#जीवन शैली

bolkar speaker
क्या आप सकारात्मक सोच की शक्ति को समझा सकते हैं?Kya Aap Sakaartmak Soch Ki Shakti Ko Samjha Sakte Hain
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:39
सकारात्मक सोच की शक्ति को समझा सकते हैं यह सवाल है आपका सकारात्मक सोच बहुत जरूरी है सकारात्मक सोच से ही आदमी भागता है जो आदमी के अंदर नकारात्मक सोच आ जाती है तो उसका मनोबल टूटने लगता है वह किसी भी कार्य को करने में असफल होने लगता है जो सकारात्मक सोच बहुत जरूरी है इंसान को बिना सकारात्मक सोच के वो कभी भी आगे नहीं बढ़ सकता
Sakaaraatmak soch kee shakti ko samajha sakate hain yah savaal hai aapaka sakaaraatmak soch bahut jarooree hai sakaaraatmak soch se hee aadamee bhaagata hai jo aadamee ke andar nakaaraatmak soch aa jaatee hai to usaka manobal tootane lagata hai vah kisee bhee kaary ko karane mein asaphal hone lagata hai jo sakaaraatmak soch bahut jarooree hai insaan ko bina sakaaraatmak soch ke vo kabhee bhee aage nahin badh sakata

#जीवन शैली

umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:53
आपका सोच बहुत ही सही है इससे तो हमारे शरीर को लाभ ही लाभ मिलेगा अगर साइकिल हम लोग चलाएं तो हमारी अभी कम लगेगी क्योंकि शरीर का व्यायाम होता है सर कल से लेकिन आज के इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में गाड़ी का भी महत्व उतना ही ज्यादा कर गाड़ी नारायण कितने का मटन जाने जाते हैं आज के समय में इंसान के पास समय नहीं है उसको कोई भी काम करने के लिए इतनी भी जल्दी हो जाओ इतने अच्छे हैं सब लोग इसी लिए गाड़ी का सहारा लेते हैं कि मेरा कब जल्दी से निपट गया तो कार्ड की फोटो कॉपी ना कर सकते
Aapaka soch bahut hee sahee hai isase to hamaare shareer ko laabh hee laabh milega agar saikil ham log chalaen to hamaaree abhee kam lagegee kyonki shareer ka vyaayaam hota hai sar kal se lekin aaj ke is bhaag daud bharee jindagee mein gaadee ka bhee mahatv utana hee jyaada kar gaadee naaraayan kitane ka matan jaane jaate hain aaj ke samay mein insaan ke paas samay nahin hai usako koee bhee kaam karane ke lie itanee bhee jaldee ho jao itane achchhe hain sab log isee lie gaadee ka sahaara lete hain ki mera kab jaldee se nipat gaya to kaard kee photo kopee na kar sakate

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
हमारी विनम्रता को कब हमारी कमजोरी समझा जाने लगता है?Humari Vinamrata Ko Kab Humari Kamjori Samjha Jaane Lagta Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:42
हमारी विनम्रता को कब हमारी कमी को भी समझा जाने लगता है जब हम निरंतर विमर्श विनम्र बने रहते हैं तो लोग उस को हमारी कमजोरी समझ में आ जाते हैं तो थोड़ी सी कठोरता भी लानी पड़ती है जैसा आदमी आपसे मिलता है जैसा व्यवहार करता है वैसा उसके साथ जो हर करना सरकार की नियति बन चुकी है और हमेशा भी नंबर रहने से हर कोई आप को कमजोर समझने लगता है तो जैसी स्थितियों व संदीप करें तो सारी समस्याएं दूर होंगी आपको कोई कमजोर नहीं समझेगा
Hamaaree vinamrata ko kab hamaaree kamee ko bhee samajha jaane lagata hai jab ham nirantar vimarsh vinamr bane rahate hain to log us ko hamaaree kamajoree samajh mein aa jaate hain to thodee see kathorata bhee laanee padatee hai jaisa aadamee aapase milata hai jaisa vyavahaar karata hai vaisa usake saath jo har karana sarakaar kee niyati ban chukee hai aur hamesha bhee nambar rahane se har koee aap ko kamajor samajhane lagata hai to jaisee sthitiyon va sandeep karen to saaree samasyaen door hongee aapako koee kamajor nahin samajhega

#जीवन शैली

bolkar speaker
क्या अपनी आवश्यकताएं कम कर देने से मन की शांति मिलना संभव है?Kya Apni Avashyaktaye Kam Kar Dene Se Man Ki Shanti Milna Sambhav Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:47
क्या आपने आवश्यकता है कम कर देना फिर मन की शांति मिलना संभव है कि आपका सवाल है नहीं ऐसा कभी नहीं हो सकता है शांति मिलती है जब आप कोई आवश्यकता नहीं समझा भी तो आपको शांति ओम शांति है लेकिन यह बात को मत बोलने की आवश्यकता ही आविष्कार की जननी आवश्यकता है ही नहीं रहेगी आविष्कार कहां से हो गई नए-नए आविष्कार होने के लिए आवश्यकता ओं का होना जरूरी है और जब टाइम जरूरी है हर इंसान में शाम हो जाएगी हम आवश्यकताओं से नहीं रखेंगे हमें शांति मिलेगी तो आविष्कार का होना मुश्किल हो जाएगा
Kya aapane aavashyakata hai kam kar dena phir man kee shaanti milana sambhav hai ki aapaka savaal hai nahin aisa kabhee nahin ho sakata hai shaanti milatee hai jab aap koee aavashyakata nahin samajha bhee to aapako shaanti om shaanti hai lekin yah baat ko mat bolane kee aavashyakata hee aavishkaar kee jananee aavashyakata hai hee nahin rahegee aavishkaar kahaan se ho gaee nae-nae aavishkaar hone ke lie aavashyakata on ka hona jarooree hai aur jab taim jarooree hai har insaan mein shaam ho jaegee ham aavashyakataon se nahin rakhenge hamen shaanti milegee to aavishkaar ka hona mushkil ho jaega

