#undefined

bolkar speaker

बांध बनने में कौन-कौन सी समस्याएं आती हैं?

Baandh Banne Mein Kaun Kaun See Samsya Ati Hain
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:11
हरिद्वार के बांध बनने में कौन-कौन सी समस्याएं आती है कि जब भी आपकी तरह बांध बनाया जाता है तो सबसे पहले तू वहां के लोगों को बहुत प्रॉब्लम हो रही है कि वहां पर बोलूं कुछ भी देखिए होते हैं उनके जापानी से कुछ भी मछली वगैरह उसे निकाल कर डालते हैं हो रखने के लिए अपने खाने के लिए भी रखते हैं तो एक ही हो जाता बहुत सारा दिन टेंशन होता है मतलब होता है वहां पर पौधे लगाए गए होते हैं समझे या फिर किसी भी तरह का पानी लिया जाता है पानी का उपयोग किया जाता है हर एक चीज में बस आप लोगों को भी प्रॉब्लम होता है बहुत सारे पेड़ पौधे भी मर जाती है उसे भी मां से हटाना पड़ता है और जिंदगी मछलियां अमृत मान बना दिया जाता तो उन लोगों को भी बहुत प्रॉब्लम होता बहुत सारी मछलियां मतलब मर जाती है क्योंकि वह दब जाती है तो ऐसे बहुत सारे नुकसान होते एक बांध बनाने में मतलब कि लोगों को समझाने के लिए इतनी सारी चीजों का नुकसान तो इंसान को पेड़ पौधों को मछलियों को हर एक चीजों को मतलब बनाने से जीना पड़ता है
Haridvaar ke baandh banane mein kaun-kaun see samasyaen aatee hai ki jab bhee aapakee tarah baandh banaaya jaata hai to sabase pahale too vahaan ke logon ko bahut problam ho rahee hai ki vahaan par boloon kuchh bhee dekhie hote hain unake jaapaanee se kuchh bhee machhalee vagairah use nikaal kar daalate hain ho rakhane ke lie apane khaane ke lie bhee rakhate hain to ek hee ho jaata bahut saara din tenshan hota hai matalab hota hai vahaan par paudhe lagae gae hote hain samajhe ya phir kisee bhee tarah ka paanee liya jaata hai paanee ka upayog kiya jaata hai har ek cheej mein bas aap logon ko bhee problam hota hai bahut saare ped paudhe bhee mar jaatee hai use bhee maan se hataana padata hai aur jindagee machhaliyaan amrt maan bana diya jaata to un logon ko bhee bahut problam hota bahut saaree machhaliyaan matalab mar jaatee hai kyonki vah dab jaatee hai to aise bahut saare nukasaan hote ek baandh banaane mein matalab ki logon ko samajhaane ke lie itanee saaree cheejon ka nukasaan to insaan ko ped paudhon ko machhaliyon ko har ek cheejon ko matalab banaane se jeena padata hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
बांध बनने में कौन-कौन सी समस्याएं आती हैं?Baandh Banne Mein Kaun Kaun See Samsya Ati Hain
vk yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vk जी का जवाब
Student
0:41
हाय फ्रेंड्स चलिए प्रश्न को देखते हैं कितने प्रश्न किया है कि बांध बनने में कौन-कौन सी समस्या आती हैं दोस्तों बांध बनने में अनेक समस्याएं आती हैं सबसे बड़ी समस्या यही है कि बांध कैसे बनाएं और फिर पान की सबसे बड़ी समस्या यह भी है कि पानी कैसे रोका या सबसे बड़ी समस्या यह पहले बांध को रोकते हैं पानी को रोकने प्रयास करते दीवाल बंधुओं से पानी निकाल देता वहीं से फिर पानी गिरता है जानने की तरह फिर उसी से बिजली बनती बहुत बड़े-बड़े प्लांट लगे होते दोस्तों बहुत सारी समस्या थी पानी को रोकना पुल का निर्माण पुलिया से करना और बहुत कुछ सबसे बड़ी समस्या पानी सूख नहीं होता
