#धर्म और ज्योतिषी

nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:03
नमस्कार आपका सवाल है कि हम दूसरों की संस्कृति को अपनाते हैं तो क्या हमारी संस्कृति को भी यूरोप अमेरिका अपनाते हैं जी हां काफी हद तक सही बात है और जिस प्रकार हम आज वेस्टर्न रंग में रंगते जा रहे हैं वेस्टर्न पहनावा वेस्टर्न खाना-पीना वेस्टर्न म्यूजिक इन सब चीजों को पसंद करते हैं उसी तरह से अमेरिका और यूरोप के लोग भी भारत आते हैं और उन्हें यहां की संस्कृति बहुत पसंद आती है उन्हें यहां का खानपान यहां का पहनावा यहां का लोक संगीत राग रागनी और शास्त्रीय संगीत में गाना बहुत पसंद आता है आपने कई बार देखा भी होगा कि जो फोनस आते हैं अंग्रेज लोग आते हैं यूरोप अमेरिका फ्रांस वगैरह साइड से तो वह लोग भारत के संगीत को शास्त्रीय संगीत को बहुत पसंद करते हैं बहुत ध्यान लगाकर सुनते हैं जबकि भारतीय लोगों से के संगीत को ना समझ पाते ना ही वह सुनना पसंद है तो यह सब जरुरी है भारतीय संस्कृति को भी वह लोग अपना कर और एक दूसरे की संस्कृति को अपनाना अच्छी बात समझना बहुत अच्छी बात है धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki ham doosaron kee sanskrti ko apanaate hain to kya hamaaree sanskrti ko bhee yoorop amerika apanaate hain jee haan kaaphee had tak sahee baat hai aur jis prakaar ham aaj vestarn rang mein rangate ja rahe hain vestarn pahanaava vestarn khaana-peena vestarn myoojik in sab cheejon ko pasand karate hain usee tarah se amerika aur yoorop ke log bhee bhaarat aate hain aur unhen yahaan kee sanskrti bahut pasand aatee hai unhen yahaan ka khaanapaan yahaan ka pahanaava yahaan ka lok sangeet raag raaganee aur shaastreey sangeet mein gaana bahut pasand aata hai aapane kaee baar dekha bhee hoga ki jo phonas aate hain angrej log aate hain yoorop amerika phraans vagairah said se to vah log bhaarat ke sangeet ko shaastreey sangeet ko bahut pasand karate hain bahut dhyaan lagaakar sunate hain jabaki bhaarateey logon se ke sangeet ko na samajh paate na hee vah sunana pasand hai to yah sab jaruree hai bhaarateey sanskrti ko bhee vah log apana kar aur ek doosare kee sanskrti ko apanaana achchhee baat samajhana bahut achchhee baat hai dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
2:46
नमस्कार आपका सामान है कि जैसे-जैसे आप विज्ञान के करीब जा रहे हैं उससे वैसे वैसे आपकी भगवान से दूरी बढ़ती जा रही है लेकिन दोस्तों यहां आप थोड़ा सा गलत है ठीक है विज्ञान हमारे जीवन में आज एक महत्वपूर्ण चीज है टेक्नोलॉजी हमारे जीवन का एक हिस्सा है विज्ञान की वजह से आज हमारा जीवन काफी बदल गया है और काफी सारी चीजें मनुष्य ने ऐसी बना दी है याद कर लिया जिससे कि हमारा जीवन बहुत सुखी हो गया है काफी सारी चीजें हैं जिनकी वजह से हम परेशान होते थे यहां तक कि आज हम मौसम का अनुमान भी बहुत पहले से लगा लेते हैं कि कब आंधी आएगी को बारिश आएगी कब तूफान आएगा तो क्या हो सकता है तो यह सारी चीजें हैं और विज्ञान ने हमारे जीवन में बहुत उन्नति की है लेकिन फिर भी भगवान मैं समझता हूं एक ऐसी चीज है भगवान है कैसे ईश्वर का अवतार हैं कि उनका मुकाबला हम कर ही नहीं सकते वैज्ञानिक भी काफी सारी चीजें ऐसी हैं जो वैज्ञानिक आज तक उसका सलूशन नहीं निकाल पाए आज तक कोई समझ ही नहीं पाया या उसका कोई उपाय आज तक वह नहीं निकाल पाए और इसका सबसे बड़ा उदाहरण मैं आपको देख सकता हूं कि वैज्ञानिक जो है बीमार व्यक्ति का इलाज तो कर लेता है लेकिन यदि एक व्यक्ति मृत अवस्था को प्राप्त हो जाता है यदि एक व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो बड़े से बड़ा वैज्ञानिक कितना ही पैसा अब से दे दीजिए कितना ही वह अपनी तरफ से जख्मी कर लीजिए उसमें व्यक्ति के शरीर में जान नहीं डाल सकता वह से दोबारा जिंदा नहीं कर सकता तो यहां आकर के विज्ञान भी असफल हो जाता है और वहां पर हमें पता लगता है कि हां ईश्वर भी कोई चीज है ईश्वर नाम की भी कोई वस्तु है इस जगत में जो कि हमारे सुख दुख का निवारण करते हैं और हमें हमारे शरीर में जान भी वही डालते हैं और हमारे शरीर में से जान भी वही निकालते हैं आप कितनी कोशिश कर दीजिए ठीक है जानेमन आती पढ़नी है क्या आज टेस्ट ट्यूब बेबी भी पैदा होने लग गए लेकिन कई बार वहां भी विज्ञान फेल हो जाता है कितनी कोशिश कर देते हैं कि बच्चा पैदा नहीं हो पाता लेकिन ईश्वर चाहते हैं अगर ईश्वर की सच्चे मन से भर्ती करें तो कोई चमत्कार हो जाता है और किसी के घर में बच्चा भी पैदा हो जाता है कई बार इस बार ऐसा चमत्कार दिखाते हैं कि कोई व्यक्ति जान डॉक्टर भी जवाब देते थे कि हम कुछ नहीं कर सकते आप ले जाइए और वह व्यक्ति ईश्वर की शरण में जाते हैं भगवान की शरण में जाता है तो अचानक से उसके मरीज की सेहत में सुधार होने लगता है डॉक्टर ने जवाब दे दिया होता लेकिन फिर भी वह मरीज ठीक हो जाता तो यह सब चीजें भगवान के कारण ही होती है उन पर आस्था रखी है उनको उनको कभी भी आप बुलाई है मत उनकी आस्था पर विश्वास रखिए धन्यवाद
Namaskaar aapaka saamaan hai ki jaise-jaise aap vigyaan ke kareeb ja rahe hain usase vaise vaise aapakee bhagavaan se dooree badhatee ja rahee hai lekin doston yahaan aap thoda sa galat hai theek hai vigyaan hamaare jeevan mein aaj ek mahatvapoorn cheej hai teknolojee hamaare jeevan ka ek hissa hai vigyaan kee vajah se aaj hamaara jeevan kaaphee badal gaya hai aur kaaphee saaree cheejen manushy ne aisee bana dee hai yaad kar liya jisase ki hamaara jeevan bahut sukhee ho gaya hai kaaphee saaree cheejen hain jinakee vajah se ham pareshaan hote the yahaan tak ki aaj ham mausam ka anumaan bhee bahut pahale se laga lete hain ki kab aandhee aaegee ko baarish aaegee kab toophaan aaega to kya ho sakata hai to yah saaree cheejen hain aur vigyaan ne hamaare jeevan mein bahut unnati kee hai lekin phir bhee bhagavaan main samajhata hoon ek aisee cheej hai bhagavaan hai kaise eeshvar ka avataar hain ki unaka mukaabala ham kar hee nahin sakate vaigyaanik bhee kaaphee saaree cheejen aisee hain jo vaigyaanik aaj tak usaka salooshan nahin nikaal pae aaj tak koee samajh hee nahin paaya ya usaka koee upaay aaj tak vah nahin nikaal pae aur isaka sabase bada udaaharan main aapako dekh sakata hoon ki vaigyaanik jo hai beemaar vyakti ka ilaaj to kar leta hai lekin yadi ek vyakti mrt avastha ko praapt ho jaata hai yadi ek vyakti kee mrtyu ho jaatee hai to bade se bada vaigyaanik kitana hee paisa ab se de deejie kitana hee vah apanee taraph se jakhmee kar leejie usamen vyakti ke shareer mein jaan nahin daal sakata vah se dobaara jinda nahin kar sakata to yahaan aakar ke vigyaan bhee asaphal ho jaata hai aur vahaan par hamen pata lagata hai ki haan eeshvar bhee koee cheej hai eeshvar naam kee bhee koee vastu hai is jagat mein jo ki hamaare sukh dukh ka nivaaran karate hain aur hamen hamaare shareer mein jaan bhee vahee daalate hain aur hamaare shareer mein se jaan bhee vahee nikaalate hain aap kitanee koshish kar deejie theek hai jaaneman aatee padhanee hai kya aaj test tyoob bebee bhee paida hone lag gae lekin kaee baar vahaan bhee vigyaan phel ho jaata hai kitanee koshish kar dete hain ki bachcha paida nahin ho paata lekin eeshvar chaahate hain agar eeshvar kee sachche man se bhartee karen to koee chamatkaar ho jaata hai aur kisee ke ghar mein bachcha bhee paida ho jaata hai kaee baar is baar aisa chamatkaar dikhaate hain ki koee vyakti jaan doktar bhee javaab dete the ki ham kuchh nahin kar sakate aap le jaie aur vah vyakti eeshvar kee sharan mein jaate hain bhagavaan kee sharan mein jaata hai to achaanak se usake mareej kee sehat mein sudhaar hone lagata hai doktar ne javaab de diya hota lekin phir bhee vah mareej theek ho jaata to yah sab cheejen bhagavaan ke kaaran hee hotee hai un par aastha rakhee hai unako unako kabhee bhee aap bulaee hai mat unakee aastha par vishvaas rakhie dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
पूर्ण परमात्मा कौन है कैसा है कहां रहता है कैसे मिलता है किसने देखा है?Poorn Paramaatma Kaun Hai Kaisa Hai Kahaan Rahta Hai Kaise Milta Hai Kisne Dekha Hai
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:19
नमस्कार आपका सवाल है कि पूर्ण परमात्मा कौन है कैसा है कहां रहता है कैसे मिलता है किसने देखा है लेकिन दोस्त पूर्ण परमात्मा को तो आज तक कोई भी नहीं जान पाया कि वह कौन है कैसे हैं कहां रहते हैं किस से मिलते हैं किसने देखा है कोई इस बात को आज तक जान नहीं पाया हम उनकी सिर्फ अनुभुतही कर सकते हम उन्हें महसूस कर सकते हैं हम उन पर विश्वास करने के यहां परमात्मा है और वही हमारे सुख-दुख की रक्षा करता है जो भी हमारे करम है वह हमें उन्हीं कर्मों के अनुसार वह हमें फल देते हैं अगर हमने अच्छे कर्म करें तो वह में सुख प्रदान करते हैं अगर हमने बुरे कर्म करें तो वह में दुखी थोड़ा सा करते हैं तो यह सब चीजें तो एक अनुभूति और विश्वास के ऊपर ही निर्भर है आपने आज तक प्रकृति में बहुत सारी चीजें आपने आज तक हवा देखिए कभी की हवा कहां से आती है कहां चली जाती है या आपने कभी हवा को देखो आप सिर्फ महसूस करते हैं क्या हवा चल रही है ठंडी है या गरम है यह सब सिर्फ आपको महसूस छोटा लेकिन हवा को आपको भी देख नहीं पाते पानी भी ऐसा है क्या आशा का पानी का रंग नहीं बता पाएंगे कभी भी पानी कहां से आता है कैसे बनता है तो यह सब नहीं बता पाएंगे तो काफी सारी चीज ऐसी है काफी सारी चीजें ऐसी हैं जिन्हें आप नहीं बता सकते उम्मीदें जवाब पसंद आएगा धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki poorn paramaatma kaun hai kaisa hai kahaan rahata hai kaise milata hai kisane dekha hai lekin dost poorn paramaatma ko to aaj tak koee bhee nahin jaan paaya ki vah kaun hai kaise hain kahaan rahate hain kis se milate hain kisane dekha hai koee is baat ko aaj tak jaan nahin paaya ham unakee sirph anubhutahee kar sakate ham unhen mahasoos kar sakate hain ham un par vishvaas karane ke yahaan paramaatma hai aur vahee hamaare sukh-dukh kee raksha karata hai jo bhee hamaare karam hai vah hamen unheen karmon ke anusaar vah hamen phal dete hain agar hamane achchhe karm karen to vah mein sukh pradaan karate hain agar hamane bure karm karen to vah mein dukhee thoda sa karate hain to yah sab cheejen to ek anubhooti aur vishvaas ke oopar hee nirbhar hai aapane aaj tak prakrti mein bahut saaree cheejen aapane aaj tak hava dekhie kabhee kee hava kahaan se aatee hai kahaan chalee jaatee hai ya aapane kabhee hava ko dekho aap sirph mahasoos karate hain kya hava chal rahee hai thandee hai ya garam hai yah sab sirph aapako mahasoos chhota lekin hava ko aapako bhee dekh nahin paate paanee bhee aisa hai kya aasha ka paanee ka rang nahin bata paenge kabhee bhee paanee kahaan se aata hai kaise banata hai to yah sab nahin bata paenge to kaaphee saaree cheej aisee hai kaaphee saaree cheejen aisee hain jinhen aap nahin bata sakate ummeeden javaab pasand aaega dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
बुखार आ जाए तो तुरंत कौन सा घरेलू उपाय किया जा सकता है?Bukhar Aa Jaye To Turant Kon Sa Gharelu Upay Kiya Ja Sakta Hai
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:41
नमस्कार आपको सवाल है कि अगर एकदम से बुखार आ जाए तो तुरंत कौन सा घरेलू उपाय किया जा सकता है बुखार आना आजकल एक कॉमन सी बात है कई बार क्या होता है मौसम के अनुसार या फिर ज्यादा काम करने की वजह से भी बुखार आ जाता है या कोई और शारीरिक तबीयत बिगड़ने पर बुखार हो जाता है तो सबसे पहले तो आप उखाड़ना कि यदि आपके बस्तर में विटारा पहले बुखार का टेंपरेचर ना पिए कि कितना बुखार है अगर बुखार 100 से ऊपर है 101 102 103 डिग्री बुखार है तो आप मरीज को तुरंत एक सांप और ठंडी जगह पर लिटा दीजिए और ठंडे पानी की पट्टियां कपड़े की पट्टियां बना लीजिए उसको ठंडे पानी में भिगोकर और लगातार मरीज के माथे पर रखते रहे हैं इसके अलावा उसके हाथ पैरों में थोड़ा साबर हम भी रगड़ तेरे जिससे कि उसके शरीर का जो तापमान है वह कम हो जाए और उसके बाद में पेरासिटामोल कुछ आप अपने पास हमेशा रखिए पेरासिटामोल लड़की बहुत अच्छी दवाई होती है इसका आप निशा अपने घर में आप पेरासिटामोल रखी है और जब भी या किसी को बुखार हो जाता है अचानक से तो आप उसे उम्र के हिसाब से पेरासिटामोल की मात्रा दे सकते हैं वैसे आप ढाई सौ एमजी की जो गोली होती है वह आप 20 साल से ऊपर या 15 साल से ऊपर जाओ एज होती है व्यक्ति कि आप उसे एक पेरासिटामोल कि वह भी दे दीजिए तो बुखार एक-दो घंटे के अंदर उतर जाएगा यदि आप गोली बच्चे को दे रहे हैं 500 से कम है बच्चा तो उसे आदि को भी देनी है पेरासिटामोल इससे क्या होता है कि बुखार तुरंत ही उतर जाएगा और उसके बाद फिर आप किसी अच्छे डॉक्टर से संपर्क किया और मरीज का इलाज करवाइए धन्यवाद
Namaskaar aapako savaal hai ki agar ekadam se bukhaar aa jae to turant kaun sa ghareloo upaay kiya ja sakata hai bukhaar aana aajakal ek koman see baat hai kaee baar kya hota hai mausam ke anusaar ya phir jyaada kaam karane kee vajah se bhee bukhaar aa jaata hai ya koee aur shaareerik tabeeyat bigadane par bukhaar ho jaata hai to sabase pahale to aap ukhaadana ki yadi aapake bastar mein vitaara pahale bukhaar ka temparechar na pie ki kitana bukhaar hai agar bukhaar 100 se oopar hai 101 102 103 digree bukhaar hai to aap mareej ko turant ek saamp aur thandee jagah par lita deejie aur thande paanee kee pattiyaan kapade kee pattiyaan bana leejie usako thande paanee mein bhigokar aur lagaataar mareej ke maathe par rakhate rahe hain isake alaava usake haath pairon mein thoda saabar ham bhee ragad tere jisase ki usake shareer ka jo taapamaan hai vah kam ho jae aur usake baad mein peraasitaamol kuchh aap apane paas hamesha rakhie peraasitaamol ladakee bahut achchhee davaee hotee hai isaka aap nisha apane ghar mein aap peraasitaamol rakhee hai aur jab bhee ya kisee ko bukhaar ho jaata hai achaanak se to aap use umr ke hisaab se peraasitaamol kee maatra de sakate hain vaise aap dhaee sau emajee kee jo golee hotee hai vah aap 20 saal se oopar ya 15 saal se oopar jao ej hotee hai vyakti ki aap use ek peraasitaamol ki vah bhee de deejie to bukhaar ek-do ghante ke andar utar jaega yadi aap golee bachche ko de rahe hain 500 se kam hai bachcha to use aadi ko bhee denee hai peraasitaamol isase kya hota hai ki bukhaar turant hee utar jaega aur usake baad phir aap kisee achchhe doktar se sampark kiya aur mareej ka ilaaj karavaie dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
गर्मियों से बचाव के लिए किस प्रकार के रस व जूस बनाकर पिए जा सकते हैं?Garmiyo Se Bachav Ke Lie Kis Prakar Ke Ras Va Juice Bnakar Piye Ja Sakte Hain
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:00
नमस्कार गर्मियों से बचाव के लिए किस प्रकार के रस को जूस बनाकर किए जा सकते हैं आपका गर्मियां जैसी शुरुआत होती है गर्मियों की तो शरीर का हमें बहुत ध्यान रखना होता है और वैसे तो हमें हर मौसम में अपने शरीर का ध्यान रखना होता है मौसम के हिसाब से हमें कपड़े पहनने चाहिए खान पान उसी तरह का रखना चाहिए लेकिन क्योंकि आपका सवाल गर्मियों को लेकर के हैं तो मैं आपको कुछ राय देता हूं गर्मियों में हमें ठंडा रहने की जरूरत होती है और गर्मियों में हमें जा रहा था दही की लस्सी छाछ इसके अलावा अनार का जूस और कुछ ठंडे पेय पदार्थ जैसे कि वीरू आप जॉब वगैरा हो गया यह समूह में सेवन करते रहना चाहिए और ग्लूकोस बगैरा पी सकते हम गुरुकुल कौन सी पी सकते हैं दुकान डी पी सकते हैं जैसे की हमारे शरीर में जो है विटामिन सी और विटामिन डी की कमी ना रहे और ठंडा पानी आप जितना पी सकते उत्तर दीजिए आपके शरीर में पानी की कमी नहीं रहनी चाहिए धन्यवाद
Namaskaar garmiyon se bachaav ke lie kis prakaar ke ras ko joos banaakar kie ja sakate hain aapaka garmiyaan jaisee shuruaat hotee hai garmiyon kee to shareer ka hamen bahut dhyaan rakhana hota hai aur vaise to hamen har mausam mein apane shareer ka dhyaan rakhana hota hai mausam ke hisaab se hamen kapade pahanane chaahie khaan paan usee tarah ka rakhana chaahie lekin kyonki aapaka savaal garmiyon ko lekar ke hain to main aapako kuchh raay deta hoon garmiyon mein hamen thanda rahane kee jaroorat hotee hai aur garmiyon mein hamen ja raha tha dahee kee lassee chhaachh isake alaava anaar ka joos aur kuchh thande pey padaarth jaise ki veeroo aap job vagaira ho gaya yah samooh mein sevan karate rahana chaahie aur glookos bagaira pee sakate ham gurukul kaun see pee sakate hain dukaan dee pee sakate hain jaise kee hamaare shareer mein jo hai vitaamin see aur vitaamin dee kee kamee na rahe aur thanda paanee aap jitana pee sakate uttar deejie aapake shareer mein paanee kee kamee nahin rahanee chaahie dhanyavaad