#रिश्ते और संबंध

umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
1:05
आपका गाना बहुत सही है शराफत और प्यार से बोलने वाले इंसान को लोग दर्द को समझते हैं समाज में रहने के लिए लोगों को थोड़ा सा अपने आपको एडवांस बनाना पड़ता है एडवांस लोगों की ज्यादा होती है क्योंकि आज का समाज दिखावे का समान हो गया है आज जो जितना ही दिखावा करेगा उसको उतना ही सम्मान मान मिलता है और जो प्यार से अब संगीता है उसको नोकदंगो समझते हैं यह हमारी गलतफहमी है जो शराफत से जीता है प्यार से बोलता है उसको मान सम्मान मिलता है ऐसी बात नहीं है कि हर आदमी को ऐसा नहीं होता किसी किसी के साथ कुछ करना है गाड़ी आती है
Aapaka gaana bahut sahee hai sharaaphat aur pyaar se bolane vaale insaan ko log dard ko samajhate hain samaaj mein rahane ke lie logon ko thoda sa apane aapako edavaans banaana padata hai edavaans logon kee jyaada hotee hai kyonki aaj ka samaaj dikhaave ka samaan ho gaya hai aaj jo jitana hee dikhaava karega usako utana hee sammaan maan milata hai aur jo pyaar se ab sangeeta hai usako nokadango samajhate hain yah hamaaree galataphahamee hai jo sharaaphat se jeeta hai pyaar se bolata hai usako maan sammaan milata hai aisee baat nahin hai ki har aadamee ko aisa nahin hota kisee kisee ke saath kuchh karana hai gaadee aatee hai

#भारत की राजनीति

umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:52
जी हां आपका कहना बिल्कुल सही है इस दुनिया में हर समस्या का समाधान है फिर भी सभी लोग को लगता है कि उसकी समस्याओं से पड़ता है कि जो का दुख सुख जाता है या हार जाता है किसी भी कार्य से तुम्हें समस्या बड़ी लगने लगती है और जो आदमी मैं हंसता है उसे कोई समस्या नहीं मुझसे कुछ छुपा समस्या का हल मिल जाता है ओके कोशिश करता है यह कोशिश करना छोड़ देंगे तो आपकी समस्या भारी पड़ जाएगी जब आप कोशिश करते रह जाएंगे तो आपकी समस्या हल हो जाएगी तो कोशिश करना है सबसे बड़ा मूल मंत्र है समस्याओं को दूर भगाने के लिए
Jee haan aapaka kahana bilkul sahee hai is duniya mein har samasya ka samaadhaan hai phir bhee sabhee log ko lagata hai ki usakee samasyaon se padata hai ki jo ka dukh sukh jaata hai ya haar jaata hai kisee bhee kaary se tumhen samasya badee lagane lagatee hai aur jo aadamee main hansata hai use koee samasya nahin mujhase kuchh chhupa samasya ka hal mil jaata hai oke koshish karata hai yah koshish karana chhod denge to aapakee samasya bhaaree pad jaegee jab aap koshish karate rah jaenge to aapakee samasya hal ho jaegee to koshish karana hai sabase bada mool mantr hai samasyaon ko door bhagaane ke lie

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या किसी रोग के निदान में मेडिकल उपचार के साथ-साथ ज्योतिषी राय भी महत्व रखती है?Kya Kisi Rog Ke Nidaan Mein Medical Upchar Ke Saath Saath Jyotishi Ray Bhe Mahatv Rakhti Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:42
मैं हमारे ख्याल से तो ज्योतिषी रहा है कोई भी महत्व नहीं रखती है ज्योतिषी रहस्य का सब कुछ हो जाता तो हमें मेडिसिन के पास जाने की क्या जरूरत थी मीरा मेडिकल के उपचार से हमने ठीक हो सकते जोधपुर आए थे तो कतई नहीं आ सकते इसको अपने मन की बहन को निकालने की ज्योतिषी से कुछ नहीं होने वाला है जब तक आप मेडिकली साथ नहीं देंगे कोई भी रोक बिना मेडिकल उपचार के मैं ठीक होने वाला चाहे वह आयुर्वेदिक हो या नफरत ही हो या हम लोग बैठे
Main hamaare khyaal se to jyotishee raha hai koee bhee mahatv nahin rakhatee hai jyotishee rahasy ka sab kuchh ho jaata to hamen medisin ke paas jaane kee kya jaroorat thee meera medikal ke upachaar se hamane theek ho sakate jodhapur aae the to katee nahin aa sakate isako apane man kee bahan ko nikaalane kee jyotishee se kuchh nahin hone vaala hai jab tak aap medikalee saath nahin denge koee bhee rok bina medikal upachaar ke main theek hone vaala chaahe vah aayurvedik ho ya napharat hee ho ya ham log baithe

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
कोई भी व्यापारी अपने व्यापार को ऊंचाइयों तक कैसे ले जा सकता है?Koi Bhi Vyapari Apne Vyapar Ko Unchaiyo Tak Kese Le Ja Sakta Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:52
आपका सवाल है कोई भी व्यापारी अपने व्यापार को ऊंचाइयों तक पैसे ले जा सकता है इसके लिए भाई आपको कठिन परिश्रम लगन जरूरत पड़ती है आपके अंदर लगन होनी चाहिए और कठिन परिश्रम करने की क्षमता होनी चाहिए जवाब किसी भी काम को मन लगाकर के करेंगे तभी उसमें आप सबसे सबसे जाऊंगी इसके लिए आपको ऊंचाइयों को पहुंचने के लिए बहुत ही कठिन परिश्रम की जरूरत पड़ती है और उसके साथ-साथ फौजी भी होनी चाहिए जब आपके पास मुझे पर्याप्त है आपका लगन से मेहनत से काम करेंगे तुम इतनी ऊंचाइयों तक जाएंगे
Aapaka savaal hai koee bhee vyaapaaree apane vyaapaar ko oonchaiyon tak paise le ja sakata hai isake lie bhaee aapako kathin parishram lagan jaroorat padatee hai aapake andar lagan honee chaahie aur kathin parishram karane kee kshamata honee chaahie javaab kisee bhee kaam ko man lagaakar ke karenge tabhee usamen aap sabase sabase jaoongee isake lie aapako oonchaiyon ko pahunchane ke lie bahut hee kathin parishram kee jaroorat padatee hai aur usake saath-saath phaujee bhee honee chaahie jab aapake paas mujhe paryaapt hai aapaka lagan se mehanat se kaam karenge tum itanee oonchaiyon tak jaenge

