#undefined

bolkar speaker

फ्रांसीसी क्रांति ने विश्व में किन विचारों को बढ़ावा दिया?

Fransisi Kranti Ne Vishva Mein Kin Vicharon Ko Badhava Diya
Sandeep chhipa Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Sandeep जी का जवाब
social worker (MSW)
0:55
क्रांति ने विश्व में किन विचारों को बढ़ावा दिया समानता स्वतंत्रता और बंधुत्व का नारा फ्रांस की राज्यक्रांति की देन है मैं ही राज्य हूं मेरे शब्द ही कानून है यह भी लुई 14 का प्रवचन था जो फ्रांस की गद्दी पर 1789 श्री में बैठा था 14 जुलाई 1789 ईस्वी को क्रांतिकारियों ने ब्रास तोल के कार्य ग्रह के फाटक को तोड़कर बंधुओं को मुक्त कर दिया गया तब से 14 जुलाई को फ्रांस में राष्ट्रीय दिवस मनाया जाता है इसके अलावा रूस और फ्रांस में प्रजातंत्र आत्मक शासन पद्धति का समर्थन भी था जय हिंद जय भारत सभी मित्रों को धन्यवाद
Kraanti ne vishv mein kin vichaaron ko badhaava diya samaanata svatantrata aur bandhutv ka naara phraans kee raajyakraanti kee den hai main hee raajy hoon mere shabd hee kaanoon hai yah bhee luee 14 ka pravachan tha jo phraans kee gaddee par 1789 shree mein baitha tha 14 julaee 1789 eesvee ko kraantikaariyon ne braas tol ke kaary grah ke phaatak ko todakar bandhuon ko mukt kar diya gaya tab se 14 julaee ko phraans mein raashtreey divas manaaya jaata hai isake alaava roos aur phraans mein prajaatantr aatmak shaasan paddhati ka samarthan bhee tha jay hind jay bhaarat sabhee mitron ko dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
फ्रांसीसी क्रांति ने विश्व में किन विचारों को बढ़ावा दिया?Fransisi Kranti Ne Vishva Mein Kin Vicharon Ko Badhava Diya
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
3:29
फ्रांसीसी क्रांति ने विश्व में किन विचारों को बढ़ावा दिया फ्रांस में जो क्रांति हुई उसमें रूसो रूसो के विचार जो है वह बहुत महत्वपूर्ण थी किसी भी क्रांति के लिए एक फिलोसॉफिए तत्वद्न्यान के लिए जरूरी होती है कोई भी मैं मोमेंट हो उसको फिलॉसफी की जरूरत होती है तभी वह लोगों की मोमेंट बनती है फ्रांसीसी क्रांति ने पूरी दुनिया को एक विचार दिया जिसको आज भी कई देशों ने अपने है और वह चार है स्वतंत्र संता और बंता पूरी दुनिया को फ्रांस जी भी दिन माना जाता है इसके बाद विदेशों में क्रांति आया और बदलाव हो गए और उसके बाद डेमोक्रेसी जो आइटम राष्ट्रपति संविधान बना था उसमें यह तत्व भीमराव अंबेडकर जी ने भारत के संविधान में यह तत्व दिए हैं लेकिन उसका जो उगम है वह प्रिंस राज्य राज्य क्रांति को नहीं माना है इसका उद्गम भगवान गौतम बुद्ध की क्रांति को माना है इस अपूर्व 540s पास जब बुद्ध ने अपने तत्वज्ञान दिया तो उसका सारा शिवनी का तंत्र सन तापमान अग्नि अमानती बुद्ध का महत्व पूरी दुनिया में शिवराज भाई सबसे कम उम्र में चार मेजोरिटी में जहां पर पारंपरिक भारतीय मुद्रा में प्रीति बताएं कम से कम ₹100 तृतीय समीकरण मंच राज्यक्रांति एक टर्निंग प्वाइंट था यह बात निश्चित है धन्यवाद अगर मेरा जवाब आपको सही लगा तो कृपया लाइक करें
Phraanseesee kraanti ne vishv mein kin vichaaron ko badhaava diya phraans mein jo kraanti huee usamen rooso rooso ke vichaar jo hai vah bahut mahatvapoorn thee kisee bhee kraanti ke lie ek philosophie tatvadnyaan ke lie jarooree hotee hai koee bhee main moment ho usako philosaphee kee jaroorat hotee hai tabhee vah logon kee moment banatee hai phraanseesee kraanti ne pooree duniya ko ek vichaar diya jisako aaj bhee kaee deshon ne apane hai aur vah chaar hai svatantr santa aur banta pooree duniya ko phraans jee bhee din maana jaata hai isake baad videshon mein kraanti aaya aur badalaav ho gae aur usake baad demokresee jo aaitam raashtrapati sanvidhaan bana tha usamen yah tatv bheemaraav ambedakar jee ne bhaarat ke sanvidhaan mein yah tatv die hain lekin usaka jo ugam hai vah prins raajy raajy kraanti ko nahin maana hai isaka udgam bhagavaan gautam buddh kee kraanti ko maana hai is apoorv 540s paas jab buddh ne apane tatvagyaan diya to usaka saara shivanee ka tantr san taapamaan agni amaanatee buddh ka mahatv pooree duniya mein shivaraaj bhaee sabase kam umr mein chaar mejoritee mein jahaan par paaramparik bhaarateey mudra mein preeti bataen kam se kam ₹100 trteey sameekaran manch raajyakraanti ek tarning pvaint tha yah baat nishchit hai dhanyavaad agar mera javaab aapako sahee laga to krpaya laik karen

