#कुछ अलग

bolkar speaker
भारत का सबसे बड़ा राज्य कौन सा है??Bharat Ka Sabse Bada Rajya Kaun Sa Hai
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
0:48

#कुछ अलग

Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
0:24

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
अंग्रेजी में then और than का सही तरीके से उपयोग कैसे करें?Angreji Mein Then Aur Than Ka Sahi Tareeke Se Upyog Kaise Kare
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
2:48
नमस्कार आप ने प्रश्न किया है कि धन और दान का सही तरीके से उपयोग कैसे करें तो यहां पर हैं जिसका 3डी एच ई एन है इस दिन का उपयोग हम सब करते हैं जब समय की बात कर रहे हो टाइम की बात कर रहे हो और जो दूसरा दिन है एचडी हैं इसका उपयोग तब करते हैं जो हम किसी की तुलना कर रहे हैं किसी से या कोई कंपैरिजन कर रहे हो जैसे उदाहरण के तौर पर राम इज बेटर दैन श्याम मतलब राम जो है उस चांद की तुलना में अच्छा है बेहतर है ठीक है तो यहां पर राम की श्याम से तुलना की जा रही है राम श्याम से अच्छा है ठीक है यहां पर जो हम उपयोग कर रहे हैं कि राम क्या यहां पर th10 की बात कर रहे हैं उसी तरीके से दूसरा उदाहरण देते हैं कि हु वास वेरी काइंड इन नेचर उस वक्त एक राजा था जो बहुत दयालु था या फिर तब उस वक्त एक राजा था जो बहुत दयालु था यहां पर हुई तब आया तब तब पहले की बात हो रही है पास्ट की बात हो रही है ना पहले की बात हो रही है टीवीएस टाइम की बात हो रही है तो तब उस वक्त एक राजा था जो कि बहुत ही जाता है आलू था धंधे की बात हो रही है हो रही है जहां भी हम समय की बात करेंगे वहां पर हम टी एच ई एन का उपयोग करेंगे और जहां पर भी हम कंपैरिजन की बात करेंगे तुलना की बात करें वहां पर मन की बात करेंगे आपने यह सब सुनाओ क्या अब और तब तो अब और तब को इंग्लिश में कहते हैं ना 1 दिन से यहां पर तो देन है वही है ना मतलब अब दिन मतलब तब ठीक है तो इस तरीके से हम दें और डायन को उपयोग करते हैं अंग्रेजी में जहां समय की बात है वहां पट्टी है जहां पर कंपैरिजन की बात हो तुलना की बात हो वहां पर टच है आशा करता हूं आपको समझ में आया होगा धन्यवाद

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
बेकिंग सोडा का रासायनिक नाम और रासायनिक सूत्र लिखिए?Baking Soda Ka Rasayanik Naam Aur Rasayanik Sutr Likhie
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
0:52
नमस्कार आप ने प्रश्न किया है बेकिंग सोडा का रासायनिक नाम और असैनिक सूत्र क्या होता है जो बेकिंग सोडा का जो रासायनिक नाम होता है वह होता है सोडियम बाइकार्बोनेट और इसका आयु पेशी से का नाम देखें एक आयोग कैसी संस्था है जो केमिकल कंपाउंड्स का नाम रखती है उसका नवीन क्लेचर करती है तब इसका आईयूपीएसी नेम देखें नाम देखें बेकिंग सोडा का तू होता है सोडियम हाइड्रोजन कार्बोनेट और इससे नॉर्मल ही हम बेकिंग सोडा कहते हैं या फिर सोडियम बाइकार्बोनेट कहते हैं और इस कल जो रसायनिक सूत्र है जब तक केमिकल फॉर्मूला है वह होता है nahco3 nahco3 धन्यवाद

#जीवन शैली

Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
2:58
नमस्कार प्रश्न किया गया है मेरी जिंदगी में बहुत दिक्कत है मैं बिना मतलब के परेशानी में फंस जाती हूं इस सब से बचने के लिए मैं क्या उपाय करूं आपके प्रश्न में ही आपका उत्तर छिपा है आपने लिखा है कि मैं बिना मतलब के परेशान हो जाती हूं तो आप इस बात को स्वयं मान रहे हैं कि आप जैसी परेशानियां होती हैं वह बिना मतलब की होती है तो आप इस चीज का आकलन करें कि जिस चीज की दिक्कत मुझे है इस चीज के बारे में सोच रही हूं जिस भी परेशानी में हूं क्या उस सच में मेरी परेशानी है या नहीं क्या सच में उसके लिए कोई उपाय नहीं है क्या सच में मैं उस परेशानी को हल नहीं कर सकती हूं इस चीज के ऊपर आप विचार करें दूसरा कि आप अपने जीवन में खुश रहने क्या आदत डालें लोग कहते हैं कि खुश रहना बड़ी कठिन है या खुशियां ना बहुत आसान है मैं कह रहा हूं कि खुश रहना भी एक अपने जीवन में आदत होनी चाहिए इंसान को खुश रहने की आदत डालनी चाहिए हम हथियार डालते डालते हैं हमें खुश रहेगा दादा चाहिए हमें समझना चाहिए कि हम अपने हैं कैसे खुश रह सकते हैं परेशानियां जीवन में आती जाती रहेंगी हर किसी के जीवन में परेशानी होती है लेकिन यह जरूरी है कि आप हर परेशानी में दुखी हूं या आप हर परेशानी को अपने ऊपर ले लें आप इस चीज को समझने का प्रयास करें कि इस परेशानी में आप हैं क्या वह सच में आपके लिए परेशानी का कारण है भी या नहीं और अगर है तो फिर उसके क्या उपाय हो सकते हैं पुलिस सोचते रहने से कुछ नहीं होगा और परेशानी तो आप यह प्रयास करें कि उस पर क्या उपाय हो सकते हैं आप उसके उपाय के लिए कार्य करें जब बाइक ले कार्य करेंगे तो आपके अंदर कुत्ते के अंदर से कोई भी आएगी कि मैं उस परेशानी को हल करने का प्रयास कर रही हूं और अगर वह परेशानी आपके लिए है ही नहीं तो प्रसाद हर चीज आप अपने से भी प्रयास करते रहते हैं करने का कुछ चीज भगवान के ऊपर छोड़ दीजिए और अपना कार्य करते बढ़ गई है खुश रहिए खुश रहिए गा तो उससे आपके अंदर ही बनी रहेगी और हर परेशानी का हल को आसानी से मिलेगा धन्यवाद
Namaskaar prashn kiya gaya hai meree jindagee mein bahut dikkat hai main bina matalab ke pareshaanee mein phans jaatee hoon is sab se bachane ke lie main kya upaay karoon aapake prashn mein hee aapaka uttar chhipa hai aapane likha hai ki main bina matalab ke pareshaan ho jaatee hoon to aap is baat ko svayan maan rahe hain ki aap jaisee pareshaaniyaan hotee hain vah bina matalab kee hotee hai to aap is cheej ka aakalan karen ki jis cheej kee dikkat mujhe hai is cheej ke baare mein soch rahee hoon jis bhee pareshaanee mein hoon kya us sach mein meree pareshaanee hai ya nahin kya sach mein usake lie koee upaay nahin hai kya sach mein main us pareshaanee ko hal nahin kar sakatee hoon is cheej ke oopar aap vichaar karen doosara ki aap apane jeevan mein khush rahane kya aadat daalen log kahate hain ki khush rahana badee kathin hai ya khushiyaan na bahut aasaan hai main kah raha hoon ki khush rahana bhee ek apane jeevan mein aadat honee chaahie insaan ko khush rahane kee aadat daalanee chaahie ham hathiyaar daalate daalate hain hamen khush rahega daada chaahie hamen samajhana chaahie ki ham apane hain kaise khush rah sakate hain pareshaaniyaan jeevan mein aatee jaatee rahengee har kisee ke jeevan mein pareshaanee hotee hai lekin yah jarooree hai ki aap har pareshaanee mein dukhee hoon ya aap har pareshaanee ko apane oopar le len aap is cheej ko samajhane ka prayaas karen ki is pareshaanee mein aap hain kya vah sach mein aapake lie pareshaanee ka kaaran hai bhee ya nahin aur agar hai to phir usake kya upaay ho sakate hain pulis sochate rahane se kuchh nahin hoga aur pareshaanee to aap yah prayaas karen ki us par kya upaay ho sakate hain aap usake upaay ke lie kaary karen jab baik le kaary karenge to aapake andar kutte ke andar se koee bhee aaegee ki main us pareshaanee ko hal karane ka prayaas kar rahee hoon aur agar vah pareshaanee aapake lie hai hee nahin to prasaad har cheej aap apane se bhee prayaas karate rahate hain karane ka kuchh cheej bhagavaan ke oopar chhod deejie aur apana kaary karate badh gaee hai khush rahie khush rahie ga to usase aapake andar hee banee rahegee aur har pareshaanee ka hal ko aasaanee se milega dhanyavaad

#जीवन शैली

Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
2:59
नमस्कार प्रश्न किया गया है बुरा जो देखन मैं चला बुरा न मिलया कोई जो जग दिल खोजा आपना मुझसे बुरा ना कोई इसका अर्थ क्या है इसका अर्थ बहुत ही आसान है इंसान के अंदर एक प्रवृत्ति होती है कि लोग दूसरों में बुराई बड़ी जल्दी मिल लेते हैं या ढूंढने की कोशिश करते हैं जबकि अपने अंदर की बुराई को देखना नहीं चाहते हैं या अपने अंदर की बुराई पता होते हुए भी उसे या तो छुपाने की कोशिश करते हैं या उसे नजरअंदाज करते हैं इस दोहे में जो लिखी लिखी गई है बुरा जो देखन मैं चला मतलब जब मैं किसी के अंदर की बुराई को ढूंढने के लिए निकला जब किसी के अंदर छिपी हुई जो नेटिविटी उसको ढूंढने के निकला तो मुझे कोई बुरा नहीं मिला मुझे ऐसा कोई इंसान नहीं मिला जो बुरा क्यों क्योंकि जब मैंने अपने अंदर देखा जब मैंने अपने अंदर के विचारों को शो देखा अपने अंदर की अपने अंदर चल रही मेरे विचार थे उनको जो समझने का प्रयास किया जब अपने भीतर झांककर देखा बाकी सब से बुरा मैं क्यों क्योंकि मैं दूसरों की बुराई ढूंढने का प्रयास कर रहा हूं अपनी बुराई को छुपाने का प्रयास कर रहा हूं अपने बुराई को नजरअंदाज कर रहा हूं अपने बुराई पर पर्दा डाल रहा हूं और दूसरे की बुराई देखा जरूरत है हमें खुद की बुराई को दूर करें जरूरत है मैं खुद अच्छा सोचे खुद किसी का भलाई के बारे में सोचें अपने अंदर जब बात करेंगे तभी हम अपने समाज में अपने पड़ोस में अपने घर में बदलाव कर सकते हैं हमें किसी के अंदर की बुराई ढूंढने का अधिकार तब तक नहीं है जब तक हम खुद अपने अंदर की बुराई को दूर नहीं कर पाते हैं जब अपने अंदर बुराई को ठीक कर लेते हैं हम किसी को ताला ले सकते हैं किसी की बुराई को दूर करने की बात कह सकते हैं तो पहले अपने अंदर की बुराई को दूर करें फिर दूसरे दूसरे के अंदर बुराई ढूंढने का प्रयास ना करें पहले अपने अंदर की बुराई को देखकर उसे दूर करने का प्रयास करें क्योंकि जवाब दूसरे की बुराई देखने का प्रयास करते हैं तो आपको हर किसी में कोई मिल जाएगी लेकिन आप अपने
Namaskaar prashn kiya gaya hai bura jo dekhan main chala bura na milaya koee jo jag dil khoja aapana mujhase bura na koee isaka arth kya hai isaka arth bahut hee aasaan hai insaan ke andar ek pravrtti hotee hai ki log doosaron mein buraee badee jaldee mil lete hain ya dhoondhane kee koshish karate hain jabaki apane andar kee buraee ko dekhana nahin chaahate hain ya apane andar kee buraee pata hote hue bhee use ya to chhupaane kee koshish karate hain ya use najarandaaj karate hain is dohe mein jo likhee likhee gaee hai bura jo dekhan main chala matalab jab main kisee ke andar kee buraee ko dhoondhane ke lie nikala jab kisee ke andar chhipee huee jo netivitee usako dhoondhane ke nikala to mujhe koee bura nahin mila mujhe aisa koee insaan nahin mila jo bura kyon kyonki jab mainne apane andar dekha jab mainne apane andar ke vichaaron ko sho dekha apane andar kee apane andar chal rahee mere vichaar the unako jo samajhane ka prayaas kiya jab apane bheetar jhaankakar dekha baakee sab se bura main kyon kyonki main doosaron kee buraee dhoondhane ka prayaas kar raha hoon apanee buraee ko chhupaane ka prayaas kar raha hoon apane buraee ko najarandaaj kar raha hoon apane buraee par parda daal raha hoon aur doosare kee buraee dekha jaroorat hai hamen khud kee buraee ko door karen jaroorat hai main khud achchha soche khud kisee ka bhalaee ke baare mein sochen apane andar jab baat karenge tabhee ham apane samaaj mein apane pados mein apane ghar mein badalaav kar sakate hain hamen kisee ke andar kee buraee dhoondhane ka adhikaar tab tak nahin hai jab tak ham khud apane andar kee buraee ko door nahin kar paate hain jab apane andar buraee ko theek kar lete hain ham kisee ko taala le sakate hain kisee kee buraee ko door karane kee baat kah sakate hain to pahale apane andar kee buraee ko door karen phir doosare doosare ke andar buraee dhoondhane ka prayaas na karen pahale apane andar kee buraee ko dekhakar use door karane ka prayaas karen kyonki javaab doosare kee buraee dekhane ka prayaas karate hain to aapako har kisee mein koee mil jaegee lekin aap apane

