#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
सूरज पूरब में ही क्यों होता है और पश्चिम में क्यों होता है?Sooraj Poorab Mein Hi Kyo Hota Hai Aur Pashchim Mein Kyo Hota Hai
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
2:04
गुड इवनिंग सवाल यह है कि सूरज पूरब में ही क्यों होता है और पश्चिम में क्यों होता है देखिए इसका जवाब तो प्रकृति दे सकती है कि सूरज पूरब में ही क्यों होता है आकाश से नीला ही क्यों होता है उसका तो कुछ साइंटिफिक रीजन और इसके बाद है धरती जो है उसमें मिट्टी क्यों होती है पहाड़ में पत्थर क्यों होते हैं इन सब कुछ एक यह तो जरूरत ही कभी चीज है जो ग्राफी में भी आपको इस चीज का पढ़ाई कर सकते हैं उसमें भी दिया रहता है लेकिन यह सब कुछ प्रकृति ने बनाया है कि सूरज पूरब में उगता है उसका नाम हमने रख दिया है प्रकृति ने ऐसा नहीं किया है तो वह शांत हुआ वह खाना पश्चिम भी हो सकता था उतर भी हो सकता था और दक्षिण भी होता तो उस उस नाम नामकरण उसका हमने किया तो इसलिए उसके लिए कोई नहीं है और पृथ्वी का यह चक्र है वह घूमते रहती है उधर सूरज के चारों तरफ इसलिए वह पूरब और पश्चिम उधर से उधर दिखता है जिसे हम पूरब कहते हैं और पश्चिम करते हैं और कोई इसमें कारण नहीं है बस यह घूर्णन गति है जो कि पृथ्वी घूमती रहती है और पूरब और पश्चिम में दिखाई देता है रोज सुबह और शाम में यही हो सकता होता है यह सब कुछ प्रकृति ही है पेड़ हरे होते हैं उसमें क्योंकि क्लोरोफिल होता है और यह सब होता है और अपना हमने खुद किया हुआ लग जाते हैं लेकिन सब कुछ बना हुआ है इसलिए जिसके नाम में हमें नहीं जाना चाहिए को पूरा पश्चिम के ऊपर नाम हमने बस मैसेंजर

#जीवन शैली

bolkar speaker
हमें सुबह उठकर सबसे पहले क्या करना चाहिए?Humein Subah Uthkar Sabse Pehle Kya Karna Chahiye
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
2:20
गुड इवनिंग सवाल यह है कि हमें सुबह उठकर सबसे पहले क्या करना चाहिए देखिए मुझे मेरे हिसाब से सुबह को सबसे पहले ध्यान करने उठते ही बेड से जमी पुत्र बेड पर ही बैठे बैठे बैठ कर और ध्यान में लग जाए बस से लंबी लंबी सांसे ले मतलब मेडिटेशन जो होता है वह सिर्फ रात में लंबी-लंबी सांसें लें छोड़े और यह कुछ टाइम तक 5 मिनट जो भी होता है अब से 2 मिनट 5 मिनट यह तो सबसे पहले जरूर करना चाहिए जिससे आपका जो है ना वह सब कुछ है सही हो जाता है दिन भर के लिए एकदम आप अच्छा फील करेंगे जिससे मैं तो आधे घंटे में बात करता हूं सुबह जब भी उठता हूं ज्यादातर मैं सुबह 4:00 बजे के आसपास उठ जाता हूं लेकिन कभी-कभार देर हो जाती है 5:00 या 6:00 बज जाता है कभी कबार तो भी मैसेज करता हूं 15 से 20 मिनट जरूर कर लेता तो यह आदत होनी चाहिए और इसके बाद ध्यान करने के बाद आप जो है उसके बाद पानी पी लीजिए गर्म पानी हो तो ज्यादा अच्छा है मैं गर्म पानी सुबह में जरूर पीना चाहिए मेरे ख्याल से लोहा के पाचन शक्ति के लिए और आपके पेट के लिए बहुत ही अच्छा होता है और स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा होता है तो पानी पिए इसके बाद फ्रेश हो इसके बाद आप एक्सरसाइज वगैरा करें ब्रश कर ले मतलब यह सब कुछ करना है जरूरी होता है और रीडिंग हैबिट्स अगर है तो वह बहुत अच्छी बात है वह पढ़ भी लेना चाहिए पढ़ाई भी करनी चाहिए तो यही सब है सुबह का रूटीन यही होना चाहिए का ध्यान करले स्ट्रैचिंग कर ले पानी पिए योगा कर एक्सरसाइज करें सुबह का रूटीन यही होना चाहिए हर व्यक्ति के लिए मेरे ख्याल से अगर वह स्वस्थ मानसिक और शारीरिक दोनों रूप से स्वस्थ रहना चाहता है तो थैंक यू

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या पेट्रोल डीजल में आग लगा ही रहेगी आ फिर कम होने का चांस रहेगी?Kya Petrol Deejal Mein Aag Laga Hee Rahegee Aa Phir Kam Hone Ka Chaans Rahegee
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
2:12
गुड इवनिंग क्वेश्चन यह है कि क्या पेट्रोल डीजल में आग लगा ही रहेगा या फिर कम होने का चांस रहेगी कम होने का चांस है सरकार दबाव में है अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत काफी बड़ी हुई है इसलिए लेकिन सरकार भी पूरे दबाव में है इलेक्शन होने वाले हैं और इससे कई वस्तुओं के दाम बढ़ने लगे हैं कई चीजों के दाम बढ़ने लगे हैं इसलिए सरकार इस पर विचार कर रही है इसे जीएसटी के दायरे में लाने पर भी चर्चा हो रही है और कुछ ना कुछ तो सरकार करेगी निश्चित रूप से अन्यथा इसके दुष्परिणाम हो सकते हैं सरकार को भुगतना पड़ सकता है इसमें केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों सरकार है जो है वह जिम्मेदार हैं टेक्स्ट तो लेती हैं उनका इनकम पचोर से बहुत बड़ा यह करेंगे क्या हमको तो करना ही है उनको भी इनकम चाहिए ही सरकार को डेवलपमेंट के लिए जानकारियों के लिए सोच तो चाहिए लेकिन अब उसी में है कि केंद्र सरकार कह रही है कि राज्य सरकारें भी उतने ही जिम्मेदार हैं उनका कहना है कि 40 परसेंट से अधिक पर राज्य सरकारों के पास ही चला जाता है टैक्स का थोड़ी सी लिए राज्य सरकारें अपने हिसाब से सोचें और ठीक है अभी देखिए कई राज्यों में कुछ गोवा जैसे राज्य है जहां कि राज्य सरकारों ने कमरा कर रखा है तो वहां काफी कम रेट है पेट्रोल डीजल का उसी तरह से सोचना होगा हर राज्य सरकार को और मुझे तो लगता है कि से जीएसटी के दायरे में ही लाना उचित रहेगा यह जीएसटी के दायरे में होगा तो पेट्रोल और डीजल के दाम एक समान होंगे पूरे देश में तो इसलिए इसको जीएसटी के दायरे में सरकार को लाना चाहिए फिर इतने सवाल नहीं उठेंगे जितने कि अभी उठे हैं तो मुझे उम्मीद है कि इस के नाम में कुछ कमी जरूर आनी चाहिए थैंक यू

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
अगर किसी ऑनलाइन कंपनी में पैसा लगाया वह कंपनी भाग जाए तो क्या करना चाहिए?Agar Kisi Online Company Me Paisa Lagaaya Vah Company Bhaag Jaye To Kya Karana Chahyia
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:25
गुड इवनिंग सवाल यह है कि अगर किसी ऑनलाइन कंपनी में पैसा लगाया वह कंपनी भाग जाए तो क्या करना चाहिए देखिए आप कुछ भी नहीं कर सकते क्योंकि ऑनलाइन ज्यादा कंपनियां जो होती हैं वह फ्रॉड होती है और उसके बारे में अगर ठीक से आपने पता नहीं किया अच्छे से रजिस्टर्ड है या नहीं है तो वह निश्चित रूप से वह भागने वाली ही कंपनियां होती है और जहां पैसा लगाना हुआ वह तो भागने वाली कंपनियां होती है तो इसलिए ऐसे कंपनियों से मैं तो कहूंगा कि सावधान ही रहना चाहिए जहां भी पैसा लगाना पड़े खासतौर से ऑनलाइन में तो वहां भागने का चांस मुझे लगता है कि 99% रास्ता है मेरा अनुभव ऐसा कह रहा है इसलिए मैं करता रहा हूं तो इसलिए आप जब भी पैसा लगाए पूरी तरह से आश्वस्त होने की उसका क्या फीचर है उसकी क्या स्थिति है उसके बाद ही पैसा लगाएं अन्यथा कुछ भी नहीं कर सकते हैं

#मनोरंजन

bolkar speaker
उत्तर भारतीयों को 'दक्षिण भारत'की फिल्में ज्यादा पसंद क्यों है?Uttar Bhaarateeyon Ko Dakshin Bhaaratakee Philmen Jyaada Pasand Kyon Hai
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:21

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
बोलकर ऐप्प क्या हमारा मनोबल बढ़ाता हैं ?Bolakar Aipp Kya Hamaara Manobal Badhaata Hain
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
0:56

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या ऐसा कोई तरीका है जिसमें नेताओं और उनके खानदान को भी कानून के दायरे में लाकर सजा दिलवाई जा सके?Kya Aisa Koee Tareeka Hai Jisamen Netaon Aur Unake Khaanadaan Ko Bhee Kaanoon Ke Daayare Mein Laakar Saja Dilavaee Ja Sake
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
2:49

#भारत की राजनीति

sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:59

#जीवन शैली

bolkar speaker
लोग आदतन किसी के भक्त बनते हैं या किसी को गिराने के लिए किसी के भक्त बनते हैं?Log Aadatan Kisi Ke Bhakt Bante Hain Ya Kisi Ko Girane Ke Liye Kisi Ke Bhakt Bante Hain
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
2:37

