#भारत की राजनीति

bolkar speaker

भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं?

Bharat Mein Jab Bhe Bjp Ki Sarkaar Banti Hai To Dange Kyun Hote Hain
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:32
हेलो जी आप का सवाल है कि भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं भाजपा की सरकार बनती है तो सबसे ज्यादा धर्म को लेकर लड़ाई होती है जैसे कि इससे पहले देखिए ऐसा इतना कुछ बोलता नहीं अपनाता धर्म को लेकर कि यह करना है वह करना है 7:00 आरती और फिर मस्जिद में सब चीज को लेकर मतलब इस मुद्दे में डिग्री नहीं इंवॉल्व होना चाहती हूं लेकिन यह सपोर्ट भी करते हैं घरेलू खिलाफ भी है लेकिन क्या होता है यह सब से तू दंगे होते हैं मतलब एक इंसान एकता बनाकर चलने की ओर बढ़ता है तो पता चलता है कि नहीं सब से अलग हो गया है सब लोग अपने में ही लड़ने लगे हैं और इस तरह के आप देखेंगे कि जितने भी न्यूज़ चैनल है हम सब जानते हैं कि आधे से ज्यादा न्यूज़ चैनल पपेट बन चुका है पक्ष में ही हर एक चीज दिखाना तो इस तरह से भी इतने सारे वहां से निकलते हैं कि उनकी सरकार एक अच्छा कर रही है लेकिन यह धर्म के लोग वह बोल रहे हैं वह धर्म के लोग ही बोल रहे थे इस वजह से भी लड़ाई बहुत होता है न्यूज़ चैनल में भी वही दिखाया जाता है और ऐसी काम भी होते रहते हैं और नहीं लड़ते और सरकार को देखते ही सब अपने आप में लड़ गए तो असली मुद्दे में तो कोई कुछ बोलेगा ही नहीं तो सरकार आराम से चलती है
Helo jee aap ka savaal hai ki bhaarat mein jab bhee bhaajapa kee sarakaar banatee hai to dange kyon hote hain bhaajapa kee sarakaar banatee hai to sabase jyaada dharm ko lekar ladaee hotee hai jaise ki isase pahale dekhie aisa itana kuchh bolata nahin apanaata dharm ko lekar ki yah karana hai vah karana hai 7:00 aaratee aur phir masjid mein sab cheej ko lekar matalab is mudde mein digree nahin involv hona chaahatee hoon lekin yah saport bhee karate hain ghareloo khilaaph bhee hai lekin kya hota hai yah sab se too dange hote hain matalab ek insaan ekata banaakar chalane kee or badhata hai to pata chalata hai ki nahin sab se alag ho gaya hai sab log apane mein hee ladane lage hain aur is tarah ke aap dekhenge ki jitane bhee nyooz chainal hai ham sab jaanate hain ki aadhe se jyaada nyooz chainal papet ban chuka hai paksh mein hee har ek cheej dikhaana to is tarah se bhee itane saare vahaan se nikalate hain ki unakee sarakaar ek achchha kar rahee hai lekin yah dharm ke log vah bol rahe hain vah dharm ke log hee bol rahe the is vajah se bhee ladaee bahut hota hai nyooz chainal mein bhee vahee dikhaaya jaata hai aur aisee kaam bhee hote rahate hain aur nahin ladate aur sarakaar ko dekhate hee sab apane aap mein lad gae to asalee mudde mein to koee kuchh bolega hee nahin to sarakaar aaraam se chalatee hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं?Bharat Mein Jab Bhe Bjp Ki Sarkaar Banti Hai To Dange Kyun Hote Hain
Om awasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Om जी का जवाब
Unknown
1:50
धंधे तब भी होते थे जब भाजपा की सरकार नहीं कि 1984 के सिख दंगे 1992 के देशव्यापी हिंदू मुसलमान के दंगे वास्तव में दंगे इस देश की व्यवस्था पर एक कलंक है पार्टी किसी की भी हो आपसी सौहार्द जुगाड़ कर हिंसा का सहारा लेकर एक दूसरे को कुचलना एक दूसरे को दबाने की प्रक्रिया ही देश के विकास में बाधक है संकीर्ण मानसिकता संप्रदायवाद क्षेत्रवाद जातिवाद के नाम पर लड़ने वाले हम लोग जब तक पार्टी के नाम पर दंगों को जस्टिफाई करते रहेंगे देश आगे नहीं बढ़ पाएगा आवश्यकता इस बात की है कि 1 बटा 125 करोल भारत होने के नाते आप अपनी भूमिका पहचाने हम अपनी भूमिका पहचाने और आपकी तालमेल सामंजस्य सौहार्द की बात करके विकास के पथ पर अग्रसर हो हमारे मूल कर्तव्य कहते हैं एवं संविधान में आस्था रखना जरूरी नहीं है संविधान द्वारा प्रदत्त अधिकार और कर्तव्यों के बीच सामंजस्य स्थापित करके देश को आगे बढ़ाना आप क्यों हमारी जिम्मेदारी है कि किस प्रकार पर दंगों का ठीकरा फोड़ना यह अच्छी बात नहीं है क्योंकि एकता और संप्रदायवाद एक साथ साथ चलने वाली प्रक्रिया है जिसे आप 1905 के स्वदेशी आंदोलन के समय देश में एकता बढ़ती है संप्रदायवाद अपने पैर पसारता है जरूरत है और संप्रदायवाद जिसमें आप और हमारी भूमिका सहयोगी हो सकती है आप राजनीतिक इच्छाशक्ति और राजनीतिक शिक्षा के माध्यम से जागरूक होंगे तो कोई आपको भरमा नहीं सकेगा सरकार किसी की भी होंगी आप इस दंगे की प्रक्रिया से वाकिफ होंगे कि यह क्यों किए जाते हैं वास्तव में यह सब राजनीतिक सत्ता प्राप्त करने के लिए लोगों के इमोशंस को भड़काने की प्रक्रिया है क्योंकि लोकतंत्र मनोवैज्ञानिक का फायदा उठाते हैं
Dhandhe tab bhee hote the jab bhaajapa kee sarakaar nahin ki 1984 ke sikh dange 1992 ke deshavyaapee hindoo musalamaan ke dange vaastav mein dange is desh kee vyavastha par ek kalank hai paartee kisee kee bhee ho aapasee sauhaard jugaad kar hinsa ka sahaara lekar ek doosare ko kuchalana ek doosare ko dabaane kee prakriya hee desh ke vikaas mein baadhak hai sankeern maanasikata sampradaayavaad kshetravaad jaativaad ke naam par ladane vaale ham log jab tak paartee ke naam par dangon ko jastiphaee karate rahenge desh aage nahin badh paega aavashyakata is baat kee hai ki 1 bata 125 karol bhaarat hone ke naate aap apanee bhoomika pahachaane ham apanee bhoomika pahachaane aur aapakee taalamel saamanjasy sauhaard kee baat karake vikaas ke path par agrasar ho hamaare mool kartavy kahate hain evan sanvidhaan mein aastha rakhana jarooree nahin hai sanvidhaan dvaara pradatt adhikaar aur kartavyon ke beech saamanjasy sthaapit karake desh ko aage badhaana aap kyon hamaaree jimmedaaree hai ki kis prakaar par dangon ka theekara phodana yah achchhee baat nahin hai kyonki ekata aur sampradaayavaad ek saath saath chalane vaalee prakriya hai jise aap 1905 ke svadeshee aandolan ke samay desh mein ekata badhatee hai sampradaayavaad apane pair pasaarata hai jaroorat hai aur sampradaayavaad jisamen aap aur hamaaree bhoomika sahayogee ho sakatee hai aap raajaneetik ichchhaashakti aur raajaneetik shiksha ke maadhyam se jaagarook honge to koee aapako bharama nahin sakega sarakaar kisee kee bhee hongee aap is dange kee prakriya se vaakiph honge ki yah kyon kie jaate hain vaastav mein yah sab raajaneetik satta praapt karane ke lie logon ke imoshans ko bhadakaane kee prakriya hai kyonki lokatantr manovaigyaanik ka phaayada uthaate hain

