#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
पाँच मुगल शासको के नाम लिखिए?Paanch Mugal Shasko Ke Naam Likhie
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
0:58
सवाल है कि 5 मुगल शासकों के नाम लिखे मुगल साम्राज्य की स्थापना सबसे पहले बाबर ने की थी और उनके बाद युवाओं ने मुगल साम्राज्य में शासन किया तो यह तो शासक तो पहले ही हैं पहले बाबर और दूसरे नंबर पर हिमायू फिर इनके अलावा 3 साल सा को रमेश कुमार औरंगजेब अकबर शाहजहां और एक और सम्राट जहांगीर और पहले मुगल साम्राज्य के सम्राट से बाहर और अंतिम सम्राट के नाम से औरंगजेब को जाना जाता है धन्यवाद

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
भारत पर आक्रमण करने वाला पहला मुस्लिम आक्रमणकारी कौंन था?Bharat Par Aakraman Karne Vala Pehla Muslim Aakramankari Kaun Tha
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
0:29
आपका सवाल है कि भारत पर आक्रमण करने वाला पहला मुस्लिम आक्रमणकारी कौन था तो हमारे इतिहास के इतिहासकारों के अनुसार हमारे भारत पर सबसे पहले आक्रमण मोहम्मद बिन कासिम ने किया था जो कि 711 ईसवी में किया था धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
वैश्वीकरण किसे कहते हैं?Vaishvikaran Kise Kehte Hain
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
0:35
वैश्वीकरण एक बहुआयामी प्रक्रिया है विश्व के एक हिस्से से विचारों पूंजी वस्तु सेवा को बिना किसी प्रतिबंध की दूसरे से देश में परस्पर आदान-प्रदान की प्रक्रिया ही वैश्वीकरण या भूमंडलीकरण कहलाती है इसका संबंध प्रभाव से होता है धन्यवाद
Vaishveekaran ek bahuaayaamee prakriya hai vishv ke ek hisse se vichaaron poonjee vastu seva ko bina kisee pratibandh kee doosare se desh mein paraspar aadaan-pradaan kee prakriya hee vaishveekaran ya bhoomandaleekaran kahalaatee hai isaka sambandh prabhaav se hota hai dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
भारत एवं बांग्लादेश के बीच तनाव के कारण बताइए?Bharat Evam Bangladesh Ke Beech Tanaav Ke Karan Btaiye
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
1:38
भारत एवं बांग्लादेश दोनों पड़ोसी देशों में तनाव के कारण इस प्रकार से हैं पहला गंगा ब्रह्मपुत्र नदी के जल में सिरारी को लेकर भारत एवं बांग्लादेश के बीच तनाव बना रहता है ल विवाद को लेकर भी भारत एवं बांग्लादेश संबंधों में तनाव का एक कारण है भारत एवं बांग्लादेश में प्राकृतिक गैस के निर्यात को लेकर भी तनाव बना हुआ है बांग्लादेश भारत के विरुद्ध कट्टर इस्लामी रोधी का समर्थन करता है इसलिए भारत एवं बांग्लादेश के बीच तनाव बना हुआ है और एक अंतिम एक कारण वाहन बांग्लादेश के अप्रवासी कारण जो कि भारत में आकर बस गए इससे बांग्लादेश और भारत के बीच तनाव व्याप्त है
Bhaarat evan baanglaadesh donon padosee deshon mein tanaav ke kaaran is prakaar se hain pahala ganga brahmaputr nadee ke jal mein siraaree ko lekar bhaarat evan baanglaadesh ke beech tanaav bana rahata hai la vivaad ko lekar bhee bhaarat evan baanglaadesh sambandhon mein tanaav ka ek kaaran hai bhaarat evan baanglaadesh mein praakrtik gais ke niryaat ko lekar bhee tanaav bana hua hai baanglaadesh bhaarat ke viruddh kattar islaamee rodhee ka samarthan karata hai isalie bhaarat evan baanglaadesh ke beech tanaav bana hua hai aur ek antim ek kaaran vaahan baanglaadesh ke apravaasee kaaran jo ki bhaarat mein aakar bas gae isase baanglaadesh aur bhaarat ke beech tanaav vyaapt hai

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
किसानों की कृषि कानूनों को सरकार से वापस लेने की जिद को आप कैसे समझते हैं?Kishano Ki Krishi Kanunon Ko Sarkar Se Vapas Lene Ki Jid Ko Aap Kaise Samajhte Hain
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
2:00
मेगा गोयल आप ने सवाल किया है कि किसानों की कृषि कानून को सरकार से वापस लेने की जीत को आप कैसे समझते हैं सबसे पहले तो मैं आपको धन्यवाद देना चाहूंगी कि आपने मुझे इस सवाल का जवाब देने के लायक समझा जो अभी रस्सी कानून बिल जारी किया गया था उसमें उसके बारे में अधिकतर किसानों को तो मालूम ही नहीं है जो किसान वहां पर रहे हैं उनमें से 90% किसानों को तो पता भी नहीं है कि कृषि बिल क्या है और इसके क्या फायदे एवं नुकसान है यह जिद तो किसानों के बड़े-बड़े नेता जो खुद को किसानों का हितैषी यानी कि उनके लिए अच्छा चाहने वाला कहते हैं उनकी जीत है कि किसान किसान दिल वापस लिया जाए लेकिन अभी यह पूरा कंफर्म नहीं है कि जो किसान नेता हैं उनको भी इस किसान बिल्कुल सही जानकारी है इसलिए मैं कहना चाहूंगी कि उन किसान नेताओं को भी इसके बारे में पहले तो अच्छे से जानकारी हासिल कर लेनी चाहिए कि यह नियम हमारे लिए अच्छा है या बुरा है फिर उसी के अनुसार निर्णय लें और अपने अधीन छोटे-छोटे किसानों को भी समझा और तभी सभी किसान मिलजुल कर एक सटीक फैसला लें धन्यवाद
Mega goyal aap ne savaal kiya hai ki kisaanon kee krshi kaanoon ko sarakaar se vaapas lene kee jeet ko aap kaise samajhate hain sabase pahale to main aapako dhanyavaad dena chaahoongee ki aapane mujhe is savaal ka javaab dene ke laayak samajha jo abhee rassee kaanoon bil jaaree kiya gaya tha usamen usake baare mein adhikatar kisaanon ko to maaloom hee nahin hai jo kisaan vahaan par rahe hain unamen se 90% kisaanon ko to pata bhee nahin hai ki krshi bil kya hai aur isake kya phaayade evan nukasaan hai yah jid to kisaanon ke bade-bade neta jo khud ko kisaanon ka hitaishee yaanee ki unake lie achchha chaahane vaala kahate hain unakee jeet hai ki kisaan kisaan dil vaapas liya jae lekin abhee yah poora kampharm nahin hai ki jo kisaan neta hain unako bhee is kisaan bilkul sahee jaanakaaree hai isalie main kahana chaahoongee ki un kisaan netaon ko bhee isake baare mein pahale to achchhe se jaanakaaree haasil kar lenee chaahie ki yah niyam hamaare lie achchha hai ya bura hai phir usee ke anusaar nirnay len aur apane adheen chhote-chhote kisaanon ko bhee samajha aur tabhee sabhee kisaan milajul kar ek sateek phaisala len dhanyavaad