Haay phrends chalie prashn ko dekhate hain kitane prashn kiya hai ki baandh banane mein kaun-kaun see samasya aatee hain doston baandh banane mein anek samasyaen aatee hain sabase badee samasya yahee hai ki baandh kaise banaen aur phir paan kee sabase badee samasya yah bhee hai ki paanee kaise roka ya sabase badee samasya yah pahale baandh ko rokate hain paanee ko rokane prayaas karate deevaal bandhuon se paanee nikaal deta vaheen se phir paanee girata hai jaanane kee tarah phir usee se bijalee banatee bahut bade-bade plaant lage hote doston bahut saaree samasya thee paanee ko rokana pul ka nirmaan puliya se karana aur bahut kuchh sabase badee samasya paanee sookh nahin hota

bolkar speaker
बांध बनने में कौन-कौन सी समस्याएं आती हैं?Baandh Banne Mein Kaun Kaun See Samsya Ati Hain
Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
1:54
कृष्ण की बाल बनाने में कौन-कौन सी समस्या आती है और हमें उसमें क्या-क्या तरीके होते हैं रखनी चाहिए आती है कि अगर किसी नदी का बांध बना रहे तो कितनी तेजी से अगर पूरी तरह से बाहर आ जाए तो उसका भाव कितना होगा उसका कटाव कितना होगा हम उस में जो पत्थर इस्तेमाल कर रहे हैं जो बालू की बोरियां इस्तेमाल कर रहे हैं चाय मिट्टी की बोलियां इस्तेमाल कर रहे हैं इसकी वैल्यू क्या होगी अक्सर देखा जाए कि बांध में मैक्सिमम जगह जहां कॉमेंट या किसी के थ्रू काम किए जाते तो बड़े-बड़े पत्थर का इस्तेमाल किया जाता है जिससे कि बांध टूटे ना और उसको जो उसके फेल होते हैं जो दरारे होती हैं उसको भी बड़ी अच्छे से मटेरियल आकर भरने का काम किया जाता है या सीमेंटेड उसका पानी का जितना भी अगर बहाव कटा हुआ है उचित उसे तूने न पाए उस मिट्टी को सबूत के निकालना ले जाए इस समस्या को समस्या आती है उसके साथ साथ हम क्या करते हैं जो भी हम उसमें बहुत सारे लोगों की जरूरत होती बहुत ज्यादा पैसे की जरूरत होती है तू हमें इसकी भी समस्या होती है जिसे क्या कहते हम किसी नेता के तो सरकार से हम उसके लिए मदद मांगने की कोशिश करते हैं कोई समस्या होती है फिर क्या होता है लोगों में एक डर भी बना रहता है और इतनी ऊंचाइयों तक ले जाते हैं हमें इसे भी क्या खासा ध्यान देना जाता है दिया जाता है कि जो हम बात बना रहे हो ऊपर नदी का इतना ज्यादा फ्लोर ना हो जिससे कि पानी का मात्रक ऊपर से निकल जाए और हम जिस को बचाना चाहते हैं उसे ना बचा पाए तो इन सब चीजों की समस्या आती है जो लोग जो भी इसमें मनाने की कोशिश करते हैं इस बात को तो यह सब चीजों की समस्या को पहले ध्यान में रखते हुए इस चीज को भात को बनाने की कोशिश करते हैं
Krshn kee baal banaane mein kaun-kaun see samasya aatee hai aur hamen usamen kya-kya tareeke hote hain rakhanee chaahie aatee hai ki agar kisee nadee ka baandh bana rahe to kitanee tejee se agar pooree tarah se baahar aa jae to usaka bhaav kitana hoga usaka kataav kitana hoga ham us mein jo patthar istemaal kar rahe hain jo baaloo kee boriyaan istemaal kar rahe hain chaay mittee kee boliyaan istemaal kar rahe hain isakee vailyoo kya hogee aksar dekha jae ki baandh mein maiksimam jagah jahaan koment ya kisee ke throo kaam kie jaate to bade-bade patthar ka istemaal kiya jaata hai jisase ki baandh toote na aur usako jo usake phel hote hain jo daraare hotee hain usako bhee badee achchhe se materiyal aakar bharane ka kaam kiya jaata hai ya seemented usaka paanee ka jitana bhee agar bahaav kata hua hai uchit use toone na pae us mittee ko saboot ke nikaalana le jae is samasya ko samasya aatee hai usake saath saath ham kya karate hain jo bhee ham usamen bahut saare logon kee jaroorat hotee bahut