bolkar speaker
भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं?Bharat Mein Jab Bhe Bjp Ki Sarkaar Banti Hai To Dange Kyun Hote Hain
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:36
यह आपका सवाल कि भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होता है क्योंकि यह कांग्रेस अगर सत्ता में नहीं रहेगी तो वह दंगा फसाद करेगी और अपने सत्ता में आने का प्रयास है लेकिन यह कांग्रेस के पास बहुत अच्छा अनुभव है क्योंकि उन्होंने 7070 75 साल देश पर राज किया है तो उसको पता है कहां अंग भाजपा को हराने के लिए क्या-क्या किया जा सकता है या विपक्ष की राजनीति के चलते दंगे फसाद हो रहे हैं धन्यवाद
Yah aapaka savaal ki bhaarat mein jab bhee bhaajapa kee sarakaar banatee hai to dange kyon hota hai kyonki yah kaangres agar satta mein nahin rahegee to vah danga phasaad karegee aur apane satta mein aane ka prayaas hai lekin yah kaangres ke paas bahut achchha anubhav hai kyonki unhonne 7070 75 saal desh par raaj kiya hai to usako pata hai kahaan ang bhaajapa ko haraane ke lie kya-kya kiya ja sakata hai ya vipaksh kee raajaneeti ke chalate dange phasaad ho rahe hain dhanyavaad

bolkar speaker
भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं?Bharat Mein Jab Bhe Bjp Ki Sarkaar Banti Hai To Dange Kyun Hote Hain
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:25
भाजपा की सरकार आती तो दंगे नहीं होते दंगे तो जब दंगे करवाए जाते हैं भड़काऊ भाषण दिया जाता है हिंदुत्व हिंदू और मुसलमानों के बीच विभेदीकरण किया जाता तभी दंगे होते हैं और दंगे करवाने वाले भी वही लोग होते हैं जो नकारात्मक विचार धारा के होते हैं क्या भाजपा में हो चाहे कांग्रेस हो चाहे जो भी हो दंगा कराने वालों की कोई जाति नहीं होती वह कमीनी होते हैं और इस समाज के दुश्मन
Bhaajapa kee sarakaar aatee to dange nahin hote dange to jab dange karavae jaate hain bhadakaoo bhaashan diya jaata hai hindutv hindoo aur musalamaanon ke beech vibhedeekaran kiya jaata tabhee dange hote hain aur dange karavaane vaale bhee vahee log hote hain jo nakaaraatmak vichaar dhaara ke hote hain kya bhaajapa mein ho chaahe kaangres ho chaahe jo bhee ho danga karaane vaalon kee koee jaati nahin hotee vah kameenee hote hain aur is samaaj ke dushman

bolkar speaker
भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं?Bharat Mein Jab Bhe Bjp Ki Sarkaar Banti Hai To Dange Kyun Hote Hain
anuj gothwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए anuj जी का जवाब
9828597645
1:02
जी हां भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे होते रहते हैं जब कांग्रेस की सरकार बनती है तब बहुत कम चांस में होते हैं जैसे कि दिल्ली है दिल्ली में अलग-अलग पार्टी के लोग रहते हैं लेकिन जो जीत भाजपा की पार्टी है वह खतरनाक है जो मर्डर के मामले में आगे है राजनीति में प्यार किया लेकिन देश को सुधारने में ख्याल है लेकिन देश को सुधारने में केवल कांग्रेस पार्टी ही अच्छी है तो था जब भी कोई लड़ाई दंगा होता तो आम आदमी पार्टी के माध्यम से या भाजपा से टिकट खरीद लेती है तो फिर वह आमदला की लड़ाई दंगे करवाती है आशा कांग्रेस नहीं करते
Jee haan bhaarat mein jab bhee bhaajapa kee sarakaar banatee hai to dange hote rahate hain jab kaangres kee sarakaar banatee hai tab bahut kam chaans mein hote hain jaise ki dillee hai dillee mein alag-alag paartee ke log rahate hain lekin jo jeet bhaajapa kee paartee hai vah khataranaak hai jo mardar ke maamale mein aage hai raajaneeti mein pyaar kiya lekin desh ko sudhaarane mein khyaal hai lekin desh ko sudhaarane mein keval kaangres paartee hee achchhee hai to tha jab bhee koee ladaee danga hota to aam aadamee paartee ke maadhyam se ya bhaajapa se tikat khareed letee hai to phir vah aamadala kee ladaee dange karavaatee hai aasha kaangres nahin karate

