिला को क्यों दोष दिया जाता है बेटे क्यों नहीं देखें इसमें किसी की साइंस की कोई गलती नहीं है क्योंकि यहां के लोग नहीं समझते ही नहीं चाहते हैं उनको यहां अगर कुछ गलती है तुम्हें कुंठित सोच की और अशिक्षित होने की जो लोग अशिक्षित हैं उनको तो कह सकते हैं कि मैं उनको शिक्षा नहीं मालूम है या उनको साइंस नहीं मालूम है इसलिए वह महिला को दोष दे रहे आप उनको क्या समझाएंगे जो शिक्षित है लेकिन उनकी सोच आज भी कांटेक्ट है यहां अगर मैं दोनों की बात करूं तो आप ही सोचिए कि जो पढ़ा लिखा इंसान है वह भी महिला को दोष देता है जो अनपढ़ इंसान है वह भी महिला को दोष देता है इस बेटी होने के लिए उनकी सोच भी सही लगे तो उनको भी आपको आपको सही लगे लगेगा आप सोचें वह सोच क्या है और वह कुंजप्पन क्या है आप गांव की बात करें चाहे शहर की बात कर ले रात को 10:00 बजे भी अगर लड़की घर से बाहर निकलती है तो उसे किसी इंसान की यानी कि अपने भाई की अपने दोस्त की है अपने पिताजी की जो भी उसके घर में जाएं इस मौजूद है उसकी साथ की जरूरत पड़ती है क्योंकि मां बाप के बारे में सोचिए जिससे एक लड़की है दो लड़की है तीन लड़कियां हैं और उसके घर में कोई मेहमान आ जाता है जो रात को 11:00 बजे आ रहा है स्टेशन पर उसको लेने के लिए तीन लड़कियों की जगह तीन लड़के होते हैं इन तीन में से एक लड़का होता जो कम से कम नहीं 15 साल का होता है मालिक से 15 16 साल की उसके तीनों बच्चे हैं और में से कोई एक लड़का इस उम्र का होता तो नेचुरल से बात है वह लड़का स्टेशन पर जाकर और में आए हुए मेहमान को पिकअप कर के ले आता लेकिन वह जो मां-बाप जिससे सिर्फ तीन लड़के हैं क्या वह बाप क्या बोला उसने को चाहे कितनी भी बड़ी क्यों हो गई हो भेजेंगे फोन को पिकअप करने के लिए नहीं भेजेंगे आदमी कोई उस बात को खुद ही जाना पड़ेगा चाहे वह कितना कमजोर हो चाहे वह कितना बड़ा हो चाहे वह कितना बीमार है कि नहीं हो सकता है उसमें मांगों से फोन करके यह कहना पड़ा कि भैया तुम खुद ही एडजस्टमेंट कर लो हमारे लाने वाला कोई नहीं अब आप मेरे कहने वाले इस बात की गहराई सोचिए कि यहां कितनी सारी चीजें ऐसी हैं जो एक लड़की नहीं कर सकती है इसीलिए लोग जो हैं आज के अनुसार पहले के पीछे आगे से वह नहीं चाहते कि हमारे घर में लड़कियां ज्यादा पैदा हो या लड़की ही पैदा हो लड़का ना पैदा हो क्योंकि देखे बहुत सारी चीजें ऐसी होती है चाहे मैं मैं खुद भी एक लड़की हूं मैं महिला हूं मैं मैं किसके पीछे की बात यह समझ लीजिए कि मैं बहुत ज्यादा शिक्षित भी हूं मैं अपने पापा पर खड़ी भी हूं मैं खत में अपना के किसी इंसान को और के घर का खर्चा भी चला सके मैं सहमत हूं लेकिन क्या यह मेरे लिए बहुत सारी चीजें ऐसी हैं जो मैं नहीं कर सकती चाह कर भी नहीं कर सकती मुझे गाड़ी चलानी आती है लेकिन मैं रात को 11:00 बजे किसी को पिक करने के लिए स्टेशन नहीं जा सकते मुझे स्कूटी चलानी आती है लेकिन मैं रात शाम को किसी को अपने बच्चे को साथ लेकर किसी ऐसे माहौल में नहीं जा सकती जहां पर बहुत सारी गैदरिंग घूमे अकेली नहीं जा सकती मुझे उसके लिए अपने हस्बैंड की जरूरत होती है तो बहुत सारी चीजें दुनिया में ऐसे हैं जो एक महिला को आगे बढ़ने पर रोक देते हैं और एक बात और एक मां उस जगह आकर में घुटने टेक देता है वहीं से उनके साथ जो है वह कुंठित होनी शुरू हो जाती मैं इस चीज को बिल्कुल भी बढ़ावा नहीं देती हूं कि जो लोग यह कहते हैं कि हां मेरे घर में लड़की हुई है तो मुझे बिल्कुल भी खुश नहीं हो रही नहीं मेरी खुद की भी बेटी है और मुझे बहुत खुशी है अपनी बेटी होने के लेकिन जब मैं दूसरी तरफ से दूसरी जगह से सोचती हूं तो मुझे लगता है कि वाकई में हर रिश्ते को अगर हम देखें तो एक लड़का और एक लड़की दोनों का होना एक घर में बहुत जरूरी है क्योंकि इस समाज में बहुत सारी चीजें ऐसी हैं जो कुछ लड़कियां ही कर पाती है तो उस सिर्फ और सिर्फ लड़के ही कर पाते हैं तो जो लोगों की सोच है और जिसके लिए वह महिला को दोष देते हैं बेटी होने के लिए बात किस बात पर आ जाते हैं क्यों महिला को दोष देते हैं बेटियों निकले वह इसलिए क्योंकि यहां जो महिला है वह खुद महिला के दुश्मन है देखे जितनी भी कहानियां किस्से और यह जो रीति रिवाज बनाने वाले लोग हैं यह कौन महिलाएं हैं उन्होंने खुद ही अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मारी है और खुद ही अपने आप को यह इतना ज्यादा हीरोइन नीचा दिखाया है कि सिर्फ जो मैंने आज मैं देखती हूं गांव में आज भी महिलाओं को पुरुषों के पैरों की जूती है समझा जाता है चाहे वह घर में उनसे ज्यादा काम करती हो और चाहे वह उनसे ज्यादा समझदार हो तुझे महिला महिला के दुश्मन होते हैं ना वहां पर उस तरीके के सो जाना स्वाभाविक है