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
एक लड़का किसी लड़की से मन भर जाने पर, किस तरह की हरकतों से उससे पीछा छुड़ाने का प्रयास करता है?Ek Ladaka Kisee Ladakee Se Man Bhar Jaane Par Kis Tarah Kee Harakaton Se Usase Peechha Chhudaane Ka Prayaas Karata Hai
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:49
नमस्कार आपका सवाल है कि एक लड़का किसी लड़की से मन भर जाने पर इस तरह की हरकतों से उससे पीछा छुड़ाने का प्रयास करता है कि बहुत कॉमन सी बात है और यह प्रश्न अलग-अलग तरीकों से मेरे सामने कई बार आते और मैं इसका जवाब देने की कोशिश भी करता हूं मैं इसका जवाब कई बार देवी चुका हूं लेकिन लड़कों की तो पर्वती ही ऐसी है वह लड़की के आगे पीछे जब तक घूमते हैं जब तक उनका मतलब सिद्ध नहीं हो जाता पहले भी इस तरह के क्वेश्चन आया था कि क्या आजकल सच्चा प्यार होता है तो देखो मैंने तब भी यही कारण आज भी आपके प्रश्न के जवाब में भी यही कह रहा हूं कि आजकल सच्चा प्यार नहीं है किसी को सच्चा प्यार खत्म हो चुका आजकल लड़का और लड़की के जैसे संबंध है वह खाली जिस्मानी रह गए हैं प्यार तो 10 परसेंट लोगों में होगा तो होगा वह भी शायद नहीं होता आजकल जो है जिस्मानी जरूरत से ज्यादा है जिसकी भी जिस्मानी जरूरत पूरी हो जाती है चाहे वह लड़का हो या लड़की हो तो वह फिर बाद में एक दूसरे से पीछा छुड़ाने की एक दूसरे से भागने की दूर भागने की कोशिश करते हैं और लड़का जो लड़की से पीछा छुड़ाना चाहता है या लड़की अगर पीछा छुड़ाना चाहती हैं तो सबसे पहले तो वह एक दूसरे को फोन करना बंद कर देते हैं एक दूसरे के फोन उठाना बंद कर देते और एक दूसरे को मतलब ब्लैक ब्लॉक कर देते हैं कॉल ब्लॉक कर देते हैं और कोई मैसेज का जवाब नहीं अगर सामने से आ रहा हूं तो वह नजर बचाकर निकलने की कोशिश करते हैं या फिर अगर वह कोई जबरदस्ती पर हो तो उसे कुछ अपशब्द बोलते हैं उसको सीधा बोल रहे थे कि अभी मैं तुझसे बात नहीं करना चाहता या हम तुमसे कोई रिलेशन नहीं करना चाहते अब हमारे रास्ते में मत आना हम आप अपना कोई और ढूंढ लीजिए हमें आप पसंद नहीं हो यह है मतलब लड़का लड़की एक दूसरे से करते लाइक कीजिए धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki ek ladaka kisee ladakee se man bhar jaane par is tarah kee harakaton se usase peechha chhudaane ka prayaas karata hai ki bahut koman see baat hai aur yah prashn alag-alag tareekon se mere saamane kaee baar aate aur main isaka javaab dene kee koshish bhee karata hoon main isaka javaab kaee baar devee chuka hoon lekin ladakon kee to parvatee hee aisee hai vah ladakee ke aage peechhe jab tak ghoomate hain jab tak unaka matalab siddh nahin ho jaata pahale bhee is tarah ke kveshchan aaya tha ki kya aajakal sachcha pyaar hota hai to dekho mainne tab bhee yahee kaaran aaj bhee aapake prashn ke javaab mein bhee yahee kah raha hoon ki aajakal sachcha pyaar nahin hai kisee ko sachcha pyaar khatm ho chuka aajakal ladaka aur ladakee ke jaise sambandh hai vah khaalee jismaanee rah gae hain pyaar to 10 parasent logon mein hoga to hoga vah bhee shaayad nahin hota aajakal jo hai jismaanee jaroorat se jyaada hai jisakee bhee jismaanee jaroorat pooree ho jaatee hai chaahe vah ladaka ho ya ladakee ho to vah phir baad mein ek doosare se peechha chhudaane kee ek doosare se bhaagane kee door bhaagane kee koshish karate hain aur ladaka jo ladakee se peechha chhudaana chaahata hai ya ladakee agar peechha chhudaana chaahatee hain to sabase pahale to vah ek doosare ko phon karana band kar dete hain ek doosare ke phon uthaana band kar dete aur ek doosare ko matalab blaik blok kar dete hain kol blok kar dete hain aur koee maisej ka javaab nahin agar saamane se aa raha hoon to vah najar bachaakar nikalane kee koshish karate hain ya phir agar vah koee jabaradastee par ho to use kuchh apashabd bolate hain usako seedha bol rahe the ki abhee main tujhase baat nahin karana chaahata ya ham tumase koee rileshan nahin karana chaahate ab hamaare raaste mein mat aana ham aap apana koee aur dhoondh leejie hamen aap pasand nahin ho yah hai matalab ladaka ladakee ek doosare se karate laik keejie dhanyavaad

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
इसबगोल ठंडा होता है या गरम?Isabagol Thanda Hota Hai Ya Garam
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:03
नमस्कार आपका सवाल है कि इसबगोल ठंडा होता है या गरम देखी ईसबगोल ना तो ठंडा होता ना गर्म होता है इसको लेने के तरीके अलग-अलग है इसको ठंडी के साथ भी राजस्थान धर्म के साथ भी लिया जा सकता है अगर आप ही से गर्म दूध के साथ लेते हैं तो आपको जुकाम की शिकायत है वह दूर हो जाएगी इसबगोल जो है वह गर्म दूध के साथ अगर प्रयोग किया जाए तो पेट साफ हो जाता है और जो शरीर में या पेट में जो भी दर्द होता है वह सर निकल जाता है तो इसलिए इसबगोल को हमेशा गर्म दूध के साथ ही लेना चाहिए हां अगर आप को दस्त लगे हुए और आपका पेट खराब है तो आप इसबगोल को ठंडे पानी के साथ ले सकते हैं उससे फिर क्या होगा क्या आप के दस्त की शिकायत में आपको आराम मिलेगा आपका पेट ठीक रहेगा इसबगोल जो है पेट की गर्मी को भी निकाल देता है पेट में जो भी थोड़ा सा परेशानी होती है वह सब दूर कर देता है यह एक औषधि है आयुर्वेदिक औषधि है इसके लेने के कोई साइड इफेक्ट नहीं है बहुत बढ़िया औषधि है और यह ज्यादातर मेट्रो कम ही काम आती है धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki isabagol thanda hota hai ya garam dekhee eesabagol na to thanda hota na garm hota hai isako lene ke tareeke alag-alag hai isako thandee ke saath bhee raajasthaan dharm ke saath bhee liya ja sakata hai agar aap hee se garm doodh ke saath lete hain to aapako jukaam kee shikaayat hai vah door ho jaegee isabagol jo hai vah garm doodh ke saath agar prayog kiya jae to pet saaph ho jaata hai aur jo shareer mein ya pet mein jo bhee dard hota hai vah sar nikal jaata hai to isalie isabagol ko hamesha garm doodh ke saath hee lena chaahie haan agar aap ko dast lage hue aur aapaka pet kharaab hai to aap isabagol ko thande paanee ke saath le sakate hain usase phir kya hoga kya aap ke dast kee shikaayat mein aapako aaraam milega aapaka pet theek rahega isabagol jo hai pet kee garmee ko bhee nikaal deta hai pet mein jo bhee thoda sa pareshaanee hotee hai vah sab door kar deta hai yah ek aushadhi hai aayurvedik aushadhi hai isake lene ke koee said iphekt nahin hai bahut badhiya aushadhi hai aur yah jyaadaatar metro kam hee kaam aatee hai dhanyavaad