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
समय इतना महत्वपूर्ण क्यों है समय को बलवान क्यों कहा जाता है?Samay Itna Mahatvapurn Kyun Hai Samay Ko Balvan Kyun Kaha Jata Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:59
आपका सवाल है कि समय इतना महत्वपूर्ण क्यों है समय को बलवान क्यों कहा जाता है बता दी समय का महत्व हो ना इसलिए जरूरी है इसलिए महत्वपूर्ण होता है क्योंकि गुजरा हुआ समय फिर वापस नहीं आता यह 30 मिनट जो भी आपका समय व्यतीत होता जाता है फोटो बार आप को जन्नत में घूमकर नहीं आने वाला है इसलिए समय को बहुत महत्वपूर्ण माना गया है समय हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है उस समय बलवान होता है कभी आपने देखा होगा कि ना हो गाड़ी पर जाती है कभी गाड़ी नहीं दी जाती है यही समय को बर्बाद करने का तात्पर्य होता है समय एक जैसा नहीं रहता है उसमें परिवर्तन होते रहते हैं
Aapaka savaal hai ki samay itana mahatvapoorn kyon hai samay ko balavaan kyon kaha jaata hai bata dee samay ka mahatv ho na isalie jarooree hai isalie mahatvapoorn hota hai kyonki gujara hua samay phir vaapas nahin aata yah 30 minat jo bhee aapaka samay vyateet hota jaata hai photo baar aap ko jannat mein ghoomakar nahin aane vaala hai isalie samay ko bahut mahatvapoorn maana gaya hai samay hamaare lie bahut hee mahatvapoorn hota hai us samay balavaan hota hai kabhee aapane dekha hoga ki na ho gaadee par jaatee hai kabhee gaadee nahin dee jaatee hai yahee samay ko barbaad karane ka taatpary hota hai samay ek jaisa nahin rahata hai usamen parivartan hote rahate hain

#जीवन शैली

bolkar speaker
जब हम बोर होते हैं तब ऐसा क्यों लगता है कि समय और भी देर से बीत रहा है?Jab Hum Bor Hote Hai Tab Aisa Kyo Lagta Hai Ki Samay Or Bhi Der Se Beet Raha Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:43
आपका सवाल है कि जब हम बोर होते हैं तब ऐसा क्यों लगता है कि समय और भी देरी से लिख रहा है कि हमारे मानसिक विकार होते हैं समय तो अपने ही पति से चलता रहता है समय में कोई परिवर्तन नहीं होता कि हमारे मानसिक विकार होते हैं कि हमें ऐसा लगता है कि हां समय थोड़ा विलंब हो रहा है ऐसा कुछ नहीं होता समय अपने ही रफ्तार में चलता है और ना आगे चलता है ना पीछे चलता है वह अपनी एक गति से चलता रहता है कि हमारे मानसिक विकार होते हैं जिससे कि हमें लगता है मैं समय बहुत धीमा चल रहा है
Aapaka savaal hai ki jab ham bor hote hain tab aisa kyon lagata hai ki samay aur bhee deree se likh raha hai ki hamaare maanasik vikaar hote hain samay to apane hee pati se chalata rahata hai samay mein koee parivartan nahin hota ki hamaare maanasik vikaar hote hain ki hamen aisa lagata hai ki haan samay thoda vilamb ho raha hai aisa kuchh nahin hota samay apane hee raphtaar mein chalata hai aur na aage chalata hai na peechhe chalata hai vah apanee ek gati se chalata rahata hai ki hamaare maanasik vikaar hote hain jisase ki hamen lagata hai main samay bahut dheema chal raha hai

#खेल कूद

bolkar speaker
क्या मृत्य मोर को राष्ट्रीय ध्वज में लपेटकर दफनाया जाता है?Kya Mrity Mor Ko Rashtriya Dhvaj Mein Lapetkar Dafnaya Jata Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:24
आपको सवाल है क्या मृत्यु को राष्ट्रीय ध्वज में लपेटकर दफनाया जाता है ना यह बात सत्य है कि मृत मोर को राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे में लपेटकर में दफनाया जाता है क्योंकि वह हमारे देश का राष्ट्रीय पक्षी है इसलिए उसको तिरंगे में लपेटकर के दफनाया जाता है
Aapako savaal hai kya mrtyu ko raashtreey dhvaj mein lapetakar daphanaaya jaata hai na yah baat saty hai ki mrt mor ko raashtreey dhvaj tirange mein lapetakar mein daphanaaya jaata hai kyonki vah hamaare desh ka raashtreey pakshee hai isalie usako tirange mein lapetakar ke daphanaaya jaata hai

#खेल कूद

bolkar speaker
क्या आंदोलनरत किसानों के साथ बाकी किसान सहयोग नहीं कर रहे हैं?Kya Andolan Kishano Ke Sath Baki Kishan Sahayog Nahi Kar Rahe Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:43
हां आपका सवाल सही है कुछ छोटे मझोले जो किसान है वह किसान ज्योतिष के साथ में आंदोलनरत किसानों के साथ साथ नहीं दे रहे हैं कुछ लोगों की मानसिकता भी अलग होती है और कुछ लोगों को असली में इस बिल का ध्यान नहीं है इस कारण से साथ नहीं दे रहे हैं इसलिए हर इंसान को साथ देना चाहिए भारत में जितने भी लोग कहते हैं सब के ऊपर इसका असर पड़ने वाला है केवल पूंजी पतियों को छोड़कर कीकूची सब आगे बढ़ना चाहिए किसानों का साथ देना चाहिए
Haan aapaka savaal sahee hai kuchh chhote majhole jo kisaan hai vah kisaan jyotish ke saath mein aandolanarat kisaanon ke saath saath nahin de rahe hain kuchh logon kee maanasikata bhee alag hotee hai aur kuchh logon ko asalee mein is bil ka dhyaan nahin hai is kaaran se saath nahin de rahe hain isalie har insaan ko saath dena chaahie bhaarat mein jitane bhee log kahate hain sab ke oopar isaka asar padane vaala hai keval poonjee patiyon ko chhodakar keekoochee sab aage badhana chaahie kisaanon ka saath dena chaahie

