#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
Bolkar application ka मैं hriday se धन्यवाद देता हूँ जो उन्होंने मूझे top स्पीकर का सर्टिफिकेट दिया है?Bolkar Applichation Ka Main Hriday Sai Dhanyavaad Deta Hoon Jo Unhonne Moojhe Top Speekar Ka Sartiphiket Diya Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:07
उधर से धन्यवाद देना चाहूंगा बोलकर परिवार का उनका परिवार ने मुझे इस काबिल समझा और मुझे यह का टिकट दिया है मैं जाता हूं ठीक है पर ईमानदारी के साथ सूचित करना है उसको उसी हिसाब से ही आप आगे बढ़ाएं मोनोपोली कई योजनाओं को मेरी दिल की कामना है कि यह एप्लीकेशन बोल कल के संरक्षक दो और मैं कामना करूंगा साथियों विश्वास दिलाऊंगा कि मैं मेरी प्रयासों के द्वारा अत्यधिक कुशल करने के लिए प्रयास करूंगा मेहनत करूंगा और मैं आशा करूंगा कि आप भी इमानदारी के साथ 25b करो को प्रोत्साहन देते हुए आगे बढ़ाएंगे
Udhar se dhanyavaad dena chaahoonga bolakar parivaar ka unaka parivaar ne mujhe is kaabil samajha aur mujhe yah ka tikat diya hai main jaata hoon theek hai par eemaanadaaree ke saath soochit karana hai usako usee hisaab se hee aap aage badhaen monopolee kaee yojanaon ko meree dil kee kaamana hai ki yah epleekeshan bol kal ke sanrakshak do aur main kaamana karoonga saathiyon vishvaas dilaoonga ki main meree prayaason ke dvaara atyadhik kushal karane ke lie prayaas karoonga mehanat karoonga aur main aasha karoonga ki aap bhee imaanadaaree ke saath 25b karo ko protsaahan dete hue aage badhaenge

#भारत की राजनीति

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
0:20
अंधेरी में कांग्रेस की सरकार गिर चुकी है किरण बेदी जी के वहां से आते ही कांग्रेस की सरकार अल्पमत में आ गई और ना जाने से मक्का में सरकार गिर चुकी है
Andheree mein kaangres kee sarakaar gir chukee hai kiran bedee jee ke vahaan se aate hee kaangres kee sarakaar alpamat mein aa gaee aur na jaane se makka mein sarakaar gir chukee hai

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
जनसंख्या की दृष्टि से विश्व का सबसे बड़ा देश कौन सा है?Jansankhya Ki Drishti Se Vishva Ka Sabse Bada Desh Kaun Sa Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:07
जनसंख्या की दृष्टि से विश्व का सबसे बड़ा देश चाइना है और दूसरे स्थान पर विश्व में भारत का स्थान है लेकिन यह जरूर कह रहा हूं कि यदि भारत में इसी प्रकार जनसंख्या वृद्धि होती रही और सरकार इसी प्रकार वोटों की राजनीति तुष्टिकरण की राजनीति करती रही तो निश्चित रूप से स्पीकर के कारण इस विस्फोटक गति से बढ़ती हुई जनसंख्या के कारण भारत 2030 तक चाइना के आगे निकल जाएगा और बहुत ही भयानक स्थिति और कौन होगा क्योंकि वर्तमान की सरकारें वोटों की गंदी राजनीति कर रही हैं इसलिए एक संविधान और एक नियम लागू नहीं कर पाती हैं परिणाम स्वरूप आज अनियंत्रित गति से भारत की जनसंख्या बढ़ती जा रही है और इस पर कोई कंट्रोल दिखाई नहीं दे रहा है सरकारें वोटों की राजनीति करती हैं तुष्टिकरण की राजनीति करती है इसलिए एक नियम एक संविधान बाला सिद्धांत लागू नहीं हो पा रहा है
Janasankhya kee drshti se vishv ka sabase bada desh chaina hai aur doosare sthaan par vishv mein bhaarat ka sthaan hai lekin yah jaroor kah raha hoon ki yadi bhaarat mein isee prakaar janasankhya vrddhi hotee rahee aur sarakaar isee prakaar voton kee raajaneeti tushtikaran kee raajaneeti karatee rahee to nishchit roop se speekar ke kaaran is visphotak gati se badhatee huee janasankhya ke kaaran bhaarat 2030 tak chaina ke aage nikal jaega aur bahut hee bhayaanak sthiti aur kaun hoga kyonki vartamaan kee sarakaaren voton kee gandee raajaneeti kar rahee hain isalie ek sanvidhaan aur ek niyam laagoo nahin kar paatee hain parinaam svaroop aaj aniyantrit gati se bhaarat kee janasankhya badhatee ja rahee hai aur is par koee kantrol dikhaee nahin de raha hai sarakaaren voton kee raajaneeti karatee hain tushtikaran kee raajaneeti karatee hai isalie ek niyam ek sanvidhaan baala siddhaant laagoo nahin ho pa raha hai

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
राकेश टिकैल कौन है और वह रो क्यों रहा था?Rakesh Tikail Kaun Hai Aur Vah Ro Kyun Raha Tha
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:20
राकेश जी खेती किसान नेता जो यूपी से हैं और वर्तमान में उसने देखा कि किसानों के आंदोलन किस राजनैतिक अवसर का लाभ देना चाहिए इस देश में किसानों के कंधे तक किया है और राजनीति में रोना अपना समर्थन देना विरोध करना यह सब पटाने के रास्ते हैं माननीय राकेश टिकैत को भी आपकी मान लीजिए होने वाले आप टीचर का एमएलए एमपी और उसका प्राइम मिनिस्टर बन जाए क्योंकि वो कांग्रेस की सरकार आ गई तो निश्चित रूप से ही कांग्रेस जोगी कांग्रेस तो ऐसे लोगों के साथ में रहती हैं कि कांग्रेस बीजेपी को चुनावों में हरा नहीं सकती है लेकिन मोदी के कारण से कांग्रेस के पीछे चित्र सुनोगे हम कांग्रेसी नितेश की ताक में है जो कांग्रेस को अपने समाज के और कांग्रेस को भुला सके इसलिए ऐसी किसी और को तू चाहे वो देश विरोधी हो कांग्रेस बनाने से बाज नहीं आती है
Raakesh jee khetee kisaan neta jo yoopee se hain aur vartamaan mein usane dekha ki kisaanon ke aandolan kis raajanaitik avasar ka laabh dena chaahie is desh mein kisaanon ke kandhe tak kiya hai aur raajaneeti mein rona apana samarthan dena virodh karana yah sab pataane ke raaste hain maananeey raakesh tikait ko bhee aapakee maan leejie hone vaale aap teechar ka emele emapee aur usaka praim ministar ban jae kyonki vo kaangres kee sarakaar aa gaee to nishchit roop se hee kaangres jogee kaangres to aise logon ke saath mein rahatee hain ki kaangres beejepee ko chunaavon mein hara nahin sakatee hai lekin modee ke kaaran se kaangres ke peechhe chitr sunoge ham kaangresee nitesh kee taak mein hai jo kaangres ko apane samaaj ke aur kaangres ko bhula sake isalie aisee kisee aur ko too chaahe vo desh virodhee ho kaangres banaane se baaj nahin aatee hai

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
जन्माष्टमी व्रत क्यों करते हैं?Janmashtmi Vrat Kyo Karte Hain
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
0:41
मास्टर इसलिए रहते हैं कि उस दिन भगवान से अपने साथी को 12:00 बजे जन्म दिया था इसलिए भगवान श्री कृष्ण के मानने वाले समस्त वैष्णव अपने इष्ट देव के अवतार का समय तक अर्थात रात के 12:00 बजे तक भूखी रहती चुंगम बंधन करके नमन करके रिटर्न करके उसके बाद पचासी प्राप्त करते हैं ऐसी हिंदू धर्म की मान्यता है विचार हैं
Maastar isalie rahate hain ki us din bhagavaan se apane saathee ko 12:00 baje janm diya tha isalie bhagavaan shree krshn ke maanane vaale samast vaishnav apane isht dev ke avataar ka samay tak arthaat raat ke 12:00 baje tak bhookhee rahatee chungam bandhan karake naman karake ritarn karake usake baad pachaasee praapt karate hain aisee hindoo dharm kee maanyata hai vichaar hain

