#खेल कूद

shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:58
नमस्कार किया गया है कि भारतीय क्रिकेट टीम ने आज चौथे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को मैच हराया और इंग्लिश टीम किस टीम के खिलाफ भारतीय टीम का ऐलान किया गया है उसमें जो बदलाव किए गए हैं वाह क्या वह जायज है इसमें बदलाव तो हो नहीं थी क्योंकि जो खिलाड़ी चोट की वजह से इस सीरीज से बाहर थे या किसी कारणवश श्री में शामिल नहीं हो पाए जैसे कि विराट कोहली अपनी गृहस्थी के चलते उन्हें घर आना पड़ा तो उन खिलाड़ियों को जगह मिली थी क्योंकि वह टीम के पहले से ही परमानेंट मेंबर है और जहां तक टीम घोषित की गई है दो टेस्ट मैचों के लिए उसमें उन सभी खिलाड़ियों को जगह मिली है लगभग जिन्होंने अच्छा खेल दिखाया है बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी में और उन्होंने अच्छा खेल दिखाया तो उनको जगह भी मिली है और जहां तक कुछ खिलाड़ियों को जगह नहीं मिली है जैसे कि आप तो रविंद्र जडेजा यार कई ऐसे खिलाड़ी तो बात कर सकते हैं तो वह चोट की वजह से जन्मा बिहारी हो या जडेजा हो चोट की वजह से उनको जगह नहीं मिली है वह छोटी है तो वह खेल नहीं पा रहे हैं तो अगर वह चोट से उबरते है तो अगले दो टेस्ट के बाद दो फिर अगले दो टेस्ट के लिए टीम का ऐलान होगा उसमें आप खेलते हुए नजर आएंगे और मैं चाहूंगा कि जिस प्रकार से भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया में खेल प्रदर्शित किया है अपना अपनी चोटिल टीम से खेलते हुए आतंकी अनुभवहीन टीम के साथ खेलते हुए भी ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया के घर में घुसकर मारा है खासकर गांव है जैसी ग्राउंड पर जहां पर पिछले 30 सालों से ऑस्ट्रेलिया हारी नहीं है उस स्टेडियम में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को हराया है तो वह बड़ी जीत थी और वह शायद 2019 20 माफ कीजिएगा 1819 की जो सीरीज की ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उससे भी बड़ी जीत है और मैं चाहूंगा कि इंग्लैंड के खिलाफ भी इसी तरह का प्रदर्शन करें और इंग्लैंड को भी हरा इसमें मागते और भारत टेस्ट चैंपियनशिप में टॉप करें और टेस्ट चैंपियनशिप का पहला खिताब भारत के ही नाम हो यह उम्मीद करूंगा मैं का बाट किसके लिए किया फुल ज सीरीज के लिए उन सभी खिलाड़ियों को जिन्होंने अपना सब कुछ झोंक दिया मैच जिताने के लिए या पूरी सीरीज जीत आने के लिए उनको बहुत तहे दिल से धन्यवाद कहूंगा खासकर चाहे चेतेश्वर पुजारा हो शुभ मंगल हो रिया रिषभ पंत हो अजिंक्य रहाणे हो या हनुमा विहारी रविंद्र जडेजा रविचंद्रन अश्विन के कोई भी खिलाड़ी है जिन्होंने सब कुछ धोखा है मोहम्मद सिराज नए बल्लेबाज या वॉशिंगटन सुंदर सबको बहुत-बहुत धन्यवाद
Namaskaar kiya gaya hai ki bhaarateey kriket teem ne aaj chauthe test mein ostreliya ko maich haraaya aur inglish teem kis teem ke khilaaph bhaarateey teem ka ailaan kiya gaya hai usamen jo badalaav kie gae hain vaah kya vah jaayaj hai isamen badalaav to ho nahin thee kyonki jo khilaadee chot kee vajah se is seereej se baahar the ya kisee kaaranavash shree mein shaamil nahin ho pae jaise ki viraat kohalee apanee grhasthee ke chalate unhen ghar aana pada to un khilaadiyon ko jagah milee thee kyonki vah teem ke pahale se hee paramaanent membar hai aur jahaan tak teem ghoshit kee gaee hai do test maichon ke lie usamen un sabhee khilaadiyon ko jagah milee hai lagabhag jinhonne achchha khel dikhaaya hai bordar gaavaskar trophee mein aur unhonne achchha khel dikhaaya to unako jagah bhee milee hai aur jahaan tak kuchh khilaadiyon ko jagah nahin milee hai jaise ki aap to ravindr jadeja yaar kaee aise khilaadee to baat kar sakate hain to vah chot kee vajah se janma bihaaree ho ya jadeja ho chot kee vajah se unako jagah nahin milee hai vah chhotee hai to vah khel nahin pa rahe hain to agar vah chot se ubarate hai to agale do test ke baad do phir agale do test ke lie teem ka ailaan hoga usamen aap khelate hue najar aaenge aur main chaahoonga ki jis prakaar se bhaarateey teem ne ostreliya mein khel pradarshit kiya hai apana apanee chotil teem se khelate hue aatankee anubhavaheen teem ke saath khelate hue bhee ostreliya ko ostreliya ke ghar mein ghusakar maara hai khaasakar gaanv hai jaisee graund par jahaan par pichhale 30 saalon se ostreliya haaree nahin hai us stediyam mein bhaarat ne ostreliya ko haraaya hai to vah badee jeet thee aur vah shaayad 2019 20 maaph keejiega 1819 kee jo seereej kee ostreliya ke khilaaph usase bhee badee jeet hai aur main chaahoonga ki inglaind ke khilaaph bhee isee tarah ka pradarshan karen aur inglaind ko bhee hara isamen maagate aur bhaarat test chaimpiyanaship mein top karen aur test chaimpiyanaship ka pahala khitaab bhaarat ke hee naam ho yah ummeed karoonga main ka baat kisake lie kiya phul ja seereej ke lie un sabhee khilaadiyon ko jinhonne apana sab kuchh jhonk diya maich jitaane ke lie ya pooree seereej jeet aane ke lie unako bahut tahe dil se dhanyavaad kahoonga khaasakar chaahe cheteshvar pujaara ho shubh mangal ho riya rishabh pant ho ajinky rahaane ho ya hanuma vihaaree ravindr jadeja ravichandran ashvin ke koee bhee khilaadee hai jinhonne sab kuchh dhokha hai mohammad siraaj nae ballebaaj ya voshingatan sundar sabako bahut-bahut dhanyavaad

