#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
स्कूल कब खुलेगा?Skool Kab Khulega
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
1:30
मित्र आप का प्रश्न है कि स्कूल कब खुलेगा देखिए मैं उत्तर प्रदेश से हूं तो यहां के बारे में जो मैं जानता हूं वह बता दो मैं अपना जानकारी साझा कर रहा हूं देखिए 9621 की क्लासेस बहुत पहले से ही चल रही है नवंबर या अक्टूबर में ही संपन्न हो गया था लेकिन कक्षा 6 से 8 तक जूनियर स्कूल जूनियर हाई स्कूल 10 फरवरी से ही प्रारंभ हो गए हैं और प्राथमिक स्तर के समस्त विद्यालय 1 मार्च से खुल जाएंगे केंद्र सरकार द्वारा जो निर्देश जारी किया गया है उसके अनुपालन में सभी क्लास की बच्चों को एक साथ नहीं बुलाया जाएगा बल्कि सभी बच्चों को टाइम टेबल सेंड कर के कुछ को सोमवार कुछ को मंगल कुछु को बुधवार ऐसे इस तरह टाइम टेबल सेंड करके उनको बुलाया जाएगा और बढ़ाया जाएगा अभी स्कूलों के निर्देश है कि वह 1 मार्च से खुलने के बाद भी बच्चों को दूर दूर बैठा है तो इसके लिए कम मात्रा में बुलाना ही श्रेष्ठ करता है और मुझे लगता है कि उसके अगले एक-दो महीने में स्कूल नॉर्मल तरीके से चलने लगेगा धन्यवाद
Mitr aap ka prashn hai ki skool kab khulega dekhie main uttar pradesh se hoon to yahaan ke baare mein jo main jaanata hoon vah bata do main apana jaanakaaree saajha kar raha hoon dekhie 9621 kee klaases bahut pahale se hee chal rahee hai navambar ya aktoobar mein hee sampann ho gaya tha lekin kaksha 6 se 8 tak jooniyar skool jooniyar haee skool 10 pharavaree se hee praarambh ho gae hain aur praathamik star ke samast vidyaalay 1 maarch se khul jaenge kendr sarakaar dvaara jo nirdesh jaaree kiya gaya hai usake anupaalan mein sabhee klaas kee bachchon ko ek saath nahin bulaaya jaega balki sabhee bachchon ko taim tebal send kar ke kuchh ko somavaar kuchh ko mangal kuchhu ko budhavaar aise is tarah taim tebal send karake unako bulaaya jaega aur badhaaya jaega abhee skoolon ke nirdesh hai ki vah 1 maarch se khulane ke baad bhee bachchon ko door door baitha hai to isake lie kam maatra mein bulaana hee shreshth karata hai aur mujhe lagata hai ki usake agale ek-do maheene mein skool normal tareeke se chalane lagega dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
1:46
मित्र आप का प्रश्न है क्या रात 8:00 बजे के बाद भोजन के पाचन की प्रक्रिया बंद हो जाती है देखिए आयुर्वेद के मतानुसार सूरज डूबने के बाद भोजन के पाचन की प्रक्रिया की गति चलो हो जाती है 88 में हो जाती है पाठ्यक्रम के बनने की गति धीमी हो जाने के कारण भोजन के पाचन में समस्या आती है इसलिए कहा जाता है कि प्रातः काल सूरज निकलने के पश्चात हमें सबसे अधिक भरपूर मात्रा में ब्रेकफास्ट करना चाहिए फिर लंच उससे थोड़ा सा कम करना चाहिए और डिनर तो बहुत ही लाइट करना चाहिए क्योंकि इसके पीछे वैज्ञानिक कारण से खून निकलने के तत्काल बाद हमारी पाचन शक्ति बहुत तीव्र होती है दोपहर के समय सुबह से थोड़ा सा कम होता है और रात के समय तो बहुत कम हो जाता है तो आपका पर तू है 8:00 बजे के बाद तो 8:00 बजे के बाद पार्किंग की प्रक्रिया बंद नहीं होती लेकिन काफी धीमी हो जाती है धन्यवाद
Mitr aap ka prashn hai kya raat 8:00 baje ke baad bhojan ke paachan kee prakriya band ho jaatee hai dekhie aayurved ke mataanusaar sooraj doobane ke baad bhojan ke paachan kee prakriya kee gati chalo ho jaatee hai 88 mein ho jaatee hai paathyakram ke banane kee gati dheemee ho jaane ke kaaran bhojan ke paachan mein samasya aatee hai isalie kaha jaata hai ki praatah kaal sooraj nikalane ke pashchaat hamen sabase adhik bharapoor maatra mein brekaphaast karana chaahie phir lanch usase thoda sa kam karana chaahie aur dinar to bahut hee lait karana chaahie kyonki isake peechhe vaigyaanik kaaran se khoon nikalane ke tatkaal baad hamaaree paachan shakti bahut teevr hotee hai dopahar ke samay subah se thoda sa kam hota hai aur raat ke samay to bahut kam ho jaata hai to aapaka par too hai 8:00 baje ke baad to 8:00 baje ke baad paarking kee prakriya band nahin hotee lekin kaaphee dheemee ho jaatee hai dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
अगर किसान नहीं होता तो क्या होता तो फिर अनाज कहां से आता?Agar Kisaan Nahin Hota To Kya Hota To Phir Anaaj Kaha Se Aata
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
1:12
आपका पर्सनल किसान नहीं होता तो क्या होता है फिर नाश्ता बिलकुल सही तो ऐसा सिस्टम बनाया है कि हर वक्त की सूची एक नहीं हो सकती कोई किसान में कोई मजदूर है कोई अधिकारी देखो चपरासी कोई अध्यापक अगर हर व्यक्ति अध्यापक हो जाए हर अधिकारी हो जा चुका नहीं चल पाएगा भगवान ने सब कुछ अलग अलग उत्तर की सृष्टि का नियम सफलतापूर्वक संचालित होता तो बिल्कुल नहीं हो पाता और नहीं हो पाता तो फिर खाने पीने और किसान को हमारे देश की हमारे देश को किसान की अत्यधिक आवश्यकता है धन्यवाद

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या मोदी सरकार का विरोध करना देशद्रोह के समान है?Kya Modi Sarkar Ka Virodh Karna Deshdroh Ke Samana Hai
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
0:57
मित्र आप का प्रथम है क्या मोदी सरकार का विरोध करना देशद्रोह के समान है देखे मित्र यह सही नहीं हो सकता क्योंकि अब सही होता यहां पर किम किम जोंग का साधन होता है लेकिन यहां पर लोकतंत्र का शासन है लोकतंत्र में हर शख्स को सरकार की गलत क्रियाकलापों का विरोध करने का पूर्ण अधिकार होता है उनका विरोध देशद्रोह नहीं है बल्कि वहां उचित कदम का स्वागत करना चाहिए आपका जो प्रश्न का उत्तर यही है कि किसी भी सरकार के गलत कार्यों का विरोध करना देशद्रोह कभी नहीं हो सकता धन्यवाद

#जीवन शैली

bolkar speaker
कौन से व्यवसायिक विचार किसी व्यक्ति को करोड़पति बनाते हैं?Kaun Se Vyavsaayik Vichaar Kisi Vyakti Ko Crorepati Banate Hain
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
1:10
मित्र आपका प्रश्न है कौन से व्यवसायिक विचार किसी व्यक्ति को करोड़पति बनाते हैं देखिए व्यवसायिक विचार कि जब आपने बात किया है तो इसमें दो क्षेत्र आते हैं एक नई रनिंग दूसरा सेविंग तो गर्मी कितना भी कर ले अगर सेविंग नहीं करेंगे तो सारी अर्निंग व्यर्थ है और सेटिंग भी व्यर्थ है जब आपको सही जगह निवेश नहीं करेंगे तो मेरे विचार से सही जगह पर निवेश करना ही या सही जगह में निवेश करने का विचार विचार ही व्यक्ति को करोड़पति बनाता है चाय अब कम कमाते हुई आजादी जब आपके निवेश करने के विचार अच्छे होते हैं उचित जगह पर निवेश करते हैं तो वह धीरे-धीरे आपको फाइनेंशियल फ्रीडम मिलती है अजय से जैसे आपको फाइनेंशियल फ्रीडम मिलती है वैसे वैसे आप करोड़पति होने की ओर अग्रसर होते जाते हैं तो मेरे विचार से इस प्रश्न का उत्तर उचित जगह पर निवेश करना है धन्यवाद