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
टेस्ला के मालिक कौन है?Tesla Ke Malik Kaun Hai
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:06
गुड इवनिंग सवाल है कि टेस्ला के मालिक कौन है देखिए टेस्ला के मालिक तो एलोन मौत से अभी दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति वही बन गए हैं मैडम मस्त जोक भेजो को पीछे छोड़कर ऐलान मस्त जो है वह दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन चुके हैं माइक्रोसॉफ्ट के बिल गेट्स काफी पीछे वह भी हो गए हैं और अमेजन के जोक्स भेजो भी पीछे हो चुके हैं मार्क जुकरबर्ग तो पहले ही पीछे हो चुके हैं यह सारे लोग पीछे होकर एलोन मस्क जो है अभी फैसला के जो मालिक है अभी तो वही नंबर वन पर चल रहे हैं अमीरों की लिस्ट में और कलाकार भारत में भी अब निर्माण शुरू हो गया टकला की कारों का इसलिए फैसला के मालिक जो है वह एलॉन मुस्क थैंक यू
Gud ivaning savaal hai ki tesla ke maalik kaun hai dekhie tesla ke maalik to elon maut se abhee duniya ke sabase ameer vyakti vahee ban gae hain maidam mast jok bhejo ko peechhe chhodakar ailaan mast jo hai vah duniya ke sabase ameer vyakti ban chuke hain maikrosopht ke bil gets kaaphee peechhe vah bhee ho gae hain aur amejan ke joks bhejo bhee peechhe ho chuke hain maark jukarabarg to pahale hee peechhe ho chuke hain yah saare log peechhe hokar elon mask jo hai abhee phaisala ke jo maalik hai abhee to vahee nambar van par chal rahe hain ameeron kee list mein aur kalaakaar bhaarat mein bhee ab nirmaan shuroo ho gaya takala kee kaaron ka isalie phaisala ke maalik jo hai vah elon musk thaink yoo

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
अंग्रेजी के कठिन शब्दों को याद करने का सबसे अच्छा तरीका क्या है?Angreji Ke Kathin Shabdon Ko Yaad Karne Ka Sabse Acha Tareeka Kya Hai
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:04
सवाल है कि अंग्रेजी के कठिन शब्दों को याद करने का सबसे अच्छा तरीका क्या है देखिए अंग्रेजी के कठिन शब्दों को याद करने का सबसे अच्छा तरीका है उसको प्रयोग में लाई शब्दों को पहले जो भी शब्द में मिलते हैं उनको लिखिए कहीं ना कहीं लिखना चाहिए और फिर उसे प्रतिदिन इंदौर आना चाहिए और फिर उनको यूज़ में लाने की कोशिश करने से मतलब अपने रोजमर्रा के जीवन में या उसको सेंटेंस में फार्म करके उसको प्रयोग करने का कोई जीते भी जब तक प्रयोग में नहीं लाएंगे हम उन शब्दों को अपने डेली लाइफ में अब तक वह याद नहीं होते हो भूल जाते हैं और लगता है आजाद हो गए कल फिर भूल जाते हैं इस तरह से दोस्तों हमें प्रयोग में लाना होगा प्रैक्टिकल वे में मतलब जो भी हम सब ढूंढते हैं उसे प्रैक्टिकली जब तक नहीं प्रयोग मिलाएंगे तो ज्यादातर रघु होंगे तभी वह याद होंगे
Savaal hai ki angrejee ke kathin shabdon ko yaad karane ka sabase achchha tareeka kya hai dekhie angrejee ke kathin shabdon ko yaad karane ka sabase achchha tareeka hai usako prayog mein laee shabdon ko pahale jo bhee shabd mein milate hain unako likhie kaheen na kaheen likhana chaahie aur phir use pratidin indaur aana chaahie aur phir unako yooz mein laane kee koshish karane se matalab apane rojamarra ke jeevan mein ya usako sentens mein phaarm karake usako prayog karane ka koee jeete bhee jab tak prayog mein nahin laenge ham un shabdon ko apane delee laiph mein ab tak vah yaad nahin hote ho bhool jaate hain aur lagata hai aajaad ho gae kal phir bhool jaate hain is tarah se doston hamen prayog mein laana hoga praiktikal ve mein matalab jo bhee ham sab dhoondhate hain use praiktikalee jab tak nahin prayog milaenge to jyaadaatar raghu honge tabhee vah yaad honge

#पढ़ाई लिखाई

sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
2:58
गुड इवनिंग सवाल है कि क्या निजी स्कूलों की किताबों की कीमतों पर नियंत्रण जरूरी नहीं है बिल्कुल नियंत्रण जरूरी है यह तो मैं आज तक आश्चर्य करता हूं कि इस दिशा में मोदी सरकार ने भी कोई कदम नहीं उठाया निजी स्कूल की किताबें इतनी महंगी है इतनी महंगी है और उनकी ऐसी मोनोपोली है कि वह किताबें जो है कुछ फिक्स दुकानों पर ही मिलती है या वह खुद अपने कैंपस में भेजते हैं निजी स्कूल वाले और काफी मोटी कमाई करते हैं और हर 1 साल में किताबें बदल देते हैं जिससे कागज की बर्बादी इतना बड़ा पोलूशन सब कुछ है इसके पीछे बहुत बड़ा एक रैकेट है मतलब लगी है कमाने वालों का वह कमाते हैं निजी स्कूल वाले और सारा पब्लिक पब्लिकेशन से लेकर सब कुछ पब्लिक सर जो है वह सब तो इससे हमारे इन्वायरमेंट को बहुत बड़ा आदमी है तू कि पता नहीं मुझे समझ में नहीं आ रहा है इस पर किसी सरकार ने अभी तक एक्शन क्यों नहीं लिया इस दिशा में कुछ किया क्यों नहीं जा रहा है मैंने सुना है मेरे मेरी एक दोस्त रहती है अमेरिका ने बताया कि वहां किताबें जो है हर एक शब्द भी नहीं जाती और सरकार जो है वह किताबों को कलेक्ट कर लेती है बच्चों से और वह अगले साल फिर बच्चों को दिया जाता है और बच्चों पर बोझ भी नहीं रहता किताबों का वो किताबें स्कूल में ही रहते हैं और वहीं पर बच्चे जाकर पढ़ते हैं लेकिन यहां तो बहुत विचित्र स्थिति है तो इस पर सरकार को निश्चित रूप से कदम उठाना चाहिए और सख्त कदम उठाना चाहिए हम बहुत बड़े पोलूशन के मतलब में शिकार हैं और फिर भी सरकार इस पर कदम नहीं उठा रही है तो यह दुर्भाग्यपूर्ण है हमारे देश के लिए मैं मोदी सरकार से यह उम्मीद करता हूं और दरख्वास्त भी करता हूं कि वह इस दिशा में है जरूर कदम उठाएं किताबों पर नियंत्रण लगाए निजी स्कूलों पर खासतौर से वह काफी किताबें चलाते हैं और फालतू किताबें चलाते हैं और बहुत अधिक पैसा लेते हैं इससे बहुत बड़ा बोझ पड़ता है गार्जियन पर और बच्चों पर भी बच्चों को खोना पड़ता है वह फालतू की किताबें जिसका कोई औचित्य नहीं होता है तो मैं इस ऐप के माध्यम से इस सवाल के माध्यम से मैं सरकार से यह गुजारिश करता हूं कि वह इस दिशा में कोई न कोई कदम उठाएं किताबों की कीमतों को कम करें और सर से भी तो जरूरी है कि आरक्षण किताबों में बदलने वाली जो सिस्टम है उसको बंद कर दिया जाए और इस को नियंत्रण में रखा जाए
Gud ivaning savaal hai ki kya nijee skoolon kee kitaabon kee keematon par niyantran jarooree nahin hai bilkul niyantran jarooree hai yah to main aaj tak aashchary karata hoon ki is disha mein modee sarakaar ne bhee koee kadam nahin uthaaya nijee skool kee kitaaben itanee mahangee hai itanee mahangee hai aur unakee aisee monopolee hai ki vah kitaaben jo hai kuchh phiks dukaanon par hee milatee hai ya vah khud apane kaimpas mein bhejate hain nijee skool vaale aur kaaphee motee kamaee karate hain aur har 1 saal mein kitaaben badal dete hain jisase kaagaj kee barbaadee itana bada polooshan sab kuchh hai isake peechhe bahut bada ek raiket hai matalab lagee hai kamaane vaalon ka vah kamaate hain nijee skool vaale aur saara pablik pablikeshan se lekar sab kuchh pablik sar jo hai vah sab to isase hamaare invaayarament ko bahut bada aadamee hai too ki pata nahin mujhe samajh mein nahin aa raha hai is par kisee sarakaar ne abhee tak ekshan kyon nahin liya is disha mein kuchh kiya kyon nahin ja raha hai mainne suna hai mere meree ek dost rahatee hai amerika ne bataaya ki vahaan kitaaben jo hai har ek shabd bhee nahin jaatee aur sarakaar jo hai vah kitaabon ko kalekt kar letee hai bachchon se aur vah agale saal phir bachchon ko diya jaata hai aur bachchon par bojh bhee nahin rahata kitaabon ka vo kitaaben skool mein hee rahate hain aur vaheen par bachche jaakar padhate hain lekin yahaan to bahut vichitr sthiti hai to is par sarakaar ko nishchit roop se kadam uthaana chaahie aur sakht kadam uthaana chaahie ham bahut bade polooshan ke matalab mein shikaar hain aur phir bhee sarakaar is par kadam nahin utha rahee hai to yah durbhaagyapoorn hai hamaare desh ke lie main modee sarakaar se yah ummeed karata hoon aur darakhvaast bhee karata hoon ki vah is disha mein hai jaroor kadam uthaen kitaabon par niyantran lagae nijee skoolon par khaasataur se vah kaaphee kitaaben chalaate hain aur phaalatoo kitaaben chalaate hain aur bahut adhik paisa lete hain isase bahut bada bojh padata hai gaarjiyan par aur bachchon par bhee bachchon ko khona padata hai vah phaalatoo kee kitaaben jisaka koee auchity nahin hota hai to main is aip ke maadhyam se is savaal ke maadhyam se main sarakaar se yah gujaarish karata hoon ki vah is disha mein koee na koee kadam uthaen kitaabon kee keematon ko kam karen aur sar se bhee to jarooree hai ki aarakshan kitaabon mein badalane vaalee jo sistam hai usako band kar diya jae aur is ko niyantran mein rakha jae