#खेल कूद

bolkar speaker
किस गैस को जीवनदायिनी गैस कहा जाता है?Kis Gas Ko Jeevandayini Gas Kaha Jata Hai
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
0:21
आपका सवाल है कि किस गैस को जीवनदायिनी गैस कहा जाता है हमारे साइंस के अनुसार कार्बन डाइऑक्साइड को मनुष्य के लिए जीवनदायिनी है माना जाता है
Aapaka savaal hai ki kis gais ko jeevanadaayinee gais kaha jaata hai hamaare sains ke anusaar kaarban daioksaid ko manushy ke lie jeevanadaayinee hai maana jaata hai

#खेल कूद

bolkar speaker
अमेरिका के शक्तिशाली होने के तरीके की क्या वजह है?America Ke Shaktishali Hone Ke Tareeke Ki Kya Vajah Hai
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
1:58
जी आप का सवाल है कि अमेरिका के शक्तिशाली होने के तरीके की क्या वजह है देखिए अमेरिका आज की आधुनिक समय में एक बहुत ही विकसित अर्थव्यवस्था वाला देश है और विश्व में सबसे शक्तिशाली देश है उसकी शक्तिशाली होने एवं वर्चस्व का आधार उसकी सैन्य शक्ति है अमेरिका की सैन्य शक्ति इतनी इतनी ज्यादा है कि उसकी सैन्य शक्ति का मुकाबला कोई भी देश नहीं कर सकता है वह इतना पावरफुल है कि दुनिया में कोई भी देश ऐसा नहीं है मेरी कार की सैन्य शक्ति की तुलना में कोई भी उसके बराबर खड़ा नहीं रह सकता है अगर अमेरिका के विरोध में कोई खड़ा रहना चाहता है तो उसकी हार निश्चित ही है अमेरिका की सैन्य शक्ति किसी भी देश की अपेक्षा बेजोड़ है जो उसकी वर्चस्व था को स्थापित करने में सहायक है अमेरिका में इतना अधिक खर्च करता है कि उसकी तुलना में 10 से शिमला का कितना खर्च अपनी सेना पर नहीं करते हैं इसीलिए अमेरिका के शक्तिशाली होने में सैनिक लोगों की बड़ी भूमिका रही है धन्यवाद
Jee aap ka savaal hai ki amerika ke shaktishaalee hone ke tareeke kee kya vajah hai dekhie amerika aaj kee aadhunik samay mein ek bahut hee vikasit arthavyavastha vaala desh hai aur vishv mein sabase shaktishaalee desh hai usakee shaktishaalee hone evan varchasv ka aadhaar usakee sainy shakti hai amerika kee sainy shakti itanee itanee jyaada hai ki usakee sainy shakti ka mukaabala koee bhee desh nahin kar sakata hai vah itana paavaraphul hai ki duniya mein koee bhee desh aisa nahin hai meree kaar kee sainy shakti kee tulana mein koee bhee usake baraabar khada nahin rah sakata hai agar amerika ke virodh mein koee khada rahana chaahata hai to usakee haar nishchit hee hai amerika kee sainy shakti kisee bhee desh kee apeksha bejod hai jo usakee varchasv tha ko sthaapit karane mein sahaayak hai amerika mein itana adhik kharch karata hai ki usakee tulana mein 10 se shimala ka kitana kharch apanee sena par nahin karate hain iseelie amerika ke shaktishaalee hone mein sainik logon kee badee bhoomika rahee hai dhanyavaad