bolkar speaker
भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं?Bharat Mein Jab Bhe Bjp Ki Sarkaar Banti Hai To Dange Kyun Hote Hain
DEBIDUTTA SWAIN Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए DEBIDUTTA जी का जवाब
Motivational speaker
1:02
भाजपा का मीट में किस दे क्या होता है कि जब भी बनती है मैं नहीं बोलूंगा लेकिन अब कि जरूर कमेंट है यह कमेंट क्लियर मेजॉरिटी में है बहुत सारी फैसिलिटी है उसका फ्लेमिंग के काफी मेंबर से तो वह कभी लोगों को कनेक्शन लोगों को बातचीत करके कोई बिल को पास नहीं करते जो भी वीडियो वह जानते हैं कि हमारी बेलन से पास हो जाएंगे तू अपनी खुद नियम बनाते हैं कानून बनाते हैं और उसके पास करा देते हैं तो अब मतलब पर सोसायटी के जो एक कम नीचे स्तर है उनका तो कोई राय सुना ही नहीं जाता है तो लोग बेचारे क्या करेंगे तो वह लोग रास्ते में आते हैं रिपोर्ट्स वगैरह करते हैं वह अपनी आवाज को उठाते हैं कि हम कोई दिक्कत है लेकिन सरकार सुन नहीं रहा तो ज्यादा इंटेंसिफाई करते हो अपनी मांगों के डिमांड को प्ले रिपोर्ट वगैरह ज्यादा होता है और यह तो प्लीज कमेंट में तो काफी रेट्स हुआ है वह बस में कमेंट में हर किसी को इंटरनेशनल भी बोला जाता है तो सही नहीं है एक बात को सुनने की जरूरत है
Bhaajapa ka meet mein kis de kya hota hai ki jab bhee banatee hai main nahin boloonga lekin ab ki jaroor kament hai yah kament kliyar mejoritee mein hai bahut saaree phaisilitee hai usaka phleming ke kaaphee membar se to vah kabhee logon ko kanekshan logon ko baatacheet karake koee bil ko paas nahin karate jo bhee veediyo vah jaanate hain ki hamaaree belan se paas ho jaenge too apanee khud niyam banaate hain kaanoon banaate hain aur usake paas kara dete hain to ab matalab par sosaayatee ke jo ek kam neeche star hai unaka to koee raay suna hee nahin jaata hai to log bechaare kya karenge to vah log raaste mein aate hain riports vagairah karate hain vah apanee aavaaj ko uthaate hain ki ham koee dikkat hai lekin sarakaar sun nahin raha to jyaada intensiphaee karate ho apanee maangon ke dimaand ko ple riport vagairah jyaada hota hai aur yah to pleej kament mein to kaaphee rets hua hai vah bas mein kament mein har kisee ko intaraneshanal bhee bola jaata hai to sahee nahin hai ek baat ko sunane kee jaroorat hai

bolkar speaker
भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं?Bharat Mein Jab Bhe Bjp Ki Sarkaar Banti Hai To Dange Kyun Hote Hain
guru ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए guru जी का जवाब
Students
0:31

bolkar speaker
भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं?Bharat Mein Jab Bhe Bjp Ki Sarkaar Banti Hai To Dange Kyun Hote Hain
Dinesh Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dinesh जी का जवाब
Ji
1:47
सवाल पूछा गया है कि भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं आपको एक छोटा सा उदाहरण दे देते हैं कि जब भी कभी पैसे ब्याज पर चढ़ाए जाते हैं तो मूल से ज्यादा ब्याज होता है वह दादा मीठा लगता है तो जो भी ऑपिनियंस है भाजपा की सरकार के जो भी अपोनेंट्स है ऑपरेशन पार्टी वाले उनकी जो मोटी मोटी कमाई ऊपर ऊपर से होती थी रिश्वत खाते हैं कभी कुछ खाकर कभी केरोसिन कभी डीजल कभी यहां से पैसे कोई वहां से पैसे तो जो उनके जो वह आवक होती थी वह आवाज धीरे धीरे बंद हो रही है तो जैसे-जैसे उनकी आवाज बंद होती जा रही है उनके अंदर रोज ज्यादा है क्योंकि वही पैसे उनको बहुत ज्यादा प्रिय लगते थे अब जो ब्याज है इसी तरीके से मैंने एग्जांपल दिया ताकि जो ब्याज होता है वह ज्यादा प्यारा लगता है और जो एक प्यारी चीज अगर आपके हाथ से काट दी जाए आपके हाथ से हटा दी जाए तो उसका रोज तो बढ़ेगा ही दंगों के रुपए और एक दो तो नहीं यहां पर तो हजारों में संख्या है जो लोग अपने अपोजिशन पार्टी में ऐसे ही होते हैं जो ज्यादातर ऊपर की पैसा ज्यादा खाना पसंद करते हैं इसलिए जब भी भाजपा सरकार बनती है तो उनकी जो ब्याज की जो कमाई है वह बंद हो जाती है इसीलिए ही दंगे होते हैं अगर इस बात से संतुष्ट हैं और इस जवाब से संतुष्ट हैं तो अगले सवाल के साथ मुझसे जरूर जोड़ें धन्यवाद बीजेपी सरकार की जय हो
Savaal poochha gaya hai ki bhaarat mein jab bhee bhaajapa kee sarakaar banatee hai to dange kyon hote hain aapako ek chhota sa udaaharan de dete hain ki jab bhee kabhee paise byaaj par chadhae jaate hain to mool se jyaada byaaj hota hai vah daada meetha lagata hai to jo bhee opiniyans hai bhaajapa kee sarakaar ke jo bhee aponents hai opareshan paartee vaale unakee jo motee motee kamaee oopar oopar se hotee thee rishvat khaate hain kabhee kuchh khaakar kabhee kerosin kabhee deejal kabhee yahaan se paise koee vahaan se paise to jo unake jo vah aavak hotee thee vah aavaaj dheere dheere band ho rahee hai to jaise-jaise unakee aavaaj band hotee ja rahee hai unake andar roj jyaada hai kyonki vahee paise unako bahut jyaada priy lagate the ab jo byaaj hai isee tareeke se mainne egjaampal diya taaki jo byaaj hota hai vah jyaada pyaara lagata hai aur jo ek pyaaree cheej agar aapake haath se kaat dee jae aapake haath se hata dee jae to usaka roj to badhega hee dangon ke rupe aur ek do to nahin yahaan par to hajaaron mein sankhya hai jo log apane apojishan paartee mein aise hee hote hain jo jyaadaatar oopar kee paisa jyaada khaana pasand karate hain isalie jab bhee bhaajapa sarakaar banatee hai to unakee jo byaaj kee jo kamaee hai vah band ho jaatee hai iseelie hee dange hote hain agar is baat se santusht hain aur is javaab se santusht hain to agale savaal ke saath mujhase jaroor joden dhanyavaad beejepee sarakaar kee jay ho

