#भारत की राजनीति

Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
4:47
मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद जितने भी सरकारी विभागों के कर्मचारी है वह इसका इस्तेमाल कर रहे हैं कि आई यह उसके बारे में क्या आपका क्या कहना है ऐसा सवाल पूछा गया है तो बीजेपी के सरकार के भी ही बारे में ऐसा कहा कहना वह जरा सत्य को बुलंद करना होगा कांग्रेस की सरकार में भी उस तरीके से जो सरकारी की के नजदीकी लोगों को लोग होते हैं और उसका फायदा ज्यादा से ज्यादा उठाते हैं चाहे वह सरकार लालू प्रसाद की हो चाहे वह सरकार श्री कुंवर साहब की हो गया मायावती की हो तो उसका घर बस इस्तेमाल करने वाले लोग होते हैं वैसे ही घट रहा है अब बीजेपी की दूसरी भी एक बात है बीजेपी का मात्र संगठन है आर एस एस राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ उसके लोग जो है वह पहले से ही भारत के सभी महत्वपूर्ण क्षेत्रों में प्लांट किए गए नेहरू गांधी परिवार ने 17 साल के बाद सत्ता मिली है ऐसा उनको नेता ने उन नेताओं ने भी कहा है तो पूरा इंतजाम करने का प्रयास करेंगे तो क्या अभी नहीं तो कभी नहीं ऐसी उनकी स्थिति है और आश्रम में वोट दो वोट प्रक्रिया हो जाएगा इसलिए उठ प्रक्रिया के चुनाव जीत भी नहीं सकते सैकड़ों वीडियो कार्ड किस तरह से करना चाहिए और सरकार का उसके का इसके लिए इस्तेमाल किस तरह से करना चाहिए यह बहुत दूर की सोचने वाले लोग होते हैं उन्होंने इस देश के लोगों को दो 2000 साल तक राज किया है यह वही बात जो है अभी भी लोगों को समझ में नहीं आ रही है कुछ छोटे लोगों के समझ में आती है तो इस तरीके के राज करने का उनका तरीका है कि वो किसी को मालूम भी नहीं पड़ता है अधिकारी वर्ग जो है कर्मचारी वर्ग जो भी है वह तो सरकार के आर्डर में ही काम करता हूं प्रकाश वाट की होती है सरकार उनके ही लिए वह काम करते हैं तो आप केंद्र में बीजेपी की सरकार है तो उसके हिसाब से करेंगे जनता ने जागृत होना इसके बारे में बहुत महत्वपूर्ण बात है और शिक्षा से जागृति आती है शिक्षा का प्रमाण बहुत कम है हमारे देश में और ऊंची शिक्षा का परिणाम प्रमाण तो बहुत कम है इसके लिए उनकी शिक्षा जो है वैष्णो मास्टर और उसके आगे के लिए जो शिक्षा होती है वहां तक समाज जाना चाहिए तब वह सारी चीजें उसमें डिवेलप हो सकती है जर्मनी के ऐसी स्थिति है उदाहरण के लिए मैं बताता हूं हर तीन मास्टर डिग्री वाले वालों में से एक पीढ़ी होता है और हमें वह मकाम पानी में और कितने साल लगेंगे यह के लिए चिंता भी बनी हुई रहती है इस देश के हित के बाद संबंध में विचार करने वाले लोगों को हमेशा ऐसा हो रहा है निश्चित रूप से अगर आपको मेरा यह जवाब सही लगा तो लाइक कीजिए धन्यवाद
Modee sarakaar ke satta mein aane ke baad jitane bhee sarakaaree vibhaagon ke karmachaaree hai vah isaka istemaal kar rahe hain ki aaee yah usake baare mein kya aapaka kya kahana hai aisa savaal poochha gaya hai to beejepee ke sarakaar ke bhee hee baare mein aisa kaha kahana vah jara saty ko buland karana hoga kaangres kee sarakaar mein bhee us tareeke se jo sarakaaree kee ke najadeekee logon ko log hote hain aur usaka phaayada jyaada se jyaada uthaate hain chaahe vah sarakaar laaloo prasaad kee ho chaahe vah sarakaar shree kunvar saahab kee ho gaya maayaavatee kee ho to usaka ghar bas istemaal karane vaale log hote hain vaise hee ghat raha hai ab beejepee kee doosaree bhee ek baat hai beejepee ka maatr sangathan hai aar es es raashtreey svayansevak sangh usake log jo hai vah pahale se hee bhaarat ke sabhee mahatvapoorn kshetron mein plaant kie gae neharoo gaandhee parivaar ne 17 saal ke baad satta milee hai aisa unako neta ne un netaon ne bhee kaha hai to poora intajaam karane ka prayaas karenge to kya abhee nahin to kabhee nahin aisee unakee sthiti hai aur aashram mein vot do vot prakriya ho jaega isalie uth prakriya ke chunaav jeet bhee nahin sakate saikadon veediyo kaard kis tarah se karana chaahie aur sarakaar ka usake ka isake lie istemaal kis tarah se karana chaahie yah bahut door kee sochane vaale log hote hain unhonne is desh ke logon ko do 2000 saal tak raaj kiya hai yah vahee baat jo hai abhee bhee logon ko samajh mein nahin aa rahee hai kuchh chhote logon ke samajh mein aatee hai to is tareeke ke raaj karane ka unaka tareeka hai ki vo kisee ko maaloom bhee nahin padata hai adhikaaree varg jo hai karmachaaree varg jo bhee hai vah to sarakaar ke aardar mein hee kaam karata hoon prakaash vaat kee hotee hai sarakaar unake hee lie vah kaam karate hain to aap kendr mein beejepee kee sarakaar hai to usake hisaab se karenge janata ne jaagrt hona isake baare mein bahut mahatvapoorn baat hai aur shiksha se jaagrti aatee hai shiksha ka pramaan bahut kam hai hamaare desh mein aur oonchee shiksha ka parinaam pramaan to bahut kam hai isake lie unakee shiksha jo hai vaishno maastar aur usake aage ke lie jo shiksha hotee hai vahaan tak samaaj jaana chaahie tab vah saaree cheejen usamen divelap ho sakatee hai jarmanee ke aisee sthiti hai udaaharan ke lie main bataata hoon har teen maastar digree vaale vaalon mein se ek peedhee hota hai aur hamen vah makaam paanee mein aur kitane saal lagenge yah ke lie chinta bhee banee huee rahatee hai is desh ke hit ke baad sambandh mein vichaar karane vaale logon ko hamesha aisa ho raha hai nishchit roop se agar aapako mera yah javaab sahee laga to laik keejie dhanyavaad

