#धर्म और ज्योतिषी

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
2:31
आज की पीढ़ी जाने अनजाने में पुरानी पीढ़ी के प्रति 84 इंटरनेट की दीवानी है हाथ में मोबाइल और चतुर्मुखी अंतर्ज्ञान की प्रतीक है पुरानी पीढ़ी के झूलों के वह प्रैक्टिकल में विश्वास करते थे उनकी जिंदगी का अनुभव उनके जीवन में दिए गए क्षण होते थे क्योंकि उन्होंने जो कुछ भी सीधा अपने जीवन में अपने जीवन काल के दौरान सीखा कहीं किसी से छोड़कर किसी को देखकर या किसी को जानकर नहीं किसी नेट का माध्यम से नहीं किसी की चुनाई कहानी चेन्नई हो चुका था या टोटका ना सुख में दुख दुख में सुख की अनुभूति उन्होंने अपने जीवन के साक्षात रूप में की है पुरानी पीढ़ी के लोगों की सोच है वह क्रियात्मक है जबकि वर्तमान लोगों की सोच तो है आज की पीढ़ी की याद रखना उसका व्याख्यात्मक ना होकर चटपटे अब बहुत देवता के आगे बढ़ते हैं लेकिन भूल जाते हैं कि हर चीज की एक गति होती है समय आप की गति से नहीं जुड़ेगा आप उस समय की गति से दौड़ना है जिससे कि आप यह जान सकें क्या सही है और क्या गलत है हर युवा के लिए पुरानी पीढ़ी के लोग गलत हैं उनका कहना है आपको पता ही नहीं कि आप दुनिया में क्या हो रहा है लेकिन यह उत्तर देने वाले फूल जातक की जन्मकुंडली चिनिया अगर उन्हें पता नहीं होता तुम्हारी उत्पत्ति श्मशान में नहीं होती हां जो उन्होंने देखा वह तुम देख नहीं सकते और जो तुम देखोगे वह वह भी देखेंगे तब समझ लीजिए कितना बड़ा अंतर है दोनों फिल्मों के शॉट

#जीवन शैली

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:57

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
अक्सर मेरा मन नहीं लगता है क्या इसको ही अवसाद कहते हैं?Aksar Mera Man Nahi Lagta Hai Kya Isko Hi Avsad Kahte Hain
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
3:58

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या प्रधानमंत्री साहब ने सच में वैक्सीन डोज ली है या फिर यह भी एक ड्रामा है?Kya Pradhaanamantree Saahab Ne Sach Mein Vaikseen Doj Lee Hai Ya Phir Yah Bhee Ek Draama Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
4:02

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या आप पोस्टिक आहार के किसी ऐसे भाग को बता सकते हैं जो हर घर किसी के घर में आसानी से उपलब्ध हो?Kya Aap Postik Aahaar Ke Kisee Aise Bhaag Ko Bata Sakate Hain Jo Har Ghar Kisee Ke Ghar Mein Aasaanee Se Upalabdh Ho
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
2:08
क्या पोस्टिक आहार की किसी ऐसी मां को बता सकते हैं जो अगर किसी के घर में जापानी के उपलब्ध तो देखिए पौष्टिक आहार में दूध ट्रेन भोजन और भोजन में उतरे का भोजन संतुलित भोजन और असंतुलित भोजन संतुलित भोजन में दाल सब्जी चावल कढ़ी और चपाती यह संतुलित भोजन की श्रेणी में आता है असंतुलित भोजन भोजन होता है जिसे हम अपने स्वार्थ के लिए खाते हैं जैसे कि आपने खंड में आलू की टिक्की बनाने या बैक पकड़े बना लिए या आपने बेसन के चीले बनाने या अपने मीठे गुलगुले यह भी भोजन है सनातनी को भोजन का एक हिस्सा है टाइम से आप मिठाई के रूप में कहीं टाइम से आप किसी नमक के से युक्त भोजन के रूप में लेकिन यह संतुलित नहीं है संतुलित भोजन संतुलित भोजन इंसान दिन में दोपहर करता है और असंतुलित भोजन इंसान हफ्ते में एक दिन करता है लेकिन अगर आप हर दिन असंतुलित हो जन्मदिन की जो कि आम चीजें आपके प्रश्न से अलग हटकर उठाते रहो क्योंकि जो दही या दाल चपाती या हरी सब्जियां पाया इसका प्रयोग हर घर में होता है यह सभी चीजें इंसान को पौष्टिकता प्रदान करते हैं विटामिंस के रूप में या प्रोटींस करो