#पढ़ाई लिखाई

sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:22
गुड इवनिंग सवाल है कि क्या यह सही बात है कि बिहार के निजी अस्पतालों में भी मुफ्त में कोरोनावायरस लगेगी हां जी बिल्कुल बिल्कुल लिए सही बात है बिहार सरकार ने हमारे मतलब बिहार के सभी लोगों के लिए कोरोनावायरस इन जो है मुक्त लगाने का निर्णय लिया है जबकि निजी अस्पतालों में भी मुफ्त में दिया जाएगा कोरोनावायरस का रजिस्ट्रेशन भी स्टार्ट हो चुका है लोग रजिस्ट्रेशन करा रहे हैं और यह बिल्कुल मुफ्त में दिया जा रहा है इसका आर्टिका कोरोनावायरस इनका तो यह बिल्कुल सही बात है और बिहार सरकार इसके लिए मैं कहूंगा कि धन्यवाद की पात्र है बिहार सरकार ने इतना एक तो जनसंख्या बहुत बड़ी है बिहार की और यार बहुत धनी राज्य में नहीं है मतलब लो इनकम ग्रुप के लोग यहां मतलब भारत में मतलब बिहार एक पिछड़ा राज्य फिर भी यह अपने नागरिकों को मुक्त करना टीका देने का माद्दा रखता है तो यह बहुत बड़ी बात है थैंक यू
Gud ivaning savaal hai ki kya yah sahee baat hai ki bihaar ke nijee aspataalon mein bhee mupht mein koronaavaayaras lagegee haan jee bilkul bilkul lie sahee baat hai bihaar sarakaar ne hamaare matalab bihaar ke sabhee logon ke lie koronaavaayaras in jo hai mukt lagaane ka nirnay liya hai jabaki nijee aspataalon mein bhee mupht mein diya jaega koronaavaayaras ka rajistreshan bhee staart ho chuka hai log rajistreshan kara rahe hain aur yah bilkul mupht mein diya ja raha hai isaka aartika koronaavaayaras inaka to yah bilkul sahee baat hai aur bihaar sarakaar isake lie main kahoonga ki dhanyavaad kee paatr hai bihaar sarakaar ne itana ek to janasankhya bahut badee hai bihaar kee aur yaar bahut dhanee raajy mein nahin hai matalab lo inakam grup ke log yahaan matalab bhaarat mein matalab bihaar ek pichhada raajy phir bhee yah apane naagarikon ko mukt karana teeka dene ka maadda rakhata hai to yah bahut badee baat hai thaink yoo

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
अपनी इंग्लिश को कैसे सुधारें?Apni English Ko Kaise Sudhare
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:21
गुड इवनिंग सवाल यह है कि अपनी इंग्लिश को कैसे सुधारें देखी इंग्लिश को सुधारने के लिए तो सबसे अच्छा उपाय यही है कि इंग्लिश को आप ज्यादा से ज्यादा रीडिंग लगाएं पड़े उस को सुनें भी पढ़ना और सुनना और लिखना तीनों का कोशिश करना पड़ेगा अधिक से अधिक सुनिए फिर उसको पढ़ने का प्रयास कीजिए और फिर उसे लिखने का प्रयास कीजिए तो तीनों साथ में जख्म होगा और अथक प्रयास करना होगा यह नहीं कि कुछ दिनों तक प्रयास करने से सिर्फ हो जाएगा आपको काफी समय तक इसका प्रयास करना होगा और लगातार करना होगा उसमें यह नहीं कि ज्ञात होगा चलिए कभी एकाध दिन वह बात अलग है मर्जी की बात लेकिन डेली प्रैक्टिस जैसे किसी चीज का होता है उस तरह से करना होगा दिल्ली लगातार जो है उसका प्रैक्टिस करना होगा तो जरूर निश्चित रूप से इंग्लिश सुधर जाएगी मैं इंग्लिश नहीं ज्यादा कोशिश कर रहा हूं इंग्लिश सुनना इंग्लिश लिखना इंग्लिश बोलना बोलने की कोशिश भी करना है और टूटी फूटी ही सही कुछ भी जैसे हो उसी में मतलब सोचना ही भी आपको इंग्लिश में होगा तभी इंग्लिश में सुधारना हो सकता है थैंक यू
Gud ivaning savaal yah hai ki apanee inglish ko kaise sudhaaren dekhee inglish ko sudhaarane ke lie to sabase achchha upaay yahee hai ki inglish ko aap jyaada se jyaada reeding lagaen pade us ko sunen bhee padhana aur sunana aur likhana teenon ka koshish karana padega adhik se adhik sunie phir usako padhane ka prayaas keejie aur phir use likhane ka prayaas keejie to teenon saath mein jakhm hoga aur athak prayaas karana hoga yah nahin ki kuchh dinon tak prayaas karane se sirph ho jaega aapako kaaphee samay tak isaka prayaas karana hoga aur lagaataar karana hoga usamen yah nahin ki gyaat hoga chalie kabhee ekaadh din vah baat alag hai marjee kee baat lekin delee praiktis jaise kisee cheej ka hota hai us tarah se karana hoga dillee lagaataar jo hai usaka praiktis karana hoga to jaroor nishchit roop se inglish sudhar jaegee main inglish nahin jyaada koshish kar raha hoon inglish sunana inglish likhana inglish bolana bolane kee koshish bhee karana hai aur tootee phootee hee sahee kuchh bhee jaise ho usee mein matalab sochana hee bhee aapako inglish mein hoga tabhee inglish mein sudhaarana ho sakata hai thaink yoo

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
ज्यादा मोबाइल यूज करने से होने वाले नुकसान के बारे में बताइए?Jyada Mobile Use Karne Se Hone Vale Nuksan Ke Baare Mein Btaiye
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:18
गुड इवनिंग सवाल है कि ज्यादा मोबाइल यूज करने से होने वाले नुकसान के बारे में बताइए देखिए ज्यादा मोबाइल यूज करने से सबसे पहले तो आंखों पर इफेक्ट पड़ता है इसके बाद सर में दर्द हो सकता है नींद की बीमारी हो सकती है नींद नहीं आ सकता है ठीक से यह गलत है नशा है और इसका लाभ अधिक हो जाए ज्यादा यूज करने पर तो हर पल लगेगा कि बस मोबाइल देखते रहे कुछ ना कुछ और उसे हमारा मानसिक संतुलन खो सकता है अधिक यूज करें समय रही नींद भाग जाएगी बिल्कुल मित्रसेन एंजाइटी के शिकार हो गए इसलिए ज्यादा मोबाइल की जरूरत है जरूरत के अनुसार इसको यूज़ करिए लेकिन अति सर्वत्र वर्जित वही हाल है कि मोबाइल के केस में यह चारों तरफ से हमें नुकसान पहुंचा सकता हमारी आंखों को नुकसान हुआ है विश्वास को नुकसान हमारी नींद नुकसान सब कुछ नुकसान हो सकता है इसलिए सावधानी से इसका प्रयोग आवश्यक है
Gud ivaning savaal hai ki jyaada mobail yooj karane se hone vaale nukasaan ke baare mein bataie dekhie jyaada mobail yooj karane se sabase pahale to aankhon par iphekt padata hai isake baad sar mein dard ho sakata hai neend kee beemaaree ho sakatee hai neend nahin aa sakata hai theek se yah galat hai nasha hai aur isaka laabh adhik ho jae jyaada yooj karane par to har pal lagega ki bas mobail dekhate rahe kuchh na kuchh aur use hamaara maanasik santulan kho sakata hai adhik yooj karen samay rahee neend bhaag jaegee bilkul mitrasen enjaitee ke shikaar ho gae isalie jyaada mobail kee jaroorat hai jaroorat ke anusaar isako yooz karie lekin ati sarvatr varjit vahee haal hai ki mobail ke kes mein yah chaaron taraph se hamen nukasaan pahuncha sakata hamaaree aankhon ko nukasaan hua hai vishvaas ko nukasaan hamaaree neend nukasaan sab kuchh nukasaan ho sakata hai isalie saavadhaanee se isaka prayog aavashyak hai

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
हमारे भारत में ही जातिवाद क्यों होता है?Humare Bharat Mein He Jaativaad Kyun Hota Hai
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:32
गुड इवनिंग सवाल ये है कि हमारे भारत में जातिवाद क्यों होता है देखिए जातिवाद भारत में ही नहीं है हर जगह रेसियल डिस्क्रिमिनेशन है वह हर जगह है यह जाती है उसका हमारे यहां नाम जानते हैं उसे ज्यादा अलग-अलग को बांट दिया गया है नाम दे दिया गया है अन्यथा वह तो हर जगह है किसी न किसी रूप में जरूर है कहीं किसी रूप में कहीं किसी रूप में तो इसलिए यह नहीं कहा जा सकता है कि भारत में ही जातिवाद है भारत के विषय में जो कि हमें जानकारी ज्यादा है हम उसके शिकार होते हैं यह ज्यादा ज्यादा है कहा जा सकता है कि यहां चाचा और जगह कितना है और इसका अध्ययन करने पर ही पता चलेगा कि कितना है लेकिन और जगह भी है भारत में शुरू से ही क्योंकि यहां की संस्कृति बहुत पुरानी है तो इसमें कई ग्रंथ पाए जाते हैं जिसमें और जातियों को बांटा गया है अलग-अलग नाम देकर तो इसलिए यहां लगता है मरे हैं जातिवाद ज्यादा है लेकिन और जगह है किसी अन्य रूप में
Gud ivaning savaal ye hai ki hamaare bhaarat mein jaativaad kyon hota hai dekhie jaativaad bhaarat mein hee nahin hai har jagah resiyal diskrimineshan hai vah har jagah hai yah jaatee hai usaka hamaare yahaan naam jaanate hain use jyaada alag-alag ko baant diya gaya hai naam de diya gaya hai anyatha vah to har jagah hai kisee na kisee roop mein jaroor hai kaheen kisee roop mein kaheen kisee roop mein to isalie yah nahin kaha ja sakata hai ki bhaarat mein hee jaativaad hai bhaarat ke vishay mein jo ki hamen jaanakaaree jyaada hai ham usake shikaar hote hain yah jyaada jyaada hai kaha ja sakata hai ki yahaan chaacha aur jagah kitana hai aur isaka adhyayan karane par hee pata chalega ki kitana hai lekin aur jagah bhee hai bhaarat mein shuroo se hee kyonki yahaan kee sanskrti bahut puraanee hai to isamen kaee granth pae jaate hain jisamen aur jaatiyon ko baanta gaya hai alag-alag naam dekar to isalie yahaan lagata hai mare hain jaativaad jyaada hai lekin aur jagah hai kisee any roop mein