#खेल कूद

bolkar speaker
कैंसर के इलाज के लिए भारत में अच्छे चिकित्सालय कौन से हैं?Cancer Ke Ilaaj Ke Liye Bharat Mein Ache Chikitsalaya Kon Se Hai
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:30
का प्रश्न किया गया है कि कैंसर के इलाज के लिए भारत में अच्छे चिकित्सालय कौन से हैं देखिए बीमारी कहां चली जाती है लेकिन यह अब लाइलाज नहीं चाहिए अगर यह छोटे स्टेज में यानी कि प्रारंभिक स्तर पर ही अगर पकड़ में आ जाए तो उसका इलाज होता साहनी से संभव है तो अगर यही है प्रारंभिक स्तर में पकड़ा जाती है जैसे कि अगर उसका प्रथम व द्वितीय स्तर ही है तो उसका इलाज अब मेरे विचार से आपको उसके लिए किसी चिकित्सालय में जाने की बजाय आयुर्वेदिक तरीके से उसका इलाज करना चाहिए जिससे कि वह आप की जड़ से समाप्त होगी और अगर आप आयुर्वेद में उसका विश्वास नहीं कर पा रहे हैं और आप चिकित्सालय जाना चाहते हैं तो अगर किसी भी स्टेज में हो चिकित्सालय तो फिर आपका भाई होता ही है तो उसके लिए मैं अलग-अलग क्षेत्र में आपको चिकित्सालय बताऊंगा जिसमें जो भारत के सबसे बड़ा चिकित्सालय है या भारत का सबसे बड़ा हॉस्पिटल कहां जो एम्स है चाहे वह एम्स कहीं पर भी हो दिल्ली हो या जोधपुर हो गुड़गांव हो अलग-अलग जहां पर भी गेम है किसी भी हो वहां पर आपको इसका इलाज मिलेगा इसके अतिरिक्त बड़े शहर जैसे कि मुंबई अहमदाबाद और अगर आप छोटे इलाकों से आती है जैसे कि दिल्ली या उसके आसपास के क्षेत्र से तो उसके लिए मैं आपको एक छत्र बताऊंगा बीकानेर जहां पर काफी अच्छा कैंसर के इलाज उपलब्ध होता है और ईवीएम नाम का हॉस्पिटल है गवर्नमेंट हॉस्पिटल जो आपको उत्तर की सेवाएं प्रदान करता है इसके अतिरिक्त आयुर्वेदिक के जो बड़े हॉस्पिटल है वहां पर भी आपको इसका इलाज प्राप्त होगा और योग और आयुर्वेद है वह कैंसर के लिए सर्वोत्तम है बाकी चिकित्सा जो अंग्रेजी चिकित्सा है वह तो आपको करनी ही पड़ेगी लेकिन योग और आयुर्वेद जो है वह इसके लिए उन से बढ़कर है वह इसका अच्छा निदान करती है और जड़ से आपको इस समस्या का समाधान मिलेगा धन्यवाद
Ka prashn kiya gaya hai ki kainsar ke ilaaj ke lie bhaarat mein achchhe chikitsaalay kaun se hain dekhie beemaaree kahaan chalee jaatee hai lekin yah ab lailaaj nahin chaahie agar yah chhote stej mein yaanee ki praarambhik star par hee agar pakad mein aa jae to usaka ilaaj hota saahanee se sambhav hai to agar yahee hai praarambhik star mein pakada jaatee hai jaise ki agar usaka pratham va dviteey star hee hai to usaka ilaaj ab mere vichaar se aapako usake lie kisee chikitsaalay mein jaane kee bajaay aayurvedik tareeke se usaka ilaaj karana chaahie jisase ki vah aap kee jad se samaapt hogee aur agar aap aayurved mein usaka vishvaas nahin kar pa rahe hain aur aap chikitsaalay jaana chaahate hain to agar kisee bhee stej mein ho chikitsaalay to phir aapaka bhaee hota hee hai to usake lie main alag-alag kshetr mein aapako chikitsaalay bataoonga jisamen jo bhaarat ke sabase bada chikitsaalay hai ya bhaarat ka sabase bada hospital kahaan jo ems hai chaahe vah ems kaheen par bhee ho dillee ho ya jodhapur ho gudagaanv ho alag-alag jahaan par bhee gem hai kisee bhee ho vahaan par aapako isaka ilaaj milega isake atirikt bade shahar jaise ki mumbee ahamadaabaad aur agar aap chhote ilaakon se aatee hai jaise ki dillee ya usake aasapaas ke kshetr se to usake lie main aapako ek chhatr bataoonga beekaaner jahaan par kaaphee achchha kainsar ke ilaaj upalabdh hota hai aur eeveeem naam ka hospital hai gavarnament hospital jo aapako uttar kee sevaen pradaan karata hai isake atirikt aayurvedik ke jo bade hospital hai vahaan par bhee aapako isaka ilaaj praapt hoga aur yog aur aayurved hai vah kainsar ke lie sarvottam hai baakee chikitsa jo angrejee chikitsa hai vah to aapako karanee hee padegee lekin yog aur aayurved jo hai vah isake lie un se badhakar hai vah isaka achchha nidaan karatee hai aur jad se aapako is samasya ka samaadhaan milega dhanyavaad

#खेल कूद

bolkar speaker
क्या आत्मनिर्भरता बेरोजगारी का विकल्प बन सकती है?Kya Aatmanirbharta Berojgari Ka Vikalp Ban Sakti Hai
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:58
मैं श्री कृष्ण राजपुरोहित प्रश्न किया गया है कि आत्मनिर्भरता बेरोजगारी का विकल्प बन सकती है क्या लिखिए जब बेरोजगारी का प्रश्न आता है तो हम यह सोचते हैं कि जो व्यक्ति काम नहीं लगा हुआ है तो वह बेरोजगार होगा लेकिन बेरोजगारी के असली जो आंकड़े होते हैं वह इस आधार पर आते हैं कि व्यक्ति अगर किसी भी प्रकार का कार्य करता है जिससे उसे कोई न कोई आय प्राप्त होती है तो वह रोजगार में है और हम इसे आधार ने मानकर हम रोजगार को आधार मानते हैं सरकारी नौकरी से या किसी बड़े उद्योग धंधे में अगर किसी को नौकरी है जिसमें बहुत ही तनख्वाह प्राप्त कर रहा है तू उसे हम रोजगार मानते हैं बाकी अगर छोटी मोटी कोई भी नौकरी या काम है तो हम उसको रोजगार मानते नहीं है जिसकी वजह से बेरो गाड़ी की जो समस्या मान लीजिए या बेरोजगारी का जो हुआ है वह बढ़ा हुआ है और जो आत्मनिर्भरता का आपने जिक्र किया है उसके लिए मैं कहना चाहूंगा कि यह तो बहुत बड़ा मंत्र है बेरोजगारी ही नहीं किसी भी देश के लिए यह तो बहुत बड़ा मंत्र होगा आत्मनिर्भरता क्योंकि जब हम अपने आय के स्रोत किसी दूसरे पर आधारित नहीं रखते स्वयं के कार्यों पर आधारित कर लेते हैं तो हमें बेरोजगारी जैसी समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ता जिस प्रकार कोई गवर्नमेंट जॉब के लिए भाग रहा है तो कोई प्राइवेट सेक्टर में जॉब के लिए भाग रहा है अगर उससे हटकर हम स्वयं का कोई काम अगर किसी भी क्षेत्र में जैसे कि अगर आप एक अच्छा कंप्यूटर पर कार्य कर सकते हैं या आप लोग इकट्ठा कर सकते हैं अलग-अलग क्षेत्र है म्यूजिक अच्छा हो आपका डाकू खाना बनाना अच्छा आता है तो हर प्रकार के क्षेत्र है उस क्षेत्र से संबंधित अपना स्वयं का कार्यक्रम प्रारंभ कीजिए और लोगों को आपका कारी अगर पसंद आएगा तो आपको बेरोजगारी की समस्या का सामना भी करना पड़ेगा आपको स्वयं रोजगार प्राप्त हो जाएगा जिस प्रकार से राजस्थान या गुजरात के सत्र के लिए कहा जाता है कि देश में सबसे ज्यादा दुख बिजनेस है छोटे-मोटे काम धंधे से लेकर बड़ा काम धंधा कोई भी हो उसमें ज्यादातर हिस्सेदारी अगर किसी क्षेत्र की है वह गुजराती और राजस्थानी हो या मारवाड़ी कह सकता हूं मैं मारवाड़ी हूं की है इसी कारण है क्योंकि यहां पर बचपन से ही इसी प्रकार की शिक्षा दी जाती है कि रोजगार नहीं प्राप्त करना है धंधा करना है काम करना है वह बड़ी चीज है धन्यवाद
Main shree krshn raajapurohit prashn kiya gaya hai ki aatmanirbharata berojagaaree ka vikalp ban sakatee hai kya likhie jab berojagaaree ka prashn aata hai to ham yah sochate hain ki jo vyakti kaam nahin laga hua hai to vah berojagaar hoga lekin berojagaaree ke asalee jo aankade hote hain vah is aadhaar par aate hain ki vyakti agar kisee bhee prakaar ka kaary karata hai jisase use koee na koee aay praapt hotee hai to vah rojagaar mein hai aur ham ise aadhaar ne maanakar ham rojagaar ko aadhaar maanate hain sarakaaree naukaree se ya kisee bade udyog dhandhe mein agar kisee ko naukaree hai jisamen bahut hee tanakhvaah praapt kar raha hai too use ham rojagaar maanate hain baakee agar chhotee motee koee bhee naukaree ya kaam hai to ham usako rojagaar maanate nahin hai jisakee vajah se bero gaadee kee jo samasya maan leejie ya berojagaaree ka jo hua hai vah badha hua hai aur jo aatmanirbharata ka aapane jikr kiya hai usake lie main kahana chaahoonga ki yah to bahut bada mantr hai berojagaaree hee nahin kisee bhee desh ke lie yah to bahut bada mantr hoga aatmanirbharata kyonki jab ham apane aay ke srot kisee doosare par aadhaarit nahin rakhate svayan ke kaaryon par aadhaarit kar lete hain to hamen berojagaaree jaisee samasyaon ka saamana nahin karana padata jis prakaar koee gavarnament job ke lie bhaag raha hai to koee praivet sektar mein job ke lie bhaag raha hai agar usase hatakar ham svayan ka koee kaam agar kisee bhee kshetr mein jaise ki agar aap ek achchha kampyootar par kaary kar sakate hain ya aap log ikattha kar sakate hain alag-alag kshetr hai myoojik achchha ho aapaka daakoo khaana banaana achchha aata hai to har prakaar ke kshetr hai us kshetr se sambandhit apana svayan ka kaaryakram praarambh keejie aur logon ko aapaka kaaree agar pasand aaega to aapako berojagaaree kee samasya ka saamana bhee karana padega aapako svayan rojagaar praapt ho jaega jis prakaar se raajasthaan ya gujaraat ke satr ke lie kaha jaata hai ki desh mein sabase jyaada dukh bijanes hai chhote-mote kaam dhandhe se lekar bada kaam dhandha koee bhee ho usamen jyaadaatar hissedaaree agar kisee kshetr kee hai vah gujaraatee aur raajasthaanee ho ya maaravaadee kah sakata hoon main maaravaadee hoon kee hai isee kaaran hai kyonki yahaan par bachapan se hee isee prakaar kee shiksha dee jaatee hai ki rojagaar nahin praapt karana hai dhandha karana hai kaam karana hai vah badee cheej hai dhanyavaad