jyaada paise kee jaroorat hotee hai too hamen isakee bhee samasya hotee hai jise kya kahate ham kisee neta ke to sarakaar se ham usake lie madad maangane kee koshish karate hain koee samasya hotee hai phir kya hota hai logon mein ek dar bhee bana rahata hai aur itanee oonchaiyon tak le jaate hain hamen ise bhee kya khaasa dhyaan dena jaata hai diya jaata hai ki jo ham baat bana rahe ho oopar nadee ka itana jyaada phlor na ho jisase ki paanee ka maatrak oopar se nikal jae aur ham jis ko bachaana chaahate hain use na bacha pae to in sab cheejon kee samasya aatee hai jo log jo bhee isamen manaane kee koshish karate hain is baat ko to yah sab cheejon kee samasya ko pahale dhyaan mein rakhate hue is cheej ko bhaat ko banaane kee koshish karate hain

bolkar speaker
बांध बनने में कौन-कौन सी समस्याएं आती हैं?Baandh Banne Mein Kaun Kaun See Samsya Ati Hain
pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:17
कराटे बाज में कौन-कौन सी समस्याएं आती है बहुत सारी समस्याएं आती हैं क्योंकि लोगों को समझाना पड़ता है और क्या बाकी लोग ऐसे पोस्ट कर देंगे कि आप अरमान बन रहा है कोई दिक्कत का सामना ना करना पड़े के चुनौतीपूर्ण मटेरियल डाले जाते हैं जो पत्थर हो चाहे जो पिलर लगाए जाते हैं एक के फर्स्ट लेवल की बात बनी से आपको कुछ बताओ कि किस प्रकार से लेकर नदी के बाढ़ को रोकने या फिर किस प्रकार की बाल बनाना बहुत मुश्किल काम होता है जो कि सरकार के लिए बहुत ही मुश्किल होता है लेकिन बहुत सारी समस्याएं आती है कोशिश करना पड़ता है तो मेरे सवाल का जवाब दुश्मनी
Karaate baaj mein kaun-kaun see samasyaen aatee hai bahut saaree samasyaen aatee hain kyonki logon ko samajhaana padata hai aur kya baakee log aise post kar denge ki aap aramaan ban raha hai koee dikkat ka saamana na karana pade ke chunauteepoorn materiyal daale jaate hain jo patthar ho chaahe jo pilar lagae jaate hain ek ke pharst leval kee baat banee se aapako kuchh batao ki kis prakaar se lekar nadee ke baadh ko rokane ya phir kis prakaar kee baal banaana bahut mushkil kaam hota hai jo ki sarakaar ke lie bahut hee mushkil hota hai lekin bahut saaree samasyaen aatee hai koshish karana padata hai to mere savaal ka javaab dushmanee

bolkar speaker
बांध बनने में कौन-कौन सी समस्याएं आती हैं?Baandh Banne Mein Kaun Kaun See Samsya Ati Hain
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
6:58
बांध बनने में कौन-कौन सी समस्याएं आती है जब कोई छोटा या बड़ा बांध किस नदी पर या किसी बड़े नाले पर बांध दिया जाता है तो उसने बहुत सारी बाधाएं समुचाया शक्ति भर्ती भी है इसका उसका इतिहास इससे कई बार नेचुरल डिजास्टर्स होते हैं बहुत ज्यादा बारिश हो गई तो बंद कर पहले जो गांव आते हैं वहां पर बाढ़ आ सकती है और चुप हो जा हो सकता है क्या जाता है ऐसे वक्त में तो ज्यादा पानी छोड़ा जा छोड़ा जाता है क्योंकि बात पर ऐसे गेट्स बनाए हुए हैं वह होते हैं जिसको हम भी करते हैं कोई ना डैम तू एक अच्छी तरह का उदाहरण है वापस बिजली बनती है पूरे महाराष्ट्र को बिजली मिलती पानी से बिजली बनाई जाती है भांग बनाने के वक्त बहुत बड़े एरिया एरिया में कंस्ट्रक्शन किया जाता है इसलिए वहां के जंगल काटने पड़ते हैं जंगल काटने से जंगल में जो प्राणी होते हैं जैव विविधता होती है उसका संतुलन बिगड़ता है जो जंतु पक्षी प्राणी वह बड़ी संख्या में मर जाते हैं और एक बार पुणे का खडकवासला बांध का डैम