#खेल कूद

bolkar speaker
खुली अर्थव्यवस्था एवं बंद अर्थव्यवस्था में अंतर बताइएKhuli Arthvyavastha Evam Band Arthvyavastha Mein Antar Bataiye
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
1:31
खुली अर्थव्यवस्था एवं बंद अर्थव्यवस्था में अंतर को इस प्रकार समझा जा सकता है जब किसी देश का अन्य देशों से आर्थिक संबंध नहीं होता है तो उसे बंद अर्थव्यवस्था कहा जाता है जबकि किसी देश का अन्य देशों के साथ आर्थिक संबंध स्थापित हो जाता है तो उसे खुली अर्थव्यवस्था कहते हैं बंद अर्थव्यवस्था एक काल्पनिक अर्थव्यवस्था होती है जबकि खुली आते हो वैष्णवास्त्र करते हुए उसका होती है आज के समय में बंद अर्थव्यवस्था एक काल्पनिक ही मान जा सकती है और खुली अर्थव्यवस्था आज के आधुनिक समय का आधार स्तंभ है है आजकल पुली अर्थ राजस्थानी ज्यादा देखने को मिलती है सभी देश एक दूसरे से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जुड़े हुए हैं तीसरा बंद अर्थव्यवस्था सकल घरेलू उत्पाद एवं राष्ट्रीय आय दोनों समान अर्थव्यवस्था में सकल घरेलू उत्पाद में सीआईडी समान होते हैं जबकि खुली अर्थव्यवस्था में राष्ट्रीय आय एवं घरेलू आय में अंतर होता है धन्यवाद
Khulee arthavyavastha evan band arthavyavastha mein antar ko is prakaar samajha ja sakata hai jab kisee desh ka any deshon se aarthik sambandh nahin hota hai to use band arthavyavastha kaha jaata hai jabaki kisee desh ka any deshon ke saath aarthik sambandh sthaapit ho jaata hai to use khulee arthavyavastha kahate hain band arthavyavastha ek kaalpanik arthavyavastha hotee hai jabaki khulee aate ho vaishnavaastr karate hue usaka hotee hai aaj ke samay mein band arthavyavastha ek kaalpanik hee maan ja sakatee hai aur khulee arthavyavastha aaj ke aadhunik samay ka aadhaar stambh hai hai aajakal pulee arth raajasthaanee jyaada dekhane ko milatee hai sabhee desh ek doosare se antararaashtreey star par jude hue hain teesara band arthavyavastha sakal ghareloo utpaad evan raashtreey aay donon samaan arthavyavastha mein sakal ghareloo utpaad mein seeaeedee samaan hote hain jabaki khulee arthavyavastha mein raashtreey aay evan ghareloo aay mein antar hota hai dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के क्या कार्य होते है?Reserve Bank Of India Ke Kya Karya Hote Hai
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
2:23
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के कार्य अभी भी लिखित होते हैं होता है बैंकों का बैंक रिजर्व बैंक को बैंकों के नियमन का अधिकार प्राप्त होता है इसलिए कोई भी बैंक नया कोई भी नया बैंक रिजर्व बैंक की अनुमति के बिना ना तो स्थापित हो सकता है और ना ही पुराना बैंक अपनी शाखाएं खोल सकता है रिजर्व बैंक की अनुमति मिलने पर भी नया बैंक स्थापित किया जा सकता है रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया का दूसरा मैच स्कूल का नोट निर्गमन का है रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया अधिनियम के अंतर्गत रिजर्व बैंक को नोट निर्गमन का एकाधिकार प्राप्त है देश में सभी प्रकार की उम्र का मन करता है यह ₹2 ₹5 ₹10 और 2008 तक के नोट निर्गमन करता है तीसरा रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया शाखा नियमन भी करती रिजर्व बैंक बैंक खुले बाजार की क्रियाएं क्वेश्चन परिवर्तन बहुमुखी ब्याज दरों पर दबाव द्वारा साख निर्माण करते हैं सरकारी बैंक का प्रतिनिधि एवं सलाहकार के रूप में वीर्य बैंक ऑफ भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया भारत सरकार एवं राज्य सरकार की बैंक का प्रतिनिधि व सलाहकार के रूप में कार्य करती है रिजर्व बैंक अन्य बैंकों को चला भी धन्यवाद
Rijarv baink oph indiya ke kaary abhee bhee likhit hote hain hota hai bainkon ka baink rijarv baink ko bainkon ke niyaman ka adhikaar praapt hota hai isalie koee bhee baink naya koee bhee naya baink rijarv baink kee anumati ke bina na to sthaapit ho sakata hai aur na hee puraana baink apanee shaakhaen khol sakata hai rijarv baink kee anumati milane par bhee naya baink sthaapit kiya ja sakata hai rijarv baink oph indiya ka doosara maich skool ka not nirgaman ka hai rijarv baink oph indiya adhiniyam ke antargat rijarv baink ko not nirgaman ka ekaadhikaar praapt hai desh mein sabhee prakaar kee umr ka man karata hai yah ₹2 ₹5 ₹10 aur 2008 tak ke not nirgaman karata hai teesara rijarv baink oph indiya shaakha niyaman bhee karatee rijarv baink baink khule baajaar kee kriyaen kveshchan parivartan bahumukhee byaaj daron par dabaav dvaara saakh nirmaan karate hain sarakaaree baink ka pratinidhi evan salaahakaar ke roop mein veery baink oph bhaarateey rijarv baink oph indiya bhaarat sarakaar evan raajy sarakaar kee baink ka pratinidhi va salaahakaar ke roop mein kaary karatee hai rijarv baink any bainkon ko chala bhee dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
सूरदास किस रस के कवि हैं?Surdas Kis Ras Ke Kavi Hain
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
0:48
आप ने सवाल किया है कि सूरदास किस रस के कवि हैं निर्गुण भक्ति धारा के ज्ञानमार्गी हिंदी साहित्य में बहुत ही विख्यात हैं उनके उनको हिंदी साहित्य का श्रेय भी कहा जाता है वे हिंदी साहित्य के सर्वोत्तम कवि हैं एवं सूरदास जी श्रंगार रस के बहुत ही अच्छे कवि हैं और इनकी रचनाओं में बसा ले वर्णन भी देखने को मिलता है धन्यवाद
Aap ne savaal kiya hai ki sooradaas kis ras ke kavi hain nirgun bhakti dhaara ke gyaanamaargee hindee saahity mein bahut hee vikhyaat hain unake unako hindee saahity ka shrey bhee kaha jaata hai ve hindee saahity ke sarvottam kavi hain evan sooradaas jee shrangaar ras ke bahut hee achchhe kavi hain aur inakee rachanaon mein basa le varnan bhee dekhane ko milata hai dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
मंडल आयोग का गठन कब हुआ था तथा इसे कौन-कौन से कार्य सौंपी गई थी?Mandal Aayog Ka Gathan Kab Hua Tha Tatha Ise Kaun Kaun Se Karya Saupi Gayi Thi
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
0:56
जनता पार्टी के शासनकाल के दौरान 1 जनवरी 1979 को बिहार बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री बी पी मंडल की अध्यक्षता में एक पिछड़ा वर्ग आयोग गठित किया गया जिसे मंडल आयोग के नाम से जाना जाता है इस मंडल आयोग के सदस्य एलआर नायक मोहनलाल न्यायमूर्ति आरआर 16 17 के सुब्रह्मण्यम पिछड़े वर्ग से ही बनाए गए थे इस मंडल आयोग को निम्नलिखित कार्यसमिति के विकास हेतु उठाए जाने वाले कदमों की सिफारिश दूसरा सामाजिक एवं शैक्षणिक रूप से पिछड़े हुए बालकों को परिभाषित करने हेतु मापदंड निर्धारित करना
Janata paartee ke shaasanakaal ke dauraan 1 janavaree 1979 ko bihaar bihaar ke poorv mukhyamantree bee pee mandal kee adhyakshata mein ek pichhada varg aayog gathit kiya gaya jise mandal aayog ke naam se jaana jaata hai is mandal aayog ke sadasy elaar naayak mohanalaal nyaayamoorti aaraar 16 17 ke subrahmanyam pichhade varg se hee banae gae the is mandal aayog ko nimnalikhit kaaryasamiti ke vikaas hetu uthae jaane vaale kadamon kee siphaarish doosara saamaajik evan shaikshanik roop se pichhade hue baalakon ko paribhaashit karane hetu maapadand nirdhaarit karana