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
भारत की अर्थव्यवस्था क्यों खराब है जबकि यहां बहुत युवा है?Bharat Ki Arthvyavastha Kyun Kharab Hai Jabki Yahan Bahut Yuva Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
3:25
की व्यवस्था बिगड़ने का कारण भारत की गंदी भ्रष्ट स्वार्थ पूर्ण राजनीति है क्योंकि भारत में युवा शक्ति का सदुपयोग नहीं हो रहा है भारत में वोटों की राजनीति होती है तुष्टीकरण की राजनीति होती है इससे भी है युवा शक्ति का सदुपयोग नहीं होता है वोटों की उसके कारण से तुष्टिकरण नीति के कारण से किसी किसी परिवार में घर के जितने सदस्य हैं वे सभी रोजगार प्राप्त किए हुए हैं सर्विस प्राप्त किए हुए हैं और किसी किसी परिवार में एक मुखिया जी कर का संचालन कर रहा है जबकि उस परिवार में सात और आठ व्यक्ति हैं सभी एबिल है क्वालिफाइड हैं युवा हैं लेकिन दुर्भाग्य का विषय है किसी को धंधा नहीं एक आश्चर्य की बात तो यह है कि एक कोरोना संक्रमण काल में वैसे ही रोजगार के अवसर कम हो गए दूसरा बूट की राजनीति है तो ठीक करण की राजनीति है आरक्षण जैसे हैं अब आरक्षण आप सोचिए कहां उचित हैं 70 साल हो गए इस को उसके पश्चात भी आरक्षण लागू है क्या कभी उन स्वर्ण गरीब परिवारों के बारे में नहीं सोचते हैं कि आप ब्राह्मण बनिया और उसमें उनके पास करीब ही नहीं है कभी इस बात को गहराई से सोचा जाए लेकिन इस बात पर विचार नहीं करते हैं क्योंकि नेताओं को वोट चाहिए इसलिए तुष्टिकरण की नीति कर रहे हैं युवा शक्ति का सदुपयोग नहीं हो पा रहा है युवा भविष्य को लेकर के चिंतित हैं दुखी हैं हताश अंतरराष्ट्रीय थे आप देख रहे हो कि बहुत से युवाओं ने बेरोजगारी से तंग आकर गरीबी और भुखमरी से तंग आकर आत्महत्या कर ली हैं मेरे विचार से जब तक यह भारत देश की गंदी राजनीति बनी रहेगी जब तक कि गंदे राजनीतिज्ञ बने रहेंगे तब तक इस देश के युवा शक्ति का कोई मुझे उत्तम भविष्य नजर नहीं आ रहा है जब बेस्ट वाली फाइलों को सब्जी बेचते हुए देखते जब बेस्ट वाली फाइलों को मजदूरी करते हुए देखते हैं हम जब बेस्ट वाले फायदों को रिक्शा चलाते हुए देखते हैं हम तब लगता है इस देश की की गंदी राजनीति भारत के भविष्य को युवा शक्ति के भविष्य को बर्बाद करके ही छोड़ेंगे बड़ा दुर्भाग्य का विषय है 74 सालों में देश के स्वतंत्र होने के 74 साल गुजर चुके हैं हर बार जनता यह आशा करती है कि अब सरकार कुछ करेगी अच्छा करेगी युवाओं के लिए करेगी हर घर से कम से कम एक व्यक्ति को रोजगार अवश्य मिलेगा ऐतिहासिक जीत आते हैं लेकिन दुर्भाग्य है ब्रांड पर ब्रांड बदल जाते हैं लेकिन शराब वही पुरानी रहती है सरकार ने डॉक्टर 75 सालों में भाई का भाई मैं और युवा शक्ति आज भी अदर भविष्य को लेकर के दो चिंताओं से पीड़ित होती हुई राष्ट्रीय राष्ट्रीय न शादी की शरण में जाती हुई शराब आदि का सेवन करती हुई बर्बादी की ओर जा रही है दुर्भाग्य है कि हमारी राजनीतिक अभी इस पर गौर नहीं करती है जबकि करना चाहिए
Kee vyavastha bigadane ka kaaran bhaarat kee gandee bhrasht svaarth poorn raajaneeti hai kyonki bhaarat mein yuva shakti ka sadupayog nahin ho raha hai bhaarat mein voton kee raajaneeti hotee hai tushteekaran kee raajaneeti hotee hai isase bhee hai yuva shakti ka sadupayog nahin hota hai voton kee usake kaaran se tushtikaran neeti ke kaaran se kisee kisee parivaar mein ghar ke jitane sadasy hain ve sabhee rojagaar praapt kie hue hain sarvis praapt kie hue hain aur kisee kisee parivaar mein ek mukhiya jee kar ka sanchaalan kar raha hai jabaki us parivaar mein saat aur aath vyakti hain sabhee ebil hai kvaaliphaid hain yuva hain lekin durbhaagy ka vishay hai kisee ko dhandha nahin ek aashchary kee baat to yah hai ki ek korona sankraman kaal mein vaise hee rojagaar ke avasar kam ho gae doosara boot kee raajaneeti hai to theek karan kee raajaneeti hai aarakshan jaise hain ab aarakshan aap sochie kahaan uchit hain 70 saal ho gae is ko usake pashchaat bhee aarakshan laagoo hai kya kabhee un svarn gareeb parivaaron ke baare mein nahin sochate hain ki aap braahman baniya aur usamen unake paas kareeb hee nahin hai kabhee is baat ko gaharaee se socha jae lekin is baat par vichaar nahin karate hain kyonki netaon ko vot chaahie isalie tushtikaran kee neeti kar rahe hain yuva shakti ka sadupayog nahin ho pa raha hai yuva bhavishy ko lekar ke chintit hain dukhee hain hataash antararaashtreey the aap dekh rahe ho ki bahut se yuvaon ne berojagaaree se tang aakar gareebee aur bhukhamaree se tang aakar aatmahatya kar lee hain mere vichaar se jab tak yah bhaarat desh kee gandee raajaneeti banee rahegee jab tak ki gande raajaneetigy bane rahenge tab tak is desh ke yuva shakti ka koee mujhe uttam bhavishy najar nahin aa raha hai jab best vaalee phailon ko sabjee bechate hue dekhate jab best vaalee phailon ko majadooree karate hue dekhate hain ham jab best vaale phaayadon ko riksha chalaate hue dekhate hain ham tab lagata hai is desh kee kee gandee raajaneeti bhaarat ke bhavishy ko yuva shakti ke bhavishy ko barbaad karake hee chhodenge bada durbhaagy ka vishay hai 74 saalon mein desh ke svatantr hone ke 74 saal gujar chuke hain har baar janata yah aasha karatee hai ki ab sarakaar kuchh karegee achchha karegee yuvaon ke lie karegee har ghar se kam se kam ek vyakti ko rojagaar avashy milega aitihaasik jeet aate hain lekin durbhaagy hai braand par braand badal jaate hain lekin sharaab vahee puraanee rahatee hai sarakaar ne doktar 75 saalon mein bhaee ka bhaee main aur yuva shakti aaj bhee adar bhavishy ko lekar ke do chintaon se peedit hotee huee raashtreey raashtreey na shaadee kee sharan mein jaatee huee sharaab aadi ka sevan karatee huee barbaadee kee or ja rahee hai durbhaagy hai ki hamaaree raajaneetik abhee is par gaur nahin karatee hai jabaki karana chaahie

#भारत की राजनीति

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
2:12
यहां पर है कि भारतीय किसान अपने स्वार्थ में सोच रहा है बॉस पाकिस्तान तो आप भी आश्चर्य करेंगे कि फिर से संपन्न है जैसे आप हरियाणा में देखें आप पंजाब में देखें यह लोग बहुत अधिक संपन्न है धनवान हैं लेकिन उसके पश्चात दिन की लिप्सा समाप्त नहीं हो रही है यह धन बढ़ाने के चक्कर में कीमतें बढ़ाना चाहते हैं जबकि एक आम भारतीय के बारे में नहीं सोच रहे हैं उन भारतीयों के बारे में सोचिए जो भारतीय बेरोजगार हैं जो भारतीय गरीबी में जी रहे हैं जो भारतीय गरीबी में 3 बच्चों का 4 बच्चों का पालन बेरोजगारी की कंडीशन में मजबूर होकर की मानु तो कैसे करेंगे तुम सोचो को आज ₹29 किलो गेहूं बिक रहा है अब ऐसी हालात में बहुत गरीब बेरोजगार मजदूर रेत कैसे बच्चों का पालन करें इस बात को किसान नहीं सोच रहा है शाम को सिर्फ अपने स्वार्थ की चिंता है यह बड़ा दुर्भाग्य का विषय है और सबसे बड़ी बात कि किसान से यह आशा नहीं थी कि वह अपने विचारों को इंसाफ भक्तों रूप प्रदान कर देंगे यह कोई विरोध का रास्ता नहीं होता है क्या जल्दी को जानते यह कोई विरोध का रास्ता नहीं होता है कि राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करें यह कोई विरोध का रास्ता नहीं होता है कि आप दिल्ली में इस प्रकार के बदलाव करें अपनी पढ़ाई करें परिचय एक व्यक्ति के कहने पर जो व्यक्ति के पास में अथाह संपत्ति है विचार सुसाइड किसानों को जरूर सोचना चाहिए जनता के के लिए सोचना चाहिए अपने उन गरीब भाइयों के बारे में भी सोचना चाहिए जो मजदूर हैं बेरोजगारी में एक व्यक्ति कमा रहा है 10 जने खा रहे हैं उन परिवारों का क्या होगा इस कदर महंगाई बढ़ रही है कभी किसानों को इस बारे में भी सोचना चाहिए
Yahaan par hai ki bhaarateey kisaan apane svaarth mein soch raha hai bos paakistaan to aap bhee aashchary karenge ki phir se sampann hai jaise aap hariyaana mein dekhen aap panjaab mein dekhen yah log bahut adhik sampann hai dhanavaan hain lekin usake pashchaat din kee lipsa samaapt nahin ho rahee hai yah dhan badhaane ke chakkar mein keematen badhaana chaahate hain jabaki ek aam bhaarateey ke baare mein nahin soch rahe hain un bhaarateeyon ke baare mein sochie jo bhaarateey berojagaar hain jo bhaarateey gareebee mein jee rahe hain jo bhaarateey gareebee mein 3 bachchon ka 4 bachchon ka paalan berojagaaree kee kandeeshan mein majaboor hokar kee maanu to kaise karenge tum socho ko aaj ₹29 kilo gehoon bik raha hai ab aisee haalaat mein bahut gareeb berojagaar majadoor ret kaise bachchon ka paalan karen is baat ko kisaan nahin soch raha hai shaam ko sirph apane svaarth kee chinta hai yah bada durbhaagy ka vishay hai aur sabase badee baat ki kisaan se yah aasha nahin thee ki vah apane vichaaron ko insaaph bhakton roop pradaan kar denge yah koee virodh ka raasta nahin hota hai kya jaldee ko jaanate yah koee virodh ka raasta nahin hota hai ki raashtreey dhvaj ka apamaan karen yah koee virodh ka raasta nahin hota hai ki aap dillee mein is prakaar ke badalaav karen apanee padhaee karen parichay ek vyakti ke kahane par jo vyakti ke paas mein athaah sampatti hai vichaar susaid kisaanon ko jaroor sochana chaahie janata ke ke lie sochana chaahie apane un gareeb bhaiyon ke baare mein bhee sochana chaahie jo majadoor hain berojagaaree mein ek vyakti kama raha hai 10 jane kha rahe hain un parivaaron ka kya hoga is kadar mahangaee badh rahee hai kabhee kisaanon ko is baare mein bhee sochana chaahie

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
ने में नमक मिर्च या मसाला अधिक हो जाने पर क्या उपाय किया जा सकता है ?Khaane Mein Namak Mirchi Masala Adhik Ho Jaane Par Kya Upaay Kiya Ja Sakta Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
0:22
खाने में या सब्जी में आपकी में नमक मिर्ची मसाला तेज किया है तो उसके लिए उचित है कि आप एक दो चम्मच घी डालें उसका बैलेंस हो जाएगा या फिर आप नींबू डालें जिससे कि उसका बैलेंस हो जाएगा
Khaane mein ya sabjee mein aapakee mein namak mirchee masaala tej kiya hai to usake lie uchit hai ki aap ek do chammach ghee daalen usaka bailens ho jaega ya phir aap neemboo daalen jisase ki usaka bailens ho jaega

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
मुझे नाईट फॉल बहुत ज्यादा हो रहा है इससे बचने का उपाय बताइए?Mujhe Night Fall Bahut Jyada Ho Raha Hai Isse Bachne Ka Upay Bataiye
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
0:47
मेन कारण आपके विचार गंदे हैं आप गंदी पिक्चर देखते हैं मोबाइल पर गंदी वेबसाइट ओं का यूज करते हैं परिणाम स्वरूप गंदे विचार होने के कारण गंदे लड़के लड़कियों के साथ में रहने के कारण आपके विचार भी गंदे हो गए हैं परिणाम स्वरूप उसी का परिणाम है कि आपको पहचान होता है इसलिए अपनी सोसाइटी सुधारें अच्छी संगत बनाएं अच्छी पिक्चर है देखें अच्छे लोगों से विचार विमर्श करें मैं गंदे लड़के लड़कियों का साथ बिल्कुल छोड़ दें
Men kaaran aapake vichaar gande hain aap gandee pikchar dekhate hain mobail par gandee vebasait on ka yooj karate hain parinaam svaroop gande vichaar hone ke kaaran gande ladake ladakiyon ke saath mein rahane ke kaaran aapake vichaar bhee gande ho gae hain parinaam svaroop usee ka parinaam hai ki aapako pahachaan hota hai isalie apanee sosaitee sudhaaren achchhee sangat banaen achchhee pikchar hai dekhen achchhe logon se vichaar vimarsh karen main gande ladake ladakiyon ka saath bilkul chhod den