#जीवन शैली

bolkar speaker
किसी व्यक्ति के लिए सबसे बड़ा बोझ क्या हो सकता है?Kisi Vyakti Ke Liye Subse Bda Boj Kya Ho Sakta Hai
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
1:38
मित्र आप का प्रश्न है किसी व्यक्ति के लिए सबसे बड़ा बोझ क्या हो सकता है देखिए बहुत दो प्रकार का होता है एक शारीरिक और दूसरा मानसिक शारीरिक बौद्धिक होता है कुछ समय के लिए होता है जितनी देर तक हम रोज को उठाया रहते हैं उत्तर ही देर तक हमें तंग करता है लेकिन मानसिक बोझ बहुत लंबे समय तक के लिए होता है जो जिम्मेदारी समाप्त होने के बाद समाप्त हो जाती है या किसी फ्यूचर की प्लानिंग का बहुत लेकिन सभी प्रकार के फिर हो जाते हैं जब आपको किसी विशेष प्रकार का तनाव हो जाता है जब आपको कोई गाना सुना हो जाता है तो वह बहुत बहुत बड़ा होता है और इसमें भी आदमी को सबसे बड़ा बोझ तब महसूस होता है जब कहीं उसकी इंसल्ट हो जाए कहीं उसकी बेइज्जती हो जाए कई भरे समाज में किसी चीज को लेकर वह बेइज्जत हो जाए तो आप जिसे अंदर ही अंदर खाया जाता है और उसके मन में बदला लेने की प्रवृत्ति भी जन्म ले लेती है तो सरकार के बोल बहुत पेनफुल होते हैं बहुत बड़े होते हैं धन्यवाद
Mitr aap ka prashn hai kisee vyakti ke lie sabase bada bojh kya ho sakata hai dekhie bahut do prakaar ka hota hai ek shaareerik aur doosara maanasik shaareerik bauddhik hota hai kuchh samay ke lie hota hai jitanee der tak ham roj ko uthaaya rahate hain uttar hee der tak hamen tang karata hai lekin maanasik bojh bahut lambe samay tak ke lie hota hai jo jimmedaaree samaapt hone ke baad samaapt ho jaatee hai ya kisee phyoochar kee plaaning ka bahut lekin sabhee prakaar ke phir ho jaate hain jab aapako kisee vishesh prakaar ka tanaav ho jaata hai jab aapako koee gaana suna ho jaata hai to vah bahut bahut bada hota hai aur isamen bhee aadamee ko sabase bada bojh tab mahasoos hota hai jab kaheen usakee insalt ho jae kaheen usakee beijjatee ho jae kaee bhare samaaj mein kisee cheej ko lekar vah beijjat ho jae to aap jise andar hee andar khaaya jaata hai aur usake man mein badala lene kee pravrtti bhee janm le letee hai to sarakaar ke bol bahut penaphul hote hain bahut bade hote hain dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
किसानों की कृषि कानूनों को सरकार से वापस लेने की जिद को आप कैसे समझते हैं?Kisaanon Kee Krshi Kaanoonon Ko Sarakaar Se Vaapas Lene Kee Jid Ko Aap Kaise Samajhate Hain
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
3:53
मित्रों कुछ लोगों ने कई बल्कि कई लोगों ने मुझसे प्रश्न किया है कि किसानों की कृषि कानूनों को सरकार से वापस लेने की जीत को आप कैसे चला सकते हैं देखिए लोकतंत्र में जनता की सर्वोपरि होती है जनता से ऊपर कुछ नहीं होता ना तो सरकार नहीं न्यायालय और ना ही कोई और जो कि सभी के पावर का स्रोत जनता ही अदरक संविधान का अध्ययन करें शुरुआत में ही लाइन भी हुई है हम भारत के लोग हम भारत के लोग से आशय जनता से ही है किसानों की एक बहुत बड़ी जनता इस कानून से दुखी है शुरुआत में तो ऐसा लगा कि कहीं ना कहीं सरकार सही है और सरकार ने जिस तरह से इसका प्रचार प्रसार किया तो एक बार ऐसा लगा कि संभवत कुछ किसान को बरगलाया जा रहा है लेकिन चुकी धीरे-धीरे पूरे देश के अलग-अलग राज्यों के किसानों का समर्थन मिलना शुरू हो गया यहां तक कि विदेशों से भी इस आंदोलन को समर्थन मिलना शुरू हो गया है तो बिल्कुल स्पष्ट हो गई है कि सरकार इसमें जिद कर रही है किसान नहीं कर रहे हैं अगर किसान जिद कर रहे होते तो अब तक यह आंदोलन कभी का समाप्त हो गया होता यद्यपि वर्तमान सरकार देश हित में बहुत सारे नियम कानून बना चुकी है और बहुत सारे कार्यों को कर रही है लेकिन कोई व्यक्ति कितना ही अच्छा क्यों ना हो हर कार्य सही करें यह संभव नहीं है तो हमें ऐसा लगता है कि सरकार कहीं न कहीं इस मुद्दे पर उचित कार्य नहीं कर रही है और वह अनावश्यक जीत बनाकर देशवासियों को गुमराह करने का प्रयास कर रही है और वर्तमान सरकार का यह आरोप बहुत ही हास्यास्पद लगता है कि किसानों के आंदोलन के पीछे विपक्ष का भी हाथ है और विपक्षी उनको बरगला रहा है बढ़ जाने वाली किसान एक-दो दिन से ज्यादा हड़ताल नहीं कर पाएंगे और यहां पर 76 दिन से भी अधिक हो चुके हैं और लगातार अनुरोध धरना जारी है तो निश्चित रूप से सरकार को अपना घमंड छोड़ कर किसानों से वार्ता करनी चाहिए और उन्हें उन पर कानून छुपकर नहीं प्यार और मनोहर से ही मनाना चाहिए और सरकार को उसकी पुरानी रणनीति है कि जो आपके खिलाफ आंदोलन करें उस पर तमाम प्रकार के आरोप लगा दो इससे भी बचना चाहिए नहीं तो सरकार सरकार की किरकिरी होते देर नहीं लगेगी यह मेरा अपना विचार है यह कोई जरूरी नहीं है कि मेरे विचार से आप सहमत हो आप सहमत हो भी सकते हैं नहीं भी हो सकते हैं अगर आप सहमत हैं तो आपका स्वागत है अगर नहीं सहमत होते हैं तो भी आपका स्वागत है क्योंकि आपका अपना विचार आपके लिए उचित ही है धन्यवाद
Mitron kuchh logon ne kaee balki kaee logon ne mujhase prashn kiya hai ki kisaanon kee krshi kaanoonon ko sarakaar se vaapas lene kee jeet ko aap kaise chala sakate hain dekhie lokatantr mein janata kee sarvopari hotee hai janata se oopar kuchh nahin hota na to sarakaar nahin nyaayaalay aur na hee koee aur jo ki sabhee ke paavar ka srot janata hee adarak sanvidhaan ka adhyayan karen shuruaat mein hee lain bhee huee hai ham bhaarat ke log ham bhaarat ke log se aashay janata se hee hai kisaanon kee ek bahut badee janata is kaanoon se dukhee hai shuruaat mein to aisa laga ki kaheen na kaheen sarakaar sahee hai aur sarakaar ne jis tarah se isaka prachaar prasaar kiya to ek baar aisa laga ki sambhavat kuchh kisaan ko baragalaaya ja raha hai lekin chukee dheere-dheere poore desh ke alag-alag raajyon ke kisaanon ka samarthan milana shuroo ho gaya yahaan tak ki videshon se bhee is aandolan ko samarthan milana shuroo ho gaya hai to bilkul spasht ho gaee hai ki sarakaar isamen jid kar rahee hai kisaan nahin kar rahe hain agar kisaan jid kar rahe hote to ab tak yah aandolan kabhee ka samaapt ho gaya hota yadyapi vartamaan sarakaar desh hit mein bahut saare niyam kaanoon bana chukee hai aur bahut saare kaaryon ko kar rahee hai lekin koee vyakti kitana hee achchha kyon na ho har kaary sahee karen yah sambhav nahin hai to hamen aisa lagata hai ki sarakaar kaheen na kaheen is mudde par uchit kaary nahin kar rahee hai aur vah anaavashyak jeet banaakar deshavaasiyon ko gumaraah karane ka prayaas kar rahee hai aur vartamaan sarakaar ka yah aarop bahut hee haasyaaspad lagata hai ki kisaanon ke aandolan ke peechhe vipaksh ka bhee haath hai aur vipakshee unako baragala raha hai badh jaane vaalee kisaan ek-do din se jyaada hadataal nahin kar paenge aur yahaan par 76 din se bhee adhik ho chuke hain aur lagaataar anurodh dharana jaaree hai to nishchit roop se sarakaar ko apana ghamand chhod kar kisaanon se vaarta karanee chaahie aur unhen un par kaanoon chhupakar nahin pyaar aur manohar se hee manaana chaahie aur sarakaar ko usakee puraanee rananeeti hai ki jo aapake khilaaph aandolan karen us par tamaam prakaar ke aarop laga do isase bhee bachana chaahie nahin to sarakaar sarakaar kee kirakiree hote der nahin lagegee yah mera apana vichaar hai yah koee jarooree nahin hai ki mere vichaar se aap sahamat ho aap sahamat ho bhee sakate hain nahin bhee ho sakate hain agar aap sahamat hain to aapaka svaagat hai agar nahin sahamat hote hain to bhee aapaka svaagat hai kyonki aapaka apana vichaar aapake lie uchit hee hai dhanyavaad