#रिश्ते और संबंध

nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:36
नमस्कार आपको सवाल है कि अगर कोई व्यक्ति आपकी बात समझ ही नहीं रहा होगा मैं समझ में ही नहीं चाहता हो तो उस समय आप उसे किस तरीके से समझाएंगे दोस्त ऐसा होता है कि समस्त समझ कर भी जो ना समझे मेरी समझ में वह नासमझ होता है समझ समझना भी एक समझ है ठीक है तो कभी-कभी क्या होता है कि हम किसी व्यक्ति को कोई बात समझाना चाहते हैं लेकिन वह समझ नहीं पाता या फिर जैसे कि आपने कहा कि वह समझ में ही नहीं चाहता ऐसी जगह तो फिर बहस करना बेकार है ऐसे व्यक्ति को समझाना ही बेकार है आप कुछ समय के लिए वह बात और उस व्यक्ति को भूल जाए आप कोई नया टॉपिक शुरू कीजिए या किसी और ने व्यक्ति से कोशिश कीजिए लेकिन आप उस व्यक्ति को फ़िलहाल भूल जाइए अगर उस व्यक्ति को समझना होगा तो वह आपके पास दोबारा संपर्क में आएगा या फिर आपसे वही टॉपिक दोबारा छोड़ेगा और अगर नहीं उसे समझना हो गया मत समझना ही नहीं चाहता कि आप कोई इंटरेस्ट नहीं है तो फिर उससे बात करना बेकार है उस तो आप अपनी एनर्जी वेस्ट कर रहे हैं आप अपने दिमाग की ही वेस्टेज कर रहे हैं किसी व्यक्ति को समझाना चाहे और नहीं समझे तो फिर बेकार है अब क्लास में काफी सारे बच्चे हैं अब 40 बच्चों में से क्या होता है कि 10 बच्चे समझ जाते हैं 30 बच्चे या तो समझते नहीं आए या समझना नहीं चाहते तो टीचर को कोई फर्क नहीं पड़ता टीचर तो अपना काम करता रहता है उसी तरह से आप भी अपना काम करते रहिए कोई आपको बात को समझे या न समझे समझता है तो ठीक है नहीं समझता था आपकी सेहत पर कोई फर्क नहीं पड़ता आप अपना काम जो करना चाहते हैं वो कीजिए धन्यवाद
Namaskaar aapako savaal hai ki agar koee vyakti aapakee baat samajh hee nahin raha hoga main samajh mein hee nahin chaahata ho to us samay aap use kis tareeke se samajhaenge dost aisa hota hai ki samast samajh kar bhee jo na samajhe meree samajh mein vah naasamajh hota hai samajh samajhana bhee ek samajh hai theek hai to kabhee-kabhee kya hota hai ki ham kisee vyakti ko koee baat samajhaana chaahate hain lekin vah samajh nahin paata ya phir jaise ki aapane kaha ki vah samajh mein hee nahin chaahata aisee jagah to phir bahas karana bekaar hai aise vyakti ko samajhaana hee bekaar hai aap kuchh samay ke lie vah baat aur us vyakti ko bhool jae aap koee naya topik shuroo keejie ya kisee aur ne vyakti se koshish keejie lekin aap us vyakti ko filahaal bhool jaie agar us vyakti ko samajhana hoga to vah aapake paas dobaara sampark mein aaega ya phir aapase vahee topik dobaara chhodega aur agar nahin use samajhana ho gaya mat samajhana hee nahin chaahata ki aap koee intarest nahin hai to phir usase baat karana bekaar hai us to aap apanee enarjee vest kar rahe hain aap apane dimaag kee hee vestej kar rahe hain kisee vyakti ko samajhaana chaahe aur nahin samajhe to phir bekaar hai ab klaas mein kaaphee saare bachche hain ab 40 bachchon mein se kya hota hai ki 10 bachche samajh jaate hain 30 bachche ya to samajhate nahin aae ya samajhana nahin chaahate to teechar ko koee phark nahin padata teechar to apana kaam karata rahata hai usee tarah se aap bhee apana kaam karate rahie koee aapako baat ko samajhe ya na samajhe samajhata hai to theek hai nahin samajhata tha aapakee sehat par koee phark nahin padata aap apana kaam jo karana chaahate hain vo keejie dhanyavaad

#रिश्ते और संबंध

nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:35
नमस्कार आपका सवाल है कि अधिकतर लड़कों के एक से ज्यादा लड़कियों की तरफ आरक्षण क्यों होता है इसके पीछे क्या रीजन है जबकि वह सच्चा प्यार भी करते हैं तब भी मैंने लड़कियों के पीछे भागते दिखे दोस्त ऐसा होता है कि लड़का जो होता है एक मास्टर चाबी होता है वह किसी भी ताले को खोल सकता है जो कि लड़कियां जो होती है वह खराब ताले की दवा होती है वो किसी भी चाबी से खुल जाती है तो जैसे कोई ताला खराब हो तो किसी भी चाबी से खुल जाता है और जो मास्टर की होती है वह किसी भी ताले को खोल देती है तो यही फर्क होता है अब वह ठीक है लड़का सच्चा प्यार करता है सच्चा लव करता लेकिन कहीं ना कहीं उसकी नजरें दूसरी तरफ घूमती रहती है और यह तो मनु गिरती है लड़कों की यह तो पूछो कि मनु गिरती है कि वह जहां भी अच्छी चीज देखे हैं या उन्हें थोड़ा सा अट्रैक्शन होती है तो वह तुरंत ही उधर भागने लग जाते हैं तो इस बात को हम ना तो कंट्रोल कर सकते हैं ना समझा सकते हैं जबकि लड़कियों को अपनी सामाजिक मर्यादा का ध्यान होता है लाज लज्जा का ध्यान होता है उन्हें पता है कि अगर हम किसी ज्यादा लड़के की तरह भागेंगे तो हमारी बदनामी होगी हमारे संस्कार खराब होंगे हमारे मां-बाप का नाम खराब होगा लड़कों को इस बात की कोई चिंता नहीं है उन्हें तो कोई फर्क ही नहीं पड़ता वह चाहे एक लड़की से लोग करें सदस्य लड़कियों से लोग करें उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता ना उन्हें अपने संस्कारों की चिंता है ना उन्हें अपने बेज्जती की चिंता नॉन अपने मां बाप के नाम खराब होने की चिंता होती है तो यह सब चीज है कारण होती है टीवी लड़के जो है एक से अधिक लड़कियों की तरफ भागते हैं उनकी तरफ अट्रैक्शन उनका हो जाता है धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki adhikatar ladakon ke ek se jyaada ladakiyon kee taraph aarakshan kyon hota hai isake peechhe kya reejan hai jabaki vah sachcha pyaar bhee karate hain tab bhee mainne ladakiyon ke peechhe bhaagate dikhe dost aisa hota hai ki ladaka jo hota hai ek maastar chaabee hota hai vah kisee bhee taale ko khol sakata hai jo ki ladakiyaan jo hotee hai vah kharaab taale kee dava hotee hai vo kisee bhee chaabee se khul jaatee hai to jaise koee taala kharaab ho to kisee bhee chaabee se khul jaata hai aur jo maastar kee hotee hai vah kisee bhee taale ko khol detee hai to yahee phark hota hai ab vah theek hai ladaka sachcha pyaar karata hai sachcha lav karata lekin kaheen na kaheen usakee najaren doosaree taraph ghoomatee rahatee hai aur yah to manu giratee hai ladakon kee yah to poochho ki manu giratee hai ki vah jahaan bhee achchhee cheej dekhe hain ya unhen thoda sa atraikshan hotee hai to vah turant hee udhar bhaagane lag jaate hain to is baat ko ham na to kantrol kar sakate hain na samajha sakate hain jabaki ladakiyon ko apanee saamaajik maryaada ka dhyaan hota hai laaj lajja ka dhyaan hota hai unhen pata hai ki agar ham kisee jyaada ladake kee tarah bhaagenge to hamaaree badanaamee hogee hamaare sanskaar kharaab honge hamaare maan-baap ka naam kharaab hoga ladakon ko is baat kee koee chinta nahin hai unhen to koee phark hee nahin padata vah chaahe ek ladakee se log karen sadasy ladakiyon se log karen unhen koee phark nahin padata na unhen apane sanskaaron kee chinta hai na unhen apane bejjatee kee chinta non apane maan baap ke naam kharaab hone kee chinta hotee hai to yah sab cheej hai kaaran hotee hai teevee ladake jo hai ek se adhik ladakiyon kee taraph bhaagate hain unakee taraph atraikshan unaka ho jaata hai dhanyavaad

#रिश्ते और संबंध

nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:22
नमस्कार आपका सवाल है कि क्या एड्स रोगी का शेविंग करने का उस तरह यार इधर भी आज बनाने में सहायक हो सकता है जी हां बिल्कुल हो सकता है क्योंकि देखिए जब भी कोई भी व्यक्ति सेविंग करता है या उसके का इस्तेमाल ए लेजर का इस्तेमाल करता है तो कहीं ना कहीं हल्का-फुल्का उस लेजर पर उस व्यक्ति के चमड़ी के निशान या उसकी गलती से ग्रुप कट जाता तो उसका जो खून होता है ब्लड होता है वह सिर पर आ जाता है और वह एस के कटान उस पर लग जाते हैं तो जैसी वह उस तरह बिना धोए बिना गर्म पानी में वाले हुए और वह किसी दूसरे व्यक्ति को इस्तेमाल करने के लिए दिया जाता है कोई पड़ता है तो तुरंत उस में एड्स के लक्षण प्रकट हो जाते हैं एड्स का मतलब यह नहीं है कि खाली सेक्स करने से ही एड्स नहीं फैलता एस का मतलब है अगर किसी भी इंसान का कोई भी चीज जैसे मान लीजिए कोई खास रहा है उसका जरा सा भी वह भी अगर किसी व्यक्ति के शरीर में टच कर जाएगा या उसके अंदर चला जाएगा तो तुरंत हो जाएगा तो ऐड्स एक बीमारी है और काफी है ताकि करुणा से भी मिलती जुलती है इसलिए जरूरी है क्या आप ऐड से सावधानी रखें अगर कोई एप्स का मरीज है तो उससे थोड़ा दूरी बनाकर रखें उसके साथ ना तो खाए पिए ना ही उसकी किसी वस्तु का कोई इस्तेमाल करें और अपने आप को सुरक्षित रखें अपना ध्यान रखें धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki kya eds rogee ka sheving karane ka us tarah yaar idhar bhee aaj banaane mein sahaayak ho sakata hai jee haan bilkul ho sakata hai kyonki dekhie jab bhee koee bhee vyakti seving karata hai ya usake ka istemaal e lejar ka istemaal karata hai to kaheen na kaheen halka-phulka us lejar par us vyakti ke chamadee ke nishaan ya usakee galatee se grup kat jaata to usaka jo khoon hota hai blad hota hai vah sir par aa jaata hai aur vah es ke kataan us par lag jaate hain to jaisee vah us tarah bina dhoe bina garm paanee mein vaale hue aur vah kisee doosare vyakti ko istemaal karane ke lie diya jaata hai koee padata hai to turant us mein eds ke lakshan prakat ho jaate hain eds ka matalab yah nahin hai ki khaalee seks karane se hee eds nahin phailata es ka matalab hai agar kisee bhee insaan ka koee bhee cheej jaise maan leejie koee khaas raha hai usaka jara sa bhee vah bhee agar kisee vyakti ke shareer mein tach kar jaega ya usake andar chala jaega to turant ho jaega to aids ek beemaaree hai aur kaaphee hai taaki karuna se bhee milatee julatee hai isalie jarooree hai kya aap aid se saavadhaanee rakhen agar koee eps ka mareej hai to usase thoda dooree banaakar rakhen usake saath na to khae pie na hee usakee kisee vastu ka koee istemaal karen aur apane aap ko surakshit rakhen apana dhyaan rakhen dhanyavaad

