#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
टेस्ला के मालिक कौन है?Tesla Ke Malik Kaun Hai
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
0:16
ने पूछा है टेस्ला का मालिक कौन है तो इसका सबसे सटीक मतलब कि इसका उत्तर है कि टेस्ला का जो मालिक है लोन मस्त है क्या है एलोन मस्क एलॉन मुस्क के द्वारा ही टेस्ला कंपनी को संचालन किया जाता है
Ne poochha hai tesla ka maalik kaun hai to isaka sabase sateek matalab ki isaka uttar hai ki tesla ka jo maalik hai lon mast hai kya hai elon mask elon musk ke dvaara hee tesla kampanee ko sanchaalan kiya jaata hai

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
मुझे सबसे ज्यादा आलस आता है, मैं क्या करूं? कोई उपाय बताइएMujhe Sabse Jyada Aalas Aata Hai Main Kya Karu Koi Upaay Bataye
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
1:10
कि मुझे आलस बहुत ज्यादा आता है तो दंत क्या करूं क्या उपाय करूं तो दिन में आपको यह बता दो कि आलस आने का सबसे बड़ा कारण होता है हमारी दिनचर्या में चीन की शुरुआत हम किस ढंग से करते हैं अगर हम दिन की शुरुआत बेहतर ढंग से करते हैं तो दिन अमानत नहीं आएगा यानी कि आज सुबह जब उठो तो क्या करूं आपको एक दो गिलास पानी पियो फ्रेश हो और उसके बाद कुछ देर मॉर्निंग वाक कर लो और तेज डेफिनेटली आपका दे दे जो है अच्छा शुरुआत होगा और अपने कामों को अच्छे से फोकस करके करो यानी कि अगर आपके पास काम नहीं होगा तो आप डेफिनटली आंवला रस से भरी रहोगे और आपको यह भी ध्यान देना चाहिए क्योंकि इससे जुड़ी आपको परेशानी है क्या या नहीं मतलब नींद सही से लग रहा है अथवा नहीं लग रहा है तो यह सारी बातें हैं या नहीं रात को आप अच्छे से नींद ले पा रहे हो या नहीं दे पा रहे हो मोबाइल के चक्कर में आप पढ़े हो या फिर टीवी देखते रहते हो यह सारी बातों को आप अगर जो है ध्यान पूर्वक का क्या करोगे देखोगे तो आपको उस सटीक जवाब नहीं सोता मिल जाएगा तो टाइपिंग जाएगी इसका सटीक जवाब है
Ki mujhe aalas bahut jyaada aata hai to dant kya karoon kya upaay karoon to din mein aapako yah bata do ki aalas aane ka sabase bada kaaran hota hai hamaaree dinacharya mein cheen kee shuruaat ham kis dhang se karate hain agar ham din kee shuruaat behatar dhang se karate hain to din amaanat nahin aaega yaanee ki aaj subah jab utho to kya karoon aapako ek do gilaas paanee piyo phresh ho aur usake baad kuchh der morning vaak kar lo aur tej dephinetalee aapaka de de jo hai achchha shuruaat hoga aur apane kaamon ko achchhe se phokas karake karo yaanee ki agar aapake paas kaam nahin hoga to aap dephinatalee aanvala ras se bharee rahoge aur aapako yah bhee dhyaan dena chaahie kyonki isase judee aapako pareshaanee hai kya ya nahin matalab neend sahee se lag raha hai athava nahin lag raha hai to yah saaree baaten hain ya nahin raat ko aap achchhe se neend le pa rahe ho ya nahin de pa rahe ho mobail ke chakkar mein aap padhe ho ya phir teevee dekhate rahate ho yah saaree baaton ko aap agar jo hai dhyaan poorvak ka kya karoge dekhoge to aapako us sateek javaab nahin sota mil jaega to taiping jaegee isaka sateek javaab hai

#जीवन शैली

bolkar speaker
भविष्य में धरती का विनाश किस कारण से होगा?Bhavishya Mein Dharti Ka Vinash Kis Kaaran Se Hoga
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
0:42
अर्थिंग वाटर से ही पृथ्वी का जो है कि मतलब नाश होगा आपको पता है कि जब पृथ्वी शुरुआती दौर में था तो आप का गोला था का करोड़ों वर्ष बारिश हुई तो चारों तरफ पानी पानी हो गई और पानी होते-होते मतलब किसने ज्वालामुखी विस्फोट हुआ तो धीरे-धीरे चलिए स्वरूप में आया उसी तरह जो है कि अभी जो क्लेस्फीयर है अगर सारा ग्लेशियर कल जाए तो और हंड्रेड मीटर्स अराउंड जो है कि आपका पूरा पानी का पता चल जाएगा पूरा वर्ल्ड पूरा भारत में पूरा को सॉरी पूरा वर्ल्ड में तो आप सो सकते हो कि इस तरह की परेशानियां आपको देखने को मिलेगा तुरंत टाइपिंग की जल प्रलय ही पृथ्वी के विनाश करने का कारण होगा
Arthing vaatar se hee prthvee ka jo hai ki matalab naash hoga aapako pata hai ki jab prthvee shuruaatee daur mein tha to aap ka gola tha ka karodon varsh baarish huee to chaaron taraph paanee paanee ho gaee aur paanee hote-hote matalab kisane jvaalaamukhee visphot hua to dheere-dheere chalie svaroop mein aaya usee tarah jo hai ki abhee jo klespheeyar hai agar saara gleshiyar kal jae to aur handred meetars araund jo hai ki aapaka poora paanee ka pata chal jaega poora varld poora bhaarat mein poora ko soree poora varld mein to aap so sakate ho ki is tarah kee pareshaaniyaan aapako dekhane ko milega turant taiping kee jal pralay hee prthvee ke vinaash karane ka kaaran hoga