था वह फूटा था उसकी सूचना भारत सरकार को पहले ब्रिटिश सरकार ने दी थी सबसे पहले लेकिन भारत सरकार तक और महाराष्ट्र सरकार तक खबर नहीं पहुंची थी उससे पहले अमरीकी और बीबीसी ने खबरें दीजिए ऐसा बताया जाता है अपना शहर में उसने बहुत बड़ा हंगामा मचाया सैकड़ों घर उसके सामान कुछ बच्चे बूढ़े व्यक्ति उसमें भी गए थे सैकड़ों की मृत्यु हो सकती है अगर कोई बड़ा डैम टूट जाए या दिया तुम जाएगा तो उसके नीचे जाओ गांव आते हैं क्या चेहरा तेरा उधर पानी मिल सकती है जैसे कोई ना टाइम होगा तो पूरा पाटन शहर जो है करण और पाटन और पूरे जो पानी की रेशा है उसके नीचे आते हैं यानी उसमें पानी जम जाएगा बांध बनाने में कई लोग विस्थापित होते हैं उनका नुकसान हो जाता है सर की खूब से उनको जो साधन सामग्री मिलती थी वह उनसे छिन छिन जाती है अगर अच्छा पुनर्वसन नहीं होता है तो इच्छुक लोगों पर अपने होता है उनकी संपत्ति नष्ट हो जाती है इस बांधकाम में कई मजदूरों मजदूरों दुर्घटनाग्रस्त होते हैं कई मारी भी जाते हैं और दूसरे तरीके के जवान होते थे जभी तो होती थी दीवार होती थी उसमें ऐसी एक अंधश्रद्धा जी की अगली बार बार बार बंद होते समय की जाती है तो उस दीवार में किसी की बलि देनी चाहिए एनी किसी को मां को मारकर फरार मारकर बंद कम के अंदर गाड़ दिया जाना जरूरी होता है तू ही वह बार-बार गांधी बन जाता है क्या भूत बन जाती है इसी कारण महाराष्ट्र के एक संत चोखा मेला एक दलित चलते थे उनको मंगलवेढ़ा गांव में ऐसे ही मिनट में गाड़ दिया गया चाय सरकार
Baandh banane mein kaun-kaun see samasyaen aatee hai jab koee chhota ya bada baandh kis nadee par ya kisee bade naale par baandh diya jaata hai to usane bahut saaree baadhaen samuchaaya shakti bhartee bhee hai isaka usaka itihaas isase kaee baar nechural dijaastars hote hain bahut jyaada baarish ho gaee to band kar pahale jo gaanv aate hain vahaan par baadh aa sakatee hai aur chup ho ja ho sakata hai kya jaata hai aise vakt mein to jyaada paanee chhoda ja chhoda jaata hai kyonki baat par aise gets banae hue hain vah hote hain jisako ham bhee karate hain koee na daim too ek achchhee tarah ka udaaharan hai vaapas bijalee banatee hai poore mahaaraashtr ko bijalee milatee paanee se bijalee banaee jaatee hai bhaang banaane ke vakt bahut bade eriya eriya mein kanstrakshan kiya jaata hai isalie vahaan ke jangal kaatane padate hain jangal kaatane se jangal mein jo praanee hote hain jaiv vividhata hotee hai usaka santulan bigadata hai jo jantu pakshee praanee vah badee sankhya mein mar jaate hain aur ek baar pune ka khadakavaasala baandh ka daim tha vah phoota tha usakee soochana bhaarat sarakaar ko pahale british sarakaar ne dee thee sabase pahale lekin bhaarat sarakaar tak aur mahaaraashtr sarakaar tak khabar nahin pahunchee thee usase pahale amareekee aur beebeesee ne khabaren deejie aisa bataaya jaata hai apana shahar mein usane bahut bada hangaama machaaya saikadon ghar usake saamaan kuchh bachche boodhe vyakti usamen bhee gae the saikadon kee mrtyu ho sakatee hai agar koee bada daim toot jae ya diya tum jaega to usake neeche jao gaanv aate hain kya chehara tera udhar paanee mil sakatee hai jaise koee na taim hoga to poora paatan shahar jo hai karan aur paatan aur poore jo paanee kee resha hai usake neeche aate hain yaanee usamen paanee jam jaega baandh banaane mein kaee log visthaapit hote hain unaka