bolkar speaker
भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं?Bharat Mein Jab Bhe Bjp Ki Sarkaar Banti Hai To Dange Kyun Hote Hain
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:53
भंगी बेटे भाजपा नहीं कराती है रंग बिरंगी तो यह विपक्ष की पार्टियां कराती है क्योंकि अन्य पार्टियों के शासनकाल में जब तुष्टिकरण की नीति को अपनाकर के हिंदुओं के एकदम विपक्ष में अन्य लोगों को अन्य धर्म वालों को संतुष्ट करने के लिए तराजू का पलड़ा एक तरफ क्या झुका रहता है जबकि बीजेपी क्षमता का व्यवहार करती हुई सभी पक्षों को संतुष्ट करने का प्रयास करती है तू विपक्ष बीजेपी को बदनाम करने के लिए दंगे अधिक कराते हैं आपने अभी कुछ समय पहले जो दिल्ली में दंगे हुए थे उसमें कई पार्टी को पॉलिटिकल पार्टी के जो लीडर थे उनके चेहरों को वीडियोस में जो टीवी पर दिखाए गए थे उसको देखा होगा बहुत साफ जाहिर हो रहा था पक्ष के द्वारा आयोजित एक षड्यंत्र है ठीक इसी प्रकार आज तुम देख रहे कि किसान आंदोलन के अंतर्गत भी आज वास्तु किसान कम है और देता जो विपक्ष के हैं उनकी नेतृत्व में किसानों के बीच धारी लोग वहां पर आंदोलन की हुए इसलिए यह आरोप आपका अंदर तक है कि भाजपा की सरकार के समय में दंगे होते हैं दंगे भारत में दंगे बीजेपी नहीं कराती है अपितु बीजेपी सरकार को बदनाम करने के लिए बीजेपी सरकार को गिराने के लिए बीजेपी सरकार को अस्थिर बनाने के लिए विपक्ष के द्वारा सोची समझी चाल होती हैं
Bhangee bete bhaajapa nahin karaatee hai rang birangee to yah vipaksh kee paartiyaan karaatee hai kyonki any paartiyon ke shaasanakaal mein jab tushtikaran kee neeti ko apanaakar ke hinduon ke ekadam vipaksh mein any logon ko any dharm vaalon ko santusht karane ke lie taraajoo ka palada ek taraph kya jhuka rahata hai jabaki beejepee kshamata ka vyavahaar karatee huee sabhee pakshon ko santusht karane ka prayaas karatee hai too vipaksh beejepee ko badanaam karane ke lie dange adhik karaate hain aapane abhee kuchh samay pahale jo dillee mein dange hue the usamen kaee paartee ko politikal paartee ke jo leedar the unake cheharon ko veediyos mein jo teevee par dikhae gae the usako dekha hoga bahut saaph jaahir ho raha tha paksh ke dvaara aayojit ek shadyantr hai theek isee prakaar aaj tum dekh rahe ki kisaan aandolan ke antargat bhee aaj vaastu kisaan kam hai aur deta jo vipaksh ke hain unakee netrtv mein kisaanon ke beech dhaaree log vahaan par aandolan kee hue isalie yah aarop aapaka andar tak hai ki bhaajapa kee sarakaar ke samay mein dange hote hain dange bhaarat mein dange beejepee nahin karaatee hai apitu beejepee sarakaar ko badanaam karane ke lie beejepee sarakaar ko giraane ke lie beejepee sarakaar ko asthir banaane ke lie vipaksh ke dvaara sochee samajhee chaal hotee hain

bolkar speaker
भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं?Bharat Mein Jab Bhe Bjp Ki Sarkaar Banti Hai To Dange Kyun Hote Hain
Abdul_Ahad  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Abdul_Ahad जी का जवाब
Unknown
0:58
स्क्रीन का संगठन है और आपको बता दिया जाएगा कि भाजपा जो है उसका जो पहली प्राथमिकता है वह यही है कि भाई हिंदू मुस्लिम एक मैसेज डालो फिर डालो और अपनी राजनीति को कब क्योंकि उसमें एजुकेशन के लिए या बेरोजगारी के लिए या फिर से भारत को आगे बढ़ाने के लिए तो कोई पप्पू जाहिर की फोटो से बस आपस में लड़ाई करूं और अल्पसंख्यक अपने पक्ष में कर उनका वोट बैंक बना और उनके पर जीत हासिल करके चले जाओ तो वह हमेशा हम लोग बने रहेंगे यही उनका मकसद में कामयाबी हो रहे हैं क्योंकि हमारे यहां पर का जो है ना बुद्धिहीन लोग ज्यादा है और कितने लोगों का जो है भाजपा बहुत अच्छी तरीके से इस्तेमाल कर रही है थैंक यू
Skreen ka sangathan hai aur aapako bata diya jaega ki bhaajapa jo hai usaka jo pahalee praathamikata hai vah yahee hai ki bhaee hindoo muslim ek maisej daalo phir daalo aur apanee raajaneeti ko kab kyonki usamen ejukeshan ke lie ya berojagaaree ke lie ya phir se bhaarat ko aage badhaane ke lie to koee pappoo jaahir kee photo se bas aapas mein ladaee karoon aur alpasankhyak apane paksh mein kar unaka vot baink bana aur unake par jeet haasil karake chale jao to vah hamesha ham log bane rahenge yahee unaka makasad mein kaamayaabee ho rahe hain kyonki hamaare yahaan par ka jo hai na buddhiheen log jyaada hai aur kitane logon ka jo hai bhaajapa bahut achchhee tareeke se istemaal kar rahee hai thaink yoo