#खेल कूद

bolkar speaker
अंतरिक्ष में कितने किलोमीटर तक पृथ्वी का गुरुत्वाकर्षण रहता है?Antariksh Mein Kitne Kilometre Tak Prithvi Ka Gurutwakarshan Rehta Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:18
अंतरिक्ष में कितने किलोमीटर तक बच्चे का गुस्सा कर सो जाता है कि आपका सवाल है करीब करीब 25 किलोमीटर तक तेरा गुस्सा करना पड़ता है
Antariksh mein kitane kilomeetar tak bachche ka gussa kar so jaata hai ki aapaka savaal hai kareeb kareeb 25 kilomeetar tak tera gussa karana padata hai

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
क्लोरोफिल केवल पौधों में ही क्यों उत्पन्न होता है?Chlorophyll Keval Paudhon Mein He Kyun Utpann Hota Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:54
आपका सवाल है कि तुम बोलो क्यों केवल फोटो नहीं क्यों उत्पन्न होता है मेरे भाई यह प्राकृतिक देन है यह प्रकृति ने उनको दिया है क्योंकि वह आज स्थाई अस्थाई रूप से स्थिर रहते हैं वह हमारी तरह चल खेल नहीं पाते तो उनके लिए बहुजन कहां से आएगा भोजन बनाने के लिए स्वीकृत एवं को वरदान के रूप में क्लोरोफिल दिया हुआ है हम यहां या और भी कोई है जो चल पुरानी है वह चल पुरानी होते हम लोग चल पुरानी में आते हैं तो हम लोग तो अपना चल करके कहीं ना कहीं से खाने का बंदोबस्त कर लेते हैं लेकिन वह अचार्य पुरानी है कोई जगह स्थिर रखते हैं उन कुलदीप खाने का बंदोबस्त कहां से होगा लाखों रुपयों के माध्यम से उठना खाना बना लेते हैं
Aapaka savaal hai ki tum bolo kyon keval photo nahin kyon utpann hota hai mere bhaee yah praakrtik den hai yah prakrti ne unako diya hai kyonki vah aaj sthaee asthaee roop se sthir rahate hain vah hamaaree tarah chal khel nahin paate to unake lie bahujan kahaan se aaega bhojan banaane ke lie sveekrt evan ko varadaan ke roop mein klorophil diya hua hai ham yahaan ya aur bhee koee hai jo chal puraanee hai vah chal puraanee hote ham log chal puraanee mein aate hain to ham log to apana chal karake kaheen na kaheen se khaane ka bandobast kar lete hain lekin vah achaary puraanee hai koee jagah sthir rakhate hain un kuladeep khaane ka bandobast kahaan se hoga laakhon rupayon ke maadhyam se uthana khaana bana lete hain

#रिश्ते और संबंध

umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:53
आपका सवाल है मनुष्य अपने आप मीटिंग में क्यों चला जाता है कि अतीत में जाना सही है इससे मिलता क्या है मेरे भाई मैं बता दो मनुष्य को अपने अतीत को देखकर ही चलना चाहिए उसने क्या गलत किया क्या सही किया उसे अल्लाह उसको अतिथि जाने के लिए बिना अनुभव की आप कोई भी कार्य करेंगे और सफल रहे थे तो आपको आशीष में झांक कर के देख लेना चाहिए कि कहां है आपने गलत किया कहां से आई पिया क्या किया तो किसका उसका परिणाम क्या मिला क्या नहीं दिया तो उसका परिणाम क्या मिला यह सबसे ज्यादा इतने साथ में से ही मिलती है अतीत में झांकना बहुत ही अच्छा बात है कल शाम को अपने अतीत को भूलना नहीं चाहिए
Aapaka savaal hai manushy apane aap meeting mein kyon chala jaata hai ki ateet mein jaana sahee hai isase milata kya hai mere bhaee main bata do manushy ko apane ateet ko dekhakar hee chalana chaahie usane kya galat kiya kya sahee kiya use allaah usako atithi jaane ke lie bina anubhav kee aap koee bhee kaary karenge aur saphal rahe the to aapako aasheesh mein jhaank kar ke dekh lena chaahie ki kahaan hai aapane galat kiya kahaan se aaee piya kya kiya to kisaka usaka parinaam kya mila kya nahin diya to usaka parinaam kya mila yah sabase jyaada itane saath mein se hee milatee hai ateet mein jhaankana bahut hee achchha baat hai kal shaam ko apane ateet ko bhoolana nahin chaahie

#जीवन शैली

bolkar speaker
जो लोग मन मार कर जीते हैं क्या वह जीवन को संतुलित रख पाते हैं?Jo Log Man Maar Kar Jite Hai Kya Vah Jiwan Ko Santulit Rakh Pate Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:49
जो लोग मन मार कर देते हैं प्यार व जीवन के संतुलित रख सकते हैं इस सवाल है आपका मैं बता दूं मन मार कर गिरने से जीवन को संतुलित रखने का कोई भी का उचित नहीं है मन मार कर देना एक गलत जीवनशैली है जिंदगी जीने के लिए रिमाइंड कर देना चाहिए खुशहाल जिंदगी जीना चाहिए मन मार के जीने से आप उचित हो जाते हैं और कुंठा में अब कोई व्यक्ति का नाम गलत या सही का फोन नहीं उठा सकते तो कितने मधीरा यही है कि आप खुशहाल रहें फ्री माइंड हो कर दीजिए वही असली
Jo log man maar kar dete hain pyaar va jeevan ke santulit rakh sakate hain is savaal hai aapaka main bata doon man maar kar girane se jeevan ko santulit rakhane ka koee bhee ka uchit nahin hai man maar kar dena ek galat jeevanashailee hai jindagee jeene ke lie rimaind kar dena chaahie khushahaal jindagee jeena chaahie man maar ke jeene se aap uchit ho jaate hain aur kuntha mein ab koee vyakti ka naam galat ya sahee ka phon nahin utha sakate to kitane madheera yahee hai ki aap khushahaal rahen phree maind ho kar deejie vahee asalee