#खेल कूद

bolkar speaker
किस गैस को जीवनदायिनी गैस कहा जाता है?Kis Gas Ko Jeevandayini Gas Kaha Jata Hai
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:15
मैं श्रीकृष्णापुरम प्रश्न किया गया है कि किस गैस को जीवनदायिनी गैस कहा जाता है अर्थात हमारा जीवन की वजह से चलता है या हम जिस केस को ग्रहण करते हैं वह कौन सी गैस है जो ऑक्सीजन फोटो जिस का रासायनिक सूत्र है ऑक्सीजन गैस को जीवनदायिनी गैस कहा जाता है हम सांस के माध्यम से उसी को ग्रहण करते हैं जब हम सांस लेते हैं तो हमारे आसपास की जितनी भी वायु है वह शरीर के अंदर जाती है फेफड़े में जाने के बाद खून में मौजूद थे हमारे रक्त में मौजूद हीमोग्लोबिन जो है वह ऑक्सीजन से क्रिया करके जितनी मात्रा में ऑक्सीजन चाहिए वो रख लेता है बाकी बची हुई चाहे वह ऑक्सीजन हो या अन्य कोई भी चाहे वो कार्बन डाइऑक्साइड नाइट्रोजन हुए किसी भी प्रकार की गैस जो हमारी नासिका द्वार के माध्यम से फेफड़े में पहुंची है वह सभी उन्हें बाहर आ जाती है और सिर्फ ऑक्सीजन को ही अंदर लिया जाता है और ऑक्सीजन के प्रयोग से जो हमारे शरीर के अंदर गुलकोज मौजूद है वही दिन से क्रिया करके हमें एनर्जी प्रदान करता है और उसे प्रिया से शिवपुर जाने की कार्बन डाइऑक्साइड गैस पैदा होती है जिसे हम स्वास्थ ग्रहण करने के बाद जब छोड़ते हैं तो उसमें जो अन्य के स्वास्थ के साथ गई थी उनके साथ साथ CO2 जो उससे पूर्व में ली गई स्वास्थ्य में ऑक्सीजन ली गई थी उस से बनी हुई CO2 को हम बाहर है अर्थात जब हम ग्रहण करते हैं तब आई हुई है फेफड़ों में पहुंची सभी गैसों में से सिर्फ फोटो को ग्रहण किया जाता है और हम जब छोड़ते हैं तो उनके साथ बची हुई सारी गैसों के साथ-साथ मुख्यतः CO2 को छोड़ा जाता है तो ऑक्सीजन को हम ग्रहण करते हैं और CO2 को छोड़ते हैं ऑक्सीजन हमारी जीवनदायिनी केस है धन्यवाद
Main shreekrshnaapuram prashn kiya gaya hai ki kis gais ko jeevanadaayinee gais kaha jaata hai arthaat hamaara jeevan kee vajah se chalata hai ya ham jis kes ko grahan karate hain vah kaun see gais hai jo okseejan photo jis ka raasaayanik sootr hai okseejan gais ko jeevanadaayinee gais kaha jaata hai ham saans ke maadhyam se usee ko grahan karate hain jab ham saans lete hain to hamaare aasapaas kee jitanee bhee vaayu hai vah shareer ke andar jaatee hai phephade mein jaane ke baad khoon mein maujood the hamaare rakt mein maujood heemoglobin jo hai vah okseejan se kriya karake jitanee maatra mein okseejan chaahie vo rakh leta hai baakee bachee huee chaahe vah okseejan ho ya any koee bhee chaahe vo kaarban daioksaid naitrojan hue kisee bhee prakaar kee gais jo hamaaree naasika dvaar ke maadhyam se phephade mein pahunchee hai vah sabhee unhen baahar aa jaatee hai aur sirph okseejan ko hee andar liya jaata hai aur okseejan ke prayog se jo hamaare shareer ke andar gulakoj maujood hai vahee din se kriya karake hamen enarjee pradaan karata hai aur use priya se shivapur jaane kee kaarban daioksaid gais paida hotee hai jise ham svaasth grahan karane ke baad jab chhodate hain to usamen jo any ke svaasth ke saath gaee thee unake saath saath cho2 jo usase poorv mein lee gaee svaasthy mein okseejan lee gaee thee us se banee huee cho2 ko ham baahar hai arthaat jab ham grahan karate hain tab aaee huee hai phephadon mein pahunchee sabhee gaison mein se sirph photo ko grahan kiya jaata hai aur ham jab chhodate hain to unake saath bachee huee saaree gaison ke saath-saath mukhyatah cho2 ko chhoda jaata hai to okseejan ko ham grahan karate hain aur cho2 ko chhodate hain okseejan hamaaree jeevanadaayinee kes hai dhanyavaad