bolkar speaker
भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं?Bharat Mein Jab Bhe Bjp Ki Sarkaar Banti Hai To Dange Kyun Hote Hain
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:45
भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्या होते हैं या सवाल है आपका बता दो कि नेताओं द्वारा ही धरने पर आ जाते हैं दंगे करा कर फिर शर्ट सर्जिकल स्ट्राइक करके वाहवाही लूटी जाती है यह भ्रष्ट नेताओं का काम है कि पहले दंगा करवाओ उसके बाद सर्जिकल स्ट्राइक करो और वह मालिक ने उनका तो कुछ ज्यादा नहीं है लड़ने के लिए जाना है और जमा कराने के लिए उनके ही आदमी है तो डरने करवाएंगे और उसका सर्जिकल स्ट्राइक कर के वहां भाइयों के लिए
Bhaarat mein jab bhee bhaajapa kee sarakaar banatee hai to dange kya hote hain ya savaal hai aapaka bata do ki netaon dvaara hee dharane par aa jaate hain dange kara kar phir shart sarjikal straik karake vaahavaahee lootee jaatee hai yah bhrasht netaon ka kaam hai ki pahale danga karavao usake baad sarjikal straik karo aur vah maalik ne unaka to kuchh jyaada nahin hai ladane ke lie jaana hai aur jama karaane ke lie unake hee aadamee hai to darane karavaenge aur usaka sarjikal straik kar ke vahaan bhaiyon ke lie

bolkar speaker
भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं?Bharat Mein Jab Bhe Bjp Ki Sarkaar Banti Hai To Dange Kyun Hote Hain
VIKRAM  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए VIKRAM जी का जवाब
Coach with entrepreneur mindset...sharing my experiences.
2:59
नमस्कार मित्रों आज का सवाल मुझे दिख रहा है भारत की जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं तो मेरा ऐसा मानना है कि यह सवाल का जवाब अगर आप ढूंढती गडरिया नंबर लेकर बात करें तो भारत में सबसे बड़ा दंगा या राइट जो हुआ था वह भारत में मैप ज्यादा दिनों की बात नहीं करूंगा क्योंकि 100 200 300 400 नंबर से सबकी बात नहीं करूंगा सबसे बड़ा दंगा जो भारत में हुआ था वह नंबर वन पर माना जाता है 1947 में आजादी के समय हमें जब आजादी मिली थी उसके बाद दंगा हुआ था उसमें आप जानते हैं पाकिस्तान और हिंदुस्तान का बंटवारा हुआ था लाखों लोगों को मारा गया था हिंदुओं को जो पाकिस्तान में थे और उनको मार के इंडिया भेजा गया था तो कर सकते हैं कि आजादी के डेट के पहले से शुरू हुआ मतलब कंबाइंड हिंदुस्तान जब था या इंडिया था तो उस सबसे बड़ा दंगा उस समय कांग्रेस की सरकार थी तो आप समझ सकते हैं कि जब कांग्रेसी तो वह चाहते तो इंडिया और जब इसका हो रहा था तो वह इसको कुछ प्रोडक्ट कर सकते थे या उन्होंने क्या किया यह आप गदर फिल्म देखे होंगे आपने तो शायद वहां से भी कुछ आप ले सकते हैं दूर तक के लोग मारे गए थे बट जो बहुतायत संख्या थी वह हिंदू मारे गए थे इस दंगे में और पाकिस्तान से हिंदुओं को भगाया गया था और इंडिया में आप जानते हैं हिंदू भी रह गए थे और मुस्लिम भेजो जाने जाना नहीं चाहते तो उनको भी नहीं दिया गया तो मतलब हमने बहुत ही सबको सेकुलरिज्म दिखाया और हम सब का सम्मान करते रहे जबकि वहां से चुन-चुन के सब को मार कर भेज दिया गया और वहां जो आबादी थी जो हिंदुओं की उस समय 20 टके के आसपास थी वह आज घटकर के एक या दो पर्सेंट पर रह गई है समझ सकते हैं कि क्या हाल है दूसरी बात कि जो दूसरा सबसे बड़ा दंगा भारत में हुआ है वह कौन सा था तो नंबर वन मैंने कहा दूसरा 9342 जब इंदिरा गांधी मर गई थी तो उस समय उनकी हत्या के बाद भारत में सिख विरोधी दंगे हुए भारत में जिसमें लाखों सिख मारे गए और चमकते हैं लाखों सिख मारे गए क्यों क्योंकि एक सिख ने 16 फौजी है आपका सकते आर्मी मैंने कहीं आप जो सिक्योरिटी पटना से जो इंदिरा गांधी के उन्होंने इंदिरा गांधी को मारा तो बदले में और पूरे भारत में लाखों लोग मारे गए देश ने उस समय भी कांग्रेस की सरकार की थी इसमें इस तरह के छोटे-छोटे कई नंगे में आपको नाम लूंगा भागलपुर का एक बहुत फेमस धंधा है उस समय भी आप जानते कांग्रेस की सरकार थी तो उसमें भी काफी लोग मरे थे यूपी में काफी दंगे हुए रिसेंट टाइम्स में आप बोलेंगे तो कुछ ऐसे दंगे भी हुए हैं तो छोटे 100 250 वाले पर लाखों की संख्या में जब लोग मरे हैं तो उस समय कांग्रेसी सरकार में रही है बाय डिफॉल्ट जो कि आप इस समय देख सकते हैं अब इसमें ध्यान देने की बात है कि दंगों में नुकसान दोनों तरफ होता है लेकिन ऐसा नहीं है कि कोई एक दूध का धुला है और अपुन को क्लीन चिट दे दे कि भाजपा आई तो दंगे हुए तो भाई पहले दंगे नहीं होते तो ऐसा नहीं मानता
Namaskaar mitron aaj ka savaal mujhe dikh raha hai bhaarat kee jab bhee bhaajapa kee sarakaar banatee hai to dange kyon hote hain to mera aisa maanana hai ki yah savaal ka javaab agar aap dhoondhatee gadariya nambar lekar baat karen to bhaarat mein sabase bada danga ya rait jo hua tha vah bhaarat mein maip jyaada dinon kee baat nahin karoonga kyonki 100 200 300 400 nambar se sabakee baat nahin karoonga sabase bada danga jo bhaarat mein hua tha vah nambar van par maana jaata hai 1947 mein aajaadee ke samay hamen jab aajaadee milee thee usake baad danga hua tha usamen aap jaanate hain paakistaan aur hindustaan ka bantavaara hua tha laakhon logon ko maara gaya tha hinduon ko jo paakistaan mein the aur unako maar ke indiya bheja gaya tha to kar sakate hain ki aajaadee ke det ke pahale se shuroo hua matalab kambaind hindustaan jab tha ya indiya tha to us sabase bada danga us samay kaangres kee sarakaar thee to aap samajh sakate hain ki jab kaangresee to vah chaahate to indiya aur jab isaka ho raha tha to vah isako kuchh prodakt kar sakate the ya unhonne kya kiya yah aap gadar philm dekhe honge aapane to shaayad vahaan se bhee kuchh aap le sakate hain door tak ke log maare gae the bat jo bahutaayat sankhya thee vah hindoo maare gae the is dange mein aur paakistaan se hinduon ko bhagaaya gaya tha aur indiya mein aap jaanate hain hindoo bhee rah gae the aur muslim bhejo jaane jaana nahin chaahate to unako bhee nahin diya gaya to matalab hamane bahut hee sabako sekularijm dikhaaya aur ham sab ka sammaan karate rahe jabaki vahaan se chun-chun ke sab ko maar kar bhej diya gaya aur vahaan jo aabaadee thee jo hinduon kee us samay 20 take ke aasapaas thee vah aaj ghatakar ke ek ya do parsent par rah gaee hai samajh sakate hain ki kya haal hai doosaree baat ki jo doosara sabase bada danga bhaarat mein hua hai vah kaun sa tha to nambar van mainne kaha doosara 9342 jab indira gaandhee mar gaee thee to us samay unakee hatya ke baad bhaarat mein sikh virodhee dange hue bhaarat mein jisamen laakhon sikh maare gae aur chamakate hain laakhon sikh maare gae kyon kyonki ek sikh ne 16 phaujee hai aapaka sakate aarmee mainne kaheen aap jo sikyoritee patana se jo indira gaandhee ke unhonne indira gaandhee ko maara to badale mein aur poore bhaarat mein laakhon log maare gae desh ne us samay bhee kaangres kee sarakaar kee thee isamen is tarah ke chhote-chhote kaee nange mein aapako naam loonga bhaagalapur ka ek bahut phemas dhandha hai us samay bhee aap jaanate kaangres kee sarakaar thee to usamen bhee kaaphee log mare the yoopee mein kaaphee dange hue risent taims mein aap bolenge to kuchh aise dange bhee hue hain to chhote 100 250 vaale par laakhon kee sankhya mein jab log mare hain to us samay kaangresee sarakaar mein rahee hai baay dipholt jo ki aap is samay dekh sakate hain ab isamen dhyaan dene kee baat hai ki dangon mein nukasaan donon taraph hota hai lekin aisa nahin hai ki koee ek doodh ka dhula hai aur apun ko kleen chit de de ki bhaajapa aaee to dange hue to bhaee pahale dange nahin hote to aisa nahin maanata