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
खाना खाने के लिए बैठने का सही तरीका क्या है?Khana Khaane Ke Lie Baithne Ka Sahi Tareeka Kya Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
0:41
भोजन खाने के लिए सबसे पहले आपको हाथ पैर दोनों चाहिए हाथों को अच्छी तरह साबुन से धो लें उसके बाद आसन लगाए आशा लगा कर के बैठे हुए उसके बाद आप धीरे-धीरे भोजन खाएं चबा चबाकर दिखाएं नंबर 1 नंबर 2 क्वेश्चन करते समय बर्तन नाप किसी प्रकार का उचित नहीं है शांत मन के साथ ईश्वर को अर्पण करके अपने इष्टदेव का स्मरण करके आप भोजन करें
Bhojan khaane ke lie sabase pahale aapako haath pair donon chaahie haathon ko achchhee tarah saabun se dho len usake baad aasan lagae aasha laga kar ke baithe hue usake baad aap dheere-dheere bhojan khaen chaba chabaakar dikhaen nambar 1 nambar 2 kveshchan karate samay bartan naap kisee prakaar ka uchit nahin hai shaant man ke saath eeshvar ko arpan karake apane ishtadev ka smaran karake aap bhojan karen

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
मेरी वजह से किसी को हार्ट अटैक हो जाए तो क्या कानूनी कारवाही हो सकती है?Meri Vajah Se Kisi Ko Heart Attack Ho Jaye To Kya Kanuni Karvahi Ho Sakti Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:13
यदि कोई कानूनी आपके लिए फिटनेस बन सकता है तो फिर आप कभी प्रॉब्लम हो सकती है कि उनके कहे हुए इन शब्दों के द्वारा हार्ड अटैक आया है कोर्ट में पहुंच सकता है और कोर्ट में जाने के बाद शायद आपको समस्या हो सकती फिर भी आपको शर्म आनी चाहिए कि आपके नादानी की वजह किसी की हार्ड अटैक आया और किसी को समझता हूं कि मेरी वजह से अपने शब्दों पर नियंत्रण रखना चाहिए पानी को इतना भी मत बनाना चाहिए क्या आप मधुर बोल नहीं सकते हो पर भी तो ना बोलो आप कुछ बात करनी है नाइस करना चाहिए कि आपने इस प्रकार के अपशब्दों का प्रयोग किया क्या कोई ऐसी मर मान तक बात कही है जो किसी के दिल पर चोट लगी और मैं हार्ड अटैक आया शायद आपको गलती से करनी चाहिए
Yadi koee kaanoonee aapake lie phitanes ban sakata hai to phir aap kabhee problam ho sakatee hai ki unake kahe hue in shabdon ke dvaara haard ataik aaya hai kort mein pahunch sakata hai aur kort mein jaane ke baad shaayad aapako samasya ho sakatee phir bhee aapako sharm aanee chaahie ki aapake naadaanee kee vajah kisee kee haard ataik aaya aur kisee ko samajhata hoon ki meree vajah se apane shabdon par niyantran rakhana chaahie paanee ko itana bhee mat banaana chaahie kya aap madhur bol nahin sakate ho par bhee to na bolo aap kuchh baat karanee hai nais karana chaahie ki aapane is prakaar ke apashabdon ka prayog kiya kya koee aisee mar maan tak baat kahee hai jo kisee ke dil par chot lagee aur main haard ataik aaya shaayad aapako galatee se karanee chaahie

#भारत की राजनीति

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:00
बेटे शराब पीना किसी भी हालात में लाभ का सौदा नहीं है शराब पीना हर तरह से मानव स्वास्थ्य भी खराब ही करता है विभिन्न बीमारियों को भी जन्म देती है झगड़े तनाव आदि का कारण भी शराब बनती है यहां तक कि कई बार तो शराब पीने के कारण मानव की मृत्यु हो जाती है इसलिए शराब या व्यक्ति या न शिवाजी से जितने आप दूर रह सकते हैं वह ज्यादा साधकों का परिवार में कलह का कारण भी शराबी है एक्सीडेंट तो का कारण भी शराबी है विभिन्न प्रकार के कुकर्म को जन्म देने वाली भी शराबी है इसलिए शराब से दूर रहें वृक्ष आदि नसू बाजी आदि नित्य सब से दूर रहें वह ज्यादा हितकारी है
Bete sharaab peena kisee bhee haalaat mein laabh ka sauda nahin hai sharaab peena har tarah se maanav svaasthy bhee kharaab hee karata hai vibhinn beemaariyon ko bhee janm detee hai jhagade tanaav aadi ka kaaran bhee sharaab banatee hai yahaan tak ki kaee baar to sharaab peene ke kaaran maanav kee mrtyu ho jaatee hai isalie sharaab ya vyakti ya na shivaajee se jitane aap door rah sakate hain vah jyaada saadhakon ka parivaar mein kalah ka kaaran bhee sharaabee hai ekseedent to ka kaaran bhee sharaabee hai vibhinn prakaar ke kukarm ko janm dene vaalee bhee sharaabee hai isalie sharaab se door rahen vrksh aadi nasoo baajee aadi nity sab se door rahen vah jyaada hitakaaree hai

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
अशांति को दूर कैसे कर सकते हैं?Ashanti Ko Door Kaise Kar Sakte Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:03
मिट्टी शांति आनंद आदि कुछ ऐसी यह वह है यह बाहर से नहीं आती है यह आंतरिक होती हैं आप जैसे विचार रखते हैं उसके अनुसार ही आपको यह सब कुछ एहसास होता है आप अच्छे माहौल में रहते हैं अच्छे लोगों की संगत में रहते हैं अच्छे आपके विचार हैं तो आपको शांति प्राप्त होगी लेकिन कुसंगति में रहोगे गंदे विचार रखोगे गंदे माहौल में रहोगे तो निश्चित रूप से ही आपको अशांति ही उत्पन्न होगी इसलिए जितनी आप शांत रहेंगे जितनी आप पॉजिटिव रखेंगे जितनी आपकी अच्छी संगति होगी जितनी आप अच्छा साहित्य पड़ेंगे उतनी ही आपको शांति और लाभ प्राप्त होगा क्योंकि यह आंतरिक विषय है
Mittee shaanti aanand aadi kuchh aisee yah vah hai yah baahar se nahin aatee hai yah aantarik hotee hain aap jaise vichaar rakhate hain usake anusaar hee aapako yah sab kuchh ehasaas hota hai aap achchhe maahaul mein rahate hain achchhe logon kee sangat mein rahate hain achchhe aapake vichaar hain to aapako shaanti praapt hogee lekin kusangati mein rahoge gande vichaar rakhoge gande maahaul mein rahoge to nishchit roop se hee aapako ashaanti hee utpann hogee isalie jitanee aap shaant rahenge jitanee aap pojitiv rakhenge jitanee aapakee achchhee sangati hogee jitanee aap achchha saahity padenge utanee hee aapako shaanti aur laabh praapt hoga kyonki yah aantarik vishay hai

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
क्या आप मानते हैं कि मोबाइल से युवा बिगड़ते हैं?Kya Aap Maante Hain Ki Mobile Se Yuva Bigadte Hain
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:05
जहां पर मोबाइल फोन आदि हैं वह मानव को बहुत कुछ लाभ भी देते हैं तो वहां बहुत कुछ आने भी होती हैं हर चीज के दो पहलू होते हैं तो मोबाइल में जहां मानव को विभिन्न सुविधाएं प्रदान की हैं विभिन्न लाभ प्राप्त किए दिए हैं ठीक उसके विपरीत में मोबाइल से बहुत कुछ हानियां बिजी हैं यह सच्चाई है कि आजकल मोबाइल पर सभी प्रकार की वेबसाइट चाहती हैं गंदी वेबसाइट भी आती है जिनका युवा शक्ति मिस यूज कर रही है और मिस यूज करने के कारण से उनकी चरित्र कहानियां हो रही हैं चरित्र निर्माण करने के बजाय चरित्र हीनता की कार्यों में संलग्न जाते हैं यह मोबाइल का मिस यूज भी है
Jahaan par mobail phon aadi hain vah maanav ko bahut kuchh laabh bhee dete hain to vahaan bahut kuchh aane bhee hotee hain har cheej ke do pahaloo hote hain to mobail mein jahaan maanav ko vibhinn suvidhaen pradaan kee hain vibhinn laabh praapt kie die hain theek usake vipareet mein mobail se bahut kuchh haaniyaan bijee hain yah sachchaee hai ki aajakal mobail par sabhee prakaar kee vebasait chaahatee hain gandee vebasait bhee aatee hai jinaka yuva shakti mis yooj kar rahee hai aur mis yooj karane ke kaaran se unakee charitr kahaaniyaan ho rahee hain charitr nirmaan karane ke bajaay charitr heenata kee kaaryon mein sanlagn jaate hain yah mobail ka mis yooj bhee hai

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
क्या ईयर फोन इंसानों के लिए खतरनाक है?Kya Air Phone Insaano Ke Lie Khatarnak Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
0:51
अधिक इयरफोन का प्रयोग करने से पहले होने का अंदेशा रहता है अति हर चीज की खराब होती है इसका अति प्रयोग हमेशा हानिकारक होता है जीवन रक्षा करने वाली औषधियों का भी जब अधिक प्रयोग किया जाता है तो वह भी जीवन के लिए घातक हो जाती है इसलिए अति से बचना चाहिए कभी-कभी आप इयरफोन का प्रयोग करते हैं तो खतरनाक नहीं है लेकिन अधिकांश समय एयर फोन का उपयोग करना आपको बैरी बना बहरा बना सकता है आपकी अपनी शक्ति को हानि पहुंचा सकता है
Adhik iyaraphon ka prayog karane se pahale hone ka andesha rahata hai ati har cheej kee kharaab hotee hai isaka ati prayog hamesha haanikaarak hota hai jeevan raksha karane vaalee aushadhiyon ka bhee jab adhik prayog kiya jaata hai to vah bhee jeevan ke lie ghaatak ho jaatee hai isalie ati se bachana chaahie kabhee-kabhee aap iyaraphon ka prayog karate hain to khataranaak nahin hai lekin adhikaansh samay eyar phon ka upayog karana aapako bairee bana bahara bana sakata hai aapakee apanee shakti ko haani pahuncha sakata hai

