#कुछ अलग

bolkar speaker
यदि कोई झूठा इल्जाम लगाए और सब उसका साथ दें ऐसे में क्या करना चाहिए?Yadi Koee Jhootha Iljaam Lagae Aur Sab Usaka Saath Den Aise Mein Kya Karana Chaahie
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
2:06

#कुछ अलग

bolkar speaker
श्रीमद भगवत गीता को विद्यालयों में क्यों नहीं पढ़ाया जाता है?Shreemad Bhagvat Geeta Ko Vidyalayon Mein Kyon Nahin Padhaya Jaata Hai
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
1:00

#कुछ अलग

bolkar speaker
क्या मुस्लिम भी भगवान शंकर की पूजा करते हैं?Kya Muslim Bhee Bhagavaan Shankar Kee Pooja Karate Hain
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
1:46

#कुछ अलग

bolkar speaker
यथा नाम तथा गुण अर्थ बताओ?Yatha Naam Tatha Gun Arth Batao
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
2:53

#कुछ अलग

bolkar speaker
खग का अर्थ बताओ?Khag Ka Arth Batao
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
0:57

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
हमारे समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ती जा रही है?Humare Samaj Mein Itni Gandagi Kyun Badhti Ja Rahi Hai
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
1:07

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
कौन है हिंदू धर्म के संस्थापक ?Kaun Hai Hindoo Dharm Ke Sansthaapak
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
1:09

#धर्म और ज्योतिषी

harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
0:18

#कुछ अलग

bolkar speaker
राष्ट्रीय वृक्ष किसे माना जाता है?Raashtreey Vrksh Kise Maana Jaata Hai
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
0:34

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
अयोध्या में भगवान राम की मूर्ति का आकार क्या है?Ayodhaya Mei Bhagwan Ram Ki Muarthi Ka Aakar Kya Hai
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
1:13
जितनी में बना लो उतनी ठीक है क्योंकि वहां चलेगा तो केवल एक ही है ना से हम कभी बॉर्डर पर लगाते हैं हम कभी किसी मृतक फौजी के 11 सॉलिड लपेट ते हैं लेकिन ऐसे चाहिए नहीं जिसके साथ रह करके आज हम सुकून में हैं अरे समझ लो कि वह उस समय उस जगह ड्यूटी कर रहे हैं जहां से आपको एक लक्ष्य कभी भेज दो ना पाए धन्यवाद
Jitanee mein bana lo utanee theek hai kyonki vahaan chalega to keval ek hee hai na se ham kabhee bordar par lagaate hain ham kabhee kisee mrtak phaujee ke 11 solid lapet te hain lekin aise chaahie nahin jisake saath rah karake aaj ham sukoon mein hain are samajh lo ki vah us samay us jagah dyootee kar rahe hain jahaan se aapako ek lakshy kabhee bhej do na pae dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
अगर ज्ञान तृप्ति है तो परम ज्ञान क्या है?Agar Gyan Tripti Hai To Param Gyan Kya Hai
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
3:41
संसार के किस मूर्ख ने कहा था कि ज्ञान तृप्ति है वास्तविकता यह है कि इंसान कितना भी बुद्धिमान और ज्ञान प्रति व्यक्ति क्यों ना हो जाए परंतु ज्ञान कभी पूरा नहीं होता जिस प्रकार से ज्ञान पूर्ण नहीं होता उसी प्रकार से इंसान की जिज्ञासा ए भी पूर्ण नहीं होती और जब जिज्ञासा है पूरा नहीं है तो फिर तृप्ति कहां है आपने पूछा है कि अगर ज्ञान तृप्ति है तो परमात्मा क्या है अब परमात्मा के बारे में सोचो वह आत्मा जो परम ज्ञान को प्राप्त करके स्वयं में एक ऐसी आत्मा बनी है जो परम है वही परमात्मा है परमात्मा वह है जो हर आत्माओं से भिन्न है जो एक आत्मा पैदा कर सकती है जैसे कि अगर कोई साइकिल साइकिल बनाना किसी को आ गया तो क्या वह एक साइकिल बनाएगा जैसी बाते वह फैक्ट्री खोल लेगा एक से अधिक साइकिल बनाएगा एक से अधिक अधिक जो है वह अपने कार्यों को बढ़ाएगा तो परम ज्ञान केवल प्रेम हैं प्रेम ही एक ऐसा शब्द है जो हर जगह इस्तेमाल करो तो भी ठीक है मात्र प्रेम चित्र प्रेम और तमाम तरीके के ऐसे संबंध जिसमें प्रेम शब्द को जोड़ा जाए तो भी गलत नहीं है लेकिन इंसान किस समय समझ कर फिर है और परम ज्ञान एक ऐसा सत्य है जिसका सत्यता जानने के लिए इंसान को एक बार तो जरूर अपनी अंतरात्मा में झांक कर कुछ कुछ दिन तक उचित रहना पड़ेगा कि ज्योतिष क्योंकि ज्योतिष विज्ञान या कहता है यह अपनी जिंदगी अपने ही चीजों को जलाकर के नया ज्ञान प्राप्त किया जा सकता है क्योंकि कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है यदि आप परमात्मा के परम ज्ञान को देखो तो उदाहरण था यही है संजय के समान सत्य बोलो अर्जुन के समान हमेशा दिन संकल्पित रहो और जो विदुर थे उनके सामान सत्य बोलने का प्रयास करो धन्यवाद तो आपको परमात्मा मिलेगा परमात्मा वही है जहां सच है वही परमात्मा है क्योंकि कबीर दास जी ने कहा था कि जहां में मैं था तब हरि नहीं हम हैं हैं हम हैं अब हरि नहीं यहीं हूं कहीं कि जब मैं था तब हरि नहीं अब हरि हैं हम ना आएं धन्यवाद
Sansaar ke kis moorkh ne kaha tha ki gyaan trpti hai vaastavikata yah hai ki insaan kitana bhee buddhimaan aur gyaan prati vyakti kyon na ho jae parantu gyaan kabhee poora nahin hota jis prakaar se gyaan poorn nahin hota usee prakaar se insaan kee jigyaasa e bhee poorn nahin hotee aur jab jigyaasa hai poora nahin hai to phir trpti kahaan hai aapane poochha hai ki agar gyaan trpti hai to paramaatma kya hai ab paramaatma ke baare mein socho vah aatma jo param gyaan ko praapt karake svayan mein ek aisee aatma banee hai jo param hai vahee paramaatma hai paramaatma vah hai jo har aatmaon se bhinn hai jo ek aatma paida kar sakatee hai jaise ki agar koee saikil saikil banaana kisee ko aa gaya to kya vah ek saikil banaega jaisee baate vah phaiktree khol lega ek se adhik saikil banaega ek se adhik adhik jo hai vah apane kaaryon ko badhaega to param gyaan keval prem hain prem hee ek aisa shabd hai jo har jagah istemaal karo to bhee theek hai maatr prem chitr prem aur tamaam tareeke ke aise sambandh jisamen prem shabd ko joda jae to bhee galat nahin hai lekin insaan kis samay samajh kar phir hai aur param gyaan ek aisa saty hai jisaka satyata jaanane ke lie insaan ko ek baar to jaroor apanee antaraatma mein jhaank kar kuchh kuchh din tak uchit rahana padega ki jyotish kyonki jyotish vigyaan ya kahata hai yah apanee jindagee apane hee cheejon ko jalaakar ke naya gyaan praapt kiya ja sakata hai kyonki kuchh paane ke lie kuchh khona padata hai yadi aap paramaatma ke param gyaan ko dekho to udaaharan tha yahee hai sanjay ke samaan saty bolo arjun ke samaan hamesha din sankalpit raho aur jo vidur the unake saamaan saty bolane ka prayaas karo dhanyavaad to aapako paramaatma milega paramaatma vahee hai jahaan sach hai vahee paramaatma hai kyonki kabeer daas jee ne kaha tha ki jahaan mein main tha tab hari nahin ham hain hain ham hain ab hari nahin yaheen hoon kaheen ki jab main tha tab hari nahin ab hari hain ham na aaen dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
कौन मोदी जी के पहले कौन प्रधानमंत्री था?Kaun Modi Ji Ke Pehle Kaun Pradhanmantri Tha
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
0:32
अब तो अपने प्रश्न ही कुछ ऐसा पूछा है वह समझने के लिए सबसे पहले यह है कि आपने गलत लिखा है दूसरी बात कि आपने क्या लिखा है यह केवल आप बता सकते हो उस टाइम मिले मेरे हिसाब से आपने यह लिखा कौन सा प्रधानमंत्री मोदी से पहले कौन प्रधानमंत्री था तो थे मनमोहन जो 10 साल प्रधानमंत्री थे धन्यवाद
Ab to apane prashn hee kuchh aisa poochha hai vah samajhane ke lie sabase pahale yah hai ki aapane galat likha hai doosaree baat ki aapane kya likha hai yah keval aap bata sakate ho us taim mile mere hisaab se aapane yah likha kaun sa pradhaanamantree modee se pahale kaun pradhaanamantree tha to the manamohan jo 10 saal pradhaanamantree the dhanyavaad