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
क्या भारत में पोल्ट्री फार्म एक लाभदायक व्यवसाय?Kya Bharat Mein Poultry Farm Ek Laabhdayak Vyavsay
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:11
क्या भारत में पोल्ट्री फॉर्म एक लाभदायक व्यवसाय हां देखे से जो लोग कमा रहे हैं उनका अपना पिक में उनके लिए तो निश्चित रूप से लाभदायक भाषाएं और है भी इसका काफी पोल्ट्री फार्म का खाते जो है डिमांड है लोगों के पास में लोग जो है रांची के अंडे यह सब बहुत अधिक खाने लगे तो खाने वालों की कमी नहीं है इसलिए यह व्यवसाय है निश्चित रूप से लाभदायक है और जिसको आप कैसे संचालित करते हैं कैसे मैनेज करते हैं और कहां आपका स्थापित करते हैं इस पर भी निर्भर करता है यह आपके मतलब क्षमता पर निर्भर करता है कि आप किस तरह से उसे कर पाते हैं
Kya bhaarat mein poltree phorm ek laabhadaayak vyavasaay haan dekhe se jo log kama rahe hain unaka apana pik mein unake lie to nishchit roop se laabhadaayak bhaashaen aur hai bhee isaka kaaphee poltree phaarm ka khaate jo hai dimaand hai logon ke paas mein log jo hai raanchee ke ande yah sab bahut adhik khaane lage to khaane vaalon kee kamee nahin hai isalie yah vyavasaay hai nishchit roop se laabhadaayak hai aur jisako aap kaise sanchaalit karate hain kaise mainej karate hain aur kahaan aapaka sthaapit karate hain is par bhee nirbhar karata hai yah aapake matalab kshamata par nirbhar karata hai ki aap kis tarah se use kar paate hain

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
ऐसा कौन सा व्यापार है जिससे ज्यादा से ज्यादा रोजगार सृजन होता है?Aisa Kaun Sa Vyaapaar Hai Jisse Jyada Se Jyada Rojgaar Srijan Hota Hai
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:30
गुड इवनिंग सवाल है कि ऐसा कौन सा व्यापार है जिससे ज्यादा से ज्यादा रोजगार सृजन होता है वैसे तो इंडस्ट्री होती है बड़ी-बड़ी उसी में ज्यादा रोजगार सृजन होता है कोई बड़ी चिंता थी खोल दें तो उसमें कोई लोगों को रोजगार मिल सकता है और इसके बाद कुछ भी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट हो प्लांट हो तो उसमें ही ज्यादा लोगों की जरूरत होती है उसी में ज्यादा लोगों को रोजगार पैदा हो सकता है इसके अलावा और और क्या कर सकते हैं और तुम मुझे लगता है कि छोटा मोटा करने पर मतलब जितना बड़ा व्यवसाय उतनी ज्यादा लोग की जरूरत यही है उनकी जितनी ज्यादा आपकी लगेगी उसके अनुसार आपका वह उद्योग धंधा होग ज्योति व्यापार होगा बड़ा सौभाग्य पर होगा तो उसमें ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा और छोटे-मोटे आप काम करेंगे तो उसमें खुद कमाएंगे दूसरे को देंगे उसको रोजगार पैदा दूसरे को नहीं कर सकते तो ज्यादा रोजगार जब देने की बात है तो उसके लिए तो आपको बहुत अधिक उनकी खर्च नहीं पड़ेगी और गद्दार इतना बड़ा स्टेटस लगाना होगा तभी ज्यादा से ज्यादा रोजगार सृजन हो पाएगा
Gud ivaning savaal hai ki aisa kaun sa vyaapaar hai jisase jyaada se jyaada rojagaar srjan hota hai vaise to indastree hotee hai badee-badee usee mein jyaada rojagaar srjan hota hai koee badee chinta thee khol den to usamen koee logon ko rojagaar mil sakata hai aur isake baad kuchh bhee mainyuphaikcharing yoonit ho plaant ho to usamen hee jyaada logon kee jaroorat hotee hai usee mein jyaada logon ko rojagaar paida ho sakata hai isake alaava aur aur kya kar sakate hain aur tum mujhe lagata hai ki chhota mota karane par matalab jitana bada vyavasaay utanee jyaada log kee jaroorat yahee hai unakee jitanee jyaada aapakee lagegee usake anusaar aapaka vah udyog dhandha hog jyoti vyaapaar hoga bada saubhaagy par hoga to usamen jyaada logon ko rojagaar milega aur chhote-mote aap kaam karenge to usamen khud kamaenge doosare ko denge usako rojagaar paida doosare ko nahin kar sakate to jyaada rojagaar jab dene kee baat hai to usake lie to aapako bahut adhik unakee kharch nahin padegee aur gaddaar itana bada stetas lagaana hoga tabhee jyaada se jyaada rojagaar srjan ho paega

#जीवन शैली

bolkar speaker
कम से कम कितने पैसे में कोई व्यवसाय किया जा सकता है?Kam Se Kam Kitne Paise Mein Koi Vyavsay Kiya Ja Sakta Hai
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:32
गुड इवनिंग सवाल यह है कि कम से कम कितने पैसे में कोई व्यवसाय किया जा सकता है जिसकी कोई सीमा नहीं है यह करने वाले फल और उसकी किस तरह के रूपरेखा है आपकी किस तरह का व्यवसाय करना चाहते हैं उस पर निर्भर करता है आप क्या कर सकते हैं उस पर निर्भर करता है कोई सब्जी बेच सकता है वह भी व्यवसाय है कोई दवा की दुकान करता है वह भी व्यवसाय है और कोई ठेले पर समोसे चाट भेजता है वह भी भरोसा है तो पैसा या अलग-अलग है आप इस तरह के करना चाहते हैं तो शायद उस पर निर्भर है और बिना एक पैसे लगाए भी कुछ लोग व्यवसाय कर लेते हैं वह भी एक व्यवसाय तो यह आपके आपकी मानसिक क्षमता आपकी शारीरिक क्षमता यह सब कुछ इस पर निर्भर करता है कि आप कितने मानसिक रूप से सुदृढ़ हैं और कितने मेहनत करने के लिए तैयार है उस पर है अन्यथा व्यवसाय तो कहते हैं कि ₹100 में भी कोई शुरू कर देता है हजार में से शुरू कर लेता है और कोई लाखों-करोड़ों भी लगाता है यदि व्यवसाय करता है तो अलग अलग है इसके लिए कोई निश्चित पैमाना नहीं इतना ही लगाई है तो उसमें होगा अब आप किस तरह का पैसा करना चाहते हैं बस उसके अनुसार ही पूंजी लगेगी
Gud ivaning savaal yah hai ki kam se kam kitane paise mein koee vyavasaay kiya ja sakata hai jisakee koee seema nahin hai yah karane vaale phal aur usakee kis tarah ke rooparekha hai aapakee kis tarah ka vyavasaay karana chaahate hain us par nirbhar karata hai aap kya kar sakate hain us par nirbhar karata hai koee sabjee bech sakata hai vah bhee vyavasaay hai koee dava kee dukaan karata hai vah bhee vyavasaay hai aur koee thele par samose chaat bhejata hai vah bhee bharosa hai to paisa ya alag-alag hai aap is tarah ke karana chaahate hain to shaayad us par nirbhar hai aur bina ek paise lagae bhee kuchh log vyavasaay kar lete hain vah bhee ek vyavasaay to yah aapake aapakee maanasik kshamata aapakee shaareerik kshamata yah sab kuchh is par nirbhar karata hai ki aap kitane maanasik roop se sudrdh hain aur kitane mehanat karane ke lie taiyaar hai us par hai anyatha vyavasaay to kahate hain ki ₹100 mein bhee koee shuroo kar deta hai hajaar mein se shuroo kar leta hai aur koee laakhon-karodon bhee lagaata hai yadi vyavasaay karata hai to alag alag hai isake lie koee nishchit paimaana nahin itana hee lagaee hai to usamen hoga ab aap kis tarah ka paisa karana chaahate hain bas usake anusaar hee poonjee lagegee