#टेक्नोलॉजी

shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
1:09
मैं श्री कृष्ण राजपूत प्रश्न किया गया है कि किस को उपकरण द्वारा यांत्रिक ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित किया जा सकता है विज्ञान विषय के अनुसार यांत्रिक ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित करने के लिए यानी हम एक आम बोलचाल की भाषा में कहें तो जनरेटर का उपयोग किया जाता है जनित्र के उपयोग से यांत्रिक ऊर्जा यानी की यांत्रिक ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित किया जा सकता है विद्युत ऊर्जा जो इलेक्ट्रॉनिक के माध्यम से प्रभावित होती है और यांत्रिक ऊर्जा जो जिस प्रकार हम साइकिल चलाते हैं या फिर पहले घूमता यह का घूमना यह सभी यांत्रिक ऊर्जा के उदाहरण है और विद्युत ऊर्जा से बदलना हो या पंखे का चलना वगैरह विद्युत ऊर्जा से होता है पंकज चलना है वह यांत्रिक ऊर्जा है और पंखे के चलने में जो भी ऊर्जा खर्च हो रही थी वह विद्युत ऊर्जा है धन्यवाद
Main shree krshn raajapoot prashn kiya gaya hai ki kis ko upakaran dvaara yaantrik oorja ko vidyut oorja mein parivartit kiya ja sakata hai vigyaan vishay ke anusaar yaantrik oorja ko vidyut oorja mein parivartit karane ke lie yaanee ham ek aam bolachaal kee bhaasha mein kahen to janaretar ka upayog kiya jaata hai janitr ke upayog se yaantrik oorja yaanee kee yaantrik oorja ko vidyut oorja mein parivartit kiya ja sakata hai vidyut oorja jo ilektronik ke maadhyam se prabhaavit hotee hai aur yaantrik oorja jo jis prakaar ham saikil chalaate hain ya phir pahale ghoomata yah ka ghoomana yah sabhee yaantrik oorja ke udaaharan hai aur vidyut oorja se badalana ho ya pankhe ka chalana vagairah vidyut oorja se hota hai pankaj chalana hai vah yaantrik oorja hai aur pankhe ke chalane mein jo bhee oorja kharch ho rahee thee vah vidyut oorja hai dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
भारत में 16 जनवरी से वैक्सीन कहां, किसको, कितनी लगेगी?Bharat Mein 16 January Se Vaccine Kaha Kisko Kitni Lagegi
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:32
जय श्री कृष्ण राधे कृष्ण किया गया है कि 16 जनवरी से व्यक्ति भारत में किस को कहा कि आज 16 जनवरी से वैक्सीनेशन प्रारंभ हो गया है देश में वैक्सीनेशन प्रारंभ हुआ और बड़े जोरों शोरों से शुरू हुआ है और आज एक दिन में ही लगभग एक लाख 65 हजार से अधिक वैक्सीन लगाई जा चुकी है और वैक्सीन किस को और कितनी लगेगी कहां लगेगी तो व्यक्ति मुख्य सबसे पहले उनको लगेगी जो फ्रेंड से कोरोना से लड़ने के लिए हमारे काम आ रहे हैं जो स्वास्थ्य कर्मी है जो सफाई करनी है जो पुलिसकर्मी है या वह सभी व्यक्ति जो मुख्यतः फ्रंटलाइट सिविल लाइन में कार्य करते हैं या अधिकतम लोगों के संपर्क में आते हैं उनको सबसे पहले व्यक्ति लगाई जाएगी उसके पश्चात इन के बाद जो सेकंड वैक्सीन का खेल चलेगा वह उन लोगों को चलेगा जो उम्र दराज है और उनको वैक्सीन लगाई जाएगी ताकि उनको सेट किया जा सके क्योंकि जो युवा होते हैं उनमें किसी भी बीमारी से लड़ने की क्षमता अधिक होती है बावजूद बूढ़े व्यक्ति के और छोटे बच्चों की यह वैक्सीन लग नहीं सकती क्योंकि वैक्सीन का ट्रायल 18 वर्ष से ऊपर की उम्र के युवाओं और बुजुर्गों या उन पर ही हुआ है बच्चों पर ट्रायल नहीं हुआ है तो बच्चों को यह व्यक्ति नहीं लगेगी और 18 वर्ष से ऊपर जो भी व्यक्ति फ्रंट लाइन में है चाहे वह स्वास्थ्य कर्मी हो पुलिसकर्मी हो या शिक्षक हो या फ्रंट लाइन में कार्य करता है उन सब को यह वैक्सीन लगेगी दो वैक्सीन है वैक्सीन और ओबीसी को भी सेल की जो एक वैक्सीन है 2 फेस में लगेगी 28 दिनों के अंदर से और एक अन्य व्यक्ति है वह एक ही रोज में लगेगी तो आज से वैक्सीनेशन प्रारंभ हो गया है और हम शुभकामना देते हैं देश की सरकार और देश के वैज्ञानिकों को और उम्मीद करते हैं कि जल्द से जल्द देश से कोरोना का सफाया होगा और हमारी देश की इकोनॉमी और हमारा देश का कार्य आगे बढ़ेगा और हम जल्द ही विश्व शक्ति के रूप में उतरेंगे धन्यवाद
Jay shree krshn raadhe krshn kiya gaya hai ki 16 janavaree se vyakti bhaarat mein kis ko kaha ki aaj 16 janavaree se vaikseeneshan praarambh ho gaya hai desh mein vaikseeneshan praarambh hua aur bade joron shoron se shuroo hua hai aur aaj ek din mein hee lagabhag ek laakh 65 hajaar se adhik vaikseen lagaee ja chukee hai aur vaikseen kis ko aur kitanee lagegee kahaan lagegee to vyakti mukhy sabase pahale unako lagegee jo phrend se korona se ladane ke lie hamaare kaam aa rahe hain jo svaasthy karmee hai jo saphaee karanee hai jo pulisakarmee hai ya vah sabhee vyakti jo mukhyatah phrantalait sivil lain mein kaary karate hain ya adhikatam logon ke sampark mein aate hain unako sabase pahale vyakti lagaee jaegee usake pashchaat in ke baad jo sekand vaikseen ka khel chalega vah un logon ko chalega jo umr daraaj hai aur unako vaikseen lagaee jaegee taaki unako set kiya ja sake kyonki jo yuva hote hain unamen kisee bhee beemaaree se ladane kee kshamata adhik hotee hai baavajood boodhe vyakti ke aur chhote bachchon kee yah vaikseen lag nahin sakatee kyonki vaikseen ka traayal 18 varsh se oopar kee umr ke yuvaon aur bujurgon ya un par hee hua hai bachchon par traayal nahin hua hai to bachchon ko yah vyakti nahin lagegee aur 18 varsh se oopar jo bhee vyakti phrant lain mein hai chaahe vah svaasthy karmee ho pulisakarmee ho ya shikshak ho ya phrant lain mein kaary karata hai un sab ko yah vaikseen lagegee do vaikseen hai vaikseen aur obeesee ko bhee sel kee jo ek vaikseen hai 2 phes mein lagegee 28 dinon ke andar se aur ek any vyakti hai vah ek hee roj mein lagegee to aaj se vaikseeneshan praarambh ho gaya hai aur ham shubhakaamana dete hain desh kee sarakaar aur desh ke vaigyaanikon ko aur ummeed karate hain ki jald se jald desh se korona ka saphaaya hoga aur hamaaree desh kee ikonomee aur hamaara desh ka kaary aage badhega aur ham jald hee vishv shakti ke roop mein utarenge dhanyavaad