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
अगर कोई इंसान अच्छा काम करता है तब भी लोग उसके खिलाफ क्यों होते हैं क्या आप मुझे बता सकते हैं?Agar Koee Insaan Achchha Kaam Karata Hai Tab Bhee Log Usake Khilaaph Kyon Hote Hain Kya Aap Mujhe Bata Sakate Hain
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:37
हां नमस्कार आप का सवाल है कि कोई इंसान अगर अच्छा काम करता है तो भी लोग उसके खिलाफ क्यों होते हैं क्या आप मुझे बता सकते हैं हां देखे दोस्त भारत की राजनीति गई आप अच्छा काम करेंगे तब भी लोग आपके खिलाफ होंगे बुरा काम करेंगे तब भी लोग आपके खिलाफ होंगे क्योंकि लोग आज कल जो है ना जलन बहुत है लोगों में कोई भी किसी को ऊपर उठते हुए देखना ही नहीं चाहता अगर आप दो रोटी सुख शांति से खा रहे हैं मेहनत से कार्य इमानदारी से 9:00 तक भी लोगों को कहीं ना कहीं ईर्ष्या जरूर होती है जलन जरूर होती है कि यह आदमी सुखी क्यों है सुख शांति से क्यों रहता है क्यों इस्कॉन छोटी नसीब है हालांकि सामने वाला हमसे भी अच्छी पोजीशन पर है लेकिन फिर भी उसको कहीं नहीं दर्द होता है तो यह हमारे देश में आजकल बढ़ता जा रहा है इंग्लिश क्या स्वार्थ और लालच तथा आपस में लड़ाई झगड़ा भेद-भाव यह सब चीजें बहुत बढ़ती जा रही है चरम सीमा पर है और इन सब का काफी हद तक जिम्मेदार हम लोग अगर हम लोग आपस में भाईचारा बनाकर रखेंगे सौहार्द बनाएंगे एक दूसरे की हेल्प करेंगे और आपस में एक दूसरे को समझेंगे तो शायद काफी हद तक यह सब चीजें बंद हो जाएंगे लेकिन बहुत मुश्किल है यह सब करना फिलहाल तो क्योंकि समाज में कोई आजकल सुधारने ही नहीं चाहता कोई समझ नहीं नहीं चाहता सब अपने-अपने मतलब को ध्यान में रखते अपने स्वार्थ को ध्यान में रखते हैं तो यह चीज जब तक नहीं खत्म होगी जब तक हमारे समाज से नहीं सुधर पायेगा और लोग ऐसे ही खिलाफ होते रहेंगे और उल्टी-सीधी बोलते रहेंगे धन्यवाद
Haan namaskaar aap ka savaal hai ki koee insaan agar achchha kaam karata hai to bhee log usake khilaaph kyon hote hain kya aap mujhe bata sakate hain haan dekhe dost bhaarat kee raajaneeti gaee aap achchha kaam karenge tab bhee log aapake khilaaph honge bura kaam karenge tab bhee log aapake khilaaph honge kyonki log aaj kal jo hai na jalan bahut hai logon mein koee bhee kisee ko oopar uthate hue dekhana hee nahin chaahata agar aap do rotee sukh shaanti se kha rahe hain mehanat se kaary imaanadaaree se 9:00 tak bhee logon ko kaheen na kaheen eershya jaroor hotee hai jalan jaroor hotee hai ki yah aadamee sukhee kyon hai sukh shaanti se kyon rahata hai kyon iskon chhotee naseeb hai haalaanki saamane vaala hamase bhee achchhee pojeeshan par hai lekin phir bhee usako kaheen nahin dard hota hai to yah hamaare desh mein aajakal badhata ja raha hai inglish kya svaarth aur laalach tatha aapas mein ladaee jhagada bhed-bhaav yah sab cheejen bahut badhatee ja rahee hai charam seema par hai aur in sab ka kaaphee had tak jimmedaar ham log agar ham log aapas mein bhaeechaara banaakar rakhenge sauhaard banaenge ek doosare kee help karenge aur aapas mein ek doosare ko samajhenge to shaayad kaaphee had tak yah sab cheejen band ho jaenge lekin bahut mushkil hai yah sab karana philahaal to kyonki samaaj mein koee aajakal sudhaarane hee nahin chaahata koee samajh nahin nahin chaahata sab apane-apane matalab ko dhyaan mein rakhate apane svaarth ko dhyaan mein rakhate hain to yah cheej jab tak nahin khatm hogee jab tak hamaare samaaj se nahin sudhar paayega aur log aise hee khilaaph hote rahenge aur ultee-seedhee bolate rahenge dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
हमारे देश में जिस तरह बलात्कार और मर्डर हो रहे हैं क्या हमारे देश को भी सऊदी अरब की तरह कानून लाना चाहिए?Hamaare Desh Mein Jis Tarah Balaatkaar Aur Mardar Ho Rahe Hain Kya Hamaare Desh Ko Bhee Saoodee Arab Kee Tarah Kaanoon Laana Chaahie
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:29
नमस्कार आपका सवाल है कि हमारे देश में जिस तरह बलात्कार और मर्डर हो रहे हैं क्या हमारे देश को भी सऊदी अरब की तरह कानून लाना चाहिए देखे दोस्त हर देश के कानून अलग अलग होते हैं ठीक है अपराध एक ही होता है अपराध की किसी में कोई फर्क नहीं होता लेकिन कहीं पर कानून बहुत ज्यादा सकते हैं कहीं पर कानून बहुत ज्यादा नरम है अब हमारे देश की विडंबना यही है कि हमारे यहां अपराध बाद में होता है उसका तोड़ उसका अपराध पहले हो जाता है और उसका जो कानून का जो तोड़ है वह हम पहले निकाल लेते हैं तो यह हमारे देश की विडंबना है और बहुत सारे अपराध ऐसे हैं जिसमें अपराधी अपराध करके खुलेआम घूमते हैं और साफ छूट जाते हैं बड़ी हो जाते हैं उनका कुछ नहीं बिगाड़ पाता तो जरूरत है हमारे देश के कानूनों में बदलाव की और हम सभी चाहते हैं कि इस विषय में कोई काम होना चाहिए लेकिन हम लोगों भी मजबूर हैं सरकार हमारे हाथों में नहीं है यह काम सरकार का है सरकारी अपराध के हिसाब से उसकी सर्जन निर्धारित करनी चाहिए और सख्त से सख्त सजा जितना गंभीर अपराधों उतना ही उसकी सख्त सजा होनी चाहिए लेकिन अभी काफी इस दिशा में काम होना बाकी है और हम चाहते हैं कि अपराध ना हो हमारा देश एक अपराध मुक्त देश बने क्राइम कम से कम हो और हमारी बहन बेटियां और हमारी जनता सुरक्षित रहें धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki hamaare desh mein jis tarah balaatkaar aur mardar ho rahe hain kya hamaare desh ko bhee saoodee arab kee tarah kaanoon laana chaahie dekhe dost har desh ke kaanoon alag alag hote hain theek hai aparaadh ek hee hota hai aparaadh kee kisee mein koee phark nahin hota lekin kaheen par kaanoon bahut jyaada sakate hain kaheen par kaanoon bahut jyaada naram hai ab hamaare desh kee vidambana yahee hai ki hamaare yahaan aparaadh baad mein hota hai usaka tod usaka aparaadh pahale ho jaata hai aur usaka jo kaanoon ka jo tod hai vah ham pahale nikaal lete hain to yah hamaare desh kee vidambana hai aur bahut saare aparaadh aise hain jisamen aparaadhee aparaadh karake khuleaam ghoomate hain aur saaph chhoot jaate hain badee ho jaate hain unaka kuchh nahin bigaad paata to jaroorat hai hamaare desh ke kaanoonon mein badalaav kee aur ham sabhee chaahate hain ki is vishay mein koee kaam hona chaahie lekin ham logon bhee majaboor hain sarakaar hamaare haathon mein nahin hai yah kaam sarakaar ka hai sarakaaree aparaadh ke hisaab se usakee sarjan nirdhaarit karanee chaahie aur sakht se sakht saja jitana gambheer aparaadhon utana hee usakee sakht saja honee chaahie lekin abhee kaaphee is disha mein kaam hona baakee hai aur ham chaahate hain ki aparaadh na ho hamaara desh ek aparaadh mukt desh bane kraim kam se kam ho aur hamaaree bahan betiyaan aur hamaaree janata surakshit rahen dhanyavaad

#जीवन शैली

nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:17
नमस्कार आपका सवाल है कि क्या हमें देश प्रथा के कारण बहन बेटियों पर होने वाले अत्याचारों के खिलाफ अपनी उंगली उठाने चाहिए हां बिल्कुल सही बात है और अच्छे विचार हैं आपके हमेश दहेज प्रथा के खिलाफ उंगली जरूर उठानी चाहिए आवाज जरूर उठानी चाहिए और क्योंकि एक समाज में फैली भी बहुत पुरानी कुरीति है आजकल वैसे तो पढ़े-लिखे घरों में समझदार घरों में देश भर का काम है या ना के बराबर है लेकिन गांव देहातों में झांकी अभी पढ़ाई लिखाई का स्वाभाव है वह आज भी दान दहेज दिया जाता है और मांगा जाता है और इसके अलावा काफी सारे धर्म या परिवार ऐसे हैं जहां पर बिना देश के तो शादियों हो ही नहीं सकते वहां तो मुंह खोल कर के देश मांगा जाता है तो जरूरत है ईश्वर हमें अपने समाज को बदलने की अपने विचारों को बदलने की कल को हमारी भी शादी होगी हम भी बाप बनेंगे और हो सकता है उस वक्त हमारी बेटी के रूप में एक संतान पैदा हो और जब आप बड़ी हो और कोई हमसे दहेज मांगे तो हमें कितना बुरा लगता है तो यह चीज हमें महसूस करनी चाहिए और हमें देश प्रथा के खिलाफ आवाज जरूर उठानी चाहिए इसका विरोध करना चाहिए सरकार को भी चाहिए इसके खिलाफ सख्त से सख्त कानून बनाएं धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki kya hamen desh pratha ke kaaran bahan betiyon par hone vaale atyaachaaron ke khilaaph apanee ungalee uthaane chaahie haan bilkul sahee baat hai aur achchhe vichaar hain aapake hamesh dahej pratha ke khilaaph ungalee jaroor uthaanee chaahie aavaaj jaroor uthaanee chaahie aur kyonki ek samaaj mein phailee bhee bahut puraanee kureeti hai aajakal vaise to padhe-likhe gharon mein samajhadaar gharon mein desh bhar ka kaam hai ya na ke baraabar hai lekin gaanv dehaaton mein jhaankee abhee padhaee likhaee ka svaabhaav hai vah aaj bhee daan dahej diya jaata hai aur maanga jaata hai aur isake alaava kaaphee saare dharm ya parivaar aise hain jahaan par bina desh ke to shaadiyon ho hee nahin sakate vahaan to munh khol kar ke desh maanga jaata hai to jaroorat hai eeshvar hamen apane samaaj ko badalane kee apane vichaaron ko badalane kee kal ko hamaaree bhee shaadee hogee ham bhee baap banenge aur ho sakata hai us vakt hamaaree betee ke roop mein ek santaan paida ho aur jab aap badee ho aur koee hamase dahej maange to hamen kitana bura lagata hai to yah cheej hamen mahasoos karanee chaahie aur hamen desh pratha ke khilaaph aavaaj jaroor uthaanee chaahie isaka virodh karana chaahie sarakaar ko bhee chaahie isake khilaaph sakht se sakht kaanoon banaen dhanyavaad

#रिश्ते और संबंध

nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:31
नमस्कार आपका सवाल है कि लड़की बदसूरत होने की वजह से अगर हीन भावना से ग्रसित है तो आप उसको कैसे तनाव मुक्त करेंगे कोई भी लड़की बदसूरत होती नहीं है यह तो समाज की नजरें कि उसको कैसे देखते हैं ठीक है कभी-कभी क्या होता है कुछ लड़कियां रंग से बहुत काली होती हैं या उनका चेहरा में पूरा ठीक नहीं है या कुसुम के अंदर शारीरिक विकार है जिसकी वजह से वह तनाव फील करती हैं और उनके अंदर हीन भावना आती है तो उनको आप समझाइए प्यार से कि कोई बात नहीं अगर भगवान ने हमें एक कमजोरी दी है तो हमें 10 ताकतें भी दी हैं तो हमारे को हमारे अंदर जो है और कुछ एबिलिटी भी दिया हमारे अंदर हुनर भी दिया है हमें अपने हुनर को निकालना चाहिए आप इतिहास में और इंडिया के मतलब इतिहास में आप देख सकते हैं कि काफी सारी लड़कियां जो कि शारीरिक रूप से थोड़ा मतलब विकार था उनमें और चेहरा भी बदसूरत था लेकिन उन लड़कियों ने जगत में अपना नाम रोशन किया अपने माता-पिता का नाम रोशन किया आज अपनी पहचान बनाई है और करने की कोशिश कीजिए उसको उसका दिमाग डायवर्ट करने की कोशिश कीजिए उसको कहीं है कि तू किसी से मतलब यह मत रख कुछ कहते हैं लोग तो सुन लेकिन अपना अंदर ही अंदर अपने आप को मजबूत बनाओ और अपने अंदर एक ऐसी एबिलिटी ऐसा हुनर पैदा करो कि दुनिया तुम्हें पहचाने धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki ladakee badasoorat hone kee vajah se agar heen bhaavana se grasit hai to aap usako kaise tanaav mukt karenge koee bhee ladakee badasoorat hotee nahin hai yah to samaaj kee najaren ki usako kaise dekhate hain theek hai kabhee-kabhee kya hota hai kuchh ladakiyaan rang se bahut kaalee hotee hain ya unaka chehara mein poora theek nahin hai ya kusum ke andar shaareerik vikaar hai jisakee vajah se vah tanaav pheel karatee hain aur unake andar heen bhaavana aatee hai to unako aap samajhaie pyaar se ki koee baat nahin agar bhagavaan ne hamen ek kamajoree dee hai to hamen 10 taakaten bhee dee hain to hamaare ko hamaare andar jo hai aur kuchh ebilitee bhee diya hamaare andar hunar bhee diya hai hamen apane hunar ko nikaalana chaahie aap itihaas mein aur indiya ke matalab itihaas mein aap dekh sakate hain ki kaaphee saaree ladakiyaan jo ki shaareerik roop se thoda matalab vikaar tha unamen aur chehara bhee badasoorat tha lekin un ladakiyon ne jagat mein apana naam roshan kiya apane maata-pita ka naam roshan kiya aaj apanee pahachaan banaee hai aur karane kee koshish keejie usako usaka dimaag daayavart karane kee koshish keejie usako kaheen hai ki too kisee se matalab yah mat rakh kuchh kahate hain log to sun lekin apana andar hee andar apane aap ko majaboot banao aur apane andar ek aisee ebilitee aisa hunar paida karo ki duniya tumhen pahachaane dhanyavaad