nukasaan ho jaata hai sar kee khoob se unako jo saadhan saamagree milatee thee vah unase chhin chhin jaatee hai agar achchha punarvasan nahin hota hai to ichchhuk logon par apane hota hai unakee sampatti nasht ho jaatee hai is baandhakaam mein kaee majadooron majadooron durghatanaagrast hote hain kaee maaree bhee jaate hain aur doosare tareeke ke javaan hote the jabhee to hotee thee deevaar hotee thee usamen aisee ek andhashraddha jee kee agalee baar baar baar band hote samay kee jaatee hai to us deevaar mein kisee kee bali denee chaahie enee kisee ko maan ko maarakar pharaar maarakar band kam ke andar gaad diya jaana jarooree hota hai too hee vah baar-baar gaandhee ban jaata hai kya bhoot ban jaatee hai isee kaaran mahaaraashtr ke ek sant chokha mela ek dalit chalate the unako mangalavedha gaanv mein aise hee minat mein gaad diya gaya chaay sarakaar

bolkar speaker
बांध बनने में कौन-कौन सी समस्याएं आती हैं?Baandh Banne Mein Kaun Kaun See Samsya Ati Hain
Nidhi Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Nidhi जी का जवाब
Unknown
3:05
कार जैसे कि आपने क्वेश्चन किया है कि बांध बनाने में कौन-कौन से समस्या आती है तो देखिए कोई भी काम हो अगर हम किसी भी काम को करते हैं तो उसका दो पहलू होते पॉजिटिव और नेगेटिव तो आपने जैसे कि पूछा कि समस्या तो देखिए मैं बता दूं आपको कि बांध बनाने जब हम कोई भी इंसान या गवर्नमेंट बाद बनाती है तो क्या होता है कि बहुत सारा जमीन उसमें जाता है और क्या होता है कि वहां पर जो मतलब जो विलेज रहता है जोक मगर कोई टाइम रहता है तो उसे शिफ्ट करना पड़ता है और को जो मनुष्य या वहां पर जो लोग रहते हैं तो वह उस जगह को छोड़ना नहीं चाहते क्योंकि वह समझते हैं कि वह मेरा जन्म मतलब वही पर वह जन्म लिया है तो वही तो उनका यही रहता था कि मैं यहीं पर जन्म लिया तो मैं यहीं पर मरूंगा जमीन को छोड़ना नहीं चाहते हैं और दूसरी समस्या यह है कि बहुत सारे उसमें पानी में चली जाती है और तीसरी समस्या में यह देखने को मिलती है कि जहां पर बांध बनते हैं वहां पर फ्लैट थाने के चांसेस बहुत ज्यादा रहते हैं और चौथी समस्या में देखने को मिलती है कि अगर बांध बनता तो बहुत सारा पानी वहां पर स्टोर रहता है जिससे कि जैसे कि आपको पता है कि जो हमारी अर्थ है उसमें बहुत सारे प्लेट्स तो क्या होता है कि जो हमारी प्लेट्स है उस पर बहुत ज्यादा प्रेशर पड़ता है जब वह प्रेशर पड़ता है तो फिर वह एक अर्थ पिक का क्या कहते हैं रूप ले लेता है और जिससे कि हमें भूकंप का भी सामना करना पड़ता है तो यह सब बहुत सारे रीजन है बहुत सारी चीजें हैं जिसे हमेशा सामना करना पड़ता लेकिन इसके बेनिफिट पर बहुत सारे बांध बनता है तो हमें इरीगेशन की फैसिलिटी मिलती है या फिर जब सूखा पड़ जाता है तो पानी की कमी नहीं होती है या फिर हमें इलेक्ट्रिसिटी हाइट इलेक्ट्रिसिटी उससे पैदा कर सकते हैं या फिर फिर सिंह कर सकते हैं या फिर वहां पर नेविगेशन हो सकता है थोड़ा टूरिज्म प्रॉब्लम हो सकता है तो यह सारे बेनिफिट भी है उसे मिटा देना कि दो चीज हर चीज के दो पहलू होते हैं पॉजिटिव और नेगेटिव तो नेगेटिव तो मैंने बता दिया ऑलरेडी तो मैंने सोचा कि पहले ही बता दी मतलब पॉजिटिव और नेगेटिव यह सारी चीजें जो हमें मतलब इन्वायरमेंट को देखकर करना चाहिए क्योंकि जैसे कि आपको पता होगा कि चाइना ने इतना बड़ा डैम बनाया है कि मतलब बहुत बड़ा डैम है वह शायद वर्ल्ड का सबसे लार्जेस्ट टेंपल जी ने बनवाया है जिससे कि वह आने वाले समय में बहुत ज्यादा वह प्रॉब्लम क्रिएट करेगा और ऐसा भी हुआ कि वहां पर बहुत ज्यादा फ्लर्ट किया जाएगा और उसने भी उसका जो टारगेट है वह सही है क्योंकि उसने अच्छे टारगेट के लिए किया है लेकिन हम इन्वायरमेंट को कितना भी महान बन जाए मनुष्य इन्वायरमेंट को नहीं सकते थैंक यू