#भारत की राजनीति

Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
0:19
आप ने सवाल किया है कि भारत के पीएम कौन है भारत के पीएम यानी कि हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी
Aap ne savaal kiya hai ki bhaarat ke peeem kaun hai bhaarat ke peeem yaanee ki hamaare desh ke pradhaanamantree narendr modee jee

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
1960 में कांग्रेश पार्टी के संदर्भ में सिंडिकेट का क्या अर्थ था?1960 Mein Congress Party Ke Sandarbh Mein Syndicate Ka Kya Arth Tha
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
1:00
सिंडिकेट कांग्रेसियों का एक अनौपचारिक संगठन था इसमें के कामराज एसके पाटिल अतुल न्यूज़ जैसे अनुभवी कांग्रेसी समझे थे पंडित जवाहरलाल नेहरू जी के निधन के पश्चात लाल बहादुर शास्त्री तथा लाल बहादुर शास्त्री की मृत्यु के उपरांत श्रीमती इंदिरा गांधी दोनों ही इसी सिंडिकेट की सहायता के बलबूते प्रधानमंत्री की कुर्सी पर पहुंच पाए थे सिंडिकेट में कांग्रेस की नीतियों एवं कार्यक्रमों को बनाने में अग्रणी भूमिका का निर्वहन किया था धीरे-धीरे सिंडिकेट तथा श्रीमती इंदिरा गांधी के बीच मतभेद बढ़ते चले गए तथा 1960 में यह मत भेज इतने गहरे हुआ है कि कांग्रेसी भक्तों का दो भागों में बांट
Sindiket kaangresiyon ka ek anaupachaarik sangathan tha isamen ke kaamaraaj esake paatil atul nyooz jaise anubhavee kaangresee samajhe the pandit javaaharalaal neharoo jee ke nidhan ke pashchaat laal bahaadur shaastree tatha laal bahaadur shaastree kee mrtyu ke uparaant shreematee indira gaandhee donon hee isee sindiket kee sahaayata ke balaboote pradhaanamantree kee kursee par pahunch pae the sindiket mein kaangres kee neetiyon evan kaaryakramon ko banaane mein agranee bhoomika ka nirvahan kiya tha dheere-dheere sindiket tatha shreematee indira gaandhee ke beech matabhed badhate chale gae tatha 1960 mein yah mat bhej itane gahare hua hai ki kaangresee bhakton ka do bhaagon mein baant

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
नील आयोग का गठन कब हुआ और उसके अध्यक्ष कौन थे?neel aayog ka gathan kab hua aur usake adhyaksh kaun the
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
0:27
नीति आयोग का गठन 2014 में किया गया है इसका पूरा नाम नेशनल इंस्टीट्यूशन फॉर ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया यानी कि राष्ट्रीय भारत परिवर्तन संस्था के अध्यक्ष देश के प्रधानमंत्री होते हैं
Neeti aayog ka gathan 2014 mein kiya gaya hai isaka poora naam neshanal insteetyooshan phor traansaphorming indiya yaanee ki raashtreey bhaarat parivartan sanstha ke adhyaksh desh ke pradhaanamantree hote hain

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
योजना आयोग का गठन कब और क्यों हुआ?Yojna Aayog Ka Gathan Kab Aur Kyon Hua
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
0:34
योजना आयोग का गठन मार्च 1950 को किया गया था और इसके अध्यक्ष देश के प्रधानमंत्री होते थे योजना आयोग का कार्य देश में उपलब्ध संसाधनों का आकलन करना था और उन्हें सही ढंग से कार्य एवं वित्त करना था लेकिन आप 2014 को किस को खत्म कर दिया गया है और इसके स्थान पर नीति आयोग की स्थापना की गई है इससे अध्यक्ष भी हमारे देश के प्रधानमंत्री होते हैं
Yojana aayog ka gathan maarch 1950 ko kiya gaya tha aur isake adhyaksh desh ke pradhaanamantree hote the yojana aayog ka kaary desh mein upalabdh sansaadhanon ka aakalan karana tha aur unhen sahee dhang se kaary evan vitt karana tha lekin aap 2014 ko kis ko khatm kar diya gaya hai aur isake sthaan par neeti aayog kee sthaapana kee gaee hai isase adhyaksh bhee hamaare desh ke pradhaanamantree hote hain

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
अलकायदा पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए?Alkayda Par Sankshipt Tippni Likhie
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
0:58
अलकायदा एक पूर्णरूपेण धार्मिक एवं राजनीतिक आतंक की सहायता लेकर धार्मिक वर्चस्व स्थापित करने वाला संगठन है इस्लामी नाथ समर्थक एवं पोषण अफगानिस्तान से इस संगठन के अनुयाई किसी को भी जान से मारने अथवा अपनी स्वयं की जान लेने को एक खेल थी वहां से खेलते हैं अतिवादी इस्लामी विचारधारा से प्रभावित आतंकी संगठन और अमेरिका ने अपने ऑपरेशन एनडीए रेड पेन ड्यूरिंग फ्रीडम विशाल आया था
Alakaayada ek poornaroopen dhaarmik evan raajaneetik aatank kee sahaayata lekar dhaarmik varchasv sthaapit karane vaala sangathan hai islaamee naath samarthak evan poshan aphagaanistaan se is sangathan ke anuyaee kisee ko bhee jaan se maarane athava apanee svayan kee jaan lene ko ek khel thee vahaan se khelate hain ativaadee islaamee vichaaradhaara se prabhaavit aatankee sangathan aur amerika ne apane opareshan enadeee red pen dyooring phreedam vishaal aaya tha