#जीवन शैली

bolkar speaker
भारतीय लोग किस बारे में सबसे ज्यादा जानने की इच्छा रखते हैं?Bhartiya Log Kis Bare Mein Sabse Jyada Jaanne Ki Ichha Rakhte Hain
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
0:33
लगभग सभी लोग आपके नेगेटिविटी को जानने के विषय में इच्छुक रहते हैं यानी कि आप अच्छे क्या किए हैं यह सब के लिए मायने नहीं रखता है वह यही जानना चाहते हैं कि आप क्या बुरे हैं आपके क्या बुरे कर्म है वह सदैव आपकी नेगेटिविटी को लेकर बहस करते हैं और उससे आगे बढ़ बढ़ाते हैं आप पॉजिटिविटी पर उसका ध्यान ही नहीं होता है लोग हजारों अच्छे काम कर ले लेकिन यह पूरे काम कर लेते हैं तो उसके हजारों अच्छे काम मतलब के नष्ट हो जाता है तो आप यह सोच सकते हो कि लोग का क्या सोच है ठीक है टाइपिंग करते हैं
Lagabhag sabhee log aapake negetivitee ko jaanane ke vishay mein ichchhuk rahate hain yaanee ki aap achchhe kya kie hain yah sab ke lie maayane nahin rakhata hai vah yahee jaanana chaahate hain ki aap kya bure hain aapake kya bure karm hai vah sadaiv aapakee negetivitee ko lekar bahas karate hain aur usase aage badh badhaate hain aap pojitivitee par usaka dhyaan hee nahin hota hai log hajaaron achchhe kaam kar le lekin yah poore kaam kar lete hain to usake hajaaron achchhe kaam matalab ke nasht ho jaata hai to aap yah soch sakate ho ki log ka kya soch hai theek hai taiping karate hain

#जीवन शैली

Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
0:42
सिंपल सा जवाब है सिंपलीसिटी यानी सादगी जो है बुद्धि मानता से बनती है नहीं कहने का मतलब है कि बुद्धिमान व्यक्ति हमेशा सादगी को पसंद करते हैं सिंपलीसिटी को पसंद करते हैं दिखावा से बहुत दूर रहते हैं क्योंकि उन्हें पता होता है कि यह दिखावा यह सैनिक क्षणभंगुर बातों से हम अपने आप को जो है कि नहीं पहुंचा नहीं चाहिए और सदैव जो है कि मतलब कि अपने ज्ञान को आगे बढ़ाने के लिए मेहनत करनी चाहिए ना कि लोगों का जो है कि दिखावा के लोगों को दिखावा के लिए जो है कोशिश करनी चाहिए तो सिंपलीसिटी बुद्धिमान लोग के लिए प्राइमरी होती है नहीं सर्वोपरि होती है
Simpal sa javaab hai simpaleesitee yaanee saadagee jo hai buddhi maanata se banatee hai nahin kahane ka matalab hai ki buddhimaan vyakti hamesha saadagee ko pasand karate hain simpaleesitee ko pasand karate hain dikhaava se bahut door rahate hain kyonki unhen pata hota hai ki yah dikhaava yah sainik kshanabhangur baaton se ham apane aap ko jo hai ki nahin pahuncha nahin chaahie aur sadaiv jo hai ki matalab ki apane gyaan ko aage badhaane ke lie mehanat karanee chaahie na ki logon ka jo hai ki dikhaava ke logon ko dikhaava ke lie jo hai koshish karanee chaahie to simpaleesitee buddhimaan log ke lie praimaree hotee hai nahin sarvopari hotee hai

