#खेल कूद

bolkar speaker
आपके हिसाब से इस बार आईपीएल में कौन सी टीम जीतेगी?aapake hisaab se is baar aaeepeeel mein kaun see teem jeetegee
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
1:20

#खेल कूद

bolkar speaker
शादियों को भी चुनावी रैलियों की तरह आयोजन की छूट मिलना चाहिए?Shaadiyo Ko Bhi Chunavi Ralliyo Ki Tarah Aayojan Ki Chhut Milna Chahiye
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
1:19

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
रंगों का क्या महत्व है ?Rango Ka Kya Mahatv Hai
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
1:14

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
यूपी में कितने जिले हैं?Up Mein Kitne Jile Hai
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
0:38

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
किस आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दायर किया जा सकता है?Kis Adhar Par Deshadroh Ka Mukadma Dayar Kiya Ja Sakta Hai
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
2:05

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
भारत के राष्ट्रपति का कितना वेतन होता है?Bharat Ke Rashtrapati Ka Kitna Vetan Hota Hai
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
0:26

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या खुश रहने के लिए शादी नही करनी चाहिए?Kya Khush Rehne Ke Liye Shadi Nhi Karni Chahiye
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
2:30

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या चेहरा देख कर प्यार करना सही है?Kya Chehra Dekh Kar Pyaar Karna Sahi Hai
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
1:55

#रिश्ते और संबंध

Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
1:00

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
किन किन परिस्थितियों में मनुष्य की मति भ्रष्ट हो जाती है?Kin Kin Paristhitiyon Mein Manushya Ki Mati Bhrasht Ho Jati Hai
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
1:24

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या सोशल मीडिया पर अंकुश लगाना जरूरी है?Kya Social Media Par Ankush Lgana Jaruri Hai
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
1:58

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
दिल्ली की राजधानी क्या है?Delhi Ki Raajdhani Kya Hai
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
0:46

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
बंगाल चुनाव में कौनसी पार्टी जीत दर्ज कर सकती है आपकी राय बताएं।?Bengal Chunaav Mein Kaunsi Party Jeet Darj Kar Sakti Hai Aapk Raay Bataye
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
2:42

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
1000 मीटर में कितने फुट होते हैं?1000 Metre Mein Kitne Foot Hote Hai
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
0:22

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
1000 कदम में कितने किलोमीटर होते हैं?1000 Kadam Mein Kitne Kilometre Hote Hain
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
0:15

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
1 पसेरी में कितने किलो होते हैं?1 Paseri Mein Kitane Kilo Hote Hain
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
0:38

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
1 कुंटल में कितने मन होते हैं?1 Quintal Me Kitne Man Hote Hai
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
0:34

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
मोबाइल में पानी चला जाए तो क्या करें?Mobile Mein Paani Chala Jaye To Kya Karein
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
1:29

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
10 क्विंटल में कितने किलो होते हैं?10 Quintal Me Kitne Kilo Hote Hain
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
0:25

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
1 किलोमीटर में कितने कदम होते हैं?1 Kilometer Me Kitne Kadam Hote Hai
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
1:00
नमस्कार दोस्तों जैसा कि प्रश्न में पूछा गया है 1 किलोमीटर में कितने कदम होते हैं तो दोस्तों कदम सब के बड़े या छोटे होते हैं और जो एक ही कभी एक जैसा कदम नहीं रखते हैं क्योंकि बड़े नीतियों को भी अगर हम जो एक लिखित क्योंकि वही दूरी अगर 1 किलोमीटर हम दौड़ के नाते हैं तो फिर हमारा कदम कुछ और आता है लेकिन अगर वही हम पैदल चलते हैं तो फिर हमारा कदम कुछ और ही आता है क्योंकि दौड़ के जाने में हमारा कदम लंबा पड़ता है और जो है कि वह उसमें कदम कमाते हैं लेकिन जब हम पैदल जाते हैं तो फिर वही कदम हमारे जो एक ही अधिक हो जाते हैं लेकिन जहां तक मेरा अनुमान है कि 1 किलोमीटर में अधिकतम 900 से 1000 मीटर कदम ही होंगे उससे अधिक नहीं होंगे लेकिन अगर जो एक ही हमारे हिसाब से अगर हम अपनी बताया तो फिर मिले लगभग जो एक ही आठ से नौ सौ कदम नहीं होंगे उससे अधिक नहीं होते हैं