#खेल कूद

Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
0:51
आपका सवाल है कि पहले कार्य युद्ध को कंप्यूटर युद्ध अथवा वीडियो गेम बार क्यों कहा जाता है इस युद्ध के दौरान अमेरिका ने अधिक उन्नत प्रौद्योगिकी के इस मार्ग में प्रयुक्त किए थे इसीलिए कुछ वैज्ञानिकों व पर्यवेक्षकों ने इसे कंप्यूटर की पहली खाड़ी युद्ध का बिल देशों के टेलीविजन पर ही व्यापक प्रसार हुआ था इसी कारण से इसे वीडियो गेम भारत भी कहा जाता था
Aapaka savaal hai ki pahale kaary yuddh ko kampyootar yuddh athava veediyo gem baar kyon kaha jaata hai is yuddh ke dauraan amerika ne adhik unnat praudyogikee ke is maarg mein prayukt kie the iseelie kuchh vaigyaanikon va paryavekshakon ne ise kampyootar kee pahalee khaadee yuddh ka bil deshon ke teleevijan par hee vyaapak prasaar hua tha isee kaaran se ise veediyo gem bhaarat bhee kaha jaata tha

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
1970 के दशक में इंदिरा गांधी की सरकार किन कारणों से लोकप्रिय हुई थी बताइए?1970 Ke Dashak Mein Indira Gandhi Ki Sarkar Kin Karnon Se Lokpriya Huye The Bataiye
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
1:15
आल्हा की श्रीमती इंदिरा गांधी प्रथम महिला प्रधानमंत्री होने की वजह से महिला मतदाताओं में अधिक लोकप्रिय विंसी उनकी सरकार ने निम्नलिखित कार्यकारणी की थी जिस वजह से 1970 के दशक में अत्यधिक लोकप्रिय हुई इंदिरा गांधी सरकार ने प्रिवी पर्स को समाप्त कर दिया था और श्रीमती इंदिरा गांधी सरकार ने 14 बैंकों का राष्ट्रीयकरण कर दिया ना श्रीमती इंदिरा गांधी सरकार ने दलितों एवं आदिवासियों के लिए विशिष्ट कार्यक्रम भी चलाए थे कि सरकार ने बेरोजगारों के लिए रोजगार के उत्तम अवसर भी उपलब्ध कराकर लोकप्रियता पाई थी इसे सरकार के कार्यकाल में गरीबी उन्मूलन योजनाओं का श्रीगणेश किया गया था सरकार ने अल्पसंख्यकों में विश्वास पैदा करने वाले कार्य कर की लोकप्रियता हासिल की थी इसी प्रकार 1970 के दशक में इंदिरा गांधी की सरकार लोकप्रिय हो गई थी
Aalha kee shreematee indira gaandhee pratham mahila pradhaanamantree hone kee vajah se mahila matadaataon mein adhik lokapriy vinsee unakee sarakaar ne nimnalikhit kaaryakaaranee kee thee jis vajah se 1970 ke dashak mein atyadhik lokapriy huee indira gaandhee sarakaar ne privee pars ko samaapt kar diya tha aur shreematee indira gaandhee sarakaar ne 14 bainkon ka raashtreeyakaran kar diya na shreematee indira gaandhee sarakaar ne daliton evan aadivaasiyon ke lie vishisht kaaryakram bhee chalae the ki sarakaar ne berojagaaron ke lie rojagaar ke uttam avasar bhee upalabdh karaakar lokapriyata paee thee ise sarakaar ke kaaryakaal mein gareebee unmoolan yojanaon ka shreeganesh kiya gaya tha sarakaar ne alpasankhyakon mein vishvaas paida karane vaale kaary kar kee lokapriyata haasil kee thee isee prakaar 1970 ke dashak mein indira gaandhee kee sarakaar lokapriy ho gaee thee

#जीवन शैली

bolkar speaker
बैड बैगन रणनीति से आप क्या समझते हैं समझाइए?Band Baigan Ranneeti Se Ap Kya Samjhte Hain Samjhaie
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
1:14
किसी देश को 4:00 बजे शक्तिशाली राज्य के खिलाफ रणनीति बनाने के स्थान पर उसकी वर्चस्व तंत्र में रहकर अवसरों का लाभ फायदा उठाने की रणनीति बैड बैगन रणनीति कहलाती है यह रणनीति अमेरिकी वर्चस्व से संबंधित है वैश्विक रणनीति का आरोप है तू हमेशा यह एक जटिल प्रश्न रहा है कि अमेरिकी वर्चस्व से किस प्रकार बचा जाए इस संदर्भ में कुछ विद्वानों की मान्यता की अमेरिका से संघर्ष करने की अपेक्षा उसकी बस में रहकर अधिकाधिक लाभ उठाना चाहिए राजनाथ एक देश की आर्थिक वृद्धि दर को शिखर पर ले जाने के लिए बाजार को बढ़ाना दोगी कि हस्तांतरण 97 परम आवश्यक है और यह सभी अमेरिका का विरोध करके नहीं बल्कि उसके साथ रहकर बड़ी ही सरलता से फूल हो सकते हैं
Kisee desh ko 4:00 baje shaktishaalee raajy ke khilaaph rananeeti banaane ke sthaan par usakee varchasv tantr mein rahakar avasaron ka laabh phaayada uthaane kee rananeeti baid baigan rananeeti kahalaatee hai yah rananeeti amerikee varchasv se sambandhit hai vaishvik rananeeti ka aarop hai too hamesha yah ek jatil prashn raha hai ki amerikee varchasv se kis prakaar bacha jae is sandarbh mein kuchh vidvaanon kee maanyata kee amerika se sangharsh karane kee apeksha usakee bas mein rahakar adhikaadhik laabh uthaana chaahie raajanaath ek desh kee aarthik vrddhi dar ko shikhar par le jaane ke lie baajaar ko badhaana dogee ki hastaantaran 97 param aavashyak hai aur yah sabhee amerika ka virodh karake nahin balki usake saath rahakar badee hee saralata se phool ho sakate hain