Jaise ki aapane phresh mein itana kuchh poochha hai main usako ripeet nahin karoongee aapake prashn ko eks vaee kromosom kee vhaat evarej jo bhee aapane likh diya hai sains ke laingvej mein aakhir aakhir ka jo aapane bahut achchha hai ki mahila ko kyon dosh diya jaata hai bete kyon nahin dekhen isamen kisee kee sains kee koee galatee nahin hai kyonki yahaan ke log nahin samajhate hee nahin chaahate hain unako yahaan agar kuchh galatee hai tumhen kunthit soch kee aur ashikshit hone kee jo log ashikshit hain unako to kah sakate hain ki main unako shiksha nahin maaloom hai ya unako sains nahin maaloom hai isalie vah mahila ko dosh de rahe aap unako kya samajhaenge jo shikshit hai lekin unakee soch aaj bhee kaantekt hai yahaan agar main donon kee baat karoon to aap hee sochie ki jo padha likha insaan hai vah bhee mahila ko dosh deta hai jo anapadh insaan hai vah bhee mahila ko dosh deta hai is betee hone ke lie unakee soch bhee sahee lage to unako bhee aapako aapako sahee lage lagega aap sochen vah soch kya hai aur vah kunjappan kya hai aap gaanv kee baat karen chaahe shahar kee baat kar le raat ko 10:00 baje bhee agar ladakee ghar se baahar nikalatee hai to use kisee insaan kee yaanee ki apane bhaee kee apane dost kee hai apane pitaajee kee jo bhee usake ghar mein jaen is maujood hai usakee saath kee jaroorat padatee hai kyonki maan baap ke baare mein sochie jisase ek ladakee hai do ladakee hai teen ladakiyaan hain aur usake ghar mein koee mehamaan aa jaata hai jo raat ko 11:00 baje aa raha hai steshan par usako lene ke lie teen ladakiyon kee jagah teen ladake hote hain in teen mein se ek ladaka hota jo kam se kam nahin 15 saal ka hota hai maalik se 15 16 saal kee usake teenon bachche hain aur mein se koee ek ladaka is umr ka hota to nechural se baat hai vah ladaka steshan par jaakar aur mein aae hue mehamaan ko pikap kar ke le aata lekin vah jo maan-baap jisase sirph teen ladake hain kya vah baap kya bola usane ko chaahe kitanee bhee badee kyon ho gaee ho bhejenge phon ko pikap karane ke lie nahin bhejenge aadamee koee us baat ko khud hee jaana padega chaahe vah kitana kamajor ho chaahe vah kitana bada ho chaahe vah kitana beemaar hai ki nahin ho sakata hai usamen maangon se phon karake yah kahana pada ki bhaiya tum khud hee edajastament kar lo hamaare laane vaala koee nahin ab aap mere kahane vaale is baat kee gaharaee sochie ki yahaan kitanee saaree cheejen aisee hain jo ek ladakee nahin kar sakatee hai iseelie log jo hain aaj ke anusaar pahale ke peechhe aage se vah nahin chaahate ki hamaare ghar mein ladakiyaan jyaada paida ho ya ladakee hee paida ho ladaka na paida ho kyonki dekhe bahut saaree cheejen aisee hotee hai chaahe main main khud bhee ek ladakee hoon main mahila hoon main main kisake peechhe kee baat yah samajh leejie ki main bahut jyaada shikshit bhee hoon main apane paapa par khadee bhee hoon main khat mein apana ke kisee insaan ko aur ke ghar ka kharcha bhee chala sake main sahamat hoon lekin kya yah mere lie bahut saaree cheejen aisee hain jo main nahin kar sakatee chaah kar bhee nahin kar sakatee mujhe gaadee chalaanee aatee hai lekin main raat ko 11:00 baje kisee ko pik karane ke lie steshan nahin ja sakate mujhe skootee chalaanee aatee hai lekin main raat shaam ko kisee ko apane bachche ko saath lekar kisee aise maahaul mein nahin ja sakatee jahaan par bahut saaree gaidaring ghoome akelee nahin ja sakatee mujhe usake lie apane hasbaind kee jaroorat hotee hai to bahut saaree cheejen duniya mein aise hain jo ek mahila ko aage badhane par rok dete hain aur ek baat aur ek maan us jagah aakar mein ghutane tek deta hai vaheen se unake saath jo hai vah kunthit honee shuroo ho jaatee main is cheej ko bilkul bhee badhaava nahin detee hoon ki jo log yah kahate hain ki haan mere ghar mein ladakee huee hai to mujhe bilkul bhee khush nahin ho rahee nahin meree khud kee bhee betee hai aur mujhe bahut khushee hai apanee betee hone ke lekin jab main doosaree taraph se doosaree jagah se sochatee hoon to mujhe lagata hai ki vaakee mein har rishte ko agar ham dekhen to ek ladaka aur ek ladakee donon ka hona ek ghar mein bahut jarooree hai kyonki is samaaj mein bahut saaree cheejen aisee hain jo kuchh ladakiyaan hee kar paatee hai to us sirph aur sirph ladake hee kar paate hain to jo logon kee soch hai aur jisake lie vah mahila ko dosh dete hain betee hone ke lie baat kis baat par aa jaate hain kyon mahila ko dosh dete hain betiyon nikale vah isalie kyonki yahaan jo mahila hai vah khud mahila ke dushman hai dekhe jitanee bhee kahaaniyaan kisse aur yah jo reeti rivaaj banaane vaale log hain yah kaun mahilaen hain unhonne khud hee apane pairon par kulhaadee maaree hai aur khud hee apane aap ko yah itana jyaada heeroin neecha dikhaaya hai ki sirph jo mainne aaj main dekhatee hoon gaanv mein aaj bhee mahilaon ko purushon ke pairon kee jootee hai samajha jaata hai chaahe vah ghar mein unase jyaada kaam karatee ho aur chaahe vah unase jyaada samajhadaar ho tujhe mahila mahila ke dushman hote hain na vahaan par us tareeke ke so jaana svaabhaavik hai