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
विद्यार्थियों के लिए गणित प्रदर्शनी की क्या उपयोगिता है?Vidyarthiyon Ke Liye Ganit Pradarshani Ki Kya Upyogita Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
3:10
जातियों के लिए गणित प्रदर्शनी की क्या उपयोगिता है वास्तव में गणित जीवन का एक अभिन्न अंग है गणित विषय नहीं है गणित जीवन का एक अभिन्न अंग है इंसान के जीवन का एक चक्कर है दुनिया के हर विषय से इंसान बन सकता है लेकिन विज्ञान और गणित और भाषा फिर से संचार का कोई व्यक्ति नहीं बच सकता क्योंकि शारीरिक क्रियाएं मानसिक कि नहीं आए और उस इंसान की भौतिक क्रियाएं यह सारी चिंताएं गणित पर ही आधारित है फिर हम गणित को कैसे चेक कर सकते हैं वह एक अलग बात है अनजाने में हम गणित का बहुत कुछ प्रयोग करते हैं लेकिन जब हम उसके अध्ययन की बारी राष्ट्रीय तुम अपने आप को गणित में बहुत कमजोर पाते हैं अपने आप को गणित मिलना तारा पाते हैं गणित से भयभीत होते हैं गणित से डरते हैं आदमी एक सेकंड में अनंत सांस लेता है लेकिन जब इसको करें भाषा में पढ़ा जाता है जो विज्ञान की भाषा में पढ़ा जाता है जो इंसान अचंभित होता है यही कारण है कि वह उस में इंटरेस्ट लेने की बजाय सकारात्मक कदम आने की वजह नकारात्मक कदम बना लेता रुको कठिन मुश्किल मेरे को नहीं आएगा हो ही नहीं सकता अर्थात इंटरेस्ट को बैठता है और उन्हें अपने लिए एक मुश्किल समस्या समझ में इतनी विद्यार्थियों को समय समय पर गणित की खेल गणित के चमत्कार प्रदर्शनी के रूप में अवश्य उनके सामने प्रस्तुत करने चाहिए जितनी उनकी जीवन बहुत बड़ा बदलाव पर चेकिंग अब्दुल कलाम जी राजेंद्र प्रसाद जी राधाकृष्णन जी पंडित जवाहरलाल नेहरु जी और स्वयं गणित के प्रकांड विद्वान मिस्टर खेल जिन्होंने गणित में गणित के माध्यम से संसार की बहुत सी समस्याओं का निदान किया मेरा मानना है जिसको गणित में इंटरेस्ट आ जाता है या इंटरेस्ट ले लेता है वह इंसान मानसिक रूप से आध्यात्मिक रूप से बहुत सरल स्वभाव का हो जाता है और उसके पास दुनिया की ऐसी ही समस्या को ना हो सूत्रों से उनका हल निकाल लेता है

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
सेटेलाइट कितनी कैटेगरी से विभाजित है?Setelait Kitanee Kaitegaree Se Vibhaajit Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
0:48
नेट कितनी कैटेगरी में बैठे हुए सप्लाईज जो है हमारे नेट इंटरनेट चुंबकीय चुंबकीय और प्रकाश जी यह प्रकाश जी करणी और स्थानीय स्तर ऐसे विज्ञान की भौतिक आधार पर चार लड़कों को कई रूप में विभाजित किया हुआ कहीं सेटेलाइट को कोई और नाम किया गया है स्पेशल भी या एसएलवी या पृथ्वी उनके नाम का नाम है लेकिन ट्रक के पीछे कार्य करने की रूपरेखा है वह डिफरेंट

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
समय की दिशा और समय के आयाम के बीच क्या अंतर है?Samay Kee Disha Aur Samay Ke Aayaam Ke Beech Kya Antar Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
2:09