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या पुरुषों की तुलना में महिलाएं अधिक गपशप करती हैं?Kya Purushon Ki Tulna Mein Mahilaen Adhik Gapshap Karti Hain
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
0:42
नमस्कार आपका सवाल है कि क्या पुरुषों की तुलना में महिलाएं अधिक गपशप करते हैं हां जी हां काफी हद तक तो यह बात सही है कि पुरुषों की तुलना में महिलाएं ज्यादा गपशप करती हैं उनकी बातें कभी खत्म नहीं हो सकती अगर दो औरतों को आप एक साथ बैठा दिया जाए तो उनकी बात है जो है 24 घंटे 365 दिन चलती रहेंगी कोई ना कोई कोई ना कोई टॉपिक उनका निकलते ही रहेगा और वह उससे बातचीत होती रहेगी जबकि पुरुष जो होते हैं वह आमतौर पर चुप रहना ज्यादा पसंद करते हैं हां कभी कबार जो दोस्त मिल गए काफी दिन बाद मिले तो आपस में बातचीत हो जाती है लेकिन ज्यादातर जहां पुरुष इतना कप शक नहीं करता जितना महिलाएं करती हैं धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki kya purushon kee tulana mein mahilaen adhik gapashap karate hain haan jee haan kaaphee had tak to yah baat sahee hai ki purushon kee tulana mein mahilaen jyaada gapashap karatee hain unakee baaten kabhee khatm nahin ho sakatee agar do auraton ko aap ek saath baitha diya jae to unakee baat hai jo hai 24 ghante 365 din chalatee rahengee koee na koee koee na koee topik unaka nikalate hee rahega aur vah usase baatacheet hotee rahegee jabaki purush jo hote hain vah aamataur par chup rahana jyaada pasand karate hain haan kabhee kabaar jo dost mil gae kaaphee din baad mile to aapas mein baatacheet ho jaatee hai lekin jyaadaatar jahaan purush itana kap shak nahin karata jitana mahilaen karatee hain dhanyavaad

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या हर समय नर्म होना सही है?Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:31
मुस्कान आप को संभालने की क्या हर समय नाम होना चाहिए हर समय नरम तो नहीं रहा जा सकता क्योंकि अगर हम ज्यादा नरमी बरते हुए या ज्यादा नरमी दिखाएंगे तो सामने वाला हो सकता है कि हमारी इसी कमजोरी का फायदा उठाया वह यह सोचेगा कि शायद हम लोग डरते हैं या फिर हम लोगों के अंदर शक्ति नहीं है लड़ने की यहां कहीं कमजोर है फिर भी हर जगह दिखाना ठीक नहीं होता कभी-कभी आप अपने आप को साबित करने के लिए हमें गर्मी भी दिखानी पड़ती है हमें अपना एटीट्यूड भी दिखाना पड़ता है हमें अपना व्यवहार भी दिखाना पड़ता है तो ज्यादा गर्मी और ज्यादा गर्मी दिखाना कभी भी सही नहीं होता हमेशा मौका वक्त और नजाकत देख करके बात कीजिए किस से बात कर रहे हैं कहां कर रहे हैं क्या बात कर रहे हैं यह सब सोची यह हाल फिलहाल मेरे साथ हो भी चुका है कि कोई आदमी था उसने मेरे को बिल्कुल भी गिरा हुआ समझ लिया उसने सोचा कि यह तो कुछ है ही नहीं और वह बहुत अच्छे पद पर हैं लेकिन उसको मैंने जवाब दिया कि आप शायद उसके अकल ठिकाने आ गई वह दिमाग वह 10 बार सोचेगा आप किसी को कुछ कहने से पहले क्योंकि हम किसी से कम नहीं है ना अब उस टाइम में नरमी दिखाता उस टाइम मैं उसके आगे हाथ जोड़ता हूं से माफी मांगता तो शायद हो सकता है कि वह और ज्यादा घमंडी हो तो और ज्यादा कुछ करता इसलिए नरमी हर जगह दिखाना ठीक नहीं होता आप अपने अगर आप सही हैं तो आप अपनी बात को साबित करने की कोशिश कीजिए और अपनी बात को ताकत से साबित कीजिए धन्यवाद
Muskaan aap ko sambhaalane kee kya har samay naam hona chaahie har samay naram to nahin raha ja sakata kyonki agar ham jyaada naramee barate hue ya jyaada naramee dikhaenge to saamane vaala ho sakata hai ki hamaaree isee kamajoree ka phaayada uthaaya vah yah sochega ki shaayad ham log darate hain ya phir ham logon ke andar shakti nahin hai ladane kee yahaan kaheen kamajor hai phir bhee har jagah dikhaana theek nahin hota kabhee-kabhee aap apane aap ko saabit karane ke lie hamen garmee bhee dikhaanee padatee hai hamen apana eteetyood bhee dikhaana padata hai hamen apana vyavahaar bhee dikhaana padata hai to jyaada garmee aur jyaada garmee dikhaana kabhee bhee sahee nahin hota hamesha mauka vakt aur najaakat dekh karake baat keejie kis se baat kar rahe hain kahaan kar rahe hain kya baat kar rahe hain yah sab sochee yah haal philahaal mere saath ho bhee chuka hai ki koee aadamee tha usane mere ko bilkul bhee gira hua samajh liya usane socha ki yah to kuchh hai hee nahin aur vah bahut achchhe pad par hain lekin usako mainne javaab diya ki aap shaayad usake akal thikaane aa gaee vah dimaag vah 10 baar sochega aap kisee ko kuchh kahane se pahale kyonki ham kisee se kam nahin hai na ab us taim mein naramee dikhaata us taim main usake aage haath jodata hoon se maaphee maangata to shaayad ho sakata hai ki vah aur jyaada ghamandee ho to aur jyaada kuchh karata isalie naramee har jagah dikhaana theek nahin hota aap apane agar aap sahee hain to aap apanee baat ko saabit karane kee koshish keejie aur apanee baat ko taakat se saabit keejie dhanyavaad