#जीवन शैली

bolkar speaker
क्या बाहरी सिंगार से मनुष्य के आंतरिक व्यक्तित्व की पहचान की जा सकती है?Kya Bahari Singaar Se Manushy Ke Aantarik Vyaktitv Kee Pehechan Kee Ja Sakti Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:50
या बाहरी सिंगार से मनुष्य की आंतरिक व्यक्तित्व की पहचान की जा सकती है नहीं यह बात गलत है ऐसा नहीं हो सकता किसी के बाहरी फिनाल से आप उसके व्यक्तित्व की पहचान नहीं कर सकते आज का युग दिखावे गायब हो गया है लोग दिखावे के लिए सब कुछ कर हर एक इंसान अपने को दूसरे से श्रेष्ट बनाने के लिए उसको सिंगार का ही सहारा लेता है तो ऐसे में किसी की पहचान करना बहुत मुश्किल होता है किसी की पहचान करने के लिए तैयार रहना को या उनके विचारों को उनके कर्तव्य को देखना पड़ेगा तभी आप 29 दिन कब आएंगे
Ya baaharee singaar se manushy kee aantarik vyaktitv kee pahachaan kee ja sakatee hai nahin yah baat galat hai aisa nahin ho sakata kisee ke baaharee phinaal se aap usake vyaktitv kee pahachaan nahin kar sakate aaj ka yug dikhaave gaayab ho gaya hai log dikhaave ke lie sab kuchh kar har ek insaan apane ko doosare se shresht banaane ke lie usako singaar ka hee sahaara leta hai to aise mein kisee kee pahachaan karana bahut mushkil hota hai kisee kee pahachaan karane ke lie taiyaar rahana ko ya unake vichaaron ko unake kartavy ko dekhana padega tabhee aap 29 din kab aaenge

#जीवन शैली

umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:29
जी हां आपका सवाल बिल्कुल सही है कि प्रतिरक्षा विज्ञान के बारे में जागरूकता होना बहुत जरूरी है इससे बीमारी की संभावना शीशा में तो एक कदम भी पति कहा जा सकता है तो इसके विषय में लोगों को जागरूक होना चाहिए औरत कक्षा विज्ञान के विषय में जानकारी होनी चाहिए लोगों को बहुत अच्छी बात है
Jee haan aapaka savaal bilkul sahee hai ki pratiraksha vigyaan ke baare mein jaagarookata hona bahut jarooree hai isase beemaaree kee sambhaavana sheesha mein to ek kadam bhee pati kaha ja sakata hai to isake vishay mein logon ko jaagarook hona chaahie aurat kaksha vigyaan ke vishay mein jaanakaaree honee chaahie logon ko bahut achchhee baat hai

#जीवन शैली

umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:37
आपका सवाल है मैं अपनी जिद पूरी कर लेता हूं फिर भी आलस रहता है तो आलस को दूर करने का आपके पास पहुंच रहे हैं आलस्य को दूर करने का एक उपाय है आप थोड़ा थोड़ा सॉन्ग जानते होंगे शॉप मैंने थोड़ा सा उसको एक एक चम्मच पानी में उबालकर के उस होती है उससे आपका अलग से दूर होगा शरीर में स्फूर्ति आएगी
Aapaka savaal hai main apanee jid pooree kar leta hoon phir bhee aalas rahata hai to aalas ko door karane ka aapake paas pahunch rahe hain aalasy ko door karane ka ek upaay hai aap thoda thoda song jaanate honge shop mainne thoda sa usako ek ek chammach paanee mein ubaalakar ke us hotee hai usase aapaka alag se door hoga shareer mein sphoorti aaegee

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
संगीत सुनने का सबसे अच्छा इलेक्ट्रॉनिक माध्यम कौन सा है?Sangeet Sunne Ka Sabse Acha Electronic Madhyam Kaun Sa Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:39
संगीत सुनने का सबसे अच्छा इलेक्ट्रॉनिक माध्यम मोबाइल है मैं मानता हूं कि मोबाइल से अच्छा संगीत सुनने का माध्यम नहीं हो सकता इससे अच्छा कोई भी माध्यम हो सकता क्योंकि इसको आप जेब में रखकर के संगीत सुन सकते हैं इसके साथ-साथ आप जो भी कार्य करते हैं वह कार्य भी कर सकते हैं आपके घर में कोई बात आने वाली नहीं है आप उसको कहीं भी जहां भी रहे आपके साथ रहेगी आप का मनोरंजन करेंगी तो मैं मानता हूं कि मोबाइल से अच्छा संगीत सुनने का कोई साधन नहीं हो सकता
Sangeet sunane ka sabase achchha ilektronik maadhyam mobail hai main maanata hoon ki mobail se achchha sangeet sunane ka maadhyam nahin ho sakata isase achchha koee bhee maadhyam ho sakata kyonki isako aap jeb mein rakhakar ke sangeet sun sakate hain isake saath-saath aap jo bhee kaary karate hain vah kaary bhee kar sakate hain aapake ghar mein koee baat aane vaalee nahin hai aap usako kaheen bhee jahaan bhee rahe aapake saath rahegee aap ka manoranjan karengee to main maanata hoon ki mobail se achchha sangeet sunane ka koee saadhan nahin ho sakata