#जीवन शैली

bolkar speaker
वह 7 लक्षण कौन से हैं जिनसे यह पता चलता है कि किसी व्यक्ति को स्वयं पर विश्वास नहीं है?Vah 7 Lakshan Kaun Se Hain Jinase Yah Pata Chalata Hai Ki Kisee Vyakti Ko Svayan Par Vishvaas Nahin Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
3:44
वेस्टर्न संरक्षण पेंटिंग कैसे पता चलता है कि किसी व्यक्ति को स्वयं पर विश्वास नहीं है बहुत अच्छा प्रश्न किया है आपने मानवीय प्रश्न मनोवैज्ञानिक प्रश्न प्रश्न के पीछे मूल जो मंत्र हैं उद्दीन लेकिन आप 7 या 9 या 11 जैसे भी रिचार्ज करना चाहिए आपके ऊपर जो व्यक्ति अपनी बात को किसी के सामने रख नहीं सकता यार रखने में संकोच करते हैं तुलसी घाट सामने वाले की बात को मानने से इंकार भी नहीं करता और मानता भी नहीं है और तीसरी बात लिंगनान जो समय को पार करता है श्रमिकों को काम कुछ समय मिलना चाहिए उसके लिए लंबा समय खींचता है और वह पिक्चर जो किसी भी क्षेत्र में निर्णय लेने में स्थित आता है या निर्णय लेने का डाइट अपने ऊपर लेने से घबराता है या नहीं होता बल्कि उसके अंदर असमंजस की स्थिति है जो इंसान सब्जियों पैसों का वशीभूत होता है यानी हर समस्या में से प्यार करती जाती है चाय बेचारी को सामाजिक को व्यक्तिगत हो या राजनीतिक हो या पारिवारिक हो मूल पैसे पर टिक जाती है जो इंसान किसी के ऊपर विश्वास नहीं करता या उसको और पर ट्रस्ट नहीं करता कृष्णा करने का मूल कारण क्योंकि उसके अंदर खुद आत्मविश्वास की कमी किसी पर विश्वास इंसान वही कर सकता है जो स्वयं दर्शन करती और आत्मविश्वास ही होता है उसे भरोसा होता है इमेज जो भी करूंगा उसका परिणाम मेरे पक्ष में आएगा सारी दुनिया एक तरफ और मेरा डिसीजन एक तरफ क्योंकि करना मुझको है तो पढ़ना भी मुझे मिलेगा इतनी एक सबसे मूल तत्व क्या है जो इंसान समाज को अपनी से अनेक समझता है समाज को जागृत करते हैं उसके अंदर सबसे बड़ी कमजोरी होती है कि वह अपने बल बुद्धि विवेक किसी के ऊपर ट्रस्टवर्थी नहीं करता इसलिए उसे प्रेम पर भी विश्वास नहीं होता यह वह साथ लक्षण है जिनसे साबित होता है कि कौन व्यक्ति अपने आप पर विश्वास करता है या इनकी अब हमें वह अपने आप पर यकीन या विश्वास नहीं कर पाता

#जीवन शैली

bolkar speaker
त्रिया चरित्र से लोग इतना अधिक आशंकित क्यों रहते हैं?Triya Charitr Se Log Itana Adhik Aashankit Kyon Rahate Hain
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
2:28

#भारत की राजनीति

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
2:41

#जीवन शैली

bolkar speaker
म्यूच्यूअल फंड को भौतिक या डीमेट में रखना दोनों में से क्या बेहतर है?Myoochyooal Phand Ko Bhautik Ya Deemet Mein Rakhana Donon Mein Se Kya Behatar Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:09
म्यूच्यूअल फंड को व्हाट्सएप में रखना या डिबेट में रखना दोनों में ठीक क्या कहते हैं देखिए अगर आपको किसी तरह के खतरे की आशंका नहीं है किसी धोखाधड़ी की आशंका नहीं है मेरा मानना है कि बहुत से ग्रुप सबसे अच्छा होता है तो केवल आपकी वजह से मैं और केवल आपके साइन थे और केवल आपकी वेरीफिकेशन से ही उसके ट्रांजैक्शन हो सकते हैं अगर डिबेट में रखते हैं तो कहीं है कोई जाने की स्थिति में या किसी की जानकारी आज आने की स्थिति में इंटरनेट के माध्यम से आप के जितने भी ठाकुर जी यह सब कहीं मिस्प्लेस हो सकते हैं मिस यूज हो सकते हैं या सुरक्षा की दृष्टि से बहुत ज्यादा उचित बैटरी कि आपके पास पहुंची ग्रुप में हो

#पढ़ाई लिखाई

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
2:11

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
विद्यालय में मिलने वाले ब्लैकबोर्ड को हिंदी में क्या कहा जाता है?Vidyalya Mein Milne Wale Blackboard Ko Hindi Mein Kya Kaha Jata Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
0:41
यानी से मिलने वाले ब्लैक बोर्ड को हिंदी में क्या कहते हैं हाथ से कुछ पर स्कूल सरकारी विद्यालयों में ब्लैकबोर्ड ही होते थे या तो सीमेंटेड होते थे या लकड़ी के होते थे ब्लैक को काला और बोर्ड को पट गए थे तो गया हिंदी का एक शाब्दिक और भागवत कथा श्यामपट्ट इसको आप काला बोलते हैं तो यह तद्भव है जबकि का तत्सम शब्द है जो हिंदी है वह है श्यामपट्ट

#टेक्नोलॉजी

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:57

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
किसका प्रेम श्रीकृष्ण के लिए श्रेष्ठ था राधा का या मीरा का?Kisaka Prem Shreekrshn Ke Lie Shreshth Tha Raadha Ka Ya Meera Ka
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:22