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
क्या अभी 5G फोन लेना सही होगा और क्यों?Kya Abhi 5g Phone Lena Sahi Hoga Aur Kyun
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
2:57
नमस्कार आप ने प्रश्न किया है क्या अभी पाजी फोन लेना सही होगा और क्यों देखिए दो चीजों पर डिपेंड करता है पहला चीज कि आप कितने समय के लिए फोन का इस्तेमाल करते हैं जैसे कई लोगों की आदत होती है कि वह हर छह महीने पर या 1 साल पक्का फोन बदल देते हैं दूसरे को इस बात पर डिपेंड करता है कि आप कितना इन्वेस्ट करना चाह रहे हैं फोन पर 15 हजार 10,000 25000 40,000 कितना प्रवेश करना चाह रहे हैं तो अगर मैं बात करूं पैसे की तो अगर आपको ही महंगा फोन लेना चाहते हैं जिसका कीमत 25000 या 20 हजार 35 हजार से ऊपर का है तो मैं आपका लूंगा कि अभी आप थोड़ा सा रुक जाइए क्योंकि अभी आने वाले महीनों में जैसे कि अभी मार्च स्टार्ट हो गया है मार्च में मार्च के एंड तक या अप्रैल में या में में बहुत सारे ऐसे फोन जाने वाले हैं जो फैक्ट्री में वर्ल्ड होंगे और काफी अच्छे प्राइस के लौंडे का काफी अच्छे स्पेसिफिकेशन के साथ होंगे अगर आपको बहुत जरूरी है फोन लेना क्या मैं आपको अभी फोन खरीदना है तो आप अभी इस बात पर आप सोते हैं क्या वह फोन कितने टाइम के लिए यूज करना अगर आपको साल भर 6 महीने में या डेढ़ साल तक फोन बदल देना है तो 5G फोन लेने की आवश्यकता नहीं है आपकी अभी आप कैमरा स्पेसिफिकेशन डिस्प्ले बैटरी प्रोसेसर इन सब चीजों पर ध्यान देते हुए अपने फोन को परचेस करें लेकिन अगर आपकी ऐसी सोच है कि आपने फोन को लंबे समय तक यूज करना चाहेंगे तीन ताल ढाई साल से ज्यादा तो फिर आप अभी फोन की तरफ देख सकते हैं फिर बाद में कुछ खा भी फोंस अवेलेबल भी है मार्केट में अच्छे चाचा एप्पल में लेना चाहे तो एप्पल का आईफोन 12 है सैमसंग में लेना सैमसंग नोट 3 अल्ट्रा है या फिर s21 सीरीज है जी ने वर्ल्ड है फिर अगर आपको दूसरे किसी कंपनी में देना चाहे तो उसमें भी ओप्पो में भी अवेलेबल है एमआई में अवेलेबल है विवो में भी अवेलेबल है वनप्लस में भी अवेलेबल है लेकिन अगर आपको फोन की हर बात अभी जल्दबाजी नहीं है तो अभी आप थोड़ा सा रुक जाइए क्योंकि आने वाले समय में और भी अच्छे खाने वाले हैं जो कि अच्छे से चित्र के साथ अच्छे लेट पर आएंगे और अगर आपको फोन जरूरत है लेकिन आप फोन 6 महीना या एक साल बदल देते हैं तो कभी 4G फोन के साथ दिया क्या सकते हैं क्योंकि अभी आने में कम से कम डेढ़ साल से तो ज्यादा का समय है कम से कम बिजली खाने में तो अभी आ सकते हैं पाजी का नंबर दो चीजों के आपको पर आप ध्यान दे सकते हैं कैमरा एप्स कैमरा डिस्प्ले बैटरी इन द पर धन्यवाद
Namaskaar aap ne prashn kiya hai kya abhee paajee phon lena sahee hoga aur kyon dekhie do cheejon par dipend karata hai pahala cheej ki aap kitane samay ke lie phon ka istemaal karate hain jaise kaee logon kee aadat hotee hai ki vah har chhah maheene par ya 1 saal pakka phon badal dete hain doosare ko is baat par dipend karata hai ki aap kitana invest karana chaah rahe hain phon par 15 hajaar 10,000 25000 40,000 kitana pravesh karana chaah rahe hain to agar main baat karoon paise kee to agar aapako hee mahanga phon lena chaahate hain jisaka keemat 25000 ya 20 hajaar 35 hajaar se oopar ka hai to main aapaka loonga ki abhee aap thoda sa ruk jaie kyonki abhee aane vaale maheenon mein jaise ki abhee maarch staart ho gaya hai maarch mein maarch ke end tak ya aprail mein ya mein mein bahut saare aise phon jaane vaale hain jo phaiktree mein varld honge aur kaaphee achchhe prais ke launde ka kaaphee achchhe spesiphikeshan ke saath honge agar aapako bahut jarooree hai phon lena kya main aapako abhee phon khareedana hai to aap abhee is baat par aap sote hain kya vah phon kitane taim ke lie yooj karana agar aapako saal bhar 6 maheene mein ya dedh saal tak phon badal dena hai to 5g phon lene kee aavashyakata nahin hai aapakee abhee aap kaimara spesiphikeshan disple baitaree prosesar in sab cheejon par dhyaan dete hue apane phon ko paraches karen lekin agar aapakee aisee soch hai ki aapane phon ko lambe samay tak yooj karana chaahenge teen taal dhaee saal se jyaada to phir aap abhee phon kee taraph dekh sakate hain phir baad mein kuchh kha bhee phons avelebal bhee hai maarket mein achchhe chaacha eppal mein lena chaahe to eppal ka aaeephon 12 hai saimasang mein lena saimasang not 3 altra hai ya phir s21 seereej hai jee ne varld hai phir agar aapako doosare kisee kampanee mein dena chaahe to usamen bhee oppo mein bhee avelebal hai emaee mein avelebal hai vivo mein bhee avelebal hai vanaplas mein bhee avelebal hai lekin agar aapako phon kee har baat abhee jaldabaajee nahin hai to abhee aap thoda sa ruk jaie kyonki aane vaale samay mein aur bhee achchhe khaane vaale hain jo ki achchhe se chitr ke saath achchhe let par aaenge aur agar aapako phon jaroorat hai lekin aap phon 6 maheena ya ek saal badal dete hain to kabhee 4g phon ke saath diya kya sakate hain kyonki abhee aane mein kam se kam dedh saal se to jyaada ka samay hai kam se kam bijalee khaane mein to abhee aa sakate hain paajee ka nambar do cheejon ke aapako par aap dhyaan de sakate hain kaimara eps kaimara disple baitaree in da par dhanyavaad

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
इज्जत देने और इज्जत करने में क्या अंतर है?Ijjat Dene Or Ijjat Karne Me Kya Antar Hai
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
2:57
किया गया है इज्जत देने और इज्जत करने में क्या अंतर है दोनों बातें देखा जाए तो सेम ही हैं और देखा जाए तो दोनों में अंतर भी है अगर हम आमतौर पर बात करें तो हम किसी से बोल देते हैं कि हम उनकी बड़ी इज्जत करते हैं या हम उनको परिचय देते हैं तब हम उनको बहुत मानते हैं वह हमसे बड़े हैं उनकी समझदारी हमसे ज्यादा है उनका अनुभव हमसे ज्यादा है तो हम उनकी इज्जत करते हैं इज्जत करते हैं यह एक बात हो गई जहां पर यह साबित होता है कि दोनों चीजें हैं लेकिन इनमें अंतर भी आ जाता है अंतर कहां पर आ सकता है अगर हम को समझने का प्रयास करें तो उसको इस तरीके समझ सकते हैं कि मान लीजिए कि हम जिस समाज में रहते हैं उस समाज में एक ऐसा व्यक्ति हैं जिनको सब लोग बहुत मानते हैं वह भी अपने समाज में जिन लोगों से मिलते हैं उनसे बड़ी आदर सम्मान से मिलते हैं उनके प्रॉब्लम्स को सुनते हैं समझते हैं उनके सुख-दुख में उनका साथ देते हैं सबका ध्यान रखते हैं अपने तरफ से ऐसा कोई कार्य नहीं करते से किसी को दुख पहुंचा दो वैसे लोगों को हम इज्जत करते हैं वैसे लोगों के लिए हमारे मन में एक सम्मान होती है कि नहीं यह इंसान जो बहुत आदरणीय हैं बहुत अच्छे लोग हैं यह तो हम उनकी इज्जत करते हैं वहीं दूसरी बात करते हैं कि एक आदमी ऐसा है जो अपने प्रभाव से उस समाज में या उस इलाके में दबदबा रहता है जहां पर उससे जो छोटे लोग हैं या जो लोग उनसे बड़ा भी नहीं कर सकते वह उनसे डर के रहते हैं और ऐसी परिस्थिति में जब वह व्यक्ति उन लोगों के बीच जाता है तो वह लोग दिखावे के लिए उस व्यक्ति को इज्जत देते हैं ताकि उस व्यक्ति को ऐसा न लगे कि लोग उसकी इज्जत नहीं कर रहे हैं वह सिर्फ दिखाने के लिए उसको इज्जत देते हैं ताकि जो डेरिंग के मन में बैठा है वह डर कहीं उसके ऊपर ऐसा प्रतीत ना हो कि लोग उसे डर नहीं रहे या फिर उसको समझ नहीं रहे तो वहां प्रदर्शित करते हैं तू जहां पर इज्जत करना है वह अपने अंदर आवाज आती है अपने दुश्मन जाति किस व्यक्ति का इज्जत करना है और जहां भी जाते हैं वहां पर लोग ऐसे ही दे देते हैं दिखावे के लिए तो मेरे ख्याल से ज्ञान तक बुताके तोड़ो धन्यवाद
Kiya gaya hai ijjat dene aur ijjat karane mein kya antar hai donon baaten dekha jae to sem hee hain aur dekha jae to donon mein antar bhee hai agar ham aamataur par baat karen to ham kisee se bol dete hain ki ham unakee badee ijjat karate hain ya ham unako parichay dete hain tab ham unako bahut maanate hain vah hamase bade hain unakee samajhadaaree hamase jyaada hai unaka anubhav hamase jyaada hai to ham unakee ijjat karate hain ijjat karate hain yah ek baat ho gaee jahaan par yah saabit hota hai ki donon cheejen hain lekin inamen antar bhee aa jaata hai antar kahaan par aa sakata hai agar ham ko samajhane ka prayaas karen to usako is tareeke samajh sakate hain ki maan leejie ki ham jis samaaj mein rahate hain us samaaj mein ek aisa vyakti hain jinako sab log bahut maanate hain vah bhee apane samaaj mein jin logon se milate hain unase badee aadar sammaan se milate hain unake problams ko sunate hain samajhate hain unake sukh-dukh mein unaka saath dete hain sabaka dhyaan rakhate hain apane taraph se aisa koee kaary nahin karate se kisee ko dukh pahuncha do vaise logon ko ham ijjat karate hain vaise logon ke lie hamaare man mein ek sammaan hotee hai ki nahin yah insaan jo bahut aadaraneey hain bahut achchhe log hain yah to ham unakee ijjat karate hain vaheen doosaree baat karate hain ki ek aadamee aisa hai jo apane prabhaav se us samaaj mein ya us ilaake mein dabadaba rahata hai jahaan par usase jo chhote log hain ya jo log unase bada bhee nahin kar sakate vah unase dar ke rahate hain aur aisee paristhiti mein jab vah vyakti un logon ke beech jaata hai to vah log dikhaave ke lie us vyakti ko ijjat dete hain taaki us vyakti ko aisa na lage ki log usakee ijjat nahin kar rahe hain vah sirph dikhaane ke lie usako ijjat dete hain taaki jo dering ke man mein baitha hai vah dar kaheen usake oopar aisa prateet na ho ki log use dar nahin rahe ya phir usako samajh nahin rahe to vahaan pradarshit karate hain too jahaan par ijjat karana hai vah apane andar aavaaj aatee hai apane dushman jaati kis vyakti ka ijjat karana hai aur jahaan bhee jaate hain vahaan par log aise hee de dete hain dikhaave ke lie to mere khyaal se gyaan tak butaake todo dhanyavaad