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
तीन पैरों वाली तितली नहा धोकर निकली इस पहेली का अर्थ क्या है?Teen Pairon Vali Titli Naha Dhokar Nikli Is Paheli Ka Arth Kya Hai
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
0:16
तीन पैरों वाली तितली नहा धोकर निकली इस पहेली का अर्थ क्या है इसका अर्थ है एक चीज हो जिसके तीन पैरों और इसका आंसर है समोसा
Teen pairon vaalee titalee naha dhokar nikalee is pahelee ka arth kya hai isaka arth hai ek cheej ho jisake teen pairon aur isaka aansar hai samosa

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
सोवियत अर्थव्यवस्था की कोई तीन विशेषताएं बताइए?Soviyat Arthvyavastha Ki Koi Teen Visheshtaein Bataye
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
0:31
व्यवस्था की तीन विशेषताएं इस प्रकार हैं नंबर 1 सोवियत अर्थव्यवस्था समाजवादी अर्थव्यवस्था पर आधारित थी दूसरा चीज करते व्यवस्था राज्य के नियंत्रण में तीसरे नंबर पर आता है कि सोवियत अर्थव्यवस्था में भूमि तथा आम उत्पादक समस्त संपदा पर राज्य का ही सीमित एवं नियंत्रण था
Vyavastha kee teen visheshataen is prakaar hain nambar 1 soviyat arthavyavastha samaajavaadee arthavyavastha par aadhaarit thee doosara cheej karate vyavastha raajy ke niyantran mein teesare nambar par aata hai ki soviyat arthavyavastha mein bhoomi tatha aam utpaadak samast sampada par raajy ka hee seemit evan niyantran tha

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
चंद्रगुप्त मौर्य ने कब से कब तक शासन किया?chandragupt maury ne kab se kab tak shaasan kiya
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
0:21
मौर्य साम्राज्य के संस्थापक चंद्रगुप्त मौर्य का शासन लगभग 30 वर्ष पूर्व तक पश्चिम और पश्चिमोत्तर में अफगानिस्तान और बारिश से स्थान तक फैल गया था
Maury saamraajy ke sansthaapak chandragupt maury ka shaasan lagabhag 30 varsh poorv tak pashchim aur pashchimottar mein aphagaanistaan aur baarish se sthaan tak phail gaya tha

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
हड़प्पा सभ्यता की खोज कब हुई?hadappa sabhyata kee khoj kab huee
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
0:19
हड़प्पा सभ्यता का सबसे पहले उत्खनन दयाराम सहानी ने करवाया था 1921 से पूर्व में इस सड़क पर सभ्यता की खोज की गई थी
Hadappa sabhyata ka sabase pahale utkhanan dayaaraam sahaanee ne karavaaya tha 1921 se poorv mein is sadak par sabhyata kee khoj kee gaee thee

#भारत की राजनीति

Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
1:37
सोवियत संघ के विघटन के निम्न कारण उत्तरदाई थे सोवियत संघ द्वारा 1979 में अफगानिस्तान में हस्तक्षेप के परिणाम स्वरुप देश की अर्थव्यवस्था अत्यंत दयनीय स्थिति में पहुंच गई थी दूसरा यह कि सोवियत संघ में प्रतिवर्ष खाद्यान्न आयात लगातार बढ़ता ही चला गया 1970 के दशक के अंतिम वर्षों में यह व्यवस्था लड़खड़ा गई और अंततः ठहर गई हो सकता था कि हालांकि सोवियत संघ के नागरिकों के पारिश्रमिक की दरें लगातार बढ़ी लेकिन उत्पादकता और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में व्यापार 7 देशों में प्रतिस्पर्धा काफी पीछे रह गया था जिसके परिणाम स्वरूप प्रत्येक प्रकार की वह वस्तुओं की कमी हो गई आरती के राजनीतिक रूप से कमजोर हो चुके सोवियत संघ के लोग तत्कालीन राष्ट्रपति मिखाइल गोर्बाचोव के सुधारों की धीमी गति से असंतुष्ट से सोवियत संघ के विघटन में गौरव चिपका महासचिव बनना भी प्रमुख कारण था मार्च 1985 में सोवियत संघ कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव के पद पर मिकाएल गोरवा चिप का चयन हुआ जिन्होंने देश में सुधारों की श्रंखला का श्रीगणेश किया धन्यवाद
Soviyat sangh ke vighatan ke nimn kaaran uttaradaee the soviyat sangh dvaara 1979 mein aphagaanistaan mein hastakshep ke parinaam svarup desh kee arthavyavastha atyant dayaneey sthiti mein pahunch gaee thee doosara yah ki soviyat sangh mein prativarsh khaadyaann aayaat lagaataar badhata hee chala gaya 1970 ke dashak ke antim varshon mein yah vyavastha ladakhada gaee aur antatah thahar gaee ho sakata tha ki haalaanki soviyat sangh ke naagarikon ke paarishramik kee daren lagaataar badhee lekin utpaadakata aur praudyogikee ke kshetr mein vyaapaar 7 deshon mein pratispardha kaaphee peechhe rah gaya tha jisake parinaam svaroop pratyek prakaar kee vah vastuon kee kamee ho gaee aaratee ke raajaneetik roop se kamajor ho chuke soviyat sangh ke log tatkaaleen raashtrapati mikhail gorbaachov ke sudhaaron kee dheemee gati se asantusht se soviyat sangh ke vighatan mein gaurav chipaka mahaasachiv banana bhee pramukh kaaran tha maarch 1985 mein soviyat sangh kamyunist paartee ke mahaasachiv ke pad par mikael gorava chip ka chayan hua jinhonne desh mein sudhaaron kee shrankhala ka shreeganesh kiya dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
नागरिकता की विशेषताएं बताइए?naagarikata kee visheshataen bataie
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
1:28
वाले की नागरिकता की विशेषता की नागरिकता कि मैं आपको कुछ ऐसे विशेषताएं बताना चाहिए जो हमारे भारतीय संविधान में वर्णित है प्रत्येक भारतीय को नागरिकता प्राप्त होना हमारे भारत की एक महत्वपूर्ण विशेषता है हमारे भारत में प्रत्येक व्यक्ति को भारतीय नागरिक होने की नागरिकता प्राप्त है और वह इसका प्रमाण पत्र भी प्राप्त कर सकता है भारत में रहने वाला हर एक व्यक्ति को नागरिकता प्राप्त है चाहे वह आदिवासी हो या अल्पसंख्यकों यार कोई मुसलमान नाम भारत में सभी को नागरिकता प्राप्त की गई है नागरिकता के चलते वह कहीं भी आ जा सकता है अपनी मर्जी से कहीं भी रह सकता है और कहीं पर भी मैं अपना व्यापार बढ़िया कार्य शुरू कर सकता है
Vaale kee naagarikata kee visheshata kee naagarikata ki main aapako kuchh aise visheshataen bataana chaahie jo hamaare bhaarateey sanvidhaan mein varnit hai pratyek bhaarateey ko naagarikata praapt hona hamaare bhaarat kee ek mahatvapoorn visheshata hai hamaare bhaarat mein pratyek vyakti ko bhaarateey naagarik hone kee naagarikata praapt hai aur vah isaka pramaan patr bhee praapt kar sakata hai bhaarat mein rahane vaala har ek vyakti ko naagarikata praapt hai chaahe vah aadivaasee ho ya alpasankhyakon yaar koee musalamaan naam bhaarat mein sabhee ko naagarikata praapt kee gaee hai naagarikata ke chalate vah kaheen bhee aa ja sakata hai apanee marjee se kaheen bhee rah sakata hai aur kaheen par bhee main apana vyaapaar badhiya kaary shuroo kar sakata hai