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
क्या कृत्रिम बुद्धिमत्ता से इंसानी आवाज बनाई जा सकती है?Kya Kritrim Buddhimatta Se Insani Awaj Bnayi Ja Sakti Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:21
एक बहुत पुराना सिद्धांत है सच्चाई छुप नहीं सकती कभी बनावट के उसूलों से खुशबू आ नहीं सकती कभी कागज के फूलों से आर्टिफिशलिटी हमेशा कहीं ना कहीं अपन रहती है यही कारण है कि आर्टिफिशलिटी को बहुत जल्दी ही पहचान लिया जाता है जो कदम तक के साथ में इंसानी आवाज स्टेबिलिटी करने की कोशिश की जाती है किंतु वह कौन सी चीज होती है ओरिजिनल आवाज नहीं बन सकती है तुमने देखा है कि हर व्यक्ति जो अपने हस्ताक्षर करता है वह अपने हस्ताक्षर में कोई न कोई ऐसे दिनविशेष रखता है जिसके आधार पर वह अपने ओरिजिनल अंताक्षरी जान सके और ओरिजिनल डुप्लीकेट मंत्र बता सके इसी प्रकार और आवाज में भी कुछ ना कुछ अंतर होता है ईश्वर की दी हुई प्रकृति के द्वारा दी हुई हर चीज में कुछ ना कुछ अपनी विशेषताएं हर किसी के पास होती हैं
Ek bahut puraana siddhaant hai sachchaee chhup nahin sakatee kabhee banaavat ke usoolon se khushaboo aa nahin sakatee kabhee kaagaj ke phoolon se aartiphishalitee hamesha kaheen na kaheen apan rahatee hai yahee kaaran hai ki aartiphishalitee ko bahut jaldee hee pahachaan liya jaata hai jo kadam tak ke saath mein insaanee aavaaj stebilitee karane kee koshish kee jaatee hai kintu vah kaun see cheej hotee hai orijinal aavaaj nahin ban sakatee hai tumane dekha hai ki har vyakti jo apane hastaakshar karata hai vah apane hastaakshar mein koee na koee aise dinavishesh rakhata hai jisake aadhaar par vah apane orijinal antaaksharee jaan sake aur orijinal dupleeket mantr bata sake isee prakaar aur aavaaj mein bhee kuchh na kuchh antar hota hai eeshvar kee dee huee prakrti ke dvaara dee huee har cheej mein kuchh na kuchh apanee visheshataen har kisee ke paas hotee hain

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
मनुष्य खाने के लिए जीता है जीने के लिए खाता है?Manushya Khaane Ke Liye Jeeta Hai Ki Jeene Ke Liye Khaata Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
2:08
शाम को पहुंच सारगर्भित और बहुत मनुष्य को खाने के लिए जीना निष्ठा का सूचक है घटिया मानसिकता का सूचक है और कुत्तों की निशानी है और जीने के लिए खाना मानव मानव के देवत्व का सूचक है उसकी उच्चता का सूचक है और इंसानियत का सूचक है जीने के लिए खाना ही हमारे पूर्वजों के द्वारा यह दान किया गया है हमारे पूर्वज जीते थे हमारे तपस्वी ऋषि मुनि गण जो हमारे पूर्वज कौन थे वह जीने के लिए ही खाते थे ना कि खाने के लिए जीते थे जबकि आज का जू पार्क की दौड़ देख रही हो यह गलियों की दौड़ देख रहे हो यह रिश्ता का दर्द दूर हो इसमें आज का इंसान खाने के लिए जीता है जीने के लिए खाता नहीं है इन दोनों भाइयों में जमीन आसमान का अंतर है खाने के लिए जीना आपके घटिया विचारों का सूचक है आपके विचारों का दिवालियापन का सूचक है आपके अपनों का कारण है आपकी स्वाभिमान रही प्रगति का सूचक है जबकि चीनी के लिए खाना एक स्वाभिमान का सूचक है आपके उदार विचारों का सूचक है आपकी महान संस्कारों का सूचक है और आपकी तपस्वी जीवन का सूचक है इसलिए जीने के लिए खाना ही श्रेष्ठ है ना कि खाने के लिए जीना आप इसको एक कबीर के दोहे में अच्छी तरह समझ सकते हैं रूखी सूखी खाई के ठंडा पानी पी देख पराई चुपड़ी मत ललचाए जी दूसरे आप कह सकते हैं कि कबीरा संगत साधु की चौकी उस देखा है और खीर खंड भोजन मिले परतुर जनसंघ ना चाहे
Shaam ko pahunch saaragarbhit aur bahut manushy ko khaane ke lie jeena nishtha ka soochak hai ghatiya maanasikata ka soochak hai aur kutton kee nishaanee hai aur jeene ke lie khaana maanav maanav ke devatv ka soochak hai usakee uchchata ka soochak hai aur insaaniyat ka soochak hai jeene ke lie khaana hee hamaare poorvajon ke dvaara yah daan kiya gaya hai hamaare poorvaj jeete the hamaare tapasvee rshi muni gan jo hamaare poorvaj kaun the vah jeene ke lie hee khaate the na ki khaane ke lie jeete the jabaki aaj ka joo paark kee daud dekh rahee ho yah galiyon kee daud dekh rahe ho yah rishta ka dard door ho isamen aaj ka insaan khaane ke lie jeeta hai jeene ke lie khaata nahin hai in donon bhaiyon mein jameen aasamaan ka antar hai khaane ke lie jeena aapake ghatiya vichaaron ka soochak hai aapake vichaaron ka divaaliyaapan ka soochak hai aapake apanon ka kaaran hai aapakee svaabhimaan rahee pragati ka soochak hai jabaki cheenee ke lie khaana ek svaabhimaan ka soochak hai aapake udaar vichaaron ka soochak hai aapakee mahaan sanskaaron ka soochak hai aur aapakee tapasvee jeevan ka soochak hai isalie jeene ke lie khaana hee shreshth hai na ki khaane ke lie jeena aap isako ek kabeer ke dohe mein achchhee tarah samajh sakate hain rookhee sookhee khaee ke thanda paanee pee dekh paraee chupadee mat lalachae jee doosare aap kah sakate hain ki kabeera sangat saadhu kee chaukee us dekha hai aur kheer khand bhojan mile paratur janasangh na chaahe

#टेक्नोलॉजी

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
2:12
भारत में जो अंग्रेजी का यूज करते हैं उसके तीन चार कारण है नंबर 1 कुछ लोग तो अपने आप को क्वालीफाई करने के लिए अंग्रेजी का प्रयोग करते हैं जबकि भी हकीकत में अंग्रेजी के को उतनी अच्छी तरह ना समझते हैं ना बोल सकते हैं लेकिन वह सिर्फ अपने आप को कॉलेज फाइट आधुनिक सिद्ध करने के लिए इंग्लिश का यूज करते हैं नंबर दो हमारे भारतीय समाज की मानसिकता भी इतनी स्तर हीन हो चुकी है कि भी इंग्लिश बोलने वालों को क्वालिफाइड समझते हैं अच्छा आधुनिक समझते हैं और चीनी अस्पष्ट हम मानते हैं इसलिए लोग उस दिखावे के लिए भी एक देश का प्रयोग करते हैं तीसरा फिर आप अपनी एक आंख भी इंग्लिश का प्रयोग बुद्धि की माप के रूप के रूप में भी प्रयोग किया जाता है कि जैसे कि आप देखते हैं कि जब पिंटू को होते हैं तो जो हिंदी में प्रश्नों के उत्तर दे रहे हैं उन लड़कों की तुलना में जो इंग्लिश में अच्छी तरह उत्तर दे पाते हैं उन लोगों को कलेक्शन अधिक मिल जाते हैं यह सच्चाई है यह मानकर चलें कि वह हमारी भक्ति एक घटिया मानसिकता का सूचक है क्योंकि हम आज यद्यपि स्त्री से स्वतंत्र हो चुके हैं लेकिन हमारी भारतीय मानसिकता आज भी अंग्रेजी भाषा की गुलाम है यह बात तो होती है क्योंकि 1950 में भारत की भाषाओं में हिंदी को राष्ट्रभाषा का दर्जा दिया गया किंतु आज तक दक्षिण वाले लोग आज तक हिंदी को राष्ट्रभाषा स्वीकार नहीं करते हैं और दक्षिण की तरफ आप जब भी जाएंगे तो वहां आप इंग्लिश का या उनकी लोकल लैंग्वेज ओं का प्रयोग पाएंगे हिंदी का प्रयोग वहां बिल्कुल मेल है जबकि उत्तर भारत में हिंदी का प्रयोग किया जाता है
Bhaarat mein jo angrejee ka yooj karate hain usake teen chaar kaaran hai nambar 1 kuchh log to apane aap ko kvaaleephaee karane ke lie angrejee ka prayog karate hain jabaki bhee hakeekat mein angrejee ke ko utanee achchhee tarah na samajhate hain na bol sakate hain lekin vah sirph apane aap ko kolej phait aadhunik siddh karane ke lie inglish ka yooj karate hain nambar do hamaare bhaarateey samaaj kee maanasikata bhee itanee star heen ho chukee hai ki bhee inglish bolane vaalon ko kvaaliphaid samajhate hain achchha aadhunik samajhate hain aur cheenee aspasht ham maanate hain isalie log us dikhaave ke lie bhee ek desh ka prayog karate hain teesara phir aap apanee ek aankh bhee inglish ka prayog buddhi kee maap ke roop ke roop mein bhee prayog kiya jaata hai ki jaise ki aap dekhate hain ki jab pintoo ko hote hain to jo hindee mein prashnon ke uttar de rahe hain un ladakon kee tulana mein jo inglish mein achchhee tarah uttar de paate hain un logon ko kalekshan adhik mil jaate hain yah sachchaee hai yah maanakar chalen ki vah hamaaree bhakti ek ghatiya maanasikata ka soochak hai kyonki ham aaj yadyapi stree se svatantr ho chuke hain lekin hamaaree bhaarateey maanasikata aaj bhee angrejee bhaasha kee gulaam hai yah baat to hotee hai kyonki 1950 mein bhaarat kee bhaashaon mein hindee ko raashtrabhaasha ka darja diya gaya kintu aaj tak dakshin vaale log aaj tak hindee ko raashtrabhaasha sveekaar nahin karate hain aur dakshin kee taraph aap jab bhee jaenge to vahaan aap inglish ka ya unakee lokal laingvej on ka prayog paenge hindee ka prayog vahaan bilkul mel hai jabaki uttar bhaarat mein hindee ka prayog kiya jaata hai