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या वृद्ध आश्रम में मानसिक तनाव होती है?Kya Vridh Ashram Mein Mansik Tanav Hoti Hai
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
2:58
नमस्कार प्रश्न किया गया है क्या वृद्ध आश्रम में मानसिक तनाव होती है ना इस सवाल का जवाब देने से पहले एक प्रश्न पूछना चाहूंगा हम सब से इतनी जरूरत है कि क्या हमें वृद्धाश्रम की जरूरत है सच में जरूरत हमारे यहां विद्या विद्या आश्रम की क्या हम आज की डेट में ऐसे हो गए हैं कि हमें विधा संकेत पड़ेगी अपने मां बाप का ख्याल नहीं रह सकता जो मां-बाप हमें बचपन से लेकर जवानी तक हमारा ख्याल रखते हैं हमें जब भी जरूरत पड़ती है वह हमारे साथ खड़े मिलते हैं तो क्या जरूरत पड़ जाती है हमारे समाज में वृद्धाश्रम कि हम क्यों अपने मां बाप को वर्ध आश्रम में भेजना चाहते हैं अब कई लोगों के दिमाग में यह भी सवाल आएगा कि वृद्ध आश्रम में कोई जरूरी थोड़ी है कि मामा को भेजा जाए कई बार ऐसे लोग भी मिलते हैं रोड पर या फिर कहीं प्यार में ऐसे लोग मिल जाते हैं जिनका कोई नहीं होता और उनकी मदद करने के हमको विद आसन छोड़ जाते हैं अच्छी बात है वह भी अच्छी बात है अच्छा काम करते हैं लेकिन उनके भी तो बच्चे होंगे कि उन्होंने ऐसा कर दिया कि उनको अपने मां-बाप को इस तरीके से छोड़ देना पड़ गया रोड पर कि कोई दूसरा उनको विद्या आश्रम पहुंचा रहा है तो खैरियत अलग टॉपिक है लेकिन फिर भी हम इस बात पर सोचने की जरूरत है कि क्या सच में मैं बताता हूं जरूरत है अब आते हैं प्रश्न पर क्या वहां पर मानसिक तनाव होती है बिल्कुल होती है अगर एक बुजुर्ग को अपने परिवार से दूर एक वृद्ध आश्रम में रहना पड़ जाए तो उसको वृद्ध आश्रम में कितना अच्छा भी माहौल क्यों ना मिले उसके दिमाग में उनके मन मस्तिष्क में यह बात जरूर चलती है कि आज वह क्यों यहां पर हैं क्या ऐसा हो गया क्या ऐसी गलती हो गई या फिर क्या ऐसा समाज बन गया या फिर क्या से हालात पैदा हो गए जो उनको विधाता में आना पड़ गया और ऐसा क्यों हुआ क्या उनके परवरिश में कोई कमी रह गई अपने बच्चों की आखिर क्या हो गया ऐसा तो मानसिक तनाव तो होता है एक बच्चा जब हॉस्टल में रहता है तो उस पर होटल सिटी कितनी अच्छी हो अपने घर को मिस करता है एक बेटा जब अपने मां-बाप से दूर होकर कहीं बाहर नौकरी कर रहा होता है तो वहां पर महोल कैसा भी हो अपने घर से दूर होने का उसे गम होता है एक बेटी जो अपना घर छोड़कर ससुराल जाती है तो वहां पर कितना पैसा फैसिलिटी लेकिन उसको अपने मायके की याद आती है उसी तरीके से जब एक बुजुर्ग अपना घर अपने परिवार को छोड़कर उदास हो जाता है तो उनको आत्मा से चुनाव होता है तो वेदासरा में मात्र इतना होता है धन्यवाद
Namaskaar prashn kiya gaya hai kya vrddh aashram mein maanasik tanaav hotee hai na is savaal ka javaab dene se pahale ek prashn poochhana chaahoonga ham sab se itanee jaroorat hai ki kya hamen vrddhaashram kee jaroorat hai sach mein jaroorat hamaare yahaan vidya vidya aashram kee kya ham aaj kee det mein aise ho gae hain ki hamen vidha sanket padegee apane maan baap ka khyaal nahin rah sakata jo maan-baap hamen bachapan se lekar javaanee tak hamaara khyaal rakhate hain hamen jab bhee jaroorat padatee hai vah hamaare saath khade milate hain to kya jaroorat pad jaatee hai hamaare samaaj mein vrddhaashram ki ham kyon apane maan baap ko vardh aashram mein bhejana chaahate hain ab kaee logon ke dimaag mein yah bhee savaal aaega ki vrddh aashram mein koee jarooree thodee hai ki maama ko bheja jae kaee baar aise log bhee milate hain rod par ya phir kaheen pyaar mein aise log mil jaate hain jinaka koee nahin hota aur unakee madad karane ke hamako vid aasan chhod jaate hain achchhee baat hai vah bhee achchhee baat hai achchha kaam karate hain lekin unake bhee to bachche honge ki unhonne aisa kar diya ki unako apane maan-baap ko is tareeke se chhod dena pad gaya rod par ki koee doosara unako vidya aashram pahuncha raha hai to khairiyat alag topik hai lekin phir bhee ham is baat par sochane kee jaroorat hai ki kya sach mein main bataata hoon jaroorat hai ab aate hain prashn par kya vahaan par maanasik tanaav hotee hai bilkul hotee hai agar ek bujurg ko apane parivaar se door ek vrddh aashram mein rahana pad jae to usako vrddh aashram mein kitana achchha bhee maahaul kyon na mile usake dimaag mein unake man mastishk mein yah baat jaroor chalatee hai ki aaj vah kyon yahaan par hain kya aisa ho gaya kya aisee galatee ho gaee ya phir kya aisa samaaj ban gaya ya phir kya se haalaat paida ho gae jo unako vidhaata mein aana pad gaya aur aisa kyon hua kya unake paravarish mein koee kamee rah gaee apane bachchon kee aakhir kya ho gaya aisa to maanasik tanaav to hota hai ek bachcha jab hostal mein rahata hai to us par hotal sitee kitanee achchhee ho apane ghar ko mis karata hai ek beta jab apane maan-baap se door hokar kaheen baahar naukaree kar raha hota hai to vahaan par mahol kaisa bhee ho apane ghar se door hone ka use gam hota hai ek betee jo apana ghar chhodakar sasuraal jaatee hai to vahaan par kitana paisa phaisilitee lekin usako apane maayake kee yaad aatee hai usee tareeke se jab ek bujurg apana ghar apane parivaar ko chhodakar udaas ho jaata hai to unako aatma se chunaav hota hai to vedaasara mein maatr itana hota hai dhanyavaad

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या बेरोजगार होने की वजह से एक इंसान मानसिक तनाव में आ सकता है?Kya Berojgar Hone Ki Vajah Se Ek Insaan Mansik Tanaav Mein Aa Sakta Hai
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
2:56
नमस्कार आप ने प्रश्न किया है क्या बेरोजगारी होने की वजह से इंसान मानसिक तनाव में आ सकता है बिल्कुल आ सकता है क्योंकि हमारे देश में या कहीं पर भी बेरोजगारी एक बीमारी की तरह ही है कहने को तो हमारे देश की जनसंख्या सबसे ज्यादा युवाओं से भरी है सबसे ज्यादा युवा है हमारी जनसंख्या में लेकिन दूसरी तरफ सच्चाई यह भी है कि हमारे बहुत सारे युवा भाई बहन ऐसे हैं जो बेरोजगार है यहां तक कि जिनके पास अच्छे डिग्रियां हैं अच्छे नॉलेज है वही बेरोजगार है और बेरोजगारी भी बीमारी की तरह है इसके कई सारे कारण हैं पहला कारण यह है कि कई बार हमारी परिवार की स्थिति ऐसी होती है जहां पर एक ऐसे व्यक्ति का होना बहुत जरूरी होता है जो अपने परिवार का पालन पोषण अच्छी तरीके से कर सके लेकिन वह बेरोजगार होने की वजह से नहीं कर पाता है दूसरा कारण है कि कई बार लोग एक अच्छी डिग्री लेने के बाद भी बेरोजगार रह जाते हैं तो यह भी उनके दिमाग में एक परेशानी की बात बन जाती है जिसके बारे में सोचते रहते हैं कि इतनी पढ़ाई होने के बाद उनको नौकरी क्यों नहीं मिल रही क्या उन में कमी है या सिस्टम में कमी है यह कहां दिक्कत आ रही है वह समझ नहीं पाते तीसरा कारण है एज जब इंसान का एक उम्र हो जाता है तो उस उम्र के बाद इंसान को यह लगने लग जाता है कि अभी मैं 28 साल का हो गया हूं 30 साल का हो गया हूं 32 साल का हो गया हूं लेकिन मैं पास नौकरी नहीं है थैंक यू उनके भाई उनकी बहन ने उनके दोस्त वह कहीं ना कहीं जॉब कर रहे होते हैं तू उस माहौल में भी ऐसा ही लगता है कि यार मुझ में ऐसी क्या कमी रह गई मुझे जॉब नहीं मिल रही है तो इसके और भी कई कारण है कहीं पर हमारा सिस्टम ऐसा है कि उसके शिकार हो जाते हैं कहीं पर और कोई कारण हो जाता है तू इस तरीके से देखा जाए तो बेरोजगारी भी बीमारी की तरह जो है जो कि इंसान के अंदर एक मानसिक तनाव पैदा करती है और जिसकी वजह से लोग परेशान रहते हैं कई बाईसा सलूशन मिल जाता है लोगों को कई बार नहीं मिल पाता है तो इसी ताने-बाने में लगे रहते हैं कि कैसे इस स्थिति से निजात पाई जाए तुम क्या सकते हैं कि बेरोजगार होना एक इंसान के लिए मानसिक तनाव का कारण बन सकता है धन्यवाद
Namaskaar aap ne prashn kiya hai kya berojagaaree hone kee vajah se insaan maanasik tanaav mein aa sakata hai bilkul aa sakata hai kyonki hamaare desh mein ya kaheen par bhee berojagaaree ek beemaaree kee tarah hee hai kahane ko to hamaare desh kee janasankhya sabase jyaada yuvaon se bharee hai sabase jyaada yuva hai hamaaree janasankhya mein lekin doosaree taraph sachchaee yah bhee hai ki hamaare bahut saare yuva bhaee bahan aise hain jo berojagaar hai yahaan tak ki jinake paas achchhe digriyaan hain achchhe nolej hai vahee berojagaar hai aur berojagaaree bhee beemaaree kee tarah hai isake kaee saare kaaran hain pahala kaaran yah hai ki kaee baar hamaaree parivaar kee sthiti aisee hotee hai jahaan par ek aise vyakti ka hona bahut jarooree hota hai jo apane parivaar ka paalan poshan achchhee tareeke se kar sake lekin vah berojagaar hone kee vajah se nahin kar paata hai doosara kaaran hai ki kaee baar log ek achchhee digree lene ke baad bhee berojagaar rah jaate hain to yah bhee unake dimaag mein ek pareshaanee kee baat ban jaatee hai jisake baare mein sochate rahate hain ki itanee padhaee hone ke baad unako naukaree kyon nahin mil rahee kya un mein kamee hai ya sistam mein kamee hai yah kahaan dikkat aa rahee hai vah samajh nahin paate teesara kaaran hai ej jab insaan ka ek umr ho jaata hai to us umr ke baad insaan ko yah lagane lag jaata hai ki abhee main 28 saal ka ho gaya hoon 30 saal ka ho gaya hoon 32 saal ka ho gaya hoon lekin main paas naukaree nahin hai thaink yoo unake bhaee unakee bahan ne unake dost vah kaheen na kaheen job kar rahe hote hain too us maahaul mein bhee aisa hee lagata hai ki yaar mujh mein aisee kya kamee rah gaee mujhe job nahin mil rahee hai to isake aur bhee kaee kaaran hai kaheen par hamaara sistam aisa hai ki usake shikaar ho jaate hain kaheen par aur koee kaaran ho jaata hai too is tareeke se dekha jae to berojagaaree bhee beemaaree kee tarah jo hai jo ki insaan ke andar ek maanasik tanaav paida karatee hai aur jisakee vajah se log pareshaan rahate hain kaee baeesa salooshan mil jaata hai logon ko kaee baar nahin mil paata hai to isee taane-baane mein lage rahate hain ki kaise is sthiti se nijaat paee jae tum kya sakate hain ki berojagaar hona ek insaan ke lie maanasik tanaav ka kaaran ban sakata hai dhanyavaad