#जीवन शैली

bolkar speaker
घर खर्च बचाने के लिए मंडियों से सीधे सब्जी लाना सही होगा या खुद घर के छत पर सब्जियां उगाना?Ghar Kharch Bachaane Ke Lie Mandiyon Se Seedhe Sabjee Laana Sahee Hoga Ya Khud Ghar Ke Chhat Par Sabjiyaan Ugaana
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:28
गुड इवनिंग सवाल यह है घर खर्च बचाने के लिए मंडियों से सीधे सब्जी लाने सही होगा या खुद घर के छत पर सब्जियां उगाने की अगर आप मेहनती हैं अगर आप कर सकते हैं तो घर के छत पर सब्जी होगा लें तो इससे अच्छी बात तो है ही नहीं सकती वह तो निश्चित रूप से आपकी पूरा बचत होगा उसने बस आपका मेहनत जाएगा आपका समय जाएगा अगर आपके पास मेहनत और समय है तो आप घर के छत पर हैं आराम से सब्जी उगाए और खाए वह शुद्ध होगा और बिल्कुल उसमें किसी तरह के मतलब उर्वरक जो डाला जाता है आज का रासायनिक कीटनाशक और यह सब चीजें उनसे भी अब बचे रहेंगे तो इससे अच्छी तो बात ही नहीं करती है मंडी जाएंगे तो ठीक है मंडी में कुछ सस्ती पड़ती है सर जी लेकिन मैं भी आपका समय तो जाएगा ही रोज उतना ही समय आप अपने घर पर दे और सब्जी उठा ले और उसे आपका एक एक्सरसाइज भी हो जाएगा व्यायाम हो जाएगा आपका मन बहला ओ भी हो जाएगा यह बहुत अच्छी बात है यह हो जाए तो इससे अच्छी मैं कहूंगा कि कोई बात ही नहीं है अब मैं घर पर हूं काले तो इससे इससे मतलब लाभदायक कुछ भी नहीं हो हर तरह से आपके लाल है
Gud ivaning savaal yah hai ghar kharch bachaane ke lie mandiyon se seedhe sabjee laane sahee hoga ya khud ghar ke chhat par sabjiyaan ugaane kee agar aap mehanatee hain agar aap kar sakate hain to ghar ke chhat par sabjee hoga len to isase achchhee baat to hai hee nahin sakatee vah to nishchit roop se aapakee poora bachat hoga usane bas aapaka mehanat jaega aapaka samay jaega agar aapake paas mehanat aur samay hai to aap ghar ke chhat par hain aaraam se sabjee ugae aur khae vah shuddh hoga aur bilkul usamen kisee tarah ke matalab urvarak jo daala jaata hai aaj ka raasaayanik keetanaashak aur yah sab cheejen unase bhee ab bache rahenge to isase achchhee to baat hee nahin karatee hai mandee jaenge to theek hai mandee mein kuchh sastee padatee hai sar jee lekin main bhee aapaka samay to jaega hee roj utana hee samay aap apane ghar par de aur sabjee utha le aur use aapaka ek eksarasaij bhee ho jaega vyaayaam ho jaega aapaka man bahala o bhee ho jaega yah bahut achchhee baat hai yah ho jae to isase achchhee main kahoonga ki koee baat hee nahin hai ab main ghar par hoon kaale to isase isase matalab laabhadaayak kuchh bhee nahin ho har tarah se aapake laal hai

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
2:04
गुड इवनिंग सवाल है कि क्या हंकार की सीमा होती है अहंकार की तटीय सीमा कहिए तो होती भी या नहीं भी होती है दोनों कहा जा सकता है कुछ लोग अधिक अहंकारी होते हैं कुछ लोग का महान कार्य होते हैं इसलिए वह सीमा तो वही हो गई और न था जिस व्यक्ति को अहंकार हो जाता है वह उसकी कोई सीमा नहीं होती वास्तव में अगर उसे अहंकार हो गया तो फिर वह किसी की नहीं सुनता वह फिर अपने आप में ही अपने आप को सबसे अधिक महान समझता है अपने ही विचारों को सब पर थोपना चाहता है और उसके अहंकार को जब ठेस लगती है तो वह फिर तिलमिला उठता है वह फिर दूसरे को परेशान करता है अंकारी व्यक्ति बड़ा ही क्या कहा जाए उसे अंकारी व्यक्ति बहुत ही मतलब खतरनाक होता है वह अपने जानकार को जिंदा रखने के लिए कुछ भी कर सकता है इसलिए जानकारी व्यक्ति से हमें दूर ही रहना चाहिए जिसे हम कार हो गया उसे जितना अधिक हो सके उससे दूरी बना कर रखें तो ही अच्छा है न था वह आज के समान व्यक्ति को अपने आकार के आदमी कुछ भी जलाने को आतुर रहता है ऐसे व्यक्ति से दूर ही रहे उनकी कोई सीमा नहीं होती है जो वास्तव में हम कारी हो जाता है वैसे कौन ज्यादा होता है लोगों में कोई को मांगता है किसी को थोड़े बहुत चीजों का आकार है कोई बहुत अधिक जानकारी हो जाता है तो यह सीमाएं हैं बाकी वास्तव में जो हंकारी है उसकी कोई सीमा नहीं होती है
Gud ivaning savaal hai ki kya hankaar kee seema hotee hai ahankaar kee tateey seema kahie to hotee bhee ya nahin bhee hotee hai donon kaha ja sakata hai kuchh log adhik ahankaaree hote hain kuchh log ka mahaan kaary hote hain isalie vah seema to vahee ho gaee aur na tha jis vyakti ko ahankaar ho jaata hai vah usakee koee seema nahin hotee vaastav mein agar use ahankaar ho gaya to phir vah kisee kee nahin sunata vah phir apane aap mein hee apane aap ko sabase adhik mahaan samajhata hai apane hee vichaaron ko sab par thopana chaahata hai aur usake ahankaar ko jab thes lagatee hai to vah phir tilamila uthata hai vah phir doosare ko pareshaan karata hai ankaaree vyakti bada hee kya kaha jae use ankaaree vyakti bahut hee matalab khataranaak hota hai vah apane jaanakaar ko jinda rakhane ke lie kuchh bhee kar sakata hai isalie jaanakaaree vyakti se hamen door hee rahana chaahie jise ham kaar ho gaya use jitana adhik ho sake usase dooree bana kar rakhen to hee achchha hai na tha vah aaj ke samaan vyakti ko apane aakaar ke aadamee kuchh bhee jalaane ko aatur rahata hai aise vyakti se door hee rahe unakee koee seema nahin hotee hai jo vaastav mein ham kaaree ho jaata hai vaise kaun jyaada hota hai logon mein koee ko maangata hai kisee ko thode bahut cheejon ka aakaar hai koee bahut adhik jaanakaaree ho jaata hai to yah seemaen hain baakee vaastav mein jo hankaaree hai usakee koee seema nahin hotee hai

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
वर्तमान समय में भारत के युवाओं की मनोदशा क्या है?Vartman Samay Me Bharat Ke Yuvao Ki Manodasha Kya Hai
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
2:39
गुड इवनिंग सवाल है कि वर्तमान समय में भारत के युवाओं की मनोदशा क्या है विकी बड़ा कठिन प्रश्न है वर्तमान समय में भारत के युवाओं की मनोदशा सब की मनोदशा को जानना समझना यह तो बड़ा मुश्किल काम है अलग अलग होता है किसी की और किसी की कुछ और कोई रोजगार के लिए परेशान हैं कोई सरकार से क्षुब्ध है सरकारी नौकरी चाहता है उस पर नौकरी नहीं मिल रही है तो सरकार को कोसता है कोई अपने प्रेम में असफल है वह अपने प्यार को पाने के लिए परेशान है तो उसी में अपना उलझा हुआ है तो कई तरह की उलझन है क्या कहा जाए किसकी क्या मनोदशा है कोई अध्यात्म की ओर अग्रसर है उसे जो है उसमें सफलता नहीं मिल पा रही है तो वह उसमें छटपटाहट रहा है कोई शादीशुदा है तो अपने पति से या पत्नी से परेशान है अपने बाल बच्चों को वह ठीक से नहीं कर पा रहा तुझसे परेशान है अपने मां-बाप के लिए नहीं कुछ कर पा रहा है तुझ से परेशान है तमाम तरह की परेशानियां हैं तो उनकी मनोदशा भी तमाम तरह की अलग-अलग होंगी किसको कहा क्या कहा जाए कि किस की मनोदशा कैसी है वह तो मैं उसके पास नजदीक जाने से ही पता चलेगा कि उसकी मनोदशा क्या है इसको एक जो है एक सांचे में नहीं डाला जा सकता मतलबी स्टीरियोटाइप्स नहीं है यह नहीं है कि बस लव यू कहा जाए कि यही मनोदशा है और वही था तमाम तरह के कहीं मुख्य रास्ते से भटके हुए युवाओं को आतंकवाद का सहारा मिल जाता है कोई आतंकवादी बना देता है उन्हें उनका माइंड वास कर देता है कोई कुछ कर देता है तो बहुत तरह की बातें यह बहुत बड़ा क्वेश्चन है और इसका आंसर ही बहुत बहुत बड़ा होगा यह शोध का विषय है और मतलब मैं क्या करूं इस पर घंटों बोला जा सकता है इसलिए इस बारे में एक चीज नहीं कहा जा सकता कि वर्तमान में क्या मनोदशा एवं सभी लोगों की अलग-अलग मनोदशा होती है वह जौनसारी यंत्र
Gud ivaning savaal hai ki vartamaan samay mein bhaarat ke yuvaon kee manodasha kya hai vikee bada kathin prashn hai vartamaan samay mein bhaarat ke yuvaon kee manodasha sab kee manodasha ko jaanana samajhana yah to bada mushkil kaam hai alag alag hota hai kisee kee aur kisee kee kuchh aur koee rojagaar ke lie pareshaan hain koee sarakaar se kshubdh hai sarakaaree naukaree chaahata hai us par naukaree nahin mil rahee hai to sarakaar ko kosata hai koee apane prem mein asaphal hai vah apane pyaar ko paane ke lie pareshaan hai to usee mein apana ulajha hua hai to kaee tarah kee ulajhan hai kya kaha jae kisakee kya manodasha hai koee adhyaatm kee or agrasar hai use jo hai usamen saphalata nahin mil pa rahee hai to vah usamen chhatapataahat raha hai koee shaadeeshuda hai to apane pati se ya patnee se pareshaan hai apane baal bachchon ko vah theek se nahin kar pa raha tujhase pareshaan hai apane maan-baap ke lie nahin kuchh kar pa raha hai tujh se pareshaan hai tamaam tarah kee pareshaaniyaan hain to unakee manodasha bhee tamaam tarah kee alag-alag hongee kisako kaha kya kaha jae ki kis kee manodasha kaisee hai vah to main usake paas najadeek jaane se hee pata chalega ki usakee manodasha kya hai isako ek jo hai ek saanche mein nahin daala ja sakata matalabee steeriyotaips nahin hai yah nahin hai ki bas lav yoo kaha jae ki yahee manodasha hai aur vahee tha tamaam tarah ke kaheen mukhy raaste se bhatake hue yuvaon ko aatankavaad ka sahaara mil jaata hai koee aatankavaadee bana deta hai unhen unaka maind vaas kar deta hai koee kuchh kar deta hai to bahut tarah kee baaten yah bahut bada kveshchan hai aur isaka aansar hee bahut bahut bada hoga yah shodh ka vishay hai aur matalab main kya karoon is par ghanton bola ja sakata hai isalie is baare mein ek cheej nahin kaha ja sakata ki vartamaan mein kya manodasha evan sabhee logon kee alag-alag manodasha hotee hai vah jaunasaaree yantr