#भारत की राजनीति

shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:58
मैथिली कृष्ण राजपूत है कि अगर आप मोदी सरकार को पसंद नहीं करते तो आप देश में कौन सी सरकार जाएंगी या कौन सी सरकार देश को चलानी चाहिए में एक विरोधाभास है कि जो प्रश्न करना चाहता है उन्हें प्रति विचार है कि वह ती है मोदी सरकार को या अभी जो इंडिया की गवर्नमेंट है उनको पसंद नहीं करें लेकिन उससे उसकी तरह हमने जाते हुए सोते कि मोदी सरकार पसंद है या नहीं फिलहाल तो वह 2024 तक सरकार में रहने वाले हैं तो हम केवल आज के कार्य आज से 2 वर्ष पहले के कार्य को देखकर विचार नहीं कर सकते आगे जो आने वाले 3000 वर्ष है 2024 तक वह रहने वाले हैं तो तब तक वह क्या कार्य करते हैं वह महत्व और जहां तक पसंद और नापसंद का सवाल है तो मुझे लगता है कि पिछले कुछ वर्षों में मुख्यतः 21वी सदी में भारत में अभी भी एनडीए गवर्नमेंट से पहले यूपीए की गवर्नमेंट रही है आदरणीय मनमोहन सिंह जी की उसमें अगर आपको बहुत ज्यादा पसंद आई है तो आप ने 10 वर्षों तक उस सरकार को चलाया आपको अगर अच्छे परिणाम मिले होते तो आप नहीं सुनते श्रीमान नरेंद्र मोदी जी को और जहां तक बात है मोदी सरकार की पसंद या नापसंद की की तो क्योंकि देश का अभी माहौल इतना खराब है कि सभी को ऐसा लगता है कि क्या सरकार गलत है या सरकार गलत काम कर रही है लेकिन ऐसा कुछ नहीं है हम इस तिथियों को समझना पड़ेगा स्थितियां कैसी बनी हुई है ऐसी अंखियों में अक्सर आदमी अगर व्यक्ति सही है फिर भी वह गलत साबित हो जाता है हमें क्योंकि अभी देश की सरकार 2024 तक रहने वाली है तो जैसी भी है अच्छी बुरी जो भी है हमें उनके साथ रहना पड़ेगा और जहां तक बात है पसंद नहीं है होने का तो वह बहुमत लेकर आए हैं दो 303 सीटों के साथ यानी कि देश में 303 सीटों से वोट देने वाले लोगों ने उनको पसंद किया है आपके ना पसंद होने का सवाल पैदा नहीं होता बहुसंख्यक जो है बहुसंख्यक आबादी यानी कि बहुसंख्यक वोटर जिन्होंने वोट किया है मोदी सरकार को उन्हें यह सरकार पसंद आई है तभी तो उन्हें पसंद उन्होंने वोट दिया है और जहां तक आप का सवाल है कि और कौन सी सरकार चलाएगी तो इससे पूर्व आमने सरकारी देखी है जिन्होंने क्या
Maithilee krshn raajapoot hai ki agar aap modee sarakaar ko pasand nahin karate to aap desh mein kaun see sarakaar jaengee ya kaun see sarakaar desh ko chalaanee chaahie mein ek virodhaabhaas hai ki jo prashn karana chaahata hai unhen prati vichaar hai ki vah tee hai modee sarakaar ko ya abhee jo indiya kee gavarnament hai unako pasand nahin karen lekin usase usakee tarah hamane jaate hue sote ki modee sarakaar pasand hai ya nahin philahaal to vah 2024 tak sarakaar mein rahane vaale hain to ham keval aaj ke kaary aaj se 2 varsh pahale ke kaary ko dekhakar vichaar nahin kar sakate aage jo aane vaale 3000 varsh hai 2024 tak vah rahane vaale hain to tab tak vah kya kaary karate hain vah mahatv aur jahaan tak pasand aur naapasand ka savaal hai to mujhe lagata hai ki pichhale kuchh varshon mein mukhyatah 21vee sadee mein bhaarat mein abhee bhee enadeee gavarnament se pahale yoopeee kee gavarnament rahee hai aadaraneey manamohan sinh jee kee usamen agar aapako bahut jyaada pasand aaee hai to aap ne 10 varshon tak us sarakaar ko chalaaya aapako agar achchhe parinaam mile hote to aap nahin sunate shreemaan narendr modee jee ko aur jahaan tak baat hai modee sarakaar kee pasand ya naapasand kee kee to kyonki desh ka abhee maahaul itana kharaab hai ki sabhee ko aisa lagata hai ki kya sarakaar galat hai ya sarakaar galat kaam kar rahee hai lekin aisa kuchh nahin hai ham is tithiyon ko samajhana padega sthitiyaan kaisee banee huee hai aisee ankhiyon mein aksar aadamee agar vyakti sahee hai phir bhee vah galat saabit ho jaata hai hamen kyonki abhee desh kee sarakaar 2024 tak rahane vaalee hai to jaisee bhee hai achchhee buree jo bhee hai hamen unake saath rahana padega aur jahaan tak baat hai pasand nahin hai hone ka to vah bahumat lekar aae hain do 303 seeton ke saath yaanee ki desh mein 303 seeton se vot dene vaale logon ne unako pasand kiya hai aapake na pasand hone ka savaal paida nahin hota bahusankhyak jo hai bahusankhyak aabaadee yaanee ki bahusankhyak votar jinhonne vot kiya hai modee sarakaar ko unhen yah sarakaar pasand aaee hai tabhee to unhen pasand unhonne vot diya hai aur jahaan tak aap ka savaal hai ki aur kaun see sarakaar chalaegee to isase poorv aamane sarakaaree dekhee hai jinhonne kya

#कुछ अलग

bolkar speaker
आपके लिए सफलता क्या है ?Aapake Lie Saphalata Kya Hai
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:09
नमस्कार मैं श्री कृष्ण राजपुरोहित प्रश्न है कि आपके लिए सफलता क्या है किसी भी व्यक्ति के लिए सफलता उसके कार्यों के ऊपर निर्भर करती है हम किस प्रकार का कार्य करते हैं हम किस क्षेत्र से है वह भी इसके लिए महत्वपूर्ण है तो सफलता हम किसी भी क्षेत्र में है उस क्षेत्र में हम आज हमने जो लक्ष्य चुना है उदाहरण के रूप में हम अध्ययन के क्षेत्र में है हम एक स्टूडेंट है पढ़ रहे हैं और हमारे लक्ष्य चुना है कि हम टीचर बनना चाहते हैं तो जिस दिन हम अध्यापक टीचर बन जाते हैं वह हमारी सफलता की पराकाष्ठा हो सकती है और इसी प्रकार से हम जिस भी क्षेत्र में कोई एक विशेष क्षेत्र में किसी भी चित्र में मान लीजिए कोई खेल के क्षेत्र में कोई विज्ञान के क्षेत्र में अलग-अलग क्षेत्र में अपने क्षेत्र में जो वह बेहतर करता है जिससे उसके स्वयं का उसके परिवार का एवं उसके आसपास के समाज का और महत्वपूर्ण है देश का नाम रोशन होता है तो वह सफलता की जाती है और सफलता में एक और अच्छा शब्द में जोड़ना चाहूंगा हमें जब आत्म संतुष्टि प्राप्त होती है जिस कार्य को करने से जिस चीज से आत्म संतुष्टि प्राप्त होती है वह सफलता के सबसे महत्वपूर्ण चीज है जब कोई भी कार्य हो वह करने से हम ऐसा वह कार्य करते हैं हम लगातार कर रहे हैं और हमें लगता है कि यह कार्य हमारे लिए सबसे महत्वपूर्ण है सबसे बढ़िया है और उससे हमें हमें वह सब मिल रहा है जिसकी हमें एक आम जीवन में आवश्यकता है तो वह हमारे लिए सफलता होती है धन्यवाद
Namaskaar main shree krshn raajapurohit prashn hai ki aapake lie saphalata kya hai kisee bhee vyakti ke lie saphalata usake kaaryon ke oopar nirbhar karatee hai ham kis prakaar ka kaary karate hain ham kis kshetr se hai vah bhee isake lie mahatvapoorn hai to saphalata ham kisee bhee kshetr mein hai us kshetr mein ham aaj hamane jo lakshy chuna hai udaaharan ke roop mein ham adhyayan ke kshetr mein hai ham ek stoodent hai padh rahe hain aur hamaare lakshy chuna hai ki ham teechar banana chaahate hain to jis din ham adhyaapak teechar ban jaate hain vah hamaaree saphalata kee paraakaashtha ho sakatee hai aur isee prakaar se ham jis bhee kshetr mein koee ek vishesh kshetr mein kisee bhee chitr mein maan leejie koee khel ke kshetr mein koee vigyaan ke kshetr mein alag-alag kshetr mein apane kshetr mein jo vah behatar karata hai jisase usake svayan ka usake parivaar ka evan usake aasapaas ke samaaj ka aur mahatvapoorn hai desh ka naam roshan hota hai to vah saphalata kee jaatee hai aur saphalata mein ek aur achchha shabd mein jodana chaahoonga hamen jab aatm santushti praapt hotee hai jis kaary ko karane se jis cheej se aatm santushti praapt hotee hai vah saphalata ke sabase mahatvapoorn cheej hai jab koee bhee kaary ho vah karane se ham aisa vah kaary karate hain ham lagaataar kar rahe hain aur hamen lagata hai ki yah kaary hamaare lie sabase mahatvapoorn hai sabase badhiya hai aur usase hamen hamen vah sab mil raha hai jisakee hamen ek aam jeevan mein aavashyakata hai to vah hamaare lie saphalata hotee hai dhanyavaad