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या पीएम मोदी के कार्यकाल में भारत बदल रहा है?Kya Pm Modi Ke Karyakal Me Bharat Badal Raha Hai
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
1:56
हेलो दोस्तों जैसा कि प्रश्न में पूछा गया है क्या पीएम मोदी के कार्यकाल में भारत बदल रहा है तो दोस्तों यह बिल्कुल ही सही बात है कि प्रधानमंत्री मोदी के कार्यकाल में भारत का पूरी तरह से नक्शा बदल गया है और जैसा कि आप देख रहे हैं कि हमारे देश में जो का काफी विकास हुआ है और जुए की बहुत सारी नई नई परियोजनाएं आई है और जो एक ही बहुत सारी योजनाएं चलाई गई है जो कि हमारे किसानों के लिए या फिर आम पब्लिक के लिए या फिर सभी के लिए जो एक ही सही साबित हो रही है जैसे कि वन नेशन वन राशन कार्ड के तहत ऐसा क्या देख रहे हैं लगभग जो है कि सभी 29 राज्यों को जोड़ दिया गया है और जो एक ही उसमें से जो एक गरीब परिवार वालों को काफी जो है कि अब सुविधा होगी क्योंकि वह जो है कि जैसा कि आप देख रहे कि यूपी बिहार वाले बहुत ज्यादा लोग ऐसे होते हैं जो कि कमाने के लिए मुंबई निकल जाते हैं दिल्ली चले जा फिर वहां जाकर उनको दिक्कत होती है लेकिन वन नेशन वन राशन कार्ड के तहत यह रहेगा वहां पर भी अपने ही राशन कार्ड से राशन ले सकेंगे उनको दौड़ने की जरूरत नहीं रहेगी और जैसा कि आप देख रहे कि हमारे भारतीय सेना में भी काफी कुछ भी माने शामिल हो चुके हैं जैसे कि अपाचे हुए चीनी में खो गए और जो एक की असाल्ट राइफल हो गया तो फिर अजमेर की कारा फेल हो गया काफी जो है कि हमारे सेना का भी भला जो एक ही मजबूत हो गया है और हमारे देश का बॉर्डर भी जो है कि अभी चाय कॉफी सुरक्षित हो गया है तो फिर मोदी के आने के कार्यकाल में बदलाव तो हो ही रहा है और होना भी चाहिए मोदी सरकार ने हमारे भारत के लिए जो भी कार्य किए हैं वह काफी सराहनीय है और बहुत ही अच्छे हैं