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
विटामिन डी की कमी से कौन सा रोग होता है?Vitamin D Ki Kami Se Kaun Sa Rog Hota Hai
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
1:29
नमस्कार आप ने प्रश्न किया है कि विटामिन डी की कमी से कौन सा रोग होता है तो विटामिन डी की कमी से आपको और हड्डियों का रोग होता है जिनके शरीर में विटामिन डी की कमी होती है उनके अंदर हड्डियों को रोक होता है मतलब हड्डियां कमजोर हो जाती हैं हड्डियों में दर्द रहने लग जाता है छोटे बच्चों में क्रिकेट की प्रॉब्लम होती है रिकेट्स बीमारी है जिसमें हड्डियां शॉप हो जाती है उसको के हड्डियों छूट जाती हैं बंद कर जाती हैं यह बहुत रियल होता है और ऐसे जो कमेंट जो 20kg बीमारी है विटामिन की कमी से होती है हड्डियों में दर्द रहना हड्डियां कमजोर हो जाना और जो बेस्ट छोड़ते हैं विटामिन डी को अगेन करने के लिए आप सनलाइट सनसेट बहुत जरूरी है दूसरी चीज खाने में अगर आप नॉन वेजिटेरियन हैं तो आप फिर खा सकते हैं रेड मीट खा सकते हैं योग खा सकते हैं योग के अंडे का जो पीला वाला पदार्थ होता है और अगर आप खैरियत है तो आप दूध दीजिए मशरूम खाई है फिर आप ऑरेंज जूस पी सकते हैं तो यह चीजें हैं जिन सा विटामिन डी की कमी को दूर कर सकते हैं और जो इसकी बीमारी है वह हड्डियों से जुड़ी हुई होती हैं और सबसे अच्छा सोच है विटामिन डी का धूप की रोशनी सूरज की रोशनी धन्यवाद
Namaskaar aap ne prashn kiya hai ki vitaamin dee kee kamee se kaun sa rog hota hai to vitaamin dee kee kamee se aapako aur haddiyon ka rog hota hai jinake shareer mein vitaamin dee kee kamee hotee hai unake andar haddiyon ko rok hota hai matalab haddiyaan kamajor ho jaatee hain haddiyon mein dard rahane lag jaata hai chhote bachchon mein kriket kee problam hotee hai rikets beemaaree hai jisamen haddiyaan shop ho jaatee hai usako ke haddiyon chhoot jaatee hain band kar jaatee hain yah bahut riyal hota hai aur aise jo kament jo 20kg beemaaree hai vitaamin kee kamee se hotee hai haddiyon mein dard rahana haddiyaan kamajor ho jaana aur jo best chhodate hain vitaamin dee ko agen karane ke lie aap sanalait sanaset bahut jarooree hai doosaree cheej khaane mein agar aap non vejiteriyan hain to aap phir kha sakate hain red meet kha sakate hain yog kha sakate hain yog ke ande ka jo peela vaala padaarth hota hai aur agar aap khairiyat hai to aap doodh deejie masharoom khaee hai phir aap orenj joos pee sakate hain to yah cheejen hain jin sa vitaamin dee kee kamee ko door kar sakate hain aur jo isakee beemaaree hai vah haddiyon se judee huee hotee hain aur sabase achchha soch hai vitaamin dee ka dhoop kee roshanee sooraj kee roshanee dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
लोकसभा का अध्यक्ष कौन है?Loksabha Ka Adhyaksh Kaun Hai
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
0:31
नमस्कार आप ने प्रश्न किया है लोकसभा के अध्यक्ष कौन हैं तो लोकसभा के अध्यक्ष हैं अभी ओम बिरला हैं और यह 17 में अध्यक्ष लोक सभा के उन्होंने 19 जून 2019 को पद संभाला था और यह भारतीय जनता पार्टी के हैं इनसे पहले जो अध्यक्ष थी उनका नाम था सुमित्रा महाजन उन्होंने 6 जून 2014 से लेकर 16 जून 2019 तक पद पर आसीन रहे और यही भारतीय जनता पार्टी से थे धन्यवाद
Namaskaar aap ne prashn kiya hai lokasabha ke adhyaksh kaun hain to lokasabha ke adhyaksh hain abhee om birala hain aur yah 17 mein adhyaksh lok sabha ke unhonne 19 joon 2019 ko pad sambhaala tha aur yah bhaarateey janata paartee ke hain inase pahale jo adhyaksh thee unaka naam tha sumitra mahaajan unhonne 6 joon 2014 se lekar 16 joon 2019 tak pad par aaseen rahe aur yahee bhaarateey janata paartee se the dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
किसानों की कृषि कानूनों को सरकार से वापस लेने की जिद को आप कैसे समझते हैं?Kishano Ki Krishi Kanunon Ko Sarkar Se Vapas Lene Ki Jid Ko Aap Kaise Samajhte Hain
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
2:58
नमस्कार यहां पर प्रश्न किया गया है रितिका जी के द्वारा और पिंकी उपाध्याय जी के द्वारा इन दोनों ने सिम प्रश्न किया है और इस प्रश्न के कई सारे बोल कर के अच्छे स्पीकर ने इसके ऊपर अपनी प्रतिक्रिया भी दी अपना जवाब भी दिया है तो इस प्रश्न को लेकर मैं यह कहना चाहूंगा कि जहां तक मुझे समझ में आती है कहीं ना कहीं एक कम्युनिकेशन गैप है और उस कम्युनिकेशन गैप को भरना बहुत जरूरी है और यह तभी पॉसिबल है कि जब सरकार और जो किसान है जो उनके नेता है जून को लीडर है तुमको लीड कर रहे हैं वह आपस में बैठकर एक अच्छे तरीके से 1 फुट फुल बात करें ऐसा ना हो कि किसान अपने तेवर में हो और सरकार अपने तेवर नौकरी किसी भी समस्या का समाधान तेवर और गुस्से में या फिर अति उत्साह में नहीं निकाला जा सकता तो यह बहुत जरूरी है कि किसान भी अपने गुस्से को थोड़ा संयम रखें और सरकार भी थोड़ा अपने रुख पर नरम हो और दोनों लोग एक टेबल पर बैठकर इसके बारे में विचार करें बात करें क्योंकि कम्युनिकेशन ही एक ऐसा जरिया है जिससे किसी भी प्रॉब्लम का सलूशन निकाला जा सकता है और मुझे लगता है कि यहां पर एक सबसे बड़ी दिक्कत है वह कमी के संकेत की क्योंकि कई जगहों पर यह पाया गया है कि किसान जो है वह आंदोलन में बैठे हैं लेकिन उनको बहुत सारी चीजों की जानकारी नहीं है कहीं न कहीं सरकार भी इस चीज को लेकर विफल हुई है कि वह अपनी बातों को समझा नहीं पाई है तो इस चीज का सबसे बड़ा सलूशन यही है इस प्रॉब्लम का कि कम्युनिकेशन गैप को खत्म किया जाए दूसरी चीज किसानों के उपद्रवी बैठे हैं उनको वहां से भगाने की जरूरत है जो अपनी राजनीतिक रोटी सेकना चाहते उनको भगाने की जरूरत है जब कोई भी मुद्दा होता है तो वहां पर कई सारे लोग ऐसे पहुंच जाते हैं जिनको उस मुद्दे से कोई मतलब नहीं होती उनको मतलब होता है कि वह उस मुद्दे से फायदा अपना कैसेट कर सके उसके बाद उनका जैसे फल निकल जाएगा वह उस मुद्दे से बाहर निकल जाएंगे उनको क्या हुआ नहीं हुआ तो यह बहुत जरूरी है कि जो ऐसे विचार वाले लोगों को हाथ लगाया जाए हटाया जाए और उसके बाद प्रमुख जो मुद्दा है उसके ऊपर सरकार के साथ बैठकर दोनों के बीच तरीके से समझ से शांति से बात होनी चाहिए क्योंकि इस प्रॉब्लम का सलूशन किसी भी प्रॉब्लम का सलूशन बात करने से ही निकल सकता है नहीं हट से निकल सकता है ना ही गुस्से से निकल सकता है धन्यवाद
Namaskaar yahaan par prashn kiya gaya hai ritika jee ke dvaara aur pinkee upaadhyaay jee ke dvaara in donon ne sim prashn kiya hai aur is prashn ke kaee saare bol kar ke achchhe speekar ne isake oopar apanee pratikriya bhee dee apana javaab bhee diya hai to is prashn ko lekar main yah kahana chaahoonga ki jahaan tak mujhe samajh mein aatee hai kaheen na kaheen ek kamyunikeshan gaip hai aur us kamyunikeshan gaip ko bharana bahut jarooree hai aur yah tabhee posibal hai ki jab sarakaar aur jo kisaan hai jo unake neta hai joon ko leedar hai tumako leed kar rahe hain vah aapas mein baithakar ek achchhe tareeke se 1 phut phul baat karen aisa na ho ki kisaan apane tevar mein ho aur sarakaar apane tevar naukaree kisee bhee samasya ka samaadhaan tevar aur gusse mein ya phir ati utsaah mein nahin nikaala ja sakata to yah bahut jarooree hai ki kisaan bhee apane gusse ko thoda sanyam rakhen aur sarakaar bhee thoda apane rukh par naram ho aur donon log ek tebal par baithakar isake baare mein vichaar karen baat karen kyonki kamyunikeshan hee ek aisa jariya hai jisase kisee bhee problam ka salooshan nikaala ja sakata hai aur mujhe lagata hai ki yahaan par ek sabase badee dikkat hai vah kamee ke sanket kee kyonki kaee jagahon par yah paaya gaya hai ki kisaan jo hai vah aandolan mein baithe hain lekin unako bahut saaree cheejon kee jaanakaaree nahin hai kaheen na kaheen sarakaar bhee is cheej ko lekar viphal huee hai ki vah apanee baaton ko samajha nahin paee hai to is cheej ka sabase bada salooshan yahee hai is problam ka ki kamyunikeshan gaip ko khatm kiya jae doosaree cheej kisaanon ke upadravee baithe hain unako vahaan se bhagaane kee jaroorat hai jo apanee raajaneetik rotee sekana chaahate unako bhagaane kee jaroorat hai jab koee bhee mudda hota hai to vahaan par kaee saare log aise pahunch jaate hain jinako us mudde se koee matalab nahin hotee unako matalab hota hai ki vah us mudde se phaayada apana kaiset kar sake usake baad unaka jaise phal nikal jaega vah us mudde se baahar nikal jaenge unako kya hua nahin hua to yah bahut jarooree hai ki jo aise vichaar vaale logon ko haath lagaaya jae hataaya jae aur usake baad pramukh jo mudda hai usake oopar sarakaar ke saath baithakar donon ke beech tareeke se samajh se shaanti se baat honee chaahie kyonki is problam ka salooshan kisee bhee problam ka salooshan baat karane se hee nikal sakata hai nahin hat se nikal sakata hai na hee gusse se nikal sakata hai dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
भारत के किसान इतनी जिद्दी क्यों बन गए हैं?Bharat Ke Kisan Itne Jiddi Kyun Ban Gaye Hain
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
2:59
नमस्कार आप ने प्रश्न किया है भारतीय किसान इतनी जिद्दी क्यों बन गए हैं भैया जी मैं आपसे और सभी श्रोताओं से एक बात कहना चाहता हूं कि हर सिक्के के दो पहलू होते हैं यह हम सब जानते हैं एक चीज और एक पाठ उसे जब कोई भी कार्य होता है तो उसके दो पल निकलते हैं एक अच्छा एक बुरा और यह अच्छा बुरा हमारे ऊपर हमारे नजरे के ऊपर डिपेंड करता है कि हम किस चीज को किस तरीके से ले रहे हैं उसी तरीके से जब कोई भी सरकार किसी भी बिल को पास करती है तो उसके कुछ अच्छे प्रभावी दिखते हैं कुछ बुरे प्रभाव दिखते हैं जो हमारी विपक्ष की सरकार होती है वह किसी भी कार्य को जो पक्ष के द्वारा किया जा रहा है उसमें वर्क करने का प्रयास करती है और यह चाहे कोई भी सरकार हो वैसा ही करती है जो सरकार आज पक्ष में है कल जब वह विपक्ष में थी या होगी तो फिर वही बॉबी भाई कार्य करेगी और जो आज सरकार विपक्ष में है जब वह कल पक्ष में थी या जब कल होगी तो उनको भी इन सभी चीजों का सामना करना पड़ा था करना पड़ेगा अब बात करते हैं किसानों की हमारे देश के किसान बहुत ही पूजनीय हैं हमारे लिए और हमारे बहुत ही दिलों के करीब हैं जब पूरे देश में लॉकडाउन लगा था तब हम में से कोई भी भूखा नहीं सोया था क्योंकि हमारे घरों तक अनाज पहुंच रहा था और वह अनाज हमारे घरों तक इसलिए पहुंच रहा था क्योंकि हमारे किसान अपने खेतों में दिन-रात कार्य कर रहे थे हमें अनाज की कमी नहीं हुई और हमारे किसान बहुत ही भोले हैं बहुत ही अच्छे हैं आप देख लीजिए कि आज जो भी घटनाएं हो रही हैं उसमें कई सारे ऐसे किसान है मतलब आप समझिए 90% ऐसे किसान हैं जो बहुत शांतिप्रिय से अपना धरना प्रदर्शन कर रहे हैं यह 10 पर सतलोक उनमें ऐसे लोग हैं जो अपनी राजनीति की रोटी सेकना चाहते हैं और वह अपनी राजनीतिक रोटी सेकने के लिए इस शांतिप्रिय जो उनका आंदोलन चल रहा है उसको बिगाड़ने का प्रयास कर रहे हैं दूसरी चीज यह है कि इसमें कई सारे ऐसे किसान हैं जिनको भी कानून बिल जो आई है आई है नई उसने मौसा चीजों को लेकर अभी चीजें पॉइंट क्लियर नहीं है वह उनको समझने का प्रयास कर रहे हैं तो अच्छी बात है सरकार भी अपने तरह समझाने का प्रयास कर रही है लेकिन जो इसमें उपद्रवी बैठे हैं वह इस चीज को बिगाड़ने का प्रयास कर रहे हैं इस आंदोलन को बिगाड़ने का प्रयास कर रहे हैं हम डेमोक्रेसी में है डेमोक्रेसी में हमारा अधिकार है आंदोलन करना लेकिन शांतिप्रिय होना चाहिए जो शांति तरीके से हो रहा है वह अच्छा है जो नहीं हो रहा है उसमें किसानों की गलती नहीं है उन में उन लोगों की गलती है जो अपनी राजनीति की रोटी सेकना चाहते हैं धन्यवाद
Namaskaar aap ne prashn kiya hai bhaarateey kisaan itanee jiddee kyon ban gae hain bhaiya jee main aapase aur sabhee shrotaon se ek baat kahana chaahata hoon ki har sikke ke do pahaloo hote hain yah ham sab jaanate hain ek cheej aur ek paath use jab koee bhee kaary hota hai to usake do pal nikalate hain ek achchha ek bura aur yah achchha bura hamaare oopar hamaare najare ke oopar dipend karata hai ki ham kis cheej ko kis tareeke se le rahe hain usee tareeke se jab koee bhee sarakaar kisee bhee bil ko paas karatee hai to usake kuchh achchhe prabhaavee dikhate hain kuchh bure prabhaav dikhate hain jo hamaaree vipaksh kee sarakaar hotee hai vah kisee bhee kaary ko jo paksh ke dvaara kiya ja raha hai usamen vark karane ka prayaas karatee hai aur yah chaahe koee bhee sarakaar ho vaisa hee karatee hai jo sarakaar aaj paksh mein hai kal jab vah vipaksh mein thee ya hogee to phir vahee bobee bhaee kaary karegee aur jo aaj sarakaar vipaksh mein hai jab vah kal paksh mein thee ya jab kal hogee to unako bhee in sabhee cheejon ka saamana karana pada tha karana padega ab baat karate hain kisaanon kee hamaare desh ke kisaan bahut hee poojaneey hain hamaare lie aur hamaare bahut hee dilon ke kareeb hain jab poore desh mein lokadaun laga tha tab ham mein se koee bhee bhookha nahin soya tha kyonki hamaare gharon tak anaaj pahunch raha tha aur vah anaaj hamaare gharon tak isalie pahunch raha tha kyonki hamaare kisaan apane kheton mein din-raat kaary kar rahe the hamen anaaj kee kamee nahin huee aur hamaare kisaan bahut hee bhole hain bahut hee achchhe hain aap dekh leejie ki aaj jo bhee ghatanaen ho rahee hain usamen kaee saare aise kisaan hai matalab aap samajhie 90% aise kisaan hain jo bahut shaantipriy se apana dharana pradarshan kar rahe hain yah 10 par satalok unamen aise log hain jo apanee raajaneeti kee rotee sekana chaahate hain aur vah apanee raajaneetik rotee sekane ke lie is shaantipriy jo unaka aandolan chal raha hai usako bigaadane ka prayaas kar rahe hain doosaree cheej yah hai ki isamen kaee saare aise kisaan hain jinako bhee kaanoon bil jo aaee hai aaee hai naee usane mausa cheejon ko lekar abhee cheejen point kliyar nahin hai vah unako samajhane ka prayaas kar rahe hain to achchhee baat hai sarakaar bhee apane tarah samajhaane ka prayaas kar rahee hai lekin jo isamen upadravee baithe hain vah is cheej ko bigaadane ka prayaas kar rahe hain is aandolan ko bigaadane ka prayaas kar rahe hain ham demokresee mein hai demokresee mein hamaara adhikaar hai aandolan karana lekin shaantipriy hona chaahie jo shaanti tareeke se ho raha hai vah achchha hai jo nahin ho raha hai usamen kisaanon kee galatee nahin hai un mein un logon kee galatee hai jo apanee raajaneeti kee rotee sekana chaahate hain dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
मुंह से निकलने वाला लसलसा पदार्थ क्या कहलाता है?Muh Se Niklne Vala Laslasa Padarth Kya Kehlata Hai
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
1:23
नमस्कार आप ने प्रश्न किया है मुंह से निकलने वाला लहसुन सा पदार्थ क्या कहलाता है तो दोस्तों मुंह से निकलने वाला लक्ष्य सा पदार्थ लाल कहलाता है हिंदी में और इंग्लिश में इसको सलाइवा कहते हैं हमारे मुंह के अंदर एक ग्लैंड होता है इसका ग्रंथि होती है जिसका नाम होता है सैलरी ग्लैंड तो यह सलाइवा जो है उससे लैबरी ग्लैंड से ही निकलता है और इसका फायदा है कि जो हम कुछ भी खाना खाते हैं तो जैसे ही मैं अपने थाने के निवाले को मुंह तक ले जाते हैं मुंह में रखते हैं और उसको जयसिंह चबाना स्टार्ट करते हैं तो वह डाइजेन का प्रोसेस वहां से स्टार्ट हो जाता है और मुंह से ही डाइक्लोपर से स्टार्ट करने में सलाइवा सबसे ज्यादा मददगार होता है इसके जो एंजाइम्स होते हैं सलाइवा के अंदर यह हमारे खाने को पचाने में मदद करते हैं तो जो पदार्थ है उसको सलाइवा कहते हैं इंग्लिश में हिंदी में लार कहते हैं और यह स्लेवरी ग्लैंड से उत्पन्न होता है जो किट खाने के पाचन में मदद करता है पाचन क्रिया में मदद करता है धन्यवाद
Namaskaar aap ne prashn kiya hai munh se nikalane vaala lahasun sa padaarth kya kahalaata hai to doston munh se nikalane vaala lakshy sa padaarth laal kahalaata hai hindee mein aur inglish mein isako salaiva kahate hain hamaare munh ke andar ek glaind hota hai isaka granthi hotee hai jisaka naam hota hai sailaree glaind to yah salaiva jo hai usase laibaree glaind se hee nikalata hai aur isaka phaayada hai ki jo ham kuchh bhee khaana khaate hain to jaise hee main apane thaane ke nivaale ko munh tak le jaate hain munh mein rakhate hain aur usako jayasinh chabaana staart karate hain to vah daijen ka proses vahaan se staart ho jaata hai aur munh se hee daiklopar se staart karane mein salaiva sabase jyaada madadagaar hota hai isake jo enjaims hote hain salaiva ke andar yah hamaare khaane ko pachaane mein madad karate hain to jo padaarth hai usako salaiva kahate hain inglish mein hindee mein laar kahate hain aur yah slevaree glaind se utpann hota hai jo kit khaane ke paachan mein madad karata hai paachan kriya mein madad karata hai dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
घमंड से बचने का उपाय क्या है?Ghmand Se Bachne Ka Upay Kya Hai
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
2:59
नमस्कार दोस्तों आप ने प्रश्न किया है घमंड से बचने का उपाय क्या है दोस्तों घमंड जो होता है लोगों को वह दो कारणों से होता है पहला कारण होता है उनका ओवरकॉन्फिडेंस और दूसरा कारण होता है उनकी मिसअंडरस्टैंडिंग जब लोगों को गलतफहमी हो जाती है और साथ ही साथ ऊपर कॉन्फिडेंस हो जाता है किसी चीज को लेकर तब उनके अंदर प्राउड या फिर से घमंड पहले वह उत्पन्न होता है यह दोनों चीज है किसी के अंदर भी बहुत जल्दी और बहुत आसानी से आ जाती हैं जैसे उदाहरण के तौर पर बात कर ले कि कोई व्यक्ति है पहले गरीब था अपने लाइफ में सक्सेसफुल नहीं था उसने मेहनत करी और वह अमीर बन गया उसने कार्य किए पैसे कमाए और वह अमीर बन गया लेकिन जैसे ही उसने अमीर हुआ वह उसके अंदर यह गलतफहमी आ गई कि जो कार मैंने करके अमीर हुआ हूं वह का सिर्फ मैं ही कर सकता हूं या फिर मैं उस कार्य में निपुण उसके अंदर यह मिसअंडरस्टैंडिंग हो गई कि अब जो हूं मैं ही हूं अब मेरे अब जो गरीबों के सामने दिख रहे हैं उनको पूछ भी नहीं रहा उनकी उनका मजाक उड़ा रहा है बना रहा है तो यह चीज घमंड है घमंड को कम करने का सबसे अच्छा कारण है कि आपने आपको हमेशा धरती से जुड़े रखे हमेशा डाउन टू अर्थ रहे और अपनी सोच को अपने विचारों पर कभी भी किसी को हावी ना होने देना अपने रुतबे का ना आपने पैसे का ना अपने अचीवमेंट्स का अब हर किसी को प्यार की नजर से आधार की नजर से देखें आपको जब भी ऐसा प्रतीत होता है कि आप बहुत घमंडी हो रहे हैं या आपको किसी का घमंड हो रहा है आप उसी क्षण अपने से बड़े लोगों के बारे में जानकारी प्राप्त करें उनके बारे में पढ़ें उनके बारे में जाने और देखें क्यों आप से कहीं ज्यादा ऊपर हैं लेकिन वह कितने धरातल पर हैं तो घमंड का सबसे अच्छा कारण है रुकने का क्या हमेशा अपने आप को धरातल पर रखें
Namaskaar doston aap ne prashn kiya hai ghamand se bachane ka upaay kya hai doston ghamand jo hota hai logon ko vah do kaaranon se hota hai pahala kaaran hota hai unaka ovarakonphidens aur doosara kaaran hota hai unakee misandarastainding jab logon ko galataphahamee ho jaatee hai aur saath hee saath oopar konphidens ho jaata hai kisee cheej ko lekar tab unake andar praud ya phir se ghamand pahale vah utpann hota hai yah donon cheej hai kisee ke andar bhee bahut jaldee aur bahut aasaanee se aa jaatee hain jaise udaaharan ke taur par baat kar le ki koee vyakti hai pahale gareeb tha apane laiph mein saksesaphul nahin tha usane mehanat karee aur vah ameer ban gaya usane kaary kie paise kamae aur vah ameer ban gaya lekin jaise hee usane ameer hua vah usake andar yah galataphahamee aa gaee ki jo kaar mainne karake ameer hua hoon vah ka sirph main hee kar sakata hoon ya phir main us kaary mein nipun usake andar yah misandarastainding ho gaee ki ab jo hoon main hee hoon ab mere ab jo gareebon ke saamane dikh rahe hain unako poochh bhee nahin raha unakee unaka majaak uda raha hai bana raha hai to yah cheej ghamand hai ghamand ko kam karane ka sabase achchha kaaran hai ki aapane aapako hamesha dharatee se jude rakhe hamesha daun too arth rahe aur apanee soch ko apane vichaaron par kabhee bhee kisee ko haavee na hone dena apane rutabe ka na aapane paise ka na apane acheevaments ka ab har kisee ko pyaar kee najar se aadhaar kee najar se dekhen aapako jab bhee aisa prateet hota hai ki aap bahut ghamandee ho rahe hain ya aapako kisee ka ghamand ho raha hai aap usee kshan apane se bade logon ke baare mein jaanakaaree praapt karen unake baare mein padhen unake baare mein jaane aur dekhen kyon aap se kaheen jyaada oopar hain lekin vah kitane dharaatal par hain to ghamand ka sabase achchha kaaran hai rukane ka kya hamesha apane aap ko dharaatal par rakhen