#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker
लड़कियों का दिल किस प्रकार से जीता जा सकता है?Ladakiyo Ka Dil Kis Prakar Se Jeta Ja Sakta Hai
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
1:01
व्हिच इज की छोटी बड़ी जरूरतों को पूरा करना अथवा किसी को किसी का बाल पसंद किसी से कर दाल पसंद किसी की चाल पसंद किसी को किसी का सब कुछ में किसी ना किसी एक अदा को तो पसंद है इंसान करता ही है ठीक है लेकिन अगर आपको वास्तविकता दिल जीतना है तो दिल जीतने के दोहे प्रारूप होते हैं या उसमें बैठ जाओ या फिर उसमें इन जाओ भेड़िया फिल्म देने का मतलब यह होता है कि उसके सारी जरूरतों को पूरा करने के लिए आपके पास अभी अभी समय है तो उसे पूरा समय दे वह आपके लिए एक दिन ऐसे समय लेकर आएगा कि ऐसा समय देखने के लिए आपकी आंखें फटी तो रह जाएंगी परंतु आप एहसास नहीं कर सकते क्या ऐसा भी हो सकता है मैंने साल कट में कहा आप लोग समझो क्योंकि मैं परिवार में हूं
Vhich ij kee chhotee badee jarooraton ko poora karana athava kisee ko kisee ka baal pasand kisee se kar daal pasand kisee kee chaal pasand kisee ko kisee ka sab kuchh mein kisee na kisee ek ada ko to pasand hai insaan karata hee hai theek hai lekin agar aapako vaastavikata dil jeetana hai to dil jeetane ke dohe praaroop hote hain ya usamen baith jao ya phir usamen in jao bhediya philm dene ka matalab yah hota hai ki usake saaree jarooraton ko poora karane ke lie aapake paas abhee abhee samay hai to use poora samay de vah aapake lie ek din aise samay lekar aaega ki aisa samay dekhane ke lie aapakee aankhen phatee to rah jaengee parantu aap ehasaas nahin kar sakate kya aisa bhee ho sakata hai mainne saal kat mein kaha aap log samajho kyonki main parivaar mein hoon

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
हम अपने नेट अकाउंट को हैकिंग से कैसे बचाएं?Hum Apne Net Account Ko Hacking Se Kaise Bachaye
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
2:40
लेकिन आपने नेट अकाउंट को हैकिंग से कैसे बचाएं के लिए केवल 3 शब्दों का इस्तेमाल करें तो ज्यादा ठीक है बेशक हमें टाइम ज्यादा मिला है लेकिन मैं सोचता हूं कि वो टाइम बहुत है जवाब देने से यानी लंबा खींचने से अच्छा है कि शॉर्टकट में बता दो जगह ठीक है बुद्धिमता और बुद्धिमान व्यक्ति हमेशा समझ लेते हैं जैसे कि नेट बैंकिंग अगर हम कर रहे हैं तो सबसे पहले एक बात यह है कि किसी भी लिंक पर कभी भी अपनी अंगुली को ना छुआ है या उस पर ना जाएं दूसरी बात अगर नेट बैंकिंग हम आप कर रहे हैं हमेशा इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि अपने मोबाइल का प्रयोग ना करके अपने बैंक से सीधा संपर्क करें जो भी लेनदेन हो जहां तक हो सके तो बैंक से करें तो ज्यादा ठीक है बट समय नहीं मिलता तो उसके लिए कंगाल और है कि हम नेट बैंकिंग करने के अनुरूप उस बात को तुरंत ध्यान करें कि हमने आपको दिया कितना है और हमने आपसे लिया कितना है इस बात की एक प्रति अपने पास रखे की लेनदेन उस दिन में कितना हुआ है दस्तखत सहित यानि कि सिग्नेचर सहित हर एक चीज अपने रिकॉर्ड में रखें अगर नहीं रखेंगे तो आप जानू आपका काम करें लेकिन अगर नेट चलाते हो तो परमात्मा ने हमें 24 घंटे दिए हैं 12 रात 12 दिन लेकिन उस 12 रात 12 दिन में अपनी सारी रिकॉर्ड को एक जगह रखना चाहिए कि हमने आज क्या किया धन्यवाद अगर इसे हिसाब से हम बात करेंगे या कार्य करेंगे तो हम कभी भी हैकिंग का शिकार नहीं होंगे चाहे वह कितना भी साइबर अपराधी क्यों ना हो धन्यवाद
Lekin aapane net akaunt ko haiking se kaise bachaen ke lie keval 3 shabdon ka istemaal karen to jyaada theek hai beshak hamen taim jyaada mila hai lekin main sochata hoon ki vo taim bahut hai javaab dene se yaanee lamba kheenchane se achchha hai ki shortakat mein bata do jagah theek hai buddhimata aur buddhimaan vyakti hamesha samajh lete hain jaise ki net bainking agar ham kar rahe hain to sabase pahale ek baat yah hai ki kisee bhee link par kabhee bhee apanee angulee ko na chhua hai ya us par na jaen doosaree baat agar net bainking ham aap kar rahe hain hamesha is baat ka dhyaan rakhana chaahie ki apane mobail ka prayog na karake apane baink se seedha sampark karen jo bhee lenaden ho jahaan tak ho sake to baink se karen to jyaada theek hai bat samay nahin milata to usake lie kangaal aur hai ki ham net bainking karane ke anuroop us baat ko turant dhyaan karen ki hamane aapako diya kitana hai aur hamane aapase liya kitana hai is baat kee ek prati apane paas rakhe kee lenaden us din mein kitana hua hai dastakhat sahit yaani ki signechar sahit har ek cheej apane rikord mein rakhen agar nahin rakhenge to aap jaanoo aapaka kaam karen lekin agar net chalaate ho to paramaatma ne hamen 24 ghante die hain 12 raat 12 din lekin us 12 raat 12 din mein apanee saaree rikord ko ek jagah rakhana chaahie ki hamane aaj kya kiya dhanyavaad agar ise hisaab se ham baat karenge ya kaary karenge to ham kabhee bhee haiking ka shikaar nahin honge chaahe vah kitana bhee saibar aparaadhee kyon na ho dhanyavaad