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या हमें सीधा और सरल नहीं होना चाहिए?Kya Hume Seedha Aur Saral Nahi Hona Chaiye
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
1:39
विष्णु पूछा है कि हमें सीधा और सरल नहीं होना चाहिए तो देखी मैं आपको एक बात बता दूं कि किताबी बातें हैं भाषा है और किताबों में बहुत अच्छी लगती हैं और किसी के लिए कहना कि जैसे कोई मां है वह अपनी बेटी अपने बेटे के लिए मेरी बात कही कि मेरा बेटा बहुत सीधा है मेरी बेटी बहुत सरल है तो यह बस उतनी ही अच्छी लगती है अगर आप अपनी निजी जिंदगी में सीधे और सरल बन गए तो उसका पैसा ही अपनी मां ने जो होते हैं वह ता है बेवकूफ क्योंकि सीधे इंसान को हर कोई बेवकूफ बनाता है एक छोटी सी कहावत पड़ी थी कि हर कोई उस कील को ठोकना चाहता है तो सीधी और सरल होती है क्योंकि सीधे अच्छे से टूट जाती है जबकि को ठोकने के लिए बहुत पढ़ती भी नहीं होती तो ऐसे ही टेढ़ा छोड़ दिया जाता है तो यह दुनिया में नहीं रहेंगे तो आपको पूरी तरीके से दीवार में ठोक दिया जाएगा तो कभी सीधा और सरल बनने की कोशिश मत करिए भले से आप लोगों को कोई कमेंट करें यह कॉन्प्लीमेंट आपको लगे कि गिलानी लड़की बहुत तेज है यह फराना लड़का बहुत तेज है तो उसको ऐसे कमेंट डाले कॉन्प्लीमेंट जरूर ले ले लेकिन कभी भी सीधा और सरल बंद कर दुनिया को यह पूरी तरीके से यह थोड़ा उनके हाथ में ना देने की वह आपको कहीं पर भी कैसे भी ठोकने क्योंकि यहां यह दुनिया इतनी खराब हो चुकी है कि लोगों के जीना बहुत ज्यादा मुश्किल है इतनी जिंदगी में कभी भी सीधे और सरल मत बनिए हमेशा के लिए बंद कर रही है जहां जरूरत है वापस जरूर दिखाइए क्योंकि उनको लोग मूर्ख बनाने की कोशिश करते हैं और बनाते हैं उनका फायदा उठाते हैं तो प्लीज मेरा जो भी मेरी बात को सुनो और अगर वह सीधा और सरल है तो प्लीज अपनी सिधाई और सरलता को किनारे कर लेते थैंक यू
Vishnu poochha hai ki hamen seedha aur saral nahin hona chaahie to dekhee main aapako ek baat bata doon ki kitaabee baaten hain bhaasha hai aur kitaabon mein bahut achchhee lagatee hain aur kisee ke lie kahana ki jaise koee maan hai vah apanee betee apane bete ke lie meree baat kahee ki mera beta bahut seedha hai meree betee bahut saral hai to yah bas utanee hee achchhee lagatee hai agar aap apanee nijee jindagee mein seedhe aur saral ban gae to usaka paisa hee apanee maan ne jo hote hain vah ta hai bevakooph kyonki seedhe insaan ko har koee bevakooph banaata hai ek chhotee see kahaavat padee thee ki har koee us keel ko thokana chaahata hai to seedhee aur saral hotee hai kyonki seedhe achchhe se toot jaatee hai jabaki ko thokane ke lie bahut padhatee bhee nahin hotee to aise hee tedha chhod diya jaata hai to yah duniya mein nahin rahenge to aapako pooree tareeke se deevaar mein thok diya jaega to kabhee seedha aur saral banane kee koshish mat karie bhale se aap logon ko koee kament karen yah konpleement aapako lage ki gilaanee ladakee bahut tej hai yah pharaana ladaka bahut tej hai to usako aise kament daale konpleement jaroor le le lekin kabhee bhee seedha aur saral band kar duniya ko yah pooree tareeke se yah thoda unake haath mein na dene kee vah aapako kaheen par bhee kaise bhee thokane kyonki yahaan yah duniya itanee kharaab ho chukee hai ki logon ke jeena bahut jyaada mushkil hai itanee jindagee mein kabhee bhee seedhe aur saral mat banie hamesha ke lie band kar rahee hai jahaan jaroorat hai vaapas jaroor dikhaie kyonki unako log moorkh banaane kee koshish karate hain aur banaate hain unaka phaayada uthaate hain to pleej mera jo bhee meree baat ko suno aur agar vah seedha aur saral hai to pleej apanee sidhaee aur saralata ko kinaare kar lete thaink yoo