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
मोदी सरकार किसानों को फार्म बिल के बारे में समझने में असमर्थ क्यों है?Modi Sarkaar Kisano Ko Farm Bill Ke Baare Mein Samjhane Mein Asamarth Kyun Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:46
अगर सरकार द्वारा पास किया गया बिल सही है तो सरकार को सामने आना चाहिए इस किसानों के उसको समझाना चाहिए किसानों को इसका मतलब कि सरकार इस बारे में बात नहीं करना चाह रही है इसका मतलब सीधे-सीधे यही है कि यह जेल किसानों के हित में नहीं है तभी तो सरकार उस दिन के लिए कोई बात नहीं बोल पा रही है ना इस किसानों को समझा पा रही है और उसमें सच्चाई होती किसानों के हित में होता तो खड़े हो के साथ सरकार किसानों के सामने उनसे बात करती हमको समझाती यहां इस तरह से आपके लिए हितकारी है
Agar sarakaar dvaara paas kiya gaya bil sahee hai to sarakaar ko saamane aana chaahie is kisaanon ke usako samajhaana chaahie kisaanon ko isaka matalab ki sarakaar is baare mein baat nahin karana chaah rahee hai isaka matalab seedhe-seedhe yahee hai ki yah jel kisaanon ke hit mein nahin hai tabhee to sarakaar us din ke lie koee baat nahin bol pa rahee hai na is kisaanon ko samajha pa rahee hai aur usamen sachchaee hotee kisaanon ke hit mein hota to khade ho ke saath sarakaar kisaanon ke saamane unase baat karatee hamako samajhaatee yahaan is tarah se aapake lie hitakaaree hai

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
सरकार किसानों की मांग को क्यों नहीं मान रही है?Sarkaar Kisanon Ki Maang Ko Kyun Nahin Maan Rahe Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:56
आपका सरकार की सरकार किसानों की मांग को क्यों नहीं मांग रहे हैं तो मैं बता दो किसानों की मांग को सरकार इसलिए नहीं मान रही है क्योंकि सरकार को किसानों से ज्यादा फायदा है जो बिल पास किया गया है उसमें उसमें से सरकार को किसानों से ज्यादा फायदा है इसीलिए सरकार उस दिल को वापस नहीं मिलना चाह रहे हैं और इसमें कुछ पूजी पतियों का भी दबाव है सरकार के ऊपर कुछ मुझे पति भी है जो उसे दवा बना रहे हैं सरकार पर बराबर कि आप इस बिल को वापस ना लें क्योंकि उन्हीं के को ध्यान में रखकर कि सरकार ने बिल पास किया है इसी वजह से सरकार किसानों की मांग को नहीं मान रही है अपना बिल वापस नहीं ले गई है
Aapaka sarakaar kee sarakaar kisaanon kee maang ko kyon nahin maang rahe hain to main bata do kisaanon kee maang ko sarakaar isalie nahin maan rahee hai kyonki sarakaar ko kisaanon se jyaada phaayada hai jo bil paas kiya gaya hai usamen usamen se sarakaar ko kisaanon se jyaada phaayada hai iseelie sarakaar us dil ko vaapas nahin milana chaah rahe hain aur isamen kuchh poojee patiyon ka bhee dabaav hai sarakaar ke oopar kuchh mujhe pati bhee hai jo use dava bana rahe hain sarakaar par baraabar ki aap is bil ko vaapas na len kyonki unheen ke ko dhyaan mein rakhakar ki sarakaar ne bil paas kiya hai isee vajah se sarakaar kisaanon kee maang ko nahin maan rahee hai apana bil vaapas nahin le gaee hai

#भारत की राजनीति

umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:37
हां बिल्कुल अन्ना हजारे के अनशन से किसान आंदोलन को जरूर बल मिलेगा क्योंकि वह एक लीडर है काम कर ले डर्बी मुंबई के बहुत बड़े बिल्डर काम घर पर उनके कामगारों के लिए हमेशा काम करते आए हैं वो हमेशा गरीबों का साथ देते हैं उनके सहयोग से किसानों को बहुत बल मिलेगा किसानों का मनोबल ऊंचा होगा
Haan bilkul anna hajaare ke anashan se kisaan aandolan ko jaroor bal milega kyonki vah ek leedar hai kaam kar le darbee mumbee ke bahut bade bildar kaam ghar par unake kaamagaaron ke lie hamesha kaam karate aae hain vo hamesha gareebon ka saath dete hain unake sahayog se kisaanon ko bahut bal milega kisaanon ka manobal ooncha hoga

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
कौन सी मछली खानी चाहिए?Kaun Si Machali Khani Chaiye
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:42
मछली खाने के लिए जिसके ऊपर छिलका खाया जाता है चेहरा वही मछली खाने चाहिए वह मछली आपके लिए सबसे उपयोगी होती है वह पोस्टिंग भी होती है छुपा छुपी होती है और जिसके ऊपर शक नहीं पाया जाता है वह मचलिया ज्यादा कैलरी होती है वसायुक्त होती है गरिष्ठ भोजन में आती है हमें उनसे हमें फ्रेंड भी बनने का ज्यादा खतरा बना रहता है जितना भी कोशिश हो जिनके ऊपर से ले पाया जाता है उनको वही मछलियां खाएं
Machhalee khaane ke lie jisake oopar chhilaka khaaya jaata hai chehara vahee machhalee khaane chaahie vah machhalee aapake lie sabase upayogee hotee hai vah posting bhee hotee hai chhupa chhupee hotee hai aur jisake oopar shak nahin paaya jaata hai vah machaliya jyaada kailaree hotee hai vasaayukt hotee hai garishth bhojan mein aatee hai hamen unase hamen phrend bhee banane ka jyaada khatara bana rahata hai jitana bhee koshish ho jinake oopar se le paaya jaata hai unako vahee machhaliyaan khaen

#भारत की राजनीति

umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:55
भाई मैं कुल मिला जुला करके आपको बता दूं कि यह सरकार जो है पूजी पतियों की ही सरकार है पूजी पतियों के लिए ही काम कर रहे हैं इस सरकार में गरीबों के लिए कुछ नहीं है गरीब बिचारे बदहाल होते जा रहे हैं उनकी समस्याएं बढ़ती जा रहे हैं आपने कोरोना का में देखा होगा कि मारा गया तो केवल गरीब मारा गया अमीरों को कोई फर्क नहीं पड़ा तो गरीब बेचारे हमेशा बदहाल है कभी मोदी ने सोचा कि जो 15 से 2000 किलोमीटर पैदल चलकर आया तो कैसे आया उस पर क्या बीती जो आते-आते रास्ते में मर गया उस पर क्या बीतेगी के परिवार पर क्या बीती तो मेरे भाई साहब कुछ पूजी पतियों के लिए किया जा रहा है इसमें गरीबों का कोई मोल नहीं है सरकार के लिए
Bhaee main kul mila jula karake aapako bata doon ki yah sarakaar jo hai poojee patiyon kee hee sarakaar hai poojee patiyon ke lie hee kaam kar rahe hain is sarakaar mein gareebon ke lie kuchh nahin hai gareeb bichaare badahaal hote ja rahe hain unakee samasyaen badhatee ja rahe hain aapane korona ka mein dekha hoga ki maara gaya to keval gareeb maara gaya ameeron ko koee phark nahin pada to gareeb bechaare hamesha badahaal hai kabhee modee ne socha ki jo 15 se 2000 kilomeetar paidal chalakar aaya to kaise aaya us par kya beetee jo aate-aate raaste mein mar gaya us par kya beetegee ke parivaar par kya beetee to mere bhaee saahab kuchh poojee patiyon ke lie kiya ja raha hai isamen gareebon ka koee mol nahin hai sarakaar ke lie