#भारत की राजनीति

ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
1:03
हमारी आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति कितनी कारगर होने के बाद भी लोग इस पर विश्वास क्यों नहीं करते हैं देखिए मुर्गों की बात छोड़ दीजिए मैं मूर्ख तो आ नहीं विश्वास करेंगे लेकिन जितने भी बुद्धिमान लोग हैं सब कुछ मूर्ख टाइप के या अंग्रेजी अंग्रेजों के मानसिक गुलाम नहीं विश्वास करें और ऐसे अंग्रेजी मानसिकता के गुलामों से बात भी नहीं करना चाहिए क्योंकि कुछ मूड कैसे हैं उनका तर्क है कि आयुर्वेद घास फूस है तो भाई इस पथ पर बहुत सारे लोग बहुत अधिक विश्वास करते हैं तो हमें उन्हें देखना है धन्यवाद
Hamaaree aayurvedik chikitsa paddhati kitanee kaaragar hone ke baad bhee log is par vishvaas kyon nahin karate hain dekhie murgon kee baat chhod deejie main moorkh to aa nahin vishvaas karenge lekin jitane bhee buddhimaan log hain sab kuchh moorkh taip ke ya angrejee angrejon ke maanasik gulaam nahin vishvaas karen aur aise angrejee maanasikata ke gulaamon se baat bhee nahin karana chaahie kyonki kuchh mood kaise hain unaka tark hai ki aayurved ghaas phoos hai to bhaee is path par bahut saare log bahut adhik vishvaas karate hain to hamen unhen dekhana hai dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
पेट में दर्द होने के क्या क्या वजह हो सकती है?Pet Mein Dard Hone Ke Kya Kya Vajah Ho Sakte Hai
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
1:00
आपका प्रश्न है पेट में दर्द होने के क्या क्या वजह हो सकती है लेकिन पेट में दर्द होने की कई वजह हो सकती है सामान्यतः कुछ इस प्रकार है पेट में गैस होने पर भी पेट दर्द हो सकता है पेट में किसी प्रकार का अंदुरे घाव होने पर भी पेट दर्द हो सकता है पथरी होने पर भी पेट में दर्द हो सकता कभी अगर पीठ में चोट लग गया हो तो कभी-कभी बाद में घर आता है ठंडा कितने आदमी तो उससे भी पेट दर्द हो सकता है यह सब सामान्य लक्षण इसके अलावा भी बहुत सारी चीजों से पेट दर्द हो सकता है लेकिन यह जी ने बताया सामान्यता इन्हीं कारणों से पेट दर्द होता है
Aapaka prashn hai pet mein dard hone ke kya kya vajah ho sakatee hai lekin pet mein dard hone kee kaee vajah ho sakatee hai saamaanyatah kuchh is prakaar hai pet mein gais hone par bhee pet dard ho sakata hai pet mein kisee prakaar ka andure ghaav hone par bhee pet dard ho sakata hai patharee hone par bhee pet mein dard ho sakata kabhee agar peeth mein chot lag gaya ho to kabhee-kabhee baad mein ghar aata hai thanda kitane aadamee to usase bhee pet dard ho sakata hai yah sab saamaany lakshan isake alaava bhee bahut saaree cheejon se pet dard ho sakata hai lekin yah jee ne bataaya saamaanyata inheen kaaranon se pet dard hota hai

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
पेट को कैसे कम करे बिना एक्सरसाइज से ?Pet Ko Kaise Kam Kare Bina Excercise Se
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
1:37
आप ने प्रश्न किया है पेट को कैसे कम करें बिना एक्सरसाइज देखिए पेट को कम करने के 2 उपाय होते हैं एक एक्सरसाइज होता है और दूसरा डाइटिंग आहार-विहार अगर आप सच्चाई नहीं करना चाहते हो तो आपको डाइटिंग से कंट्रोल किया जा सकता है अब चैटिंग का अर्थ भूखा रहना नहीं होता है डेटिंग का अर्थ आप ऐसे भोजन का चुनाव करें जो कम कैलोरी वाले हो कम वसा वाले हो तो निश्चित रूप से आपका जब वसा और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा लेंगे तो उसके लिए कच्चे फल सलाद आज का प्रयोग करें कच्चे फल का आशय कच्चा फल नहीं पका हुआ क्या हुआ क्योंकि जब कोई भी फल या सब्जी जब तक जाती है तो उसके एग्जाम खत्म हो जाते हैं फिर उसकी गुणवत्ता वह नहीं रहती जो वह अप्राकृतिक था में रहती है इन दोनों का भरपूर प्रयोग करने लगेगा और कुछ ही दिनों में आपको बेहतर रिजल्ट मिलेगा धन्यवाद
Aap ne prashn kiya hai pet ko kaise kam karen bina eksarasaij dekhie pet ko kam karane ke 2 upaay hote hain ek eksarasaij hota hai aur doosara daiting aahaar-vihaar agar aap sachchaee nahin karana chaahate ho to aapako daiting se kantrol kiya ja sakata hai ab chaiting ka arth bhookha rahana nahin hota hai deting ka arth aap aise bhojan ka chunaav karen jo kam kailoree vaale ho kam vasa vaale ho to nishchit roop se aapaka jab vasa aur kaarbohaidret kee maatra lenge to usake lie kachche phal salaad aaj ka prayog karen kachche phal ka aashay kachcha phal nahin paka hua kya hua kyonki jab koee bhee phal ya sabjee jab tak jaatee hai to usake egjaam khatm ho jaate hain phir usakee gunavatta vah nahin rahatee jo vah apraakrtik tha mein rahatee hai in donon ka bharapoor prayog karane lagega aur kuchh hee dinon mein aapako behatar rijalt milega dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
भोजन हमारे शरीर के लिए क्यों आवश्यक है उदाहरण बताइए?Bhojan Hamare Shareer Ke Lie Kyun Aavashyak Hai Udaharan Bataiye
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
1:47
आपका प्रश्न है भोजन हमारे शरीर के लिए क्यों आवश्यक है उदाहरण बताइए देखिए हमारे शरीर को निरंतर गतिशील होने के लिए चार चीजों की आवश्यकता होती है कार्बोहाइड्रेट वसा प्रोटीन और विटामिन जिसमें से प्रोटीन शरीर में वृद्धि करता है मैंने सर्च बनाता है और कार्बोहाइड्रेट काम करने की शक्ति देता है वसा शरीर में आवश्यक ऑल प्रदान करता है और विटामिन रोगों से रक्षा करता है यह चारों ही चीजें आपको भोजन से ही प्राप्त होती हैं यह चारों चीजें निरंतर चिढ़ होती रहती है तो उसकी कमी को की प्रतिपूर्ति के लिए हमें भोजन करना आवश्यक होता है भोजन की बिना हमारा काम नहीं चल सकता क्योंकि अगर हम भोजन नहीं करेंगे तो चारों चाहिए सैलरी को नहीं प्राप्त होंगे और नहीं प्राप्त होंगे तो एक शेर होते जाएंगे फिर हमारा शरीर कार्य लायक नहीं रह जाएगा धीरे-धीरे अमृत की ओर बढ़ चलेंगे तो इसलिए भोजन आवश्यक होता है धन्यवाद
Aapaka prashn hai bhojan hamaare shareer ke lie kyon aavashyak hai udaaharan bataie dekhie hamaare shareer ko nirantar gatisheel hone ke lie chaar cheejon kee aavashyakata hotee hai kaarbohaidret vasa proteen aur vitaamin jisamen se proteen shareer mein vrddhi karata hai mainne sarch banaata hai aur kaarbohaidret kaam karane kee shakti deta hai vasa shareer mein aavashyak ol pradaan karata hai aur vitaamin rogon se raksha karata hai yah chaaron hee cheejen aapako bhojan se hee praapt hotee hain yah chaaron cheejen nirantar chidh hotee rahatee hai to usakee kamee ko kee pratipoorti ke lie hamen bhojan karana aavashyak hota hai bhojan kee bina hamaara kaam nahin chal sakata kyonki agar ham bhojan nahin karenge to chaaron chaahie sailaree ko nahin praapt honge aur nahin praapt honge to ek sher hote jaenge phir hamaara shareer kaary laayak nahin rah jaega dheere-dheere amrt kee or badh chalenge to isalie bhojan aavashyak hota hai dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
थकान दूर करने के लिए क्या करें?Thakan Door Karne Ke Lie Kya Karein
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
0:34
तू है थकान दूर करने के लिए क्या करें अगर आप थक जाते हैं तो सबसे अच्छा होता है स्नान कर ले स्नान करने के बाद मैंने देखा है यह मेरा पटना अनुभव है कि थकान में बहुत ज्यादा राहत मिलती है तो थकान के लिए सबसे अच्छा तू ही उपाय है
Too hai thakaan door karane ke lie kya karen agar aap thak jaate hain to sabase achchha hota hai snaan kar le snaan karane ke baad mainne dekha hai yah mera patana anubhav hai ki thakaan mein bahut jyaada raahat milatee hai to thakaan ke lie sabase achchha too hee upaay hai