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
बीएड के साथ एमएससी क़र सकते हैं ?Baed Ke Sath Msc Qar Sakte Hain
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
1:04
यह क्या B.Ed के बाद एमएससी कर सकते हैं बिल्कुल आपने जिस भी सब्जेक्ट में ग्रेजुएशन किया होगा तो यह आप समझ लीजिए कि B.Ed में लास्ट के 2 सब्जेक्ट आपके वही होंगे तो अगर आपने भी ऐसी टीचर ओमेक्स सिटी हो या जला देने की हो तो आप की रात के 2:00 बजे के बाद में वही होंगे और उसी में से किसी एक को लेकर आप गेट के बाद बिल्कुल है मैसेज कर सकते हैं इसमें किसी भी तरीके की रोक टोक नहीं है और आप चाहे तो आप भी ऐसे के दिन बाद में से कर सकते हैं उसके बाद में भी ऐड कर सकते हैं लेकिन B.Ed एक प्रोफेशनल एजुकेशनल कोर्स है जो आपको आगे टीचिंग लाइन में बहुत हेल्पफुल होता है उसके बिना सरकारी नौकरी भी नहीं लगती है और अब तो खड़े-खड़े B.Ed सब कुछ नहीं होता है उसके बाद आपको ठीक ही करनी पड़ती है जो कि अब प्राइवेट में भी माने हो गई है कि अगर आप अकेली नहीं हो करेंगे तो आपको आगे इन थे मैं नहीं मिलेगा तो अगर आप भी ऐड कर रहे हैं या कर चुके हैं तो मेरे ख्याल से आप हमें सीना करती टीईटी की तैयारी कीजिए टेट की तैयारी कीजिए सीटेट की तैयारी है ताकि आप एजुकेशन लाइन जानना चाहते हैं तो एक मजबूती के साथ आकर बड़े थैंक यू
Yah kya b.aid ke baad emesasee kar sakate hain bilkul aapane jis bhee sabjekt mein grejueshan kiya hoga to yah aap samajh leejie ki b.aid mein laast ke 2 sabjekt aapake vahee honge to agar aapane bhee aisee teechar omeks sitee ho ya jala dene kee ho to aap kee raat ke 2:00 baje ke baad mein vahee honge aur usee mein se kisee ek ko lekar aap get ke baad bilkul hai maisej kar sakate hain isamen kisee bhee tareeke kee rok tok nahin hai aur aap chaahe to aap bhee aise ke din baad mein se kar sakate hain usake baad mein bhee aid kar sakate hain lekin b.aid ek propheshanal ejukeshanal kors hai jo aapako aage teeching lain mein bahut helpaphul hota hai usake bina sarakaaree naukaree bhee nahin lagatee hai aur ab to khade-khade b.aid sab kuchh nahin hota hai usake baad aapako theek hee karanee padatee hai jo ki ab praivet mein bhee maane ho gaee hai ki agar aap akelee nahin ho karenge to aapako aage in the main nahin milega to agar aap bhee aid kar rahe hain ya kar chuke hain to mere khyaal se aap hamen seena karatee teeeetee kee taiyaaree keejie tet kee taiyaaree keejie seetet kee taiyaaree hai taaki aap ejukeshan lain jaanana chaahate hain to ek majabootee ke saath aakar bade thaink yoo