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
पैसे बचाने के कुछ उपयोगी तरीके क्या है?Paise Bachane Ke Kuch Upyogi Tareeke Kya Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
1:16
आपका सवाल है कि पैसे बचाने के कुछ उपयोगी तरीके क्या है तुम्हारे भाई मैं बता दो कि पैसे कमाना तो हर आदमी कमाता है लेकिन उसको बचाना बहुत कम लोग जानते हैं यह निम्न वर्ग के लोगों के लिए है जो बड़े-बड़े लोग हैं उनके लिए पूरी पति उनके लिए तो कोई बात नहीं उनके लिए तो अच्छा पैसा आता है था पैसा जाता भी है उनके लिए कोई दिक्कत नहीं है लेकिन जो निम्न वर्ग के लोग हैं छोटे लोग हैं उनके लिए मेरी राहे की ओर रोज जितना कमाई कमाते हैं उसमें से अपने खर्च का रेल रिमरोज का खर्च निकालने खर्च निकालने के बाद जो भी पैसा बस बचत में आता है उसको एक जगह लगते ना उस दिन रख ली उसके बाद इकट्ठा हो गया अब बैंक खाते में डाल दें ऐसे करते-करते अब बचत करेंगे थोड़ा-थोड़ा बचत के दिन बड़ी बचत आपके सामने आ जाएगी ऐसे ही बचाया जाता है पैसे को पैसे का बचाना बहुत अच्छी काम है लोगों को करना चाहिए अपने भविष्य को देखते हुए बच्चों के भविष्य को देखते हुए
Aapaka savaal hai ki paise bachaane ke kuchh upayogee tareeke kya hai tumhaare bhaee main bata do ki paise kamaana to har aadamee kamaata hai lekin usako bachaana bahut kam log jaanate hain yah nimn varg ke logon ke lie hai jo bade-bade log hain unake lie pooree pati unake lie to koee baat nahin unake lie to achchha paisa aata hai tha paisa jaata bhee hai unake lie koee dikkat nahin hai lekin jo nimn varg ke log hain chhote log hain unake lie meree raahe kee or roj jitana kamaee kamaate hain usamen se apane kharch ka rel rimaroj ka kharch nikaalane kharch nikaalane ke baad jo bhee paisa bas bachat mein aata hai usako ek jagah lagate na us din rakh lee usake baad ikattha ho gaya ab baink khaate mein daal den aise karate-karate ab bachat karenge thoda-thoda bachat ke din badee bachat aapake saamane aa jaegee aise hee bachaaya jaata hai paise ko paise ka bachaana bahut achchhee kaam hai logon ko karana chaahie apane bhavishy ko dekhate hue bachchon ke bhavishy ko dekhate hue

#भारत की राजनीति

umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:57
भाई आपने जो सवाल पूछा है उसका में आंसर दे देना चाहता हूं कि मदद करने वाली बीमारी नहीं होती है इंसानियत होती है जिसके अंदर इंसानियत जागृत होती है वही हाथ हमेशा आगे बढ़ता है किसी की मदद करने के लिए यह हर इंसान के अंदर होनी चाहिए इंसानियत इंसानियत को जगा कर रखना चाहिए हर आदमी को अपने अंदर और हर इंसान को जरूरतमंदों की मदद करने की कोशिश करनी चाहिए जहां तक हो सच्चा में यह नहीं कि जबरदस्ती करनी है कि आपके पास नहीं है मदद करने को आप खुद मदद करने चले जा आपके पास तो इतनी क्षमता है उतने ही मदद करें कोई जरूरतमंद आपके सामने है तो उसका मदद कर दे मदद करना अच्छी बात है इंसानियत की पहचान है यह बहुत बढ़िया काम है
Bhaee aapane jo savaal poochha hai usaka mein aansar de dena chaahata hoon ki madad karane vaalee beemaaree nahin hotee hai insaaniyat hotee hai jisake andar insaaniyat jaagrt hotee hai vahee haath hamesha aage badhata hai kisee kee madad karane ke lie yah har insaan ke andar honee chaahie insaaniyat insaaniyat ko jaga kar rakhana chaahie har aadamee ko apane andar aur har insaan ko jarooratamandon kee madad karane kee koshish karanee chaahie jahaan tak ho sachcha mein yah nahin ki jabaradastee karanee hai ki aapake paas nahin hai madad karane ko aap khud madad karane chale ja aapake paas to itanee kshamata hai utane hee madad karen koee jarooratamand aapake saamane hai to usaka madad kar de madad karana achchhee baat hai insaaniyat kee pahachaan hai yah bahut badhiya kaam hai

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
गर्भावस्था के दौरान किस प्रकार का नमक खाना चाहिए?Garbhawastha Ke Dauraan Kis Prakar Ka Namak Khana Chahiye
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:29
गर्भावस्था के दौरान किस प्रकार का नमक खाना चाहिए सवाल आपने पूछा है गर्भावस्था के दौरान आयोडीन युक्त नमक ही खाना चाहिए आयोडीन नमक बच्चों के विकास में सहायक होता है तो आए दिन का प्रयोग हमेशा करना चाहिए महिलाओं को जब ऊपर होती हो तो आयोडीन का आयुर्वेद वाले ही नमक का इस्तेमाल करें
Garbhaavastha ke dauraan kis prakaar ka namak khaana chaahie savaal aapane poochha hai garbhaavastha ke dauraan aayodeen yukt namak hee khaana chaahie aayodeen namak bachchon ke vikaas mein sahaayak hota hai to aae din ka prayog hamesha karana chaahie mahilaon ko jab oopar hotee ho to aayodeen ka aayurved vaale hee namak ka istemaal karen