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
सरकार किसान की बातों को क्यों नहीं मान रही है?Sarkar Kisan Ki Baaton Ko Kyun Nahi Maan Rahi Hain
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
4:59
नमस्कार दोस्तों जैसा कि प्रश्न में पूछा गया है सरकार किसानों की बातों को क्यों नहीं मान रही है तो दोस्तों सरकार की मजबूरी है क्योंकि जो है कि बिल पास हो चुका है और बिल पास होने के बाद जो किसान भाई लोग आंदोलन कर रहे हैं अगर रवि को उस आंदोलन को मान लिया जाता है तो फिर यह जो है कि सरकार को झुकना पड़ेगा कि बहुत ही ज्यादा नुकसान हो सकता है क्योंकि आने वाले समय में आप देख ही रहे हैं कि लोगों की मानसिकता किस तरह की हो रही है और कैसे बदल देंगे तो अगर जो है कि भाजपा की सरकार है और ऐसा क्या देख रहे हैं कि पूर्ण बहुमत की सरकार है और इतनी बड़ी पार्टी लेकर अगर दोस्ती सरकार हम तो एक ही सूख जाती है तो फिर देश पर क्या असर पड़ेगा और जो एक हमारे देश की भी बदनामी होगी और जो है कि इससे फिर यह रहेगा कि जो भी है ट्रांसपोर्ट वाले बैंक वाले टीचर या फिर ऐसे कीजिए आया था या फिर जो है कि यह तीन तलाक बिल आया था तो फिर भी लोग विरोध करने लगे तो फिर इतनी भी जो है कि उनको बात माननी पड़ेगी तो इसके पीछे एक कारण नहीं है इसके पीछे देखो कारण है जिसकी वजह से सरकार किसानों की बात नहीं मान रही है क्योंकि अगर जो है कि सरकार है बात मान लेती है तो फिर कल को अगर हमारे मुस्लिम भाई लोग भी अगर ऐसे ही रोएगी उतर गया रोड पर की तीन तलाक बिल को खत्म करके तो फिर सरकार को भी उनके सामने झुकना पड़ेगा नहीं तो फिर यह जो एक ही जाति धर्म के नाम पर लोगों को भड़काना शुरू हो जाएगा और यह मुद्दा बहुत ही बड़ा हो जाएगा और नरेश की अभी जो एक ही अगर मान लीजिए कि बैंक के कर्मचारी हैं और जो एक ही आवाज मार सरकारी टीचर भाई लोगों अगर जो एक ही यह भी जीत के आगे कि हमारी सैलरी बढ़ाई है तो फिर सरकार क्या करेगी क्योंकि इस समय अर्थव्यवस्था दिखी रहे हैं कि सरकार के पास जो है अर्थव्यवस्था पूरी तरह से खराब हो चुकी है तो है ना कल में इतने दिनों तक सब कुछ बंद रहना लेकर बात है जो एक ही सुधारने में थोड़ा समय लगेगा और जिसकी वजह से जो है कि अगर सरकार झुकती है तो फिर इससे सरकार को बहुत बड़ा जो एक ही दिक्कत पैदा हो सकती है और इसी का यही कारण है कि सरकार जो है कि किसानों के सामने झुकना नहीं चाहती है आज इंजॉय की किसान इसका मतलब सरकार जो है कि इस पर भी तो राजी है कि उसमें जो भी त्रुटि है जो मतलब की है कि उसमें जो है कि न्यूनतम निमृत है करने की वह किसान मतलब सरकार उसमें संशोधन करना चाहती है तो फिर उसको संशोधन करके उसको लागू रहने दे लेकिन हमारे किसान भाई लोग जो है क्या सजा नहीं थे जबकि वह चोरी किए जा रहे हैं कि पूरी तरह से खत्म होने की पूरी तरह से खत्म करने में पूरे देश की बदनामी होगी और जो है कि हमारे फिर संविधान का महत्व है क्या रह जाएगा क्योंकि फिर इसके बाद जो है कि अगर सरकार ऐसे झुकने लगी लोगों के सामने तो फिर बहुत ही ज्यादा जुड़े की दिक्कत पैदा हो जाएगी आने वाले समय में और जो है कि जिसको भी कोई अपना काम निकलवा ना रहेगा वह जो है कि यह सब अपना जो एक संगठन बनाकर और जो है कि ऐसे ही गर्म करने लगेंगे आंदोलन तो फिर कैसे चलेगा लेकिन जो है कि हमारे किसान भाई लोग एक काम बहुत ही गलत कह रहे हैं कि वह जगह थी जो कि बसों को रोक रहे हैं और जो कि रोड पर चक्का जाम कर रहे हैं ट्रेन रोक रहे हैं यह बहुत ही गलत बात है जबकि हमारे संविधान में लिखा गया है कि आप जो है कि कर सकते हैं आंदोलन लेकिन आंदोलन एकदम शांतिपूर्ण रहेगा और सरकारी चीजों के किसी भी प्रकार की कोई जो है कि त्रुटि नहीं होनी चाहिए लेकिन जो है कि हिंदुस नियमों का उल्लंघन किया जा रहा है और चूहे की देख रहे ट्रेनें रद्द हो जा रही है ट्रेनों को रोक दे रहे हैं और जो है कि रोड जाम कर दे रहे हैं भारत बंद का ऐलान करें तो फिर इसमें दोस्तों नुकसान किसका है क्योंकि भारत अगर जो इसे आप बंद करोगे काम धंधे ज्यादा नहीं करोगे तो फिर आपके पास पैसा नहीं आएंगे पैसे देंगे तो फिर उस दिन में जो एक ही दिक्कत किस को होगी आम इंसान को ही होगी इसलिए दोस्तों जो एक ही आप खुद समझदार है और जो एक ही आप अपने माइंड से सोचिए कि क्या हमारे लिए सही है और क्या गलत है सरकार जो भी बिल नहीं है तो फिर वह ऐसे ही नहीं पास हुआ है संसद में पास हुआ है तो फिर उसी को जोड़े की काफी लोगों ने जो हमारे लिए तो वह लोग होते हैं वह जाकर सलाह दे तो वह सब चीजों को देखते हैं पढ़ते हैं अभी जो है कि वह पास होता है बड़े-बड़े अधिकारी लोग बैठ के उस पर निर्णय लेते हैं तो फिर उनका निर्णय गलत नहीं हो सकता है तो फिर इस दिल को हम गलत नहीं कह सकते