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
लड़कियों की कौन सी चीज लड़कों को ज्यादा आकर्षित करती है?Ladkiyon Ki Kaun See Cheez Ladkon Ko Jyada Aakarshit Karte Hai
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
2:28
उसने पूछा है कि लड़कियों की कौन सी चीज लड़कों को ज्यादा आकर्षित करते हैं तो आई पर्सनली फ्री जो भी मुझे ऐसा लगता है कि सबसे ज्यादा हम जब किसी को देखते हैं तो हम उसकी आंखों में ही देखते हैं और उसकी फिजिक देखते हैं कि वह किस तरीके का स्ट्रक्चर रखता है तेरी आंखों की बात करते हैं क्योंकि जब आप अगर आप एक लड़के हैं और आप एक लड़की को देखने अगर आप एक लड़की एक लड़की को देखने तो सबसे पहले आई कांटेक्ट होता है आई कांटेक्ट में यहां पर आंखों की सुंदरता की बात नहीं कर रही थी वह आकर्षित करती है सबकी अपनी-अपनी नजरिया की बात होती है आप जो लड़के होते हैं मुझे ऐसा लगता है कि लड़कियों में वह सबसे ज्यादा जो आई कांटेक्ट होने के बाद जो आंखें बोलती है ना हो सकता था उससे आकर्षित होते हैं अब समझाती मैं आपको पैसा कैसे देखें अगर आप किसी को पॉजिटिव वे में जाकर देखने हैं तो आपके जो आंखों का स्टाइल होगा ना बात करने का तो स्टाइल होगा वह अलग होगा लेकिन अगर आप किसी को नेगेटिव देख रहे हो आप उसको बिल्कुल बात नहीं करना चाह रहे हैं आप उस से अलगाव करना चाह रहे हैं आपको आपने देखा और अपने आप अपनी और नेहा नीची कर ली तो आंखें जो है सब कुछ बोलते हैं किसने कहा ना कि आंखे सच बोलते तो जैसे मान लीजिए कि आप एक सड़क पर जा रहे हैं और आपने एक लड़की को देखा वही आप उस लड़की ने भी आपकी तरफ देखा तो वहीं उसी आई कांटेक्ट से समझ में आ जाता है कि वह कितनी आकर्षित है यह आप उसी तरह कितने आकर्षित हो रहे हैं यहां फिर वह आप में इतनी रुचि दिखाइए नहीं दिखाइए और मुझे ऐसा लगता है कि लड़कों को लड़कियों के साथ गीता सादा पसंद आती है कि अगर आपको कोई लड़की आंख सिर्फ आप ही को देखे जा रहे हैं तो आपको वो लड़की अच्छी नहीं लगेगी किसी लड़के के बारे में गलत ही सोचेगा और अगर आपने देखा कि वह लड़की आपको देख रही है और उसे तुरंत आपको देखकर ने कहा नीची कर ली तो आपको उसकी सादगी पसंद आ जाएगी क्योंकि आप सर मैंने देखा कि लड़के बने इस लड़की के बारे में कुछ भी सोचे कि जब वो एक पार्टनर के बारे में सोचते हैं कि मुझे यह चीज मुझे इस लड़की में इंटरेस्ट है या मैं आगे चलकर से अपनी थोड़ा सा रिलेशनशिप आगे बढ़ा लूंगा तो जब इस तरीके के उनके मन में शादी बड़े वाले आते हैं वह पैसे नहीं आते कि वह मॉडर्न होनी चाहिए छोटे कपड़े पहनने या ऐसी हो वैसी हो उससे कि नहीं उनको फिर इंडियन लुक ही समझ में हम लोग अभी से बिलॉन्ग करते हैं और जब कभी भी पाटन वाली बात आती है ना तो हम हमारे अंदर जो बात आती है कि लड़के को लेकर एक लड़की को लेकर शादी वाली आती है तो मुझे ऐसा लगता है कि लड़कियों को जो है लड़कियों की आंखें हैं वादा करते हैं थैंक यू
Usane poochha hai ki ladakiyon kee kaun see cheej ladakon ko jyaada aakarshit karate hain to aaee parsanalee phree jo bhee mujhe aisa lagata hai ki sabase jyaada ham jab kisee ko dekhate hain to ham usakee aankhon mein hee dekhate hain aur usakee phijik dekhate hain ki vah kis tareeke ka strakchar rakhata hai teree aankhon kee baat karate hain kyonki jab aap agar aap ek ladake hain aur aap ek ladakee ko dekhane agar aap ek ladakee ek ladakee ko dekhane to sabase pahale aaee kaantekt hota hai aaee kaantekt mein yahaan par aankhon kee sundarata kee baat nahin kar rahee thee vah aakarshit karatee hai sabakee apanee-apanee najariya kee baat hotee hai aap jo ladake hote hain mujhe aisa lagata hai ki ladakiyon mein vah sabase jyaada jo aaee kaantekt hone ke baad jo aankhen bolatee hai na ho sakata tha usase aakarshit hote hain ab samajhaatee main aapako paisa kaise dekhen agar aap kisee ko pojitiv ve mein jaakar dekhane hain to aapake jo aankhon ka stail hoga na baat karane ka to stail hoga vah alag hoga lekin agar aap kisee ko negetiv dekh rahe ho aap usako bilkul baat nahin karana chaah rahe hain aap us se alagaav karana chaah rahe hain aapako aapane dekha aur apane aap apanee aur neha neechee kar lee to aankhen jo hai sab kuchh bolate hain kisane kaha na ki aankhe sach bolate to jaise maan leejie ki aap ek sadak par ja rahe hain aur aapane ek ladakee ko dekha vahee aap us ladakee ne bhee aapakee taraph dekha to vaheen usee aaee kaantekt se samajh mein aa jaata hai ki vah kitanee aakarshit hai yah aap usee tarah kitane aakarshit ho rahe hain yahaan phir vah aap mein itanee ruchi dikhaie nahin dikhaie aur mujhe aisa lagata hai ki ladakon ko ladakiyon ke saath geeta saada pasand aatee hai ki agar aapako koee ladakee aankh sirph aap hee ko dekhe ja rahe hain to aapako vo ladakee achchhee nahin lagegee kisee ladake ke baare mein galat hee sochega aur agar aapane dekha ki vah ladakee aapako dekh rahee hai aur use turant aapako dekhakar ne kaha neechee kar lee to aapako usakee saadagee pasand aa jaegee kyonki aap sar mainne dekha ki ladake bane is ladakee ke baare mein kuchh bhee soche ki jab vo ek paartanar ke baare mein sochate hain ki mujhe yah cheej mujhe is ladakee mein intarest hai ya main aage chalakar se apanee thoda sa rileshanaship aage badha loonga to jab is tareeke ke unake man mein shaadee bade vaale aate hain vah paise nahin aate ki vah modarn honee chaahie chhote kapade pahanane ya aisee ho vaisee ho usase ki nahin unako phir indiyan luk hee samajh mein ham log abhee se bilong karate hain aur jab kabhee bhee paatan vaalee baat aatee hai na to ham hamaare andar jo baat aatee hai ki ladake ko lekar ek ladakee ko lekar shaadee vaalee aatee hai to mujhe aisa lagata hai ki ladakiyon ko jo hai ladakiyon kee aankhen hain vaada karate hain thaink yoo