#भारत की राजनीति

umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
1:12
यह गलत बात है आपकी पिक अभी विपक्ष ने किसानों को भड़काया है अभी आपको ही कोई भड़का दे तो आप इतनी ठंड में जा कर के वहां ठिठुरन के नोट पर इतनी ठंड में बताइए कोई आकर के वहां बैठा है तो उसको आप ऐसा ऐसा गलत वर्ड और ना बोले कि आप से विनती है मेरी एक कोई भड़काऊ चीज नहीं है कि किसी ने भड़काया है किसान अपने हित के लिए लड़ रहे हैं किसानों के साथ अन्याय हुआ है तो किसान आकर के रास्ते पर खड़े हैं आज इतनी हाड़ कंपा देने वाली ठंड में वह रोड पर है बताइए सरकार को नहीं समझ में आ रहा है कि किसान ने ऐसा क्यों कर रहे हैं सरकार को सोचना चाहिए इसके विषय में कि जब इतनी कड़ाके की ठंड में लोग वहां धरना बैठने के लिए बैठे हुए हैं तो उनको कम से कम राहत देना चाहिए सरकार को ठंड चल रही है उसको तो ध्यान में रखना चाहिए लेकिन सरकार में कुछ नहीं देखा लोग वहां पर ठंड में उसे मर रहे थे लेकिन सरकार के कान पर जूं तक नहीं रहेंगे सब गलत बात है कोई लड़का या नहीं है किसान अपने हक के लिए लड़ रहे हैं वह अपने हक की लड़ाई लड़ रहे हैं
Yah galat baat hai aapakee pik abhee vipaksh ne kisaanon ko bhadakaaya hai abhee aapako hee koee bhadaka de to aap itanee thand mein ja kar ke vahaan thithuran ke not par itanee thand mein bataie koee aakar ke vahaan baitha hai to usako aap aisa aisa galat vard aur na bole ki aap se vinatee hai meree ek koee bhadakaoo cheej nahin hai ki kisee ne bhadakaaya hai kisaan apane hit ke lie lad rahe hain kisaanon ke saath anyaay hua hai to kisaan aakar ke raaste par khade hain aaj itanee haad kampa dene vaalee thand mein vah rod par hai bataie sarakaar ko nahin samajh mein aa raha hai ki kisaan ne aisa kyon kar rahe hain sarakaar ko sochana chaahie isake vishay mein ki jab itanee kadaake kee thand mein log vahaan dharana baithane ke lie baithe hue hain to unako kam se kam raahat dena chaahie sarakaar ko thand chal rahee hai usako to dhyaan mein rakhana chaahie lekin sarakaar mein kuchh nahin dekha log vahaan par thand mein use mar rahe the lekin sarakaar ke kaan par joon tak nahin rahenge sab galat baat hai koee ladaka ya nahin hai kisaan apane hak ke lie lad rahe hain vah apane hak kee ladaee lad rahe hain

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या नरेंद्र मोदी जी ने किसानों के कपड़े भी पहने है?Kya Narendra Modi Ji Ne Kisanon Ke Kapde Bhe Pehne Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
1:15
आपका सवाल है कि क्या नरेंद्र मोदी जी ने किसानों के कपड़े भी पहने हैं तो कपड़े पहने से कुछ होता नहीं है यह तो छलावा है हमें दिखावा है हमको बुलाया जाता है हम बाहर जाते हैं सब देख कर के यह सब हमको नहीं देखना चाहिए सबसे हमसे नहीं मारना चाहिए यह नेताओं की चाल होती है जब मुस्लिम भाइयों का कोई त्यौहार आएगा तो मुस्लिम बन जाएगी हिंदू भाइयों को दीवार आएगा तो हिंदू बन जाएंगे सिख भाइयों का त्यौहार आएगा तो सिर्फ बन जाएंगे तो कपड़ा पहने बनाने से क्या होता है उससे कुछ नहीं होता है आदमी के मन में जो होता है वही सच्चाई होती है मन उस का साथ होना चाहिए क्या सोचता है क्या करता है उसकी इंसानियत को देखा जाता है कपड़ों से कुछ नहीं होता है लेकिन यहां पर लोग बस इसी को वह अल्लाह बना करके उड़ा देते हैं आज मोदी मीडिया भी है मोदी की बखान करते नहीं थकती अगर हो थोड़ा सा किसान का कपड़ा पहन के लिए उनको इतना हाईलाइट कर देगी कि मानो उन्होंने बहुत बड़ा पहाड़ धकेल दिया हो
Aapaka savaal hai ki kya narendr modee jee ne kisaanon ke kapade bhee pahane hain to kapade pahane se kuchh hota nahin hai yah to chhalaava hai hamen dikhaava hai hamako bulaaya jaata hai ham baahar jaate hain sab dekh kar ke yah sab hamako nahin dekhana chaahie sabase hamase nahin maarana chaahie yah netaon kee chaal hotee hai jab muslim bhaiyon ka koee tyauhaar aaega to muslim ban jaegee hindoo bhaiyon ko deevaar aaega to hindoo ban jaenge sikh bhaiyon ka tyauhaar aaega to sirph ban jaenge to kapada pahane banaane se kya hota hai usase kuchh nahin hota hai aadamee ke man mein jo hota hai vahee sachchaee hotee hai man us ka saath hona chaahie kya sochata hai kya karata hai usakee insaaniyat ko dekha jaata hai kapadon se kuchh nahin hota hai lekin yahaan par log bas isee ko vah allaah bana karake uda dete hain aaj modee meediya bhee hai modee kee bakhaan karate nahin thakatee agar ho thoda sa kisaan ka kapada pahan ke lie unako itana haeelait kar degee ki maano unhonne bahut bada pahaad dhakel diya ho
URL copied to clipboard