#भारत की राजनीति

Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
1:33
हेलो दोस्तों जैसा कि प्रश्न में पूछा गया है क्या इतनी कड़ी सुरक्षा के बावजूद ममता बनर्जी के पैर पर कोई गाड़ी चढ़ाने की कोशिश कर सकता है तो दोस्तों ऐसा कुछ भी नहीं है और यह तो राजनीति है और जैसा कि आप देख रहे हैं कि चुनावी माहौल चल रहा है और चुनाव जीतने के लिए लोग कुछ भी करते हैं जैसा कि अभी जो है क्या देख रहे हैं कि ममता बनर्जी के पैर में जुए के चोट लगी थी और प्लास्टर भी लगा हुआ था लेकिन आप देख रहे हैं कि अगले ही दिन जो है कि प्लास्टर कट के धर्म पट्टी लग जाता है तो जो है कि जब एक ही नहीं हुआ तो थोड़ा प्लास्टर लगा कि तू दोस्तों जो एक ही है राजनीति में सब कुछ संभव है क्योंकि जो है कि अगर ऐसा नहीं करेंगे तो फिर उन्हें वोट नहीं मिलेगा अगले फ्लाइट बढ़ाने के लिए राजनीति में आम बात हो जाती है और कोई भी हो जाएगी अपने फायदे के लिए जनता को गुमराह करना चाहता है इसीलिए जो है कि यह सब कर रही है और इतनी कड़ी सुरक्षा के में जो है कि किसी की हिम्मत नहीं है कि वह जाकर उन्हें जो है कि गाड़ी चलाने की कोशिश करें और जबकि वहां जो एक ही चुनाव आयोग का भी जो वीडियो सामने आया था और जो वहां के कैमरा उसमें साथ भी दिखाया गया है क्या ऐसी कोई भी बात नहीं थी और जो है कि यह इनकी ही गलती से इन को चोट लगी थी

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
शरीर की सबसे मजबूत हड्डी कौन सी है?shareer kee sabase majaboot haddee kaun see hai
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
0:56
नमस्कार दोस्तों जैसा कि प्रश्न में पूछा गया शरीर की सबसे मजबूत हड्डी कौन सी होती है तो दोस्तों अगर जो इसे हम बात करें सबसे मजबूत हड्डी की तो सबसे मजबूत हड्डी होती है वह हमारी जो एक ही मुंह में जबड़े की मानी जाए जिसकी मानी जाती है या फिर जो है कि जो हमारे रीढ़ की हड्डी होती है उसे इसकी सबसे मजबूत हड्डी कहा जाता है रीढ़ की हड्डी को ही सबसे मजबूत हड्डी कहा जाता है क्योंकि बिना रहने के जैसी आंखें कुछ भी नहीं कर सकते हैं क्योंकि जब आप साइड से हटके जरा सी भी प्रॉब्लम होती है तो फिर हमने बहुत ही अधिक प्रॉब्लम हो जाती है और हम अच्छे से चल फिर भी नहीं सकते हैं ना ही तो खड़े हो सकते हैं इसलिए स्वस्थ रहने के लिए हमें हमारी रीढ़ की हड्डी सही होनी बहुत ही आवश्यक होते हैं