#भारत की राजनीति

ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
2:18
आप ने प्रश्न किया है हाई ब्लड प्रेशर और डायबिटीज दोनों से पीड़ित लोगों के लिए सब कुछ स्वस्थ आहार टिप्स क्या है देखें चाहे हाई ब्लड प्रेशर हो या डायबिटीज दोनों में ही आपको फल और सलाद भरपूर मात्रा में खाने चाहिए भरपूर मात्रा का आशय इससे है कि जितना भी आप भोजन करते हैं सामान्यतः भोजन को आधा कर दीजिए और बाकी जोक आपका खाली पेट है होता है उसको आप सलाद या फल से भरे मेरी गारंटी है कि आपको इन दोनों ही बीमारियों में बहुत अधिक लाभ होगा इतना अधिक लाभ होगा कि आप उसका कल्पना नहीं कर सकते हैं आपको बिना दवा से डायबिटीज ठीक हो जाएगा अगर आप इस फार्मूले पर अमल करते हैं लेकिन भूखे मत रहिएगा आप खुद पेट भरिए लेकिन जितना भोजन है उसको आधा करके और बाकी जितना भी भूख लगता है आपको कच्चे फल फल सलाद जैसे कि टमाटर है कि रा है ककड़ी है मूली है प्याज है गाजर है चुकंदर है और फल में कोई भी फल है आप भरपूर खाइए क्योंकि फल और सलाद में एंजाइम होते हैं अब आप जब फूल लेंगे तो आपका सूरत दम साफ हो जाएगा और डायबिटीज भी नहीं होगा जिसको आप खाइए गा तो नमक का प्रयोग मातरम करें अभी आप यह जो बाजार का नमक है सामान्य नमक सोडियम क्लोराइड उसको मत ले सीधा नमक काला नमक का ही प्रयोग करें निश्चित रूप से दोनों ही बीमारी में आपको भरपूर से भरपूर लाभ का लाभ प्राप्त होगा धन्यवाद
Aap ne prashn kiya hai haee blad preshar aur daayabiteej donon se peedit logon ke lie sab kuchh svasth aahaar tips kya hai dekhen chaahe haee blad preshar ho ya daayabiteej donon mein hee aapako phal aur salaad bharapoor maatra mein khaane chaahie bharapoor maatra ka aashay isase hai ki jitana bhee aap bhojan karate hain saamaanyatah bhojan ko aadha kar deejie aur baakee jok aapaka khaalee pet hai hota hai usako aap salaad ya phal se bhare meree gaarantee hai ki aapako in donon hee beemaariyon mein bahut adhik laabh hoga itana adhik laabh hoga ki aap usaka kalpana nahin kar sakate hain aapako bina dava se daayabiteej theek ho jaega agar aap is phaarmoole par amal karate hain lekin bhookhe mat rahiega aap khud pet bharie lekin jitana bhojan hai usako aadha karake aur baakee jitana bhee bhookh lagata hai aapako kachche phal phal salaad jaise ki tamaatar hai ki ra hai kakadee hai moolee hai pyaaj hai gaajar hai chukandar hai aur phal mein koee bhee phal hai aap bharapoor khaie kyonki phal aur salaad mein enjaim hote hain ab aap jab phool lenge to aapaka soorat dam saaph ho jaega aur daayabiteej bhee nahin hoga jisako aap khaie ga to namak ka prayog maataram karen abhee aap yah jo baajaar ka namak hai saamaany namak sodiyam kloraid usako mat le seedha namak kaala namak ka hee prayog karen nishchit roop se donon hee beemaaree mein aapako bharapoor se bharapoor laabh ka laabh praapt hoga dhanyavaad

#भारत की राजनीति

ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
0:42
आपका प्रश्न है एक टोकरी में 6 सेव है जिन पर एक से 6 संख्या अंकित हैं यदि एक से बिना देखे निकाला जाए तो 4:00 वाले सेब की प्रायिकता क्या होगी आपने लिखा प्रार्थी का था लेकिन यह प्रायिकता है इंग्लिश में प्राइवेट ही बोलते हैं देखिए लेकिन 4 अंक वाला शेर एक ही है तो इसमें उसकी प्रायिकता एक बटे 6 होगी अर्थात छह में छह बार में एक ही निकालना है तो उसकी प्राइस था एक बटे होगी
Aapaka prashn hai ek tokaree mein 6 sev hai jin par ek se 6 sankhya ankit hain yadi ek se bina dekhe nikaala jae to 4:00 vaale seb kee praayikata kya hogee aapane likha praarthee ka tha lekin yah praayikata hai inglish mein praivet hee bolate hain dekhie lekin 4 ank vaala sher ek hee hai to isamen usakee praayikata ek bate 6 hogee arthaat chhah mein chhah baar mein ek hee nikaalana hai to usakee prais tha ek bate hogee

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या आज के युग में सरकारी नौकरी की तैयारी करना टाइम पास है?Kya Aaj Ke Yug Mein Sarkari Naukari Ki Taiyari Karna Time Paas Hai
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
1:30
आपका पति है क्या आज की युग में सरकारी नौकरी की तैयारी करना टाइम पास है देखें हर व्यक्ति अपनी अपनी इच्छा होती है हर व्यक्ति एक तरह से नहीं सोच सकता किसी को सरकारी नौकरी पसंद है किसी को प्राइवेट नौकरी पसंद है और किसी को अपना सेल्फ व्यवसाय पसंद है किसी को विभिन्न प्रकार के कारोबार या निवेश पसंद है तो अलग-अलग लोगों की अलग-अलग इच्छाएं हैं अलग-अलग पसंद है अब किसी को अगर सरकारी नौकरी पसंद है तो सरकारी नौकरी के लिए तैयारी करेगा जिसे नहीं पसंद है तो उसके लिए तो टाइम पास ही कहा जाएगा अगर आपको सरकारी नौकरी पसंद है और आपको लगता है कि आप उसकी तैयारी करने में सक्षम है तभी आप सरकारी नौकरी की तैयारी करें अदर वाइज आपके लिए हर टाइम पास ही रहेगा और अनावश्यक रूप से टाइम पास करना अपने जीवन के क्षणों को कम करना है तो अगर अब नहीं तैयारी करना चाहते तो आना उससे जबरदस्ती तैयारी ना करें उससे बेहतर है कि आप अपना कोई व्यवसाय मैं मन लगाकर कार्य करें और उसी में सफल हो धन्यवाद
Aapaka pati hai kya aaj kee yug mein sarakaaree naukaree kee taiyaaree karana taim paas hai dekhen har vyakti apanee apanee ichchha hotee hai har vyakti ek tarah se nahin soch sakata kisee ko sarakaaree naukaree pasand hai kisee ko praivet naukaree pasand hai aur kisee ko apana selph vyavasaay pasand hai kisee ko vibhinn prakaar ke kaarobaar ya nivesh pasand hai to alag-alag logon kee alag-alag ichchhaen hain alag-alag pasand hai ab kisee ko agar sarakaaree naukaree pasand hai to sarakaaree naukaree ke lie taiyaaree karega jise nahin pasand hai to usake lie to taim paas hee kaha jaega agar aapako sarakaaree naukaree pasand hai aur aapako lagata hai ki aap usakee taiyaaree karane mein saksham hai tabhee aap sarakaaree naukaree kee taiyaaree karen adar vaij aapake lie har taim paas hee rahega aur anaavashyak roop se taim paas karana apane jeevan ke kshanon ko kam karana hai to agar ab nahin taiyaaree karana chaahate to aana usase jabaradastee taiyaaree na karen usase behatar hai ki aap apana koee vyavasaay main man lagaakar kaary karen aur usee mein saphal ho dhanyavaad