bolkar speaker
भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं?Bharat Mein Jab Bhe Bjp Ki Sarkaar Banti Hai To Dange Kyun Hote Hain
Umesh Upaadyay Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Umesh जी का जवाब
Life Coach | Motivational Speaker
5:07
सिरसिया जब कोई ऐसा सवाल करता है तो बढ़ावे होता है बड़ा ब्रॉड होता है सिर्फ एक नजरिए के बलबूते पर होता है एक दृष्टिकोण बन जाते हैं और उसके अभिनव कारण अगर आप सवाल करते हैं तो शायद सवार अपने आप ही सही नहीं हो पाता है बताता हूं क्यों आप का सवाल है भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं भाई आप पहली बात तो यह है कि आप ऐसे सवाल क्यों कर रहे हैं अब भाई आपने राकेश जी के लिए क्या ऐसा देखा है आपने कितने समय का डाटा उठाया है किन-किन चीजों को आप दंगा बोलते हैं उसमें कितनी माल माल की सामान की इंसान की हानि हुई है क्या आपने उसको कंपेयर किया है जब कांग्रेस की सरकार थी या कोई और सरकार थी क्या आपने भारत के सभी राज्यों का डाटा उठा इस असीम टाइम पीरियड का डाटा उठाए हैं और आपने डिक्लेअर किया है कि अगर ऐसा होता है तो इसे हम दंगा बोलते हैं और फिर आप एक नतीजे पर पहुंचे हैं और फिर आप अगर पूछते हैं कि जभी भी भारत में भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं क्योंकि आपका डाटा वैसा बता रहा है तो चलो समझ आता है लेकिन अगर आप ऐसे ही पूछ रहे हैं तो शायद वह सही नहीं होगा क्योंकि आपने एक दो जगह पर या जहां पर भी चीज किसी भी शोर से माध्यम से अगर आपको यह न्यूज़ मिली है इनमें इंफॉर्मेशन आइए और आपने एक नजरिया बना लिया तो यह आपका नजरिया है कोई और इंसान के किसी और नजरिए से देखेगा चीजों को हो सकता है वह इसका विपरीत नजरिया बना कर बैठे क्योंकि साइंटिफिक नहीं है डाटा नहीं है ना डाटा नहीं खंगाला आपने ना उसने देखा ना कोई देखता खा लिया में एक नजरिए की तौर पर देख लेते हैं और एक स्टेटमेंट पास कर देते हैं कि आप ही ऐसा है अब अगर देखा जाए तो इस सवाल में एक और बहुत ही गहन बात छुपी हुई है आप बोलते हैं कि जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं अब सोच कर देखिए अगर भाजपा की सरकार होगी तो क्या वह देंगे करेंगे अगर मैं पावर में हूं तो क्या मैं दंगे करा लूंगा नहीं ना देंगे तो वह कराता है जो पावर में नहीं है वह जो डिस्टर्ब करना चाहता है भारत की अर्थव्यवस्था जो डिस्टर्ब करना चाहते हैं जिस तरीके से लॉयन ऑर्डर चल रहा है उसको तो भाई पावर में कौन है भाजपा अगर भाजपा पावर में तुम्हें यह थोड़ी ना चाहेंगे कि वह डिस्टर्ब बिन चलाएं अपने-अपने राज्यों में अपने देश में अपने शासन में अनुशासन में जो भी कुछ और है वह तो कभी नहीं जाएगी कौन चाहेगा वह लोग जो शासन में नहीं है तो इसका मतलब क्या बाकी सारी पार्टियां हैं जो केंद्र में नहीं है राज्य में नहीं है वह चाहेंगे दंगे करना ताकि जो तरीके से कामकाज चल रहा है उसको डिस्टर्ब किया जाए छवि खराब की है इसकी जाए इस पार्टी की उस पार्टी की सरकार चली है वह छोड़ना धंधा कर आएगा वह क्यों कर आएगा तो इसीलिए ऐसा कहना है ना उतना मुनासिब नहीं होगा इसका मतलब यह मत समझिए कि मैं यह बोल रहा हूं कि मैं भाजपा के साथ हूं चाहे कोई भी पार्टी हो और जब हम बिना किसी बेटा के बिना किसी को इनक्रीस इंफॉर्मेशन के अगर हम कोई जजमेंट पास करते हैं ओपिनियन बनाते हैं तो शायद वह उतना उपयुक्त नहीं होता सही नहीं होता है तो हमें सोचना चाहिए रहा सवाल है कि जब भाजपा की सरकार है दंगे होते हैं हां अगर मैं भी बिना किसी की डाटा के बिना किसी तथ्यों के देखो तो मैं देख लूंगा हां डेफिनेटली अगेन पिछले 1 साल उठाकर देख ले तो सोचे क्या हुआ था पिछले साल आपने देखा था कि शाहीन बाघ वाला किसका हुआ था करीब 2 महीने तक दिल्ली के रोड पर लोग बैठे हुए थे शाइन बाद का किस्त आपको याद है ना अभी क्या हो रहा है करीब 55 से 60 दिन हो गए 2 महीने होने वाले हैं और किसान भाई आंदोलन कर रहे हैं वह भी रोड पर बैठे हुए हैं क्या सभी किसान ऐसा कर रहे हैं पूरे भारतवर्ष के करें जी ने एक या दो प्रांत के किसान ऐसा कर रहे हैं उनको भड़काया जा रहे हैं उनको यह बोला जा रहा है वह बोला जा रहा है क्यों भाई ऐसा क्यों है छलिया पुष्पा टॉफी क्यों नहीं जाते बट मैं आपको बस इतना बताना चाहता हूं कि जी देखिए आप जो सरकार सत्ता में होती है वह कभी नहीं चाहती चाहती आखिर कुशासन हो वह चाहती है कि सुशासन हमेशा बना रहे
Sirasiya jab koee aisa savaal karata hai to badhaave hota hai bada brod hota hai sirph ek najarie ke balaboote par hota hai ek drshtikon ban jaate hain aur usake abhinav kaaran agar aap savaal karate hain to shaayad savaar apane aap hee sahee nahin ho paata hai bataata hoon kyon aap ka savaal hai bhaarat mein jab bhee bhaajapa kee sarakaar banatee hai to dange kyon hote hain bhaee aap pahalee baat to yah hai ki aap aise savaal kyon kar rahe hain ab bhaee aapane raakesh jee ke lie kya aisa dekha hai aapane kitane samay ka daata uthaaya hai kin-kin cheejon ko aap danga bolate hain usamen kitanee maal maal kee saamaan kee insaan kee haani huee hai kya aapane usako kampeyar kiya hai jab kaangres kee sarakaar thee ya koee aur sarakaar thee kya aapane bhaarat ke sabhee raajyon ka daata utha is aseem taim peeriyad ka daata uthae hain aur aapane diklear kiya hai ki agar aisa hota hai to ise ham danga bolate hain aur phir aap ek nateeje par pahunche hain aur phir aap agar poochhate hain ki jabhee bhee bhaarat mein bhaajapa kee sarakaar banatee hai to dange kyon hote hain kyonki aapaka daata vaisa bata raha hai to chalo samajh aata hai lekin agar aap aise hee poochh rahe hain to shaayad vah sahee nahin hoga kyonki aapane ek do jagah par ya jahaan par bhee cheej kisee bhee shor se maadhyam se agar aapako yah nyooz milee hai inamen imphormeshan aaie aur aapane ek najariya bana liya to yah aapaka najariya hai koee aur insaan ke kisee aur najarie se dekhega cheejon ko ho sakata hai vah isaka vipareet najariya bana kar baithe kyonki saintiphik nahin hai daata nahin hai na daata nahin khangaala aapane na usane dekha na koee dekhata kha liya mein ek najarie kee taur par dekh lete hain aur ek stetament paas kar dete hain ki aap hee aisa hai ab agar dekha jae to is savaal mein ek aur bahut hee gahan baat chhupee huee hai aap bolate hain ki jab bhee bhaajapa kee sarakaar banatee hai to dange kyon hote hain ab soch kar dekhie agar bhaajapa kee sarakaar hogee to kya vah denge karenge agar main paavar mein hoon to kya main dange kara loonga nahin na denge to vah karaata hai jo paavar mein nahin hai vah jo distarb karana chaahata hai bhaarat kee arthavyavastha jo distarb karana chaahate hain jis tareeke se loyan ordar chal raha hai usako to bhaee paavar mein kaun hai bhaajapa agar bhaajapa paavar mein tumhen yah thodee na chaahenge ki vah distarb bin chalaen apane-apane raajyon mein apane desh mein apane shaasan mein anushaasan mein jo bhee kuchh aur hai vah to kabhee nahin jaegee kaun chaahega vah log jo shaasan mein nahin hai to isaka matalab kya baakee saaree paartiyaan hain jo kendr mein nahin hai raajy mein nahin hai vah chaahenge dange karana taaki jo tareeke se kaamakaaj chal raha hai usako distarb kiya jae chhavi kharaab kee hai isakee jae is paartee kee us paartee kee sarakaar chalee hai vah chhodana dhandha kar aaega vah kyon kar aaega to iseelie aisa kahana hai na utana munaasib nahin hoga isaka matalab yah mat samajhie ki main yah bol raha hoon ki main bhaajapa ke saath hoon chaahe koee bhee paartee ho aur jab ham bina kisee beta ke bina kisee ko inakrees imphormeshan ke agar ham koee jajament paas karate hain opiniyan banaate hain to shaayad vah utana upayukt nahin hota sahee nahin hota hai to hamen sochana chaahie raha savaal hai ki jab bhaajapa kee sarakaar hai dange hote hain haan agar main bhee bina kisee kee daata ke bina kisee tathyon ke dekho to main dekh loonga haan dephinetalee agen pichhale 1 saal uthaakar dekh le to soche kya hua tha pichhale saal aapane dekha tha ki shaaheen baagh vaala kisaka hua tha kareeb 2 maheene tak dillee ke rod par log baithe hue the shain baad ka kist aapako yaad hai na abhee kya ho raha hai kareeb 55 se 60 din ho gae 2 maheene hone vaale hain aur kisaan bhaee aandolan kar rahe hain vah bhee rod par baithe hue hain kya sabhee kisaan aisa kar rahe hain poore bhaaratavarsh ke karen jee ne ek ya do praant ke kisaan aisa kar rahe hain unako bhadakaaya ja rahe hain unako yah bola ja raha hai vah bola ja raha hai kyon bhaee aisa kyon hai chhaliya pushpa tophee kyon nahin jaate bat main aapako bas itana bataana chaahata hoon ki jee dekhie aap jo sarakaar satta mein hotee hai vah kabhee nahin chaahatee chaahatee aakhir kushaasan ho vah chaahatee hai ki sushaasan hamesha bana rahe