bolkar speaker
फ्रांसीसी क्रांति ने विश्व में किन विचारों को बढ़ावा दिया?Fransisi Kranti Ne Vishva Mein Kin Vicharon Ko Badhava Diya
Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
1:18
विकी फ्रांसीसी क्रांति जिसमें सुकरात का नाम सबसे आगे आता वह दार्शनिक आदमी था और दर्शनशास्त्र का पूरे विश्व में प्रचार प्रसार करने में सुकरात का बहुत हाथ हाथ रहा है तो फ्रांसीसी क्रांति ने विश्व में इस विचार को बहुत ज्यादा बढ़ावा दिया कि आपको जो सही लगता है और जिस चीज में आप सही हो उसमें कभी आप पीछे मत हटो आपके सामने राजा हो दरबार हो आपके सामने बड़ा कोई नेता हूं लेकिन तू चीज प्रजा के लिए सही है जो चीज नीचे के लिए सही है आप उसको फील करते हो उस चीज में कभी आप पीछे नहीं हटा सुकरात कभी पीछे नहीं हटा उसकी जान चली गई लेकिन वह कभी पीछे नहीं हटा तो पूरे विश्व में यह संदेश गया मानवता के लिए अपनी प्रजा के लिए अपने देश के लिए आपको जो सही लगता है उससे आप बोलो सुकरात क्या था बहुत बड़ा दार्शनिक था और वह गलत चीजें बिल्कुल बर्दाश्त नहीं कर पाया अपने देश में
Vikee phraanseesee kraanti jisamen sukaraat ka naam sabase aage aata vah daarshanik aadamee tha aur darshanashaastr ka poore vishv mein prachaar prasaar karane mein sukaraat ka bahut haath haath raha hai to phraanseesee kraanti ne vishv mein is vichaar ko bahut jyaada badhaava diya ki aapako jo sahee lagata hai aur jis cheej mein aap sahee ho usamen kabhee aap peechhe mat hato aapake saamane raaja ho darabaar ho aapake saamane bada koee neta hoon lekin too cheej praja ke lie sahee hai jo cheej neeche ke lie sahee hai aap usako pheel karate ho us cheej mein kabhee aap peechhe nahin hata sukaraat kabhee peechhe nahin hata usakee jaan chalee gaee lekin vah kabhee peechhe nahin hata to poore vishv mein yah sandesh gaya maanavata ke lie apanee praja ke lie apane desh ke lie aapako jo sahee lagata hai usase aap bolo sukaraat kya tha bahut bada daarshanik tha aur vah galat cheejen bilkul bardaasht nahin kar paaya apane desh mein

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • फ्रांसीसी क्रांति ने विश्व में किन विचारों को बढ़ावा दिया, फ्रांसीसी क्रांति के विचार
URL copied to clipboard