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
रोज काम आने वाले सबसे अच्छे तीन इंग्लिश के सेंटेंस क्या है?Roj Kaam Aane Vaale Sabase Achchhe Teen Inglish Ke Sentens Kya Hai
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
2:02
बात गजब की और गजब का सवाल आपने पूछ ही लिया कि रोज कमाने वाले सबसे 3 इंग्लिश के सेंटेंस क्या है बात तो बढ़िया है शायरी आपके इस जवाब कोई दे पाए लेकिन लोगों का जवाब सुनने के बाद ए आया इंग्लिश शब्द का इस्तेमाल होने के बाद लोग इंग्लिश में ज्यादा बोलना पसंद करते हैं और हिंदी में नहीं जाहिर सी बात है कि चाय पढ़ा लिखा हो या फिर अनपढ़ हो आज वह भी जानता है किसी से मिलने के पहले हेलो यानी मिलने के पहले का मतलब मोबाइल मोबाइल में इंसान हेलो करता है लेकिन सबसे ज्यादा तीन शब्द यही इस्तेमाल होते हैं हां या ना यस या नो तो अगर संस्कृत पर चीन भाषा की बात की जाए तो इस भारतवर्ष में ऐसा कोई है ही नहीं जिसके हिसाब से यह बातें की जाए लेकिन अगर सेंटेंस की बात की जाए सेंटेंस के हिसाब से केवल तीन बातें की जाती है पहला यस जानू दूसरा नो मेंशन तीसरा विदाउट कॉल ऑफ दिस इज अब इसका जवाब कोई दे या कमेंट कोई करें तो आगे का जवाब बताऊंगा क्योंकि हम इंसान जरा दूजे किस्म के हैं
Baat gajab kee aur gajab ka savaal aapane poochh hee liya ki roj kamaane vaale sabase 3 inglish ke sentens kya hai baat to badhiya hai shaayaree aapake is javaab koee de pae lekin logon ka javaab sunane ke baad e aaya inglish shabd ka istemaal hone ke baad log inglish mein jyaada bolana pasand karate hain aur hindee mein nahin jaahir see baat hai ki chaay padha likha ho ya phir anapadh ho aaj vah bhee jaanata hai kisee se milane ke pahale helo yaanee milane ke pahale ka matalab mobail mobail mein insaan helo karata hai lekin sabase jyaada teen shabd yahee istemaal hote hain haan ya na yas ya no to agar sanskrt par cheen bhaasha kee baat kee jae to is bhaaratavarsh mein aisa koee hai hee nahin jisake hisaab se yah baaten kee jae lekin agar sentens kee baat kee jae sentens ke hisaab se keval teen baaten kee jaatee hai pahala yas jaanoo doosara no menshan teesara vidaut kol oph dis ij ab isaka javaab koee de ya kament koee karen to aage ka javaab bataoonga kyonki ham insaan jara dooje kism ke hain