Kaar jaise ki aapane kveshchan kiya hai ki baandh banaane mein kaun-kaun se samasya aatee hai to dekhie koee bhee kaam ho agar ham kisee bhee kaam ko karate hain to usaka do pahaloo hote pojitiv aur negetiv to aapane jaise ki poochha ki samasya to dekhie main bata doon aapako ki baandh banaane jab ham koee bhee insaan ya gavarnament baad banaatee hai to kya hota hai ki bahut saara jameen usamen jaata hai aur kya hota hai ki vahaan par jo matalab jo vilej rahata hai jok magar koee taim rahata hai to use shipht karana padata hai aur ko jo manushy ya vahaan par jo log rahate hain to vah us jagah ko chhodana nahin chaahate kyonki vah samajhate hain ki vah mera janm matalab vahee par vah janm liya hai to vahee to unaka yahee rahata tha ki main yaheen par janm liya to main yaheen par maroonga jameen ko chhodana nahin chaahate hain aur doosaree samasya yah hai ki bahut saare usamen paanee mein chalee jaatee hai aur teesaree samasya mein yah dekhane ko milatee hai ki jahaan par baandh banate hain vahaan par phlait thaane ke chaanses bahut jyaada rahate hain aur chauthee samasya mein dekhane ko milatee hai ki agar baandh banata to bahut saara paanee vahaan par stor rahata hai jisase ki jaise ki aapako pata hai ki jo hamaaree arth hai usamen bahut saare plets to kya hota hai ki jo hamaaree plets hai us par bahut jyaada preshar padata hai jab vah preshar padata hai to phir vah ek arth pik ka kya kahate hain roop le leta hai aur jisase ki hamen bhookamp ka bhee saamana karana padata hai to yah sab bahut saare reejan hai bahut saaree cheejen hain jise hamesha saamana karana padata lekin isake beniphit par bahut saare baandh banata hai to hamen ireegeshan kee phaisilitee milatee hai ya phir jab sookha pad jaata hai to paanee kee kamee nahin hotee hai ya phir hamen ilektrisitee hait ilektrisitee usase paida kar sakate hain ya phir phir sinh kar sakate hain ya phir vahaan par nevigeshan ho sakata hai thoda toorijm problam ho sakata hai to yah saare beniphit bhee hai use mita dena ki do cheej har cheej ke do pahaloo hote hain pojitiv aur negetiv to negetiv to mainne bata diya olaredee to mainne socha ki pahale hee bata dee matalab pojitiv aur negetiv yah saaree cheejen jo hamen matalab invaayarament ko dekhakar karana chaahie kyonki jaise ki aapako pata hoga ki chaina ne itana bada daim banaaya hai ki matalab bahut bada daim hai vah shaayad varld ka sabase laarjest tempal jee ne banavaaya hai jisase ki vah aane vaale samay mein bahut jyaada vah problam kriet karega aur aisa bhee hua ki vahaan par bahut jyaada phlart kiya jaega aur usane bhee usaka jo taaraget hai vah sahee hai kyonki usane achchhe taaraget ke lie kiya hai lekin ham invaayarament ko kitana bhee mahaan ban jae manushy invaayarament ko nahin sakate thaink yoo

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • बांध बनने में कौन-कौन सी समस्याएं आती हैं बांध बनने में समस्याएं
URL copied to clipboard