#भारत की राजनीति

ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
0:51
आपका प्रश्न है जो गणित से संबंधित है कि ₹360 रवि राजू तथा राय में इस प्रकार बांटा जाए कि रवि को दो भाग राजू को 3 भाग और राय को 5 भाग में इस बंटवारे में प्रत्येक कोकिल कितना धन मिलेगा तो देखिए रवि को ₹72 मिलेगा राजू को ₹108 मिलेगा और राय को ₹180 मिलेगा तीनों मिलाकर तीनों को मिलाकर ₹360 हो जाएगा और आपके प्रश्नों के उत्तर दो अनुपात तीन अनुपात A5 हो जाए साल हो जाएगा धन्यवाद
Aapaka prashn hai jo ganit se sambandhit hai ki ₹360 ravi raajoo tatha raay mein is prakaar baanta jae ki ravi ko do bhaag raajoo ko 3 bhaag aur raay ko 5 bhaag mein is bantavaare mein pratyek kokil kitana dhan milega to dekhie ravi ko ₹72 milega raajoo ko ₹108 milega aur raay ko ₹180 milega teenon milaakar teenon ko milaakar ₹360 ho jaega aur aapake prashnon ke uttar do anupaat teen anupaat a5 ho jae saal ho jaega dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
किसी भी मानसिक बीमारी के होने का मुख्य कारण क्या है?Kisi Bhi Mansik Bimari Ke Hone Ka Mukhy Karan Kya Hain
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
0:55
आपने प्रश्न किया है किसी भी मानसिक बीमारी के होने का मुख्य कारण क्या है देखिए वैसे मानसिक बीमारी सोच पर आधारित होती है इसलिए मानसिक बीमारी का मुख्य कारण तनाव डिप्रेशन अनिद्रा आधी है जब आप बहुत तनाव में होते हैं तो भी आपको मानसिक बीमारी होने की संभावना रहती है जब आप अवसाद से ग्रसित हो जाते हैं तब भी और जब आपकी नींद ठीक से पूरी नहीं हो पाती है तब भी मानसिक बीमारी होने की बहुत अधिक संभावना रहती है तो इन तीनों कारणों से मानसी बीमारी की संभावना बहुत अधिक होती है धन्यवाद
Aapane prashn kiya hai kisee bhee maanasik beemaaree ke hone ka mukhy kaaran kya hai dekhie vaise maanasik beemaaree soch par aadhaarit hotee hai isalie maanasik beemaaree ka mukhy kaaran tanaav dipreshan anidra aadhee hai jab aap bahut tanaav mein hote hain to bhee aapako maanasik beemaaree hone kee sambhaavana rahatee hai jab aap avasaad se grasit ho jaate hain tab bhee aur jab aapakee neend theek se pooree nahin ho paatee hai tab bhee maanasik beemaaree hone kee bahut adhik sambhaavana rahatee hai to in teenon kaaranon se maanasee beemaaree kee sambhaavana bahut adhik hotee hai dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
सभी आसनों के अंत में हमें कौन सा योगासन करना चाहिए?Sabhi Aasanon Ke Ant Mei Humein Kaun Sa Yogasan Karna Chaiye
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
0:52
मित्र आपने प्रक्रिया है सभी आसनों के अंत में हमें कौन सा योगासन करना चाहिए देखिए आप चाहे जितने भी योगासन कर ले लेकिन अंत में सवासन जरूर करना चाहिए क्योंकि जब आप योगासन करते हैं तो शरीर कुछ ना कुछ थक जाता है सवासम कर लेने से आपकी एनर्जी पुनः लौट आती है और आप ऐसा वासन में पूर्ण विश्राम कर लेते हैं तो आपका शरीर ऊर्जा से भर जाता है और शासन करने से सारे योगासनों का पूर्ण फल प्राप्त होता है शासन करना आवश्यक होता है धन्यवाद
Mitr aapane prakriya hai sabhee aasanon ke ant mein hamen kaun sa yogaasan karana chaahie dekhie aap chaahe jitane bhee yogaasan kar le lekin ant mein savaasan jaroor karana chaahie kyonki jab aap yogaasan karate hain to shareer kuchh na kuchh thak jaata hai savaasam kar lene se aapakee enarjee punah laut aatee hai aur aap aisa vaasan mein poorn vishraam kar lete hain to aapaka shareer oorja se bhar jaata hai aur shaasan karane se saare yogaasanon ka poorn phal praapt hota hai shaasan karana aavashyak hota hai dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
कौन से फल स्वादिष्ट होते हैं पर खाने में कठिनाइयां मेहनत करनी पड़ती है?Kaun Se Fal Svadisht Hote Hain Par Khane Mein Kathinaiya Mehnat Karne Padti Hai
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
1:10
आपका प्रश्न है कौन से फल स्वादिष्ट होते हैं पर खाने में कठिनाइयां मेहनत करनी पड़ती है पड़ती है देखिए मित्र फल खाने में स्वादिष्ट तो होते हैं और लेकिन 2 साल ऐसी एंजिमिक को खाने में कठिनाई महसूस होती है मेरे विचार से पहला फल है नारियल नारियल को खाने के लिए पहले उसकी जटा को निकालना पड़ता है फिर उसके बाद उसे छोड़ना पड़ता है फिर उसे निकालना पर गिरी अंदर वाली घड़ी को दीदी को अलग करना पड़ता है उसके बाद उसके बाद ही आप खा सकते हैं इस प्रक्रिया में समय लगता है और दूसरा अनन्नास का फल होता है जिसका छिलका बड़ा खुरदुरा हो सकता होता है उसको खेलने में काफी मेहनत करना पड़ता है तो मेरे विचार से दो पल ऐसे हैं जो खाने दोनों ही स्वादिष्ट होते हैं लेकिन खाने में थोड़ी सी कठिनाई होती है मेहनत करना पड़ता है उसमें के लिए धन्यवाद
Aapaka prashn hai kaun se phal svaadisht hote hain par khaane mein kathinaiyaan mehanat karanee padatee hai padatee hai dekhie mitr phal khaane mein svaadisht to hote hain aur lekin 2 saal aisee enjimik ko khaane mein kathinaee mahasoos hotee hai mere vichaar se pahala phal hai naariyal naariyal ko khaane ke lie pahale usakee jata ko nikaalana padata hai phir usake baad use chhodana padata hai phir use nikaalana par giree andar vaalee ghadee ko deedee ko alag karana padata hai usake baad usake baad hee aap kha sakate hain is prakriya mein samay lagata hai aur doosara anannaas ka phal hota hai jisaka chhilaka bada khuradura ho sakata hota hai usako khelane mein kaaphee mehanat karana padata hai to mere vichaar se do pal aise hain jo khaane donon hee svaadisht hote hain lekin khaane mein thodee see kathinaee hotee hai mehanat karana padata hai usamen ke lie dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
शुगर बीमारी के क्या लक्षण होते हैं?Sugar Bimari Ke Kya Lakshan Hote Hain
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
1:16
आपका पर्सनल शुगर बीमारी के क्या लक्षण होते हैं लेकिन जब आपके शरीर खून में शर्करा की मात्रा अधिक हो जाती है तो उसके कुछ लक्षण हो से पहचान में आता है जैसे कि शुगर बढ़ने पर आपके घाव जल्दी नहीं भरते हैं या खून का बहना जल्दी रुकता नहीं है अर्थात छक्का जल्दी नहीं बनता है इसके अलावा शुगर की बीमारी शुगर की मात्रा अधिक होने पर आपका वेट लॉस होने लगता है आपका वजन तेजी से गिरने लगता है तो इसके अलावा तीसरा है आपको बार-बार प्यास लगता है तो यह 3 लक्षण अगर आपके अंदर हैं तो आपको अपने सूअर की जांच जरूर करा लेनी चाहिए क्योंकि अगर यह तीनों में से कोई भी लक्षण है तो इस बात की बहुत बहुत ज्यादा संभावना है कि आपको शुगर की बीमारी हो सकती है प्रश्न के लिए धन्यवाद
Aapaka parsanal shugar beemaaree ke kya lakshan hote hain lekin jab aapake shareer khoon mein sharkara kee maatra adhik ho jaatee hai to usake kuchh lakshan ho se pahachaan mein aata hai jaise ki shugar badhane par aapake ghaav jaldee nahin bharate hain ya khoon ka bahana jaldee rukata nahin hai arthaat chhakka jaldee nahin banata hai isake alaava shugar kee beemaaree shugar kee maatra adhik hone par aapaka vet los hone lagata hai aapaka vajan tejee se girane lagata hai to isake alaava teesara hai aapako baar-baar pyaas lagata hai to yah 3 lakshan agar aapake andar hain to aapako apane sooar kee jaanch jaroor kara lenee chaahie kyonki agar yah teenon mein se koee bhee lakshan hai to is baat kee bahut bahut jyaada sambhaavana hai ki aapako shugar kee beemaaree ho sakatee hai prashn ke lie dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
क्या दुनिया मे ऐसी दवाई बनाई गई है जिसका प्रयोग करने से खुशी की एहसास हो?Kya Duniya Mei Ajkal Esi Davayi Banayi Gayi Hai Jiska Prayog Karne Se Khushi Ki Ehesas Ho
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
0:55
आपका प्रश्न है क्या दुनिया में आजकल ऐसी दवाई बनाई गई है जिसका प्रयोग करने से खुशी का अहसास हो जैसे दुनिया में जिसका प्रयोग करने से आपको खुशी का अहसास होगा ऐसी दवा है दूसरों की मदद करना जब आप दूसरों की मदद करते हैं उनकी हेल्प करते हैं उनके काम आती हैं तो उसके बाद आपको आत्मिक संतुष्टि का अहसास होता है उसी में आपको सच्ची आनंद की अनुभूति होती है इसलिए हमेशा हेल्पफुल बने और लोगों के समाज के काम आएंगे निश्चित रूप से खुशी की सबसे बड़ी यही दवा है धन्यवाद
Aapaka prashn hai kya duniya mein aajakal aisee davaee banaee gaee hai jisaka prayog karane se khushee ka ahasaas ho jaise duniya mein jisaka prayog karane se aapako khushee ka ahasaas hoga aisee dava hai doosaron kee madad karana jab aap doosaron kee madad karate hain unakee help karate hain unake kaam aatee hain to usake baad aapako aatmik santushti ka ahasaas hota hai usee mein aapako sachchee aanand kee anubhooti hotee hai isalie hamesha helpaphul bane aur logon ke samaaj ke kaam aaenge nishchit roop se khushee kee sabase badee yahee dava hai dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
दूध पीने का सबसे उत्तम समय कौन सा है?Doodh Peene Ka Sabse Uttam Samay Kaun Sa Hai
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
0:34
आपका प्रश्न है दूध पीने का सबसे उत्तम समय कौन सा है दूध खाली पेट बिना अच्छा नहीं माना जाता है और वैसे सबसे अच्छा समय इसका खाना खाने बाद रात को सोते समय होता है लेकिन दूध हमेशा खाना खाने के लगभग डेढ़ से 2 घंटे बाद ही पीना चाहिए धन्यवाद
Aapaka prashn hai doodh peene ka sabase uttam samay kaun sa hai doodh khaalee pet bina achchha nahin maana jaata hai aur vaise sabase achchha samay isaka khaana khaane baad raat ko sote samay hota hai lekin doodh hamesha khaana khaane ke lagabhag dedh se 2 ghante baad hee peena chaahie dhanyavaad