#जीवन शैली

Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
0:39
आपके का सबसे सटीक मीनिंग गया है जब हम बुराई को ढूंढने के लिए संसार में निकले तो हमें ऐसा लगा कि हम से बुरा इस संसार में कोई नहीं है डेट मींस क्या हो गया की बुराई हर किसी में होती है कोई भी व्यक्ति हाथ नहीं है यानी कि शुद्ध नहीं है हर किसी में किसी न किसी तरह से अब जरूर होता है यानी कि उसके अंदर बुराइयां होती है होती है जिससे वह बुराई किसी भी हद तक की हो मतलब किसी भी लेवल की हो तो उस बुराइयों को हमें जो है कि अपने अंदर की बुराइयों को सबसे पहले खत्म करनी चाहिए तत्पश्चात दूसरे की बुराइयों पर उंगली उठाने चाहिए इस सेंटेंस का सबसे सटीक मीनिंग यही होता है ठीक है
Aapake ka sabase sateek meening gaya hai jab ham buraee ko dhoondhane ke lie sansaar mein nikale to hamen aisa laga ki ham se bura is sansaar mein koee nahin hai det meens kya ho gaya kee buraee har kisee mein hotee hai koee bhee vyakti haath nahin hai yaanee ki shuddh nahin hai har kisee mein kisee na kisee tarah se ab jaroor hota hai yaanee ki usake andar buraiyaan hotee hai hotee hai jisase vah buraee kisee bhee had tak kee ho matalab kisee bhee leval kee ho to us buraiyon ko hamen jo hai ki apane andar kee buraiyon ko sabase pahale khatm karanee chaahie tatpashchaat doosare kee buraiyon par ungalee uthaane chaahie is sentens ka sabase sateek meening yahee hota hai theek hai

#जीवन शैली

Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
1:30
काफी ही अच्छा बात कहां है डिप्रेशन से जूझता हुआ व्यक्ति का हमें हमेशा जो है साथ देना चाहिए क्योंकि अगर हम उससे दूर मुंह फेरते जाएंगे तो वह अभी डिप्रेशन में होता जाएगा और कहीं ना कहीं उसके डिप्रेशन का जो कारण है उसका हमें पता लगाना चाहिए और उसको खत्म करने का प्रयत्न करना चाहिए और परिवार के सभी सदस्य स्थगित संबंधी एवं दोस्त समाज सभी का यह उद्देश्य होना मतलब कि यह जो जिम्मेदारी होती है कि कोई भी व्यक्ति और उदास है किसी भी कारणों से अगर वह जो है डिप्रेशन में खोया हुआ है तो हमें उसे दिलासा देना चाहिए उसके मनोबल आत्मबल को बढ़ाने का प्रयत्न करना चाहिए जिससे कि वह जो है अपने डिप्रेशन से बाहर आ सके कि डिप्रेशन तभी खत्म होगा जब हम उसे समझेंगे और उसके परेशानी को दूर करने में उसकी मदद करेंगे और यह जो है सब का कर्तव्य होना चाहिए कि सभी व्यक्ति अच्छे से अपने आसपास है क्योंकि सभी व्यक्ति अच्छे रहेंगे तभी जाकर हम जो है वास्तविक रूप में खुश रहेंगे क्योंकि आप अगर सुबह में घर से निकलोगे और आपके घर के सामने में अगर कोई हिंदू आया हूं बना करके रहेगा तो आपको भी बुरा लगेगा तो यह सारी बातों को कर हम ध्यान रखते हैं तो दे देते फिरती एक अच्छा माहौल क्रिएट होगा और लोग खुशी से और डिप्रेशन को त्याग पाएंगे और एक खुशनुमा का जिंदगी को जीत आएंगे ठीक है तो आई थिंक इसका परफेक्ट है सर यही होना चाहिए
Kaaphee hee achchha baat kahaan hai dipreshan se joojhata hua vyakti ka hamen hamesha jo hai saath dena chaahie kyonki agar ham usase door munh pherate jaenge to vah abhee dipreshan mein hota jaega aur kaheen na kaheen usake dipreshan ka jo kaaran hai usaka hamen pata lagaana chaahie aur usako khatm karane ka prayatn karana chaahie aur parivaar ke sabhee sadasy sthagit sambandhee evan dost samaaj sabhee ka yah uddeshy hona matalab ki yah jo jimmedaaree hotee hai ki koee bhee vyakti aur udaas hai kisee bhee kaaranon se agar vah jo hai dipreshan mein khoya hua hai to hamen use dilaasa dena chaahie usake manobal aatmabal ko badhaane ka prayatn karana chaahie jisase ki vah jo hai apane dipreshan se baahar aa sake ki dipreshan tabhee khatm hoga jab ham use samajhenge aur usake pareshaanee ko door karane mein usakee madad karenge aur yah jo hai sab ka kartavy hona chaahie ki sabhee vyakti achchhe se apane aasapaas hai kyonki sabhee vyakti achchhe rahenge tabhee jaakar ham jo hai vaastavik roop mein khush rahenge kyonki aap agar subah mein ghar se nikaloge aur aapake ghar ke saamane mein agar koee hindoo aaya hoon bana karake rahega to aapako bhee bura lagega to yah saaree baaton ko kar ham dhyaan rakhate hain to de dete phiratee ek achchha maahaul kriet hoga aur log khushee se aur dipreshan ko tyaag paenge aur ek khushanuma ka jindagee ko jeet aaenge theek hai to aaee think isaka paraphekt hai sar yahee hona chaahie