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या मुकेश अंबानी सरकार गिरा सकते हैं, अगर हां तो कैसे?Kya Mukesh Ambani Sarkar Gira Sakte Hai Agar Ha To Kese
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
6:44
पटना अनुसार मुकेश अंबानी सरकार गिरा सकते हैं देखिए मैं इस बारे में केवल एक ही जवाब देना चाहूंगा कि मुकेश अंबानी टाटा बिरला जो भी जितने ग्रुप जो पैसे वाले हैं वह अपने हिसाब से सारी चीजों का नाम से अपने बिजनेस के अनुरूप काटते हैं और बिजनेस के अनुरूप पर आने के बाद हर वो चीज का नाम से सुन लोग करते हैं कि कैसे क्या हमारे विदेश में घाटा हो सकता है रही बात सरकार की तो एक बात मैं बताना चाहूंगा जिसको न कोई बता सकता है ना कोई कह भी सकता है जाहिर सी बात है कि हमारे जैसे बहुत से व्यक्ति होंगे जो इस बात को कह भी देंगे जैसे किस भारत में सरकार बनाना और गिराना केवल पैसों पर आधारित है इसलिए यह देश आज तक विकासशील है अगर यह विकसित हुआ होता तो भारत का इतिहास दूसरा होता उधार था कि जिस समय रावण कलाई एक अंग्रेज था जिस समय रॉबर्ट क्लाइव सिराजुद्दौला के 18000 सैनिकों को बंदी बनाकर लेकर जा रहा था उसमें वह अपनी किताब में लिखता है कि जिस समय वह बंदी ग्रह से बंदी गृह में डालने के लिए उस 18000 सैनिकों को लेकर जा रहा था जबकि उसके पास केवल सैनिक 3:30 हजार थे अगर उस समय एक एक सैनिक एक पत्थर मारे होते तो आज भारत का इतिहास कोई दूसरा होता है और वह ना मारे क्योंकि वह हमारे गुलाम थे उस समय क्योंकि वह अपनी किताब में लिख रहा है मैं थोड़ी कह रहा हूं तो उसने अभी लिखा कि जो हथौड़ी पीट रहे थे जो यहां की जनता थी उस जनता ने अगर एक एक पत्थर मारे होते तुम्हारी भारत का इतिहास कुछ दूसरा होता है लेकिन यहां की जनता केवल भावार्थ देखती है इतिहास नहीं इतिहास देखने वाले कभी भी ऐसी बातें नहीं करते तो रही बात मुकेश अंबानी का सरकार गिराना या गिराना बनाना काली युग में काल माने होता है समयोग माने होता है संसार मतलब हो गया कि वह समय जीने के लिए उपयुक्त हो इसी को कहते हैं तो काल माने समय हमारे संसार इस समय के संसार में जिसके पास पैसा है उसके पास सब कुछ है और जिसके पास पैसा नहीं है उसके पास कुछ भी नहीं है तीन चीज लेकर चलो इस संसार में तो आप अंबानी हो आप अडानी हो आप प्रधानमंत्री हो आप मुख्यमंत्री पहला पैसा दूसरा व्यवहार तीसरा आत्मशक्ति जो देश संकल्प होता है तू अगर ऐसी बातों को अंबानी और अडानी लेकर चले सरकार गिराना बनाना कौन कौन सी बड़ी बात है इस भारतवर्ष में केवल भारतवर्ष में क्योंकि अगर ऐसा नहीं होता यह चीज आसान नहीं होता तो 200 साल तक अंग्रेज और 800 साल तक मुगल इस देश में शासन नहीं करते शासन इसलिए के के दो व्यक्ति इस संसार में होते हैं वही राज करते एक विजडम और अकेली लीजेंट जो बुद्धिमान होता है वह अपनी बातों को रख कर गुलाम बनाता है जो भी नाम होता है बुद्धिमता के हिसाब से कार्य करता है उसी को मुगल कहते हैं तो कुल मिलाकर बात यही है कि मुकेश अंबानी या फिर अडानी पूंजीपति कोई हो वह अपने हिसाब से इस भारत को नचाने की क्षमता इसलिए रखता है क्योंकि वह सिर्फ पर बैठा है किसके पैसे के पैसे के बल पर आप भी नाचोगे यह जिसने भी बनाया वह पैसे की लालच में बनाया यह ऐप में जिस आदमी को जोड़ा यह जिस हिसाब से अपनी बुद्धिमता का इस्तेमाल किया वहीं जानकर किया कि मैं पैसे कमा लूंगा अगर वह इंटेलिजेंट है तो भी इसी बात को यह ले लो कि केवल पैसे कमाने का एक जरिया चाहे व्हाट्सएप हो बोलकर हो ना इस ऐप को बनाने वाला मुझसे बात करें और मैं यह कहता हूं कि वह अगर पैसा नहीं कमाना चाहता तो फ्री इंटरनेट दे दे मैं मान जाऊंगा की वास्तविकता यह है क्या ऐसा नहीं है लेकिन इस समय के संसार में पैसा सब कुछ नहीं है लेकिन पैसा ही सबसे प्रथम व्यक्ति है जो आपको परिचय करा सकता है इस संसार से चाहे वह किसी भी माध्यम से क्यों न हो तो व्यक्ति या प्रश्न अनुसार प्रश्न करने वाले व्यक्ति से मैं यही दुआ करना चाहता हूं कि आप केवल अपने पास तीन चीजें रखो अब आनंदानी नहीं जिसको चाहा वही आ जाएगा चाहे वो ब्रिटेन का प्रधानमंत्री ही क्यों न हो पर आपके पास तीन चीजें रहना चाहिए पैसा व्यवहार और आत्मविश्वास धन्यवाद सरकार गिरा नहीं सरकार को कई बार गिरा के बना भी सकते हैं जिनके पास तीन चीज हो धन्यवाद
Patana anusaar mukesh ambaanee sarakaar gira sakate hain dekhie main is baare mein keval ek hee javaab dena chaahoonga ki mukesh ambaanee taata birala jo bhee jitane grup jo paise vaale hain vah apane hisaab se saaree cheejon ka naam se apane bijanes ke anuroop kaatate hain aur bijanes ke anuroop par aane ke baad har vo cheej ka naam se sun log karate hain ki kaise kya hamaare videsh mein ghaata ho sakata hai rahee baat sarakaar kee to ek baat main bataana chaahoonga jisako na koee bata sakata hai na koee kah bhee sakata hai jaahir see baat hai ki hamaare jaise bahut se vyakti honge jo is baat ko kah bhee denge jaise kis bhaarat mein sarakaar banaana aur giraana keval paison par aadhaarit hai isalie yah desh aaj tak vikaasasheel hai agar yah vikasit hua hota to bhaarat ka itihaas doosara hota udhaar tha ki jis samay raavan kalaee ek angrej tha jis samay robart klaiv siraajuddaula ke 18000 sainikon ko bandee banaakar lekar ja raha tha usamen vah apanee kitaab mein likhata hai ki jis samay vah bandee grah se bandee grh mein daalane ke lie us 18000 sainikon ko lekar ja raha tha jabaki usake paas keval sainik 3:30 hajaar the agar us samay ek ek sainik ek patthar maare hote to aaj bhaarat ka itihaas koee doosara hota hai aur vah na maare kyonki vah hamaare gulaam the us samay kyonki vah apanee kitaab mein likh raha hai main thodee kah raha hoon to usane abhee likha ki jo hathaudee peet rahe the jo yahaan kee janata thee us janata ne agar ek ek patthar maare hote tumhaaree bhaarat ka itihaas kuchh doosara hota hai lekin yahaan kee janata keval bhaavaarth dekhatee hai itihaas nahin itihaas dekhane vaale kabhee bhee aisee baaten nahin karate to rahee baat mukesh ambaanee ka sarakaar giraana ya giraana banaana kaalee yug mein kaal maane hota hai samayog maane hota hai sansaar matalab ho gaya ki vah samay jeene ke lie upayukt ho isee ko kahate hain to kaal maane samay hamaare sansaar is samay ke sansaar mein jisake paas paisa hai usake paas sab kuchh hai aur jisake paas paisa nahin hai usake paas kuchh bhee nahin hai teen cheej lekar chalo is sansaar mein to aap ambaanee ho aap adaanee ho aap pradhaanamantree ho aap mukhyamantree pahala paisa doosara vyavahaar teesara aatmashakti jo desh sankalp hota hai too agar aisee baaton ko ambaanee aur adaanee lekar chale sarakaar giraana banaana kaun kaun see badee baat hai is bhaaratavarsh mein keval bhaaratavarsh mein kyonki agar aisa nahin hota yah cheej aasaan nahin hota to 200 saal tak angrej aur 800 saal tak mugal is desh mein shaasan nahin karate shaasan isalie ke ke do vyakti is sansaar mein hote hain vahee raaj karate ek vijadam aur akelee leejent jo buddhimaan hota hai vah apanee baaton ko rakh kar gulaam banaata hai jo bhee naam hota hai buddhimata ke hisaab se kaary karata hai usee ko mugal kahate hain to kul milaakar baat yahee hai ki mukesh ambaanee ya phir adaanee poonjeepati koee ho vah apane hisaab se is bhaarat ko nachaane kee kshamata isalie rakhata hai kyonki vah sirph par baitha hai kisake paise ke paise ke bal par aap bhee naachoge yah jisane bhee banaaya vah paise kee laalach mein banaaya yah aip mein jis aadamee ko joda yah jis hisaab se apanee buddhimata ka istemaal kiya vaheen jaanakar kiya ki main paise kama loonga agar vah intelijent hai to bhee isee baat ko yah le lo ki keval paise kamaane ka ek jariya chaahe vhaatsep ho bolakar ho na is aip ko banaane vaala mujhase baat karen aur main yah kahata hoon ki vah agar paisa nahin kamaana chaahata to phree intaranet de de main maan jaoonga kee vaastavikata yah hai kya aisa nahin hai lekin is samay ke sansaar mein paisa sab kuchh nahin hai lekin paisa hee sabase pratham vyakti hai jo aapako parichay kara sakata hai is sansaar se chaahe vah kisee bhee maadhyam se kyon na ho to vyakti ya prashn anusaar prashn karane vaale vyakti se main yahee dua karana chaahata hoon ki aap keval apane paas teen cheejen rakho ab aanandaanee nahin jisako chaaha vahee aa jaega chaahe vo briten ka pradhaanamantree hee kyon na ho par aapake paas teen cheejen rahana chaahie paisa vyavahaar aur aatmavishvaas dhanyavaad sarakaar gira nahin sarakaar ko kaee baar gira ke bana bhee sakate hain jinake paas teen cheej ho dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
संधि की परिभाषा लिखें और उसके भेद?Sandhi Ki Paribhasha Likhen Aur Uske Bhed
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
2:04
संधि की परिभाषा को क्या हम बताएं अर्थात समझौता करना होता है अब उस समझौते में उदाहरण के लिए हम दें कि त्रेता युग में रावण ने बाली से संधि की थी इस बात के कि समुंदर के इस बार हमारा और समुद्र के उस पार तुम्हारा यही समझौता हुआ था इसके बाद कि संत की बात करें तो संधि का विच्छेद करना पड़ेगा लेकिन हम वाज करेंगे नहीं क्योंकि मैं उस मूड में हूं नहीं संधि विच्छेद एक ऐसा शब्द होता है कि जब संधि का विच्छेद आप करेंगे तब उसका अर्थ आप जानेंगे दूसरी संधि का पूरा पूरा भेद यह होता है समझी 12 राजाओं के बीच में किया गया एक ऐसा फैसला जो दोनों जानते हो तीसरा कोई नहीं और दूसरे सबसे बड़ी बात यह होती है क्योंकि वह संधि है संधि माने होता है अंदरूनी क्षेत्र अगर जिंदगी की परिभाषा से देखा जाए तो हम दोनों चीज जिसको कोई नहीं जानता दूसरे हिसाब से हमने देखा जाए तो संधि का मतलब वास्तविकता यह है कि आज के हिसाब से अगर देखा जाए तो संधि का मतलब समझा होता ही होता है लेकिन उस संधि में आज भी एक भेद है संधि का अर्थ पूरा भेज यह होता है कि साथ रहकर साथ रहकर जिसके साथ रहकर उसके अधिकारों का प्रयोग कर कर के भी उसी को माताजी दी जाए कि आज की संधि हो गई इसे कलयुग कहते हैं धन्यवाद