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
ऑनलाइन कपड़े खरीदना क्या सही रहता है?Online Kapde Kharedna Kya Sahi Rehta Hai
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
3:37
हेलो हेलो क्यों ऑनलाइन कपड़े खरीदने क्या सही रहता है किसी ने प्रश्न किया है मैं इसका उत्तर देना चाहती हूं देखिए डिपेंड करता है कि आप कौन सी साइट से कपड़े खरीदने हैं कौन सी ऐप से आप कपड़े खरीद रहे हैं क्योंकि बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं जो फ्रॉड होते हैं और आपसे अगर वह सीओडी नहीं है और आप से वह अकाउंट से पैसे आपके कट रहे हैं तो यह समझ लीजिए कि अक्सर ऐसा होता है कि पैसे कट जाते हैं लेकिन चीज नहीं आती है तो हमेशा उत्साहित हैं कपड़े खरीदी है जो बहुत ज्यादा प्रचलित है और लोग उसका नाम लेते हैं जैसे कि मिंत्रा है और लाइन रोड है मैं बताना चाहती हूं आपको कि बहुत अच्छी एप है इसमें से अगर आप साइड से कपड़े खरीदेंगे तो आपको बिल्कुल भी नुकसान हुआ क्योंकि इसमें सीओडी भी भी अवेलेबल होती है और इसमें आपको पैसा भी आपका रिटर्न आराम से बैंक बैंक हो जाता है अब आपके प्रश्न है कि कपड़े खरीदने सही रहता है कि नहीं देखेंगे डिपेंड करता है कि आपके ऊपर आप के तरीके कपड़ा खरीदना चाहते हैं अक्सर मैंने देखा है कि ऑनलाइन से कपड़ा दिखता है कि ₹300 का एक गाउन जो आपको कहीं नहीं मिलेगा और वह आपको किसी साइट पर दिखाया जाता है जो आप जानते हैं कि 300 का कहीं फिर भी आपको लगता है कि नहीं इतना कम रेट में कैसे दे सकता चलो मुलाकात होगी आबू चीज बेकार ही आएगी और आपको आपके पैसे ही उसमें बर्बाद होंगे तो इसलिए जब कभी मंगाए तो एक रीजनेबल रेट वाली चीज मंगाई और रिटर्न रिटर्न भी आराम से हो सके कि अगर आपको उचित समझ में नहीं आ रही है तो आप रिटर्न पॉलिसी पहले जरूर चेक कर ले फिर कभी कभी ऐसा होता है कि कपड़े का मटेरियल लगता है और जब हाथ में आ जाता है तो अलग से लोगों के मुंह से ऑनलाइन तो चीज मंगानी नहीं जैसा दिखता है वैसा नहीं मिलता है ऐसा बिल्कुल भी नहीं है सारी चीजें के खेल पर है जितना अमाउंट पर दिखाते हैं कि अगर आप किसी पर कोई कपड़ा देखना है जो सोलह सौ का मिलता तो दिख रहा है लेकिन ऐसे ही कोई साइड जिसको आप नहीं जानते हैं और उस पर वही कपड़ा ₹600 का दिख रहा है तो आप ही समझ लीजिए कि ₹600 वाली चीजें 1648 इसमें गजब का डिफेंस होगा और आपको हो सकता है वहां पर पैसे का भी नुकसान हो जाए कपड़े का तो नुकसान होगा ही होगा तो आप जब कभी भी कोई चीज लगाएं तो कुछ थोड़ा सा अपना भी विवेक ही उस करें और यह सोचे कि ऐसा कैसे पहुंचे बिल है कि एक चीज जो बाजार में 5000 की तरह आपको केवल ₹500 ऑनलाइन कैसे बन सकती है पॉसिबल नहीं है उसमें कुछ ना कुछ जरूर होगा तो जब कभी भी आप इस तरीके की चीज आर्डर करते हैं कपड़े आप आर्डर करते हैं तो आप उसका मटेरियल एक जानकारी जरुर चेक करें नीचे जो कमेंट सोते हैं उनको जरूर चेक करें क्योंकि लोग अपने फीडबैक देते हैं उससे आपको बहुत हेल्प मिलेगी उसमें फीडबैक में लिखा होता है कि मैं हैप्पी हूं या मैं जानू या मुझे बहुत टाइट है इसका मटेरियल के सारे कॉमेंट्स देखने के बाद ही आती है उसका आर्डर करें और रिटर्न पॉलिसी देखने के बाद आर्डर करें तो मुझे नहीं लगता कि आपको कोई भी परेशानी ऑनलाइन होगी क्योंकि मैं बताना चाहती हूं कि मैं एक परसेंट अपनी जितनी भी कपड़ों की शॉपिंग ऑनलाइन की करती हूं और मैं सेटिस्फाइड होती हूं अमित ने कह सकते कि मैं हंड्रेड परसेंट साइड साइड होती हूं बहुत सारी चीजें मिलाकर जब आती है उनको देखती हूं परंतु उनको मुझे ठीक नहीं लगती छूने से या पहनने से तो मन को रिटर्न कर देते अमेरिकन में भी कोई प्रॉब्लम आज तक नहीं हुई है मिर्ची से रिटर्न दी हुई है एक बार ऐसा हुआ था कि मैंने एक ऐसी साइट से जम सूट मंगा लिया था तुझे जम सूट के बाद साडे ₹300 का मैंने बहुत बड़ी गलती की थी और मैंने वह उसमें सीओडी अवेलेबल नहीं थी तो मैंने उसको आर्डर कर दिया था बैंक से मेरे पैसे कट गए थे और आज तक वह मेरे ख्याल से 1 साल इस बात को हो गया और आज तक नहीं आया क्योंकि मुझे खुद को ही सोचना चाहिए ₹300 में तो बच्चे की पजामी भी नहीं आ रही है आजकल तो जम सूट कितने बड़े इंसान का एड्रेस का कैसे आ सकता है तो इसकी गलती जो मैंने आप भी ना करिए तो आपको ऑनलाइन कपड़े में खरीदने में कभी कोई परेशानी नहीं होगी और ना ही आपका पैसा ना थैंक यू
Helo helo kyon onalain kapade khareedane kya sahee rahata hai kisee ne prashn kiya hai main isaka uttar dena chaahatee hoon dekhie dipend karata hai ki aap kaun see sait se kapade khareedane hain kaun see aip se aap kapade khareed rahe hain kyonki bahut saare log aise hote hain jo phrod hote hain aur aapase agar vah seeodee nahin hai aur aap se vah akaunt se paise aapake kat rahe hain to yah samajh leejie ki aksar aisa hota hai ki paise kat jaate hain lekin cheej nahin aatee hai to hamesha utsaahit hain kapade khareedee hai jo bahut jyaada prachalit hai aur log usaka naam lete hain jaise ki mintra hai aur lain rod hai main bataana chaahatee hoon aapako ki bahut achchhee ep hai isamen se agar aap said se kapade khareedenge to aapako bilkul bhee nukasaan hua kyonki isamen seeodee bhee bhee avelebal hotee hai aur isamen aapako paisa bhee aapaka ritarn aaraam se baink baink ho jaata hai ab aapake prashn hai ki kapade khareedane sahee rahata hai ki nahin dekhenge dipend karata hai ki aapake oopar aap ke tareeke kapada khareedana chaahate hain aksar mainne dekha hai ki onalain se kapada dikhata hai ki ₹300 ka ek gaun jo aapako kaheen nahin milega aur vah aapako kisee sait par dikhaaya jaata hai jo aap jaanate hain ki 300 ka kaheen phir bhee aapako lagata hai ki nahin itana kam ret mein kaise de sakata chalo mulaakaat hogee aaboo cheej bekaar hee aaegee aur aapako aapake paise hee usamen barbaad honge to isalie jab kabhee mangae to ek reejanebal ret vaalee cheej mangaee aur ritarn ritarn bhee aaraam se ho sake ki agar aapako uchit samajh mein nahin aa rahee hai to aap ritarn polisee pahale jaroor chek kar le phir kabhee kabhee aisa hota hai ki kapade ka materiyal lagata hai aur jab haath mein aa jaata hai to alag se logon ke munh se onalain to cheej mangaanee nahin jaisa dikhata hai vaisa nahin milata hai aisa bilkul bhee nahin hai saaree cheejen ke khel par hai jitana amaunt par dikhaate hain ki agar aap kisee par koee kapada dekhana hai jo solah sau ka milata to dikh raha hai lekin aise hee koee said jisako aap nahin jaanate hain aur us par vahee kapada ₹600 ka dikh raha hai to aap hee samajh leejie ki ₹600 vaalee cheejen 1648 isamen gajab ka diphens hoga aur aapako ho sakata hai vahaan par paise ka bhee nukasaan ho jae kapade ka to nukasaan hoga hee hoga to aap jab kabhee bhee koee cheej lagaen to kuchh thoda sa apana bhee vivek hee us karen aur yah soche ki aisa kaise pahunche bil hai ki ek cheej jo baajaar mein 5000 kee tarah aapako keval ₹500 onalain kaise ban sakatee hai posibal nahin hai usamen kuchh na kuchh jaroor hoga to jab kabhee bhee aap is tareeke kee cheej aardar karate hain kapade aap aardar karate hain to aap usaka materiyal ek jaanakaaree jarur chek karen neeche jo kament sote hain unako jaroor chek karen kyonki log apane pheedabaik dete hain usase aapako bahut help milegee usamen pheedabaik mein likha hota hai ki main haippee hoon ya main jaanoo ya mujhe bahut tait hai isaka materiyal ke saare koments dekhane ke baad hee aatee hai usaka aardar karen aur ritarn polisee dekhane ke baad aardar karen to mujhe nahin lagata ki aapako koee bhee pareshaanee onalain hogee kyonki main bataana chaahatee hoon ki main ek parasent apanee jitanee bhee kapadon kee shoping onalain kee karatee hoon aur main setisphaid hotee hoon amit ne kah sakate ki main handred parasent said said hotee hoon bahut saaree cheejen milaakar jab aatee hai unako dekhatee hoon parantu unako mujhe theek nahin lagatee chhoone se ya pahanane se to man ko ritarn kar dete amerikan mein bhee koee problam aaj tak nahin huee hai mirchee se ritarn dee huee hai ek baar aisa hua tha ki mainne ek aisee sait se jam soot manga liya tha tujhe jam soot ke baad saade ₹300 ka mainne bahut badee galatee kee thee aur mainne vah usamen seeodee avelebal nahin thee to mainne usako aardar kar diya tha baink se mere paise kat gae the aur aaj tak vah mere khyaal se 1 saal is baat ko ho gaya aur aaj tak nahin aaya kyonki mujhe khud ko hee sochana chaahie ₹300 mein to bachche kee pajaamee bhee nahin aa rahee hai aajakal to jam soot kitane bade insaan ka edres ka kaise aa sakata hai to isakee galatee jo mainne aap bhee na karie to aapako onalain kapade mein khareedane mein kabhee koee pareshaanee nahin hogee aur na hee aapaka paisa na thaink yoo