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
क्या चेहरा देख कर प्यार करना सही है?Kya Chehra Dekh Kar Pyaar Karna Sahi Hai
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:13
सर आपका सवाल है कि क्या चेहरा देख कर प्यार करना सही है आंखें दोस्त वैसे तो आजकल लोग चेहरा देखकर के ही प्यार करते हैं और प्यार भी क्या करते हैं वह सिर्फ अपना मतलब साथ में के लिए दोस्ती कर लेते हैं और चेहरा जिस्म कारा देखते हैं आजकल आजकल तुम लोगों की जरूरत यहीं रह गई है प्यार तो आजकल सच है महीने में कहीं मिलेगा ही नहीं बहुत कम होगा 100 में से 10 लोग होंगे जो कि सच्चा प्यार करते हैं और उम्र भर साथ निभाते हैं और हर मुसीबत में काम आते हैं हर तरह की सहायता करते हैं तो ऐसे लोग पास कल की दुनिया में बहुत कम हो गए तो हमारा यह समझना तो भूल है कि चेहरा देखकर प्यार करते हैं लोग या सही है देखिए आपने कहावत सुनी होगी कि दिल आया गधी पर तो परी क्या चीज है तो इंसान कभी कभी कर बैठता है कि चेहरा देख लेता है बाकी सवाल नहीं देखता हूं मां की फिक्र नहीं देखता बाकी और काफी सारी चीजें जो जरूरी होती है वह सब चीजों को इग्नोर कर देता है उनको वह देखता ही नहीं यह सब गलत है और बाकी इंसानी परवर्ती का उस कह नहीं सकते चेहरा देखकर प्यार कीजिए या ना कीजिए यह तो आप अपने हिसाब से देखिए धन्यवाद
Sar aapaka savaal hai ki kya chehara dekh kar pyaar karana sahee hai aankhen dost vaise to aajakal log chehara dekhakar ke hee pyaar karate hain aur pyaar bhee kya karate hain vah sirph apana matalab saath mein ke lie dostee kar lete hain aur chehara jism kaara dekhate hain aajakal aajakal tum logon kee jaroorat yaheen rah gaee hai pyaar to aajakal sach hai maheene mein kaheen milega hee nahin bahut kam hoga 100 mein se 10 log honge jo ki sachcha pyaar karate hain aur umr bhar saath nibhaate hain aur har museebat mein kaam aate hain har tarah kee sahaayata karate hain to aise log paas kal kee duniya mein bahut kam ho gae to hamaara yah samajhana to bhool hai ki chehara dekhakar pyaar karate hain log ya sahee hai dekhie aapane kahaavat sunee hogee ki dil aaya gadhee par to paree kya cheej hai to insaan kabhee kabhee kar baithata hai ki chehara dekh leta hai baakee savaal nahin dekhata hoon maan kee phikr nahin dekhata baakee aur kaaphee saaree cheejen jo jarooree hotee hai vah sab cheejon ko ignor kar deta hai unako vah dekhata hee nahin yah sab galat hai aur baakee insaanee paravartee ka us kah nahin sakate chehara dekhakar pyaar keejie ya na keejie yah to aap apane hisaab se dekhie dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
जमीन खरीद कर घर बनवाने और बना हुआ घर खरीदने में दोनों में कौन बेहतर है?Jamin Kharid Kar Ghar Banvane Aur Bna Hua Ghar Kharidne Mein Dono Mein Kaun Behtar Hai
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:24
नमस्कार आपको सवाल है कि जमीन खरीदकर घर बनवाने और बना हुआ घर खरीदने में दोनों में कौन बेहतर है श्रीमान जी वैसे तुम मेरी नजर से जमीन खरीदकर यदि आप करो ना दे तो वह बेहतर होता है लेकिन आजकल क्या करें कि किसी के पास इतना समय ही नहीं है कि जमीन देकर क्या फिर वहां खड़ा हो कर के अपने हिसाब से घर बनवाए तो ना तो किसी का इतना बजट होता है ना ही किसी के पास समय नहीं है मेन तो मुद्दा ही है कि समय नहीं है किसी के पास इसीलिए आज तो लोग क्या करते हैं कि बना बनाया घर ही खरीदते हैं और उसमें फिर अपनी जरूरतों के हिसाब से बदलाव करके और फिर उस घर को रहने लायक बना लेते हैं लेकिन जहां तक हो अगर आप सही समझे तो वह जमीन लेकर के घर बनाएंगे तो बढ़िया तरीके से क्योंकि जब आप जमीन लेंगे तो सोच समझ कर ही लेंगे और जब उस पर घर बनाएंगे तो वह अपने तरीके से अपनी जरूरतों के हिसाब से बनाएंगे उसमें मटेरियल भी अपना बढ़िया लगाएंगे अब जो ठेकेदार होते हैं जो जमीन मकान बना बना मकान भेजते हैं उन्होंने अपने हिसाब से मेडिकल लगाया होता है बिजली का और काफी सारा सीमेंट होगा रहा होता ही नहीं होता है बनाने का डिजाइन होता है कोई चीज छोटी कर देते हैं कोई चीज बड़ी कर देते हैं तो उस हिसाब से उनका बना हुआ मकान मजबूरी में लेना पड़ता है लेकिन जवाब जमीन लेकर मकान में हम आएंगे तो आप अपने हिसाब से बनाएंगे अपने मतलब से नहीं अपने मन का बनाएंगे तो वह बेहतर है धन्यवाद
Namaskaar aapako savaal hai ki jameen khareedakar ghar banavaane aur bana hua ghar khareedane mein donon mein kaun behatar hai shreemaan jee vaise tum meree najar se jameen khareedakar yadi aap karo na de to vah behatar hota hai lekin aajakal kya karen ki kisee ke paas itana samay hee nahin hai ki jameen dekar kya phir vahaan khada ho kar ke apane hisaab se ghar banavae to na to kisee ka itana bajat hota hai na hee kisee ke paas samay nahin hai men to mudda hee hai ki samay nahin hai kisee ke paas iseelie aaj to log kya karate hain ki bana banaaya ghar hee khareedate hain aur usamen phir apanee jarooraton ke hisaab se badalaav karake aur phir us ghar ko rahane laayak bana lete hain lekin jahaan tak ho agar aap sahee samajhe to vah jameen lekar ke ghar banaenge to badhiya tareeke se kyonki jab aap jameen lenge to soch samajh kar hee lenge aur jab us par ghar banaenge to vah apane tareeke se apanee jarooraton ke hisaab se banaenge usamen materiyal bhee apana badhiya lagaenge ab jo thekedaar hote hain jo jameen makaan bana bana makaan bhejate hain unhonne apane hisaab se medikal lagaaya hota hai bijalee ka aur kaaphee saara seement hoga raha hota hee nahin hota hai banaane ka dijain hota hai koee cheej chhotee kar dete hain koee cheej badee kar dete hain to us hisaab se unaka bana hua makaan majabooree mein lena padata hai lekin javaab jameen lekar makaan mein ham aaenge to aap apane hisaab se banaenge apane matalab se nahin apane man ka banaenge to vah behatar hai dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या राष्ट्रपति अपने निजी कार्य हेतु सरकारी खजाने से पैसे ले सकता है?Kya Raashtrapati Apane Nijee Kaary Hetu Sarakaaree Khajaane Se Paise Le Sakata Hai
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
0:46
नमस्कार आपको प्रश्न है कि क्या राष्ट्रपति अपने निजी कार्य हेतु सरकारी खजाने से पैसे ले सकता है आज ही नहीं श्रीमान ऐसा नहीं हो सकता और राष्ट्रपति क्या प्रधानमंत्री क्या कोई भी मंत्री गांड या कोई भी सरकारी कर्मचारी अपने निजी कार्य हेतु सरकारी खजाने से पैसा नहीं ले सकता हां यह बात अलग है कि वह राष्ट्रपति महोदय और प्रधानमंत्री महोदय को छोड़कर के कोई अन्य मंत्री गाना कोई सरकारी कर्मचारी है वह बैंक से या अपने ऑफिस से लोन के लिए कर्जे के लिए अप्लाई कर सकता है लेकिन वह चाहे कि सरकारी खजाने से अपने निजी कार्य हेतु कभी भी कुछ भी पैसा निकाल ले ऐसा संभव नहीं है अगर वह ऐसा करता है तो कानूनी रूप से दंड का अधिकारी होगा धन्यवाद
Namaskaar aapako prashn hai ki kya raashtrapati apane nijee kaary hetu sarakaaree khajaane se paise le sakata hai aaj hee nahin shreemaan aisa nahin ho sakata aur raashtrapati kya pradhaanamantree kya koee bhee mantree gaand ya koee bhee sarakaaree karmachaaree apane nijee kaary hetu sarakaaree khajaane se paisa nahin le sakata haan yah baat alag hai ki vah raashtrapati mahoday aur pradhaanamantree mahoday ko chhodakar ke koee any mantree gaana koee sarakaaree karmachaaree hai vah baink se ya apane ophis se lon ke lie karje ke lie aplaee kar sakata hai lekin vah chaahe ki sarakaaree khajaane se apane nijee kaary hetu kabhee bhee kuchh bhee paisa nikaal le aisa sambhav nahin hai agar vah aisa karata hai to kaanoonee roop se dand ka adhikaaree hoga dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
समस्याओं का समाधान विचारों से होता है या कर्म से?Samasyao Ka Smadhan Vicharo Se Hota Hai Ya Karam Se
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
0:51
नमस्कार आपका सवाल है कि समस्याओं का समाधान विचारों से होता है या कदम से ठीक है दोस्त कोई भी समस्या आती हमारे जीवन में अनेक प्रकार की समस्याएं आती रहती हैं और इन सब समस्याओं का समाधान भी करना पड़ता है लेकिन आपने पूछा है कि यह समस्याओं का समाधान विचार से होता है कसम से देखिए समस्याओं का समाधान तो कर्म से ही होता है लेकिन कर्म भी हमें विचार करके ही करने पड़ते हैं अगर हम बिना सोचे विचारे कर्म करेंगे तो पता लगेगा एक समस्या तो खड़ी है दूसरी ओर सामने आकर खड़ी हो गई इसलिए दोनों ही चीजें जरूरी है और दोनों ही चीजें समाधान करती हैं लेकिन कर्म से ही हमारी समस्याएं सुनकर उनका समाधान निकलता है लेकिन कर्म करने से पहले हमें सोचना भी करना बहुत जरूरी होता बहुत आवश्यक होता है तभी हमें हमारी जो समस्याएं खत्म हो जाती हैं धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki samasyaon ka samaadhaan vichaaron se hota hai ya kadam se theek hai dost koee bhee samasya aatee hamaare jeevan mein anek prakaar kee samasyaen aatee rahatee hain aur in sab samasyaon ka samaadhaan bhee karana padata hai lekin aapane poochha hai ki yah samasyaon ka samaadhaan vichaar se hota hai kasam se dekhie samasyaon ka samaadhaan to karm se hee hota hai lekin karm bhee hamen vichaar karake hee karane padate hain agar ham bina soche vichaare karm karenge to pata lagega ek samasya to khadee hai doosaree or saamane aakar khadee ho gaee isalie donon hee cheejen jarooree hai aur donon hee cheejen samaadhaan karatee hain lekin karm se hee hamaaree samasyaen sunakar unaka samaadhaan nikalata hai lekin karm karane se pahale hamen sochana bhee karana bahut jarooree hota bahut aavashyak hota hai tabhee hamen hamaaree jo samasyaen khatm ho jaatee hain dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
साक्षात्कार और बातचीत में क्या अंतर है?Sakshatkar Aur Baatcheet Mein Kya Antar Hai
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
0:46
नमस्कार आपको सवाल है कि साक्षात्कार और बातचीत में क्या अंतर है ठीक है साक्षात्कार और बातचीत में दोनों में बहुत फर्क है बातचीत वह होती है जो हम लोग आपस में एक दूसरे के साथ करते हैं जैसे भाई भाई आपस में करता है दोस्त दोस्त के साथ में करता है मालिक नौकर के साथ करता है या पिता अपने पुत्र के साथ या पिता अपनी पुत्री के साथ मां बेटी आपस में बातचीत करते हैं तो उसे बोलते हैं बातचीत करना और साक्षात्कार वह है जैसे हम कहीं नौकरी के लिए जाते हैं कहीं अपनी रोजगार के लिए जाते हैं तो वहां हमसे कुछ प्रश्न की जाती हैं हमारे रोजगार से जो हमारे शिक्षा से संबंधित हमारे अनुभव के संबंधित इन सब चीजों से संबंधित कुछ प्रश्न हमसे पूछे जाते हैं उसे हम साक्षात्कार कहते हैं साक्षात्कार और बातचीत में बहुत फर्क होता है धन्यवाद
Namaskaar aapako savaal hai ki saakshaatkaar aur baatacheet mein kya antar hai theek hai saakshaatkaar aur baatacheet mein donon mein bahut phark hai baatacheet vah hotee hai jo ham log aapas mein ek doosare ke saath karate hain jaise bhaee bhaee aapas mein karata hai dost dost ke saath mein karata hai maalik naukar ke saath karata hai ya pita apane putr ke saath ya pita apanee putree ke saath maan betee aapas mein baatacheet karate hain to use bolate hain baatacheet karana aur saakshaatkaar vah hai jaise ham kaheen naukaree ke lie jaate hain kaheen apanee rojagaar ke lie jaate hain to vahaan hamase kuchh prashn kee jaatee hain hamaare rojagaar se jo hamaare shiksha se sambandhit hamaare anubhav ke sambandhit in sab cheejon se sambandhit kuchh prashn hamase poochhe jaate hain use ham saakshaatkaar kahate hain saakshaatkaar aur baatacheet mein bahut phark hota hai dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
इंसान का सबसे बड़ा हमदर्द कौन है माता-पिता या परमात्मा?Insaan Ka Sabse Bada Hamdard Kaun Hai Mata Pita Ya Paramatma
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
0:51
मास्टर आपको सवाल है कि इंसान का सबसे बड़ा हमदर्द कौन है माता-पिता या परमात्मा लेकिन इंसान का सबसे बड़ा हमदर्द तो माता-पिता होते हैं क्योंकि परमात्मा तो पूरे जगत के हमदर्द है परमपिता परमात्मा तो पूरी दुनिया का ही भला करते हैं वह तो सभी को देखते हैं लेकिन माता-पिता जो है वह पूरी दुनिया को नहीं देखते हो वह सिर्फ अपनी संतान को देखते हैं इसलिए जब भी आपके पास कोई दुख विपत्ति आती है संकट आता तो सबसे पहले आपके माता-पिता ही आपके साथ होते हैं और वही आपका दर्द आपका दुख दूर करने की कोशिश करते हैं बाकी परमपिता परमात्मा तो है ही माता-पिता भी अजी नहीं कर पाते सहायता तो वह किस से प्रार्थना करते हैं वह हमेशा भगवान से परमात्मा से प्रार्थना करते हैं कि यह भगवान हम पराया को यह दुखे हमारी संतान पर आया वह दुख दूर करो तो परमपिता परमात्मा तो है ही लेकिन पहले नंबर तो माता-पिता उम्मीद आपको बात अच्छी लगेगी धन्यवाद