#जीवन शैली

bolkar speaker
किसी व्यक्ति की शक्तिशाली पहलू क्या उसकी कमजोर पहलू बन जाती है?kisee vyakti kee shaktishaalee pahaloo kya usakee kamajor pahaloo ban jaatee hai
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
1:36
किसी व्यक्ति की शक्तिशाली पहले उसके कमजोर पहलू भी बन सकती हैं क्योंकि ज्यादातर ऐसा ही होता है किसी व्यक्ति जो शक्ति का आधार होता है वही उसकी कमजोरी बन जाता है उदाहरण तौर पर हम देखें तो हमारे मां-बाप क्योंकि एक तरफ तो वह हमारी शक्ति होते हैं क्यों हम उनके जो हमारा सपोर्ट करते हैं तो हम उनके सपोर्ट केबल पर कुछ भी कर सकते हैं और अगर वह हमें किसी भी चीज को करने से मना करते हैं तो हम उन पर ही डिपेंड रहते हैं आज आती है उनका किसी प्रकार का खतरा होता है तो वह हमारे लिए कमजोरी बन जाते हैं इसलिए आम कोई भी ऐसा कदम नहीं उठाते हैं जिनसे कि उन्हें किसी बात का दुख हो उन्हें किसी भी प्रकार की दिक्कत का सामना करना पड़े
Kisee vyakti kee shaktishaalee pahale usake kamajor pahaloo bhee ban sakatee hain kyonki jyaadaatar aisa hee hota hai kisee vyakti jo shakti ka aadhaar hota hai vahee usakee kamajoree ban jaata hai udaaharan taur par ham dekhen to hamaare maan-baap kyonki ek taraph to vah hamaaree shakti hote hain kyon ham unake jo hamaara saport karate hain to ham unake saport kebal par kuchh bhee kar sakate hain aur agar vah hamen kisee bhee cheej ko karane se mana karate hain to ham un par hee dipend rahate hain aaj aatee hai unaka kisee prakaar ka khatara hota hai to vah hamaare lie kamajoree ban jaate hain isalie aam koee bhee aisa kadam nahin uthaate hain jinase ki unhen kisee baat ka dukh ho unhen kisee bhee prakaar kee dikkat ka saamana karana pade

#भारत की राजनीति

Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
1:53
अमेरिकी वर्चस्व को दर्शाने वाले शक्ति के 4 रूपों को संक्षिप्त में निम्न प्रकार स्वस्थ किया जा सकता है नंबर एक पर आता है सैनी वर्सेस अमेरिका की वर्तमान शक्ति का आधार स्तंभ उसकी विपुल सैन्य शक्ति हैं अमेरिका की सैन्य शक्ति किसी भी देश की अपेक्षा बेजोड़ है जो उसकी वर्चस्व था को स्थापित करने में सहायक है दूसरे नंबर पर उसका ढांचागत वर्सेस वैश्विक पटल पर अपनी मर्जी चलाने वाला एकमात्र देश अमेरिका है जो ना केवल अपने फायदे की चीजों को बनाता है बल्कि उन्हें बरकरार भी रखता है अमेरिका के पास इस व्यवस्था को लागू करने तथा उसे लगातार बनाए रखने की आर्थिक क्षमता तीसरा सांस्कृतिक वर्चस्व अमेरिकी व अपनी अमेरिका अपनी भाषा साहित्य विविध कलाओं चिलब्रो जीवन प्रणाली तथा शैली इत्यादि को सर्वश्रेष्ठ मानते हुए उसे किसी ना किसी प्रकार बढ़ावा प्रोत्साहन देता रहता है छाता आर्थिक वर्चस्व दूसरे विश्व युद्ध के पश्चात अमेरिका ने ब्रेटन वुड्स प्रणाली स्थापित की थी जो वर्तमान में भी विश्वास था कि आधारभूत संरचना का कार्य कर रही है विश्व बैंक और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष तथा विश्व व्यापार संगठन इत्यादि अमेरिकी आर्थिक परिषद का ही प्रतिफल है
Amerikee varchasv ko darshaane vaale shakti ke 4 roopon ko sankshipt mein nimn prakaar svasth kiya ja sakata hai nambar ek par aata hai sainee varses amerika kee vartamaan shakti ka aadhaar stambh usakee vipul sainy shakti hain amerika kee sainy shakti kisee bhee desh kee apeksha bejod hai jo usakee varchasv tha ko sthaapit karane mein sahaayak hai doosare nambar par usaka dhaanchaagat varses vaishvik patal par apanee marjee chalaane vaala ekamaatr desh amerika hai jo na keval apane phaayade kee cheejon ko banaata hai balki unhen barakaraar bhee rakhata hai amerika ke paas is vyavastha ko laagoo karane tatha use lagaataar banae rakhane kee aarthik kshamata teesara saanskrtik varchasv amerikee va apanee amerika apanee bhaasha saahity vividh kalaon chilabro jeevan pranaalee tatha shailee ityaadi ko sarvashreshth maanate hue use kisee na kisee prakaar badhaava protsaahan deta rahata hai chhaata aarthik varchasv doosare vishv yuddh ke pashchaat amerika ne bretan vuds pranaalee sthaapit kee thee jo vartamaan mein bhee vishvaas tha ki aadhaarabhoot sanrachana ka kaary kar rahee hai vishv baink aur antararaashtreey mudra kosh tatha vishv vyaapaar sangathan ityaadi amerikee aarthik parishad ka hee pratiphal hai