#भारत की राजनीति

Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
0:26
नमस्कार दोस्तों जैसा कि प्रश्न में पूछोगे एक सामान्य मनुष्य दिन की अवस्था धड़कन कितनी होनी चाहिए तो दोस्तों जैसा कि हम जानते हैं कि तुम्हारे मनुष्य का जो तिल होता है वह अगर सामान्य रहता है तो सामान्य स्थिति में वह 1 मिनट में कम से कम 72 बार जो है कि धड़कता है यह कभी-कभी उससे ज्यादा या कम भी होते हैं

#खेल कूद

bolkar speaker
क्रिकेट खेल में कितने खिलाड़ी होते हैं?Cricket Khel Me Kitne Khiladi Hote Hai
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
1:10
नमस्कार दोस्तों जैसा कि प्रश्न में पूछा गया है क्रिकेट खेल में कितने खिलाड़ी होते हैं तो दोस्तों क्रिकेट टीम में एक टीम में 11 खिलाड़ी होते हैं और दूसरी टीम में 11 खिलाड़ी होते हैं टोटल एक मैच में 22 खिलाड़ी खेलते हैं लेकिन जो है क्या अगर झूठ टीम है जो एक ही में खेलने के लिए अलाउंस की जाती है वह टीम जो है कि 15 लोगों की टीम अलाउंस की जाती है उसमें जो एक ही गिरा नहीं है बल्कि 15 नाम होते हैं वह होते इसलिए है कि अगर खेल के दौरान किसी खिलाड़ियों को चोट लग गई और उसे अगर बाहर जाना पड़ा तो फिर जिस से खिलाड़ी का नाम उस 15 खिलाड़ी के रूप में मतलब कि 11:00 के बाद वाले के रूप में रहेगा वह जो है कि वहां पर आकर उसके जगह जो है कि मीटिंग करेंगे और फील्डिंग करेंगे इसलिए दोस्तों जो है कि वह जब भी खिलाड़ियों का चयन होता है तो फिर खेलते तो 11 लोग हैं लेकिन जो एक ही उसमें नाम 15 लोगों का ही आता और जो है कि जो परिवार रहते हैं वह 15 को जो एक ही मिलते हैं क्योंकि उनका भी नाम उसमें शामिल होता है