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या सुंदरता वास्तव में मायने रखती है?Kya Sundarta Vastav Mein Mayne Rakhti Hai
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
2:58
नमस्कार दोस्तों आप ने प्रश्न किया है क्या सुंदरता वास्तव में मायने रखती है दोस्तों सुंदरता मायने रखती है या नहीं रखती है यह एक अलग प्रश्न है उससे पहले का एक और प्रश्न है सुंदरता होती क्या है दोस्तों सुंदर चेहरे की बनावट के चेहरे की रंगत से नहीं होती है लगता आपके विचार आपके पास आपकी सोच आपकी अंतरात्मा में जो प्यार है जो दूसरे के लिए सम्मान है जो दूसरे के लिए आपके विचार है जो व्यवहार वह भी आप सुंदर बनाने मतलब की सुंदरता कोई दो प्रकार की होती हैं एक बाहरी सुंदरता एक बैटरी सुंदरता या जिसको अब यह आप पर डिपेंड करता है कि आप किस सुंदरता के किस लड़का को अब ज्यादा वैल्यू करते हैं बारिश दादा को या बिजली सुंदरता को जो लोग सिर्फ बाहरी सुंदरता को वैल्यू देते हैं और भीतरी सुंदरता में कोई कार्य नहीं करते या उसका ध्यान नहीं देते पैसे लोग आज कर सकते हो सकते हैं लेकिन हर किसी के लिए वह उतने इंपॉर्टेंट या फिर उसने रिस्पेक्टफुल नहीं हो सकते हैं उनके लिए आदरणीय उनके लिए इतने प्यारे नहीं हो सकते क्योंकि बाद सुंदरता है पहचान होती है लेकिन जब आपसे बात करते हैं किसी के बारे में कोई विचार प्रकट करते हैं अगर आपकी बातें सही नहीं हो विचार प्रकट आप जो कर रहे हैं वह सही नहीं हो किसी को उसके दुख हो रहा हो चलो अब पसंद नहीं करेंगे आप सुंदर हैं आप लोग अट्रैक्ट हुए हैं लेकिन आपके विचारों से लोग खुश नहीं है तो पसंद नहीं करें लेकिन जो लोग बाहरी सुंदरता ज्यादा इतनी सुंदरता पर भी सुनाते हैं ध्यान देते हैं उनको हर जगह लोग पसंद करते हैं लोग आपकी बारी सुंदरता भले आपको जज कर सकते हैं जवाब की बातें जो आपके विचार को सुनते हैं तो आपकी रिस्पेक्ट करते हैं तो आपको झूठा प्यार नहीं करती आपको दिल से प्यार करते हैं दिल से चाहते हैं तो बारिश में बताएं ज्यादा अधिक नताकुमारी है धन्यवाद
Namaskaar doston aap ne prashn kiya hai kya sundarata vaastav mein maayane rakhatee hai doston sundarata maayane rakhatee hai ya nahin rakhatee hai yah ek alag prashn hai usase pahale ka ek aur prashn hai sundarata hotee kya hai doston sundar chehare kee banaavat ke chehare kee rangat se nahin hotee hai lagata aapake vichaar aapake paas aapakee soch aapakee antaraatma mein jo pyaar hai jo doosare ke lie sammaan hai jo doosare ke lie aapake vichaar hai jo vyavahaar vah bhee aap sundar banaane matalab kee sundarata koee do prakaar kee hotee hain ek baaharee sundarata ek baitaree sundarata ya jisako ab yah aap par dipend karata hai ki aap kis sundarata ke kis ladaka ko ab jyaada vailyoo karate hain baarish daada ko ya bijalee sundarata ko jo log sirph baaharee sundarata ko vailyoo dete hain aur bheetaree sundarata mein koee kaary nahin karate ya usaka dhyaan nahin dete paise log aaj kar sakate ho sakate hain lekin har kisee ke lie vah utane importent ya phir usane rispektaphul nahin ho sakate hain unake lie aadaraneey unake lie itane pyaare nahin ho sakate kyonki baad sundarata hai pahachaan hotee hai lekin jab aapase baat karate hain kisee ke baare mein koee vichaar prakat karate hain agar aapakee baaten sahee nahin ho vichaar prakat aap jo kar rahe hain vah sahee nahin ho kisee ko usake dukh ho raha ho chalo ab pasand nahin karenge aap sundar hain aap log atraikt hue hain lekin aapake vichaaron se log khush nahin hai to pasand nahin karen lekin jo log baaharee sundarata jyaada itanee sundarata par bhee sunaate hain dhyaan dete hain unako har jagah log pasand karate hain log aapakee baaree sundarata bhale aapako jaj kar sakate hain javaab kee baaten jo aapake vichaar ko sunate hain to aapakee rispekt karate hain to aapako jhootha pyaar nahin karatee aapako dil se pyaar karate hain dil se chaahate hain to baarish mein bataen jyaada adhik nataakumaaree hai dhanyavaad