#भारत की राजनीति

bolkar speaker
सबसे वफादार पेट कौन सा है?Sabse Vafadar Pet Kaun Sa Hai
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
0:48
आपका प्रश्न है सबसे वफादार पेट कौन सा है आपने पूछा वफादार पेट देखिए पेट तो हमेशा वफादार होता है हमें उसे वफादार दिया बेवफा बनाते हैं जब हम पेट में अच्छी चीजें खाते हैं तो फायदा रहता है अजब उसी में हम गरिष्ठ चीज है खा लेते हैं तो बेवफा हो जाता है अबे तू न तो स्वयं वफादार होता है ना ही बेवफा होता है हमें उसको वफादार और बेवफा बनाते हैं धन्यवाद
Aapaka prashn hai sabase vaphaadaar pet kaun sa hai aapane poochha vaphaadaar pet dekhie pet to hamesha vaphaadaar hota hai hamen use vaphaadaar diya bevapha banaate hain jab ham pet mein achchhee cheejen khaate hain to phaayada rahata hai ajab usee mein ham garishth cheej hai kha lete hain to bevapha ho jaata hai abe too na to svayan vaphaadaar hota hai na hee bevapha hota hai hamen usako vaphaadaar aur bevapha banaate hain dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
पढ़ाई में कंसंट्रेट कैसे करें?Padhayi Mein Concentrate Kaise Kare
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
2:35
कपिल की पढ़ाई में कंसंट्रेट कैसे हो एक बार मैंने एक मोटिवेशनल स्पीकर को सुना था मुझे उनकी बातें अच्छी लगी थी और मैंने उसको जब खुद पर भी ट्राई किया और अपने निकट संबंधियों अपने मित्रों शुभचिंतकों के ऊपर भी ट्राई किया तो यह बात ना हो पाए सही पाया गया और शत-प्रतिशत सही साबित हुआ कि जब तक हम कोई अपना एक लक्ष्य निर्धारित नहीं कर लेते हैं तब तक किसी कार्य में हमारा जी नहीं लगता है जब हम कोई एक लक्ष्य निर्धारित कर लेते हैं तो उसी अनुरूप हमारा कार्य होने लगता है हां लेकिन जो हमारा लक्ष्य निर्धारित हूं उस में दम होना चाहिए यह नहीं कि बस मुंगेरीलाल के हसीन सपने की तरह कभी सोचा कि हम फौजी हो जाए तो कभी सोचा कि हम भी हो जाए तो कभी हमने दिमाग में आ राजा में बनकर बैठा हूं तो कभी मैं कुछ बनकर बैठा हूं किसी एक चीज पर फोकस करना जरूरी है आप जब यह टारगेट पूरा कर लेते हैं फिर दूसरा टारगेट रखना चाहिए तभी आपके विचार में दम आता है तो अगर आपने कोई बढ़िया टारगेट निर्धारित कर लिया है कि मैं फला पोस्ट पर जाना चाहता हूं या मैं अपनी जान को इस एग्जाम में मैं जिला टॉप करना चाहता हूं मैं स्कूल टाइप करना चाहता हूं एक लक्ष्य निर्धारित करना जरूरी है जगत को निर्धारित कर लेते हैं उसको फिल्म अनपढ़ संकल्प शक्ति से निर्धारित करते हैं तो फिर कहना है क्या तो फिर आप कुछ भी कर सकते हैं तब आप आवाज मस्तिक में बार-बार या भावना देते हैं यह बड़ी अच्छी चीज है स्टाफ करूंगा उसे उसकी अच्छाइयों के बारे में आप सोचते हैं कि मैं क्लास टाइप करूंगा स्कूल में मुझे प्रिंसिपल सर द्वारा पुरस्कार मिलेगा लोगों में मेरा नाम होगा घर में सम्मान होगा मोहल्ले में सम्मान होगा कितना मजा आएगा जब यह चीज आप सोच लेते हैं और आपके विचारों में स्थिरता बनी रहती है पढ़ाई में मन लगने लगेगा तब आप खुद ही बेचैन हो जाते हैं एक दिन आप नहीं पढ़ने को पाएंगे तो आप बेचैनी होने लगेगी और आप कम पढ़ाई में मन लगने लगेगा धन्यवाद
Kapil kee padhaee mein kansantret kaise ho ek baar mainne ek motiveshanal speekar ko suna tha mujhe unakee baaten achchhee lagee thee aur mainne usako jab khud par bhee traee kiya aur apane nikat sambandhiyon apane mitron shubhachintakon ke oopar bhee traee kiya to yah baat na ho pae sahee paaya gaya aur shat-pratishat sahee saabit hua ki jab tak ham koee apana ek lakshy nirdhaarit nahin kar lete hain tab tak kisee kaary mein hamaara jee nahin lagata hai jab ham koee ek lakshy nirdhaarit kar lete hain to usee anuroop hamaara kaary hone lagata hai haan lekin jo hamaara lakshy nirdhaarit hoon us mein dam hona chaahie yah nahin ki bas mungereelaal ke haseen sapane kee tarah kabhee socha ki ham phaujee ho jae to kabhee socha ki ham bhee ho jae to kabhee hamane dimaag mein aa raaja mein banakar baitha hoon to kabhee main kuchh banakar baitha hoon kisee ek cheej par phokas karana jarooree hai aap jab yah taaraget poora kar lete hain phir doosara taaraget rakhana chaahie tabhee aapake vichaar mein dam aata hai to agar aapane koee badhiya taaraget nirdhaarit kar liya hai ki main phala post par jaana chaahata hoon ya main apanee jaan ko is egjaam mein main jila top karana chaahata hoon main skool taip karana chaahata hoon ek lakshy nirdhaarit karana jarooree hai jagat ko nirdhaarit kar lete hain usako philm anapadh sankalp shakti se nirdhaarit karate hain to phir kahana hai kya to phir aap kuchh bhee kar sakate hain tab aap aavaaj mastik mein baar-baar ya bhaavana dete hain yah badee achchhee cheej hai staaph karoonga use usakee achchhaiyon ke baare mein aap sochate hain ki main klaas taip karoonga skool mein mujhe prinsipal sar dvaara puraskaar milega logon mein mera naam hoga ghar mein sammaan hoga mohalle mein sammaan hoga kitana maja aaega jab yah cheej aap soch lete hain aur aapake vichaaron mein sthirata banee rahatee hai padhaee mein man lagane lagega tab aap khud hee bechain ho jaate hain ek din aap nahin padhane ko paenge to aap bechainee hone lagegee aur aap kam padhaee mein man lagane lagega dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
जब सरकारी नौकरी की वैकेंसी नहीं आ रही है तो एक तैयारी करने वाले छात्रों को क्या करना चाहिए?Jab Sarakaaree Naukaree Kee Vaikensee Nahin Aa Rahee Hai To Ek Taiyaaree Karane Vaale Chhaatron Ko Kya Karana Chaahie
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
1:09
आपका प्रश्न है जब सरकारी नौकरी की वैकेंसी नहीं आ रही है तो एक तैयारी करने वाले छात्रों को क्या करना चाहिए देखें मित्र अगर आप सरकारी नौकरी के इच्छुक हैं तो आपको अपनी तैयारी अनवरत जारी रखनी चाहिए क्योंकि कब वैकेंसी आ जाए क्या पता फिर अब अलग-अलग स्टेट में भी ट्राई ट्राई कर सकते हैं बहुत सारी स्टेट में ऐसा होगा कि नौकरी वहां की वैकेंसी आ रही होगी तो आप रोजगार से संबंधित समाचार पत्रों का अवलोकन करते रहे यहां भी नौकरी की वैकेंसी वही आप अप्लाई करें और अपनी तैयारी वाले अभ्यास को निरंतर बनाए रखें यह नहीं कि जब नौकरी आएगी तब हम तैयारी शुरू करेंगे यह वैकेंसी आएगी तब आप तैयारी शुरू करेंगे तो उसके खिलाफ आपको नहीं मिलेगा सबनुर तैयारी बनाए रखें मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Aapaka prashn hai jab sarakaaree naukaree kee vaikensee nahin aa rahee hai to ek taiyaaree karane vaale chhaatron ko kya karana chaahie dekhen mitr agar aap sarakaaree naukaree ke ichchhuk hain to aapako apanee taiyaaree anavarat jaaree rakhanee chaahie kyonki kab vaikensee aa jae kya pata phir ab alag-alag stet mein bhee traee traee kar sakate hain bahut saaree stet mein aisa hoga ki naukaree vahaan kee vaikensee aa rahee hogee to aap rojagaar se sambandhit samaachaar patron ka avalokan karate rahe yahaan bhee naukaree kee vaikensee vahee aap aplaee karen aur apanee taiyaaree vaale abhyaas ko nirantar banae rakhen yah nahin ki jab naukaree aaegee tab ham taiyaaree shuroo karenge yah vaikensee aaegee tab aap taiyaaree shuroo karenge to usake khilaaph aapako nahin milega sabanur taiyaaree banae rakhen meree shubhakaamanaen aapake saath hain dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
2:41
मित्र आप का प्रश्न है मैथ के सवाल नहीं आने पर दिमाग खराब होता है तब कैसे सॉल्व करें क्वेश्चन को कंसंट्रेट कैसे करें देखिए मैथ के साथ हमेशा से एक समस्या रही है कि जिसको आता है खूब आता है उसको नहीं आता है एकदम नहीं आता है मैं ठीक है सा विषय है जो आपको स्वयं में ही कंसंट्रेट किया रहता है अगर आप कोई अन्य विषय क्यों निकल विषय पर रहे हैं तू किसी कार्य से कोई आवाज होने पर कुछ कोई कोई गतिविधि कर रहा तो आपका ध्यान बंद होता लेकिन गणित एक ऐसा विषय है जो बाहरी चीजों से आपको अलग कर देता है क्योंकि इसमें आपको दिमाग को क्रियाशील रखना पड़ता है क्योंकि जब तक आप दिमाग क्रियाशील नहीं रखेंगे तब तक अगला स्टेप आएगा ही नहीं इसमें स्टेप बाय स्टेप काम चलता है अब आपका प्रश्न है कि दिमाग खराब होता है कंसंट्रेट नहीं होता है देखिए मान लीजिए आप किसी सीढ़ी पर चढ़ रहे हैं और आप सोचें कि हम पहली सीढ़ी के बजाए सीधे आखिरी सीढ़ी पर पैर रख दे तो यह संभव नहीं है तो मैं तुम्हें जब तक आपका बेसिक क्लियर नहीं होगा तब तक आपका आगे की चीजें क्यों नहीं लगा सकते हैं आप और ना ही आपको समझ में आएगा एग्जांपल का शार्ट पर समझे अगर आप अगर आपको जोड़ नहीं आएगा - नहीं आएगा तो आप * या भाग नहीं लगा सकते हैं अगर किसी बच्चे को जोड़ और घटाना ना सिखाया जाए या उसको ना आ रहा हूं और उसको चाहे कितना भी प्रयास करें कि गुड़ा सिखा दे या भाग सिखा दे तुम इंपासिबल संभव ही नहीं है तो इसके लिए आपको पहले निचले स्तर से बेसिक से शुरू करके आगे की ओर बढ़ना होता है तब आप जब आपके एक सिस्टमैटिक तरीके से चलना होता जब आपका सिस्टमैटिक तरीका सही रहेगा तब आप को समझने में कोई दिक्कत नहीं होगी तो इसके लिए बेहतर ही होगा कि आप पहले बेसिक से शुरू करें ओवैसी को क्लियर करते हुए आगे बढ़ेंगे तब इसमें आपका स्वता मन लगने लगेगा क्योंकि जब आने लगेगा समझ में तो आपका मन भी लगने लगेगा धन्यवाद
Mitr aap ka prashn hai maith ke savaal nahin aane par dimaag kharaab hota hai tab kaise solv karen kveshchan ko kansantret kaise karen dekhie maith ke saath hamesha se ek samasya rahee hai ki jisako aata hai khoob aata hai usako nahin aata hai ekadam nahin aata hai main theek hai sa vishay hai jo aapako svayan mein hee kansantret kiya rahata hai agar aap koee any vishay kyon nikal vishay par rahe hain too kisee kaary se koee aavaaj hone par kuchh koee koee gatividhi kar raha to aapaka dhyaan band hota lekin ganit ek aisa vishay hai jo baaharee cheejon se aapako alag kar deta hai kyonki isamen aapako dimaag ko kriyaasheel rakhana padata hai kyonki jab tak aap dimaag kriyaasheel nahin rakhenge tab tak agala step aaega hee nahin isamen step baay step kaam chalata hai ab aapaka prashn hai ki dimaag kharaab hota hai kansantret nahin hota hai dekhie maan leejie aap kisee seedhee par chadh rahe hain aur aap sochen ki ham pahalee seedhee ke bajae seedhe aakhiree seedhee par pair rakh de to yah sambhav nahin hai to main tumhen jab tak aapaka besik kliyar nahin hoga tab tak aapaka aage kee cheejen kyon nahin laga sakate hain aap aur na hee aapako samajh mein aaega egjaampal ka shaart par samajhe agar aap agar aapako jod nahin aaega - nahin aaega to aap * ya bhaag nahin laga sakate hain agar kisee bachche ko jod aur ghataana na sikhaaya jae ya usako na aa raha hoon aur usako chaahe kitana bhee prayaas karen ki guda sikha de ya bhaag sikha de tum impaasibal sambhav hee nahin hai to isake lie aapako pahale nichale star se besik se shuroo karake aage kee or badhana hota hai tab aap jab aapake ek sistamaitik tareeke se chalana hota jab aapaka sistamaitik tareeka sahee rahega tab aap ko samajhane mein koee dikkat nahin hogee to isake lie behatar hee hoga ki aap pahale besik se shuroo karen ovaisee ko kliyar karate hue aage badhenge tab isamen aapaka svata man lagane lagega kyonki jab aane lagega samajh mein to aapaka man bhee lagane lagega dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