bolkar speaker
भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं?Bharat Mein Jab Bhe Bjp Ki Sarkaar Banti Hai To Dange Kyun Hote Hain
KAUSHAL KUMAR SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए KAUSHAL जी का जवाब
Gmind institute
1:23
देखे मैं भारतीय जनता पार्टी का प्रवक्ता तो नहीं हूं लेकिन इस सवाल को समझने की जरूरत है जहां तक दंगे होने की बात है पिछले 7 से 8 साल हो गए इस सरकार को चलते हुए और आप बताइए कि कौन सा एक बड़ा दंगा हुआ है लेकिन जब कांग्रेस का इतिहास उठाकर देखते हैं चाहे वह 984 का सिख दंगा हुआ हो मुजफ्फरनगर कराओ तमाम ऐसे दंगे रहे हैं और इसका बहुत बड़ा एग्जांपल रहा है यूपी के अंदर अखिलेश सरकार जब रही है तो उसमें भी बहुत ही बड़े लेवल पर दंगे हुए थे तो दंगे देखिए होते हैं सर जब सरकार कानून व्यवस्था को संभाल पाने में सक्षम नहीं होती है और सरकारें जो होती है वही जंगे के लिए विश्व में निश्चित रूप से जिम्मेदार भी होते लेकिन पिछले कुछेक सात-आठ सालों का रिकॉर्ड देखे तो कोई बड़ा दंगा नहीं देखने को मिला है तो इससे कहीं न कहीं सरकार की चुस्ती देखने को मिलती है बाकी यह समझने की बात है कुछेक लोग दंगा करवाना चाहते हैं और करवाते भी है अब आप दे दिल्ली में आम आदमी की सरकार थी तो वहां पर आप कहेंगे कि नहीं बीजेपी की सरकार थी इसलिए दंगे भी कुछ दिन पहले हुए और कौन-कौन दंगे में था कोर्ट ने और जो भी एजेंसी आते ही उन्होंने डिटेक्ट करके आप सामने आया आया वह चीज है जो है तो यह आप समझ सकते हैं बाकी ऐसा नहीं है कि सरकारें जो होती है वह अगर मुस्तैद रहती हैं तो दंगे होने की संभावना बहुत कम होती
Dekhe main bhaarateey janata paartee ka pravakta to nahin hoon lekin is savaal ko samajhane kee jaroorat hai jahaan tak dange hone kee baat hai pichhale 7 se 8 saal ho gae is sarakaar ko chalate hue aur aap bataie ki kaun sa ek bada danga hua hai lekin jab kaangres ka itihaas uthaakar dekhate hain chaahe vah 984 ka sikh danga hua ho mujaphpharanagar karao tamaam aise dange rahe hain aur isaka bahut bada egjaampal raha hai yoopee ke andar akhilesh sarakaar jab rahee hai to usamen bhee bahut hee bade leval par dange hue the to dange dekhie hote hain sar jab sarakaar kaanoon vyavastha ko sambhaal paane mein saksham nahin hotee hai aur sarakaaren jo hotee hai vahee jange ke lie vishv mein nishchit roop se jimmedaar bhee hote lekin pichhale kuchhek saat-aath saalon ka rikord dekhe to koee bada danga nahin dekhane ko mila hai to isase kaheen na kaheen sarakaar kee chustee dekhane ko milatee hai baakee yah samajhane kee baat hai kuchhek log danga karavaana chaahate hain aur karavaate bhee hai ab aap de dillee mein aam aadamee kee sarakaar thee to vahaan par aap kahenge ki nahin beejepee kee sarakaar thee isalie dange bhee kuchh din pahale hue aur kaun-kaun dange mein tha kort ne aur jo bhee ejensee aate hee unhonne ditekt karake aap saamane aaya aaya vah cheej hai jo hai to yah aap samajh sakate hain baakee aisa nahin hai ki sarakaaren jo hotee hai vah agar mustaid rahatee hain to dange hone kee sambhaavana bahut kam hotee