Maastar aapako savaal hai ki insaan ka sabase bada hamadard kaun hai maata-pita ya paramaatma lekin insaan ka sabase bada hamadard to maata-pita hote hain kyonki paramaatma to poore jagat ke hamadard hai paramapita paramaatma to pooree duniya ka hee bhala karate hain vah to sabhee ko dekhate hain lekin maata-pita jo hai vah pooree duniya ko nahin dekhate ho vah sirph apanee santaan ko dekhate hain isalie jab bhee aapake paas koee dukh vipatti aatee hai sankat aata to sabase pahale aapake maata-pita hee aapake saath hote hain aur vahee aapaka dard aapaka dukh door karane kee koshish karate hain baakee paramapita paramaatma to hai hee maata-pita bhee ajee nahin kar paate sahaayata to vah kis se praarthana karate hain vah hamesha bhagavaan se paramaatma se praarthana karate hain ki yah bhagavaan ham paraaya ko yah dukhe hamaaree santaan par aaya vah dukh door karo to paramapita paramaatma to hai hee lekin pahale nambar to maata-pita ummeed aapako baat achchhee lagegee dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
क्या घर में मंदिर बनाना उचित होता है?Kya Ghar Me Mandir Banana Uchit Hota Hai
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
0:55
नमस्कार आपका सवाल है कि क्या घर में मंदिर बनाना उचित होता है जी हां मंदिर उचित होता है क्योंकि काफी लोगों ने मंदिर बनवा रखे अपने घरों में हम अपने घर में एक कोने में छोटा सा मंदिर जरूर वह आते हैं जब भी हम अपने काम पर जाते हैं अपना घर से बाहर जाते तो भगवान के आगे हाथ जोड़कर निकलते हैं क्योंकि हर वक्त तो हमारे पास मंदिर जाने का समय होता नहीं आ पॉसिबल नहीं होता इसलिए अपने घर के मंदिर में हमेशा हाथ जोड़कर प्रार्थना कर दिया जब भी समय मिलता पूजा करते हैं मंदिर बनाना उचित होता है इसके अलावा मंदिर ऐसी दिशा में बनाना चाहिए जैसे कि वास्तु के हिसाब से ठीक रहे या फिर आप किसी पंडित से आप सलाह मशवरा कर सकते हैं और उसके अलावा आप मंदिर को अच्छे तरीके से बनवाएं और उन्हीं भगवान का बनाएं जिन्हें आप ज्यादा मानते हो उनको जो आपके पूज्य दे वो आपके कुलदेवता हूं इन सब चीजों की आप स्थापना करें आपका जीवन सुखी और सफल रहेगा धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki kya ghar mein mandir banaana uchit hota hai jee haan mandir uchit hota hai kyonki kaaphee logon ne mandir banava rakhe apane gharon mein ham apane ghar mein ek kone mein chhota sa mandir jaroor vah aate hain jab bhee ham apane kaam par jaate hain apana ghar se baahar jaate to bhagavaan ke aage haath jodakar nikalate hain kyonki har vakt to hamaare paas mandir jaane ka samay hota nahin aa posibal nahin hota isalie apane ghar ke mandir mein hamesha haath jodakar praarthana kar diya jab bhee samay milata pooja karate hain mandir banaana uchit hota hai isake alaava mandir aisee disha mein banaana chaahie jaise ki vaastu ke hisaab se theek rahe ya phir aap kisee pandit se aap salaah mashavara kar sakate hain aur usake alaava aap mandir ko achchhe tareeke se banavaen aur unheen bhagavaan ka banaen jinhen aap jyaada maanate ho unako jo aapake poojy de vo aapake kuladevata hoon in sab cheejon kee aap sthaapana karen aapaka jeevan sukhee aur saphal rahega dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:13
नमस्कार आपका सवाल है कि क्या है कार्ड की कोई सीमा होती है वहां दोस्त कुछ चीजें ऐसी हैं जैसे कि इंकार है लालच है स्वार्थ है या घमंड है इन सब चीजों की कोई सीमा नहीं है क्रोध है इनकी कोई सीमा नहीं है तो इन चीजों की सीमा को निर्धारित नहीं होती कोई थोड़ा करता है कोई ज्यादा करता है तो लेकिन इसकी सीमा कोई नहीं आप सोचो कि वह एक आदमी का अहंकार इतना ही रहेगा नहीं ऐसा कुछ नहीं है उसके पास जैसे-जैसे जितना ज्यादा पैसा आता जाएगा जितना ज्यादा वह अमीर होता जाएगा जितना ज्यादा से ज्यादा मिलते जाएंगे होता ही जा रहे हैं इनकारी हो जाएगा कहीं ज्यादा घमंडी होता चला जाएगा उतना ही उसका लालच बढ़ता चला जाएगा तो इन सब चीजों की कोई सीमा नहीं है आप आप आज ₹10 कमाते आप सोचें कि काश में ₹100 कमाता फिर आप कल ₹100 कमाएंगे तो आप सोचें कि काश में हजार रुपए कमाता आप हजार रुपे कमाने लगेंगे आप सोचेंगे कि काश में ₹100000 कमाता तो इस तरह आपकी धीरे-धीरे लालसा बढ़ती जाएगी और आपका एंकर आपका घमंड आ आपकी जो भी स्वार्थ की भावना को धीरे धीरे धीरे धीरे धीरे बढ़ती जाएगी तो इनकी सीमा कोई नहीं होती इन सब चीजों को तो खुद ही कंट्रोल करना चाहिए और खुद ही अपने पर काबू रखना चाहिए धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki kya hai kaard kee koee seema hotee hai vahaan dost kuchh cheejen aisee hain jaise ki inkaar hai laalach hai svaarth hai ya ghamand hai in sab cheejon kee koee seema nahin hai krodh hai inakee koee seema nahin hai to in cheejon kee seema ko nirdhaarit nahin hotee koee thoda karata hai koee jyaada karata hai to lekin isakee seema koee nahin aap socho ki vah ek aadamee ka ahankaar itana hee rahega nahin aisa kuchh nahin hai usake paas jaise-jaise jitana jyaada paisa aata jaega jitana jyaada vah ameer hota jaega jitana jyaada se jyaada milate jaenge hota hee ja rahe hain inakaaree ho jaega kaheen jyaada ghamandee hota chala jaega utana hee usaka laalach badhata chala jaega to in sab cheejon kee koee seema nahin hai aap aap aaj ₹10 kamaate aap sochen ki kaash mein ₹100 kamaata phir aap kal ₹100 kamaenge to aap sochen ki kaash mein hajaar rupe kamaata aap hajaar rupe kamaane lagenge aap sochenge ki kaash mein ₹100000 kamaata to is tarah aapakee dheere-dheere laalasa badhatee jaegee aur aapaka enkar aapaka ghamand aa aapakee jo bhee svaarth kee bhaavana ko dheere dheere dheere dheere dheere badhatee jaegee to inakee seema koee nahin hotee in sab cheejon ko to khud hee kantrol karana chaahie aur khud hee apane par kaaboo rakhana chaahie dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
भारत देश में किस चीज़ की कमी है?bhaarat desh mein kis cheez kee kamee hai
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:23
मुस्कान आप का सवाल है कि भारत देश में किस चीज की कमी है भारत को वैसे तो सोने की चिड़िया कहा जाता था और आज भी कहा जाता है और भारत में वैसे तो देखा जाए किसी चीज की कमी नहीं है लेकिन अगर आप वाकई में पूछना चाहते हैं कि भारत में किस चीज की कमी है तो मैं समझता हूं कि भारत में आजकल नैतिकता इंसानियत समझदारी इन सब चीजों की बहुत कमी है क्योंकि अगर भारत के लोग जैसे कि पहले किसी जमाने में होता था हमारे दादा परदादा हूं के जमाने में कि लोग एक दूसरे की मदद करते थे एक दूसरे की सहायता करते थे एक दूसरे की मदद करते थे कोई विपत्ति आ जाती थी आपदा जाता था तो उसमें कोई हिंदू नहीं कोई मुसलमान नहीं कोई छोटा नहीं कोई बड़ा नहीं सब एक दूसरे की सहायता करने में जुट जाते थे एक दूसरे की मदद करते थे आप दा में हर चीज में तो यह सब चीज थी लेकिन आज जैसे जैसे लोगों के पास पैसा आता जा रहा है अमीर होते जा रहे हैं वैसे वैसे अहंकार घमंड बढ़ता जा रहा है आजकल कोई किसी को कुछ नहीं समझता यह क्या था मैं वर्ड तो सामने दूसरा खड़ा होता वह कसम मैं तेरे से भी बड़ा हूं उसके बाद तीसरा खड़ा होता है वह कहता मैं तो सबसे बड़ा हूं यह चीजें नहीं होनी चाहिए और यही चीज हमारे देश में आती जा रही है जिसकी वजह से हम अपना नैतिक मूल्य अपनी इंसानियत पर अपना भाईचारा अपना सहयोग यह सब खुलते जा रहे हैं और इस चीज की कमी होती जा रही है धन्यवाद
Muskaan aap ka savaal hai ki bhaarat desh mein kis cheej kee kamee hai bhaarat ko vaise to sone kee chidiya kaha jaata tha aur aaj bhee kaha jaata hai aur bhaarat mein vaise to dekha jae kisee cheej kee kamee nahin hai lekin agar aap vaakee mein poochhana chaahate hain ki bhaarat mein kis cheej kee kamee hai to main samajhata hoon ki bhaarat mein aajakal naitikata insaaniyat samajhadaaree in sab cheejon kee bahut kamee hai kyonki agar bhaarat ke log jaise ki pahale kisee jamaane mein hota tha hamaare daada paradaada hoon ke jamaane mein ki log ek doosare kee madad karate the ek doosare kee sahaayata karate the ek doosare kee madad karate the koee vipatti aa jaatee thee aapada jaata tha to usamen koee hindoo nahin koee musalamaan nahin koee chhota nahin koee bada nahin sab ek doosare kee sahaayata karane mein jut jaate the ek doosare kee madad karate the aap da mein har cheej mein to yah sab cheej thee lekin aaj jaise jaise logon ke paas paisa aata ja raha hai ameer hote ja rahe hain vaise vaise ahankaar ghamand badhata ja raha hai aajakal koee kisee ko kuchh nahin samajhata yah kya tha main vard to saamane doosara khada hota vah kasam main tere se bhee bada hoon usake baad teesara khada hota hai vah kahata main to sabase bada hoon yah cheejen nahin honee chaahie aur yahee cheej hamaare desh mein aatee ja rahee hai jisakee vajah se ham apana naitik mooly apanee insaaniyat par apana bhaeechaara apana sahayog yah sab khulate ja rahe hain aur is cheej kee kamee hotee ja rahee hai dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
एक गरीब के घर में और एक अमीर के घर में आग लगी तो बताओ पुलिस किसकी आग बुझाएगा सबसे पहले?ek gareeb ke ghar mein aur ek ameer ke ghar mein aag lagee to batao pulis kisakee aag bujhaega sabase pahale
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:25
सर आपका सवाल है कि एक गरीब के घर में और एक अमीर के घर में आग लगी है तो बताओ पुलिस किस की आग बुझाई की सबसे पहले देखे थे सवार के पीछे में आपकी सोच समझ रहा हूं थिंकिंग समझ रहा हूं आप यह जाना चाहते हैं या यह कहना चाहते हैं कि पुलिस अमीर आदमी की आंख पहले हो जाएगी क्योंकि अमीर आदमी पैसे वाला है वह पुलिस को पैसा देगा या फिर उसको बचाना ज्यादा जरूरी है आपकी सोच गलत है ऐसा कुछ नहीं है लिखिए पुलिस का काम है आग बुझाना पुलिस का काम आप हो जाना नहीं है फ्री फायर ब्रिगेड का काम है आप भूल जाना लेकिन हां पुलिस हटा जरूर कर दिया और इस विषय में 5 मिनट हो गया पुलिस और सहायता सबसे पहले उसी की करेगी चाहे वह वीडियो से गरीब हो जान जान माल और इंसान की जान ज्यादा कीमती हो ज्यादा नुकसान हो अब अगर माली से गरीब के घर में 10 लोग हैं जो आग से घिरे हुए और मीठे घर में एक ही आदमी है तो पुलिस सिर्फ एडमिट सबसे पहले गरीब के घर की आग बुझा दी क्योंकि वहां 10 लोग फंसे हुए हैं आमिर के घर में एक ही आदमी फंसा हुआ है और कोशिश हो दोनों तरफ बराबर करते हैं ऐसा नहीं है कि वह पहले उसकी बुझायेंगे पहले उसकी उनके पास इतना धन होता है कि वह दोनों घरों की आग एक साथ भी जा सकते हैं ऐसे में यह सवाल पूछना गलत है कि गरीबी पहले हो जाएगी अमृतवेल हो जाएगी दोनों बराबर है चाहे गरीब हो चाहे अमीर हो क्योंकि आप से जानमाल का नुकसान दोनों को बराबर कही है जान दोनों की बराबर है कोई कीमती नहीं है कोई महंगी नहीं है धन्यवाद
Sar aapaka savaal hai ki ek gareeb ke ghar mein aur ek ameer ke ghar mein aag lagee hai to batao pulis kis kee aag bujhaee kee sabase pahale dekhe the savaar ke peechhe mein aapakee soch samajh raha hoon thinking samajh raha hoon aap yah jaana chaahate hain ya yah kahana chaahate hain ki pulis ameer aadamee kee aankh pahale ho jaegee kyonki ameer aadamee paise vaala hai vah pulis ko paisa dega ya phir usako bachaana jyaada jarooree hai aapakee soch galat hai aisa kuchh nahin hai likhie pulis ka kaam hai aag bujhaana pulis ka kaam aap ho jaana nahin hai phree phaayar briged ka kaam hai aap bhool jaana lekin haan pulis hata jaroor kar diya aur is vishay mein 5 minat ho gaya pulis aur sahaayata sabase pahale usee kee karegee chaahe vah veediyo se gareeb ho jaan jaan maal aur insaan kee jaan jyaada keematee ho jyaada nukasaan ho ab agar maalee se gareeb ke ghar mein 10 log hain jo aag se ghire hue aur meethe ghar mein ek hee aadamee hai to pulis sirph edamit sabase pahale gareeb ke ghar kee aag bujha dee kyonki vahaan 10 log phanse hue hain aamir ke ghar mein ek hee aadamee phansa hua hai aur koshish ho donon taraph baraabar karate hain aisa nahin hai ki vah pahale usakee bujhaayenge pahale usakee unake paas itana dhan hota hai ki vah donon gharon kee aag ek saath bhee ja sakate hain aise mein yah savaal poochhana galat hai ki gareebee pahale ho jaegee amrtavel ho jaegee donon baraabar hai chaahe gareeb ho chaahe ameer ho kyonki aap se jaanamaal ka nukasaan donon ko baraabar kahee hai jaan donon kee baraabar hai koee keematee nahin hai koee mahangee nahin hai dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
गरीब लोग शिक्षित कब होंगे?gareeb log shikshit kab honge
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:50