3:03
आपका प्रश्न है जब हम किताब लेकर बैठते हैं तो मैं पढ़ने का जी नहीं करता है और जब फोन लेकर बैठ जाते हैं तो हमारा जी बहुत लगता है इसका कारण बताएं देखिए मैं बहुत सारे विद्यार्थियों को जानता हूं जिनको फोन से कम रुचि है और किताबों के अध्ययन में अधिक रुचि है किसी को किताबों में कभी भी चाहिए और फोन में जाकर पूछिए इसमें समझ समझ का दोष है जब आपको अपना लक्ष्य दिखाई देने लगता है या लक्ष्मी धारिता कर लेते हैं कि मुझे इस लक्ष्य को प्राप्त करना है तो लक्ष्य के अनुरूप आप कार्य करने लगते हैं आपका मस्तिष्क आपकी छुपे संदेशों को ग्रहण करता है जब आप अपने मस्तिष्क में ऐसे छुपे संदेश डालते हैं की पढ़ाई बड़ी मजेदार चीज है जब मैं पढ़ लूंगा तो मैं यह बन जाऊंगा यह करूंगा ऐसा करूंगा यह करूंगी क्योंकि मस्तिक समारा लालची पर बैठता है वह सुख की ओर आकृष्ट होता है तो जब आप अपने मन में यह छुपा संदेश दे देते हैं कि मुझे अध्ययन से तमाम प्रकार के लाभ होंगे जब मैं अध्ययन करूंगा तब मैं यह सेवा सर्विस करने लगूंगा मैं इतना कमा लूंगा तो मैं विदेश यात्रा करूंगा घूम लूंगा शॉपिंग कर लूंगा तुम तो मस्तिष्क उधर चला जाता है तो पढ़ने में रुचि लेने लगता है लेकिन जब आप मस्तिष्क में यह बात डाल देते हैं कि फोन बड़ी मजेदार चीज है पढ़ाई लिखाई छोड़ो यार यह सब क्या चीज है किधर प्रसन्न हो फोन देखो चैटिंग करो गर्लफ्रेंड बनाओ सोशल मीडिया पर एक्टिव रहो तो आपका मस्तिष्क पढ़ाई को छोड़कर पूर्व की ओर मुड़ जाता है तो वास्तव में इन सब कारणों के पीछे आप स्वयं जिम्मेदार होते हैं तो अगर आप चाहते हैं कि आपका मन अध्ययन में लगे तो आप अपने मस्तिष्क में बार बार एक बार नहीं बार-बार संदेश डालें की पढ़ाई बड़ी मजेदार चीज है यह फोन तो बड़ा फल चीज है यह तो बेकार है यह तो मुझे मार डालेगा यह तो मुझे जीवन को तहस-नहस कर देगा जब यह बात बार-बार अपने मस्तिष्क में आप डालेंगे तो आप यकीन मानिए कि आपका मन अध्ययन के प्रति आकृष्ट होने लगेगा फोन के प्रति विरक्ति होने लगेगी धन्यवाद
Aapaka prashn hai jab ham kitaab lekar baithate hain to main padhane ka jee nahin karata hai aur jab phon lekar baith jaate hain to hamaara jee bahut lagata hai isaka kaaran bataen dekhie main bahut saare vidyaarthiyon ko jaanata hoon jinako phon se kam ruchi hai aur kitaabon ke adhyayan mein adhik ruchi hai kisee ko kitaabon mein kabhee bhee chaahie aur phon mein jaakar poochhie isamen samajh samajh ka dosh hai jab aapako apana lakshy dikhaee dene lagata hai ya lakshmee dhaarita kar lete hain ki mujhe is lakshy ko praapt karana hai to lakshy ke anuroop aap kaary karane lagate hain aapaka mastishk aapakee chhupe sandeshon ko grahan karata hai jab aap apane mastishk mein aise chhupe sandesh daalate hain kee padhaee badee majedaar cheej hai jab main padh loonga to main yah ban jaoonga yah karoonga aisa karoonga yah karoongee kyonki mastik samaara laalachee par baithata hai vah sukh kee or aakrsht hota hai to jab aap apane man mein yah chhupa sandesh de dete hain ki mujhe adhyayan se tamaam prakaar ke laabh honge jab main adhyayan karoonga tab main yah seva sarvis karane lagoonga main itana kama loonga to main videsh yaatra karoonga ghoom loonga shoping kar loonga tum to mastishk udhar chala jaata hai to padhane mein ruchi lene lagata hai lekin jab aap mastishk mein yah baat daal dete hain ki phon badee majedaar cheej hai padhaee likhaee chhodo yaar yah sab kya cheej hai kidhar prasann ho phon dekho chaiting karo garlaphrend banao soshal meediya par ektiv raho to aapaka mastishk padhaee ko chhodakar poorv kee or mud jaata hai to vaastav mein in sab kaaranon ke peechhe aap svayan jimmedaar hote hain to agar aap chaahate hain ki aapaka man adhyayan mein lage to aap apane mastishk mein baar baar ek baar nahin baar-baar sandesh daalen kee padhaee badee majedaar cheej hai yah phon to bada phal cheej hai yah to bekaar hai yah to mujhe maar daalega yah to mujhe jeevan ko tahas-nahas kar dega jab yah baat baar-baar apane mastishk mein aap daalenge to aap yakeen maanie ki aapaka man adhyayan ke prati aakrsht hone lagega phon ke prati virakti hone lagegee dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
आपके हिसाब से भारत में रिटायरमेंट की सही उम्र क्या है?Aapke Hisab Se Bharat Mein Retirement Ki Sahi Umr Kya Hai
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
2:36
आपका प्रश्न है आपके हिसाब से भारत में रिटायरमेंट की सही उम्र क्या है देखिए आप ने रिटायरमेंट किया ही पूछा लेकिन आप ने यह नहीं बताया कि आप किस वर्ग के लोगों की रिटायरमेंट की बात कर रहे हैं क्योंकि सेना में रिटायरमेंट की आयु कुछ अलग है कर्मचारियों की रिटायरमेंट आयु कुछ अलग है और नेताओं की रिटायरमेंट का आई कुछ अलग है सभी की रिटायरमेंट आयु में फर्क होता है उदाहरण के लिए अगर सैनिकों की रिटायरमेंट की आयु की बात करें तो आंदोलन को 15 से 20 साल की आयु में रिटायर कर दिया जाता है सेवा की 15 साल की आयु क्योंकि उनमें काफी दमखम की आवश्यकता होती है उनके कार्य की प्रकृति ही ऐसी है वह 60 साल तक की आयु तक लड़ाई नहीं कर सकते तू जो कि मैं गरीब स्कूल से भी उचित प्रतीत होता है अगर सरकारी कर्मियों की बात करें तो इनके लिए 60 साल की आयु निर्धारित की गई है किसी विभाग में हो सकता है एक 2 साल का अधिक हो वह अलग बात है लेकिन लगभग 60 साल की आयु निर्धारित की गई है यह भी वैज्ञानिक दृष्टिकोण से उचित प्रतीत होती है क्योंकि 60 साल के बाद कार्य करने की क्षमता कम होने लगती है उस समय कर्मचारियों को रिटायरमेंट की आवश्यकता होती है ताकि वह शेष जीवन आराम से बिता सकें किंतु अगर नेताओं की बात करें तो उनके कार्य में दमखम की आवश्यकता नहीं होती है उन्हें केवल मानसिक परिश्रम की आवश्यकता होती है कार्य करने के लिए उनके पास अजमेर टू का एक बहुत बड़ा फौज होता है तो इसलिए उन्हें उनकी रिटायरमेंट की आयु निर्धारित नहीं है जब वह स्वयं चाहते हैं तभी वह रिटायर होते हैं दो अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग रिटायरमेंट की आयु है तो उम्मीद करता हूं कि आप हमारे जवाब से संतुष्ट होंगे धन्यवाद
Aapaka prashn hai aapake hisaab se bhaarat mein ritaayarament kee sahee umr kya hai dekhie aap ne ritaayarament kiya hee poochha lekin aap ne yah nahin bataaya ki aap kis varg ke logon kee ritaayarament kee baat kar rahe hain kyonki sena mein ritaayarament kee aayu kuchh alag hai karmachaariyon kee ritaayarament aayu kuchh alag hai aur netaon kee ritaayarament ka aaee kuchh alag hai sabhee kee ritaayarament aayu mein phark hota hai udaaharan ke lie agar sainikon kee ritaayarament kee aayu kee baat karen to aandolan ko 15 se 20 saal kee aayu mein ritaayar kar diya jaata hai seva kee 15 saal kee aayu kyonki unamen kaaphee damakham kee aavashyakata hotee hai unake kaary kee prakrti hee aisee hai vah 60 saal tak kee aayu tak ladaee nahin kar sakate too jo ki main gareeb skool se bhee uchit prateet hota hai agar sarakaaree karmiyon kee baat karen to inake lie 60 saal kee aayu nirdhaarit kee gaee hai kisee vibhaag mein ho sakata hai ek 2 saal ka adhik ho vah alag baat hai lekin lagabhag 60 saal kee aayu nirdhaarit kee gaee hai yah bhee vaigyaanik drshtikon se uchit prateet hotee hai kyonki 60 saal ke baad kaary karane kee kshamata kam hone lagatee hai us samay karmachaariyon ko ritaayarament kee aavashyakata hotee hai taaki vah shesh jeevan aaraam se bita saken kintu agar netaon kee baat karen to unake kaary mein damakham kee aavashyakata nahin hotee hai unhen keval maanasik parishram kee aavashyakata hotee hai kaary karane ke lie unake paas ajamer too ka ek bahut bada phauj hota hai to isalie unhen unakee ritaayarament kee aayu nirdhaarit nahin hai jab vah svayan chaahate hain tabhee vah ritaayar hote hain do alag-alag kshetron mein alag-alag ritaayarament kee aayu hai to ummeed karata hoon ki aap hamaare javaab se santusht honge dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
एक विद्यार्थी को देने के लिए आपके पास कौन सी जानकारी है?Ek Vidyarthi Ko Dene Ke Lie Apke Paas Kaun See Jankari Hai
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
0:49
एक विद्यार्थी को देने के लिए आपके पास कौन सी जानकारी है लेकिन कोई ऐसी जानकारी नहीं है जो सभी को पता ना हो कोई भी जानकारी क्यों हम कुछ दिन के लिए विस्मृत हो सकते हैं लेकिन सारी जानकारियां जानकारी रहती है लेकिन फिर भी अगर मुझे विद्यार्थियों के लिए कोई संदेश देना हो तो उसको मेरी कलाई में कहना चाहूंगा मजबूत इच्छाशक्ति कठिन परिश्रम बेहतर लक्ष तीनों को आप मस्तिष्क में बनाए रखेंगे तो निश्चित रूप से आप जीवन में खूब तरक्की करेंगे धन्यवाद
Ek vidyaarthee ko dene ke lie aapake paas kaun see jaanakaaree hai lekin koee aisee jaanakaaree nahin hai jo sabhee ko pata na ho koee bhee jaanakaaree kyon ham kuchh din ke lie vismrt ho sakate hain lekin saaree jaanakaariyaan jaanakaaree rahatee hai lekin phir bhee agar mujhe vidyaarthiyon ke lie koee sandesh dena ho to usako meree kalaee mein kahana chaahoonga majaboot ichchhaashakti kathin parishram behatar laksh teenon ko aap mastishk mein banae rakhenge to nishchit roop se aap jeevan mein khoob tarakkee karenge dhanyavaad