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
अगर भाजपा न होती तो इस देश का क्या होता?Agar Bhajpa Na Hota Toh Is Desh Ka Kya Hota
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
3:43
हेलो दोस्तों जैसा कि प्रश्न में पूछा गया है अगर भाजपा ना होती तो क्या होता है इस देश का तो दोस्तों ऐसी कोई भी बात नहीं है पार्टी कोई भी हो वह आती है और जाती है पार्टी कोई भी हो हमेशा जो है जो राज्य करने के लिए नहीं आती कोई भी पार्टी आती है 5 साल 10 साल रहेगी चली जाएगी और जैसा की अभी जो है कि इससे पहले तो दिख रहे थे कि भाजपा से पहले कांग्रेसका और कांग्रेस में आज से नहीं बहुत सालों से है लगभग जो 16570 साल लेकर कांग्रेस ने राज्य किया तो क्या इससे पहले देश नहीं चल रहा था तो दोस्तों ऐसी कोई भी बात नहीं है कि भाजपा नहीं आई होती तो इस देश का क्या होता है दोस्तों इससे पहले इसी जो एक ही देश जल रहा था और सब कुछ अच्छे से भी चल रहे थे पेट्रोल के दाम हमें जो है कि बचपन ₹65 में ₹60 में मिल जाते थे और जो है कि आज ही देख रहे हैं कि तेल हमारे जो है कि ₹90 लीटर मिल रहा है और पेट्रोल डीजल का नाम भी धनराज अधिक भाग गया है और अगर हम मंगाई देखे तो मंगाई हमारी बहुत ही अधिक बढ़ गई है वह चाहे पेट्रोल-डीजल हो चाहे सरसों के तेल हो या फिर आप एलपीजी गैस का ही ले लीजिए क्योंकि जो 1 ईयर पीजी भेजो कि हमने साडे चार तो ₹500 का ही मिलता था वह जो है कि हमें आज जो है कि 800 साडे ₹800 ₹900 का लेना पड़ रहा है क्योंकि उनकी सरकार कुछ दिन तो सब्सिडी के नाम पर जो एक ही दिन के ₹300 सब्सिडी मिलते थे ढाई सौ रुपए ₹300 लेकिन अब तो सब्सिडी भी बंद हो गई है और जो एक ही सब्सिडी बंद करके डायरेक्टली हम लोग को जो एक ही 400 500 का जहां पर हम लोग को गणेश मिलता था वह 800 900 का लेना पड़ रहा है तो हर चीज में महंगाई रही है तो दोस्तों अगर जो है कि मुझे भाजपा आया तो महंगाई आई हो तो मुझे मनाई बढ़ाइए सरकार जीएसटी लाइए तो जीएसटी से जो है कि सरकार के पास जब अधिक धन जा रहा है तो फिर जाहिर सी बात है कि सरकार कार्य तो आधी करेगी क्योंकि जो है कि अगली सरकार ज्योति तो फिर जीएसटी नहीं था और जो एक की टैक्स चोरी थी बहुत ही अधिक होता था इसलिए जो है कि कोई जमा नहीं करनी ना करता था इसलिए जो एक ऐसी सरकार के पास इतना बजट ही नहीं था कि वह जो है कि कुछ करे करे करे करे या फिर उस पर विचार भी कर सके लेकिन आज जो है कि जैसे कि भाजपा आई है तो फिर जब से जीएसटी आगया है तो सरकार के पास इतना पैसा है कि सरकार जो है कि नए नए योजनाएं शुरू कर सकती है नए जो है कि हमारे देश में हथियार ला सकती है और चूहे की नई योजनाओं को शुरू कर सकती है तो फिर इसलिए दोस्तों जो है कि अब अच्छा कार्य हो रहा है लेकिन जो है कि ऐसी कोई बात नहीं है कि अगर अगली सरकार होती तो फिर से हालात इतने बुरे होते क्योंकि सरकार जो भी होती है वह हमेशा जो एक ही जनता के हित के लिए ही सोचती है और जो है कि उसके हित के लिए ही कार्य करती है इसलिए यह कहना बिल्कुल भी गलत होगा कि भाजपा नहीं होती इस देश का क्या होता है क्योंकि देश पहले भी था भाजपा आज है और कल को नहीं रहेगी क्योंकि जो है कि कोई भी पार्टी है क्योंकि जनता जो है कि वह परिवर्तन चाहती है कि हर साल की औरत 10 साल में परिवर्तन होना ही होना है क्योंकि जनता है जो है कि वह कभी एक पर निर्भर नहीं रह सकती है इस पर निर्भर जब भी आप रहोगे तब जो है कि हमेशा आप परेशान रहोगे इसलिए आपको जो एक ही दूसरों को भी अवसर देना चाहिए उसकी भी रणनीति को समझना चाहिए इसलिए दोस्तों कोई भी सरकारों से जो है कि 10 साल में ही देना चाहिए और फिर उसके बाद तो अगली सरकार को भी मौका देना चाहिए

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
1 घंटे में कितने सेकंड होते हैं?1 Ghante Mein Kitne Second Hote Hai
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
0:41
नमस्कार दोस्तों जैसा कि प्रश्न में पूछा गया 1 घंटे में कितने सेकंड होते हैं तो दोस्तों जैसा कि सबको पता है कि 1 घंटे में 60 मिनट होते हैं और क्यों है कि 60 मिनट फोन 1 घंटे कहते हैं और जो 1 की 1 मिनट में 60 सेकंड होते हैं और उस हिसाब से अगर अंतर्गत 1 दिन में हमारे 24 मतलब 1 घंटे में हमारे जो है कि 60 मिनट होते हैं और जब हम 60 मिनट का जो है कि सेकंड करते हैं तो वह जो है कि हमारे 36 वर्ष होता है 1 घंटे में 36 सेकंड होते हैं