Sandhi kee paribhaasha ko kya ham bataen arthaat samajhauta karana hota hai ab us samajhaute mein udaaharan ke lie ham den ki treta yug mein raavan ne baalee se sandhi kee thee is baat ke ki samundar ke is baar hamaara aur samudr ke us paar tumhaara yahee samajhauta hua tha isake baad ki sant kee baat karen to sandhi ka vichchhed karana padega lekin ham vaaj karenge nahin kyonki main us mood mein hoon nahin sandhi vichchhed ek aisa shabd hota hai ki jab sandhi ka vichchhed aap karenge tab usaka arth aap jaanenge doosaree sandhi ka poora poora bhed yah hota hai samajhee 12 raajaon ke beech mein kiya gaya ek aisa phaisala jo donon jaanate ho teesara koee nahin aur doosare sabase badee baat yah hotee hai kyonki vah sandhi hai sandhi maane hota hai andaroonee kshetr agar jindagee kee paribhaasha se dekha jae to ham donon cheej jisako koee nahin jaanata doosare hisaab se hamane dekha jae to sandhi ka matalab vaastavikata yah hai ki aaj ke hisaab se agar dekha jae to sandhi ka matalab samajha hota hee hota hai lekin us sandhi mein aaj bhee ek bhed hai sandhi ka arth poora bhej yah hota hai ki saath rahakar saath rahakar jisake saath rahakar usake adhikaaron ka prayog kar kar ke bhee usee ko maataajee dee jae ki aaj kee sandhi ho gaee ise kalayug kahate hain dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
एक Startup शुरू करने की प्रक्रिया क्या हैEk Startup Shuru Karne Ki Prakriya Kya Hai
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
5:44
हम हमेशा दूसरों के एंगल के हिसाब से जवाब नहीं देता हूं हम उस प्रश्न की प्रतिक्रिया के अनुरूप ही जवाब देता हूं और मैं यह मानता हूं कि नब्बे परसेंट वह प्रतिक्रिया वह मेरे द्वारा दिया गया वाक्य पूर्ण रूप से सही और सुलभ अभी तो होता है लेकिन यह मैं मानता हूं अब आप कितना मानते हो यह आप जानो एक स्टार्टअप शुरू करने की प्रक्रिया क्या है स्टार्टअप यह दो शब्द है अगर हम इनका संधि विच्छेद करें है तो इंग्लिश शब्द लेकिन सबसे पहले है क्या है स्टार है हमें अपने जो प्रोडक्ट हैं उनको स्टार बनाने के लिए तब करना पड़ेगा किस बात का कि हम बना क्या रहे हैं सबसे पहले तो हमें यह जानना चाहिए कि हमें बनाना क्या है दूसरी बात अपने प्रोडक्ट को जितना सुलभ हो जितना सुरक्षित बनाना चाहो सबसे पहले बना लो और अगर सबसे पहले बनाने की प्रतिक्रिया के हिसाब से यह हो गया अगर सबसे शुद्ध बना ले गए सपोज डेट में एक उदाहरण देता हूं जिसको हम आज भी जानते होंगे यह क्या नाम है नमकीन बनाने वाला एक प्रोडक्ट निकला था जिसको आज भी लोग कहते हैं कि हल्दीराम का है यह हल्दीराम का जो नमकीन हुआ यह वास्तविकता यह है कि सबसे पहले एक छोटी सी दुकान थी जिसमें वह कढ़ाई में खाड़ी के हिसाब से किया करता था लेकिन पता इतनी बढ़ती गई कि अगला अपना step2step हमने कहा ना स्टार्ट वर्क स्टार्टअप जाओ स्टार्टअप कहो स्टार हमें बनाना है लेकिन तू आ तू माने भी आप माने ऊपर हमने इसके ऊपर क्या करना है तब यही स्टार बनेगा जो इंग्लिश शब्द होता है वह जो है उल्टा होता है तो स्टार्ट हुआ इसी को कहते हैं स्टार स्टार्ट स्टार्ट अब तो उसी हिसाब से उसने जिस प्रकार से बढ़ता गया उसी प्रकार से हल्दीराम बढ़ता गया नकल करके हम कितनी पथरिया को कितनी बातों को समझ सकते हैं जाहिर सी बात है कि हम ऐसा नहीं कर सकते जैसा उसने किया क्योंकि कोई भी फार्मूला किसी को देता नहीं है लेकिन हम अगर स्टार्ट करते हैं स्टार मतलब स्टार्ट अभी स्टार्ट नहीं स्टार्ट करना हमने स्टार्ट करने के पहले हमें यह सोचना चाहिए कि मैं सबसे बेहतर चीज बनाऊं आविष्कार करूं इन वारंटी जिसको अंग्रेजी मे कहते हैं तो उसी हिसाब से हम उस अपने प्रोडक्ट को इस हिसाब से बना हूं कि मार्केट में सेल ना हो फिर चाहे वह चाहे जो भी चीज हुआ जरूरी नहीं कि हम नाम लेकर बदनाम लेकिन आपने उस प्रोडक्ट में अपने इंसान अपने अंदर झांके और देखिए कि हमारी रुचि कहां है जिस चीज में रुचि होगी उसी चीज में आप आगे बढ़ सकते हैं अन्यथा नहीं जैसे धीरूभाई अंबानी ने अपनी किताब के पहले चैप्टर में ही लिखा है कि बेटा ऐसे लिखा है कि बिजनेसमैन को हमेशा वही कार्य करना चाहिए जिसके उसकी आत्मा और मन पसंद करते हो जैसे हमारे आपके पुत्र हो गए भाई हो गया जो भी हो गया अगर उसकी इच्छा है कि हमें स्टोर खोल कर बैठा हूं और मुझे ₹10 मिलते रहे बहुत ज्यादा ठीक है और हमने कहा कि नहीं तुम्हें पंखा बनाना है चलो भाई कार्य कर सकता है ना वह बेटे इसलिए जो अपनी या अपने दिमाग में आ जाए और अपनी इच्छा के अनुरूप पर आ जाए और जो जिसमें आप रुचि लेते हो उसी कार्य को करना चाहिए फिर चाहे हल्दीराम हो या रात आर्टर्टन सब को भी टाटा रतन तो उसमें भी आप उनके सामने बैठने की का ख्वाब देख सकते हो लेकिन जो यह देख सकता है उसके पास धन नहीं होता और जो कर सकता है उसके पास कर नहीं होता और जिसके पास सब कुछ होता है हकीकत तो यह है कि उसके पास धनौरकर दोनों नहीं होता सुमित्र प्रक्रिया यही देना चाहेंगे कि जो भी आप करें बहुत ही सोच समझकर क्योंकि कहना है कि जहां में जिनके उम्मीदों के बड़े पार होते हैं ऐसे खुशकिस्मत इंसान हजारों में कहीं दो चार होते हैं ठीक है धन्यवाद
Ham hamesha doosaron ke engal ke hisaab se javaab nahin deta hoon ham us prashn kee pratikriya ke anuroop hee javaab deta hoon aur main yah maanata hoon ki nabbe parasent vah pratikriya vah mere dvaara diya gaya vaaky poorn roop se sahee aur sulabh abhee to hota hai lekin yah main maanata hoon ab aap kitana maanate ho yah aap jaano ek staartap shuroo karane kee prakriya kya hai staartap yah do shabd hai agar ham inaka sandhi vichchhed karen hai to inglish shabd lekin sabase pahale hai kya hai staar hai hamen apane jo prodakt hain unako staar banaane ke lie tab karana padega kis baat ka ki ham bana kya rahe hain sabase pahale to hamen yah jaanana chaahie ki hamen banaana kya hai doosaree baat apane prodakt ko jitana sulabh ho jitana surakshit banaana chaaho sabase pahale bana lo aur agar sabase pahale banaane kee pratikriya ke hisaab se yah ho gaya agar sabase shuddh bana le gae sapoj det mein ek udaaharan deta hoon jisako ham aaj bhee jaanate honge yah kya naam hai namakeen banaane vaala ek prodakt nikala tha jisako aaj bhee log kahate hain ki haldeeraam ka hai yah haldeeraam ka jo namakeen hua yah vaastavikata yah hai ki sabase pahale ek chhotee see dukaan thee jisamen vah kadhaee mein khaadee ke hisaab se kiya karata tha lekin pata itanee badhatee gaee ki agala apana staip2staip hamane kaha na staart vark staartap jao staartap kaho staar hamen banaana hai lekin too aa too maane bhee aap maane oopar hamane isake oopar kya karana hai tab yahee staar banega jo inglish shabd hota hai vah jo hai ulta hota hai to staart hua isee ko kahate hain staar staart staart ab to usee hisaab se usane jis prakaar se badhata gaya usee prakaar se haldeeraam badhata gaya nakal karake ham kitanee pathariya ko kitanee baaton ko samajh sakate hain jaahir see baat hai ki ham aisa nahin kar sakate jaisa usane kiya kyonki koee bhee phaarmoola kisee ko deta nahin hai lekin ham agar staart karate hain staar matalab staart abhee staart nahin staart karana hamane staart karane ke pahale hamen yah sochana chaahie ki main sabase behatar cheej banaoon aavishkaar karoon in vaarantee jisako angrejee me kahate hain to usee hisaab se ham us apane prodakt ko is hisaab se bana hoon ki maarket mein sel na ho phir chaahe vah chaahe jo bhee cheej hua jarooree nahin ki ham naam lekar badanaam lekin aapane us prodakt mein apane insaan apane andar jhaanke aur dekhie ki hamaaree ruchi kahaan hai jis cheej mein ruchi hogee usee cheej mein aap aage badh sakate hain anyatha nahin jaise dheeroobhaee ambaanee ne apanee kitaab ke pahale chaiptar mein hee likha hai ki beta aise likha hai ki bijanesamain ko hamesha vahee kaary karana chaahie jisake usakee aatma aur man pasand karate ho jaise hamaare aapake putr ho gae bhaee ho gaya jo bhee ho gaya agar usakee ichchha hai ki hamen stor khol kar baitha hoon aur mujhe ₹10 milate rahe bahut jyaada theek hai aur hamane kaha ki nahin tumhen pankha banaana hai chalo bhaee kaary kar sakata hai na vah bete isalie jo apanee ya apane dimaag mein aa jae aur apanee ichchha ke anuroop par aa jae aur jo jisamen aap ruchi lete ho usee kaary ko karana chaahie phir chaahe haldeeraam ho ya raat aartartan sab ko bhee taata ratan to usamen bhee aap unake saamane baithane kee ka khvaab dekh sakate ho lekin jo yah dekh sakata hai usake paas dhan nahin hota aur jo kar sakata hai usake paas kar nahin hota aur jisake paas sab kuchh hota hai hakeekat to yah hai ki usake paas dhanaurakar donon nahin hota sumitr prakriya yahee dena chaahenge ki jo bhee aap karen bahut hee soch samajhakar kyonki kahana hai ki jahaan mein jinake ummeedon ke bade paar hote hain aise khushakismat insaan hajaaron mein kaheen do chaar hote hain theek hai dhanyavaad