#भारत की राजनीति

sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
3:07
गुड इवनिंग सवाल है कि आपके विचार से खुद को रिपीट करके क्या अपने दुखों से छुटकारा पाया जा सकता है निश्चित रूप से देखिए खुद को नियंत्रित करना है तो सबसे बड़ी बात खुद को हम भी अंतरिक्ष नहीं कर पाते हैं परिस्थितियों से हम टूट जाते हैं बिखर जाते हैं इधर-उधर देखने लगते हैं दूसरों में हम खोजने लगते दूसरा हमें हमें दुखों से छुटकारा पाया जाए दिलाएगा लेकिन ऐसा नहीं होता है हमें अपने दुखों से खुद ही छुटकारा पाना चाहिए और वह तो करना पड़ता है इसलिए उसके लिए हमें खुद को नियंत्रित करना पड़ता है खुद को नियंत्रित करने का मतलब कि अपनी सोच को नियंत्रित करना अपने दिमाग को नियंत्रित करना है यह सब कुछ हमें मैसेज करना पड़ता है तभी हम अपने दुखों से छुटकारा पाते हैं अन्यथा जब तक हम अपने दुखों के लिए दूसरों को दोषी मानते रहेंगे या दूसरों से उम्मीद करते रहेंगे तब तक हमें दुख होता रहे हैं उम्मीद ही मतलब एक्सपेक्टेशन जो है ना वही दुख का कारण होता है दूसरों से उम्मीद पाल लेते हैं एक्सपेक्टेशन इतना अधिक पाल लेते हैं तो वह वाला जो है वह वही हमें सुख दे सकता है क्या वही हमारे दुख का कारण है तो ऐसा नहीं होता है यह निश्चित रूप से दुख होता है बहुत बड़ा दुख है कि हम तो कहा जाता है कोई हमें हमारे साथ विश्वासघात करने का है तो हमें दुख होता है इस ग्रुप से होता है सबको मिलकर जाते लेकिन देखिए दुनिया में कुछ भी आस्था ही नहीं दुनिया में हर कुछ और है इस वजह से कुछ बनाया है ऐसा कि हम बड़ा से बड़ा दर्द भी वह सो जाते हैं और वक्त हमें सिखा देता है सब कुछ करना उसकी खाना इसीलिए अपने दुखों से हमें खुद ही लड़ना पड़ता है और खुद ही नियंत्रित करना पड़ता है कुछ पल के लिए होता है कोई हमें दिलासा देता है कोई हंसता है कोई हमारे साथ सिर्फ एक ही बताता है तो हमें थोड़ा सा सुकून मिलता है लेकिन ज्यादा लंबे समय तक कोई भी हमारा साथ नहीं दे सकता है इसलिए कोशिश यही करनी चाहिए कि हमें अपने दुखों से छुटकारा पाने के लिए अपने आप को नियंत्रित करना चाहिए तो पहले सोच पर अपने विचार पर अपने दिमाग पर नियंत्रण स्थापित करना पड़ता है तभी हम अपने दुख से छोटा
Gud ivaning savaal hai ki aapake vichaar se khud ko ripeet karake kya apane dukhon se chhutakaara paaya ja sakata hai nishchit roop se dekhie khud ko niyantrit karana hai to sabase badee baat khud ko ham bhee antariksh nahin kar paate hain paristhitiyon se ham toot jaate hain bikhar jaate hain idhar-udhar dekhane lagate hain doosaron mein ham khojane lagate doosara hamen hamen dukhon se chhutakaara paaya jae dilaega lekin aisa nahin hota hai hamen apane dukhon se khud hee chhutakaara paana chaahie aur vah to karana padata hai isalie usake lie hamen khud ko niyantrit karana padata hai khud ko niyantrit karane ka matalab ki apanee soch ko niyantrit karana apane dimaag ko niyantrit karana hai yah sab kuchh hamen maisej karana padata hai tabhee ham apane dukhon se chhutakaara paate hain anyatha jab tak ham apane dukhon ke lie doosaron ko doshee maanate rahenge ya doosaron se ummeed karate rahenge tab tak hamen dukh hota rahe hain ummeed hee matalab eksapekteshan jo hai na vahee dukh ka kaaran hota hai doosaron se ummeed paal lete hain eksapekteshan itana adhik paal lete hain to vah vaala jo hai vah vahee hamen sukh de sakata hai kya vahee hamaare dukh ka kaaran hai to aisa nahin hota hai yah nishchit roop se dukh hota hai bahut bada dukh hai ki ham to kaha jaata hai koee hamen hamaare saath vishvaasaghaat karane ka hai to hamen dukh hota hai is grup se hota hai sabako milakar jaate lekin dekhie duniya mein kuchh bhee aastha hee nahin duniya mein har kuchh aur hai is vajah se kuchh banaaya hai aisa ki ham bada se bada dard bhee vah so jaate hain aur vakt hamen sikha deta hai sab kuchh karana usakee khaana iseelie apane dukhon se hamen khud hee ladana padata hai aur khud hee niyantrit karana padata hai kuchh pal ke lie hota hai koee hamen dilaasa deta hai koee hansata hai koee hamaare saath sirph ek hee bataata hai to hamen thoda sa sukoon milata hai lekin jyaada lambe samay tak koee bhee hamaara saath nahin de sakata hai isalie koshish yahee karanee chaahie ki hamen apane dukhon se chhutakaara paane ke lie apane aap ko niyantrit karana chaahie to pahale soch par apane vichaar par apane dimaag par niyantran sthaapit karana padata hai tabhee ham apane dukh se chhota

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या भलाई करने से भलाई मिलती है?Kya Bhalai Karne Se Bhalai Milti Hai
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:43
गुड इवनिंग सवाल है कि क्या भलाई करने से भलाई मिलती है लेकिन कहा तो यही जाता है कहा क्या जाता है इसको और वो भी किया जा सकता है आप खुद होता है कभी-कभी कि हमें पता नहीं चल पाता है कि हमारी भलाई के बदले में हमें क्या मिल रहा है उससे हमें क्या हासिल होता है लेकिन ऐसा नहीं है यह निश्चित रूप से यह कहा गया है कि अगर हम हम बोलेंगे तो आम ही मिलेगा और बबूल रोएंगे तो बबूल मिलेगा तो यही चीज है क्या काम भलाई करेंगे तो वह कहीं ना कहीं किसी न किसी रूप में हमारे सामने हमारे साथ भी भला करने वाला कोई न कोई मिल ही जाता है वह अनजान जगह पर कहीं जाएं आप या कहीं मदद की जरूरत हो जाए जहां कोई नहीं आपको जानता वहां कोई एक अनजाना व्यक्ति आ जाता है जो आपकी मदद करता है तो वह लीची जाएंगे चीजें पर लक्षित होती है यह तो हर कोई अनुभव कर सकता है मैं मैं तो अनुभव किया हूं और हमेशा करता रहता हूं कि कहीं भी मैं जाता हूं तो मुझे कुछ अच्छे लोग मिल जाते हैं जिनसे मतलब बनाने में मदद मिल जाती है मुझे तो वही है तो भलाई के बदले में भला ही मिल जाती है अगर हम बुराई की रहेंगे तो जब निश्चित रूप से हम मेरे हमारे साथ भी बुराई हो ही जाती है तो कर भला तो हो भला कर बुरा तो हो गई बातें कही गई है और यह बिल्कुल सत्य है थैंक यू
Gud ivaning savaal hai ki kya bhalaee karane se bhalaee milatee hai lekin kaha to yahee jaata hai kaha kya jaata hai isako aur vo bhee kiya ja sakata hai aap khud hota hai kabhee-kabhee ki hamen pata nahin chal paata hai ki hamaaree bhalaee ke badale mein hamen kya mil raha hai usase hamen kya haasil hota hai lekin aisa nahin hai yah nishchit roop se yah kaha gaya hai ki agar ham ham bolenge to aam hee milega aur babool roenge to babool milega to yahee cheej hai kya kaam bhalaee karenge to vah kaheen na kaheen kisee na kisee roop mein hamaare saamane hamaare saath bhee bhala karane vaala koee na koee mil hee jaata hai vah anajaan jagah par kaheen jaen aap ya kaheen madad kee jaroorat ho jae jahaan koee nahin aapako jaanata vahaan koee ek anajaana vyakti aa jaata hai jo aapakee madad karata hai to vah leechee jaenge cheejen par lakshit hotee hai yah to har koee anubhav kar sakata hai main main to anubhav kiya hoon aur hamesha karata rahata hoon ki kaheen bhee main jaata hoon to mujhe kuchh achchhe log mil jaate hain jinase matalab banaane mein madad mil jaatee hai mujhe to vahee hai to bhalaee ke badale mein bhala hee mil jaatee hai agar ham buraee kee rahenge to jab nishchit roop se ham mere hamaare saath bhee buraee ho hee jaatee hai to kar bhala to ho bhala kar bura to ho gaee baaten kahee gaee hai aur yah bilkul saty hai thaink yoo