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
अमेरिकी वर्चस्व के रास्ते में आने वाले अवरोधों को संक्षेप में समझाइए?America Varchasav Ke Raste Mein Ane Vale Avrodhon Ko Sankshep Mein Samajhaie
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
1:17
अमेरिकी वर्चस्व के रास्ते में प्रभुत्व रूप से निम्न अनुरोध है नंबर एक अमेरिकी संस्था गत बनावट अमेरिकी वर्चस्व का महत्व पूर्ण गुरु उसकी स्वयं की संस्थागत व संरचना है अमेरिकी सरकार की तीनों ही अंग परस्पर एक दूसरे से आता है दूसरे नंबर पर इसका उन्मुक्त समाज अमेरिकी वर्चस्व रास्ते में एक कान में अवरोध अथवा व्याख्यान देश का उन्मुक्त समाज है अमेरिकी उन्मुक्त समाज में शासन के आदेशों तथा प्रकारों को लेकर सदैव सन में बना रहता है ना तो मेरी वर्तमान शिक्षित पटल पर सुना दो व्हाट्सएप पर अंकुश लगा सकता है इस बात की प्रबल संभावना है ना तो में शामिल राज्य में अमेरिकी वर्चस्व आगे चलकर कुछ प्रभावी अंकुश लगा सकते हैं धन्यवाद
Amerikee varchasv ke raaste mein prabhutv roop se nimn anurodh hai nambar ek amerikee sanstha gat banaavat amerikee varchasv ka mahatv poorn guru usakee svayan kee sansthaagat va sanrachana hai amerikee sarakaar kee teenon hee ang paraspar ek doosare se aata hai doosare nambar par isaka unmukt samaaj amerikee varchasv raaste mein ek kaan mein avarodh athava vyaakhyaan desh ka unmukt samaaj hai amerikee unmukt samaaj mein shaasan ke aadeshon tatha prakaaron ko lekar sadaiv san mein bana rahata hai na to meree vartamaan shikshit patal par suna do vhaatsep par ankush laga sakata hai is baat kee prabal sambhaavana hai na to mein shaamil raajy mein amerikee varchasv aage chalakar kuchh prabhaavee ankush laga sakate hain dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
दलबदल का क्या अर्थ है समझाइए?Dalbadal Ka Kya Arth Hai Samjhaiye
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
0:35
जब कोई रात जनप्रतिनिधि इस दल विशेष के चुनाव चीन से लड़का मुझे यह नई फिल्म जीत जाता है और अपने स्वार्थ के लिए अथवा अन्य कारण से अपने मूल दल को छोड़कर किसी अन्य दल में शामिल है तो ऐसी दलबदल कहां रहता है क्योंकि वह अपने दल को बदलता है दूसरे दल में शामिल हो रहा है
Jab koee raat janapratinidhi is dal vishesh ke chunaav cheen se ladaka mujhe yah naee philm jeet jaata hai aur apane svaarth ke lie athava any kaaran se apane mool dal ko chhodakar kisee any dal mein shaamil hai to aisee dalabadal kahaan rahata hai kyonki vah apane dal ko badalata hai doosare dal mein shaamil ho raha hai

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
महात्मा गांधी ने चरखे को राष्ट्रवाद का प्रतीक क्यों चुना?Mahatma Gandhi Charkhe Ko Raashtrvad Ka Prateek Kyun Chuna
Laxmi Ahirwar  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Laxmi जी का जवाब
Unknown
1:20
महात्मा गांधी चरके को एक राष्ट्र के प्रति के इसलिए मानते थे क्योंकि महात्मा गांधी चरके को एक आदर्श समाज के प्रतीक के रूप में देखते थे प्रतिदिन अपना कुछ समय चरखा चलाने में व्यतीत करते थे उनका विचार था कि चरखा गरीबों को पूरा काम देने प्रदान करके उन्हें आर्थिक दृष्टि से स्वावलंबी बना सकता है उनके अनुसार भारत एक गरीब देश है चरखा गरीबों की पूरा काम धनी प्रदान करेगा जिससे वे स्वावलंबी बनेंगे सरकार ने बेरोजगारी और गरीबी से छुटकारा दिलाने में मदद करेगा वास्तव में सड़के के साथ गांधीजी भारतीय राष्ट्रवाद की सर्वाधिक स्थाई पहचान बनाए गए थे अन्य राष्ट्र वादियों को भी चरखा चलाने के लिए प्रोत्साहित करते थे चरका जनसामान्य संबंधित था और आर्थिक प्रगति का प्रतीक माना जाता है इसलिए इसे राष्ट्रवाद के प्रतीक के रूप में महात्मा गांधी जी ने चुना था धन्यवाद
Mahaatma gaandhee charake ko ek raashtr ke prati ke isalie maanate the kyonki mahaatma gaandhee charake ko ek aadarsh samaaj ke prateek ke roop mein dekhate the pratidin apana kuchh samay charakha chalaane mein vyateet karate the unaka vichaar tha ki charakha gareebon ko poora kaam dene pradaan karake unhen aarthik drshti se svaavalambee bana sakata hai unake anusaar bhaarat ek gareeb desh hai charakha gareebon kee poora kaam dhanee pradaan karega jisase ve svaavalambee banenge sarakaar ne berojagaaree aur gareebee se chhutakaara dilaane mein madad karega vaastav mein sadake ke saath gaandheejee bhaarateey raashtravaad kee sarvaadhik sthaee pahachaan banae gae the any raashtr vaadiyon ko bhee charakha chalaane ke lie protsaahit karate the charaka janasaamaany sambandhit tha aur aarthik pragati ka prateek maana jaata hai isalie ise raashtravaad ke prateek ke roop mein mahaatma gaandhee jee ne chuna tha dhanyavaad
URL copied to clipboard