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
हमें कितने घंटे सोना चाहिए?Hume Kitne Ghante Sona Chahiye
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
2:53
नमस्कार दोस्तों जैसा कि प्रश्न में पूछा गया है हमें कितने घंटे सोना चाहिए तो दोस्तों अगर यह है कि वह आप के टाइम पर ही डिपेंड करता है और जो है कि आपको के वर्क पर डिपेंड करता है कि आप कैसा वर्क करते हैं और जो देखी कितना आपको समय मिल पाता है सोने के लिए लेकिन जो है कि जो भी हमारा सोने का सही समय है वह समय होता है कि हमारा जो एक ही है 8 घंटे में पड़े सुनना चाहिए और जहां तक कोशिश करनी चाहिए कि हम रात को जल्दी सोए और सुबह में जल्दी उठे क्योंकि रात को जो एक ही जवाब दो 10:00 बजे तक सो जाते हैं तो फिर आप और में ही 4:05 बजे उठ जाएंगे तो फिर आपको नींद भी पूरी हो जाएगी और सुबह काम का जो पर्यावरण होता है जो होता है वह काफी जो है कि अच्छा होता है उस समय में प्रदूषण बहुत ही कम होते हैं और जो है कि आप और खुली समस्त अच्छी सांस ले सकते हैं और इससे हमारे शरीर को काफी ज्यादा जो एक ही सहायता मिलती है और घोड़े की हमें अच्छी नींद लेने से अगर जो 18 चलते 8 घंटे हो जाए और सोते हैं तो फिर आपका यूनिटी सिस्टम भी बहुत अच्छे से बना रहता है और जो है कि आपका आपका शरीर भी नहीं एकदम स्वस्थ और नॉर्मल है समझ में आता है नहीं तो अगर आप जो है कि हम सोते हैं जो 3000 घंटे सोएंगे तो फिर आपका काम में भी मन नहीं लगेगा और जब भी आपको कोई काम करने जाएंगे हमेशा आपको थकावट जैसा मजबूत होगा तो दोस्तों इसीलिए तो एक ही है कि आप जितना हो सके उतना जो आपको सोना चाहिए और जो एक ही 6 से 8 घंटे कम से कम तो 6 घंटे आप को मिनिमम में सोना ही चाहिए क्योंकि उससे कम सुनने पर शरीर में हमेशा थकावट बनी रहती है और दिमाग में चोरी की जैसे कि जब हम बोलते हैं सर दर्द करना तो सर दर्द भी हमारे जो है कि मुझे लगता है और यह हमारे शरीर पर काफी ज्यादा ही परेशानी का सबब होता है क्योंकि जो एक ही जब हमारा सर भारी होगा हमारी जो इनकी आंखें सही से नहीं चली जाओगी तो फिर हमारे काम में भी मन नहीं लगेगा और जो एक ही हमें काम करने की इच्छा भी नहीं होगी तो फिर इससे हमसे गलती भी अधिक होती है और जब हम जो एक ही चर्चा 8 घंटे अच्छे से सोए रहते तो फिर हमारा शरीर एकदम जो है कि नॉर्मल होता है और जो भी हम कार्य करते हैं वह बहुत ही अच्छे से करते हैं और जो एक हम भी कोई प्रॉब्लम नहीं होती है कम समय में हम अधिक कार्य को कर लेते हैं सुबह जल्दी उठने से हमारा फिटनेस भी सही होता रहता है और लोहे की वजह से हमारी विनती सिस्टम भी सही रहती है और इसलिए हमने कम से कम जो है कि 6 से 8 घंटे तो सोना ही चाहिए

#खेल कूद

bolkar speaker
सांध्य तारा के नाम से किसे जाना जाता है?Saandhy Taara Ke Naam Se Kise Jaana Jaata Hai
Ashvani Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ashvani जी का जवाब
Kheti
0:32
नमस्कार दोस्तों जैसा कि प्रश्न में पूछा गया सॉन्ग तारा के नाम से किसे जाना जाता है तो दोस्तों जब भी आते हैं कि इस गर्मियों के दिनों में अगर बद्री नहीं रहते जमात में सांप रहता है तो फिर जैसे ही सो रही हो कि नीचे हो जाते हैं और जब दिखाई देना बंद हो जाते हो इसलिए हमें एक चमकीला सातारा दिखाई देता है और जिसे हम सांग का तारा या फिर चमकीला तारा भी कहते हैं जिसका नाम है शायद इसी तरह को हम शांत का तारा कहते हैं
URL copied to clipboard