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
LPG सिलेंडर के दाम इतना क्यों बढ़ रहा है?Lpg Cylinder Ke Daam Itna Kyun Badh Raha Hai
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
0:52
गुड इवनिंग सवाल है कि एलपीजी के दाम इतना क्यों बढ़ रहा है देखिए इसका तो एक ही जवाब है सरकार जो हमें बताती है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत बढ़ती है तो यहां भी बढ़ा देती है तेल कंपनियां जो है वही काम करते हैं वह अंतरराष्ट्रीय बाजार में जिस तरह से इनके दाम बढ़ते हैं करते हैं तो कभी काट भी जाता है कभी कोई भी जाता है तो अभी आजकल काफी बढ़ रहा है पेट्रोल डीजल के दाम जिस तरह से पढ़े हैं उसी तरह से एलपीजी के दाम लगातार बढ़ते जा रहे हैं तो इसका कारण यही बताया जाता है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में इनकी किल्लत हो गई है या इनके दाम बढ़ रहे हैं तो इसीलिए उसके नाम यहां पर बढ़ रहे हैं थैंक यू
Gud ivaning savaal hai ki elapeejee ke daam itana kyon badh raha hai dekhie isaka to ek hee javaab hai sarakaar jo hamen bataatee hai ki antararaashtreey baajaar mein keemat badhatee hai to yahaan bhee badha detee hai tel kampaniyaan jo hai vahee kaam karate hain vah antararaashtreey baajaar mein jis tarah se inake daam badhate hain karate hain to kabhee kaat bhee jaata hai kabhee koee bhee jaata hai to abhee aajakal kaaphee badh raha hai petrol deejal ke daam jis tarah se padhe hain usee tarah se elapeejee ke daam lagaataar badhate ja rahe hain to isaka kaaran yahee bataaya jaata hai ki antararaashtreey baajaar mein inakee killat ho gaee hai ya inake daam badh rahe hain to iseelie usake naam yahaan par badh rahe hain thaink yoo

#पढ़ाई लिखाई

sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:31
गुड इवनिंग सवाल है कि किसी कक्षा में विद्यार्थियों के संदर्भ में विविधता किन रूपों में परिलक्षित होती है देखिए विद्यार्थियों के संदर्भ में विवेता जो है उनके अंदर का जो जो प्रतिभा है वह विविधता के रूप में परिलक्षित होती है इसके बाद उनके संस्कार है उनके मैं अंजू पांडे होने के तरीके हैं वह अलग-अलग बैकग्राउंड से जो आते हैं छात्र एक ही कक्षा में कई बैकग्राउंड के लड़के आते हैं लड़कियां आती हैं तो वह भी मिलता है फिर उनके अंदर का जो टैलेंट होता है जो उनकी मेधावी क्षमता होती है वह भी एक भी देता है फिर अगर धर्म के आधार पर मामले तो वह भी एक विवेता है जाति के आधार पर मामले तो वह भी एक नहीं देता है रंग के आधार पर कई तरह के विवादों के रूप में देखा जा सकता है अलग-अलग जाति धर्म संप्रदाय इसके बाद उनके अंदर की जो क्षमता होती है पढ़ने की क्षमता सीखने की क्षमता याद करने की क्षमता यह सब कुछ ही दे देता ही है तो कई रूपों में विविधता देखी जा सकती है थैंक यू
Gud ivaning savaal hai ki kisee kaksha mein vidyaarthiyon ke sandarbh mein vividhata kin roopon mein parilakshit hotee hai dekhie vidyaarthiyon ke sandarbh mein viveta jo hai unake andar ka jo jo pratibha hai vah vividhata ke roop mein parilakshit hotee hai isake baad unake sanskaar hai unake main anjoo paande hone ke tareeke hain vah alag-alag baikagraund se jo aate hain chhaatr ek hee kaksha mein kaee baikagraund ke ladake aate hain ladakiyaan aatee hain to vah bhee milata hai phir unake andar ka jo tailent hota hai jo unakee medhaavee kshamata hotee hai vah bhee ek bhee deta hai phir agar dharm ke aadhaar par maamale to vah bhee ek viveta hai jaati ke aadhaar par maamale to vah bhee ek nahin deta hai rang ke aadhaar par kaee tarah ke vivaadon ke roop mein dekha ja sakata hai alag-alag jaati dharm sampradaay isake baad unake andar kee jo kshamata hotee hai padhane kee kshamata seekhane kee kshamata yaad karane kee kshamata yah sab kuchh hee de deta hee hai to kaee roopon mein vividhata dekhee ja sakatee hai thaink yoo

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने का कारण कांग्रेस की सरकार है?Kya Petrol Aur Diesal Ke Daam Badhane Ka Karan Congress Ki Sarkaar Hai
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
1:52
गुड इवनिंग सवाल है क्या पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने का कारण काग्रेस की सरकार है नया ऐसा नहीं कहा जा सकता है और कांग्रेस की सरकार थी तभी पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ते थे और यह लोग हल्ला मचाते थे जो अभी सरकार में हैं और आज जो है इनकी सरकार है पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ रहे हैं तो विपक्ष में हल्ला मचा रही है यह तो राजनीति है बस आम पब्लिक इसका खेल पता नहीं समझती नहीं है यह विपक्ष से जो भी होता है बस हल्ला करता है यही लोग है आज जो बोलना जो है सरकार में हमारे यही लोग पुरजोर विरोध कर रहे थे जब कांग्रेस की सरकार थी और तेल के दाम बढ़ते थे आज उनके पास क्या जवाब है वशीकरण के अंतरराष्ट्रीय बाजार में दाम पड़ेगा तो समय भी तो यही होता है ऐसा तो नहीं तो सरकार बना रही थी तो मेरी बात है यह ट्रेन का पेट्रोल और डीजल में तो 60 परसेंट से ऊपर टैक्स नहीं चला जाता है आज ₹100 का रखना है तो अगर टैक्स नहीं होता तो हमें ₹30 देने पड़ते पेट्रोल के दाम तो सरकार को केंद्र सरकार को राज्य सरकार को अपने टैक्स कम करने वाले कम कर देना चाहिए कुछ कुछ कम कर दे दस परसेंट पर 10 परसेंट बड़ा घटा दे तू ही बहुत राहत हो जाएगी आम जनता को लेकिन यह लोग अपना टैक्स जॉय बढ़ाते जा रहे हैं तो कहां से कम होगी तो मुझे नहीं लगता कि इसके लिए कांग्रेस की सरकार जिम्मेवार है जो भी सरकार रहती है उनका पेट्रोल डीजल पर राजनीति थैंक यू
Gud ivaning savaal hai kya petrol aur deejal ke daam badhane ka kaaran kaagres kee sarakaar hai naya aisa nahin kaha ja sakata hai aur kaangres kee sarakaar thee tabhee petrol aur deejal ke daam badhate the aur yah log halla machaate the jo abhee sarakaar mein hain aur aaj jo hai inakee sarakaar hai petrol deejal ke daam badh rahe hain to vipaksh mein halla macha rahee hai yah to raajaneeti hai bas aam pablik isaka khel pata nahin samajhatee nahin hai yah vipaksh se jo bhee hota hai bas halla karata hai yahee log hai aaj jo bolana jo hai sarakaar mein hamaare yahee log purajor virodh kar rahe the jab kaangres kee sarakaar thee aur tel ke daam badhate the aaj unake paas kya javaab hai vasheekaran ke antararaashtreey baajaar mein daam padega to samay bhee to yahee hota hai aisa to nahin to sarakaar bana rahee thee to meree baat hai yah tren ka petrol aur deejal mein to 60 parasent se oopar taiks nahin chala jaata hai aaj ₹100 ka rakhana hai to agar taiks nahin hota to hamen ₹30 dene padate petrol ke daam to sarakaar ko kendr sarakaar ko raajy sarakaar ko apane taiks kam karane vaale kam kar dena chaahie kuchh kuchh kam kar de das parasent par 10 parasent bada ghata de too hee bahut raahat ho jaegee aam janata ko lekin yah log apana taiks joy badhaate ja rahe hain to kahaan se kam hogee to mujhe nahin lagata ki isake lie kaangres kee sarakaar jimmevaar hai jo bhee sarakaar rahatee hai unaka petrol deejal par raajaneeti thaink yoo