#मनोरंजन

bolkar speaker
?
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
0:17
यह एक प्रश्नवाचक चिन्ह जो प्रदर्शित होता है किसी भी प्रकार के प्रश्न को पूछने के बाद जो ड्रेस के रूप में दिया जाता है वह यही है जिसको हम प्रश्नवाचक चिन्ह कहते हैं
Yah ek prashnavaachak chinh jo pradarshit hota hai kisee bhee prakaar ke prashn ko poochhane ke baad jo dres ke roop mein diya jaata hai vah yahee hai jisako ham prashnavaachak chinh kahate hain

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
सबसे बड़ा मछली कौन सा है?Sabse Bada Machli Kaun Sa Hai
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
0:32
सबसे बड़ी मछली नील व्हेल मछली है जो कि हाथी उसके पोस्ट के एक चौथाई बराबर होती है दुनिया का सबसे बड़ा जीव अगर कोई है तो नील हैल मछली है अथवा दुनिया में सबसे ज्यादा जीने वाला जीव जो है वह कुछ हुआ है जो कि लगभग 300 वर्ष से ज्यादा भी जीता है
Sabase badee machhalee neel vhel machhalee hai jo ki haathee usake post ke ek chauthaee baraabar hotee hai duniya ka sabase bada jeev agar koee hai to neel hail machhalee hai athava duniya mein sabase jyaada jeene vaala jeev jo hai vah kuchh hua hai jo ki lagabhag 300 varsh se jyaada bhee jeeta hai