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
कांग्रेस और वामपंथ में क्या अंतर है?Congress Aur Vampanth Me Kya Antar Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:37
अंग्रेजों कंपनी में क्या अंतर है कांग्रेश हिंदुस्तान की सबसे पुरानी पार्टी है 19वीं शताब्दी में तू है कांग्रेश का जन्म हुआ था पर यह किसी सताती चल रही है करीब डेढ़ सौ पौने दो सौ साल पुरानी पार्टी है अनिल पार्टी का जो उद्देश्य देश में शासन प्रशासन लोकतंत्र प्रजातंत्र और जनता को जागृत करना है जनता को जो है उनके हक देना उनके लिए संभव रखना बिना भेदभाव के शक्ति प्रति सम्मान में भंवर रखना हिंदी पिक्चर राज्य की स्थापना करना जबकि वामपंथ जो है यह कम्युनिस्ट हैं और इनका मूल जो है सबसे किनारे हटकर अपनी लोकतंत्र की स्थापना करना अपनी नियमों को अपने कानूनों को अपनी जनता को समान भाव से रखना और उनको जो है एक ठन एक विला एक नियम और एक सिद्धांत पर चढ़ने के लिए उन्हें अनुचित जीना हमको अवसर देना

#मनोरंजन

bolkar speaker
आप दक्षिण भारतीय फिल्मों के बारे में क्या सोचते हैं?Aap Dakshin Bhartiya Filmo Ke Baare Me Kya Sochte Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:05
आप दक्षिण भारतीय फिल्म के बारे में क्या सोचते हैं दक्षिण भारतीयों की होती हैं संस्कृति संस्कार आशा आचरण सोच समझ और 11545 होती है बड़ी सादगी भरी होती है कहीं भी उन फिल्मों में ऐसा देखने को नहीं मिलता दसवीं बोर्ड एक पात्र के रूप में अपना कार्य कर रही है बल्कि ऐसा प्रतीत होता है जैसे आंखों के सामने इस सचित्र नहीं हो रहा एक जीवंत घटना घट रही है और यही कारण है कि नाथ इंडिया के लोग दक्षिण भारतीय फिल्मों को बहुत पसंद करते हैं ठीक हैं उन्हें तमिल तेलुगू मलयालम कन्नड़ जैसी भाषाओं का ज्ञान नहीं है लेकिन हिंदी में डब फिल्म जो है उसकी साकार रूप होती है

#टेक्नोलॉजी

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
0:58
रेलवे प्रथम श्रेणी का टिकट कितना महंगा क्यों होता है क्या प्रथम श्रेणी में कोई विशेष सेवा प्रदान किया थी आज प्रथम श्रेणी की सबसे बड़ी बात यह है कि उसने पूरे एक कोच के अंदर चार या पांच को पर होते हैं और चार या पांच गोपी और उनके लीजिए और एक रूम में 4 सीटें होती हैं और वह सभी फुल फ्लैश समझ सुविधाओं से युक्त होते हैं और फर्स्ट क्लास उनकी बेड होते हैं फायदे होते हैं साथ में अच्छा खानपान होता है आप को सुकून भरा वातावरण मिलता है कैसे आपको फाइव स्टार होटल में यात्रा कर रहे हो इस तरह से आपको बस में यात्रा करने का अवसर मिलता है यही कारण है कि प्रथम श्रेणी का टिकट हवाई जहाज की टिकट से भी महंगा होता है

#टेक्नोलॉजी

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
0:49
ना क्या मैं अपने स्मार्टफोन द्वारा अपने बैंक खाते में कोई नींद ले या पांच रूप देख सकता हूं बिल्कुल कर सकते हैं इस फोन में आप अगर आपने नेट बैंकिंग दे रखी है तो नेट बैंकिंग के लिए नेट बैंकिंग पासवर्ड सारे अकाउंट को मेंटेन कर सकते हैं और सारे अकाउंट की डिटेल पर गूगल पर पेटीएम ऐप डाउनलोड कर सकते हैं और इनको से दूर रखते हुए फोन से कनेक्ट कर सकते हैं और सारे टेंशन जो हैं हम नेट बंद कर सकते हैं या डेबिट कार्ड पैन कार्ड चेक कर सकते हैं यह मान के चलिए आप जो भी जो ऐप से करते हैं वह सारे फंक्शन भी आप बात ग्रुप में देख