bolkar speaker
भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं?Bharat Mein Jab Bhe Bjp Ki Sarkaar Banti Hai To Dange Kyun Hote Hain
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
0:59
माध्यमिक विभाग टेंडर पार्टी की सरकार बनती है तो ढंग के होते हैं जिनके सरकार कराती है होते नहीं है इसीलिए क्यों वह हिंदू मुस्लिम के मुद्दे को जीवित रखे और लोगों के अंदर हिंदू बात को जन्म दे सकती है मुसलमानों को उग्र बताकर आंदोलनकारी कोटा का कोटा पर उनका हाथ मा कसम भारतीय जनता पार्टी की सरकार में हमेशा इस तरह की छुट्टियां सरकार प्रेम पैदा करती है और दंगे होने या टंकी के पीछे प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से सरकारी क्षेत्रों का एवं तीन महीनों का की भूमिका होती है
Maadhyamik vibhaag tendar paartee kee sarakaar banatee hai to dhang ke hote hain jinake sarakaar karaatee hai hote nahin hai iseelie kyon vah hindoo muslim ke mudde ko jeevit rakhe aur logon ke andar hindoo baat ko janm de sakatee hai musalamaanon ko ugr bataakar aandolanakaaree kota ka kota par unaka haath ma kasam bhaarateey janata paartee kee sarakaar mein hamesha is tarah kee chhuttiyaan sarakaar prem paida karatee hai aur dange hone ya tankee ke peechhe pratyaksh ya apratyaksh roop se sarakaaree kshetron ka evan teen maheenon ka kee bhoomika hotee hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे क्यों होते हैं भारत में जब भी भाजपा की सरकार बनती है तो दंगे होते
URL copied to clipboard