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
आर्ट्स कॉमर्स साइंस में क्या अंतर है?Arts Commerce Science Mein Kya Antar Hai
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
1:06
यहां भी काफी बेहतरीन हिंदी क्वेश्चन पूछा है कि कॉमर्स आर्ट्स और साइंस में क्या अंदर एक सब्जेक्ट में डिफरेंस होते हैं जैसे कि आपका जिस क्षेत्र में जो है ज्यादा रुचि है जैसे कि आप चाहते हो कि इम्यूनिटी सब्जेक्ट पर हूं और मैं रहता है आपका हिस्ट्री बा हिस्ट्री रहेगा आपका जो ग्राफी रहता है फिर से मित्रता है इस तरह के विभिन्न सब्जेक्ट होते हैं और आसानी से आपका बायोलॉजी फिजिक्स केमिस्ट्री इस तरह के सब्जेक्ट आते हैं कंप्यूटर में रहता है और कॉमर्स में जुड़े काउंटिंग सब्जेक्ट रहता है कौन रहेगा भाई अभी तक जारी रहेगा इकोनॉमिक्स आएगा यह सारे सब्जेक्ट आते हैं तो आधार पर आपका रुचि है उसी के आधार पर आप जो है उसका चुनाव करते हो और यह सारे सब्जेक्ट के अंतर हैं और कुछ जाने का मतलब की एक दूसरी भाषा में आप कह सकते हो कि नॉर्मल सा सब्जेक्ट से देखें हिंदी सब्जेक्ट हो गया एक डॉक्टर ज्ञानचंद बैकग्राउंड सब्जेक्ट हो गया खो गया एकाउंटिंग यानी कि बिजनेस बैकग्राउंड सब्जेक्ट इस तरह से आप इसे अंदर जो समझ सकते हो आप समझ लीजिए
Yahaan bhee kaaphee behatareen hindee kveshchan poochha hai ki komars aarts aur sains mein kya andar ek sabjekt mein dipharens hote hain jaise ki aapaka jis kshetr mein jo hai jyaada ruchi hai jaise ki aap chaahate ho ki imyoonitee sabjekt par hoon aur main rahata hai aapaka histree ba histree rahega aapaka jo graaphee rahata hai phir se mitrata hai is tarah ke vibhinn sabjekt hote hain aur aasaanee se aapaka baayolojee phijiks kemistree is tarah ke sabjekt aate hain kampyootar mein rahata hai aur komars mein jude kaunting sabjekt rahata hai kaun rahega bhaee abhee tak jaaree rahega ikonomiks aaega yah saare sabjekt aate hain to aadhaar par aapaka ruchi hai usee ke aadhaar par aap jo hai usaka chunaav karate ho aur yah saare sabjekt ke antar hain aur kuchh jaane ka matalab kee ek doosaree bhaasha mein aap kah sakate ho ki normal sa sabjekt se dekhen hindee sabjekt ho gaya ek doktar gyaanachand baikagraund sabjekt ho gaya kho gaya ekaunting yaanee ki bijanes baikagraund sabjekt is tarah se aap ise andar jo samajh sakate ho aap samajh leejie