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
क्या आप चाय बनाने के बाद बचे हुए चाय पत्ती के फायदे जानते हैं?Kya Aap Chaay Banaane Ke Baad Bache Hue Chaay Pattee Ke Phaayade Jaanate Hain
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
0:58
क्या आप चाय बनाने के बाद बची हुई चाय की पत्ती के फायदे जानते हैं हां जी बिल्कुल जानते हैं बस यूं ही चाय की पत्ती से हम बालों को धो सकते हैं क्योंकि वह कलर छोटे बच्चों की चाय की पत्ती से हम बर्तन को साफ कर सकते हैं बहुत साफ बर्तन होते हैं बच्चों की चाय की पत्ती से हम खाद बना सकते हैं पौधों में डाल सकते हैं बच्चों की चाय की पत्ती को अगर हम मेहंदी में जो लड़कियां लगाती महिलाएं लगाती हैं उसमें अगर डाल देते हैं तो मेहंदी का रंग बहुत डार्क हो जाता है अति सुंदर हो जाता इसके अलावा बच्चों की चाय की पत्ती को सुखाकर हम बहुत सी खिलौने बना सकते हैं और बहुत से हम डिजाइन बना सकते हैं फैशन डिजाइनिंग के डीजे के डेकोरेशन के लिए एक पहुंच से उपयोग हम प्रोजेक्ट बना सकते हैं और उस पर डटे बहुत पैसा कमा सकते हैं

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
सरकारी नौकरी खासकर रेलवे की नौकरी के लिए आवेदन कैसे करें?Sarakari Naukri Khaskar Railway Ki Naukri Ke Liye Aavedan Kaise Kare
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:23
गाय सरकारी नौकरी खासकर रेलवे की नौकरी की आवेदन कैसे करें आप रेलवे की वेबसाइट पर जाइए उसमें एप्लीकेशन फॉर्म भरने से पहले सभी प्रकार की नोटिफिकेशन देख ली है क्या ऐड मांगी है क्या क्वालिफिकेशन मांगी है क्या उनकी शर्ते हैं और क्या आपके पास पद के लिए पोस्ट के लिए जिसके लिए आप अप्लाई करना चाहते हैं प्लीज बिल्टी है या नहीं क्या कंपलसरी मांगी और क्या पार्टी मांगी है क्या आपको दोनों चीजें मांगी है वह आपके पास तैयार हूं आपकी फोटो तैयार हूं आपके सिग्नेचर चारों और आपके थंब इंप्रेशन चारों अगर मांगे हैं तो 1 डिक्लेरेशन वह तैयार हूं लिखा हुआ और आप सब कुछ एक एक स्टेप बढ़ते जाइए सबसे पहले रजिस्ट्रेशन कीजिए रजिस्ट्रेशन करने की आपको एक रजिस्ट्रेशन नंबर पासवर्ड मिलेगा उसके बाद जो है आप सारी डिटेल भरते जाइए लेकिन याद रखिए डिटेल अपडेट हो डिटेल में छुट्टी से पढ़ना हो डिटेल में किसी तरह का हेरफेर ना हो कोई बात बढ़ा चढ़ा कर ना दिखाई गई हो कोई बात छुपाई नहीं गई हो बल्कि हर बात इमानदारी से आपको आवेदन में डालनी है

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
परीक्षा में सफल होने के लिए क्या करें अपने विचार में पांच पंक्तियां?Pareeksha Mein Saphal Hone Ke Lie Kya Karen Apane Vichaar Mein Paanch Panktiyaan
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:44
अपने का परीक्षा में सफल होने के लिए क्या करें अपने विचार में पांच पंक्तियां बताएं कि सफल होना एक बार कर परीक्षा के परिणाम की छाप छोड़ना इतना पसंद करेंगे चैप्टर के कंसेप्ट को पूरी तरह से क्लियर करना होगा नियमित रूप से निर्मित घंटे पढ़ाई पर ध्यान लगा कर देना आपको हर तरह की जो हमारी दैनिक क्रियाएं जैसे नींद लेना भोजन करना व्यायाम करना इंटरटेनमेंट करना इनमें भी आपको शामिल होना है लेकिन इसका वशीभूत नहीं होना है जब तक आप कुछ हासिल ना हो जाए आपको आगे ही देखना है पीछे मुड़कर नहीं और उसके बाद किसी एक को गुरु को माता को पिता को समर्पित होना है क्योंकि वह आपके आदर्श है बड़ा भाई भी आपके आदर्शों तथा बड़ी बहन भी आपके आदर्शों सकती हैं आदर्श मानते हुए अपने में उतारना ताकि लोग कहें कि तुम तो गुरुजी के ट्रूकॉपी हो क्या तुम अपने बड़े भाई की ट्रू कॉपी और जब यह चीजें अपने जीवन में अपना लोगे तो परीक्षा में सफल नहीं जीवन में सफल हो जाओगे क्योंकि जीवन से बड़ी परीक्षा कोई नहीं होती