नमस्कार आपका सवाल है कि गरीब लोग शिक्षित कब होंगे देखे दोस्त जरूरत जरूरी नहीं है कि गरीब आदमी शिक्षित नहीं हो सकता या शिक्षित आदमी गरीब नहीं हो सकता इस बात का कोई आपस में तालमेल नहीं है आप यह पूछिए कि घड़ी ब्लॉक अमीर कब बनेंगे या गरीबी कब दूर होगी या फिर यह पूछिए कि भारतपुर से अशिक्षित कब बनेगा साक्षरता मिशन कब पूरा होगा यह सवाल आप पूछ सकते हैं और मैं आपको दोनों ही चीज का जवाब देता हूं कि भारत शिक्षित पूरा तभी बनेगा जब लोगों के अंदर पढ़ने की इच्छा होगी लोगों के अंदर अपने बच्चों को पढ़ाने की इच्छा होगी अगर भारत के लोगों की मानसिकता बदल जाए वह चाहे हालांकि बदल रही है काफी हद तक पहले जमाने में मैं देखता था आपने भी देखा होगा कि लड़कियों को शिक्षा नहीं दी जाती थी याद दी जाती तो बहुत कम स्तर पर दी जाती थी लेकिन आजकल बहुत छोटे कस्बे बहुत छोटे गांव से बहुत शिक्षित लड़कियां निकल कर आ रही है पढ़ाई के अपना नाम रोशन कर रही है अपने मां-बाप का अपने देश का अपने समाज का नाम रोशन कर देंगे तो लोगों के अंदर जागरूकता आ रही है आजकल वह बच्चों को पढ़ाना चाहते हैं और पढ़ें तो मैं समझता हूं कि शायद आने वाले 5 सालों में भारत के अंदर शिक्षा एक जरूरी चीज बन जाएगी और बन चुकी है और काफी हद तक शिक्षा हमारे देश में अच्छी हो जाएगी और दूसरी पार्टी की गरीबी वह तो देखिए कभी उसका तो कोई गारंटी है नहीं गरीबी तो जब भी हट सकती है जब लोग खुद अपने आप सोचे अपने समाज के बारे में अपने देश के बारे में अपने बारे में सोचेंगे तभी गाड़ी भी हट सकती है आजकल क्या है कि जरूर सब लोग नौकरी के पीछे भाग रहे हैं अगर नौकरी नहीं मिलती तो क्यों ना स्वयं का रोजगार किया जाए कोई ना कोई ऐसा काम किया जाए जिससे कि हम आत्मनिर्भर बन सकें यह सब चीजें सोचेंगे तो शायद हमारा देश एक अच्छी दिशा में कदम रखेगा धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki gareeb log shikshit kab honge dekhe dost jaroorat jarooree nahin hai ki gareeb aadamee shikshit nahin ho sakata ya shikshit aadamee gareeb nahin ho sakata is baat ka koee aapas mein taalamel nahin hai aap yah poochhie ki ghadee blok ameer kab banenge ya gareebee kab door hogee ya phir yah poochhie ki bhaaratapur se ashikshit kab banega saaksharata mishan kab poora hoga yah savaal aap poochh sakate hain aur main aapako donon hee cheej ka javaab deta hoon ki bhaarat shikshit poora tabhee banega jab logon ke andar padhane kee ichchha hogee logon ke andar apane bachchon ko padhaane kee ichchha hogee agar bhaarat ke logon kee maanasikata badal jae vah chaahe haalaanki badal rahee hai kaaphee had tak pahale jamaane mein main dekhata tha aapane bhee dekha hoga ki ladakiyon ko shiksha nahin dee jaatee thee yaad dee jaatee to bahut kam star par dee jaatee thee lekin aajakal bahut chhote kasbe bahut chhote gaanv se bahut shikshit ladakiyaan nikal kar aa rahee hai padhaee ke apana naam roshan kar rahee hai apane maan-baap ka apane desh ka apane samaaj ka naam roshan kar denge to logon ke andar jaagarookata aa rahee hai aajakal vah bachchon ko padhaana chaahate hain aur padhen to main samajhata hoon ki shaayad aane vaale 5 saalon mein bhaarat ke andar shiksha ek jarooree cheej ban jaegee aur ban chukee hai aur kaaphee had tak shiksha hamaare desh mein achchhee ho jaegee aur doosaree paartee kee gareebee vah to dekhie kabhee usaka to koee gaarantee hai nahin gareebee to jab bhee hat sakatee hai jab log khud apane aap soche apane samaaj ke baare mein apane desh ke baare mein apane baare mein sochenge tabhee gaadee bhee hat sakatee hai aajakal kya hai ki jaroor sab log naukaree ke peechhe bhaag rahe hain agar naukaree nahin milatee to kyon na svayan ka rojagaar kiya jae koee na koee aisa kaam kiya jae jisase ki ham aatmanirbhar ban saken yah sab cheejen sochenge to shaayad hamaara desh ek achchhee disha mein kadam rakhega dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
अगर कोई व्यक्ति पहली बार जमीन खरीद रहा है तो आप उसे क्या सलाह देंगे?Agar Koi Vyakti Pehli Bar Zameen Khareed Raha Hai To Aap Use Kya Salah Denge
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:32
नमस्कार आपका सवाल है कि कोई व्यक्ति यदि पास जमीन खरीदना है तो आप उसे क्या सजा देंगे हमारे सामने आए हैं और हमने उसका जवाब दिया कि प्रॉपर्टी से संबंधित फ्लैट से संबंधित जमीन से संबंधित क्वेश्चन आए हैं और फिर भी आपने पूछा है तो चलिए मैं आपको एक सलाह देता हूं लेकिन जमीन हमेशा अपने बजट के अनुसार ही कभी भी जमीन के ऊपर कोशिश करें कि आपको कोई लोन ना देना पड़े क्योंकि लोन लेकर के जमीन खरीदना 10:00 मौसम आज की तारीख में समझदारी नहीं है और दूसरी चीज हमेशा जमीन को देखिए लोकेशन देख कर के खरीदी है उसकी लोकेशन कैसी है उसके आसपास का इलाका कैसा है वहां आपको आने जाने की कन्वेंस है नहीं है नजदीकी एयरपोर्ट नजदीकी रेलवे स्टेशन नजदीकी बस अड्डा मां से कितनी दूर है सब्जी मंडी वहां पर कितनी दूर है मार्केट कितनी दूर है उसके अलावा वहां पर आपको और अन्य सुविधाएं मिलती हैं या नहीं मिलती हैं और सबसे जरूरी चीज है कि उस जमीन की आप अच्छी तरह से जांच कर कर लीजिए जिससे आप जमीन खरीदना कहीं वो आपसे ज्यादा पैसे तो नहीं ले रहा कई बार ऐसा होता है कि ₹10 का जमीन का भाव चल रहा था तो आदमी बोलता ₹100 का पड़ा मोलभाव करके ₹70 खरीद रहे थे तभी आप ₹60 घाटे में जाते हैं तो पहले जमीन का अच्छी तरह से मोल भाव तय कर लीजिए देख लीजिए और उसके बाद उस जमीन के ऊपर किसी तरह का कोई डिस्टर्ब तो नहीं चल रहा कई बार क्या होता है कि एक आदमी क्या करता है जमीन एक ही आज एक ही जमीन को कई आदमियों को भेज देता है तो वह चीज भी आप चेक कर लीजिए यह सब आप सुनाएं मानेंगे तो कभी भी धोखा नहीं खाएंगे धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki koee vyakti yadi paas jameen khareedana hai to aap use kya saja denge hamaare saamane aae hain aur hamane usaka javaab diya ki propartee se sambandhit phlait se sambandhit jameen se sambandhit kveshchan aae hain aur phir bhee aapane poochha hai to chalie main aapako ek salaah deta hoon lekin jameen hamesha apane bajat ke anusaar hee kabhee bhee jameen ke oopar koshish karen ki aapako koee lon na dena pade kyonki lon lekar ke jameen khareedana 10:00 mausam aaj kee taareekh mein samajhadaaree nahin hai aur doosaree cheej hamesha jameen ko dekhie lokeshan dekh kar ke khareedee hai usakee lokeshan kaisee hai usake aasapaas ka ilaaka kaisa hai vahaan aapako aane jaane kee kanvens hai nahin hai najadeekee eyaraport najadeekee relave steshan najadeekee bas adda maan se kitanee door hai sabjee mandee vahaan par kitanee door hai maarket kitanee door hai usake alaava vahaan par aapako aur any suvidhaen milatee hain ya nahin milatee hain aur sabase jarooree cheej hai ki us jameen kee aap achchhee tarah se jaanch kar kar leejie jisase aap jameen khareedana kaheen vo aapase jyaada paise to nahin le raha kaee baar aisa hota hai ki ₹10 ka jameen ka bhaav chal raha tha to aadamee bolata ₹100 ka pada molabhaav karake ₹70 khareed rahe the tabhee aap ₹60 ghaate mein jaate hain to pahale jameen ka achchhee tarah se mol bhaav tay kar leejie dekh leejie aur usake baad us jameen ke oopar kisee tarah ka koee distarb to nahin chal raha kaee baar kya hota hai ki ek aadamee kya karata hai jameen ek hee aaj ek hee jameen ko kaee aadamiyon ko bhej deta hai to vah cheej bhee aap chek kar leejie yah sab aap sunaen maanenge to kabhee bhee dhokha nahin khaenge dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
LPG सिलेंडर के दाम इतना क्यों बढ़ रहा है?Lpg Cylinder Ke Daam Itna Kyun Badh Raha Hai
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:47
नमस्कार आपका सवाल है कि एलपीजी सिलेंडर के दाम इतना क्यों बढ़ रहे हैं देखिए दोस्त एलपीजी सिलेंडर ही क्या आज की डेट में हर चीज महंगी होती जा रही है डीजल पेट्रोल को देख लीजिए सब्जियां देख लीजिए डाले दलहन देख लीजिए हर चीज महंगाई की सीमा को पार कर रही है और महंगाई अपने चरम पर है इसका जिम्मेदार कौन है इसका जिम्मेदार है सिर्फ बीजेपी सरकार मौजूदा सरकार क्योंकि देखिए कोई भी चीज यदि घर में आती है तो उसका पैसा कौन देता है या तो घर के मुखिया देगा या फिर घर में होने वाली इनकम वह दे गई तो हमारे जो मुखिया है नरेंद्र मोदी जी उनकी अपनी कोई पर्सनल इनकम तो है नहीं अब जो वह लोग खर्चा कर रहे हैं 20000 करोड रुपए उन्होंने संसद भवन बनाने के लिए दिया है और 8400 कुछ 8400 करोड रुपए का उन्होंने जांच खरीदा है अमेरिका से एयर फोर्स वन कहां से निकालेंगे उसका पैसा वह आम जनता से ही निकालेंगे तो जाहिर सी बात है कि वह हर चीज महंगी करते जाएंगे हर चीज लिमिट से बाहर होती जाएगी और इसका नतीजा क्या होगा देखिए जब कोई चीज अपनी सीमा से गुजर जाती है तो कोई ना कोई विस्फोट जरूर होता है तो उसी का मैं अंदाजा लगा रहा हूं कि जहां तक मेरा ख्याल है मोदी सरकार से इस वक्त पब्लिक चढ़ चुकी है जनता चढ़ चुकी है और जहां तक मेरा ख्याल है मोदी सरकार अगले चुनाव में नहीं आएगी और नहीं आनी चाहिए क्योंकि इन्होंने जो है आम जनता का बहुत बुरा हाल कर दिया और हर चीज जिन्होंने सीमा से ऊपर कर दिया सीमा से बाहर कर दिया तो कृपया मेरी आपसे यह दरख्वास्त है कि आने वाले चुनाव में मोदी सरकार को वोट ना करें धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki elapeejee silendar ke daam itana kyon badh rahe hain dekhie dost elapeejee silendar hee kya aaj kee det mein har cheej mahangee hotee ja rahee hai deejal petrol ko dekh leejie sabjiyaan dekh leejie daale dalahan dekh leejie har cheej mahangaee kee seema ko paar kar rahee hai aur mahangaee apane charam par hai isaka jimmedaar kaun hai isaka jimmedaar hai sirph beejepee sarakaar maujooda sarakaar kyonki dekhie koee bhee cheej yadi ghar mein aatee hai to usaka paisa kaun deta hai ya to ghar ke mukhiya dega ya phir ghar mein hone vaalee inakam vah de gaee to hamaare jo mukhiya hai narendr modee jee unakee apanee koee parsanal inakam to hai nahin ab jo vah log kharcha kar rahe hain 20000 karod rupe unhonne sansad bhavan banaane ke lie diya hai aur 8400 kuchh 8400 karod rupe ka unhonne jaanch khareeda hai amerika se eyar phors van kahaan se nikaalenge usaka paisa vah aam janata se hee nikaalenge to jaahir see baat hai ki vah har cheej mahangee karate jaenge har cheej limit se baahar hotee jaegee aur isaka nateeja kya hoga dekhie jab koee cheej apanee seema se gujar jaatee hai to koee na koee visphot jaroor hota hai to usee ka main andaaja laga raha hoon ki jahaan tak mera khyaal hai modee sarakaar se is vakt pablik chadh chukee hai janata chadh chukee hai aur jahaan tak mera khyaal hai modee sarakaar agale chunaav mein nahin aaegee aur nahin aanee chaahie kyonki inhonne jo hai aam janata ka bahut bura haal kar diya aur har cheej jinhonne seema se oopar kar diya seema se baahar kar diya to krpaya meree aapase yah darakhvaast hai ki aane vaale chunaav mein modee sarakaar ko vot na karen dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
भारतीय स्टेट बैंक में घर बैठे खाता कैसे खोलें?Bhaaratiya State Bank Me Ghar Baithe Khata Kaise Khole
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:25
नमस्कार आपका प्रश्न है कि भारतीय स्टेट बैंक में घर बैठे खाता कैसे खोलें दोस्त इसके लिए आपको इंटरनेट ब्राउज़र पर जाना होगा और भारतीय स्टेट बैंक का जो ऐप को डाउनलोड करना होगा स्टेट बैंक ऑफ इंडिया एसबीआई का डाउनलोड कीजिए और उसके बाद उसको जब आप ओपन करेंगे तो उसने आपको एक ऑप्शन मिलेगा ओपन अकाउंट उसमें तीन खाते हैं आपको मिलेंगे सेविंग अकाउंट करंट अकाउंट अल्टीमेट अकाउंट आपको जो भी खाता खोलना है आप उस पर क्लिक कीजिए उसके बाद आपके सामने बैंक को आराम आ जाएगा उसमें आप अपनी जरूरी जानकारियां जो भी उसने मांगी गई है वह बड़ी उसके साथ आप क्यों पहन के द्वारा कुछ दस्तावेज माने जाते हैं जैसे कि आधार कार्ड है आपका पेंट कार्ड है और आपका राशन कार्ड या कोई और अन्य दस्तावेज जिससे कि आपका पता और आपकी उम्र साबित होती हो वह सब आप से दस्तावेज मांगे जाएंगे यह सारे दस्तावेजों है आप पीडीएफ फाइल में लगा कर के और बैंक में सबमिट कर दीजिए आपको एक हफ्ते के अंदर-अंदर बैंक से पूरा रिप्लाई आ जाएगा और अगर कोई कमी रह रही होगी तो बैंक आपसे कह सकता है और अदर वाइज आपको बैंक के द्वारा एक खाता खोलने का मैसेज आ जाएगा और 15 दिन के अंदर अंदर आपके घर पर बैंक इंचार्ज बैंक चेकबुक और पास यह सब आ जाएगी जो भी बैंक के लिए दस्तावेजों आपको प्राप्त हो जाएंगे उम्मीद करता हूं जानकारी पसंद आएगी धन्यवाद
Namaskaar aapaka prashn hai ki bhaarateey stet baink mein ghar baithe khaata kaise kholen dost isake lie aapako intaranet brauzar par jaana hoga aur bhaarateey stet baink ka jo aip ko daunalod karana hoga stet baink oph indiya esabeeaee ka daunalod keejie aur usake baad usako jab aap opan karenge to usane aapako ek opshan milega opan akaunt usamen teen khaate hain aapako milenge seving akaunt karant akaunt alteemet akaunt aapako jo bhee khaata kholana hai aap us par klik keejie usake baad aapake saamane baink ko aaraam aa jaega usamen aap apanee jarooree jaanakaariyaan jo bhee usane maangee gaee hai vah badee usake saath aap kyon pahan ke dvaara kuchh dastaavej maane jaate hain jaise ki aadhaar kaard hai aapaka pent kaard hai aur aapaka raashan kaard ya koee aur any dastaavej jisase ki aapaka pata aur aapakee umr saabit hotee ho vah sab aap se dastaavej maange jaenge yah saare dastaavejon hai aap peedeeeph phail mein laga kar ke aur baink mein sabamit kar deejie aapako ek haphte ke andar-andar baink se poora riplaee aa jaega aur agar koee kamee rah rahee hogee to baink aapase kah sakata hai aur adar vaij aapako baink ke dvaara ek khaata kholane ka maisej aa jaega aur 15 din ke andar andar aapake ghar par baink inchaarj baink chekabuk aur paas yah sab aa jaegee jo bhee baink ke lie dastaavejon aapako praapt ho jaenge ummeed karata hoon jaanakaaree pasand aaegee dhanyavaad
URL copied to clipboard