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
सरकारी बैंक प्रबंधन ऐसा क्या उपाय करें कि वह निजीकरण से बच जाएं?Sarkari Bank Prabandhan Aisa Kya Upay Kare Ki Vah Nijikaran Se Bach Jaye
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
1:56
लिखे आपका प्रश्न काफी बेहद अच्छा प्रश्न है तो आपने पूछा है सरकारी बैंक के प्रबंधन में इसका क्या उपाय किया जाए जिससे निजी करण से बचा जा सके देश का सबसे अच्छा उत्तर यही हो सकता है कि जो व्यवस्था है उसे सुदृढ़ बनाने की जरूरत है देखिए सरकारी व्यवस्था जो है या कहीं ना कहीं चरमराई अवस्था में रहती है जिससे होता है यह कि उसमें काफी ज्यादा में करना होता है और उसे जो आउट कम होता है उसे जो रिजल्ट आता है बहुत खराब स्थिति में पाए जाते हैं आप देखोगे प्राइवेट बैंक में स्थान कितना मतलब कि एकदम से एक्टिव रहता है आप कस्टमर कोई भी चले जाए तो वहां पर क्या होता है कि वह सच सच बताइए क्या-क्या काम है सर बताइए आपका क्या काम है लोन चाहिए चाहिए यानी कि बहुत ज्यादा एक्टिव है उसे वहां पर काम होता है लेकिन सरकारी बैंक में लोन चाहिए कितना पीसी लगेगा कितना डोनेशन लगेगा इतना आपको देना होगा बोल देना हो तो इतना सारा जो है कि बात किया जाता है हालांकि प्राइवेट बैंक में भी उस तरह की शाम होती है लेकिन वहां माफी मत रखिए सुधरी है व्यवस्थाएं काफी जो है आसानी से सारा चीज हो जाता है तो यह सारी व्यवस्था अगर सरकारी बैंक में ठीक कर दिया जाए तो अर्थिंग कि इसको निजी करण से 50000 का लोन पर लोन भी थोड़ा ध्यान देना होगा कि किस तरह के व्यक्ति को लोन दिया जा रहा है उसकी बैक का मतलब कि जो है मतलब खाली पॉलीटिकल एजेंडा बना कर लो नहीं देना चाहिए जो है बीजेपी का है अभी जेपी अभी केंद्र में है तो इसको लोन देना चाहिए यह कांग्रेस का है अभी एक केंद्र में है तो उसको लोन देना चाहिए उसका बैकअप को देखना चाहिए उसके मतलब कि स्टेबिलिटी कोडरमा देव का बिजनेस कैसा है फ्यूचर में क्या ग्रोथ होगा इस आधार पर भी लोन देंगे तो आंखें आई थी कि वह कब हो पाएगा और यह सारी बात है निजी करण से बचेगा तो यह सारी बातों का ध्यान में रखा जाए तो आए दिन की बहुत ज्यादा जो है ब्रो हो जाएगा ठीक है
Likhe aapaka prashn kaaphee behad achchha prashn hai to aapane poochha hai sarakaaree baink ke prabandhan mein isaka kya upaay kiya jae jisase nijee karan se bacha ja sake desh ka sabase achchha uttar yahee ho sakata hai ki jo vyavastha hai use sudrdh banaane kee jaroorat hai dekhie sarakaaree vyavastha jo hai ya kaheen na kaheen charamaraee avastha mein rahatee hai jisase hota hai yah ki usamen kaaphee jyaada mein karana hota hai aur use jo aaut kam hota hai use jo rijalt aata hai bahut kharaab sthiti mein pae jaate hain aap dekhoge praivet baink mein sthaan kitana matalab ki ekadam se ektiv rahata hai aap kastamar koee bhee chale jae to vahaan par kya hota hai ki vah sach sach bataie kya-kya kaam hai sar bataie aapaka kya kaam hai lon chaahie chaahie yaanee ki bahut jyaada ektiv hai use vahaan par kaam hota hai lekin sarakaaree baink mein lon chaahie kitana peesee lagega kitana doneshan lagega itana aapako dena hoga bol dena ho to itana saara jo hai ki baat kiya jaata hai haalaanki praivet baink mein bhee us tarah kee shaam hotee hai lekin vahaan maaphee mat rakhie sudharee hai vyavasthaen kaaphee jo hai aasaanee se saara cheej ho jaata hai to yah saaree vyavastha agar sarakaaree baink mein theek kar diya jae to arthing ki isako nijee karan se 50000 ka lon par lon bhee thoda dhyaan dena hoga ki kis tarah ke vyakti ko lon diya ja raha hai usakee baik ka matalab ki jo hai matalab khaalee poleetikal ejenda bana kar lo nahin dena chaahie jo hai beejepee ka hai abhee jepee abhee kendr mein hai to isako lon dena chaahie yah kaangres ka hai abhee ek kendr mein hai to usako lon dena chaahie usaka baikap ko dekhana chaahie usake matalab ki stebilitee kodarama dev ka bijanes kaisa hai phyoochar mein kya groth hoga is aadhaar par bhee lon denge to aankhen aaee thee ki vah kab ho paega aur yah saaree baat hai nijee karan se bachega to yah saaree baaton ka dhyaan mein rakha jae to aae din kee bahut jyaada jo hai bro ho jaega theek hai