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
टॉपर किस तरह पढ़ाई करते हैं?Topar Kis Tarah Padhaee Karate Hain
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
2:03
पर किस तरह पढ़ाई करते हैं टॉप टॉप आने के लिए पढ़ाई नहीं करते टॉपर इसलिए वह टॉपर के नाते हैं क्योंकि उन्होंने 121 ए टू जेड सब्जेक्ट के सभी क्षेत्रों की सभी कंसेप्ट को क्लियर की है कोई भी क्षेत्र के किसी ने कंसेप्ट को वह तुरंत हल कर लेते हैं उसका समाधान निकाल लेते हैं और उन के माध्यम से वह नई समस्याओं को खड़ा करते हैं और उन समस्याओं का पुराना लाइट करते हैं फिर उसका समाधान निकालने की ट्रेन परीक्षक बन जाता है और एक परीक्षक बनने के बाद वह भी झांसी की हैसियत से उसका समाधान ढूंढता है ना कि अध्यापक की हैसियत से उसका समाधान बोलता है अपनी पढ़ाई के प्रति समर्पित हो जाता है तन से मन से समर्पण हो जाता है और एक लक्ष्य बनाने तक विजय बनाने तक मुझे जिंदगी में यह करना है तू काम उसके लिए बहुत आसान होता क्योंकि उसका दैनिक कार्य उसको कहीं कुछ कहने की जरूरत नहीं कहीं कुछ समझाने की जरूरत नहीं कहीं किसी के सामने किसी पहलू की उधर देने की जरूरत नहीं हम सारे कार्य खुद करता है और दुनिया के लिए वह टॉपर कहलाता है वह अपने आप को टॉपर कभी कहता ही नहीं है क्यों क्योंकि कहावतें बड़े बड़ाई ना करें बड़े न बोले बोल बड़े बड़ाई ना करें बड़े न बोले बोल रहिमन हीरा कब कहे लाख टका मेरो मोल रहीमा राक्टर कुमेरू

#मनोरंजन

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:39
भोजपुरी फिल्म भोजपुरी लोगों के लिए लोगों की मानसिकता हिंदी फिल्में हिंदुस्तान के लोगों की मस्जिद तो बड़ी ब्यूटीफुल में पश्चात लोगों की मस्जिद को दर्शाती है इसमें कोई दो राय नहीं भोजपुरी अर्थात बिहार से संबंधित बिहार में मैथिली है और भोजपुरी जो है यह हमारे मध्य प्रदेश से जुड़ी हुई है ऐसी स्थिति में अगर कोई फिल्में आती तो निश्चित रूप से अपनी भाषा की फिल्में सबको पसंद आती है पंजाबियों को पंजाबी फिल्में पसंद आती है मराठी में को मराठी फिल्म पसंद आती है इसी तरह हर भाषा बनी फिल्में पसंद है वह पसंद नहीं आती है उनके लिए लोकप्रिय हो चुकी फिल्में एडवांस लोगों के लिए जिसमें हिंदू मुस्लिम भी हैं धीमी गुजराती में जो है हमारे पास छात्रों से प्रभावित हैं और उनके मस्तिष्क भी उसी तरह का उचित प्रभावित होता है इसमें कोई दो राय नहीं है क्योंकि फिल्मों का भाषा से बहुत गहरा संबंध है और भाषा ही फिल्मों को फिल्मों की सफलता और असफलता का कारण बनती है हां कलाकारों की जो नायक और नायिका की अदा है जो उनका अभिनय में चार चांद लगा देते

#मनोरंजन

bolkar speaker
किसी भी आईपीएस ऑफिसर के लिए सबसे सम्मानजनक पल क्या है?Kisee Bhee Aaeepeees Ophisar Ke Lie Sabase Sammaanajanak Pal Kya Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:51
किसी भी आईपीएस ऑफिसर डिस्टर्ब से सम्मानजनक पद क्या है जब वह अपनी ड्यूटी निभाते हुए देश के दुश्मन किसी भी पद पढ़ो कितना ही बड़ा आदमी हो कितना ही रही उद्योगपतियों लेकिन जब वह आईपीएस अधिकारी उसके काली करतूतों को जनता के सामने उजागर करके अपने कर्तव्य का जो है परिचय देता है उस समय अपनी जान की बाजी लगा देता है क्योंकि ऐसे लोग जो देश के लिए भ्रष्टाचार के लिए देश के सिस्टम के लिए जो देश के लिए आतंक फैलाने वाले हैं जो देश के लिए देश को बर्बाद करने के लिए उन्हीं लोगों का खात्मा करने के लिए जब वह अपनी नौकरी भी दांव पर लगा देते हैं अपने जीवन को दांव पर लगा देते हैं लेकिन ऐसे काली करतूत वाले व्यक्तियों को वह माफ नहीं करते पर किसी कीमत पर भी वह उनको छोड़ते नहीं है अपनी नौकरी की कसम को ध्यान में रखते हुए और अपनी सीमाओं को भी ध्यान में रखते हुए तो यह पल उनकी जिंदगी का सबसे सम्मानजनक पल होता है इसलिए नहीं कि उनको मेडल मिला इसलिए नहीं कि उन्होंने दुनिया को दिखाने के लिए कि एक आईपीएस अधिकारी की ड्यूटी क्या होती है कि उन्होंने सिर्फ अपना कर्तव्य निभाया पकड़ता निभाने के लिए वह किसी से भी यह उनके जीवन का सबसे सम्मानजनक हल होता है