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
पावर बैंक लेते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?Power Bank Lete Samay Kin Baton Ka Dhyan Rakhna Chaiye
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
2:22
नमस्कार दोस्तों आप ने प्रश्न किया है कि पावर बैंक लेते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए दोस्तों पावर बैंक पुलिस में निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए सबसे पहली चीज या पार बैंक किस कंपनी का लेना चाहते हैं मार्केट में आज बहुत सारी कंपनी में पावर बैंक उपलब्ध है लेकिन सारी कंपनी आपके लिए नहीं है आप जिस कंपनी भरोसा करते हैं आप देखिए उस कंपनी का पावर बैंक अवेलेबल है तो उस कमरे के पावर बैंक ले सकते हैं या फिर ऐसा भी नहीं है कि हर कंपनी का हर प्रोडक्ट एक जैसा ही अच्छा हो तो आप चाहें तब पावरक्ली आप कोई दूसरी अच्छी सामने आई पावर बैंक ले सकते हैं जैसे सिस्का का है एम ब्रेन का है एम आई का है रियल मी का है 1 प्लस का है तो बहुत सारी कंपनी है जिसका पावर बैंक अवेलेबल है मार्केट में दूसरी बात आज देखे की पहाड़ियां में कितने यूएसबी पोर्ट से आउटपुट के लिए एक हैंड दो है तीन है तो आपको जितनी जरूरत है आपको इतनी की जरूरत वाली अपार्टमेंट ले लीजिए तीसरी बात की आप के पावर बैंक कितना इमेज ऑफ आउटपुट है 10000mh है या फिर 20000mh है 15000 एमएच है तो आप अपने यूजर्स के कोडिंग आप उसको भी सेलेक्ट कर सकते हैं चौथी बात की आप के पावर बैंक में एक इंपॉर्टेंट चीज है जो बहुत जोड़ी ऐसे टाइम में क्यों फास्ट चार्जिंग को सपोर्ट करता हो क्योंकि आजकल जितने भी मोबाइल फोन से आ रहे हैं वह सभी फास्ट चार्जिंग को सपोर्ट करते हैं तो आप का पावर बैंक भी फास्ट चार्जिंग को सपोर्ट करता हूं इस बात का ध्यान रखना जरूरी है फास्ट चार्जिंग का मतलब है कि आप अब आप का पावर बैंक आपके मोबाइल फोन को कितना जल्दी चार्ज कर देता है उसके बाद आपके पावर बैंक में हिटिंग की प्रॉब्लम नहीं होनी चाहिए क्योंकि अगर आपके पावर बैंक में फिटिंग की प्रॉब्लम होगी तो वह कम और टूट जाएगा जिसको सबके मोबाइल फोन जो है वह चलो चार्ज होगा उसके बाद बात का ध्यान रखें कि आपका जो पावर बैंक है वह खुद भी स्लो चार्ज नहीं होना चाहिए जैसे कि बहुत से लेकर मी का पावर बैंक है तो आप उसको कंपैरिजन कर 21 पावर बैंक को चार्ज होने में कितना समय लगता है और जो भी आप का पावर बैंक फास्ट चार्जिंग हो रहा हो फास्ट चार्ज हो रहा है और फास्ट चार्जिंग सपोर्ट कर रहा हूं आप उस पार बैंक को ले सकते हैं इस तरह की कुछ निम्नलिखित बातें हैं जो आप पावर बैंक को लेते समय ध्यान में रखनी चाहिए धन्यवाद दोस्तों
Namaskaar doston aap ne prashn kiya hai ki paavar baink lete samay kin baaton ka dhyaan rakhana chaahie doston paavar baink pulis mein nimnalikhit baaton ka dhyaan rakhana chaahie sabase pahalee cheej ya paar baink kis kampanee ka lena chaahate hain maarket mein aaj bahut saaree kampanee mein paavar baink upalabdh hai lekin saaree kampanee aapake lie nahin hai aap jis kampanee bharosa karate hain aap dekhie us kampanee ka paavar baink avelebal hai to us kamare ke paavar baink le sakate hain ya phir aisa bhee nahin hai ki har kampanee ka har prodakt ek jaisa hee achchha ho to aap chaahen tab paavaraklee aap koee doosaree achchhee saamane aaee paavar baink le sakate hain jaise siska ka hai em bren ka hai em aaee ka hai riyal mee ka hai 1 plas ka hai to bahut saaree kampanee hai jisaka paavar baink avelebal hai maarket mein doosaree baat aaj dekhe kee pahaadiyaan mein kitane yooesabee port se aautaput ke lie ek haind do hai teen hai to aapako jitanee jaroorat hai aapako itanee kee jaroorat vaalee apaartament le leejie teesaree baat kee aap ke paavar baink kitana imej oph aautaput hai 10000mh hai ya phir 20000mh hai 15000 emech hai to aap apane yoojars ke koding aap usako bhee selekt kar sakate hain chauthee baat kee aap ke paavar baink mein ek importent cheej hai jo bahut jodee aise taim mein kyon phaast chaarjing ko saport karata ho kyonki aajakal jitane bhee mobail phon se aa rahe hain vah sabhee phaast chaarjing ko saport karate hain to aap ka paavar baink bhee phaast chaarjing ko saport karata hoon is baat ka dhyaan rakhana jarooree hai phaast chaarjing ka matalab hai ki aap ab aap ka paavar baink aapake mobail phon ko kitana jaldee chaarj kar deta hai usake baad aapake paavar baink mein hiting kee problam nahin honee chaahie kyonki agar aapake paavar baink mein phiting kee problam hogee to vah kam aur toot jaega jisako sabake mobail phon jo hai vah chalo chaarj hoga usake baad baat ka dhyaan rakhen ki aapaka jo paavar baink hai vah khud bhee slo chaarj nahin hona chaahie jaise ki bahut se lekar mee ka paavar baink hai to aap usako kampairijan kar 21 paavar baink ko chaarj hone mein kitana samay lagata hai aur jo bhee aap ka paavar baink phaast chaarjing ho raha ho phaast chaarj ho raha hai aur phaast chaarjing saport kar raha hoon aap us paar baink ko le sakate hain is tarah kee kuchh nimnalikhit baaten hain jo aap paavar baink ko lete samay dhyaan mein rakhanee chaahie dhanyavaad doston