#खेल कूद

shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
0:28

#खेल कूद

bolkar speaker
सचिन पायलट ने राजस्थान के सियासी संकट के बाद एक भी प्रेस कॉन्फ्रेंस क्यों नहीं की?sachin paayalat ne raajasthaan ke siyaasee sankat ke baad ek bhee pres konphrens kyon nahin kee
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:28

#खेल कूद

bolkar speaker
क्या गिलोय खाने से कोरोना नहीं होता है?Kya Giloy Khane Se Corona Nahi Hota Hai
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
25197141:29

#खेल कूद

bolkar speaker
हम मेडिसन फ्री स्वस्थ जीवन कैसे जी सकते हैं?ham medisan phree svasth jeevan kaise jee sakate hain
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:28

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
अगर अमित शाह को भी कोरोना हो गया, तो कौन सुरक्षित है?Agar Amit Shah Ko Bhe Corona Ho Gaya To Kaun Surakshit Hai
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
1:30

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या आज भाजपा पर नरेंद्र मोदी का एकाधिकार है?Kya Aaj Bhajpa Par Narendra Modi Ka Ekaadhikaar Hai
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:28

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
ओवैसी ने क्यों कहा कि नरेंद्र मोदी को भूमि पूजन में नहीं जाना चाहिए?ovaisee ne kyon kaha ki narendr modee ko bhoomi poojan mein nahin jaana chaahie
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:28

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
क्या हिंदू धर्म की तरह अन्य धर्मों में भी जातिवाद होता है?Kya Hindoo Dharm Kee Tarah Any Dharmon Mein Bhee Jaativaad Hota Hai
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:29
प्रश्न किया गया है कि क्या हिंदू धर्म की तरह अन्य धर्मों में भी जातिवाद होता है देखिए जिस तरह का आप का प्रश्न है उसमें एक विवाद भी उत्पन्न होता है कि जातिवाद हिंदू धर्म में हैं हिंदू धर्म में किसी भी प्रकार का जातिवाद का जिक्र नहीं किया गया है यह हमारे जो कोई समुदाय विशेष के लोगों या की शिक्षित वर्ग और अशिक्षित वर्ग की वजह से यह समस्या उत्पन्न हुई है क्योंकि हिंदू धर्म में या सनातन संस्कृति में जातिवाद का जिक्र नहीं है सनातन संस्कृति में चार वर्ण बताए गए हैं क्षत्रिय ब्राह्मण शूद्र वैश्य जो कि कर्मों के आधार पर बताए गए हैं जाति के आधार पर नहीं एक घर में चार अलग-अलग जातियां हो सकती है हिंदू धर्म में सफल स्टोर वर्णित है यह कहना कि हिंदू धर्म में जातिवाद है बिल्कुल भी जातिवाद की है कार्य के आधार पर लोगों का बंटवारा जरूर किया गया है जिसके अनुसार जो क्षत्रिय है यानी कि जो रक्षक का कार्य करता है वह स्त्री है जो शिक्षा देने और इन संबंधित कार्य करता वो ब्राह्मण है उसके अतिरिक्त जो व्यवसाय वगैरह कार्य करता है वह वैसी है और जो बनाई हो या जितने भी अन्य कार्य है वह सभी करने वाले व्यक्ति सूत्र में आते हैं तो शुद्ध इसकी कोई जगह गलत परिभाषा दी गई है कि जो नीचे काम करते हैं जो गोबर उठाते हैं उन्हें शूद्र बताया गया यह बिल्कुल भी नहीं है जो ब्राह्मण है वह शिक्षा का कार्य जो शिक्षा का कार्य करने वाले को ब्राह्मण बताया क्या ब्राह्मण को शिक्षा का कार्य करने वाला नहीं बताया गया है उसी तरह अन्य अलग-अलग हम जो भी कार्य करते थे उस कार्य के अनुसार उनकी जाति की की जाति के अनुसार उनका कार्य नहीं किया गया अतः हिंदू धर्म में कोई प्रकार का किसी विभाग में भी जातिवाद नहीं था जहां तक दूसरे धर्मों की पता है सवाल है दूसरे धर्म मुंह में वह उतने पुराने नहीं है जितना कि हिंदू धर्म है
Prashn kiya gaya hai ki kya hindoo dharm kee tarah any dharmon mein bhee jaativaad hota hai dekhie jis tarah ka aap ka prashn hai usamen ek vivaad bhee utpann hota hai ki jaativaad hindoo dharm mein hain hindoo dharm mein kisee bhee prakaar ka jaativaad ka jikr nahin kiya gaya hai yah hamaare jo koee samudaay vishesh ke logon ya kee shikshit varg aur ashikshit varg kee vajah se yah samasya utpann huee hai kyonki hindoo dharm mein ya sanaatan sanskrti mein jaativaad ka jikr nahin hai sanaatan sanskrti mein chaar varn batae gae hain kshatriy braahman shoodr vaishy jo ki karmon ke aadhaar par batae gae hain jaati ke aadhaar par nahin ek ghar mein chaar alag-alag jaatiyaan ho sakatee hai hindoo dharm mein saphal stor varnit hai yah kahana ki hindoo dharm mein jaativaad hai bilkul bhee jaativaad kee hai kaary ke aadhaar par logon ka bantavaara jaroor kiya gaya hai jisake anusaar jo kshatriy hai yaanee ki jo rakshak ka kaary karata hai vah stree hai jo shiksha dene aur in sambandhit kaary karata vo braahman hai usake atirikt jo vyavasaay vagairah kaary karata hai vah vaisee hai aur jo banaee ho ya jitane bhee any kaary hai vah sabhee karane vaale vyakti sootr mein aate hain to shuddh isakee koee jagah galat paribhaasha dee gaee hai ki jo neeche kaam karate hain jo gobar uthaate hain unhen shoodr bataaya gaya yah bilkul bhee nahin hai jo braahman hai vah shiksha ka kaary jo shiksha ka kaary karane vaale ko braahman bataaya kya braahman ko shiksha ka kaary karane vaala nahin bataaya gaya hai usee tarah any alag-alag ham jo bhee kaary karate the us kaary ke anusaar unakee jaati kee kee jaati ke anusaar unaka kaary nahin kiya gaya atah hindoo dharm mein koee prakaar ka kisee vibhaag mein bhee jaativaad nahin tha jahaan tak doosare dharmon kee pata hai savaal hai doosare dharm munh mein vah utane puraane nahin hai jitana ki hindoo dharm hai