#मनोरंजन

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:10
पुरानी फिल्मों में दो ही भूमिका निभाने के लिए किस तरह की तकनीक का इस्तेमाल किया जाता था उस समय 20:00 का नैनी टू डायरेक्शन का तकनीक का प्रयोग किया जाता था एक फिरोजा हीरोइन को दो-दो रोल मिलते हैं राम और श्याम सीता और गीता इसके उदाहरण कभी विराम का रोल तो कभी श्याम का रोल और दोनों की शक्ल एक एक बार राम को सुनाया गया फिर शाम को फिल्माया गया फिर दोनों को इस तरह से टूटा मेंशन सिस्टम को अपनाते हुए पर्दे पर दिखाया गया बेटे दोनों एक साथ कार्य कर रहे हैं पिक्चर डबल रोल फिल्म कैसे चेंज हो गई है अफरीदी का लेटेस्ट एडवांस टेक्नोलॉजी का अर्थ कुछ और है पिंकी निर्देशन और रोल करने का सिस्टम कुछ और है

#मनोरंजन

bolkar speaker
आप घर की नौकरियों से कैसे काम करते हैं जो आपको प्रति माह $ 5,000 का भुगतान करते हैं?Aap Ghar Kee Naukariyon Se Kaise Kaam Karate Hain Jo Aapako Prati Maah $ 5000 Ka Bhugataan Karate Hain
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:27
घर की नौकरियों से कैसे काम करते हैं जो आपको प्रतिमा $5000 का भुगतान करते हैं लेकिन मैंने घर से काम नहीं किया है और ना ही मैंने ऑनलाइन किसी तरह का काम करके पैसा कमाया है मैं फेस टू फेस ऑफलाइन बनाने में विश्वास करता हूं अपनी योगिता देने विश्वास करता हूं क्योंकि सामने वाले को मैं समझता हूं कि क्या इसको जरूरत और क्या मैं दे सकता हूं ऑनलाइन वेबसाइट आप मेरे लेक्चर कुछ नहीं है और मेरी तरफ से चल जो कह रहा हूं से सुनी और से मानी है या ऑनलाइन है लेकिन ऑफलाइन कर सकते हैं कि मैं समझा दूंगा उसको समझ लूंगा कि किस तरह से आपको मुझे ट्रीटमेंट देना है आपकी समस्या का समाधान हो जाए $5000 तो छोड़िए फॉर स्टडी सेंटर का भुगतान भी मुझे करने को तैयार हो तो मैं फेस टू फेस ऑफलाइन क्यों नौकरी है वह करना चाहता हूं मैं घर से बैठकर उसे करूं या नहीं ऑनलाइन नहीं अपनी सेवाएं में फेस टू फेस या तो किसी के ऑफिस में जाकर या किसी को अपने ऑफिस में बुलाकर अपने विद्यालय में बुलाकर मैं अपनी सेवाएं दे सकता हूं