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
पंद्रह साल का बच्चा पढ़ाई करते हुए ऑनलाइन नौकरी कैसे करें?Pandrah Saal Ka Bacha Padhai Karte Hue Online Naukri Kaise Kare
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
1:01
आपका प्रश्न है 15 साल का बच्चा पढ़ाई करते हुए ऑनलाइन नौकरी कैसे करें देखिए बहुत सारे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है जहां पर घंटा दो घंटा काम करके पैसा कमाया जा सकता है किंतु बात 15 साल के बच्चे के लिए तो मेरे ख्याल से 15 साल का बच्चा जो लगभग हाई स्कूल में होगा वह छोटे बच्चों को के जी क्लास के बच्चों को या प्राथमिक क्लास के बच्चे को ट्यूशन ऑनलाइन दे सकता है यदि वह बच्चा अच्छे दिमाग का है 7 माइंड का है तो वह कक्षा 5 तक के बच्चों को ऑनलाइन ट्यूशन दे सकता है और इससे वह अपनी कुछ कमाई अर्जित कर सकता है धन्यवाद
Aapaka prashn hai 15 saal ka bachcha padhaee karate hue onalain naukaree kaise karen dekhie bahut saare onalain pletaphorm hai jahaan par ghanta do ghanta kaam karake paisa kamaaya ja sakata hai kintu baat 15 saal ke bachche ke lie to mere khyaal se 15 saal ka bachcha jo lagabhag haee skool mein hoga vah chhote bachchon ko ke jee klaas ke bachchon ko ya praathamik klaas ke bachche ko tyooshan onalain de sakata hai yadi vah bachcha achchhe dimaag ka hai 7 maind ka hai to vah kaksha 5 tak ke bachchon ko onalain tyooshan de sakata hai aur isase vah apanee kuchh kamaee arjit kar sakata hai dhanyavaad
URL copied to clipboard