#पढ़ाई लिखाई

Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
1:17
है कि आप कक्षा 8 के छात्रों को तो डेफिनेटली आप जो है एक छोटा सा काम स्टार्ट ऑफ कर सकते हो अगर आप आगे पढ़ना चाहते हो तो अगर आगे पढ़ना नहीं चाहते हो आप सोचते हो कि 8:00 के बाद मुझे आगे कुछ नहीं करना है तो 10th आप अपने क्षेत्र को अच्छे से स्टडी करो और यह देखो कि वहां किस तरह के बिजनेस ग्रो हो सकते हैं कहीं-कहीं जैसे मेरा क्षेत्र है वहां पर मुझे लगता है कि यहां पर स्टडी हब बनाया जा सकता है क्योंकि यहां पढ़ाई का माहौल उतना अच्छा नहीं है यानी कि यहां पर जो भी स्कूल हैं अपना अच्छा पढ़ाई नहीं दे रहे हैं जिसका नाम से यहां पर स्टडी हब बनाया जा सकता है और बिजनेस को भी मैं देखता हूं तो यहां पर जो है ट्रेन बिजनेस अच्छा चलेगा तो इस तरह से आपकी अपने क्षेत्र को स्टडी कर करके एक अच्छे मतलब कि स्टार्टअप की शुरुआत कर सकते हो यह आपके क्षेत्र के डिपेंड हो एक बार ही आप अपने जो रेट सूची के आधार पर भी बिजनेस का चुनाव करोगे तो टेंशन इसलिए आपको जो है उसमें जल्दी सक्सेस प्राप्त कर लोगे क्योंकि अगर आप उसमें अनसक्सेस भी हुए तो आपको ऐसा नहीं लगेगा कि आपने उसे जबरदस्ती किया है आपको लगेगा कि मेरे दूध की थी तो मैंने किसी की तो आप अपनी रुचि के हिसाब से भी स्टार्टअप कर सकते हो वैसे आप 123 आराम से सोचो और इंटरनेट के माध्यम से आप सर्च करके इसका चुनाव कर सकते हो आई थिंक यू अंडरस्टैंड ओके थैंक यू
Hai ki aap kaksha 8 ke chhaatron ko to dephinetalee aap jo hai ek chhota sa kaam staart oph kar sakate ho agar aap aage padhana chaahate ho to agar aage padhana nahin chaahate ho aap sochate ho ki 8:00 ke baad mujhe aage kuchh nahin karana hai to 10th aap apane kshetr ko achchhe se stadee karo aur yah dekho ki vahaan kis tarah ke bijanes gro ho sakate hain kaheen-kaheen jaise mera kshetr hai vahaan par mujhe lagata hai ki yahaan par stadee hab banaaya ja sakata hai kyonki yahaan padhaee ka maahaul utana achchha nahin hai yaanee ki yahaan par jo bhee skool hain apana achchha padhaee nahin de rahe hain jisaka naam se yahaan par stadee hab banaaya ja sakata hai aur bijanes ko bhee main dekhata hoon to yahaan par jo hai tren bijanes achchha chalega to is tarah se aapakee apane kshetr ko stadee kar karake ek achchhe matalab ki staartap kee shuruaat kar sakate ho yah aapake kshetr ke dipend ho ek baar hee aap apane jo ret soochee ke aadhaar par bhee bijanes ka chunaav karoge to tenshan isalie aapako jo hai usamen jaldee sakses praapt kar loge kyonki agar aap usamen anasakses bhee hue to aapako aisa nahin lagega ki aapane use jabaradastee kiya hai aapako lagega ki mere doodh kee thee to mainne kisee kee to aap apanee ruchi ke hisaab se bhee staartap kar sakate ho vaise aap 123 aaraam se socho aur intaranet ke maadhyam se aap sarch karake isaka chunaav kar sakate ho aaee think yoo andarastaind oke thaink yoo

#भारत की राजनीति

Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
1:17
मैं आपको बता सकता हूं बताना चाहता हूं कि अर्थव्यवस्था तीन तरह के होते हैं मिस्त्री समाजवादी और पूंजीवादी तो आपको पता है कि भारतीय अर्थव्यवस्था मिश्रित है यानी यहां पूंजीवादी और समाजवादी दोनों का मिश्रण है तो यहां तक कहा जा सकता है कि वित्तीय व्यवस्था को अपनाने की बात है तो आप जो है कि किसी व्यवस्था बनाकर के आगे बढ़ सकते हो क्योंकि आप जान लोग पूंजीवादी व्यवस्था में क्या होता है कि अगर आपका कंट्री ज्यादा डेवलप्ड है यानी कि लोग चाहते वह मतलब कि अगर है यानी बहुत ज्यादा रनिंग करते हैं बहुत ज्यादा व्यवस्थाएं पर डिपेंड है यानी बिजनेस तेरी बहन है तो वहां पर इसकी पूंजीवादी अर्थव्यवस्था अच्छी होगी लेकिन जहां गरीबी चरम सीमा पर है बहुत ज्यादा गरीब है तुम समाजवादी अर्थव्यवस्था काफी कारगर होती है क्योंकि सारे लोगों को साथ लेकर चलने की व्यवस्था होती है समाजवादी में और मिश्रित कह सकते हो आपकी मिश्रित में दोनों का कंबीनेशन होता है तो कहने का मतलब हमारा देश आप देख रहे हो किस स्थितियों से होकर गुजर रहा है तो उस सारी स्थितियों का एक अचूक और कह सकते हो रामबाण है मिश्रित और वित्तीय व्यवस्था तो इससे आगे बढ़ा जा सकता है क्योंकि आपको समझ में आ चुका हूं ठीक है थैंक यू
Main aapako bata sakata hoon bataana chaahata hoon ki arthavyavastha teen tarah ke hote hain mistree samaajavaadee aur poonjeevaadee to aapako pata hai ki bhaarateey arthavyavastha mishrit hai yaanee yahaan poonjeevaadee aur samaajavaadee donon ka mishran hai to yahaan tak kaha ja sakata hai ki vitteey vyavastha ko apanaane kee baat hai to aap jo hai ki kisee vyavastha banaakar ke aage badh sakate ho kyonki aap jaan log poonjeevaadee vyavastha mein kya hota hai ki agar aapaka kantree jyaada devalapd hai yaanee ki log chaahate vah matalab ki agar hai yaanee bahut jyaada raning karate hain bahut jyaada vyavasthaen par dipend hai yaanee bijanes teree bahan hai to vahaan par isakee poonjeevaadee arthavyavastha achchhee hogee lekin jahaan gareebee charam seema par hai bahut jyaada gareeb hai tum samaajavaadee arthavyavastha kaaphee kaaragar hotee hai kyonki saare logon ko saath lekar chalane kee vyavastha hotee hai samaajavaadee mein aur mishrit kah sakate ho aapakee mishrit mein donon ka kambeeneshan hota hai to kahane ka matalab hamaara desh aap dekh rahe ho kis sthitiyon se hokar gujar raha hai to us saaree sthitiyon ka ek achook aur kah sakate ho raamabaan hai mishrit aur vitteey vyavastha to isase aage badha ja sakata hai kyonki aapako samajh mein aa chuka hoon theek hai thaink yoo