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या समस्या पर चर्चा करने से वेहतर है उस समस्या का हल निकालने की कोशिश की जाय?Kya Samasya Par Charcha Karne Se Behtar Hai Us Samasya Ka Hal Nikaalne Ki Koshish Ki Jaye
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
1:27
उसने पूछा की समस्या पर चर्चा चर्चा करने से बेहतर है उस समस्या का हल निकाले कोशिश की जाए तो मैं आपको बताना चाहूंगा कि किसी भी समस्या का हल निकालना ही उस पर चर्चा करना होता है और यह एक दूसरे का इन डायरेक्टरी में ही आंसर है अगर आपको कोई समस्या है आकर देख ले अगर आपके अंदर इतनी कैपेबिलिटी होती कि आप अकेले उस समस्या का सुझाव कर लेता उसको तुरंत उसका हल निकाले थे तो आप पहले कर लेते समझते तभी समस्या का रूप लेती है जब हम उस को सॉल्व नहीं कर पाते और सॉल्व हो तभी होती है जब हम किसी से चर्चा करते हैं हम यह नहीं कहेंगे कि आप अपनी समस्या हर किसी से चर्चा करें नहीं आप जिस को समझते हैं कि वह इस लायक है और वह मेरी समस्या का समाधान कर सकता है आप उसी से अपनी समस्या का चर्चा कीजिए क्योंकि हर कोई देखे समस्या का हल निकालने से ज्यादा उस में इंटरेस्ट लेकर आप का मजाक बनाना या आपको और ज्यादा ग्लानि महसूस कराना है कि आपको और परेशान करने वाली हरकतें करता है इसलिए मैं तो यह कहूंगा कि आपकी समस्या अगर आपके आसपास के लोगों से हल नहीं हो पा पापों शीश करेंगे आप अपनी समस्या का हल है पत्थर को सुलझाने की कोशिश करें क्योंकि जब आपको कोई जानता नहीं होगा तो आपको सीता दुख भी नहीं होगा और आपने भी नहीं लगेगा कि कोई मेरी समस्या का मजाक बना रहा है क्या मुझे उसे सुनकर परेशानी हो रही है आपको अच्छे-अच्छे समाधान यहां पर मिलेंगे इस ऐप पर और आपको जो सुझाव अच्छा लगे आप उससे अपनी समस्या का समाधान भी कीजिएगा तो समस्या था जब तक आप चर्चा नहीं करेंगे तब तक हाल मिलना बहुत मुश्किल है थैंक यू
Usane poochha kee samasya par charcha charcha karane se behatar hai us samasya ka hal nikaale koshish kee jae to main aapako bataana chaahoonga ki kisee bhee samasya ka hal nikaalana hee us par charcha karana hota hai aur yah ek doosare ka in daayarektaree mein hee aansar hai agar aapako koee samasya hai aakar dekh le agar aapake andar itanee kaipebilitee hotee ki aap akele us samasya ka sujhaav kar leta usako turant usaka hal nikaale the to aap pahale kar lete samajhate tabhee samasya ka roop letee hai jab ham us ko solv nahin kar paate aur solv ho tabhee hotee hai jab ham kisee se charcha karate hain ham yah nahin kahenge ki aap apanee samasya har kisee se charcha karen nahin aap jis ko samajhate hain ki vah is laayak hai aur vah meree samasya ka samaadhaan kar sakata hai aap usee se apanee samasya ka charcha keejie kyonki har koee dekhe samasya ka hal nikaalane se jyaada us mein intarest lekar aap ka majaak banaana ya aapako aur jyaada glaani mahasoos karaana hai ki aapako aur pareshaan karane vaalee harakaten karata hai isalie main to yah kahoonga ki aapakee samasya agar aapake aasapaas ke logon se hal nahin ho pa paapon sheesh karenge aap apanee samasya ka hal hai patthar ko sulajhaane kee koshish karen kyonki jab aapako koee jaanata nahin hoga to aapako seeta dukh bhee nahin hoga aur aapane bhee nahin lagega ki koee meree samasya ka majaak bana raha hai kya mujhe use sunakar pareshaanee ho rahee hai aapako achchhe-achchhe samaadhaan yahaan par milenge is aip par aur aapako jo sujhaav achchha lage aap usase apanee samasya ka samaadhaan bhee keejiega to samasya tha jab tak aap charcha nahin karenge tab tak haal milana bahut mushkil hai thaink yoo