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
किसान आंदोलन से भाजपा को कितना नुकसान होगा?Kishan Aandolan Se Bhajpa Ko Kitna Nuksaan Hoga
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
2:08
गुड इवनिंग सवाल है कि किसान आंदोलन से भाजपा को कितना नुकसान होगा देखिए किसान आंदोलन से भाजपा को पंजाब हरियाणा और राजस्थान के राज्यों में नुकसान हो सकता है बाकी मुझे नहीं लगता है कि उसका प्रभाव कन्हान नदी है कुछ-कुछ महाराष्ट्र में है लेकिन उतना नहीं है तो इन तीन राज्यों में निश्चित रूप से कुछ ना कुछ नुकसान तो हो सकता है फिर भी यह भी लगता है कि किसान आंदोलन वास्तविक ना होकर कुछ और वास्तविक भी है उसमें राजनीतिक दल है विपक्षी दल उनके उनके नुमाइंदे मुझे लगता है कि ज्यादा है और यह और उनके इशारे पर ही सब कुछ हो रहा है जैसे शाहीन बाग में होता था वही चीज मुझे लगता है इसमें भी कुछ है न कि मैं सबको नहीं कर सकता मुझे लगता है कि जरूर कुछ ना कुछ प्रेरित है किसान आंदोलन जो चल रहा है वह विपक्ष किया विपक्ष के साथ पर ही चल रहा है विपक्ष की सांठगांठ है मुझे लगता है सारे किसान मुझे नहीं लगता है किस में है और अगर है तो किसानों को इतना जिद नहीं करना चाहिए कि सामने आकर बात करते हैं और मैं क्या बुराई है पहले वह तो दिखाए बार बार जब कहां जा रहा है गृह मंत्री की तरफ से कृषि मंत्री की तरफ से प्रधानमंत्री की तरफ से कि आप बताइए कि आप कौन सी खामियां फोटो कौन क्या दूर करना है यह तो बताएं बहुत जिद पर अड़े हुए हैं कि बस नहीं खत्म कीजिए पहले तब बात ऐसे नहीं होता है बातचीत करने के लिए आपको आगे बढ़ना होगा और मैं उसे अपना बताना होगा कि नहीं मुझे इस चीज से आपत्ति है इस चीज का पी हटा ही इसके बाद जो सरकार जो है क्या कहती है उसका देखना होगा थैंक यू
Gud ivaning savaal hai ki kisaan aandolan se bhaajapa ko kitana nukasaan hoga dekhie kisaan aandolan se bhaajapa ko panjaab hariyaana aur raajasthaan ke raajyon mein nukasaan ho sakata hai baakee mujhe nahin lagata hai ki usaka prabhaav kanhaan nadee hai kuchh-kuchh mahaaraashtr mein hai lekin utana nahin hai to in teen raajyon mein nishchit roop se kuchh na kuchh nukasaan to ho sakata hai phir bhee yah bhee lagata hai ki kisaan aandolan vaastavik na hokar kuchh aur vaastavik bhee hai usamen raajaneetik dal hai vipakshee dal unake unake numainde mujhe lagata hai ki jyaada hai aur yah aur unake ishaare par hee sab kuchh ho raha hai jaise shaaheen baag mein hota tha vahee cheej mujhe lagata hai isamen bhee kuchh hai na ki main sabako nahin kar sakata mujhe lagata hai ki jaroor kuchh na kuchh prerit hai kisaan aandolan jo chal raha hai vah vipaksh kiya vipaksh ke saath par hee chal raha hai vipaksh kee saanthagaanth hai mujhe lagata hai saare kisaan mujhe nahin lagata hai kis mein hai aur agar hai to kisaanon ko itana jid nahin karana chaahie ki saamane aakar baat karate hain aur main kya buraee hai pahale vah to dikhae baar baar jab kahaan ja raha hai grh mantree kee taraph se krshi mantree kee taraph se pradhaanamantree kee taraph se ki aap bataie ki aap kaun see khaamiyaan photo kaun kya door karana hai yah to bataen bahut jid par ade hue hain ki bas nahin khatm keejie pahale tab baat aise nahin hota hai baatacheet karane ke lie aapako aage badhana hoga aur main use apana bataana hoga ki nahin mujhe is cheej se aapatti hai is cheej ka pee hata hee isake baad jo sarakaar jo hai kya kahatee hai usaka dekhana hoga thaink yoo

#जीवन शैली

bolkar speaker
कुछ लोग दांत खोदने के लिए लकड़ी का प्रयोग करते हैं क्या यह सही है?Kuch Log Daat Khodne Ke Liye Lakdi Ka Prayog Karte Hai Kya Yah Sahi Hai
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
0:50
गुड इवनिंग सवाल यह है कि कुछ लोग दांत खोजने के लिए लकड़ी का प्रयोग करते हैं क्या यह सही है हम देखिए बेरंग दांत में कभी-कभी चीजें फंस जाती हैं खाना हम खाते से कुछ चीजें ऐसी होती है कि फस जाती है तो उसको साफ करने के लिए लकड़ी मतलब पतली सी सीट कैसे बनाई जाती है उसको उसको खुद तो इसमें मुझे तो नहीं लगता है कि कुछ गलत है उसको साफ तो करना ही पड़ेगा हालांकि मैं ब्रश कर लेना चाहिए मैं फिर भी कोई चीज होती है ब्रश से भी नहीं निकलती है तो उसे हमें खुद नहीं पड़ता तो इसलिए लकड़ी का प्रयोग करने में मुझे नहीं लगता कि कोई बुराई है या कोई दिक्कत है थैंक यू
Gud ivaning savaal yah hai ki kuchh log daant khojane ke lie lakadee ka prayog karate hain kya yah sahee hai ham dekhie berang daant mein kabhee-kabhee cheejen phans jaatee hain khaana ham khaate se kuchh cheejen aisee hotee hai ki phas jaatee hai to usako saaph karane ke lie lakadee matalab patalee see seet kaise banaee jaatee hai usako usako khud to isamen mujhe to nahin lagata hai ki kuchh galat hai usako saaph to karana hee padega haalaanki main brash kar lena chaahie main phir bhee koee cheej hotee hai brash se bhee nahin nikalatee hai to use hamen khud nahin padata to isalie lakadee ka prayog karane mein mujhe nahin lagata ki koee buraee hai ya koee dikkat hai thaink yoo

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
जिस से हम सबसे ज्यादा प्यार करते है वो हमारी कदर क्यों नहीं करते ?Jis Se Hum Subse Jyada Pyar Karte Hai Wo Humari Kadar Kyo Nahi Karate
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
2:50
गुड इवनिंग सवाल है जिससे हम सबसे ज्यादा प्यार करते हैं वह हमारी कदर क्यों नहीं करता यह देखी आम आम शिकायत है यह जनरल मतलब एक तरह से जनरलाइज हो गया यह यह बात हर जगह लागू है बिल्कुल यह सही बात है कि जिससे हम प्यार करते हैं वह हमारी कदर नहीं करते क्योंकि वह लापरवाह हो जाते हैं जब हम किसी को जरूरत से ज्यादा ध्यान देने लगते हैं करने लगते हैं तो वह अगला जो है वह लापरवाह हो जाता है वह सोचता कि यह तो करता ही है इसके लिए मुझे क्या करना कुछ भी जैसे जिस तरह से हम अपने माता-पिता की कदर नहीं करते हैं माता-पिता हमें प्यार करते हैं तो उनके प्यार को हम कदर नहीं देते हैं वह लापरवाह होते हैं उनका और जबकि दूसरे का प्यार पाने के लिए हम परेशान आते हैं तो वही बात होती है कि हम उस व्यक्ति के प्रति लापरवाह हो जाते हैं जो हमें प्यार करता है जबकि यह सही नहीं है ऐसा नहीं होना चाहिए लेकिन यह अब इसलिए प्रकृति है ऐसा मुझे लगता है कि मनुष्य को ऐसे ही बनाया है स्वर्ग जानवरों में ऐसी बात नहीं है जानवर को हम जानवर पशु पक्षी को जिसको हम मतलब अगर पालते हैं पूछते हैं और बड़ा करते हैं या कुछ भी उनको ध्यान रखते हैं तो वह हो वह भी हमारा बहुत कदर करते हैं अब हमारी बहुत अपनी जान देकर भी वह हमारी हिफाजत करना चाहते हैं और करते हैं लेकिन आम मनुष्यों में थोड़ा सा ही आंसर है यह स्वभाविक है प्राकृतिक है जो भी कहे कि जो हमसे प्यार करता है हम उसी की कदर नहीं करते हैं बल्कि उसके पीछे दौड़ते रहते हैं जो हमारी कदर न करता है जो हम प्यार नहीं करता है तो यह बिल्कुल गलत है ऐसा नहीं करना चाहिए लेकिन ऐसा ही होता है अक्सर देखा गया है तो हमें अपनी कदर करवाने के लिए थोड़ा सा हमें गंभीर होना पड़ेगा हमें दिखाना पड़ेगा दिखाना चाहिए कि अगले को दिखाने के लिए हमें थोड़ा सा उस पर अंकुश लगाना चाहिए और हमें दिखाना नहीं चाहिए इतना कि हम इतना उसको प्यार करते हैं यार की कद्र करते हैं बिल्कुल दोनों तरफ से होना चाहिए बराबर तभी वह सही होता है न था एक परेशान रहता है और दूसरा लापरवाह हो जाता है थैंक यू
Gud ivaning savaal hai jisase ham sabase jyaada pyaar karate hain vah hamaaree kadar kyon nahin karata yah dekhee aam aam shikaayat hai yah janaral matalab ek tarah se janaralaij ho gaya yah yah baat har jagah laagoo hai bilkul yah sahee baat hai ki jisase ham pyaar karate hain vah hamaaree kadar nahin karate kyonki vah laaparavaah ho jaate hain jab ham kisee ko jaroorat se jyaada dhyaan dene lagate hain karane lagate hain to vah agala jo hai vah laaparavaah ho jaata hai vah sochata ki yah to karata hee hai isake lie mujhe kya karana kuchh bhee jaise jis tarah se ham apane maata-pita kee kadar nahin karate hain maata-pita hamen pyaar karate hain to unake pyaar ko ham kadar nahin dete hain vah laaparavaah hote hain unaka aur jabaki doosare ka pyaar paane ke lie ham pareshaan aate hain to vahee baat hotee hai ki ham us vyakti ke prati laaparavaah ho jaate hain jo hamen pyaar karata hai jabaki yah sahee nahin hai aisa nahin hona chaahie lekin yah ab isalie prakrti hai aisa mujhe lagata hai ki manushy ko aise hee banaaya hai svarg jaanavaron mein aisee baat nahin hai jaanavar ko ham jaanavar pashu pakshee ko jisako ham matalab agar paalate hain poochhate hain aur bada karate hain ya kuchh bhee unako dhyaan rakhate hain to vah ho vah bhee hamaara bahut kadar karate hain ab hamaaree bahut apanee jaan dekar bhee vah hamaaree hiphaajat karana chaahate hain aur karate hain lekin aam manushyon mein thoda sa hee aansar hai yah svabhaavik hai praakrtik hai jo bhee kahe ki jo hamase pyaar karata hai ham usee kee kadar nahin karate hain balki usake peechhe daudate rahate hain jo hamaaree kadar na karata hai jo ham pyaar nahin karata hai to yah bilkul galat hai aisa nahin karana chaahie lekin aisa hee hota hai aksar dekha gaya hai to hamen apanee kadar karavaane ke lie thoda sa hamen gambheer hona padega hamen dikhaana padega dikhaana chaahie ki agale ko dikhaane ke lie hamen thoda sa us par ankush lagaana chaahie aur hamen dikhaana nahin chaahie itana ki ham itana usako pyaar karate hain yaar kee kadr karate hain bilkul donon taraph se hona chaahie baraabar tabhee vah sahee hota hai na tha ek pareshaan rahata hai aur doosara laaparavaah ho jaata hai thaink yoo
URL copied to clipboard