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
राष्ट्रगान कितने समय में गाया जाता है और इसके रचयिता कौन हैं?Rashtryagan Kitne Samay Mein Gaya Jata Hai Aur Iske Rachayita Kaun Hai
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
0:50
नमस्कार दोस्तों आप ने प्रश्न किया है राष्ट्रीय गान कितने समय में गाया जाता है उस के रचयिता कौन है दोस्तों राष्ट्रीय गान को गाने में लगभग 52 सेकंड लगता है और इसका रचयिता का नाम रविंद्र नाथ टैगोर है यह पहली बार पब्लिकली 27 संभव नहीं सोई 11 को कोलकाता से सन में गाया गया था और इसका जो पहला स्टैंड जा है भारत भाग्य विधाता उसको कौन ट्यूशन असेंबली ऑफ इंडिया के द्वारा आज नेशनल एंथम माना गया था 24 जनवरी 1950 को राष्ट्रगान गाने में जो लगभग लगभग समय लगता है 52 सेकंड का होता है आज के रचयिता रविनाथ टैगोर हैं धन्यवाद और इसी के साथ में एक जानकारी और दे दूं कि रविंद्र नाथ टैगोर ने ही बांग्लादेश का भी राष्ट्रीय गान लिखा है धन्यवाद दोस्तों
Namaskaar doston aap ne prashn kiya hai raashtreey gaan kitane samay mein gaaya jaata hai us ke rachayita kaun hai doston raashtreey gaan ko gaane mein lagabhag 52 sekand lagata hai aur isaka rachayita ka naam ravindr naath taigor hai yah pahalee baar pablikalee 27 sambhav nahin soee 11 ko kolakaata se san mein gaaya gaya tha aur isaka jo pahala staind ja hai bhaarat bhaagy vidhaata usako kaun tyooshan asembalee oph indiya ke dvaara aaj neshanal entham maana gaya tha 24 janavaree 1950 ko raashtragaan gaane mein jo lagabhag lagabhag samay lagata hai 52 sekand ka hota hai aaj ke rachayita ravinaath taigor hain dhanyavaad aur isee ke saath mein ek jaanakaaree aur de doon ki ravindr naath taigor ne hee baanglaadesh ka bhee raashtreey gaan likha hai dhanyavaad doston

#टेक्नोलॉजी

Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
0:44
नमस्कार दोस्तों आप ने प्रश्न किया है अगर कोई व्यक्ति नमक कम खाता है तो उसे कौन सी बीमारी होने की संभावना ज्यादा रहती है दोस्तों नमक कम खाने से जिस बीमारी की होने की संभावना ज्यादा रहती है उसे हिंदी में घेंघा रोग कहते हैं और इंग्लिश में उसे गोइटर कहते हैं जो लोग नमक कम खाते हैं उनके शरीर में आयोडीन की कमी हो जाती है और आयोडीन की कमी हो जाने की वजह से उनका गला जो है वह फूल जाता है में स्वेलिंग हो जाती है और इसी स्लिम होने के बीमारी को हम हिंदी में गंगा और इंग्लिश में वाटर कहते हैं धन्यवाद दोस्तों
Namaskaar doston aap ne prashn kiya hai agar koee vyakti namak kam khaata hai to use kaun see beemaaree hone kee sambhaavana jyaada rahatee hai doston namak kam khaane se jis beemaaree kee hone kee sambhaavana jyaada rahatee hai use hindee mein ghengha rog kahate hain aur inglish mein use goitar kahate hain jo log namak kam khaate hain unake shareer mein aayodeen kee kamee ho jaatee hai aur aayodeen kee kamee ho jaane kee vajah se unaka gala jo hai vah phool jaata hai mein sveling ho jaatee hai aur isee slim hone ke beemaaree ko ham hindee mein ganga aur inglish mein vaatar kahate hain dhanyavaad doston

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
म्यांमार देश का पुराना नाम क्या है?Myanmar Desh Ka Purana Naam Kya Hai
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
0:43
नमस्कार आप ने प्रश्न किया है मैडम आर देश का पूरा नाम क्या है तो मैं मार देश का पूरा नाम वर्मा है 1989 में मैं वर्मा से नाम बदलकर मन मार कर दिया गया कि विवाह के मिलिट्री गवर्नमेंट के द्वारा इसका नाम वर्मा था तो उसकी राजधानी रंगून थी लेकिन इसे 89 में रंगून का नाम बदलकर यांगून कर दिया गया जो कि वहां से 2005 तक के साथ आवेदन 2005 के बाद भागीदारी बदल दी गई अब आगे से राजधानी जो है वह नायपईदाव है जबकि अब नए नाम जो हो गया वर्मा का स्कोर मनवार और राजधानी व्हिस्की तो नहीं हो गई कोई फायदा है कि पहले रंगून थी तो मैंने महादेश का गाना वर्मा था धन्यवाद
Namaskaar aap ne prashn kiya hai maidam aar desh ka poora naam kya hai to main maar desh ka poora naam varma hai 1989 mein main varma se naam badalakar man maar kar diya gaya ki vivaah ke militree gavarnament ke dvaara isaka naam varma tha to usakee raajadhaanee rangoon thee lekin ise 89 mein rangoon ka naam badalakar yaangoon kar diya gaya jo ki vahaan se 2005 tak ke saath aavedan 2005 ke baad bhaageedaaree badal dee gaee ab aage se raajadhaanee jo hai vah naayapeedaav hai jabaki ab nae naam jo ho gaya varma ka skor manavaar aur raajadhaanee vhiskee to nahin ho gaee koee phaayada hai ki pahale rangoon thee to mainne mahaadesh ka gaana varma tha dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
1000 में कौन सा बिजनेस चालू किया जा सकता है?1000 Mein Kaun Sa Business Chalu Kiya Ja Sakta Hai
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
2:21
नमस्कार आपसे प्रश्न किया हजार रुपे में कौन से बिजनेस चालू किया जा सकता है कि बिजनेस चालू करने के लिए लागत की जरूरत पड़ती है और दूसरे क्षेत्रों में चालू किया जा सकता है पहला प्रोडक्ट के क्षेत्रों में और दूसरा सर्विस के क्षेत्रों में प्रोडक्ट का चित्र में समर्थ है क्या सामान खरीद के कहीं चला रहे हैं उसको बेच रहे हैं और सर्विस के क्षेत्र में बिजनेस चालू करने का मतलब है कि आप कुछ सर्विस देना चाहते हैं कुछ सर्विस आप चालू कर रहे हैं जिसमें एग्जांपल देता हूं अगर आप कोई किराने की दुकान खोलते हैं तो वहां पर आप सवाल लाते हैं और सामान बेचते हैं क्योंकि आपका प्रोडक्ट के क्षेत्र में किसी भी न सोचा कॉन उत्सव इस क्षेत्र का मतलब है कि आपकी ट्यूशन पढ़ा रहे हैं आप प्लंबिंग का काम कर रहे हैं आप मैकेनिक का काम कर रहे थे किचन का काम कर रहे हैं तुम ही हो गया सर्विस सेक्टर में अब हजार बिजनेस चालू करने में बहुत छोटी है तो आप इसमें प्रोडक्ट सेक्टर में बिजनेस करना थोड़ा मुश्किल होगा आप सभी सेक्टर में बेचा चालू कर सकते हैं जैसे आप ट्यूशन पढ़ा सकते हैं आप अपने घर से आप इसकी शुरुआत करें आप अपने घर का ही एक कमरे को आप ट्यूशन रूम की तरह से इस्तेमाल करें और बच्चों को वहां पर आ सकते हैं हजार तो मैं आपका ब्लैक बोर्ड चौक डस्टर से आ जाएंगे दूसरा काम कि आप अगर मोबाइल रिपेयरिंग का काम सीख ले तो आप हजार पेमेंट टूल्स खरीद सकते हैं और अपने घर से ही एक कमरे में आप उस काम को भी स्टार्ट कर सकते हैं आप मोबाइल फोन की मोबाइल फोन रिपेयरिंग का काम काट कर सकते हैं आप टीवी आपको अगर टीवी रिपेयर करना आता हो तो आप टेलीविजन रिपेयर करने के लिए आप काम करो स्टार्ट कर सकते हैं पार्ट खरीद के अनुसार इंस्ट्रूमेंट खरीद सकते हैं रिपेयरिंग इंस्ट्रूमेंट कर सकते हैं इस तरह से आप अगर आपको आती है तो आप डांस क्लास शुरु कर सकते हैं अपने घर पर तो यह कुछ सर्विस सेक्टर से आप अपना काम छोड़ कर सकते हैं आप सर्विसिंग स्टार्ट कर सकते हो यार तू कुछ आइडियाज है आप इस तरह से और कुछ आईडिया जनरेटर सोच सकते हो आप अपना काम स्टार्ट कर सकते हैं धन्यवाद
Namaskaar aapase prashn kiya hajaar rupe mein kaun se bijanes chaaloo kiya ja sakata hai ki bijanes chaaloo karane ke lie laagat kee jaroorat padatee hai aur doosare kshetron mein chaaloo kiya ja sakata hai pahala prodakt ke kshetron mein aur doosara sarvis ke kshetron mein prodakt ka chitr mein samarth hai kya saamaan khareed ke kaheen chala rahe hain usako bech rahe hain aur sarvis ke kshetr mein bijanes chaaloo karane ka matalab hai ki aap kuchh sarvis dena chaahate hain kuchh sarvis aap chaaloo kar rahe hain jisamen egjaampal deta hoon agar aap koee kiraane kee dukaan kholate hain to vahaan par aap savaal laate hain aur saamaan bechate hain kyonki aapaka prodakt ke kshetr mein kisee bhee na socha kon utsav is kshetr ka matalab hai ki aapakee tyooshan padha rahe hain aap plambing ka kaam kar rahe hain aap maikenik ka kaam kar rahe the kichan ka kaam kar rahe hain tum hee ho gaya sarvis sektar mein ab hajaar bijanes chaaloo karane mein bahut chhotee hai to aap isamen prodakt sektar mein bijanes karana thoda mushkil hoga aap sabhee sektar mein becha chaaloo kar sakate hain jaise aap tyooshan padha sakate hain aap apane ghar se aap isakee shuruaat karen aap apane ghar ka hee ek kamare ko aap tyooshan room kee tarah se istemaal karen aur bachchon ko vahaan par aa sakate hain hajaar to main aapaka blaik bord chauk dastar se aa jaenge doosara kaam ki aap agar mobail ripeyaring ka kaam seekh le to aap hajaar pement tools khareed sakate hain aur apane ghar se hee ek kamare mein aap us kaam ko bhee staart kar sakate hain aap mobail phon kee mobail phon ripeyaring ka kaam kaat kar sakate hain aap teevee aapako agar teevee ripeyar karana aata ho to aap teleevijan ripeyar karane ke lie aap kaam karo staart kar sakate hain paart khareed ke anusaar instrooment khareed sakate hain ripeyaring instrooment kar sakate hain is tarah se aap agar aapako aatee hai to aap daans klaas shuru kar sakate hain apane ghar par to yah kuchh sarvis sektar se aap apana kaam chhod kar sakate hain aap sarvising staart kar sakate ho yaar too kuchh aaidiyaaj hai aap is tarah se aur kuchh aaeediya janaretar soch sakate ho aap apana kaam staart kar sakate hain dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
ध्यान से किसी कार्य को कैसे किया जाता है?Dhyaan Se Kisi Karya Ko Kaise Kiya Jata Hai
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
2:28
नमस्कार दोस्त ने किया है ध्यान से किसी कार्य को कर कैसे किया जाता है किसी भी काम ध्यान से करने का अर्थ है कि आप उसके कार्य में अपना पूरा ध्यान केंद्रित कर रहे हैं आपको शिकारी की अच्छी जानकारी है आपको ले रहे हैं उसका पूरा करने के लिए एप्स के बारे में कुछ जानकारी आपका जो प्रोसीजर काम करने का वह भी स्टेट में होना चाहिए आप उसे स्टेशन में कर रहे हैं आप उस कार में कोई भी गलती नहीं करना चाहते हैं या फिर गलती कोई गुंजाइश नहीं रखना चाहते हैं आप यह नहीं चाहते हैं कि आप उसी काम को किसी भी छोटी सी गलती की वजह से दोबारा करें जो भी काम कर रहे हैं उसको अभी एक बार में ही पूरा करना चाहते हैं और बिल्कुल ध्यान से करना चाहते ध्यान से कहने का मतलब यह है कि कोई भी गलती गुंजाइश में और वह काम एक बार में ही अच्छे से हो जाए उसमें जो भी चीजों की जरूरत है तू अपनी बातों का ध्यान रखना है आप कौन सही बातों का ध्यान है आपको आज वह सारी जरूरत की चीजें हैं जो उस काम को पूरा करने के लिए आपको जरूरत पड़ सकती है आपके पास अच्छी जानकारी है उस काम को लेकर जॉब इन सारी चीजों का इन सारी बातों का ध्यान रखते हैं तो आप किसी कार्य को ध्यानपूर्वक कर सकते हैं जैसे कि लोग कहते हैं अक्सर हम सुनते होंगे लोग घरों में बच्चों को कहते हैं कि ध्यान से पढ़ाई करो 1 घंटे को ध्यान से पढ़ें का अर्थ होता है कि एक बच्चा जो सुबह से शाम तक की पढ़ाई कर रहा है ध्यान में नहीं है तो पूरा का पूरा पढ़ने जा रहा है अच्छे से उन चीजों को अब लाइफ में कैंसिल कमेंट कर सकता है या आप उन चीजों को कैसे वह पढ़ाई में इस्तेमाल कर सकता है जो पढ़ाते हैं इन सारी चीजों को जिसको जानकारी होती है वह कहते की सुनो ध्यान से पढ़ाई करी है मतलब इसको स्कूल के बारे में जानकारी अच्छी है उनको पता है रिसीव करते
Namaskaar dost ne kiya hai dhyaan se kisee kaary ko kar kaise kiya jaata hai kisee bhee kaam dhyaan se karane ka arth hai ki aap usake kaary mein apana poora dhyaan kendrit kar rahe hain aapako shikaaree kee achchhee jaanakaaree hai aapako le rahe hain usaka poora karane ke lie eps ke baare mein kuchh jaanakaaree aapaka jo proseejar kaam karane ka vah bhee stet mein hona chaahie aap use steshan mein kar rahe hain aap us kaar mein koee bhee galatee nahin karana chaahate hain ya phir galatee koee gunjaish nahin rakhana chaahate hain aap yah nahin chaahate hain ki aap usee kaam ko kisee bhee chhotee see galatee kee vajah se dobaara karen jo bhee kaam kar rahe hain usako abhee ek baar mein hee poora karana chaahate hain aur bilkul dhyaan se karana chaahate dhyaan se kahane ka matalab yah hai ki koee bhee galatee gunjaish mein aur vah kaam ek baar mein hee achchhe se ho jae usamen jo bhee cheejon kee jaroorat hai too apanee baaton ka dhyaan rakhana hai aap kaun sahee baaton ka dhyaan hai aapako aaj vah saaree jaroorat kee cheejen hain jo us kaam ko poora karane ke lie aapako jaroorat pad sakatee hai aapake paas achchhee jaanakaaree hai us kaam ko lekar job in saaree cheejon ka in saaree baaton ka dhyaan rakhate hain to aap kisee kaary ko dhyaanapoorvak kar sakate hain jaise ki log kahate hain aksar ham sunate honge log gharon mein bachchon ko kahate hain ki dhyaan se padhaee karo 1 ghante ko dhyaan se padhen ka arth hota hai ki ek bachcha jo subah se shaam tak kee padhaee kar raha hai dhyaan mein nahin hai to poora ka poora padhane ja raha hai achchhe se un cheejon ko ab laiph mein kainsil kament kar sakata hai ya aap un cheejon ko kaise vah padhaee mein istemaal kar sakata hai jo padhaate hain in saaree cheejon ko jisako jaanakaaree hotee hai vah kahate kee suno dhyaan se padhaee karee hai matalab isako skool ke baare mein jaanakaaree achchhee hai unako pata hai riseev karate