#मनोरंजन

bolkar speaker
क्या आप नारी जीवन पर आधारित कोई कविता बता सकते हैं?Kya Aap Naari Jeevan Par Aadhaarit Koi Kavita Bta Sakte Hain
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
2:43
से अनुरोध किया है कि क्या आप नारी जीवन पर आधारित कोई कविता बता सकते हैं देखिए मैं खुद से कविताएं लिखती हूं मैं कभी किसी की कविता को और पढ़ती नहीं है तो मैंने बिल्कुल नारी के जीवन पर एक कविता लिखी है जो मैं आप लोगों के साथ आम खाना चाहते हो आप उनको अच्छी लगे तो प्लीज मुझे कमेंट में जरूर बताइएगा कितनी चाहे बात बना लूं कितने कर लो बाप एक जुर्म है सबसे ऊंचा नारी है अभिशाप कितनी चाहे बात बना लो कितने कर लो 51 जुर्म है सबसे ऊंचा नारी है अभिशाप और नारी है अभिशाप की गलती उसकी सारी आई है वह इस दुनिया में क्यों बंद करना रे आई है वह इस दुनिया में क्यों बंद करना रही आज की हो या कल की नारी है बेचारी हत्या होती उसकी हर पल पर वह हत्यारी आज की हो या कल की नारी है बेचारी अगर वह सड़क पर निकले हो तारों की बौछार गौर फरमाइए भाग्य रात अगर वह सड़क पर निकले हो तारों की बौछार और चंद संवाद ही उसके अपने नहीं कोई औजार चंद संभाग ही उसके अपने नहीं कोई अनजान नहीं कोई और चार बेचारी क्या क्या बोले आंखें करनी थी धीरे से आगे को होली की तहे दिल से आगे को होली हाय स्थिति देखना रिकी आ जाता सैलाब सच है यारों इस दुनिया में नारी अभिशाप भैया नारी शादी करके छोड़ माई का पति के जाते घर शादी करके छोड़ना ही का पति के साथ ही घर और सास के आगे मुंह से छाता ससुर से जाती है देवर भी चढ़ता डंडा लेकर बनता उसका बाप आधे उसे अजगर बंदर से आधे मन करता आधे बनकर सांप और सच है यारों इस दुनिया में नारी है अभिषेक भैया नारी है विशाल बहू को समझो लड़की लोगों को समझो पेटी लोगों हर जगह आला पर सच है यारों इस दुनिया में ना रहे हैं अभी शाहपुरिया नारी है भेजा लेकिन मैं खुद एक नारी हूं और मैं नारी को जानती हूं कि मुझे लगता है कि नारी का जीवन अभिशाप बनाने में सिर्फ और सिर्फ पीछे अगर किसी का हाथ है तो मन हल्का है गले से यह पुरुष प्रधान देश है लेकिन उसके बाद ही इसको अगर किसी मुकाम पर पुरुष प्रधान बनाया है तो वह भी नारी नहीं बनाया है क्योंकि नारी खुद नारियल उसमें होती है तो अगर आपको मेरी बातें सच्ची लगे सही लगे हो इस कविता में तो मुझे जरुर बताइएगा थे

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या शादी के लिए लड़का और लड़की दोनों की उम्र 21 वर्ष होनी चाहिए?Kya Shadi Ke Lie Ladka Aur Ladki Dono Ki Umr 21 Varsh Honi Chaiye
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
2:29

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या आजकल का प्यार चेहरा देखकर हो रहा है?Kya Aajkal Ka Pyaar Chehra Dekhkar Ho Raha Hai
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
1:26

#जीवन शैली

bolkar speaker
क्या बीवी को सब कुछ बताना जरूरी होता है?Kya Biwi Ko Sab Kuch Btana Jaruri Hota Hai
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
2:54

#जीवन शैली

bolkar speaker
सभी लोग मुझे समझ क्यों नहीं पाते?Sabhi Log Mujhe Samajh Kyun Nahin Paate
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
2:49

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
किस तरह के लड़के को लड़की घास नहीं डालती?Kis Tarah Ke Ladke Ko Ladki Ghaas Nahin Dalte
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
2:15

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
सच्चा प्यार करने वाले लड़के दुनिया में मिलते हैं?sachcha pyaar karane vaale ladake duniya mein milate hain
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
3:34

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
प्यार होते ही क्या परिवर्तन आ जाते हैं?Pyaar Hote Hee Kya Parivartan Aa Jaate Hain
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
2:33

#जीवन शैली

bolkar speaker
हमारे अंतःकरण में ऐसा क्या छुपा है जिसे हम जीवन भर खोज नहीं पाते?Humare Antahkaran Mein Aisa Kya Chupa Hai Jise Hum Jeevan Bhar Khoj Nahin Pate
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
1:05

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
7 केले को बिना काटे 8 लोगों में कैसे बांट सकते हैं?7 Kele Ko Bina Kaate 8 Logon Mein Kaise Baant Sakate Hain
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
0:46

#रिश्ते और संबंध

charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
2:43

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या चारु नाम की लड़की धोखेबाज होती है?😁kya chaaru naam kee ladakee dhokhebaaj hotee hai?
charu seth Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए charu जी का जवाब
Think and speak
1:04
URL copied to clipboard