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
जरूरत पड़ने पर किस हद तक झुकना चाहिए?Jarurat Padne Par Kis Had Tak Jhukna Chaiye
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
2:25
झुकना एक बर्तन की निशानी है और अपने सिर उठाकर के चरणों यतन करके चलना हमेशा कुछ बन की निशानी है अभिमान की निशानी है निष्ठा की निशानी है इस संबंध में बिहारी का एक दोहा याद करें वह बहुत ही अच्छा है नल और नीर की गति एक चीज है जो जो नीचे है चले क्यों तू जो कोई चुप करके चलना धर्म बता का सूचक है आपकी मदद का सूचक है आप किस नेता का सूचक है आपकी उदार विचारों का सूचक है आपकी भारतीय संस्कृति का सूचक है जबकि अभिमान में सिर उठा कर के जी ना दूसरों को परेशान करना है आप की सिस्टर का प्रदर्शन है आपकी भारतीय विकारों से रहित होने का सूचक है और आपकी निम्न विचारों का सूचक है इसलिए जितना आप अभिमान सुने रहेंगे उतने खुश रहेंगे अच्छे रहेंगे और मिलनसार तक प्राप्त करेंगे लोकप्रियता प्राप्त करेंगे इसलिए इतना विलंब कुंडा बहुत अच्छी बात लिखी प्रकृति के उपादान हमें जब बादलों में पानी नहीं होता है तो बेगम सफेद होते हैं और पत्नी से बहुत ऊंचाई पर चले जाते हैं लेकिन जैसे ही बादलों में पानी आता है वह काले हो जाते हैं और पृथ्वी के नजदीक आ जाते हैं और काले काले बादलों से लोग पढ़े आशा सिंपल सा की यात्रा करते हैं वह बसते हैं बच्चों में जिन भक्तों में फल नहीं होते हैं विपक्षी दे तने खड़े रहते हैं लेकिन जो भी भक्तों में फल आते हैं वह पृथ्वी की ओर झुक जाते हैं यह प्रकृति के उपादान हम को विनम्रता की शिक्षा देते हैं विनम्रता पूर्वक जी सेवा भाव के साथ जी उदारता पूर्वक चाहिए जियो और जीने दो में विश्वास रखें सभी के साथ में अभी मानसून बताएं सरल व्यवहार रखें वह महानता की निशानी है
Jhukana ek bartan kee nishaanee hai aur apane sir uthaakar ke charanon yatan karake chalana hamesha kuchh ban kee nishaanee hai abhimaan kee nishaanee hai nishtha kee nishaanee hai is sambandh mein bihaaree ka ek doha yaad karen vah bahut hee achchha hai nal aur neer kee gati ek cheej hai jo jo neeche hai chale kyon too jo koee chup karake chalana dharm bata ka soochak hai aapakee madad ka soochak hai aap kis neta ka soochak hai aapakee udaar vichaaron ka soochak hai aapakee bhaarateey sanskrti ka soochak hai jabaki abhimaan mein sir utha kar ke jee na doosaron ko pareshaan karana hai aap kee sistar ka pradarshan hai aapakee bhaarateey vikaaron se rahit hone ka soochak hai aur aapakee nimn vichaaron ka soochak hai isalie jitana aap abhimaan sune rahenge utane khush rahenge achchhe rahenge aur milanasaar tak praapt karenge lokapriyata praapt karenge isalie itana vilamb kunda bahut achchhee baat likhee prakrti ke upaadaan hamen jab baadalon mein paanee nahin hota hai to begam saphed hote hain aur patnee se bahut oonchaee par chale jaate hain lekin jaise hee baadalon mein paanee aata hai vah kaale ho jaate hain aur prthvee ke najadeek aa jaate hain aur kaale kaale baadalon se log padhe aasha simpal sa kee yaatra karate hain vah basate hain bachchon mein jin bhakton mein phal nahin hote hain vipakshee de tane khade rahate hain lekin jo bhee bhakton mein phal aate hain vah prthvee kee or jhuk jaate hain yah prakrti ke upaadaan ham ko vinamrata kee shiksha dete hain vinamrata poorvak jee seva bhaav ke saath jee udaarata poorvak chaahie jiyo aur jeene do mein vishvaas rakhen sabhee ke saath mein abhee maanasoon bataen saral vyavahaar rakhen vah mahaanata kee nishaanee hai

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
आंखों के लिए कौन-कौन सा आहार फायदेमंद है?Aankho Ke Liye Kaun Kaun Sa Aahar Faydemand Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
0:57
के लिए आप को विशेष रूप से दो तीन बातें योग लेनी चाहिए नंबर 1 इन दिनों में आप गाजर खाएं गाजिया विट आने वाली है जो आंखों के लिए बहुत फायदेमंद है नंबर दो कुछ काली मिर्च नियमित रूप से आप प्योर घी के साथ गाय के घी के साथ पतंजलि का गाय का घी मिलता है उसके साथ सेवन करें जो भी आपकी आंखों के लिए फायदेमंद है नंबर 3 सुबह उठकर के भागीदार को यदि आप आंखों में लगाते हैं तो उससे भी आपके लिए आंखों को लाभ होता है नंबर 4 नित्य प्रति आंखों को ताजा पानी से धोएं शुभ रात को सोते समय भी दे तो भी आपकी आंखों के लिए लाभदायक है
Ke lie aap ko vishesh roop se do teen baaten yog lenee chaahie nambar 1 in dinon mein aap gaajar khaen gaajiya vit aane vaalee hai jo aankhon ke lie bahut phaayademand hai nambar do kuchh kaalee mirch niyamit roop se aap pyor ghee ke saath gaay ke ghee ke saath patanjali ka gaay ka ghee milata hai usake saath sevan karen jo bhee aapakee aankhon ke lie phaayademand hai nambar 3 subah uthakar ke bhaageedaar ko yadi aap aankhon mein lagaate hain to usase bhee aapake lie aankhon ko laabh hota hai nambar 4 nity prati aankhon ko taaja paanee se dhoen shubh raat ko sote samay bhee de to bhee aapakee aankhon ke lie laabhadaayak hai

#जीवन शैली

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:51
नहीं ऐसा तो कुछ नहीं है उसके लिए आप पानी किसी को दोस्त मत दीजिए आप अपनी कंपनी को दोस्ती है कि आपकी जो कंपनी है वह ऐसे गंदे लड़के गंदे लोगों के साथ हैं इस प्रकार के चुटकुले गंदे घटिया विचार रखते हैं यह नहीं आपको मैं एक बहुत जीवन की हकीकत बता रहा हूं कि पुरुष में परियां होती हैं लेकिन 9111 एमजी होती हैं उसकी कॉमन सकते उसकी साइकोलॉजी पुरुष से कहीं अधिक तीव्र होती हजारों में से एक को पहचान लेती है कि यह किस दृष्टि का व्यक्ति है क्या चाहता है इसलिए गंदे लोगों के साथ आपको नहीं बैठना चाहिए इस प्रकार की बातें कर सकते हैं क्योंकि यदि आपको मोतियों की तलाश करनी है तो समुद्र में गोता लगाना हुआ तालाब यदि कुत्ता लगाएंगे तो सिर्फ आपके साथ साथ में दोगे यह कीचड़ ही आप पड़ेगा तो गंदे लोगों के साथ बैठने से इस प्रकार की बातें आपको मिलती है जब कि आप देखते हैं कि अच्छा चाई में यह एहसान नहीं है आप बातें करें शालीनता से करें मां साहब स्ट्रीट मदुरई हूं अच्छे एक्टिविटीज हो तो इस लिस्ट बात करना कोई गुनाह नहीं है और करते हैं पर की जाती है लेकिन जब क्वालिटी के व्यक्तियों के साथ रहकर के बातें करेंगे भाषा की ठीक होगी एक्टिविटीज आपकी ठीक होंगी तो फिर आपको यही सुनने को प्राप्त होगा
Nahin aisa to kuchh nahin hai usake lie aap paanee kisee ko dost mat deejie aap apanee kampanee ko dostee hai ki aapakee jo kampanee hai vah aise gande ladake gande logon ke saath hain is prakaar ke chutakule gande ghatiya vichaar rakhate hain yah nahin aapako main ek bahut jeevan kee hakeekat bata raha hoon ki purush mein pariyaan hotee hain lekin 9111 emajee hotee hain usakee koman sakate usakee saikolojee purush se kaheen adhik teevr hotee hajaaron mein se ek ko pahachaan letee hai ki yah kis drshti ka vyakti hai kya chaahata hai isalie gande logon ke saath aapako nahin baithana chaahie is prakaar kee baaten kar sakate hain kyonki yadi aapako motiyon kee talaash karanee hai to samudr mein gota lagaana hua taalaab yadi kutta lagaenge to sirph aapake saath saath mein doge yah keechad hee aap padega to gande logon ke saath baithane se is prakaar kee baaten aapako milatee hai jab ki aap dekhate hain ki achchha chaee mein yah ehasaan nahin hai aap baaten karen shaaleenata se karen maan saahab street maduree hoon achchhe ektiviteej ho to is list baat karana koee gunaah nahin hai aur karate hain par kee jaatee hai lekin jab kvaalitee ke vyaktiyon ke saath rahakar ke baaten karenge bhaasha kee theek hogee ektiviteej aapakee theek hongee to phir aapako yahee sunane ko praapt hoga

#जीवन शैली

bolkar speaker
क्या पूरी तरह सत्यवादी होकर जिया जा सकता है?Kya Puri Tarah Satyavadi Hokar Jiya Ja Sakta Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:46
आज के युग में जो छल कपट झूठ फरेब का यह जमाना है इसमें आप सत्यवादी बंद करके जीना चाहें तो शायद कभी पॉसिबल नहीं गांधी जी ने एक सिद्धांत दिया था कि ट्यूशन नौसेना पाप से घृणा करो पापी से नहीं तबियत और बदल चुका है महात्मा गांधी जी ने यह भी कहा था कि यदि कोई तुम्हारे एक गाल पर थप्पड़ दे कि तुम उसके सामने तू चा कालचा उपस्थित कर दो तो कुछ शर्मिंदा होकर अपने आप से क्षमा याचना करें आप इस दौर में महात्मा गांधी जीते थे महात्मा गांधी जी के विचार अपने थे लेकिन मैं उनका समर्थन नहीं करूंगा आज का दौर इतना गंदा भंवर है कि यदि आपने महात्मा गांधी जी की तरह यह एक झापड़ देने पर दूसरा गाल उपस्थित कर दिया तो वह आप धंधा छोड़ देता ही चला जाएगा कभी रुकेगा नहीं क्योंकि आज यह बेशर्म आई का दौर है बंदा दौर है खुदगर्जी स्वार्थ लालच बेईमानी छल कपट टूटन जा आज भारत में सर्वाधिक रूप से प्रचलित हैं तो ऐसे समय में आप उस तक कि उनके पति की कल्पना करें और उसके आधार पर जीना चाहें तो मैं तो तुम आपको कोई जीने नहीं देगा क्योंकि आजकल छल कपट झूठ अन्य धर्म बिना नहीं सिर चढ़कर के भारत में बोल रही है उसी का दुष्परिणाम तुम देख रही हो कि यहां पर किडनैप मैडम रेप जैसी को करने को टीवी पर देखने को अवेलेबल हो जाते हैं
Aaj ke yug mein jo chhal kapat jhooth phareb ka yah jamaana hai isamen aap satyavaadee band karake jeena chaahen to shaayad kabhee posibal nahin gaandhee jee ne ek siddhaant diya tha ki tyooshan nausena paap se ghrna karo paapee se nahin tabiyat aur badal chuka hai mahaatma gaandhee jee ne yah bhee kaha tha ki yadi koee tumhaare ek gaal par thappad de ki tum usake saamane too cha kaalacha upasthit kar do to kuchh sharminda hokar apane aap se kshama yaachana karen aap is daur mein mahaatma gaandhee jeete the mahaatma gaandhee jee ke vichaar apane the lekin main unaka samarthan nahin karoonga aaj ka daur itana ganda bhanvar hai ki yadi aapane mahaatma gaandhee jee kee tarah yah ek jhaapad dene par doosara gaal upasthit kar diya to vah aap dhandha chhod deta hee chala jaega kabhee rukega nahin kyonki aaj yah besharm aaee ka daur hai banda daur hai khudagarjee svaarth laalach beeemaanee chhal kapat tootan ja aaj bhaarat mein sarvaadhik roop se prachalit hain to aise samay mein aap us tak ki unake pati kee kalpana karen aur usake aadhaar par jeena chaahen to main to tum aapako koee jeene nahin dega kyonki aajakal chhal kapat jhooth any dharm bina nahin sir chadhakar ke bhaarat mein bol rahee hai usee ka dushparinaam tum dekh rahee ho ki yahaan par kidanaip maidam rep jaisee ko karane ko teevee par dekhane ko avelebal ho jaate hain