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
भगवान का नाम किसने दिया?Bhagwan Ka Naam Kisne Diya
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
2:14
एकता से कहें कि जो बाम पिता परमात्मा स्वयं आकर के जिस शब्द का अनावरण या जिस शब्द की इलाज ओलिवर दिखा करके चला गया भाई हम लोग दोहरा रहे हैं क्या आपने पूछा है कि भगवान का आविष्कार किसने किया वही भगवान या फिर वही परमात्मा आंखें उसके सुलभ और सुरक्षित दरअसल खा लिया उसके पूजन की व्याख्या को लेकर चला गया जिसे हम आज भी करते हैं यही यानी अपने शब्द का इस्तेमाल या फिर यूं कहें कि अपने सारी चीजों का अनावरण परमात्मा स्वयं करता है अलग-अलग भिन्न-भिन्न नामों से कवियों को इतनी जानकारी देता है या फिर उनके मन में ऐसी बात आ जाती है कि वह नए नए शब्द का इस्तेमाल करते हैं उसी में से एक शब्द है भगवान और भगवान का नाम इंसानों ने दिया मित्रों दूसरे नास्तिकता शब्द में हम कहें तो हम यह कह सकते हैं कि भगवान को इंसान पल भर में प्रकट कर सकता है चाहे जिस रूप में परंतु इंसान को अब भगवान को बनाने में जमीन आसमान एक कर देना पड़ेगा क्योंकि बनाने के बाद दुनिया अपने नाम से जानी जाती है आज दुनिया इसी भ्रम में है कि मैं मैं हूं और जिसमें मैं है वह इंसान नहीं इसलिए किसी कवि ने कहा था कि जब मैं था तब हरि नहीं अब हरि हैं हम नहीं जिस दिन भगवान यानी कि स्वर ह्रदय की चेतना में बरसेंगे उस दिन इंसान का वजूद स्वयं भी तो सजा कुछ नहीं है धन्यवाद
Ekata se kahen ki jo baam pita paramaatma svayan aakar ke jis shabd ka anaavaran ya jis shabd kee ilaaj olivar dikha karake chala gaya bhaee ham log dohara rahe hain kya aapane poochha hai ki bhagavaan ka aavishkaar kisane kiya vahee bhagavaan ya phir vahee paramaatma aankhen usake sulabh aur surakshit darasal kha liya usake poojan kee vyaakhya ko lekar chala gaya jise ham aaj bhee karate hain yahee yaanee apane shabd ka istemaal ya phir yoon kahen ki apane saaree cheejon ka anaavaran paramaatma svayan karata hai alag-alag bhinn-bhinn naamon se kaviyon ko itanee jaanakaaree deta hai ya phir unake man mein aisee baat aa jaatee hai ki vah nae nae shabd ka istemaal karate hain usee mein se ek shabd hai bhagavaan aur bhagavaan ka naam insaanon ne diya mitron doosare naastikata shabd mein ham kahen to ham yah kah sakate hain ki bhagavaan ko insaan pal bhar mein prakat kar sakata hai chaahe jis roop mein parantu insaan ko ab bhagavaan ko banaane mein jameen aasamaan ek kar dena padega kyonki banaane ke baad duniya apane naam se jaanee jaatee hai aaj duniya isee bhram mein hai ki main main hoon aur jisamen main hai vah insaan nahin isalie kisee kavi ne kaha tha ki jab main tha tab hari nahin ab hari hain ham nahin jis din bhagavaan yaanee ki svar hraday kee chetana mein barasenge us din insaan ka vajood svayan bhee to saja kuchh nahin hai dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
बल्ब का आविष्कार किसने किया था?Balb Ka Aavishkaar Kisane Kiya Tha
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
द्वारिका प्रसाद इंटर कालेज बेनिपुर
3:41

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
क्या भगवान को आज तक किसी ने देखा हैं?Kya Bhagawan Ko Aaj Tak Kisi Ne Dekha Hai
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
2:01
पिता परमात्मा है वह सारी सृष्टि का सृजन किया है यहां तक कि 8400000 योनियों का अगर किसी ने प्रयोग कर अथवा बनाकर इस सृष्टि को चलाया है जिसमें 8400000 योनियों का समावेश किया है तू ईश्वर परमात्मा अथवा भगवान ही हो सकता है हम जानते हैं कि भगवान है क्या भगवान निभा मने भूमि गामा ने गगन मामा ने मामा ने अग्नि ना माननीय जल पावक गगन समीरा पंच रचित यही भगवान है और इसको किसी ने नहीं देखा तो सबसे बड़ा महामूर्ख है और छिति जल पावक गगन समीरा इन पांच तत्व को मिला कि नहीं देखा जाए तो हम हैं आप हैं जो सुन रहे हैं वह ठीक लेकिन इन्हीं के अंदर परमात्मा का यह स्वरूप होता है और जिसको अध्यक्ष के द्वारा प्राप्त किया जाता है यह तो केवल एक मार्ग है जिस पर हम चलकर परमात्मा की सारी अभिनेताओं को महसूस कर सकते हैं इसलिए भगवान को देखना तो बड़ी दूर की बात है आप इंसान को पहचानो तो भगवान को देखने में नहीं लगती लेकिन इसके लिए गुरु का होना बहुत ही आवश्यक है क्योंकि मां कवि ने कहा था यह तन विष की बेलरी गुरु अमृत की खान सीस चढ़ाई जो इस गुरु मिले तो भी सस्ता जान धन्यवाद
Pita paramaatma hai vah saaree srshti ka srjan kiya hai yahaan tak ki 8400000 yoniyon ka agar kisee ne prayog kar athava banaakar is srshti ko chalaaya hai jisamen 8400000 yoniyon ka samaavesh kiya hai too eeshvar paramaatma athava bhagavaan hee ho sakata hai ham jaanate hain ki bhagavaan hai kya bhagavaan nibha mane bhoomi gaama ne gagan maama ne maama ne agni na maananeey jal paavak gagan sameera panch rachit yahee bhagavaan hai aur isako kisee ne nahin dekha to sabase bada mahaamoorkh hai aur chhiti jal paavak gagan sameera in paanch tatv ko mila ki nahin dekha jae to ham hain aap hain jo sun rahe hain vah theek lekin inheen ke andar paramaatma ka yah svaroop hota hai aur jisako adhyaksh ke dvaara praapt kiya jaata hai yah to keval ek maarg hai jis par ham chalakar paramaatma kee saaree abhinetaon ko mahasoos kar sakate hain isalie bhagavaan ko dekhana to badee door kee baat hai aap insaan ko pahachaano to bhagavaan ko dekhane mein nahin lagatee lekin isake lie guru ka hona bahut hee aavashyak hai kyonki maan kavi ne kaha tha yah tan vish kee belaree guru amrt kee khaan sees chadhaee jo is guru mile to bhee sasta jaan dhanyavaad