#मनोरंजन

bolkar speaker
सेल्स फोर्स से आप क्या समझते हैं, इसको कैसे सीखा जा सकता है और इसमे नौकरी कैसे लग सकती है?Sales Force Se Aap Kya Samajhte Hain Isko Kaise Sikha Ja Sakta Hai Aur Isame Naukari Kaise Lag Sakti Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
2:03
सिर्फ ओर से आप क्या समझते हैं इसको कैसे सीखा जा सकता है और इसमें नौकरी कैसे लग सकती है आजकल अधिकांश जो नौकरियां है खास करके प्राइवेट सेक्टर में गवर्नमेंट सेक्टर में एक बात स्पष्ट है कि आप अपनी काबिलियत को भेजोगे सर्च करोगे तो आप को वेतन मिलेगा डीटीसी का में उठाना कंडक्टर आवाज लगाकर जवानों को बुलाता है प्राइवेट में तो होता ही है लेकिन गवर्नमेंट की ड्यूटी से में भी ऐसा होता है बैंक के कस्टमर केयर से फोन आते हैं कि आप फलाना लोन ले लो फनाना क्रेडिट कार्ड ले लो फलाना आपसे विदा ले लो हमारी बैंक आपको यह देरी हमारी बैंक का पूछ रही है हर सेक्टर से स्कूल कॉलेज लिस्ट इन अप को बनकटी मैसेज करते बिल भेज दें यह सुविधा देने की सिर्फ ही तो है इसका मार्केटिंग में अच्छा ज्ञान है जिसको मार्केटिंग का नॉलेज है और कस्टमर क्या है कस्टमर को क्या चाहिए कस्टमर को किस रेट का चाहिए कस्टमर को क्या नींद है कस्टमर को कितना चाहिए और कब चाहिए जिसको इसका ज्ञान है निश्चित रूप से वह अच्छा एक्सचेंज फैक्ट्री बन सकता है मैं सेल्समैन नहीं कहूंगा तेरी फ्रेंड कहने का मतलब मैंने उनके मान सम्मान को छोटा कर दिया और इसमें नौकरी पाना बहुत आसान है अगर आपके पास एक अच्छी मैनेजमेंट की क्वालिटी एच किल है कि आप अपने प्रोडक्ट को अपनी सर्विस को अपने गुड्स को अपनी पार्टी को आप कस्टमर को सामने रखकर उसको सेटिस्फाइड कर दें ताकि कस्टमर हर वक्त आप से प्राकृतिक लेने के लिए क्या आपका वोट लेने के लिए तैयार

#मनोरंजन

bolkar speaker
एक व्यवसाय विकास प्रबंधक के रूप में आपका जीवन कैसा है ?Ek Vyavasay Vikas Prabandhak Ke Roop Mein Aapka Jeevan Kaisa Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
3:00
साईं विकास प्रबंधक के रूप में आपका जून कैसा है इसमें कोई संदेह नहीं है मैंने व्यवसाय तो नहीं किया लेकिन मैंने अपनी जिंदगी की नौकरी को जो मैंने सेवा प्रदान किए वह मैंने अपनी सेवा को अपना व्यवसाय बना दिया और आज भी मैं उस पर अटल मैं कहना चाहता हूं मैंने वस्तुओं का उत्पादन ना करके सेवाओं का उत्पादन किया और उन सेवाओं के माध्यम से मैंने बहुत विद्यार्थियों का जीवन और बहुत सी विद्यार्थियों को एक उत्पादन के रूप में मैंने चैलेंज के रूप में लिया और मैं उस पर शत-प्रतिशत सफल रहा हूं क्योंकि व्यवसाय का विकास तभी होगा जब आपका अपनी कटक के प्रति अपने व्यवसाय के प्रति अपनी सेवा के प्रति समर्पण होगा सब कुछ छोड़कर आपको उधर अपने आप को समर्पित करना होगा तन से मन से धन से ज्ञान से बुद्धि से बल से विवेक से अनैतिक तरीके से तो मैं अपने आपको एक अच्छा मैनेजमेंट के रूप में मानता रहा हूं मानता हूं मानूंगा और देखिए मैं ज्यादा बड़ी बात नहीं करना चाहूंगा कि आप कहेंगे अपनी अपनी बड़ाई खुद कर रहे हैं मैं जब तक मुझे चैन नहीं पड़ता जब तक मैं अपने लक्ष्य को हासिल नहीं कर लेता मैं आज की घटना बताना चाहूंगा आज कल रात से क्वेश्चन आने जो थे वह बंद हो गए मैंने सौरव जी को दो बार फोन किया जो एक तरफ से बोल कर के कर्ताधर्ता है कि सब्जी दुख हुआ जो हमारे पास पैसे नहीं आ रहे हैं सर जी मेरी को मदद की और क्वेश्चन चक डे टुडे आंसर देने से बचें अगर मेरे पास है तुम मेरे प्रश्नों के उत्तर देने से अगर किसी की समस्या का निदान होता है तो मुझे बहुत खुशी होती है मुझे मेरी सेवा को लेकर अपने जीवन में बदलाव लाए अपने जीवन में परिवर्तन ना अपने जीवन को विकासशील बनाए तो मुझे खुशी होगी कि मैं भी उसमें एक शेयर फोल्डर हूं और यही सोचकर मैं हर तरह के स्तर को हर तरह की समस्या का निदान करने के लिए क्या देता हूं चाहे वह सामाजिक व आर्थिक उन्नति को या राजनीति को बिल्कुल स्पष्ट शब्दों में में बात कहना पसंद करता हूं कुछ लोग उसे लागू करते हैं मानते हैं और कुछ लोग उसको अनसुना कर देते हैं अनदेखा कर देते हैं मनमानी निर्णय ने टैटू की फोटो क्यों मिटा सुनते हैं हम के शिकार हो जाते क्या सही और क्या गलत
URL copied to clipboard