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
क्या भविष्य में बराक ओबामा दोबारा अमेरिका के राष्ट्रपति बन सकते हैं?Kya Bhavishy Mein Baraak Obaama Dobaara Amerika Ke Raashtrapati Ban Sakate Hain
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
1:57

#कुछ अलग

bolkar speaker
हम आत्म निर्भर कैसे बन सकते हैं?Ham Aatm Nirbhar Kese Ban Sakate Hain
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:27

#कुछ अलग

bolkar speaker
जीवन में सरकारी नौकरी आवश्यक है या ज्यादा पैसा?Jeevan Mein Sarakaaree Naukaree Aavashyak Hai Ya Jyaada Paisa
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:28

#कुछ अलग

bolkar speaker
आपका भोजन आमतौर पर कैसा होता है और क्यों?Aapaka Bhojan Aamataur Par Kaisa Hota Hai Aur Kyon
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:15

#कुछ अलग

bolkar speaker
इस युद्ध में भारत की कभी मात न होती 15 को खुलता देश अगर जामात न होती✍?Is Yuddh Mein Bhaarat Kee Kabhee Maat Na Hotee 15 Ko Khulata Desh Agar Jaamaat Na Hotee
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
1:58

#कुछ अलग

bolkar speaker
कैसे पता चलेगा बुखार खांसी कोरोना है?Kaise Pata Chalega Bukhaar Khaansee Korona Hai
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
1:22

#कुछ अलग

bolkar speaker
भीलवाड़ा में ऐसा कौन सा तरीका अपनाया गया, जिससे वह जगह करुणा मुक्त हो गई?Bheelavaada Mein Aisa Kaun Sa Tareeka Apanaaya Gaya Jisase Vah Jagah Karuna Mukt Ho Gaee
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
1:23

#कुछ अलग

bolkar speaker
क्या लॉक डाउन 1 मई तक बढ़ गया है?Kya Lok Daun 1 Maee Tak Badh Gaya Hai
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
1:04

#कुछ अलग

bolkar speaker
किस उम्र पर बीमारी सबसे ज्यादा असर डालती है?Kis Umr Par Beemaaree Sabase Jyaada Asar Daalatee Hai
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:07

#कुछ अलग

bolkar speaker
कोरोना का आयुर्वेदिक इलाज संभव है?Korona Ka Aayurvedik Ilaaj Sambhav Hai
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
1:47

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
लोक डॉन का भारत की आर्थिक स्थिति पर क्या प्रभाव पड़ेगा?Lok Don Ka Bhaarat Kee Aarthik Sthiti Par Kya Prabhaav Padega
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:26
प्रश्न पूछा गया कि लोग डाउन का भारत की आर्थिक स्थिति पर क्या प्रभाव पड़ेगा लिखिए किसी भी देश से कोई भी बड़ी अर्थव्यवस्था हो उसकी प्रजा ब्लॉक डाउन लगा दिया जाता है जब व्यापार वगैरा सब कुछ ठप हो जाता है तो अर्थव्यवस्था में बहुत भारी मंदी आती है उसका बड़ा असर झेलना पड़ता है देश कई वर्षों पीछे चले जाता है वह बात सत्य है लेकिन जो देश के कोई भी देश से कार्य कर रहा है अपनी अर्थव्यवस्था बना रहा है वह किसके लिए बनाता है अपनी जनता के लिए अपने जो निवासी है जो लोग उस में निवास कर रहे हैं उनके लिए अगर वह ही नहीं रहेंगे तो फिर अर्थ अष्टका का क्या करेंगे तो महत्वपूर्ण यह है कि लोगों की जान बची तो लोग डाउन आवश्यक है जरूरी है लगाना तो अगर लोग दाम लगेगा लोगों की जान बचेगी महामारी पर कंट्रोल पाया जाएगा लोग बच जाएंगे तो की अर्थव्यवस्था को फिर से सुधारा जा सकता है और जो बड़ी अर्थ आर्थिक नीति कार है जो बड़ी अर्थव्यवस्था से उनका यह भी कहना है कि इससे भारत और की जो नई बढ़ती अर्थव्यवस्था में हैं उन पर इसका ज्यादा कोई प्रभाव नहीं पड़ने वाला है क्योंकि भारतीय अर्थव्यवस्था क्योंकि इतनी बड़ी अर्थव्यवस्था है नहीं हमारी जनसंख्या के मुकाबले जिस कारण हम उतना ज्यादा प्रभाव हम पर नहीं पड़ेगा इसका और इसके दो तीन और प्रभाव भी है क्योंकि हम एक गर्म क्षेत्र में रहते हैं जिस कारण जो यह महामारी है उसका असर हम पर कम होगा और दूसरा एक यह भी बताया जा रहा है कि क्योंकि भारत में बच्चे के जन्म से 6 वर्ष तक जो टी वि का टीका लगाया जाता है उसे टीके के कारण बच्चे में प्रतिरोधक क्षमता अधिक होती है जिस कारण भी यह बीमारी भारत में कम फैल रही है तो इसका इलाज भी संभव हो पा रहा है जिस कारण यह माना जा रहा है कि भारत और वे देश जो स्टीकर का उपयोग करते हैं वहां पर ही महामाई कम सैलरी है और उनकी अर्थव्यवस्था में भी उतना फर्क नहीं पड़ेगा जितना अन्य देशों की अर्थव्यवस्था पर फर्क पड़ेगा धन्यवाद
Prashn poochha gaya ki log daun ka bhaarat kee aarthik sthiti par kya prabhaav padega likhie kisee bhee desh se koee bhee badee arthavyavastha ho usakee praja blok daun laga diya jaata hai jab vyaapaar vagaira sab kuchh thap ho jaata hai to arthavyavastha mein bahut bhaaree mandee aatee hai usaka bada asar jhelana padata hai desh kaee varshon peechhe chale jaata hai vah baat saty hai lekin jo desh ke koee bhee desh se kaary kar raha hai apanee arthavyavastha bana raha hai vah kisake lie banaata hai apanee janata ke lie apane jo nivaasee hai jo log us mein nivaas kar rahe hain unake lie agar vah hee nahin rahenge to phir arth ashtaka ka kya karenge to mahatvapoorn yah hai ki logon kee jaan bachee to log daun aavashyak hai jarooree hai lagaana to agar log daam lagega logon kee jaan bachegee mahaamaaree par kantrol paaya jaega log bach jaenge to kee arthavyavastha ko phir se sudhaara ja sakata hai aur jo badee arth aarthik neeti kaar hai jo badee arthavyavastha se unaka yah bhee kahana hai ki isase bhaarat aur kee jo naee badhatee arthavyavastha mein hain un par isaka jyaada koee prabhaav nahin padane vaala hai kyonki bhaarateey arthavyavastha kyonki itanee badee arthavyavastha hai nahin hamaaree janasankhya ke mukaabale jis kaaran ham utana jyaada prabhaav ham par nahin padega isaka aur isake do teen aur prabhaav bhee hai kyonki ham ek garm kshetr mein rahate hain jis kaaran jo yah mahaamaaree hai usaka asar ham par kam hoga aur doosara ek yah bhee bataaya ja raha hai ki kyonki bhaarat mein bachche ke janm se 6 varsh tak jo tee vi ka teeka lagaaya jaata hai use teeke ke kaaran bachche mein pratirodhak kshamata adhik hotee hai jis kaaran bhee yah beemaaree bhaarat mein kam phail rahee hai to isaka ilaaj bhee sambhav ho pa raha hai jis kaaran yah maana ja raha hai ki bhaarat aur ve desh jo steekar ka upayog karate hain vahaan par hee mahaamaee kam sailaree hai aur unakee arthavyavastha mein bhee utana phark nahin padega jitana any deshon kee arthavyavastha par phark padega dhanyavaad