#जीवन शैली

bolkar speaker
भूख मिटाने के लिए धूम्रपान का उपयोग करना कितना सही है?Bhukh Mitane Ke Liye Dhumrpan Ka Upyog Karna Kitna Sahi Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
0:46
किसने कह दिया कि धूम्रपान करने से भूख मिट जाती है नहीं तो मुंह बंद करने से भूख मिटती नहीं है आप यह कह सकते हैं कि उसके लाइन खराब हो जाते हैं तुम अधिक धूम्रपान करने से और टाइजन क्षमता एकदम बिगड़ जाती है इसलिए धूम्रपान कभी भी शरीर के लिए हितकारी नहीं है स्वास्थ्यवर्धक नहीं है अपितु स्वास्थ्य के लिए हमेशा हानिकारक है और स्वास्थ दमा जैसी बीमारियों का देने वाले हैं छात्रों को खोखला करने वाला है इसलिए धूम्रपान कभी नहीं करना चाहिए
Kisane kah diya ki dhoomrapaan karane se bhookh mit jaatee hai nahin to munh band karane se bhookh mitatee nahin hai aap yah kah sakate hain ki usake lain kharaab ho jaate hain tum adhik dhoomrapaan karane se aur taijan kshamata ekadam bigad jaatee hai isalie dhoomrapaan kabhee bhee shareer ke lie hitakaaree nahin hai svaasthyavardhak nahin hai apitu svaasthy ke lie hamesha haanikaarak hai aur svaasth dama jaisee beemaariyon ka dene vaale hain chhaatron ko khokhala karane vaala hai isalie dhoomrapaan kabhee nahin karana chaahie

#जीवन शैली

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
2:09
इंसान इस बंद के कारण ही हमेशा पराजित होता है अपमानित होता है क्योंकि यह 1 बेकाबू हो जाता है बीता पप्पी वेरी चिकन मुनि गन महान थे जिन्होंने इश्क मन पर नियंत्रण किया और मन को एकाग्र करना ही सारी तपस्या का फल है जो मन को एक काम कर ना कर सका उसका गेरुआ वस्त्र पहनने से या इन बाबाओं की तरह कुकर्म करने से हमेशा अपमान सरकार को प्राप्त करते हैं इसलिए मन को एकाग्र करना ही सबसे बड़ी तपस्या है इस मन की गति बड़ी विचित्र है यह मन एक मदमस्त हाथी से भी ज्यादा भयंकर बीकाबू है जन्म खुश है भटकता है एक भजन में बहुत अच्छे शब्दों कहां गया है पीएम मन बड़ा चंचल है कैसे तेरा भजन करूं जितना इसे समझा उतना ही मचल जाए राधे तेरे चरणों की यदि धूल जो मिल जाए राधे तेरे चरणों की तुमको एक काम करना ही सबसे बड़ी समस्या है और सबसे उत्तम कार्य है और मानव का परम कर्तव्य है अब इसे जो कंट्रोल में नहीं कर पाते हैं वे लोग चाहे लाख गेरुआ वस्त्र पहनने चाहे लोग ढोंग पाखंड कर ले लेकिन सच्चाई यह है कि वे बीकाबू मन के कारण हमेशा अपमानित होते हैं जले रोते हैं और आनंदित होते हैं
Insaan is band ke kaaran hee hamesha paraajit hota hai apamaanit hota hai kyonki yah 1 bekaaboo ho jaata hai beeta pappee veree chikan muni gan mahaan the jinhonne ishk man par niyantran kiya aur man ko ekaagr karana hee saaree tapasya ka phal hai jo man ko ek kaam kar na kar saka usaka gerua vastr pahanane se ya in baabaon kee tarah kukarm karane se hamesha apamaan sarakaar ko praapt karate hain isalie man ko ekaagr karana hee sabase badee tapasya hai is man kee gati badee vichitr hai yah man ek madamast haathee se bhee jyaada bhayankar beekaaboo hai janm khush hai bhatakata hai ek bhajan mein bahut achchhe shabdon kahaan gaya hai peeem man bada chanchal hai kaise tera bhajan karoon jitana ise samajha utana hee machal jae raadhe tere charanon kee yadi dhool jo mil jae raadhe tere charanon kee tumako ek kaam karana hee sabase badee samasya hai aur sabase uttam kaary hai aur maanav ka param kartavy hai ab ise jo kantrol mein nahin kar paate hain ve log chaahe laakh gerua vastr pahanane chaahe log dhong paakhand kar le lekin sachchaee yah hai ki ve beekaaboo man ke kaaran hamesha apamaanit hote hain jale rote hain aur aanandit hote hain

#जीवन शैली

bolkar speaker
भारतीय लोग किस बारे में सबसे ज्यादा जानने की इच्छा रखते हैं?Bhartiya Log Kis Bare Mein Sabse Jyada Jaanne Ki Ichha Rakhte Hain
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
2:05
भारतीय लोगों में एक सबसे बड़ी बुराई है हम एक दूसरे को नीचा दिखाने के लिए एक दूसरे की टांग खींचने में माहिर हैं हमारा लोग लालच स्वार्थ खुदगर्जी जगजाहिर है जख्म को हाथ है इसलिए सबसे पहले हमको यह ध्यान रखना चाहिए कि हमें दूसरों की बुराइयों में नहीं पड़ना चाहिए जितने जैसा किया है वह अपने आप उसका भुगतान करेगा तो आपको दूसरों की बुराइयां सुनने के लिए कभी भी इंटरेस्टेड नहीं रहना चाहिए जो हम बाकी लोगों की ज्यादा आदत है हम कहीं भी बैठ जाएंगे तो एक दूसरे की आलोचना एक दूसरे की टांग खिंचाई में लगे रहते हैं या औरतों को भी यह देखा है यह मद भागवत सुनने जाती हैं लेकिन वहां भी इनकी संसार एकता हावी रहती है घरवाले समझते हैं कि मद भागवत श्रवण करने गई है किंतु वहां पर जाकर के b.a. पास पहुंच सास ननंद और दूसरी स्त्री पुरुषों की बुराइयों में संलग्न में रहती है जो अनुच्छेद में एक दूसरे की बुराइयां करने से कुछ नहीं मिलेगा बेहतर यह है कि हम अपने अंदर के दिमाग को जागृत करें जितना हो सके दूसरों को प्रसन्नता का कारण बने दूसरों की खुशियों का कारण बने दूसरों को सहयोग करें दूसरों को आगे बढ़ाएं क्योंकि आगे बढ़ेगा तो हम भी आगे बढ़ेंगे सब की खुशी में ही हमारी खुशी संग समाहित हैं सभी की प्रसन्नता में ही हमारी प्रसन्नता समाहित है सभी की भलाई सभी की शुभकामनाओं में ही हमारी शुभकामना समाहित हैं इसलिए हमें एक दूसरे की टांग खिंचाई कदापि नहीं करनी चाहिए मिलजुल कर के प्रेम पूर्वक संसार में जीने के लिए ही भगवान भेजा है और एक दूसरे की सेवा सहायता करते हुए हमें जीना चाहिए
Bhaarateey logon mein ek sabase badee buraee hai ham ek doosare ko neecha dikhaane ke lie ek doosare kee taang kheenchane mein maahir hain hamaara log laalach svaarth khudagarjee jagajaahir hai jakhm ko haath hai isalie sabase pahale hamako yah dhyaan rakhana chaahie ki hamen doosaron kee buraiyon mein nahin padana chaahie jitane jaisa kiya hai vah apane aap usaka bhugataan karega to aapako doosaron kee buraiyaan sunane ke lie kabhee bhee intarested nahin rahana chaahie jo ham baakee logon kee jyaada aadat hai ham kaheen bhee baith jaenge to ek doosare kee aalochana ek doosare kee taang khinchaee mein lage rahate hain ya auraton ko bhee yah dekha hai yah mad bhaagavat sunane jaatee hain lekin vahaan bhee inakee sansaar ekata haavee rahatee hai gharavaale samajhate hain ki mad bhaagavat shravan karane gaee hai kintu vahaan par jaakar ke b.a. paas pahunch saas nanand aur doosaree stree purushon kee buraiyon mein sanlagn mein rahatee hai jo anuchchhed mein ek doosare kee buraiyaan karane se kuchh nahin milega behatar yah hai ki ham apane andar ke dimaag ko jaagrt karen jitana ho sake doosaron ko prasannata ka kaaran bane doosaron kee khushiyon ka kaaran bane doosaron ko sahayog karen doosaron ko aage badhaen kyonki aage badhega to ham bhee aage badhenge sab kee khushee mein hee hamaaree khushee sang samaahit hain sabhee kee prasannata mein hee hamaaree prasannata samaahit hai sabhee kee bhalaee sabhee kee shubhakaamanaon mein hee hamaaree shubhakaamana samaahit hain isalie hamen ek doosare kee taang khinchaee kadaapi nahin karanee chaahie milajul kar ke prem poorvak sansaar mein jeene ke lie hee bhagavaan bheja hai aur ek doosare kee seva sahaayata karate hue hamen jeena chaahie

#जीवन शैली

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:18
किसी के पास जाकर के आपको निराशा और हताशा कौन बातें नहीं करनी चाहिए हमेशा उसे प्रोत्साहित करने के लिए और हमेशा ही उसे उत्तम शुभकामनाओं के साथ पर्व की भावनाएं व्यक्त करनी चाहिए सब तो चेन पर विशेष ध्यान देना चाहिए किसी को निराश्रित करने के लिए किसी को हटा चित करने के लिए आप वहां नहीं गए हैं आप उसको सब कुशल समाचार लेने के लिए गए हैं आप उस को प्रोत्साहित करने के लिए गए हैं आप उसे जीने की प्रेरणा देने के लिए गए हैं लेकिन लोग अक्सर रूप में बाल सफेद कर लेते हैं और वह जाकर के ऐसी बातें करती है जिससे रूबी को भी यह लगता है कि कार्तिक जब मुलाकात नहीं होती तो कहीं अच्छा होता तो किसी को न राष्ट्र करना किसी को आधारित करना किसी को परेशान करना किसी को दुख देना हम सब का कर्तव्य नहीं है हम सब एक दूसरे की सेवा सहायता करें एक दूसरे को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करें यह हमारी कार्य होने चाहिए
Kisee ke paas jaakar ke aapako niraasha aur hataasha kaun baaten nahin karanee chaahie hamesha use protsaahit karane ke lie aur hamesha hee use uttam shubhakaamanaon ke saath parv kee bhaavanaen vyakt karanee chaahie sab to chen par vishesh dhyaan dena chaahie kisee ko niraashrit karane ke lie kisee ko hata chit karane ke lie aap vahaan nahin gae hain aap usako sab kushal samaachaar lene ke lie gae hain aap us ko protsaahit karane ke lie gae hain aap use jeene kee prerana dene ke lie gae hain lekin log aksar roop mein baal saphed kar lete hain aur vah jaakar ke aisee baaten karatee hai jisase roobee ko bhee yah lagata hai ki kaartik jab mulaakaat nahin hotee to kaheen achchha hota to kisee ko na raashtr karana kisee ko aadhaarit karana kisee ko pareshaan karana kisee ko dukh dena ham sab ka kartavy nahin hai ham sab ek doosare kee seva sahaayata karen ek doosare ko aage badhane ke lie prerit karen yah hamaaree kaary hone chaahie