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
किताबें पढ़ने से आपकी जिंदगी में क्या बदलाव आया ?Kitaaben Padhane Se Aapakee Jindagee Mein Kya Badalaav Aaya
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
0:46
नमस्ते आपका काफी बेहतरीन सवाल है आपने कहा किताब पढ़ने से हमारे जीवन में क्या बदलाव है तो आपको मैं बता देता हूं कि कितना से ही मैं आपके समक्ष बात करने के योग्य बन पाया हूं और उसके ज्ञान उसे मैंने अपने विवेक को अपने अनुभव को बढ़ाया है और विभिन्न लेखकों विभिन्न वैज्ञानिकों के अध्ययन को मैंने एकदम आसानी से जाना है जिस मतलब कि जिस बातों को उसे करने के लिए काफी समय देनी पड़ी उसे मैंने त्वरित यानी कम समय में जान दिया यह सारी बातें आप समझ के किताब ज्ञान प्राप्त कर कर सकते हो और डम मुझे इसी तरह से किताब हेल्पफुल लगी ओके
Namaste aapaka kaaphee behatareen savaal hai aapane kaha kitaab padhane se hamaare jeevan mein kya badalaav hai to aapako main bata deta hoon ki kitana se hee main aapake samaksh baat karane ke yogy ban paaya hoon aur usake gyaan use mainne apane vivek ko apane anubhav ko badhaaya hai aur vibhinn lekhakon vibhinn vaigyaanikon ke adhyayan ko mainne ekadam aasaanee se jaana hai jis matalab ki jis baaton ko use karane ke lie kaaphee samay denee padee use mainne tvarit yaanee kam samay mein jaan diya yah saaree baaten aap samajh ke kitaab gyaan praapt kar kar sakate ho aur dam mujhe isee tarah se kitaab helpaphul lagee oke

#भारत की राजनीति

Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
0:24
को जानना और दूसरों को परेशान ना करना और दूसरों का मदद करना और खुद के माता-पिता को सर्वोच्च सर्वोच्च यानी कि सार्वजनिक हमेशा खुशी प्रदान करना ऐसी की है एक जीवन का अच्छा उपयोग है जो यह सारे मामले में ही है तो देना उसका जीवन भी हिट है ओके
Ko jaanana aur doosaron ko pareshaan na karana aur doosaron ka madad karana aur khud ke maata-pita ko sarvochch sarvochch yaanee ki saarvajanik hamesha khushee pradaan karana aisee kee hai ek jeevan ka achchha upayog hai jo yah saare maamale mein hee hai to dena usaka jeevan bhee hit hai oke

#जीवन शैली

bolkar speaker
एक स्त्री को अपने जीवन में कितनी बार मरना पड़ता है और कैसे?ek stree ko apane jeevan mein kitanee baar marana padata hai aur kaise
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
0:44
नमस्कार आपने काफी बढ़िया सा क्वेश्चन पूछा है कि स्त्रियों को जीवन में कितनी बार माननी पड़ती है तो मैं इस पर कहूंगा कि मरना एक अलग हुए हैं इसमें आप कह सकते हो कि अपने शौक अपने बातों को अपने मतलब की इच्छाओं का त्याग करना तो आप मना कर सकते हो कि स्त्रियों को यानी कि लड़कियों को अपने पिता का सुना होता है अपने भाइयों का सुना होता है या नहीं करना समाज के सारे पैरों के अंदर रखकर सारे कामों को करना होता है तो यह सारी बातों को ध्यान रखना पड़ता है एक बार तो अपने पिताजी के अंदर में और दूसरी बार तो अपने ससुराल वालों के अंदर में इस तरह से उसे बहुत सारे दरों के अंदर रहना पड़ता है हालांकि यह उचित भी है और कहीं ना कहीं अनुचित भी है इसे गलत भी नहीं कहा जा सकता लेकिन सही भी उतना नहीं है सभी को अपना जीवन स्वतंत्र रूप से जीने का अधिकार है तो ऐसे आप समझ सकते हो कि ऐसा भी होता है ओके
Namaskaar aapane kaaphee badhiya sa kveshchan poochha hai ki striyon ko jeevan mein kitanee baar maananee padatee hai to main is par kahoonga ki marana ek alag hue hain isamen aap kah sakate ho ki apane shauk apane baaton ko apane matalab kee ichchhaon ka tyaag karana to aap mana kar sakate ho ki striyon ko yaanee ki ladakiyon ko apane pita ka suna hota hai apane bhaiyon ka suna hota hai ya nahin karana samaaj ke saare pairon ke andar rakhakar saare kaamon ko karana hota hai to yah saaree baaton ko dhyaan rakhana padata hai ek baar to apane pitaajee ke andar mein aur doosaree baar to apane sasuraal vaalon ke andar mein is tarah se use bahut saare daron ke andar rahana padata hai haalaanki yah uchit bhee hai aur kaheen na kaheen anuchit bhee hai ise galat bhee nahin kaha ja sakata lekin sahee bhee utana nahin hai sabhee ko apana jeevan svatantr roop se jeene ka adhikaar hai to aise aap samajh sakate ho ki aisa bhee hota hai oke