#जीवन शैली

bolkar speaker
ज्योतिष सिर्फ विश्वास है या विज्ञान भी है?Jyotish Sirph Vishvaas Hai Ya Vigyaan Bhee Hai
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:09
प्रश्न पूछा है कि ज्योतिष सिर्फ विश्वास है या विज्ञान है इसके बारे में अधिक जानकारी तो मैं नहीं रखता हूं पर जहां तक मैं जानता हूं ज्योतिष में काफी हद तक विज्ञान छुपा है क्योंकि वह देख कर बताना वह अलग होती है वह लेकिन वास्तविकता में जो ज्योतिष है जो ज्योतिष के अच्छे ज्ञाता है जो इसको पूर्ण रूप से जानते हैं इसकी क्या है उनके पास जिन्होंने इसको अध्ययन किया है वह ज्योतिष की गणना कहते हैं वह कुछ गणित के सूत्रों के द्वारा और तारों की जो गति है जो लोग हमारे आठ नौ ग्रह हैं उनकी गति चंद्रमा की गति और जो हमें प्रभावित करने वाले जितने भी पिन है उनकी गति पर यह ज्योतिष निर्भर करती है और ज्योतिष जो है वह काफी हद तक वैज्ञानिक भी है क्योंकि गणित की प्रणाली का उपयोग किया गया है इसकी संभावना ही होगा लेकिन संभावना व्यक्त की जाती है और लगभग या काफी हद तक उसकी संभावनाएं सटीक भी बैठती है तो ज्योतिष से काफी हद तक वैज्ञानिक है और रोड भी है जो ज्योति शास्त्री जो विद्वान है इसके वह इसके बारे में अच्छी तरह से बता सकते हैं हां जो यह कहते हैं कि ज्योतिष पाखंड है या तो उन्हें अधिक जानकारी नहीं है या वह उन लोगों के संपर्क में आई है दिनेश ज्योतिष की जानकारी नहीं थी लेकिन वह ज्योतिष के नाम पर उन्होंने उसे ठंडा होगा जिस वजह से लोग यह कहते हैं लेकिन वास्तविकता में हर कोई ज्योतिष का ज्ञान ही नहीं होता है जो अच्छे ज्योतिष शास्त्री है वह कभी भी पाखंड नहीं दिखाते हैं वह उनकी बताने का तरीका सब कुछ अलग होता है सबसे अलग होता है और उनकी बातों में भी दम होता है उनके सत्य जाते हैं कथन धन्यवाद
Prashn poochha hai ki jyotish sirph vishvaas hai ya vigyaan hai isake baare mein adhik jaanakaaree to main nahin rakhata hoon par jahaan tak main jaanata hoon jyotish mein kaaphee had tak vigyaan chhupa hai kyonki vah dekh kar bataana vah alag hotee hai vah lekin vaastavikata mein jo jyotish hai jo jyotish ke achchhe gyaata hai jo isako poorn roop se jaanate hain isakee kya hai unake paas jinhonne isako adhyayan kiya hai vah jyotish kee ganana kahate hain vah kuchh ganit ke sootron ke dvaara aur taaron kee jo gati hai jo log hamaare aath nau grah hain unakee gati chandrama kee gati aur jo hamen prabhaavit karane vaale jitane bhee pin hai unakee gati par yah jyotish nirbhar karatee hai aur jyotish jo hai vah kaaphee had tak vaigyaanik bhee hai kyonki ganit kee pranaalee ka upayog kiya gaya hai isakee sambhaavana hee hoga lekin sambhaavana vyakt kee jaatee hai aur lagabhag ya kaaphee had tak usakee sambhaavanaen sateek bhee baithatee hai to jyotish se kaaphee had tak vaigyaanik hai aur rod bhee hai jo jyoti shaastree jo vidvaan hai isake vah isake baare mein achchhee tarah se bata sakate hain haan jo yah kahate hain ki jyotish paakhand hai ya to unhen adhik jaanakaaree nahin hai ya vah un logon ke sampark mein aaee hai dinesh jyotish kee jaanakaaree nahin thee lekin vah jyotish ke naam par unhonne use thanda hoga jis vajah se log yah kahate hain lekin vaastavikata mein har koee jyotish ka gyaan hee nahin hota hai jo achchhe jyotish shaastree hai vah kabhee bhee paakhand nahin dikhaate hain vah unakee bataane ka tareeka sab kuchh alag hota hai sabase alag hota hai aur unakee baaton mein bhee dam hota hai unake saty jaate hain kathan dhanyavaad

#खेल कूद

bolkar speaker
इस बार आईपीएल होगा कि नहीं?Is Baar Aaeepeeel Hoga Ki Nahin
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
1:11
प्रश्न पूछा गया कि बार आईपीएल होगा या नहीं बीसीसीआई ने पहले ही बता दिया है अध्यक्ष सौरव गांगुली ने जब तक जो महामारी का खतरा है कोरोनावायरस का वह चल नहीं जाता है तब तक किसी भी प्रकार का कि टूर्नामेंट हो या मैथ का आयोजन नहीं किया जाएगा तो सबसे पहले तो इसका समाप्त होना आवश्यक है और जिसको लगभग 30 अप्रैल तक टाल दिया गया था पहले ही तो और अभी तक इस महामारी का इलाज नहीं है तो लगभग इसका आयोजन कि अगर यह महामारी इस महीने के अंदर या अगले महीने के अंदर कंट्रोल हो जाती है समाप्त हो जाती है तो लगभग दिए जुलाई-अगस्त यह कि अगर सितंबर तक इसका आयोजन हो सकता है इसी वर्ष और अगर इसका इस पर कंट्रोल नहीं पाया जाए और की मान लीजिए कि उदाहरण के रूप में अगर यह फैल जाए तो इसका आयोजन अगले वर्ष की हो पाएगा धन्यवाद
Prashn poochha gaya ki baar aaeepeeel hoga ya nahin beeseeseeaee ne pahale hee bata diya hai adhyaksh saurav gaangulee ne jab tak jo mahaamaaree ka khatara hai koronaavaayaras ka vah chal nahin jaata hai tab tak kisee bhee prakaar ka ki toornaament ho ya maith ka aayojan nahin kiya jaega to sabase pahale to isaka samaapt hona aavashyak hai aur jisako lagabhag 30 aprail tak taal diya gaya tha pahale hee to aur abhee tak is mahaamaaree ka ilaaj nahin hai to lagabhag isaka aayojan ki agar yah mahaamaaree is maheene ke andar ya agale maheene ke andar kantrol ho jaatee hai samaapt ho jaatee hai to lagabhag die julaee-agast yah ki agar sitambar tak isaka aayojan ho sakata hai isee varsh aur agar isaka is par kantrol nahin paaya jae aur kee maan leejie ki udaaharan ke roop mein agar yah phail jae to isaka aayojan agale varsh kee ho paega dhanyavaad

#खेल कूद

bolkar speaker
सोशल डिस्टन्सिंग कोरोना वायरस से लड़ने में क्या मजबूत हथियार हैं?Soshal Distansing Korona Vaayaras Se Ladane Mein Kya Majaboot Hathiyaar Hain
shree krishan rajpurohit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए shree जी का जवाब
Sports
2:28
URL copied to clipboard