#जीवन शैली

bolkar speaker
क्या समय की चाल को बदला जा सकता है?Kya Samye Ki Chaal Ko Badla Ja Sakta Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
4:27
आप समय की चाल को बदल तो नहीं सकते लेकिन हम ब्लॉक कर दे सकते हो और हर इंसान को इस संसार में जन्म लेकर कि खाना पीना है और शोला और शक्ति को आगे बढ़ाना है उनका कबूल करते भी नहीं है क्योंकि एक संस्कृति मंत्री जी महान नित्य कभी रही हैं उन्होंने लिखा है कि आहार निद्रा भय मैच मंच सामान्य तपस्वी नारायण बुद्धि की देर शाम अधिक को विशेषण सैनी भी ना बस बस जमाना खाना-पीना दी को पैदा करना और सुना यह सब तो इंसानों में समान होते हैं किंतु मानव में बुद्धि ही होती है जो से पशुओं से भिन्नता यदि उसको भी बेहतरीन से भी रहते हैं तो निश्चित मानो उस में पशुओं में कोई अंतर नहीं है पशु के समान ही जीवन की कथा हम संसार में आएंगे तो कुछ ऐसी कार्य करके जाएंगे जिनसे लोग हमारे जाने के बाद भी याद करें यह समय पर अपनी छाप छोड़ना होता है आप समय पर आज ही छात्र छोड़कर जाएगी जिससे लोग आपको याद करते रहे आप के पर्व को याद करते रहें और हमेशा आप अविस्मरणीय बने रहें जिससे अब आप देखिए कि हमारे देश को जिन्होंने स्वतंत्र कराया अमर शहीद सरदार भगत सिंह चंद्रशेखर आजाद रामप्रसाद बिस्मिल जैसे महान शहीदों ने अपनी जान देकर के इनाम को भारतीय इतिहास में अविस्मरणीय बना दिया है हमेशा उनको याद किया जाता रहेगा हमारी भारत की तो देशभक्त लोगों की पीढ़ियां हैं जो वफादार हैं जो देश को निष्ठा पूर्वक टाइम करते हैं जो देश को चाहते हैं जो देश की उन्नति चाहते हैं जिनमें देशभक्ति भरी हुई है ऐसे लोग उन्हें कभी नहीं भूल पाएंगे उनकी पीढ़ी अभी उनको याद करते रहेंगे तो उन्होंने ऐसी कार्यों की अपनी छाप छोड़ी है जिसको समय कभी नहीं छुपा सकेगा और हमें हमेशा ही उनको याद करता रहेगा ऐसे ही कार्य करने चाहिए ऐसे ही कार्य करने के लिए सेवा भाव के साथ जीने के लिए दूसरों के हित करने के लिए ही आप को भगवान ने जन्म दिया है और वह चाहता है कि प्रत्येक मानव दूसरे मानव के साथ मिलजुल कर के रहे प्रेम पूर्वक रहे भाई चारे के साथ रहे एक दूसरे की सेवा सहायता करें इसे ही देवत्व कहते हैं कभी इस संबंध में बहुत अच्छा कहा कभी कबीरा जब हम पैदा हुए जग हंसे हम रोए और ऐसी करनी कर चलो कि हम हंसे जग रोए और इन्हीं शब्दों को मानव मात्र की सेवा करने के लिए मानव मात्र की भलाई करने के लिए मानव मात्र का उपकार करने के लिए मानव मात्र के हितों की रक्षा करने के लिए ही राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त ने भी प्रेरित किया है उनके शब्दों में विचार लो कि मृत्यु हो न मृत्यु से डरो कभी मरो परंतु यू मारो की याद तो करें अभी तुम अपनी समय पर बैठक छोड़कर जाओ जिससे युवक तुमको कभी तो मिलना बना सके कभी तुम्हारे नाम को छुपाना सके तुम्हारा नाम बैंक कावट मंडी हस्ताक्षर बंद करके लोगों को प्रेरित करता है लोगों को एक पर प्रदर्शन करता रहे
Aap samay kee chaal ko badal to nahin sakate lekin ham blok kar de sakate ho aur har insaan ko is sansaar mein janm lekar ki khaana peena hai aur shola aur shakti ko aage badhaana hai unaka kabool karate bhee nahin hai kyonki ek sanskrti mantree jee mahaan nity kabhee rahee hain unhonne likha hai ki aahaar nidra bhay maich manch saamaany tapasvee naaraayan buddhi kee der shaam adhik ko visheshan sainee bhee na bas bas jamaana khaana-peena dee ko paida karana aur suna yah sab to insaanon mein samaan hote hain kintu maanav mein buddhi hee hotee hai jo se pashuon se bhinnata yadi usako bhee behatareen se bhee rahate hain to nishchit maano us mein pashuon mein koee antar nahin hai pashu ke samaan hee jeevan kee katha ham sansaar mein aaenge to kuchh aisee kaary karake jaenge jinase log hamaare jaane ke baad bhee yaad karen yah samay par apanee chhaap chhodana hota hai aap samay par aaj hee chhaatr chhodakar jaegee jisase log aapako yaad karate rahe aap ke parv ko yaad karate rahen aur hamesha aap avismaraneey bane rahen jisase ab aap dekhie ki hamaare desh ko jinhonne svatantr karaaya amar shaheed saradaar bhagat sinh chandrashekhar aajaad raamaprasaad bismil jaise mahaan shaheedon ne apanee jaan dekar ke inaam ko bhaarateey itihaas mein avismaraneey bana diya hai hamesha unako yaad kiya jaata rahega hamaaree bhaarat kee to deshabhakt logon kee peedhiyaan hain jo vaphaadaar hain jo desh ko nishtha poorvak taim karate hain jo desh ko chaahate hain jo desh kee unnati chaahate hain jinamen deshabhakti bharee huee hai aise log unhen kabhee nahin bhool paenge unakee peedhee abhee unako yaad karate rahenge to unhonne aisee kaaryon kee apanee chhaap chhodee hai jisako samay kabhee nahin chhupa sakega aur hamen hamesha hee unako yaad karata rahega aise hee kaary karane chaahie aise hee kaary karane ke lie seva bhaav ke saath jeene ke lie doosaron ke hit karane ke lie hee aap ko bhagavaan ne janm diya hai aur vah chaahata hai ki pratyek maanav doosare maanav ke saath milajul kar ke rahe prem poorvak rahe bhaee chaare ke saath rahe ek doosare kee seva sahaayata karen ise hee devatv kahate hain kabhee is sambandh mein bahut achchha kaha kabhee kabeera jab ham paida hue jag hanse ham roe aur aisee karanee kar chalo ki ham hanse jag roe aur inheen shabdon ko maanav maatr kee seva karane ke lie maanav maatr kee bhalaee karane ke lie maanav maatr ka upakaar karane ke lie maanav maatr ke hiton kee raksha karane ke lie hee raashtrakavi maithileesharan gupt ne bhee prerit kiya hai unake shabdon mein vichaar lo ki mrtyu ho na mrtyu se daro kabhee maro parantu yoo maaro kee yaad to karen abhee tum apanee samay par baithak chhodakar jao jisase yuvak tumako kabhee to milana bana sake kabhee tumhaare naam ko chhupaana sake tumhaara naam baink kaavat mandee hastaakshar band karake logon ko prerit karata hai logon ko ek par pradarshan karata rahe

#रिश्ते और संबंध

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:35
तेरी उम्र विशिष्ट पता है बालक होता है बचपन के बस्ता होती है किशोर अवस्था होती है तब तक तो से खेलने खाने से फुर्सत नहीं होती है जैसे ही वह युवा होता है तो उसे इंद्रियों का सुखदेव लेता है और रूप रस गंध स्पर्श में इतना मगन हो जाता है कि उसे कुछ सोचने को अक्सर ही नहीं मिलता है भुताचा किसके आनंद में विवो जाता है कभी आकर्षण ने कभी कृष्ण में निरंतर युवा घिरा रहता है लेकिन जैसे ही वह 50 को क्रॉस करने लगता है 50 प्लस होने लगता है तो उसे वृद्धावस्था खेलने लगती है उसे अपने अतीत के दिन याद आते रहते हैं वृद्धावस्था में तुमने देखा होगा अक्सर लोग अपनी पिछली बातों को बारे में चर्चा करते रहते हैं हम ऐसे थे हमेशा करते थे हमेशा करते थे तुम बहुत सारी क्योंकि उनकी वह स्मृतियां हैं उनको जीवन सजे हुए हैं उनको यादें चलाती रहती हैं उन्हीं के आधार पर देश चंदा है क्योंकि अब टिप टिप ब्लास्ट हो जाने के पश्चात में उनकी इंद्रियां तो एकदम दिल हो जाती हैं धीरे-धीरे उनके विचार भी चिकन होने लगते हैं मैं मोदी भी कम होने लगती है तब वह पिछली बातों को याद करके ही अपने समय गुजारते हैं
Teree umr vishisht pata hai baalak hota hai bachapan ke basta hotee hai kishor avastha hotee hai tab tak to se khelane khaane se phursat nahin hotee hai jaise hee vah yuva hota hai to use indriyon ka sukhadev leta hai aur roop ras gandh sparsh mein itana magan ho jaata hai ki use kuchh sochane ko aksar hee nahin milata hai bhutaacha kisake aanand mein vivo jaata hai kabhee aakarshan ne kabhee krshn mein nirantar yuva ghira rahata hai lekin jaise hee vah 50 ko kros karane lagata hai 50 plas hone lagata hai to use vrddhaavastha khelane lagatee hai use apane ateet ke din yaad aate rahate hain vrddhaavastha mein tumane dekha hoga aksar log apanee pichhalee baaton ko baare mein charcha karate rahate hain ham aise the hamesha karate the hamesha karate the tum bahut saaree kyonki unakee vah smrtiyaan hain unako jeevan saje hue hain unako yaaden chalaatee rahatee hain unheen ke aadhaar par desh chanda hai kyonki ab tip tip blaast ho jaane ke pashchaat mein unakee indriyaan to ekadam dil ho jaatee hain dheere-dheere unake vichaar bhee chikan hone lagate hain main modee bhee kam hone lagatee hai tab vah pichhalee baaton ko yaad karake hee apane samay gujaarate hain