#जीवन शैली

Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
2:27
नमस्कार आप ने प्रश्न किया है नहीं मानता हूं कि अगर तुम्हें अपनी जिंदगी में आगे बढ़ना है तो बहुत सारी चीजों को याद करना पड़ेगा तब तुम अपनी जिंदगी में आगे बढ़ पाओगे यह कथन आपका बिल्कुल सही है मैं इससे सहमत हूं आपको जीवन में आगे बढ़ने के लिए बहुत सारी चीजों जाने की जरूरत नहीं बल्कि जितनी चीजें आपको आती हैं उन पर अच्छी पकड़ बनाने की जरूरत है कोई भी व्यक्ति 29 पर सवार होकर किसी भी नदी को पार नहीं कर रहा पुरस्कृत होने के चांसेस बहुत ज्यादा है समय हंड्रेड परसेंट है लेकिन अगर एक नाव पर बैठकर किस नदी को पार किया जाए तो किया जा सकता है तो आपको जितनी भी जानकारी हो उस पर अपनी पकड़ अच्छी होनी चाहिए अगर आप की जानकारी हर विषय में हैं लेकिन थोड़ी थोड़ी सी तो आपके लिए थोड़े टाइम पर लो आपके लिए मददगार हो सकती है लेकिन लंबे समय तक तुम आ जाते हैं करेगी आप उसके मैसेज तुलना किसी डिबेट में पार्टिसिपेट कर सकते हैं ना उस बात पर ज्यादा बात ज्यादा सोच सकते हैं लेकिन एक चीज पर पकड़ है तो आप उस चीज में आगे बढ़ सकते हैं उसको अपने करियर में ला सकते हैं आप उससे अपना करियर बना सकते उसको अपना प्रोफेशन बना सकते हैं जैसे अगर मैं बात करूं तो मुझे अगर बहाने में इंटरेस्ट है मुझे बिजनेस करने में इंटरेस्ट है मुझे कॉरपोरेट ऑफिस में भी बैठने के में इंटरेस्ट है जॉब जॉब करने में इंटरेस्ट है तुम ही सारे काम नहीं कर सकता क्योंकि वह मेरा सिर्फ इंटरेस्ट है लेकिन अगर मुझे किसी एक फील्ड में जाकर काम करना है तो मुझे उस फील्ड की अच्छी जानकारी होनी चाहिए अगर मुझे बिजनेस करना तुमने बिजनेस की जानकारी नहीं चाहिए अगर मुझे टीचर बनना है तो मुझे अपने सब्जेक्ट के बारे में जानकारी होनी चाहिए वह भी सब्जेक्ट में उत्सव समिति नहीं तो मुझे पढ़ाना है तो अगर आपका जानकारी किसी एक विषय में अच्छी है तो आप उसके उस बेसिस पर आप अपने लाइफ में आगे बढ़ सकते हैं आपको अजय प्रोफेसर थोड़ी थोड़ी बहुत सारी जानकारियां हो ना कोई काम का नहीं कोई मतलब नहीं है तो आपका कथन बिल्कुल सही है कि जिंदगी में आगे बढ़ने की जरूरत नहीं है किसी एक चित्र बनाइए धन्यवाद
Namaskaar aap ne prashn kiya hai nahin maanata hoon ki agar tumhen apanee jindagee mein aage badhana hai to bahut saaree cheejon ko yaad karana padega tab tum apanee jindagee mein aage badh paoge yah kathan aapaka bilkul sahee hai main isase sahamat hoon aapako jeevan mein aage badhane ke lie bahut saaree cheejon jaane kee jaroorat nahin balki jitanee cheejen aapako aatee hain un par achchhee pakad banaane kee jaroorat hai koee bhee vyakti 29 par savaar hokar kisee bhee nadee ko paar nahin kar raha puraskrt hone ke chaanses bahut jyaada hai samay handred parasent hai lekin agar ek naav par baithakar kis nadee ko paar kiya jae to kiya ja sakata hai to aapako jitanee bhee jaanakaaree ho us par apanee pakad achchhee honee chaahie agar aap kee jaanakaaree har vishay mein hain lekin thodee thodee see to aapake lie thode taim par lo aapake lie madadagaar ho sakatee hai lekin lambe samay tak tum aa jaate hain karegee aap usake maisej tulana kisee dibet mein paartisipet kar sakate hain na us baat par jyaada baat jyaada soch sakate hain lekin ek cheej par pakad hai to aap us cheej mein aage badh sakate hain usako apane kariyar mein la sakate hain aap usase apana kariyar bana sakate usako apana propheshan bana sakate hain jaise agar main baat karoon to mujhe agar bahaane mein intarest hai mujhe bijanes karane mein intarest hai mujhe koraporet ophis mein bhee baithane ke mein intarest hai job job karane mein intarest hai tum hee saare kaam nahin kar sakata kyonki vah mera sirph intarest hai lekin agar mujhe kisee ek pheeld mein jaakar kaam karana hai to mujhe us pheeld kee achchhee jaanakaaree honee chaahie agar mujhe bijanes karana tumane bijanes kee jaanakaaree nahin chaahie agar mujhe teechar banana hai to mujhe apane sabjekt ke baare mein jaanakaaree honee chaahie vah bhee sabjekt mein utsav samiti nahin to mujhe padhaana hai to agar aapaka jaanakaaree kisee ek vishay mein achchhee hai to aap usake us besis par aap apane laiph mein aage badh sakate hain aapako ajay prophesar thodee thodee bahut saaree jaanakaariyaan ho na koee kaam ka nahin koee matalab nahin hai to aapaka kathan bilkul sahee hai ki jindagee mein aage badhane kee jaroorat nahin hai kisee ek chitr banaie dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
एक से 80 तक संख्या का जोड़ बताओ?Ek Se 80 Tak Sankhya Ka Jod Batao
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
1:24

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
देश में किस शहर को संतरा नगरी कहा जाता है?Desh Mein Kis Shahar Ko Santra Nagri Kaha Jata Hai
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
0:42

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
कम से कम संख्या ज्ञात करें जैसे 45 से गुणा करने पर परिणाम एक पूर्ण वर्ग बन जाता है?Kam Se Kam Sankhya Gyat Kare Jaise 45 Se Guna Karne Par Parinaam Ek Purn Varg Ban Jata Hai
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
0:44

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
गुस्से को कम करने के सबसे बेहतर उपाय कौन से हैं?Gusse Ko Kam Karne Ke Sabse Behtar Upay Kaun Se Hain
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
2:57

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
3 लीटर का 15% क्या होगा?<!doctype Html> <html Lang=en> <meta
Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
1:07

#पढ़ाई लिखाई

Ankit Singh Kshatriya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ankit जी का जवाब
Unknown
1:07
URL copied to clipboard