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker
धर्म, अध्यात्म और दर्शन का प्रयोजन क्या है?Dharam Adhyatam Aur Darshan Ka Prayojan Kya Hai
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
0:53
देखिए धर्म से हम अपने जीवन को उस धर्म के आधार पर जीवित रहकर अथवा सुंदर जीवन जीने की बात को रख कर और 16 जीवन जी सकते हैं अध्यात्म अध्यात्म का मतलब हो गया वह अध्याय जो आत्मा के द्वारा कहा जाए और पूरा किया जाए दूसरे शब्दों में अगर कहीं अध्यात्म से हम परमात्मा की प्राप्ति अथवा दर्शन से हम जीवन के 1 साल सारी अभिलेखों को दूर कर शांति का योगदान पा सकते हैं यही प्रयोजन है और यही अर्थ है धन्यवाद
Dekhie dharm se ham apane jeevan ko us dharm ke aadhaar par jeevit rahakar athava sundar jeevan jeene kee baat ko rakh kar aur 16 jeevan jee sakate hain adhyaatm adhyaatm ka matalab ho gaya vah adhyaay jo aatma ke dvaara kaha jae aur poora kiya jae doosare shabdon mein agar kaheen adhyaatm se ham paramaatma kee praapti athava darshan se ham jeevan ke 1 saal saaree abhilekhon ko door kar shaanti ka yogadaan pa sakate hain yahee prayojan hai aur yahee arth hai dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
जंगली जानवर क्या होते हैं?Jungli Janwar Kya Hote Hai
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
1:23
आपने पूछा है क्या हां ठीक है मिलना एनिमल्स जहां तक मेरा मानना है कि आपने पूछा है व्हाट माने क्या इज मन है यह मन एक वर्ल्ड एनिमल्स यह भी जंगली जानवर क्या है अपने ही पूछा है वास्तविकता यह है कि जंगली जानवर जो अपने ही बनाए घर में रहते हैं अथवा जो नगर और गांव देहात या शहर से दूर हमेशा शांति का परिचय देते हुए जंगलों में रहने का कार्य करते हैं जंगली जानवर होते हैं अथवा उनसे इंसानियत से कोई लेना-देना होता नहीं है परंतु इंसानियत से वह हमेशा दूर रहना चाहते हैं लेकिन उन्हें शांति पसंद है शोर-शराबे वाली जिंदगी उन्हें पसंद नहीं है इसलिए वो सरलता विचार आत्मा के एक ऐसे जीव हैं जिन्हें केवल और केवल अपने भोजन अथवा अपने आराम से ज्यादा कुछ प्रिय नहीं है इन्हीं कहते हैं दिस इज वेल एनिमल्स
Aapane poochha hai kya haan theek hai milana enimals jahaan tak mera maanana hai ki aapane poochha hai vhaat maane kya ij man hai yah man ek varld enimals yah bhee jangalee jaanavar kya hai apane hee poochha hai vaastavikata yah hai ki jangalee jaanavar jo apane hee banae ghar mein rahate hain athava jo nagar aur gaanv dehaat ya shahar se door hamesha shaanti ka parichay dete hue jangalon mein rahane ka kaary karate hain jangalee jaanavar hote hain athava unase insaaniyat se koee lena-dena hota nahin hai parantu insaaniyat se vah hamesha door rahana chaahate hain lekin unhen shaanti pasand hai shor-sharaabe vaalee jindagee unhen pasand nahin hai isalie vo saralata vichaar aatma ke ek aise jeev hain jinhen keval aur keval apane bhojan athava apane aaraam se jyaada kuchh priy nahin hai inheen kahate hain dis ij vel enimals

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
sia lost her ball in the?
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
0:21
प्रश्न का जवाब अंग्रेजी में नहीं लिया जाता अगर हिंदुस्तान में रहना है तो हिंदू को प्रमुख भाषा बनाना पड़ेगा इसलिए अगर इस प्रश्न को हिंदी में मेकअप करो तो उसके जवाब देने वाले एक नहीं हजारों हो जाएंगे क्योंकि यह हिंदुस्तान है इंग्लैंड नहीं धन्यवाद
Prashn ka javaab angrejee mein nahin liya jaata agar hindustaan mein rahana hai to hindoo ko pramukh bhaasha banaana padega isalie agar is prashn ko hindee mein mekap karo to usake javaab dene vaale ek nahin hajaaron ho jaenge kyonki yah hindustaan hai inglaind nahin dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
विज्ञान किसे कहते हैं?Vigyaan Kise Kahate Hain
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
1:18
विज्ञान विज्ञान की वह शाखा है जो औरों की अथवा तथ्यों पर आधारित प्रयोगों के मद्देनजर रखते हुए हर्षित यादव को पर्याप्त रूप में देखकर विचार करके अथवा प्रयोगात्मक तरीके से की जाने वाली एक ऐसी विद्या है जिनको हम केवल तब सही कि मान सकते हैं जब अपने विचार अथवा तथ्यों के आधार पर वह भली भूत उत्तरदाई स्वीकृत हो तब हम उसे विज्ञान कहते हैं एक दूसरी भाषा में अगर हम कहें विज्ञान ज्ञान की वह शाखा है जिससे हम प्राकृत अथवा समूचे विश्व ब्रह्मांड या फिर समूचे कायनात को अपने प्रयोगों के आधार पर जानने की चेष्टा करते हैं उसे विज्ञान कहते हैं एक तीसरे अर्थ में हमें समझते समझते हैं कि विज्ञान विज्ञान की वह शाखा जो विज्ञप्ति यों के अनुसार हमें अनुभूति करती हो धन्यवाद
Vigyaan vigyaan kee vah shaakha hai jo auron kee athava tathyon par aadhaarit prayogon ke maddenajar rakhate hue harshit yaadav ko paryaapt roop mein dekhakar vichaar karake athava prayogaatmak tareeke se kee jaane vaalee ek aisee vidya hai jinako ham keval tab sahee ki maan sakate hain jab apane vichaar athava tathyon ke aadhaar par vah bhalee bhoot uttaradaee sveekrt ho tab ham use vigyaan kahate hain ek doosaree bhaasha mein agar ham kahen vigyaan gyaan kee vah shaakha hai jisase ham praakrt athava samooche vishv brahmaand ya phir samooche kaayanaat ko apane prayogon ke aadhaar par jaanane kee cheshta karate hain use vigyaan kahate hain ek teesare arth mein hamen samajhate samajhate hain ki vigyaan vigyaan kee vah shaakha jo vigyapti yon ke anusaar hamen anubhooti karatee ho dhanyavaad

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
अमेज़न से हर महीने ₹ 70000 कैसे कमाए?Amazon Se Har Mahine 70000 Kaise Kamaye
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
0:07
कालकाजी

#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker
किस पोषक तत्व की आवश्यकता पौधों में बहुत अधिक होती है?Kis Poshak Tatv Kee Aavashyakta Paudhon Mein Bahut Adhik Hoti Hai
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
1:56

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
सोशल शब्द किस भाषा से लिया गया है?Social Shabd Kis Bhasha Se Liya Gya Hai
harikeshharikesh85n@gmail.com  Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए harikeshharikesh85n@gmail.com जी का जवाब
कृषि
3:45
URL copied to clipboard