#जीवन शैली

bolkar speaker
क्या बाहरी सिंगार से मनुष्य के आंतरिक व्यक्तित्व की पहचान की जा सकती है?Kya Bahari Singaar Se Manushy Ke Aantarik Vyaktitv Kee Pehechan Kee Ja Sakti Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
4:31
साइकोलॉजी उसको तुरंत हटा देती है कि इस व्यक्ति इतना तो है कितना शुगर है और कितना समझदार है तो किस उसकी पेंशन की स्टाइल होती हैं उस सारे उसके व्यक्तित्व को अपने आप कॉल करके रख देती हैं अब आप देखिए कि राजस्थान में गुर्जर नाम की जाती है जहां पर आप बांसुरी करेंगे किस बात का कि उनमें अधिकांश नब्बे परसेंट लो ओल्ड इस पर पहुंचाने के पश्चात भी जैसी अच्छी और 90 साल की अवस्था तक मैं भी अपनी मूंछों को और बालों को काला करते हैं अब तुम सोचो दाढ़ी के बाल झड़ कुछ बोल रही हो ऊपर से तुमने काला रंग दिया क्या संकेत दे रहा है अर्थात यदि व्यक्ति अपनी उम्र की सीमाओं को आज स्वीकार करने को तैयार नहीं है इसके अंतर्गत की जो भाव अंदर जो मन की भावनाएं हैं वह अभी भी जवान बनी हुई है ताकि उम्र को चैलेंज कर रहे हैं और जो भी टी अदर जातियों में देखेंगे अगर लोग देखेंगे जब 50 के क्रॉस कर जा कर जाते हैं और क्यों हो जाते हैं तो वे अपने आप को प्रकृति के अनुसार चीनी का अध्यक्ष बना लेते हैं क्योंकि वह जानते हैं इस बात को उम्र को को किसी भी हालात में छुपा नहीं सकते इस मानव को देखिए आप मानव को भगवान भी समझाने के लिए समय-समय पर बहुत कुछ दिया है यह हमारे बुजुर्ग लोग हमारे जो पूर्वज कौन थे जो ऋषि तपस्वी थे उन लोगों ने जो चार आश्रम बनाए हैं वह बहुत सोच समझकर गंभीरता को ध्यान में रखते हुए बनाए हैं क्योंकि 1 से 25 वर्ष तक की उम्र जो होती है वह अध्ययन कॉल होती है ब्रह्मचारी का अवस्था होती है उसमें आदमी को मन लगाकर के एबिलिटी क्वालिटी की समाधि प्राप्त करनी चाहिए और क्वालिफाइड बनना चाहिए 26 और 50 वर्ष ग्रस्त आश्रम के लिए दिए हैं और 51 से 75 वर्ष जो होता है वह वानप्रस्थाश्रम होता है अर्थात उस अवस्था में मानव को समाज की परोपकार के कार्य जनहित के कार्य जल्द सेवा के कार्य देश विकास के कार्यकारी समाज विकास के कार्य करनी चाहिए और क्षेत्र से 100 वर्ष की अवस्था में पोषण या छात्र में अर्थात जितना वह बंदना जी को सब को त्याग करके सिर्फ इनकी ध्यान ईश्वर के भजन कीर्तन मंडल में लगाना चाहिए लेकिन आज का मानव उम्र की सीमाओं को स्वीकार नहीं कर रहा है आप देखते हैं कि जब 50 बस का आदमी होने लगता है तो उसके बाल सफेद होने लगते हैं लेकिन किस मानव ने उस उम्र को छुपाने के लिए बालों को काला करना चालू कर दिया फिर जब उससे 308 को क्रॉस करने लगता है तो की कान सुनने की शक्ति कम होने लगती है तो उस दिन तुमने सुनने की मशीन बनानी है जैसे ही साथ को क्रॉस करने लगता है उसके दांत कम कमजोर होकर के दांत पर जाने चालू हो जाते हैं तो मानव ने नई बत्तीसी लगाना चालू कर दिया जैसे ही आई साइड कमजोर होती है मानव की तो मानव में चश्मा लगाना चालू कर दिया मानव को भगवान ने बार बार चेताया कि तेरी अवस्था क्रॉस हो चुकी है तू मेरी तरफ मुड़ भगवान का भजन जानकर लेकिन यह मानव कभी भी अपनी उम्र की सीमाओं को मानने को तैयार नहीं होता है परिणाम स्वरूप अंतिम अवस्था पर पहुंचकर कि वह मर जाता है लेकिन संसार की इस इंद्रियों के सुखों में लिप्त रहता है और विभिन्न भागों को भोक्ता हुआ बिट्टू को प्राप्त करता है तो साइकोलॉजी आदमी के व्यक्तित्व को बिना बोले ही उसके बना सिंगार से उसके एक्टिविटी से उसके उसको सारी खुशबू कर देती है
Saikolojee usako turant hata detee hai ki is vyakti itana to hai kitana shugar hai aur kitana samajhadaar hai to kis usakee penshan kee stail hotee hain us saare usake vyaktitv ko apane aap kol karake rakh detee hain ab aap dekhie ki raajasthaan mein gurjar naam kee jaatee hai jahaan par aap baansuree karenge kis baat ka ki unamen adhikaansh nabbe parasent lo old is par pahunchaane ke pashchaat bhee jaisee achchhee aur 90 saal kee avastha tak main bhee apanee moonchhon ko aur baalon ko kaala karate hain ab tum socho daadhee ke baal jhad kuchh bol rahee ho oopar se tumane kaala rang diya kya sanket de raha hai arthaat yadi vyakti apanee umr kee seemaon ko aaj sveekaar karane ko taiyaar nahin hai isake antargat kee jo bhaav andar jo man kee bhaavanaen hain vah abhee bhee javaan banee huee hai taaki umr ko chailenj kar rahe hain aur jo bhee tee adar jaatiyon mein dekhenge agar log dekhenge jab 50 ke kros kar ja kar jaate hain aur kyon ho jaate hain to ve apane aap ko prakrti ke anusaar cheenee ka adhyaksh bana lete hain kyonki vah jaanate hain is baat ko umr ko ko kisee bhee haalaat mein chhupa nahin sakate is maanav ko dekhie aap maanav ko bhagavaan bhee samajhaane ke lie samay-samay par bahut kuchh diya hai yah hamaare bujurg log hamaare jo poorvaj kaun the jo rshi tapasvee the un logon ne jo chaar aashram banae hain vah bahut soch samajhakar gambheerata ko dhyaan mein rakhate hue banae hain kyonki 1 se 25 varsh tak kee umr jo hotee hai vah adhyayan kol hotee hai brahmachaaree ka avastha hotee hai usamen aadamee ko man lagaakar ke ebilitee kvaalitee kee samaadhi praapt karanee chaahie aur kvaaliphaid banana chaahie 26 aur 50 varsh grast aashram ke lie die hain aur 51 se 75 varsh jo hota hai vah vaanaprasthaashram hota hai arthaat us avastha mein maanav ko samaaj kee paropakaar ke kaary janahit ke kaary jald seva ke kaary desh vikaas ke kaaryakaaree samaaj vikaas ke kaary karanee chaahie aur kshetr se 100 varsh kee avastha mein poshan ya chhaatr mein arthaat jitana vah bandana jee ko sab ko tyaag karake sirph inakee dhyaan eeshvar ke bhajan keertan mandal mein lagaana chaahie lekin aaj ka maanav umr kee seemaon ko sveekaar nahin kar raha hai aap dekhate hain ki jab 50 bas ka aadamee hone lagata hai to usake baal saphed hone lagate hain lekin kis maanav ne us umr ko chhupaane ke lie baalon ko kaala karana chaaloo kar diya phir jab usase 308 ko kros karane lagata hai to kee kaan sunane kee shakti kam hone lagatee hai to us din tumane sunane kee masheen banaanee hai jaise hee saath ko kros karane lagata hai usake daant kam kamajor hokar ke daant par jaane chaaloo ho jaate hain to maanav ne naee batteesee lagaana chaaloo kar diya jaise hee aaee said kamajor hotee hai maanav kee to maanav mein chashma lagaana chaaloo kar diya maanav ko bhagavaan ne baar baar chetaaya ki teree avastha kros ho chukee hai too meree taraph mud bhagavaan ka bhajan jaanakar lekin yah maanav kabhee bhee apanee umr kee seemaon ko maanane ko taiyaar nahin hota hai parinaam svaroop antim avastha par pahunchakar ki vah mar jaata hai lekin sansaar kee is indriyon ke sukhon mein lipt rahata hai aur vibhinn bhaagon ko bhokta hua bittoo ko praapt karata hai to saikolojee aadamee ke vyaktitv ko bina bole hee usake bana singaar se usake ektivitee se usake usako saaree khushaboo kar detee hai

#खेल कूद

bolkar speaker
किसी के दिमाग से खेलने की क्या उदाहरण है?Kisi Ke Dimaag Se Khelne Ka Kya Udahran Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
0:58
संपादित कैंपों में क्या प्रशिक्षण दिया जाता है अर्थात वहां पर उसके दिमाग का ब्रेनवाश किया जाता है और वैसे भी कहते हैं कि किसी एक ग्रुप को जब तुम सो बार बोलते हो ना शक्ति के बराबर बन जाती है लोग उसे सच मानने लगते हैं या अंधविश्वास सब इसी पर आधारित होते हैं कुर्तियां देखेंगे आप तो सब इसी पर आधारित होती हैं तो आज का जो इंसान है जो चतुर चालाक लोग को अधिकतम ब्रेनवाश करते हैं क्योंकि दूसरे को जब आप कंट्री यस एकजुट हो या गलत को उसके दिमाग में भर्ती करने का प्रयास करते हैं तो आखिर जो चतुर चालाक होती है मुझको प्रीत करने में समर्थ हो जाते हैं यह किसी के दिमाग से खेलने के उदाहरण हैं
Sampaadit kaimpon mein kya prashikshan diya jaata hai arthaat vahaan par usake dimaag ka brenavaash kiya jaata hai aur vaise bhee kahate hain ki kisee ek grup ko jab tum so baar bolate ho na shakti ke baraabar ban jaatee hai log use sach maanane lagate hain ya andhavishvaas sab isee par aadhaarit hote hain kurtiyaan dekhenge aap to sab isee par aadhaarit hotee hain to aaj ka jo insaan hai jo chatur chaalaak log ko adhikatam brenavaash karate hain kyonki doosare ko jab aap kantree yas ekajut ho ya galat ko usake dimaag mein bhartee karane ka prayaas karate hain to aakhir jo chatur chaalaak hotee hai mujhako preet karane mein samarth ho jaate hain yah kisee ke dimaag se khelane ke udaaharan hain
URL copied to clipboard