#जीवन शैली

bolkar speaker
कैसे पहचाने कि हमारी इम्यूनिटी कमजोर है?Kaise Pahachaane Ki Hamaaree Imyoonitee Kamajor Hai
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
0:50

#जीवन शैली

bolkar speaker
हमारे आसपास कोरोनावायरस की मरीज बढ़ने से मानसिक तनाव बढ़ रहा है, इसको कम कैसे करें?Hamaare Aasapaas Koronaavaayaras Kee Mareej Badhane Se Maanasik Tanaav Badh Raha Hai Isako Kam Kaise Karen
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
2:02

#जीवन शैली

bolkar speaker
क्या कोई ऐसा दिन है, जिसे आप कभी याद नहीं करना चाहते?Kya Koee Aisa Din Hai Jise Aap Kabhee Yaad Nahin Karana Chaahate
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
1:16

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
प्रकृति का एक ऐसा नियम जो कड़वा और सत्य है?Prakrti Ka Ek Aisa Niyam Jo Kadava Aur Saty Hai
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
0:32

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
मोबाइल चोरी हो जाने पर तुरंत कौन-कौन से कदम उठाना चाहिए?Mobail Choree Ho Jaane Par Turant Kaun-kaun Se Kadam Uthaana Chaahie
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
0:36

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
क्या कोई ऐसी तकनीक है जिसे अपनाकर व्यक्ति कभी बूढ़ा ही न हो ?Kya Koee Aisee Takaneek Hai Jise Apanaakar Vyakti Kabhee Boodha Hee Na Ho
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
1:27

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
भारत में चाइनीस ऐप बंद होने पर चाइना को कैसे नुकसान होगा?Bhaarat Mein Chainees Aip Band Hone Par Chaina Ko Kaise Nukasaan Hoga
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
1:28

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
टिकटोक बैन होने से आपके जीवन में क्या असर पड़ेगा?Tikatok Bain Hone Se Aapake Jeevan Mein Kya Asar Padega
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
1:27

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
बोलकल ऐप के स्पीकर्स को भविष्य मे और क्या अवसर मिल सकते है?Bolakal Aip Ke Speekars Ko Bhavishy Me Aur Kya Avasar Mil Sakate Hai
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
1:16

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
बिना इंटरनेट और मोबाइल के जमाना कैसा था, उस टाइम लोग क्या करते थे?Bina Intaranet Aur Mobail Ke Jamaana Kaisa Tha Us Taim Log Kya Karate The
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
1:46

#मनोरंजन

bolkar speaker
गुलाबो सिताबो फिल्म कैसी है? क्या हम इसे परिवार के साथ देख सकते हैं?Gulaabo Sitaabo Philm Kaisee Hai? Kya Ham Ise Parivaar Ke Saath Dekh Sakate Hain
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
0:56

#मनोरंजन

bolkar speaker
अगर हम 1 साल तक ब्रश नहीं करते तो क्या होगा?Agar Ham 1 Saal Tak Brash Nahin Karate To Kya Hoga
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
0:26

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
चाइना ऐप किसे कहते हैं?Chaina Aip Kise Kahate Hain
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
0:17

#जीवन शैली

bolkar speaker
किसी के चुप रहने का लोग फायदा क्यों उठाते हैं?Kisee Ke Chup Rahane Ka Log Phaayada Kyon Uthaate Hain
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
0:34

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
आदतों में बदलाव के लिए किस प्रकार के प्रमुख स्टेप उठाने चाहिए?Aadaton Mein Badalaav Ke Lie Kis Prakaar Ke Pramukh Step Uthaane Chaahie
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
0:33

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
अगर फिर से लॉकडाउन होता है, तो लोगों को कैसे प्रभावित करेगा?Agar Phir Se Lokadaun Hota Hai To Logon Ko Kaise Prabhaavit Karega
Nikhil kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Teaching
1:21
URL copied to clipboard