और जवाब सुनें

vk yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vk जी का जवाब
Student
0:45
चलिए मेल परेशान देखते हैं स्वाधीनता है इसका उत्तर देंगे तक जितने भी सो रहा है आपका इसराइल में क्या कहना है जी आप बिल्कुल सही बात है मोदी सरकार की जीत में सत्ता में आने के बाद जितनी सरकारी धन का दुरुपयोग हो रहा है अनाप-शनाप उसका फायदा ले रही है चालान की समय सीमा है कस्बे हेलमेट नहीं बचा 500 बहन में डांटा तो उसे उसका चालन 1000 का करते हैं माफ नहीं तो 1000 का कौन सा तरीका 40 ₹50 कमाया दूसरा अपना उसका दुरुपयोग कर रहे हैं उसका गलत इस्तेमाल कर रही बहुत गलत चीज है ना
Chalie mel pareshaan dekhate hain svaadheenata hai isaka uttar denge tak jitane bhee so raha hai aapaka isarail mein kya kahana hai jee aap bilkul sahee baat hai modee sarakaar kee jeet mein satta mein aane ke baad jitanee sarakaaree dhan ka durupayog ho raha hai anaap-shanaap usaka phaayada le rahee hai chaalaan kee samay seema hai kasbe helamet nahin bacha 500 bahan mein daanta to use usaka chaalan 1000 ka karate hain maaph nahin to 1000 ka kaun sa tareeka 40 ₹50 kamaaya doosara apana usaka durupayog kar rahe hain usaka galat istemaal kar rahee bahut galat cheej hai na

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

    URL copied to clipboard